छत्तीसगढ़

  • पत्थलगांव, टमाटर से भरा ट्रक बेकाबू होकर पलटा, हादसे में ड्रायवर व खलासी बाल-बाल बचे
    पत्थलगांव, टमाटर से भरा ट्रक बेकाबू होकर पलटा, हादसे में ड्रायवर व खलासी बाल-बाल बचे

    टमाटर से भरा ट्रक बेकाबू होकर पलटा, हादसे में ड्रायवर व खलासी बाल-बाल बचे

    छत्तीसगढ़ संवाददाता 
    पत्थलगांव, 25 जनवरी।
    आज सुबह टमाटर से भरा ट्रक बेकाबू होकर पलट गया। हादसे में ड्रायवर व खलासी बाल-बाल बचे। उन्हें मामूली चोटें आई है।

    जानकारी के अनुसार बागबहार में पंचायत के पास सड़क के मोड़ के समीप सुबह लगभग दस बजे एक टमाटर लोडेड ट्रक अनियंत्रित होकर सड़क के किनारे पलट जाने से बड़ी दुर्घटना होते-होते बची। घटना के सम्बन्ध में लोगों ने बताया कि ट्रक टमाटर लोड कर ओडिशा की तरफ जा रहा था। ट्रक चालक व खलासी बाल-बाल बचे हैं। उन्हें हलकी चोटें भी आईं हैं। संकरा मोड़ होने के कारण चालक के नियंत्रण होने से हादसा हुआ है। ग्रामीणों ने बताया कि संयोग से उस समय कोई वाहन की चपेट में नहीं आया। घटना की सूचना पुलिस को दे दी गई थी।

अंतरराष्ट्रीय

  • कोलंबिया में सडक़ दुर्घटना में 9 मौतें
    कोलंबिया में सडक़ दुर्घटना में 9 मौतें

    बगोटा, 25 जनवरी । कोलंबिया के दक्षिण-पश्चिमी क्षेत्र में एक बड़ें बस हादसे में कम से कम नौ लोगों की मौत हो गयी और कई अन्य लोग घायल हो गए। अग्निशामक विभाग के डिप्टी कमांडर विक्टर वालेंसिया ने यह जानकारी दी। 
    प्राप्त जानकारी के अनुसार बस शुक्रवार को पेन-अमेरिका राजमार्ग पर से पोपायन ला क्रूका जा रही थी कि तभी रस्ते में पड़े कुछ पत्थरों से टकरा कर पलट गई। 
    श्री विक्टर ने कहा, ‘‘बस के पलटने के कारण कई लोग वाहन के अंदर फंस गए जबकि घायलों को पास ही के शहरों के अस्पतालों में इलाज के लिए ले जाया गया।’’ उन्होंने बताया कि हादसे का मुख्य कारण का फिलहाल पता नहीं लगाया जा सका है लेकिन माना जा रहा है कि बस की ब्रेक्स ने काम करना बंद कर दिया था जिसकी वजह से यह हादसा हुआ। (वार्ता)
     

राष्ट्रीय

  • महाराष्ट्र सडक़ हादसे में दो मौतें, छह घायल
    महाराष्ट्र सडक़ हादसे में दो मौतें, छह घायल

    कोल्हापुर, 25 जनवरी। महाराष्ट्र में पुणे-बेंगलुरू राष्ट्रीय राजमार्ग पर अप्पाची के नजदीक कोग्नोली फटा में एक ट्रक ने कार को टक्कर मार दी, जिसके कारण दो लोगों की मौत हो गयी तथा छह अन्य लोग घायल हो गए। 
    पुलिस के अनुसार यह दुर्घटना उस समय हुई जब यह लोग शुक्रवार की रात कर्नाटक के तावंडी घाट से किसी के अंतिम संस्कार में शामिल होकर लौट रहे थे। (वार्ता)  
     

राजनीति

  • नागरिकता पर दिए शाह के भाषण को लेकर जेडीयू के प्रशांत किशोर ने साधा निशाना- अगर विरोध करने वालों की परवाह नहीं तो...
    नागरिकता पर दिए शाह के भाषण को लेकर जेडीयू के प्रशांत किशोर ने साधा निशाना- अगर विरोध करने वालों की परवाह नहीं तो...

    पटना, 22 जनवरी। जनता दल यूनाइटेड के उपाध्यक्ष प्रशांत किशोर ने गृह मंत्री अमित शाह पर उनके लखनऊ में दिए गए बयान को लेकर निशाना साधा है। अमित शाह ने मंगलवार को लखनऊ में एक रैली को संबोधित करते हुए कहा था कि सीएए के खिलाफ बेशक कितना भी प्रदर्शन कर लीजिए, यह वापस नहीं होगा। प्रशांत किशोर ने इसको लेकर बुधवार को ट्वीट करते हुए लिखा है कि नागरिकों की असहमति को खारिज करना किसी भी सरकार की ताकत का संकेत नहीं है। 
    प्रशांत किशोर ने अपने ट्वीट में लिखा है, नागरिकों की असहमति को खारिज करना किसी भी सरकार की ताकत का संकेत नहीं है। अमित शाह जी, अगर आप सीएए-एनआरसी का विरोध करने वालों की परवाह नहीं करते हैं, तो आप आगे क्यों नहीं बढ़ रहे और उस क्रोनोलॉजी के तहत सीएए और एनआरसी लागू करने की कोशिश क्यों नहीं करते।
    केन्द्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) का विरोध कर रहे विपक्षी पार्टियों पर निशाना साधते हुए मंगलवार को उन्हें चुनौती दी कि जिसको विरोध करना है, करे लेकिन सीएए वापस नहीं होने वाला है। शाह ने सीएए के समर्थन में बंग्लाबाजार स्थित कथा पार्क में आयोजित विशाल जनसभा में कहा, इस बिल को लोकसभा में मैंने पेश किया है। मैं विपक्षियों से कहना चाहता हूं कि आप इस बिल पर सार्वजनिक रूप से चर्चा कर लो। यदि ये अगर किसी भी व्यक्ति की नागरिकता ले सकता है, तो उसे साबित करके दिखाओ।
    साथ ही उन्होंने कहा था, देश में सीएए के खिलाफ भ्रम फैलाया जा रहा है, दंगे कराए जा रहे हैं। सीएए में कहीं पर भी किसी की नागरिकता लेने का कोई प्रावधान नहीं है, इसमें नागरिकता देने का प्रावधान है। मैं आज डंके की चोट पर कहने आया हूं कि जिसको विरोध करना है करे, सीएए वापस नहीं होने वाला है। गृह मंत्री ने कहा कि कांग्रेस और सपा समेत विपक्षी दल इसका विरोध कर रहे हैं, क्योंकि उनकी आंखों पर वोट बैंक की पट्टी बंधी है।
    उन्होंने कहा, सीएए के खिलाफ प्रचार किया जा रहा है कि इससे देश के मुसलमानों की नागरिकता चली जाएगी। मैं कहने आया हूं कि जिसमें भी हिम्मत है वह इस पर चर्चा करने के लिये सार्वजनिक मंच ढूंढ ले। हम चर्चा करने के लिये तैयार हैं। शाह ने कहा कि सीएए की कोई भी धारा मुसलमान तो छोड़ दें, किसी भी बाशिंदे की नागरिकता लेती हो तो बता दें।
    इसके बाद कांग्रेस ने केन्द्रीय गृह मंत्री अमित शाह पर सत्ता के अहंकार में डूबकर बयानबाजी करने का आरोप लगाते हुए मंगलवार को लखनऊ में धारा 144 लागू होने के बावजूद उनकी रैली पर सवाल उठाये। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू ने एक बयान में आरोप लगाया कि शाह सत्ता के गुरूर में डूबकर मर्यादा लांघ रहे हैं और तानाशाह की भाषा बोल रहे हैं। शाह द्वारा रैली में राहुल गांधी पर की गयी टिप्पणी की कड़ी आलोचना करते हुए उन्होंने कहा कि भाजपा और राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के लोगों के खून में पाकिस्तान बहता है, तभी वह बात-बात में पाकिस्तान का जिक्र करते रहते हैं।
    लल्लू ने कहा, प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार एक तरफ जहां लखनऊ के घण्टाघर परिसर में शांतिपूर्ण ढंग से सीएए और एनआरसी के खिलाफ प्रदर्शन कर रही महिलाओं पर धारा 144 का हवाला देकर विभिन्न संगीन धाराओं में मुकदमा दर्ज कर रही है, वहीं पूरी सुरक्षा के साथ देश के गृह मंत्री की रैली भी आयोजित करा रही है। क्या शाह के लिये धारा 144 को ताक पर रख दिया गया?  (एनडीटीवी)
     

मनोरंजन

  • जोहार छत्तीसगढ़ फिल्म 31 को होगी रिलीज
    जोहार छत्तीसगढ़ फिल्म 31 को होगी रिलीज

    जोहार छत्तीसगढ़ फिल्म 31 को होगी रिलीज

    भिलाई नगर, 25 जनवरी। आर जे इंटरटेनमेंट वल्ड के बैनर तले देवेन्द्र जांगड़े द्वारा निर्देशित ठेठ छत्तीसगढ़ी फिल्म जोहार छत्तीसगढ़ 31 जनवरी को छत्तीसगढ़ के चन्द्रा टॉकीज भिलाई, श्याम टाकिज रायपुर, सहित कई सिनेमाघरों में एक साथ प्रदर्शित होने जा रही है।

    फिल्म के निर्माता राज साहू ने पत्रकारवार्ता में बताया कि छत्तीसगढ़ महतारी के अस्मिता पर क्रांतिकारी अंदाज में बनने वाली यह पहली फिल्म है। इस फिल्म के हिरो एक्शन हिरो देवेन्द्र जांगड़े, राज साहू एवं हिरोईन शिखा चिताम्बरे, सोनाली सहारे, खलनायक अनिल शर्मा, पुष्पेन्द्र सिंह, क्रांति दीक्षित किशोर मंडल, ललित उपाध्याय, हेमलाल कौशल, उपासना वैष्णव,शमशीर सिवानी, विक्रम राज, सलीम अंसारी, अमर दास, निशांत उपाध्याय, पुष्पांजलि शर्मा, किशोर मंडल, दिवाना पटेल, रौशन, अमित शर्मा, मलिंगा सहित अन्य कई कलाकार हैं।

    इस अवसर पर फिल्म के शमशीर सिवानी ने बताया कि फिल्म के माध्यम से यह भी बताने की कोशिश की गई है कि जात पात की करो बिदाई, मानव मानव भाई भाई। फिल्म में एक शोषणकर्ता मुख्ममंत्री के रोल में मोर छंइहा भुइंहा के प्रिंसिपल एवं टूरा रिक्शावाला के विधायक अनिल शर्मा ने बहुत जबर्दस्त रोल अदा किया है, जहां पुष्पेन्द्र सिंह तथा क्रांति दीक्षित ने जमकर इसमें अपने खलनायकी करते हुए क्रुरता दिखाई है तो वहीं पहली बार विक्रम राज दबंग इंस्पेक्टर के रोल में दर्शकों को दिखेंगे।

     

     

     

     

सेहत/फिटनेस

  • अच्छी सेहत के लिए कितन अहम है उपवास, जानें इसके फायदे
    अच्छी सेहत के लिए कितन अहम है उपवास, जानें इसके फायदे

    व्रत या उपवास भारतीय संस्कृति का हिस्सा है। यह धर्म से तो जुड़ा ही है, सेहत के लिए भी बहुत कारगर है। www.myupchar.com से जुड़ीं डॉ. मेधावी अग्रवाल के अनुसार, उपवास से पाचन तंत्र को फायदा पहुंचता और इससे वजन घटाया जा सकता है। इससे शरीर के विषाक्त पदार्थ बाहर निकल जाते हैं। जिन लोगों को ब्लड प्रेशर की समस्या रहती है, उनके लिए उपवास फायदेमंद हो सकता है। साथ ही यह हार्ट को स्वस्थ्य रहता है। शरीर में संतुष्टि का भाव जगाता और व्यक्ति तरोताजा महसूस करता है।

    www.myupchar.com से जुड़े डॉ. लक्ष्मीदत्त शुक्ला कहते हैं, 'जो लोग वजन घटाना चाहते हैं, उनके लिए उपवास रामबाण साबित हो सकता है। ऐसे लोगों को जल उपवास करना चाहिए। इससे 10 दिन में 6 किलो तक वजन कम किया जा सकता है।' उपवास करने के लाभ हैं तो सही तरीके से उपवास न करने के कुछ नुकसान भी हैं। इसलिए सोच-समझकर इसका फैसला करना चाहिए।

    उपवास के लाभ
    डॉ. अग्रवाल के मुताबिक उपवास शरीर के सिस्टम को साफ करता है, स्वास्थ्य बेहतर होता है, नींद का चक्र सुधरता है, पाचन तंत्र को थोड़ा आराम मिलने से शारिरिक प्रणालियां संतुलित हो जाती हैं, मानसिक स्वास्थ्य में सुधार होता है और साथ ही फायदेमंद आहार ओर  शारीरिक पोषण तय करने संबंधी जानकारी मिलती है।

    उपवास कब और कैसे रखें
    यूं तो उपवास कभी भी रखा जा सकता है, लेकिन यदि स्वास्थ्य संबंधी कोई समस्या है तो इससे बचना चाहिए। उपवास के दौरान लोग तरह-तरह की चीजें खाते हैं या खाली पेट बहुत अधिक चाय पीते हैं। इससे फायदा होने के बजाए नुकसान हो सकता है। उपवास में सबकुछ खाना छोड़ सकते हैं या कुछ खाद्य पदार्थ छोड़ सकते हैं। उपवास एक दिन से लेकर कुछ हफ्तों तक का हो सकता है। उद्देश्य के अनुसार उपवास कई तरह के हो सकते हैं जैसे - कुछ लोग केवल पानी का सेवन करते हैं, कुछ पानी के साथ जूस और चाय का सेवन करते हैं। आमतौर पर जो उपवास रखा जाता है, उसमें लोग अन्न व मांसाहार से दूर रहते हैं। धार्मिक आस्था और मान्यताओं को ध्यान में रखकर किए जाने वाले उपवास में खाने-पीने की कुछ चीजें चलती हैं, कुछ नहीं।

    उपवास के दौरान क्या खाएं
    अगर उपवास का अर्थ पूरे समय भूखा रहना नहीं है तो उपवास के दौरान कुछ खास तरह की चीजें खाना सेहत के लिए फायदेमंद होता है। जैसे शकरकंद खाने से शरीर को विटामिन सी और पोटेशियम मिलता है। वहीं सेब उपवास के दौरान खाया जाने वाला बेहतरीन फल है। इससे न केवल वजन कम होता है बल्कि पेट भी भरा-भरा महसूस करता है। इसी तरह दूध का सेवन करने से शरीर को कैल्शियम मिलता है और हड्डियां मजबूत होती हैं। व्रत में अखरोट भी खाया जाता है। अन्य ड्राइ फ्रूट्स की तरह यह कैलोरी से भरपूर होता है। एक कप स्ट्राबेरी में 50 कैलोरी और तीन ग्राम फाइबर होता है। उपवास में इसका सेवन फायदेमंद है। उपवास में टमाटर का जूस कैंसर से बचाव करता है। सलाद खाना भी फायदेमंद है।
     
    इन नुकसान से बचें
    उपवास के दौरान सबसे बड़ा खतरा शरीर में पानी की कमी का होता है। कई लोग व्रत के दौरान सिर दर्द का अनुभव करते हैं। कुछ को सीने में जलन और कब्ज की शिकायत होती है। डायबिटीज के मरीजों को उपवास नहीं करना चाहिए। जिन लोगों को लो ब्लड प्रेशर की शिकायत होती है, उन्हें भी सावधान रहना चाहिए।

    यदि वजन घटाने के लिए उपवास कर रहे हैं तो अपने ब्लड प्रेशर पर लगातार नजर रखें। इंसान जब खाना बंद कर देता है तो उसका पाचन तंत्र भी काम करना बंद कर देता है। इससे दिमाग और हार्ट की तुलना में शरीर धीमा होता जाता है। इस तरह शरीर को चलाने के लिए वसा से ऊर्जा मिलती है और चर्बी कम होना शुरू कर देती है।
     

खेल

  • रिषभ पंत की वापसी पर राहुल ने दिया जवाब, मिल पाएगी कभी टीम में जगह
    रिषभ पंत की वापसी पर राहुल ने दिया जवाब, मिल पाएगी कभी टीम में जगह

    नई दिल्ली, 25 जनवरी। भारतीय क्रिकेट टीम ने न्यूजीलैंड में टी20 सीरीज का आगाज जीत के साथ किया। इस मैच में केएल राहुल बतौर विकेटकीपर बल्लेबाज प्लेइंग इलेवन में शामिल किए गए। राहुल को रिषभ पंत की जगह कप्तान विराट कोहली ने टीम में शामिल किया। बतौर विकेटकीपर पंत से मुकाबला करने और उनके रहते पंत की वापसी पर राहुल ने मैच के बाद जवाब दिया।

    ऑकलैंड टी20 में भारतीय टीम को जीत दिलाने में अहम भूमिका निभाने वाले ओपनर केएल राहुल ने मीडिया से मैच के बाद बात की। राहुल को इस बारे में सवाल किया गया कि क्या पंत की सीरीज में उनके रहते टीम में वापसी हो सकती है।

    इस पर राहुल ने बहुत सरल सा जवाब दिया और कहा, यह सब मेरे उपर नहीं है। राहुल ने कहा कि वो विकेटकीपिंग मिलने के बाद से अपनी दोहरी भूमिका का मजा उठा रहे हैं। राहुल का कहना था, ईमानदारी से कहूं तो मुझे यह काफी अच्छा लग रहा है। यह मेरे लिए बिल्कुल नया है। शायद ऐसा लगता होगा कि मैंने कभी कीपिंग नहीं कि है लेकिन मैं अपनी आईपीएल फ्रेंचाइजी टीम के लिए पिछले 3-4 साल कीपिंग की है। मैंने फर्स्टक्लास टीम की तरफ से भी जब कभी खेला वहां मौका मिलने पर विकेटकीपिंग की है। मैं लगातार विकेटकीपिंग करता रहा हूं। 

    ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ तीन मैचों की वनडे सीरीज के पहले मुकाबले में रिषभ पंत बल्लेबाजी के दौरान चोटिल हो गए थे। इस मैच में पंत की जगह केएल राहुल ने विकेटकीपिंग की। इसके बाद बाकी के दोनों मुकाबलों में पंत को प्लेइंग इलेवन में जगह नहीं मिली। अब न्यूजीलैंड के खिलाफ पहले टी20 में भी पंत की जगह राहुल से विकेटकीपिंग कराई गई। (जागरण) 

कारोबार

  • सेल स्थापना दिवस पर 25 साल की समर्पित सेवा के लिए कर्मी दीर्घ सेवा पुरस्कार से सम्मानित
    सेल स्थापना दिवस पर 25 साल की समर्पित सेवा के लिए कर्मी दीर्घ सेवा पुरस्कार से सम्मानित

    सेल स्थापना दिवस पर 25 साल की समर्पित सेवा के लिए कर्मी दीर्घ सेवा पुरस्कार से सम्मानित

    छत्तीसगढ़ संवाददाता

    भिलाई नगर, 25 जनवरी। महारत्न कम्पनी स्टील अथॉरिटी ऑफ इंडिया लिमिटेड (सेल) की स्थापना दिवस पर भिलाई इस्पात संयंत्र में 24 जनवरी को आयोजित विभिन्न समारोहों में खान, संयंत्र और नॉन वर्कस क्षेत्रों में सेवारत् 1174 कर्मचारियों को जिनमें संयंत्र सहित माइंस के 132 कार्यपालक एवं 1042 गैर-कार्यपालक शामिल हैं, को कंपनी की 25 साल के समर्पित सेवा के लिए दीर्घ सेवा पुरस्कार से सम्मानित किया गया।

    सर्वप्रथम केन्द्रीय इस्पात मंत्री का सेल कार्मिकों के लिये विडियो सन्देश दिखाया गया एवं सभी उपस्थितों द्वारा सेवा शपथ भी ली गई। संयंत्र के मानव संसाधन विकास केन्द्र में आयोजित समारोह में मुख्य अतिथि के रूप में बीएसपी के सीईओ अनिर्बान दासगुप्ता ने मुख्य महाप्रबंधक से उप महाप्रबंधक स्तर तक के अधिकारियों को दीर्घ सेवा पुरस्कार से सम्मानित किया।

    इस अवसर पर संयंत्र के कार्यपालक निदेशकगण एवं वरिष्ठ अधिकारीगण विशेष रूप से उपस्थित थे। मुख्य अतिथि अनिर्बान दासगुप्ता ने संयंत्र की समर्पित सेवा के 25 वर्षों के इस महत्वपूर्ण मील का पत्थर को प्राप्त करने वाले अधिकारियों की टीम को बधाई दी।

    श्री दासगुप्ता ने सेल-भिलाई इस्पात संयंत्र को दीर्घकालिक सेवा देने वाले अधिकारियों की सराहना करते हुए चुनौतीपूर्ण समय में संयंत्र की प्रगति के लिए उनके योगदान की भी प्रशंसा की। जिनके वर्षों की योगदान से संयंत्र ने उत्कृष्टता के साथ महान ऊँचाइयाँ हासिल किया है।

    उन्होंने दीर्घ सेवा अवार्ड के प्राप्तकर्ताओं से आग्रह किया कि वे अपने अनुभव का लाभ संयंत्र को सेवा के रूप वापस देवें, ताकि टीम भिलाई और भी मजबूती हासिल कर सके।  उन्होंने अवार्ड प्राप्तकर्ताओं को प्रोत्साहित किया कि वे भविष्य की चुनौतियों का सामना करने के लिए स्वयं को तैयार करें।

    इसी क्रम में संयंत्र के अन्य अधिकारियों एवं कार्मिकों को उनके विभाग प्रमुखों संबंधित विभागों में दीर्घ सेवा अवार्ड से सम्मानित किया गया। इस दौरान कार्यपालक निदेशकगणों ने भी 25 वर्ष की सेवा प्रदान करने और दीर्घ सेवा अवार्ड प्राप्त करने वाले अधिकारियों को बधाई दी। इस अवसर पर संयंत्र के महाप्रबंधकों और अन्य वरिष्ठ अधिकारियों के साथ ऑफिसर्स एसोसिएशन के पदाधिकारीगण उपस्थित थे।

फोटो गैलरी


विडियो गैलरी