छत्तीसगढ़ » महासमुन्द

Previous123Next
Date : 22-Sep-2019

लिपिक वर्गीय शासकीय कर्मचारी संघ के पदाधिकारियों ने वेतनमान सहित अन्य समस्याओं को लेकर विधायक से मुलाकात की 

छत्तीसगढ़ संवाददाता 
महासमुंद, 22 सितंबर।
वेतनमान सहित अन्य समस्याओं को लेकर छत्तीसगढ़ लिपिक वर्गीय शासकीय कर्मचारी संघ के पदाधिकारियों ने विधायक विनोद सेवनलाल चंद्राकर से मुलाकात की। जिस पर विधायक श्री चंद्राकर ने उनकी समस्याओं के निराकरण के लिए शासन का ध्यान आकर्षित कराने का आश्वासन दिया।

कर्मचारी संघ के पदाधिकारी सीके तिवारी, केके चंद्राकर, एलआर तारम, संदीप तिवारी, रोहित धु्रव व आदित्य अग्रवाल ने शनिवार को विधायक निवास पहुंचकर विधायक श्री चंद्राकर से मुलाकात की। 

पदाधिकारियों ने विधायक को बताया कि राज्य निर्माण के बाद से लिपिक संवर्गों के वेतनमानों में निरंतर क्षरण को दूर करने तथा लिपिक वर्गीय कर्मचारियों के सामान्य हितों का संरक्षण करने के लिए उनका संघ निरंतर संघर्ष कर रहा है। लिपिक संवर्गों के वेतनमान के निराकरण के लिए उच्च स्तरीय समिति गठित की गई है। समिति द्वारा अनुशंसित अनेक संवर्गों के वेतनमानों का उन्नयन कर निराकरण किया गयाहै किंतु जिस संवर्ग के लिए समिति का गठन किया गया है, समिति द्वारा अनुशंसा के पश्चात भी लिपिकों के वेतनमानों में उन्नयन नहीं किया गया है। उक्त समिति द्वारा जिन संवर्गों के वेतनमान के उन्नयन के लिए अनुशंसा नहीं भी की गई थी उन संवर्गों के वेतनमानों का उन्नयन शासन द्वारा किया जा चुका है। लिपिकों को अपने कार्य से संबंधित कानून व नियमों का पर्याप्त ज्ञान होना आवश्यक है। सहायक ग्रेड तीन, जो प्रशासन के ढांचे की प्रथम सीढ़ी है, जिसका अनुत्तरदायी होना पूरे प्रशासन के लिए सही नहीं कहा जा सकता है। उन्होंने उनकी समस्याओं के निराकरण करने की मांग की। जिस पर विधायक श्री चंद्राकर ने उनकी समस्याओं की ओर शासन का ध्यान आकर्षित कराने का आश्वासन दिया है।

 

 


Date : 22-Sep-2019

पॉपुलेशन रिसर्च सेंटर कर्नाटका ने किया स्वास्थ्य केंद्रों का निरीक्षण

छत्तीसगढ़ संवाददाता 
महासमुंद, 22 सितंबर।
राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन अंतर्गत जिले में मिलने वाली स्वास्थ्य सुविधाओं की जानकारी लेने कर्नाटक के अफसरों ने निरीक्षण कर दिशा-निर्देश देते हुए केंद्र व राज्य स्तर से वांछनीय सहयोग देने आश्वस्त किया।

उल्लेखीनय है कि शनिवार को यह टीम राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन अंतर्गत जिले में मिलने वाली स्वास्थ्य सुविधाओं का निरीक्षण करने पहुंची थी। जिसमें, डॉ. राजा राम के.ई.टी., असिस्टेंट प्रोफेसर, धारवाड़ जे.एस.एस. पॉपुलेशन रिसर्च सेंटर, कर्नाटका एवं उनके सहयोगी डाटा असिस्टेंट सी.एन.नोलवी द्वारा क्रमश: प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र बिरकोनी और उप-स्वास्थ्य केंद्र अछोली का निरीक्षण किया गया। करीब-करीब हर जगह जाकर उन्होंने वहां की व्यवस्थाओं का जायजा लिया। सबसे पहले ओ.पी.डी. और आई.पी.डी. सहित विभिन्न विभागों, वार्डों व प्रसव कक्ष की ओर रुख किया और जरूरी दस्तावेज परखे।

इस दौरान मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ.एस.पी.वारे के निर्देशन व सिविल सर्जन सह-अस्पताल अधीक्षक डॉ.आर.के.परदल की अगुआई में जिला कार्यक्रम प्रबंधक संदीप ताम्रकार सहित अस्पताल सलाहकार डॉ.निखिल पुरी गोस्वामी व उनका दल भी निरिक्षणकर्ताओं के साथ निरंतर बना रहा। जिन्होंने, राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन अंतर्गत केंद्र व राज्य की योजनाओं में मिलने वाली सुविधाओं के संदर्भ में निरीक्षण अमले को अवगत कराया। आधारभूत संरचना, मानव संसाधन,  आवश्यक मशीनरी की अनुपलब्धता के संबंध में भी जानकारी दी। 

विभाग की विभिन्न योजनाओं सहित स्वास्थ्य प्रबंधन व सूचना प्रणाली के बारे में अवगत कराया गया। अंतिम दौर में निरिक्षणकर्ता दल ने जिलाधिकारियों को विज्ञान के क्षेत्र में हो रहे नये बदलाव अपनाने और चिकित्सा संबंधी अत्याधुनिक प्रणालियों से लैस होकर सुविधाओं को समय-समय पर अपडेट करते हुये मरीजों को और भी बेहतर स्वास्थ्य सुविधायें प्रदान करने के लिये निर्देशित किया।

 

 


Date : 22-Sep-2019

देवारपारा में विशेषज्ञ चिकित्सकों की टीम ने शहर की बस्तियों में स्वास्थ्य शिविर का आयोजन 

छत्तीसगढ़ संवाददाता 
महासमुंद, 22 सितंबर।
जिला स्वास्थ्य सेवा और राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन महासमुंद जो गैर-शासकीय स्वास्थ्य संस्थानों से आगे निकल कर बेहतर स्वास्थ्य सेवाएं प्रदान करने अस्पताल के साथ घर-घर जाकर मरीजों का नि:शुल्क इलाज कर रहा है।

इसी कड़ी में मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. एस.पी. वारे के निर्देशानुसार स्वास्थ्य विभाग के जिला कार्यक्रम प्रबंधक संदीप ताम्रकार सहित विशेषज्ञ चिकित्सकों की टीम ने शहर की कई बस्तियों में भ्रमण किया जानकारी एकत्र की और परेशानियां दूर करने वार्ड क्रमांक 04 स्थित, देवार पारा में स्वास्थ्य शिविर लगाया। इस दौरान मरीजों को घरों में साफ-सफाई रखने और स्वस्थ जीवन कौशल शैली अपनाने के लिए कहा गया। विशेष रूप से शिशु व जननी सुरक्षा पर जोर दिया गया। जागरूकता हेतु संदेश व समझाइश भी दी गई, जिससे प्रेरित हो महिला-पुरुष सहित विशेष रूप से गर्भवती महिलाओं ने घर-प्रसव त्याग कर अस्पताल प्रसव कराने पर सहमति दी।

दूसरी ओर गैर संचारी रोग विभाग की जिला सलाहकार अदीबा बट्ट के मार्गदर्शन में तंबाकू नियंत्रण पर भी लोगों का ध्यान आकर्षित किया गया। स्मोकरलाइजऱ माध्यम से व मशीनों के माध्यम से मनोवैज्ञानिक सलाहकार मेघा ताम्रकार ने मरीजों की जांच की। शासकीय सामाजिक कार्यकर्ता असीम श्रीवास्तव ने लोगों को नशा उन्मूलन के लिये जागरूक किया। तकरीबन सैकड़ा भर मरीज शिविर में लाभान्वित हुये। 

 

 


Date : 22-Sep-2019

विश्व हिंदू परिषद व बजरंग दल नगर ने फूंका पुतला, पुलिस ने रोका

महासमुंद, 22 सितंबर। विश्व हिंदू परिषद व बजरंग दल नगर महासमुंद द्वारा धमतरी में हिन्दू लडक़ी एवं अन्य धर्म के लडक़े इब्राहिम खान को लेकर लोहिया चौक से नेहरू चौक पहुंचकर पुतला दहन किया गया।  इस दौरान पुतला दहन को रोकने के लिए बड़ी संख्या में पुलिस बल तैनात थे और पुलिस द्वारा बल प्रयोग करते हुए पुतला के ऊपर कई बार पानी डाला गया। इस बीच बजरंग दल के कार्यकर्ता और पुलिस के बीच में झड़प हुई और पुतला कई टुकड़ों में बंट गया।

पुतला दहन में प्रमुख रूप से अखिलेश लुनिया जिला सह मंत्री विश्व हिंदू परिषद, छवि सिन्हा जिला सुरक्षा प्रमुख, ईवन साहू जिला संयोजक बजरंग दल, विकास वैष्णव जिला अखाड़ा प्रमुख बजरंग दल, साकेत साहू, राकेश साहू, आनंद साहू, नीलेश पटेल, दानू सिन्हा नगर अध्यक्ष विश्व हिंदू परिषद विजय महतो पूर्व विभाग संयोजक बजरंग दल एवं बड़ी संख्या में विहिप एवं बजरंग दल के कार्यकर्ता मौजूद रहे।

 

 


Date : 22-Sep-2019

बहुविकलांग बच्चों के रहने के लिए रैन बसेरा को पुन: प्रारंभ करने की जरूरत-विधायक 

छत्तीसगढ़ संवाददाता 
महासमुंद, 22 सितंबर।
बहुविकलांग बच्चों के रहने के लिए बनाए गए रैन बसेरा के बंद होने से बच्चों व उनके अभिभावकों को काफी परेशानियों को सामना करना पड़ रहा है। इस समस्या के मद्देनजर विधायक विनोद सेवनलाल चंद्राकर ने बहुविकलांग बच्चों के रहने के लिए रैन बसेरा को पुन: प्रारंभ करने की जरूरत बताई है। इसके लिए उन्होंने कलेक्टर से मुलाकात के दौरान इस मसले को लेकर आवश्यक कार्रवाई की बात कही है। जिस पर कलेक्टर ने शीघ्र ही उचित पहल करने की बात कही है।

विधायक श्री चंद्राकर ने कलेक्टर को बताया कि जिला मुख्यालय में बहुविकलांग बच्चों के रहने के लिए सर्वसुविधायुक्त रैन बसेरा छात्रावास बना हुआ है, जिसका संचालन भी किया जा रहा था। लेकिन वर्तमान में इसे बंद कर दिया गया है। जिससे परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। उन्होंने कहा कि जिले में बहुविकलांग बच्चे अध्यापन कार्य के लिए महासमुंद में रहकर शिक्षा ग्रहण करते हैं। चूंकि विकलांग होने के कारण किराए के मकानों में पर्याप्त सुविधाएं उपलब्ध नहीं रहती है। परिणाम स्वरूप बहुविकलांग बच्चे अध्ययन करना छोड़ देते हैं, जो समाज की मुख्यधारा से वंचित हो जाते हैं। लिहाजा उन्होंने बहुविकलांग बच्चों के लिए रैन बसेरा निश्रारित निधि से संचालित किए जाने आवश्यक कार्रवाई करने की जरूरत बताई है। जिस पर कलेक्टर ने उचित पहल करने की बात कही। 

मूक बधिर स्कूल की मांग
विधायक श्री चंद्राकर ने जिला मुख्यालय में संचालित मूक बधिर विद्यालय को प्रारंभ करने की मांग भी की। उन्होंने बताया कि राज्य शासन द्वारा मूक बधिर बच्चों के लिए जिला मुख्यालय से लगे खैरा में विद्यालय भवन बनाकर इसका संचालन किया जा रहा था। जिसे कतिपय कारणों से उक्त विद्यालय को बंद कर दिया गया है। जिससे मूक बधिर बच्चे शिक्षा से वंचित हो रहे हैं। सामाजिक व शिक्षा के लिए उक्त विद्यालय को प्रारंभ किया जाना जनहित में आवश्यक है। उन्होंने बच्चों को शिक्षा व समाज के मुख्यधारा में जोडऩे के लिए उक्त विद्यालय प्रारंभ करने जोर दिया है। जिस पर कलेक्टर ने आवश्यक कार्यवाही का आश्वासन दिया है।


Date : 21-Sep-2019

विधायक ने किया सडक़ चौड़ीकरण का निरीक्षण, कार्य में तेजी लाने व तालमेल बनाकर काम करने अफसरों को दिए निर्देश

छत्तीसगढ़ संवाददाता
महासमुंद, 21 सितंबर।
विधायक विनोद सेवनलाल चंद्राकर ने शुक्रवार को शहर में चल रहे सडक़ चौड़ीकरण कार्य का निरीक्षण किया। इस दौरान उन्होंने कार्य में हो रहे विलंब के लिए राष्ट्रीय राजमार्ग के अफसरों से सवाल जवाब किया। साथ ही दूरसंचार विभाग, नगरपालिका व राष्ट्रीय राजमार्ग विभाग को तालमेल बनाकर काम करने के निर्देश दिए।
गौरतलब है कि 57 करोड़ 8 1 लाख की लागत से घोड़ारी से खट्टी मोड़ व पचेड़ा तथा सांई मंदिर खरोरा से सर्किट हाउस लभरा तक राष्ट्रीय राजमार्ग 353 में फोरलेन सडक़ चौड़ीकरण का काम प्रगति पर है। शुक्रवार को विधायक श्री चंद्राकर ने चल रहे कामों का निरीक्षण किया। इस दौरान उन्होंने राष्ट्रीय राजमार्ग विभाग के उपअभियंता एसके द्विवेदी से प्रोजेक्ट के बारे में जानकारी ली। 

उपअभियंता श्री द्विवेदी ने विधायक श्री चंद्राकर को बताया कि 17 किलोमीटर के इस प्रोजेक्ट में महासमुंद शहर सहित छह किमी तक चौड़ीकरण का काम शेष है। अक्टूबर 2018  में शुरू हुए इस काम को अप्रैल 2019 तक पूरा होना था लेकिन कुछ अड़चनों की वजह से देरी हुई है। महासमुंद में हो रहे पाइप लाइन विस्तार, दूरसंचार केबल व पार्किंग की वजह से काम में तेजी नहीं आ पाई। इसके पहले सडक़ किनारे में इलेक्ट्रिक पोल को हटाने में समय लगा। बावजूद इसके अब दिसंबर 2019 तक इस प्रोजेक्ट को पूरा करने का लक्ष्य है। जिस पर विधायक श्री चंद्राकर ने राष्ट्रीय राजमार्ग, नगरपालिका व दूरसंचार विभाग से तालमेल बनाकर काम करने के निर्देश दिए। निरीक्षण के दौरान प्रमुख रूप से पार्षद संजय शर्मा, नानू भाई व अनवर हुसैन मौजूद थे।

लाइटिंग के लिए स्टीमेट बनाने के निर्देश
विधायक श्री चंद्राकर ने डिवाइडर में लाइटिंग के लिए शीघ्र ही स्टीमेट बनाने के निर्देश दिए हैं। निरीक्षण के दौरान विधायक श्री चंद्राकर को उपअभियंता श्री द्विवेदी ने बताया कि पूर्व में डिवाइडर में लाइटिंग के लिए दो करोड़ छह लाख रूपए का स्टीमेट बनाकर भूतल परिवहन मंत्रालय नईदिल्ली को भेजा गया था। जहां से इस प्रस्ताव को यह कहकर निरस्त कर दिया गया कि यह काम नगरीय निकाय से कराया जाए। जिस पर विधायक श्री चंद्राकर ने नगरपालिका अधिकारी से इसके लिए स्टीमेट बनाने के निर्देश दिए हैं।


Date : 21-Sep-2019

कलेक्टर ने जिला सडक़ सुरक्षा समिति की बैठक कार्ययोजना बनाने संबंधित विभागों के अधिकारी निर्देश दिए, ट्रैफिक टोल फ्री नंबर जारी 
छत्तीसगढ़ संवाददाता
महासमुंद, 21 सितम्बर।
कलेक्टर सुनील कुमार जैन की अध्यक्षता में कल जिला सडक़ सुरक्षा समिति बैठक सम्पन्न हुई। बैठक में सडक़ दुर्घटनाओं की रोकथाम के उपायों पर चर्चा हुई। बैठक में विगत बैठक के पालन प्रतिवेदन पर भी चर्चा हुई और अधिकारियों को आवश्यक दिशा-निर्देश दिए गए। बैठक में कलेक्टर श्री जैन ने कहा कि सडक़ दुर्घटनाओं को कम करने और उसकी रोकथाम के उपायों से संबंधित कार्ययोजना बनाकर संबंधित विभागों के अधिकारी तत्काल प्रस्तुत करें। इस दौरान पुलिस अधीक्षक श्री जितेन्द्र शुक्ला विशेष रूप से उपस्थित थे। 

बैठक में कलेक्टर ने कहा कि कार्ययोजना के तहत शिक्षा प्रशिक्षण के अंतर्गत नुक्कड़ नाटक आदि संपादित कराए। वहीं इस कार्य में जिले के हायर सेकेण्डरी, हाई स्कूल एवं महाविद्यालय के प्राचार्य एवं शिक्षकों का भी सहयोग लिया जाए। इसके अलावा बच्चों को यातायात संबंधी नियमों के संबंध में भी जानकारी दी जाए। 

श्री जैन ने कहा कि अधिक दुर्घटना होने वाले ब्लेक स्पॉट का चिन्हांकन करने के साथ वहां पर क्या सुधार हो सकता है, सुधार से संबंधित कार्य करें, बेरियर बनाए, जेब्रा क्रॉसिंग निर्मित करें। पी.डब्ल्यू.डी. एन.एच.आई एवं एन.एच आपसी समन्वय कार्य योजना तैयार करें। 

पुलिस अधीक्षक श्री जितेन्द्र शुक्ला ने पुलिस अधिकारियों से कहा कि जिले में विभिन्न स्थानों पर वाहनों की जांच कि जाएगी जिसमें शराब पीकर गाड़ी चलाने वालों पर कड़ी कार्रवाई की जाएगी। पुलिस की इस जांच टीम में एस.डी.ओ.पी. विशेष रूप से उपस्थित रहकर जांच की कार्यवाही करेंगें। आपातकालीन देखभाल की कार्ययोजना जिला स्वास्थ्य एवं मुख्य चिकित्सा अधिकारी द्वारा तैयार किए जाए। 

बैठक में बताया गया कि विभिन्न राजमार्गों पर ब्लैक स्पॉट का चिन्हांकन किया गया है और दुर्घटनाओं को कम करने के लिए कार्रवाई भी की गई है। कलेक्टर श्री जैन ने सडक़ों के किनारे वाली ग्राम पंचायतों के सरपंच, पंच एवं जनप्रतिनिधियों कि बैठक आयोजित की जाए और लोंगो को अपने पशुओं को नहीं छोडऩे के लिए प्रेरित किया जाए ताकि दुर्घटनाएं कम हो सके। इसके अलावा विभिन्न स्थानों पर रेडियम लगाने, अत्यधिक मोड़ वाले स्थानों पर साईन बोर्ड लगाने, उपस्वास्थ्य केन्द्रों एवं विद्यालय के पास बोर्ड लगाने के निर्देश दिये गए। इसके साथ-साथ विद्यालयों के बसों कि नियमित चेंकिंग करने और यात्री बसों के निर्धारित स्थानों पर रूकने के साथ यात्रियों को चढ़ाने-उतारने पर भी निगरानी रखी जाए। जिला सडक़ सुरक्षा समिति कि बैठक में सडक़ दुर्घटनाओं में कमी लाने पुलिस विभाग की ओर से ट्रैफिक टोल फ्री नम्बर भी जारी किया गया। 9479192313 नम्बर पर ट्रैफिक संबंधी शिकायत, सुझाव, किया जा सकता है। इस नम्बर पर व्हाट्सएप पर ट्रैफिक नियम संबंधी विडियो भी भेजा जा सकता है। 

बच्चों को स्कूल जाने ना दें स्कूटी 
जिला सडक़ सुरक्षा समिति की बैठक में नागरिकों से अपील की गई कि अभिभावक अपने नाबालिग बच्चों को स्कूल आने और जाने के लिए स्कूटी, बाईक आदि उपयोग करने से रोकें। स्कूल के प्रायार्य-शिक्षक इस बात का विशेष ध्यान दें।

इस अवसर पर अपर कलेक्टर शरिफ मोहम्मद खान, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक देवव्रत सिरमौर एन.एच.ए.आई के प्रोजेक्ट डायरेक्टर श्री चैधरी, एन.एच के श्री द्विवेदी, जिला परिवहन अधिकारी मोहन साहू सहित अशासकीय सदस्यगण एवं संबंधित विभागों के अधिकारीगण उपस्थित थे।

 


Date : 21-Sep-2019

बैंकिंग साक्षरता जागरूकता कैंप को बनाएं प्रभावी, जिला स्तरीय बैंकर्स समिति की बैठक 

छत्तीसगढ़ संवाददाता
महासमुंद, 21 सितम्बर।
जिला स्तरीय बैंकर्स समिति (डीएलसीसी) की बैठक कल कलेक्टोरेट के सभाकक्ष में कलेक्टर सुनील कुमार जैन की अध्यक्षता में सम्पन्न हुई। कलेक्टर श्री जैन ने कहा कि शासन द्वारा संचालित विभिन्न हितग्राही मूलक योजनाओं के तहत हितग्राहियों के ऋण प्रकरणों की स्वीकृति बैंकर्स शीघ्रता से करें ताकि हितग्राही उनका समुचित लाभ उठा सकें। विभिन्न बैंकों द्वारा शासन की योजनाओं के तहत बैंकों को वित्तीय वर्ष में लक्ष्य प्रदान किए गए हैं इन लक्ष्यों को पूरा करने के निर्देश दिए गए हैं। इस दौरान अपर कलेक्टर शरिफ मोहम्मद खान, बैंक ऑफ बड़ौदा के डिप्टी रिजनल मेनेजर अरविंद काटकर, आर.बी.आई की मैनेजर सुक्षिमा नायक विशेष रूप से उपस्थित थीं। 

डीएलसीसी की बैठक में कलेक्टर ने प्रधानमंत्री जनधन योजना, जीवन ज्योति योजना सहित प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना की समीक्षा की और कहा कि इसके तहत हितग्राहियों की आधार सीडिंग एवं मोबाइल सीडिंग कराना सुनिश्चत करें। बैठक में राष्ट्रीय ग्रामीण आजिविका मिशन, राष्ट्रीय शहरी आजिविका मिशन, प्रधानमंत्री रोजगार सृजन योजना, मुख्यमंत्री युवा स्वरोजगार योजना, अंत्योदय स्वरोजगार योजना, प्रधानमंत्री मुद्रा योजना, प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना सहित अन्य योजनाओं की समीक्षा की गई और इन योजनाओं के तहत स्वीकृत प्रकरणों के वितरण के भी निर्देश दिए गए।

जिला स्तरीय बैंकर्स समिति की बैठक में कलेक्टर श्री जैन ने कहा कि बैंकर्स वित्तीय साक्षारता जागरूकता के तहत ग्रामीण क्षेत्रों में आयोजित होने वाले शिविरों को प्रभावी बनाने के लिए बैंकर्स विशेष प्रयास करें। ग्रामीण क्षेत्रों में बैंको की शाखाएं जब भी शिविर आयोजित करें तो इन शिविरों का व्यापक प्रचार-प्रसार करने के साथ-साथ ग्रामीणों को शासन की योजनाओं से संबंधित प्रारूप पत्र भी बटवायें ताकि ग्रामीण जन उसका समुचित लाभ उठा सकें। उन्होने कहा कि बैंकिंग प्रक्रिया एवं वित्तीय जागरूकता के तहत कॉलेजों में छात्रों के जीरो बेलेंस पर खाते खुलवायें, उनके एटीएम, क्रेडिट कार्ड जारी करें, स्कूलों में भी जाकर छात्रों को फाइनेशियल जागरूकता बढ़ाएं। उन्होने कैम्प लगाने वाले बैंकर्स की सूची देने की भी निर्देश दिए। 

कलेक्टर ने कहा कि ग्रामीण क्षेत्रों में किसानों के किसान क्रेडिट कार्ड के लिए भी कार्यवाही सुनिश्चित करें। उन्होंने कहा कि जिले में मुख्यमंत्री शहरी कार्यात्मक साक्षारता कार्यक्रम चलाया जा रहा है इसके तहत डिजिटल साक्षारता जागरूकता के लिए अध्यापन का कार्य हो रहा है। बैंकर्स इन कक्षाओं में पहुंचकर ऑनलाइन बैकिंग प्रक्रिया, क्रेडिट कार्ड, एटीएम कार्ड आदि के बारे में जानकारी प्रदान करें। इस अवसर पर लीड बैंक अधिकारी अरूण कुमार मिश्रा, विभिन्न विभागों के अधिकारीगण तथा बैंकर्स उपस्थित थे। 


Date : 20-Sep-2019

जगह-जगह मनी विश्वकर्मा जयंती

बागबाहरा, 20 सितंबर। बागबाहरा ब्लॉक कांग्रेस कमेटी के प्रथम अध्यक्ष अंकित बागबाहरा ने बताया कि खल्लारी विधानसभा अंतर्गत कमरौद, तरपोंगी, नर्रा, राटापाली, बोडरीदादर, ठाकुरदिया कला, सोनासिल्ली में ग्रामवासियों के आमंत्रण पर विश्वकर्माृ की पूजा-अर्चना करने पहुंचे।

अंकित बागबाहरा ने कहा कि आज भगवान विश्वकर्मा जयंती दिवस के मनाने की सार्थकता तभी है जब आज प्रत्येक जीवित प्राणी अपने आप को विश्वकर्मा समझे व एक अच्छा समाज निर्माण में सहयोग प्रदान करें। अपने बच्चों को एक अच्छा भविष्य देने में लगाए। आज हर जगह भगवान विश्वकर्मा की प्रतिमूर्ति के रूप में मूर्तिकार, राजमिस्त्री,पेंटर, शिल्पकार, बढ़ई, लोहार, सोनार आदि के रूप में भगवान विश्वकर्मा की संतान हैं और समाज की ऐसी सेवा ही सही मायनों में भगवान विश्वकर्मा के प्रति सच्ची उपासना है।     ग्रामों में मुख्य रूप से विधायक द्वारिकाधीश यादव, नगर पालिका अध्यक्ष बसंती बघेल,योगेश बघेल,मोहन कुलदीप,सुरेश सहिस,कोमल महानंद,राजेश राजपूत,मुकेश शंकर साहू,राकेश शर्मा,चंन्दूलाल साहू, इंदल बंजारे,उमेश जैन,उत्तम राणा,विजय शंकर निगम,राजेश त्रिपाठी,ललित पटेल,रज्जन गुप्ता,संतोष पटेल,चंद्रहास साहू,रमेश साहू,कोमल साहू,जितेंद्र क्षत्री,मंगतूराम ध्रुव,ईश्वरी साहू,शांतिलाल साहू,पुनीत साहू,हेमंत यादव,रामकुमार पटेल,चमन पटेल,गोविंद पटेल,राजू,मनोज दीवान,विक्की यादव,विनोद तारक सहित सातों ग्राम के ग्रामवासी उपस्थित थे।


Date : 20-Sep-2019

बच्चों समक्ष पेशाब करता है शराबी शिक्षक..., निलंबन के बाद दोबारा इसी स्कूल में भेजा गया

छत्तीसगढ़ संवाददाता

महासमुन्द, 20 सितम्बर। महासमुंद विकासखंड के ग्राम अमोरा स्थित प्राथमिक शाला में एक शिक्षक हर रोज शराब पीकर कक्षा में पहुंचता हैं। नशा अधिक होने के कारण वह पेशाब और पखाने के लिए भी कुर्सी से नहीं उठ पाता। होश हवास खोकर कुर्सी से नीचे गिरकर मल-मूत्र त्याग देता है। छोटे-छोटे बच्चे चुपचाप अपनी जगह पर बैठकर इसे देखते हैं और वे ही कक्षा की सफाई करते हैं। शिक्षक को जब होश आता है तो वह उठकर अपने निवास चला जाता है। इस शराबी शिक्षक की ऐसी हरकतों से बच्चे एवं पालक परेशान हैं। बच्चों और पालकों की मानें तो यह शिक्षक शराब के नशे में कक्षा के भीतर बच्चों के सामने ही पेशाब करता है। समाचार तैयार करते तक स्कूल में कोई शिक्षक नहीं है।

बता दें कि हाल ही में 12 सितबंर को महासमुंद ब्लॉक प्राइमरी शाला अमोरा के ग्रामीणों ने इस शिक्षक की इसी हरकत के लिए स्कूल में तालाबंदी कर दिया था। शिक्षा विभाग के अफसर यहां पहुंचे और उक्त शिक्षक पर निलंबन की कार्रवाई की गई थी। लेकिन कोई ठोस पहल नहीं होने की वजह से गुरुवार की सुबह जब यहां स्कूल खूला तो शिक्षक जन्मजय ध्रुव भी पहुंचे। जैसे-तैसे रसोइया और स्वीपर के भरोसे बच्चों ने राष्टगान पूरा किया। इसके बाद वह कक्षा में गया और गिर गया। कुछ देर तक वह वहीं पड़ा रहा। स्थिति यह रही कि वह बच्चों के सामने ही नशे की हालत में पेशाब करता रहा।

ग्रामीण बताते हैं कि वैकल्पिक शिक्षक की अनुपस्थिति में शराबी शिक्षक यहां पहुंच गया और बच्चों को धमकाने-चमकाने के अलावा स्कूल के कमरे में ही सो गया और स्कूल के भीतर ही पेशाब कर दिया। उक्त शराबी शिक्षक को यहां से हटाने कई बार शिक्षा विभाग को लिखित शिकायत सहित स्कूल में तालाबंदी भी की गई। अभी शिक्षा विभाग द्वारा कहा जा रहा है कि उक्त शिक्षक को संस्पेंड कर दिया गया है। पहले भी शिक्षा विभाग ने इसी के चलते संस्पेंड किया था लेकिन बहाल कर इसी स्कूल में भेज दिया था।

वर्सन

ब्लॉक सहायक बीईओ गजेंद्र ध्रुव ने बताया कि उक्त शिक्षक की लगातार शिकायत मिलने के बाद विभाग ने उसे संस्पेंड कर दिया है। वह स्कूल गया था इसकी जानकारी नहीं है।

ग्रामीण अजय पटेल ने बताया कि एक शिक्षक शंकर ठाकुर को यहां व्यवस्था के तहत भेजा गया है। लेकिन घरेलू कार्य आने के कारण उन्होंने अवकाश लिया है।


Date : 20-Sep-2019

नशा उन्मूलन, राज्य स्तर पर महासमुंद सम्मानित

छत्तीसगढ़ संवाददाता  
महासमुंद, 20 सितंबर।
  तंबाकू नशे के विरुद्ध मुहिम छेड़ जागरूकता लाने वाले अग्रणी जिलों में इस बार महासमुंद जिले को भी राज्य स्तर पर पुरस्कृत किया गया है। गुरूवार को राजधानी रायपुर में आयोजित राज्य स्तरीय प्रशिक्षण कार्यशाला पश्चात सर्किट हाउस में सम्मान समारोह आयोजित किया गया। जिसमें स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग, छ.ग. शासन द्वारा, महासमुंद जिले को राष्ट्रीय तंबाकू नियंत्रण कार्यक्रम में नवीनीकरण के साथ उत्कृष्ट कार्य करने के लिये सम्मानित किया गया। स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग के संचालक नीरज बंसोड़ महोदय ने राष्ट्रीय तंबाकू नियंत्रण कार्यक्रम के जिला नोडल अधिकारी डॉ.अनिरुद्ध कसार, शासकीय सामाजिक कार्यकर्ता व सलाहकार असीम श्रीवास्तव एवं मनोवैज्ञानिक सलाहकार मेघा ताम्रकार सहित पूरी टीम को स्मृति चिन्ह, शील्ड व प्रमाण पत्र देकर पुरस्कृत किया।

उल्लेखनीय है कि जिले में यह कार्यक्रम मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ.एस.पी.वारे के निर्देशन व जिला कार्यक्रम प्रबंधक संदीप ताम्रकार के मार्गदर्शन में संचालित है। जिसमें जिला सलाहकार अदीबा बट्ट की अगुवाई में लक्ष्य प्रगतिशील है। सामाजिक कार्यकर्ता व सलाहकार श्रीवास्तव एवं मनोवैज्ञानिक सलाहकार ताम्रकार की टीम विद्यालयीन छात्र-छात्राओं सहित विभिन्न शासकीय-गैर शासकीय सभी विभागों को एक-एक कर ट्रिगर कर रही है। तंबाकू नशा-मुक्ति की कार्यशालाएं आयोजित की रही हैं। जिसे देखते हुए विशेष रूप से प्रचार-प्रसार की नये तौर-तरीके जिसमें, गीत, निबंध, कविता लेखन व नाटक की प्रतियोगिताओं के साथ मानव श्रृंखला जैसे प्रयासों को राज्य स्तर पर सराहा गया।


Date : 20-Sep-2019

सेनकपाट में चौपाल, जनपद सदस्य ने सुनी समस्याएं 

छत्तीसगढ़ संवाददाता
महासमुन्द, 20 सितम्बर।
ग्राम पंचायत सिरपुर के आश्रित ग्राम सेंनकपाट में जनपद सदस्य योगेश्वर चन्द्राकर ने चौपाल लगाकर सुनी ग्रामीणों की व्यथा और समस्या के निराकरण के लिए हर सम्भव पहल करने जनहित में कार्य की आवश्यकता को पूर्ण कराने का विश्वास दिलाया। गौरतलब है कि सेनकपाट सिरपुर ग्राम पंचायत का आश्रित ग्राम है। लगभग 6 00 की जनसंख्या और 450 मतदाता वाले इस ग्राम में सिंचाई का कोई साधन नहीं है। जीवन देने वाली महानदी इसी गांव के समीप से होकर बहती है। परंतु महानदी के पानी का लाभ इस गांव के किसानों को नहीं मिल पाता है। वर्तमान में यह क्षेत्र हाथी प्रभावित है। चौपाल में प्रमुख रूप से पोषण यादव, तिलक पटेल, गिरीश धु्रव, प्रकाश धीवर, मिलु धु्रव, कामदेव धु्रव, सोनित धु्रव, मनीराम, कुमार धीवर, साखुराम, दाऊलाल, भगतु सहित समस्त ग्रामवासी उपस्थित थे।


Date : 20-Sep-2019

बसना और खल्लारी थाने में 2 नाबालिगों के अपहरण का मामला दर्ज, आरोपी की तलाश 

महासमुन्द, 20 सितम्बर। जिले के बसना थाना और खल्लारी थाना क्षेत्र से दो नाबालिग 16  साल की लड़कियों के अपहरण के मामले दर्ज किये गये हैं। बसना व खल्लारी पुलिस ने नाबालिगों के परिजनों की रिपोर्ट पर अपहरणकर्ता के खिलाफ मामला दर्ज कर आरोपी की तलाश की जा रही है। 

पुलिस के अनुसार बसना थाना क्षेत्र में शीमन दास साकिन पीपरखुंटा निवासी एक 16  साल की नाबालिग लडक़ी को शादी का प्रलोभन देकर बहला फुसला कर अपहरण कर ले गया है। परिजनों की रिपोर्ट पर आरोपी के खिलाफ पुलिस मामले की जांच कर रही है। वहीं दूसरे मामले में खल्लारी थाaना क्षेत्र के निवासी ने रिपोर्ट दर्ज कराते हुए पुलिस को बताया कि कोई अज्ञात व्यक्ति उसकी 16  साल की लडक़ी को बहला फुसलाकर ले गया है, नाबालिग की तलाश परिजनों ने आसपास के इलाके व रिश्तेदारों के यहां की है लेकिन कहीं कोई पता नहीं चलने पर खल्लारी थाने में अपहरण का मामला दर्ज कराया है। पुलिस दोनों ही मामले में मामला दर्ज कर आरोपियों की तलाश कर रही है। 

 


Date : 20-Sep-2019

किशोर स्वास्थ्य कार्यक्रम की तैयारी शुरू

महासमुन्द, 20 सितम्बर। किशोरावस्था में शारीरिक और मानसिक परिवर्तन का समय युवक-युवतियों के जीवन की नींव माना जाता है। इस ओर स्वस्थ समाज के निर्माण का उद्देश्य लिये नई पीढ़ी को किशोरावस्था में ही सुदृढ़ करने जिला प्रशासन ने राष्ट्रीय किशोर स्वास्थ्य कार्यक्रम अंतर्गत तैयारी शुरू कर दी गई है। जिसमें मानसिक स्वास्थ तथा आत्महत्या रोकथाम आधारित कलेक्टर सुनील कुमार जैन की पहल नवजीवन अभियान दोनों कार्यक्रमों की बारीकियों से प्रशिक्षित, ऐसे छात्र-छात्र तैयार किये जाएंगे, जो किशोरावस्था को लेकर समाज में व्याप्त विभिन्न तरह की भ्रांतियों को दूर करेंगे।

मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ.एस.पी. वारे के निर्देशन एवं जिला कार्यक्रम प्रबंधक संदीप ताम्रकार से प्राप्त जानकारी अनुसार इस कार्यक्रम में शाला नायक और नायिका के रूप में प्रति हजार की संख्या में एक-एक छात्र एवं छात्रा को प्रशिक्षित किया जायेगा।

इसी क्रम में उप स्वास्थ्य केंद्रों में किशोरों के मार्गदर्शन हेतु किशोर मैत्री क्लब स्थापित किये जायेंगे, जिनमें महिला स्वस्थ्यकर्ताओं सहित ए.एन.एम. एवं संबंधित अधिकारी-कर्मचारी न केवल जानकारी व शिक्षाप्रद संदेश देंगे बल्कि कार्यक्रम अंतर्गत पीडि़त किशोरों को परामर्श और उपचार की सुविधाएं भी मुहैया कराएंगे। कर्मचारियों को किया जा चुका है प्रशिक्षित कार्यक्रम को प्रभावी रूप से संचालित करने के लिये प्रशिक्षण प्राप्त राज्य स्तरीय विशेषज्ञों के दल को आमंत्रित किया गया था।


Date : 20-Sep-2019

पिछले सत्तर सालों में ऐसे हालात कभी नहीं हुए-विधायक विनोद

छत्तीसगढ़ संवाददाता
महासमुन्द, 20 सितम्बर
। विधायक विनोद सेवनलाल चंद्राकर ने देश में आर्थिक मंदी को लेकर भाजपा नेताओं के बयान पर निशाना साधते हुए कहा कि वित्तीय क्षेत्र में मंदी पहली बार है। पिछले सत्तर सालों में ऐसे हालात कभी नहीं हुए हैं। आर्थिक मंदी को लेकर मोदी सरकार जरा भी गंभीर नहीं है। 

विधायक श्री चंद्राकर ने भाजपा के प्रदेश प्रवक्ता के बयान पर पलटवार करते हुए कहा कि पूर्ववर्ती रमन सरकार का 15 साल शासन रहा है और पूरे प्रदेश को बर्बाद कर कर्जे में डाल दिया। उन्होंने कहा कि कांग्रेस की सरकार की छत्तीसगढ़ के किसानों, गरीबों, युवा व बेरोजगारों के हित में कार्य करने की योजना है। दस हजार करोड़ का कर्जा भी माफ  किया गया है। 
विज्ञप्ति जारी कर विधायक ने कहा है कि वर्तमान में देश आर्थिक मंदी के दौर से गुजर रहा है। भारतीय अर्थव्यवस्था की दर घटकर पांच फीसदी रह गई है। डालर के मुकाबले रूपए कमजोर हुआ है। इतनी गिरावट कभी नहीं हुई थी। उद्योगों से लोगों को निकाला जा रहा है। नोटबंदी और बिना सोचे समझे जीएसटी लागू करने के फैसले से अर्थव्यवस्था की हालत खराब हो गई है। 

विधायक श्री चंद्राकर ने कहा कि बाजारों में भी भयंकर सुस्ती दिखाई पड़ रही है। उद्योग जगत से जुड़े लोग मंदी के माहौल को लेकर चिंतित हैं। लेकिन सरकार मंदी की बात को सिरे से नकार रही है। जबकि सरकार को इस बात को स्वीकार करना चाहिए। विधायक श्री चंद्राकर ने कहा कि देशभर में मंदी का दौर है लेकिन छत्तीसगढ़ प्रदेश में मंदी का असर नहीं है। कांग्रेस सरकार की नीतिए नियम व फैसले के कारण छत्तीसगढ़ में मंदी का असर नहीं है।

 


Date : 19-Sep-2019

किसान पर भालू का हमला, घायल

छत्तीसगढ़ संवाददाता

बागबाहरा, 19 सितंबर। आज सुबह बागबाहरा वन परिक्षेत्र के ग्राम बसूलाडबरी में भालू के हमले से एक ग्रामीण घायल हो गया। उसे प्राथमिक उपचार के बाद जिला अस्पताल महासमुंद भेज दिया गया है।

ग्राम बसूला डबरी में आज सुबह 9 बजे प्रीतम नेताम (45 वर्ष) पर अचानक खेत में भालू ने हमला कर घायल कर दिया। उसको स्वास्थ्य केंद्र बागबाहरा लाया गया। प्रीतम नेताम के सर औऱ गले में गंभीर चोट आई है, जिसे तत्काल प्राथमिक उपचार के बाद जिला अस्पताल महासमुंद रेफर किया गया।  

इस क्षेत्र में तथा आसपास के गाँव सुवरमाल, परपरपाली, देवरी आदि में भालुओं का आतंक है जहाँ किसी भी समय भालू हमला कर देते हैं, जिससे गांव के लोग भयभीत है।


Date : 19-Sep-2019

सफाईकर्मी ने बच्चों को स्कूल में बनाया मुर्गा, पैरों में सूजन, एक अभी भी अस्पताल में 
छत्तीसगढ़ संवाददाता
महासमुन्द, 19 सितम्बर।
सरायपाली क्षेत्र के ग्राम मोखापुटका प्राथमिक शाला के प्रधान पाठक और स्कूल के शिक्षकों की अनुपस्थिति में शाला के सफाईकर्मी ने कक्षा के तीन बच्चों को मुर्गा बनाकर दंडित किया। इससे तीनों बच्चों की तबीयत खराब हो गई है। 

बताया जा रहा है कि तीन बच्चों में से एक बच्चे की तबियत मुर्गा बनने की दहशत से इतनी बिगड़ गई कि उसे रायपुर रिफर किया गया है। स्कूल के सफाईकर्मी द्वारा इस तरह के व्यवहार से पालकों में भारी रोष देखा जा रहा है। बता दें कि महासमुन्द जिले में इस तरह की लापरवाही शिक्षकों द्वारा किया जाना कोई नई बता नहीं है। स्कूल के सफाई कर्मचारी का नाम कुशंत सिदार है जिसने स्कूल के निराकार, उमेश पटेल, दुष्यंत पटेल को कल मुर्गा बनाया था और तीनों की हालत अभी भी खराब है। पैरों में सून होने की वजह से बच्चे स्कूल नहीं जा पा रहे हंै। बताया जा रहा है कि एक घंटे से भी अधिक समय तक बच्चों को मुर्गा बनाने की वजह से बच्चों के पैरों में सूजन आ गई। 

मामले में प्राप्त जानकारी के अनुसार शासकीय प्राथमिक शाला मोखापुटका में स्कूल के प्रधान पाठक और स्कूल के शिक्षक शुक्रवार को स्कूल से नदारत थे। स्कूल में बच्चों को पढ़ाई कराने का जिम्मा स्कूल शिक्षकों ने सफाईकर्मी को दे दिया और खुद स्कूल से गायब हो गये थे। शिक्षकों की अनुपस्थिति में स्कूल का सफाईकर्मी कुशंत सिदार स्कूल के बच्चों को पढ़ाई करने के लिए कहा लेकिन कुछ बच्चे उनकी बात को अनसुना कर ख्रेलने कूदने लगे। इस बात से नाराज सफाईकर्मी ने इन 10-12 साल के बच्चों को एक घंटा मुर्गा बना दिया। 

स्कूल की छुट्टी हुई तो बच्चे रोते-रोते घर पहुंचे और मामले की जानकारी पालकों को दी। पालकों ने अगले दिन शनिवार को ही स्कूल के प्राचार्य और स्कूल के शिक्षकों को मामले की जानकारी दी। स्कूल के शिक्षकों ने मामले से मुकरते हुए पालकों से कहा कि स्कूल में इस तरह की कोई घटना नहीं हुई है। परेशान पालक बच्चों को डॉक्टर के पास लेकर गये तो डॉक्टरों ने उन्हें अस्पताल में भर्ती कर लिया। 

स्कूल में सफाईकर्मी द्वारा दंडित किये जाने के बाद बच्चे इतने दहशत में हैं कि उनका स्वास्थ्य लगातार बिगड़ता गया। हफ्ते बीत जाने के बाद भी एक बच्चे की तबियत में कोई सुधार नहीं है।  उसका इलाज रायपुर के एक निजी नर्सिंग होम में जारी है। स्कूल के शिक्षकों ने स्कूल के भीतर इस तरह की घटना होने से इंकार करते हुए कहा है कि यह स्कूल के खिलाफ राजनीतिक षडय़ंत्र है। मौसम की वजह से बच्चों की तबीयत खराब है। 

 


Date : 19-Sep-2019

जिला पुलिस द्वारा स्थानीय पुलिस थाना में समस्या निराकरण शिविर का आयोजन 

छत्तीसगढ़ संवाददाता 
 पिथौरा, 19 सितंबर।
महासमुंद जिला पुलिस द्वारा बुधवार को स्थानीय पुलिस थाना में समस्या निराकरण शिविर का आयोजन किया गया। शिविर में जिला पुलिस अधीक्षक जितेंद्र शुक्ला उपस्थित थे। प्रत्यक्षदर्शी सूत्रों के अनुसार शिविर में कुल 24 प्रकरण आये इसमें अधिकांश प्रकरण जमीन के बताए जा रहे हैं।

 जिला पुलिस अधीक्षक की उपस्थिति में बुधवार को पिथौरा में पुलिस के शिकायत निराकरण शिविर में श्यामसुंदर आत्महत्या कांड में आरोपियों को पकडऩे में देरी का मामला स्व. ऐरन के परिजनों ने उठाया। एसपी द्वारा परिजनों को आश्वस्त किया कि उक्त मामले में लगातार आरोपियों की तलाश की जा रही है। जल्द ही आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया जाएगा। इसके अलावा झलप पटेवा एवं सांकरा क्षेत्र से भी कई शिकायतकर्ता पिथौरा पहुंच कर अपनी शिकायतों का निराकरण कराते दिखे।

प्रत्यक्ष दर्शियों के अनुसार शिविर में कुल 24 शिकायतें दर्ज की गई। इनमें अधिकांश जमीन से संबंधित शिकायतें थी। शिकायतों के निराकरण के दौरान श्री शुक्ला ने थाना प्रभारियों को निर्देशित करते हुए कहा कि जिन शिकायतों में प्रथम दृष्टिया अपराध होना दिखता है। उसमें एफआईआर दर्ज कर मामले की विवेचना करें।

शिविर में दूर दराज के क्षेत्रों से पहुंचे आवेदकों के लिए पिथौरा पुलिस द्वारा पानी तक की व्यवस्था नहीं की गई थी। पर्याप्त कुर्सियां ना होने के कारण आवेदक इधर-उधर खड़े होकर चर्चा करते दिखाई दिए। 

 


Date : 18-Sep-2019

हाथी भगाने प्रतिमा बना पूजा-पाठ, टोटके, सारे बेकार

छत्तीसगढ़ संवाददाता

महासमुन्द, 18  सितम्बर। ग्राम कुकराडीह। महासमुन्द जिले का हाथी प्रभावित गांव। आबादी वहीं कुछ पांच सौ। गांव से खेत जाने वाले रास्ते पर भीमकाय हाथी की प्रतिमा पर लोग फूल चढ़ाते, पूजा करते मिले। पूछने पर कहते हैं-इसकी पूजा करेंगे तो हाथी हमसे प्रसन्न होकर अपना रास्ता बदलकर दूसरे जंगल की ओर चले जाएंगे। नारियल, धूप बत्ती, बेलपत्ते, फूल से हाथी को खुश करने की ग्रामीणों की यह कोशिश महज कल्पना मात्र हो सकती है लेकिन इस गांव में रहने वालों के पास हाथियों को भगाने यही एक उपाय बच गया था। वरना जिला प्रशासन,वन विभाग और खुद ग्रामीणों ने भी इस क्षेत्र से हाथियों को भगाने क्या-क्या उपाय नहीं किये। लाखों खर्च हु्आ, सो अलग।

 ग्रामीणों का कहना है कि देवताओं में हमने हाथी को भी गणेश माना है। सुनते आ रहे हैं कि किसी देवता के प्रकोप से गांव वालों को कष्ट होता है और उनकी पूजा करने से शांति मिलती है। हमने वही किया। हाथी बनाया और अब पूजा कर उन्हें खुश करेंगे और वे भी हमारी मन की बात समझ अन्यत्र चले जाएंगे।   

वैसे भी सिरपुर क्षेत्र से हाथियों को भगाने जिला प्रशासन और वन विभाग की तमाम कोशिशों पर पानी फिरा हुआ है। ग्रामीण भी हाथी भगाने हर रोज नई-नई जुगत लगा रहे हैं लेकिन हाथी हैं कि यहां से हटने का नाम ही नहीं ले रहे हैं। थक हारकर ग्रामीण आदिम युग के तरीके अपना रहे हैं और उन्हें आशा भी है कि इस जुगत से शायद हाथियों का दल यहां से कहीं चला जाएगा और क्षेत्र से हाथियों की दहशत समाप्त हो जाएगी। इसी भरोसे के चलते अब ग्रामीणों ने नया तरीका निकाला है। ग्रामीण खतरनाक हो चुके हाथियों की शक्ल में हाथी की एक प्रतिमा बनाकर पूजा-अर्चना कर रहे हैं।

बता दें मंगलवार को दिन भर ग्राम कुकराडीह में नव-निर्मित हाथी की प्रतिमा की पूजा पूरी विधि-विधान के साथ ग्रामीणों ने किया। यह बताना जरूरी है कि सिरपुर क्षेत्र के रहवासी बीते पांच सालों से हाथियों के दहशत में जी रहे हैं। इन हाथियों को यहां से खदेडऩे प्रशासन के द्वारा लाखों रुपए खर्च की गई लेकिन यहां से हाथी टस के मस नहीं हए।

इस क्षेत्र में अब तक हजारों एकड़ फसल बर्बाद करने के अलावा दर्जनभर लोगों की जान हाथियों ने ले ली है। इस क्षेत्र में हाथियों से करीब 50 गांव प्रभावित है। लेकिन सबसे अधिक लहंगर और कुकराडीह गांव के लोग दहशत में रहते हैं। यहां अब तक ग्रामीणों ने हाथियों को भगाने कई टोटके और धार्मिक पूजा-पाठ भी किये। लेकिन यह भी कोई काम नहीं आया।

ग्रामीण जीवन लाल साहू ने बताया कि गांव में बैठक कर निर्णय लिया गया कि कुकराडीह हाथी विचरण रहवासी बन जाने से किसान एवं ग्रामीणों के मन में भय है। जिससे किसानों को खेत में काम करने से मौत भय बना रहता है। इसे देखकर मन में एक जिज्ञासा हुई कि क्यों ना हम सब मिलकर हाथी की प्रतिमा बना कर रखें। जिस ओर से हाथी गांव में प्रवेश कर फसल को नुकसान पहुंचाता है, वहां हाथी की एक प्रतिमा बना कर उसकी पूजा करें।

इस युक्ति से गांव वाले सभी सहमत हो गए और आपसी चंदा एकत्र कर कुछ ही दिनों में हाथी की प्रतिमा खड़ा कर दिए। ग्रामीणों का मानना है कि इससे गणेश भगवान हाथी से सुरक्षा प्रदान करने में मदद करेंगे। ग्रामीण जीवन लाल साहू, भगवानी साहू, शेखर साहू, छबे लाल यादव, सुखरू साहू, रैनू यादव, नंदकुमार दीवान, प्रीतम दीवान, लिखी राम दीवान, दयालू, जगौती बाई, राजबाई साहू, देवकी बाई दीवान, जामबाई यादव, पंच बाई दीवान, गांव की महिलाएं एवं पुरुष शामिल हुए। कल दिन भर एक यहां त्यौहार का वातावरण रहा। लोगों ने खुशियां मनाने के अलावा एक साथ बैठकर खीर-पूड़ी का प्रसाद ग्रहण किए। राधे लाल सिन्हा ने इस कार्य के लिए समस्त ग्रामवासी को बहुत बधाई दी है।


Date : 18-Sep-2019

रामायण पाठ करने वाले शेख करीम का निधन, शोक
पिथौरा, 18  सितंबर।
ग्राम लखागढ़ निवासी व क्षेत्र के प्रसिद्ध मुस्लिम रामायणी शेख करीम का बीती रात निधन हो गया। स्व. करीम के निधन पर सभी वर्गों में शोक है।मुस्लिम होने के बाद भी शानदार अंदाज में रामायण पाठ एवं टीका करने वाले शेख करीम ने मंगलवार रात अंतिम सांस ली। स्व. करीम मुस्लिम होते हुए भी सभी धर्मों के पर्वों को रीति नीति से मनाते थे। लखागढ़ की रामलीला में पूरे कलाकारों को तैयार करना, मंचन के दौरान निर्देशन भी वे स्वयं ही देते थे। ज्ञात हो कि 10 सितम्बर को ही थानेश्वर सेवा समिति द्वारा उन्हें सम्मानित भी किया गया था। अब उनके निधन पर क्षेत्र में शोक व्यक्त कर श्रद्धांजलि दी जा रही है।

 


Previous123Next