छत्तीसगढ़ » रायपुर

Previous123456789...1314Next
14-Jul-2020 7:21 PM

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

अभनपुर, 14 जुलाई। माध्यमिक शिक्षा मंडल द्वारा आयोजित परीक्षा में शासकीय हाईस्कूल गोड़पारा के 13 छात्र-छात्राओं ने विद्यालय स्तर पर 80 से 95 प्रतिशत अंक अर्जित कर विद्यालय के साथ ही अपने माता पिता का नाम गौरान्वित किया है।

जिसमें पल्लवी तारक 95.16 प्रतिशत, मोनिका ध्रुव 93.16 प्रतिशत विकास ढीढी 92.16, तारणी साहू 90.66, दीप्ती साहू 87.50, वंदना साहू 87 प्रतिशत, लकेश्वर ध्रुव 86, मिनाक्षी साहू 86, सृष्टि साहू  84, हिमांशू दीवान 84, राहूल भारती 83, यशोदा साहू 82, पूजा गिरधर 82, इनकी उपलब्धि पर स्कूल के प्राचार्य मंजरी जैन व्याख्याता एल.एन.साहू, एन.के.शर्मा, मनोज साहू, सपना शुक्ला, वाय.के. ध्रुव एम.के.नेताम, उमेश चौधरी, मालती कामड़ी, संदीप तिग्गा, धार्ती साहू, चूड़ामणी यादव, वर्षारानी नामदेव एवं समस्त विद्यालय परिवार उज्जवल भविष्य की कामना करते हुए बधाई दी है।


14-Jul-2020 7:11 PM

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

रायपुर, 14 जुलाई। दिल्ली पब्लिक स्कूल, रायपुर के छात्रों ने बोर्ड परीक्षाओं में सर्वाधिक अंक प्राप्त कर उल्लेखनीय प्रदर्शन करते हुए विद्यालय का गौरव बढ़ाया। शैक्षणिक सत्र 2019-20 की कक्षा बारहवीं की बोर्ड परीक्षा में विद्यालय की कला विषय की छात्रा निकिता सैनी ने 98.4 अंक हासिल कर रायपुर शहर में प्रथम स्थान प्राप्त किया।

विज्ञान विषय में राम केसवानी तथा मेधावी गुप्ता ने 97.2 अंक हासिल किए। वहीं कला विषय की छात्रा हरीकृष्णा रानी देवांगन ने 97 तथा साक्षी धामले ने 96.2 अंक हासिल कर विद्यालय का गौरव बढ़ाया। कुल 208 छात्रों में से 36 छात्रों ने 90 से अधिक अंक हासिल किए। 74.5 छात्रों ने 80 से अधिक अंक हासिल किया तथा 100 छात्रों ने यह परीक्षा प्रथम श्रेणी में उत्तीर्ण किया।

विद्यालय के प्रो वाइस चेयरमैन बलदेव सिंह भाटिया, महासचिव विजय शाह एवं प्रबंधन के सदस्य पुखराज जैन के साथ प्राचार्य रघुनाथ मुखर्जी और शिक्षकों ने सभी टॉपर्स और सफल छात्रों को बधाइयां दी।


14-Jul-2020 6:52 PM

ऋषित  97.8 प्रतिशत के साथ रहा अव्वल 

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
रायपुर, 14 जुलाई।
कृष्णा पब्लिक स्कूल रायपुर के विद्यार्थियों ने 12वीं की परीक्षा मे शानदार सफलता पाई  है। उत्तीर्ण होने वाले बच्चों का नाम एवं प्रतिशत इस प्रकार है- ऋ षित मोहन दास 97.8 प्रतिशत, मानसी भोजवानी 97.40 प्रतिशत, गौरजा ऐरॉन 96.40, देवश्री सिंह 96.20, ऋषि नायर 96, मोहित कुमार जैन 96 प्रतिशत, ऋषिता बनर्जी 96 ए प्रकृति डे 96, हिमांशी गंगवानी 96, ख्वाहिस छबलानी 96, राजसी पांडे 95.80, चित्रा सिंह 95.80, रूषदा परवीन 95.80, नेहा मूलचंदानी 95.80, अर्चिसा मदामे 9560, मानसी वरवंडकर 95.60, हिया पात्रे 95.40, कोमल साहू 95.40, श्रेयल उपाध्याय 95.40, सीमा सिन्हा 95.20, दिपांशी सोलंकी 95.20, मिताली ओगरे 95.20, संभावी दुबे 95.20, हार्दिक कलवानी 95, श्रेया मरियम थॉमस 94.80, अनिशा गुप्ता 94.8, प्रेरना ताम्रकार 94.80, आदित्य पुरोहित 94.40, लिपाक्षी साहू 94.2, चिन्मय अग्रवाल 94.20, बी अदनान अख्तर 94:ए समर्थ सिंह 93.80, मौली मिश्रा 93.80,  अस्मिता शर्मा 93.40, अरोहि वर्मा 93.40, रिया देखमुख 93.20, सजल देवांगन 93ण्2:, वंदना कान्या 93.20, तनिशा छिब्बर 93.2, आयुश वर्मा 93, परी एस भंडारकर 92.80, अंशुमन शर्मा 92.80, सुमन अग्रवाल 92.40, रिया वाधवानी 92.40, अंकुर सिन्हा 92.20, मयंक साहू 92, प्रांजल जैन 91.80,  प्रतिक्षा मिश्रा 91.80, हर्ष वर्मा 91.60, कविश सुराना 91.60, विपिन खेमानी 91.60, अर्नब मंडल 91.40, अक्षत शर्मा 91.40, कुलजित कौर खुराना 91.20, उत्कर्ष जायसवाल 91, ओम छबलानी 91, नित्या जैन 91, साक्षी, राघवन 90.80, राहुल अग्रवाल 90.80, सेजल सराफ 90.80, आदर्श जोशी 90.60, निधी चौहान 90.60, हार्दिक साहू 90.60, निपुन चंद्राकर 90.60, हर्ष सचदेव 90.40, सुशमिन कुमार मज्जु 90.40, सौमिन परीदा 90.20, श्रुति सिंह 90.20, बुश्रा कुरैशी 90.20, मनमीत कौर बंगा 90, हर्ष पारेख 90, नवीन जैन 90, प्रियांशु सिंग 90, पियुश मेहर 90, सौम्या मिश्रा 90, सुभम बांदे 90।
कृष्णा पब्लिक स्कूल, रायपुर रीजन के एक्जीक्यूटिव डॉयरेक्टर  आशुतोष एवं प्राचार्या प्रियंका त्रिपाठी ने बच्चों के उत्कृष्ठ प्रदर्शन पर शुभकामनाएं दी एवं उनके उज्ज्वल भविष्य की कामना की।


14-Jul-2020 6:50 PM

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
रायपुर, 14 जुलाई।
निगम जोन-7 ने आज सडक़ों पर भवन निर्माण सामग्री रखने पर दो लोगों से 4 हजार जुर्माना वसूल किया। 

बताया गया कि स्वामी आत्मानंद वार्ड और चूड़ामणी वार्ड के चौबे कालोनी मुख्य मार्ग पर पिछले कुछ दिनों से रेत, ईट व अन्य भवन निर्माण सामग्री डाल दी गई थी, जिससे लोगों की आवाजाही में दिक्कत हो रही थी। कुछ लोगों ने इसकी शिकायत निगम प्रशासन से की।

जोन कमिश्नर के नेतृत्व में निगम जोन-7 की टीम आज मौके पर पहुंची। इसके बाद दोनों जगहों पर संबंधित मालिकों के खिलाफ दो-दो हजार रुपये सडक़ बाधा शुल्क वसूल किया गया। निगम अधिकारियों का कहना है कि शहर की सडक़ों पर कहीं पर भी भवन निर्माण सामग्री डालकर आवागमन बाधित करने पर कार्रवाई की जाएगी। 
 


14-Jul-2020 6:38 PM

6वीं से 10वीं तक के विद्यार्थी हो सकते हैं शामिल 

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
रायपुर, 14 जुलाई।
विद्याार्थियों में विज्ञान के प्रति रूचि और रूझान बढ़ानेे, उनमें वैज्ञानिक दृष्टिकोण और तर्क क्षमता का विकास करने नन्हें बाल वैज्ञानिकों को अवसर प्रदान करने के लिए इंस्पायर अवार्ड मानक योजना संचालित है। छत्तीसगढ़ राज्य के 14 हजार 520 विद्यालयों के पूर्व माध्यमिक और हाई स्कूल स्तर की कक्षा छठवीं से दसवीं तक के होनहार बालक-बालिकाओं से सत्र 2020-21 में इंस्पायर अवार्ड मानक योजना के तहत ऑनलाईन पंजीयन की प्रक्रिया का कार्य प्रारंभ हो चुकी है। 

संचालक लोक शिक्षण जितेन्द्र कुमार शुक्ला ने शिक्षा सत्र 2020-21 में राज्य के सभी पूर्व माध्यमिक विद्यालयों और हाई स्कूल के कक्षा छठवीं से दसवीं तक के विद्यार्थियों की अधिक से अधिक संख्या में इंस्पायर अवार्ड मानक योजना में शामिल करने के लिए 60 हजार प्रतिभागियों के नामांकन का लक्ष्य रखा है। 

श्री शुक्ला ने बताया कि इंस्पायर अवार्ड मानक योजना के तहत भारत सरकार विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विभाग नई दिल्ली और नवप्रवर्तन प्रतिष्ठान भारत विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विभाग, भारत सरकार का स्वायत्तशासी संस्थान (एनआईएफ) के द्वारा संचालित है। इसमें राज्य के सभी विद्यालयों से कक्षा छठवीं से दसवीं तक के विद्यार्थी शामिल हो सकते हैं।
प्रत्येक माध्यमिक स्तर के विद्यालय से तीन, हाईस्कूल स्तर के विद्यालय से दो नए आइडिया और ऐसे विद्यालय जहां पूर्व माध्यमिक शाला तथा हाईस्कूल एक साथ संचालित हों, वहां पांच नए आइडिया का चयन करने के बाद पंजीयन कराया जा सकता है। विद्यार्थियों के आइडिया के पंजीयन के लिए संबंधित विद्यालय के प्रधान पाठक अथवा प्राचार्य द्वारा या संस्था के विज्ञान शिक्षक के सहयोग से पंजीयन की प्रक्रिया पूर्ण कराई जाती है। पंजीयन आइडिया या प्रोजेक्ट का एनआईएफ द्वारा चयन होने के बाद चयनित प्रतिभागियों को मॉडल बनाने के लिए 10 हजार रूपए की राशि उनके बैंक खाते में प्रदाय की जाती है।

चयनित विद्यार्थियों द्वारा आइडिया के अनुरूप मॉडल तैयार कर जिला/संभाग स्तर पर आयोजित प्रदर्शनी प्रतियोगिता में भाग लेना होता है।

यहां प्रतियोगिता में चयनित होने वाले प्रतिभागी राज्य स्तरीय प्रदर्शनी में हिस्सा लेते हैं। इसमें चयन के बाद एनआईएफ द्वारा प्रायोजित मेंटोरशिफ्ट कार्यक्रम जो राज्य या राज्य के बाहर के एनआईटी या आईआईटी में कराया जाता है, वहां अपने मॉडल के संबंध में जानकारी और उसे अच्छा बनाने के लिए प्रशिक्षित किया जाता है। मेंटरशिप कार्यक्रम का दो या तीन दिवसीय आवासीय शिविर विद्यार्थियों के लिए प्रेरणादायक और बहुत ही ज्ञानवर्धक होते हैं। कार्यक्रम में विद्यार्थियों के साथ शिक्षक भी शामिल होते है। इस कार्यक्रम के तहत प्रतिभागियों को अपने प्रोजेक्ट मॉडल को और अच्छा बनाने अथवा सुधारने के लिए आवश्यकता अनुसार अधिकतम 50 हजार रूपए की राशि प्रदाय की जाती है।

प्रतिभागियों द्वारा मेंटरशिप कार्यक्रम के बाद मॉडल प्रोजेक्ट में आवश्यक सुधार कर उसे नई दिल्ली में आयोजित राष्ट्रीय स्तर की प्रदर्शनी में शामिल किया जाता है। राष्ट्रीय स्तर प्रदर्शनी में चयनित श्रेष्ठ 60 मॉडल प्रोजेक्ट का प्रदर्शन राष्ट्रपति भवन में फेस्टिवल ऑफ इनोवेशन (नवप्रवर्तन) उत्सव में किया जाता है। यहां प्रतिभागियों को राष्ट्रपति के साथ मिलने व चर्चा करने का सुअवसर प्राप्त होता है।

राष्ट्रीय स्तर की प्रदर्शनी के लिए चयनित प्रतिभागियों को देश के कुछ प्रतिष्ठित इंजीनियरिंग कॉलेजों में प्रवेश हेतु 6 अंक और राष्ट्रीय प्रदर्शनी में पुरस्कार प्राप्त प्रतिभागियों को 10 अंक प्रदान करने का प्रावधान है। इसके साथ ही चयनित विद्यार्थियों को सकुरा अवार्ड स्कीम के तहत जापान भ्रमण पर भेजा जाता है। 

पिछले सत्र 2019-20 में राज्य से कुल 37 हजार 359 प्रतिभागियों का पंजीयन हुआ था। जिसमें जिला स्तर पर 3 हजार 78 प्रतिभागियों का चयन हुआ। राज्य स्तर पर पंजीकृत 266 प्रतिभागियों में से 248 विद्यार्थियों ने हिस्सा लिया। राष्ट्रीय स्तर पर आयोजित प्रदर्शनी के लिए 27 प्रतिभागी चयनित हुए और पंजीयन में छत्तीसगढ़ राज्य को देश में तीसरा स्थान प्राप्त हुआ।
 


14-Jul-2020 6:36 PM

सेवा देने कोविड-19 को मात देकर लौटे कोरोना योद्धा 

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
रायपुर 14 जुलाई।
कोविड-19 में स्वास्थ्य सेवाओं की प्रथम पंक्ति की योद्धा शहरी कार्यक्रम प्रबंधक अंशुल और सोशल वर्कर नेहा सोनी ने कोरोना वायरस को मात देकर पुन: अपनी सेवाऐं प्रदान करना शुरु कर दी है। पूर्ण रुप से स्वस्थ होने के बाद अपनी सेवाऐं देने मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी के कार्यालय पहुंची तो समस्त स्टाफ ने अंशुल और नेहा सोनी का गर्म जोशी से स्वागत किया ।

मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ.मीरा बघेल ने बताया पूर्व में कार्यालय के 2 साथी कोविड-19 के टेस्ट में पॉजि़टिव पाये गये थे । दोनों कोरोना योद्धाओं का एम्स में इलाज चला। स्वास्थ्य अधिकारियों और कर्मचारियों के कार्यों की सराहना करते हुए कहा स्वास्थ्य कर्मचारी स्वयं अपनी जिंदगियों को दांव पर लगाकर आम जनता को इस महामारी के प्रकोप से बचाने के लियें  कार्य कर रहे हैं।

उन्होंने कहा स्वस्थ होकर लौटे कर्मचारियों को कहा गया है अगर स्टाफ किसी भी तरह से उनके साथ भेदभाव करता है तो उसकी तुरंत रिपोर्ट की जाए क्योंकि हमें बीमारी से लडऩा है,बीमार से नहीं । बीमारी से ग्रसित व्यक्ति से भेदभाव नहीं करना है।कोविड-19 का संक्रमण किसी को भी हो सकता है । सुरक्षा  ही कोविड -19 का ईलाज है ।

कोविड-19 को मात देकर अपने कार्य पर लौटे अंशुल ने बताया उन्हें पता ही नहीं चला  कब वह कोविड-19 के संक्रमण का शिकार हो गया । मुझे मधुमेह की भी है । जब मेरी रिपोर्ट पॉजिटिव आई तो मुझे काफी चिंता हुई । लेकिन एम्स में चले नियमित इलाज से मैं ठीक हो गया । वहां पर इलाज के दौरान मेरी मधुमेह को बढऩे नहीं दिया ।साथ ही योगा और 


14-Jul-2020 6:36 PM

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

रायपुर, 14 जुलाई। कोरोना मरीज बढऩे के साथ ही रायपुर, बिलासपुर समेत प्रदेश के 112 ब्लॉक रेड जोन में शामिल किए गए हैं। वहीं 32 ब्लॉक ऑरेंज जोन में रखे गए हैं।

स्वास्थ्य विभाग द्वारा प्रदेश में कोरोना मरीजों के आंकड़ों को देखते हुएनए सिरे से रेड और ऑरेंज जोन का निर्धारण किया गया है। रेड जोन से धमतरी, पेंड्रा-गौरेला-मरवाही, कोंडागांव व सुकमा जिले बाहर हैं, लेकिन उसके ब्लॉक ऑरेंज जोन में शामिल हैं। रेड-ऑरेंज जोन की  सूची निम्नानुसार है।

रेड जोन

रायपुर जिला-रायपुर शहरी, अभनपुर, आरंग, धरसींवा, तिल्दा। महासमुंद जिला-महासमुंद, पिर्थारा, बागबाहरा, बसना, सराईपाली। गरियाबंद जिला- मैनपुर, राजिम, छुरा, देवभोग, गरियाबंद। बलौदाबाजार  जिला-लवन, भाटापारा, बिलाईगढ़, पलारी कसडोल, सिमगा। दुर्ग जिला-धमधा, निकुम, भिलाई शहरी, दुर्ग शहरी, पाटन। बेमेतरा जिला-बेमेतरा, नवागढ़, साजा, बेरला। बालोद जिला- बालोद, डौंडीलोहारा, डोंडी, गुण्डरदेही। राजनांदगांव जिला-राजनांदगांव शहरी, मानपुर, मोहला, अंबागढ़ चौकी, छुरिया, डोंगरगढ़, घुमका, खैरागढ़, डोंगरगांव। कबीरधाम जिला-कवर्धा, बोड़ला, सहसपुर-लोहारा, पंडरिया। बिलासपुर जिला-कोटा, तखतपुर, बिलासपुर शहरी, मस्तूरी, बिल्हा। कोरबा जिला-करतला, कोरबा शहरी, कटघोरा, पाली, पोंड़ीउपरोड़ा। मुंगेली जिला-लोरमी, मुंगेली, पथरिया। रायगढ़ जिला-बरमकेला, सारंगढ़, खरसिया, पुसौर, लैलुंगा, लोइंग, रायगढ़ शहरी, धरमजयगढ़। जांजगीर-चांपा जिला-बम्हनीडीह, ढभरा, जैजैपुर, नवागढ़, पामगढ़, सक्ति, अकलतरा, मालखरौदा। सरगुजा जिला-अंबिकापुर शहरी, लखनपुर, उदयपुर, बतौली, सीतापुर। बलरामपुर जिला-बलरामपुर, राजपुर, वाड्रफनगर, रामानुजगंज, शंकरगढ़, कुसमी।  जशपुर जिला-पत्थलगांव, दुलदुला, कांसाबेल, लोदम, फरसाबहार, कुनकुरी, बगीचा। कोरिया जिला-खडगवा, बैकुण्ठपुर, मनेन्द्रगढ़, भरतपुर। सूरजपुर जिला-सुरजपुर, प्रतापपुर। कांकेर जिला-कांकेर, नरहरपुर, कोयलीबेड़ा। नारायणपुर जिला-नारायणपुर। दंतेवाड़ा जिला-दंतेवाड़ा, गीदम। बस्तर जिला-दरभा, लोहन्डीगुड़ा, बस्तर शहरी। बीजापुर जिला-बीजापुर, उसूर।

ऑरेंज जोन

धमतरी जिला- धमतरी शहरी, कुरूद, गुजरा, नगरी। दुर्ग जिला-चरोदा शहरी। बालोद जिला-गुरूर। राजनांदगांव जिला-छुईखदान। रायगढ़ जिला-घरघोड़ा, तमनार। जांजगीर-चांपा जिला- बलौदा। गौरेला-पेंड्रा-मरवाही जिला-मरवाही, गौरेला। सरगुजा जिला-मैनपाट। जशपुर जिला- जशपुर, मनोरा, कोरिया जिला-सोनहत। सूरजपुर जिला-रामानुजनगर। कांकेर जिला-अंतागढ़, दुर्गुकोन्दल, भानुप्रतापपुर, चारामा। नारायणपुर जिला-ओरछा। दंतेवाड़ा जिला-कटेकल्याण। बस्तर जिला-बकावंड, तोकापाल, किलेपाल, बस्तर। कोण्डागांव जिला-कोंडागांव, विश्रामपुरी। सुकमा जिला- सुकमा, कोन्टा। बीजापुर जिला-भैरमगढ़।


14-Jul-2020 6:35 PM

18 मार्च को मिला पहला मरीज, एक्टिव 4 सौ पार

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

रायपुर, 14 जुलाई। राजधानी रायपुर समेत जिले में करीब 4 महीने में कोरोना मरीज बढक़र 8 सौ 24 हो गए हैं, जो प्रदेश के बाकी सभी जिलों की तुलना में सबसे अधिक है। इन मरीजों में 3 की मौत हो चुकी है। 436 एक्टिव हैं और 385 ठीक होकर अपने घर चले गए हैं। अलग-अलग जगहों से लिए गए सैंपलों की जांच जारी है।

राजधानी रायपुर के समता कालोनी में 18 मार्च को कोरोना का पहला मरीज मिला। इस दौरान लोग दहशत में आ गए और वे सभी किसी भी तरह घर पहुंचने की जल्दबाजी करते रहे। आज मरीजों की यह संख्या तेजी के साथ बढक़र 8 सौ पार कर चुकी है। पिछले दो दिन में यहां 183 नए पॉजिटिव मिले हैं, इसके बाद भी लोग बिना मास्क लगाए और सामाजिक दूरी का पालन न करते हुए आराम से सडक़ों और बाजारों में आना-जाना कर रहे हैं।

रायपुर के अलावा प्रदेश के आधा दर्जन और जिलों में कोरोना मरीज बढ़ते जा रहे हैं। नांदगांव में बीती रात तक कोरोना मरीजों के आंकड़े 377 रहे। कोरबा जिले में 342, बलौदाबाजार में 296, जांजगीर-चांपा में 298, बिलासपुर में 295 एवं दुर्ग जिले में 229 मरीज दर्ज किए गए हैं। इसमें एक्टिव मरीजों की संख्या सौ से नीचे है, जिनका इलाज जारी है। बाकी जिलों में कोरोना मरीजों की संख्या इन जिलों से कम है। माना जा रहा है कि लोगों की इस लापरवाही के चलते कोरोना संक्रमण और बढ़ सकते हैं।


14-Jul-2020 6:35 PM

जल्द मरम्मत की मांग, आंदोलन की चेतावनी 

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
रायपुर, 14 जुलाई।
रायपुर पश्चिम क्षेत्र के भाजपा पार्षदों ने आज दोपहर निगम कमिश्नर से मिलकर उन्हें अपने वार्डों की समस्याएं बताई। उन्होंने कहा कि पिछले सालभर में इस क्षेत्र के वार्डों में कोई नए  विकास कार्य नहीं हुए, बल्कि अब बारिश में पेयजल पाइप लाइन के लिए खोदे गए गड्ढ़ों से लोगों की दिक्कत बढ़ गई है। कई जगहों पर गड्ढ़े खोदकर छोड़ दिए गए हैं, जिससे हादसों का डर बना हुआ है। भाजपा पार्षदों ने चेतावनी दी है कि सडक़ों की जल्द मरम्मत न कराने पर वे, वार्डवासियों के साथ सडक़ पर उतरकर प्रदर्शन के लिए मजबूर होंगे। 

भाजपा पार्षद प्रफुल्ल विश्वकर्मा, मीनल चौबे के नेतृत्व में रायपुर पश्चिम विधानसभा क्षेत्र के 10 भाजपा पार्षद आज वार्डों की आम समस्याओं को लेकर निगम मुख्यालय पहुंचे। उन्होंने यहां निगम कमिश्नर सौरभ कुमार से मिलकर अपने-अपने वार्डों की समस्याएं बताई। भाजपा पार्षदों ने कहा कि वार्डों में अमृत मिशन के तहत पेयजल पाइप लाइन के लिए जगह-जगह गड्ढ़े खोदे गए हैं। इसमें से कई जगहों पर पाइप लाइन भी नहीं डाले गए हैं और अधिकांश गड्ढ़े खुले छोड़ दिए गए हैं, जहां बारिश का पानी जमा हो गया है। यहां लगातार हादसों का डर भी बना हुआ है। 

उनका कहना है कि उन सभी के वार्डों में सालभर में कोई नई सडक़ नहीं बन पाई। विकास के कोई नए काम भी शुरू नहीं हो पाए।  यह जरूर है कि वार्डवासियों को गड्ढ़ों की सौगात अवश्य मिली है। उन्होंने चेतावनी देते हुए मांग की है कि इन सभी गड्ढ़ों की तुरंत मरम्मत कराई जाए, ताकि आम लोगों की परेशानी कम हो सके। निगम कमिश्नर ने वार्डों की समस्याओं को जल्द दूर करने का आश्वासन दिया है। निगम कमिश्नर से मिलने वालों में विनोद अग्रवाल, दीपक जायसवाल, कमलेश वर्मा, भोला साहू, मधु चंद्रवंशी, कामिनी देवांगन, कुमार रजियंत सिंह आदि भाजपा पार्षद शामिल रहे। 
 


14-Jul-2020 6:35 PM

कैबिनेट का फैसला

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

रायपुर, 14 जुलाई। सरकार ने छत्तीसगढ़ संस्कृति परिषद के गठन का निर्णय लिया है। मुख्यमंत्री परिषद के अध्यक्ष होंगे और संस्कृति मंत्री  उपाध्यक्ष। परिषद के अन्य सदस्यों का मनोनयन सरकार द्वारा किया जाएगा। इसके अलावा सरकार ने मीसाबंदियों के सम्मान निधि नियम को निरस्त करने का भी फैसला लिया है।

कैबिनेट ने छत्तीसगढ़ संस्कृति परिषद के गठन के प्रस्ताव को मंजूरी दे दी है। राज्य के साहित्य और कला जगत के संबंधित व्यक्ति, विधायक, सांसद और अन्य अशासकीय सदस्यों का मनोनयन राज्य शासन द्वारा किया जाएगा। बैठक में छत्तीसगढ़ की औद्योगिक नीति 2019-24 में राज्य में बायो एथेनॉल उत्पाद इकाईयों की पब्लिक प्राइवेट पार्टनरशीप  मोड में स्थापना को विशेष प्रोत्साहन पैकेज में अनुमति देने का निर्णय लिया गया।

बैठक में सीएसआईडीसी द्वारा औद्योगिक प्रयोजन के लिए आपसी सहमति से निजी भूमि क्रय नीति का अनुमोदन किया गया। बैठक में महाधिवक्ता कार्यालय में अतिरिक्त महाधिवक्ता दो नए पद स्वीकृत करने के प्रस्ताव का अनुमोदन किया गया। छत्तीसगढ़ विधि आयोग को भंग करने का फैसला लिया गया है। यहां कार्यरत 6 कर्मचारियों को उनके द्वारा धारित पदों पर ही राज्य के विधि और विधायी कार्य विभाग मंत्रालय में नियमानुसार संविदा पर संलग्न करने का निर्णय लिया गया।

मकानों-फ्लैट्स की बिक्री पर पंजीयन शुल्क में छूट

सरकार ने 75 लाख रूपए बाजार मूल्य तक के आवासीय मकानों और फ्लैट्स के विक्रय पर वर्तमान में लागु पंजीयन शुल्क में दो फीसदी की छूट देने का फैसला लिया गया है। यह छूट 31 मार्च तक जारी रहेगी।

भाड़ा नियंत्रण अधिनियम अध्यादेश के प्रारूप का अनुमोदन

सरकार ने छत्तीसगढ़ भाड़ा नियंत्रण अधिनियम-2011 में संशोधन के लिए छत्तीसगढ़ भाड़ा नियंत्रण (संशोधन) अध्यादेश, 2020 के प्रारूप का अनुमोदन किया गया। जिसके तहत राज्य शासन द्वारा हाईकोर्ट के रिटायर अथवा रिटायर्ड डीजे को भाड़ा नियंत्रण अधिकरण का अध्यक्ष नियुक्त किया जाएगा।

बैठक में टामन सिंह सोनवानी पीएससी चेयरमैन और डॉ. आलोक शुक्ला को प्रमुख सचिव के रिक्त असंवर्गीय पद पर तीन वर्ष के लिए संविदा नियुक्ति का कार्योत्तर अनुमोदन किया गया।


14-Jul-2020 6:33 PM

रायपुर, 14 जुलाई। ओबीसी महासभा ने जनगणना फॉर्म में ओबीसी कालम रखने की मांग केंद्र सरकार से की है। ओबीसी महासभा के पदाधिकारी मुकेश यादव, भुनेश्वर देवांगन, भूषण देवांगन, हेमंत साहू का कहना है कि जातिगत जनगणना फॉर्म  में ओबीसी कॉलम जोडऩे के लिए अलग-अलग स्तर पर ज्ञापन सौंपकर मांग की गई है, लेकिन उनकी यह मांग पूरी नहीं हुई है। ऐसे में  ओबीसी समाज में रोष है। 

उनकी अन्य मांगों में मंडल आयोग की अनुशंसा को पूर्णत: लागू करने, केंद्र-राज्य सरकार के सरकारी विभागों में ओबीसी के रिक्त पदों को विशेष भर्ती अभियान से भरने, सरकारी विभागों का निजीकरण बंद  करने भी शामिल हैं। उन्होंने चेतावनी दी है कि मांगों पर जल्द विचार न करने पर वे सभी आगे की रणनीति बनाकर सडक़ पर उतरने मजबूर होंगे। 
 


14-Jul-2020 6:33 PM

मेडिकल इमरजेंसी के अलावा अन्य कारणों से आने-जाने पर रोक

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
रायपुर 14 जूलाई।
रायपुर के बीरगांव अंतर्गत वार्ड क्रमांक-4, उरला, बीरगांव में 01 नया कोरोना पॉजिटिव केस पाये जाने के फलस्वरुप उक्त क्षेत्र को कन्टेनमेंट जोन घोषित किया गया है। अपर कलेक्टर ने पश्चिम में ढकेशवर साहू का मकान,उत्तर में सुधीर राजपुत का मकान,पूर्व में मेन रोड उरला और दक्षिण में उप स्वास्थ्य केन्द्र उरला को कंटेनमेंट जोन घोषित किया है।

इसी तरह वार्ड क्रमांक-31,सुभाष चैक,बीरगांव में 01 और नया कोरोना पॉजिटिव केस पाये जाने के फलस्वरुप उक्त क्षेत्र को कन्टेनमेंट जोन घोषित किया गया है। अपर कलेक्टर ने पश्चिम में गोपी देवांगन का मकान,उत्तर में अयोघ्या रजक का मकान,पूर्व में हिमांशु माहिति का मकान और दक्षिण में शंकर पाठक का मकान को कंटेनमेंट जोन घोषित किया है।

इसी तरह वार्ड क्रमांक-23,कैलाश नगर,बीरगांव, में 01 और नया कोरोना पॉजिटिव केस पाये जाने के फलस्वरुप उक्त क्षेत्र को कन्टेनमेंट जोन घोषित किया गया है। अपर कलेक्टर ने पश्चिम में सावित्रि मलिक का मकान,उत्तर में राजेश शुक्ला का मकान,पूर्व में माधुरी देवी यादव का मकान और दक्षिण में पद्मा मचखंड का मकान को कंटेनमेंट जोन घोषित किया है।

इस कन्टेनमेंट जोन में प्रवेश अथवा निकास हेतु केवल 01 द्वार होगा। जिसमें तैनात पुलिस अधिकारी, फिजिकल डिस्टेंसिग सुनिश्चित करते हुए मेडिकल इमरजेंसी और आवश्यक वस्तुओं की आपूर्ति हेतु आवागमन करने वाले सभी व्यक्तियों का विवरण एक रजिस्टर में दर्ज किया जाएगा। कन्टेनमेंट जोन अंतर्गत सभी दुकानें, ऑफिस एवं अन्य वाणिज्यिक प्रतिष्ठान आगामी आदेश पर्यन्त पूर्णत: बंद रहेंगें। प्रभारी अधिकारी द्वारा कन्टेनमेंट जोन में होम डिलीवरी के माध्यम से आवश्यक वस्तुओं की आपूर्ति उचित दरों पर सुनिश्चित की जाएगी। आवश्यक वस्तुओं की होम डिलीवरी हेतु विधिवत परिवहन अनुमति इंसीडेंट कमांडर द्वारा दी जाएगी। कन्टेनमेंट जोन अंतर्गत सभी प्रकार के वाहनों के आवागमन पर पूर्ण प्रतिबंध रहेगा। 


14-Jul-2020 6:30 PM

कड़ाई नहीं, आसपास की दुकानें भी खुली रहीं

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

रायपुर, 14 जुलाई। एक सिपाही के कोरोना पॉजिटिव मिलने पर अब राजधानी रायपुर का आजाद चौक थाना कंटेनमेंट जोन घोषित किया गया है, लेकिन यहां पुलिस और निजी गाडिय़ों का धड़ल्ले के साथ आना-जाना जारी रहा। गाडिय़ों के आने-जाने पर कुछ कर्मचारी बकायदा गेट भी खोलते रहे। जबकि उसके ठीक बाजू में नोटिस लगा है कि इस थाने का काम दो दूसरे थानों में किया जाएगा।

राजधानी रायपुर में पुरानी बस्ती, तेलीबांधा थाने के बाद अब आजाद चौक थाना कंटेनमेंट जोन घोषित किया गया है। यहां का काम सरस्वती नगर पुलिस को दिया गया है। दूसरी तरफ यहां के टीआई समेत बाकी सभी क्वारंटीन में भेजे जा सकते हैं। फिलहाल थाने में तैनात टीआई व अन्य जवानों का आना-जाना लगा हुआ है और वे सभी अपना काम तेजी के साथ निपटाने में लगे हुए हैं।

थाने के आसपास की छोटी-बड़ी दुकानें भी बंद कराए जा सकते हैं। फिलहाल यहां पर सभी कारोबार जारी है और दुकानदार कंटेनमेंट जोन को देखते हुए अपने काम तेजी के साथ पूरा करने में जुटे हैं। माना जा रहा है कि कंटेनमेंट जोन में हिदायत के बाद भी कारोबार खुला रखने पर  संबंधित दुकानदारों के खिलाफ कार्रवाई हो सकती है।

'


14-Jul-2020 6:29 PM

मूणत ने कहा-सीएम को माफी मांगनी चाहिए

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

रायपुर, 14 जुलाई। भाजपा के वरिष्ठ नेता और पूर्व मंत्री राजेश मूणत ने प्रदेश में संसदीय सचिवों की नियुक्ति को लेकर राज्य सरकार पर दोहरे मापदंड अपनाने के लिए तीखा कटाक्ष कर कहा है कि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल को पूर्ववर्ती भाजपा प्रदेश सरकार द्वारा की संसदीय सचिवों की नियुक्ति पर की गई सियासी नौटंकी और पूर्ववर्ती भाजपा सरकार को अकारण बदनाम करने के लिए अब पूरे प्रदेश से बिना शर्त माफी मांगनी चाहिए।

श्री मूणत ने कहा कि संसदीय सचिवों की नियुक्तियों को लेकर विपक्ष में रहते हुए मुख्यमंत्री बघेल तत्कालीन भाजपा प्रदेश सरकार के खिलाफ कोर्ट तक चले गए थे, आज सत्ता में आने के बाद वही बघेल अपनी सरकार के कामकाज को लेकर कांग्रेस में ही मचे घमासान को शांत करने संसदीय सचिव नियुक्त करते हुए जरा भी शर्म महसूस नहीं कर रहे हैं।

भाजपा नेता व पूर्व मंत्री श्री मूणत ने कहा कि मुख्यमंत्री बघेल की फितरत ही यही हो चली है कि जिन कामों का विपक्ष में रहकर वे विरोध करते रहे, आज वही ससारे काम वे कर रहे हैं। शराबबंदी के वादे से मुकर जाने और घर-घर शराब पहुंचाने वाले मुख्यमंत्री बघेल ने अब संसदीय सचिवों की नियुक्ति करके साबित कर दिया है कि प्रदेश की राजनीति में उनके जैसा और कोई आडंबरवादी नहीं है जिनकी पूरी राजनीति सिर्फ और सिर्फ सत्तावादी अहंकार की लालसा की पोषक होकर रह गई है। भाजपा नेता व पूर्व मंत्री श्री मूणत ने कहा कि पिछले 18 माह से प्रदेश सरकार को संसदीय सचिवों और निगम-मंडलों में नियुक्ति करने की सुध नहीं आई और उसे ठंडे बस्ते में डाल दिया गया था।

लेकिन मध्यप्रदेश के बाद अब राजस्थान की कांग्रेस सरकार की चलाचली की बेला में आनन-फानन ये नियुक्तियां करके प्रदेश में ‘वन मैन शो’ चला रहे मुख्यमंत्री बघेल सत्ता के विकेंद्रीकरण की पहल नहीं कर रहे हैं बल्कि अपनी सरकार की नाकामियों से अपने ही दल में पनप रहे असंतोष और गुटबाजी के चलते मचे सत्ता-संघर्ष से डरकर वे फौरी तौर पर इस अंतर्कलह पर पानी छींटने की एक नाकाम कोशिश भर कर रहे हैं। श्री मूणत ने कहा कि मुख्यमंत्री बघेल चाहे जितने जतन कर लें, उनकी सराकर का अपनी ही नाकामियों के बोझ में दब जाना अंतिम नियति है। मुख्यमंत्री बघेल का दलीय असंतोष से उपजा यह डर प्रदेश के लिए शुभ संकेत प्रतीत हो रहा है।

 भाजपा नेता व पूर्व मंत्री श्री मूणत ने कहा कि एक तरफ प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव कोरोना के बढ़ते मामलों पर चिंतित हैं और प्रदेश सरकार से कोरोना प्रकरणों की टेस्टिंग के लिए पर्याप्त फंड मुहैया कराने की मांग प्रदेश की सरकार से कर रहे हैं, लेकिन प्रदेश सरकार प्रदेश की माली हालत खराब होने का रोना रो रही है। कोरोना जैसी महामारी के प्रदेश में विस्फोटक स्तर तक पहुँच जाने के बावज़ूद प्रदेश सरकार विभिन्न मदों में करोड़ों रुपए का फंड होने के बावज़ूद जिस तरह अपनी जिम्मेदारी से पल्ला झाड़ रही है, वह तो बेहद शर्मनाक है ही, पर साथ ही सवाल यह भी खड़ा हो रहा है कि जब प्रदेश सरकार कोरोना के खिलाफ जारी जंग को पैसों की कमी का रोना रोकर कमजोर कर रही है तो फिर संसदीय सचिवों की नियुक्ति से प्रदेश पर जो अतिरिक्त आर्थिक बोझ पड़ेगा, उसके लिए मुख्यमंत्री को बताना होगा कि प्रदेश के खजाने में पैसा कहां से आएगा?


14-Jul-2020 6:29 PM

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

रायपुर, 13 जुलाई। मूर्तिकला से छत्तीसगढ़ को पहचान देने वाले मूर्तिकार समितियों द्वारा बड़ी गणेश मूर्तियों के आर्डर कैंसिल किए जाने से इन दिनों छोटी गणेश मूर्तियां बनाने में जुट गए हैं। कोरोना की मार से बेहाल मूर्तिकारों का कहना है जिस तरह सरकार ने किसानों को राहत दी है उसी तरह उन्हें भी सरकार राहत दे। वर्तमान में कर्ज लेकर बनाई गई मूर्तियों के आर्डर कैंसिल हो गए हैं। ऐसी स्थिति उनके समक्ष रोजी रोटी की समस्या आ खड़ी हुई है।

मूर्तिकारों के गढ़ माने जाने वाले धनौद के मूर्तिकार राधेश्याम चक्रधारी बड़ी गणेश मूर्तियों को अंतिम रूप देने की जगह छोटी गणेश मूर्तियां बनाने में जुट गए हैं। उन्होंने बताया कि वह दिसम्बर से दुर्गा और गणेश की मूर्तियां बनाना शुरू कर देते हैं। राजधानी रायपुर की समितियों द्वारा फरवरी मार्च से आर्डर मिलने शुरू हो जाते थे लेकिन इस बार गिनी चुनी समितियों से ही आर्डर मिले हैं। कई आर्डर कैंसिल हो गए।  हालत ये है कि आमदनी होने की जगह समितियों को मूर्तियों के एवज में लिया गया एडवांस भी वापस करने का आर्थिक बोझ बढ़ गया है।

राधेश्याम कहते हैं दिसम्बर-जनवरी में मां दुर्गा और गणेश की 10 से 12 फीट की 40 मूर्तियां तैयार हो चुकी थी। कोरोना के कारण लेकिन गणेशोत्सव पर गृहण लग गया। अब तक गणेशोत्सव को लेकर कोई गाइडलाइन जारी नहीं की गई हम मूर्तिकारों को कोई सुध नहीं ले रहा है।

मेरे साथ लगभग 50 कारीगर जुड़े थे लेकिन फिलहाल सबको मैंने बंद कर दिया है। ज्यादातर लोग खेती किसानी में लग गए हैं लेकिन हम तो मिट्टी के साथ खेलते हुए बड़े हुए हैं। मूर्ति बनाने के अलावा दूसरा काम नहीं आता है। पैतालिस साल की  उम्र हो गई लेकिन ऐसा कठिन समय कभी नहीं आया।

जो आर्डर थे वह भी कैंसिल हो गए। गुजरे दौर में छत्तीसगढ़ में गणेशोत्सव में लोग जयपुर, कलकत्ता से मूर्तियां मंगाते थे लेकिन हमारी वजह से छत्तीसगढ़ पराश्रित होने की जगह स्वावलंबी बन गया। हमारी बनाई गई मूर्तियां ओडिशा, महाराष्ट्र तक जाती हैं। मूर्तिकला में छत्तीसगढ़ को पहचान देने वाले मूर्तिकारों को सरकार की ओर से राहत दी जानी चाहिए।

थनौद के युवा मूर्तिकार अंजोरी चक्रधारी ने बताया हर साल की तरह वह दिसम्बर, जनवरी में गणेश की 50 बड़ी मूर्तियां बना चुके हैं। कोरोना के कारण गणेशोत्सव पर मंडरा रहे संकट के कारण समिति की ओर से आर्डर नहीं मिल रहे हैं और जो आर्डर थे उन्हें भी कैंसिल किया जा रहा है। फिलहाल बड़ी मूर्तियों को किनारे कर वह छोटी गणेश मूर्तियां बनाने में जुट गए हैं।


13-Jul-2020 7:50 PM

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

अभनपुर, 13 जुलाई। ग्राम सलौनी सतनाम भवन में बैठक आयोजित कर जोन स्तरीय जोन अध्यक्ष व कार्यकारिणी का गठन किया गया जिसमें आठ गांव के युवा शामिल हुए। साथ ही सभी युवा साथियों को नई जिम्मेदारी के साथ समाज को संगठित करके जुडक़र काम करने की जिम्मेदारी सौंपी गई।

सभी नवनिर्वाचित पदाधिकारियों को ब्लॉक अध्यक्ष अभनपुर टिकेंद्र बघेल व युवा प्रकोष्ठ के ब्लॉक अध्यक्ष प्रमोद मंडल द्वारा नामों की घोषणा करते हुए समाज सेवा सत्य निष्ठा व ईमानदारी से करने की प्रतिज्ञा दिलाई गई। टिकेन्द्र बघेल ने संगठन की विस्तृत जानकारी देते हुए बताया कि आगामी समय मे शिक्षा को लेकर आगे गतिविधियां तय की जाएगी, जिसके अंतर्गत महाविद्यालय, स्कूल,व विद्यापीठ,कोचिंग सेंटर की स्थापना की जावेगी।

जिला रायपुर शहर अध्यक्ष बबलू त्रिवेंद्र ने अंतर्राष्ट्रीय उपलब्धियों को बताया जिनमें शतरंज प्रतियोगिता,दिल्ली में विशाल पंथी नृत्य का आयोजन कर इतिहास बनाया गया। युवा प्रकोष्ठ के प्रदेश महासचिव विजय कुर्रे व जिला अध्यक्ष नरोत्तम धृतलहरे ने संगठन की शक्ति, कार्य व बाबा जी के उपदेश पर चलते हुए सामाजिक कार्य करने अपील की। प्रदेश  संगठन मंत्री नीलकमल आजाद ने युवाओं को व्यवसाय की ओर आगे आने की अपील करते हुए उदाहरण देकर सकारात्मक सोच की ओर प्रेरित किया।

इस अवसर पर लौटन गिलहरे उपाध्यक्ष युवा प्रकोष्ठ जिला रायपुर ग्रामीण ,जिला महामंत्री अक्षय जोशी,जिला महामंत्री जयवर्धन बघेल,राकेश बघेल,सुजीत डहरिया, सुजीत घिदौड़े अध्यक्ष नवा रायपुर जोन एवं ग्राम सलौनी के सरपंच ईशु नारंग, जनपद सदस्य प्रतिनिधि मनमोहन कुर्रे, वरीष्ठ समाज सेवी हेमंत कुर्रे, कार्तिक डहरिया, हीरा रात्रे सहित समाज के बुद्धिजीवी और युवा उपस्थित रहे।


13-Jul-2020 7:45 PM

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

अभनपुर, 13 जुलाई। ग्राम पंचायत बिरोदा मेंं स्वामी विवेकानंद संगठन बिरोदा द्वारा तालाब किनारे 40 पौधों का रोपण कर पर्यावरण को स्वच्छ बनाने एवं अधिक से अधिक पौधे लगाने का का संकल्प लिया।

इस अवसर पर गांव के सरपंच वासुदेव साहू , दौलत साहू , डागेश्वर साहू, धनेन्द्र साहू , महेन्द्र साहू, मुकेश साहू ,खुमान साहू, संजय साहू , डोमेश्वर साहू , तिरथ साहू , अमित साहू ,धनेन्द्र साहू, अभय साहू , प्रेंमलाल साहू , अमित साहूू, विजय साहू, पुरन साहू, पारस साहू , रिंकु साहू , ओंकार साहू आदि  उपस्थित थे।  


13-Jul-2020 7:26 PM

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
रायपुर, 13 जुलाई।
कोविड-19 के खिलाफ जंग लड़ रहे कोरोना योद्धाओं की कलाई सजाने स्व-सहायता समूह की महिलाएं आकर्षक और मनमोहक राखियां तैयार कर रही हैं। रक्षाबंधन के त्यौहार के लिए ये राखियां धमतरी जिले के छाती गांव स्थित मल्टी युटिलिटी सेंटर में तैयार की जा रहीं हैं। 

कोरोना संकट में काम कर रहे अलग-अलग विभागों के लिए बनाई जा रहीं ये राखियां उनके कर्तव्य और सेवाओं पर आधारित रहेंगी। पुलिस विभाग की राखी में तिरंगा, स्वास्थ्य विभाग की राखी में रेड क्रॉस का प्रतीक, स्वच्छ भारत मिशन की राखी में राष्ट्रपिता महात्मा गांधी का चश्मा तथा अन्य विभागों की राखियों में भी प्रतीकात्मक स्वरूप अंकित किया जाएगा। बांस और गोबर से बनी इन सुन्दर और कलात्मक राखियों से कोविड को हराने में लगे स्वास्थ्य, पुलिस, पंचायत एवं ग्रामीण विकास, आदिवासी विकास, महिला एवं बाल विकास विभाग तथा स्वच्छ भारत मिशन के 10 हजार से अधिक भाइयों की कलाई सजेंगी।

जिला पंचायत की मुख्य कार्यपालन अधिकारी नम्रता गांधी ने बताया कि महिला समूहों  द्वारा तैयार की जा रही बांस की कलात्मक राखियां कोविड वॉरियर्स को समर्पित है, जो दिन-रात लोगों की सेवा में लगे हुए हैं। अब तक पुलिस विभाग और पंचायत विभाग के लिए एक-एक हजार, स्वास्थ्य विभाग के लिए 2 हजार, स्वच्छ भारत मिशन (ग्रामीण) के लिए 3 हजार पांच सौ, महिला एवं बाल विकास विभाग के लिए 2 हजार और आदिवासी विकास विभाग के लिए लगभग पांच सौ राखी के ऑर्डर प्राप्त हो चुके हैं। इसके अलावा अन्य विभागों, नगर से विभिन्न गैरसरकारी संगठनों, क्लबों तथा सामाजिक संस्थाओं की मांग पर भी बांस और गोबर से निर्मित खूबसूरत राखियां तैयार की जाएंगी।


13-Jul-2020 7:25 PM

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
रायपुर, 13 जुलाई।
प्रियंका फ्रेण्डस वेलफेयर सोसायटी ने शनिवार को शहरी प्राथमिक स्वास्थ्य एवं हेल्थ वेलनेस खो खो पारा के स्टॉफ और वहां ओपीडी में आए मरीजों तथा उनके परिजनों का होम मेड मास्क का वितरण किया। साथ ही आमापारा, ब्राह्मण पारा में जरूरतमंदों को राशन का वितरण किया।

सोसायटी की अध्यक्ष प्रियंका वैष्णव और सचिव सरिता वैष्णव ने बताया कि कोविड- 19 के चलते मार्च में लॉक डाउन के समय से अब तक होम मेड मास्क और राशन का वितरण जरूरतमंदों को किया जा रहा है। अब तक करीब 1 हजार मास्क और करीब 2 सौ से ज्यादा गरीब परिवारों को राशन उपलब्ध कराया जा चुका है। स्मार्ट सिटी लिमिटेड को करीब 700 से ज्यादा मास्क सौंपा गया है। इस कार्यक्रम में रेशमी विश्वकर्मा, पलक साहू, ज्योति वैष्णव, प्रियांशु वैष्णव, ज्योति वर्मा, माया साहू, गंगा साहू, नेहा जलतारे, सरिता वैष्णव आदि शामिल थीं।
 


13-Jul-2020 7:24 PM

रायपुर, 13 जुलाई। सेंट विंसेंट पैलोटी कॉलेज रायपुर में आइक्यूएसी एवं शिक्षा विभाग के संयुक्त तत्वाधान में वतर्मान परिस्थिति मे मानसिक प्रतिरोधक क्षमता एवं शारीरक स्वास्थ्य प्रबधंन विषय पर राष्ट्रीय वेबीनार का आयोजन 14 जुलाई  को किया जा रहा है।

इस वेबिनार मे ख्याति प्राप्त वक्ता गण अपना अनुभव तथा ज्ञान साझा करेंगे द्य जिसके मुख्य अतिथि एवं किनोट स्पीकर पं. रविशंकर शुक्ल विश्वविद्यालय के कुलसचिव प्रो. गिरीशकांत पांडे होंगे। प्रथम वक्ता प्रो. प्रोमिला सिंह (मनोविज्ञान विभाग) पं. रविशंकर शुक्ल विश्वविद्यालय रायपुर एवं द्वितीय वक्ता प्रो. राजीव चौधरी (शारीरिक शिक्षा विभाग एवं छात्र कल्याण अधिष्ठाता) पं. रविशंकर शुक्ल विश्वविद्यालय होंगे।   महाविद्यालय के प्राचार्य डॉ कुलदीप दुबे ने बताया कि आज के परिपेक्ष्य में छात्र, शिक्षक, पालक तथा सभी लोग एक विशेष मनोवैज्ञानिक  दबाव का सामना कर रहे हैं जिसमें अपना मनोवैज्ञानिक संतुलन बनाए रखने तथा स्वास्थ्य और प्रतिरोधक क्षमता को मजबूत बनाने की विशेष आवश्यकता है। इन्हीं बातों को ध्यान में रखकर इस राष्ट्रीय वेबीनार का आयोजन किया जा रहा है।
 


Previous123456789...1314Next