छत्तीसगढ़ » बालोद

Date : 21-Sep-2019

सियादेवी पर्यटन स्थल से दोस्त का जन्मदिन मनाने के बाद वापस लौट रहे भिलाई के 6 युवक-युवतियों का वाहन दुर्घटनाग्रस्त हो गया

छत्तीसगढ़ संवाददाता
बालोद, 21 सितंबर।
शनिवार को सियादेवी पर्यटन स्थल से दोस्त का जन्मदिन मनाने के बाद वापस लौट रहे भिलाई के 6 युवक-युवतियों का वाहन दुर्घटनाग्रस्त हो गया। हादसे में जहां वाहन के परखच्चे उड़ गए, वहीं तीन युवक-युवती गंभीर रूप से घायल हंै। सभी घायलों को प्राथमिक उपचार के बाद दुर्ग भिलाई के निजी अस्पतालों में रेफर कर दिया है।

आईजी की कार दुर्घटनाग्रस्त, वाहन के पीछे-पीछे ही चल रही थी
दुर्घटना की विभीषिका को देखते हुए बस्तर आईजी विवेकानंद सिन्हा ने सभी घायलों को अपनी सरकारी गाड़ी से अस्पताल पहुंचाया। बताया जाता है कि आईजी की कार दुर्घटनाग्रस्त वाहन के पीछे-पीछे ही चल रही थी। कार में सवार आईजी की पत्नी ने ड्राइवर को सभी घायलों को अस्पताल पहुंचाने कहा। सभी घायलों की उम्र 20 से 22 के बीच बकताई जा रही है।
जन्मदिन मनाने सियादेवी आए थे 

थाना प्रभारी और प्रशिक्षु डीएसपी अमर सिदार ने बताया कि इन 6 युवक युवतियों में से किसी का जन्मदिन था। जन्मदिन मनाने के सभी साथी सियादेवी आए थे। सुबह 11 बजे से बालोद जिला मुख्यालय पहुंचे और घूमकर शाम 5 बजे वापस दुर्ग-भिलाई के लिए निकले थे। तभी ग्राम सांकरा के पास उनकी कार क्रमांक सीजी 07 बीएफ 7830 डिवाइडर से टकरा गई।
मामले में विवेचक कोर्राम ने बताया कि कार तेज रफ्तार में थी। पुल पर चढ़ते ही अनियंत्रित होकर सीधे पुल के डिवाइडर से टकरा गई। हादसा इतना दर्दनाक था कि कार के सामने के हिस्से ही पिचक गए और सभी लोग कार के भीतर ही फंसे रहे। दुर्घटना होते ही चीख पुकार मच गई। राहगीरों ने कार में फंसे लोगों को किसी तरह बाहर निकाला। इस दुर्घटना में एक युवक चंद्रकांत को गंभीर चोट लगी, जिसे रेफर किया गया बाकी को सामान्य चोट आई है।

ये हुए घायल- चंद्रकांत निवासी सुपेला भिलाई, नीलेश देवांगन (जामुल भिलाई), विक्रम कुमार (कोहका भिलाई), शैलजा पांडे (जामुल भिलाई), साज (भिलाई 2) और एक युवती शामिल हैं। इस घटना में चंद्रकांत को ज्यादा चोट लगी है।

नाम-पता नहीं पूछ पाए
पुलिस के मुताबिक घायलों का समय पर उपचार जरुरी था, इसलिए किसी से नाम-पता नहीं पूछा गया। प्राथमिक उपचार के बाद सभी को तत्काल दुर्ग भिलाई रेफर कर दिया गया। फिलहाल पुलिस दुर्घटनाग्रस्त गाड़ी को जब्त कर आगे की जांच में जुट गई है।


Date : 21-Sep-2019

डीएवी स्कूल में मनमानी फीस वृद्धि, खदान मजदूर संघ का विरोध

छत्तीसगढ़ संवाददाता
दल्लीराजहरा, 21 सितंबर।
डीएव्ही प्रबंधन द्वारा राजहरा माइंस के डीएवी स्कूल में कक्षा 1ली से 12वीं तक मनमाने तरीके से फीस वृद्धि का संयुक्त खदान मजदूर संघ ने विरोध किया है औैर बढ़ाई गई फीस तत्काल वापस लेने की मांग प्रबंधन से की है।
 इस संबंध में संयुक्त खदान मजदूर संघ के अध्यक्ष कमलजीत सिंग मान ने कहा है कि प्रबंधन के द्वारा जब डीएव्ही स्कूल लगाया गया था उस समय मूल उद्देश्य यही था कि लौह अयस्क खदान समूह में कार्यरत बीएसपी कर्मचारियों के बच्चों एवं स्थानीय गैर बीएसपी बच्चों को यहां अच्छी शिक्षा प्रदान कराया जाये। उस समय यह आश्वासन प्रबंधन ने यहां के नागरिकों को दिया था। बेहतर शिक्षा, बेहतर चिकित्सा की व्यवस्था करना प्रबंधन का दायित्व है और आज देखा जा रहा है कि गैर बीएसपी के पालकों से 28 प्रतिशत फीस वृद्धि की राशि बढ़ाई गई है जो कि गैर जिम्मेदाराना है। 

संघ का यह मानना है कि डीएव्ही स्कूल मेें राजहरा के ठेका मजदूर के बच्चों के साथ साथ गरीब परिवार के होनहार बच्चे भी पढ़ाई करते हैं। ऐसे बच्चों के पालक इतनी बढ़ी हुई फीस जमा करने में सक्षम नहीं होते हैं। वैसे भी राजहरा नगर में स्कूल की कमी है और डीएव्ही स्कूल में इस तरह से मनमाने ढंग से फीस बढ़ाना पढ़ाई की दृष्टि से अच्छा संकेत नहीं है। इसलिए प्रबंधन स्थानीय नागरिकों की भावनाओं को ध्यान में रखते हुए बढ़ाई गई फीस तत्काल वापस ले।  


Date : 20-Sep-2019

नामांतरण समझौता शुल्क के नाम पर वसूली बंद करने की मांग को लेकर जिला योजना समिति के सदस्य और पार्षद नितेश वर्मा ने ज्ञापन सौंपा

बालोद, 20 सितंबर। नगरपालिका बालोद में मकान नामांतरण समझौता शुल्क को लेकर जिला योजना समिति के सदस्य और पार्षद नितेश वर्मा ने नवपदस्थ मुख्य नगरपालिका अधिकारी विकास पाटले से मुलाकात की। मुलाकात के दौरान ज्ञापन सौंपकर स्थानीय निकाय में परिषद की पुस्तकों में अंतरण लेखबद्ध करने नामांतरण समझौता शुल्क के नाम पर शहर की जनता से राशि वसूली बंद करने की मांग की है

सदस्य और पार्षद ने बताया कि, मकान नामांतरण समझौता शुल्क के नाम पर मोटी रकम वसूली जा रही है। ज्ञापन सौंपकर नामांतरण समझौता शुल्क के नाम पर आमजनता से राशि वसूली बंद कर अब तक संबंधितों से की गई नियम विरुद्ध वसूली की राशि ब्याज सहित वापस लौटाए जाने की मांग की गई है।सदस्य और पार्षद ने कहा कि, नगरपालिका नामांतरण के नाम पर की जाने वाली नए शुल्क की वसूली बंद कर शहर की जनता से ली गई राशि को ब्याज सहित वापस लौटा दे नहीं तो मामला जनहित का है , न्यायालय के दरवाजे जाने बाध्य रहूंगा।


Date : 19-Sep-2019

ग्राम भ्रमण कार्यक्रम के तहत अतिसंवेदनशील क्षेत्र के नलकसा में कलेक्टर रानू साहू ​की चौपाल 

दल्लीराजहरा, 19 सितंबर। ग्राम भ्रमण कार्यक्रम के तहत कलेक्टर रानू साहू गुरूवार को जिला स्तरीय अधिकारियों सहित सामूहिक रूप से एक ही बस में सवार होकर अतिसंवेदनशील क्षेत्र के ग्राम नलकसा पहुंचे। वहां उन्होंने कलामंच में चैपाल लगाई और एक-एक कर ग्रामीणों की समस्याओं से रू-ब-रू हुई। 


कलेक्टर ने ग्राम विकास के संबंध में भी ग्रामीणों से चर्चा की। ग्रामीणों ने पेयजल हेतु नलजल योजना कार्य को पूरा कराने, सड़क निर्माण कराने, स्वच्छ भारत मिशन के तहत निर्मित शौचालय निर्माण की राशि कुछ हितग्राहियों का शेष है, उसे दिलाने, पशु शेड निर्माण कार्य पूरा कराने आदि की मॉग की। कलेक्टर ने मौके पर उपस्थित संबंधित अधिकारियों को निरीक्षण कर प्रतिवेदन प्रस्तुत करने के निर्देश दिए। इसके अतिरिक्त ग्रामीणों ने सामाजिक सुरक्षा पेंशन, दिव्यांग प्रमाण पत्र, प्रधानमंत्री आवास योजना का लाभ दिलाने आदि से संबंधित आवेदन कलेक्टर को सौंपे। कलेक्टर ने श्रम विभाग की योजना के अंतर्गत तेरह हितग्राहियों को सुरक्षा उपकरण किट, उद्यान विभाग की योजना के अंतर्गत दो हितग्राहियों को लौकी सीड प्रदान किया। महिला एवं बाल विकास विभाग की योजना के अंतर्गत दो बच्चों का अन्नप्रासन संस्कार कराया।
कलेक्टर ने अधिकारियों और ग्रामीणों के साथ गॉव का पैदल भ्रमण कर आंगनबाड़ी केन्द्र व स्कूल का निरीक्षण और ग्राम स्तर पर योजनाओं के क्रियान्वयन का जायजा लिया। ग्राम नलकसा में जल संरक्षण हेतु हैण्डपम्पों के आसपास तथा अन्य स्थानों में बनाए गए सोकपिट का अवलोकन किया। ग्रामीणों द्वारा घरों में भी सोकपिट बनाए जाने की जानकारी पर कलेक्टर ने जल संरक्षण हेतु जागरूकता पर ग्रामीणों की सराहना की। कलेक्टर ने गॉव के सीमेंट कंाक्रीट सड़क का भी अवलोकन किया। उन्होंने वहॉ के तालाब का अवलोकन किया और ग्रामीणों द्वारा तालाब में पचरी निर्माण की मॉग किए जाने पर जनपद पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी को पचरी निर्माण हेतु प्रस्ताव तैयार करने के निर्देश दिए। उन्होंने प्रधानमंत्री आवास योजना ग्रामीण के तहत निर्माणाधीन आवासों का भी अवलोकन किया और हितग्राहियों से चर्चा की। 

कलेक्टर ने ग्राम नलकसा के वन अधिकार पत्र धारक हितग्राहियों के खेतों का अवलोकन किया। पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग के अधिकारियों ने बताया कि गॉव के पन्द्रह वन अधिकार पत्र धारक हितग्राही खेती कर रहे हैं।  कुल रकबा पचास एकड़ है। महात्मा गॉधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी योजना के तहत उनकी भूमि का सुधार कराया गया है।

वर्तमान में वे धान की फसल ले रहे हैं। आठ हितग्राहियों के खेतों में मछली पालन हेतु डबरी निर्माण कराया गया है। तेरह हितग्राहियों के कुछ पड़त भूमि में उद्यान विभाग के सहयोग फलदार पौधे लगाए गए हैं। 

कलेक्टर ने वन अधिकार पत्र धारक हितग्राहियों की मॉग पर सिंचाई सुविधा हेतु सौर सुजला पम्प स्थापित कराने के निर्देश के्रडा विभाग के अधिकारी को दिए। 

उन्होंने हितग्राही किसानों को उन्नत खेती कर अपनी आमदनी बढ़ाने के लिए प्रोत्साहित किया। 
कलेक्टर ने गॉव के अंागनबाड़ी केन्द्रों का निरीक्षण कर बच्चों से नाश्ता तथा गरम भोजन मिलने की जानकारी ली। बच्चों ने कलेक्टर को कविता सुनाई। कलेक्टर ने आंगनबाड़ी केन्द्रों में बच्चों की शतप्रतिशत उपस्थिति सुनिश्चित करने के निर्देश दिए। उन्होंने अंागनबाड़ी केन्द्र परिसर में आम का पौधा लगाकर ग्रामीणों को वृक्षारोपण के लिए प्रोत्साहित किया।
गांव भ्रमण के दौरान कलेक्टर ने आंगनबाडिय़ों के छोटे नौनिहालों महिलाओं को अन्नप्रासन के दौरान खीर खिलाई। और कलेक्टर ने बडे ही उत्सुकता पूर्वक 6 माह की बालिका को अपनी गोद मे उठा लिया।

उन्हेांने वहॉ शासकीय पूर्व माध्यमिक शाला पहुॅचकर शिक्षकों तथा छात्र-छात्राओं की उपस्थिति की जानकारी ली। कलेक्टर ने छात्र-छात्राओं से सामान्य ज्ञान के सवाल पूछे और छात्र-छात्राओं द्वारा सही जवाब देने पर कलेक्टर ने उनकी सराहना की। कलेक्टर ने स्कूल परिसर को स्वच्छ रखने तथा जिम्मेदारीपूर्वक अध्यापन कार्य कराने के निर्देश शिक्षकों को दिए। इस अवसर पर अपर कलेक्टर ए.के.वाजपेयी, जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी, लोकेश कुमार चन्द्राकर, एस.डी.एम. श्री आर.एस.ठाकुर सहित जिला स्तरीय अधिकारी और बड़ी संख्या में ग्रामीण उपस्थित थे। 


Date : 19-Sep-2019

तांदुला नहर में नवजात की लाश

छत्तीसगढ़ संवाददाता
बालोद, 19 सितंबर।
गुरुवार सुबह तांदुला नहर में नवजात बच्चे का शव बहते देखा गया। पसौद निवासी पोषण साहू ने पुलिस की उपस्थिति व आदेश के बाद शव को कजराबांधा के हामेन्द्र के साथ निकाला। शव के निकालने के बाद गुण्डरदेही के थाना प्रभारी रोहित मालेकर व रनचिरई थाना प्रभारी मनोज बंजारे की टीम भी मौके पर पहुंच गए थे। देर शाम शव का पोस्टमार्टम किया गया

मीडिया के माध्यम से सूचना पाकर पुलिस ने भी सक्रियता दिखाई। एक ओर जहां गुण्डरदेही व रनचिरई के थाना प्रभारी जगह को ढूंढते हुए शव के बारे में पतासाजी में जुट गए, वहीं दूसरी ओर डीएसपी दिनेश सिन्हा भी एक घंटे के भीतर मौके पर पहुंचकर गए। 

 10.30 बजे के आसपास हमें सूचना मिली थी कि तांदुला नहर में कजराबांधा व बरबसपुर के बीच नवजात बच्चे की लाश बह रही है। सूचना के बाद गुण्डरदेही व रनचिरई थाना प्रभारी ने मौके पर पहुंचकर शव को निकलवाया। जिसके बाद पंचनामा कर शव का पोस्टमार्टम किया गया। आगे जांच की कार्रवाई की जा रही है।
दिनेश सिन्हा, डीएसपी बालोद

 


Date : 19-Sep-2019

सिवनी में मुख्य मार्ग में स्थित अस्थाई लाइसेंस में संचालित अनुष्का अस्पताल को एसडीएम, सीएमएचओ व थाना प्रभारी ने दबिश देकर छापामार की कार्यवाही करते हुए सील कर दिया

छत्तीसगढ़ संवाददाता
बालोद,  19 सितंबर।
जिला मुख्यालय से दो किमी की दूरी पर ग्राम पंचायत सिवनी में मुख्य मार्ग में स्थित अस्थाई लाइसेंस में संचालित अनुष्का अस्पताल में बुधवार की देर रात को एसडीएम, सीएमएचओ व थाना प्रभारी ने दबिश देकर छापामार की कार्यवाही करते हुए अस्पताल को सील कर दिया। 

 जिला प्रशासन की निर्देश पर सीएमएचओ, राजस्व एवं पुलिस विभाग की संयुक्त टीम ने आधी रात को 10 बिस्तर अनुष्का हॉस्पिटल में छापा मारा। टीम ने हॉस्पिटल के सारे कमरे, उपकरणों एवं सभी दस्तावेज की जांच की।

जांच के दौरान एक भी डॉक्टर हॉस्पिटल में मौजूद नहीं पाए गए। जबकि हॉस्पिटल की बोर्ड में बड़े-बड़े पदनाम के साथ डॉक्टरों के नाम लिखे गए हैं। एसडीएम, सीएमएचओ व टीआई के द्वारा हॉस्पिटल के एक-एक रूम की जांच की गई साथ ऑपरेशन थियेटर की भी जांच की गई। जिसमें कई खामियां भी मिली। 

नायब तहसीलदार मनोज भारद्वाज ने हॉस्पिटल में मौजूद युवतियों व प्रबंधन का बयान दर्ज किया। बयान में युवतियों ने बताया कि हॉस्पिटल में सिजेरियन ऑपरेशन किया गया हैं। सबके बयान दर्ज और पूरी जांच के पश्चात एसडीएम सिल्ली थॉमस के निर्देश में नायब तहसीलदार ने अनुष्का हॉस्पिटल को ताला जड़ सीज किया। हॉस्पिटल सीज की खबर सुबह जैसे जैसे फैली वैसे ही अवैध हॉस्पिटल, दवाखानों एवं पैथालॉजी लैब के संचालकों में हड़कंप रहा। कार्यवाही के दौरान बालोद एसडीएम सिल्ली थॉमस, सीएमएचओ बीएल रात्रे, बालोद थाना प्रभारी अमर सिदार, नायब तहसीलदार मनोज भारद्वाज एवं पुलिस टीम मौजूद रही।

 


Date : 19-Sep-2019

पाकिस्तान में हो रही हिन्दू विरोधी घटनाओं को लेकर बालोद पूज्य सिंधी पंचायत के लोगों ने दल्ली तिराहे चौक में पाकिस्तान के प्रधानमंत्री का पुतला दहन कर राज्यपाल के नाम कलेक्टर को ज्ञापन सौंपा

छत्तीसगढ़ संवाददाता
बालोद, 19 सितंबर।
पाकिस्तान में लगातार हो रही हिन्दू विरोधी घटनाओं को लेकर गुरुवार को बालोद पूज्य सिंधी पंचायत के लोगों ने दल्ली तिराहे चौक में पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान का पुतला दहन कर राज्यपाल के नाम कलेक्टर को ज्ञापन सौंपा। 

सिंधी पंचायत के लोगों ने पाकिस्तान में हिन्दुओं के ऊपर हो रहे अत्याचार पर रोक लगाने के लिए ठोस कदम उठाने की मांग प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से की हैं। पूज्य सिंधी पंचायत के अध्यक्ष हीरा गंगवानी ने कहा कि पाकिस्तान में लगातार हिन्दू मंदिरों व सिक्ख गुरूद्वारों पर आक्रमण तथा हिन्दू बच्चियों का अपहरण करके जबरन धर्म परिवर्तन कराकर शादी कराई जा रही हैं। जिसके कारण समस्त हिन्दू समुदाय आहत हैं।पाकिस्तान की इस रवैये की बालोद पूज्य सिंधी पंचायत धोर निंदा करते हैं।

समाज के लोगों ने सिंधी भवन से रैली निकाली। दल्ली तिराहे चौक पहुंचकर पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान का पुतला दहन किया। पाकिस्तान मुर्दाबाद के नारे लगाए। इस अवसर पर सिंधी समाज के लोग बड़ी संख्या में शामिल होकर पाकिस्तान के खिलाफ विरोध जताया है।

 


Date : 18-Sep-2019

बालोद नपा अध्यक्ष पद सामान्य, राजनीतिक सरगर्मी तेज 

छत्तीसगढ़ संवाददाता
बालोद, 18 सितंबर।
बालोद नगर पालिका के अध्यक्ष पद सामान्य वर्ग के लिए आरक्षित होने से शहर में राजनीतिक सरगर्मी तेज हो गई है। प्रदेश के नगरीय निकाय के लिए रायपुर में बुधवार को लाटरी के माध्यम से आरक्षण तय हुआ है, जिसको लेकर शहर के अध्यक्ष पद के दावेदारों की निगाहें टिकी हुई थी। जैसे ही बालोद नगर पालिका अध्यक्ष का पद सामान्य घोषित होने से सामान्य वर्ग के नेताओं के चेहरे खिल उठे हैं। 

बता दें कि पिछली बार भी बालोद नगर पालिका अध्यक्ष का पद सामान्य हुआ था। अब सामान्य वर्ग के लिए घोषित होने से पालिका चुनाव दिलचस्प होने की बातें कही जा रही है। नगरीय निकाय चुनाव दिसंबर या जनवरी में होना प्रस्तावित है। सभी नगरीय निकायों में अध्यक्ष का कार्यकाल अंतिम दौर पर चल रहा है। दो-तीन माह ही बचे हैं और फिर नए अध्यक्ष का चुनाव होगा। इसके लिए अभी से नगरीय चुनाव की बिसात जिले में बिछने लगी है। दोनों ही पार्टी के प्रमुख नेता दावेदारों की तलाश कर रहे हैं। 

यह भी देखा जा रहा है कि जो वर्तमान में अध्यक्ष पद पर काबिज है क्या वे दोबारा चुनाव लड़ सकते हैं। इसे देखते हुए भी उनका नाम दोबारा तय किया जा सकता है। लेकिन बहुत कम ही अध्यक्ष हैं, जिनके नाम दोबारा फाइनल करने की चर्चा है। माना जा रहा है कि जिनका काम अच्छा है, उन्हें दोबारा मौका दिया जा सकता है। अब पार्टी के प्रमुख लोगों का भी अंदर अंदर बैठक का दौर चल रहा है कि हम किसे अपना प्रत्याशी बनाए। जो हमें चुनाव जिता सके। पार्टी में जिसकी मजबूती है।

पिछले चुनाव में दिलचस्प हुआ था मुकाबला 
31 दिसबर 2014 में बालोद नगर पालिका का चुनाव हुआ था जिसमे दिलचस्प मुकाबला देखने को मिला था। उस वक्त सत्ता में रहे भाजपा ने यज्ञदत्त शर्मा को उम्मीदवार बनाया था, वहीं विपक्ष में रहे कांग्रेस ने तत्कालीन पार्षद विकास चोपड़ा को उम्मीदवार बनाया था, हालांकि निर्दलीय के रूप में राजेश चोपड़ा ने अपना किस्मत आजमाया था लेकिन चुनाव में वे कुछ करिश्माई नहीं कर पाए। मुख्य मुकाबला भाजपा से यज्ञदत्त शर्मा और कांग्रेस से विकास चोपड़ा के बीच कांटे के मुकाबले में कांग्रेस ने लंबे वर्ष बाद जीत का परचम लहराया था। विकास चोपड़ा ने यज्ञदत्त शर्मा को लगभग 3सौ से अधिक मतों से पराजित किया था । लेकिन इस बार सामान्य वर्ग से आरक्षित होने से वर्तमान नगर पालिका अध्यक्ष विकास चोपड़ा और यज्ञदत्त शर्मा एक बार फिर आमने सामने होने की अटकलें शहर में तेज हो गई हैं।

दावेदारों की लिस्ट हो रही तैयार
जिले में भाजपा और कांग्रेस सहित अन्य पार्टी में अंदरूनी तौर से बैठक का दौर शुरू हो चुका है। अंदर ही अंदर दावेदारों की फौज तैयार की जा रही है। प्रथम टॉप टेन की लिस्ट बनाई जा रही है। जिसमें से फिर सबसे बेस्ट तीन नामों का चयन करके पैनल में भेजा जाएगा और वहीं से फिर एक का नाम तय होगा। जिसे नगर पालिका  चुनाव के लिए प्रत्याशी बनाया जाएगा। इसके लिए अंदरूनी तौर से नगरीय क्षेत्रों में बैठक का दौर भी चल रहा है। जो दोबारा चुनाव लडऩे की इच्छा जता रहे हैं। उन्होंने पहले से ही अपनी पहुंच बरकरार रखते हुए अपना नाम इस लिस्ट में जुड़वा दिया है लेकिन इसकी पूरी तरह से गोपनीयता भी बरती जा रही है कि उनका नाम पहले से सामने मत आए कि वे दोबारा चुनाव लड़ रहे हैं. अन्यथा भितरघात का खतरा हो सकता है। दोबारा चुनाव लडऩे की फिराक में रहने वाले अध्यक्ष सभी नेताओं को संतुष्ट करने में भी लगे हुए हैं ताकि अगले चुनाव में उन्हें कोई अड़चन का सामना न करना पड़े और उन्हें पार्टी और संगठन का भरपूर साथ मिले।

नई सरकार के कारण बदल सकता है समीकरण
इस नगरीय चुनाव पर राजनीतिक समीकरण भी काफी प्रभाव डालेगा। खासकर छत्तीसगढ़ में बदले सरकार का भी इस चुनाव पर बहुत असर रहेगा। केंद्र सरकार भाजपा की है लेकिन राज्य सरकार में कांग्रेस का कब्जा है। वहीं जिले के तीनों विधानसभा सीट पर कांग्रेसी विधायक का कब्जा है तो सांसद लोकसभा क्षेत्र में भाजपा का कब्जा है। ऐसे में दोनों ही पार्टी के पास प्रमुख कार्य क्षेत्र और पद है। ऐसे में इन उपलब्धियों का असर नगरीय चुनाव पर भी पड़ेगा और इस हिसाब से भी पार्टी अपना योग्य प्रत्याशी तय करेगी, जो सबका पसंदीदा हो।

 जिस तरह विधानसभा चुनाव में जीत के बाद लोकसभा चुनाव में कांग्रेस को करारी हार देखनी पड़ी। इसी तरह नगरीय चुनाव में भी पासा न पलट जाए। इस डर से प्रत्याशी तय करने में भी अड़चन आ रही है। योग्य और सक्षम प्रत्याशी की तलाश अभी से शुरू हो चुकी है ताकि जब नामों की घोषणा करने का वक्त आए। पूरी मजबूती और ताकत के साथ पार्टी अपने प्रत्याशियों का नाम ऐलान कर सके और ऐसे प्रत्याशी का नाम सामने रखे। जो सबका चहेता हो। 

जिसे सबका सपोर्ट मिले और जीत आसानी से हो, ताकि किसी तरह की गुटबाजी का शिकार न होना पड़ेगा और हार का मुंह न देखना पड़े।
 


Date : 17-Sep-2019

जिला अस्पताल की समस्याओं के निराकरण को लेकर कलेक्टर को सौंपा ज्ञापन

छत्तीसगढ़ संवाददाता
बालोद, 17 सितंबर।
जिला अस्पताल की विभिन्न समस्याओं से निजात दिलाने व अस्पताल के प्रभारी की बदतमीजी एवं प्रबंधन की लापरवाही करने को लेकर बालोद के युवाओं ने कलेक्टोरेट पहुंचकर कलेक्टर रानू साहू को 6 सूत्रीय मांग पत्र सौंपा। युवाओं ने जिला अस्पताल को रिफर सेंटर बनाने वाले प्रभारी श्रीमाली के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराने की मांग की है। 

युवा नेता वैभव शर्मा ने आरोप लगाया कि जिला अस्पताल की विभिन्न समस्याओं से निजात दिलाने व जिला अस्पताल प्रभारी के खिलाफ कलेक्टर से शिकायत करते हम थक चुके हैं, जिसके बाद भी प्रभारी की लापरवाही और दुव्र्यवहार कम होने का नाम नहीं ले रही है। उन्होंने बताया कि पिछले दिनों डोमेन साहू की मौत बिना गैस वाले ऑक्सीजन सिलेंडर देने से हो गई थी। जिसके कारण युवाओं ने धरना प्रदर्शन करने के बाद अस्पताल के प्रभारी के खिलाफ एसडीएम से शिकायत की गई थी। इस दौरान प्रभारी ने मृत व्यक्ति के पिता से माफ़ी नहीं मांगी और न ही जिला प्रशासन द्वारा अब तक कोई कार्रवाई की गई है। उन्होंने आरोप लगाया कि जिला अस्पताल में मरीजों को निशुल्क दवाईया नहीं दी जा रही हैं ,बल्कि मरीजों को बहार से दवाई लेने के लिए कहा जाता हैं।

मांग पत्र सौंपने के दौरान वैभव शर्मा,देवेन्द्र साहू,चिंकू कौशिक,आशुतोष कौशिक,देवा मांडवी,हरीश,दीपक जसवानी, रियाज खान,राहुल सोनी,लक्की सिन्हा,पियूष साहू,शेष यादव,प्रदीप साहू ,मोनू यादव सहित आदि शामिल रहे।

 


Date : 17-Sep-2019

पूजे गए देवशिल्पी विश्वकर्मा

बालोद ,17 सितंबर। जिला मुख्यालय सहित ग्रामीण अंचलों में मंगलवार को पूजा अर्चना के साथ भगवान विश्वकर्मा की प्रतिमा स्थापित की गई। जिले के एक मात्र दंतेश्वरी मैया सहकारी शक्कर कारखाना करकाभाट में मंगलवार की सुबह 9 बजे भगवान विश्वकर्मा की प्रतिमा स्थापित की गई। दोपहर में कारखाना परिसर में सांस्कृतिक कार्यक्रम का आयोजन किया गया। इस अवसर पर मिस्त्री संघ द्वारा छतीसगढ़ी कार्यक्रम का आयोजन किया गया जिसमें बड़ी संख्या में लोगों ने पहुंचकर कार्यक्रम का आनंद लिया। 18 सितंबर को हवन, पूजा-अर्चना के बाद भगवान विश्वकर्मा की प्रतिमा को विसर्जित किया जाएगा।

जगह-जगह भगवान विश्वकर्मा की प्रतिमा स्थापना की गई। श्रद्धालुओं की टोली बाजे-गाजे के साथ बड़े वाहनों में भगवान विश्वकर्मा जी की प्रतिमाएं ले जाते रहे। शहर के विभिन्न वार्डों सार्वजनिक स्थानों पर देवशिल्पी विश्वकर्मा की प्रतिमा स्थापित किए गए। मौसम खुला रहने से श्रद्धालुओं में उत्साह देखा गया। मूर्ति स्थापना को लेकर सुबह से भक्तों ने तैयारी कर ली थी। भगवान विश्वकर्मा को पंडाल लाने के बाद भक्तों ने विशेष पूजा अर्चना की। पंडित के मंत्रोच्चार के साथ विधि-विधान से शुभ मुहूर्त में सभी जगह दोपहर से शाम तक पूजा, अर्चना का कार्यक्रम चलता रहा। प्रतिमाओं को श्रद्धालु डीजे, धुमाल, बाजे-गाजे के साथ बड़े वाहनों के सहारे ले गए।

जिला मुख्यालय में विद्युत मंडल, सिंचाई कालोनी, टेक्सी स्टैंड, नया बस स्टैंड,नगर पालिका कार्यलय, मिस्त्री संघ स्कूल मैदान, राइस मिल, धनोरा के परिवहन शाखा सहित दर्जनों स्थानों में भगवान विश्वकर्मा की प्रतिमा स्थापित की गई है।
दल्लीराजहरा, देवशिल्पी भगवान विश्वकर्मा जयंती के अवसर पर लौह अयस्क खदान समूह के विभिन्न विभागों तथा नगर के छोटे-बड़े वाहन गैरेजों, लौह से जुड़े व्यवसायों में दोपहर 2 बजे तक भगवान विश्वकर्मा की प्रतिमा स्थापित कर विधि-विधान से पूजा-अर्चना की गई और भक्तों को प्रसाद वितरण किया गया।

        विश्वकर्मा पूजा को लेकर लौह अयस्क खदान समूह अंतर्गत अधिकारी व कर्मचारियों में उत्साह का माहौल रहा। बीआर शॉप दल्ली खदान,राजहरा माइंस,क्वारी माइंस,मयूर पानी माइंस, महामाया माइंस आदि के विभागीय कार्यालयों व स्टोर रूम,एचईएमई गैरॉज,दल्ली यंत्रीकृत खदान, सेंपलिंग विभाग, औद्योगिक क्षेत्र राजहरा यंत्रीकृत खदान के जल प्रदाय विभाग, राजहरा वाटर फिल्टर हाऊस,अग्नि शमन विभाग कार्यालय,बीएसपी सिविल आफिस में भगवान विश्वकर्मा की प्रतिमा स्थापित कर पूजा की गई।

         इसके अलावा राजहरा परिवहन संघ,राज मिस्त्री संघ, होटल- ढाबा मिस्त्री एवं कर्मचारी संघ तथा हाथ ठेला मजदूर संघ,रेलवे कार्यालय,दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे मेन्स यूनियन कार्यालय,विद्युत मंडल चिखलाकसा कार्यालय,नगर पंचायत चिखलाकसा कार्यालय आदि में विश्वकर्मा की प्रतिमा स्थापित कर संघ पदाधिकारियों, संबंधित विभाग के अधिकारियों एवं कर्मचारियों के द्वारा पूजा अर्चना की गई। नगर के छोटे-बड़े वाहन गैरेजों एवं लौह से जुड़े व्यवसायों में भी भगवान विश्वकर्मा की पूजा-अर्चना की गई। इनके अलावा विभिन्न स्थानों पर दोपहर तक शिल्प देव भगवान विश्वकर्मा की प्रतिमा स्थापित कर उत्साह एवं भक्तिपूर्ण माहौल में पूजा अर्चना की गई है। 

 


Date : 16-Sep-2019

केबल मरम्मत करते झुलसा, गंभीर

छत्तीसगढ़ संवाददाता
बालोद, 16 सितंबर।
जिला मुख्यालय में सोमवार को घर की छत के ऊपर लगे केबल वायर की मरम्मत करते समय टेक्नीशियन 11 केवी तार की चपेट में आने से बुरी तरह से झुलस गया। उसके सहकर्मी ने किसी भी तरह से उसकी जान बचाई। हादसे के बाद लोगों में आक्रोश देखा गया।

जानकारी के अनुसार वार्ड क्रमाक 16 सिंधी कॉलोनी में स्थित पकंज आहूजा के मकान में केबल वायर की मरम्मत करने के लिए टेक्नीशियन आमापारा निवासी तेजप्रकाश भारती व उसके सहयोगी लोकेन्द्र छत के ऊपर पहुंचकर केबल वायर को ऊपर से फेंक रहा था, जहा 11 केवी तार से जा टकराया, जिसके कारण चिंगारी निकलकर आग लग जाने तेजप्रकाश भारती पूरी तरह से झुलस गया। सहकर्मी लोकेंद्र की सूझबूझ व हिम्मत के चलते तेजप्रकाश की जान बच गई। जान बचाते लोकेंद्र का भी हाथ जल गया। छत के ऊपर से लोगों की मदद से उसे नीचे उतारा गया। फिर 108 के जरिये उसे जिला अस्पताल लाया गया। जहां प्रारंभिक उपचार के बाद भिलाई के सेक्टर 9 अस्पताल रिफर कर दिया गया है। 

 


Date : 16-Sep-2019

मांगों को ले अभाविप ने कॉलेज प्रशासन की शवयात्रा निकाली, धरना

छत्तीसगढ़ संवाददाता
बालोद, 16 सितंबर।
जिला मुख्यालय के धनश्याम सिंह गुप्त महाविद्यालय में विभिन्न समस्याओं के निराकरण करने की मांग को लेकर सोमवार को अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के छात्रों ने कॉलेज प्रशासन की शवयात्रा निकालकर कर कॉलेज के मुख्य गेट पर धरने पर बैठ कर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल व उच्च शिक्षा मंत्री उमेश के खिलाफ नारे लगाए और कॉलेज प्रशासन की लचर व्यवस्था के खि़लाफ़ जमकर नारेबाजी की। 

एबीपी के छात्र-छात्राओं की हंगामा की जानकारी लगते ही मामले को शांत कराने बालोद तहसीलदार रश्मि वर्मा और बालोद थाना प्रभारी अमर सिदार कॉलेज पहुंचकर छात्र-छात्राओं से बात की। जहां कॉलेज प्रबंधन और एबीवीपी के छात्रों से चर्चा की और समस्या को जल्द निराकरण करने की बात कही गई। 

शासकीय घनश्याम सिंह गुप्त कॉलेज में सोमवार को 11 बजे अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के छात्रों व पदाधिकारियों ने कॉलेज में हो रही समस्या एवं मांगों को लेकर कॉलेज प्रशासन की शवयात्रा निकाली और कॉलेज प्रबंधन के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। एबीवीपी के छात्रों व पदाधिकारियों द्वारा कॉलेज में छात्र-छात्राओं को हो रही समस्याओं से अवगत कराते हुए बताया कि कॉलेज की कक्षाओं में साफ-सफाई नियमित नहीं होती है, प्राध्यापकों की कमी हैं। छात्र-छात्राओं के बैठने के लिए टेबल एवं कुर्सी की भी कमी हैं। पिछले सत्र की छात्रवृत्ति छात्र-छात्राओं नही मिल पाई है। पेयजल एवं वाटर फिल्टर रो का सुधार कार्य समय पर नही होता तथा महाविद्यालय प्रवेश द्वार के मेन गेट में हमेशा ताला जड़ा होता है। इन सभी प्रमुख मांगों को एबीवीपी के छात्रों ने कॉलेज प्रबंधन के समक्ष रखा। इस दौरान बड़ी सख्या में एबीपी के पदाधिकारी सहित छात्र छात्राए बड़ी सख्या में शामिल थे


Date : 15-Sep-2019

सेवा सप्ताह, नीलू सहित भाजपाईयों ने मरीजों को बांटे फल

दल्लीराजहरा, 15 सितंबर। पूर्व अध्यक्ष राज्य भंडार गृह निगम नीलू शर्मा को दंतेवाड़ा उपचुनाव में पार्टी ने प्रचार की जिम्मेदारी दी है। दंतेवाड़ा जाने के दौरान राजहरा स्थित भाजपा नेता राकेश द्विवेदी के निवास पर रूक कर कार्यकर्ताओं से बात की।  प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के जन्मदिवस को भाजपा द्वारा 14 से 20 नवंबर तक सेवा सप्ताह के रूप में मनाया जाएगा। इसी तारतम्य में दल्ली राजहरा भाजपा कार्यकर्ताओं द्वारा आरोग्य अस्पताल में मरीजों को फल बिस्किट एवं ब्रेड का वितरण नीलू शर्मा व स्थानीय कार्यकर्ताओं एवं पार्षदों के साथ मिलकर शुरुआत की गई। इस अवसर पर वरिष्ठ भाजपा नेता सुदेश सिंह गोविंद वाधवानी पूर्व पार्षद किरण सिन्हा पूर्व पार्षद नीलावती साहू नागेंद्र चौधरी सुजीत झा भाजयुमो जिला उपाध्यक्ष पूर्व महामंत्री राकेश द्विवेदी राजेश कांबले महेंद्र पिपरे संजीव सिंग अमित कुकरेजा भूपेंद्र श्रीवास श्रीजीत पार्षद टी ज्योति गीता मरकाम शंकर साहू उपस्थित रहे। इस कार्य में अस्पताल प्रबंधन के लोगों का भी सराहनीय योगदान रहा। उसके बाद दंतेवाड़ा रवाना हो गए साथ में पूर्व एल्डरमैन नाग्रेद्र चौधरी गए।


Date : 15-Sep-2019

कांग्रेसियों ने रमन-अजीत जोगी का पुतला फूंका 

छत्तीसगढ़ संवाददाता
बालोद, 15 सितंबर।
छत्तीसगढ़ के दो बहुचर्चित मामले में खुलासे के बाद प्रदेश कांग्रेस के निर्देशानुसार जिला कांग्रेस द्वारा दो पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह व अजीत जोगी का पुतला दहन रविवार को दोपहर में स्थानीय जय स्तंभ चौक में किया गया। इस दौरान कांग्रेसियों ने दोनों पूर्व मुख्यमंत्रियों के पुतला को लेकर कांग्रेस भवन से निकलकर  उनके खिलाफ जमकर नारेबाजी की।  

अंतागढ़ टेपकांड मामले में मंतूराम पवार और नागरिक आपूर्ति निगम (नान) घोटाला मामले में शिवशंकर भट्ट के बयान ने राजनीतिक सियासत में खलबली मचा दी है। इस खुलासे में दो पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी और डॉ. रमन सिंह का नाम सामने आया है। इसे लेकर कांग्रेस दोनों पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी और डॉ. रमन सिंह का पुतला दहन कर जमकर नारेबाजी की गई। 

जिला कांग्रेस अध्यक्ष कृष्ण दुबे ने कहा कि  पार्टी हमेशा से इन प्रकरण की जांच की मांग करते आ रही है। जांच प्रकिया के आगे बढऩे से जैसे-जैसे खुलासा हो रहा है, जिससे तिलमिलाए नेताओं हास्यास्पद बयान दिया जा रहा है। दोनों नेता अपनी-अपनी पार्टी का चेहरा हैं और दोनों प्रकरण में उनका चाल-चरित्र उजागर हुआ है। भ्रष्टाचार और लोकतंत्र की हत्या में दोनों की संलिप्तता उजागर हुई है।

नगर कांग्रेस अध्यक्ष विनोद शर्मा ने  कहा कि कानून ने आज दूध का दूध और पानी का पानी कर दिया है। ब्लाक कांग्रेस अध्यक्ष चन्द्रेश हिरवानी ने कहा कि अंतागढ़ टेप कांड में मंतूराम पवार जी ने जो  बयान दर्ज कराया है, और नॉन घोटाले में रमन सिंह का नाम सामने आया है, यह बहुत दुर्भाग्यजनक बात हैं।

 पुतला दहन के दौरान कृष्णा दुबे, बंटी शर्मा, चंद्रेश हिरवानी, कैलाश बिसोई, जीतेन्द्र पांडे, संगीता नायर, शिबू नायर, रुखसाना बेगम, स्वप्निल तिवारी, शंभु साहू, ओमप्रकाश गजेंद्र, डॉ. नारायण साहू, एवं अन्य कांग्रेस नेता, पदाधिकारी व कार्यकर्तागण मौजूद रहे।

 


Date : 15-Sep-2019

जिला अस्पताल में इलाज से इंकार, हंगामा, टीआई व तहसीलदार की समझाईश पर शांत

छत्तीसगढ़ संवाददाता
बालोद, 15 सितंबर।
जिला अस्पताल में इलाज से मना किए जाने पर लोगों ने हंगामा किया। थाना प्रभारी व तहसीलदार ने मौके पर पहुंचकर स्थिति को संभाला। तहसीलदार ने भी मौके पर उपस्थित डॉक्टरों को इलाज करने की सलाह दी तो वहीं इस पूरे मामले में उन्होंने इसका पूरा रिपोर्ट बनाकर कलेक्टर को सौंपने की बात कही।

बताया जाता है कि इकबाल खान अपना इलाज कराने बालोद जिला अस्पताल पहुंचा, लेकिन अस्पताल में मौजूद डाक्टरों ने उसको ओपीडी बंद होने की बात कहकर इलाज करने से मना कर दिया, जिससे गुस्साए स्थानीय लोगों ने अस्पताल प्रबंधन के खिलाफ जमकर हल्ला बोलते हुए हंगामा खड़ा कर दिया। जिसके बाद मौके पर पहुँच अस्पताल अधीक्षक ने भी पीडि़तों की शिकायत नहीं सुनी। जिससे अस्पताल में तनाव की स्थिति निर्मित हो गई।

 हालांकि कुछ देर बाद मौके तहसीलदार व बालोद थाना प्रभारी पहुंचकर मामले को शांत कराया। इस दौरान अस्पताल में आसपास के ग्रामीण क्षेत्रों से और भी कई ग्रामीणों ने इस अस्पताल में डॉक्टरों द्वारा सही तरीके से इलाज नहीं किये जाने की शिकायत करते दिखे। लगातार ग्रामीणों से अस्पताल के व्यवस्था को लेकर शिकायत मिलने के बाद तहसीलदार रश्मि वर्मा अस्पताल के भीतर मरीजों से मिली तो उन्होंने भी अस्पताल में डॉक्टरों द्वारा सही इलाज नहीं करने की शिकायत तहसीलदार से की। जिसके बाद तहसीलदार ने भी मौके पर उपस्थित डॉक्टरों को इलाज करने की सलाह दी तो वहीं इस पूरे मामले में उन्होंने इसका पूरा रिपोर्ट बनाकर कलेक्टर को सौंपने की बात कही।

 पीडि़त युवक और उनके साथ पहुंचे लोगों की मानें तो बालोद जिला अस्पताल में दोपहर 2 बजे के बाद पहुँचने वालों का यहाँ पर इलाज नहीं होता और यही स्थिति इस बार भी निर्मित हुई। युवकों ने अस्पताल अधीक्षक पर आरोप लगाते हुए बताया कि जिला अस्पताल अधीक्षक को जब इस बारे में बताया जाता है तो वह मरीजों के इलाज कराने के बजाय उन्हें डराया धमकाया जाता है। वहीं बालोद जिला अस्पताल अधीक्षक ने अस्पताल और उनके ऊपर लगे आरोप को खारिज किया है।
बता दें कि बालोद जिला अस्पताल में पिछले तीन माह के भीतर डाक्टरों द्वारा इलाज में लापरवाही बरतने को लेकर करीब 5 बार हंगामे की स्थिति निर्मित हो चुकी है, यही नहीं इसी अस्पताल में डाक्टरों के लापरवाही के चलते मरीज के मौत के मामले अब भी जांच चल रही है।


Date : 15-Sep-2019

गाजे-बाजे के साथ गणेश विसर्जन, झांकी निकाली, विजेता पुरस्कृत

बालोद, 15 सितंबर। झांकी देखने के लिए बालोदवासी सहित ग्रामीण अंचलों के लोग रात भर जागते रहे। धर्म जागरण द्वारा इस वर्ष भी जिला मुख्यालय में शनिवार को रात 10 बजे डीजे साउंड, डीटीएस साउंड व गाजे-बाजे एवं आतिशबाजी के साथ भव्य गणेश विसर्जन झांकी निकाली गई। झांकी को एक प्रतियोगिता का रूप दिया गया था। झांकी में प्रथम, द्वितीय व तृतीय स्थान प्राप्त करने वाले समिति को सील्ड व नगद राशि देकर सम्मानित किया गया।  झांकी को देखने के लिए दूर दूर से हजारों की संख्या में लोग बालोद पहुंचे थे। 

  शहर में झांकी के आयोजन को लेकर कानून व्यवस्था बनाने के लिए सभी चौक चौराहे में भारी पुलिस बल की तैनाती की गई थी। इस दौरान किसी भी प्रकार की अप्रिय घटना ना हो, उसके लिए यातायात पुलिस के सामने कन्ट्रोल रूम स्थापित कर पल-पल की जानकारी ली जा रही थी। पुलिस की चुस्त दुरस्त व्यवस्था के चलते शहर में कोई अप्रिय घटना नहीं घटी बल्कि माहौल पूरी तरह से शांत रहा। 

मरारपारा के उत्साही नवयुवकों ने झांकी का प्रदर्शन भी किया। इस दौरान झांकी को देखने के लिए बालोद शहर सहित आस पास के ग्रामीण अंचलों के लोग बड़ी संख्या में पहुंचे। शहर के चौक-चौराहों पर लोग इकट्ठे होकर झांकी के मनोरम दृश्य को निहार कर मोबाइल से फोटो व सेल्फ़ी ले रहे थे। गणेश प्रतिमाओं का विसर्जन रविवार को सुबह तक किया गया। 

शहर के विभिन्न स्थानों पर विराजे गणेश भगवान का विसर्जन शनिवार को भी जारी रहा। शिकारीपारा, मरारपारा, नयापारा, आमापारा व अन्य इलाकों में स्थापित बड़ी प्रतिमाओं का विसर्जन हुआ। डीजे की धुन पर विसर्जन शोभायात्रा निकाली। जिसमें युवाओं ने नाचते गाते हुए गणपति को विदाई दी। गणपति बप्पा मोरिया अगले बरस तू जल्दी आ के जयकारे के साथ युवाओं की टोलियां शहर के प्रमुख मार्गों गुजरती रही। 

तीन दिनों तक होता रहा विसर्जन।       
इस वर्ष एक से बढ़कर झांकी प्रदर्शन किया गया। इस बार लगातार गुरूवार से शनिवार तक गणेश विसर्जन का कार्यक्रम चलता रहा। गुरूवार को भी कई गणेश गंगा सागर तालाब में विसर्जित किए गए। वहीं शुक्रवार को भी डीजे की धून में गणेश विसर्जन सुबह पांच बजे तक चला। रात भर युवा नगर की जर्जर सड़कों पर नाचते रहे। यही नजारा शनिवार को भी रहा। 
आमापारा के गणेश भगवान की मूर्ति शात सात बजे गंगा सागर तालाब में विसर्जित की गई। पांच घंटे तक डीजे की धून में गणेश भगवान को शहर के प्रमुख मार्गों पर घुमाया गया।

 


Date : 14-Sep-2019

आधी रात पेट्रोल पंप में आग लगाने की कोशिश, सीसीटीवी कैमरे में दो युवक दिखे

छत्तीसगढ़ संवाददाता
बालोद, 14 सितंबर।
आधी रात दो युवकों ने पेट्रोल पंप में आग लगाने की कोशिश की, आग लगाने में असफल हुए तो दीवार में लगे जलते हुए बैनर पोस्टर को जमीन में पटक कर फरार हो गए। घटना की वारदात पेट्रोल पंप में लगे सीसीटीवी कैमरे में कैद हो गई है। घटना गुरुवार व शुक्रवार की मध्य रात्रि 1.45 बजे जिला मुख्यालय से लगे ग्राम जंगेरा में स्थित किसान डीजल नामक पेट्रोल पंप की है।

मिली जानकारी के अनुसार  जंगेरा में स्थित किसान डीजल पेट्रोल पंप में रात करीब 2 बजे दो अज्ञात बाइक सवार पेट्रोल पंप पहुचे थे। घटना के वक्त पेट्रोल पंप में 2 कर्मचारी ड्यूटी में थे। अधिक रात हो जाने के कारण दोनों युवक ऑफि़स में सो गए थे। घटना की जानकारी शुक्रवार सुबह पता चला, जब कर्मचारी पेट्रोल पंप के आसपास झाड़ू लगा रहे थे तब देखा कि   ऑफिस में लगने वाले बैनर पोस्टर जला हुआ पड़ा था। इसकी सूचना पेट्रोल पंप संचालक को दी तथा सीसीटीवी कैमरे माध्यम से घटना की सारी वारदात को देखा गया।

बैनर-पोस्टर पूरा नहीं जला तो जमीन में पटक दिया
सीसीटीवी फुटेज में घटना की सारी वारदात कैद हो गई है। दोनों बाइक सवार युवक काफी देर तक पेट्रोल पंप में ही सिगरेट पीते रहे, जिसके बाद पेट्रोल पंप के ऑफिस के एक खिड़की में लगे बैनर पोस्टर को माचिस के सहारे आग लगा दिया। इस दौरान बैनर में आग पूरी तरह नहीं लगा, जिसके बाद एक युवक ने बैनर पोस्टर को उठा कर जमीन में पटक दिया और फरार हो गए। दोनों युवक दो पहिया साइन नामक वाहन में आये थे। एक युवक सफेद रंग का टीशर्ट पहना हुआ था।
इस मामले में बालोद थाना प्रभारी अमर सिदार ने कहा कि घटना की सूचना बालोद थाने में नहीं दिया गया। पेट्रोल पंप में थाने का नम्बर भी लगा रहता है, लेकिन इस घटना के बारे में किसी किसी प्रकार की जानकारी मुझे प्राप्त नहीं हुई है।

 


Date : 13-Sep-2019

स्कूलों का निरीक्षण, बम्हनी शाला में फूलों व सब्जी गार्डन को देख प्रभावित हुए बीईओ

छत्तीसगढ़ संवाददाता
दल्लीराजहरा, 13 सितंबर।
शुक्रवार को विकासखंड के विभिन्न शासकीय प्राथमिक एवं पूर्व माध्यमिक शालाओं का आकस्मिक निरीक्षण विकासखंड शिक्षा अधिकारी द्वारा किया गया। 

विकासखण्ड शिक्षा अधिकारी आर आर ठाकुर ने आदिवासी अंचल व सीमावर्ती शालाओं में शासकीय प्राथमिक एवं पूर्व माध्यमिक शालाओं में छिंदगांव, बम्हनी, पेंवारी सहित अन्य शालाओं का आकस्मिक निरीक्षण किया गया। जिसमें शालाओं में शिक्षकों व बच्चों की उपस्थिति के साथ ही मध्यान्ह भोजन की गुणवत्ता की भी जांच की।

इस दौरान बताया गया कि बम्हनी प्राथमिक व पूर्व माध्यमिक शाला में लगाये गये गार्डन में केला, भिण्डी, बरबटटी, बैंगन आदि सब्जीदार पौधे लगाए गए हैं, जिसमेें फल लग चुके हैं और इन सब्जियों को मध्यान्ह भोजन में ताजा सब्जी के रूप में उपयोग किया जा रहा है, जो कि बच्चों के स्वास्थ्य के लिए बेहतर लाभदायक व पौष्टिक आहार के रूप मेें प्राप्त हो रही है। 
बीईओ आरआर ठाकुर ने बताया कि निरीक्षण दोपहर 2 बजे से शुरू किया गया, जिसमें स्कूलों में शिक्षकों व बच्चों की उपस्थिति शत प्रतिशत थी। वहीं बम्हनी शाला में फूलों व सब्जी गार्डन को देख का काफी प्रभावित होते हुए शिक्षक व बच्चों को बधाई दी। 

 


Date : 13-Sep-2019

भारी वाहनों से उखड़ रही गिट्टी, जगह-जगह धंस रही सड़क

छत्तीसगढ़ संवाददाता
बालोद, 13 सितंबर।
जिला मुख्यालय के मुख्य मार्गों से गुजरने वाले भारी वाहनों के कारण यातायात व्यवस्था पूरी तरह से चरमरा गई थी जिसे देखते हुए शासन द्वारा 10 करोड़ की लागत से दो साल पहले बायपास का निर्माण किया गया। इस मार्ग के निर्माण में इतनी बड़ी राशि खर्च करने के बाद भी इतने कम समय में मालवाहकों का वजन नहीं सह पा रहा है। सड़क के कई हिस्से की गिट्टी उखड़ कर पूरी तरह से धस गई है, जिसके कारण दुपहिया व चारपहिया के वाहन चालक को आवाजाही करने में परेशानी का सामना करना पड़ रहा हैं। वहीं लोक निर्माण विभाग खानापूर्ति के लिए सड़क के कुछ हिस्सों में पेच वर्क का कार्य किया गया था, वह भी उखडऩे लगी है।

शहर में भारी वाहनों के दबाव को देखते हुए यातायात पुलिस ने हाल ही में इस सड़क को मालवाहकों के लिए खोल दिया है। उसके बाद भारी वाहनों की आवाजाही इस मार्ग पर होने लगी। इससे दवाब नहीं झेल पाई और सड़क उखडऩे लगी। वर्तमान स्थिति ऐसी है कि सड़क जर्जर होने लगी है। अब तो मरम्मत कराने की नौबत आ गई है। इससे सड़क की गुणवत्ता और निर्माण एजेंसी व संबंधित विभाग के अधिकारियों की मॉनिटरिंग पर सवाल उठने लगे हैं।

इस मार्ग पर उस समय भी उंगली उठी थी, जब निर्माण होने के कुछ माह में ही यह सड़क उखडऩे लगी थी। पैचवर्क कर इसे दुरूस्त किया गया था। अब जब मालवाहक चलने लगे हैं तो दबाव बढ़ते ही सड़क फिर उखडऩे लगी है। लोगों को उम्मीद थी कि 10 करोड़ की सड़क मजबूत बनेगी, पर यह तो अभी से जर्जर होने लगी है।

जिला मुख्यालय में बढ़ते यातायात दबाव को कम करने के लिए शासन ने 10 करोड़ की लागत से पड़कीभाट से पाररास तक 6 किमी बायपास मार्ग बनाया गया। इस मार्ग से बड़े मालवाहक वाहनों की आवाजाही अब शुरू हुई है। गुणवत्ताहीन बनने की वजह से गिट्टियां उखडऩे लगी हैं। जगह-जगह धंसती जा रही है। ऐसे में अब फिर से पीडब्ल्यूडी इस सड़क की मरम्मत करा रहा है।

बघमरा से पर्रेगुड़ा मार्ग की स्थिति भी दयनीय
दूसरी ओर पर्रेगुड़ा से बघमरा बालोद तिराहा तक इस बायपास मार्ग की स्थिति दयनीय हो चुकी है पाररास मार्ग में सड़क धंस गई है। बाइपास सड़क के अधिकाश हिस्से पूरी तरह उखड़ गई और कई जगहों से सड़क धस गई हैं जिसके कारण रात में आवाजाही करने वाले दुपहिया वाहन चालक गड्ढे में फसकर गिर कर दुर्धटना का शिकार हो रहे हैं