छत्तीसगढ़ » सुकमा

Previous1234Next
04-Dec-2020 1:55 PM 20

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
सुकमा, 4 दिसंबर।
जिले के बुर्कापाल, ताड़मेटला इलाके में हुई आईईडी विस्फोट की  जिम्मेदारी लेते हुए नक्सलियों ने इस हमले के लिए केन्द्र व राज्य सरकार को जिम्मेदार ठहराया है।

दक्षिण सब जोनल ब्यूरो द्वारा जारी प्रेस विज्ञप्ति में कहा गया है कि ‘समाधान’ हमले के खिलाफ बुरकापाल एवं चिंतलनार के बीच पीएलजीए द्वारा हमला किया गया। इस हमले में सीआरपीएफ कोबरा 206 बटालियन के असिस्टेंट कमांडेंट शहीद हो गए थे, वहीं 9 जवान घायल हो गए थे।

इस हमले का कारण केन्द्र-राज्य सरकारों की नीति है। बस्तर को पुलिस छावनी में तब्दील करते हुए हजारों अर्ध-सैनिक बलों की तैनाती की जा रही है। जनता के विरोध के बावजूद बीजापुर जिले के तर्रेम और कमरगुडेम (सुकमा) में नया पुलिस कैम्प खोला गया है।

प्रेस नोट में नक्सलियों ने आरोप लगाया है कि सशस्त्र बलों द्वारा अक्टूबर व नवंबर महीने में 16 वर्ष की नाबालिग कोवासी देवे, सोडी भीमाल और कोरसागुड़ा गांव के विकेश नामक किसान की हत्या की गई है। वहीं सैकड़ों की संख्या में ग्रामीणों को पकडक़र पुलिस ईनामी माओवादियों को गिरफ्तार करने का झूठा प्रचार मीडिया में कर रही है।


02-Dec-2020 9:01 PM 23

सुकमा, 2 दिसंबर। प्रदेश भर में एक दिसंबर से धान खरीदी प्रारम्भ हो गई है। इस वर्ष जिले के पुराने 13 सहित 3 नवीन धान उपार्जन केन्द्रों कुल 16 के माध्यम से धान खरीदी की जाएगी। जिले में पंजीकृत कृषकों की संख्या में वृद्धि को देखते हुए ग्राम एर्राबोर, केरलापाल एवं नेतानार में नवीन धान खरीदी केंद्र स्थापित किए गए हैं। बुधवार को कलेक्टर विनीत नंदनवार एवं पुलिस अधीक्षक के.एल ध्रुव ने केरलापाल धान खरीदी केंद्र का अवलोकन कर तैयारियों का जायजा लिया। उन्होंने धान खरीदी हेतु तराजू, बारदानों की व्यवस्था के साथ ही खरीदी के समय कोविड संक्रमण के रोकथाम हेतु मास्क एवं सैनिटाइजर की उपलब्धता सुनिश्चित करने के साथ ही शासन द्वारा जारी दिशा निर्देशों के पालन किए जाने के निर्देश दिए।


02-Dec-2020 1:26 PM 14

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
सुकमा, 1 दिसंबर।
जिले के केरलापाल ग्राम पंचायत में धान खरीदी केंद्र में धान खरीदी शुरु किया गया। किसानों ने उद्योग मंत्री कवासी लखमा का आभार व्यक्त किया।
 केरलापाल में धान खरीदी केन्द्र खुलने से किसानों बड़ी राहत मिली है। किसानों के चेहरे पर खुशी साफ दिख रही है।

इस अवसर पर जनपद सदस्य  केरलापाल, गीता यादव,सरपंच कीर्ति मडक़ाम , सचिव गोपाल सिंह अजमेरा एंव कोयाबेकूर सरपंच चैतु कुरामी ,चिकपाल सरपंच मुये मडक़ामी ,सुनील यादव वारिष्ठ कांग्रेसी ,हिड़मा मडक़ाम,समीर खान , पुजारी वेट्टी चिंगा, मडक़ामी पोदिया, मेशराम,भैरम यादव , घासीराम यादव, रामा नायक,रामा वेट्टी, मडक़ामी सोमा, सोमारू यादव, चैतराम एवं सैकड़ों किसान व ग्रामीण उपास्थित रहे।
 


01-Dec-2020 4:48 PM 19

राजस्व एवं खाद्य अधिकारियों द्वारा किया गया जब्त

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
सुकमा, 1 दिसंबर।
अधिकारियों द्वारा जिले में संचालित थोक एवं चिल्लहर व्यापारियों के गोदामों में रखे गए धान का भौतिक सत्यापन किया जा रहा है। कल स्टॉक सत्यापन के दौरान छिंदगढ़ ब्लॉक के कूकानार में थोक व्यापारी अभय कुमार सिंह के धान स्टॉक में गड़बड़ी पाई गई। सत्यापन में धान की मात्रा स्टॉक से 75 बोरा अधिक मिली। 

राजस्व एवं खाद्य अधिकारियों द्वारा की गई जांच में लगभग 30 क्विंटल धान की अधिकता पाई गई। स्टॉक से अधिक मात्रा में रखे गए धान को अधिकारियों द्वारा जब्त किया गया। जब्ती पश्चात मंडी अधिकारियों द्वारा थोक व्यापारी पर मंडी अधिनियम के तहत कार्यवाही की गई। 

कलेक्टर विनीत नंदनवार के निर्देशानुसार जिले में संचालित समस्त थोक एवं चिल्हर व्यापारियों के गोदामों का भौतिक सत्यापन किया जा रहा है।
स्टॉक में अनियमितता एवं गड़बड़ी पाए जाने पर मंडी अधिनियम के तहत कार्यवाही की जा रही है।
 


30-Nov-2020 8:27 PM 22

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

सुकमा, 30 नवंबर। नपा अध्यक्ष जगन्नाथ राजू साहू ब्रम्ह मुहूर्त में अपने परिजनों एवं सहयोगियों के साथ आस्था की डुबकी लगाकर दीप दान कर सुकमा जिले की सुख शांति समृद्धि की मंगल कामना मांगी।

हिंदू धर्म में कार्तिक पूर्णिमा का विशेष महत्व माना जाता है। इस दिन को दामोदर के नाम से भी जाना जाता है। यह भगवान विष्णु का ही एक नाम है। कार्तिक पूर्णिमा का दिन काफी पवित्र और शुभ माना जाता है। इस दिन पवित्र नदियों में स्नान करने से पुण्य फल की प्राप्ति होती है। कार्तिक पूर्णिमा के दिन ही भगवान शिव ने त्रिपुरासुर का वध किया था। जिसकी खुशी में देवताओं ने हजारों दीप जलाकर दिवाली मनाई थी। जो आज भी देव दिवाली के रूप में मनाई जाती है। साथ ही सिखों के लिए भी ये दिन खास होता है क्योंकि इस दिन गुरु नानक जयंती होती है।

कार्तिक पूर्णिमा के मौके पर सुकमा नगरपालिका के शबरी तट पर  देर रात से ही नगरवासी एवं ग्रामीण क्षेत्रों से बड़ी संख्या में लोगों के आने का सिलसिला शुरू हो गया, जो अभी तक जारी है। सुबह होते ही श्रद्धालु ‘हर-हर शबरी हर हर गंगे, जय गंगा मैया, हर हर महादेव’ के जयकारे के साथ पवित्र शबरी नदी में डुबकी लगाने लगे। सुकमा जिले के विभिन्न घाटों पर आज तडक़े से आस्था की डुबकी लगाने वालों का तांता लगा रहा। स्नान के बाद लोगों ने विभिन्न मंदिरों में पूजा-अर्चना की और दान किया। मंदिरों में भी अन्य दिनों की अपेक्षा पूजा-अर्चना करने वालों की संख्या में वृद्धि देखी जा रही है।

पूर्णिमा के दिन स्नान-दान का विशेष महत्व

 इस दिन जो भी दान किया किया जाता है, उसका पुण्य कई गुना अधिक प्राप्त होता है। इस दिन अन्न, धन और वस्त्र दान का विशेष  स्नान के साथ ही महादेव की पूजा-अर्चना की।

घाट और सडक़ पर की गई रोशनी की व्यवस्था।  स्नान करने वाले श्रद्धालुओं को किसी प्रकार की परेशानी नहीं हो इसके लिए  नगरपालिका सुकमा द्वारा रोशनी की पर्याप्त व्यवस्था की गई है। जिससे श्रद्धालु द्वारा काफी खुशी जाहिर कर नगरपालिका अध्यक्ष राजू साहू को धन्यवाद ज्ञापित किया गया। नगरपालिका सुकमा ने प्रमुख स्नान घाटों पर रोशनी की बेहतर व्यवस्था की है, दूधिया रोशनी से नदी का आधा भाग जगमग हो रहा था।


30-Nov-2020 2:18 PM 143

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
सुकमा, 30 नवंबर।
इन दिनों नक्सल प्रभावित सुकमा जिले के कलेक्टर विनीत नंदनवार की तस्वीरें सोशल मीडिया पर छाई हुई है। 

जिले के युवा कलेक्टर की तस्वीरों से प्रेरणा ले रहे हैं। सिक्स पैक व परफेक्ट बॉडी की तस्वीरें जिले के वाट्सएप व अन्य सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है।

कुछ ही दिन पहले सुकमा में पदस्थ कलेक्टर आईएएस विनीत नंदनवार की शर्टलेस तस्वीरें सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है। दरअसल कलेक्टर विनीत नंदनवार जिम व बॉडी को लेकर गंभीर है। लिहाजा उन्होंने जिम के माध्यम से बॉडी बनाई है। जिनकी तस्वीरें आज-कल सुकमा के सोशल मीडिया पर फैल रही है। युवाओं का मानना है कि अनुशासित व मूल्य आधारित जीवन शैली का परिणाम है यह तस्वीर। ज्ञात हो कि रायपुर एडीएम रहते कोविड क्षेत्र में बेहतर काम किया था।
 


29-Nov-2020 9:03 PM 36

सुकमा/दोरनापाल। बीती रात सुकमा जिले में सुरंग में हुए नक्सल विस्फोट में केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल कोबरा बटालियन 206 के असिस्टेंट कमांडेंट नितिन भालेराव शहीद हो गए। विस्फोट से 9 जवान घायल हो गए हैं। यह धमाका ताड़मेटला इलाके में तब हुआ, जब यह टीम नक्सल तलाशी के बाद बुर्कापाल कैंप लौट रही थी। सुकमा जिले के चिंतलनार थानांतर्गत ताड़मेटला में एक दशक बाद उसी इलाके में दूसरी बड़ी घटना को अंजाम दिया, जहां 76 जवान शहीद हुए थे। ऑपरेशन के दौरान ताड़मेटला गांव के पास नक्सलियों ने विस्फोटक और स्पाइक से  सुरक्षा बलों को निशाना बनाया। ये घटना शनिवार रात करीब 8 बजे की है।


29-Nov-2020 7:51 PM 18

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

दोरनापाल, 29 नवंबर। आज शाम सुकमा जिले के दोरनापाल थाना अंतर्गत ग्राम पंचायत दुब्बाटोटा के पास एनएच-30 पर सडक़ दुर्घटना में एक युवक की मौत हो गई, वहीं एक बुजुर्ग समेत दो लोग बुरी तरह से घायल हो गए। घायलों को प्राथमिक उपचार के लिए दोरनापाल प्राथमिक उपचार केंद्र लाया गया, जहां उनका उपचार किया गया, वहीं घायल बुजुर्ग की स्थिति नाजुक होने की वजह से उसे जिला अस्पताल भेज दिया गया।

दुर्घटना में घायल व मृतक तीनों एक ही परिवार के थे, जो एक शादी कार्यक्रम को लेकर रेगडग़ट्टा गांव गए हुए थे, जहां से डोलेरास के लिए बाइक पर निकले हुए थे।

बताया जा रहा है कि तीनों एक ही बाइक पर सवार होकर डोलेरास के लिए निकले हुए थे, वहीं मोटरसाइकिल की गति भी तेज थी। इस वजह से बाइक अनियंत्रित होकर दुर्घटनाग्रस्त हो गई, जहां मौके पर ही बाइक चालक संतोष मुचाकी की मौत हो गई, वहीं इस घटना में बुजुर्ग कोसा मुचाकी बुरी तरह घायल हो गए और राजू मुचाकी को हल्की चोटें आई है। सूचना मिलते ही पुलिस भी मौके पर पहुंची। घटना रविवार शाम 4 बजे की बताई जा रही है। दुर्घटना स्थल से शव को ट्रैक्टर में डालकर प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र दोरनापाल लाया गया, जहां पर डॉक्टर ने उसकी मौत की पुष्टि की।


29-Nov-2020 5:49 PM 17

सुकमा, 29 नवंबर। छत्तीसगढ़ शासन द्वारा खरीफ विपणन वर्ष 2020-21 के लिए आगामी 01 दिसम्बर से समर्थन मूल्य पर धान की खरीदी की शुरूआत हो रही है। जिसके लिए जिले में सारी तैयारियां की जा रही है। कलेक्टर  विनीत नंदनवार ने आज छिंदगढ़ विकासखण्ड का दौरा कर नए तथा पुराने धान खरीदी केन्द्रों का निरीक्षण कर आवश्यक दिशा-निर्देश दिए। 

कलेक्टर नंदनवार ने तोंगपाल, पुसपाल एवं कुकानार धान खरीदी केन्द्र और नवीन धान केन्द्र नेतानार के विभिन्न आधारभूत व्यवस्थाओं का अवलोकन किया। उन्होने धान खरीदी की समुचित व्यवस्था शीघ्र पूर्ण करने के लिए संबंधित अधिकारियों को सख्त निर्देश दिए। उन्होंने क्षेत्र के निरीक्षण के दौरान धान खरीदी स्थल की पर्याप्त उपलब्धता, चबूतरों के स्थिति, एकत्रित बारदानों के साथ ही उपार्जन केन्द्रों में धान खरीदी की तैयारियों की आवश्यक जानकारी ली। श्री नंदनवार ने जिले के प्रवेश सीमा से धान के अवैध परिवहनों पर कड़ी निगरानी रखने के निर्देश दिए।

पाकेला हाट बाजार क्लीनिक का किया निरीक्षण
श्री नंदनवार ने पाकेला में संचालित हाट बाजार क्लीनिक का भी निरीक्षण किया तथा स्थानीय ग्रामीणों को दी जा रही स्वास्थ्य सेवाओं एवं उपलब्ध दवाईयों की जानकारी ली। उन्होंने ज्यादा से ज्यादा ग्रामीणों का मलेरिया जांच करने  के साथ ही अन्य मौसमी बीमारियों की जांच करने के निर्देश दिए। गौरतलब है कि सुकमा जिले में मलेरिया मुक्त बस्तर अभियान के तहत दूसरे चरण में लगभग 2 लाख 89 हजार लोगों का मलेरिया जांच किया गया था जिसमे केवल 4हजार पॉजिटिव मरीज मिले थे। उन्होंने कहा कि इस वर्ष मलेरिया के रोकथाम एवं त्वरित उपचार हेतु सघन जांच की जाए।

रामपुरम गोठान में बाड़ी योजना के लिए कृषकों को किया प्रोत्साहित
धान खरीदी केन्द्रों के उपरांत श्री नंदनवार ने रामपुरम गोठान में संचालित की जा रही विभिन्न रोजगार मूलक गतिविधियों का जायजा लिया। उन्होंने कहा कि गोधन न्याय योजना के सफल क्रियान्वयन के अतरिक्त गोठान स्थानीय लोगों को रोजगार के अवसर भी प्रदान कर रहा है। 

उन्होंने लोगों से चर्चा कर गोठान में तैयार किए जा रहे बाड़ी में फसल लगाकर आर्थिक लाभ लेने के लिए प्रोत्साहित किया।
इस दौरान सुकमा एसडीएम नभ एल स्माइल, छिंदगढ़ तहसीलदार  रूपेश मरकाम, जनपद पंचायत छिंदगढ़ के मुख्य कार्यपालन अधिकारी  एस एल देवांगन एवं डीएमसी श्री चौहान उपस्थित थे।
 


28-Nov-2020 6:58 PM 18

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

सुकमा, 27 नवम्बर 2020। शुक्रवार को जिला पंचायत सभाकक्ष में जिला पंचायत सामान्य सभा की बैठक आयोजित की गई। बैठक में सुकमा जिले के ग्रामीण अंचलों के विकास पर चर्चा की गई। जिला पंचायत अध्यक्ष श्री हरीश कवासी ने जिले के अंतिम व्यक्ति तक शासन की योजनाओं का लाभ पहुंचाने के लिए जनप्रतिनिधियों और अधिकारी-कर्मचारियों को समन्वित प्रयास करने को कहा। जिले के दूरस्थ क्षेत्रों से समस्याएं लेकर आने आने वाले ग्रामीणों को प्राथमिकता देते हुए उनके समस्या का निराकरण की आवश्यकता बताई गई।

शासन की गरीबी उन्मूलन की योजनाओं का लाभ मिल रहा ग्रामीणों को

छत्तीसगढ़ शासन द्वारा ग्रामीण विकास को गति प्रदान और गरीबी उन्मूलन की दिशा में विभिन्न योजनाएं चलाई जा रही हैं, जिनका लाभ जिले के ग्रामीणों को मिलने लगा है। पशुधन विकास विभाग द्वारा चलाए जा रहे बैकयार्ड कुक्कुट पालन, शबरी लेयर फार्मिंग, बकरी पालन इत्यादि योजनाओं से ग्रामीणों को अपने आर्थिक संवर्धन एवं जीवन स्तर को बेहतर करने में बहुत लाभ मिल रहा है। इन योजनाओं से महिला स्व सहायता समूहों के साथ ही किसान, एवं बीपीएल कार्ड धारक हितग्राही भी लाभान्वित हो रहे हैं।

  वहीं भगिनी प्रसूता योजना, मातृत्व वंदना योजना से जिले की गर्भवती महिलाओं को आर्थिक सहायता प्रदाय की जा रही है। महिला एवं बाल विकास विभाग द्वारा पूरक पोषण आहार योजना से 3 से 6 वर्ष के आयु के बच्चों के साथ ही किशोरी बालिकाओं एवं गर्भवती महिलाओं को पौष्टिक आहार के साथ ही समय पर चिकित्सीय सुविधा भी मिल रही है। जनप्रतिनिधियों ने इन योजनाओं के बेहतर क्रियान्वयन के लिए प्रशासन की प्रशंसा की गई।

जिले में स्वास्थ्य सेवाएं  हो रही बेहतर

मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ सीबीपी बंसोड ने बताया कि जिला प्रशासन एवं स्वास्थ्य कर्मियों के अथक प्रयासों से दुर्गम क्षेत्रों में भी  स्वास्थ्य सेवाएं पहुंचाई जा रही है। सुकमा नगरपालिका क्षेत्र के साथ ही अब जिले के दूरस्थ पहुंच विहीन क्षेत्रों में बेहतर स्वास्थ्य सेवाएं उपलब्ध करने का प्रयास किया जा रहा है, जिसके अच्छे परिणाम सामने आ रहे हैं। मलेरिया मुक्त बस्तर अभियान के अन्तर्गत पहले चरण में जहां 16 हजार पॉजिटिव मरीज मिले थे, त्वरित उपचार के कारण दूसरे चरण में केवल 4 हजार मरीज मिले।

  कोरोना जांच में भी जिले में बेहतर परिणाम प्राप्त हो रहे हैं। अब तक कुल 40 हजार 731 सैंपल जांच किए गए हैं जिसमें 36 हजार 523 लोगों के जांच रिपोर्ट नेगेटिव मिले हैं। पॉजिटिव मरीजों के उपचार हेतु जिला कोविड अस्पताल सहित 3 कोविड केयर केंद्र संचालित हैं। इसके साथ ही प्रतिदिन सैंपल कलेक्शन हेतु ब्लॅाक स्तर पर फीवर क्लीनिक स्थापित किए गए हैं।

बैठक में जिला पंचायत अध्यक्ष श्री हरीश कवासी सहित उपाध्यक्ष श्री बोड्डू राजा, जिला पंचायत सदस्य गण एवं विभागीय अधिकारी उपस्थित थे।


28-Nov-2020 6:54 PM 13

सुकमा, 27 नवम्बर 2020। स्वास्थ्य विभाग में की जा रही पुरुष एवं महिला ग्रामीण स्वास्थ्य संयोजक भर्ती हेतु अंतिम वरीयता सूची जारी कर दी गई है। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी ने बताया कि प्रारंभिक मेरिट सूची स्वास्थ्य विभाग की वेबसाईट के साथ ही कलेक्टोरेट, जिला पंचायत कार्यालय व सुकमा, छिंदगढ़ और कोंटा तहसील कार्यालय में भी चस्पा किया गया था एवं दावा आपत्ति आमंत्रित किए गए थे। दावा आपत्ति के निराकरण के उपरान्त दिनांक 27 नवम्बर 2020 को अंतिम वरीयता सूची जारी कर दी गई है। पुरुष ग्रामीण स्वास्थ्य संयोजक वरीयता सूची तथा महिला ग्रामीण स्वास्थ्य संयोजक वरीयता सूची डब्लयूडब्लयूडब्लयू डॉट सीजीहेल्थ डॉट एनआईसी डॉट इन पर देखी जा सकती है।


28-Nov-2020 2:49 PM 25

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

सुकमा, 28 नवम्बर। कलेक्टर विनीत नंदनवार एवं जिला प्रशासन धान खरीदी की लेकर बहुत सतर्क हैं। जिले में अवैध धान परिवहन पर प्रशासन की कड़ी निगरानी है। शुक्रवार को लगभग 8.30 बजे सुकमा से लगे ओडिशा बॉर्डर क्षेत्र पर अवैध धान परिवहन करते हुए एक पिकअप पकड़ी गई। पिकअप से लगभग 50 बोरा धान बरामद किया गया। कलेक्टर  विनीत नंदनवार के मार्गदर्शन में पुलिस एवं राजस्व विभाग के अधिकारियों ने अवैध धान परिवहन करते पिकअप को चेकपोस्ट पर धर दबोचा एवं सख्त कार्रवाई की गई। 

श्री नंदनवार ने कहा कि धान खरीदी शासन की अतिमहत्वपूर्ण कार्य है, इसलिए जिले में अवैध धान के संग्रहण एवं परिवहन को लेकर शासन एवं प्रशासन की निगरानी है। उन्होंने कहा कि आगामी 01 दिसम्बर से प्रारम्भ होने वाली धान खरीदी में कृषकों को कोई नुकसान ना हो, इसलिए जिला अधिकारी पूरी मुस्तैदी के साथ कार्य कर रहे हैं।


28-Nov-2020 1:39 PM 38

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
सुकमा, 28 नवंबर।
नक्सलियों ने प्रेस नोट जारी कर दक्षिण बस्तर के अंदरूनी क्षेत्रों में पुलिस कैम्प खोले जाने का विरोध किया है, वहीं सुरक्षा बल के जवानों पर ग्रामीणों से मारपीट करने का आरोप लगाते माओवादियों ने कहा कि भूपेश सरकार चुनाव से पहले किए गए वादों से मुकर गई है।

केरलापाल एरिया कमेटी द्वारा जारी प्रेस विज्ञप्ति में उल्लेखित है कि छत्तीसगढ़ में सत्तारुढ़ कांग्रेस की भूपेश बघेल सरकार ने चुनाव से पहले पुलिस कैम्पों को हटाने व जेलों में बंद निर्दोष ग्रामीणों को बिना शर्त रिहा करने का वादा किया था, लेकिन सरकार बनने के बाद जनविरोधी कानून अपनाते हुए अंदरूनी क्षेत्रों में कैम्प खोला जा रहा है।

 केन्द्र व राज्य सरकार द्वारा पुलिस कैम्प खोलने के बाद सडक़, पुल-पुलिया निर्माण करके खनिज सम्पदाओं को बड़े कारपोरेट घरानों को सौंपने की तैयारी हो रही है। यह सब बिना ग्रामसभा की अनुमति के किया जा रहा है। इसके विरोध में ग्रामीणों ने 22 नवंबर को बड़े सट्टी से जिडामपल्ली, गोलागुड़ा तक विरोध प्रदर्शन किया है।

मंत्री लखमा पर लगाया आरोप
नक्सलियों ने प्रेस नोट में आबकारी मंत्री कवासी लखमा पर भी निशाना साधते कहा है कि मंत्री कवासी लखमा ने भी अपने वादों को भुला दिया है। उन्होंने 16 नवम्बर को यहां बड़ेसट्टी में आकर ग्रामीणों की बैठक की और नए कैम्प खोलने, सडक़ व पुलिया निर्माण के बारे में शर्मनाक भाषण दिया।


25-Nov-2020 10:27 PM 22

  कलेक्टर व एसपी पहुंचे गांव, चर्चा के बाद मामला शांत  

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

सुकमा, 25 नवंबर। जिले के चिंगावरम गांव में देर रात को डीजे व पार्टी करने को लेकर दो पक्षों में झड़प हो गई, जिसमें 4 लोगों को चोंटे आई हैं, जिनका गादीरास अस्पताल में इलाज कराया जा रहा है। इधर सुबह ही पुलिस मौके पर पहुंची और मामला शांत कर दिया। साथ ही कलेक्टर विनित नंदनवार व एसपी केएल ध्रव भी गादीरास पहुँचे, जहां घायलों से मुलाकात की और गांव पहुंच कर दोनों पक्षों व गांव प्रमुखों से चर्चा कर मामला शांत कर दिया गया।

जिला मुख्यालय से करीब 30 किमी दूर चिंगावरम गांव जहां देर रात करीब 1 बजे दो पक्षों में झड़प हो गई। काफी देर तक दोनों पक्षों में मारपीट हुई, जिसमें 4 लोगों को चोट लगी और उनको गादीरास अस्पताल लाया गया। सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंची और मामला शांत किया गया। वहीं 4 घायलों को जिला अस्पताल लाया गया।

समझाने गए तो कर दी धक्का-मुक्की

ग्रामीण सोमड़ा पटेल ने बताया कि देर रात तक ईसाई समाज के लोग डीजे बजा रहे थे। जिनको समझाने के लिए गांव के लोग गए थे। लेकिन उन लोगों ने गांव प्रमुख के साथ धक्का-मुक्की कर दी। जिसके बाद दोनों पक्षों की में मारपीट हुई।

घायल करटामी जोगा ने बताया कि हमारे ईसाई समाज के यहां जन्म उत्सव कार्यक्रम का आयोजन था। जिसमें डीजे लगाया गया था। रात में अचानक 15 से 20 लोग आए और मारपीट की। जिसमें 4 को काफी चोट लगी और कुछ लोग घायल हुए।

वहीं आदिवासी समाज प्रमुख वेको हूंगा ने बताया कि गांव में ईसाई समाज के यहाँ किसी कार्यक्रम में बाहर से लोग आए हुए थे। उसके बाद वहां डीजे बजाया गया। समझाने गए गांव वालों के साथ विवाद बढ़ गया, फिर मारपीट हो गई।

कलेक्टर व एसपी ने घायलंो का हालचाल जाना

जानकारी मिलते ही कलेक्टर विनित नंदनवार व एसपी के एल ध्रव गादीरास पहुँचे, जहां घायलों से चर्चा की और उनका बेहतर इलाज करने की बात कही। उसके बाद दोनों अधिकारी चिंगावरम पहुँचे, जहां घटना स्थल पर जाकर मौके का मुआयना किया। साथ ही गांव प्रमुखों के साथ बैठक कर मामले को समझा और शांत किया।


25-Nov-2020 10:21 PM 17

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

तोंगपाल, 25 नवंबर। ईएमटी व पायलट की सूझबूझ से जच्चा एवं बच्चा की जान बची। उन्हंोने अपनी सूझबूझ व कार्यकुशलता से एम्बुलेंस में प्रसव कराने के उपरांत जच्चा एवं बच्चा को सुरक्षित कूकानार पीएचसी में भर्ती करवाया।

शनिवार की रात्रि को वि.ख.छिन्दगढ़ के ग्रा.पं.बोदारास की नीलावती को प्रसव पीड़ा हुई तो उन्होंने 108 एम्बुलेंस सेवा से सम्पर्क कर तत्काल वाहन उपलब्ध कराने हेतु कहा। जिसके बाद  ईएमटी रमेश व पायलट राजेश 108 एम्बुलेंस लेकर बोदारास पहुंचे व नीलावती को लेकर कूकानार पीएचसी की ओर रवाना हुए। बोदारास से कूकानर पीएचसी  की दूरी लगभग 3 से 4 किमी होगी, परन्तु प्रसव पीड़ा बहुत अधिक होने के कारण इतनी कम दूरी तय करना भी असम्भव प्रतीत हो रहा था। इसके बाद नीलावती की तकलीफ को देखकर 108 के दोनों कर्मचारियों ने एम्बुलेंस में ही प्रसव करवाने का निर्णय लिया व अपनी सूझबूझ व कार्यकुशलता से प्रसव कराने के उपरांत जच्चा एवं बच्चा को सुरक्षित कूकानार पीएचसी में भर्ती करवाया। सुबह जैसे जैसे ग्रामीणों को 108 के इन दोनों कर्मचारियों की सूझबूझ व रात में इस प्रकार सेवा देने की जानकारी मिली। सभी इनकी प्रशंसा कर रहे थे ।

इस संबंध में  ‘छत्तीसगढ़’  ने ईएमटी रमेश व पायल राजेश से बात की तो उन्होंने कहा कि अक्सर हमें ऐसे केस का सामना करना पड़ता है। हम अपने वरिष्ठ अधिकारियों के मार्गदर्शन में इन विपरीत परिस्थितियों का सामना कर उस वक्त जो उचित लगता है वह कार्य करते हैं क्योंकि यह हमारा फर्ज है कि पेशेंट को सुरक्षित हालत में अस्पताल तक पहुंचाकर उन्हें उचित चिकित्सा मुहैया करवाएं।


25-Nov-2020 5:35 PM 54

सुरक्षाबलों के खिलाफ ग्रामीणों से मारपीट का आरोप

सैकड़ों ग्रामीण ने एकजुट होकर किया विरोध
‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
कोंटा/जगदलपुर, 25 नवंबर।
सुकमा जिले में अतिनक्सल प्रभावित जगरगुंडा इलाके के कर्रेपारा में नये कैम्प को लेकर सैकड़ों की संख्या में ग्रामीण एकजुट होकर तीन दिनंो से विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं। आज सुकमा के अलावा दंतेवाड़ा व बीजापुर के ग्रामीणंो के भी विरोध में शामिल होने की खबर है।

जगरगुंडा इलाके के कर्रेपारा गांव में 20 नवम्बर को सुरक्षाबलों का नया कैम्प स्थापित किया गया है जिसके विरोध में बयनपल्ली, वेडमा, उरसंगल, परलागट्टा, कोंडासवली जैसे आसपास के आधा दर्जन से ज्यादा गांवंो के ग्रामीण सैकड़ों की संख्या में जमा होकर नारेबाजी के साथ विरोध जता रहे हैं।

ग्रामीणों की मांग है, स्कूल चाहिये, अस्पताल चाहिये, पानी बिजली चाहिये लेकिन सुरक्षाबलों का कैम्प नहीं चाहिये। कैम्प को हटाने के विरोध में बीते 3 दिनों से लगातार रैली नारे बाजी के साथ कैम्प के सामने धरना देकर विरोध जताया जा रहा है। 

ग्रामीणों का आरोप है कि सुरक्षाबलों द्वारा बीते दो दिन से करीब 65 ग्रामीणों के साथ मारपीट की गई है। ग्रामीण अभी भी इस इलाके में एकजुट होकर अपना विरोध जता रहे हैं। इनका कहना है जब तक कैम्प नहीं हटेगा तब तक या विरोध जारी रहेगा।

ग्रामीणों ने विरोध प्रदर्शन में बताया गया कि हमारी निजी भूमि पर सुरक्षाबलों द्वारा पुलिस कैम्प स्थापित किया है और हर दिन गांव वालों के साथ मारपीट की जा रही है। आदिवासी ग्रामीण जंगल पर निर्भर रहते हैं शिकार हो या पूजापाठ, सामाजिक रीति रिवाजों को लेकर जंगल में करते हैं। अगर हमें पुलिस वाले जंगल में देखेंगे तो मार देंगे, फर्जी नक्सली केस में जेल भेज देंगे। हमारा विरोध है हमारे गांव से कैम्प को हटाया जाये।

दन्तेवाड़ा एसपी डॉ. अभिषेक पल्लव का कहना है कि ग्रामीण नक्सलियों के दबाव में आकर विरोध कर रहे हैं, हमारी कोशिश है ग्रामीणों के साथ बेहतर तालमेल के साथ इलाकें में विकास हो और जल्द सडक़ निर्माण कार्य जगरगुंडा तक पूर्ण कर लिया जाएगा और गांव में ही लोगों को राशन मिलने लगेगा। उन्हें अब पैदल सफर तय कर राशन लेने जाना नहीं पड़ेगा कैम्प खुलने से घबराने की जरूरत नहीं है। आपकी सुरक्षा और इलाकों में विकास कार्यों को लेकर खोला गया है। किसी भी ग्रामीण के साथ मारपीट नहीं होगी और लोगों को कैम्प लगने से शासन के जनकल्याणकारी योजनाओं का पूरा फायदा मिलेगा और इस इलाकें में विकास कार्य होंगे।


24-Nov-2020 9:32 PM 27

  विस चुनाव के लिए अभी से कार्यकर्ताओं को कमर कसने का आव्हान  

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

सुकमा, 24 नवंबर। भारतीय जनता पार्टी जिला सुकमा की कार्यसमिति बैठक 23 नवम्बर को सम्पन्न हुई। बैठक में विशेष रूप से भाजपा के प्रदेश महामंत्री किरण देव उपस्थित हुए । भाजपा जिलाध्यक्ष हूँगाराम मरकाम की अध्यक्षता में बैठक की कार्यवाही सम्पन्न हुई।

भाजपा प्रदेश महामंत्री किरण देव ने नवनिर्वाचित पदाधिकारियों को संगठन की महत्ता बताते हुए विस्तार से जानकारी दी। भाजपा प्रदेश महामंत्री किरन देव के सुकमा दौरा से कार्यकर्ताओं में जोश एवं खुशी की लहर थी। संगठन के अनेकों विषयों पर चर्चा करते हुए 2023 विधानसभा चुनाव हेतु अभी से पदाधिकारियों/कार्यकर्ताओं को कमर कसने को कहा व संगठन की अन्य जानकारी सभी पदाधिकारियों से ली।

 जिलाध्यक्ष हूँगाराम मरकाम ने भी कार्यकर्ताओं में अपने भाषण से जोश भर दिया। उन्होंने भाजपा प्रदेश महामंत्री किरण देव को संगठन के कार्य की विस्तार से जानकारी देते हुए 2023 विधानसभा चुनाव जीतने का भरोसा दिलाया।

पूर्व जिलाध्यक्ष मनोज देव ने भी अपने अनुभव को साझा करते हुए कहा कि सुकमा जिला में भाजपा के कार्यकर्ता संगठन के हित में अच्छा कार्य कर रहे हैं, इसका फायदा निश्चित रूप से 2023 विधानसभा में मिलेगा। हम सब को आपसी समन्वय बना कर आज से ही कार्यकर्ताओं को बल देने हेतु निरंतर आखरी पंक्ति में खड़े कार्यकर्ता से सम्पर्क बना कर रखना चाहिए।

प्रदेश विशेष आमंत्रित सदस्य धनीराम बारसे ने कहा कि सुकमा जिला में भारतीय जनता पार्टी बहुत मजबूत है हमारे पास कार्यकर्ताओं की कमी नहीं है। हमारे कार्यकर्ता न डर रहे है न अपने दायित्व से भाग रहे हैं, 2023 विधानसभा में इसका फायदा जरूर मिलेगा।

वरिष्ठ भाजपाई पीलूराम यादव कार्यकर्ताओं का जोश देख कर गदगद हो गए और बोले ये भारतीय जनता पार्टी है जो कार्यकर्ताओं से चलती है न कि नेताओं से जिसका परिणाम है कि आज हमारी पार्टी मजबूती के साथ उभर रही है। बैठक में मंच संचालन भाजपा जिला महामंत्री महेन्द्र सिंह भदौरिया ने किया एवं बैठक के अन्त में भाजपा जिला महामंत्री संजय शुक्ला ने आभार प्रकट कर बैठक समापन की घोषणा की।

बैठक में भाजपा जिलाध्यक्ष हूँगाराम मरकाम सहित प्रदेश विशेष आमंत्रित सदस्य धनीराम बारसे, पूर्व जिलाध्यक्ष मनोज देव, वरिष्ठ भाजपाई पीलूराम यादव, अरुण सिंह भदौरिया, जिला महामंत्री द्वय महेन्द्र सिंह भदौरिया, संजय शुक्ला, जिलाउपाध्यक्ष पार्वती प्रधानी, कोसी ठाकुर, विश्वराज सिंह चौहान, बहादुर सिंह ठाकुर, जी. साईं रेड्डी, आयताराम मण्डावी, जिला कोषाध्यक्ष उपेन्द्र अंशु सिंह चौहान, जिपं सदस्य बारसे माड़े, सुकमा जनपद पंचायत उपाध्यक्ष डमरू राम व अन्य पदाधिकारी/कार्यकारिणी सदस्य एवं नगरपालिका/नगरपंचायत पार्षद उपस्थित रहे।

बैठक आयोजन में विशेष सहयोग जिला मीडिया प्रभारी ऋषभ किशोर गुप्ता, जिला मंत्री भुनेश्वरी यादव, जिला मंत्री संजय सोढ़ी, सुकमा वार्ड क्र. 12 पार्षद चन्द्रिका गुप्ता, भाजयुमो जिला उपाध्यक्ष मडक़म भीमा, भाजयुमो जिला कार्यालय मंत्री राजकुमार कश्यप, गोनेल शंकर राव, भाजपा जिला कार्यालय व्यवस्थापक सुरेन्द्र यादव का प्राप्त हुआ।


22-Nov-2020 8:56 PM 25

सुकमा, 22 नवंबर। सुकमा नगरपालिका अध्यक्ष जगन्नाथ राजू साहू ने मुख्यमंत्री भूपेश बघेल एवं नगरीय प्रशासन मंत्री डॉ. शिव कुमार डहरिया की सराहना करते हुए कहा कि देश की पहली महिला स्पेशल क्लीनिक का छत्तीसगढ़ में शुभारंभ हुआ है। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल 19 नवम्बर को दाई-दीदी क्लीनिक का लोकापर्ण कर महिला सशक्तिकरण की दिशा में अभिनव पहल की शुरूआत की है। महिला चिकित्सकों द्वारा महिलाओं को नि:शुल्क उपचार की सुविधा भी मिलेगी।

 महिलाओं के लिए शुरू की जाने वाली यह स्पेशल महिला मेडिकल मोबाइल क्लीनिक देश में अपनी तरह की पहली अनूठी क्लीनिक होगी। क्लीनिक की गाडिय़ों में केवल महिला मरीजों को ही नि:शुल्क इलाज की सुविधा मिलेगी। दाई-दीदी क्लीनिक गाडिय़ों में केवल महिला स्टाफ तथा महिला डॉक्टर, महिला लैब टेक्नीशियन एवं महिला एएनएम ही कार्यरत रहेंगे। इस क्लीनिक के शुरू होने से महिला श्रमिकों एवं स्लम क्षेत्रों में निवासरत महिलाओं एवं बच्चियों को अपने घर के निकट ही महिला डॉक्टरों के माध्यम से इलाज की सुविधा मिलेगी।

 इस क्लीनिक का संचालन मुख्यमंत्री शहरी स्लम स्वास्थ्य योजना के अंतर्गत किया जाएगा। वर्तमान में प्रदेश के तीन बड़े नगर पालिक निगम रायपुर, भिलाई एवं बिलासपुर में महिलाओं के लिए एक-एक दाई-दीदी क्लीनिक शुरू की जा रही है। इस क्लीनिक में महिलाओं के प्राथमिक उपचार के साथ-साथ महिला चिकित्सक द्वारा स्तन कैंसर की जांच, हितग्राहियों को स्व स्तन जांच का प्रशिक्षण, गर्भवती महिलाओं की नियमित एवं विशेष जांच आदि की अतिरिक्त सुविधा होगी। महिला एवं बाल विकास विभाग के सहयोग से शहरों में स्थित आंगनबाड़ी के निकट पूर्व निर्धारित दिवसों में यह क्लीनिक स्लम क्षेत्र में लगाया जाएगा। इस क्लीनिक के साथ-साथ गर्भवती महिलाओं, बच्चों आदि के लिए महिला एवं बाल विकास विभाग की विभिन्न हितग्राहीमूलक परियोजना का लाभ भी प्रदान किया जाएगा।

गौरतलब है कि जनरल क्लीनिक में महिलाओं के लिए पृथक जांच कक्ष और काउंसलर नहीं होने से महिलाएं परिवार नियोजन के साधन, कॉपर-टी निवेशन, आपातकालीन पिल्स की उपलब्धता, गर्भनिरोधक गोलियां, साप्ताहिक गर्भनिरोधक गोली, गर्भनिरोधक इंजेक्शन, परिवार नियोजन परामर्श, एसटीडी परामर्श में शर्म का अनुभव करती है। इस महिला क्लीनिक में डेडीकेटेड महिला स्टाफ होने से अब इस प्रकार के परामर्श नि:संकोच ले सकेंगी।


22-Nov-2020 8:55 PM 59

सुकमा, 22 नवंबर। कल कलेक्टर नन्दनवार ने गिरदालपारा में प्रस्तावित हाइड्रोपावर आधारित सिंचाई हेतु उद्वहन परियोजना स्थल का निरीक्षण किया। उन्होंने इस कार्य को शीघ्र पूर्ण करने के निर्देश दिए। यहां मलगेर नदी से हाईड्रोपावर के माध्यम से एनीकट के पास सिंचाई हेतु पानी पंपिंग कर सिंचाई हेतु आपूर्ति की जाएगी।

सुकमा जिले के ग्राम गिरदालपारा में टँकी में भर कर लघु नहरों के माध्यम से कृषकों को पानी की आपूर्ति की जाएगी, जिससे लगभग 200 हेक्टेयर क्षेत्रफल में  रबी सीजन में सिंचाई की सुविधा प्राप्त हो सकेगी। यह योजना प्रो सेंटर फार सस्टेनेबल टेक्नोलॉजी इन्टरडिस्टनिरी सेंटर फार इनर्जी रिसर्च, इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ सांइस बेंगलुरू के डॉ. पुनित सिंह के दिशा निर्देश  में उनके द्वारा डिजाईन पंपिग सेट की स्थापना सिंचाई विभाग द्वारा की जा रही है।

शनिवार को कलेक्टर श्री नन्दनवार द्वारा पंपिग यूनिट का अवलोकन किया गया एवं मलगेर नदी पर स्थापना स्थल का निरीक्षण किया गया। कलेक्टर द्वारा डॉ. पुनित सिंह सहित विभागीय अधिकारियों से स्थल पर समय सीमा में कार्य पूर्ण करने के निर्देश दिए गए ताकि इस वर्ष  रबी फसल में किसान इस योजना का लाभ ले सके इस हेतु संबंधित अधिकारियों को मार्च तक कार्य पूर्ण करने हेतु निर्देशित किया। इस योजना की अनुमानित लागत 80 लाख रुपए की होगी एवं गिरदालपारा को कृषकों को 200 हेक्टेयर में  सिंचाई हेतु पानी रबी सीजन में उपलब्ध होगी, जिससे वह खरीफ के अलावा अतिरिक्त फसल लेकर अपनी आय दुगनी कर सकेगें। कलेक्टर ने स्थानीय किसानों से भी मुलाकात कर इस उद्वहन योजना के संबंध में चर्चा की और आगामी रबी सीजन में फसल लेने की अपील की।


22-Nov-2020 8:43 PM 28

कोंटा, 22 नवम्बर। पड़ोसी राज्य तेलंगाना के भद्राद्री कोत्तगुडम जिला पालवांचा जंगल इलाका के एक मुरिया बस्ती में झूले में सो रहे तीन माह के बच्चे को लोमड़ी ने मुंह से पकड़ कर घसीटते ले जा रहा था। तुरंत बच्चे के माता पिता दौड़ पड़े तो लोमड़ी छोड़ कर भागा। यह हृदय विदारक घटना एक दिन बाद सामने आया। पालवांचा मंडल केंद्र से लगभग 40 किमी दूरी में घने जंगल मे बसें आदिवासी गांव रल्लाचेलका के मुकति एडमा राधा के तीन माह के शिशु को दोपहर 3 बजे अपने झोपड़ी में साड़ी के झूला में सुलाकर अपना अपना काम कर रहे थे। थोड़ी देर बाद बच्चे की रोने की आवाज सुनकर दौड़े। लोमड़ी ने बच्चे को गंभीर रूप से घायल कर भागा। इसके पश्चात परिजनों ने स्वास्थ्य केंद्र पालवांचा में मासूम को भर्ती करवाया इलाज जारी है। चिकित्सकों ने बताया कि शिशु की स्थिति सामान्य है।


Previous1234Next