छत्तीसगढ़ » सुकमा

Previous123456Next
24-Feb-2021 4:49 PM 19

सुकमा, 24 फरवरी। भाषाई  गणित कौशल अभ्यास सामग्री का विमोचन कलेक्टर सुकमा  विनित नन्दनवार द्वारा किया गया। इस अवसर पर जिला शिक्षा अधिकारी  जे. के. प्रसाद , जिला मिशन समन्वयक  श्री चौहान , ए.पी.सी. राणा सर,छिंदगढ़ बी.आर.सी. खान एवं ब्लॉक पीएलसी के सदस्य  चुमेश्वर काशी, हेमशंकर नेताम,अमीर प्रधान,त्रिलोकसाय ठाकुर, गौतम कुमार साहू,डोमन लाल साहू, ताराचंद ठाकुर, अशोक कुमार साहू,  तोषिका कुमेटी, फुलमनी कुजूर,थामेश्वरी चौहान,उपस्थित थे । कलेक्टर द्वारा सभी को बधाई देते हुए मोटिवेट भी किया गया।

ब्लॉक पीएलसी छिंदगढ़ के विषय शिक्षकों द्वारा तैयार किया गया प्राथमिक स्तर के बच्चों के लिए भाषाई एवं गणितीय विषय पर आधारित पढऩे लिखने के कौशल को रोचक बनाने का उद्देश्य पूरा हो, एवं प्रत्येक संकुल पीएलसी इससे प्रेरित होकर अपने बच्चों के लिए भी इस प्रकार की सामग्री निर्माण कर सके।


23-Feb-2021 9:40 PM 25

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

छिंदगढ़, 23 फरवरी । सुकमा जिले के विकासखंड छिन्दगढ़ के ग्राम पंचायत पालेंम में 9 दिनों के अंदर पांच मौतें होने के बाद चिकित्सा अधिकारी डॉ. नागराजू अपनी टीम के साथ जांच करने पहुंचे।

मिली जानकारी के अनुसार पालेंम के कुंजामी आयता पिता सोनू 25 वर्ष की 13 फरवरी, कवासी नन्दा पिता हिरमा 30 वर्ष की 15 फरवरी,मंगली पति कोशा 50 वर्ष की 17 फरवरी एवं कुंजामी मुक़ा पिता देवा 30 वर्ष व सोमारू पिता बुधरा 22 वर्ष की 21 फरवरी को 9 दिनों के अंदर पांच ग्रामीणों की मृत्यु हो गई।

पालेंम की मितानिन सुखमती एवं मोती ने बताया कि हम लोगों ने मुक़ा व आयता को बहुत समझाया कि अस्पताल में जाकर अपना इलाज करवाएं, हम उन्हें अपने साथ अस्पताल जाने हेतु बार-बार कहते रहे, परन्तु उन्होंने हमारी बात नहीं सुनी। उन्होंने कहा कि अस्पताल जाने से किडनी निकाल लेते हैं जिसके कारण मृत्यु हो जाती है। हम लोग अस्पताल नहीं जाएंगे यहीं सिरहा गुनियाँ करके अपना इलाज करवाएंगे। इसी लापरवाही के कारण इन दोनों की मृत्यु हो गई। ग्रामवासियों से इनकी बीमारी के सम्बन्ध में पूछा तो सभी ने मंगली को छोडक़र अन्य सभी चारों मृतकों में हाथ पैर व शरीर मे सूजन व पीले मूत्र की बीमारी होने की बात कही।

डॉ. नागराजू का कहना है कि अभी इनकी मृत्यु के सम्बन्ध में कुछ भी कहना जल्दबाजी होगी, पर जिस प्रकार के लक्षण ग्रामवासी बता रहे हैं उससे जहरीली शराब मृत्यु का कारण हो सकती है, बाकी सही जानकारी परीक्षण के उपरांत ही बताया जा सकेगा।

कई माह से बीमार थे

पालेंम के सभी मृतक पिछले कई कई माह से बीमार थे जिसमें सोमारू पिछले 5-6 माह से बीमार था, जिसका इलाज भी तोंगपाल अस्पताल में किया गया था। नंदा भी पिछले एक माह से बीमार था, उसे तोंगपाल अस्पताल ले जाया गया था जहां से उसे मेकाज डिमरापाल रेफर कर दिया गया था, जहां उसकी मृत्यु हो गई। मंगली भी कई माह से बीमार थी, जिसकी मृत्यु घर पर पर हुई। मृतकों में मुक़ा एवं आयता गाँव में ही सिरहा के पास अपना इलाज करवा रहे थे व इनकी भी मृत्यु हो गई

विदित हो कि विकासखंड से मात्र 20 व जिला मुख्यालय से 40 किमी दूर मुख्य मार्ग से मात्र 1 किमी अंदर बसा हुआ है पालेंम गाँव। उसके बाद भी इस गाँव में अंधविश्वास व अशिक्षा व्याप्त है कि ग्रामीण अस्पताल में इलाज करवाने में मृत्यु हो जाने की डर से सिरहा गुनियाँ से अपना इलाज करवाने में अपने आपको सुरिक्षत महसूस करते हैं।


22-Feb-2021 9:02 PM 43

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

छिंदगढ़, 22 फरवरी। अखिल भारतीय महिला फेडरेशन के नेतृत्व में मांगों को लेकर आदिवासियों की अनिश्चितकालीन हड़ताल चौथे दिन भी जारी रही।
 विगत 12 फरवरी को बालाटिकरा के आदिवासियों की कृषि भूमि पर बिना ग्राम सभा के जबरन शासकीय भवन बनाने के लिए अधिग्रहण करने से गांव के महिला पुरुष जमीन नहीं देने की बात करते हुए विरोध करने से प्रशासन ने दो महिला सहित एक पुरूष को जेल भेजा गया था, जो लगातार विरोध के चलते 19 फरवरी को छोड़ा गया है। दूसरी ओर जमीन को जबरन अधिग्रहण कर काम चालू किया गया है। इसके विरोध में ग्रामीण महिलाओं के द्वारा अनिश्चित कालिन हड़ताल जारी है। 
ग्रामीणों की मांग है कि आदिवासियों की कृषि भूमि पर कब्जा तत्काल हटाया जाए, पूर्वजों से कृषि कर रहे आदिवासियों की जमीन को जबरन अधिग्रहण करना बन्द करने, पांचवीं अनुसूची क्षेत्रों में पेसा कानून का पालन करने की मांग को लेकर अनिश्चित कालीन हड़ताल जारी है। हड़ताल में आदिवासी महासभा के सचिव गंगाराम नाग, महिला फेडरेशन के अध्यक्ष कुसुम नाग, जनपद सदस्य घेनवा राम नेगी, सहित कार्यकर्ता, ग्रामीण हड़ताल में उपस्थित रहे।

 


22-Feb-2021 8:54 PM 56

सुकमा से पहुंची पशुविभाग की टीम ने किया उपचार'

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
दोरनापाल, 22 फरवरी।
सुकमा जिले के मिसमा में सडक़ दुर्घटना में कैंप के सामने घायल पड़ी मवेशी की मदद के लिए सीआरपीएफ के जवान सामने आए। उनकी सूचना पर पशुविभाग की टीम ने मौके पर पहुंचकर मवेशी का उपचार किया।
मिसमा कैम्प अंतर्गत सीआरपीएफ 2वीं वाहिनी के जवानों ने मवेशी के घायल होने की सूचना पशु चिकित्सा विभाग को सूचना दी। पशु विभाग के उपसंचालक डॉ. जहीरुद्दीन ने तत्काल स्वास्थ्य विभाग की एक टीम मिसमा भेजी, जिसके बाद पशु विभाग की टीम ने मौके पर पशु का उपचार किया। जिसके बाद धूप में पड़ी इस मवेशी को उठाकर छाँवदार सुरक्षित जगह शिफ्ट किया और दाना पानी की भी व्यवस्था की।  इतना ही नहीं अब जवान उस मवेशी के स्वस्थ होने तक देखभाल भी कर रहे हैं।


21-Feb-2021 5:37 PM 28

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

सुकमा, 21 फरवरी। जिला पंचायत अध्यक्ष हरीश कवासी के नेतृत्व में बड़ी संख्या में कांग्रेस के पदाधिकारी एवं कार्यकर्ताओं ने रामाराम मंदिर प्रांगण से दस किलोमीटर सुकमा जिला मुख्यालय धरना स्थल बसस्टैंड तक पैदल मार्च किया एवं जनता को केंद्र की मोदी सरकार के काले कानून के बारे में बताया। रैली के पश्चात सुकमा बसस्टैंड में विशाल आमसभा रखा गया।

कांग्रेस के वक्ताओं ने केंद्र की मोदी सरकार के तीन काले कानूनों की जानकारी दी। प्रमुख रूप से जिला पंचायत अध्यक्ष हरीश कवासी जी ने कहा मोदीजी किसानों को अपने ही खेत में गुलाम बनाना चाहते हैं। हरीश कवासी ने महंगाई के मुद्दे पर रामदेव बाबा को भी आड़े  हाथों लिया। कांग्रेस की सरकार में रामदेव बाबा 30 रु.  में पेट्रोल की बात करते थे लेकिन अब 100 रु. पेट्रोल के दाम हैं। लेकिन रामदेव आज चुप क्यों हंै। मोदी सरकार को हर क्षेत्र में विफल प्रधानमंत्री करार दिया। सभा को संबोधित करते नगरपालिका अध्यक्ष राजू साहू ने अपने चित-परिचित अंदाज में बिना साबुन के भाजपाइयों को धोते हुए महंगाई के मुद्दे पर भाजपाइयों को जो कह रहे हैं कि 100 रुपये पेट्रोल भी लेंगे। ऐसे लोगों को साहू ने जमकर निशाना साधते हुए कहा कि इतनी ही देशभक्ति का शौक है तो सभी पेट्रोल पंपों पर दो मूल्यों के पेट्रोल मिलना चाहिए। एक सस्ता आम जनता के लिए औऱ एक महंगा भाजपाई लोगों के लिए, और एलपीजी गैस की दामों पर लगातार वृद्धि से परेशान गृहणियों का बजट ही बिगड़ गया है। आने वाले समय में अपने घर के महिलाओं से बच के रहने की हिदायत दी।  वहीं पूर्व जिला कांग्रेस के अध्यक्ष करण सिंह देव ने मोदी सरकार की किसान विरोधी तीन काले कानूनों की कड़े शब्दों में निंदा की। नगर कांग्रेस अध्यक्ष शेख सजार ने कहा ये मोदी सरकार ने जब भी कोई फैसला लिया है देश की जनता का नुकसान ही हुआ है। सभा को जिला कांग्रेस के अध्यक्षा माहेश्वरी बघेल , गीता कवासी, मंगम्मा, सुधीर पांडे, सुनील यादव, कपिल सिंह ठाकुर, राजेन्द्र सिंह भदौरिया, लक्ष्मण, कोसा, ने भी सम्बोधित किया इस कार्यक्रम में सुकमा जिला से  पाचो ब्लॉक कांग्रेस के अध्यक्ष महिला कांग्रेस युवक कांग्रेस एनएसयूआई के पदाधिकारी एवं कार्यकर्ता गण उपस्थित हुए।


20-Feb-2021 6:24 PM 22

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

सुकमा, 20 फरवरी। सुकमा के ग्रामीण अब धान की फसल लेने के अलावा अन्य फसलों के माध्यम से भी आय अर्जित कर आर्थिक समृद्धि की ओर अग्रसर हैं। जिले के कृषकों को मधुमक्खी पालन के लिए प्रोत्साहित किया जा रहा है।

इसी अनुक्रम में कृषि विज्ञान केन्द्र एवं वन एवं जलवायु परिवर्तन विभाग द्वारा ग्राम पंचायत सोनाकुकानार में एक दिवीय प्रशिक्षण शिविर का आयोजन किया गया। जिसमें मधुमक्खी पालन के इच्छुक 27 किसान तथा स्व-सहायता समूह के महिलाओं ने भाग लिया। प्रशिक्षण कार्यक्रम में वरिष्ठ वैज्ञानिक एवं प्रमुख डॉ. मनीष चैरसिया, कृषि विज्ञान केन्द्र सुकमा एवं वरिष्ठ वैज्ञानिक एवं प्रमुख डॉ. नारायण साहू, दन्तेवाड़ा द्वारा उपस्थित समूह के सदस्यों और किसानों को बताया गया कि मधुमक्खी पालन व्यवसाय बहुत कम लागत में शुरू की जा सकती है। इस व्यवसाय को बहुत कम जमीन पर भी अच्छी तरह पालन कर अधिक मात्रा में शहद प्राप्त किया जा सकता हैं, जिससे अच्छी आमदनी अर्जित होगी।

 मधुमक्खी पालन हेतु फूलों की खेती आवश्यक

मधुमक्खी पालन व्यवसाय से मोम, पराग का उत्पादन कर कृषकों द्वारा अतिरिक्त आय भी अर्जित किया जा सकता है। प्रशिक्षण में मधुमक्खी पालन से होने वाले स्वास्थ्य लाभ की जानकारी विस्तृत रूप से दी गई। इस अवसर पर कृषि विज्ञान अधिकारी राजेन्द्र प्रसाद कश्यप ने किसानों को शहद के विपणन तथा पैकेजिंग के संबंध में भी विस्तृत जानकारी दी। कृषि वैज्ञानिकों ने बताया कि मधुमक्खी पालन के लिए फूलों की खेती करना आवश्यक है जिससे मधुमक्खियों को पर्याप्त मात्रा में पराग उपलब्ध हो और अधिक मात्रा में शहद का उत्पादन किया जा सके।

उल्लेखनीय है कि मधुमक्खी पालन व्यवसाय को बहुत कम लागत में शुरू किया जा सकता है। वन परिक्षेत्र होने के कारण सुकमा में वृक्षों की बहुतायत है, जो मधुमक्खी पालन के लिए उपयुक्त है। ग्रामीण बड़ी आसानी से कम जमीन पर भी मधुमक्खी पालन का व्यवसाय कर आय का स्त्रोत के रुप में अपना सकते हैं। इस व्यवसाय से कृषकों द्वारा शहद के अलावा भी अतिरिक्त आय अर्जित किया जा सकता है। शहद में खनिज और विटामिन प्रचुर मात्रा में पाया जाता है, जिससे यह दवाई के साथ-साथ पोषण का भी काम करता है। कार्यक्रम में  वन विभाग के कर्मचारी, कृषक एवं परदेशीन माता स्व-सहायता समूह की महिलाएं उपस्थित थीं।


19-Feb-2021 10:44 PM 27

3 किमी पगडंडी पर पैदल, खाट पर एंबुलेंस तक

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
कोंटा,  19 फरवरी।
सुकमा जिले के विकासखण्ड कोंटा वन ग्राम मरईगुड़ा में पदस्थ ग्रामीण चिकित्सक डॉ. रुद्रमणि वैष्णव ने प्रसव पीड़ा से तड़प रही गर्भवती की जान बचाने के लिए न सिर्फ पगडंडी रास्ते का सफर किया,  बल्कि पहाड़ की चढ़ाई भी की। उन्होंने ड्राइवर के न होने पर खुद एंबुलेंस भी चलाई।

कोंटा ब्लॉक के अतिनक्सल प्रभावित इलाका टेटेबंडा ग्राम की 36 वर्षीय वंजाम कोशी को गुरुवार रात लगभग 11 बजे प्रसव पीड़ा शुरु हुई। परिवार खाट में गर्भवती को बैठाकर स्वास्थ्य केंद्र मरईगुड़ा की तरफ पैदल ही चल पड़े, जो कि टेटेबंडा मरईगुड़ा उप स्वास्थ्य केंद्र से 7 किलोमीटर दूरी पर स्थित है। 

इसके पश्चात किसी ग्रामीण ने उप स्वास्थ्य केंद्र के डॉ. रुद्रमणि वैष्णव को दूरभाष के माध्यम से जानकारी दी। डॉक्टर ने तत्काल रात लगभग 11.30 बजे खुद गर्भवती महिला के पास एंबुलेंस में वाहन चालक नहीं होने के बावजूद खुद एंबुलेंस चलाते हुए टेटेबंडा की ओर निकल पड़े, लेकिन टेटेबंडा पहुंचना आसान नहीं था। एंबुलेंस ग्राम टेटेबंडा तक पहुंचने के लिए सडक़ नहीं होने के कारण मराईगुड़ा से मात्र 2 किलोमीटर का सफर तय की। 

डॉक्टर खुद पगडंडी रास्ते से टेटेबंडा तक जाने के लिए निकल पड़े। तीन किलोमीटर का सफर तय कर चुके थे, प्रसूता को टेटेबंडा के जंगलों में डॉक्टर ने देखा। गर्भवती की हालत बिगड़ती देख खुद डॉक्टर ने परिजनों के साथ पगडंडी रास्तों से चारपाई को ढोकर पैदल एंबुलेंस तक पहुंचाया व स्वास्थ्य केंद्र मराईगुड़ा में प्रसूता ने रात्रि 2.45 मिनट पर बच्चे को जन्म दिया। अब जच्चा और बच्चा दोनों स्वस्थ हैं। 

प्रसूता वंजाम कोशी ने बताया कि जब प्रसव का समय आया तो ग्राम में ही देशी तरीके से प्रसव करवाने का प्रयास किया गया था । लगभग एक घण्टा प्रयास करने के बाद प्रसव करवाने आयी महिला ने कहा कि यहां ग्राम में प्रसव करवाना सम्भव नहीं है, इन्हें अस्पताल ले जाएं। प्रसूता ने बताया कि उस वक्त हो रहे दर्द से जीने की पूरी उम्मीद छोड़ दी थी, ऐसी परिस्थिति में रात घोर जंगलों से पैदल पहुंचकर डॉक्टर ने प्रसव करवाया है। यह मेरे लिए पुनर्जन्म है। 

मरईगुड़ा में पदस्थ डॉक्टर रुद्रमणि वैष्णव ने बताया कि गुरुवार रात्रि करीब 11 बजे  टेटेबंडा ग्रामीण ने फोन में बताया कि महिला को प्रसव पीड़ा हुआ है व पूरी जानकारी दी। इसके पश्चात मैंने तत्काल हर हाल में प्रसूता तक पहुंचने की कोशिश की। परिजनों के साथ मिलकर उन्हें चारपाई में ढोकर एंबुलेंस तक पहुंचाया गया व वहां उपस्वास्थ्य केंद्र मरईगुड़ा पहुंचा कर प्रसव करवाया गया। जच्चा और बच्चा दोनों स्वस्थ है।

डॉ. वैष्णव के प्रयासों को सराहते हुए हरीश लखमा ने बताया कि कोरोनकाल में भी डॉक्टर वैष्णव ने अतिसंवेदनशील दर्जनों गांवों में अपनी सेवाएं दी। खुद कोरोना से पीडि़त रहे। उबरने के बाद फिर सेवा में लगे। बंडा अस्पताल के शुरू होने में भी उनका योगदान रहा। सच्चे अर्थों में वो डॉक्टर विदाउट बॉर्डर हैं।


18-Feb-2021 8:46 PM 15

अम्बिकापुर, 18 फरवरी। संयुक्त संचालक एवं मेडिकल कॉलेज के अधीक्षक ने बताया है कि कोविड अस्पताल अम्बिकापुर में 18 फरवरी की स्थिति में 6 मरीज भर्ती हैं, जिनका इलाज जारी है। इनमें सरगुजा जिले के 2, सूरजपुर जिले के 1, कोरिया जिले के 2 एवं जशुपर जिले के 1 मरीज शामिल हैं।


15-Feb-2021 7:14 PM 19

  पेदाकुर्ती राशन दुकान में मिली गड़बडिय़ां, कोरोना राहत राशन पर उठे सवाल   

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

दोरनापाल, 15 फरवरी। सुकमा जिले के कोंटा विकासखंड अंतर्गत पेदाकुर्ती जहां 437 राशनकार्ड धारी है उस राशन की दुकान में गड़बड़ी का मामला सामने आया है जहां आज भी राशन दुकान में पाषाण काल की तरह जुगाड़ से  राशन दिया जाता है।

मामले की जानकारी मिलते ही ‘छत्तीसगढ़’ की टीम राशन दुकान पहुंची जहां तराजू में तौले जा रहे राशन के मापदंड में गड़बड़ी पाया वही इस राशन दुकान में शक्कर को किलो से नहीं बल्कि लीटर के बर्तन से दिया जाता है।

सेल्समैन ने माना कि किलो बाट नहीं होने की वजह से लीटर से शक्कर देते हैं शक्कर लीटर से राशन कार्ड धारियों को दिया जाता है वहीं राशन दुकान में कोरोनाकाल के दौरान मुख्यमंत्री राहत राशन में भी  भारी अनियमितता और गड़बडिय़ां पाई।

राशन दुकान में राशन लेने पहुंचे कई राशन कार्ड धारियों के राशन कार्ड को ‘छत्तीसगढ़’  की टीम ने देखा जिसमें केवल दो-तीन माह को छोड़ दिया जाए तो पूरे कोरोनाकाल में उन्हें मुख्यमंत्री राहत राशन 5 किलो चावल की एंट्री राशनकार्ड में नही है । ग्रामीणों ने बताया कि कोरोना राहत राशन 2 से 3 महीने मिला फिर नही दिया गया वहीं कई राशन कार्ड में राशन का मापदंड हर माह अलग पाया गया।

राशन कार्ड धारियों ने बताया कि शक्कर को लीटर से तौलने का काम कोई नया नहीं है। इससे पहले जो सेल्समैन था वह भी इसी तरह चलता था हालांकि राशन कार्ड धारियों को भी अब तक नहीं पता था कि 1 किलो और 1 लीटर में क्या फर्क होता है। इस पूरे मामले पर विभागीय जांच पर मामले में दोषी पाए जाने पर कार्यवाही की बात कह रहे हैं ।

 गौरतलब है कि इलाके के रहवासी ज्यादातर अशिक्षित हैं और वनोपज पर आश्रित है और रोजगार के भी अवसर सीमित रहते हैं ऐसे में 90 फीसदी लोग शासन द्वारा आबंटित राशन पर निर्भर होते हैं और राशन लेने कई किलोमीटर नंगे पांव भी राशन दुकान राशन लेने पहुंचते हैं ।

आज भी पाषाण काल में चल रही राशन दुकान

गौरतलब है कि जहां आज दुनिया चांद पर पहुंच गई है हर क्षेत्र में इलेक्ट्रॉनिक सिस्टम दौडऩे लगे हैं ऐसे दौर में सुकमा जैसे जिले में आधुनिक दौर के बावजूद राशन दुकान पाषाण काल में चल रहे हैं। यही वजह है कि ग्रामीणों को 1 किलो की जगह  700-800 ग्राम शक्कर ही मिल पाता है ।

राशन कार्ड धारी ने बताया कि उक्त राशन दुकान से वह भी राशन लेते हैं और  जब शक्कर तौला जाता है तब 1 लीटर के बर्तन का उपयोग किया जाता है और कार्ड के आधार पर 1 किलो शक्कर को 1 लीटर के बर्तन से केवल एक बार निकाला जाता है। राशन कार्ड धारियों ने बताया कि लीटर से शक्कर देने का काम आज का कोई नया नहीं है शक्कर तोडऩे के लिए पत्थर ना होने का हवाला देकर हमेशा ही लीटर में तौलकर शक्कर दिया जाता रहा है और हमें यही बताया जाता है कि 1 किलो हो या 1 लीटर वजन बराबर ही है।

इधर प्रबंधक प्रसाद का कहना है कि मेरे द्वारा निरीक्षण के दौरान वहां किलो बाट पत्थर पाए जाते हैं वही सेल्समैन ने ‘छत्तीसगढ़’ टीम को बताया कि राशन दुकान में पत्थर ना होने की वजह से लीटर से शक्कर तौला जाता है और यह आज का नहीं है इससे पहले जो सेल्समैन था तब भी ऐसे ही शक्कर दिया जाता था । 

राशन दुकान में गड़बड़ी की शिकायत मीडिया के माध्यम से मिल रही है शक्कर को मापदंड से अलग लीटर से देना गम्भीर मामला है मैं टीम गठित कर पैदाकुर्ती के साथ साथ कोंटा विकासखंड के अन्य दुकानों की भी जांच करवाता हूँ यदि ये शिकायत सही पाई जाती है तो खाद्य सुरक्षा अधिनियम के तहत दोषियों के खिलाफ एफआईआर करवाई जाएगी ।

के आर पिस्दा,जिला खाद्य अधिकारी, सुकमा


13-Feb-2021 8:52 PM 36

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

सुकमा, 13 फरवरी। हर वर्ष की भांति इस वर्ष भी बंजारा समाज के धर्म गुरु संत सेवालाल महाराज की जयंती धूमधाम एवं हर्षोल्लास के साथ मनाया जाएगा। अखिल भारतीय बंजारा सेवा संघ जिला सुकमा के निर्णयानुसार इस बार 282वीं सेवालाल जयंती का जिला स्तरीय कार्यक्रम दोरनापाल नगर में आयोजित है।

कार्यक्रम के मुख्य अतिथि हरीश कवासी, अध्यक्ष, जिला पंचायत सुकमा और समाज के पदाधिकारीगण होंगे। सोमवार 15 फरवरी को 11.30 बजे सेवालाल माहराज का भोग लगेगा, 12 बजे से नगर में शोभायात्रा निकाली जाएगी, 2 बजे सभा का आयोजन होगा। इस प्रकार के भव्य आयोजन से बंजारा समाज के सभी वर्गों में उत्साह का माहौल है।

बंजारा समाज युवा प्रकोष्ठ के जिला अध्यक्ष गोपाल सिंह अजमेरा ने बताया कि आयोजन की पूरी तैयारी अंतिम चरण में है, और आयोजन को लेकर सभी वर्गों में विशेष रूप से युवाओं में भारी उत्साह का माहौल है। 15 फरवरी को पूरे जिले के बंजारा समाज के लोग दोरनापाल में एकत्र होंगे, जिसमें 5000 से अधिक लोगों के जमा होने की उम्मीद है। विदित हो कि बंजारा समाज के धर्म गुरु व समाज सुधारक श्री सेवालाल महाराज के जयंती को प्रदेश सहित पूरे देश में धूमधाम से मनाया जाता है एवं अन्य राज्यों में 15 फरवरी को शासकीय अवकाश घोषित किया गया है।


13-Feb-2021 8:50 PM 17

सुकमा , 13 फरवरी। जिला कार्यालय परिसर में स्थित जिला रोजगार कार्यालय में तिरूपति इन्सोरेन्स सर्विस (भारतीय जीवन बीमा नगम) के लिए यूनिट सुपरवाईजर के 5 पदों एवं इन्सोरेन्स एडवाइजर के 100 पदों पर भर्ती 17 फरवरी को प्रात: 11 बजे से दोपहर 3 बजे तक प्लेसमेन्ट कैम्प के माध्यम किया जाएगा। जिसमें यूनिट सुपरवाईजर के लिए शैक्षणिक योग्यता स्नातक उत्तीर्ण और इन्सोरेन्स एडवाईजर के लिए शैक्षणिक योग्यता 10वीं एवं 12वीं उत्तीर्ण रखी गई है।

 नीजि क्षेत्र में रोजगार प्राप्त करने के इच्छुक पात्र आवेदक समस्त शैक्षणिक योग्यताओं एवं अन्य दस्तावेजों के मूल प्रमाण पत्र एवं छायाप्रति सहित पासपोर्ट साईज फोटो के साथ प्लेसमेन्ट कैम्प में उपस्थित होकर रोजगार के अवसर प्राप्त कर सकते हैं। भारतीय जीवन बीमा निगम में भर्ती के लिए उम्मीदवार के पास स्वयं का दो पहिया वाहन, बैंक खाता एवं पैन कार्ड का होना अनिवार्य है। अधिक जानकारी के लिए कार्यालय जिला रोजगार एवं स्वरोजगार मार्गदर्शन केन्द्र सुकमा में संपर्क किया जा सकता है।


12-Feb-2021 9:16 PM 25

तोंगपाल, 12 फरवरी। तोंगपाल में कांग्रेस कार्यकर्ताओं द्वारा दिल्ली में आंदोलन के दौरान मृत अन्नदाताओं को श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए किसानों के समर्थन में एक दिवसीय सम्मेलन एवं पत्रकार वार्ता का आयोजन किया। जिसमें ब्लॉक कांग्रेस अध्यक्ष लक्ष्मण कश्यप के नेतृत्व में पत्रकार वार्ता एवं सभा को संबोधित करते हुए ब्लॉक अध्यक्ष लक्ष्मण कश्यप ने केंद्र सरकार द्वारा लागू कृषि कानून को काला कानून कहते हुए केंद्र सरकार से इसे वापस लेने किसानों का समर्थन किया। यह एक दिवसीय सभा मुख्य प्रभारी कपिल सिंह ठाकुर के मार्गदर्शन में संपन्न हुई।

 इस कार्यक्रम में जिला पंचायत सदस्य शशि ठाकुर, जनपद सदस्य मानक देवी, नेशनल कांग्रेस कमेटी के जिला अध्यक्ष उपेंद्र कुमार, समारू मंडावी, जयदीप सिंह भदोरिया, उपेंद्र कुमार, परेश पोटला, समर बहादुर सिंह, कमलेश, विजय सिंह, हिरमा  कवासी, नकुल बघेल, समारो मंडावी, हरि कवासी एवं कांग्रेस के सदस्य उपस्थित थे।


11-Feb-2021 9:54 PM 26

सुकमा, 11 फरवरी। कार्यालय आदिवासी विकास विभाग से प्राप्त जानकारी अनुसार आदिम जाति तथा अनुसूचित जाति विद्यार्थी उत्कर्ष योजना अन्तर्गत सत्र 2021-21 में अनुसूचित जनजाति, अनुसूचित जाति वर्ग के विद्यार्थियों के लिए कक्षा छटवीं में प्रवेश के लिए चयन परीक्षा 7 मार्च 2021 को दोपहर 12 बजे से शासकीय बालक उच्चतर माध्यमिक विद्यालय कुम्हाररास सुकमा में आयोजित होगी। 

जिलेवार निर्धारित सीट अनुसार ही मेरिट सूची के आधार पर चयनित विद्यार्थियों को छत्तीसगढ़ राज्य के अन्तर्गत चयनित उत्कृष्ट प्राईवेट स्कूलों के कक्षा छठवीं में प्रवेश कराया जाएगा। योजनान्तर्गत शाला का सम्पूर्ण शुल्क विभाग द्वारा वहन किया जाएगा। चयन परीक्षा के लिए 19 फरवरी तक विद्यार्थियों से अध्ययनरत शालाओं में आवेदन मंगाए गए हैं। आवेदन के लिए निम्न आर्हताएं रखी गई है जिसमें विद्यार्थी को छत्तीसगढ़ का मूल निवासी और सक्षम अधिकारी द्वारा जारी अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति वर्ग का स्थायी जाति प्रमाण पत्र होना अनिवार्य है। इसके साथ ही पालक की आय 250000 रुपए से अधिक नहीं होनी चाहिए।
 


09-Feb-2021 4:24 PM 49

क्रेडा ने नक्सल प्रभावित गांवों में पहुंचाया सौभाग्य का उजाला

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

सुकमा, 9 फरवरी। घने वन और दुर्गम रास्तों के चलते पिछले कई वर्षों से सुकमा जिले के दूर दराज पहुंचविहीन क्षेत्रों में रोशनी का इंतजार कर रहे ग्रामीणों की इच्छा क्रेडा विभाग के प्रयासों से पूर्ण हो रही है।

घने जंगलों और पहाड़ों के कारण जिन गांवों में परम्परागत बिजली पहुंचाने में बहुत अधिक कठिनाई आ रही है, वहां क्रेडा द्वारा घरों को रोशन करने का कार्य किया जा रहा है। दीनदयाल ग्राम ज्योति योजना एवं सौभाग्य योजना से जिले में ग्रामीण विद्युतीकरण को गति मिली है।

जिले के कुल 200 ग्रामों/मजराटोला में लगभग 21 हजार परिवारों को सोलर होमलाईट क्षमता 150 वाट तथा 200 वाट के संयंत्र सह 05 नग एलईडी लाईट 01 नग डीसी पंखा तथा यीएसबी केबल प्रदाय किया गया है जिससे ग्रामीणों की दिनचर्या एवं रात्रिकालीन प्रकाश व्यवस्था में सहयोग हो रहा है। जिन क्षेत्रों में ग्रामीण बच्चे अंधेरे में पढ़ाई करने के लिए मजबूर थे अब सोलर होमलाईट की स्थापना से रात्रि में पढाई करने में मदद मिल रही है।

सुकमा जिले के अतिसंवेदनशील विकासखंड कोन्टा के लगभग सभी अविद्युतीकृत ग्रामों में सोलर होमलाईट स्थापना कार्य पूर्ण किया गया है जिसमें पामलूर, गोरगुन्डा, सुरपनगुड़ा, इतमपाड, भीमापुरम, गच्चनपल्ली, मैलासुर, दंतेषपुरम, बुर्कलंका, पेन्टापाड, पालाचलमा, निमलगुड़ा, पोटकपल्ली, कोसमपाड, पुवर्ती, तोलेवर्ती, मिसीगुड़ा, कोन्डासावली, कमरगुड़ा, पैसलपाड, कंगालतोंग, बेदरे, सिलगेर, दुरनदरभा, बडेकेडवाड ,छोटेकेडवाड जैसे ग्राम सम्मिलित हंै। कोरोनाकाल में भी विभाग के कर्मचारियों के द्वारा दुर्गम एवं पहाड़ी रास्तों तथा अन्य विषम परिस्थितियों में युद्व स्तर पर विद्युतीकरण कार्य किया गया जिसके फलस्वरुप आज ग्रामीणों की जीवन में खुशहाली आई है।

सोलर स्ट्रीट लाईट से सडक़ें भी हुई रोशन

क्रेडा विभाग द्वारा स्थापित सोलर स्ट्रीट लाईट से अब जिलेवासियों को रात्रि में भी सडक़ो पर आवागमन में सुविधा हुई है। जिला मुख्यालय के  मुख्य मार्गो में एवं ग्राम छिन्दगढ़ मुरतोन्डा, कोर्रा, पाकेला कुकानार, तोंगपाल, केरलापाल, झापरा, भेज्जी, कांकेरलंका, मरईगुड़ा में सौर संयंत्र सह स्ट्रीट लाईट स्थापित किये गये हैं। जिससे रात में मुख्य मार्गो में रोशनी से साइकल चालकों, वाहन चालकों के साथ ही राहगीरों को भी मदद मिल रही है।


08-Feb-2021 9:13 PM 25

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

सुकमा, 8 फरवरी। रविवार को सिटी कोतवाली सुकमा में मंदिर बनाकर शिव-पार्वती की पूजा-अर्चना के साथ प्रतिमा की स्थापना की गई।

जिला मुख्यालय के  सिटी कोतवाली में जन सहयोग से कोतवाली प्रभारी एकेश्वर नाग ने चंद माह में भोलेनाथ का मंदिर निर्माण कर भगवान शिव-मां पार्वती, नंदी, शिवलिंग के साथ स्थापना की गई। इस मौके पर सुकमा के प्रतिष्ठित जनों के समक्ष विधि-विधान के साथ हवन, पूजा-अर्चना कर मंदिर में भगवान की स्थापना की गई। पुलिस विभाग के आला अधिकारी, जनप्रतिनिधि कपिल सिंह ठाकुर, राजेश नारा, विनोद राठौर, अशोक त्रिपाठी, समाज सेवक फारूक उपस्थित रहे।


08-Feb-2021 9:12 PM 21

सुकमा, 8 फरवरी। अनुविभागीय अधिकारी (रा.) कोण्टा द्वारा ग्राम एर्राबोर के मुख्य सडक़ पर वाहन पिकअप की ठोकर से मृत सोयम वेंकटेश के संबंधित परिवारजनों को आर्थिक सहायता राशि स्वीकृत की गई है। मृतक की माता सोयम सुब्बी ग्राम एर्राबोर को 25 हजार की आर्थिक सहायता राशि जारी की गई है।


07-Feb-2021 6:05 PM 24

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
सुकमा, 7 फरवरी ।
शनिवार पुलिस अधीक्षक के नेतृत्व में यातायात पुलिस सुकमा द्वारा चलाये जा रहे राष्ट्रीय सडक़ सुरक्षा माह 2021 के तहत् यातायात पुलिस/जिला पुलिस सुकमा द्वारा सुकमा के प्रमुख चौक-चौराहा क्रमश: बस स्टैंड चौक, मलकानगिरी चौक में यातायात जागरूकता का आयोजन कर आने जाने वाले वाहन चालकों को यातायात जागरूकता पाम्प्लेट वितरण कर यातायात के नियमों का पालन करने समझाईश दी गई, यातायात जागरूकता रथ के माध्यम से नगर में वाहन चालकों को लाउड स्पीकर के माध्यम से यातायात के नियमों की जानकारी दी गई, तथा आम नागरिकों एवं वाहन चालकों को दोपहिया वाहन चालकों को हेलमेट लगाकर वाहन चलाने एवं चारपहिया वाहन चालकों को सीट बेल्ट धारण कर वाहन चलाने, वाहनों में ओव्हर लोडिंग नही करने, तेजगति वाहन नही चलाने, नशे की हालत में वाहन नही चलाने आदि यातायात नियमों का पालन करने संबंधी जानकारी दी जाकर समझाईश दी गई एवं यातायात जागरूकता पाम्प्लेट्स वितरण किया गया। तथा स्थानीय बस स्टेण्ड परिसर सुकमा में प्रोजेक्टर के माध्यम से यातायात जागरूकता विडियो दिखाकर जागरूक किया गया।


05-Feb-2021 9:01 PM 19

तोंगपाल, 5 फरवरी। सुकमा जिले के भारतीय जनता पार्टी के जिले के प्रभारी जगदीश रामू रोहरा जिले के तोंगपाल मण्डल में कार्यकताओं के बीच जोश भरने प्रवास पर पहुंचे।

रात 8 बजे कार्यकर्ताओं के बीच पहुंचे रामू रोहरा को अपने बीच पाकर कार्यकर्ताओं में भरपूर जोश भर दिया। कार्यकर्ताओं ने अपने पार्टी के नेताओं के जमकर नारे लगाए, वहीं रामू रोहरा ने भी भाजपा के कार्यकर्ताओं पर आधारित पार्टी कहते हुए कहा कि आज भारत वर्ष में जितने भी राज्यों में भाजपा की सरकार है, वह आप जैसे ही कार्यकर्ताओं के कारण है आगामी दिनों में छत्तीसगढ़ में पुन: भाजपा की सरकार आप जैसे कार्यकर्ताओं के कारण ही आएगी।

कार्यक्रम में जिला अध्यक्ष हूँगाराम, जिला उपाध्यक्ष व तोंगपाल मण्डल प्रभारी विश्वराज चौहान, पूर्व जिला अध्यक्ष अरुण सिंह भदौरिया, महामंत्री महेंद्र भदौरिया भाजपा के वरिष्ठ कार्यकर्ता संजय भदौरिया के साथ अन्य भाजपा के कार्यकर्ता उपस्थित थे।


05-Feb-2021 8:53 PM 31

सुकमा, 5 फरवरी। ऑरोबिंदो सोसाइटी द्वारा आयोजित इनोवेटिव पाठशाला / अल्टरनेटिव एकेडेमिक कैलेंडर पर गत दिनों स्वामी विवेकानंद सभागार सुकमा में शिक्षक सम्मान समारोह एवं इन्नोवेटिव पाठशाला कार्यक्रम प्रशिक्षण का आयोजन किया गया। जिसमें जिला सुकमा के 25 उत्कृष्ट शिक्षक सम्मानित किए गए।जिला शिक्षा अधिकारी जे के प्रसाद की अध्यक्षता में इनोवेटिव पाठशाला कार्यक्रम का शुभारंभ माँ सरस्वती की पूजा-अर्चना के साथ की गई। प्रशिक्षण की शुरुआत ऑरोबिंदो सोसाइटी के प्रशिक्षक राजेश साहू के द्वारा किया गया।

 श्री ऑरोबिंदो सोसाइटी के छात्रवृत्ति कार्यक्रम के बारे में जानकारी दी गई। जिसमें कक्षा 1 से कक्षा बारहवीं तक के विद्यार्थी क्विज के द्वारा प्रतिमाह 1000 रुपये तक प्राप्त किया जा सकता है तथा शिक्षक बच्चों के अधिगम स्तर को भी देख सकते है। साथ ही छात्रवृत्ति प्राप्त करने वाले बच्चों को प्रमाण पत्र भी प्रदान किया जाता है।

इस अवसर पर जिला मिशन समन्वयक  श्याम सुंदर चौहान,एपीसी  सीताराम राणा ,बीईओ छिंदगढ़  के.के.श्रीवास्तव, बीआरसी  वसीम खान, एबीईओ  चन्द्रशेखर सोरी भी उपस्थित रहे।

कार्यक्रम में अरविन्दो सोसाइटी के प्रतिनिधि ने जिला शिक्षा अधिकारी  जे के प्रसाद को सर्टिफिकेट आफ हॉनर से सम्मानित किया। जिला शिक्षा अधिकारी ने शिक्षकों द्वारा किये गए नवाचारों की सराहना किये और साथ ही अपने विद्यालय को रोल मॉडल बनाने के लिए प्रेरित भी किये।

इस अवसर पर श्री ऑरोबिंदो सोसाइटी के कार्यक्रम में सुकमा जिले के जो शिक्षक प्रशिक्षण ले रहे है। उनमे से छिंदगढ़ ब्लॉक के उत्कृष्ट कार्य करने वाले 25 शिक्षकों को प्रशस्ति पत्र से सम्मानित किए। सम्मानित हुए शिक्षकों में चूमेश्वर काशी, तोषिका कुमेटी, डोमन लाल साहू, गौतम साहू,नसरीन सिद्दीकी , परमानंद नेताम, ताराचंद ठाकुर, जयंती उसेंडी, हेमशंकर नेताम, धीनेन्द्र कुमार, सुनीता पवार,उमेश नेताम ,भारती नागवंशी, लोमन टेकाम,चंद्रिका कोठारी, रेखा साहू,, निर्मल कोडोपी, रमेश नाग,त्रिलोक ठाकुर, डिलेश्वरी कंवर, थामेश्वरी चौहान, लक्ष्मी नाग, लोकेश कुमार यादव ,रेशमी बाला विश्वकर्मा, आदि सभी शिक्षक सम्मानित हुए।

इस आयोजन के लिए  ऑरोबिंदो सोसाइटी के मास्टर ट्रेनर  राजेश साहू एवं संस्था को सधन्यवाद ज्ञापित किये। अंत मे जिला मिशन समन्वयक  श्याम सुंदर चौहान ने  ऑरोबिंदो सोसाइटी द्वारा चलाये जा रहे इनोवेटिव पाठशाला कार्यक्रम को पूरे जिले में लागू करने के लिए जोर दी गई। साथ ही इस कार्यक्रम के माध्यम से कार्य कर रहे सभी शिक्षकों को बीआरसी  वसीम खान द्वारा बधाई एवं शुभकामनाएं देते हुए भविष्य में भी शिक्षा में नवाचार जारी रखते हुए उत्कृष्ट कार्य करने की बात कही तथा  ऑरोबिंदो सोसाइटी का आभार व्यक्त किया गया।


03-Feb-2021 8:58 PM 31

सुकमा, 3 फरवरी। सड़क़ सुरक्षा यातायात जागरूकता कार्यक्रम में कल बस स्टैंड परिसर सुकमा में ड्रायविंग लायसेंस शिविर का आयोजन किया गया। जिसमें काफी संख्या में लोगों ने ड्रायविंग लायसेंस शिविर में आवेदन दिया। 32वां सडक़ सुरक्षा माह के तहत लोगों को सडक सुरक्षा नियमों का पालन करना जैसे दोपहिया वाहन चलाते समय हेलमेट पहनने, सडक़ पर वाहन चलाते समय शराब पीकर वाहन को न चलायें, सडक़ क्रासिंग करते वक्त वाहन का इंडीग्रेटर का प्रोयोग जरूर करें एवं ड्रायविंग लायसेंस अन्य यातायात नियमों की जरूरी कागजात को रखने की सलाह दी गई।  पुलिस द्वारा लगातार वाहन में लोगों को यातायात नियमों की जरूरी जानकारी दी जा रही है।


Previous123456Next