कारोबार

Previous12Next
Date : 21-Sep-2019

एमजंक्शन अवार्ड्स में अदाणी ग्रुप को सर्वश्रेष्ठ कोयला सर्विस प्रोवाइडर का पुरस्कार मिला

छत्तीसगढ़ संवाददाता
रायपुर, 20 सितंबर।
एमजंक्शन द्वारा आयोजित, 13वें भारतीय कोल मार्किट कॉन्फे्रंस एंड एवार्ड्स 2019 में अदाणी ग्रुप को सर्वश्रेष्ठ एवं प्रतिष्ठित पुरस्कार से सम्मानित किया गया। यह पुरस्कार, 17 सितंबर को कोलकाता में आयोजित कॉन्फे्रंस में दिया गया था। 

इस कॉन्फे्रंस में विभिन्न सर्विस प्रोवाइडर कोयला आयात, देशी कोयला व्यापार, कोयला परिवहन, कोयला बन्दरगाह, निरीक्षण और कोयला खदान कोंट्रेक्टर आदि केटेगरी में किए गए उल्लेखनीय कार्यों के आधार पर सम्मानित किए गए थे। 

इस समारोह में अदाणी ग्रुप ने स्थापित व प्रतिष्ठित खिलाडिय़ों को पीछे छोड़ते हुए निम्न 4 वर्गों में पुरस्कार प्राप्त किए हैं-वर्ष के सर्वश्रेष्ठ कोल प्रोवाइडर, वर्ष के सर्वश्रेष्ठ कोल ट्रांसपोर्टर, वर्ष के सर्वश्रेष्ठ कोल पोर्ट परफोर्मर, वर्ष के सर्वश्रेष्ठ कोंट्रेक्टर। इन पुरस्कारों को जीतने के लिए कड़ी वोटिंग की गई थी जिसके परिणामस्वरूप कंपनी ने एक विशिष्ट वर्ग में अधिकतम पुरस्कार प्राप्त किया हैं। इन सबसे अदाणी ग्रुप बिजली के उत्पादन के लिए विश्वसनीय व किफायती ईंधन आपूर्ति करते हुए देश की ऊर्जा सुरक्षा के प्रति पूर्ण प्रतिबद्धता का भाव दिखाई देता है।

सेल और टाटा द्वारा आधे-आधे अनुपात के आधार पर विकसित किए गएउपक्रम, एमजंक्शन द्वारा कोयला क्षेत्र से संबन्धित विषयों पर आधारित होने के साथ सम्पूर्ण अर्थव्यवस्था के विकास पर केन्द्रित इस कॉन्फे्रंस का आयोजन किया जाता रहा है। इस समारोह में भारतीय नीति निर्माताओं, कोयला उत्पादकों और अन्य संबंधित विशिष्टगणों के साथ अदाणी ग्रुप ने अपने पांच मुख्य सदस्यों के साथ हिस्सा लिया था।

अदाणी ग्रुप के कोयला और खदान विभाग की स्थापना प्रगतिशील एमडीओ (माइन डेवेलपर एंड ओपेरेटर) अर्थात खनिज निर्माता एवम ऑपरेटर मॉडल के माध्यम से ऊर्जा को सुरक्षित करने के उद्देशय से की गई थी। इसके छत्तीसगढ़ में कोयला खदानों के मालिक होने के साथ ही उड़ीसा, मध्यप्रदेश, विश्व-स्तरीय इंटीग्रेटिड मैन्युफ्रेक्चरिंग यूनिट के खनिज विभाग होने के साथ ही अदाणी ग्रुप कच्चे लोहे के खनन में विविधता लाने और अन्य विभिन्न प्राकृतिक क्षेत्रों में भी अपनी उपस्थिति दर्ज कर रहा है।

अदाणी ग्रुप के खनिज क्षेत्र में किए गए प्रयासों के कारण तेजी से बढ़ते हुए बाज़ार की ऊर्जा मांग को किफायती दर पर उपलब्ध करवाने में बहुत मदद मिली है। एक जिम्मेदार खनिक के रूप में अदाणी ग्रुप के कोयला एवं खनिज विभाग पर्यावरण के प्रभाव को कम करने के लिए आधुनिकतम तकनीक का प्रयोग करते हुए समाज की हर प्रकार से सुरक्षा के लिए कटिबद्ध भी है ।

अदाणी ग्रुप के ‘अच्छाई के साथ विकास’ वाले नारे के साथ ही इनके कोयले एवं खनिज विभाग सामुदायिक पारस्परिकता और बुनियादी विकास के साथ ही सतत विकास के लिए भी कटिबद्ध है। यह सब शिक्षा के लिए अनुकूल वातावरण का निर्माण, व्यावसायिक प्रशिक्षण, रोजगार के अवसर और स्वास्थ्य सेवाओं में सुधार के माध्यम से प्राप्त किया है जिसके कारण स्थानीय निवासियों के जीवनस्तर में काफी सुधार दिखाई देता है।


Date : 21-Sep-2019

अविनाश एलाईट होम्स में प्री लान्च बुकिंग

रायपुर, 21 सितंबर। छत्तीसगढ की विश्वसनीय रियल स्टेट कम्पनी अविनाश ग्रुप की बहुचर्चित प्रोजेक्ट अविनाश एलाईट होम्स में रेसिडेंसियल प्लॉट्स, सिंग्लेक्स और डुपलेक्स का शानदार विकल्प। अविनाश एलीट होम्स  लगभग 5 एकड़ पर फैली है, जिसमें 37 2बीएचके सिंग्लेक्स, 45 3बीएचके डुपलेक्स, व 33 रेसिडेसियल प्लॉट है। यह प्रोजेक्ट बजट होम्स में क्वालिटी ऐमेनिटीज एवं फैस्लिटी का बेजोड उदाहरण है। 

अविनाश गु्रप के प्रबंध संचालक आनंद सिंघानिया ने बताया कि अविनाश एलीट होम्स प्रोजेक्ट अफोर्डेबल बजट में उत्कृष्ठ क्वालिटी के साथ बेहतर जीवन शैली है। प्रोजेक्ट को ग्राहकों के द्वारा लॉंचिंग के पूर्व से ही अच्छा रिस्पान्स मिल रहा है और प्री लान्च में अच्छी बुकिंग हुई। अविनाश एलीट होम्स रायपुर की प्राईम लोकेशन विधानसभा रोड, महालेखाकर भवन के पीछे सकरी में स्थित है।

श्री सिघांनिया ने बताया कि यह प्रोजेक्ट शानदार प्लानिंग के साथ उत्तम क्वालिटी के मटेरियल जैसे कि वैटीफाईट टाईल्स की फ्लोरिंग, जैकवॉर के सेनेटरी फिटिंग व आधुनिक सुविधाओं से लैस है, जिसमें प्रवेश द्वार सिक्युरिटी केबीन के साथ, बैडमिंटन कोर्ट, किड्स प्ले एरिया, गार्डन, जॉगिंग टेंक, ओपन जिम, 24 घंटे सिक्युरिटी, बाउंडंी वॉल से घिरा कैम्पस, रेनवाटर हार्वेस्टिंग, सिवेज टंीटमेन्ट प्लान्ट एवं सोलर स्टंीट लाईट की सुविधा रहेगी।

 


Date : 21-Sep-2019

विख्यात रंगकर्मी उषा गांगुली की अंतर्यात्रा, एकल अभिनय से मुग्ध हुए दर्शक

नगर विधायक शैलेश और मस्तूरी विधायक डॉ. बांधी ने की शिरकत

छत्तीसगढ़ संवाददाता
बिलासपुर, 21 सितंबर।
विश्व रंग कार्यक्रम के तहत डॉ. सी वी रामन विश्वविद्यालय के तीन दिवसीय युवा महोत्सव के पहले दिन विख्यात रंगकर्मी और अभिनेत्री उषा गांगुली ने अंतर्यात्रा नाटक का मंचन किया। नारी चेतना को मुखरित करने और मानवीय संवेदनाओं को कुरेदने वाले नाटक को सभी ने सराहा। उषा गांगुली के सोलो अभिनय ने लोगों को मुग्ध कर दिया। 

बिलासपुर शहर में तीन दिवसीय युवा महोत्सव का आगाज हो गया है। इसके पहले दिन आज  कोलकाता की विख्यात रंगकर्मी, लेखिका और अभिनेत्री  उषा गांगुली ने अपने प्रसिद्ध नाटक अंतर्यात्रा की प्रस्तुति लखीराम ऑडिटोरियम में दी । सोलो एकल के अभिनय से अंतरयात्रा नाटक के माध्यम से विख्यात रंगकर्म उषा गांगुली ने नारी की व्यथा को सबके सामने रखा। उषा गांगुली ने बताया कि यह नाटक वास्तव में नारी को शक्ति देने वाला नाटक है जिसे दुनिया भर के देशों में पसंद किया गया। पिछले 15 साल से या नाटक दुनिया के कई देशों में मंचन किया जा चुका है। इस अवसर पर बड़ी संख्या में कला प्रेमी साहित्यकार रंगमंच से  जुड़े लोग, शहर के गणमान्य व्यक्ति उपस्थित थे। 

सामाजिक सरोकार से जुड़ा कदम- प्रो. दुबे 
इस अवसर पर उपस्थित डॉक्टर सीवी रामन विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. रवि प्रकाश दुबे ने कहा कि जो किस्मत सामाजिक सरोकार के क्षेत्र में विश्वविद्यालय को कार्य करना चाहिए ताकि आयोजन सामाजिक सरोकार के क्रम में ही एक कदम है। 

संस्कृति, कला का संरक्षण हमारी जिम्मेदारी- शुक्ला
कुलसचिव गौरव शुक्ला ने कहा कि पुस्तक यात्रा के समापन के बाद तीन दिवसीय युवा महोत्सव की शुरुआत की गई है। सही मायने में शिक्षण संस्थानों की यह जिम्मेदारी है कि शिक्षा देने के साथ वे संस्कृति, कला साहित्य को भी संरक्षित और संवर्धित करें। इसकी शुरुआत विश्वविद्यालय ने लोक कला महोत्सव से की है । बीते साल विश्वविद्यालय में तीन दिवसीय लोक कला महोत्सव का आयोजन किया गया था, जिसमें प्रदेश ही नहीं देश के ख्याति प्राप्त कलाकारों ने अपनी प्रस्तुति डॉ सी वी रमन विश्वविद्यालय में दी थी। यह कार्यक्रम अब विश्व रंग के रूप में आप सबके सामने हैं। 

युवाओं के लिए यह आयोजन महत्वपूर्ण- शैलेष 
विशिष्ट अतिथि विधायक शैलेश पांडे ने कहा कि सीवी रमन विवि ने बिलासपुर का गौरव बढ़ाने का कार्य किया है । ऐसे आयोजनों से कला, संस्कृति, साहित्य को बढ़ावा मिलता है। आज के युवा तकनीकी युग में जी रहे हैं और उन्हें कला, साहित्य, संस्कृति के बारे में बिल्कुल भी जानकारी नहीं होती। ऐसे आयोजनों से युवाओं को  साहित्य कला  के क्षेत्र में  जानकारी मिलेगी और वे परिपक्व समाज की स्थापना कर सकेंगे । 

सीवीआरयू का अनूठा आयोजन- डॉ. बांधी 
मुख्य अतिथि विधायक डॉ. कृष्ण मूर्ति बांधी ने कहा कि डॉ. सीवी रमन यूनिवर्सिटी प्रदेश ही नहीं देश भर में उच्च शिक्षा के लिए विख्यात है। ऐसे सांस्कृतिक और साहित्यिक कार्यक्रमों से वे देशभर में अनूठा आयोजन कर रहे हैं निश्चित ही युवाओं को इसका लाभ मिलेगा।

ऑडिटोरियम में लगाई गई पुस्तक प्रदर्शनी
इस अवसर पर लखीराम सभागृह में पुस्तक प्रदर्शनी और पोस्टर प्रदर्शनी भी लगाई गई। पुस्तक प्रदर्शनी में विभिन्न साहित्यकारों और देश के वैज्ञानिकों सहित अनेक लोगों की पुस्तकें रखी गई । इसी तरह देश दुनिया के बड़े वैज्ञानिकों के पोस्टर भी लगाए गए, जिससे मौके पर लोगों को उनके बारे में जानकारी प्रदान की गई।

 


Date : 20-Sep-2019

नई दिल्ली, 20 सितंबर । दिवाली से पहले ही शेयर मार्केट गुलजार हो गया है। शेयर बाजार में 1900 से ज्यादा अंकों की तेजी देखी गई जिसमें कुछ गिरावट के बाद अभी भी तेजी बरकरार है। यह सब उस प्रेस कांफ्रेंस के बाद हुआ जिसमें वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कॉरपोरेट टैक्स में कटौती की घोषणा की। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने एक अध्यादेश लाकर घरेलू कंपनियों, नई स्थानीय विनिर्माण कंपनियों के लिये कॉरपोरेट टैक्स कम करने का प्रस्ताव दिया है। वित्त मंत्री के इस ऐलान के साथ ही बाजार में रौनक लौट आई और सेसेंक्स में 1900 से ज्यादा तक का उछाल देखा गया। अर्थव्यवस्था में तेजी लाने के लिए वित्त मंत्री ने एक साथ कई ऐलान किए हैं। उन्होंने कहा कि यदि कोई घरेलू कंपनी किसी प्रोत्साहन का लाभ नहीं ले तो उसके पास 22 प्रतिशत की दर से आयकर भुगतान करने का विकल्प है। जो कंपनियां 22 प्रतिशत की दर से आयकर भुगतान करने का विकल्प चुन रही हैं, उन्हें न्यूनतम वैकल्पिक कर का भुगतान करने की जरूरत नहीं होगी।
इससे पहले शुक्रवार को जब शेयर मार्केट में घरेलू शेयर बाजारों की तेजी से निवेशकों में उत्साह रहा जिसके कारण अंतरबैंकिंग मुद्रा बाजार में शुरुआती कारोबार में रुपया 27 पैसे मजबूत होकर 71.07 रुपये प्रति डॉलर पर रहा। बृहस्पतिवार को भारतीय मुद्रा 71.34 रुपये प्रति डॉलर पर बंद हुई थी। कारोबारियों ने कहा कि विदेशी बाजारों में अन्य प्रमुख मुद्राओं की तुलना में डॉलर के नरम होने तथा घरेलू शेयर बाजारों में तेजी के तेजी में खुलने से रुपये को समर्थन मिला। शुक्रवार को शुरुआती कारोबार में सेंसेक्स 78.80 अंक और निफ्टी 13 अंक की तेजी में चल रहा था। लेकिन जैसे ही  वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण ने जीएसटी काउंसिल की बैठक से पहले कार्पोरेट टैक्स में कटौती की घोषणा की इसका सीधा असर शेयर बाजार पर देखने को मिला। शेयर बाजर में 1900 से ज्यादा अंकों तक की तेजी देखी गई।
वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा कि सिक्योरिटी सहित किसी भी डेरीवेटिव को एफपीआई के हाथों बेचने पर कैपिटल गेन पर कोई सरचार्ज नहीं लिया जाएगा। इस सरचार्ज का ऐलान इसी साल जुलाई में पेश हुए बजट में किया गया था। इसके साथ ही उन कंपनियां को जो इनसेंटिव और छूट का लाभ उठा रही थीं उनके लिए भी मिनिमम अल्टरनेट टैक्स यानी मैट को 18.5 फीसदी से 15 फीसदी कर दिया गया है। वित्त मंत्री ने उन कंपनियों को भी राहत दी है जिन्होंने 5 जुलाई 2019 से पहले बाई-बैक का ऐलान किया है। उन्होंने कहा कि ऐसी कंपनियों को शेयरों के बाई-बैक पर अब कोई टैक्स नहीं लिया जाएगा। इसके साथ ही एक अक्टूबर के बाद बनी नई घरेलू विनिर्माण कंपनियां बिना किसी प्रोत्साहन के 15 प्रतिशत की दर से आयकर भुगतान कर सकती हैं।(एनडीटीवी)
 


Date : 20-Sep-2019

चेम्बर पदाधिकारियों की बैठक 21 को

रायपुर, 20 सितंबर। छत्तीसगढ़ चेम्बर आफ कामर्स एंड इंडस्ट्रीज के पदाधिकारियों ने बताया कि प्रदेश के समीपवर्ती राज्यों से चेम्बर पदाधिकारी  21 सितम्बर को चेम्बर चौ.देवीलाल व्यापार उद्योग भवन, बाम्बे मार्केट रायपुर में बैठक का आयोजन किया जाएगा, जिसमें जीएसटी, आयकर, फुड सेफ्टी एक्ट, सूक्ष्म लघु एवं मध्यम उद्यम, बैंक चार्जेस तथा माडर्न टे्रड एवं ऑनलाइन व्यापार से आ रही छोटे व्यापारियों की समस्याओं पर विशेष चर्चा की जाएगी।

इसमें मुख्य रूप से नागपुर, सतना, बालाघाट, भोपाल, इंदौर, राउरकेला, रांची, जबलपुर चेम्बर के पदाधिकारियों के साथ छत्तीसगढ़, पी.एच.डी चेम्बर, कैट तथा उरला इंडस्ट्रीज एसोसिएशन सहित अन्य उद्योग संघ के प्रतिनिधि शामिल होंगे।


Date : 20-Sep-2019

स्मार्ट सिटी का स्मार्ट प्रोजेक्ट हर्षित लेंडमार्क में फ्लैट बुकिंग करने का सुनहरा मौका

रायपुर, 20 सितंबर। सिंघानिया बिल्डकॉन ने प्रदेश का पहला स्मार्ट आवासीय प्रोजेक्ट हर्षित लेंडमार्क है, जिसके निर्माण को क्रिसिल ने 6 स्टार रेटिंग का दर्जा दिया है। जो इसकी गुणवत्ता का प्रमाण है। यह हीरापुर रिंग रोड नंबर 2, 6 लेन रोड पर स्थित है। जिसे लोग काफी पसंद कर रहे हैं। 

सिंघानिया बिल्डकॉन के चेयरमेन सुबोध सिंघानिया ने बताया कि  हर्षित लेण्डमार्क पहली आवासीय परियोजना है जो सभी वैधानिक अनुमति व स्वीकृतियों के बाद निर्माणाधीन है। यह जी प्लस 10 के 7 टावर की इंटीग्रेटेड टाउनशिप है। जहां 1 से & बीएचके फ्लैट उपलब्ध है तथा शुरुआती कीमत 1&.75 लाख रुपए हैं जिसमें कई ऑफर भी दिए जा रहे हैं। इसके अतिरिक्त प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत 2.67 लाख रुपए तक का लाभ ग्राहकों को मिलेगा। हर्षित लेंडमार्क का प्रथम फेस लगभग पूर्णता की ओर है तथा द्वितीय फेस का काम शुरू हो चुका है। उन्होंने बताया कि हर्षित लेण्डमार्क में पोडियम गार्डन, कव्हर्ड केम्पस,क्लब, एसटीपी, रेनवाटर हार्वेस्ंिटग, अण्डग्राउन्ड ड्रेनेज प्रमुख रूप से शामिल है।

 

 

 


Date : 20-Sep-2019

मैट्स स्कूल ऑफ बिजनेस स्टडीज द्वारा राष्ट्रीय संगोष्ठी का आयोजन  21 से

रायपुर, 20 सितंबर। मैट्स स्कूल ऑफ बिजनेस स्टडीज द्वारा होटल कोर्टयार्ड मैरियट में 21, 22 सितंबर को दो दिवसीय राष्ट्रीय संगोष्ठी का आयोजन किया जा रहा है। संगोष्ठी भारत में आर्थिक विकास की उपलब्धि और चुनौतियों पर केन्द्रित हैं। 

इस संगोष्ठी में वाणिज्य, वित्त, अर्थशास्त्र तथा प्रासंगिक विषयों से संबंधित विभिन्न मुद्दे प्रस्तुत किए जाएंगे। जिससे छात्र, एमफिल व पीएचडी के शोधार्थी, प्राध्यापक सहित उघोगपतियों को लाभ प्राप्त होगा।

संगोष्ठी में प्रमुख वक्ता पूर्व चेयरमैन यूजीसी प्रो. सुखदेव थोराट, प्रो. एस. महेंद्र देव मुंबई, प्रो. नागेश कुमार और कुलाधिपति प्रो. जी.विश्वनाथन चेन्नई, डॉ.वी. शानुमुगासुंदरम, डॉं अनिल ठाकुर पटना सहित छत्तीसगढ़ के विभिन्न क्षेत्रों से आए प्राध्यापकों तथा शोधार्थी के साथ अपने विचारों को साझा कर उनका मार्गदर्शन किया जाएगा। 

 


Date : 20-Sep-2019

मुंबई, 20 सितंबर । जीएसटी काउंसिल की बैठक से पहले वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कुछ बड़े ऐलान किए। केंद्रीय मंत्री ने कंपनी और कारोबारियों को राहत देते हुए कॉरपोरेट टैक्स घटाने की बात कही। केंद्र सरकार के इस ऐलान के साथ ही शेयर बाजार में जबरदस्त तेजी देखने को मिली है। ऐलान के कुछ देर बाद ही शेयर बाजार में 800 अंक से ज्यादा की बढ़ोतरी देखने को मिली।
हालांकि, शुक्रवार को जब शेयर बाजार खुला तो शुरुआत कुछ सुस्त ही दिखी थी। वित्त मंत्री की घोषणा के बाद शेयर बाजार 36, 980 अंक पर चल रहा है। 
इस दौरान यस बैंक के शेयर 5 फीसदी से अधिक बढ़त के साथ कारोबार करते देखे गए। वहीं मारुति, हीरो मोटोकॉर्प, एचडीएफसी बैंक, वेदांता और महिंद्रा के शेयर में भी बढ़त दर्ज की गई। हालांकि एनटीपीसी, ओएनजीसी, एक्सिस बैंक, पावरग्रिड और एसबीआई के शेयर लाल निशान पर कारोबार करते दिखे।
बता दें कि अर्थव्यवस्था की सुस्त पड़ती रफ्तार के बीच आज यानी शुक्रवार को गोवा में वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) काउंसिल की अहम बैठक होने जा रही है। इस बैठक में बिस्किट, माचिस और होटल इंडस्ट्री को राहत मिल सकती है, लेकिन ऑटो सेक्टर को राहत मिलना मुश्किल लग रहा है।
गुरुवार को निवेशकों के डूबे 1.69 लाख करोड़
इससे पहले गुरुवार को बैंक और ऊर्जा कंपनियों के शेयरों में भारी बिकवाली देखने को मिली। इस वजह से कारोबार के अंत में सेंसेक्स 470 अंक या 1.29 फीसदी के नुकसान से 36,093.47 अंक पर बंद हुआ। कारोबार के दौरान यह एक बार नीचे में 35,987.80 अंक तथा ऊंचे में 36,613.93 अंक तक गया था।
इसी तरह निफ्टी 135.85 अंक या 1.25 फीसदी के नुकसान से 10,704.80 अंक पर बंद हुआ। यह इसका सात माह का निचला स्तर है। इससे पहले 19 फरवरी, 2019 को निफ्टी 10,604.35 अंक पर बंद हुआ था।
बाजार में मची इस भगदड़ की वजह से निवेशकों के 1.69 लाख करोड़ रुपये डूब गए। दरअसल, बुधवार को बीएसई पर लिस्टेड कुल कंपनियों का मार्केट कैप 1,40,19,877.32 करोड़ रुपये था, जो अब 1,38,50,541.85 करोड़ रुपये हो गया है। इस लिहाज से मार्केट कैप में 1.69 लाख करोड़ रुपये की कमी आई है। यह निवेशकों के लिए बड़ा झटका है।(आजतक)
 


Date : 20-Sep-2019

नई दिल्ली, 20 सितंबर। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने एक अध्यादेश लाकर घरेलू कंपनियों, नयी स्थानीय विनिर्माण कंपनियों के लिये कॉरपोरेट कर कम करने का प्रस्ताव दिया है। अब यह दर 25.17 फीसदी कर दिया गया है। इस ऐलान के साथ ही बाजार में रौनक लौट आई है और  सेसेंक्स में 1300 अंकों का उछाल आया है। वित्त मंत्री ने कहा कि यदि कोई घरेलू कंपनी किसी प्रोत्साहन का लाभ नहीं ले तो उसके पास 22 प्रतिशत की दर से आयकर भुगतान करने का विकल्प है। जो कंपनियां 22 प्रतिशत की दर से आयकर भुगतान करने का विकल्प चुन रही हैं, उन्हें न्यूनतम वैकल्पिक कर का भुगतान करने की जरूरत नहीं होगी। अधिशेषों और उपकर समेत प्रभावी दर 25.17 प्रतिशत होगी। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा कि सिक्योरिटी सहति किसी भी डेरीवेटिव को एफपीआई के हाथों बेचने पर कैपिटल गेन पर कोई सरचार्ज नहीं लिया जाएगा। इस सरचार्ज का इसी साल जुलाई में पेश हुए बजट में किया गया था। इसके साथ ही उन कंपनियां जो इनसेंटिंव और छूट का लाभ उठा रही थीं उनके लिए भी मिनिमम अल्टरनेट टैक्स यानी मैट को 18.5 फीसदी से 15 फीसदी कर दिया गया है। (आजतक)
 


Date : 19-Sep-2019

इंद्रप्रस्थ लिटरेचर फेस्टिवल में आशा विग सम्मानित

छत्तीसगढ़ संवाददाता
रायपुर, 19 सितंबर।
दिल्ली के हिंदी भवन में इंद्रप्रस्थ लिटरेचर फेस्टिवल के दो दिवसीय राष्ट्रीय अधिवेशन में आशा विग को साहित्य सम्मान से सम्मानित किया गया। इंद्रप्रस्थ लिटरेचर फेस्टिवल की छत्तीसगढ़ राज्य की अध्यक्ष और डैफोडिल्स स्कूल की प्राचार्या आशा विग इस कार्यक्रम में विशिष्ट अतिथि बनकर उपस्थित रही। 

पहले दिन पूरे देश के विभिन्न प्रांतों से आए सैकड़ों कवियों ने सर्वभाषा कवि सम्मेलन में बढ़ चढक़र हिस्सा लिया। आशा विग की कविता मेरा हिन्दुस्तान ने सैनिकों के बलिदान, उनके परिवार के दर्द और चुनौतियों को बहुत मार्मिक अंदाज में प्रस्तुत कर पूरे माहौल में देशप्रेम का जोश भर दिया। सम्मेलन के दूसरे दिन बाल साहित्य, साहित्य में स्त्री पात्र, साहित्य में मीडिया विषयों पर परिचर्चा हुई। इंद्रप्रस्थ लिटरेचर फेस्टिवल के संस्थापक और आयोजक डॉ. चंद्रमणि ब्रम्हदत्त और छत्तीसगढ़ राज्य कार्य कारिणी के पदाधिकारी सदस्यों संजीव ठाकुर, लक्ष्मीनारायण लाहोटी, किरण बिन्नानी और मूलचंद शर्मा ने आशा विग को इस साहित्य सम्मान की बधाई और उनके उज्जवल भविष्य की शुभकामनाएं दी। 

 


Date : 18-Sep-2019

कोलकाता, 18 सितंबर। वित्त मंत्रालय ने ओपन सेल एलईडी टीवी पैनल पर आयात शुल्क को 5 फीसदी से घटाकर शून्य कर दिया है। मंगलवार देर रात इसका नोटिफिकेशन जारी किया गया है। टीवी मैन्युफैक्चरिंग में यह सबसे अहम पार्ट है, जिसका टीवी प्रॉडक्शन कॉस्ट में 65-70 फीसदी हिस्सा होता है। सरकार के ताजा फैसले से टीवी सेट सस्ते हो जाएंगे साथ ही मेक इन इंडिया मुहिम में मदद मिलेगी, क्योंकि देश में बिकने वाले 60-65 पर्सेंट टीवी यहीं बनाए जाते हैं, जिनके लिए कंपनियां पैनल आयात करती हैं। इस पर उन्हें 5 फीसदी आयात शुल्क देना पड़ता था। 

सरकार की ओर से जारी नोटिफिकेशन में कहा गया है कि एलसीडी और एलईडी टीवी के लिए ओपन सेल (15.6 इंच या ज्यादा) पैनल पर आयात शुल्क को तक्काल प्रभाव से शून्य किया जाता है। यह भी साफ कर दिया गया है कि एलसीडी और एलईडी टीवी पैनल्स की मैन्युफैक्चरिंग के लिए इस्तेमाल होने वाले सामानों पर पहले की तरह आयात शुल्क नहीं लगेगा।
टीवी मैन्युफैक्चरिंग हब बनेगा भारत 
इंडस्ट्री के जानकारों का कहना है कि सरकार के इस कदम से देश में एलईडी टीवी मैन्युफैक्चरिंग को बढ़ावा मिलेगा। (बाकी पेजï 5 पर)

टीवी पैनल पर आयात शुल्क के बाद देश के सबसे बड़े टेलिविजन मैन्युफैक्चरर सैमसंग ने यहां इसका उत्पादन बंद कर दिया था। कॉन्ट्रैक्ट मैन्युफैक्चरर डिक्सॉन टेक्नॉलजीज के चेयरमैन सुनील वाचानी ने कहा कि शुल्क खत्म करने से इनपुट कॉस्ट को ऐसे समय में कम करने में मदद मिलेगी, जब टीवी मार्केट बढ़ नहीं रहा है। उन्होंने कहा, मैन्युफैक्चरिंग के लिए मजबूत इकोसिस्टम बनाने में मदद मिलेगी और भारत एलईडी टीवी मैन्युफैक्चरिंग का हब बनेगा। 
जीएसटी में भी होगी कटौती? 
22 हजार करोड़ रुपये का भारतीय टेलिविजन मार्केट इस साल सपाट रहा है और जुलाई-अगस्त में 2-3 फीसदी की गिरावट आई है। इस बीच मिनिस्ट्री ऑफ इलेक्ट्रॉनिक्स ऐंड आईटी और डिपार्टमेंट फॉर प्रोमोशन ऑफ इंडस्ट्री ऐंड इंटर्नल ट्रेड ने बड़े एलईडी टेलिविजन पर जीएसटी को 28 फीसदी से घटाकर 18 पर्सेंट करने की मांग की है। इंडस्ट्री को उम्मीद है कि शुक्रवार को गोवा में होने जा रही जीएसटी काउंसिल की बैठक में टैक्स कटौती पर सकारात्मक फैसला होगा। 
अभी, 32 इंच तक के टेलिविजन पर 18 फीसदी जीएसटी लगता है, जबकि इससे बड़े टेलिविजन पर 28 पर्सेंट टैक्स लगता है। 32 इंच तक के टीवी सेट्स की बिक्री में गिरावट आ रही है। कुल टीवी बिक्री में इनकी हिस्सेदारी 55 फीसदी रह गई है, जोकि दो साल पहले 75 फीसदी थी। ग्राहक बड़े टीवी खरीद रहे हैं।  (नवभारत टाईम्स)


Date : 18-Sep-2019

कैट ने अमेजन व फ्लिपकार्ट द्वारा फेस्टिवल सेल पर दिए गए बयान को तर्कहीन बताया

रायपुर, 18 सितंबर। कॅान्फेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स (कैट) के पदाधिकारियों ने बताया कि अमेजन एवं फ्लिपकार्ट द्वारा अपने ई-कॉमर्स पोर्टल पर आने वाले दिनों में फेस्टिवल सेल आयोजित करने के औचित्य पर दिए बयान का प्रतिवाद करते हुए कहा कि इस तरह की फेस्टिवल बिक्री और उस पर छूट देना सरकार की एफडीआई नीति 2018 के प्रेस नोट नंबर 2 का स्पष्ट उल्लंघन है। कैट ने इस सन्दर्भ में पहले ही केंद्रीय वाणिज्य मंत्री को ई-कॉमर्स पोर्टलों द्वारा आयोजित की जाने वाली फेस्टिवल सेल पर प्रतिबंध लगाने के लिए पत्र लिखा है।

कैट पदाधिकारियों ने बताया कि नई दिल्ली में विगत दिवस प्रेस कॉन्फ्रेंस में अमर पारवानी ने अमेजन और फ्लिपकार्ट के उन बयानों का कड़ा विरोध किया, जिसमें उन्होंने कहा कि वे विक्रेताओं को उनके संबंधित प्लेटफॉर्म पर कीमतें तय करने और अपनी पसंद की पेशकश करने का अधिकार देते हैं। कैट ने कहा है, की दोनों कंपनियों का उक्त बयान बिलकुल तर्कहीन है।

अमर पारवानी ने कहा कि एफडीआई नीति के प्रमुख प्रावधानों के अनुसार ई-कॉमर्स मार्केटप्लेस मॉडल में 100 प्रतिशत एफडीआई की अनुमति है  जिसके तहत ई-कॉमर्स कंपनियां तकनीकी प्लेटफॉर्म के रूप में कार्य कर सकती हैं। ऐसी कंपनियां केवल बिजनेस टू बिजनेस (बी 2 बी) में संलग्न होंगी। कैट ने केंद्रीय वाणिज्य मंत्री से इन कंपनियों द्वारा सरकार की एफडीआई नीति के उल्लंघन पर तुरंत गौर करने और घोषित फेस्टिवल सेल पर प्रतिबंध लगाने का आग्रह किया है।


Date : 18-Sep-2019

आरआईटी के विद्यार्थियों ने किया वृक्षारोपण

रायपुर, 18 सितंबर। मोक्षगुण्डम् विश्वेश्वरैया के 159वें जयंती अभियंता दिवस के अवसर पर विगत दिनों रायपुर इंस्ट्टियूट ऑफ टेक्नोलॉजी(आरआईटी) के विद्यार्थियों द्वारा ग्राम छतौना, मंदिरहसौद स्थित संस्थान के परिसर में वृक्षारोपण किया गया।

 

 

 


Date : 18-Sep-2019

बोरियाखुर्द में विश्वकर्मा भवन का भूमि पूजन

रायपुर, 18 सितंबर। विश्वकर्मा लोहार समाज द्वारा मंगलवार को बोरियाखुर्द में विश्वकर्मा भवन का भूमि पूजन किया गया।  विधायक एवं  पूर्व मंत्री बृजमोहन अग्रवाल ने भवन के लिए 5 लाख रु. स्वीकृत किए। पार्षद यशोदा कमल साहू समेत बड़ी संख्या में समाज के लोग शामिल हुए। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि पिछड़ा वर्ग संगठन के अध्यक्ष सूरज निर्मलकर रहे। उन्होंने कहा भगवान विश्वकर्मा विश्व के सबसे बड़े शिल्पी हैं। इस दौरान महेश निर्मलकर, सोनकर समाज के प्रदेश अध्यक्ष शारदा प्रसाद सोनकर, कलार समाज के सचिव महेश सिन्हा, देवांगन समाज के अध्यक्ष युवा राम देवांगन, विश्वकर्मा समाज के अध्यक्ष जेके विश्वकर्मा, रामलाल विश्वकर्मा प्रदेश महासचिव, अजय साहू, राकेश सिंह, मोहम्मद परवेज कुरैशी उपस्थित रहे।


Date : 16-Sep-2019

रोलबोल टॉक्स की कॉफी डेट से जुड़े युवा

रायपुर, 16 सितंबर। रोलबोल (रेस्ट ऑफ लाइफ-बेस्ट ऑफ लाइफ) टॉक्स की कॉफी डेट में शहर के युवा एक साथ मिलकर शेयर की अपनी कहानी। इस टॉक शो का उद्देश्य समाज की विभिन्न प्रतिभाओं को जोडक़र समाज के उत्थान के लिए एवं स्वयं को बेहतर रूप में निखारने का है।

शो में रोलबोल के फाउंडर दर्शन सांखला, गगन बरडिया, वीरेन नागवंशी, मास्टरशेफ फेम विजय शर्मा, हर्षित पुरोहित, अशफाक अहमद, जसबीर अहलूवालिया, अलीशा गरनायक, प्रिया चौहान, देव कुरूप, ऋषभ पारख, अंकित अग्रवाल, प्रदीप माहेश्वरी, प्रवीण जैन, समर्थ लहरी राहुल गुप्ता अन्य शामिल रहे।


Date : 16-Sep-2019

सिंगल यूज प्लास्टिक को लेकर व्यापारियों में भ्रम, कैट ने पर्यावरण मंत्रालय से दूर करने का किया आग्रह 

रायपुर, 16 सितंबर। कॅान्फेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स (कैट) के पदाधिकारियों ने बताया कि कैट द्वारा केंद्रीय पर्यावरण मंत्री प्रकाश जावेडकर को भेजे गए पत्र में सिंगल यूज प्लास्टिक पर कहा है कि इस मुद्दे के विभिन्न पहलुओं को लेकर व्यापार एवं उद्योग में कई तरह के भ्रम बने हुए हैं, जो दूर नहीं किए गए तो कई तरह के अवरोधक बनेंगे। कैट ने आग्रह किया कि देश में एकल उपयोग प्लास्टिक को समाप्त करने के लिए पर्यावरण मंत्रालय द्वारा उपयुक्त दिशा-निर्देश जल्द जारी किए जाए।

पदाधिकारियों का कहना है कि देश में व्यापारी ही ऐसे है, जिनके साथ देश के 130 करोड़ लोगों का सीधा संबंध है, और इस मुद्दे की सफलता में देशभर से लगभग 7 करोड़ से अधिक शॉपिंग आउटलेट प्रमुख भूमिका निभा सकते हैं। कैट ने 1 सितंबर से देशव्यापी अभियान शुरू किया है, जिसमें व्यापारियों को एकल प्लास्टिक को बेचने या खरीदने की सलाह दी गई है। व्यापारियों से यह भी कहा गया कि वो अपने ग्राहकों को सामान खरीदने के लिए स्वयं के बैग लाने की सलाह दें।

कैट के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष अमर पारवानी ने कहा कि इस अभियान को सफल बनाने के लिए हरसंभव प्रयास किया जा रहा हैं। हालांकि, एकल उपयोग प्लास्टिक के अंतर्गत आने वाली वस्तुओं की श्रेणी के बारे में बाजारों में भ्रम की स्थिति है। इसके अलावा, यह भी स्पष्ट नहीं है कि 50 माइक्रोन से ऊपर के प्लास्टिक की अनुमति है या नहीं। उन्होंने बताया कि देशभर में लाखों छोटे-बड़े उद्योग प्लास्टिक का निर्माण कर करोड़ों लोगों को रोजगार दे रहे हैं। एकल उपयोग प्लास्टिक पर रोक की स्थिति में व्यावसायिक गतिविधियां समाप्त हो जाएंगी, जिसके परिणामस्वरूप लोग बेरोजगार हो सकते हंै। इस संदर्भ में सरकार को कुछ विकल्पों को तराशना चाहिए, ताकि ये उद्योग अपनी व्यावसायिक गतिविधियों को चलाते रहे और रोजगार में कमी न हो।

 


Date : 16-Sep-2019

हर्षित हार्मोनी में आसान बजट पर प्लाट व मकान उपलब्ध, बुकिंग पर निश्चित उपहार

रायपुर, 16 सितंबर। सिंघानिया बिल्डकॉन ने हर्षित हार्मोनी आवासीय प्रोजेक्ट में आम लोगों की जरूरतों का ख्याल रखते हुए हर बजट में प्रापर्टी हो आसान का स्लोगन दिया है। इसलिए यहां प्लाट की शुरूआती कीमत मात्र 4.05 लाख और 2 बीएचके मकान 11.99 लाख रुपए हैं। बुकिंग पर कस्टमर के लिए एक निश्चित उपहार की सौगात दी जा रही है। 

सिंघानिया बिल्डकॉन के चेयरमेन सुबोध सिंघानिया ने बताया कि इससे सस्ता व आसान ऑफर प्रापर्टी की खरीदी के लिए और कहीं संभव नहीं है। उन्होंने बताया कि पूरे प्रोजेक्ट में काफी तेजी से निर्माण का काम चल रहा है। साथ ही यहां सीसी रोड, भव्य प्रवेश द्वार, नाली, गार्डन इत्यादि का कार्य भी तीव्र गति से पूर्णता की ओर है। रायपुर ही नहीं बल्कि दल्लीराजहरा, बालोद, दुर्ग, भिलाई, राजनांदगांव, बिलासपुर, सरगुजा, अंबिकापुर, रायगढ़, धमतरी, राजिम, महासमुंद तक से लोग आकर प्लाट व मकान की बुकिंग लगातार करा रहे हैं। पिछले दिनों कमर्शियल काम्पलेक्स का निर्माण भी शुरू कर दिया गया है। जिससे कालोनी के लोगों को एक कमर्शियल हब में सारी जरूरतों की सामान भी उपलब्ध हो जायेंगे।

उन्होंने बताया कि इस प्रोजेक्ट के लिए फाइनेंस की आसान सुविधा उपलब्ध हैं। टाउन एंड कंट्री प्लानिंग, रेरा व क्रेडाई से मान्यता प्राप्त है यह प्रोजेक्ट हर्षित हार्मोनी में प्लाट 450, 600, 1000, 1200 व 1500 वर्ग फीट साइज का है। हर्षित हार्मोनी रिंग रोड नंबर-4 (6 लेन) से 2 किमी गुमा हीरापुर से आगे स्थित है।

 


Date : 16-Sep-2019

मुंबई 16 सितंबर।  सऊदी अरब के दो कच्चे तेल संयंत्रों पर हुए हमले के बाद अंतराष्ट्रीय बाजार में सोमवार को इस तेल की कीमतों में 19.5 फीसदी का उछाल आया जिससे घरेलू शेयर बाजार में सेंसेक्स 200 अंकों से ज्यादा लुढक़ गया। 
लंदन से प्राप्त जानकारी के अनुसार कच्चा तेल का मानक ब्रेंट क्रूड वायदा 19.5 प्रतिशत चढक़र 71.95 डॉलर प्रति बैरेल पर पहुंच गया। यह खाड़ी युद्ध के दौरान 14 जनवरी 1991 के बाद की सबसे बड़ी तेजी है। अमेरिकी क्रूड वायदा भी 15.5 प्रतिशत की छलांग लगाकर 63.34 डॉलर प्रति बैरल हो गया। यह 22 जून 1998 के बाद की इसकी सबसे बड़ी तेजी है। 
कच्चे तेल में भारी उछाल के कारण घरेलू बाजार में सेंसेक्स 180.43 अंक की गिरावट के साथ 37,204.56 अंक पर खुला और 37,111.29 अंक तक लुढक़ गया। तेल उत्पादक कंपनियों में ओएनजीसी के शेयर 2.41 प्रतिशत चढ़े जबकि तेल विपणन कंपनियों में सरकारी कंपनी इंडियन आयल का शेयर 3 प्रतिशत, भारत पेट्रोलिय और हिंदुस्तान पेट्रोलियम के शेयर 6-6 प्रतिशत लुढक़ गए। तेल तथा पेट्रोलियम में कारोबार करने वाली निजी कंपनी रिलायंस इंडस्ट्रीज के शेयर दो  प्रतिशत से ज्यादा लुढक़े। 
पूर्वी सऊदी के खुरैस और अबकैक में शनिवार को पेट्रोलियम कंपनी सऊदी अरामको के संयंत्रों पर ड्रोन से हमला किया था जिससे वहां आग लग गई थी।
प्रारंभिक अनुमान के अनुसार इस हमले के कारण कच्चे तेल की आपूर्ति में 57 लाख बैरल और कंपनी के उत्पादन का लगभग 50 प्रतिशत नुकसान होने का अनुमान लगाया है जो वैश्विक उत्पादन का पांच प्रतिशत है। इससे देश में भी पेट्रोल तथा डीजल की कीमतों में तेज उछाल की आशंका है। 
नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी भी 81.05 अंक लुढक़ कर 10, 994.85 पर खुला और 10, 988.80 अंक तक लुढक़ गया। अंतिम रिपोर्ट  मिलने तक यह 11,011.30 पर था। (वार्ता) 
 


Date : 16-Sep-2019

नई दिल्ली, 16 सितंबर । शेयर बाजार की शुरुआत सोमवार को गिरावट के साथ हुई है। सऊदी अरब में आरामको के तेल संयंत्रों पर ड्रोन हमले से कच्चे तेल की कीमतें बढ़ गई हैं और इसका दुनिया भर के बाजारों पर असर पड़ा है। इसकी वजह से भारत में भी तेल कंपनियों के शेयरों पर दबाव है।
बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज का सेंसेक्स सोमवार को 176 अंक की गिरावट के साथ खुला और थोड़ी ही देर में इसमें गिरावट का स्तर 200 अंकों से ज्यादा हो गया। नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी भी 60।90 अंकों की गिरावट के साथ खुला और 11,000 के आसपास कारोबार कर रहा है।
सेंसेक्स 176।72 अंक गिरकर 37,208.27 पर खुला, जबकि निफ्टी 60.90 अंक गिरकर 11,015 पर खुला। शुरुआती कारोबार में करीब 332 शेयरों में तेजी और 502 शेयरों में गिरावट देखी गई। सोमवार को शुरुआती कारोबार में रुपये में भी गिरावट देखी गई। यह शुक्रवार के मुकाबले 70 पैसे गिरकर 71.62 प्रति डॉलर पर खुला। शुक्रवार को रुपया 70.92 पर बंद हुआ था।
सुबह 9.30 बजे तक सेंसेक्स 195 अंकों की गिरावट के साथ और निफ्टी 61.75 अंकों की गिरावट के साथ कारोबार कर रहा था। बढऩे वाले प्रमुख शेयरों में इंडियाबुल्स हाउसिंग, हुडको, बीईएल, ओएनजीसी और गेल शामिल रहे, जबकि नुकसान वाले प्रमुख शेयरों में बीपीसीएल, आईओसी, एचपीसीएल, एशियन पेंट्स, यस बैंक, आरआईएल, यूपीएल, टाटा मोटर्स आदि शामिल रहे।
सऊदी अरब में आरामको के तेल संयंत्रों पर हमले से दुनिया भर के बाजारों पर असर पड़ा है। इसके अलावा, इस हफ्ते विदेशी पोर्टफोलियो निवेशकों (एफपीआई) व घरेलू संस्थागत निवेशकों के निवेश रुझान से बाजार को दिशा मिलेगी। वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण ने निर्यात को प्रोत्साहन देने और आवासीय क्षेत्र को बढ़ावा देने के साथ-साथ अर्थव्यवस्था की सेहत सुधारने के लिए शनिवार को फिर कई उपायों की घोषणा की है।
बीते सप्ताह शेयर बाजारों में अच्छी तेजी दर्ज की गई थी जिसमें भारतीय रिजर्व बैंक द्वारा प्रमुख ब्याज दरों में कटौती, अमेरिका-चीन के बीच व्यापार बातचीत में प्रगति के संकेत का प्रमुख योगदान रहा। साप्ताहिक आधार पर, सेंसेक्स 403.22 अंकों या 1.09 फीसदी की तेजी के साथ 37,384.99 पर बंद हुआ। वहीं, निफ्टी 129.70 अंकों या 1.18 फीसदी की तेजी के साथ 11,075.90 पर बंद हुआ। (आजतक)
 


Date : 16-Sep-2019

नई दिल्ली, 16 सितंबर । ऑनलाइन ई-कॉमर्स वेबसाइट पर दिवाली सेल का इंतजार कर रहे लोगों को झटका लग सकता है। कन्फेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स (सीएआईटी) ने सरकार को पत्र लिखकर ई-कॉमर्स कंपनियों द्वारा त्योहार के सीजन में भारी छूट देने पर रोक लगाने की मांग की है। ट्रेडर्स की यह प्रतिक्रिया फ्लिपकार्ट द्वारा दी बिग बिलियन डेज सेल की तारीखों की घोषणा करने के कुछ दिनों बाद ही आई है।
ट्रेडर्स ने फ्लिपकार्ट के अलावा इसकी प्रतिद्वंद्वी कंपनी एमेजन और इस तरह की अन्य ई-कॉमर्स कंपनियों की त्योहारों के सीजन में सेल पर नियंत्रण लगाने की मांग की है। हाल ही में फ्लिपकार्ट ने घोषणा की थी कि दिवाली और दशहरा से पहले उसकी हर साल होने वाली छह दिवसीय सेल 29 सितंबर से शुरू होगी। हालांकि एमेजन की ओर से अभी सेल की तारीख का एलान होना बाकी है।
त्योहारों के इन दिनों में ई-कॉमर्स प्लेटफॉर्म ग्राहकों को लुभाने के लिए भारी छूट की पेशकश करते हैं। क्योंकि भारतीय त्योहारी सीजन के दौरान बड़े स्तर पर खरीदारी करते हैं। सीएआईटी ने वाणिज्य एवं उद्योग मंत्री पीयूष गोयल को लिखे एक पत्र में कहा, ये कंपनियां अपने ई-कॉमर्स पोर्टल्स पर 10 से लेकर 80 फीसदी तक की बड़ी छूट पेश करके कीमतों को प्रभावित कर रही हैं। कंपनियों द्वारा पेश की जा रही यह असमानता नीतियों का उल्लंघन है।
सीएआईटी ने कहा कि त्योहारी सीजन के दौरान विभिन्न ई-कॉमर्स प्लेटफार्मो द्वारा दी जाने वाली बड़ी छूट फॉरेन डायरेक्ट इन्वेस्टमेंट (एफडीआई) नियमों के खिलाफ है। एफडीआई नीति के अनुसार, ई-कॉमर्स कंपनियां प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष रूप से वस्तुओं और सेवाओं की बिक्री मूल्य को प्रभावित नहीं करेंगी और मूल्य के स्तर को बनाए रखेंगी।(एबीपी न्यूज)
 


Previous12Next