छत्तीसगढ़ » राजनांदगांव

Previous1234Next
Date : 22-Sep-2019

गृहमंत्री ने गणेश भवन में पहुंचकर शोक संतप्त परिवार को ढांढस बंधाया

राजनांदगांव, 22 सितंबर। वरिष्ठ साहित्यकार एवं चिंतक मोहन अग्रहरि के पौत्र, भिलाई नगर निगम के आयुक्त सुनील अग्रहरि का भतीजा एवं प्रेस क्लब राजनांदगांव के अध्यक्ष व वरिष्ठ पत्रकार सचिन अग्रहरि के पुत्र तथा युगांतर पब्लिक स्कूल के होनहार छात्र अभिलेख अग्रहरि का गत् दिनों निधन हो गया था। प्रदेश के गृह मंत्री ताम्रध्वज साहू शनिवार शाम पुराना गंज चौक स्थित गणेश भवन में पहुंचकर शोक संतप्त परिवार को ढांढस बंधाया। उन्होंने कहा कि मुझे इस खबर को सुनकर बहुत आघात लगा। इस अवसर पर प्रदेश काग्रेस के सह-सचिव जितेन्द्र मुदलियार, जिला कांगे्रस कमेटी के महामंत्री रमेश जैन, मोतीलाल साहू, पद्म कोठारी, वरिष्ठ पत्रकार राजेन्द्र व्यास, जितेन्द्र मिश्रा सहित अन्य कांग्रेस नेतागण उपस्थित थे।


Date : 22-Sep-2019

करमतरा में ग्रामीण महिला-पुरूष स्वच्छ ग्राम, सुंदर ग्राम का नारा बुलंद करने में जुट 
छत्तीसगढ़ संवाददाता 
राजनांदगांव, 22 सितंबर।
स्वच्छता को लेकर स्कूली बच्चे तो प्रतिबद्ध हैं ही, अब ग्रामीण महिला-पुरूष भी स्वच्छ ग्राम, सुंदर ग्राम के नारे बुलंद करने में जुट गए हैं। अब सुबह-शाम लोटा लेकर जाते कोई नहीं दिखता। हर घर में निर्मित शौचालय ने मां-बेटियों की लाज बचाई है। अब लोटा संस्कृति विलुप्त हो गई है।

शासकीय किसान उच्चतर माध्यमिक शाला करमतरा में शनिवार को विद्यार्थियों ने जनपद पंचायत डोंगरगांव से पधारे स्वच्छता समन्वयक संतोष साहू को उक्त बातें बताई। उन्हें बताया गया कि पहले एक समय था कि बिना लोटा के किसी का काम नहीं चलता था। सुबह उठकर सीधा लोटा ही याद आता था। इस बीच अगर कोई एक मिनट भी किसी को रूकने कहा जाता तो नहीं रूका जा सकता था और लोटा लेकर भागना ही पड़ता था। खुले में शौच की प्रवृति अब बंद हो चुकी है। सभी लोग घरों में बने शौचालय का उपयोग करने लगे हैं। लोटा संस्कृति अब विलुप्त हो गई है। साफ.-सफाई के प्रति ग्रामीण भी अब बेहद जागरूक हैं। इसके पहले प्राचार्य राजेश शर्मा ने दैनिक जीवन मे स्वच्छता के महत्व से सभी को वाकिफ  करवाया। समन्वयक संतोष साहू ने स्वच्छ सर्वेक्षण ग्रामीण ऐप्स की जानकारी देते सभी से अपना फीडबैक देने का आह्वान किया। 

इस अवसर पर शाला परिवार के संगीता तिवारी, अर्चना साहू, कमलेश्वरी चंदेल, युगेश्वरी साहू, नीलम सिंह, किसनराम सोरी, राकेश साहू, रामप्रसाद देवांगन, मनीष शर्मा, योगेंद्र सिंह ठाकुर उपस्थित थे।

 

 

 


Date : 22-Sep-2019

कलेक्टर ने आंगनबाड़ी केंद्र का किया निरीक्षण, अधिकारियों को तत्काल बिजली कनेक्शन देने के निर्देश दिए

छत्तीसगढ़ संवाददाता 
राजनांदगांव, 22 सितंबर।
कलेक्टर जयप्रकाश मौर्य ने डोंगरगांव विकासखंड के गनेरी के आंगनबाड़ी भवन में तत्काल बिजली कनेक्शन देने के निर्देश दिए हैं। श्री मौर्य गत् दिनों दौरे में आंगनबाड़ी का आकस्मिक निरीक्षण किया। उन्होंने वहां बच्चों के वजन रजिस्टर को चेक भी किया। कलेक्टर के पूछने पर आंगनबाड़ी के बच्चे निडर होकर अपने और माता-पिता का नाम बताए। बच्ची सुप्रिया ने मजेदार गिनती सुनाई। सुप्रिया ने एक से बीस तक गिनती आसानी से सुना दी, परंतु जैसे ही बीस के बाद तीस, चालीस कहने लगी कलेक्टर सहित सभी लोग हंस पड़े। श्री मौर्य ने बच्चों की प्रतिभा से प्रसन्न होकर उन्हें चॉकलेट खिलाई। श्री मौर्य किचन शेड में बच्चों के लिए बन रहे भोजन का भी अवलोकन किया।

आंगनबाड़ी में 21 बच्चे उपस्थित थे। श्री मौर्य ने बच्चों के साथ प्यार से बात करते उन्हें रोज आंगनबाड़ी आने को कहा। उन्होंने बच्चों और गर्भवती माताओं को दाल और सब्जी ज्यादा खिलाने की समझाइश दी। कलेक्टर जिस समय आंगनबाड़ी में थे। पंखा नहीं चल रहा था। उन्होंने इस ओर ध्यान जाते ही ग्राम पंचायत सचिव से पूछताछ की। सचिव ने बताया कि बिजली कनेक्शन नहीं लगा है। कलेक्टर ने मौके पर उपस्थित अधिकारियों को तत्काल कनेक्शन लगाने के निर्देश दिए। इस अवसर पर सरपंच कविता साहू, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. एसआर बंजारे, एसडीएम डोंगरगांव वीरेंद्र सिंह सहित अन्य स्थानीय जनप्रतिनिधि व आम नागरिक उपस्थित थे।

 


Date : 22-Sep-2019

जिला किसान संघ ने किसानों की ऋण माफी एवं अनियमित वर्षा से प्रभावित किसानों को राहत की मांग को लेकर आंदोलन का ऐलान किया

छत्तीसगढ़ संवाददाता 

राजनांदगांव, 20 सितंबर। सभी किसानों की ऋण माफी एवं अनियमित वर्र्षा से प्रभावित किसानों को राहत की मांग को लेकर आंदोलन का ऐलान जिला किसान संघ ने किया हैै। गत् दिनों जिला किसान संघ के प्रतिनिधि बैठक में यह निर्र्णय लिया गया। बैठक में कहा गया कि सम्पूर्र्ण ऋण माफी एवं मौसम प्रभावित किसानों को राहत की मांग को लेकर आगामी 14 अक्टूबर को जिला किसान संघ तगादा रैली निकालेगी।

सुदेश टीकम ने बताया कि 18 अगस्त को किसान मार्र्च निकालकर मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन सौंपा गया था एवं दस दिनों में सभी बैकों के सभी किसानों का कर्ज माफ करने एवं जिले को सूखाग्रस्त घोषित करने की मांग की थी, लेकिन इस पर अभी तक कोर्ई कार्रवाई नहीं हुर्ई है, इसे सरकार की किसानों के प्रति उदासीनता निरूपित किया। दस दिनों में कर्ज माफी का वादा कर सत्ता में आई सरकार आधा-अधूरा कर्ज माफी कर अब वाहवाही लूटने में ज्यादा रूचि ले रही है। 2017 का कर्ज ब्याज सहित वसूली कर किसानों से जहां वादा खिलाफी की गई, वहीं राष्ट्रीयकृत बैंकों के किसानों को स्वयं शासन द्वारा निर्र्धारित राशि भी पूरी नहीं दी गर्ई है। 
निजी बैंकों के केसीसी धारको का एक रुपए भी माफ नहीं किया गया है। 2017 के वसूली कर्ज को वापस कर ऋण माफी में लेने राष्ट्रीयकृत बैंकों के किसानों को पूरी राशि देने एवं निजी बैंकों के केसीसी धारकों का कर्र्ज भी माफ करने की मांग जिला किसान संघ कर रहा है। अनियमित वर्र्षा से प्रभावित किसानों को राहत की घोषणा की मांग सरकार से की जा रही है। इन्हीं दो सूत्रीय मांगो को लेकर तगादा रैली का आयोजन 14 अक्टूबर को किया जाएगा। जिला कार्यालय के सामने हजारों की संख्या में किसान इस दिन सडक़ पर उतरेंगे।

 


Date : 22-Sep-2019

कलेक्टर ने शासकीय प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र बडग़ांव-चारभांठा का आकस्मिक निरीक्षण किया

राजनांदगांव, 22 सितंबर। कलेक्टर जयप्रकाश मौर्य ने गत् दिनों ग्रामीण क्षेत्रों के दौरे में डोंगरगांव विकासखंड अंतर्गत शासकीय प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र बडग़ांव-चारभांठा का आकस्मिक निरीक्षण किया। श्री मौर्य ने वहां जनरल कक्ष, लेबर रूम, कोल्ड चैन कक्ष, डॉक्टर रूम में  इलाज की  सुविधाओं और विभिन्न व्यवस्थाओं को देखा। उन्होंने अधिकारियों को एएनएम की नियमित बैठक लेने के निर्देश दिए। अस्पताल परिसर में साफ-सफाई का विशेष ध्यान रखने के लिए भी निर्देशित किया गया। इस स्वास्थ्य केंद्र में 10 बिस्तर का अस्पताल भवन बनना है। स्वास्थ्य केंद्र भवन के पास ही इसके लिए जगह है। कलेक्टर ने अधिकारियों को जिला खनिज निधि से भवन बनवाने के लिए  प्रस्ताव तैयार करने के निर्देश दिए। इस अवसर पर मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. एसआर बंजारे, एसडीएम डोंगरगांव वीरेंद्र सिंह, विकासखंड चिकित्सा अधिकारी डॉ. रागिनी चन्द्रे भी उपस्थित थे।

 

 

 


Date : 22-Sep-2019

शासकीय उच्चतर माध्यमिक शाला जंगलपुर में ओजोन परत संरक्षण दिवस पर छात्रों ने मानव श्रृंखला बनाकर तथा रैली निकालकर ओजोन परत संरक्षण के प्रति जागरूकता का संदेश दिया

राजनांदगांव, 22 सितम्बर ।  शासकीय उच्चतर माध्यमिक शाला जंगलपुर में गत् दिनों ओजोन परत संरक्षण दिवस पर मानव श्रृंखला बनाकर तथा रैली निकालकर ओजोन परत संरक्षण के प्रति जागरूकता का संदेश दिया गया।  विद्यालय की प्राचार्र्य नीना गुप्ता के दिशा-निर्देशन तथा ईको क्लब प्रभारी बिन्दु तिवारी के मार्गदर्र्शन में बच्चों ने उत्साहपूर्र्वक भाग लेते ओजोन परत का क्षरण करने वाले पदार्थों के उत्सर्जन को रोकने का संकल्प भी लिया। इस अवसर पर विद्यालय के व्यख्याता सीपी साहू, पूनाराम यादव, बीएल साहू, क्षिप्रा चंदेल, भारती साहू, सुरेश साहू, मीनाक्षी सांडेकर, पूर्र्णिमा साहू, ज्योति वैष्णव, मनीष पांडे, अंजना साहू, पेमाराम साहू, अजहर इकबाल, सरोजीत सरदार सहित विद्यालय के छात्र-छात्राएं उपस्थित थे । 

 


Date : 22-Sep-2019

 त्यौहारी सीजन में प्याज के बढ़ते दाम, 70 रुपए किलो में बिक रहा

छत्तीसगढ़ संवाददाता
राजनांदगांव, 21 सितंबर।
त्यौहारी सीजन में प्याज के बढ़ते दाम से लोगों के आंखों से आंसू निकल रहा है। प्याज की खरीददारी के लिए बाजार में पहुंचते ही ग्राहक दाम सुनकर उल्टे पांव लौट रहे हैं। पिछले तीन महीने से प्याज की कीमतों में लगातार बढ़ोत्तरी हो रही है। प्याज की कमी के कारण लोगों का भोजन बेस्वाद होने लगा है। थोक बाजार में प्याज की कीमतें 50 रुपए पहुंच गई है। जाहिर तौर पर फुटकर बाजार में कीमतें 70 रुपए तक पहुंच गई है। बाजार में प्याज की घटती आवक भी कीमतों को बढ़ावा दे रही है। 

बताया जाता है कि प्याज की आपूर्ति नहीं होने से बाजार में भाव रोज बढ़ रहे हैं। इधर गृहणियों के लिए प्याज का बढ़ता दाम परेशानी खड़ा कर रहा है। दाम नहीं घटने के कारण सब्जियों का जायका भी फीका पड़ गया है। बताया जा रहा  कि प्याज की कीमतों में फिलहाल गिरावट होने की संभावना कम है। पितृपक्ष के समाप्त होते ही त्यौहार का दौर शुरू हो जाएगा। ऐसे में त्यौहारी सीजन में प्याज के दाम के कम होने के आसार नहीं है। बताया जाता है कि थोक और चिल्हर विक्रेता भी बढ़ती कीमत से परेशान है। प्याज खरीदने वाले ग्राहक दुकानों से बिदक रहे हंै। घरों में प्याज की छौंक लगाने वाली महिलाएं भी दाम सुनकर भौचक हो गई है। बताया जाता है कि दीवाली पर्व के दौरान भी कीमतों के घटने की संभावना नहीं है।

लालभाजी भी 60 रुपए किलो
सब्जी बाजार में भी आसमानी भाव सुनकर लोग हैरत में है। लालभाजी जैसी पत्तीदार सब्जी 60 रुपए किलो तक बिक रही है। इसी तरह पालक भाजी के दाम भी बढ़े हुए हैं। वहीं बरकट्टी 60 रुपए किलो, कुंदरू 40 रुपए किलो, भिंडी 40 रुपए, तोरई 80 रुपए किलो, कद्दू 20 रुपए किलो तक बाजार में बिक रही है। 

 


Date : 21-Sep-2019

प्रधानपाठ बैराज गेट टूटने पर दो अफसर निलंबित

छत्तीसगढ़ संवाददाता

राजनांदगांव, 21 सितंबर। खैरागढ़ ब्लॉक के प्रधानपाठ बैराज के गेट टूटने की प्रशासनिक जांच में तत्कालीन ईई ए. ग्राहम और एसडीओ वायके शर्मा को प्रारंभिक रूप से घटना के लिए दोषी ठहराते राज्य सरकार ने दोनों को निलंबित कर दिया है।

 बताया जाता है कि दोनों अफसर की निगरानी में उक्त बैराज का निर्माण हुआ था। करीब 60 करोड़ की लागत से बने इस बैराज के निर्माण में शुरूआत से ही अनियमितता की शिकायत राजनीतिक और गैर राजनीतिक स्तर पर होती रही है। बैराज के चार में से एक गेट अचानक टूट गया और बारिश का जमा पूरा पानी बह गया। जिले में इस बार औसत बारिश होने के कारण किसान बैराज के पानी से सिंचाई की आस लगाए हुए थे।

 जल संसाधन के सचिव अविनाश चंपावत ने प्रारंभिक जांच के बाद दोनों अफसर को घटना के लिए जिम्मेदार ठहराया है। बैराज निर्माण के दौरान दोनों अधिकारियों पर कथित रूप से घोटाला करने तथा गुणवत्ताविहीन सामानों को उपयोग किए जाने का आरोप लगता रहा है। उधर दोनों अधिकारियों के कार्यप्रणाली को लेकर जिले के पूर्व कलेक्टरों को शिकायत भी हुई। बैराज निर्माण के साथ अधिकारियों ने टिंगामली तक 3 करोड़ की लागत से बने सीसी रोड़ का निर्माण में गुणवत्ता को दरकिनार किया। 

इस संबंध में मौजूदा ईई जीड़ी रामटेके ने ‘छत्तीसगढ़’ से चर्चा करते कहा कि दोनों को निलंबित कर दिया गया हैं। बताया जाता है कि निलंबित ईई एक ग्राहम नारायणपुर जिले में पदस्थ है।


Date : 21-Sep-2019

विद्युत मीटर वाचक कल्याण संघ ने स्पाट बिलिंग कर्मचारियों पर हो रहे अन्याय को लेकर मोर्चा खोलते जिला प्रशासन से न्याय की लगाई गुहार

छत्तीसगढ़ संवाददाता
राजनांदगांव, 21 सितंबर।
छत्तीसगढ़ विद्युत मीटर वाचक कल्याण संघ ने स्पाट बिलिंग कर्मचारियों पर हो रहे अन्याय को लेकर मोर्चा खोलते जिला प्रशासन से न्याय की गुहार लगाते ज्ञापन सौंपा।
छत्तीसगढ़ विद्युत मीटर वाचक कल्याण संघ ने ज्ञापन में कहा कि स्पाट बिलिंग रीडर के साथ हो रहे अन्याय के खिलाफ आवाज उठाने पर सुपरवाईजर विजय राज सिंह नागवंशी के साथ मारपीट की गई है।  एवं विगत 4 वर्षों से अपने मांग के लिए बिजली विभाग के अधिकारियों को सूचना दी गई थी। इसके साथ केंद्र सरकार एवं राज्य सरकार की समस्त योजनाओं के अंतर्गत सभी कार्य हमारे द्वारा पूरी ईमानदारी से निष्पादित किया जाता है। साथ ही भविष्य निधि रायपुर विभाग, प्रबंध निर्देशक विद्युत मंडल रायपुर, जिला कार्यालय राजनांदगांव, श्रम अधिकारी कार्यालय  राजनांदगांव, विद्युत मंडल राजनांदगांव इन सभी जगहों पर पूर्व से ही सूचना दी गई थी जिस पर अभी तक उचित कार्रवाई नहीं हुआ है। इस विषय पर स्पाट बिलिंग वर्षा इंटरप्राईजेस दुर्ग के ठेकेदार करण तिवारी को भी अवगत कराया गया था। उनके द्वारा भी कोई निर्णय नहीं लिया गया है। इसी के साथ ठेकेदार द्वारा हें समझौता के लिए कहा गया था, ताकि रीडरों की मांग पूरी किया जा सके, जब भी रीडर अपनी मांग के लिए बात करते हैं तो ठेकेदार के मैनेजर मो. समीम खान द्वारा काम से निकालने की धमकी दी जाती है और इस बार विजय राज सिंह नागवंशी को बिना सूचित कर काम से निकाल दिया। ये सभी बात होने पर भी विभाग द्वारा कोई कार्रवाई नहीं किया जा रहा है। इसका मतलब सीधा-सीधा विभाग और ठेकेदार के बीच मिलीभगत होने की आशंका है। केशव साहू सुपरवाईजर डोंगरगढ़ डिवीजन से प्रति माह 2500 वर्षा इंटरप्राईजेस दुर्ग कंपनी के मैनेजर मो. समीम खान द्वारा अपने बैंक अकाउंट में पैसा मंगवाया जाता  था। संघ ने जिला प्रशासन से उक्त मामले में हस्तक्षेप कर न्याय दिलाने की मांग की है। ज्ञापन सौंपने के दौरान छत्तीसगढ़ विद्युत मीटर वाचक कल्याण संघ के पदाधिकारी व सदस्यगण मौजूद थे।

 

 


Date : 21-Sep-2019

नेशनल हाईवे पर एक कार ने ट्रेलर को मारी टक्कर, ड्राइवर गंभीर

छत्तीसगढ़ संवाददाता
राजनांदगांव, 21 सितंबर।
शनिवार सुबह नेशनल हाईवे पर एक कार ने ट्रेलर को जोरदार टक्कर मार दी। जिससे कार बुरी तरह क्षतिग्रस्त हो गया, वहीं कार चालक को गंभीर चोट पहुंची है। 

सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार शनिवार सुबह लगभग 8.30 बजे नेशनल हाईवे मुंदड़ाकुंज के समीप रायपुर से नागपुर की ओर जा रही एक ट्रेलर को एक कार ने जोरदार टक्कर मार दी। इससे कार बुरी तरह क्षतिग्रस्त हो गया। वहीं कार चालक को चोटें भी पहुंची है। 

बताया गया है कि ट्रेलर अपनी साइड में रायपुर से नागपुर की ओर जा रही थी। वहीं दूसरी ओर नागपुर से रायपुर की ओर आने वाली कार मुंदड़ाकुंज के समीप अनियंत्रित होकर डिवाईडर को पार करते ट्रेलर को जोरदार टक्कर मार दी। इससे कार बुरी तरह क्षतिग्रस्त हो गया। वहीं कार में सवार चालक को भी गंभीर चोट पहुंची है। घटना के बाद चालक को अस्पताल ले जाया गया।

 

 


Date : 21-Sep-2019

शहरी कार्यक्रमों में मंडावी की रूचि से संगठन में दो फाड़, विधायक इंद्रशाह के शहर में सक्रियता को लेकर चर्चा

छत्तीसगढ़ संवाददाता
राजनांदगांव, 21 सितंबर।
मोहला-मानपुर विधायक इंद्रशाह मंडावी के हाल ही में राजनांदगांव शहर व अन्य क्षेत्रों में सरकारी और गैर सरकारी कार्यक्रम में बतौर अतिथि मौजूदगी से कांग्रेस के शहर संगठन में दो फाड़ हो गया है। 

बताया जाता है कि मंडावी को एकदम से शहर में हो रहे सिलेसिलेवार कार्यक्रमों में मुख्य अतिथि बनाए जाने के पीछे कांग्रेस की गुटीय लड़ाई है। मंडावी के मौजूदगी से शहर कांग्रेस के कई नेता तिलमिलाए हुए हैं। सियासी रूप से मंडावी के जरिए आपसी लड़ाई में एक-दूसरे को पटखनी देना भी एक वजह माना जा रहा है। बतौर मोहला-मानपुर विधायक होने की वजह से शहर में उनकी बढ़ती राजनीतिक सक्रियता को नापंसद किया जा रहा है। मंडावी की शहरी कार्यक्रमों में बढ़ती रूचि से कई नेता नाखुश हो गए है। 

कहा जा रहा है कि मंडावी शहरी कार्यक्रम के जरिए जिलेें में अपनी राजनीतिक पैठ बनाने के इच्छुक है। कांग्र्रेस के शहरी नेताओं को मंडावी का आना-जाना नागवार गुजर रहा है। बताया जाता है कि आपसी गुटबाजी के कारण शहर कांग्रेस की राजनीति में तनातनी बढ़ी है। 

इस संबंध में उत्तर ब्लॉक के अध्यक्ष आसिफ अली ने कहा कि सामाजिक और गैर सामाजिक कार्यक्रमों में विधायक मंडावी को आमंत्रित किया जाता है। उनका कहना है कि वरिष्ठ नेताओं को भी कार्यक्रम के लिए सूचना दी जाती है। गुटबाजी और आपसी विवाद जैसी बात नहीं है। इस बीच कांग्रेस के चारों विधायकों में सिर्फ मंडावी को ही शहरी राजनीति से जोडऩे की कवायद चल रही है। बताया जाता है कि मंडावी के नांदगांव मे कदम रखने के कारण एक धड़ा विरोध में खड़ा हो गया है। 

संगठन स्तर पर मंडावी की आवाजाही को एक तरह से शहर की राजनीति को प्रभावित करने का आरोप लग रहा है। कहा जा रहा है कि जल्द ही प्रदेश नेतृत्व को इस मसले से अवगत कराया जा सकता हैं।

 

 


Date : 21-Sep-2019

कलेक्टर के निर्देश पर स्वास्थ्य विभाग द्वारा हैलोजन की तेज रौशनी से प्रभावितों के लिए गनेरी में स्वास्थ्य शिविर का आयोजन 

छत्तीसगढ़ संवाददाता 
राजनांदगांव, 21 सितंबर।
कलेक्टर जयप्रकाश मौर्य के निर्देश पर स्वास्थ्य विभाग द्वारा डोंगरगांव विकासखंड के ग्राम गनेरी में हैलोजन की तेज रौशनी के कारण आंखों की समस्या से पीडि़त लोगों का तीन दिन कैम्प लगाकर इलाज किया गया। वर्तमान में सभी प्रभावितों की हालत सामान्य है। गनेरी ग्राम पंचायत मनेरी का आश्रित गांव है। कलेक्टर श्री मौर्य ने शुक्रवार सुबह गनेरी पहुंचकर प्रभावितों से मुलाकात की और उनके स्वास्थ्य की जानकारी ली। गनेरी के ग्राम पंचायत भवन में स्वास्थ्य विभाग का कैम्प लगा है।

श्री मौर्य ने कैम्प में प्रभावित नागरिकों से बातचीत की और इलाज के संबंध में पूछताछ की। लोगों ने बताया कि विश्वकर्मा जयंती 17 सितंबर की रात को गांव में सांस्कृतिक कार्यक्रम का आयोजन किया गया था। कार्यक्रम में रोशनी के लिए हाईलोजन लाईट लगाई गई थी। उन्होंने बताया कि रात को कार्यक्रम देखने के बाद घर जाकर सो गए। सुबह उठने के बाद अनेक लोगों की आंखों में जलन और दर्द की समस्या आई। कई लोगों की आंखें खुल भी नहीं रही थीं। उन्होंने बताया कि स्वास्थ्य विभाग के कैम्प में इलाज कराने से उन्हें पूरी राहत मिली है। 

स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों और डॉक्टरों ने बताया कि 18 सितंबर की सुबह सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र के आईपीडी में गनेरी के 4-5 लोगों के आंखों की समस्या के मामले आए। डॉक्टरों के पूछने पर लोगों ने पूरी बात बताई। सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र के डॉक्टरों और विकासखंड चिकित्सा अधिकारी ने तुरंत इसकी सूचना जिला स्तर के स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को दी।

 मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. एसआर बंजारे ने बताया कि इस मामले में तत्परता से कार्रवाई करते हुए 18 सितम्बर को ही डॉक्टरों की टीम भेजी गई। प्रभावित लोगों की आंखों में लालिमा, पानी निकलना, जलन, दर्द तथा अस्थायी तौर पर कम दिखने की समस्या थी। टीम के सदस्यों द्वारा गनेरी पहुंचकर इलाज शुरू कर दिया। 160-170 लोगों के प्रभावित होने की जानकारी मिली। जिला मुख्यालय से भी आंखों के डॉक्टरों की टीम बुलाकर तुरंत इलाज किया गया। टीम के सदस्यों ने 18 सितम्बर की रात रूक कर प्रभावितों की आंखों में लगातार ड्राप डालने के साथ अन्य दवाईयां दी। 19 सितम्बर को भी नियमित इलाज किया गया। 

इस अवसर पर सरपंच अनिता साहू, अनुविभागीय अधिकारी राजस्व डोंगरगांव वीरेन्द्र सिंह, विकासखंड चिकित्सा अधिकारी डोंगरगांव डॉ. रागिनी चंद्रे सहित स्वास्थ्य विभाग और अन्य विभागों के अधिकारी-कर्मचारी, स्थानीय जनप्रतिनिधि और आम नागरिक उपस्थित थे।

 

 

 

 


Date : 21-Sep-2019

महापौर ने किया लखोली क्षेत्र का निरीक्षण कर नागरिकों से की चर्चा और कंचनबाग में रोड, नाली निर्माण कार्य प्रारंभ कराने तकनीकी अधिकारियों को निर्देशित किया

छत्तीसगढ़ संवाददाता 
राजनांदगांव, 21 सितंबर।
वार्ड निरीक्षण की कड़ी मेें महापौर मधुसूदन यादव ने लखोली क्षेत्र का निरीक्षण कर नागरिकों से रूबरू होकर चर्चा की और कंचनबाग में रोड, नाली निर्माण कार्य प्रारंभ कराने तकनीकी अधिकारियों को निर्देशित किया।

निरीक्षण की कड़ी में महापौर श्री यादव ने लखोली कंचनबाग में अमृत मिशन योजनांतर्गत चल रहे टंकी निर्माण एवं पाईप लाइन विस्तार कार्य के संबंध में जल विभाग के अधिकारी एवं पीडीएमसी के अधिकारी से जानकारी ली। अधिकारियों ने कहा कि कंचनबाग में पानी टंकी का निर्माण कार्य पूर्ण हो चुका है और टंकी टेस्टिंग का कार्य प्रगति पर है। टेस्टिंग के लिए विभिन्न चरणों में पानी भरकर टंकी की टेस्टिंग की जा रही है। टेस्टिंग उपरांत टंकी से पानी सप्लाई की जाएगी। महापौर श्री यादव ने बताया कि शासन योजनांतर्गत मिशन अमृत के तहत नगर में इंटकवेल, टंकी निर्माण, केनाल में पाईप लाईन बिछाने के साथ-साथ वार्डों में पाईप लाइन विस्तार किया जाना है। जिसके तहत मोहारा शिवनाथ नदी में इंटक वेल एवं 17 एमएलडी के फिल्टर प्लांट का निर्माण किया जा रहा है। साथ ही नगर के विभिन्न क्षेत्रों में 6 स्थानों पर पानी टंकी का निर्माण किया जा रहा है। इसके अलावा वार्डों मेेें पाईप लाइन बिछाने का कार्य भी किया जा रहा है।

इसी कड़ी में लखोली कंचन बाग में 13.50 लाख लीटर क्षमता की पानी टंकी निर्माण कार्य पूर्ण हो चुका है। जिसकी टेस्टिंग की जा रही है। टेस्टिंग उपरांत लखोली एवं आसपास के क्षेत्र मेें बिछे पाईप लाइन से पानी सप्लाई की जाएगी। जिससे उक्त क्षेत्रवासियों को जल संकट से निजात मिलेगी और पर्याप्त पेयजल प्राप्त होगा। उन्होंने पाईप लाइन विस्तार के कारण गलियों व सडक़ों में हुए गढ्ढों को तत्काल फिलिंग करने के निर्देश जल विभाग के अधिकारी को दिए, ताकि आवागमन में परेशानी न हो। निरीक्षण के दौरान उन्होंने कंचनबाग में विश्वकर्मा मंदिर के पास नाली निर्माण एवं मुस्लिम कब्रिस्तान के बाजू रोड निर्माण कार्य प्रारंभ करने तकनीकी अधिकारियों को निर्देशित किए।


Date : 21-Sep-2019

यातायात पुलिस ने शराब पीकर वाहन चलाने एवं बिना लाईसेंस तथा बिना बीमा के वाहन चालकों के विरूद्ध की कार्रवाई, मालिकों से 72 हजार जुर्माना

छत्तीसगढ़ संवाददाता 
 राजनांदगांव, 21 सितंबर।
यातायात पुलिस ने शराब पीकर वाहन चलाने एवं बिना लाईसेंस तथा बिना बीमा के वाहन चालकों के विरूद्ध कार्रवाई की गई। इसमें कुल 15 वाहन चालक शराब पीकर वाहन चलाते पाए गए। उक्त सभी वाहन चालकों के विरूद्ध मोटर व्हीकल एक्ट की धारा 185 एवं अन्य धाराओं के अंतर्गत कार्रवाई किया गया। 

पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार मेटाडोर क्र. सीजी-07-एनए-2277 के प्रेम प्रभात को शराब पीकर तथा बिना लाईसेंस वाहन चालन करते पाए जाने पर उसके विरूद्ध मोटर व्हीकल एक्ट की धारा 3/181 एवं 185,115/190(2) मोटरयान अधिनियम के अंतर्गत कार्रवाई किया गया। साथ ही बिना लाईसेंस वाले व्यक्ति को वाहन चलाने देने पर वाहन मालिक पर कार्रवाई किया गया और मोटर एक्ट की धारा 5/180 तथा 115/190(2) की कार्रवाई कर मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट के न्यायालय मे पेश किया, जहां चालक पर 17000 तथा वाहन स्वामी पर 7000 अर्थदंड इस तरह कुल 24000 का अर्थदंड से दंडित किया गया।

इसी तरह चालक मुकेश गजभिये और अमरूराम यादव को शराब पीकर चलाते पाए गए थे। चेक करने पर वाहन का बीमा नहीं पाए जाने पर मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट द्वारा मो.व्ही. एक्ट की धारा 185 शराब सेवन के तहत प्रत्येक को 10000 बीमा नहीं होने पर प्रत्येक को 2000 तथा मो.सा. मालिक को बिना बीमा धारा 146/196 मो.व्ही. एक्ट के तहत प्रत्येक को 2000 रुपए कुल 28000 अर्थदंड से दंडित किया गया। उसी प्रकार मो.सा. चालक सुरेश कुमार व बाबूलाल  को  शराब पीकर वाहन चलाते पाए जाने पर प्रत्येक को  10000 अर्थदंड से दंडित किया गया। इस तरह माननीय मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट द्वारा उक्त वाहन चालकों से कुल 72000 रुपए अर्थदंड वसूल किया गया। उक्त कार्रवई निरीक्षक राजेश साहू यातायात एवं हमराह स्टाफ  द्वारा किया गया। इसी प्रकार शेष वाहनों पर कार्रवाई कर यातायात शाखा में रखा गया है। वाहन चालकों की उपस्थिति पर माननीय न्यायालय में पेश किया जाएगा।

 

 


Date : 21-Sep-2019

डेयरी फार्मों की वैधता की जांच के लिए टीम गठित, शिकायत के बाद जांच शुरू-निगम आयुक्त 
छत्तीसगढ़ संवाददाता 
राजनांदगांव, 21 सितंबर।
नगर निगम सीमांतर्गत रहवासी क्षेत्रों में चलाए जा रहे डेयरी फार्मों की मौका जांच कर उनकी वैधता के संबंध में जांच किए जाने नगर निगम आयुक्त चंद्रकांत कौशिक ने जांच टीम का गठन किया है।

नगर निगम आयुक्त श्री कौशिक ने बताया कि अवैध रूप से डेयरी व्यवसाय किए जाने के साथ-साथ डेयरी व्यवसायियों द्वारा गाय, भैंस को गलियों में छोड़ दिया जाता है। जिससे गंदगी के साथ-साथ रहवासियों को आने-जाने आदि कई प्रकार की परेशानी का सामना करना पड़ता है। इसी प्रकार बल्देवबाग वार्ड नं. 16 के रहवासियों द्वारा शिकायत की गई है कि गली नं. 2 में शिवमल्याणी के घर के बाजू डेयरी संचालक लाला यादव द्वारा विगत 25 वर्षों से डेयरी संचालन किया जा रहा है एवं उनके द्वारा लगभग 40 गाय-भैंसो को छोड़ दिया जाता है। जिससे गंदगी के साथ-साथ रहवासियोंं को शारीरिक व मानसिक रूप से परेशानी एवं उन पशुओं द्वारा शारीरिक क्षति पहुंचाए जाने की भी शिकायत प्राप्त हुई है। उक्त बातों को ध्यान मेें रखते डेयरी फार्म की वैधता की जांच के लिए टीम का गठन किया गया है। जिसका नोडल अधिकारी सहायक अभियंता जयनारायण श्रीवास्तव को बनाया गया है। सहायक अभियंता कामना सिंह यादव, प्र.स्वास्थ्य अधिकारी अजय यादव, उप अभियंता दिलीप मरकाम, राजस्व प्रभारी सुरेन्द्र साव, स्वच्छता निरीक्षक राजेश मिश्रा व लिपिक प्रकाश साहू को सहायक व सदस्य बनाया गया है।

आयुक्त श्री कौशिक ने बताया कि उक्त जांच टीम बल्देवबाग के निवासियों द्वारा किए गए शिकायत के साथ-साथ निगम सीमाक्षेत्र में चलाए जा रहे सभी डेयरी फार्मों का मौका जांच कर उनकी वैधता के संबंध में प्रतिवेदन प्रस्तुत करेंगे तथा नगर पालिक निगम अधिनियम 1956 की धारा 264, 265, 266, 267, 268 व 269 के साथ साथ धारा 440 में प्रदत्त अधिकारों के तहत आर्थिक जुर्माना की कार्रवाई एवं उक्त सभी धारा के अंतर्गत उनके विरूद्ध विधिक एवं प्रतिबंधात्मक कार्रवाई किया जाना सुनिश्चित करेंगे। इसके साथ ही अपराधिक प्रक्रिया सहिता की धारा 133 अंतर्गत सक्षम न्यायालय के समक्ष विधिक एवं आवश्यक कार्रवाई किया जाना सुनिश्चित करेंगे।

 


Date : 21-Sep-2019

राजस्व प्रकरणों के निराकरण की प्रगति पर कलेक्टर ने जताई नाराजगी

राजनांदगांव, 21 सितंबर।  कलेक्टर जयप्रकाश मौर्य ने डोंगरगांव, डोंगरगढ़ और छुईखदान के तहसीलदार न्यायालयों और नायब तहसीलदार न्यायालयों के राजस्व प्रकरणों की समीक्षा और निराकरण करने विशेष कैम्प लगाने के निर्देश राजस्व विभाग के अधिकारियों को दिए हैं। कैम्प में अपर कलेक्टर  एवं संबंधित एसडीएम भी मौजूद रहेंगे। श्री मौर्य ने शुक्रवार को ग्रामीण क्षेत्रों के दौरे में अचानक तहसीलदार न्यायालय डोंगरगांव पहुंच गए। उन्होंने न्यायालय में बैठकर सुनवाई के लिए रखे गए अनेक प्रकरणों की फाईलों को बारीकी से पढ़ा। श्री मौर्य ने अनेक प्रकरणों के लंबे समय तक निराकरण नहीं होने की स्थिति पर गंभीर नाराजगी जताई। विभिन्न प्रकरणों में पन्ने पलट-पलटकर पेशी की तारीख में की गई कार्रवाईयों के संबंध में अधिकारियों से पूछताछ की। 

श्री मौर्य ने मौके पर ही अनेक प्रकरणों में पक्षकारों को बुलाकर मामलों की जानकारी ली और राजस्व विभाग के अधिकारियों से जवाब-तलब किया। उन्होंने तहसील न्यायालय में एक घंटे से अधिक समय तक बैठकर अनेक प्रकरणों की सुनवाई भी की। अनेक पक्षकारों ने लंबे समय से प्रकरण लंबित होने की शिकायत भी की। श्री मौर्य ने प्रकरणों में लगातार पेशी होने के बाद भी सुलझाए नहीं जाने पर असंतोष व्यक्त किया। श्री मौर्य प्रकरणों में 10-15 पेशी के बाद भी पटवारियों से प्रतिवेदन नहीं मिलने पर नाराज भी हुए। कलेक्टर ने तहसीलदार न्यायालय डोंगरगांव के रीडर के कार्यों को लेकर भी नाराजगी जताई। श्री मौर्य ने कहा कि राजस्व प्रकरणों के निराकरण के लिए समय-सीमा तय है। पक्षकारों की सुविधा के लिए प्रकरणों का निराकरण समय-सीमा में किया जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि राजस्व विभाग के कार्य आम लोगों से सीधे तौर पर जुड़े होते हैं। मामलों का निराकरण करके लोगों को राहत पहुंचाना राजस्व अधिकारियों दायित्व है।  तहसीलदार शिवकुमार कंवर ने बताया कि एक माह पहले ही उन्होंने डोंगरगांव तहसील का चार्ज लिया है। वे मूल रूप से छुरिया तहसीलदार हैं। कार्यालय दिवस में 11 बजे से 2 बजे तक छुरिया तहसील में बैठते हैं। उसके बाद डोंगरगांव तहसील न्यायालय में कार्य करते हैं। 

श्री मौर्य ने तहसील कार्यालय से ही अपर कलेक्टर श्री एमएस मोटवानी को मोबाईल से डोंगरगांव, डोंगरगढ़ और छुईखदान के तहसीलदार एवं नायब तहसीलदार न्यायालयों में लंबित राजस्व प्रकरणों के निराकरण के लिए कैम्प लगाने के निर्देश दिए। इस अवसर पर अनुविभागीय अधिकारी राजस्व डोंगरगांव वीरेन्द्र सिंह भी उपस्थित थे। 


Date : 20-Sep-2019

मतदाता सूची में नाम दर्ज कराने तिथि बढ़ी, कांग्रेसियों ने की थी निर्वाचन आयोग से मांग

छत्तीसगढ़ संवाददाता  
राजनांदगांव, 20 सितंबर।
नगर निगम में नेता प्रतिपक्ष हफीज खान की मांग पर छत्तीसगढ़ राज्य निर्वाचन आयोग रायपुर ने नगर निगम क्षेत्र में मतदाता सूची में नाम जुड़वाने की तिथि को 21 सितंबर तक बढ़ा दी है। अब वंचित मतदाता 21 सितंबर तक अपना नाम मतदाता सूची में दर्ज करा सकेंगे।

छत्तीसगढ़ राज्य निर्वाचन आयोग रायपुर द्वारा 19 सितंबर को जारी आदेश के अनुसार अब कोई भी ऐसा व्यक्ति जो 18 वर्ष पूर्ण कर चुका है और मतदाता सूची में नाम नहीं जुड़ पाया है, ऐसे सभी लोग 21 सितंबर तक अपना नाम मतदाता सूची में दर्ज करा सकते हैं। जारी आदेश के तहत अब 24 सितंबर तक दावा-आपत्ति की जा सकेगी और पांच दिनों के भीतर निराकरण आदेश के विरूद्ध अपील की जा सकेगी।

ज्ञात हो कि गत 16 सितंबर को श्री खान के साथ शहर जिला कांग्रेस कमेटी के प्रवक्ता रूपेश दुबे, शहर जिला कांग्रेस कमेटी के पूर्व अध्यक्ष अलालीराम यादव आदि ने स्थानीय निर्वाचन के प्रभारी अधिकारी एमडी तिगाला से वार्डों में मतदाता सूची में नाम दर्ज कराने तिथि बढ़ाने की मांग की थी। श्री खान ने मतदाता तिथि में नाम जुड़वाने के लिए तिथि बढ़ाए जाने पर हर्ष व्यक्त किया है। उन्होंने नगर निगम क्षेत्र के उन सभी लोगों से मतदाता सूची में नाम दर्ज कराने एवं मतदान में भाग लेने की अपील की है। जिनके नाम किन्हीं कारणों से मतदाता सूची में दर्ज नहीं हो पाया है।

 

 


Date : 20-Sep-2019

नांदगांव शहर को दोबारा मिलेगी महिला मेयर
छत्तीसगढ़ संवाददाता
राजनांदगांव, 20 सितंबर।
राजनांदगांव नगर निगम की मेयर की सीट पर करीब डेढ़ दशक बाद एक महिला महापौर का बैठना तय है। वर्ष 2005 में प्रत्यक्ष महापौर चुनने की प्रक्रिया में भाजपा को शानदार कामयाबी मिली थी। भाजपा की शोभा सोनी ने भारी अंतर से हेमा देशमुख को शिकस्त देकर शहर की पहली महिला मेयर होने गौरव अपने नाम किया था। इस बीते अवधि के साथ अब दोबारा आरक्षण में ओबीसी महिला को मेयर बनने का मौका मिला है।

 भाजपा के लिए मौजूदा दौर राज्य में सरकार बदलने के कारण चुनौतीपूर्ण बन गया है। कांग्रेस सरकार के लिए निकाय चुनावों में अपनी छाप छोडऩे की स्वाभाविक चुनौती खड़ी है। निकाय चुनावों में कांग्रेस को अपना राजनीतिक वर्चस्व बनाए रखने के लिए मेहनत करनी होगी। वहीं भाजपा जिले के सभी निकायों में जीत दर्ज कर वापसी करने का मंसूबा लिए हुए है। हालांकि भाजपा शासनकाल में निकाय चुनाव में भाजपा को जिले में हार का स्वाद चखना पड़ा था। सत्तारूढ़ रहते भाजपा को स्थानीय निकाय की जनता से नापसंद कर दिया था। राजनांदगांव मेयर भाजपा के खाते में जाने से पार्टी की लाज बच गई। वहीं एकमात्र छुईखदान नगर पंचायत में भाजपा को जीत नसीब हुई। 

राजनीतिक रूप से स्थानीय निकायों में भाजपा मौजूदा कांग्रेस सरकार की खामियों के दम पर जोरदार वापसी कर सकती है। बशर्ते पार्टी में अंदरूनी कलह पर नकेल कसने ठोस कदम उठाने होंगे। इधर राजनांदगांव महापौर के लिए कांग्रेस-भाजपा की महिला नेत्रियों को बीच टकराव बढऩे के आसार है। 

बताया जाता है कि दोनों दल की चुनिंदा महिलाएं राजनीतिक रूप से सक्रिय रही हैं। ओबीसी महिला होने के बाद दोनों दल के नेता अपनी पत्नियों के नाम को उछालने आगे आ गए है। बताया जाता है कि कांग्रेस में महिला नेत्रियों को टोटा होना पार्टी की परेशानी को बढ़ा सकता है। भाजपा के एक एक-दो नेत्रियों को छोड़ दे तो उत्कृष्ट चेहरे की भारी किल्लत हैं।

 


Date : 20-Sep-2019

कलेक्टर ने नरेन्द्र वर्मा को राज्य शासन की खादी ग्राम योजना की मदद से टेंट व्यवसाय शुरू करने 35 हजार रुप के अनुदान का चेक सौंपा

छत्तीसगढ़ संवाददाता
राजनांदगांव, 20 सितंबर।
कभी मजदूरी में टेंट लगाने का काम करने वाले सागिनकछार के नरेन्द्र कुमार वर्मा राज्य शासन की खादी ग्राम योजना की मदद से आज खुद का टेंट व्यवसाय शुरू कर दिया है। नरेन्द्र वर्मा को योजना के तहत 95 हजार रुपए का ऋण स्वीकृत किया गया है। इसमें से 35 हजार रुपए का अनुदान राज्य शासन से मिला है। उन्होंने लोन लेते समय 5 हजार रुपए का अंशदान दिया है। ऋण की शेष राशि 60 हजार रुपए 5 साल में आसान मासिक किस्तों में जमा करना है।

कलेक्टर जयप्रकाश मौर्य ने अपने कक्ष में नरेन्द्र वर्मा को राज्य शासन की ओर से दिए गए 35 हजार रुप के अनुदान का चेक सौंपा। इस अवसर पर सहायक संचालक ग्रामोद्योग राकेश ठाकुर भी उपस्थित थे। नरेन्द्र कुमार ने बताया कि उन्होंने मजदूरी में टेंट लगाने का काम 4-5 साल तक किया। टेंट लगाने के काम में अनुभव होने के बाद उन्होंने खादी ग्राम योजना के तहत टेंट व्यवसाय शुरू करने ऋण के लिए आवेदन दिया। 

ऋण राशि मिलने के बाद उन्होंने माईक सिस्टम और सिलिंग (टेंट सेट)  खरीदकर काम शुरू किया। श्री वर्मा ने बताया कि टेंट व्यवसाय से हो रही आमदनी से उनका परिवार चल रहा है। आमदनी में से कुछ पैसे बचाकर इस व्यवसाय के लिए जरूरी  सामग्री उन्होंने खरीदी है। नरेन्द्र कुमार के पास दो एकड़ खेती जमीन भी है। टेंट व्यवसाय से उन्हें अतिरिक्त आमदनी हो रही है। 

 


Date : 20-Sep-2019

मोहला-मानपुर के छात्रावास अधीक्षक भी लेंगे कक्षाएं- विधायक
छत्तीसगढ़ संवाददाता 
राजनांदगांव, 20 सितंबर।
मोहला-मानपुर क्षेत्र में शिक्षकों की कमी के चलते अध्यापन कार्य प्रभावित होने की शिकायत के बाद प्रशासन ने छात्रावास अधीक्षकों को भी विद्यार्थियों को पढ़ाने का अतिरिक्त जिम्मा सौंपा है। बताया जाता है कि क्षेत्रीय विधायक इंद्रशाह मंडावी के समक्ष शिक्षकों की कमी को लेकर  लगातार शिकायतें आ रही थी। इसके चलते उन्होंने प्रशासन को छात्रावास अधीक्षकों को दो पीरियड लेने का आदेश दिया था। आदिम जाति कल्याण विभाग ने तत्काल इस पहल को अमलीजामा पहनाते हुए आदेश जारी कर दिया है।

वनांचल क्षेत्र में शिक्षकों की कमी और गुणवत्ता को देखते सभी छात्रावास अधीक्षक को अनिवार्य रूप से इस आदेश का पालन करने कहा गया है। इसकी रिपोर्ट भी बीईओ को तैयार करने कहा गया है। छात्रावास अधीक्षक माध्यमिक और उच्चतर माध्यमिक  शालाओं में अपनी सेवाएं देंगे। कक्षाओं की जानकारी भी अधीक्षक स्कूल की पंजी में दर्ज करेंगे। क्षेत्र के जिन स्कूलों में शिक्षकों की कमी है वहां डीएमएफ मद से शिक्षकों की व्यवस्था की जाएगी। जिन विषयों की शिक्षकों की कमी बनी हुई है उसके लिए स्थानीय बेरोजगार युवकों को मौका दिया जाएगा। इन्हें भुगतान डीएमएफ मद से किया जाएगा। वहीं मानपुर विधायक  श्री मंडावी द्वारा इसके लिए प्रस्ताव बनाकर शासन को  प्रस्ताव भेजने की तैयारी है। 

मिली जानकारी के अनुसार मानपुर, मोहला व अंबागढ़ चौकी क्षेत्र में लगभग 80 से अधिक स्कूल ऐसे हैं जहां अध्यापन के लिए केवल एकमात्र शिक्षक मौजूद हैं। इसके चलते इन स्कूलों की व्यवस्था बुरी तरह से प्रभावित हो रही है। हालात ये है कि वनांचल के विद्यार्थियों को स्वयं की व्यवस्था से मुख्य परीक्षा के लिए तैयार होना पड़ता है। शिक्षकों की कमी का असर विद्यार्थियों के रिजल्ट पर भी पड़ रहा है। सबसे बुरी स्थिति गणित, विज्ञान व अंग्रेजी के शिक्षकों को लेकर है। विधायक की पहल से जहां स्कूलों में शिक्षकों की कमी दूर होगी। वहीं स्थानीय बेरोजगार युवकों को भी रोजगार मिल पाएगा। हाल ही में अतिथि शिक्षक के रूप में बस्तर इलाके में सेवा दे रहे युवकों को बाहर का रास्ता दिखा दिया गया है। मोहला-मानपुर इलाके से बड़ी संख्या में युवा बस्तर में सेवा दे रहे थे, जिन्हें अब गृह जिले के स्कूलों में ही डीएमएफ मद से शिक्षक के रूप में काम करने का मौका मिल सकेगा।

 

 


Previous1234Next