ताजा खबर

Previous123456789...2324Next
05-Jun-2020 10:58 PM

107+22 = 129


रायपुर, 5 मई(रात 10.51 )('छत्तीसगढ़' संवाददाता).  राज्य में आज अभी 22 नए कोरोना पाज़िटिव मरीज़ों की पहचान की गई (जिला सरगुजा व रायगढ़ से 5-5, जांजगीर से 8 व जशपुर से 4)।राज्य में एक्टिव मरीजों की कुल संख्या 661 हो गई है।इसके पहले स्वस्थ्य विभाग ने 107 मरीजों के मिलने की जानकारी दी थी, ये 22 मरीज उसके अलावा हैं. 


05-Jun-2020 10:38 PM


आईजी काबरा की अपील - आपकी सुरक्षा के लिए बाहर आना-जाना ना करें


बिलासपुर, 5 जून। ('छत्तीसगढ़' संवाददाता). बिलासपुर में एक ही दिन में एक दर्जन से अधिक कोरोना पॉजिटिव मिलने के बाद पुलिस प्रशासन अलर्ट हो गया है। शहर में 11 जगह कन्टेनमेंट जोन बनाये गये हैं। शुक्रवार को आईजी दीपांशु काबरा और एसपी प्रशांत कुमार अग्रवाल इनका निरीक्षण करने निकले। जहां भीड़भाड़, अव्यवस्था, दुकानों में सोशल डिस्टेंसिंग का उल्लंघन इत्यादि देख काबरा जमकर भड़के। इस दौरान उन्होंने आसपास के वाहन चालकों, दुकानदारों को भी फटकार लगाई। साथ ही थाना प्रभारियों को भी कड़ी हिदायत देते हुए तत्काल पूरे क्षेत्र को सील कराया। इसके अलावा वहां के लोगों से अपील भी की कि यहां से बाहर आना-जाना ना करें। यह सब कुछ आप सबकी सुरक्षा के लिए ही किया जा रहा है। 

शहर में 11 जगह टिकरापारा, जूना बिलासपुर, अशोक नगर, इमलीभाठा, लोधीपारा, कुदुदंड, अयोध्या नगर रिंग रोड 2, एफसीआर गोदाम व्यापार विहार, बड़ी कोनी मेंकोरोना पॉजिटिव मरीज मिले हैं। इस क्षेत्र को कन्टेनमेंट जोन घोषित कर यहां बेरिकेडिंग कर दी गई है।निरीक्षण के दौरान कुछ ऑटो में बड़ी संख्या में यात्रियों को बैठे देख आईजी काबरा ने ऑटो चालकों को फटकार लगाई। साथ ही एएसपी ट्रैफिक को निर्देश दिए कि सभी ऑटो चालकों की बैठक लें और चालक व यात्रियों केबीच प्लास्टिक शील्ड लगाएं, ताकि यात्री व चालक दोनों सुरक्षित रह सकें।


सीएसपी  दफ्तरों में लोगों की समस्या सुनें


काबरा ने शुक्रवार को सभी नगर पुलिस अधीक्षकों को भी सख्त निर्देश दिए कि वे अपने दफ्तरों में बैठना शुरू करें ताकि वहां के लोग अपनी समस्या लेकर उनके पास आ सकें, जिसका तत्काल निराकरण हो सके।


05-Jun-2020 10:28 PM

दो श्रमिक बस्तियों में एक-एक मामले

'छत्तीसगढ़' संवाददाता
राजनांदगाव, 5 मई(रात 10.25 )
 |  राजनांदगांव में दोपहर तक कोरोना के मिले दो मामलों की संख्या शाम होने तक 6 पहुंच गयी | राजनांदगांव शहर के दो श्रमिक मुहल्ले मोतीपुर और शंकरपुर में एक-एक कोरोना मरीज समेत गंडई के लिमो व सोंनी से सटे ठाकुरटोला गांव में दो कोरोनाग्रस्त मरीज मिले हैं | सीएमएचओ डॉ. मिथलेश चौधरी ने बताया कि आज मिले मरीजो में दो महिला भी शामिल हैं | बताया गया है कि सभी क्वारंटीन सेंटर से संक्रमित मिले हैं| इसी के साथ राजनांदगांव जिले में कुल कोरोना के एक्टिव केस 46 हो गया हैं| राजनांदगांव में यह दूसरा मौका है जब इस बीमारी ने शहरी इलाके को अपनी जद में लिया है | जिले में शहर के भरकापारा में पहला और राज्य का दूसरा कोरोना मरीज मार्च के आखिरी सप्ताह में सामने आया था |


05-Jun-2020 9:37 PM

निचली अदालतों में अभी रोक जारी 

'छत्तीसगढ़' संवाददाता
बिलासपुर, 5 जून।
अनलॉक-1 के शुरू होने के बाद हाईकोर्ट ने भी धीरे-धीरे खुली अदालत में सुनवाई शुरू करने का निर्णय लिया है। आठ जून से वीडियो कांफ्रेंस के अलावा खुली अदालत में भी सुनवाई शुरू होगी। हालांकि अधीनस्थ न्यायालयों में 26 मई का आदेश जारी रहेगा जिनमें सिर्फ अत्यावश्यक मामलों को वीडियो कांफ्रेंस के जरिये सुना जा रहा है।
 
केन्द्र सरकार द्वारा 30 मई को देशभर में सामान्य गतिविधियां शुरू करने के लिए गाइडलाइन तय की गई है। इसी परिप्रेक्ष्य में हाईकोर्ट में भी खुली सुनवाई चरणबद्ध तरीके से शुरू करने का निर्णय लिया गया है। इससे उन प्रत्येक याचिकाकर्ताओं को अवसर मिल सकेगा जो वीडियो कांफ्रेंस से सुनवाई में हिस्सा नहीं ले पा रहे हैं और ई मेल से केस फाइल नहीं कर पा रहे हैं। हाईकोर्ट में सीआरपीसी की धारा 438 और 439 के तहत जमानत आवेदन को वीडियो कांफ्रेंस से सोमवार से गुरुवार तक सुना जायेगा। शुक्रवार को खुली अदालत में जमानत के मामले सुने जायेंगे।
 
इसी तरह से सभी नये प्रकरण, अत्यावश्यक प्रकरण और सभी तरह के रिट पिटिशन की सुनवाई सिंगल बेंच में सुने जायेंगे। अदालत के फर्स्ट हाफ में वीडियो कांफ्रेस से तथा इसके खत्म होने के बाद अथवा सेकंड हाफ में खुली सुनवाई होगी। ये बेंच अपने रोस्टर तथा जमानत के सौंपे गये मामलों की अपने विवेक के अनुसार वीडियो कांफ्रेंस या खुले में सुनवाई कर सकेगी।
 
हाईकोर्ट द्वारा जारी आदेश में कहा गया है कि ई मेल के जरिये केस फाइल नहीं किये जायेंगे न ही सुनवाई की सूचना ई मेल के जरिये दी जायेगी। इसके लिये पूर्व की तरह अदालत के रीडर के पास केस जमा करना होगा और वहीं से सुनवाई की तारीख मिलेगी। यह प्रक्रिया वीडियो कांफ्रेंस से होने वाली सुनवाई में भी अपनाई जायेगी। 

खुले कोर्ट में सुनवाई के दौरान सामाजिक-शारीरिक दूरी और कोविड -19 के बचाव के लिये केन्द्र सरकार द्वारा जारी गाइडलाइन तथा लागू नियमों का पालन किया जायेगा। 

निचली अदालतों में खुली सुनवाई पर इस समय रोक लगी हुई है। इन अदालतों में 26 मई को जारी आदेश ही प्रभावशील रहेगा जिसके तहत अत्यावश्यक मामलों की वीडियो कांफ्रेस से सुनवाई की जा रही है। निचली अदालतों के लिये कुछ समय बाद आदेश जारी होगा। 


05-Jun-2020 9:31 PM

यही रफ्तार रही तो...

'छत्तीसगढ़' संवाददाता

बिलासपुर, 5 जून (रात 9.27 बजे)। जिले के सर्वाधिक प्रवासी मजदूरों वाले मस्तूरी तहसील में आज फिर एकाएक संक्रमण के 13 मामले सामने आये हैं। बिलासपुर शहर में कल दो जूनियर डॉक्टरों सहित 10 केस सामने आये थे जिसके चलते शहर के कई प्रमुख मार्गों में कंटेनमेंन्ट जोन बना दिये गये हैं। यहां का 100 बिस्तर वाला कोविड अस्पताल कुछ ही दिनों के भीतर पूरी तरह भर जाने के कगार पर पहुंच चुका है।

स्वास्थ्य विभाग द्वारा आज जारी रिपोर्ट के मुताबिक जिले में कोविड -19 के 13 नये केस आये हैं। ये सभी मस्तूरी तहसील से हैं। मस्तूरी जिले का सर्वाधिक कोरोना प्रभावित क्षेत्र के रूप में उभर रहा है। अकेले इसी तहसील से 35 हजार से अधिक प्रवासी मजदूर देश के विभिन्न हिस्सों में काम के लिये निकले थे, जिनमें से आधे लौट चुके हैं। आज यहां से 13 नये मामले सामने आये हैं। इनमें से 7 मरीजों को संभागीय कोविड अस्पताल में भर्ती किया गया है तथा 6 को एम्स रायपुर रेफर किया गया है। 100 बेडेड बिलासपुर कोविड अस्पताल में पहले से ही 73 मरीजों का इलाज चल रहा था। अब यहां मरीजों की संख्या बढ़कर 80 हो चुकी है। यह स्थिति तब है जब यहां से 24 मरीजों को उपचार के बाद डिस्चार्ज किया जा चुका है और ज्यादा गंभीर मरीजों को यहां भरती न कर रायपुर रेफर किया जा रहा है।

 
कोविड अस्पताल की सिविल सर्जन डॉ. मधुलिका सिंह ठाकुर ने बताया कि कोरोना मरीजों को उपचार के लिये हाइड्रोक्सी क्लोरोक्वीन, सिप्रोमाइसिन एंटीबाइटिक, एडॉक्सी, विटामिन सी तथा जिंक दवाओं के रूप में दिया जा रहा है। अधिकांश मरीजों पर इसका अच्छा असर हो रहा है, पर कुछ मरीज 15 दिनों से भर्ती हैं जिनकी रिपोर्ट निगेटिव नहीं आ रही है। आज 8 मरीजों को स्वस्थ होने के बाद डिस्चार्ज किया गया है। इनमें छह पुरुष तथा दो महिलाएं हैं।

बिलासपुर शहर भी कोरोना के चपेट में है और कई मोहल्लों में इसके चलते कंटेनमेन्ट जोन बनाये गये हैं। गुरुवार को सिम्स के दो जूनियर डॉक्टरों को कोरोना संक्रमित पाया गया। पहले भी दो डॉक्टर और एक नर्स को कोरोना संक्रमित पाया जा चुका है। कल जिले के जो 17 केस आये उनमें से 10 बिलासपुर के हैं। ये केस जूना बिलासपुर, विनोबानगर, सरकंडा, कुदुदंड और कोनी इलाकों से हैं। संक्रमण के मामलों के कारण बनाये गये कंटेनमेन्ट जोन में नगर निगम द्वारा बेरिकेड्स लगाये गये हैं और पुलिस ने निगरानी कर रखी है। बढ़ते मामलों के कारण पहले ही बिलासपुर ग्रीन से रेड जोन में शामिल किया जा चुका है। बिलासपुर शहर से प्रवासी मजदूरों की संख्या कम है लेकिन ऐसे लोग हैं जो दूसरे प्रदेशों से लौटे हैं। इनमें एक नर्स के अलावा कुछ छात्र हैं। 


05-Jun-2020 9:23 PM

दिल्ली से सड़क के रास्ते लिफ्ट लेकर भिलाई पहुंचा था युवक

'छत्तीसगढ़' संवाददाता
भिलाई नगर 5 जून (रात 9.22 बजे) ।
दुर्ग जिले से आज 5 कोरोना संक्रमित मरीजों की पुष्टि हुई है।  सभी की ट्रैवल हिस्ट्री बाहर की बताई जा रही है।

जिला चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी गंभीर सिंह ठाकुर ने बताया कि आज जिले में कुल 5 कोरोना संक्रमण के मामले की आरटी पीसीआर टेस्ट के बाद पुष्टि हो गई है। शाम को बीएसएफ जवान की पुष्टि की गई थी। अब रात में चार और मामले की पुष्टि हुई है। जिसमें से एक खुर्सीपार का युवक है जो विगत दिनों बिहार से लौटा था।  एक युवक फरीदनगर से है जो  मुंबई से  वापस आया है। एक विनायकपुर निकुंम से है और शासकीय क्वॉरेंटाइन में है। विगत दिनों भोपाल से लौटा था। जबकि पांचवां संक्रमित युवक दिल्ली से सड़क मार्ग द्वारा 28 मई को पहुंचा था।  यह युवक दिल्ली से नागपुर तक ट्रक से नागपुर से छत्तीसगढ़ महाराष्ट्र सीमा तक टेंपो द्वारा और छत्तीसगढ़ सीमा से भिलाई ट्रक द्वारा पहुंचा है। जिसे वैशाली नगर स्थित क्वॉरेंटाइन सेंटर में क्वॉरेंटाइन किया गया है। मूलत: रूआबांधा सब्जी मंडी के पास का निवासी बताया गया है। सभी संक्रमित को कोविड-19 हॉस्पिटल में दाखिल करने की तैयारियां की जा रही हैं।

 


05-Jun-2020 9:10 PM

'छत्तीसगढ़' संवाददाता
अंबिकापुर,  5 जून।
अंबिकापुर सेंट्रल जेल में अनाचार व पॉक्सो एक्ट के तहत आजीवन कारावास की सजा काट रहा एक कैदी अंबिकापुर मेडिकल कॉलेज से फरार हो गया। बताया जा रहा है कि उक्त कैदी को उपचार के लिए 2 दिन पहले ही भर्ती कराया गया था, आज वह गार्ड को चकमा देकर फरार हो गया। इस घटना से पुलिस व जेल प्रबंधन में हड़कंप मच गया है।
 
घटना की सूचना मिलते ही सरगुजा एडिशनल एसपी ओम चंदेल सहित थाना प्रभारी व चौकी प्रभारी मौके पर पहुंच सीसीटीवी फुटेज खंगालने में लगे हुए थे। बताया जाता है कि अस्पताल में दो कैदी भर्ती, गार्ड ने इसे बाथरूम से लाकर बेड पर छोड़ा तथा दूसरे कैदी को नहलाने ले गया। इसी बीच मौका देकर वह फरार हो गया।
 
जानकारी के मुताबिक सूरजपुर जिले के झिलमिली थाना अंतर्गत ग्राम करौटी बी निवासी दिलबरन उर्फ जोधन कंवर (42) को किशोरी से बलात्कार के मामले में न्यायालय द्वारा गत 27 फरवरी को अनाचार व पॉक्सो एक्ट की धारा के तहत 7 वर्ष व आजीवन कारावास की सजा सुनाई गई थी। कुछ दिन सूरजपुर उप जेल में रखने के बाद उसे 3 मार्च को अंबिकापुर सेंट्रल जेल में शिफ्ट किया गया था। गत 3 जून को तबियत खराब होने पर उसे मेडिकल कॉलेज अस्पताल के मेडिकल वार्ड में भर्ती कराया गया था। 

शुक्रवार की सुबह 8.30 से 9 बजे के बीच ड्यूटी में गार्ड तैनात द्वारा कैदी दिलबरन को बाथरूम ले जाया गया। बाथरूम से उसे बेड पर शिफ्ट कर गार्ड, दूसरे कैदी को नहलाने बाथरूम ले गया। इसी दौरान वह मौका देख कलाई से हथकड़ी सरकाकर वहां से फरार हो गया। घटना की सूचना पर एडिशनल एसपी ओम चंदेल व अन्य पुलिसकर्मी गार्ड से पूछताछ की तथा आरोपी को पकडऩे शहर की नाकेबंदी करा दी है।


05-Jun-2020 8:34 PM

'छत्तीसगढ़' संवाददाता

रायपुर, 5 जून (रात 8.30)। प्रदेश में दोपहर तक 63 नए कोरोना पॉजिटिव मरीज मिलने के बाद शाम 7 बजे 27 और और रात 8.30 बजे 17 कोरोना पॉजिटिव पाने की जानकारी सरकार ने दी। जिसे मिलाकर आज अब तक कुल 107 पॉजिटिव हो गए हैं।
  
दोपहर 3.30 बजे तक की जानकारी के मुताबिक- इनमें से कोरबा जिले के कुदूरमाल क्वारंटीन सेंटर के 40 मजदूर कोरोना पॉजिटिव मिले हैं। इसके अलावा 13 रायगढ़, और बलौदाबाजार-रायपुर से 3-3, राजनांदगांव 2, और बलरामपुर और कोरिया 1-1 जांच रिपोर्ट आने के बाद इन सभी मजदूरों को अस्पताल में दाखिल कराया गया है। 

अभी शाम 7 बजे की जानकारी के मुताबिक 27 नए मरीज इसमें और जुड़ गए हैं। इन्हें मिलाकर बिलासपुर 14, कोरबा 40, बलौदाबाजार 15 मरीजों की खबर है।

अभी रात 8.30 बजे की जानकारी के मुताबिक इसमें 17 और जुड़ गए हैं। इनमें रायपुर 1, बलौदाबाजार 1, दुर्ग 5, बालोद 4, राजनांदगांव 4, कबीरधाम 2 मरीजों की खबर है।

राज्य में अभी 630 सक्रिय कोरोना मरीज हैं। 52 हजार लोग होम क्वारंटीन में हैं, और सवा दो लाख से ज्यादा सरकारी क्वारंटीन में हैं। आज पहले से भर्ती 25 कोरोना मरीज डिस्चार्ज भी किए गए। एम्स रायपुर से 10, कोविड अस्पताल माना से 15 मरीजों को डिस्चार्ज किया गया।   


05-Jun-2020 7:38 PM

राजेश अग्रवाल 

बिलासपुर, 5 जून ('छत्तीसगढ़' संवाददाता)। जांजगीर के पूर्व कलेक्टर, आईएएस जनक प्रसाद पाठक के खिलाफ पुलिस ने रेप के मामले में महत्वपूर्ण साक्ष्य एकत्र करने में सफलता पाई है। मामले से जुड़े कई चौंकाने वाले पहलुओं का अभी खुलासा होना बाकी है। यह चर्चा सरगर्म है कि केस रफा-दफा करने के लिए एक पक्ष ने दूसरे पक्ष तक एक बड़ी रकम पहुंचाने की कोशिश भी की थी लेकिन बिचौलिये ने वह बड़ी रकम दबा दी थी।

आरोपी आईएएस के खिलाफ पहले भी महिलाओं को लेकर इस तरह की शिकायत रही हैं लेकिन वे सामने नहीं आ पाईं। घटना के बाद से सस्पेंड हो चुके पाठक का मोबाइल बंद मिल रहा है। इसलिए उनसे बात नहीं हो पाई। इस अखबार 'छत्तीसगढ़' के पास इस मामले से जुड़े हुए बहुत से सुबूत हैं जिन पर कलेक्टर का पक्ष लेने के लिए कोशिश की गई है।

एनजीओ को काम दिलाने का प्रलोभन देकर एक शिक्षा कर्मी की पत्नी के साथ सम्पर्क करने और बाद में धमकाकर रेप करने के आरोप में जांजगीर कोतवाली थाने में 3 जून को जांजगीर के पूर्व कलेक्टर पाठक के खिलाफ अपराध दर्ज किया गया है। आरोप है कि कलेक्टर ने पीडि़ता को कॉल किया, अश्लील मैसेज और वीडियो फुटेज भेजे और कई अनुचित मांगें भी वाट्स एप के जरिये की। पीडि़ता के पति की नौकरी छीन लेने के नाम पर उसे डराया गया और कलेक्ट्रेट के अपने चैम्बर के विश्राम कक्ष में उसके साथ रेप किया। रिपोर्ट के मुताबिक घटना 15 मई की है। उस समय पाठक जांजगीर में कलेक्टर थे, इसलिये वह रिपोर्ट लिखाने की हिम्मत नहीं जुटा पाई थी। 
मामला एक आईएएस का होने के कारण पुलिस के आला अधिकारियों ने इसे गंभीरता से लिया। पीडि़ता ने जब अश्लील मैसेज, वीडियो और बातचीत की रिकॉर्डिंग साक्ष्य के रूप में पुलिस को दिया तब जाकर उसकी रिपोर्ट लिखी गई। पाठक के खिलाफ धारा 376, 506 तथा 509 (ख) आईपीसी के तहत अपराध दर्ज किया गया। जांजगीर पुलिस अधीक्षक पारुल माथुर ने चाम्पा की एसडीओपी पद्मश्री तंवर को इसके लिए जांच अधिकारी नियुक्त किया।

चार जून को एसडीओपी की टीम कलेक्टोरेट पहुंची। वहां उस समय नए कलेक्टर यशवंत कुमार दफ्तर में नहीं थे। उनके आने के बाद उनकी अनुमति से पीडि़ता की मौजूदगी में घटना स्थल का बारीकी से निरीक्षण किया गया। वहां से सीसीटीवी कैमरे के फुटेज को भी पुलिस ने जांच के लिए अपने पास रख लिया। फुटेज की जांच के बाद आज साफ हुआ है कि घटना के दिन पीडि़ता कलेक्टर के चैम्बर में गई थी। पीडि़ता का कहना है कि वह कलेक्टर से सिर्फ दो बार मिली। पहली बार एनजीओ को काम दिलाने का आवेदन लेकर गई तो कलेक्टर ने उसका फोन नंबर उससे ले लिया। फिर बाद में फोन करने लगे, अश्लील मैसेज और वीडियो भेजने लगे। वे मुझे फोन करके बुलाने लगे। नहीं आने पर धमकी देने लगे, जिसके बाद वह दूसरी बार उनसे मिलने गई तब उसके साथ रेप हुआ।

मामले की जांच अभी जारी है और एक आईएएस के विरुद्ध शिकायत होने के कारण पुलिस खासी सतर्कता बरतते हुए कदम उठा रही है। जांच अधिकारी एसडीओपी पद्मश्री तंवर ने बताया कि दर्ज अपराध की जांच चल रही है और जैसे-जैसे साक्ष्य मिलते जा रहे हैं सम्बन्धित लोगों से बयान लिये जायेंगे। पीडि़ता का बयान धारा 164 के तहत दर्ज किया जा चुका है। हालांकि उन्होंने यह बताने से मना कर दिया कि क्या पाठक को पूछताछ के लिए बुलाया गया है। उनका कहना है कि जांच की प्रक्रिया चल रही है, इस चरण में वह कोई जानकारी नहीं दे पाएंगी। 

पहले भी रही शिकायत, कुछ चौंकाने वाले चर्चे
पाठक के खिलाफ अपराध दर्ज होने के बाद जांजगीर में प्रशासनिक हलके और लोगों के बीच जगह-जगह घटना की चर्चा चल रही है। चर्चा के मुताबिक करीब तीन माह पहले उनके खिलाफ एक अन्य युवती ने भी शिकायत करने के लिये पुलिस दफ्तरों के कई चक्कर लगाये लेकिन उसे दबाव डालकर रोक लिया गया। यह भी चर्चा है कि एक अन्य पीडि़त के मोबाइल पर भी पाठक के आपत्तिजनक संदेश, वार्तालाप दर्ज हैं जिसे जांच के दौरान सामने लाया जा सकता है। यह भी चर्चा चल रही है कि एक पक्ष ने इस प्रकरण को रफा-दफा करने के लिए एक बड़ी रकम भी तीसरे व्यक्ति के पास छोड़ी थी पर दूसरे पक्ष को तक वह रकम नहीं पहुंच पाई। 

पाठक राज्य प्रतियोगी परीक्षा उत्तीर्ण कर राज्य प्रशासनिक सेवा के अधिकारी बने, बाद में प्रमोशन पाकर आईएएस अवार्ड हुए। हालांकि उनका शासकीय सेवा का सफर एक तृतीय वर्ग कर्मचारी, जनसम्पर्क विभाग के सूचना सहायक रूप में शुरू हुआ था।

उल्लेखनीय है कि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के निर्देश पर शासन ने कल पाठक को निलम्बित कर दिया है। इस स्तर की प्रशासनिक स्तर पर भी उच्च-स्तरीय जांच का आदेश दिया गया है। घटना के बाद आरोपी पाठक का मोबाइल फोन बंद है और वे घर तथा दफ्तर से नदारद हैं। 


05-Jun-2020 7:08 PM

'छत्तीसगढ़' संवाददाता
रायपुर, 5 जून (शाम 7.00)।
प्रदेश में दोपहर तक 63 नए कोरोना पॉजिटिव मरीज मिलने के बाद शाम 7 बजे 27 और कोरोना पॉजिटिव पाने की जानकारी सरकार ने दी। जिसे मिलाकर आज अब तक कुल 90 पॉजिटिव हो गए हैं। 
 
दोपहर 3.30 बजे तक की जानकारी के मुताबिक- इनमें से कोरबा जिले के कुदूरमाल क्वारंटीन सेंटर के 40 मजदूर कोरोना पॉजिटिव मिले हैं। इसके अलावा 13 रायगढ़, और बलौदाबाजार-रायपुर से 3-3, राजनांदगांव 2, और बलरामपुर और कोरिया 1-1 जांच रिपोर्ट आने के बाद इन सभी मजदूरों को अस्पताल में दाखिल कराया गया है। 

अभी शाम 7 बजे की जानकारी के मुताबिक 27 नए मरीज इसमें और जुड़ गए हैं। इन्हें मिलाकर बिलासपुर 14, कोरबा 40, बलौदाबाजार 15, दुर्ग 1 मरीजों की खबर है। 


05-Jun-2020 7:02 PM

उत्तरा विदानी
महासमुन्द, 5 जून ('छत्तीसगढ़' संवाददाता)।
अभी शाम साढ़े पांच बजे सरायपाली क्षेत्र के कलेंडा क्वारेंटाईन सेंटर में बिना इजाजत प्रवेश करने वाली भाजपा जिलाध्यक्ष रूपकुमारी चौधरी, सरायपाली पूर्व विधायक रामलाल चौहान और उनके कुछ साथियों को क्वारेंटाईन सेंटर के अंदर बंद कर बाहर से ताला लगा दिया गया है। चूंकि ये लोग सेंटर के भीतर गए थे, इसलिए अब कलेक्टर कार्तिकेया गोयल ने आदेश दिया है कि इन सबकी कोरोना जांच कराई जांच, और इन्हें चौदह दिनों के लिए अनिवार्य रूप से क्वारंटीन सेंटर में रखा जाए।

समाचार लिखते वक्त ये सभी नेता सेंटर के अंदर हैं और बाहर पुलिस जवानों का पहरा है। एसडीएम कुणाल दुदावत खुद ही पुलिस बल के साथ बाहर खड़े हैं और मोबाइल पर जिले के कलेक्टर से दिशा निर्देश ले रहे हैं। सेंटर के बाहर जनप्रतिनिधियों के वाहन भी कतार में लगे हुए हैं। 

बता दें कि आज ही कलेक्टर के निर्देश पर क्वारेंटाईन सेंटरों में बिना अनुमति प्रवेश करने वाले और सेंटर के नियमों का पालन नहीं करने वाले सात लोगों के खिलाफ कार्रवाई की गई थी। आज शाम भाजपा जिलाध्यक्ष रूपकुमारी चौधरी, विधायक किस्मत लाल नंद अपने साथियों के साथ कलेंडा क्वारेंटाईन सेंटर पहुंचे। सेंटर में तैनात बल ने उन्हें अंदर जाने से मना किया लेकिन व्यवस्था देखने के लिए वे सेंटर में प्रवेश कर गए। सेंटर में तैनात बल ने इसकी जानकारी एसडीएम कुणाल दुदावत को दी तो वे तत्काल वहां पहुंचे। तब तक जनप्रतिनिधि सेंटर में ही थे। 

कलेक्टर से दिशा-निर्देश मिलने के बाद जनप्रतिनिधियों के अंदर रहने के बावजूद बाहर दरवाजे पर ताला लगा दिया गया है। कलेंडा निवासी एक ग्रामीण ने नाम न छापने की शर्त पर यह फोटो और खबर उपलब्ध कराई है। 

कलेक्टर से इस बारे में पूछने पर उन्होंने कहा कि क्वारंटीन के नियम बिल्कुल स्पष्ट हैं, और जो लोग इस केन्द्र के भीतर गए हैं उन्हें अनिवार्य रूप से चौदह दिन क्वारंटीन रहना होगा जो कि उनकी खुद की सेहत के लिए और बाकी तमाम लोगों की सेहत के लिए जरूरी है। उन्होंने कहा कि कोई भी व्यक्ति हो, क्वारंटीन की शर्तों से किसी को छूट नहीं मिल सकती। उन्होंने माना कि केन्द्र के बाहर ताला लगाकर रखा गया है, और सबकी कोरोना जांच के लिए कार्रवाई चल रही है। 


05-Jun-2020 6:17 PM

'छत्तीसगढ़' संवाददाता
रायपुर, 5 जून।
जांजगीर में दो दिन पहले बलात्कार और धमकी का जुर्म दर्ज होने के बाद आज राज्य सरकार ने आईएएस अफसर जनक प्रसाद पाठक को निलंबित कर दिया है, और निलंबन अवधि में उसका मुख्यालय मंत्रालय रखा है। यह भी कहा है कि वे शासन की अनुमति के बिना मुख्यालय का शहर छोड़कर नहीं जाएंगे। सामान्य प्रशासन सचिव डॉ. कमलप्रीत सिंह के दस्तखत से जारी इस आदेश में एफआईआर का जिक्र किया गया है। 


05-Jun-2020 6:10 PM

'छत्तीसगढ़' न्यूज डेस्क
रायपुर, 5 जून।
भारत सरकार ने भारतीय विदेश सेवा के राहुल श्रीवास्तव को रोमानिया में भारत का राजदूत नियुक्त किया है। राहुल छत्तीसगढ़ के राजनांदगांव के रहने वाले हैं, और पदुमलाल पुन्नालाल बख्शी के पोते हैं। उनके माता-पिता भी राजनांदगांव में रहते हैं। राहुल ने 1999 में विदेश सेवा में नौकरी पाई थी, और वे इसके पहले मास्को, कजाखस्तान, लंदन, वेनेजुएला में काम कर चुके हैं।  



05-Jun-2020 5:35 PM

लखनऊ, 5 जून। उत्तरप्रदेश में शिक्षण के नाम पर फर्जीवाड़े की तमाम खबरें आती रहती हैं, लेकिन एक फर्जीवाड़े ने अफसरों के पैरों तले जमीन खिसका दी है, दरअसल मामला कस्तूरबा गांधी बालिका विद्यालय से जुड़ा है। आरोप है कि मैनपुरी की निवासी अनामिका शुक्ला जो सांइस टीचर हैं, उसने एक साथ 25 स्कूलों में कथित तौर पर नौकरी की। यही नहीं उसने यहां से 13 महीने की करीब 1 करोड़ की तनख्वाह भी ली।  मामले में आरोपी शिक्षिका के खिलाफ जांच शुरू हो गई है।
 
दरअसल टीचर्स का डेटाबेस तैयार करने के दौरान ये फर्जीवाड़ा सामने आया। ऐसे में यूपी में लागू प्राइमरी स्कूलों में टीचर्स के अटेंडेंस की रियल टाइम मॉनिटरिंग की व्यवस्था पर सवाल उठ रहे हैं। अभी तक की छानबीन में पता चला है कि रिकॉर्ड में वह 25 स्कूलों में पिछले एक साल से भी अधिक समय से नियुक्त है। मामले में स्कूली शिक्षा महानिदेशक विजय किरन आनंद के अनुसार इस टीचर को लेकर जांच शुरू कर दी गई है। उनके अनुसार मामले में विस्तृत जांच की जरूरत है, क्योंकि जब सभी टीचर्स को प्रेरणा पोर्टल पर ऑनलाइन अपनी उपस्थिति दर्ज करनी है तो ऐसा कैसे हुआ?

जानकारी के अनुसार अनामिका शुक्ला की प्रयागराज और अंबेडकरनगर के साथ सहारनपुर, बागपत, अलीगढ़ जैसे जिलों के कस्तूरबा गांधी विद्यालयों में तैनाती मिली है। यहां शिक्षकों की नियुक्ति कॉन्ट्रेक्ट पर होती है और उन्हें हर महीने 30 हजार रुपये की तनख्वाह मिलती है। जिले के हर ब्लॉक में एक कस्तूरबा गांधी स्कूल है। समाज के कमजोर तबके से आने वाली लड़कियों के लिए इन स्कूलों में आवासीय सुविधा भी होती है।

यही नहीं अफसरों को अभी तक अनामिका की कहां वास्तविक तैनाती है, इसका भी पता नहीं चल पाया है। विभाग के अनुसार शिकायत में दर्ज हर जिले से वेरिफाई करवाया जा रहा है। जांच के बाद एफआईआर दर्ज होगी। ये भी देखा जा रहा है कि किस बैंक एकाउंट से ये पूरा फर्जीवाड़ा ऑपरेट किया गया।
वहीं मामले में रायबरेली के शिक्षा विभाग से पता चला है कि सर्व शिक्षा अभियान की तरफ से 6 जिलों में पत्र भेजकर कस्तूरबा विद्यालय में अनामिका शुक्ला नाम की टीचर के बारे में चेक करने को कहा गया है। महिला रायबरेली में भी काम करती पाई गई। उसे एक नोटिस भेज दिया गया है। सैलरी रोक दी गई है। उसने रिपोर्ट नहीं किया है। (hindi.news18.com)


05-Jun-2020 5:15 PM

नई दिल्ली, 5 जून (वार्ता)। उच्चतम न्यायालय ने शुक्रवार को केंद्र सरकार से पूछा कि क्या सरकार से रियायती दर पर ली गयी जमीन पर बने निजी अस्पतालों को आयुष्मान योजना के तहत निर्धारित कीमत पर इलाज के लिए कहा जा सकता है?

मुख्य न्यायाधीश शरद अरविंद बोबडे, न्यायमूर्ति ए एस बोपन्ना और हृषिकेश रॉय की खंडपीठ ने सचिन जैन की याचिका की सुनवाई के दौरान केंद्र सरकार से यह सवाल किया। न्यायालय ने निजी अस्पतालों से भी पूछा कि क्या वे आयुष्मान योजना के तहत तय दरों पर इलाज का खर्च लेने को तैयार हैं या नहीं? न्यायालय ने केंद्र और निजी अस्पतालों को दो सप्ताह के भीतर इस बारे में अपना जवाब दायर करने को कहा है।

न्यायालय ने स्पष्ट किया कि वह इस मामले की सुनवाई में उन निजी अस्पतालों या धर्मार्थ न्यासों पर बने अस्पतालों को ही शामिल करेगा, जिन्हें सरकार ने रियायती मूल्य पर जमीन दी हो। न्यायमूर्ति बोबडे ने कहा कि इस बाबत शीर्ष अदालत ने अपने एक निर्णय में कहा हुआ है कि ऐसे अस्पतालों को कुछ रोगियों की मुफ्त में चिकित्सा करनी चाहिए।

हेल्थकेयर फेडरेशन की ओर से पेश वरिष्ठ अधिवक्ता हरीश साल्वे ने कहा, ''हम पहले से ही इस आवश्यकता का अनुपालन कर रहे हैं। जिस किसी को भी रियायती दरों पर जमीन मिली है, वह 25 फीसदी मरीजों को मुफ्त बिस्तर और उपचार प्रदान कर रहा है।ÓÓ श्री साल्वे की दलील का समर्थन प्राइवेट अस्पताल एसोसिएशन की ओर से पेश अधिवक्ता मुकुल रोहतगी ने भी किया। 

याचिकाकर्ता ने कहा कि उन्होंने सभी निजी अस्पतालों को आयुष्मान भारत योजना की दरों पर उपचार देने की मांग जोडऩे के लिए एक अन्य अर्जी दायर की है, जो अभी के हालात में प्रासंगिक है। इस पर केंद्र सरकार की ओर से सॉलिसिटर जनरल तुषार मेहता ने कहा कि उन्हें नई अर्जी की प्रति अब तक नहीं मिली है। ऐसे में आवेदन की प्रति मुहैया करायी जाए। न्यायालय ने याचिकाकर्ता को एक प्रति केंद्र को मुहैया कराने को कहा।      
श्री जैन की दलील थी कि केंद्र ने आयुष्मान भारत योजना  शुरू की है जो निजी अस्पतालों पर भी लागू है। इसलिए आयुष्मान भारत के तहत निर्धारित शुल्क सभी निजी अस्पतालों के लिए लागू किया जाना चाहिए। इस पर श्री मेहता ने कहा कि आयुष्मान भारत योजना को केवल इसके लाभार्थियों के लिए ही लागू किया गया है।

श्री जैन ने श्री मेहता की दलील आपत्ति जताते हुए कहा कि सरकार को नागरिकों के साथ खड़ा होना चाहिए, न कि कॉरपोरेट अस्पतालों के साथ। कोरोना के उपचार का अच्छी तरह से परिभाषित पैकेज आयुष्मान भारत योजना में उपलब्ध हैं, जिसमें औसत दैनिक बिल चार हजार रुपये है। इसके बाद न्यायालय ने केंद्र से पूछा कि क्या इस कीमत पर निजी अस्तपालों में भी इलाज हो सकता है? 


05-Jun-2020 5:13 PM

भोपाल, 5 जून। मध्य प्रदेश में विधानसभा की 24 सीटों पर उपचुनाव होने वाला है। इससे पहले भारतयी जनता पार्टी को झटका लगा है। पूर्व मंत्री और बीजेपी नेता बालेंदु शुक्ला ने कांग्रेस का हाथ थाम लिया है। उन्होंने मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता कमलनाथ की उपस्थिति में पार्टी की सदस्यता ग्रहण की।

मध्य प्रदेश की राजनीति के कद्दावर नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया के कांग्रेस से इस्तीफे के बाद उनके खेमे के 22 विधायकों ने भी इस्तीफा दे दिया था। इसके बाद कमलनाथ सरकार अल्पमत में आ गई थी और उन्हें इस्तीफा देना पड़ा था। पहले से खाली दो विधानसभा सीटों के साथ-साथ कुल 24 सीटों पर उपचुनाव होने वाले हैं।

कमलनाथ को है जीत की उम्मीद
हाल ही में पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने कहा था कि कि वर्तमान सरकार तो एक इंटरवल के समान है, पिक्चर तो अभी बाकी है। उन्होंने छिंदवाड़ा में मीडिया के सवालों के जवाब देते हुए दावा किया था कि 24 विधानसभा सीट पर होने वाले उपचुनाव में कांग्रेस कम से कम 22 सीटों पर विजय हासिल करेगी।

मध्यप्रदेश के जिन 24 विधानसभा सीटों पर उपचुनाव होना है, वहां के चुनाव कैम्पेन के लिए प्रदेश कांग्रेस की चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर से बात चल रही है। पार्टी के विधायक पी. सी. शर्मा ने हाल ही में यह जानकारी दी थी। शर्मा ने कहा था, 24 सीटों पर होने वाले आगामी उपचुनाव के लिए हम चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर से बात कर रहे हैं। वह सर्वे करेंगे और चुनाव के लिए रूपरेखा तय करने व सोशल मीडिया की रणनीति तैयार करने में पार्टी की मदद करेंगे। (livehindustan.com)


05-Jun-2020 5:10 PM

नई दिल्ली, 5 जून। दुनिया के मशहूर अंडरवल्र्ड डॉन दाऊद इब्राहिम को कोरोना हो गया है। इस घटना के बाद दाऊद के गार्ड्स और दूसरे स्टाफ को क्वारंटाइन कर दिया गया है। दाऊद की पत्नी महजबीन को भी कोरोना पॉजिटिव पाया गया है। उसे और उसकी पत्नी को कराची के एक मिलिट्री हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया है।
आपको बता दें कि पाकिस्तान के कराची में लगातार कोरोना के मामले बढ़ते जा रहे हैं। हालांकि, पाकिस्तान की ओर से इस बात को बार-बार नकारा जा रहा है। टॉप सूत्रों के मुताबिक यह खबर पूरी तरह सही है और दाऊद और उसकी पत्नी को इलाज के लिए मिलिट्री हॉस्पिटल ले जाया गया है।

पाकिस्तान में काफी समय से दाऊद इब्राहिम अपने परिवार के साथ छुपकर रह रहा है। भारत ने कई बार इस बात के पुख्ता सबूत भी दिए हैं कि दाऊद इब्राहिम पाकिस्तान में है इसके बावजूद पाकिस्तान इस बात को मानने से इनकार करता रहा है।


जानकारी के मुताबिक कोरोना वायरस की दस्तक अब दाऊद इब्राहिम के घर तक पहुंच गई है। दाऊद इब्राहिम और उसकी पत्नी महजबीन में कोरोना के लक्षण मिले हैं। दाऊद इब्राहिम और पत्नी महजबीन को अस्पताल में भर्ती कराया गया है और उसके घर में काम करने वाले सभी कर्मचारियों को क्वारंटाइन कर दिया गया है।

कौन है दाऊद इब्राहिम?
दाऊद भारत का सबसे बड़ा दुश्मन है। दाऊद 1993 में हुए मुंबई बम धमाके का मास्टरमाइंड है और अंडरवल्र्ड डॉन है। अंडरवल्र्ड डॉन दाऊद इब्राहिम के बारे में सारी दुनिया जानती है। लेकिन उनके परिवार के बारे में बहुत कम लोगों को मालूम है। क्योंकि उसने परिवार को हमेशा लोगों की नजरों से दूर रखा। दाऊद की पत्नी का नाम महजबीन उर्फ जुबीना जरीन है। दाऊद और जुबीना के चार बच्चे हैं. तीन बेटियां माहरुख, माहरीन और मारिया, वहीं एक बेटा है जिसका नाम मोइन है। (hindi.news18.com)


05-Jun-2020 4:44 PM

'छत्तीसगढ़' संवाददाता
कोरबा, 5 जून।
कोरोना वायरस संक्रमण के बीच सभी नियमों को ताक में रखकर जंगल के अंदर प्रशिक्षण कैम्प के नाम पर वन अधिकारियों-कर्मचारियों ने मुर्गा पार्टी मनाई। मामला कटघोरा वनमंडल के पाली वन परिक्षेत्र का है। 

गुरुवार को चैतुरगढ़ वन क्षेत्र में जेमरा के समीप रतखंडी जाने वाले मुख्यमार्ग से लगभग एक किलोमीटर दूर भीतर जंगल में वन विभाग द्वारा नरवा, गरुवा, घुरवा, बारी के नाम पर प्रशिक्षण कैम्प आयोजित किया गया था। जिसमें  डीएफओ शमा फारूकी के अलावा एसडीओ सहित जटगा, चैतमा एवं पाली परिक्षेत्राधिकारी व कर्मचारीगण उपस्थित हुए थे। जिनकी संख्या लगभग 70 से 80 में थी। प्रशिक्षण के नाम पर जंगल में पार्टी मनाई गई जहां शारीरिक दूरी का खुला उल्लंघन हुआ।

 

इन दिनों पूरा देश कोरोना वायरस के भयावह संक्रमण से बचने जंग लड़ रहा है। सभी मास्क का उपयोग के साथ सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए भीड़भाड़ से भी बच रहे हंै। ऐसे में दूर जंगल के भीतर प्रशिक्षण कैम्प के नाम पर भीड़ इक_ी किया जाना समझ से परे है। मामले का खुलासा होने के बाद वन अधिकारियों ने चुप्पी साध ली है। डीएफओ से इस संबंध में जानने का प्रयास किया गया तो उन्होंने मोबाइल रिसीव नहीं किया। वहीं पाली परिक्षेत्राधिकारी प्रहलाद यादव से संपर्क किया गया तो  उन्होंने  इस संबंध में कुछ भी कहने से इंकार कर दिया।


05-Jun-2020 4:43 PM

'छत्तीसगढ़' संवाददाता
कोरबा, 5 जून।
कोरबा में एक साथ 40 कोरोना संक्रमित मरीज मिले हैं ये सभी प्रवासी  है । शुक्रवार को कोरोना संक्रमित मिले है उनमें  कुदूरमाल के क्वॉरंटीन सेंटर में 36, जटगा पाली में 2 और होटल हरी मंगलम में 2 संक्रमित मिले हैं। इसकी जानकारी मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ बीबी बोर्ड ने दी है।

कोरबा में अब तक कुल 95 केस सामने आए है जिसमें से 54 मरीजों को ठीक होने के बाद डिस्चार्ज कर दिया गया है। कोरबा में अभी कोरोना के 41 केस एक्टिव हैं। जिसमें से अभी तक किसी की भी कोरोना से मृत्यु नहीं हुई है। कोविड हॉस्पिटल कोरबा में कोरोना संक्रमितों के लिए कुल 135 बेड है जिसमें जशपुर, जांजगीर और कोरबा के 43 मरीज अभी भर्ती हैं जिनका उपचार हॉस्पिटल में किया जा रहा है।


Previous123456789...2324Next