छत्तीसगढ़ » राजनांदगांव

25-Feb-2021 1:44 PM 19

पारंपरिक खेलों को बढ़ावा देने निगम की पहल

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
राजनांदगांव, 25 फरवरी।
छत्तीसगढ़ के लुप्त हो रहे पारंपरिक खेलों को बढ़ावा देने के इरादे से राजनांदगांव नगर निगम ने एक अभिनव पहल करते हुए परंपरागत खेलों का दो दिवसीय महोत्सव का आयोजन करने जा रही है। नगर निगम की महापौर हेमा देशमुख द्वारा परंपरागत खेलों के प्रति लोगों का रूझान बढ़ाने के लिए अगले माह अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस के अवसर पर 8-9 मार्च को दो दिवसीय खेल महोत्सव का आयोजन किया जाएगा। इस संबंध में वर्ष 2020-21 के बजट में भी प्रावधान किया गया था। यह खेल महोत्सव म्युनिसिपल स्कूल मैदान में किया जाएगा। इसके लिए महापौर हेमा देशमुख ने बुधवार को स्कूलों के खेल शिक्षकों की बैठक लेकर आवश्यक निर्देश दिए।

महापौर श्रीमती देशमुख ने कहा कि अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस पर इस वर्ष खेल महोत्सव का आयोजन किया जाना है। इसकी तैयारी के लिए बैठक आयोजित की गई। उन्होंने कहा कि छत्तीसगढ़ की पारंपरिक खेल जैसे खो-खो, कबड्डी, फुगड़ी, गिल्ली-डंडा, पि_ुल आदि आज-कल बहुत कम देखने को मिलता है। इन खेलों के प्रति लोगों में रूझान लाने खेल महोत्सव का आयोजन किया जा रहा है। 

इस संबंध में वर्ष 2020-21 के बजट में भी प्रावधान किया गया था। जिसके क्रियान्वयन की कड़ी में अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस के उपलक्ष्य में 8-9 मार्च को खेल महोत्सव का आयोजन म्युनिसिपल स्कूल मैदान में किया जाएगा, जिसमें बच्चे युवक, युवती व बुजुर्ग हिस्सा ले सकते हैं और महोत्सव में खो-खो, कबड्डी, फुगड़ी, गिल्ली डंडा, पि_ुल, तेज पैदल चाल, जलेबी दौड़, बोरा दौड़, भौरा, रस्सा खींच, कुर्सी दौड़, गेडी आदि खेल खिलाया जाएगा।  इसके अलावा अन्य खेल जैसे शतरंज, कैरम, बैडमिंटन, व्हॉलीबॉल, आदि खेल भी प्रतियोगिता मेें शामिल किया जाएगा। स्कूल मैदान में छत्तीसगढ़ के गढ़ कलेवा का स्टॉल भी लगाया जाएगा। उन्होंने खेल शिक्षकों से आयोजन को सफल बनाने आह्वान किया।

साहित्यिक सम्मेलन का होगा आयोजन
नगर निगम आयुक्त चंद्रकांत कौशिक ने कहा कि खेल महोत्सव में विभिन्न खेलों के लिए पुरस्कार भी रखा जाएगा। जिसमें टीम एवं व्यक्तिगत खेलों के लिए अलग-अलग पुरस्कार रहेंगे। पुरस्कार में नगद राशि के अलावा प्रमाण पत्र व स्मृति चिन्ह भी दिया जाएगा। खेलों का आयोजन सुबह 8 से 11 बजे तक एवं शाम को 3 से 6 बजे तक किया जाएगा। साथ ही साहित्यिक सम्मेलन भी आयोजित किए जाएंगे। 

 


25-Feb-2021 12:34 PM 20

   शादी, रैली और अन्य आयोजनों के लिए अनुमति लेना अनिवार्य  


राजनांदगांव, 25 फरवरी। कोविड-19 के केस बढऩे की आशंका को लेकर जिला प्रशासन ने सख्त कदम उठाते कोविड-19 की रोकथाम एवं प्रोटोकॉल का पालन करने के संबंध में अधिकारियों को आवश्यक निर्देश दिए। साथ ही प्रोटोकाल का पालन नहीं करने वालों पर दंडात्मक कार्रवाई करने को कहा। वहीं शादी, रैली, सांस्कृतिक आयोजन या अन्य कार्यक्रमों के लिए अनुमति लेने का आदेश जारी किया है।

कलेक्टर टीके वर्मा ने बुधवार को कोविड-19 की रोकथाम और प्रोटोकॉल का पालन करने के संबंध में पुलिस प्रशासन, नगर निगम और राजस्व अधिकारियों की बैठक ली। उन्होंने कहा कि महाराष्ट्र में कोविड-19 के केस बढ़े हैं। राजनांदगांव महाराष्ट्र सीमा से लगा हुआ है, इसलिए यहां अधिक सावधानी बरतने की जरूरत है। उन्होंने सीमा क्षेत्रों में निगरानी बढ़ाने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा कि निगम क्षेत्र में कोविड-19 के केस कम हुए थे, लेकिन लापरवाही के कारण केस में वृद्धि हो रही है। दुकानों तथा बाजारों में अधिक भीड़ की स्थिति होती है और मास्क नहीं लगाया जा रहा है।

बिना मास्क पर करें कार्रवाई
कलेक्टर ने अधिकारियों से कहा कि जिन दुकानदारों द्वारा कोविड-19 के प्रोटोकॉल का पालन नहीं किया जा रहा है उन पर चालानी कार्रवाई करें। घर से बाहर बिना मास्क के निकलने पर अर्थदंड की कार्रवाई करें। दूसरे राज्यों से आने वाले लोगों का कान्टेक्ट टे्रसिंग कर निगरानी रखी जाए। रेल्वे स्टेशन, ग्रामीण क्षेत्रों एवं नगरीय निकाय में कड़ी निगरानी रखने के निर्देश दिए। कोविड-19 के संबंध में जागरूकता लाने के लिए नगर निगम आयुक्त को माईकिंग कराने तथा सभी 51 वार्डों में नोडल अधिकारियों को कोविड-19 प्रोटोकॉल का कड़ाई से पालन सुनिश्चित करने के निर्देश दिए। वार्डों में जिन अधिकारियों की ड्यूटी लगाई गई है वे समन्वय के साथ कार्य करें और सभी को कोविड-19 के प्रोटोकॉल का पालन करने के लिए जागरूक करें। कलेक्टर ने कहा कि शादी, रैली, सांस्कृतिक आयोजन या अन्य कार्यक्रमों के लिए अनुमति लेना अनिवार्य है। कार्यक्रमों में अधिक भीड़ होने पर अर्थदंड लगाने के निर्देश एसडीएम को दिए। शहर आने वाले सभी रास्तों पर चेकिंग पॉईंट लगाकर मास्क नहीं लगाने वालों पर कार्रवाई करने कहा। 

लापरवाही से बढ़ रहा संक्रमण
मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. मिथलेश चौधरी ने कहा कि कुछ राज्यों में कोरोना संक्रमण काफी तेजी से बढ़ रहा है। इसका मुख्य कारण कोविड-19 प्रोटोकॉल का पालन नहीं करना है। उन्होंने कहा कि कोरोना का नया रूप और भी खतरनाक है। इससे बचने के लिए कोविड-19 प्रोटोकॉल पालन करना, मास्क लगाना, सोशल डिस्टेसिंग और समय-समय पर हाथों को सेनेटाईज करते रहे। सभी कार्यालय में अधिकारी-कर्मचारी मास्क जरूर लगाएं तथा कार्यालय में प्रवेश करने से पहले सभी को मास्क लगाना सुनिश्चित करें। सर्दी, खांसी, बुखार के लक्षण दिखाई देने पर जांच जरूर कराएं। उन्होंने कहा कि समय पर कोविड-19 की पहचान होने और इलाज मिलने पर कोरोना को दूर किया जा सकता है। कोविड-19 प्रोटोकॉल का पालन कराने के लिए लोगों में जागरूकता लाने का कार्य करें।


25-Feb-2021 12:08 PM 20

नांदगांव निगम के नए आयुक्त होंगे चतुर्वेदी

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
राजनांदगांव, 25 फरवरी।
राज्य सरकार द्वारा बुधवार को नगर निगम के कमिश्नर सहित अन्य प्रशासनिक अधिकारियों का स्थानांतरण आदेश जारी किया है। इसमें स्थानीय नगर निगम में पदस्थ रहे निगम आयुक्त चंद्रकांत कौशिक का तबादला धमतरी कर दिया गया है। उन्हें धमतरी संयुक्त कलेक्टर की जिम्मेदारी दी गई। उनके स्थान पर बेमेतरा के संयुक्त कलेक्टर आशुतोष चतुर्वेदी को स्थानीय निगम की कमान सौंपी गई है। 

आयुक्त श्री कौशिक ने स्थानीय निगम में काफी समय तक अपनी सेवाएं दी। उनके कार्यकाल के दौरान शहर के सभी वार्डों में बड़े पैमाने पर पौधरोपण का कार्य भी कराया गया। पुष्पवाटिका में बड़े पार्क की व्यवस्था भी सुनिश्चित की गई। उद्यानों में बड़े पैमाने पर पौधरोपण का कार्य भी किया गया। 


25-Feb-2021 11:58 AM 31

विस्फोटक और राशन सामग्री जब्त

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
राजनांदगांव, 25 फरवरी।
जिले से सटे गढ़चिरौली जिले के एटापल्ली तहसील के ग्राम कोकोटी जंगल परिसर में चल रहे नक्सलियों के कैम्प पर गढ़चिरौली पुलिस के सुरक्षा बलों ने मंगलवार सुबह धावा बोला। जवानों ने घटनास्थल से भारी मात्रा में सामग्री बरामद की। इधर पुलिस जवानों को देखकर नक्सली वहां से भाग खड़े हुए। मौके पर सर्चिंग के दौरान जवानों ने 10-10 किलो वजनी विस्फोटक बरामद की। 

पुलिस सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार गढ़चिरौली एसपी अंकित गोयल के मार्गदर्शन अपर पुलिस अधीक्षक मनीष कलवानिया के नेतृत्व में विशेष अभियान सी-60 के जवान एटापल्ली तहसील के घने जंगल में ग्रीन हंट आपरेशन मंगलवार को सुबह चला रहे थे। इसी दौरान सुरक्षा बल की भनक नक्सलियों को लगते ही वह सामग्री वहीं छोडक़र घने जंगल में भाग गए। घटनास्थल पर सर्चिंग के दौरान प्लास्टिक शीट, भोजन की सामग्री, बर्तन, सब्जियां, राशन, कपड़े व अन्य सामग्री मिली। साथ ही नक्सलियों के बड़ी वारदात को अंजाम देने के इरादे से पहाड़ी की पूर्व और पश्चिम दिशा में लगाए गए दो इलेक्ट्रिक वायर मिले। 

घटनास्थल से बम शोधक व नाशक पथक ने जमीन में बिछाए रखे 10 किलोग्राम के दो ब्लॉस्ट को ढंूढ निकाला और वहीं पर दोनों ब्लॉस्ट को निष्क्रिय किया गया।
 
सूत्रों का कहना है कि इस संदर्भ में कंपनी क्रमांक 4 के कमांडर प्रभाकर उर्फ लोकेटी चंदर राव, कसनसुर दलम डिवीसीएम व अन्य सहयोगी नक्सल सदस्यों के खिलाफ रेगड़ी पुलिस सहायता केंद्र में मामला दर्ज किया गया है।


24-Feb-2021 6:49 PM 17

राजनांदगांव, 24 फरवरी। दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे के महाप्रबंधक (जीएम) गौतम बेनर्जी ने बुधवार को सालाना निरीक्षण पर स्थानीय रेल्वे स्टेशन पहुंचे। उन्होंने कोरोना काल में स्पेशल ट्रेनों में दोगुने टिकट दाम पर सफाई भी दी। इसके अलावा जीएम श्री बेनर्जी ने स्टेशन परिसर स्थित बाल उद्यान का उद्घाटन किया। वहीं जीएम ने रेल्वे स्टेशन परिसर का जायजा लेकर अधिकारियों को आवश्यक निर्देश दिए। जीएम के दौरे को लेकर स्थानीय रेलवे स्टेशन के अधिकारी-कर्मचारी मौके पर मौजूद थे। वहीं जीएम श्री बेनर्जी ने कहा कि सेंट्रल और राज्य शासन के निर्देशों के अनुसार ट्रेनों का संचालन किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि कोरोनाकाल में स्पेशल ट्रेनें लोगों की सुविधाओं को देखते हुए चलाई जा रही है।


24-Feb-2021 6:25 PM 17

राजनांदगांव, 24 फरवरी। मोखला के माडल गौठान में 21 फरवरी को अंतरराष्ट्रीय मातृभाषा दिवस पर मासिक बैठक एवं सरस काव्य गोष्ठी का आयोजन किया गया। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि तुकजराम साहू अध्यक्ष गौठान समिति मोखला एवं अध्यक्षता कुबेर सिंह साहू वरिष्ठ साहित्यकार ने की। विशिष्ट अतिथि के रूप में सामाजिक कार्यकर्ता भुवनेश्वरी साहू उपस्थित थी।
 


24-Feb-2021 6:21 PM 23

राजनांदगांव, 24 फरवरी। कोरोना के बढ़ते संक्रमण को लेकर पालकगण बच्चों को शाला में भेजने सशंकित हैं। संक्रमण के इस दौर में डीपीएस राजनंादगांव ने स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा निर्धारित प्रोटोकॉल्स एवं सावधानियों को ध्यान में रखते विद्यालय में शिक्षण कार्य प्रारंभ किया है। डीपीएस परिसर में 19 फरवरी को शिक्षकों और कर्मचारियों का कोविड-19 टेस्ट किया गया। जिसमें सभी की रिपोर्ट निगेटिव आई है। शासन द्वारा पारित दिशा-निर्देशों से एक स्वस्थ वातावरण प्रदान करने में डीपीएस राजनांदगांव को सफलता मिली है।
शाला के निदेशकगण एवं प्राचार्य उर्मिला दीक्षित ने अभिभावकों से अनुरोध किया है कि वह अपने-अपने पाल्य को निश्चिन्त होकर विद्यालय में अध्ययन हेतु भेजें। विद्यालय में सभी की सुरक्षा हेतु पर्याप्त सुविधाएं उपलब्ध है। 
सुरक्षा संबंधी नियमों का अनुशासनात्मक तरीके से पालन हो रहा है।
 


24-Feb-2021 6:19 PM 19

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
राजनांदगांव, 24 फरवरी।
लोक निर्माण मंत्री ताम्रध्वज साहू ने गत दिनों डोंगरगढ़ तहसील के ग्राम सहसपुर जारवाही में साहू समाज द्वारा निर्माण किए सामाजिक भवन का लोकार्पण कर भक्त माता कर्मा की मूर्ति का अनावरण किया।

इस दौरान मंत्री श्री साहू ने कहा कि समाज में सामाजिक समरसता बनाए रखने के लिए सोचना होगा। ग्राम में आपसी भाईचारे को बढ़ाना होगा। समाज के गरीब बच्चे जो पढ़ाई करने में सक्षम नहीं है व जो परिवार अपनी बेटी की शादी करने में सक्षम नहीं है, उन सबको मदद करने की सोचने की जरूरत है। डोंगरगांव विधायक दलेश्वर साहू की मांग पर इस क्षेत्र के प्रमुख मार्ग सुकुलदैहान से मोहारा रोड के चौड़ीकरण कराए जाने की घोषणा की तथा ग्राम पंचायत को 20 लाख रुपए सीसी रोड बनाए जाने हेतु राशि देने की घोषणा की। 

अध्यक्षता जिला साहू संघ के अध्यक्ष कमल किशोर साहू ने की। कार्यक्रम को डोंगरगांव विधायक दलेश्वर साहू, स्थानीय विधायक भुनेश्वर बघेल, खुज्जी विधायक छन्नी चंदू साहू, जिला पंचायत अध्यक्ष गीता घासी साहू ने भी संबोधित किया। कार्यक्रम का संचालन अशोक साहू तथा आभार प्रदर्शन हेमंत साहू ने किया।
 


24-Feb-2021 6:18 PM 14

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
राजनांदगांव, 24 फरवरी।
ग्राम अंजोरा में झेरिया धोबी समाज अंजोरा (परिक्षेत्र) जिला राजनांदगांव द्वारा 23 फरवरी को धोबी समाज के प्रेरणा स्रोत संत श्री गाडगे बाबा की जयंती समारोह मनाया गया। मुख्य अतिथि पूर्व सांसद व भाजपा जिलाध्यक्ष मधुसूदन यादव उपस्थित थे। कार्यक्रम के तहत शोभायात्रा गाडगे बाबा के तैलचित्र व कलश यात्रा के साथ गाजे-बाजे द्वारा भ्रमण किया गया। 

इस अवसर पर श्री यादव ने कहा कि यदि समाज को प्रगति की ओर ले जाना है तो हमें संकल्प लेकर समाज के निम्न (गरीब) व्यक्ति,  गरीब परिवारों के बच्चों की शिक्षा कैसे पूरी हो, यह सोचने एवं विचारनीय के योग्य है, ताकि समाज के प्रत्येक व्यक्ति विकास कर सके। एक व्यक्ति शिक्षित होता है तो पूरा परिवार मजबूत हो जाता है। झेरिया धोबी समाज ने उपस्थित सभी अतिथियों को शाल और मोमेंटो भेंटकर सम्मानित किया। कार्यक्रम में स्वजातीय बंधुओं के अलावा ग्रामीणजन बड़ी संख्या में उपस्थित थे।
 


24-Feb-2021 5:38 PM 22

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
अंबागढ़ चौकी, 24 फरवरी।
बीईओ एआर देवांगन के खिलाफ कार्रवाई की मांग को लेकर ब्लॉक के 463 सहायक शिक्षकों के सोमवार से अनिश्चितकालीन भूख हड़ताल में बैठने के 48 घंटे बाद आखिरकार कलेक्टर ने बीईओ श्री देवांगन को कौड़ीकसा स्थानांतरित कर दिया है। साथ ही ब्लॉक के वरिष्ठ प्राचार्य व वर्तमान में कौड़ीकसा उमा शाला के प्राचार्य संजय जौहरी को कार्यालयीन व्यवस्था के तहत आगामी आदेश तक अंबागढ़ चौकी बीईओ का अस्थाई प्रभार दिया गया है। जबकि निवृत्तमान बीईओ एआर देवांगन को ब्लॉक के गोपलीनचुवा हाईस्कूल प्राचार्य पद पर पदस्थ किया गया है। 

इधर हड़ताल के चलते दूसरे दिन भी लगभग ब्लॉक के डेढ़ सौ गांवों में मोहल्ला क्लास प्रभावित रही। वहीं कई स्कूलों में तालाबंदी की स्थिति रही।
छग सहायक शिक्षक फेडरेशन की अगुवाई में बीते दो दिन से बीईओ श्री देवांगन के खिलाफ कार्रवाई की मांग को लेकर ब्लॉक के सहायक शिक्षक नगर के बस स्टैंड में भूख हड़ताल कर रहे थे। 
आंदोलन के 48 घंटे में मचे हडक़ंप से प्रशासन हरकत में आ गई और आखिरकार कलेक्टर ने बीईओ एआर देवांगन के खिलाफ  कार्रवाई करते उन्हें चौकी बीईओ से हटाकर गोपलीनचुवा हाईस्कूल में प्राचार्य पद पर पदस्थ कर दिया। जबकि चौकी बीईओ पद पर ब्लॉक के वरिष्ठ प्राचार्य एवं कौड़ीकसा उमाशा में प्राचार्य संजय जौहरी को आगामी आदेश तक बीईओ का अतिरिक्त प्रभार के साथ वित्तीय एवं प्रशासनिक जवाबदेही दी गई है। 
 


24-Feb-2021 5:35 PM 21

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
राजनांदगांव, 24 फरवरी।
छत्तीसगढ़ सरकार द्वारा शुरू की गई योजनाओं को लेकर डोंगरगढ़ क्षेत्र के बेलगांव के ग्रामीणों ने मुख्यमंत्री का आभार व्यक्त करने पदयात्रा शुरू कर दी है। जिला कांग्रेस कमेटी के संयुक्त महामंत्री नेतराम साहू की अगुवाई में ग्रामीणों ने बेलगांव से पदयात्रा शुरू कर दी है। 

संयुक्त महामंत्री श्री साहू ने कहा कि बेलगांव से पदयात्रा कर मुख्यमंत्री से मिलने जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि राज्य शासन ने जो कल्याणकारी योजनाएं चलाई है, उससे किसानों को मदद मिल रही है। उन्होंने कहा कि उनकी योजनाओं में महत्वपूर्ण योजनाएं राजीव गांधी किसान न्याय योजना और गोधन न्याय योजना है। 

उन्होंने कहा कि राज्य सरकार द्वारा संचालित गोबर खरीदी योजना के तहत गांव के लोगों में पशु पालन में रूचि देखने को मिल रही है। उन्होंने कहा कि गोबर की बिक्री होने से लोग अब मवेशी पालने में आगे आ रहे हैं। उन्होंने कहा कि राज्य शासन की योजनाओं को लेकर राजधानी पहुंचकर मुख्यमंत्री का आभार जताते उन्हें बेलगांव आने आमंत्रित किया जाएगा। 

इस दौरान राजगामी संपदा न्यास अध्यक्ष विवेक वासनिक ने कहा कि राज्य शासन की योजनाओं को लेकर बेलगांव के ग्रामीण मुख्यमंत्री भूपेश बघेल का आभार व्यक्त करने राजधानी की ओर कूच कर रहे हैं। 
 


24-Feb-2021 5:29 PM 22

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
राजनांदगांव, 24 फरवरी।
मिशन संचालक राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन एवं विशेष सचिव स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग डॉ. प्रियंका शुक्ला ने मातृ स्वास्थ्य कार्यक्रम अंतर्गत मातृ मृत्यु अंकेक्षण (मैटरनल डेथ रिव्यु) की वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से समीक्षा कर प्रसव के दौरान गर्भवती महिलाओं की मृत्यु रोकने सभी अस्पतालों के लेबर रूम में हरसंभव आवश्यक व्यवस्था करने के निर्देश दिए। 

उन्होंने प्रसव कराने वाले अधिक से अधिक स्टॉफ नर्स एवं एएनएम को एसबीए प्रशिक्षण कराने के निर्देश दिए। साथ ही गर्भवती महिलाओं का पंजीयन कर प्रसव पूर्व अनिवार्यत: उनका चार बार स्वास्थ्य परीक्षण (एएनसी) किया जाना सुनिश्चित किए जाने के निर्देश दिए। जिससे प्रत्येक हाई रिस्क वाले गर्भवती महिलाओं की पहचान कर उनके स्वास्थ्य की समुचित देखभाल कर स्वस्थ संस्थागत प्रसव कराया जा सके।

डॉ. प्रियंका शुक्ला ने प्रत्येक मातृ मृत्यु का गंभीरता से मातृ मृत्यु अंकेक्षण किए जाने के निर्देश दिए। इस अवसर पर मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. मिथलेश चौधरी ने जिला राजनांदगांव में मातृ एवं शिशु मृत्यु रोकने किए जा रहे प्रयासों की विस्तृत जानकारी दी। इस अवसर पर उप संचालक स्वास्थ्य विभाग डॉ. अल्का गुप्ता, राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के जिला कार्यक्रम प्रबंधक गिरीश कुर्रे, मातृ एवं शिशु स्वास्थ्य सलाहकार डॉ. स्नेहा जैन, जिला डाटा अधिकारी अखिलेश चोपड़ा उपस्थित थे।


24-Feb-2021 5:28 PM 16

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
राजनांदगांव, 24 फरवरी।
नगर निगम प्रशासन ने  करों की वसूली के लिए कड़ाई अपनाना शुरू कर दिया है। वहीं वार्डों में लगाए जा रहे शिविर में प्रतिदिन की गई वसूली को संग्रहण पंजी में तिथिवार अलग-अलग इंद्राज करने निर्देश दिए। साथ ही राजस्व निरीक्षक और वार्ड प्रभारियों को आवश्यक निर्देश दिए हैं। नगर निगम आयुक्त चंद्रकांत कौशिक ने मंगलवार को राजस्व विभाग के अधिकारी-कर्मचारियों की बैठक लेकर जल कर सहित अन्य कर जमा नहीं करने की स्थिति में नल विच्छेदन की कार्रवाई करने के निर्देश दिए हैं।

आयुक्त श्री कौशिक ने समीक्षा बैठक के दौरान समस्त राजस्व उप निरीक्षक एवं वार्ड प्रभारी को अपने प्रभारित वार्ड की इस वित्तीय वर्ष कुल मांग एवं वसूली (चालू एवं बकाया सहित पृथक-पृथक) सहित प्रवृष्टि कर वार्डवार पंजी। जिसमें उस वार्ड के सम्पति कर दाताओं, गैर सम्पति कर दाताओं एवं जल कर दाताओं की संख्या पृथक-पृथक प्रविष्टि की जानकारी ली। उन्होंने समस्त करों की ऑनलाइन साप्टवेयर के माध्यम से वसूली की जानकारी देते कहा कि आने वाले वित्तीय वर्ष में ऑनलाइन वसूली किया जाना है। इस संबंध में कार्रवाई की जाएगी। इसके अलावा करदाताओं के मोबाइल में एसएमएस के माध्यम से बकाया करों की जानकारी देने के संबंध में चर्चा की। साथ ही समस्त राजस्व निरीक्षकों व वार्ड प्रभारियों को बैग कीट का वितरण किया। 

आयुक्त श्री कौशिक ने कहा कि प्रतिदिन की गई वसूली को संग्रहण पंजी में तिथिवार पृथक-पृथक इंद्राज करने के साथ-साथ जल कर वसूली करने सहायक राजस्व निरीक्षक एवं वार्ड प्रभारियों को निर्देशित किया। उन्होंने कहा कि जल कर सहित अन्य कर जमा नहीं करने की स्थिति में नल विच्छेदन की कार्रवाई करें। साथ ही वार्डों में लगाए जा रहे शिविर के संबंध में वार्डवार वसूली की जानकारी ली।

उन्होंने वसूली के लिए राजस्व उप निरीक्षकों को लंबे बकायेदारों की सूची लेकर वसूली करने के निर्देश दिए और बड़े बकायेदारों के नाम व मोबाइल नंबर सहित सूची उपलब्ध कराने निर्देशित किए। उन्होंने भवन भूमि के नामांतरण एवं दुकानों के नामांतरण के संबंध में आवश्यक दिशा-निर्देश देते कहा कि नामांतरण की कार्रवाई समय सीमा में करना सुनिश्चित करें, ताकि उसके आधार पर किराया वसूला जा सके।

वसूली के संबंध में उपायुक्त सुदेश सिंह के बताया कि प्रतिमाह प्रत्येक वार्ड में राजस्व वसूली हेतु शिविर लगाया जा रहा है, इसके अलावा निगम सहित घर-घर जाकर भी वसूली की जा रही है। जिसके तहत जलकर, सम्पत्ति कर, समेकित कर सहित दुकान किराया से लगभग प्रतिदिन 8-10 लाख रुपए की वसूली प्राप्त हो रही है। साथ ही राजस्व कर का भुगतान नहीं करने वालों के घर का नल विच्छेदन की कार्रवाई भी की जा रही है। 
 


24-Feb-2021 5:24 PM 34

शहर के अंदरूनी क्षेत्रों में भ्रमण

राजनांदगांव, 24 फरवरी। कोरोना के बढ़ते प्रभाव को लेकर नगर निगम ने सख्ती बरतना शुरू कर दिया है। इसके लिए नगर निगम की टीम रोजाना शहर के अलग-अलग हिस्सों में भ्रमण कर नागरिकों और व्यवसायियों को सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करने तथा मास्क का उपयोग करने व कोविड-19 के प्रोटोकॉल का पालन करने समझाईश देंगे। वहीं प्रोटोकॉल का पालन नहीं करने की स्थिति में 200 रुपए अर्थदंड वसूलने की कार्रवाई करेगी। 

इधर कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए नागरिकों एवं व्यवसायियों से सावधानी बरतने शासन के गाईड लाइन अनुसार समझाईस देने जिलाधीश के निर्देश पर निगम की टीम गठित की गयी है। गठित टीम प्रतिदिन निगम सीमाक्षेत्र में घूमकर चौक-चौराहो, उद्यान, व्यवसायिक परिसर, बाजार एवं अन्य किसी सार्वजनिक स्थल पर बिना मास्क लगाए पाए जाने पर संबंधित के विरूद्ध 200 रुपए की अर्थदंड अधिरोपित करेगी।

नगर निगम आयुक्त चंद्रकांत कौशिक ने नागरिकों से अपील करते कहा कि अनावश्यक घर से बाहर न निकले, बाहर निकलते समय मास्क लगाए, सामाजिक दूरी का पालन करें और दुकानदारों सहित ठेले खोमचो, पसरा वालों से भी अपील की है कि दो ठेले अथवा गुमटी के बीच दूरी कम से कम 20 फीट रखा जाए, समस्त ठेले अथवा गुमटियों में सेनेटाईजर या साबुन का प्रयोग करना सुनिश्चित करेंं तथा साबुन या वासिंग पावडर से धोये जाने योग्य ग्लास, कप, प्याली का उपयोग करें, डिस्पोजल का उपयोग प्रतिबंधित रहेगा। साथ ही ठेलों के पास मुंह धोना, थूकना, गंदगी फैलाना प्रतिबंधित रहेगा। इसके अलावा सार्वजनिक स्थल में शराब, पान गुटखा व तंबाकू का प्रयोग प्रतिबंधित रहेगा। अपालन पर दंडात्मक कार्रवाई की जाएगी। इसी प्रकर दुकानदार भी सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते मास्क का उपयोग करेंगे।
 


24-Feb-2021 5:19 PM 17

अधिकारी जरूर उठाए मोबाइल

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
राजनांदगांव, 24 फरवरी।
कलेक्टर टीके वर्मा ने कहा कि घटिया निर्माण कार्य की शिकायत लगातार आ रही है। यह भी शिकायत की जा रही है कि इंजीनियर फिल्ड पर नहीं जाते और ठेकेदार मनमानी कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि निर्माण कार्यों के लिए शासन की ओर से राशि दी जाती है और यह गुणवत्तापूर्ण होना चाहिए। लोक निर्माण विभाग के कार्यपालन अभियंता सहित सभी निर्माण एजेंसी से कहा कि ठेकेदार रायल्टी पर्ची साथ लेकर आएं, यह सुनिश्चित करें। ठेकेदार की मनमानी नहीं होनी चाहिए और उनके कार्यों की निरंतर मॉनिटरिंग होनी चाहिए। उन्होंने कहा कि सभी अधिकारी मोबाइल जरूर उठाएं। जनसामान्य अपने कार्यों के लिए शासन-प्रशासन से अपेक्षा रखते हैं, इसलिए सभी अधिकारी फोन उठाएं। लोगों की समस्या सुनकर भी समाधान कर सकते हैं।

कलेक्टर वर्मा ने कहा कि महाराष्ट्र में कोविड-19 के केस बढ़े हैं और वहां कफ्र्यू एवं लॉकडाउन जैसी बनी है। महाराष्ट्र से लगे सीमावर्ती बागनदी बार्डर एवं बोरतालाब में निगरानी बढ़ाई जाए। उन्होंने बागनदी बार्डर एवं बोरतालाब में थर्मल स्केनिंग करने के निर्देश दिए। साथ ही कोविड-19 प्रोटोकॉल का पालन करने कहा। उन्होंने नगर निगम आयुक्त को माईकिंग कराने के लिए कहा तथा 51 वार्ड में सभी नोडल अधिकारियों को कोरोना प्रोटोकॉल का कड़ाई से पालन सुनिश्चित करने के लिए कहा। उन्होंने कहा कि कोरोना के प्रति लोगों में लापरवाही बढ़ी है। कोविड-19 प्रोटोकॉल का पालन नहीं करने वालों पर अर्थदंड 200 रुपए की राशि लगाएं। शादियों में अधिक भीड़ होने पर अर्थदंड लगाने के निर्देश एसडीएम को दिए। उन्होंने रेल्वे स्टेशन, ग्रामीण क्षेत्रों एवं नगरीय निकायों में निगरानी बढ़ाने के लिए कहा। स्कूल खुल गए हैं शिक्षा विभाग के शिक्षक एवं स्टॉफ अपना कोरोना टेस्ट जरूर कराएं। उन्होंने कोरोना वैक्सीनेशन की भी समीक्षा की।

कलेक्टर ने कहा कि जिले में वर्मी कम्पोस्ट का उत्पादन बढ़ा है। शासन के निर्देशानुसार रबी में वर्मी कम्पोस्ट का उपयोग करने तथा आगामी खरीफ के लिए किसानों को वर्मी कम्पोस्ट की जानकारी देने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि वर्मी कम्पोस्ट का उपयोग करने के लिए किसानों को प्रेरित करें और इसके लिए कृषि, सहकारिता एवं राजस्व विभाग के समन्वय से किसानों की कार्यशाला आयोजित करने के लिए कहा। ग्रामीण कृषि विस्तार अधिकारी किसानों को जैविक खेती फायदे बताएं। उन्होंने डीएफओ को वर्षा ऋतु में पौधरोपण करने के लिए पूर्व तैयारी के लिए कहा। उन्होंने कहा कि जिले में वनधन केन्द्रों के शहद, मिर्ची, मसाला एवं कुल्थी जैसे उत्पादों को ट्रायफेड ने पसंद किया है। जिससे समूह की महिलाओं को लाभ मिलेगा और उन्हें ट्रायफेड के बिलासपुर एवं रांची जैसे प्रदर्शनी में जाने का अवसर भी मिलेगा। जिला पंचायत एवं जनपद पंचायत गौठान में महिला स्वसहायता समूह को सशक्त बनाने की दिशा में प्रोत्साहित करें एवं उन्हें वर्मी कम्पोस्ट निर्माण के साथ ही अन्य गतिविधियों से भी जोड़े। उन्होंने मनरेगा के तहत श्रमिकों की संख्या बढ़ाने के लिए कहा। राजस्व वसूली, भू-भाटक वसूली की जानकारी ली। कलेक्टर ने भू-अर्जन की मुआवजा राशि के संबंध में जानकारी लेते कहा कि मुआवजा राशि नहीं देने पर वेतन कटौती करने के लिए कहा। उन्होंने कहा कि भू-अर्जन की स्थिति में 80 प्रतिशत राशि प्रभावितों को देने का प्रावधान है इस बात का विशेष ध्यान रखें। 

मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. मिथलेश चौधरी ने कहा कि महाराष्ट्र में केस बढ़े हैं। हालांकि जिले में कोरोना के केस कम हुए हैं, लेकिन खतरा अभी टला नहीं है। ऐसे में तेजी से केस बढ़ भी सकते हैं। इसके लिए सभी को सावधानी रखने की आवश्यकता है। वैक्सीनेशन के लिए सभी फ्रंटलाईन वर्कर दूसरा डोज लें और इसमें लापरवाही न बरतें। बागनदी बार्डर में ड्यूटी लगाने तथा कोरोना से बचाव के लिए फ्लैक्स लगाने की बात उन्होंने कही। इस अवसर पर वनमंडलाधिकारी राजनांदगांव एन. गुरूनाथन, वनमंडलाधिकारी खैरागढ़ संजय यादव, अपर कलेक्टर हरिकृष्ण शर्मा, अपर कलेक्टर सीएल मारकंडेय, नगर निगम आयुक्त चंद्रकांत कौशिक, एसडीएम राजनांदगांव मुकेश रावटे सहित सभी एसडीएम एवं जिला स्तरीय अधिकारी उपस्थित थे। वीडियो कांफ्रेसिंग के जरिये विकासखंड स्तरीय अधिकारी जुड़े रहे।
 


24-Feb-2021 4:48 PM 18

छत्तीसगढ़’ संवाददाता
राजनांदगांव, 24 फरवरी।
कलेक्टर टीके वर्मा ने मंगलवार को कलेक्टोरेट सभाकक्ष में धान नीलामी के संबंध में राईस मिलर्स, पोहा मिलर्स, मंडी के थोक व्यापारियों की बैठक ली। 
कलेक्टर श्री वर्मा ने कहा कि शासन द्वारा किसानों से खरीदे गए धान का सेन्ट्रल पूल और राज्य सरकार के आवश्यकता के बाद बचे हुए धान का नीलामी करने का निर्णय लिया गया है। उन्होंने सभी मिलर्स को नीलामी में अधिक से अधिक भागीदारी लेने कहा है। उन्होंने कहा कि शासन के निर्देशानुसार नीलामी के कार्य किए जाएंगे। यदि कोई समस्या हो तो इसका निराकरण भी किया जाएगा। खाद्य अधिकारी किशोर सोमावार ने बताया कि इसके लिए सभी मिलर्स ई-ऑक्सन में जाकर पंजीयन करा सकते हैं। इसके बाद आगे की प्रक्रिया की जाएगी। इस अवसर पर जिला विपणन अधिकारी सौरभ भारद्वाज, खाद्य विभाग के अधिकारी तथा मिलर्स उपस्थित थे।
 


24-Feb-2021 4:47 PM 27

कलेक्टर के नाम सौंपा ज्ञापन

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
राजनांदगांव, 24 फरवरी।
डोंगरगांव क्षेत्र के ग्राम पंचायत सिंगारपुर के ग्रामीणों ने बुधवार को कलेक्टर के नाम ज्ञापन सौंपा सौंपकर राईस मिल में ताला जडऩे की मांग की। 
ग्रामीणों ने ज्ञापन के माध्यम से बताया कि ग्राम सिंगारपुर में मोती सिन्हा राईस मिल में नियमों की अनदेखी की गई। जिसकी शिकायत बार-बार ग्रामीणों द्वारा की गई। इस पर कार्रवाई नहीं होने पर ग्रामीणों द्वारा बीते 18 फरवरी को ग्रामीण सडक़ पर उतर आए। इस पर डोंगरगांव एसडीएम ने ताला जड़ दिया, परन्तु जांच रिपोर्ट ग्रामीणों को नहीं मिली एवं राईस मिल के मालिक जवाहर सिन्हा द्वारा ताला को तोड़ दिया गया है। जिससे ग्रामीण आक्रोशित हो गए। इस विषय पर उचित एवं निष्पक्ष कार्रवाई की मांग कलेक्टर से की है। वहीं जांच रिपोर्ट नहीं आने तक राईस मिल को बंद रखने की मांग की। ज्ञापन सौंपने के दौरान नितेश, राजकुमार साहू, पुरानिक निषाद, खोमनलाल, मलखम मंडावी, गिरधर साहू, झनलाल समेत अन्य लोग शामिल थे।
 


24-Feb-2021 4:45 PM 18

राजनांदगांव, 24 फरवरी। नगर निगम राजस्व वसूली के लिए सुनियोजित अभियान चलाने जा रहा है। निगम आयुक्त चंद्रकांत कौशिक ने बकाया राजस्व वसूली के लिए वार्ड प्रभारियों के साथ-साथ पूरी राजस्व टीम को वार्डवार शिविर के संबंध में कार्यक्रम निर्धारित कर लक्ष्य के अनुरूप वसूली कार्य संपादित करने के निर्देश दिए हैं।

निगम आयुक्त श्री कौशिक ने बताया कि 22 से 24 फरवरी के पश्चात 25 से 28 फरवरी तक के शेष वार्ड नं. 1 व 2 के लिए कर्मा भवन नवागांव, वार्ड नं. 9 व 10 के लिए शंकरपुर स्कूल, वार्ड नं. 22 के लिए सामुदायिक मंच रेवाडीह, वार्ड नं. 42, 43 व 46 के लिए सामुदायिक भवन बसंतपुर एवं वार्ड नं. 51 के लिए मंगल भवन हल्दी स्कूल में सुबह 10 से 4 बजे तक तक शिविर का आयोजन किया गया है। उन्होंने शिविर में उपस्थित होकर अपने बकाया करों का भुगतान कर नगर विकास में सहभागी बनने की अपील की है।
 


24-Feb-2021 12:51 PM 34

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
राजनांदगांव-गंडई, 24 फरवरी।
जिले के खैरागढ़ वन मंडल के गंडई वन परिक्षेत्र में वन्य प्राणी तेन्दुए के शिकार का मामला सामने आया है। शिकारियों ने तेन्दुए को मारने के बाद उसके कई अंग काटकर ले गए हैं। बताया जा रहा है कि तेन्दुए का सुनियोजित तरीके से शिकार किया गया है। पेशेवर शिकारियों का इसके पीछे हाथ होने का वन महकमे ने अंदेशा जताया है। 

मिली जानकारी के मुताबिक गंडई के मगरकुंड गांव से लगे जंगल में एक मादा तेन्दुआ को मृत हालत में देखा गया। इसके बाद वन विभाग के अफसरों को जानकारी दी गई। मिली जानकारी के मुताबिक शिकारियों ने तेन्दुए को मारने के बाद सामने के दो पैर को काट दिया है। वहीं तेन्दुए के दांत और मूंछों को भी उखाड़ लिया गया है। इस घटना के बाद वन महकमे ने डॉग स्क्वायड की मदद ली है। बताया जा रहा है कि घटनास्थल से एक पहाड़ के रास्ते खेत में डॉग स्क्वायड ने एक लकड़ी को बरामद कराने में मदद की है। 

बताया जा रहा है कि उक्त लकड़ी घटना में प्रयुक्त की गई है। हालांकि शिकारियों ने तेन्दुए को किस तरह मारा है, इसका खुलासा पोस्टमार्टम के बाद सामने आएगा। घटना की खबर के बाद दुर्ग वृत्त की सीसीएफ शालिनी रैना मौके पर पहुंच गई है। वहीं डीएफओ संजय यादव भी मैदानी अमले के साथ  घटना की जांच कर रहे हैं। 

बताया जा रहा है कि जंगल में एक विशेष आपरेशन के तहत अज्ञात आरोपियों की खोजबीन की जा रही है। सूत्रों का कहना है कि शिकारियों को आसपास के गांव में देखा गया है। लिहाजा देर शाम तक वन अधिकारियों ने आरोपियों की गिरफ्तारी होने की संभावना जताई है। गौरतलब है कि पखवाड़ेभर पहले कवर्धा में भी एक तेन्दुए का अवैध शिकार किया गया था। इस मामले में त्वरित कार्रवाई करते हुए डीएफओ दिलराज प्रभाकर के नेतृत्व में शिकारियों को गिरफ्तार किया गया था। 


24-Feb-2021 12:11 PM 22

प्रदीप मेश्राम
राजनांदगांव, 24 फरवरी (‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता)।
राजनांदगांव जिले की भौगोलिक बनावट से दुर्गम पठारी इलाकों में बसे उत्तरी इलाके के बाशिंदों के लिए चमचमाती सडक़ को देखना महज एक काल्पनिक बात रही है। राजनांदगांव कलेक्टर के ड्रीम प्रोजेक्ट में शामिल भावे-कांशीबहरा के बीच बन रहा 6 किमी का प्रधानमंत्री सडक़ योजना का मार्ग वनवसियों की बरसों पुरानी परेशानियों को अब कम करेगा।

खैरागढ़ और छुईखदान ब्लॉक के अंदरूनी गांवों में पहुंचना हमेशा से एक कठिनाई भरा सफर रहा है। उत्तरी इलाके के भीतरी गांवों को सडक़ों के जरिये आपस में जोडऩे की मुहिम में प्रशासन लगभग सफल हो गया है। 

धुर नक्सल प्रभावित भावे से कांशीबहरा के बीच नक्सल उपद्रव की परवाह किए बगैर करीब 6.4 किमी की एक सडक़ बन गई है। लगभग 5 करोड़ की लागत से बन रहे इस मार्ग में अब वनवासी शहरी रास्तों का रूख कर सकते हैं। 

भावे और काशीबहरा के साथ-साथ जुरलाखार, लछनाझिरिया समेत मलैदा के भी रहवासी इस रास्ते से होकर छुईखदान और खैरागढ़ से राजनंादगांव पहुंच सकते हैं। वहीं सुगम भरा रास्ता होने से आपातकालीन सेवाओं का ग्रामीण अपनी जरूरत के मुताबिक लाभ उठा सकते हैं। अंदरूनी इलाकों के गांवों के लिए जिला तो दूर ब्लॉक मुख्यालयों में पहुंचना कष्टदायक रहा है। ऊंचेदार पठारी इलाके होने के कारण देश को आजादी मिलने के करीब 70 साल बाद वन बाशिंदों के लिए डामरयुक्त सडक़ें बनी है। 

बकरकट्टा से गातापार तक करीब 2 चरणों में सडक़ का जाल बिछाया गया। प्रशासन के मजबूत इच्छाशक्ति को नक्सलियों का दबाव हमेशा से चुनौती देता रहा। जिन रास्तों में डामर बिछ रही है, वह नक्सलियों का गढ़ रहा है। घुमावदार रास्तों में अक्सर पुलिस पर घात लगाकर हमला करते रहे हैं। नई सडक़ों से ग्रामीणों के जीवनस्तर में भी बदलाव निश्चित तौर पर दिखेगा। 

कलेक्टर पिछले कुछ दिनों से बेधडक़ नक्सल प्रभावित गांवों का मुआयना कर रहे हैं। बीते दिनों कांशीबहरा में ग्रामीणों से रूबरू होकर उन्होंने सडक़ बनने के नफा-नुकसान को लेकर सवाल किए। कांशीबहरा, भावे के साथ-साथ आसपास के ग्रामीणों ने सडक़ को अपने जीवनकाल की सबसे बड़ी सौगात माना। कलेक्टर ने ग्रामीणों को आश्वस्त किया कि प्रशासन के जरिये सरकार की कोशिश है कि अंतिम व्यक्ति विकास की मुख्यधारा से जुड़े। 

गौरतलब है कि नांदगांव का उत्तरी इलाका जनजातियों से बसा हुआ है। आज भी शैक्षणिक, चिकित्सकीय तथा अन्य कार्यों के लिए यहां के बाशिंदे तकलीफ भरे मार्ग से गुजरते रहे हैं। नए रास्ते से स्वाभाविक रूप से विकास की नई इबारद प्रशासन लिखने के लिए आतुर है।