छत्तीसगढ़ » धमतरी

Previous1234567Next
Date : 02-Apr-2020

सीएमएचओ से अमर्यादित भाषा का प्रयोग करने वाले पर एफआईआर 

धमतरी, 2 अप्रैल। सीएमएचओ से अमर्यादित भाषा का प्रयोग करने वाले के विरूद्ध एफआईआर दर्ज की गई है। प्रशासन के कार्यों में सहयोग नहीं करने पर कार्रवाई की गई।
कोविड-19 कोरोना वायरस के संभावित संक्रमण की रोकथाम एवं नियंत्रण के लिए देश भर में गत 25 मार्च से तालाबंदी प्रभावी है, साथ ही प्रशासनिक नियंत्रण के लिए कलेक्टर एवं जिला दण्डाधिकारी रजत बंसल ने जिले में धारा 144 लागू कर दी है। उनके द्वारा जिलावासियों से सतत सहयोग की अपील की जा रही है। उल्लेखनीय है कि प्रवास कर बाहर से आए लोगों के स्वास्थ्य परीक्षण के लिए क्वारंटाइन सेंटर में रखा जा रहा है। 

अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक मनीषा ठाकुर ने बताया कि इसी दौरान धमतरी निवासी देशांत लोढ़ा के द्वारा जिला अस्पताल के मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डीके तुर्रे से क्वारंटाइन में रखे गए अपने परिजन को छोडऩे की बात करते हुए अमर्यादित भाषा का प्रयोग गया। मुख्य चिकित्साधिकारी द्वारा प्रशासन से सहयोग करने के अनुरोध के बाद भी देशांत ने प्रोटोकॉल के आदेशों की अवहेलना की, जिनके विरूद्ध थाना सिटी कोतवाली धमतरी में लिखित शिकायत की गई, जहां पर आरोपी के विरूद्ध अपराध पंजीबद्ध कर प्रकरण विवेचना में लिया गया है। 


Date : 02-Apr-2020

लॉकडाउन में धमतरी पुलिस लगातार निगरानी करते हुए

धमतरी। लॉकडाउन में धमतरी पुलिस लगातार निगरानी करते हुए नागरिकों को प्रशासन द्वारा जारी आदेशों का पालन कर सहयोग करने हिदायत दे रही है, साथ ही गरीब मजदूर परिवारों का सहयोग भी किया जा रहा है। इसी परिपेक्ष्य में उप पुलिस अधीक्षक अजाक सारिका वैद्य के नेतृत्व में सूबेदार रेवती वर्मा अपने अन्य पुलिस स्टाफ के साथ कल महिमा सागर वार्ड टिकरापारा वार्ड एवं ब्राह्मण पारा वार्ड के गरीब मजदूर परिवारों को अनाज दाल-चावल, नमक, तेल जैसे दैनिक आवश्यक राशन सामग्री व हाथ धोने हेतु साबुन देते हुए उन्हें साफ सफाई रखने व कोरोना संक्रमण से बचाव जानकारी देकर सुरक्षा उपाय के बारे में बताया गया।

 


Date : 02-Apr-2020

लॉकडाउन में मनरेगा कार्य ग्रामीणों का विरोध

छत्तीसगढ़ संवाददाता
कुरूद, 2 अप्रैल।
देश में लॉकडाउन लागू कर प्रशासन एक ओर लोगों को घरों में रहने कह रहा है, वहीं दूसरी ओर मनरेेगा कार्य चला लोगों को घरों से बाहर निकलने का जरिया बना रहा है। शासन की इसी नीति का विरोध जताते हुए आज कुरूद ब्लॉक के ग्राम पंचायत सेमरा के ग्रामीणों ने जमकर बवाल मचाया। बाद में अनुविभागीय अधिकारी ने सरकार के फैसले का हवाला देकर ग्रामीणों को समझाने का प्रयास किया। 

प्रधानमंत्री के आह्वान के बाद 14 अप्रैल तक देश भर में लॉकडाउन लागू है। जिसमें छोटे-बड़े सारे काम -धाम बंद और लोग घरों तक सीमित होकर रह गए है। ऐसे में कुरूद जनपद अंतर्गत विभिन्न गांवों में मनरेगा कार्य पुन: प्रारंभ कराया जा रहा है। ऐसे ही एक मामला में बुधवार शाम को ग्राम पंचायत सेमरा में कोटवार के माध्यम से मनरेगा कार्य शुरू कराने की मुनादी कराई गई। गुरूवार सुबह सैकड़ों मजदूर काम के लिए घरों से बाहर निकले। जिसे देख गांव वाले विरोध करने लगे। 

ग्रामीणों का कहना था कि लॉकडाउन के चलते यहां के दुकानदार अपना व्यवसाय बंद कर घरों में बैठे है। सामान्य आदमी भी लॉकडाउन के नियमों का पालन कर रहा है। ऐसे में अधिकारी रोजगार गारंटी का काम शुरू करा सोशल डिस्टेंसिंग एवं तय नियमों की अनदेखी कर रहे हंै। रोजगार सहायक महेन्द्र ध्रुव, सरपंच प्रतिनिधि दशरथ साहू ने गुस्साए ग्रामीणों को समझाने का प्रयास किया, लेकिन वे नहीं माने। तब एसडीएम योगिता देवांगन ने ग्रामीण प्रतिनिधियों से बात कर उन्हें शासन की मंशा बता समझाईश दी। 


Date : 02-Apr-2020

एसडीएम ने आधा दर्जन कारोबारियों पर लगाया जुर्माना
कलेक्टर ने आइसोलेशन-क्वारंटाइन सेंटर का लिया जायजा

छत्तीसगढ़ संवाददाता
कुरूद, 2 अप्रैल। 
दो अप्रैल को स्वास्थ्य एवं अन्य तैयारियों के निरीक्षण में धमतरी कलेक्टर रजत बंसल कुरूद पहुंचे। कलेक्टर ने कुरूद में आइसोलेशन-क्वारंटाइन सेंटर का जायजा लिया। वहीं खाद्य विभाग की टीम दुकानों में जाकर मुनाफाखोरी करने वाले व्यवसायियों पर जुर्माना लगाया। 

लॉकडाउन के बाद कुछ दुकानदार मौके का फायदा उठा मुनाफाखोरी में लग गये थे। मीडिया में खबर आने के बाद हरकत में आया। प्रशासन ने दो दिनों बुधवार-गुरुवार को छापेमारी कर आधे दर्जन से अधिक व्यवसायियों के खिलाफ जुर्माना लगाया। 

 दुकानों में ग्राहक बनकर एसडीएम योगिता देवांगन, तहसीलदार भूपेन्द्र गावड़े, टीआई बिपिन लकड़ा, सीएमओ लालसिंह मरकाम , ड्रगइंस्पेक्टर, खाद्य निरीक्षक पहुंचे। उन्होंने शुभम किराना, चेतन किराना, सिन्हा प्रोविजन, जोंहन किराना स्टोर्स, जयंत कोल्ड्रींक्स एवं साहू किराना चरमुडिय़ा के खिलाफ आवश्यक सामानों को निर्धारित दरों से अधिक में बेचते पाया। जिस पर कार्यवाही करते हुए 1 से 5 हजार तक का जुर्माना लगाया। कार्रवाई के खिलाफ व्यापारियों ने अपनी दुकानों का शटर गिरा विरोध जताया। 

कलेक्टर श्री बंसल यहां सिविल अस्पताल पहुंच आइसोलेशन सेंटर का जायजा ले बीएमओ जेपी दीवान से मास्क, गल्बस, सेनिटाइजर आदि जरूरी सामाग्री की उपलब्धता की जानकारी ली। उन्होंने ईटीसी कुरूद में बनाये गए क्वारंटाइन सेंटर का निरीक्षण कर आवश्यक तैयारियों की निर्देश अधिकारियों को दिए।     
 


Date : 02-Apr-2020

निजामुद्दीन में धमतरी कोई नहीं, एम्स भेजे सभी 14 सैम्पल निगेटिव

छत्तीसगढ़ संवाददाता
धमतरी,  2 अप्रैल।
धमतरी के लिए राहत बड़ी खबर है कि दिल्ली के निजामुद्दीन में धमतरी से कोई नहीं गया और न ही वहां से कोई धमतरी आया है और धमतरी से एम्स भेजे गए सभी सैम्पल की रिपोर्ट नेगेटिव आई है ।

कोरोना के संक्रमण के रोकथाम में जिला प्रशासन एवं स्वास्थ्य विभाग ईमानदारी के साथ अपने कर्तव्यों का पालन कर रहा है। विदेश या दूसरे राज्य से वापस लौटे लोगों को चिन्हांंकित कर क्वॉरेंटाइन सेंटर एवं होम आइसोलेशन में रखा गया है। लापरवाही बरतने और जानकारी छुपाने वालों एफआईआर भी दर्ज की गई। इसका नतीजा है कि धमतरी जिला में एक भी कोरोना संक्रमित केस नहीं है। 

देखा जा रहा है कि प्रशासन के बार बार अपील करने के पश्चात भी कुछ लोग बिना किसी कारण घूमने निकल जाते हैं। किराना समान या सब्जी दवाई खरीदने गए लोग सोशल डिस्टेंसिंग का कुछ लोग पालन करते हैं कुछ लोग आज भी पुराने ढर्रे पर है। दुकान मालिक के बार बार निवेदन के बाद भी लोग अपनी मनमानी करते हैं, जिसका खामियाजा दुकानदार को भुगतना पड़ता है।

पिछले दिनों एक किराना दुकान में बेतरतीब भीड़ के कारण 1000 का जुर्माना लगा। सूरज मेडिकल पर भी 3000 का जुर्माना लगया गया है। दवाई दुकान मालिक ने ‘छत्तीसगढ़’ को बतया कि प्रशासन के निर्देशानुसार 1 मीटर के दूरी पर घेरा बनवा दिया है कुछ लोग तो घेरा में खड़े होते हैं मगर कुछ लोग मनमानी करते हुए भीड़ कर देते हैं।
 मेरा जिला प्रशासन से अनुरोध है कि जिस तरह से राशन दुकान पर एक पुलिस जवान तैनात किया गया, उसी प्रकार सभी किराना मेडिकल दुकानों पर भी तैनात कर दिया जाए तो सोशल डिस्टेंसिंग मेनटेन रहेगी।
 


Date : 02-Apr-2020

जन जागरण सेवा समिति कोरोना से बचने कर रही जागरूक

छत्तीसगढ़ संवाददाता
धमतरी,  2 अप्रैल।
जन जागरण सेवा समिति द्वारा सोशल मीडिया व्हाटसएप फेसबुक के द्वारा एवं शहर में घूम-घूम कर शहर के लोगों को कोरोना वायरस के खतरों से निपटने के लिए लोगों में जागरूकता लाई जा रही है।

जिला प्रशासन से अनुरोध किया जा रहा है कि सभी समाज के अध्यक्षों से बात कर उनके समाज में जागरूकता लाने संदेश भेजने या काल करने कहा जाए जो भी नागरिक छत्तीसगढ़ के बाहर या विदेश से यात्रा करके आए है वो स्वयं की एवं परिवार की सुरक्षा के लिए शासन से जानकारी साझा करें। सरकार एवं समाज उनकी सुरक्षा के लिए यह जानकारी इक_ा कर रही है ना कि उन्हें परेशान करने भरोसा सभी समाज के अध्यक्ष उन्हें दें। एवं सभी समाज जानकारी दें कि उनके समाज में किसने बुजुर्ग अकेले रहते हैं ताकि उनकी उचित व्यवस्था की जा सके।

लॉकडाउन के दौरान बेजुबान जानवरों गाय कुत्तों को भी बहुत परेशानी हो रही है इन्हें भी अपने घर का बचा कुचा भोजन अवश्य देवें। जनजागरण सेवा समिति द्वारा गरीब परिवारों को राशन सामग्री एवं जरूरत के सामान भी बांटा जा रहे हैं।

जन जागरण सेवा समिति के अध्यक्ष मीतेश जैन ने कहा कि शासन तो अपना काम अच्छे से कर रही है लेकिन शहर के और नागरिकों का कर्तव्य है यह शासन के आदेश का पालन करें और कम पढ़े लिखे लोगों को जागृत करें उन्हें समझाएं लोगों को घर से निकलने के लिए मना करें एवं शासन का नियम ना तोड़े लॉक डाउन का पालन करें तभी  हम कोरोना महामारी  से बच पाएंगे।
 


Date : 02-Apr-2020

समाजसेवी, जनप्रतिनिधि भी मदद के लिए आगे आए

छत्तीसगढ़ संवाददाता
कुरूद, 2 अप्रैल।
कोरोना वायरस से उत्पन्न विपदा से निपटने प्रशासन पूरी तरह अलर्ट है। लॉकडाउन में लागू नियमों का पालन करवाने एवं  शासन मद के अलावा जनभागीदारी से राहत सामाग्री जुटाने की कोशिश रंग ला रही है। सर्वजन हिताय की सोच रखने वाले समाजसेवी मदद को आगे आ रहे है। जनप्रतिनिधि भी अपनी निधि से राहत पहुंचाने के काम में लगे है। नगर के कुछ युवा जरूरतमंदों तक आवश्यक सामाग्री पहुंचाने में अपनी ऊर्जा लगा रहे है। 

कुरूद तहसील में लॉकडाउन के तहत रोजी-रोटी से वंचित हो चुके अतिगरीब लोगो की मदद के लिए स्थानीय प्रशासन ने राहत सामाग्री की सूची तैयार कर लोगों से मदद मांगी है। जिसमें अब तक आदिवासी समाज के नेता जेएल मरई, महेश्वरी समाज, राइस मिल एसोसिएशन, इंवेचर पब्लिक स्कूल, रूचि एग्रोटेक,  शिक्षक कल्याण समिति, पुष्कर गोस्वामी, सुरेश अग्रवाल, गोविंद शर्मा, हितेन्द्र केला, बालकृष्ण अग्रवाल, राजेन्द्र प्रसाद शुक्ला, हर्षित अग्रवाल, ऋषिकेश सोनी, यशवंत अग्रवाल, प्रेमप्रकाश, विकास अग्रवाल, एम बाबू, राजेश, आशीष शर्मा, संतोष बैस आदि समाजसेवियों ने 5 से 25 हजार रूपये तक की राशन सामाग्री दी है। इनके अलावा युवा व्यवसायी जितेन्द्र अग्रवाल ने मुख्यमंत्री राहत कोष में 1 लाख 11 हजार, जितेन्द्र चन्द्राकर, रमेश पांडेय, आदि ने सहयोग राशि भेजी है। नगर पंचायत अध्यक्ष तपन चन्द्राकर, पार्षद देवव्रत साहू, रजत चन्द्राकर, मनीष साहू, पूर्व अध्यक्ष रविकांत चन्द्रकार, पूर्व उपाध्यक्ष मोहन अग्रवाल आदि ने भी अपनी निधि का इस्तेमाल राहत सामाग्री बांटने में की है। क्षेत्रिय विधायक अजय चन्द्राकर ने अपने एक माह का वेतन पीएम केयर्स फंड में अर्पण   किया। इसके अलावा भारतीय जनता पार्टी की ओर से कुरूद विधानसभा के 158 गांव में 2 हजार पैकेट बांटे जा रहे है। जिसमें चावल को छोड़ करीब एक महिने का सामान होने की जानकारी मिली। 

इस संबंध में भाजपा जिला उपाध्यक्ष भानु चन्द्राकर ने बताया कि प्रशासन से सूची लेकर हम पार्टी संगठन के माध्यम से लोगों तक राहत पहुंचाने का काम कर रहे है। नायब तहसीलदार आकांक्षा साहू, प्रभारी पवन ध्रुव से मिली जानकारी अनुसार जनसहयोग से जुटाई गई राहत सामाग्री को अब तक नगर पंचायत कुरूद, भखारा एवं नारी, चरमुडिय़ा, कोड़ापार, थूहा, खुरसेंगा आदि गांवो के जरूरतमंदों को वितरित किया गया।       


Date : 02-Apr-2020

धमतरी में मात्र एक थर्मल स्कैनर

धमतरी, 2 अप्रैल। कोरोना  वायरस  संक्रमण  के बचाव के लिए शासन द्वारा कड़े निर्णय लिए गए, लेकिन स्वास्थ्य सुविधाओं का अभाव देखा जा रहा है। करीब साढ़े 8 लाख की जनसंख्या वाले धमतरी जिले में कोरोना वायरस संक्रमित की जांच के लिए मात्र एक थर्मल स्कैनर है , उसे भी क्वारंटाइन सेंटर में रखा गया है क्योंकि वहां विदेश से आने वालों को ठहराया गया है, उनकी समय-समय पर जांच होना जरूरी है। इधर अस्पतालों की स्थिति देखे तो जिले के किसी भी अस्पताल में थर्मल नहीं है। सर्दी, खांसी, बुखार, गले मे खरास, दर्द आदि के मरीज अस्पताल पहुंच रहे तो डॉक्टरों को छूकर जांच करना पड़ रहा, जबकि इसे डॉक्टरों के लिए खतरा माना जा रहा है।

अगर कोई कोरोना मरीज जांच के लिए पहुंच गया तो उनकी जांच करते  समय डॉक्टरों को भी कोरोना संक्रमण फैलने का खतरा है। जिले के सबसे बड़े शासकीय अस्पताल में मात्र  एक थर्मल स्कैनर है।

 इस संबंध में सीएमएचओ डॉ.डीके तुर्रे बताया कि थर्मल स्कैनर क्वारंटाइन सेंटर में  ज्यादा जरूरी है क्योंकि वहां विदेशों से आने वालों को रखा गया है। जिले के लिए पांच थर्मल स्कैनर की मांग की गई है। शासन से प्राप्त होते ही सभी प्रमुख अस्पतालों में सुविधा उपलब्ध करा दी जाएगी। सभी डॉक्टरों को काम के दौरान दस्ताने व मास्क पहनने का निर्देश दिया गया है। 
 


Date : 02-Apr-2020

धमतरी जिले की सीमाओं-चौराहों पर पुलिस तैनात कर रखी जा रही नजर

छत्तीसगढ़ संवाददाता
धमतरी, 2 अप्रैल।
कोरोना वायरस महामारी के संक्रमण से बचाव के लिए अब जिला प्रशासन, नगर निगम, स्वास्थ्य, रेडक्रॉस एवं अन्य विभागों के साथ पुलिस विभाग पूरी सतर्कता के साथ अपने कामों में लगे हुए हैं। जिले के लगभग हर क्षेत्र में पुलिस ने तंबू लगाकर 24 घंटे जवानों की तैनाती शुरू कर दी है। कोरोना वायरस के संक्रमण से धमतरी जिला को सुरक्षित रखने जिला प्रशासन के साथ लगभग सभी विभाग अपने दायित्वों का निर्वहन कर रहे हैं। किसी भी प्रकार की लापरवाही न हो, इसका विशेष ध्यान जा रहा है ।

पुलिस विभाग लगातार लोगों को समझाइश देने का प्रयास कर रहा है। शहर सहित सभी थाना क्षेत्रों में पुलिस ने तंबू लगा दिया है, जहां पर 24 घंटे जवान तैनात हैं। धमतरी शहर में अंबेडकर चौक, रत्नाबांधा चौक, मकई चौक, सिहावा चौक अर्जुनी मोड़ सीमावर्ती में श्यामतराई नाका, आमदी, केरेगांव थाना में बनरौद तिराहा बीरेझर में कचना मोड़ कोडापार  भखारा में सिलघट मोड़, सिहावा में टांगापानी और बेलरगांव, बोराई में अंतर राज्य सीमा पर तंबू लगाए गए हैं ।

एएसपी मनीषा ठाकुर ने बताया कि पुलिस अधीक्षक बीपी राजभानु के मार्गदर्शन में तंबू में तैनात जवान लगातार निगरानी कर रहे हैं। इसके अलावा एक विशेष वाहन तैयार किया गया है जिसमें पैरामेडिकल विशेषज्ञ दिनेश्वरी नेताम थर्मल स्केनर के साथ सभी पॉइंट में पहुंचकर रजिस्टर मेंटेन कर रही है। इनके वाहन में राशन भी उपलब्ध होता है यदि कहीं जरूरतमंद मिल जाए तो उसे प्रदाय किया जाता है। ड्यूटी पर तैनात जवानों के परिवार वालों के लिए व्हाट्सएप नंबर जारी किया गया है जिसमें वह आर्डर कर किराना सामान मंगा सकते हैं। 

बुधवार से अधिकारी वर्ग के लिए भोजन मंगाने एक नई व्यवस्था शुरू की गई है, जिसमें दिए गए नंबर पर खाने का ऑर्डर भी दे सकते हैं। सुरक्षा के दृष्टिकोण से पेट्रोलिंग में 134 ,नाकाबंदी में 102 ,यातायात पॉइंट में 46 ,फि़क्स पॉइंट में 21, एलो में 17 ,गिरफ्तारी पार्टी में 14 इस तरह से जिले भर में लगभग 350 अधिकारी-कर्मचारी दिन-रात डटे हुए हैं।
 


Date : 01-Apr-2020

सोरिद में किशोरी ने फांसी लगाई 

धमतरी, 1 अप्रैल। आज सुबह सोरिद में 17 वर्षीय किशोरी ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली है। पुलिस ने पंचनामा कर शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। परिवार वालों ने बताया है कि मृतिका पथरी एवं पेट दर्द एवं पथरी से पीडि़त थी । गत 22 मार्च को सरकारी अस्पताल से छुट्टी हुई थी।

 


Date : 01-Apr-2020

लॉकडाउन में उठ रहे मदद को हाथ 

छत्तीसगढ़ संवाददाता
कुरूद, 1 अप्रैल।
नर सेवा ही नारायण सेवा की भावना से मदद को हाथ उठ रहे हैं। लॉकडाउन की वजह से समाज का एक धड़ा जो अपना जीवन यापन रोज रोजी मजदूरी से करते थे और ऐसे एकल परिवार वाले लोग जिनका कोई सहारा नहीं है उनके सामने जीवन निर्वाह के  संकट की स्थिति है। 

नगर में नि: शुल्क मास्क वितरण करते हुए यह देखा गया कि कई परिवारों के सामने आज दो वक्त के भोजन की व्यवस्था का संकट मंडरा रहा है, नगर का कोई भी व्यक्ति भूख से ना तड़पे, इस मानवीयता को ध्येय में रखकर  हारेगा कोरोना जीतेगा कुरुद मुहिम में लगातार आम नागरिकों की सुरक्षा और सेवा में लगे युवाओं ने  सेवा के  अगले पायदान पर कार्य करते हुए जमीनी स्तर पर जाकर मानवता के पुजारियों के सहयोग से अत्यधिक जरूरतमंदों के भरण पोषण  के प्रयास में लग गए हैं ताकि कोई भी व्यक्ति भूखा न सोए। इसी मुहिम के तहत अन्नदान-जीवनदान महाअभियान चलाकर जरूरतमंद लोगों को राशन सामान और पका हुआ खाना उपलब्ध कराने की कोशिश जारी है। कैरियर केयर वेलफेयर सोसायटी कुरुद के इस महाअभियान से जुड़कर सत्यप्रकाश सिन्हा, रज्जन ठाकुर सहित सामाजिक संस्थाओं एवं गुप्तदान से प्राप्त खाद्यान्नों को जरूरतमंदों तक वितरित कर रहे हंै। 


Date : 01-Apr-2020

कालाबाजारी की शिकायत, दो दुकानों पर कार्रवाई

छत्तीसगढ़ संवाददाता
कुरूद, 1 अप्रैल।
कोरोना प्रकोप के चलते लागू लॉकडाउन में अत्यावश्यक चीजों की दुकानों को छोड़कर पूरा बाजार बंद है। जिससे अति आवश्यक वस्तुओं के दाम आसमान छू रहे हैं। ऐसे में कुछ दुकानदार कई गुना ऊंचे दाम पर सामान बेच रहे हंै। जन शिकायत के बाद एसडीएम ने व्यापारियों की मिटिंग बुला स्पष्ट निर्देश दिया कि अधिक दाम वसूलने वाले व्यापारी के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी। आज खाद्य विभाग की टीम ने बाजार में घूमकर हालात का जायजा ले नियमों का उल्लंघन करने वाले दो दुकानदारों के खिलाफ कार्रवाई करते हुए जुर्माना लगाया है। 

ज्ञात हो कि कुरूद नगर तथा ग्रामीण क्षेत्रों में 25 मार्च से बाजार बंद है। जीवन उपयोगी समानो की दुकानें ही कुछ घंटें खुल रही है। मांग और आपूर्ति में आए अतंर का फायदा कुछ व्यापारी उठाने में लग गए है। उपभोक्ताओं से मिली जानकारी अनुसार लॉकडाउन के बाद चावल, दाल, आटा, तेल, आलू-प्याज, मसाले आदि के दाम अचानक बढ़ गये है। काम-धाम बंद होने से आर्थिक तंगी झेल रहा गरीब तबका महंगा सामान खरीदने को विवश है। पांच में बिकने वाला गुड़ाखू 15 में तो 10 रूपये में मिलने वाला बीड़ी का बंडल 30 में बिक रहा है। पान, मसाला और गुटखा के शौकीनो को दोगुने दाम चुकाने पड़ रहे है। यही हाल सब्जी बाजार का भी है थोक में पांच रूपये में बिकने वाली सब्जी कोचिए ग्राहकों को 25 रूपये में बेच रहे हंै। मीडिया में खबरे आने के बाद कलेक्टर रजत बंसल ने स्पष्ट निर्देश दिया है कि कहीं भी कालाबाजारी ना हो। 

मंगलवार को एसडीएम योगिता देवांगन, एसडीओपी रश्मिकांत मिश्र ने व्यापारियों की बैठक लेकर चेताया कि राष्ट्रीय आपदा की इस घड़ी में लाभ कमाने के बजाय मानवता की भलाई के बारे में सोचना होगा। उन्होंने दाम बढ़ाये जाने की शिकायत मिलने पर संबंधित व्यापारी के खिलाफ सख्त कार्रवाई की चेतावनी दी।

एसडीएम श्रीमती देवांगन ने बताया कि बुधवार को शिकायत की जांच पर निकली खाद्य विभाग की टीम ने अमीत एवं विश्वजीत डेली निड्स की दुकान के खिलाफ धारा 144 एवं प्रशासन के निर्देश का उल्लंघन करने पर जुर्माना लगाया। इसके अलावा पीडीएस का चावल खरीदने की शिकायत पर जांच में श्याम ट्रेडर्स पहुंचे तहसीलदार भूपेन्द्र गावड़े ने सीसी टीवी खंगाल दुकानदार से पूछताछ की। संतोषप्रद जवाब नहीं मिलने पर चेतावनी देकर छोड़ दिया गया। 


Date : 01-Apr-2020

बाजार बंद, तालाब सफाई कर रहे मछुवारे, नियम तय कर सेलून दुकान खोलने की अनुमति दें शासन- धनसिंह

छत्तीसगढ़ संवाददाता
कुरूद, 1 अप्रैल।
लॉकडाउन के चलते शासन ने मांस की दुकानें भी बंद करा दी है, जिसके चलते इस कारोबार से जुड़े सैकड़ों लोग बेरोजगारी झेल रहे हैं। फुर्सत के इन लम्हो का उपयोग स्वच्छता में किया जा रहा है। मत्स्य सहकारी समिति से जुड़े मछुवारे इन दिनों तालाबों की सफाई में खुद को व्यस्त रखे हुए हंै। इस दरमियान वे सोशल डिसटेंसिंग एवं मास्क का प्रयोग कर कोरोना से अपना बचाव भी कर रहे हंै।  

ज्ञात हो कि लॉकडाउन लागू होने के बाद से प्रशासन ने कुरूद में 25 मार्च से मटन, मुर्गा, मछली के विक्रय पर रोक लगा दिया है। चिकन कारोबारी शेख जमील, सतीश साहू, रहिम कुरैशी, दिलीप चन्द्राकर, अरमान, चैतराम, रहमान, प्रकाश धीवर, इकबाल खान, लक्की वर्मा आदि ने बताया कि डॉक्टरों का कहना है कि मांसाहार शरीर में रोग प्रतिरोधक क्षमता में वृद्धि करता है। लेकिन यहां सारी दुकानें बंद करा दी गई, जबकि धमतरी सहित कई शहरों में मांस के कारोबार पर लगी रोक हटा दी गई है। 

प्राथमिक मत्स्य सहकारी समिति से जुड़े मछली उत्पादक जद्दू धीवर, प्रांणनाथ, पंचराम, प्रहलाद, कौशल, राजू, तीजूराम, विनोद, करण, देवलाल धीवर ने बताया कि बाजार बंद होने से उन्हें आर्थिक तंगी का सामना करना पड़ रहा है। खाली समय का उपयोग करते हुए तालाब सफाई के काम में भीड़े है। अब तक नवा तालाब, दानी तालाब की साफ-सफाई की गई है, जिससे लोगों को निस्तारी के लिए साफ-सुथरा पानी मिल रहा है। 

इसी तरह सेलून व्यवसाय से जुड़े लोग भी प्रशासन की ओर उम्मीद से निहार रहे हंै। एक सप्ताह से दुकानें बंद होने से कईयों के चेहरे का रंग उड़ रहा है। सेन समाज के जिलाध्यक्ष धनसिंह सेन ने बताया कि रोज कमाने रोज खाने वाले सेन समाज के लिए बंद घातक सिद्ध हो रहा है। शासन नियम तय कर सेलून दुकान खोलने की अनुमति प्रदान करें ताकि समाज के लोग राहत की सांस ले सके। 


Date : 01-Apr-2020

धमतरी में अब सुबह 7 से दोपहर 12 बजे तक प्रारंभ रहेगा आवश्यक सेवाओं का क्रय-विक्रय

छत्तीसगढ़ संवाददाता
धमतरी, 1 अप्रैल।
नोवल कोरोना वायरस (कोविद-19) के संभावित संक्रमण एवं प्रसार की रोकथाम को दृष्टिगत करते हुए कलेक्टर एवं जिला दण्डाधिकारी श्री रजत बंसल ने गत 24 मार्च को दण्ड प्रक्रिया संहिता 1973 की धारा 144 के प्रभावी किए जाने के संबंध में आदेश जारी किया था। उक्त आदेश के परिप्रेक्ष्य में आज उन्होंने संशोधित आदेश जारी किया है जिसके तहत अब जिले में आवश्यक वस्तुओं एवं सेवाओं का क्रय-विक्रय सुबह सात बजे से दोपहर 12 बजे तक किया जा सकेगा।

जारी संशोधित आदेश में कहा गया है कि ऐसी सभी गाडियां, दुकान व ठेले (सब्जी, फल, अनाज, चिकन, मटन, मछली), किराना दुकान, बीज एवं कीटनाशक तथा दुग्ध व्यवसाय की दुकानें सुबह सात बजे से दोपहर 12 बजे तक ही खुली रहेंगी। गैस एजेंसियां पेट्रोल पम्प, बैंकिंग सेवाएं अपने-अपने निर्धारित समयानुसार संचालित होंगी, बशर्ते पांच से अधिक व्यक्ति एकत्रित नहीं रहेंगे। वन कार्यालय से संबंधित सेवाएं भी प्रारंभ रहेंगी जिसमें नर्सरी, वन्यप्राणी, वनों में अग्निशमन, वनों में पेट्रोलिंग के लिए आवश्यक मानव संसाधन, समाज कल्याण विभाग की आवासीय संस्थाएं, जिसमें बच्चों, नि:शक्तजनों, बेघर, वरिष्ठ नागरिकों, महिलाओं, विधवा की देखरेख हेतु संचालित हों, ऑब्जर्वेशन होम, सामाजिक सुरक्षा पेंशन व्यवस्था सम्मिलित हैं। 

इसके अलावा पशु चिकित्सालय, फार्मेसी (जन औषधि केन्द्र) सहित दवा रिसर्च लैब, बैंकिंग सेवाओं के लिए आईटी वेंडर, बैंक मित्र तथा एटीएम संचालन व कैश मैनेजमेंट एजेंसियों को छूट प्रदान की गई हैं। साथ ही ई-कॉमर्स के माध्यम से खाद्य, दवाइयां, मेडिकल उपकरण सभी आवश्यक दवाओं की डिलीवरी, आवश्यक वस्तुएं जिनमें दवाएं, दवा उत्पाद, मेडिकल उपकरण, दवाइयों से संबंधित कच्चे माल एवं इंटरमिडिएट उत्पाद के विनिर्माण करने वाली युनिट्स, ऐसी इकाइयां जो खाद्य पदार्थ, दवा, मेडिकल उपकरण हेतु पैकेजिंग मटेरियल, विनिर्माण करती हों, को भी छूट प्रदान की गई है। 

इसके अतिरिक्त होटल, होम स्टे, लॉज तथा मोटल जिनमें लॉकडाउन के कारण फंसे व्यक्ति, पर्यटक, अत्यावश्यक सेवाओं से संबंधित स्टाफ रूके हों। संभावित कोरोना संक्रमित व्यक्तियों से सम्पर्क में आने वालों को आइसोलेशन में रखने हेतु चिन्हित स्थापनाएं तथा अस्पताल अधोसंरचना के विस्तार के लिए आवश्यक संसाधन, वस्तुएं एवं सामग्री बिना किसी रूकावट के उपलब्ध रहेंगी। 

जारी आदेश में जिला दण्डाधिकारी ने सभी कार्यालय, संस्थानों और प्रतिष्ठानों को प्रोटोकॉल का पालन करने एवं व्यक्तियों को न्यूनतम एक मीटर की सोशल डिस्टेंसिंग रखने की अनिवार्यता का उललेख किया गया है। यह आदेश 14 अप्रैल की रात्रि 12 बजे तक या आगामी आदेश पर्यन्त प्रभावी रहेगा


Date : 31-Mar-2020

23 सौ कार्ड, राशन की दो दुकान, लगी लंबी कतार

छत्तीसगढ़ संवाददाता

कुरूद, 31 मार्च। कोरोना वायरस के चलते देश भर में लगे लॉकडाउन में सरकार लोगों को दो महिने का चावल सोसायटियों के माध्यम से नि: शुल्क उपलब्ध करा रही है। पेट की आग शांत करने लोग मोदी जी की बताई लक्ष्मण रेखा पार कर घरो से सोसायटी पहुंच रहे हंै, लेकिन यहां भी जरूरतमंदों की लंबी कतार लगी है। कुरूद में करीब 14 हजार की आबादी है और मात्र 2 सोसायटी से ही काम चलाया जा रहा है, जबकि सरकारी नियम के हिसाब से एक हजार की आबादी में एक सोसायटी खोली जा सकती है।

गौरतलब है कि नगर पंचायत कुरूद में बरसों पुरानी व्यवस्था के तहत सहकारी विपणन समिति के माध्यम से यहां मात्र दो सोसायटी संचालित की जा रही है। जबकि यहां के 15 वार्डों में करीब 14 हजार लोग निवास करते हंै। यहां 23 सौ बीपीएल कार्डधारी है। इसके अलावा एपीएल के सैकड़ों कार्डधारी इन्हीं दो सोसायटियों पर निर्भर है। वर्तमान में कोरोना प्रकोप के चलते सरकार दो महिने का राशन एक साथ मुफ्त दे रही है। काम-धाम से वंचित गरीबों का यही अंतिम सहारा है। ऐसे में लोग घरों की लक्ष्मण रेखा पार कर राशन के लिए सोसायटी पहुंच रहे हंै। जहां 35 किलो के अनुपात में दो महिने का 70 किलो चावल हितग्राहियों को दिया जा रहा है। घर से सोसायटी की दूरी उपभोक्ताओं को भारी पड़ रही है। 35 रूपये के चावल को ले जाने के लिए 50 रूपये रिक्शा भाड़ा लग रहा है। नागरिकों ने कई बार अपनी समस्या जिम्मेदार लोगों को बता सोसायटियों की संख्या बढ़ाने की मांग कर चुके है, लेकिन सुनवाई नहीं हुई।

स्थिति पर नजर रखने वाले एक जानकार ने बताया कि यहां की दोनों सोसायटियों में साढ़े 11सौ बीपीएल कार्डधारी को राशन दिया जाना है। प्रत्येक को पांच मिनट का समय भी लगता है तो एक दिन के 5 घंटे में 60 लोगों को ही अनाज दिया जा सकता है। ऐसे में सभी को राशन आबंटित करने में 20 दिन का समय लगेगा। तब तक लॉकडाउन का पालन कैसे होगा।

 इस मामले में नगर पंचायत अध्यक्ष तपन चन्द्राकर ने बताया कि नगर में दो और नई सोसायटी खोलने की प्रक्रिया चल ही रही थी कि लॉकडाउन हो गया। वर्तमान में हितग्राहियों को परेशानी ना हो, इसके लिए राशन कार्ड जमा करा अनाज के पैकेट तैयार कराये जा रहे है ताकि भीड़ ना लगे और लोगों को जल्द अनाज वितरित किया जा सके। उन्होंने बताया कि सोसायटियों में सोशल डिस्टेंसिंग, हैण्डवास, मास्क और सेनिटाइजर की व्यवस्था की गई है।


Date : 31-Mar-2020

पार्षद पर भेदभाव का आरोप 
वार्डवासियों ने की कलेक्टर-निगम आयुक्त से शिकायत

छत्तीसगढ़ संवाददाता
धमतरी, 31 मार्च।
रिसाईपारा पूर्व के वासियों ने वार्ड पार्षद पर अपने ही लोगों को राशन सामग्री एवं मदद किए जाने का आरोप लगाया है। उन्होंने कलेक्टर-निगम आयुक्त से लिखित शिकायत करते हुए मदद की गुहार लगाई है। 

प्रशासन द्वारा धमतरी शहर में प्रत्येक वार्ड में गरीब बीपीएल परिवारों, निचले तबकों और दिहाड़ी मजदूरों के लिए राशन और अन्य मदद पहुंचाई जा रही हैं, जिसके लिए वार्ड के पार्षदों से जानकारी मांगी है। रिसाईपारा पूर्व के वासियों ने वार्ड पार्षद रूपेश राजपूत पर आरोप लगाया है कि उनके द्वारा वार्ड के अपने ही आदमियों को राशन सामग्री एवं मदद दी जा रही है, बाकी वार्ड के लोगों के साथ भेदभाव पूर्ण रवैया पार्षद के द्वारा अपनाया जा रहा है जिसके कारण प्रशासनिक मदद के जो असली हकदार है उन्हें मदद नहीं मिल पा रही है।
वार्डवासियों का आरोप है कि पार्षद के पास जब जब मोहल्ले वाले राशन सामग्री मांगने गए तो जवाब दिया कि मुझे जिसको जिसको देना था, दे दिया, अब मेरे पास नहीं है। वार्ड के तकरीबन 22 लोगों ने पार्षद के भेदभाव  पूर्ण रवैया के खिलाफ लिखित शिकायत कर मदद की गुहार लगाई है।

 वार्डवासियों ने कहा कि वे लोग लोग भी गरीबी रेखा में आते हैं और रोज कमाने खाने वाले हैं और लॉकडाउन में उनकी स्थिति बहुत खराब हो चुकी है उनके भी छोटे-छोटे बाल बच्चे हैं। अभी कमाई का कोई जरिया नही लॉकडाउन के अभी 16 दिन बाकी है ऐसे में हमारे सामने भूखों मरने की नौबत आ जाएगी।

 


Date : 31-Mar-2020

दिल्ली-कश्मीर घूमकर आने की जानकारी छुपाई, धमतरी में 6 पर एफआईआर

छत्तीसगढ़ संवाददाता

धमतरी, 31 मार्च। दिल्ली-कश्मीर से घूम कर आने की जानकारी छुपाने वाले 6 पर आज एफआईआर दर्ज की गई है। कोरोना वायरस महामारी के संक्रमण के रोकथाम के लिए जिला प्रशासन एवं स्वास्थ्य विभाग द्वारा हर संभव प्रयास किया जा रहा है। बाहर से आने वाले लोगों पर पैनी निगाह रखी गई है। इसी बीच एक हैरान कर देने वाली खबर सामने आई है जिसमें धमतरी से 8 या 9 मार्च को 6 लोग दिल्ली कश्मीर घूमने गए थे, जो 15 मार्च को वापस लौटे। वे बिना चेकअप कराएं घरों में छिपे रहे और बाहर भी घूमे। इसकी जानकारी मिलते ही स्वास्थ्य विभाग द्वारा 6 लोगों के खिलाफ सिटी कोतवाली धमतरी में एफ आई आर दर्ज कराई है।

जिला स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. तुर्रे ने बताया कि अशोक मोटवानी, अर्जुन लखवानी, अशोक डोडवानी, ईश्वर लालवानी, सुरेश आडवाणी, नरेश कोटवानी दिल्ली कश्मीर घूम कर वापस आए बिना मेडिकल चेकअप कराएं घर में रहे एवं बाहर भी घूमे, इसलिए उनके खिलाफ एफ आई आर दर्ज कराई गई है। डॉ तुर्रे ने नागरिकों से अपील की है कि आप या आपके आस पास के लोग बाहर से आ रहें हो उसकी जानकारी छिपाए (बाकी पेजï 5 पर)

नहीं, तत्काल हमें खबर करें ताकि उनकी जांच कर ये पता लगाया जा सके कि वे कोरोना वायरस से संक्रमित तो नहीं, बाहर से आ रहे लोगों को  एहतियातन 14 दिनों के लिए होम आइसोलेशन में रखा जाता।  स्वास्थ्य विभाग पूरी मुस्तैदी के साथ अपना काम कर रहा है जिसमें नागरिकों का सहयोग भी अतिआवश्यक है । धमतरी जिले में एक भी कोरोना पॉजिटिव केस नहीं है ।


Date : 30-Mar-2020

राशन दुकानों में चावल लेने भीड़, सोशल डिस्टेंसिंग का पालन नहीं 

छत्तीसगढ़ संवाददाता
धमतरी, 30 मार्च।
आज सुबह से सरकारी उचित मूल्य की दुकानों में मुफ्त चावल लेने लोगों की भीड़ लगी। सोशल डिस्टेंसिंग का पालन नहीं किया जा रहा है।
उचित मूल्य की दुकान के संचालक के द्वारा दुकान के बाहर कोरोना वायरस संक्रमण से बचने के लिए पोस्टर लगाए गए हैं। हाथ धोने के लिए साबुन और पानी की व्यवस्था भी की है उसके बाद भी लोग भीड़ लग जा रही है। दुकान संचालकों का कहना है कि हम लोग इन्हें सामान दे या इन्हें अलग-अलग खड़े होने के लिए कहे ,बार-बार कहने के बावजूद लोग नहीं मान रहे हैं। कोरोना वायरस महामारी  से निपटने के लिए शासन के निर्देश के बाद 2 माह का चावल बीपीएल कार्ड धारियों को मुफ्त में दिया जा रहा है। 

सामान्य कार्ड धारियों को इसका लाभ नहीं मिलेगा, उन्हें पैसे देकर ही चावल दिया जाएगा और उन्हीं को राशन दिया जा रहा है जिनका नाम उस दुकान में है।  आम दिनों में लोग अपने नजदीकी राशन दुकानों से राशन ले सकते थे मगर अभी यह व्यवस्था ना होने के कारण लोगों को राशन के लिए भटकना पड़ रहा है। जबकि निगम  आयुक्त आशीष ठिकरिया ने कहा है कि लोग अपने नजदीकी राशन दुकानों से राशन लें। राशन दुकान संचालकों को निगमायुक्त से लिखित आदेश की आवश्यकता है उसके बाद ही लोगों को अपनी नजदीकी राशन दुकान से राशन मिल पाएगा।


Date : 30-Mar-2020

मृतक में नहीं थे कोरोना के लक्षण, नियमित की गई उसकी स्वास्थ्य जांच, पत्नी की मृत्यु के बाद से रहता था विचलित

धमतरी, 30 मार्च। जिले के वनांचल नगरी स्थित सिहावा क्षेत्र के टांगापानी निवासी 35 वर्षीय श्री गनपत मरकाम ने आज सुबह बजरंग तालाब के किनारे पेड़ पर गमछा से फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। उनके पिता श्री सगराम मरकाम  ने पुत्र श्री संपत के साथ थाने में जाकर इसकी सूचना दी। उन्होंने बताया कि मृतक तमिलनाड़ु में बोर गाड़ी में काम पर गया हुआ था और हाल ही में 20 मार्च को वापस लौटा। चूंकि दूसरे राज्य से लौटा था इसलिए उसे स्वास्थ्य विभाग के अमले ने 22 मार्च को स्वास्थ्य जांच कर घर में रहने की सलाह दी थी। साथ ही स्वास्थ्य अमला द्वारा 29 मार्च तक उसकी नियमित जांच सुबह आठ बजे के आस-पास किया गया। जांच में उसे सर्दी, खांसी, बुखार के कोई लक्षण नहीं मिले थे। 

पिता ने बताया कि मृतक की पत्नी का एक वर्ष पहले देहांत हो चुका है और उनका पुत्र साथ नहीं रहता। मृतक के भाई श्री संपत ने बताया कि 30 मार्च की सुबह 07 बजे वह बजरंग तालाब के पास पेड़ पर गमछा से फांसी लगाकर आत्महत्या कर लिया। पंचनामा में ग्रामीणों ने बताया है कि पत्नी की मृत्यु के बाद से वह काफी गुमसुम रहता था और शराब का सेवन भी करता था। उसका घर पर किसी से लड़ाई-झगड़ा नहीं हुआ था वह गुमसुम ही रहता था। 
 


Date : 30-Mar-2020

ट्रक से राजस्थान-हरियाणा जाने की जिद पर अड़े  64 मजदूरों को रोका

छत्तीसगढ़ संवाददाता

कुरूद, 30 मार्च। कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने केंधर सरकार ने देश भर में 21 दिन का लॉकडाउन कर दिया है। रोजी-रोटी कमाने हरियाणा और राजस्थान से ओडिशा गये मजदूर वापस अपने गृह राज्य लौट रहे थे। प्रशासन द्वारा परिवहन में लगाई गई रोक के चलते ट्रक में सवार 64 लोगों को पुलिस ने कुरूद ब्लॉक के ग्राम कचना के सरकारी हाई स्कूल में ठहराया है, लेकिन मजदूर घर लौटने की जिद पर अड़े हंै।

लॉकडाउन लम्बा चलने की आशंका से घबराये मजदूर शनिवार रात उमरकोट(ओडिशा) से ट्रक पर सवार होकर बोरई, नगरी, सिंगपुर मार्ग से होते हुए बिरेझर चौकी अतंर्गत कचना (मड़ेली) पहुंचे। जहां सुरक्षा बलों ने उन्हें रोक लिया। लेकिन घर जाने की जिद पर अड़े मजदूरों ने रविवार को भूख हड़ताल शुरू कर दी। एसडीएम योगिता देवांगन, तहसीलदार भूपेन्द्र गावड़े के समझाने के बाद भी वे अपनी बात पर अड़े रहे। तब जिला पंचायत अध्यक्ष कांति सोनवानी, जनपद अध्यक्ष शारदा देवी साहू, वरिष्ठ कांग्रेसी नेता राजकुमार अग्रवाल, सरपंच पुरूषोत्तम चक्रधारी, समाज सेवी जमाल रिजवी, मो. शफी खान, मो. युसुफ, शेख जमील, शैलेन्द्र वर्मा, हीरासिंग ठाकुर, महेन्द्र साहू, तोरण सोनवानी, गजेन्द्र गिरी, रूद्रप्रताप ने मौके पर जाकर हरियाणा के नुहू, पलवल जिले के 33 तथा राजस्थान के अलवर, भरतपुर जिले के 31 लोगो में से जहिर अहमद ईशराईल, मुजीब खान, महेश, भावेश आदि से बात कर उन्हें समझाया कि जब तक उन्हें आगे जाने की अनुमति नहीं मिलती, तब तक यहां रहे। खाने-पीने और रहने की व्यवस्था प्रशासन उपलब्ध करवा रही है।

अधिकारी, जनप्रतिनिधि एवं समाजसेवियों की बातें सुनकर वे सभी एक-दो दिन रूकने तैयार हो गये है और भूख हड़ताल बंद कर रात को खाना खाया। मजदूरो की मांग है कि उन्हें जितनी जल्दी हो सके हरियाणा जाने की अनुमति प्रदान की जाए।

इस संबंध में कलेक्टर रजत बंसल का कहना है कि राज्य शासन ने जो जहां है, उसे वहीं रखने का स्पष्ट निर्देश दिया है। जिसका पालन करते हुए मजदूरों को रोका गया है।


Previous1234567Next