छत्तीसगढ़ » गरियाबंद

22-May-2020

'छत्तीसगढ़' संवाददाता

गरियाबन्द, 22 मई।  शुक्रवार को पांडुका पुलिस द्वारा थाना क्षेत्र में सोशल डिस्टेंस एवं सार्वजनिक स्थानों पर मास्क लगाने जैसे निर्देशों का पालन कराने हेतु समझाइश देने एवं नियमों का उल्लंघन करने वालों के विरुद्ध कड़ी कार्रवाई हेतु विशेष अभियान चलाया गया। पांडुका पुलिस द्वारा ग्राम पांडुका एवं कोपरा में आम जनता एवं व्यापारियों को मास्क लगाने तथा सोशल डिस्टेंस का पालन करने हेतु सरप्राइज़ समझाइश दी गई तथा जनप्रतिनिधियों को सत्संग का में जागरूकता फैलाने हेतु निवेदन किया गया। 

इसी कड़ी में नियमों का उल्लंघन करने वालों 39 दुकानदारों एवं आम जनता के खिलाफ ग्राम पंचायत पांडुका एवं ग्राम पंचायत कोपरा द्वारा पान का पुलिस के सहयोग से अर्थदंड की वसूली की गई। 

 

 


22-May-2020

गरियाबंद, 22 मई।  शुक्रवार को शुक्रवार साप्ताहिक बाजार गरियाबंद में थाना प्रभारी गरियाबंद निरीक्षक आर.के. साहू, तहसीलदार  राकेश साहू, सीएमओ नगर पालिका संध्या वर्मा की संयुक्त टीम द्वारा साप्ताहिक बाजार, तिरंगा चौक सदर बाजार में आम नागरिकों एवं व्यापारियों द्वारा बिना मास्क लगाए तथा सामाजिक दूरी का पालन नहीं करने पर 34 लोगों के खिलाफ चलानी कार्रवाई की गई है। 

 

 

 

 


22-May-2020

'छत्तीसगढ़' संवाददाता
गरियाबंद, 22 मई।
शुक्रवार से जिले में राजिम को छोड़ कर अन्य सभी जगहों पर सैलून दुकानों को पूर्व आदेश के तहत सभी नियमों का पालन करते हुए खोलने की अनुमति जिला प्रशासन की ओर से दी गई है। 

इस संबंध में विगत दिनों क्षेत्र के सैलून संघ व पान दुकान वाले विधायक अमितेश शुक्ला को आवेदन देकर अपनी समस्या बताई थी। जिस पर राजिम विधायक श्री शुक्ला ने सभी दुकानदारों को समस्या का त्वरित निराकरण करने का आश्वासन दिया था। इसी कड़ी में 21 मई को गरियाबंद पहुंच जिलाधीश को दिशा निर्देश देते हुए संक्रमित क्षेत्र राजिम को छोड़कर जिले के अन्य सभी जगहों पर सैलून व पान दुकान खोलना की बात कही थी जिस पर जिलाधीश ने तत्काल निर्णय लेने की बात कहकर आश्वस्त किया था। जिसके तहत शुक्रवार से जिले में राजिम को छोड़ कर अन्य सभी जगहों पर अभी सैलून दुकानों को पूर्व आदेश के तहत और सभी नियमो का पालन करते हुए खोलने की अनुमति दी गई है। 

जिला सैलून संघ के अध्यक्ष, पदाधिकारियों और इस व्यवसाय से जुड़े सभी दुकानदारों ने खुशी जाहिर करते हुए  विधायक  अमितेश शुक्ल को धन्यवाद ज्ञापित किया है।

धन्यवाद ज्ञापित करने वालों में गरियाबंद  अध्यक्ष अशोक सेन, मैनपुर से लोकेश सेन, देवभोग से तुना सेन, उरमाल से तरुण सेन, छुरा से भवानीशंकर सेन, पोंड से विजय श्रीवास, पांडुका से कुलेस्र्व सेन,पुष्पेंद्र सेन,वीरेंद्र सेन,  चमन सेन,मनहरन सेन, पुखराज सेन,अजय सेन, बाजी सेन, हिरेन सेन शामिल थे।

 


22-May-2020

नवापारा-राजिम, 22 मई। रायपुर रोड स्थित सांस्कृतिक भवन में गुरुवार को नगर के आंगनबाड़ी कार्यकर्ता एवं शिक्षकों को बढ़ रहे कोरोना संक्रमण के सर्वे के लिए प्रशिक्षण दिया गया। नोडल अधिकारी की उपस्थिति में पालिकाध्यक्ष धनराज मध्यानी ने कहा कि एक शिक्षक और आंगनबाड़ी कार्यकर्ता का दल उसी वार्डों में संक्रमण का सर्वेक्षण करेगा, जिसमें उनका कार्य क्षेत्र हो। शासन की विभिन्न योजनाओं का प्रचार-प्रसार और अपने वार्ड के हर परिवार से परिचित होने कारण यह व्यवस्था लागू की है, जिससे वार्ड संदिग्ध व्यक्ति की पहचान और उसकी जानकारी एकत्र कर ये कार्यकर्ता नोडल अधिकारी तक पहुंचाएंगे। इस तरह पूरे क्षेत्र के वायरस की गंभीरता और प्रभाव क्षेत्र की जानकारी शासन तक पहुंचेगी। प्रशिक्षण में पार्षद साधना बाफना, जीतसिंह भी उपस्थित थे।

 


22-May-2020

गरियाबंद, 22 मई। कलेक्टर एवं जिला दण्डाधिकारी ने नोवल कोरोना वायरस (कोविड-19) के संक्रमण को दृष्टिगत रखते हुए जिले में संचालित देशी एवं विदेशी मदिरा दुकानों तथा मद्यभण्डागार को प्रात: 8 बजे से शाम 4 बजे तक खोलने हेतु आदेश प्रसारित किया था। आंशिक परिवर्तन करते हुए अब प्रात: 8 बजे से सांय 6 बजे तक किया गया।

 


22-May-2020

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
गरियाबंद, 22 मई।
छत्तीसगढ़ सरकार ने गुरुवार को राजीव गांधी न्याय योजना की शुरुआत की है। इस योजना को लेकर भाजपा नेता एवं छत्तीसगढ़ शासन के पूर्व कृषि मंत्री चंद्रशेखर साहू ने कहा कि प्रदेश की कांग्रेस सरकार ने अपनी बहुप्रतिक्षित राजीव गांधी न्याय योजना की शुरुआत की है। विधानसभा में योजना को लेकर जिस प्रकार से घोषणा की गई थी, उसके मंशानुसार एवं घोषणा अनुरूप नहीं है। कहा गया था कि प्रति क्विंटल के हिसाब से राशि देंगे। वहीं इस राशि को कई किश्तों में देने की बात भी नहीं कही गई थी। श्री साहू ने कहा कि पूरी किश्त एक साथ देना चाहिए। 

श्री साहू ने आगे कहा कि भारतरत्न स्व. राजीव गांधी के शहादत दिवस पर हम भी उन्हें नमन करते हैं। प्रदेश सरकार किसानों के प्रति न्याय की बात कर रहे हैं, लेकिन इसमें न्याय नहीं दिख रहा है। उन्होंने कहा कि न्याय तब होता जब चारों किश्त एक साथ देते। उन्होंने कहा कि किसानों के साथ न्याय हो, ये हमारी मंशा है और इसलिए कुछ दिन पहले पूरे प्रदेश में भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ताओं ने एकदिवसीय धरना दिया था। सरकार किसानों के साथ वास्तव में न्याय करना चाहती है तो पूरे किश्तों को एक साथ दे। सही ढंग से भुगतान करें, तो हम भी निश्चित रूप से योजना का स्वागत करेंगे।
 


21-May-2020

'छत्तीसगढ़' संवाददाता
गरियाबंद, 21 मई।
छत्तीसगढ़ सरकार ने प्रदेश में फसल उत्पादन को प्रोत्साहित करने और किसानों को उनकी उपज का सही दाम दिलाने के उद्देश्य से राजीव गांधी किसान न्याय योजना की शुरूआत की है। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने देश के पूर्व प्रधानमंत्री स्व. राजीव गांधी की पुण्यतिथि पर वीडियो कांफ्रेसिंग के जरिए प्रदेश में इस योजना का शुभारंभ किया है। इस अवसर पर सोनिया गांधी एवं सांसद राहुल गांधी ने राज्य के किसानों को बधाई एवं शुभकामनाएं दी है।  

 योजना के शुभारंभ कार्यक्रम में मुख्यमंत्री सहित प्रदेश के मंत्रीगण, जनप्रतिनिधि और किसान वीडियो कांफ्रेसिंग के जरिए शामिल हुए। वहीं गरियाबंद जिले से राजिम विधायक अमितेष शुक्ल, जिला पंचायत अध्यक्ष  स्मृति नीरज ठाकुर, नगर पालिका अध्यक्ष  गफ्फार मेमन, कलेक्टर  श्याम धावड़े, एसपी बी.आर. पटेल, सीईओ  विनय कुमार लंगेह, एडीएम  जे.आर. चैरसिया स्वॉन के वीडियों कान्फ्रेसिंग हॉल में मौजूद थे। 

 

 

 


21-May-2020

'छत्तीसगढ़' संवाददाता
गरियाबंद, 21 मई।
छत्तीसगढ़ सरकार की महत्वाकांक्षी राजीव गांधी किसान न्याय योजना का शुभारंभ आज कर दिया गया है। आज पूर्व प्रधानमंत्री स्व. राजीव गांधी की पुण्यतिथि पर इस योजना की शुरूआत हुई। इससे सरकार द्वारा किये गये वादे की पहली किस्त किसानों के खाते में डीबीटी के माध्यम से सीधे पहुंची। इस निर्णय से जिले के किसानों में भी खुशी की लहर दिखाई दी। 

प्रदेश सरकार ने 2500 रूपये प्रति क्विंटल धान खरीदी के निर्णय के आधार पर शेष बोनस की राशि की आज पहली किश्त किसानों के खातों में डीबीटी के माध्यम से डाल दी गई है। इससे गरियाबंद जिले के 66 हजार 710 किसानों को 204 करोड़ एक लाख 34 हजार 747 रूपए बोनस की कुल राशि मिलेगी। प्रथम किश्त के रूप में 51 करोड़ रूपए किसानों के खाते में जमा होगी। जिले में बीते खरीफ सीजन में 30 लाख 6 हजार 93 क्विंटल धान की खरीदी की गई थी, जिसका 2500 रूपये प्रति क्विंटल के मान से 751 करोड़ 52 लाख 33 हजार 500 रूपये में से 547 करोड़ 50 लाख 98 हजार 753 रूपये पहले ही प्राप्त हो चुका है।

ग्राम बेंदकुरा के किसान सालिक राम, जोहन यादव और संजय चैहान ने बताया कि बोनस की पहली किस्त मिलने से आने वाले सीजन में हम आसानी से खेती किसानी का कार्य पूरा कर पायेंगे। ऐसे समय में जब लॉकडाउन है तब मुख्यमंत्री  भूपेश बघेल सरकार का किया गया वादा हमारे लिए सहारा बन गया है। इसी तरह नागाबुड़ा के 9 एकड़ में खेती करने वाले किसान सीताराम यादव और ग्राम मरौदा के बिसेन ने भी संकट की इस घड़ी में खातों में पैसे आ जाने को लेकर खुशी जाहिर की है। नागाबुड़ा के ही चन्द्रभूषण चौहान ने बताया कि वे चार एकड़ में खेती करते है। बोनस की पहली किस्त मिलने से राहत मिली है। 

गरियाबंद के 9 एकड़ में खेती किसानी करने वाले रामजी साहू के पुत्र जीवन साहू ने बताया कि उन्होंने समर्थन मूल्य में लगभग 98 क्विंटल धान विक्रय किया था। इस तरह लगभग 67 हजार रूपये बोनस के रूप में मिलेगी। जिससे हम डबल फसल लेने और दलहन-तिलहन लगाने में उपयोग करेंगे। इसी तरह गरियाबंद के ही संतुराम विश्वकर्मा ने बताया कि एक एकड़ के किसानी में 13 क्विंटल धान समर्थन मूल्य पर बेचा था, इससे बोनस की शेष राशि करीब 8 हजार रूपये प्राप्त होगी। यह वाकई सरकार का राहतभरा फैसला है। 

 

 

 


21-May-2020

'छत्तीसगढ़' संवाददाता

गरियाबंद, 21 मई। आज दोहपर गरियाबंद में एक बाइक के अनियंत्रित होने व बिजली खंभे से टकराने से बाइक चालक की मौके पर ही मौत हो गई। रास्ते से गुजरने वालों ने पुलिस को सूचना दी।

सिटीकोटवाली थाना प्रभारी के मुताबिक घटना आज लगभग दोपहर दो बजे की है। मृतक स्थानीय कालेज में जन भागीदारी अंतर्गत  कर्मचारी है, जो दोपहर में खाना खाने के लिए घर जा रहा था। इस दौरन पैरी नगर के पास बाइक अनियंत्रित हो गई और सड़क किनारे बिजली पोल से जा टकराई जिससे सिर में चोट लगने से व्यक्ति की मौके पर ही मौत हो गई। व्यक्ति सड़क किनारे मृत पड़ा था। 

रास्ते में आने जाने वाले लोगों को झाडिय़ों के बीच बाइक पड़ी दिखने पर पुलिस को 4 बजे सूचना दी। तब पुलिस मौका स्थल पहुंची। आधार कार्ड से मृतक की पहचान हुई। मृतक सुरेश कुमार देवांगन वीर सुरेन्द्र साय कॉलेज में जन भागीदारी समिति अंतर्गत कर्मचारी के रूप में कार्यरत था। परिजनों को सूचना दे दी गई है। 

 

 

 

 


21-May-2020

'छत्तीसगढ़' संवाददाता

छुरा, 21 मई। जनपद पंचायत छुरा के उपाध्यक्ष गौरव मिश्रा ने राजीव गांधी न्याय योजना के बारे में कहा कि छत्तीसगढ़ देश में पहला ऐसा राज्य है जो सीधे तौर पर किसानों के बैंक खातों में राशि ट्रांसफर कर 5700 करोड़ की राहत प्रदान कर रहा है। कोरोना संकट के काल में किसानों को छत्तीसगढ़ सरकार ने राजीव गांधी न्याय योजना के माध्यम से एक बड़ी राहत दी है। इस योजना का उद्देश्य प्रदेश में फसल उत्पादन को प्रोत्साहित करना और किसानों को उनकी उपज का सही दाम दिलाना है। 

उन्होंने कहा कि जनजाति बहुल प्रदेश छत्तीसगढ़ की अधिकांश जनसंख्या वनांचलों में निवास करती है, जहां आजीविका का मुख्य साधन वनोपज का संग्रहण है। इसी को ध्यान में रखते हुए प्रदेश में 25 लघु वनोपजों को समर्थन मूल्य पर खरीदने की व्यवस्था की गई है। तेंदूपत्ता से अपनी आजीविका चलाने वाले जनजातियों को राहत देने के लिए तेंदूपत्ता संग्रहण पारिश्रमिक दर को बढ़ा कर 4 हजार रुपये प्रति मानक बोरा किया गया। वहीं महुआ का समर्थन मूल्य बढ़ा कर 17 रुपये से 30 रुपये प्रति किलोग्राम किया गया है। इससे जनजाति क्षेत्रों में स्वावलंबन के साथ साथ आदिवासियों का आर्थिक सशक्तीकरण भी हो रहा है।

 

 


21-May-2020

छत्तीसगढ़' संवाददाता

गरियाबंद, 21 मई। कलेक्टर ने आज आतंकवाद विरोधी दिवस के अवसर पर सुबह 11 बजे जिला कार्यालय के अधिकारी-कर्मचारियों को आतंकवाद और हिंसा का डटकर विरोध करने की शपथ दिलाईॅ। 

अधिकारी-कर्मचारियों ने अपने देश की अंहिसा एवं सहनशीलता की परम्परा में दृढ़ विश्वास रखने तथा सभी प्रकार के आतंकवाद और हिंसा का डटकर विरोध करने, मानव जाति के सभी वर्गों के बीच शांति, सामाजिक सद्भाव तथा सूझबूझ कायम करने और मानव जीवन मूल्यों को खतरा पहुंचाने वाली तथा विघटनकारी शक्तियों से लडऩे की शपथ ली। 

इस अवसर पर जिला पंचायत के सीईओ  विनय लंगेह, एडीएम  जे.आर. चैरसिया, डिप्टी कलेक्टर ऋषा ठाकुर व  अनुपम आशीष टोप्पो एवं वरिष्ठ अधिकारी-कर्मचारी उपस्थित थे। 

 


21-May-2020

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
गरियाबंद, 21 मई।
जिले के देवभोग विकासखंड के अंतर्गत 98 क्वॉरंटीन सेंटर बनाये गये है। इन सेंटरों में अभी तक 956 व्यक्तियों को क्वॉरंटीन में रखा गया है। इसी प्रकार मैनपुर विकासखण्ड अंतर्गत 74 क्वॉरंटीन सेंटरों में 556 व्यक्तियों को क्वॉरंटीन में रखा गया है। 

उक्त क्वॉरंटीन सेंटरों का बुधवार को कलेक्टर  श्याम धावड़े, पुलिस अधीक्षक  भोजराम पटेल और जिला पंचायत के सीईओ विनय कुमार लंगेह ने संयुक्त रूप से जिले के देवभोग विकासखण्ड के ग्राम सुपेबेड़ा और खोकसरा तथा मैनपुर विकासखण्ड के ग्राम अमलीपदर और इंदागांव के क्वॉरंटीन सेंटरों का जायजा लिया। कलेक्टर ने क्वॉरंटीन सेंटरों में ड्यूटी कर रहे कर्मचारियों को अपनी सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए सभी आवश्यक उपाय करने के निर्देश दिये। 

उन्होंने क्वॉरंटीन सेंटर में तैनात कर्मचारियों से कहा कि फिजीकल डिस्टेंस और कोविड-19 की सुरक्षा के संबंध में दिये गये निर्देशों का कड़ाई से पालन करे। सेंटर में ठहरे श्रमिकों को भोजन एवं अन्य आवश्यक सुविधाएं उपलब्ध करायें। कलेक्टर ने मौके पर पंचायत प्रतिनिधियों को भी सेंटर में आवश्यक सुविधाओं हेतु व्यवस्था करने और ठहरे हुए व्यक्तियों पर विशेष निगरानी रखने कहा। उन्होंने कहा कि किसी भी व्यक्ति को सेंटर से बाहर जाने नहीं दिया जाए और किसी बाहरी व्यक्ति को सेंटर में प्रवेश करने भी न दिया जाये। कलेक्टर ने पंचायत प्रतिनिधियों को सेंटर में सभी सुरक्षात्मक उपाय और स्वच्छता पर भी विशेष ध्यान देने के निर्देश दिये। 


21-May-2020

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
राजिम, 21 मई।
कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव के लिए लॉकडाउन के घोषणा के पश्चात ही गरियाबंद जिला प्रशासन पूरी तरह सतर्क और सजग है। जिले के नागरिक भी शासन और प्रशासन के आदेशों का अनुशासित होकर पालन कर रहे हैं। जिला प्रशासन और आमजनता मिलकर कोरोना वायरस को परास्त करने में जी-जान से जुटी हुई है। एक तरफ लोगों को घरों में सुरक्षित रहने क लिए अपील की जा रही है। 

वहीं दूसरी ओर अन्य प्रदेशों से आये मजदूरों से और प्रवासी लोगों के लिए राहत शिविर चलाकर एवं क्वॉरंटीन सेन्टर में उनके भोजन, आवास, राशन की माकूल व्यवस्था की गई है। कलेक्टर श्याम धावड़े, पुलिस अधीक्षक भोजराम पटेल एवं जिला पंचायत सीईओ विनय लंगेह द्वारा जिले के दूरस्थ और ग्रामीण क्षेत्रों में लगातार दौरा कर जायजा लिया जा रहा है। उनके द्वारा शासन के आदेशो का सख्ती से पालन करने के निर्देश दिये जा रहे हैं।

राजिम में विगत 17 मई को एक कोरोना पॉजिटिव मिलने के पश्चात जिला प्रशासन द्वारा लोगों को अपने घर में सुरक्षित रहने, लगातार साबुन से हाथ धोते रहने, सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करने और बिना मास्क के घर से बाहर नहीं निकलने की समझाईश दी जा रही है। पूरे राजिम नगर सहित शासकीय कार्यालयों को भी सेनेटाईज किया जा रहा है। 

कलेक्टर ने पुन: एक बार लोगों को अपुष्ट और भ्रामक जानकारी से बचने की अपील की है। उन्होंने कहा कि कोरोना से संबंधित किसी भी तरह के अफवाहों से बचे एवं जिला प्रशासन को अवगत कराये। श्री धावड़े ने यह भी कहा कि वैश्विक महामारी का रूप ले चुके इस बीमारी के संक्रमण को गंभीरता से लेते हुए सतर्कता के साथ सावधानी बरते। उन्होंने बताया कि जिला प्रशासन संक्रमण के फैलाव को रोकने सजगता के साथ कार्य कर रही है। प्रत्येक ग्राम पंचायतों के लिए नोडल अधिकारी नियुक्त किया गया है। जो लगातार क्षेत्र का भ्रमण कर जिला प्रशासन को रिपोर्ट दे रही है।


21-May-2020

नवापारा-राजिम, 21 मई। छग पेंशनर्स समाज की स्थानीय ईकाई ने 32 हजार रूपये की राशि मुख्यमंत्री सहायता कोष में कोरोना वायरस संक्रमण में आपदा सहयोग हेतु 38 सदस्यों ने दान की। पेंशनर्स समाज ने नवनिर्वाचित अध्यक्ष सेवकराम तारक के नेतृत्व में कार्यकारी अध्यक्ष भरतलाल साहू, संतलाल साहू, हरीराम साहू, बीडी मानिकपुरी, मानिकराम साहू, लालाराम साहू, सुदर्शन, रमेशकुमार साहनी, घनाराम साहू, झड़ीराम धु्रव, इच्छाराम पाण्डेय, तिजयराम वर्मा, शंकरलाल चन्द्राकर, भरतलाल दुबे, कन्हाईसिंह धु्रव, इन्दुकुमार साहू, भुवनलाल सोनी, त्रिवेणी साहू, सविता साहू सहित कुल 38 सदस्यों के सहयोग से कोरोना वायरस संक्रमण के आपदा सहयोग हेतु मुख्यमंत्री सहायता कोष में 13 मई को भारतीय स्टेट बैंक नवापारा के माध्यम से 32 हजार रूपये जमा किया गया है।
उक्त जानकारी समाज के कार्यकारी अध्यक्ष भरतलाल साहू ने दी। 


21-May-2020

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

नवापारा-राजिम, 21 मई। राजिम में मिली कोरोना पॉजिटिव छात्रा के पिता के संपर्क में आए अभनपुर विधानसभा के दो प्रमुख गांव तामासिवनी, मोखेतरा एवं डोमा, घोरभटठी के 80 लोगों को होम क्वॉरंटीन किया गया है।

मंगलवार को दोनों प्रमुख गांव में टोटल लॉकडाउन कर दिया गया। इन गांवों के अधिकांश घरों में राजिम में मिली संक्रमित छात्रा के पिता का आना-जाना था। वे इन गांव में घूम-घूमकर लोगों का इलाज किया करते थे। ऐसे 15 परिवारों के सभी लोगों को सख्त हिदायतों के साथ उन्हें घरों में रहने कहा गया है। इसकी जानकारी विधायक धनेंद्र साहू को मिलते ही उन्होंने तत्काल गांव पहुंचकर सभी विभाग के अधिकारियों के साथ बैठक की।

राजस्व, स्वास्थ्य विभाग, रोजगार सहायक, आंगनबाड़ी कार्यकर्ता, मितानिन, पंच, सरपंच एवं कोटवार को सक्रिय करते हुए सभी गांव में निगरानी के सख्त निर्देश दिए गए हैं। सभी उपायों को प्रभावी ढंग से पालन करवाने एसडीएम सूरज साहू, सीईओ शीतल बंसल, नायब तहसीलदार पवन ठाकुर सहित राजस्व के अधिकारी बैठक में उपस्थित थे। बुधवार को नायब तहसीलदार ने पुन: इन गांवों का दौरा किया। सभी होम क्वॉरंटीन किए गए लोगों को चेक करते हुए घरों में ही रहने की एक बार और हिदायत दी गई।

विधायक ने स्वास्थ्य विभाग ने लाउड स्पीकर से चिन्हित परिवारों के सदस्यों को होम क्वॉरंटीन में रखने के साथ सैनिटाइजर का छिडक़ाव करने एवं लोगों को घरों से न निकलने और सामाजिक दूरी का कड़ाई से पालन कराने की मुनादी करवाई।

 


21-May-2020

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

गरियाबंद, 21 मई। राज्य में पहली बार 125 नग हीरा के साथ अंतरराज्यीय तस्करों को पकड़ा गया है। पुलिस ने सूचना पर ओडिशा के दो आरोपियों को मैनपुर के जाड़ापदर में घेराबंदी कर 20 लाख के 125 नग हीरे के साथ गिरफ्तार किया है।

पुलिस अधीक्षक कार्यालय में प्रेस कांफें्रस कर एसपी बीआर पटेल ने बताया कि मुखबिर से सूचना मिली कि ग्राम जाड़ापदर के मोबाइल टॉवर के सामने लाल रंग की बाइक में दो व्यक्ति अपने पास रखे हीरा को बेचने की फिराक में ग्राहक का इंतजार कर रहे हैं। थाना प्रभारी मैनपुर को टीम गठित कर कार्रवाई के निर्देश दिए गए।

थाना प्रभारी उप निरीक्षक भूषण चन्द्राकर ने टीम गठित कर घेराबंदी कर जोखो राम, विकास मांझी दोनों थाना सिनापाली ओडिशा को पकड़ा। दोनों की तलाशी लेने पर 125 नग हीरा मिला। आरोपियों से पूछताछ करने पर कोई वैध कागजात प्रस्तुत नहीं किया। जिस पर दोनों आरोपियों के विरुद्ध मैनपुर थाना में माइनिंग एक्ट दर्ज कर गिरफ्तार किया गया। आरोपियों से 125 नग हीरा, तोल यंत्र, 3 नग मोबाइल एवं प्रयुक्त दोपहिया वाहन को जब्त किया गया।

एसपी श्री पटेल ने बताया कि राज्य में पहली बार 125 नग हीरा कीमती लगभग 20,00,000 रुपए हीरा तस्करों से जब्त किया गया है। पूर्व में दो हीरा तस्करों से 56 हीरा जब्त कर आरोपियों को जेल दाखिल किया गया है।


19-May-2020

गरियाबंद, 19 मई। जिला व्यापार एवं उद्योग केन्द्र गरियाबंद द्वारा मुख्यमंत्री युवा स्वरोजगार योजनान्तर्गत वर्ष 2020-21 हेतु जिले के इच्छुक आवेदकों से आवेदन पत्र आमंत्रित किये गये हैं।  मुख्यमंत्री युवा स्वरोजगार योजना छत्तीसगढ़ शासन एक महत्वपूर्ण कार्यक्रम है, जिसके तहत पात्र हितग्राहियों को व्यवसाय, सेवा एवं उद्योग इकाई स्थापना हेतु राष्ट्रीयकृत बैंको के माध्यम से ऋण उपलब्ध कराया जाता है।  योजना अंतर्गत व्यवसाय इकाई हेतु अधिकतम 2 लाख रूपये एवं सेवा इकाई हेतु अधिकतम राशि 10 लाख रूपये तथा उद्योग इकाई हेतु 25 लाख रूपये तक ऋण मुहैया कराया जाता है। जिला व्यापार एवं उद्योग केन्द्र के महाप्रबंधक से मिली जानकारी अनुसार आवेदन के साथ संलग्न किये आवेदक को निवास एवं जाति प्रमाण पत्र, शैक्षणिक योग्यता प्रमाण पत्र (अंक सूची की फोटोकापी), ग्राम पंचायत/नगर पंचायत का जनसंख्या एवं अनापत्ति प्रमाण पत्र (जहॉ उद्यम स्थापित करना चाहते है), भूमि/भवन हेतु दस्तावेज, प्रोजेक्ट रिपोर्ट, पासपोर्ट साईज फोटो, शासकीय योजना के अंतर्गत अनुदान न लिये जाने एवं परिवार की वार्षिक आय के संबंध में शपथ पत्र, पहचान प्रमाण पत्र दस्तावेजों के साथ संयुक्त जिला कार्यालय स्थित जिला व्यापार एवं उद्योग केन्द्र कक्ष क्रमांक-92 में अपना आवेदन कार्यालयीन समय पर जमा कर सकते हैं। 

 

 


19-May-2020

'छत्तीसगढ़' संवाददाता
गरियाबंद, 19 मई।
कोविड 19 कोरोना महामारी में सहयोग के लिए जिला मानिकपुरी पनिका समाज द्वारा मंगलवार को अनुविभागीय अधिकारी राजस्व गरियाबंद को मुख्य मंत्री सहायता कोष में 16,600 रुपये जमा कराया गया है।

जिला अध्यक्ष प्रशांत मानिकपुरी ने बताया कि कोरोना नामक महामारी से पीडि़त लोगों की सहायता के लिए मानिकपुरी पनिका समाज जिला गरियाबन्द द्वारा अपने सामाजिक  पाली  राजिम परिक्षेत्र , बोइरगाव मंडेली परिक्षेत्र, मुड़ा गांव परिक्षेत्र , गरियाबन्द परिक्षेत्र सहित जिले के पनिका जाति समाज में धन संग्रह कर 16,600 रुपए का चेक  सभी लोग मुख्यमंत्री सहायता कोष में जमा किये जाने के लिये एस डीएम  निर्भय साहू को सौंपा है। 

इस दौरान समाज के सत्य प्रकाश मानिकपुरी, रामेश्वर दास, प्रशांत मानिकपुरी, अधीन दास, बेनू दास रजनकट्टा, महेंद्र मानिकपुरी बोइरगांव, सुरेश मानिकपुरी, डॉ. विक्रम मानिकपुरी, दसरथ दास मानिकपुरी, शैलेन्द्र मानिकपुरी, गौकरण, शीतल दास मानिकपुरी सहित गरियाबंद जिले के सभी छे: पाली के प्रमुख पदाधिकारी  प्रमुख रूप से मौजूद रहे।

 


19-May-2020

'छत्तीसगढ़' संवाददाता
गरियाबंद, 19 मई।
बेमौसम बारिश आंधी-तूफान और ओलावृष्टि से किसानों की सैकड़ों एकड़ फसल बर्बाद हो गई है। खेतों में तैयार फसल जमीन में बिछ गई है। किसानों ने शासन-प्रशासन से राहत की गुहार लगाई है। 

बेमौसम बारिश से रबी फसल लगाए किसान बेहाल हैं। कई गांव में बारिश एवं आंधी-तूफान ने कहर ढाया है। रबी फसल कटाई के दौरान बेमौसम बारिश होने से सैकड़ों एकड़ की धान फसल बर्बाद हो गई है। किसान जमीन गीली होने के कारण बची फसल की कटाई भी नहीं कर पा रहे हैं। ओले और बारिश से धान के पौधे में पकी बालियां जमीन पर गिर गई है। किसानों का कहना है कि फसल का लागत मूल्य भी नहीं मिल पा रहा है। 

गौरतलब है कि बीते सोमवार को क्षेत्र में बेमौसम बारिश और आंधी-तूफान के साथ कहीं-कहीं ओलावृष्टि भी हुई है। जिससे ग्राम कोचबाय, तंवरबहरा, झितरीडुमर, सुहागपुर, कोकड़ी सहित अनेक गांव के सैकड़ों किसान प्राकृतिक आपदा की मार झेलने मजबूर हैं। किसान टंकेश्वर शर्मा, धरमसिंग कश्यप, लखनु कश्यप, श्रीराम कश्यप, लक्षन, गंगाराम सोम, राधेश्याम, गैंद, चवरसिंग, रमेश सोम, नोहरसिंह, कुशल, त्रिलोक सिन्हा इत्यादि किसानों ने बताया कि सोमवार को अचानक आई आंधी-तूफान, बारिश और ओलावृष्टि के चलते रबी में लगाए धान की फसल पूरी तरह से बर्बाद हो गया है। 

किसानों ने कहा कि छोटे किसान कर्ज लेकर धान की फसल लगाए थे, बारिश, आंधी-तूफान और ओले गिरने की वजह से धान की बालियां पूरी तरह से गिर गई हंै। कहा कि किसानी की लागत तक नहीं मिल पा रही है। उन्होंने शासन-प्रशासन से राहत पहुंचाने की मांग की है। 

वहीं आंधी-तूफान, बारिश और ओले गिरने से प्रभावित किसानों को राहत पहुंचाने राजस्व प्रशासन ने सर्वे कराने का काम शुरू कर दिया है। संबंधित गांव के हल्का पटवारियों को नुकसान का मुआयना कर प्रकरण तैयार करने को कहा है। जिसके चलते अब हल्का पटवारी नुकसान का आंकलन करने जुट गए हैं। इसके अलावा उन्हें कहा गया है कि जिनके मकान क्षतिग्रस्त हुए हैं उनका भी सर्वे कर रिपोर्ट तैयार करें।

राकेश साहू, तहसीलदार ने कहा कि आंधी-तूफान, बारिश और कहीं-कहीं ओले गिरने की खबर मिली है। जिससे फसल को नुकसान हुआ है। हल्का पटवारियों को फसल के साथ-साथ क्षतिग्रस्त मकानों का भी सर्वे करने कहा गया है। जिसके बाद राजस्व पुस्तक परिपत्र के प्रावधानों के तहत मुआवजा राशि दी जाएगी।

 

 


19-May-2020

'छत्तीसगढ़' संवाददाता
नवापारा-राजिम, 19 मई।
नवापारा शहर से लगे ग्राम पारागांव स्थित रेत घाट में रेत खनन की अनुमति लेकर मुरूम खनन किए जाने की शिकायत ग्रामीणों ने पुलिस से की है। 

पारागांव के जनप्रतिनिधियों ने बताया कि गांव में रेत ठेकेदार रेत निकासी की अनुमति लेकर मुरम का परिवहन कर रहे थे। इसकी शिकायत करने पर गांव के युवक को जान से मारने की धमकी दी गई। इसकी जानकारी होते ही बड़ी संख्या में ग्रामवासी और पंचायत प्रतिनिधि मौके पर पहुंच गए। इसके बाद मुरुम उत्खनन बंद करवाते हुए ग्रामीणों ने पुलिस को सूचना दी। सूचना मिलने पर पुलिस प्रशासन की टीम ने मौके पर पहुंचकर तीन हाइवा थाना लाया है। वहीं अभनपुर एसडीएम ने आगे की कार्रवाई नायब तहसीलदार को सौंप दिया है।