छत्तीसगढ़ » सूरजपुर

Previous123Next
24-Sep-2020 9:22 PM

बिश्रामपुर, 24 सितंबर।एसईसीएल में नौकरी दिलाने के नाम पर दो लोगों से धोखाधड़ी करने वाले को बिश्रामपुर पुलिस ने पकड़ लिया है।

जानकारी के मुताबिक गत 8 सितंबर 2020 को ग्राम करतमा निवासी विनोद दास ने थाना जयनगर में रिपोर्ट दर्ज कराया कि 20 मई 2018 को राजापुर लकड़ापारा निवासी शिवरतन प्रजापति ने एसईसीएल में नौकरी दिलाने के नाम पर 35 हजार रूपये एवं सुरेन्द्र सोनवानी से करीब 70 हजार रूपये लेकर धोखाधड़ी किया है। रिपोर्ट पर पुलिस ने अपराध दर्ज कर धोखाधड़ी के मामले को गंभीरता से लेते हुए पुलिस अधीक्षक सूरजपुर राजेश कुकरेजा ने जयनगर पुलिस को मामले की सूक्ष्मता से जांच करने तथा इस मामले में फरार आरोपी की पतासाजी कर जल्द पकडऩे के निर्देश दिए।

मामले की जांच के दौरान फरार शिवरतन प्रजापति जो जगह बदल-बदल कर लुकछिप कर रहता था जिसके बारे में मुखबीर से प्राप्त सूचना के आधार पर उसे उदयपुर में घेराबंदी कर हिरासत में लिया गया। पूछताछ पर आरोपी ने बताया कि विनोद दास के साथ वर्ष 2013 से 2015 तक कमलपुर अदानी कोल साईडिंग में गार्ड की नौकरी के दौरान जान-पहचान हुई थी, गार्ड की नौकरी छोडऩे के बाद एसईसीएल के एक कंपनी में गार्ड का काम करने के दौरान 2018 में विनोद दास मिला जिसे एसईसीएल में नौकरी लगाने हेतु 4 लाख रूपये लगेगा कहा इसके बाद विनोद से 30 रूपये, विनोद के दोस्त सुरेन्द्र से 60 हजार रूपये, सतीश रजक से 30 हजार रूपये तथा सतेन्द्र राजवाड़े से 30 हजार रूपये लिया जाना स्वीकार किया। इस कार्रवाई में थाना प्रभारी जयनगर दीपक पासवान, एएसआई विराट विशी, आरक्षक अनिल, सुरेश तिवारी व शिव राजवाड़े सक्रिय 


24-Sep-2020 9:21 PM

बिश्रामपुर, 24 सितंबर। कोविड-19 के बढ़ते मामलों को देखते हुए जिलेवासियों को सुरक्षित रखने के लिए सम्पूर्ण जिले को कंटेनमेंट जोन घोषित कर लॉकडाउन लगाया गया है। पुलिस अधीक्षक ने जिले की सम्पूर्ण सीमाओं को पूर्णत: सील कराकर पुलिस का सख्त पहरा लगा दिया है। लॉकडाउन में पुलिस जवानों का हौसला बढ़ाने एवं व्यवस्थाओं का जायजा लेने आईजी सरगुजा रतनलाल डांगी सूरजपुर जिले के दौरे पर निकले थे। आईजी पुलिस अधीक्षक राजेश कुकरेजा ने लॉकडाउन हेतु लगाए गए व्यवस्थाओं के बारे में जानकारी दी। 

आईजी सरगुजा श्री डांगी, एसपी सूरजपुर के साथ सर्वप्रथम लटोरी चैकी के धोंधा चेकपोस्ट पहुंचे और ड्यूटी में लगे पुलिस जवानों, राजस्व व स्वास्थ्य कर्मियों से चर्चा कर उनका हौसला अफजाई की। इसके बाद वे जिला बलरामपुर के रघुनाथनगर थाने पहुंचकर थाना का आकस्मिक निरीक्षण कर सूरजपुर-बलरामपुर के बार्डर पर स्थित चपोता बैरियर पहुंचे जहां उन्होंने जवानों का मनोबल बढ़ाया और उन्हें सजगता के साथ कर्तव्य निर्वहन करने, कोविड-19 के संक्रमण से बचाव को लेकर आवश्यक निर्देश दिए। इस दौरान उन्होंने कहा कि ई-पास व उपचार हेतु जाने वाले लोगों को न रोका जाए, किसी के साथ दुव्यवहार नहीं होनी चाहिए। उन्होंने आसपास के ग्रामीणों से चर्चा कर लॉकडाउन का पालन करने को लेकर समझाईश दी। इसके बाद आईजी ने थाना चांदनी व चैकी मोहरसोप का आकस्मिक निरीक्षण कर वहां के व्हीसीएनबी, रोजनामचा सहित अन्य रिकार्ड को देखा और अपना टीप दर्ज किया, थाना प्रभारी को अपराधों के जल्द निकाल को लेकर निर्देश दिए, पुलिस अधिकारी-कर्मचारियों की समस्याओं को सुना, थाना का अच्छा कार्य देखकर थाना प्रभारी व अधिनस्थ जवानों को नगद पुरस्कार देने की घोषणा की।

 थाना में चल रहे निर्माण कार्यो का जायजा लिया और गुणवत्ता के साथ निर्माण कार्य जल्द पूरा कराने के निर्देश दिए। रात्रि में ही थाना ओडग़ी, झिलमिली, चैकी बसदेई में पहुंच कर क्षेत्र एवं अपराधों के बारे में विस्तृत जानकारी ली, यहां की सभी व्यवस्थाओं से संतुष्ट दिखे और पुलिस जवानों के उत्साहवर्धन के लिए नगद ईनाम देने की घोषणा की।इस दौरान एसडीओपी ओडग़ी मंजूलता बाज सहित अन्य पुलिस अधिकारी मौजूद रहे।


24-Sep-2020 9:18 PM

बिश्रामपुर, 24 सितंबर।थाना प्रभारी विश्रामपुर सुभाष कुजूर को कुम्दा कालोनी के ग्रामीणों ने सूचना दी कि बाबा मस्तनाथ मंदिर में कुछ समय से निवासरत एक मानसिक रूप से विक्षिप्त महिला के द्वारा रास्ते में आने-जाने वाले आम लोगों को गाली-गलौज एवं पत्थर फेंककर परेशान कर रही है जिस पर थाना प्रभारी ने इसकी तस्दीकी हेतु एएसआई उमेश सिंह व महिला आरक्षक कमला सिंह व अंजली कश्यप को मौके पर भेजा। 

पुलिस ने उस महिला से यह जानने का प्रयास किया कि वह कौन है और कहां की रहने वाली है, काफी प्रयास के बाद महिला ने अपना नाम माधुरी अग्रहरी निवासी चिरमिरी, जिला कोरिया का होना बताई। महिला की मनोदशा को देखते हुए उसे नये कपड़े उपलब्ध कराया एवं उसे उपचार हेतु विश्रामपुर चिकित्सालय लाया गया जहां उसका उपचार कराया गया किन्तु उसके रवैया में कोई परिवर्तन नहीं आ रहा था।

थाना प्रभारी विश्रामपुर के द्वारा पूरे मामले की जानकारी से पुलिस अधीक्षक सूरजपुर राज़ेश कुकरेजा को अवगत कराये जाने पर उन्होंने न्यायालय से आदेश प्राप्त कर महिला को राज्य मानसिक स्वास्थ्य चिकित्सालय भेजवाने हेतु अग्रिम कार्यवाही करने के निर्देश दिए। विश्रामपुर पुलिस ने डॉक्टरों के मशवरे एवं महिला के रवैया में कोई परिवर्तन न आने पर उसे माननीय न्यायालय सूरजपुर के आदेश पर कोविड-19 व लॉकडाउन के बीच राज्य मानसिक स्वास्थ्य चिकित्सालय सेंदरी बिलासपुर ले जाकर दाखिल करवाया। पुलिस के इस सार्थक पहल की लोगों ने प्रशंसा की है।


23-Sep-2020 11:07 PM

'छत्तीसगढ़' संवाददाता

भैयाथान, 23 सितंबर। समूचा सूरजपुर जिले में कोरोना संक्रमण की चेन तोडऩे लागू किए गए लॉक डाउन के पहले दिन ब्लॉक मुख्यालय भैयाथान की सड़कों पर सन्नाटा पसरा रहा नगर के प्रमुख मार्गों सहित ग्रामीण क्षेत्रों के भी गलियां सुनी रही और दुकानों पर ताले लटके नजर आए।लॉक डाउन को लेकर पुलिस प्रसाशन के द्वारा नगर सहित ग्रामीण क्षेत्रों में भी कड़ी सुरक्षा व्यवस्था की गई। गांव में पुलिस के द्वारा पेट्रोलिंग किया जा रहा था तो नगर के चौक चौराहों पर पुलिस बल की तैनाती की गई।

लॉक डाउन के पहले दिन आज नगर में बेवजह घूमने वाले लोगो को रोककर उनसे पूछताछ करने के साथ उनको समझाई दी गई। दुबारा घूमते मिले तो कड़ी कार्यवाही की चेतावनी देकर छोड़ दिया गया। सूरजपुर जिले में कोरोना संक्रमण के मामले की बात की जाए तो यहां लगभग रोजाना 30 से 40 केस सामने आ रहे थे। कोरोना के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए लॉक डाउन की मांग की जा रही थी। कोरोना की चेन तोडऩे के लिए सूरजपुर कलेक्टर रणवीर शर्मा ने पूरे जिले को कंटेनमेंट जोन घोषित करते हुए यहां 9 दिनों का सख्त लॉक डाउन लगा दिया है।

22 सितंबर रात्री 9 बजे से यह लॉक डाउन प्रभावशाली हो गया हैं, जो 1अक्टूबर तक जारी रहेगा।वहीं इस बार का लॉक डाउन काफी सख्त है।इसके पूर्व के लॉक डाउन में सब्जी सहित किराना दुकान व पेट्रोल आम आदमी के  आवश्यक वस्तु में रखा गया था जिसका नतीजा यह हुआ कि पेट्रोल सब्जी व किराना की समान लेने के बहाने लोग बेवजह सड़कों पर घूमते रहते थे।लेकिन इस बार प्रसाशन ने इसे आवश्यक सेवाओं की श्रेणी से हटा दिया है और लॉक डाउन में इसका असर भी देखने को मिला जिससे लॉक डाउन में नगर के साथ साथ ग्रामीण क्षेत्रो के सड़क भी वीरान रहीं। वहीं कंटेनमेंट जोन घोषित होते ही सूरजपुर जिले की सीमाओं को सील कर दिया गया है।

 

 

 

 


22-Sep-2020 10:20 PM

'छत्तीसगढ़' संवाददाता

बिश्रामपुर, 22 सितंबर। कल ट्रक की चपेट में बाइक सवार 2 लोगों की मौत हो गई। पुलिस ने आरोपी ट्रक चालक को घेराबंदी कर गिरफ्तार कर लिया है। 21 सितंबर को मोरभंज थाना जयनगर निवासी सोमारसाय ने चंदौरा थाना में रिपोर्ट दर्ज कराई कि इसके पिता सुखराम एवं चचेरी बहन पिंकी मोटर सायकल से रमकोला दशकर्म में जाने के लिए घर से निकले थे, करीब 12.20 बजे ग्राम दरहोरा के पास पहुंचे थे, उसी समय पोड़ी की ओर से ट्रक क्रमांक यूपी 70 एफटी 8910 के चालक काफी तेज रफ्तार से ट्रक को चलाते हुए चंदौरा की ओर आ रही कार क्रमांक यूपी 64 एएल 0942 को सामने से दाहिने तरफ ठोकर मारकर एक्सीडेंट कर कार्यवाही से बचने के लिए सामने की ओर से अपने साईड से जा रहे मोटर सायकल को पीछे से ठोकर मार दिया, जिससे सुखसाय एवं पीछे बैठी पिंकी सिंह सड़क के किनारे गिर गए जिन्हें ट्रक के चालक के द्वारा ट्रक के पहिया से दोनों को रौंदते हुए ट्रक को भगाकर ले गया। प्रार्थी की रिपोर्ट पर वाहन चालक के खिलाफ अपराध दर्ज कर विवेचना में लिया गया।

सड़क हादसे की जानकारी मिलते ही पुलिस अधीक्षक सूरजपुर राजेश कुकरेजा  ने चौकी रेवटी की पुलिस टीम को तत्काल मौके पर रवाना कर वाहन चालक की घेराबंदी कर पकडऩे एवं घटना स्थल पर त्वरित पहुंचकर कार्यवाही करने के निर्देश दिए।

 पुलिस अधीक्षक के मार्गदर्शन में पुलिस की एक टीम ने ग्राम भेडिय़ा के पास घेराबंदी लगाकर ट्रक को रोकवाकर वाहन चालक को हिरासत में लेकर ट्रक सहित थाना लाया एवं चालक का डाक्टरी मुलाहिजा कराया। पुलिस की दूसरी टीम घटना स्थल पर पहुंचकर शव पंचनामा सहित अन्य कार्यवाही करते हुए गवाहों का कथन लिया जो आरोपी ट्रक चालक मनोज कुमार के मुलाहिजा रिपोर्ट से पाया गया कि वह ट्रक को शराब के नशे में ट्रक को असुरक्षित व अत्यधिक तेज गति से चलाकर सुखसाय एवं पिंकी को ट्रक से रौंदना पाए जाने पर आरोपी ट्रक चालक मनोज कुमार ग्राम रमईकर, थाना सोरांव, जिला इलाहाबाद उत्तरप्रदेश को गिरफ्तार कर न्यायालय पेश किया गया जहां से उसे जेल भेज दिया गया।

इस कार्रवाई में चौकी प्रभारी रेवटी के.पी.चौहान, प्रधान आरक्षक रामेश्वर राम, कमलेश यादव, आरक्षक अखिलेश दुबे, मनमोहन विश्वकर्मा, सेलबेस्टर लकड़ा, नगर सैनिक बेला प्रताप व देवनारायण सक्रिय रहे।


22-Sep-2020 10:17 PM

'छत्तीसगढ़' संवाददाता

बिश्रामपुर, 22 सितंबर। एसईसीएल की रेहर श्रमिक कॉलोनी में पखवाड़े भर से पेयजल की समस्या से जूझ रहे श्रमिक परिवार की करीब दो दर्जन महिलाओं ने आरजीके सब एरिया कार्यालय पहुंचकर विरोध प्रदर्शन करते हुए दो घंटे हंगामा मचाया। इस दौरान किसी भी जिम्मेदार अधिकारी के वहां नहीं पहुंचने पर आक्रोशित महिलाओं ने वहां ज्ञापन सौंपकर दो दिन की समयसीमा में जल व्यवस्था बहाल नहीं होने पर बच्चों के साथ सब एरिया मैनेजर कार्यालय का घेराव कर विरोध प्रदर्शन करने की चेतावनी दी है।

 एटक नेता सजल मित्रा ने बताया कि प्रबंधन की लापरवाही से एसईसीएल की रेहर श्रमिक कॉलोनी में पखवाड़े भर से श्रमिक परिवार पेयजल के विकराल संकट से जूझ रहे हैं। बार-बार शिकायत के बावजूद संबंधित महकमा कॉलोनी में बाधित जल समस्या का निराकरण करने में असफल रहा है। एसईसीएल प्रबंधन द्वारा निर्मित श्रमिक कॉलोनी के 120 आवासों में बोरिंग के जरिए जलापूर्ति की जाती है। वहीं 80 आवासों में ओवरहेड टैंक के जरिए पानी की सप्लाई की जाती है। पखवाड़े भर से बोरिंग में खराबी से 120 आवासों में जल आपूर्ति पूरी तरह ठप है। जिस कारण करीब सौ श्रमिक परिवार पखवाड़े भर से पानी की किल्लत से जूझने को मजबूर हैं। बार-बार शिकायत के बावजूद प्रबंधन बाधित जल व्यवस्था को बहाल करने में पूरी तरह असफल है। इस दौरान प्रबंधन द्वारा केवल दो दिन पानी टैंकर के जरिए श्रमिक कॉलोनी में जलापूर्ति की व्यवस्था की गई। कोरोना संकटकाल में जल आपूर्ति बाधित होने से श्रमिक परिवारों को दूरी तय कर नाले से पानी लाकर पीने को मजबूर होना पड़ रहा है। जिससे संक्रमण फैलने की संभावना भी बढ़ गई है।

महिलाओं ने मचाया हंगामा

एसईसीएल की रेहर श्रमिक कॉलोनी में पेयजल की समस्या से जूझ रहे श्रमिक परिवार की महिलाओं ने सोमवार को आरजीके सब एरिया कार्यालय पहुंच कर दो घंटे जमकर हंगामा मचाया। महिलाओं के आक्रोश को देखते हुए कोई भी जिम्मेदार अधिकारी उन से चर्चा करने नहीं पहुंचा। इस बात से नाराज श्रमिक परिवार की महिलाओं ने ज्ञापन सौंपकर एसईसीएल प्रबंधन को चेतावनी दी कि यदि दो दिन की समयसीमा में श्रमिक कॉलोनी में व्याप्त पेयजल समस्या का निराकरण नहीं किया गया तो, वे पुन: सब एरिया कार्यालय मैनेजर का घेराव कर उग्र आंदोलन करने को मजबूर होंगी। विरोध प्रदर्शन करने वालों में श्रमिक परिवार की परमेश्वरी, झरना रानी, सुनीता, ताराबाई, दिलेश्वरी, गौरी सिंह, आशा राजवाड़े, निर्मला पटेल, भारती, धनेश्वरी शामिल थी।

विरोध के बाद पहुंचा पानी टैंकर

श्रमिक परिवार की महिलाओं द्वारा जन समस्या को लेकर विरोध प्रदर्शन करने के बाद हरकत में आए प्रबंधन द्वारा सोमवार को दोपहर में पानी के दो टैंकरों के माध्यम से प्रभावित श्रमिक कॉलोनी में जलापूर्ति की व्यवस्था की गई।

श्रमिक नेताओं ने जीएम को बताई समस्या

संयुक्त कोयला मजदूर संघ के अध्यक्ष कामरेड अजय विश्वकर्मा एवं बीएमएस के केंद्रीय महामंत्री ने श्रमिक कॉलोनी में व्याप्त जल समस्या से क्षेत्रीय महाप्रबंधक बीएन झा को अवगत कराते हुए कहा कि संबंधित विभाग की उदासीनता से श्रमिक कॉलोनी में पखवाड़े भर से जल संकट की स्थिति निर्मित होने से कामगारों में व्यापक आक्रोश व्याप्त है। दोनों नेताओं ने महाप्रबंधक से श्रमिक कॉलोनी में व्याप्त जल समस्या का अविलंब निराकरण करने की मांग की। महाप्रबंधक झा ने उन्हें आश्वस्त किया कि श्रमिक कॉलोनी में जल समस्या का जल्द से जल्द निराकरण हो जाएगा। इसके लिए उन्होंने सब एरिया मैनेजर को फंड भी उपलब्ध करा दिया है।


21-Sep-2020 10:09 PM

'छत्तीसगढ़' संवाददाता

बिश्रामपुर, 21 सितंबर। सूरजपुर पुलिस ने मानी गेतरा जंगल में जुआ खेल रहे 10 जुआरियों को रंगे हाथ पकड़ा। उनके पास व जुआ फड़ से 60 हजार 8 सौ रूपये जब्त किया है।

रविवार की देर शाम पुलिस अधीक्षक सूरजपुर राजेश कुकरेजा को मुखबिर ने सूचना दी कि ग्राम मानी-गेतरा स्थित एक क्रेशर के पीछे जंगल में कुछ लोग रूपये पैसों का दांव लगाकर जुआ खेल रहे हंै। पुलिस अधीक्षक ने इन जुआरियों को घेराबंदी कर सावधानी बरतते हुए पकडऩे के निर्देश थाना प्रभारी सूरजपुर को दिए।

थाना प्रभारी पुलिस टीम के साथ सतर्कता बरतते हुए मानी-गेतरा स्थित क्रेशर के पीछे जंगल में पहुंचकर रणनीति तैयार कर घेराबंदी करते हुए हारजीत का दांव लगाकर जुआ खेल रहे 10 लोगों को पकड़ा। जिनके कब्जे व जुआ फड़ से पुलिस टीम ने 60 हजार 8 सौ रूपये जब्त किया है,इसके अलावा इन जुआडिय़ों से 6 मोबाइल कीमत 35 हजार, 5 मोटर सायकल व 01 कार कीमत 8 लाख 65 हजार रूपये को भी जब्त किया है।

पकड़े गए सभी जुआरियों के द्वारा कोरोना संक्रमण के दौरान बिना मास्क पहने एक स्थान पर एकत्रित होकर जुआ खेलते पाए जाने पर इनके खिलाफ अपराध दर्ज कर कार्रवाई की है। साथ ही उनके खिलाफ पृथक से प्रतिबंधात्मक कार्रवाई भी की जा रही है। पकड़े गए जुआरी में मिलन राजवाड़े निवासी ग्राम डेडरी, थाना सूरजपुर,धर्मजीत राजवाड़े निवासी ग्राम पचिरा थाना सूरजपुर,सुरेन्द्र राजवाड़े निवासी ग्राम सलका,अजय बिंझिया निवासी ग्राम कुरूवां, थाना विश्रामपुर,अनिल राजवाड़े निवासी ग्राम कुरूवां,मनोज राजवाड़े निवासी ग्राम डेडरी,साधूराम देवांगन निवासी ग्राम हर्राटिकरा, थाना जयनगर,हरिलाल यादव निवासी ग्राम कंदरई,श्यामलाल बरगाह निवासी ग्राम भगवानपुर, थाना गांधीनगर,संजीत देवांगन निवासी ग्राम डेडरी, थाना सूरजपुर शामिल हैं।

इस कार्रवाई में थाना प्रभारी सूरजपुर धर्मानंद शुक्ला, एसआई हिम्मत सिंह शेखावत, प्रधान आरक्षक बिसुनदेव पैंकरा, अदीप प्रताप सिंह, विनोद सिंह, आरक्षक रावेन्द्र पाल, सुरेश साहू, रामकुमार नायक, कैलाश यादव, राजीव गवेल, अजीत प्रताप सिंह, प्रेमसागर साहू व संदीप शर्मा सक्रिय रहे।


21-Sep-2020 10:08 PM

'छत्तीसगढ़' संवाददाता

बिश्रामपुर, 21 सितंबर। अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद की नगर इकाई को भंग करते हुए नवीन कार्यकारिणी का गठन किया गया है। शीर्ष नेतृत्व के निर्देश पर अध्यक्ष, उपाध्यक्ष का पद समाप्त करते हुए शुभम जायसवाल को संगठन की नगर इकाई का मंत्री नियुक्त किया गया है।

अभाविप के जिला संयोजक रूपेंद्र कुशवाहा समेत प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य शांतनु सिंह चौहान एवं जिला छात्रा प्रमुख शबनम खातून की उपस्थिति में परिषद की नगर इकाई का गठन किया गया है। परिषद की नगर इकाई में सौरभ राजेश राजवाड़े, हर्ष गोगने, सौरभ विश्वकर्मा, आशुतोष सिंह को नगर सह मंत्री बनाया गया है। इनके अलावा दीपक कुमार प्रजापति एसएफडी प्रमुख, वीर राजवाड़े सह एसएफडी प्रमुख, अभिषेक गुप्ता एसएफएस प्रमुख, शक्ति सारथी सह एसएफएस प्रमुख बनाए गए हैं। राष्ट्रीयकला मंच प्रमुख की जिम्मेदारी अभिषेक यादव को सौंपी गई है। वहीं नीतीश गुप्ता कोषाध्यक्ष, भूपेंद्र राजवाड़े कार्यालय मंत्री, सत्यम एक्का महाविद्यालय प्रमुख, विद्यालय प्रमुख, रजत पात्रों क्रीड़ा प्रमुख, रुपेश सोनवानी एवं प्रसिद्ध गोस्वामी विद्यालय प्रमुख बनाए गए हैं।


18-Sep-2020 10:35 PM

'छत्तीसगढ़' संवाददाता

बिश्रामपुर, 19 सितंबर। करंजी पुलिस टीम ने सूचना पर दतिमा चौक में घेराबंदी कर नशीली दवाइयां बेचने के फिराक में घूम रहे ग्राम भुनेश्वरपुर निवासी राजेंद्र साहू नामक युवक को गिरफ्तार कर उससे 11,520 नग नशे के उपयोग में लाए जाने वाला कैप्सूल बरामद कर जेल भेज दिया है।

करंजी चौकी प्रभारी चित्ररेखा साहू को सूचना मिली कि एक युवक नशीली दवाइयां बेचने ग्राहक की तलाश में दतिमा चौक में घूम रहा है। सूचना मिलते ही एसपी राजेश कुकरेजा को वस्तुस्थिति से अवगत करा करंजी चौकी प्रभारी ने पुलिस टीम के साथ तत्काल घेराबंदी कर दतिमा चौक में ग्राहक की तलाश में घूम रहे रामानुजनगर थाना क्षेत्र के ग्राम भुनेश्वरपुर निवासी राजेंद्र साहू (24) को हिरासत में लेकर उसकी तलाशी ली। इस दौरान पुलिस टीम ने राजेंद्र के बैग एवं उसके पास मिले कार्टून से नशे के उपयोग में लाए जाने वाला 480 पत्ता में 11,520 नग कैप्सूल बरामद किया। बरामद माल का दस्तावेज पेश नहीं करने पर करंजी पुलिस ने आरोपित राजेंद्र साहू के विरुद्ध नारकोटिक एक्ट की धारा 21 बी के तहत अपराध दर्ज कर उसे सूरजपुर न्यायालय में पेश किया। जहां से न्यायालय ने उसे न्यायिक अभिरक्षा में सूरजपुर जेल भेज दिया है।

जब्त कैप्सूल की कीमत ढाई लाख रुपये

करंजी चौकी प्रभारी चित्ररेखा साहू ने बताया कि युवक के कब्जे से जब्त कैप्सूल की बाजार में कीमत करीब ढाई लाख रुपये है। काफी अर्से बाद इतनी मात्रा में किसी से नशीली दवाएं जब्त हुई हैं।


18-Sep-2020 10:32 PM

'छत्तीसगढ़' संवाददाता

बिश्रामपुर, 18 सितंबर। बतरा गांव के माझापारा में दो ग्रामीणों की बाड़ी स्थित कुएं में लगे दो टुल्लू पंप की चोरी के मामले में करंजी पुलिस ने गांव के ही दो युवकों को गिरफ्तार कर उनके कब्जे से चोरी किया गया दोनों टुल्लू पंप बरामद कर लिया है। चोरी के मामले में गिरफ्तार दोनों आरोपियों को सूरजपुर न्यायालय में पेश किया गया। जहां से उन्हें न्यायिक अभिरक्षा में सूरजपुर जेल भेज दिया गया है।

जानकारी के मुताबिक अज्ञात चोरों ने बीते मंगलवार की रात बतरा गांव के माझापारा में विजय सिंह पिता रामसिंह के बाड़ी स्थित कुएं में लगे टुल्लू पंप की चोरी कर ली थी। अज्ञात चोरों ने उसी रात गांव के ही संजय सिंह पिता विजय सिंह के घर की बाड़ी स्थित कुएं में लगे टुल्लू पंप की चोरी की थी। चोरी का संदेह गांव के ही दो युवकों पर किया गया था। करंजी पुलिस ने बुधवार को दोनों मामलों में अज्ञात आरोपी के विरुद्ध चोरी का अलग-अलग अपराध दर्ज कर गांव के ही संदेही निरंजन सिंह (30 वर्ष) एवं रामचंद्र सिंह (26 वर्ष) को हिरासत में लेकर पूछताछ की। पूछताछ में दोनों युवकों ने टुल्लू पंप चोरी करने की बात स्वीकार की।

आरोपी युवकों की निशानदेही पर करंजी पुलिस ने चोरी हुए दोनों टुल्लू पंप बरामद कर टुल्लू चोरी के मामले में गिरफ्तार दोनों आरोपी युवकों को सूरजपुर न्यायालय में पेश किया। जहां से उन्हें न्यायिक अभिरक्षा में सूरजपुर जेल भेज दिया गया है।


18-Sep-2020 9:29 PM

बिश्रामपुर, 18 सितंबर। जिले के कई नायब तहसीलदार एवं तहसीलदारों के मध्य नए सिरे से कार्य विभाजन करते हुए कलेक्टर रणवीर शर्मा ने स्थानांतरण आदेश जारी किया है। जिसमें नायब तहसीलदार अमित केरकेट्टा को पिलखा (बिश्रामपुर) और उमेश कुशवाहा को ओडग़ी तहसीलदार का प्रभार दिया गया है। इसी प्रकार नायब तहसीलदार, गरिमा ठाकुर को देवनगर श्रीनगर व नायब तहसीलदार निरजकांत तिवारी को लटोरी की कमान सौंपी गई है।


17-Sep-2020 9:13 PM

'छत्तीसगढ़' संवाददाता

ओडग़ी, 17 सितंबर। सूरजपुर जिले के ओडग़ी मुख्यालय मे मुख्यमार्ग पर छोटे-बड़े कारोबारियों के द्वारा सड़क पर किये गये बेजा कब्जा पर बिना सूचना के कार्रवाई करने का प्रशासन पर आरोप लगाया और धरने पर बैठ गए। एसडीएम ने लिखित आश्वासन दिया इसके बाद धरना समाप्त किया गया।

ओडग़ी साप्ताहिक बाजार के दिन एसडीएम भैयाथान एवं तहसीलदार ओडग़ी के नेतृत्व में बेजा कब्जा हटाने की कार्रवाई की गई। वहीं छोटे व्यापारियों एवं ग्रामवासियों का आरोप है कि अधिकारियों के द्वारा बिना पूर्व किसी सूचना दिये एक पक्षीय कार्रवाई किया गया है। बड़े और रसूखदारों लोग जो सड़क पर कब्जा किये हैं उन लोगों पर कोई कार्रवाई नहीं किया गया है।

भाजपा मंडल अध्यक्ष राजेश तिवारी के नेतृत्व  धीरे-धीरे लोग सड़क पर उतर गये और धरना-प्रदर्शन और नारे बाजी लगाते हुए सभी लोगों पर कार्रवाई की मांग करने लगे।  इस दौरान संतोष सिंह मोहन राजवाड़े कुलदीप राजवाड़े शशांक प्रताप सिंह  अंशू पाण्डेय दिनेश राजवाड़े मनोज साहु रामप्रसाद साहु जाहिद खान संदीप तिवारी संतोष सिंह अली खान मनीष प्रताप सिंह दिलेश राजवाड़े  महेश सिंह एवं भारी संख्या में ग्रामवासी व व्यापारी उपस्थित थे। 

एसडीएम ने दिया लिखित आश्वासन

ओडग़ी मुख्यालय मे बुधवार को हुए एक पक्षीय कार्रवाई के बाद धरने पर बैठे लोगों के द्वारा जब प्रशासन पर बिना सूचना दिए और रसूखदारों पर कार्यवाही नहीं करने का आरोप लगाने लगे। इसके बाद एसडीएम भैयाथान प्रकाश सिंह राजपूत ने 15 दिवस के अंदर सभी अवैध  कब्जा हटाने और सभी पर कार्रवाई करने का लिखित आश्वासन दिया है। जिसके बाद लोगों ने कहा कि हमें आपकी कार्यवाही से कोई तकलीफ नहीं है लेकिन सभी पर कार्रवाई नहीं हुआ तब हम उग्र आंदोलन को बाध्य होंगे।


16-Sep-2020 9:49 PM

'छत्तीसगढ़' संवाददाता

बिश्रामपुर, 16 सितंबर। करीब एक माह पूर्व एसईसीएल की डिपार्टमेंटल कॉलोनी में गौरव सिंह नामक छात्र के साथ घर में घुसकर मारपीट करने के मामले में फरार चल रहे चारों आरोपियों ने सोमवार को स्थानीय थाने पहुंचकर गिरफ्तारी दे दी है।

विगत 15 अगस्त की शाम को एसईसीएल की डिपार्टमेंटल कॉलोनी में घटित मारपीट की घटना के संबंध में मारपीट में घायल छात्र गौरव सिंह ने पूर्व नगर पंचायत अध्यक्ष राजेश यादव के पुत्र राजकुमार यादव व राहुल यादव के साथ-साथ चंदन यादव एवं रणधीर यादव के विरुद्ध घर में घुसकर लाठी, स्टिक से मारपीट कर उसे घायल करने की रिपोर्ट बिश्रामपुर थाने में दर्ज कराई थी। उसने बताया था कि वह घटना दिनांक की शाम को अपने क्वार्टर के सामने पंप हाउस के पास बैठा था।

उसी दौरान चार पहिया वाहन में आए उक्त चारों युवकों ने पुरानी रंजिश को लेकर गाली-गलौज कर जान से मारने की धमकी देते हुए उसके घर में घुसकर उसके साथ मारपीट की थी। रिपोर्ट पर बिश्रामपुर पुलिस ने उक्त चारों आरोपियों के विरुद्ध अपराध दर्ज किया था।

इस मामले में रणधीर यादव के शामिल नहीं होने की बात बताते हुए रणधीर यादव के भाई ने पुलिस के सामने घटना में शामिल होने की बात बताई. जिस पर पुलिस ने रणधीर यादव के स्थान पर उसके भाई की गिरफ्तारी की है। पुलिस ने थाना पहुंचे राजकुमार यादव  व राहुल यादव  सहित चंदन यादव  एवं रंजीत यादव  निवासी माईनस कॉलोनी को गिरफ्तार कर लिया है।


16-Sep-2020 9:36 PM

'छत्तीसगढ़'  संवाददाता

बिश्रामपुर, 16 सितंबर। एसईसीएल के ऑफिसर्स क्लब में राजभाषा पखवाड़ा उद्घाटन समारोह में क्षेत्रीय महाप्रबंधक बीएन झा ने मां सरस्वती की प्रतिमा के समक्ष दीप प्रज्ज्वलित कर पखवाड़े का शुभारंभ किया। पखवाड़ा उद्घाटन समारोह में कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए प्रशासनिक दिशा-निर्देशों के तहत सामाजिक दूरी का पालन किया गया।

राष्ट्रगान एवं कोल इंडिया कारपोरेट गीत के साथ प्रारंभ राजभाषा पखवाड़ा उद्घाटन समारोह में मुख्य अतिथि बीएन झा ने राजभाषा हिंदी की महत्ता पर प्रकाश डालते हुए कहा कि हिंदी भाषा संस्कारों की जननी है। हिंदी विचारों की अभिव्यक्ति का सशक्त माध्यम है। विडंबना की बात है कि वर्तमान युग में हिंदी को वैकल्पिक विषय के रूप में रखा गया है, जबकि राजभाषा हिंदी पढ़ाई के दौरान अनिवार्य विषय होना चाहिए।

उन्होंने श्रमिक संगठन एवं प्रेस प्रतिनिधियों द्वारा व्यक्त किए गए विचारों से सहमत होते हुए अपने उद्बोधन के माध्यम से आदेश जारी किया कि जिन पत्राचारों में हिंदी आलेख नहीं है, उन्हें छोड़कर बिश्रामपुर क्षेत्र में श्रमिकों एवं अन्य कार्रवाई में हिंदी में ही पत्र व्यवहार किया जाए। इसके साथ ही उन्होंने मातहत अधिकारियों से कहा कि सभी प्रकार के कार्रवाई में अधिकारी हिंदी में दस्तखत करें।

क्षेत्रीय कार्मिक प्रबंधक जीएस राव द्वारा स्वागत भाषण दिए जाने के बाद बीएमएस नेता महेंद्र लांडे समेत एटक नेता पंकज गर्ग, एचएमएस नेता आरएन श्रीवास्तव, सीटू नेता ललन सोनी, इंटक नेता रामदास सिंह, सिस्टा नेता देवनाथ तिग्गा एवं अफिसर्स एसोसिएशन के एन एन मिश्रा ने भी हिंदी के महत्व पर प्रकाश डालते हुए कहा विडंबना की बात है कि देश में सर्वाधिक बोले जाने वाली मातृभाषा हिंदी की अस्मिता को लेकर प्रत्येक वर्ष राजभाषा पखवाड़ा का आयोजन किया जाता है। सभी वक्ताओं ने अपने उद्बोधन के माध्यम से एसईसीएल बिश्रामपुर क्षेत्र में समस्त कार्यालयीन कार्यों में हिंदी का उपयोग करने की वकालत की।

इस अवसर पर विषय से हटकर श्रमिक हित पर अपनी बात रखते हुए एटक नेता पंकज गर्ग ने कहा कि क्षेत्रीय प्रबंधक द्वारा एरिया जेसीसी से चर्चा किए बगैर सैलेरी स्ट्रक्चर में बदलाव का आदेश जारी किया जाना दुखद है। बदलाव आदेश जारी करने से पूर्व क्षेत्रीय प्रबंधक को इस संबंध में एरिया जेसीसी से रायशुमारी करनी चाहिए थी। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि वर्तमान में कोरोना संक्रमित एसईसीएल कर्मचारियों की संख्या में भी लगातार इजाफा हो रहा है। इसे ध्यान में रखते हुए खदानों में सैनिटाइजिंग के साथ ही कार्यस्थल पर कोयला कामगारों की कोरोना जांच की जानी चाहिए।

हिंदी को बढ़ावा देने होगी विभिन्न प्रतियोगिताएं

राजभाषा विभाग के नोडल अधिकारी आरके तिवारी ने बताया कि राजभाषा हिंदी का प्रचार प्रसार करने के उद्देश्य से राजभाषा पखवाड़ा के दौरान विभिन्न चरणों में विविध प्रतियोगिताएं आयोजित की जाएंगी। उन्होंने बताया कि इस दौरान 16 सितंबर को महाप्रबंधक कार्यालय में हिंदी व टिप्पणी लेखन प्रतियोगिता आयोजित की जाएगी। इसी क्रम में 18 सितंबर को महाप्रबंधक कार्यालय में ही ऑनलाइन के जरिए हिंदी निबंध प्रतियोगिता, 21 सितंबर को डीएवी पब्लिक स्कूल में हिंदी पत्र व टिप्पणी लेखन प्रतियोगिता, 23 सितंबर को डीएवी विद्यालय में ही ऑनलाइन के माध्यम से चित्र आधारित हिंदी कहानी प्रतियोगिता आयोजित की गई है। प्रतियोगिता में नकद पुरस्कार भी रखा गया है।

कार्यक्रम का संचालन हिंदी विभाग के कार्यालय अधीक्षक सुब्रत पाल एवं आभार प्रदर्शन कार्मिक अधिकारी बलराम हैमरम ने किया। इस दौरान सीएमएस नेता सुजीत सिंह, राजेश सिंह के अलावा सभी विभाग के विभागाध्यक्ष, सब एरिया मैनेजर अधिकारी एवं कर्मचारी मौजूद रहे।


16-Sep-2020 6:51 PM

राज शार्दुल

विश्रामपुरी, 16 सितंबर (‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता)। क्षेत्र के ग्रामीण अंचल में अलग-अलग समाज में अलग-अलग तरीके से पितरों की पूजा होती है। जहां ज्यादातर लोग पितृ मोक्ष अमावस्या के दिन अपने-अपने पितरों की पूजा पाठ करके विदाई करते हैं तो वहीं कुछ समाज में यह प्रथा चली आ रही है जहां लोग पितृ मोक्ष अमावस्या से दो या तीन दिन पहले पितरों की विदाई करते हैं जिसे पितरखेदा कहा जाता है। कलार समाज में भी कुछ ऐसा ही प्रचलन है।

बांसकोट निवासी चैतराम, आत्माराम सिन्हा एवं आशाराम ने बताया कि पीढिय़ों से यह परंपरा चली आ रही है जिसके अनुसार समाज के कुछ प्रमुख लोग पितरखेदा से चार-पांच दिन पहले बैठक करते हैं जहां यह तय होता है कि किस तिथि को पितरखेदा मनाया जाएगा। तिथि तय होने के बाद उस दिन ग्रामीण एक जगह एकत्र होते हैं जिसमें पुरुष ही शामिल होते हैं तथा सभी लोग नदी या तालाब जाते हैं जहां एक साथ पितरों को जलांजलि देकर विदाई दी जाती है।

सप्ताह भर ही करते हैं पितृपूजा

आमतौर पर अश्विन माह के कृष्ण पक्ष की प्रतिपदा तिथि से पितृ पक्ष की शुरुआत होती है मान्यता है कि इसी दिन से दिवंगत आत्मा घरों में पितर के रूप में आते हैं जो पितृ पक्ष अमावस्या के दिन तक कुल 15 दिन रहते हैं। इस बीच हर घर में पितरों की पूजा होती है तथा अमावस्या के दिन पितरों को विदाई दी जाती है। जिससे ग्रामीण क्षेत्र में पितरखेदा के नाम से भी जानते हैं।

ग्रामीणों की मान्यता के अनुसार यह परंपरा पीढयि़ों से चली आ रही है कि पितर का त्योहार पूरे 15 दिन नहीं बल्कि सप्ताह भर या 5 दिन ही मनाया जावे इसी मान्यता के अनुसार यहां पितरों की विदाई अमावस्या से दो या तीन दिन पहले ही हो जाती है। वहीं ज्यादातर लोग प्रतिपदा तिथि से पितृपूजा की शुरुआत नहीं मानते कई लोग चार-पांच दिन बाद या दूसरे सप्ताह से ही पितृ पूजा शुरू करते हैं जो चार-पांच दिनों के बाद समाप्त हो जाता है।

चावल-दाल का टीका

लोग एक दूसरे को टीका लगाकर सम्मान करते हैं तथा यह माना जाता है कि आज हमारे पितर संतुष्ट हुए तथा आशीर्वाद स्वरुप हम एक दूसरे को टीका लगा रहे हैं। टीके मे चंदन रोली नहीं लगाया जाता बल्कि वहां साबुत चावल एवं उड़द दाल का टीका लगाया जाता है तत्पश्चात सभी लोग अपने अपने घर की ओर जाने से पूर्व एक दूसरे को अपने अपने घरों में भोजन के लिए आमंत्रित करते हैं।

नहीं होता ब्राह्मण भोज

गांव में ब्राह्मण मिलते ही नहीं हैं शायद इसी प्रथा के चलन के अनुसार गांव में ब्राह्मण भोज नहीं होता ब्राह्मण भोज की जगह भांजा, समधी एवं अन्य सामाजिक गोत्र के लोगों को बुलाया जाता है तथा उन्हें भोजन एवं चावल-दाल का दक्षिणा देकर संतुष्ट किया जाता है। ब्राह्मण भोजन के स्थान पर ब्राह्मण के नाम का रसोई रखा जाता है जिसमें चावल दाल नमक मिर्च आलू दिया जाता है विशेष रूप से तोरई दी जाती है।

मछली का भोग

पितृपक्ष में मछली खाने की परंपरा है किंतु मांस नहीं खाते। इस दिन मछली और यदि मछली न मिले तो सूखा मछली (सुखसी) की सब्जी विशेष तौर पर बनाया जाता है जिसे शुभ माना जाता है तथा उसी से पितरों का भोग भी लगाया जाता है। परंपरा के अनुसार पितृपक्ष में मछली खाने की परंपरा है किंतु मांस खाना वर्जित है। पहले अंगार पर धूप आदि देने के बाद वहां मछली एवं साथ में अन्य पकवान भी डाले जाते हैं तत्पश्चात सर्वप्रथम भानजे एवं साथ में घर में बुलाये गये अन्य मेहमानों को भी मछली की सब्जी के अलावा अन्य पकवान परोसे जाते हैं। मान्यता है कि इससे पितर प्रसन्न होते हैं।


16-Sep-2020 3:26 PM

जाति प्रमाणपत्र के अभाव में आईटीआई में दाखिला नहीं

संदीप पाल
भैयाथान, 16 सितंबर (‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता)।
सूरजपुर जिले के भैयाथान ब्लॉक के ग्राम करकोटी में पंडो जनजाति का एक किशोर आर्थिक तंगी के बाद भी पढ़ाई की आस नहीं छोड़ी है। जैसे-तैसे उसने 10वीं पास की। वहीं जाति प्रमाणपत्र नहीं होने के कारण आईटीआई में उसे दाखिला नहीं मिल पाया।

बताया जाता है कि सोनू पंडो की उम्र महज दो वर्ष थी तभी उसके पिता की मौत हो गई थी। इसके बाद से उसकी मां अपने बच्चों के साथ अपने मायके गांगीकोट रहने लगी, लेकिन इसी बीच बाइक दुर्घटना में सोनू का एक पैर फैक्चर हो गया जिसकी देखभाल व इलाज काफी कठिन हो गया था तब सोनू की दादी दशमेत पंडो अपने पोते को इलाज के लिए पैतृक गांव करकोटी लेकर आ गई। जब सोनू की उम्र महज 13 वर्ष थी और आठवीं की पढ़ाई कर रहा था तभी उसकी दादी दशमेत की भी मौत हो गई। 

दादी की मौत के बाद उसके नाम से राशनकार्ड से मिलने वाला रियायती दर का राशन भी मिलना बंद हो गया। अब सोनू को पढ़ाई छोडक़र रोजी-रोटी की चिंता सताने लगी। जैसे-तैसे सोनू ने मजदूरी कर 10वीं तक पढ़ाई पूरी की लेकिन आगे की पढ़ाई जारी रखना उसके लिए मुमकिन नहीं था इसके बावजूद सोनू ने हिम्मत नहीं हारी और उसने इस वर्ष आईटीआई चेन्द्रा में प्रवेश फॉर्म तो भरा लेकिन निवास प्रमाणपत्र व जाति प्रमाणपत्र के अभाव में उसे वहां भी दाखिला नहीं मिल सका।
 
इस संबंध में ग्राम पंचायत करकोटी के सरपंच राजेश सोंपकर ने बताया कि जाति, निवास प्रमाण पत्र बनाने के लिए पंचायत द्वारा प्रस्ताव बनाकर सोनू पंडो को दे दिया गया है। वहीं घर की जर्जर हालत को देखते हुए प्रधानमंत्री आवास की स्वीकृति के लिए पंचायत द्वारा प्रस्ताव भेज दिया गया है।


15-Sep-2020 7:26 PM

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
भैयाथान, 15 सितंबर।
कोरोना महामारी के कारण ग्रामीण छात्रों की पढ़ाई बुरी तरह प्रभावित हुई है। मार्च से स्कूल बंद हैं एवं छात्र स्कूल नहीं जा पा रहे हैं। अभी भी जिले में ऐसे शिक्षक हैं जो ग्रामीणों को जागरूक कर स्मार्ट फोन से एप्प के जरिये नियमित ऑनलाइन कक्षा बना कर छोटे-छोटे बच्चो को रोचक ढंग से अध्यापन कार्य करा रहे हैं।

प्राथमिक शाला सारसताल सोनगरा विकासखंड प्रतापपुर के शिक्षक रंजय कुमार सिंह नियमित सुबह एवं शाम को ऑनलाइन क्लास लेकर बच्चों को शिक्षा से जोड़े हुए हैं। शिक्षक के इस कार्य को पालकों का भरपूर सहयोग मिल रहा है। शिक्षक द्वारा प्रतिदिन के साथ ही रविवार को भी क्लास ली जा रही है। शिक्षक द्वारा गांव में भ्रमण कर पालकों को जागरूक कर उनसे चर्चा कर उनके द्वारा बताए गए समय पर सुबह एवं शाम को ऑनलाइन क्लास ले रहे हैं जिसमें 14-15 मोबाइल से प्रतिदिन ग्रामीण छात्र जुड़ रहे हैं। प्रत्येक मोबाइल में तीन या इससे ज्यादा बच्चे रोज पढ़ाई कर रहे हैं। शिक्षक द्वारा बच्चों को गृह कार्य भी नियमित दिया जा रहा है जिसे छात्र पूर्ण कर विद्यालय के व्हाट्सएप ग्रुप में शेयर करते हैं। शिक्षक द्वारा गृह कार्य की जांच भी नियमित कर व्हाट्सएप से छात्रों को बताया जाता है। 

शिक्षक द्वारा बच्चों को नियमित जागरूक एवं उत्साहित किया जाता है जिसके कारण अधिकतर बच्चे नियमित जुड़ कर पढ़ाई कर रहे हैं। शिक्षक के अच्छे कार्य की चर्चा पूरे क्षेत्र में हो रही है। शिक्षक को छत्तीसगढ़ शासन द्वारा ऑनलाइन क्लास नियमित लेने के कारण प्रशस्तिपत्र पत्र देकर सम्मानित भी किया गया है।


15-Sep-2020 7:23 PM

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
भैयाथान, 15 सितंबर।
ब्लॉक मुख्यालय भैयाथान में सोमवार को भाजपा के नवनियुक्त जिलाध्यक्ष के प्रथम आगमन पर कार्यकर्ताओं ने मैन चौक में आतिशबाजी कर स्वागत किया और स्थानीय वाचनालय में पहुंच कार्यकर्ताओं से भेंट मुलाकात किया गया।

कार्यक्रम में भाजपा मंडल अध्यक्ष मार्तण्ड साहू ने नव नियुक्त जिला अध्यक्ष बाबूलाल अग्रवाल व पूर्व मंत्री रामसेवक पैकरा का स्वागत किया। कार्यक्रम की शुरूवात श्याम प्रसाद मुखर्जी के छाया चित्र पर दीप प्रज्वलित कर किया गया। अतिथियों ने पौधरोपण कर सेवा सप्ताह का शुभारंभ किया। 

जिला अध्यक्ष बाबूलाल अग्रवाल ने कहा कि भाजपा कार्यकर्ता पार्टी की रीढ़ की हडी हैं, उनका स्थान हमेशा सबसे ऊपर है और कार्यकर्ता कभी भूत पूर्व नहीं होते उनका सम्मान सदैव होता रहेगा। उन्होंने कांग्रेस सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि कांग्रेस की सरकार जब से छत्तीसगढ़ में आई है तब से ट्रांसफर का उद्योग लगाकर ट्रांसफर करने में व्यस्त है। जनता की सुध लेने वाला आज कोई नहीं है। उन्होंने आगे कहा कि धान की फसल फिर से तैयार होने जा रही है लेकिन अभी तक किसानों को धान की अंतर राशि नहीं मिली है। 

पूर्व गृहमंत्री रामसेवक पैकरा ने कहा कि इस सरकार के पास ना सही योजना है और ना ही कोई सही नीति। इनकी कथनी और करनी के अंतर को अब जनता भली भांति जान गई है। श्री पैकरा ने अपने सरकार के द्वारा किए गए कार्यों को गिनाते हुए कहा कि जितना हम कार्य किए हैं उसका उनके पास मरमत करने तक की राशि नहीं बची है। कार्यक्रम को मंडल अध्यक्ष मार्तंड साहू ने भी सम्बोधित किया। इस दौरान सीतल गुप्ता,रामु गोस्वामी,राजीव प्रताप सिंह,ददई राम कुशवाहा,सुनील साहू, अजय अग्रवाल,गनपत पाटिल,शेलेन्द्र गुप्ता, लालचंद शर्मा,शांतनु गोयल,राकेश पाठक,शौरभ साहू,हेम सिंह,अनिल सिंह,हिर्दय सिंह,संदीप दुबे,कृष्णचंद जायसवाल,सहित काफी संख्या में कार्यकर्ता उपस्थित थे।
 


13-Sep-2020 9:18 PM

बिश्रामपुर, 13 सितम्बर। एसईसीएल के केंद्रीय चिकित्सालय में की गई कोरोना जांच में पिता-पुत्र समेत पांच मरीज कोरोना संक्रमित पाए गए हैं। कोरोना संक्रमित एक मरीज को मेडिकल कॉलेज अंबिकापुर में भर्ती कराया गया है। इनके अलावा तीन मरीजों को केंद्रीय चिकित्सालय में भर्ती कर उपचार किया जा रहा है। वहीं साधारण लक्षण वाले कृषि अधिकारी को उनके घर में ही होम आइसोलेशन कर उनका उपचार किया जा रहा है। इसी क्रम में लटोरी सेक्टर में की गई कोरोना जांच में गजाधरपुर निवासी एक ग्रामीण एवं उनकी बहू कोरोना पॉजिटिव पाई गई हंै।

एसईसीएल के केंद्रीय चिकित्सालय में रैपिड एंटीजन किट से आठ लोगों की कोरोना जांच की गई, जिसमें एसईसीएल की बिश्रामपुर स्थित वनबी कॉलोनी निवासी रिटायर्ड एसईसीएल कर्मचारी एवं उनके कृषि विस्तार अधिकारी पुत्र कोरोना संक्रमित पाए गए। वहीं एसईसीएल की टूए कॉलोनी में निवासरत एसईसीएल के माइनिंग सरदार एवं उनके शिक्षक भाई के अलावा टूए डीएमक्यू कॉलोनी निवासी एसईसीएल कर्मचारी कोरोना पॉजिटिव पाए गए। इनमें से टूए डीएमक्यू कॉलोनी निवासी कोरोना संक्रमित पाए गए एसईसीएल कर्मचारी को उपचार के लिए मेडिकल कॉलेज अंबिकापुर में भर्ती कराया गया है। वहीं रिटायर्ड एसईसीएल कर्मचारी समेत एसईसीएल के माइनिंग सरदार एवं उनके शिक्षक भाई को एसईसीएल के केंद्रीय चिकित्सालय में भर्ती का उनका उपचार प्रारंभ कर दिया गया है। जबकि कोरोना संक्रमित कृषि विस्तार अधिकारी को उनके वनबी कालोनी स्थित एसईसीएल के आवास में होम आइसोलेशन कर उनका उपचार प्रारंभ करते हुए उनके आवास को सील कर दिया गया है।

संपर्क में आने वालों की भी हो जांच

एसईसीएल में नियमित ड्यूटी करने वाले कोरोना पॉजिटिव पाए गए एसईसीएल कर्मचारी एवं अन्य कोरोना संक्रमित मरीजों के संपर्क में आने वाले लोगों का सर्वे कर उनकी भी कोरोना जांच कराने की मांग नगरवासियों ने की है।


11-Sep-2020 9:27 PM

'छत्तीसगढ़' संवाददाता

बिश्रामपुर, 11 सितंबर। जयनगर पुलिस ने सरगुजा संभाग के अलग-अलग इलाकों में लम्बे समय से बाइक चोरी कर रहे शातिर बाइक चोर सरगना को सहयोगी समेत गिरफ्तार किया है। पुलिस ने मुख्य आरोपी जावेद उर्फ तुरवा बरगीडीह (खाराकोना)थाना लुंड्रा जिला सरगुजा की निशानदेही पर चोरी की सात बाइक व उसके खरीददारों समेत कुल नौ लोगों को गिरफ्तार कर आज न्यायालय पेश किया।

जयनगर थाना में आयोजित पत्रकार वार्ता में पुलिस अधीक्षक राजेश कुकरेजा ने बताया कि सरगुजा सम्भाग के अलग अलग इलाकों में घूम घूम कर दोपहिया वाहनों की चोरी करने वाले सरगना जावेद उर्फ तुरवा की पुलिस को लम्बे समय से तलाश थी। बुधवार 9 सितम्बर को पुलिस को सूचना मिली कि वह चोरी की बाइक बेचने सिलफिली बस स्टैंड आया हुआ है।

पुलिस ने उसकी घेराबन्दी की जिसके बाद वह बाइक समेत तेजी से भागने लगा। टीम ने उसका पीछा करते हुए अजबनगर के पास उसे धर दबोच लिया। पुलिस ने उसके बाइक के कागजात की मांग की तो वह दस्तावेज प्रस्तुत नहीं कर सका, पूछताछ में उसने हाल ही में सुरजपुर के सँयुक्त जिला कार्यालय परिसर से बाइक चोरी किए जाने की बात स्वीकारी। उसने बताया कि बिश्रामपुर में वह मोटर सायकल रिपेयरिंग का काम करता था,और वर्तमान में वह अम्बिकापुर में मछली बेचने का काम करता है।

पुलिस को उसने बताया कि पिछले एक वर्ष में सुरजपुर मार्केट से एक,अम्बिकापुर पुराना बस स्टैंड से एक,नया बस स्टैंडअम्बिकापुर से तीन,कम्पनी बाजार अम्बिकापुर से एक,बिश्रामपुर से एक,जयनगर से एक मोटरसाइकल चोरी किया था।जिसे उसने बड़वार निवासी असगर अली को तीन बाइक खपाने के लिए दिया था। असगर ने एक मोटर सायकिल मजगवा निवासी तुलसी यादव,भवरखोह निवासी अशोक यादव व राजू यादव को बेच दिया था,इसके अतिरिक्त आरोपी जावेद ने चोरी की अन्य वाहनों को डॉडकरवा निवासी रज्जी मोहम्मद व अंसार आलम एवं बड़वार निवासी आस मोहम्मद को एक मोटर सायकिल बेचा था जबकि एक अन्य मोटरसाइकल को बड़वार के एक व्यक्ति के माध्यम से आनंद सिंह को बेचा था जिसे आंनद द्वारा वापस कर देने से उस मोटरसाइकल को बरामद किया जाना पुलिस ने शेष बताया है।

पुलिस ने आरोपी की निशानदेही पर चोरी की कुल सात मोटरसाइकल कीमती तीन लाख पचास हजार रु बरामद कर आरोपियों क्रमश: मुख्य सरगना आरोपी जावेद उर्फ तुरवा,अंसार आलम डाड्डकरवा,आस मोहम्मद बड़वार थाना रामकोला,रज्जी मोहम्मद डाड्डकरवा थाना चंदौरा,तुलसी यादव मजगवां थाना प्रतापपुर,अशोक यादव भंवरखोह चौकी कुदरगढ़ थाना ओडग़ी,राजू यादव भवरखोह थाना ओडग़ी,असगर अली बड़वार,आंनद उर्फ सोनू बड़वार थाना रामकोला के विरुद्ध मामला दर्ज कर सभी को आज न्यायालय पेश कर दिया है। एसपी ने मामले के खुलासा में जुटी जयनगर थाना प्रभारी सुनिता भारद्वाज व पूरी पुलिस टीम को बधाई दे पुरस्कृत करने की घोषणा की है।


Previous123Next