छत्तीसगढ़ » कोण्डागांव

Previous123Next
Date : 25-Jan-2020

शासकीय गुण्डाधुर स्नाकोत्तर महाविद्यालय में 25 जनवरी को मतदाता दिवस कार्यक्रम सम्पन्न, 25 नव मतदाताओं को एपीक कार्ड

छत्तीसगढ़ संवाददाता
कोण्डागांव, 25 जनवरी।
मुख्यालय स्थित शासकीय गुण्डाधुर स्नाकोत्तर महाविद्यालय में 25 जनवरी को मतदाता दिवस कार्यक्रम सम्पन्न हुआ। इस मौके पर जिला व सत्र न्यायाधीश सुरेश कुमार सोनी, कलेक्टर नीलकण्ठ टीकाम, एसडीएम पवन कुमार प्रेमी, उप जिला निर्वाचन अधिकारी डीआर ठाकुर सहित अन्य संबंधित अधिकारी उपस्थित थे। 

कार्यक्रम मे सर्वप्रथम सभी महाविद्यालयीन नव मतदाताओ और उपस्थित गणमान्य नागरिक अधिकारी, कर्मचारियों को आयोग द्वारा निर्धारित किए गए शपथ पत्र का वाचन करवाया गया। तत्पश्चात मतदाताओं और आमजनों को मतदान के अधिकारों से अवगत कराते हुए विस्तृत जानकारी दी गई। आगन्तुक अतिथियों ने भी नव मतदाताओं से अपील की कि वे मतदान का शत्प्रतिशत प्रयोग करें ताकि निर्वाचन में अच्छे प्रत्याशी का चुनाव किया जा सके। कार्यक्रम के अन्त मे मतदाता जागरूक अभियान मे उत्कृष्ट कार्य करने वाले 4 बुथ लेवल अधिकारी, एक स्वीप नोडल अधिकारी, सहायक प्राध्यापक 6 केम्पस ऐम्बेसडरो को प्रमाण पत्र से सम्मानित भी किया गया साथ कुल 25 नवीन मतदाताओं में एपीक कार्ड दिए गए। 

 


Date : 24-Jan-2020

गणतंत्र दिवस समारोह का अंतिम रिहर्सल, कलेक्टर ने लिया जायजा

कोण्डागांव, 24 जनवरी। स्थानीय विकासनगर स्टेडियम ग्राउण्ड में 24 जनवरी को आयोजित गणतंत्र दिवस मुख्य समारोह के अंतिम पूर्वाभ्यास का कलेक्टर नीलकंठ टीकाम ने जायजा लिया। इस दौरान पुलिस अधीक्षक सुजीत कुमार सिंह, सीईओ जिला पंचायत डीएन कश्यप, एसडीएम पवन कुमार प्रेमी, डिप्टी कलेक्टर भरतराम ध्रुव, सहायक आयुक्त आदिवासी विकास जीएस सोरी, जिला शिक्षा अधिकारी राजेश मिश्रा सहित जिले के सभी अधिकारी एवं स्कूली बच्चे बड़ी संख्या में मौजूद थे। 
इस कड़ी में कलेक्टर ने ध्वजारोहण, परेड की सलामी, हर्ष फायर, शासकीय विभागो की झांकियों एवं विभिन्न सांस्कृतिक कार्यक्रमों का अवलोकन किया। कार्यक्रम में जिले के विभिन्न स्कूलों के छात्र-छात्राओं द्वारा परम्परागत एवं समसामयिक देशभक्ति एवं छत्तीसगढ़ी रंगो से परिपूर्ण नृत्यो का अभ्यास किया। इसके अलावा जिले में ग्रामीण क्षेत्रों के कोटवारो को भी मार्च पास्ट में शामिल किया जायेगा। इसके साथ ही कलेक्टर ने बैठक व्यवस्था, साफ-सफाई, टेंट साउण्ड सिस्टम एवं सुगम यातायात व्यवस्था करने के निर्देश संबंधितो को दिए। 

 


Date : 24-Jan-2020

स्वास्थ्य सचिव निहारिका बारीक ने 24 जनवरी को मलेरिया मुक्त बस्तर अभियान के तहत कोण्डागांव के जिला अस्पताल और विकास खण्ड केशकाल के प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र बहीगांव का निरीक्षण किया गया

छत्तीसगढ़ संवाददाता
कोण्डागांव 24 जनवरी।
स्वास्थ्य सचिव निहारिका बारीक ने 24 जनवरी को मलेरिया मुक्त बस्तर अभियान के तहत कोण्डागांव के जिला अस्पताल और विकास खण्ड केशकाल के प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र बहीगांव का निरीक्षण किया गया। स्वास्थ्य केंद्र में निरक्षण के दौरान ग्रामीणों से चर्चा कर मलेरिया मुक्त बस्तर अभियान के बारे में बताया गया। इस दौरान आस पास के गृहों का भ्रमण कर स्वास्थ्य कर्मियों द्वारा अभियान में किये गए गृह भेट, गृह चिन्हांकन, प्रचार-प्रसार सामग्री का जायजा लिया गया। साथ ही प्रत्येक गुरुवार को प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र बहीगांव में मेडिकल ऑफिसर के द्वारा जांच के लिए ड्यूटी लगाई गई। 

बहीगांव में सर्वे के दौरान 2 मलेरिया धनात्मक और विकासखंड केशकाल में कुल 19 मलेरिया मरीजों के प्रकरण पाए गए है। जिला कोण्डागांव में 4 विकास खण्ड माकड़ी, फरसगांव, कोण्डागांव और केशकाल में मलेरिया मुक्त बस्तर अभियान का संचालन किया जा रहा है, इसमे कुल 235 मलेरिया के धनात्मक प्रकरण पाए गए है, जिसमें 15 वर्ष के कम उम्र के बच्चो में अधिक मलेरिया के मरीज पाए जा रहे है जिनकी संख्या 118 है। साथ ही महिलाओं में 61 और पुरूषों में 56 मरीज मलेरिया धनात्मक पाए गए है। उक्त अभियान में 4 विकासखंडों में कुल 5135 घरों में 18844 व्यक्तियों का सर्वे किया जा चुका है। 
जिला अस्पताल में नेत्र विभाग, ओपीडी, मोड्यूलर ड्राई क्लीनिंग एवं भवन में कलेक्टर द्वारा बनवाये गये किचन शेड प्रसंशा भी की साथ ही जिला अस्पताल में डॉक्टर की कमी के कारण होने वाली दिक्कत को देखते हुए जल्द से जल्द भर्ती करने को कहा। स्वास्थ्य सचिव के निरक्षण के दौरान कलेक्टर नीलकंठ टीकाम, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. एसके कनवर, अनुविभागीय अधिकारी कोण्डागांव पवन प्रेमी, अनुविभागीय अधिकारी केशकाल डीडी मंडावी, जिला स्वास्थ्य अधिमारी डॉ. एस टोप्पो, अस्पताल अधीक्षक डॉ. संजय बसाक, राज्य सलाहकार सुस्मिता पटनायक सहित स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी एवं कर्मचारी उपस्थित रहे।

 


Date : 24-Jan-2020

शिक्षा से शतप्रतिशत लाभाविंत करने विकास खण्ड माकड़ी क्षेत्र में कक्षा 9वीं के अप्रवेशी विद्यार्थियों के पालक सहमत होकर लगभग 90 विद्यार्थियों को अपने-अपने ग्रामीण क्षेत्र में प्रवेश करवाया

कोण्डागांव, 24 जनवरी। शिक्षा से शतप्रतिशत लाभाविंत करने के मुहिम में कलेक्टर नीलकंठ टीकाम और जिला शिक्षा अधिकारी राजेश मिश्रा के दिशानिर्देश में विकास खण्ड माकड़ी के खण्ड शिक्षा अधिकारी जगमोहन भोयर अथक प्रयासरत है। वे लगातार क्षेत्र के ग्रामीण क्षेत्र में निरीक्षण कर कक्षा 8वीं उतीर्ण कर कक्षा 9वीं में अप्रवेशी विद्यार्थियों को शिक्षा की धारा से जोडऩे की पहल में पालकों और ग्रामीणों के साथ निरंतर बैठक कर समझाईश दे रहे है। इसी का परिणाम है कि, विकास खण्ड माकड़ी क्षेत्र में कक्षा 9वीं के अप्रवेशी विद्यार्थियों के पालक सहमत होकर लगभग 90 विद्यार्थियों को अपने-अपने ग्रामीण क्षेत्र में प्रवेश करवाया है। बता दें, खण्ड शिक्षा अधिकारी जगमोहन भोयर के नवाचार के चलते हाई स्कूल एरला में 20, हाई स्कूल वन बेलगांव में 6, हाई स्कूल मगेदा में 10, हाई स्कूल तोरण्डी में 25, हायर सेकेंडरी स्कूल अनंतपुर में 12, हायर सेकेंडरी स्कूल हीरापुर में 13 और हायर सेकेंडरी स्कूल उड़ीदगांव में 04 विद्यार्थी प्रवेशित हुए हैं।


Date : 24-Jan-2020

राष्ट्रीय बालिका दिवस के उपलक्ष्य पर सामुदायिक भवन कोण्डागांव में आयोजित, महिला सशक्तिकरण के लिए प्रशिक्षण सह जागरूकता कार्यक्रम 

छत्तीसगढ़ संवाददाता
कोण्डागांव, 24 जनवरी।
राष्ट्रीय बालिका दिवस के उपलक्ष्य पर सामुदायिक भवन कोण्डागांव में आज आयोजित जिला स्तरीय महिला सशक्तिकरण प्रशिक्षण सह जागरुकता कार्यक्रम का सामुदायिक भवन कोण्डागांव में आयोजन हुआ। इस कार्यशाला का उद्घाटन कलेक्टर नीलकंठ टीकाम ने किया। 

इस मौके पर कलेक्टर ने कहा कि युवा अवस्था सबसे अधिक संघर्ष व चुनौतियों से भरा वक्त होता है। इस वक्त जो व्यक्ति अपनी भावनाओं पर नियंत्रण पाकर सही दिशा तय कर जुनून के साथ अपने कार्य को सम्पन्न करते है वही अपनी पहचान इस दुनिया पर बना पाते है। इसके पूर्व नगर में शालेय एवं महाविद्यालयीन छात्राओं, आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं एवं सहायिकाओं द्वारा जागरुकता रैली भी निकाली गई। इस रैली में कलेक्टर सहित पुलिस अधीक्षक सुजीत कुमार सिंह, सीईओ जिला पंचायत डीएन कश्यप भी शामिल हुए। 

सहायक आरक्षक सोनाय नाग का सम्मान
वर्ष 2016 में एक मानसिक बीमार गर्भवती महिला मिली थीं, जिसने वर्ष 2017 में एक शिशु को जन्म दिया। वह बच्चे के लालन-पालन में असमर्थ थी, ऐसे में प्रशासन द्वारा महिला आरक्षक सोनय पोयाम को महिला की देखरेख की जिम्मेदारी दी गई। उक्त आरक्षक द्वारा पीडि़त महिला की निस्वार्थ भाव से सेवा की गई, साथ ही नवजात शिशु को दत्तक ग्रहण एजेंसी के माध्यम से बेहतर परिवार तथा उसकी माता को मानसिक रोग सुधार केन्द्र में भर्ती कराने की व्यवस्था भी की गई। कलेक्टर द्वारा आज राष्ट्रीय महिला दिवस पर उनको विशेष सम्मान से सम्मानित किया गया

राष्ट्रीय व राज्य स्तर पर अव्वल रही छात्राओं को किया पुरस्कृत
जूडो में राज्य स्तर पर स्वर्ण पदक प्राप्त करने पर शिवानी पोयाम, रसबती पोयाम, ज्योति मरावी, कुसुम कोर्राम, कौशल्या नेताम, पार्वती सरकार, सुनेशा नाग को तथा तीरंदाजी के लिए चंचला पोयाम, रमिता सोरी, मयावती सलाम, दक्षा यादव को साथ ही खिलेश्वरी नेताम को राज्य स्तर पर सांस्कृतिक कार्यक्रम में प्रथम एवं रितिका नेताम को राष्ट्रीय स्तर पर कराटे में कांस्य पदक प्राप्त करने पर कार्यशाला में सम्मानित किया गया। कार्यक्रम में निबंध लेखन प्रतियोगिता में भुनेश्वरी सिन्हा एवं चित्रकला प्रतियोगिता के लिए खुशबू पटेल ने प्रथम स्थान प्राप्त किया। 


Date : 24-Jan-2020

जर्जर छतों की मरम्मत के नाम पर डामर पुताई का मामला, अपर कलेक्टर की जांच में खामियां, नए सिरे से जांच होगी-सीईओ

राज शार्दुल

विश्रामपुरी, 24 जनवरी (छत्तीसगढ़)। कोंडागांव जिले में स्थित स्कूल आश्रम एवं छात्रावास भवनों को जर्जर बताकर मरम्मत के नाम पर डामर पोताई कर करोड़ों रुपए निकालने के मामले की जांच पर सवाल उठ रहे हैं। मामले की जांच पूर्व जिला पंचायत सीईओ कोण्डागांव नुपूर पन्ना राशि द्वारा की गई थी। जांच पश्चात कमिश्नर बस्तर संभाग को जांच प्रतिवेदन भेजा गया था। जहां जांच को भ्रामक एवं अपूर्ण बताकर जांच प्रतिवेदन को वापस कलेक्टर कार्यालय कोंडागांव भेज दिया गया है। इस बीच उनका तबादला हो गया और नये सीईओ ने कार्य भार संभाला है, जो कि मामले की नए सिरे से जांच करेंगे।

तीन साल तक जांच पर जांच, नतीजा शून्य

जिले के बड़ेराजपुर एवं फरसगांव क्षेत्र के शासकीय स्कूल आश्रम छात्रावास भवनों में मरम्मत के नाम पर हुए घोटाले की तीन वर्षों से जांच चल रही है। किंतु तीन साल बाद भी किसी नतीजे पर नहीं पहुंची है। जनपद पंचायत बड़ेराजपुर के जनप्रतिनिधियों ने शिकायत की थी कि बड़ेराजपुर एवं फरसगांव में शासकीय भवनों में मरम्मत के नाम पर बड़े पैमाने पर अनियमितता बरती गई है, कई जगह बिना कार्य कराए ही रकम निकाल ली गई है, जिसकी शिकायत पर किसी प्रकार की कार्रवाई नहीं होने से जनप्रतिनिधियों ने तत्कालीन क्षेत्रीय सांसद विक्रम उसेंडी के माध्यम से मुख्यमंत्री से शिकायत की थी।

तीन अधिकारी एवं ठेकेदार पर गिर सकती थी गाज

विभागीय सूत्रों का कहना है कि तत्कालीन अपर कलेक्टर द्वारा जांच प्रतिवेदन सीधे कमिश्नर के पास भेजा गया था, (बाकी पेज 8 पर)

जबकि जांच प्रतिवेदन कलेक्टर कोण्डागांव के अनुमोदन के पश्चात ही भेजा जाना था। अब जांच रिपोर्ट को भ्रामक एवं अपूर्ण बताया गया है। इसी के चलते जांच प्रतिवेदन को मूलत: कार्यालय कलेक्टर कोंडागांव  को वापस कर दिया है तथा नये सिरे से जांच शुरू होगी।

जांच अधिकारी तत्कालीन जिला पंचायत सीईओ नूपुर पन्ना राशि द्वारा मरम्मत के नाम पर डामर पुताई मामले में चार लोगों को जिम्मेदार ठहराया गया था जिसमें इंजीनियर, एसडीओ, बीईओ एवं संबंधित ठेकेदार हैं।

जनपद अध्यक्ष बड़ेराजपुर शांति मरकाम उपाध्यक्ष केशव सिंह ठाकुर एवं लगभग 20 सरपंचों ने हस्ताक्षर युक्त शिकायत करते हुए जांच की मांग की थी कि ठेकेदार द्वारा मंत्रियों से अपने संबंध का धौंस दिखाते हुए पंचायतों से राशि निकालने के लिए दबाव बना रहा है तथा चेक नहीं काटने पर सचिवों को अन्यत्र तबादला करवा देने की धमकी दे रहा है। इस तरह की शिकायतों के बाद मामले की उच्च स्तरीय जांच शुरू हुई थी।

अब मामले को लंबे समय तक लटकाए जाने पर शिकायतकर्ताओं ने असंतोष जाहिर किया है तथा कहा है कि पुन: एक बार ठेकेदार के द्वारा अपनी राजनीतिक पहुंच का इस्तेमाल करके जांच को प्रभावित किया जा रहा है। शिकायतकर्ताओं ने यह भी कहा है कि मामले में सरपंच-सचिवों को आरोपी बनाए जाने की कोशिश की जा रही है तथा मुख्य आरोपियों को बरी करने की साजिश हो रही है। शिकायतकर्ताओं ने बताया कि सरपंच सचिव इसमें निर्दोष हैं तथा  ठेकेदार एवं इंजीनियर तथा एसडीओ ही इसके लिए पूर्णरूपेण जिम्मेदार हैं जिन्होंने गलत तरीक़े से मूल्यांकन किया है।

क्या है मामला

जिले के बड़े राजपुर जनपद पंचायत क्षेत्र के अंतर्गत छात्रावास हाई स्कूल हायर सेकेंडरी एवं आश्रम भवनों के जर्जर छतों के मरम्मत के नाम पर 2016 - 17 में 2.27 करोड़  रूपये की राशि स्वीकृत हुई थी लगभग इतनी ही राशि फरसगांव जनपद पंचायत में भी स्वीकृत हुआ था। जिसमें मरम्मत के नाम पर डामर का घोल को छतों पर डालकर पूरी रकम की हेराफेरी की गई थी। कुछ जगहों पर नये भवनों जिनका लोकार्पण तक नहीं हुआ था उनका भी मरम्मत कर दिया गया। जनपद सदस्यों ने मामले की शिकायत तत्कालीन मुख्यमंत्री से की थी। तत्पश्चात मामले की शुरुआती जांच में ही इंजीनियर एसडीओ एवं फरसगांव के बीईओ को भ्रष्टाचार में संलिप्त पाया गया था। मामले की गंभीरता को देखते हुए शासन के द्वारा जांच के लिए कमिश्नर बस्तर संभाग को निर्देशित किया गया था। तत्पश्चात कमिश्नर के द्वारा कोण्डागांव कलेक्टर को टीम बनाकर जांच हेतु आदेशित किया गया था। कलेक्टर कोंडागांव के द्वारा  जिला पंचायत सीईओ नूपुर पन्ना राशि को जांच की जिम्मेदारी दी गई थी। बाद में उनका तबादला हो गया था किंतु तबादले के पूर्व उन्होंने जांच पूरी कर जांच रिपोर्ट पेश कर दिया था किन्तु अब जांच  रिपोर्ट को ही गलत ठहराया जा रहा है।

मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत कोंडागांव देवनारायण कश्यप ने बताया कि कमिश्नर द्वारा पूर्व में किए गए जांच को अपूर्ण एवं उसमें खामियां बताकर प्रतिवेदन मूलत: वापस कर दिया गया है तथा मामले की नए सिरे से जांच करने कहा गया है किंतु इस समय चुनावी व्यस्तता के चलते जांच शुरू नहीं हो पा रही है। चुनाव समाप्त होते ही 4- 5 फरवरी को नए सिरे से जांच शुरू होगी तथा सभी संबंधित लोगों का पुन: बयान लिया जाएगा । तत्पश्चात जांच प्रतिवेदन कमिश्नर को भेजा जाएगा।


Date : 23-Jan-2020

झोलाछाप डॉ. सुभाष सरकार द्वारा घर को क्लीनिक बनाकर इलाज, जिला प्रशासन टीम ने छापामार कार्रवाई की, भारी मात्रा में दवाइयां व सामग्री जब्त

छत्तीसगढ़ संवाददाता
कोण्डागांव, 23 जनवरी।
विकास खण्ड केशकाल क्षेत्र अंतर्गत ग्राम धनोरा के बाजारपारा में झोलाछाप डॉ. सुभाष सरकार घर क्लीनिक बना कर इलाज करते जिला प्रशासन के टीम ने छापामार कार्रवाई की। मौके पर एक महिला को ड्रिप चढ़ाकर इलाज करते पाए गए। इस दौरान भारी मात्रा में दवाइयां व उपलब्ध सामग्रियों को भी जब्ती की गई। 

कलेक्टर नीलकंठ टीकाम के निर्देशों पर लगातार अवैध रूप से चल रहे झोलाछाप डॉक्टरों पर कार्रवाई की जा रही थी। इसी के चलते बुधवार को भी धनोरा से शिकायत मिलने के बाद जिला टीम से गठित किया गया। इस टीम एसडीएम दीनदयाल मंडावी, जिला चिकित्सा अधिकारी रूद्र कश्यप, खाद्य अधिकारी डोमेज ध्रुव, थाना प्रभारी प्रशांत शर्मा शामिल थे। सभी ने मिल कर झोलाछाप सुभाष सरकार के घर दस्तक दिए इस बीच झोलाछाप डॉक्टर अपने घर में एक महिला को ड्रिप चढ़ाकर इलाज कर रहा था। साथ ही उसके क्लेनिक से भारी मात्रा में दवाइयां व इलाज करने का सामग्री मिला जिन्हें जब्ती की कार्रवाई किया गया।

8 माह पहले भी हुई थी कार्रवाई
झोलाछाप सुभाष सरकार के ऊपर 8 माह पहले भी ब्लॉक स्तरीय टीम के द्वारा छापामार कार्रवाई किया गया था। इस बीच अवैध रूप से चल रहा क्लीनिक को भी सील किया गया था लेकिन फिर से पीछे की दरवाजा से इलाज प्रारंभ किया था। जिसके बाद शिकायत मिलने के उपरांत जिला से फिर टीम गठित कर छापामार कार्रवाई किया गया। इस बीच सर्टिफिकेट का जांच किया गया। इसमें पाया गया कि 2004 में कोण्डागांव जिला के किसी संस्था से प्रमाण पत्र बनवाया गया था और उक्त संस्था का रजिस्ट्रेशन भोपाल से हुआ है जिसका वैधता यहां नहीं है झोलाछाप के पास जो भी डिग्री है वहां सब वैधानिक रूप सही नहीं है। 

 


Date : 23-Jan-2020

पुलिस अधीक्षक कार्यालय में पदस्थ आरक्षक दुकारु राम मंडावी ने केरल में आयोजित 40वीं राष्ट्रीय मास्टर्स एथलेटिक चैम्पियनशिप में प्रथम स्थान  प्राप्त किया

छत्तीसगढ़ संवाददाता
कोण्डागांव, 23 जनवरी।
जिला के पुलिस अधीक्षक कार्यालय में पदस्थ आरक्षक दुकारु राम मंडावी ने  केरल में आयोजित 40वीं राष्ट्रीय मास्टर्स एथलेटिक चैम्पियनशिप में प्रथम स्थान  प्राप्त किया है। 

जीत के बाद पुलिस आरक्षक दुकारु राम मंडावी अपने कोच सूर्या राव के साथ कोण्डागांव पुलिस अधीक्षक सुजीत कुमार से मुलाकात करने पहुंचे। पुलिस अधीक्षक सुजीत कुमार ने आशीर्वाद स्वरूप दुकारु राम को बधाई देते हुए 8 फरवरी को नारायणपुर में आयोजित होने जा रहे नारायणपुर अभुजमाड़ हाथ मैराथन में भाग लेने के लिए प्रोत्साहित किया है। पुलिस अधीक्षक से मुलाकात के दौरान डीएसपी अंजली गुप्ता, डीपीओ केके चतुर्वेदी व डीपी नाग मुख्य रूप से मौजूद रहे।

जानकारी अनुसार, केरल के कोझीकोड में 10 से 12 जनवरी तक इंडियन मास्टर्स एथलेटिक्स के तहत 40वीं राष्ट्रीय मास्टर्स एथलेटिक चैम्पियनशिप 2020 का आयोजन किया गया था। इस प्रतियोगिता में भाग लेने के लिए पूरे भारत के एथलेटिक समेत कोण्डागांव जिला के पुलिस विभाग में पदस्थ आरक्षक दुकारु राम मंडावी भी कोझीकोड पहुंचे। यहां उन्होंने 10 जनवरी को एजग्रुप 30 प्लस श्रेणी में आयोजित 5 हजार मीटर दौड़ में प्रथम स्थान प्राप्त किया। इसी तरह 11 जनवरी को आयोजित एजग्रुप 30 प्लस श्रेणी के 1500 मीटर दौड़ में द्वितीय और 12 जनवरी को आयोजित 10 हजार मीटर दौड़ में प्रथम स्थान प्राप्त कर गोल्ड मेडल पर कब्जा जमाया। उनके कोच सूर्या राव ने बताया कि, वे इस दौड़ में अपने पिछले रिकार्ड को ब्रेक करने में सफल हुए है। बता दे, दुकारु राम मंडावी मुल रूप से कोण्डागांव जिला के माकड़ी विकास खण्ड अंतर्गत ठेमगांव के निवासी है। वे वर्ष 2014 से पुलिस विभाग में बतौर आरक्षक आपनी सेवा दे रहे है। उन्होने पहली बार वर्ष 2012 में रायपुर में आयोजित मैराथन में धावक के रूप मे दौड़ लगाया था। इसके बाद से वे कई बार स्टेट लेबल विजेता रह चुके है, लेकिन यह पहली बार है जब नेशनल लेबर पर उन्होने प्रथम स्थान प्राप्त किया है।


Date : 23-Jan-2020

जिले में चल रहे नावा बेस्ट नार्र अभियान का सुखद प्रभाव, पहुंचविहीन गांव में स्वास्थ्य कर्मचारियों ने घर में कराया प्रसव

छत्तीसगढ़ संवाददाता
कोण्डागांव,  23 जनवरी।
जिले में चल रहे नावा बेस्ट नार्र अभियान का सुखद प्रभाव विगत दिवस विकासखण्ड कोण्डागांव के सुदूर ग्राम पंचायत बेचा में देखने को मिला। इसके अनुसार ग्राम खाले पारा निवासी एक ग्रामीण महिला द्वारा  19 जनवरी को स्व-निवास में एएनएम तथा मितानिन की उपस्थिति में जुड़वा बच्चों को जन्म दिया गया। यह महिला पूर्व से ही एनीमिया से ग्रस्त भी थी, ऐसे में जुड़वा बच्चों के जन्म होने पर बच्चे सामान्य से कमजोर हुए ऐसे में ग्रामीण रिवाज के अनुसार इन बच्चों को जन्म के पश्चात बाहर सुलाया गया। इस स्थिति में ठंड एवं कमजोरी में इन बच्चों का बचना संभव नहीं था परन्तु क्षेत्र के नावा बेस्ट नार्र के नोडल अधिकारी प्रकाश बागड़े को जब यह ज्ञात हुआ तो उन्होंने तत्परता दिखाते हुए कंबल एवं ठंड से बचने की आवश्यक वस्तुओं की व्यवस्था उन बच्चों एवं प्रसूता माँ के लिए किया। 

वहां पहुंचने पर उन्हें ज्ञात हुआ कि महिला रक्ताल्पता के कारण दोनो बच्चों को स्तनपान कराने एवं पालन पोषण में भी असमर्थ थी साथ ही उस ग्रामीण महिला का यह भी कहना था कि वह दोनों में से केवल एक शिशु बालक का ही पालन पोषण करने में सक्षम है जबकि शिशु बालिका को वह किसी को भी गोद दे देगी। ऐसे में उक्त नोडल द्वारा इस स्थिति के विषय में कलेक्टर नीलकंठ टीकाम को अवगत कराया गया उन्होंने अधिकारियों को महिला को समझाने एवं जिला प्रशासन की ओर से महिला को हर संभव मदद के लिए आश्वस्त करने को कहा एवं दुग्ध उपलब्धता के लिए डब्बा बंद दुग्ध की व्यवस्था बच्चों को प्रतिदिन उपलब्ध कराने के निर्देश दिए। इस अवसर पर क्षेत्र की आंगनबाड़ी कार्यकता रजबती बघेल एवं एएनएम ममता गढ़पाले द्वारा महिला को उक्त संबंध में महिला को समझाइश भी दी गई साथ ही ग्रामीणों ने भी अपनी ओर से सहायता देने की बात कही।


Date : 23-Jan-2020

गरिमा पब्लिक स्कूल परिसर में पहली बार निजी विद्यालयों का सम्मिलित रूप से खेलकूद और सांस्कृतिक कार्यक्रम का आयोजन

छत्तीसगढ़ संवाददाता
कोण्डागांव, 23 जनवरी।
नेशनल हाईवे 30 अंतर्गत बहीगांव में संचालित गरिमा पब्लिक स्कूल परिसर में पहली बार निजी विद्यालयों का सम्मिलित रूप से खेलकूद और सांस्कृतिक कार्यक्रम का आयोजन किया गया। इस खेलकूद प्रतियोगिता में कोण्डागांव जिला के दो विकास खण्ड से तीन निजी स्कूल एमके गांधी इंग्लिश मीडियम स्कूल धनोरा, जंगो लिंगो पब्लिक स्कूल फरसगांव और गरिमा पब्लिक स्कूल बहीगांव ने भाग लिया। दो दिवसीय खेलकूद प्रतियोगिता के पहले दिन तीनों स्कूल के अभिभावकों, विद्यार्थियों और शिक्षकों के द्वारा स्कूल झंडा, बेनर के साथ रैली निकाल कर ग्राम का भ्रमण किया गया। रैली पश्चात तीनों स्कूल के झंडे को ससम्मान खेल परिसर में स्थान दिया गया। तदोपरांत तीनो स्कूल के पालक संघ के अध्यक्षो द्वारा माँ सरस्वती के छायाचित्र पर माल्यार्पण और पूजा कर खेलकूद का शुभारंभ गोला फेंक खेल के द्वारा किया गया। 

इस अंतर विद्यालयीन खेलकूद प्रतियोगिता में कक्षा नर्सरी से कक्षा 8वी तक के विद्यार्थियों को क्रमश: मिनी जूनियर,  जूनियर और सीनियर जैसे स्तर पर विभाजित कर बालक और बालिकाओं का कुल 30 प्रकार के विभिन्न खेलकूद जैसे कबड्डी, रिले रेस, फ्रॉग जम्प, कॉक फाइट, स्पून रेस, बेलून रेस, म्यूजिकल चेयर, स्किपिंग, हाई जम्प, लांग जम्प, शार्ट पुट, बास्केट बॉल, अल्फाबेट गेम, मैथ्स गेम, नीडल थ्रेड रन, स्वीट रन इत्यादि का आयोजन किया गया। नन्हे मुन्हें 3 साल से 5 साल के बच्चों के खेल प्रतिभा को देखकर  समूचा दर्शक दीर्घा आश्चर्य के साथ भाव विभोर हो उठे। 

कार्यक्रम के दूसरे दिन रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रम का आयोजन किया गया, जिसमें सभी स्कूलों के बच्चों ने सबका मन मोह लिया। अंत मे दो दिवसीय खेलकुद में प्रथम, द्वितीय और तृतीय स्थान प्राप्त खिलाडिय़ों को मंचासीन अतिथियों के द्वारा शील्ड, मेडल व प्रशस्ति पत्र से सम्मानित किया गया। ग्रामीणों व तीनों स्कूल के अभिभावकों के द्वारा इस नई पहल की भूरी भूरी प्रशंसा की गई। एमके गांधी इंग्लिश मीडियम स्कूल धनोरा के समस्त अभिभावकों द्वारा आने वाले सत्र में ग्राम धनोरा में इस खेलकूद कार्यक्रम को आयोजित करने का प्रस्ताव रखे जिसे मंचासीन अतिथियों द्वारा स्कूल ध्वज प्रदान कर सम्मान किया गया। 

इस खेलकूद कार्यक्रम के आयोजनकर्ता में मुख्य रूप से एमके गांधी इंग्लिश मीडियम स्कूल धनोरा के संचालक प्रवीण बरनवाल, जंगो लिंगो पब्लिक स्कूल फरसगांव के संचालक ईश्वर कोर्राम, गरिमा पब्लिक स्कूल बहीगांव के संस्थापक लोकनाथ राठौर, संचालक अखिलेश राठौर व तीनों विद्यालय के समस्त शिक्षक, शिक्षिकाएं और नॉन टीचिंग स्टाफ सहित पालक गण व बच्चो सहित बड़ी संख्या में दर्शकगण मौजुद रहे।


Date : 23-Jan-2020

3 साल पहले पिकअप में छुपाकर 2 क्विंटल से अधिक गांजा की तस्करी करने वाले दो आरोपियों को फरसगांव पुलिस ने किया गिरफ्तार, 10-10 साल कैद

छत्तीसगढ़ संवाददाता
कोण्डागांव, 23 जनवरी।
लगभग 3 साल पहले पिकअप में छुपाकर 2 क्विंटल से अधिक गांजा की तस्करी करने वाले दो आरोपियों को फरसगांव पुलिस ने गिरफ्तार किया था। दोनों के विरूद्ध न्यायालय में चले लंबे प्रकरण के बाद कोण्डागांव जिला के विशेष सत्र न्यायाधीश (एनडीपीएस एक्ट) न्यायाधीश सुरेष कुमार सोनी न्याायलय ने गांजा तस्करी के दो आरोपी को 10 वर्ष के सश्रम करावास और एक लाख रुपए के अर्थदण्ड से दण्डित किया है। 

 अपर लोक अभियोजक अषोक चैहान ने बताया कि फरसगांव थाना पुलिस ने 12 अगस्त 2017 को पिकअप एमपी 18 जेए 0152 से गांजा ले जाते परमेश नायक (27) निवासी मलकानगिरी और महेश नाग (32) निवासी पुषपाल सुकमा गिरफ्तार किया गया था। दोनों ने पकड़े जाने पर पुलिस को बताया था कि, वे मलकानगिरी से गांजा लेकर जगलदपुर फरसगांव होते हुए रायपुर बिक्री के लिए ले जा रहे है। इनके पास से 2 क्विंटल 65 किलो 700 ग्राम गांजा पाया गया। दोनों को एनडीपीएस एक्ट की धारा 20 (ख) के सश्रम कारावास की सजा सुनाई गई है।


Date : 23-Jan-2020

मसोरा में शिक्षा की गुणवत्ता बढ़ाने के लिए अनोखी पहल, शनिवार रविवार को लगता है स्कूल, प्रतिदिन दो टिफिन लेकर बच्चे आते हैं स्कूल
छत्तीसगढ़ संवाददाता
कोण्डागांव, 23 जनवरी।
मुख्यालय से लगे हुए मसोरा गांव के शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय में एक अनोखी पहल देखने को मिली। यहाँ बच्चों में पढ़ाई की ललक देखकर एक्सट्रा क्लास दी जाती है। स्कूल सुबह 8 से शाम 5 बजे तक संचालित होती है।

माध्यमिक शिक्षा मंडल ने दसवीं और बारहवीं की वार्षिक परीक्षाओं की तिथियां घोषित कर दी हैं। शिक्षा विभाग के अधिकारी भी परीक्षा परिणामों को लेकर गंभीर हैं। ऐसा ही नजारा कोण्डागांव के मसोरा स्कूल में देखने के लिए मिल रहा है, जहां शिक्षा की गुणवत्ता में सुधार लाने के लिए स्कूल संचालन 9 घंटे किया जा रहा है, इतना ही नही स्कूल का संचालन शनिवार-रविवार को छुट्टी के दिन भी होता है। ऐसे में बच्चे को लगने वाले भूख के लिए स्कूल में 2 टिफिऩ शुरू किया गया है। 

शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय मसोरा के प्राचार्य शिवलाल शर्मा ने बताया कि जिस देश की शिक्षा प्रणाली उच्च कोटि की होती है, वह देश बहुत तेज गति से विकास करता है। भारत सरकार द्वारा शिक्षा प्रणाली मे सुधार के लिए समय-समय पर अनेक प्रोग्राम चलाए जाते हैं। हमारे स्कूल में 121 बालक, 150 बालिकाएं कुल 271 बच्चे पढ़ते है, ग्रामीण अंचल होने के कारण बच्चे जैसे ही स्कूल से घर जाते है, तो वह पढ़ाई नहीं कर पाते व उनको कुछ न कुछ घर या खेत का काम करना पड़ता है, जिससे इनकी पढ़ाई प्रभावित होती है। पूरे शिक्षक व शिक्षिकाओं ने एक मीटिंग रखी थी। बच्चों की पढ़ाई व शिक्षा की गुणवत्ता बढ़ाने के लिए तो हमने निष्कर्ष निकाला कि जो स्कूल 10 बजे से 4 बजे तक लगता है सबसे पहले उसका समय बढ़ाकर 8 बजे से 5 बजे तक किया जाए। इसके बाद हमने सभी बच्चों से बात की, बच्चों की सहमति के बाद बच्चों के पालकों को बुलाकर उनकी राय लिए। सभी सहमत हुए तब से दो माह के लिए सुबह 8 बजे से शाम 5 बजे तक 9 घंटे पढ़ाना शुरू किए, पढ़ाई की नई पहल को लेकर सभी बच्चे व उनके पालक बहुत खुश हैं, जब संवाददाता द्वारा पूछा गया कि कहाँ से प्रेरणा मिली स्कूल का समय बढ़ाने की तो प्रधान प्राचार्य ने बताया कि बच्चों के प्रति लगाव, उन्होंने उदाहरण देते हुए बताया कि जिस तरह एक लडक़ी माँ बनती है तो वह कहीं से भी माँ बनने के कर्तव्यों को नहीं पढ़ती है और न ही कहीं सीखने जाती है। उस माँ का अपने बच्चे के प्रति लगाव होता है, और एक बार लगाव हो जाये तो प्रेरणा अपने आप आ जाती है।

2 टिफिऩ लेकर आते है स्कूल
शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय मसोरा में बालक बालिकाओ की पेरेंट्स मीटिंग में प्रधान प्राचार्य ने कहा कि जब सभी बच्चे 8 बजे से लेकर 5 बजे तक 9 घंटे स्कूल में रहकर पढ़ाई करेंगे तो भूख भी लगेगी उनके भोजन आदि के लिए परिवार वालो को बच्चों का सहयोग करना होगा, तब से सभी बच्चे दो टिफिऩ लेकर स्कूल आते है या फिर उनके परिवार वाले दूसरा टिफिऩ छोडऩे स्कूल आते है, आसपास के लोग इस स्कूल को दो टिफिन वाला स्कूल भी बोलते हैं।
शनिवार व रविवार को भी 

पूरे दिन लगता है स्कूल
विद्यालय शिक्षा बोर्ड दसवीं-बारहवीं की वार्षिक परीक्षाओं की तिथियां घोषित कर दी गई हैं। दो मार्च से वार्षिक परीक्षा होनी है, बहुत कम समय होने के कारण स्कूल का समय तो 9 घंटे कर दिए हैं वहीं शनिवार व रविवार को भी स्कूल हाफ डे नहीं बल्कि फुल डे होता है, और इससे बच्चों व उनके पेरेंट्स में काफी उत्साह है, और जो बच्चा लगातार तीन दिन स्कूल नहीं आता तो स्कूल से एक शिक्षक उनके घर पता करने जाते हैं कि क्या समस्या है।

शिक्षक-शिक्षिकाओं में नया करने का उत्साह
शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय मसोरा में 04 शिक्षक व 14 शिक्षिकाएं हैं। बच्चों की पढ़ाई को लेकर उनके अंदर बहुत ज्यादा उत्साह है। शिक्षिकाओं ने बताया कि हमेशा से ही हमारे अंदर नया करने की इच्छा थी पर समझ नहीं आता था कि क्या करें, यह जो नई सोच व नया तरीका है बच्चों को पढ़ाने का यह बहुत ही अनोखा है, पहले हम घर के सभी काम निपटाकर 11 बजे तक सो जाते थे और 6 बजे उठते थे, अब सुबह 5 बजे उठकर घर के जो भी काम होते हंै सभी करके स्कूल आते हंै और रात में 12 बजे सोते हैं। यह जो नई पहल की गई है हमारे स्कूल की तरफ से बहुत ही बढिय़ा पहल है जिससे हम लोगों को कुछ नया करने अवसर मिला है। आने वाले समय में इसके परिणाम बहुत अच्छे मिलेंगे।

सुबह 5 बजे उठकर फोन से बच्चे लेते हंै होमवर्क
पढ़ाई की गुणवत्ता सुधारने के लिये शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय मसोरा में जो विशेष पहल की गई है, इसमे बालक बालिकाओ में काफ़ी उत्साह है, स्कूल में पढ़ाई के बाद होमवर्क मिलता है उसे तो करते ही हैं व कुछ बच्चे सुबह 5 बजे उठकर फोन करके टीचर्स से होमवर्क लेते है जिनका स्कूल में प्रतिदिन टेस्ट भी होता है, पढ़ाने का अनोखा अंदाज 20 दिन तक सिर्फ गणित, एक दिन में पढ़ाये जाते है सिर्फ दो विषय।

चर्चा करते हुए प्राचार्य ने बताया कि कुछ बच्चे गणित में कमजोर थे, सभी बच्चों को 20 दिन तक सिर्फ और सिर्फ गणित पढ़ाया गया है, एक दिन में जितने भी पीरियड होते हैं उन सभी में अलग-अलग विषय न  पढ़ाकर सिर्फ गणित पढ़ाया गया और जो आर्ट्स वाले बच्चे हंै उनको एक दिन में सिर्फ दो ही विषय पढ़ाये जाते हंै, ताकि उनको अच्छे से समझ में आये।

 


Date : 22-Jan-2020

त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव में 16 भाजपाइयों ने थामा कांग्रेस का दामन

छत्तीसगढ़ संवाददाता
कोण्डागांव, 22 जनवरी।
त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव में कांग्रेस समर्थित प्रत्याशी बुधराम नेताम के प्रचार के लिए कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष मोहन मरकाम अपने तय कार्यक्रम अनुसार ग्राम घोडागांव पहुंचे। यहां ग्रामवासियों ने उनका जोरदार स्वागत किया। इस अवसर पर घोडागांव के 16 भाजपा समर्थक जिनका घोडागांव व आसपास के क्षेत्रों में काफी प्रभाव है, ने कांग्रेस शासन के 1 साल के कार्यो से प्रभावित होकर प्रदेश अध्यक्ष व स्थानीय विधायक मोहन मरकाम के समक्ष कांग्रेस प्रवेश किया।

इस अवसर पर समस्त नवप्रवेशियों ने कांग्रेस सरकार की तारीफ के पुल बांधते हुए कहा कि, मात्र 1 साल के अंदर भूपेश बघेल के नेतृत्व में कांग्रेस की सरकार के काम से जनता में कांग्रेस के प्रति विश्वास बढ़ा है। जहां पहले की सरकार के समय आये दिन कर्ज से किसानों की खुदकुशी की खबरे आया करती थी, वहीं आज प्रदेश का हर किसान कर्जमाफी के बाद ना केवल खुशहाल जीवन व्यतीत कर रहा है। बल्कि उनका जीवन स्तर भी बढ़ रहा है। किसानों को धान के 2500 रुपए समर्थन मूल्य मिलने से उनके जीवन मे आमूलचूल परिवर्तन हो रहा है। कोण्डागांव के किसानों की वर्षों पुरानी मक्का प्रसंस्करन की स्वीकृति जैसे जनहित के कार्य हो रहे है और इन सभी जनहित के काम से प्रभावित होकर हम आज मोहन मरकाम के समक्ष कांग्रेस प्रवेश कर रहे हंै।

इस अवसर पर प्रदेश अध्यक्ष मोहन मरकाम ने सभी नवप्रवेशी कांग्रेसियों को बधाई शूभकामनाये देते सबका कांग्रेस परिवार में पटका डाल स्वागत किया और वर्तमान त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव में अधिक कांग्रेस समर्थित पंच, सरपंच, जनपद सदस्य, जिला सदस्य को जिताने की अपील की। उन्होंने कहा कि राज्य में कांग्रेस की सरकार है और यदि पंचायत क्षेत्रों में कांग्रेस समर्थित प्रत्याशी विजयी होते हंै तो गांवों का और तेजी से विकास होगा और जो काम पिछले 15 सालों में नहीं हुए जिनसे गांव विकास में पिछड़ गए उनका तेजी से विकास होगा।

नवप्रवेशी कांग्रेस में प्रमुख रूप से सुदराम बघेल, सोनारू कश्यप, फगनुराम, साधुराम बघेल, बालकु बघेल, गणेश नाग, त्रिलोचन दीवान, रूपचंद कश्यप, लखी महावीर, भगत बघेल, जैत बघेल, अर्जुन बघेल, दलूराम दीवान, चमरू कोर्राम, लछिन्दर नाइक आदि है।


Date : 22-Jan-2020

कार्यालय कलेक्टर कोण्डागांव के सभा कक्ष में आयोजित बैठक में मानवता का उत्कृष्ट उदाहरण तनुजा देवांगन और सतीश जंगाम को कलेक्टर ने चैम्पियन ऑफ चेंज सम्मान से नवाजा

छत्तीसगढ़ संवाददाता
कोण्डागांव, 22 जनवरी।
कार्यालय कलेक्टर कोण्डागांव के सभा कक्ष में आयोजित बैठक में मानवता का उत्कृष्ट उदाहरण तनुजा देवांगन और सतीश जंगाम को कलेक्टर नीलकण्ठ टीकाम ने चैम्पियन ऑफ चेंज सम्मान से नवाजा है। 

जानकारी अनुसार, तनुजा देवांगन शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय मसोरा में व्याख्याता के रूप में पदस्थ है। वर्ष 2014 में पदोन्नोति के पश्चात जब इनका स्थानान्तरण मसोरा की शाला में हुआ, तब उन्हें प्रथम बार नवमीं कक्षा में अध्ययनरत जामकोट निवासी एक अस्थिबाधित बालिका का ज्ञान हुआ जिसकी माता एक परित्यक्ता थी एवं अपने मातृ गृह में निवास करती थीं। यह बालिका अध्ययन के क्षेत्र में अन्य छात्रों के मुकाबले अधिक प्रतिभावान थी, परन्तु शारीरिक व्याधियों से पीडि़त होने के कारण शाला स्वयं आने में असमर्थ थी एवं घर के अन्य सदस्य अपने आजीविका कार्यों के चलते बालिका को प्रति दिन स्कूल नही पहुंचा पाते थे ऐसे में शिक्षिका ने ठाना कि वह इस बच्ची की हरसंभव मदद करेंगी और वे अगले ही दिन से बालिका को स्वयं अपने वाहन से स्कूल ले जाने लगी। इससे हालात हार मान चुकी उस बालिका के आत्मविश्वास में वृद्वि हुई और आने वाले चार सालो में यह सिलसिला जारी रहा उस बालिका ने हायर सेकेण्डरी परीक्षा अनगिनत परेशानियों के बाद भी शिक्षिका के इस छोटे प्रयास के सहारे उत्तीर्ण किया।

इसी प्रकार ग्राम बड़ेकनेरा (कदमपारा) में पदस्थ शिक्षक संतीश जंगाम द्वारा शैक्षणिक कार्य के अलावा अन्य सराहनीय गतिविधियों जैसे शाला परिसर में वृक्षारोपण, फैंसिंग, दसवी और बारहवीं के छात्रों को प्रयास, उत्कर्ष व एकलव्य विद्यालयों की प्रवेश परीक्षा हेतु नि:शुल्क मार्गदर्शन दिया गया। इसके चलते बैठक में दोनो शिक्षक द्वय तनुजा देवांगन और सतीश जंगाम को इस मानवता की ज्वलंत उदाहरण व सराहनीय प्रयास ने समाज को प्रेरित करने के लिए कलेक्टर द्वारा चैम्पियन ऑफ चेंज से सम्मानित किया गया। कलेक्टर ने इस अवसर पर कहा ऐसे ही कर्तव्यनिष्ठ प्रयास ही हमारे समाज के आधार स्तंभ है जिस पर यह समाज खड़ा है।

 


Date : 22-Jan-2020

देर रात अवैध धान जब्त, तहसीलदार और खाद्य निरीक्षक ने की कार्रवाई

छत्तीसगढ़ संवाददाता
कोण्डागांव, 22 जनवरी।
जिला के माकड़ी तहसीलदार ने थाना पुलिस और खाद्य निरीक्षक के साथ संयुक्त कार्रवाई करते हुए 120 कट्टा धान जब्त किया है। तहसीलदार की यह कार्रवाई माकड़ी तहसील अंतर्गत हीरापुर क्षेत्र में की गई है। बताया जा रहा है कि, हीरापुर के रास्ते ओडिशा का धान ट्रैक्टर से छत्तीसगढ़ लाया जा रहा था।

जानकारी अनुसार, 21 जनवरी की मध्यरात्रि हीरापुर निवासी आनंद गोपाल साहू पिता रामनारायण साहू अपने ट्रैक्टर में 120 कट्टा पतला धान ओड़ीसा राज्य के बेहड़ा गांव से हीरापुर के रास्ते छत्तीसगढ़ ला रहे थे। ओडिशा का धान छत्तीसगढ़ लाए जाने की सूचना पर सीमावर्ती उडऩदस्ता दल के तहसीलदार माकड़ी विजय मिश्रा, थाना प्रभारी माकड़ी जितेंद्र गुप्ता, खाद्य निरीक्षक कोण्डागांव हितेश दास, ग्राम कोतवाल ने कलेक्टर नीलकंठ टीकाम के निर्देश पर मौके पर पहुंच जांच कार्रवाई किया। मौके पर पहुंचे दल को किसी प्रकार का दस्तावेज नही मिलने पर धान और वाहन को जब्त कर पुलिस थाना माकड़ी की सुपुर्द किया गया।

विदित हो, खरीफ विपणन वर्ष 2019-20 में धान खरीदी के दौरान अन्य राज्य से धान आयात पर प्रतिबंध लगा है।उसके वाबजूद आनंद गोपाल साहू बीती रात धान ला रहे थे, जिसे की बिचौलियों के द्वारा पंजीकृत किसानों के खाली रकबे में खपाने की संभावना रहती है। मध्यरात्रि को धान लाया जाना उक्त आशंका को जन्म देता है। किंतु उडऩदस्ता दल की सजगता से उक्त धान पकड़ा गया।


Date : 21-Jan-2020

छत्तीसगढ़ राज्य अक्षय ऊर्जा विकास अभिकरण क्रेडा द्वारा जारी विज्ञप्ति अनुसार समय-सीमा बैठक के दौरान कलेक्टर की उपस्थिति में ऊर्जा संरक्षण पर आधारित वर्ष 2020 का कैलेण्डर का विमोचन

छत्तीसगढ़ संवाददाता
कोण्डागांव, 21 जनवरी।
छत्तीसगढ़ राज्य अक्षय ऊर्जा विकास अभिकरण (क्रेडा) द्वारा जारी विज्ञप्ति अनुसार आज समय-सीमा बैठक के दौरान कलेक्टर नीलकंठ टीकाम की उपस्थिति में ऊर्जा संरक्षण पर आधारित वर्ष 2020 का कैलेण्डर विमोचन किया गया।

 इस मौके पर उप अभियंता क्रेडा विजय कुमार ध्रुव ने बताया कि राष्ट्रव्यापी ऊर्जा संरक्षण के मद्देनजर एयर कंडीशनर (एसी) डिफॉल्ट तापमान 24 डिग्री पर रखे जाने हेतु जागरूकता लाने के उद्देश्य से सभी शासकीय कार्यालयों में स्थापित एसी में स्टीकर लगाया गया। इसके साथ ही जिला कार्यालय में विभाग द्वारा ऊर्जा दक्ष 05 स्टार रेटेड पंखे, 3 एचपी एवं 5 एचपी क्षमता के सबमर्सिबल पंप स्थापित किये गये हैं, जो कि अन्य इलेक्ट्रानिक उपकरणों की तुलना में बहुत ही कम ऊर्जा खपत करते है।  उल्लेखनीय है कि पूर्व में भी क्रेडा विभाग के तत्वाधान में छात्र-छात्राओं को ऊर्जा संरक्षण के प्रति जागरुक करने के उद्देश्य से विगत् 14 दिसम्बर 2019 को संयुक्त एकलव्य आदर्श आवासीय विद्यालय गोलावण्ड एवं शा.उ.मा.वि. गोलावण्ड में स्लोगन प्रतियोगिता, प्रश्नोत्तरी कार्यक्रम, चित्रकला प्रतियोगिता, दीवार लेखन, कार्यक्रम आयोजित किया गया था। इस दौरान सीईओ जिला पंचायत डी.एन.कश्यप सहित जिला स्तरीय अधिकारी उपस्थित थे।


Date : 21-Jan-2020

युवा उत्सव, कोण्डागांव के प्रतिभागियों ने जीते 4 पुरस्कार, कलेक्टर ने समय-सीमा बैठक में विजेताओं को दी बधाई

छत्तीसगढ़ संवाददाता
कोण्डागांव, 21 जनवरी।
विगत दिवस खेल एवं युवक कल्याण विभाग की ओर से स्वामी विवेकानंद जयंती के अवसर पर तीन दिवसीय राज्य युवा उत्सव का आयोजन राज्यपाल अनुसुईया उइके के मुख्य आतिथ्य तथा मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की अध्यक्षता एवं मंत्री गणों के विशिष्ट आतिथ्य में साइंस कॉलेज परिसर रायपुर में आयोजित किया गया था। जिसमें जिले के प्रतिभागियों ने विभिन्न सांस्कृतिक एवं खेल प्रतियोगिता में 4 पुरस्कार जीते। जिस पर कलेक्टर नीलकंठ टीकाम ने आज समय-सीमा बैठक में पूरी टीम को बधाई देते हुए उनके उज्जवल भविष्य की कामना करते हुए कहा कि जिले के युवा कलाकारों ने अपने उत्कृष्ट प्रदर्शन से यह साबित कर दिया कि जिले में प्रतिभाओं की कमी नहीं है और वे अवसर मिलने पर कला, संस्कृति, खेल-कूद की गतिविधियों में अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन कर सकते हैं।

 ज्ञातव्य हो कि पिछले दिनों जिला स्तर पर खेलकुद, सांस्कृतिक व साहित्यिक प्रतियोगिताएं आयोजित की गई थीं जिनमें चयनित विजेताओं को राज्य स्तर पर भाग लेने का अवसर मिला था। जिन्हें जिले के नोडल अधिकारी सहित ब्लॉक प्रभारियों, महिला, पुरुष शिक्षक एवं पुलिस गार्ड के साथ भेजा गया था। इस दौरान राज्य स्तरीय प्रतियोगिताओं में जिले के प्रतिभागियों ने अन्य जिलों के प्रतिभागियों को कड़ी टक्कर देते हुए चार पुरस्कार प्राप्त किये। इनमें गेड़ी दौड़ की प्रतिस्पर्धा (15 से 40 वर्ष आयुु वर्ग) में कोण्डागांव जिले के ग्राम कुम्हारबडग़ांव निवासी रामलाल मरकाम अपने उत्कृष्ट प्रदर्शन से प्रथम स्थान हासिल करने में कामयाब रहे। इसके साथ ही ग्राम चिखलाडीही (बिंझे) के सोमनाथ दुग्गा एवं गणेश दुग्गा और उनके साथियों ने बस्तरिया लोक नृत्य (15 से 40 वर्ष आयु वर्ग) एवं बड़ेराजपुर की अनिता साहू ने वेशभूषा प्रतियोगिता में प्रथम स्थान अर्जित किया। वहीं बनियागांव के हर्षजीत साहू ने वाद-विवाद स्पर्धा में द्वितीय स्थान प्राप्त किया।

 


Date : 21-Jan-2020

जिला मुख्यालय कोण्डागांव में गणतंत्र दिवस समारोह के मुख्य अतिथि होंगे क्षेत्र के विधायक व प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष ​मोहन मरकाम

कोण्डागांव, 21 जनवरी। जिला मुख्यालय कोण्डागांव में 26 जनवरी को आयोजित होने वाले गणतंत्र दिवस समारोह के मुख्य अतिथि क्षेत्र के विधायक व प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष मोहन मरकाम होंगे। उनके द्वारा ध्वजारोहण कर परेड की सलामी ली जाएगी और मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के प्रदेश की जनता के नाम संदेश का वाचन किया जाएगा। उल्लेखनीय है कि ध्वजारोहण कार्यक्रम मुख्यालय कोण्डागांव के विकासनगर स्टेडियम ग्राउण्ड में प्रात: 9 बजे से प्रारंभ होगा।

 


Date : 21-Jan-2020

1 लाख रुपए का​ ईनामी नक्सल आरोपी गिरफ्तार, आधा दर्जन से अधिक अपराध दर्ज

कोण्डागांव, 21 जनवरी। कोण्डागांव पुलिस ने ईनामी नक्सल आरोपी को मर्दापाल के कोटमेटा के घने जंगल से गिरफ्तार किया है। बता दें, गिरफ्तार आमदई एलजीएस सदस्य पर 1 लाख रुपए का ईनाम घोषित था। उस पर मर्दापाल थाना में आधा दर्जन से अधिक अपराध पंजीबद्ध है। 

डीआरजी थाना मर्दापाल क्षेत्रांतर्गत बेड़मा, कोटमेटा, तुमड़ीवाल की ओर सर्चिंग के लिए रवाना हुआ था। इस दौरान कोटमेटा के घने जंगल से रामपत उर्फ रामपद निवासी कोटमेटा को घेराबंदी कर गिफ्तार किया गया। पुलिस के अनुसार, रामपत वर्ष 2012 से नक्सली संगठन में जुड़कर वर्तमान में आमदई एलजीएस सदस्य के रूप में कार्य कर रहा है। उसने वर्ष 2013 में कैम्प राणापाल पर फायरिंग, वर्ष 2016 में पदेली के ग्रामीणों को पुलिस मुखबिरी के शक पर गांव से भगाने, वर्ष 2017 में पुंगारपाल के नदी के पास हुई पुलिस नक्सली मुठभेड़, वर्ष 2018 में साल्हेपाल के पास आईईडी ब्लास्ट करने, वर्ष 2019 में नीलाराम यादव साकिन कुधूर की हत्या, वर्ष 2019 में आईईडी ब्लास्ट करने जैसे अपराधों में शामिल रहा है। 


Date : 21-Jan-2020

नगर पंचायत कार्यालय में नवनिर्वाचित अध्यक्ष-पार्षदों, अफसरों की प्रथम बैठक, कई मुद्दों पर चर्चा

फरसगांव, 21 जनवरी। पदभार ग्रहण के बाद नगर पंचायत कार्यालय में नवनिर्वाचित अध्यक्ष, उपाध्यक्ष, सभी पार्षदों, अधिकारी-कर्मचारियों की प्रथम बैठक आयोजित की गई। जिसमें गणतंत्र दिवस समारोह पर चर्चा की गई। साथ ही समस्याओं को दूर करने की बात कही।

 फरसगांव के नायब तहसीलदार हार्दिक श्रीवास्तव, नपं अध्यक्ष गणेश दुग्गा, उपाध्यक्ष गणेश जायसवाल, सीएमओ एवं पार्षदों की उपस्थिति में बैठक की प्रकिया शुरू की गई। सर्वप्रथम नवनिर्वाचित अध्यक्ष-उपाध्यक्ष को अधिकारियों व कर्मचारियों ने बधाई दी। इसके बाद गणतंत्र दिवस को धूमधाम से मानने के लिए सभी विभागों को जिम्मेदारी दी गई। नगर के सभी वार्डों नल-जल, गंदगी, नाली सफाई, रात्रि में लाइट व्यवस्था व अन्य समस्याओं के साथ साफ सफाई को लेकर विशेष ध्यान देने को कहा। 

 इस दौरान नगर पंचायत के पार्षद जागेश्वर हिडको, प्रशांत पात्र, मूलचंद पाण्डे, शैल शेठिया, दीपा नेताम, द्रोपती पाण्डे, रोहित कुलदीप, पवन दुग्गा, संगीता पुजारी, सरबजीत बदेशा, टिन्डो नेताम, प्रहलाद कुंजाम सहित शिक्षा, महिला बाल विकास, वन, स्वास्थ्य, विद्युत सहित अन्य विभाग व नगर पंचायत के अधिकारी-कर्मचारी मौजूद रहे।

 


Previous123Next