छत्तीसगढ़ » कोण्डागांव

Previous12345Next
Date : 02-Apr-2020

मनरेगा मजदूरों के बीच दिखा सोशल डिस्टेंस

छत्तीसगढ़ संवाददाता
कोण्डागांव, 2 अप्रैल।
कोरोना कोविड - 19 वायरस से बचाव के लिए लॉकडाउन किया गया है, इस बीच विकास खण्ड कोण्डागांव के ग्राम पंचायत बड़ेकनेरा में महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी अधिनियम (मनरेगा) के तहत 2 अप्रैल से डबरी निर्माण कार्य शुरू किया गया है। आज से बड़ेकनेरा गांव में शुरू किए गए डबरी निर्माण कार्य में खास बात रही कि, यहां कोरोना के रोकथाम के लिए सोसल डिस्टेंस रखी गई थी। कार्य कर रहे मजदूर सोशल डिस्टेंसिंग के तहत कार्य करते दिखे। साथ ही मजदूरों का यहां बार-बार हाथ भी धुलवाया गया। 

जानकारी अनुसार, नए वित्तीय वर्ष 2020-21 के तहत ग्राम पंचायत बड़ेकनेरा में मनरेगा योजना से किसान खेतेबाई के खेत में आज से निजी डबरी निर्माण कार्य प्रारंभ हुआ है। चुकि इन दिनों कोरोना से बचाव के लिए लॉकडाउन चल रहा है और बचाव के लिए विशेष उपाय किए जा रहे है ऐसे में जनपद पंचायत कोण्डागांव के तकनीक सहायक वीरेंद्र साहू ने स्वयं के व्यय से मजदुरो को मास्क वितरण किया। वहीं तकनीक सहायक वीरेंद्र साहू ने राज्य शासन से प्राप्त कारोना वायरस के दिशा निर्देश का पालन करते हुए मजदुरों का हेण्डवास से हाथ धुलवाया। सोशल डिस्टेन्स को ध्यान मे रख कर काम करने कि जानकारी दिया गया। मौके पर उपसरपंच प्रकाश चुरगिया ने भी मजदूरो को सावधान रहने और सावधानी पूर्वक कार्य को कहा। मौके पर पंच रघुराम कोर्राम, घासीराम, जयराम कश्यप, ग्रामीण सोहन कश्यप, जीवन मानिकपुरी, तिलक बघेल और समस्त मजदूर उपस्थित रहे।


Date : 02-Apr-2020

घर-घर पहुंचाया जा रहा मिड डे मील

छत्तीसगढ़ संवाददाता
कोण्डागांव, 2 अप्रैल।
वैश्विक महामारी कोरोना वायरस संक्रमण के दौरान देश में तालाबंदी के कारण बच्चों को स्कूलों में मध्यान्ह भोजन का लाभ पहुंचाने के लिए शासन स्तर से चावल और दाल स्थानीय सुविधानुसार बच्चों को उनके घरों में पहुंचा कर दिए जाने का योजना बनाई गई है। 

लॉकडाउन और सोशल डिस्टेंस में इसका ध्यान में रखे जाने के आदेश का पालन करते हुए विकासखंड कोण्डागांव के शासकीय उच्च प्राथमिक शाला मडनार के शिक्षक शिवचरण साहू स्कूल अध्ययनरत सभी बच्चों को चावल-दाल दे रहे है। वितरण कार्य में प्रधानाध्यापक पीएल नाग, जलन पटेल, उमेश नाग, पवन कुमार, अनिल सोरी, सरपंच अंतू राम, महिला स्व सहायता समूह का सहयोग मिल रहा है।


Date : 02-Apr-2020

दिहाड़ी मजदूरों की मदद कर रहे कोण्डागांव के युवा

छत्तीसगढ़ संवाददाता
कोण्डागांव, 2 अप्रैल।
कोरोना कोविड - 19 संक्रमण से बचाव के लिए 14 अप्रैल तक लॉकडाउन किया गया है। इस लॉकडॉउन के चलते कोण्डागांव में पूर्व से आकर दिहाड़ी मजदूरी करने आए जैसे राजमिस्त्री, कार मैकानिक, हमाल, वेलडर, हॉटल बाय, कूड़ा कचरा लोहा बेचने वाले, हमाल आदि को रोजगार की दिक्कत हो गई है। क्योंकि लॉकडाउन के चलते सभी रोजगार कार्य बंद कर दिए गए है। ऐसे में कोण्डागांव के युवा इनकी मदद के लिए आगे आ रहे हंै। 

जानकारी अनुसार, कोण्डागांव का एक युवा दल घूम-घूम कर कोण्डागांव के जरूरतमंदों को राहत पहुंचाने का काम कर रहा है। नोवेल कोरोना वायरस के चलते लॉकडाउन किया गया है। ऐसे में एक युवा संगठन में शामिल सन्नी गिल, हैदर बदगुजर, रौनकदीप, जमाल, अमजद, याशीन भाई, तनवीर गिल, नियाज, शाहिद, चाउस, सकुर आदि कोण्डागांव के व्यापारी गोलू कोठारिया, याशिन भाई, हर्ष आहूजा, महावीर किराना आदि के मदद से दैनिक मजदूरी कार्य करने वालों को मदद कर रहे है। युवाओं का यह दल पीछले कुछ दिनों से उनके बीच पहुंच कर जरूरत अनुसार चावल, दाल, तेल, सोयाबीन बड़ी, चना, पोहा, साबुन, बिस्किट आदि पैकेट में नि:शुल्क दे रहा है। युवा दल ने अपना मोबाईल नंबर 9009333335 जारी करते हुए संदेश दिया है कि, यदि युवाओं का दल किसी जरूरतमंद तक नहीं पहुंचा है और किसी चीज की जरूरत हो तो वे कॉल कर के संपर्क कर सकते है।


Date : 02-Apr-2020

सेवानिवृत्त सहायक उप निरीक्षक विक्रम को दी विदाई 

छत्तीसगढ़ संवाददाता
कोण्डागांव, 2 अप्रैल।
पुलिस विभाग कोण्डागांव अंतर्गत पदस्थ सहायक उप निरीक्षक विक्रम साहू 31 मार्च को सेवानिवृत्त हुए। विक्रम साहू की सेवानिवृत्ति पर 1 अप्रैल को अधीक्षक कार्यालय कोण्डगांव में स-सम्मान विदाई समारोह आयोजित किया गया। इस अवसर पर पुलिस अधीक्षक बालाजी राव ने विक्रम साहू को शाल, श्रीफल, स्मृति चिन्ह भेंटकर किया।
इस अवसर पर बताया गया कि, सहायक उप निरीक्षक विक्रम साहू 25 अगस्त 1981 को आरक्षक (जीडी) के पद में जगदलपुर जिला से भर्ती हुए थे। इसके बाद वे जगदलपुर समेत कोण्डागांव जिला के विभिन्न थानों में पदस्थ होकर पूरी ईमानदारी व लगन से कार्य करते हुए प्रधान आरक्षक और सहायक उप निरीक्षक के पद में पदोन्नति किए गए। वे वर्तमान में रक्षित केन्द्र कोण्डागांव में सहायक उप निरीक्षक के पद पर कार्यरत रहते हुए अपने कर्तव्यों का निर्वहन कर रहे थे। पुलिस अधीक्षक राव ने सेवानिवृत्त विक्रम साहू के सेवा अवधि में किए गए कार्यों की प्रशंसा करते हुए उनके उज्जवल भविष्य व स्वस्थ जीवन-यापन करने की कामना की। सेवानिवृत्ति उपरान्त प्राप्त होने वाली सम्पूर्ण देय स्वत्वों के त्वरित निराकरण कर यथाशीध्र भुगतान करने के लिए अधीनस्थों को निर्देश दिए गए। 

विदाई समारोह के दौरान अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक अनंन्त साहू, अनुविभागीय पुलिस अधिकारी कपिल चन्द्रा, उप पुलिस अधीक्षक अंजली गुप्ता, निकिता तिवारी, रक्षित निरीक्षक रमेश चन्द्रा, पुलिस अधीक्षक कार्यालय कोण्डागंाव में पदस्थ समस्त अधिकारी, जवान उपस्थित रहे।

 


Date : 02-Apr-2020

नरेन्द्र पुजारी बने कोण्डागांव कोतवाली टीआई, रवि शंकर यातायात प्रभारी

छत्तीसगढ़ संवाददाता
कोण्डागांव, 2 अप्रैल।
पुलिस अधीक्षक बालाजी राव सोमावार ने 26 मार्च को कोण्डागांव जिला पुलिस अधीक्षक का दायित्व संभाल लिया है। पुलिस अधीक्षक कोण्डागांव का दायित्व संभालन के बाद बालाजी राव सोमावार ने कोरोना कोविड-19 संक्रमण के बीच एक आदेश जारी कर चार पुलिस अधिकारियों का तबादला किया है। इसके अनुसार अब सिटी कोतवाली कोण्डागांव टीआई नरेंद्र पुजारी होंगे, वहीं कोतवाली टीआई राजेन्द्र मंडावी बड़ेडोंगर टीआई बनाए गए है। इसी तरह बासकोट चौकी प्रभारी एसआई रविशंकर पांडे को यातायात पुलिस शाखा प्रभारी और यातायात प्रभारी टीआई अर्चना धुरंधर को रक्षित केंद्र पदस्थ किया गया है। 

आदेश जारी होने के बाद टीआई नरेंद्र पुजारी ने सिटी कोतवाली कोण्डागांव का दायित्व संभाल लिया है। पद ग्रहण के दौरान टीआई नरेंद्र पुजारी ने कहा कि, कोण्डागांव के सिटी कोतवाली अंतर्गत नेशनल हाइवे, राजनैतिक संवेदनशील, नक्सल प्रभावित और सिटी पुलिसिंग हर तरह के मामले पंजीबद्ध किए जाते है। इसके चलते उनका मुख्य ध्यान बेसिक पुलिसिंग और शांति व्यवस्था कायम करना होगा। साथ ही उन्होने वर्तमान में चल रहे कोरोना संक्रमन के लिए किए जा रहे रोकथाम और उपाय के लिए भी आम जन से अपील की है। साथ ही चेतावनी दी है कि, यदि शांति व्यवस्था या नियमविरूद्ध कार्य करते कोई पाया गयाा तो उसके विरूद्ध कड़ी कार्रवाहीं होगी। टीआई नरेन्द्र पुजारी ने इन सब के लिए जनता से सहयोग भी मांगा है। 

लॉकडाउन में यातायात पुलिस की जिम्मेदारी बढ़ी - रवि शंकर पांडे
इधर एसआई रवि शंकर पांडे को यातायात पुलिस शाखा प्रभारी बनाया गया है। पद ग्रहण करने के दौरान उन्होंने कहा कि, कोरोना लॉकडाउन के दौरान यातायात पुलिस शाखा की भी बड़ी जिम्मेदारी है। लाकडाउन की स्थिति में गाडिय़ों की दिन-रात आवाजाही पर सूक्ष्म नजर रखनी होती है। कोरोनावायरस के चलते जो देश भर में लॉकडाउन किया गया है। इस समय यातायात पुलिस शाखा के लिए भी यह बड़ी चुनौती है। उन्होंने कहा कि वे नई जिम्मेदारी में खरा उतरने की कोशिश करेंगे।


Date : 02-Apr-2020

एएसआई अनन्त कुमार पांडेय बनाए गए एसआई, कंधे पर एसपी ने सजाया स्टार

छत्तीसगढ़ संवाददाता
कोण्डागांव, 2 अप्रैल।
पुलिस महानिदेशक डीएम अवस्थी ने प्रदेश भर से 109 सहायक उप निरीक्षकों को उपनिरीक्षक के पद पर पदोन्नति करने का आदेश जारी किया है। इस तारतम्य में कोण्डागांव जिला पुलिस के पदस्थ सहायक उप निरीक्षक अनन्त कुमार पांडेय को वरिष्ठता क्रम के आधार पर उप निरीक्षक के पद पर पदोन्नत किया गया है। पदोन्नति पर पुलिस अधीक्षक बालाजी राव ने 1 अप्रैल को अनन्त कुमार पांडेय के कंधों पर स्टार लगाकर पदोन्नति देते हुए उनके उज्जवल भविष्य के लिए शुभकामनाएं दी।

उप निरीक्षक के पद पर पदोन्नत हुए सहायक उप निरीक्षक अनन्त कुमार पांडेय 9 सितंबर 1989 को दंतेवाड़ा जिला में आरक्षक के पद पर भर्ती होकर अपनी सेवाकाल अवधि में कोण्डागांव, दंतेवाड़ा और जगदलपुर में पदस्थ रहे। वर्तमान में वे कोण्डागांव जिला के माकड़ी थाना में पदस्थ है। इस अवसर पर अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक अनन्त कुमार साहू, अनुविभागीय पुलिस अधिकारी कपिल चन्द्रा, उप पुलिस अधीक्षक अंजली गुप्ता, निकिता तिवारी, रक्षित निरीक्षक व पुलिस कार्यालय के अधिकारी-जवान उपस्थित रहे।


Date : 02-Apr-2020

केशकाल विधायक ने किया एक लाख 11 हजार का दान

छत्तीसगढ़ संवाददाता
विश्रामपुरी (जिला कोंडागांव), 2 अप्रैल।
पूरा देश कोरोना के खिलाफ जंग लड़ रहा है। कोरोना के खिलाफ जंग के लिए केशकाल विधायक संत राम नेताम ने  एक लाख 11 हजार रुपए दान दिया है।  श्री नेताम ने केशकाल एसडीएम डीडी मंडावी के हाथों मुख्यमंत्री सहायता कोष के लिए चेक प्रदान किया।

 केशकाल विधायक ने लॉकडाउन के बीच ट्रकों में भरकर यहां पहुंचे मजदूरों के बारे में जानकारी ली। केशकाल थाना हुए बैठक में विधायक के द्वारा गरीबों को किसी प्रकार के राशन की कमी ना हो, इस पर भी चर्चा की गई तथा वहां उपस्थित गणमान्य नागरिकों को आग्रह किया कि वे अधिक से अधिक दान करते हुए लोगों के देखभाल करने में प्रशासन की मदद करें।  
विधायक ने 'छत्तीसगढ़Ó को बताया कि संकट की इस घड़ी में क्षेत्र के नागरिक असहाय ,गरीबों के मदद के लिए  स्वत: आगे आ रहे हैं। केशकाल में दो स्थानों पर बाहर से आए हुए मजदूरों को आइसोलेशन किया गया है जिसके बारे में उन्होंने प्रशासनिक अधिकारियों से जानकारी ली तथा उन्हें किसी भी प्रकार की कमी नहीं होने देने के लिए आग्रह किया। साथ ही उन्होंने क्षेत्र के लोगों से अपील की कि वे लाकडाउन का पूरा पालन करें तथा पुलिस एवं प्रशासन का सहयोग करें। 

उन्होंने क्षेत्र के नागरिकों से अपील करते हुए कहा कि जब तक कोई अत्यावश्यक कार्य ना पड़ जाए, तब तक घरों से बाहर न निकलें। श्री नेताम ने कहा कि कोरोना वायरस किसी को भी हो सकता है यह एक भयंकर महामारी है इससे बचा जाना चाहिए। क्षेत्र में किसी भी प्रकार की लापरवाही ना हो इसका पूरा ध्यान रखा जाए।

 


Date : 02-Apr-2020

कोराना से पहली बार विश्रामपुरी मेला के दिन वीरानी, ना मेला होगा ना जात्रा

छत्तीसगढ़ संवाददाता

विश्रामपुरी (जिला कोंडागांव), 2 अप्रैल। बुधवार से विश्रामपुरी में होने वाला पांच दिवसीय मेला कोरोना वायरस के संक्रमण के खतरे को देखते हुए स्थगित कर दिया गया। इसके अलावा बांसकोट, सलना, पारोण्ड, लिहागांव  एवं माकड़ी में भी मेले का आयोजन नहीं होगा।

 बुधवार से विश्रामपुरी में मेले की शुरुआत होनी थी, जिसमें 24 परगना के देवी देवता शामिल होते हैं। तत्पश्चात 5 दिनों का भव्य मेला यहां होता है। इस वर्ष कोरोना वायरस के चलते मेला स्थगित हो गया। क्षेत्र में मेले के दिन आज पूरा वातावरण सुनसान दिखाई दे रहा है। इसके पूर्व प्रशासन के द्वारा जनपद पंचायत बड़े राजपुर में क्षेत्र के जनप्रतिनिधियों एवं ग्रामीण मांझी मुखियाओं की बैठक रखी गई थी जिसमें सर्वसम्मति से मेला स्थगित करने का प्रस्तावित किया गया। चूंकि मेला मड़ाई में देवी-देवताओं के प्रति ग्रामीणों की अगाध आस्था होती है जिसके चलते ग्रामीण मेला स्थगन को कभी स्वीकार नहीं करते हैं किंतु ग्रामीणों ने कोरोना वायरस के गंभीरता को समझते हुए इस वर्ष मेला स्थगित करने के प्रस्ताव को सहर्ष स्वीकार कर लिया। इसके अलावा विश्रामपुरी ब्लॉक के कई अन्य गांवों में भी मड़ाई मेलाओं का आयोजन होना था। इसलिए बैठक में सभी क्षेत्र के लोगों को बुला लिया गया ताकि सबको इस संबंध में जानकारी दी जाए तथा जागरूक किया जाए। 

लॉकडाउन 14 अप्रैल को समाप्त होने का है यदि इसकी अवधि नहीं बढ़ी तो इसके बाद गांव में मेले के आयोजन पर विचार हो सकता है। विश्रामपुरी मेले में दूर-दूर से व्यापारी एवं अन्य लोग यहां पहुंचते हैं। मेले की तैयारी एक सप्ताह पूर्व ही शुरू हो जाती है।  घरों एवं देवी-देवताओं के स्थलों की साफ साफ सफाई भी मेले से सप्ताह भर पूर्व ही शुरू हो जाती है। वही मेले के दो दिन पहले जात्रा का आयोजन होता है जिसमें देवी देवताओं की पूजा पाठ एवं श्रृंगार होती है तथा देवी-देवताओं से मेले का अनुमति लिया जाता है। तत्पश्चात यात्रा के दूसरे दिन क्षेत्र के  सभी देवी देवताओं की पूजा के पश्चात परिक्रमा होती है। ग्रामीणों ने बताया कि यह पहला अवसर है जब मेला को स्थगित करना पड़ा है।

शारीरिक दूरी का पालन नहीं कर रहे लोग

 कोरोनावायरस के खतरे को देखते हुए मडई मेला पर प्रतिबंध तो लगा दिया गया किंतु सब्जी बाजार के लिए नियमानुसार छूट दी गई थी किंतु ग्रामीणों ने  सामाजिक दूरी का पालन नहीं किया। बुधवार के दिन बाजार होने के कारण गाडिय़ों की आवाजाही भी अधिक दिख रही थी जिस  रोक नहीं लगाया जिसके चलते मोटरसाइकिल में तीन तीन सवारी पर पुलिस प्रशासन ने भी किसी प्रकार का लेकर लोग घूमते रहे।

 इस संबंध में तहसीलदार विश्रामपुरी एचआर नायक ने कहा कि लोगों को सामाजिक दूरी  का पालन करते हुए सब्जी एवं अन्य सामग्री खरीदने कहा गया है लेकिन जो लोग इसका पालन नहीं करेंगे उस पर कार्रवाई करने के लिए बाध्य होना पड़ेगा। क्षेत्र में पुलिस एवं प्रशासन लगातार नजर रखे हुए हैं।

 


Date : 02-Apr-2020

ग्रामीणों के जागरूक नहीं होने पर प्राचार्य ने कोरोना के खिलाफ मुहिम छेड़ा

दीवार लेखन से कर रहे जागरूक

राज शार्दूल

विश्रामपुरी (जिला कोंडागांव), 2 अप्रैल (छत्तीसगढ़)। कई गांवों में लॉकडाउन का ग्रामीणों पर कोई असर नहीं हो रहा है तथा वे बेखौफ होकर घूम रहे हैं। कई लोग यह भी कह रहे हैं कि यह तो हमारे बस्तर में है ही नहीं यह तो शहर का बीमारी है। प्राचार्य शंभू चांदेकर ने ग्रामीणों का यह हाल देखा तो उनसे रहा नहीं गया तथा वे ब्रश एवं पेंट का डिब्बा लेकर गांवों की ओर निकले तथा दीवार लेखन करते हुए ग्रामीणों को कोरोना वायरस के खतरे के प्रति जागरूक एवं सतर्क रहने कहा।

बड़ेराजपुर ब्लॉक के हायर सेकेंडरी स्कूल सलना में पदस्थ प्राचार्य संभू चांदेकर लंबे समय से गायत्री परिवार से जुडक़र सामाजिक बुराइयों के खिलाफ विशेषकर नशा पान के खिलाफ अभियान चलाए हुए हैं तथा आदिवासियों को जागरूक कर रहे हैं।

कोरोना वायरस को रोकने केंद्र व राज्य सरकार द्वारा बार-बार लोगों से अपील की जा रही है कि घर पर ही रहे लेकिन ग्रामीण क्षेत्रों में कई जगह लॉकडाउन का असर कम दिखाई दे रहा है। लोग बेखौफ होकर गांव में घूम रहे हैं। कोरोना संक्रमण के खतरे को देखते हुए ग्रामीणों को जागरूक करने प्राचार्य ने अपने हाथ में ब्रस और पेंट लेकर गांव-गांव घूम कोरोना बीमारी के बारे में दीवाल लेखन करते हुए ग्रामीणों को जानकारी देते हुए घरों में रहने अपील कर रहे हैं । जागरूकता नहीं होने के कारण ग्रामीण कोरोना बीमारी के बारे में कहते हैं यह शहरों का बीमारी है गांव में नहीं होगा। जिले के केशकाल, फरसगांव माकड़ी व बड़ेराजपुर ब्लॉक के अधिकतर गांव में ग्रामीणों बेखौफ घूम रहे हैं व अभी तक उन लोगों को कोरोना बीमारी के बारे में पता ही नहीं है न ही स्वास्थ्य विभाग के द्वारा ग्रामीण क्षेत्रों में बीमारी के बारे में जानकारी दिया जा रहा है। जिसके कारण कोरोना वायरस के बारे में लोग सावधानी एवं सतर्कता नहीं बरत रहे हैं।

श्री चांदेकर लॉकडाउन के बाद से सुबह होते ही अपने बाइक लेकर गांव-गांव घूम कर दीवारों में कोरोना बीमारी के बारे में अवगत कराते हुए बचाव के बारे में जानकारी दे रहे हैं। उन्होंने बताया कि गायत्री मिशन से जुड़े होने के चलते कई बरस से नशा मुक्ति अभियान चला रहे हैं जो अब भी जारी है और अब पूरा देश कोरोना जैसे बीमारी से संघर्ष कर रहा लेकिन गाँवो में इसके बारे में जानकारी नहीं होने से लोग बेवजह सडक़ो पर घूम रहे हैं। जिन्हें जागरूक करना जरूरी बताया। इस लिए जब से लॉकडाउन हुआ है तब से अब तक विश्रामपुरी,आमाडीही, बावनपुरी, खरगांव, बीरापारा , कोंगरा, पेंड्रावन बड़ागांव, सलना सहित कई गांवों में दीवाल लेखन कर चुके हैं, जो निरंतर जारी रहेगा।

 


Date : 01-Apr-2020

गायत्री परिवार व कोण्डागांव कॉलेज ने दिए 1.35 लाख 

छत्तीसगढ़ संवाददाता
कोण्डागांव, 1 अप्रैल।
कोरोना कोविड-19 वायरस से निपटने के लिए लगातार संस्था और आम लोगों का सहयोग मिल रहा है। इसी कड़ी में 31 मार्च को कोण्डागांव के गायत्री परिवार संस्था और शासकीय गुण्डाधूर स्नातकोत्तर महाविद्यालय डॉ. किरण नुरेटी ने मुख्यमंत्री आपदा राहत कोष के नाम से 1 लाख 25 हजार और 10 हजार रुपए की सहयोग राशि प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष मोहन मरकाम और कलेक्टर नीलकंठ टीकाम को सौंपा। 

सभी समाज प्रमुखों की बैठक में भी जैन समाज, सर्व आदिवासी समाज द्वारा सहयोग राशि दी गई थी। इसके पूर्व बैठक में विधायक मोहन मरकाम ने कहा कि मानव जीवन में आए इस अभूतपूर्व संकट के लिए पूरा विश्व जूझ रहा है और इस महामारी को रोकने के लिए राज्य सरकार सहित संपूर्ण स्वास्थ्य अमला अपनी पूरी क्षमता से जुटा हुआ है। इस बीमारी के प्रभावी रोकथाम के लिए आवश्यक संसाधन जुटाने जिले के समस्त स्वयंसेवी संस्थान, संस्था प्रमुख द्वारा अपने-अपने स्तर पर स्वेच्छिक दान की अपील भी की गई है। इस मौके पर अध्यक्ष जिला पंचायत देवचंद मातलाम, पुलिस अधीक्षक बालाजी राव सोमावार सहित कोर कमेटी के अन्य सदस्य उपस्थित थे।  
 


Date : 01-Apr-2020

सरपंच-उपसरपंच ने नि:शक्त परिवार को दिया घर पहुंच राशन

कोण्डागांव, 1 अप्रैल। विकास खण्ड कोण्डागांव अंतर्गत ग्राम पंचायत बड़ेकनेरा में 1 अप्रैल को सरपंच बसंती बघेल, उपसरपंच प्रकाश चुरगियां, पंचायत सचिव महेश्वर पांडे के माध्यम से नि:शक्त परिवार को घर पुहंचकर 8 किलो चावल, आलू, प्याज और दाल आदि प्रदाय किया गया। वहीं मौके पर पंचायत प्रतिनिधियों और कर्मियों ने ग्रामीणों को सोशल डिस्टेंस, स्वच्छता और कोविड-19 वायरस से बचाव के लिए कहा।
 


Date : 01-Apr-2020

पालिका अध्यक्ष ने कलेक्टर से की भगतसिंह वार्ड में पीडीएस दुकान की मांग

छत्तीसगढ़ संवाददाता
कोण्डागांव, 1 अप्रैल।
छत्तीसगढ़ सरकार ने 1 अप्रैल से दो माह का चावल पीडीएस की दुकान से नि:शुल्क देने का फैसला लिया है। इस फैसले के बाद 1 अप्रैल को कोण्डागांव के सभी शासकीय उचित मुल्य के दुकानों में उपभोक्ताओं का भारी भीड़ लगने लगी है। इस भीड़ और कोविड-19 वायरस से बचाव के उपाय के लिए नगर पालिका अध्यक्ष हेमकुवंर पटेल व उपाध्यक्ष जसकेतु उसेण्डी ने कलेक्टर नीलकंठ टीकाम से नगर के शहीद भगतससिंह वार्ड में शासकीच उचित मुल्य की राशन दुकान खुलवाने की मांग की है।

जानकारी अनुसार, नगर पालिका कोण्डागांव के शहीद भगतसिंह वार्ड अंतर्गत दुकान क्रमांक 451002005 का संचालन किया जा रहा था। इस दुकान में अंबेडकर वार्ड, कोपाबेडा वार्ड, सरगीपाल वार्ड समेत भगतसिंह वार्ड के वार्ड वासियों का राशन दिया जाता था। बाद में इस दुकान को बाजारपारा वार्ड में शिफ्ट कर दिया गया है। अब वर्तमान में पर बाजारपारा वार्ड में संचालित शासकीय उचित मुल्य की दुकान में एक साथ 2 दुकान संचालित हो रही है, जहां काफी भीड हो जाता है। ऐसे में वार्डवासियों को भी राशन लाने के लिए लगभग 2 किमी की दूरी तय करना पढ़ रही है। 

इस संबंध में पालिका अध्यक्ष हेमकुवंर पटेल व उपाध्यक्ष जसकेतु उसेण्डी समेत भापजा पार्षद कार्यकर्ताओं ने कलेक्टर से मांग करते हुए कहा कि, वर्तमान में नोवल कोरोना  वायरस के कारण कोण्डागांव में धारा 144 लगाई गई है। ऐसी स्थिति में 4 वार्डों के लोगों को काफी समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है। वर्तमान में भगतसिंह वार्ड में राशन दुकान क्रमांक 451002005 को पुन: शिफ्ट किया जाए, ताकि अबेडकर वार्ड, कोपावेडा वार्ड, सरगीपाल वार्ड और भगतसिंह वार्ड के हितग्राहियों को पीडीएस के लिए भटकना ना पड़े। 
पालिका अध्यक्ष-उपाध्यक्ष की मांग पर कलेक्टर नीलकंठ टीकाम ने निर्माण एजेंसी को तत्काल निर्देश दिया कि, शहीद भगतसिंह वार्ड में नव निर्मित भवन को खाद्य विभाग को हस्तांतरित किया जाए, ताकि नए भवन से पीडीएस दुकान का संचालन हो सके। साथ ही उन्होंने खाद्य विभाग को भी निर्देशित किया कि, अब नए भवन से ही पीडीएस का वितरण हो, इसके लिए आगामी व्यवस्था सुनिश्चित की जाए।
 


Date : 01-Apr-2020

संयुक्त शिक्षक संघ व शिक्षक एसो. माकड़ी ने दिया एक दिन का वेतन

छत्तीसगढ़ संवाददाता
कोण्डागांव, 1 अप्रैल।
विकास खण्ड माकड़ी के संयुक्त शिक्षक संघ और शिक्षक एसोसिएशन ने संयुक्त तत्वावधान में 1 अप्रैल को मुख्यमंत्री सहायता कोष में राशि दान करने के लिए सहमति पत्र सौंपा है। जानकारी हो, इन दिनों पूरा विश्व वैश्विक महामारी कोरोना वायरस के संक्रमण से लड़ाई लड़ रहा है। संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए पूरे भारत को लॉकडाऊन  किया गया है। देश के प्रधानमंत्री और छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कोरोना वायरस संक्रमण के रोकथाम के लिए, गरीब मजदूर और जरूरतमंद लोगों की लॉकडाउन के समय आवश्यक सेवाएं प्रदान करने के लिए प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री सहायता कोष में राशि दान करने देशवासियों को आह्वान किया गया है। 

विकास खण्ड माकड़ी में कार्यरत सभी शिक्षकों की ओर से एक दिन का वेतन कटौती करके मुख्यमंत्री सहायता कोष में जमा करने के लिए संयुक्त शिक्षक संघ और शिक्षक एसोसिएशन ब्लॉक माकड़ी के पदाधिकारियों ने कलेक्टर कोण्डागांव के नाम से विकासखंड शिक्षा अधिकारी को सहमति पत्र सौंपा गया। इस दौरान रामदेव कौशिक, रमेश प्रधान, जयलाल पोयाम, चंद्रकांत जैन, महेश पटेल, शंभू लाल नेताम, भेदराम मानकर आदि उपस्थित रहे।
 


Date : 01-Apr-2020

लॉकडाउन में वनोपजों का दिया जाएगा नगद भुगतान, जारी हुए 19 लाख 33 हजार रुपएa

छत्तीसगढ़ संवाददाता
कोण्डागांव, 1 अप्रैल।
कोविड-19 के प्रकोप के चलते कारण संपूर्ण देश में जारी लॉकडाउन का प्रभाव ग्रामीण क्षेत्रों में सभी प्रकार के क्रय-विक्रय गतिविधियों पर भी पड़ा है। विशेष तौर पर दूरस्थ क्षेत्रों में निवास करने वाले ग्रामीण इस समय नगदी संकट का सामना भी कर रहे है। चूंकि यह पूरा सीजन स्थानीय ग्रामीणों के लिए वनोपज जैसे महुआ, ईमली आदि के संग्रहण को समर्पित रहता है और इन्हीं वनोपजों की बिक्री के आधार पर ही वे अपनी दैनिक आवश्यकताओं की वस्तुओं की खरीद-फरोख्त करते है लेकिन वर्तमान संकट से ग्रामीण भी इससे अछूते नहीं रहे है। 

इसके मद्देनजर कलेक्टर नीलकंठ टीकाम के निर्देश पर लॉकडाउन की स्थिति में भी वन-धन विकास योजना अन्तर्गत जिला यूनियन दक्षिण कोण्डागांव के द्वारा 155 ग्राम संग्रहण केंद्र एवं 31 हाट बाजारों में शासन द्वारा पंजीकृत 22 प्रकार के वनोपजों का संग्रहण कार्य स्थानीय स्वसहायता समूहों की महिलाओं द्वारा नगद भुगतान के माध्यम से किया जा रहा है। 
इस नगद भुगतान से ग्रामवासियों को दैनिक कार्यों हेतु राशि हाथों-हाथ प्राप्त भी हो रही है, जिससे ग्रामीण को इस आपदा की स्थिति में भी एक बड़ी राहत मिली है।
 वनमण्डलाधिकारी उत्तम गुप्ता ने इस संबंध में बताया कि इस बार जिला यूनियन दक्षिण कोण्डागांव के अंतर्गत 22 प्रकार के वनोपजों का कुल 56500 क्विन्टल संग्रहण किये जाने का लक्ष्य रखा गया है। इसमे वर्तमान स्थिति तक चरोटा 141.62 क्विंटल, हर्रा 267.80 क्विंटल, बहेड़ा 227.24 क्विंटल एवं आटी ईमली 305 क्विंटल का संग्रहण किया जा चुका है तथा इसके भुगतान के रूप में कुल 19 लाख 33 हजार के लगभग राशि ग्रामीणों को नगद प्रदान की गई है। 

ज्ञात हो कि कोण्डागांव संपूर्ण छत्तीसगढ़ में सर्वाधिक वनोपज का उत्पादन करता है  साथ ही यह वनोपज संग्रहण हेतु किये जा रहे कार्यों की प्रशंसा विगत दिनों कोण्डागांव प्रवास पर आए मुख्य सचिव आरपी मंडल ने भी की थी एवं सम्पूर्ण जिले में 26 करोड़ राशि से अधिक के वनोपज संग्रहण का लक्ष्य भी जिले को प्रदान किया है। बहरहाल ग्रामीणों को ऐसे विकट परिस्थिति में उनके वनोपजो का नगद भुगतान देना वास्तव में एक स्वागतोग्य एवं संवेदनशीलता से भरा निर्णय माना जा सकता है। 
 


Date : 31-Mar-2020

अधिक कीमत पर सामान बेचते पकड़ाया व्यापारी, जुर्माना

छत्तीसगढ़ संवाददाता
कोण्डागांव, 31 मार्च।
आज सुबह कोण्डागांव के सरगीपालपारा वार्ड स्थित एमडी जनरल व डेलीनिड्स में अधिक कीमत पर सामाग्री बिक्री की शिकायत मिली। शिकायत के चलते पालिका दल ने व्यापारी पर 25 हजार रुपए का जुर्माना लगाया है।

 नगरीय क्षेत्रों सहित मुख्यालय के कई मोहल्लों और पारों में मजदूर वर्ग, ठेला-खोमचा लगाने वाले, अध्ययनरत छात्र किराए के मकान में निवास करते है। लेकिन लॉकडाउन के चलते उनके पास रोजी-रोटी व मजदूरी का संकट आ पड़ा है। ऐसी परिस्थिति में घर का मासिक किराया चुकाना भी एक बड़ी मुसीबत का सबब है। इन सब दिक्कतों को देखते हुए जिला प्रशासन ने आदेश जारी करके कहा है कि मौजूदा हालात में मकान मालिक किसी भी किराएदार पर किराया के लिए दबाव नहीं डाल सकेंगे। इसके अलावा किसी भी प्रकार के मकान खाली करने का दबाव, धमकी जोर जबरदस्ती करके किराये राशि वसूल करने वाले मकान मालिकों के विरुद्ध दण्डात्मक कार्रवाई की जाएगी। इनमें जुर्माना अथवा जेल की सजा भी भुगतनी पड़ सकती है। 

जारी हुआ दूरभाष क्रमांक
इस संबंध में किसी भी प्रकार शिकायत दर्ज कराने के लिए जिला प्रशासन द्वारा दूरभाष व मोबाईल नंबर जारी कर दिए गए है। इसके अनुसार कलेक्टर 9425598888, पुलिस अधीक्षक 9479190084, अनुविभागीय अधिकारी राजस्व कोण्डागांव व फरसगांव 8839392611, केशकाल 8827662723, अनुविभागीय अधिकारी पुलिस कोण्डागांव 8226062057, फरसगांव 9479190093, केशकाल 9479194010, सीईओ जनपद पंचायत कोण्डागांव 9424284968, सीईओ जनपद पंचायत माकड़ी 7354120985, सीईओ जनपद पंचायत फरसगांव 7999644915, सीईओ जनपद पंचायत बड़ेराजपुर 9406005989, सीईओ जनपद पंचायत केषकाल 8889331317 जारी किया गया है।

 


Date : 31-Mar-2020

साथी संस्था कुम्हारपारा ने दिए 1 लाख 

कोण्डागांव, 31 मार्च। नोबल कोरोना कोविड-19 वायरस ने पूरी दुनिया को अपने चपेट में ले लिया है, तो वहीं इस वायरस से बचाव के लिए देश भर से मदद के लिए हाथ आगे आने लगे हंै। कोण्डागांव के कुम्हारपारा से संचालित साथी संस्था ने भी मदद के लिए हाथ बढ़ाते हुए नारायणपुर कलेक्टर के माध्यम से सीएम रिलीफ फंड में सहायता के लिए 1 लाख 21 रुपए का सहयोग किया है।  जानकारी अनुसार, कोण्डागांव के कुम्हारपारा से संचालित सामाजिक संस्था साथी नारायणपुर जिला के अबुझमाड़ में चिकित्सा सहायता के लिए कार्य कर रही है। नारायणपुर में कार्य कर रही साथी संस्था ने कोरोना वायरस कोविड-19 प्रभावितों के लिए मुख्यमंत्री राहत कोष में 1 लाख 21 हजार रुपए दिए है। 

राशि चेक जारी करते हुए साथी समाज सेवी संस्था के अध्यक्ष भूपेश तिवारी ने बताया कि, सम्पूर्ण विश्व इस समय कोरोना वायरस कोविड -19 के सक्रमण से प्रभावित है। छत्तीसगढ़ राज्य भी इस वायरस के संक्रमण से गुजर रहा है। छत्तीसगढ़ शासन में कोविड -19 की रोकथाम और बचाव व राहत के लिए निरन्तर सार्थक प्रयास किए जा रहे है जो निश्चित रूप से लाभदायक और सार्थक सिद्ध होंगे। इस महामारी के कारण हजारों मजदूरों, गरीबों ने अपना रोजगार और रोजी रोटी गंवाई है। साथी समाज सेवी संस्था ने प्रभावित लोगों की सहायता में अपने सामाजिक दायित्व को समझते हुए 1 लाख 21 हजार रुपए नारायणपुर कलेक्टर के माध्यम से सीएम रिलीफ फंड में सहायता राशि के रूप में जमा कर रहे है। इसके अलावा नारायणपुर जिला के अभुझमाड़ क्षेत्र में नि:शुल्क दैनिक आवश्यक वस्तु चावल-दाल आदि भेजा जा रहा है।

 


Date : 31-Mar-2020

अधिवक्ताओं ने बांटे आवश्यक सामाग्री

कोण्डागांव, 31 मार्च। एक के बाद एक कर सामाजिक संस्था और आम जन लोगों के मदद के लिए सड़क पर नजर आ रहे है। 31 मार्च को भी कोण्डागांव के अधिवक्ता गोपाल दीक्षित, आरके मेश्राम, तिलक पांडे जरूरतमंदों को चावल, दाल, नमक, आलू, प्याज, तेल, हल्दी आदि देते दिखे। अधिवक्ताओं ने कुछ पैकेट सिटी कोतवाली कोण्डागांव, गणेश मेडिकल स्टोर्स, ऋषभ मेडिकल स्टोर्स में दिया है ताकि यहां से भी जरूरतमंद नि:शुल्क आवश्यक सामाग्री ले सके। 


Date : 31-Mar-2020

डॉ. अंबेडकर सेवा संस्था ने बांटे नि: शुल्क मास्क

कोण्डागांव, 31 मार्च। नोबल कोरोना लॉकडाउन के दौरान कई संस्था व कर्मचारी आपातकाल में कार्य कर रहे हंै। ऐसे कामगारों के लिए डॉ. अंबेडकर सेवा संस्था नि:शुल्क कपड़े का मास्क बनाकर बाट रहा है। इसी कड़ी में डॉ. अंबेडकर सेवा संस्था ने प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र कोण्डागांव, वन विभाग व अन्य विभाग के कर्मचारियों को कपड़े के बने मास्क दिए। 


Date : 31-Mar-2020

विधायक-कलेक्टर संग हुई समाज प्रमुखों की बैठक

छत्तीसगढ़ संवाददाता
कोण्डागांव, 31 मार्च।
कोविड-19 के बढ़ते संक्रमण के खौफ का प्रभाव सामाजिक व्यवस्थाओं पर भी पड़ रहा है। इसके मद्देनजर प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र स्थित कोरोना हेल्प डेस्क में विधायक मोहन मरकाम की अध्यक्षता में कलेक्टर नीलकंठ टीकाम, नारायणपुर विधायक चंदन कश्यप, जिला पंचायत अध्यक्ष देवचंद मातलाम ने सर्व समाज प्रमुखों सहित जनप्रतिनिधियों की आवश्यक बैठक आहुत की। बैठक में क्षेत्र के विधायक मरकाम ने कहा कि सांस्कृतिक नगरी कोण्डागांव के सभी समाजों में एकता, आपसी सहयोग एवं भाई-चारे की भावना सदैव व्याप्त रही है। 

इस दौरान बैठक में कलेक्टर नीलकंठ टीकाम ने बताया कि आज पूरा विश्व कोरोना महामारी की मार झेल रहा है परन्तु एक छत्तीसगढ़ उसमें भी बस्तर क्षेत्र एक ऐसा क्षेत्र है जो अब तक इस महामारी से अछूता है। परन्तु इससे हमें अति उत्साहित नहीं होना चाहिए क्योंकि निरंतर सर्तकता एवं जागरुकता से ही हम अपने क्षेत्र को इस विपत्ति से बचा सकते हैं। इसके लिए राज्य शासन के निर्देशानुसार जिला प्रशासन द्वारा शुरुवात में ही ठोस कदम उठाये गए जैसे जिले में जितने व्यक्ति विदेश यात्रा से लौटे थे उन्हें चिन्हित कर होम आईसोलेशन में रखकर उनके सैम्पल भेजे गए जहां इनकी रिपोर्ट निगेटिव पाई गई। 

शादी-ब्याह एवं नामकरण जैसे कार्यक्रम होंगे स्थगित
कलेक्टर ने बैठक में सभी समाज प्रमुखों से आग्रह किया कि वे कोरोना संक्रमण को देखते हुए अपने-अपने समाजों में आगामी माह में होने वाले शादी-ब्याह, नामकरण जैसे पारिवारिक मांगलिक कार्यक्रम को स्थगित कर दें, क्योंकि जब सभी समुदाय ने पवित्र धार्मिक स्थलों में सोशल डिस्टेंसिंग के नियम को अपनाते हुए आमजनों के एकत्रित होने पर प्रतिबंध लगाया गया है तब हमें भी अपने सामाजिक कार्यक्रमों में भी इस नियम का पालन करते हुए एक जिम्मेदार नागरिक होने का सबुत देना चाहिए।


Date : 31-Mar-2020

अध्यक्ष-उपाध्यक्ष समेत भाजपाई पार्षदों ने दिया एक माह का वेतन

छत्तीसगढ़ संवाददाता
कोण्डागांव, 31 मार्च।
नगर पालिका अध्यक्ष हेमकुंवर पटेल, उपाध्यक्ष जसकेतु उसेण्डी और भाजपा पार्षदों ने एक माह का वेतन और अपने-अपने निधि का 8 लाख 75 हजार रुपए देकर सहयोग किया है। नगर पालिका कोण्डागांव के अध्यक्ष, उपाध्यक्ष समेत भाजपा पार्षदों के इस कार्य का सभी ने सराहना की है।

जानकारी अनुसार, देश के साथ-साथ छत्तीसगढ़ राज्य भी नोवल कोरोना वायरस से लड़ाई लड़ रहा है, जिसमें नगरपालिका भी कोण्डागांव के वार्डों में सैनेटाईज करने, दवाई छिड़काव, अति गरीब परिवारों को राशन बांटने का कार्य कर रही है। इन सभी कार्य में और अधिक तेजी लाने के लिए अध्यक्ष हेमकुंवर पटेल ने एक माह का मानदेय और अध्यक्ष निधि से 2 लाख रुपए, उपाध्यक्ष जसकेतु उसेण्डी ने एक माह का मानदेय और पार्षद निधि से 75 हजार रुपए का सहयोग किया है। इतना ही नहीं भाजपा के अन्य पार्षदों अनिता पोयाम, लक्ष्मी धु्रव, तेज देवांगन, संगीता चक्रधारी, अंकुश जैन, वर्षा यादव, सोनामणी पोयाम, बबिता मरकाम, ललित देवांगन, ईरशाद खान, सतीश सोनी और मोहिता पटेल ने एक माह का मानदेय और पार्षद निधि से 50 हजार रुपए का सहयोग किया है। इस तरह कोण्डागांव के पालिका अध्यक्ष, उपाध्यक्ष और भाजपा पार्षदों ने 8 लाख 75 हजार रुपए का सहयोग किया है।

 


Previous12345Next