अंतरराष्ट्रीय

Previous12Next
Date : 20-Jul-2019

लंदन/तेहरान, 20 जुलाई। होर्मुज जलडमरूमध्य में ईरान द्वारा जब्त किये गये ब्रिटेन के टैंकर पर सवार चालक दल के 23 सदस्यों में भारतीय भी शामिल हैं।
टैंकर की कंपनी स्टेना बल्क के अध्यक्ष और मुख्य कार्यकारी अधिकारी एरिक हैनेल कहा, टैंकर पर सवार चालक दल के 23 सदस्यों में भारत, रूस, लताविया और फिलीपींस के नागरिक शामिल हैं। उनमें से किसी को कोई नुकसान होने की कोई खबर नहीं है। हमार ध्यान मुख्य रूप से हमारे चालक दल की सुरक्षा और बचाव पर है। हम समस्या के समाधान के लिए ब्रिटिश और स्वीडिश सरकार के संपर्क में हैं। हम चालक दल के सदस्यों के परिवार के साथ भी संपर्क स्थापित कर रहे हैं। 
इससे पहले रिपोर्टें आई थीं कि ईरान ने होर्मुज जलडमरूमध्य में अंतररराष्ट्रीय नियमों का उल्लंघन करने के मामले में ब्रिटेन के दो तेल टैंकरों को जब्त कर लिया है। ईरान ने दावा किया था कि उसने अंतरराष्ट्रीय नियमों का उल्लंघन करने के कारण ब्रिटेन के एक टैंकर स्टेना इम्पेरो को जब्त किया है। 
इस बीच, ब्रिटेन की सरकार ने कहा है कि होर्मुज जलडमरूमध्य में उसके एक टैंकर के ईरान के जब्त करने से वह ‘बहुत चिंतित’ है। ब्रिटेन के विदेश सचिव जेरेमी हंट ने चेतावनी दी है कि अगर समस्या का शीघ्र समधान नहीं हुआ तो इसके ‘गंभीर परिणाम’ होंगे। 
श्री हंट ने कहा कि यह कार्य पूरी तरह से अस्वीकार्य है और नेविगेशन की स्वतंत्रता को बनाये रखा जाना चाहिए। उन्होंने कहा, ‘‘हमारी तरफ से यह बल्कुल स्पष्ट है कि अगर इस समस्या का शीघ्र समाधान नहीं हुआ तो इसके गंभीर परिणाम होंगे।’’
बीबीसी की रिपोर्ट के अनुसार स्टेना इम्पेरो कंपनी ने कहा है कि हार्मुज जलडमरूमध्य में जब्त किये गये टैंकर से उनका कोई संपर्क नहीं हो पा रहा है।
फार्स समाचार एजेंसी के अनुसार टैंकर स्टेना इम्पेरो को शुक्रवार को ईरानियन रिवोल्यूशनरी गार्ड ने जब्त किया है। 
टैंकर की कंपनी स्टेना बल्क ने कहा है कि वह नेविगेशन एवं अंतरराष्ट्रीय नियमों का पूरी तरह पालन करता है। स्टेना बल्क ने कहा कि टैंकर पर सवार चालक दल  के 23 सदस्यों में से किसी को कोई नुकसान होने की सूचना नहीं है जिनमें  भारत, रूस, लातविया और फिलीपींस के नागिरक शामिल हैं। 
श्री हंट ने कहा कि टैंकर चार जहाजों से घिरा था और एक हेलीकॉप्टर ईरानी समुद्र क्षेत्र में जा रहा था। 
इसके साथ ही ब्रिटेन के स्वामित्व वाली एक लाइबेरियाई टैंकर एमवी मेसडार को भी जब्त किया गया था लेकिन उसे बाद में रिहा कर दिया गया। इस बीच, ग्लासगो में स्थित इसके ऑपरेटर नोरबल्क शिङ्क्षपग यूके ने कहा है कि टैंकर के साथ संपर्क स्थापित हो गया है और इसके चालक दल के सदस्य सुरक्षित हैं। 
एक प्रवक्ता ने बीबीसी से कहा कि बिटिश सरकार ईरान के इस ‘अस्वीकार्य कार्य’ से बहुत ङ्क्षचतित है। उन्होंने कहा, ‘‘हमने यूके शिपिंग को कुछ समय के लिए क्षेत्र से बाहर रहने की सलाह दी है।’’ (वार्ता)
 


Date : 20-Jul-2019

लंदन, 20 जुलाई । ब्रिटेन के विदेश सचिव जेरेमी हंट ने ईरान को टैंकर मामले को लेकर चेताया है। उन्होंने कहा है कि अगर ईरान ने इस मामले को जल्द से जल्द ठीक नहीं किया तो उसे गंभीर परिणाम भुगतने पड़ेंगे।
श्री हंट ने कहा, ‘‘यह पूरी तरह अस्वीकार्य है। स्वतंत्रता बनी रहनी चाहिए। हम इसका कड़ा जवाब देंगे। हमारा साफ मानना है कि अगर इस स्थिती को जल्द नहीं सुधारा गया तो इसके गंभीर परिणाम भुगतने पड़ेंगे।’’ 
श्री हंट ने कहा कि उन्होंने इस स्थिती के बारे में अमेरिका के विदेशमंत्री माइक पोंपियो के समकक्ष उठाया है लेकिन श्री पोंपियो की ईरान के विदेश मंत्री मोहम्मद जावद जरीफ से बात नहीं पायी है। 
उन्होंने कहा, ‘‘हम फिलहाल सैन्य विकल्प के बारे में नहीं सोच रहे हैं। हम मुद्दे का समाधान कूटनीतिक तरीके से करना चाहते है लेकिन हमारा साफ मानना है कि यह मामला जल्द से जल्द सुलझना चाहिए। अगर ईरान ऐसा नहीं करता है तो उसे गंभीर परिणाम भुगतने पड़ेंगे इसलिए उसे अपनी सलामती लिए इस मामले को जल्द से जल्द सुलझा लेना चाहिए। अगर वह ऐसा नहीं करते हैं तो हम वो सब करेंगे जो हम कर सकते हैं।’’ 
उल्लेखनीय है कि ईरान में दो तेल के टैंकर को जब्त किया गया है जिनमें से एक टैंकर ब्रिटेन का है।(स्पूतनिक) 
 


Date : 20-Jul-2019

कोंगकाहऊ, 20 जुलाई । मध्य चीन के हेनान प्रांत में गैस प्लांट में हुए विस्फोट के कारण 10 लोगों की मौत हो गई और अन्य 19 लोग घायल हो गए है जबकि पांच लापता हैं। स्थानीय प्रशासन ने शनिवार को इसकी पुष्टि की है। (शिन्हुआ)

 


Date : 20-Jul-2019

आइलैंड, 20 जुलाई। एक 19 साल की लडक़ी ने दावा किया है कि जब वह होटल में देर रात एक लडक़े के कमरे में गई, तभी अचानक उसके 11 दोस्त पहुंच गए और सभी ने रेप किया। ये मामला साइप्रस का है, जहां ब्रिटिश लडक़ी एक बजट रिसॉर्ट में ठहरी हुई थी। 
लडक़ी ने स्वीकार किया है कि वह एक लडक़े के साथ कमरे में थी, तभी उसके 11 दोस्त आ गए और सभी ने रेप किया। लडक़ी की शिकायत के बाद सभी 12 लडक़ों पर रेप का केस किया गया है। 
सभी आरोपी लडक़े इजरायल के रहने वाले हैं। लडक़ी ने बताया कि लडक़ों ने उन्हें तभी छोड़ा जब वह बेहोश हो गईं। लडक़ी के शरीर पर कई चोट के निशान पाए गए। 
लडक़ी आइलैंड कंट्री साइप्रस के अयी नपा में पैम्बोस नपा रॉक्स होटल में ठहरी थीं। घटना होटल के सेकंड फ्लोर के उस कमरे में हुई जहां एक इजरायली लडक़ा अपने दो दोस्तों संग रह रहा था। 
लडक़ी ने पुलिस से यह भी कहा कि वह एक लडक़े के साथ पहले भी संबंध रहे हैं। उन्होंने कहा-  एक बजे रात तक उनके दोस्तों ने मेरा रेप किया जिन्हें मैं नहीं जानती थी।
पुलिस ने इजरायली लडक़ों को गिरफ्तार कर लिया। उन्हें गुरुवार को कोर्ट में पेश किया। पुलिस डीएनए जांच कर रही है। वहीं, मीडिया में एक लडक़े और पीडि़त लडक़ी का इंस्टाग्राम मैसेज भी प्रकाशित किया गया है। 
पुलिस ने कहा है कि लडक़ी अब नए होटल में शिफ्ट हो गई है। लडक़ी को काउंसिलर की सुविधा मुहैया कराई गई है। जबकि ब्रिटिश एम्बैसी ने भी लडक़ी से संपर्क किया है। 
एक जांच अधिकारी ने कहा कि हम उन्हें हर संभव सहयोग कर रहे हैं। वह अपने घर जाने के लिए भी फ्री है। लेकिन हमें उम्मीद है कि जांच होने तक वह यहां रुकेंगी।
बजट होटल में ठहरने वाली एक अन्य लडक़ी ने आरोप लगाया है कि इजरायली लडक़े पहले भी एक लडक़ी के कमरे में घुस आए थे और सेक्स की डिमांड की थी। 
एक लडक़ी ने कहा कि वे इस होटल में सुरक्षित महसूस नहीं कर रही हैं। हालांकि, रेप केस में आरोपी बनाए गए लडक़ों के वकील ने कहा है कि उन्हें उम्मीद है कि आरोपियों को छोड़ दिया जाएगा।  (आजतक)
 


Date : 19-Jul-2019

कांधार, 19 जुलाई । अफगानिस्तान के दक्षिण कांधार प्रांत में गुरुवार को पुलिस मुख्यालय में हुए तालिबान के हमले में करीब 12 लोगों की मौत हो गई और 90 अन्य घायल हो गए।  
हमले के गवाह ने कहा कि यह हमला उत्तरी गेट में स्थानीय समयानुसर 4 बजकर 35 मिनट पर हुआ। विस्फोट के कारण कई राह चलते नागरिकों की भी मौत हो गई है। 
विस्फोट होने से स्थानीय लोगों में दशहत मच गई और कई दूर तक धुंआ छा गया। इस विस्फोट के कारण आस-पास की कई इमारतें और गाडिय़ों को भारी नुकसान पहुंचा है। इस हमले में दो पुलिस अधिकारी, आठ नागरिक और दो हमलावरों की मौत हो गई। सुरक्षा सूत्रों के मुताबिक इस हमले में 90 से ज्यादा लोग घायल हुए हैं। अधिकारियों के अनुसार हमले में घायल हुए लोगों की संख्या बढ़ सकती है। 
इस हमले की जिम्मेदारी तालिबान आतंकी संगठन ने ली है। प्रांत में पिछले कुछ महीनों में सुरक्षा बलों ने आतंकवादियों के खिलाफ कई अभियान चलाए हैं। लेकिन इसके बावजूद प्रांत में लगातार आतंकी हमले हो रहे हैं। (शिन्हुआ)
 


Date : 19-Jul-2019

मैक्सिको सिटी, 19 जुलाई । मैक्सिको के पश्चिमी नायारित स्टेट में यात्री बस पलटने से बस में सवार 15 लोगों की मौत है गई और अन्य 21 लोग घायल हो गए। स्थानीय अधिकारियों ने इस घटना की जानकारी दी।(शिन्हुआ)
 


Date : 18-Jul-2019

लाहौर, 18 जुलाई । पाकिस्तान की राष्ट्रीय जवाबदेही ब्यूरो (नैैब) ने पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ के भाई एवं विपक्षी नेता शहबाज शरीफ के परिवार की संपत्तियों तथा दो वाहनों को जब्त करने का आदेश दिया है। 
जियो न्यूज ने गुरुवार को बताया कि नैब की लाहौर इकाई ने बुधवार को विभिन्न संस्थानों को पत्र लिखकर पाकिस्तान मुस्लिम लीग-नवाज के अध्यक्ष शरीफ के लाहौर के मॉडल टॉउन स्थित दो मकानों 87-एच और 96-एच को जब्त करने का आदेश दिया है। दोनों ही मकान श्री शरीफ की पत्नी नुसरत शहबाज के नाम पंजीकृत है। पत्र में नुसरत के नाम पर पंजीकृत अयुबिआ के गलयात इलाके में डुंगा गली में स्थित नौ कनाल घर को भी जब्त करने की चर्चा है। 
 नैब ने लाहौर के डीफेंस हाउसिंग ऑथरिटी के फेज पांच में बने दो मकानों तथा हीरापुर स्थित जमीन के एक टुकड़े, एक कॉटेज और एक विला को भी जब्त करने का आदेश दिया है जो श्री शरीफ की दूसरी पत्नी तहमीना दुर्रानी के नाम पंजीकृत है। 
 नैब ने श्री शरीफ के बेटे हमजा शहबाज के नाम पर लाहौर के जोहार शहर में जमीन के नौ प्लाटों को भी जब्त करने का आदेश दिया है। 
 नैब के पत्र के अनुसार, उपरोक्त संपत्तियों और वाहनों को न तो बेचा जा सकता है और न ही उनके स्वामित्व को किसी और के नाम पर हस्तांतरित किया जा सकता है। (वार्ता)
 


Date : 17-Jul-2019

इस्लामाबाद, 17 जुलाई । मुुंबई हमले के मुख्य साजिशकर्ता हाफिज  सईद को पाकिस्तान की पंजाब पुलिस ने बुधवार को गिरफ्तार कर लिया। 
स्थानीय मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक पाकिस्तान के आतंकवाद निरोधक विभाग (सीटीडी) ने हाफिज को उस समय गिरफ्तार किया गया, जब वह गुजरांवाला जा रहा था।
रिपोर्टों के अनुसार पाकिस्तान ने यह कार्रवाई अपने हवाई क्षेत्र से को सभी नागरिक यातायात को खोल दिये जाने की घोषणा के एक दिन बाद और अमेरिका के साथ  अपने संबंधों में सुधार के प्रयासों के तहत प्रधानमंत्री इमरान खान की अमेरिका यात्रा से पहले की है।
इमरान सरकार पर हाफिज के खिलाफ कार्रवाई को लेकर फाइनेंसियल एक्शन टॉस्क फोर्स का काफी दबाव था। (वार्ता)
 


Date : 17-Jul-2019

इस्लामाबाद, 17 जुलाई । वैश्विक आतंकी हाफिज सईद को पाकिस्तान में गिरफ्तार कर लिया गया है। पंजाब की काउंटर टेररिज्म डिपार्टमेंट ने हाफिज सईद को लाहौर से गिरफ्तार किया। वह लाहौर से गुजरांवाला जा रहा था। गिरफ्तारी के बाद हाफिज सईद को न्यायिक रिमांड पर भेज दिया गया है। इस दौरान हाफिद सईद ने कहा कि मैं अपनी गिरफ्तारी के खिलाफ कोर्ट जाऊंगा।
इससे पहले सोमवार को लाहौर की आतंकवाद निरोधी अदालत ने मुंबई आतंकवादी हमलों के मास्टरमाइंड और जमात-उद-दावा के प्रमुख आतंकी सरगना हाफिज सईद और तीन अन्य को जमानत दे दी थी। डॉन न्यूज के मुताबिक, यह फैसला मदरसे की भूमि को अवैध कार्यों के लिए इस्तेमाल किए जाने के एक मामले में लिया गया था।
रिपोर्ट के अनुसार, सईद के अलावा हाफिज मसूद, आमेर हमजा और मलिक जफर को 31 अगस्त तक 50,000 पाकिस्तानी रुपये के मुचलके पर अंतरिम जमानत दी गई। सुनवाई के दौरान, आरोपी के कानूनी वकील ने अदालत से जमानत की याचिका स्वीकार करने का आग्रह करते हुए कहा कि जमात-उद-दावा भूमि के किसी भी टुकड़े का अवैध रूप से उपयोग नहीं कर रहा है।
इस बीच, लाहौर हाई कोर्ट (एलएचसी) ने संघीय सरकार, पंजाब सरकार और काउंटर-टेररिज्म डिपार्टमेंट (सीटीडी) को सईद और उसके सात सहयोगियों की ओर से दायर याचिका के बारे में नोटिस जारी किया, जिसमें सीटीडी ने एक मामले में चुनौती भी दी  थी। (आजतक)

 


Date : 17-Jul-2019

न्यूजीलैंड, 17 जुलाई । आईसीसी क्रिकेट वल्र्डकप 2019 के फाइनल मैच को अगर वनडे क्रिकेट इतिहास का सबसे रोमांचक मैच कहा जाए तो गलत नहीं होगा। पहले 100 ओवरों में मैच का नतीजा नहीं निकला और उसके बाद सुपरओवर में भी मैच टाई रहा, लेकिन आखिर में ज्यादा बाउंड्री लगाने की वजह से इंग्लैंड को विजेता घोषित कर दिया गया। इस मैच की एक-एक गेंद ने करोड़ों क्रिकेट फैंस की सांसें थाम दी और ये बात खुद न्यूजीलैंड की पीएम जेसिंडा अर्डन ने भी कही।
न्यूजीलैंड की हार के बाद न्यूजीलैंड की पीएम जेसिंडा अर्डर्न ने इंस्टाग्राम पर लिखा, उस सुपर ओवर में एक देश के तौर पर हम सबकी उम्र एक साल बढ़ गई। अर्डन ने आगे लिखा, वो बेशक एक अद्भुत खेल था। इंग्लैंड को मुबारक। ब्लैक कैप्स के लिए मैं गर्व महसूस कर रही हूं। क्या गजब की टीम है।
पीएम जेसिंडा अर्डर्न ने न्यूजीलैंड की टीम के धूमधाम से स्वागत की बात कही है। अर्डन ने कहा कि उनकी टीम की हार ने उन्हें काफी दुख जरूर दिया है लेकिन उनके मुताबिक टीम ने अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन किया और केन विलियमसन की टीम का धमाकेदार स्वागत होना चाहिए।
न्यूजीलैंड की पीएम ने ऑकलैंड के मेयर फिल गॉफ से बातचीत की है, जिस पर उनके स्वागत पर चर्चा की गई। (न्यूज18)
 


Date : 17-Jul-2019

ब्रिटेेन, 17 जुलाई (आजतक)। एक महिला ने खुद ही अपने भाई के बच्चे को जन्म दिया। इसके पीछे वजह थी भाई का गे रिलेशनशिप में होना और किसी अनजान महिला पर सरोगेसी के लिए भरोसा नहीं कर पाना। महिला ने भाई के गे पार्टनर के स्पर्म के जरिए बच्चे को जन्म दिया 
ब्रिटेन के कुम्ब्रिया की रहने वाली 27 साल की महिला चैपेल कूपर ने सरोगेट मां के रूप में बच्चे को जन्म दिया। फर्टिलाइजेशन के लिए कूपर के एग सेल और भाई के पार्टनर के स्पर्म का इस्तेमाल किया गया। 
कूपर के सरोगेट मां बनने की वजह से अब उनके भाई स्कॉट स्टीफेंसन और उनके पार्टनर माइकल स्मिथ प्राउड पैरेंट्स बन गए हैं। उन्होंने बेबी गर्ल को जन्म दिया। भाई के बच्चे को जन्म देने की वजह से कूपर बच्चे की बायोलॉजिकल मां भी होंगी और आंटी भी। 
कूपर पहले से एक बेटी की मां हैं। उन्होंने जब सरोगेसी व अडॉप्शन में होने वाली मुश्किलों और खर्च के बारे में जाना तो खुद ही बायोलॉजिकल मां बनने का फैसला किया।
कूपर के भाई और उनके पार्टनर ने एक फेसबुक पोस्ट में बहन की तारीफ की है और उन्हें सुपर ह्यूमन बताया है। उन्होंने लिखा- कूपर की क्षमता, जज्बा और अच्छे दिल ने हमें खुशियों से भर दिया है। 
 


Date : 17-Jul-2019

ऑस्ट्रेलिया, 17 जुलाई। ऑस्ट्रेलिया में 10 से 14 साल के 4 बच्चों ने अपने माता-पिता की एसयूवी में मछली मारने वाली छड़ी रखी और ऑस्ट्रेलियाई पूर्वी तट 1,000 किलोमीटर दूर चले गए। घर से निकलने से पहले उन्होंने अभिभावकों के लिए एक चि_ी लिख छोड़ी थी। अगले दिन पुलिस ने वाहन चेकिंग के दौरान उन्हें रोका। पुलिस ऑफिसर डैरेन विलियम्स ने बताया कि जब बच्चों को न्यू साउथ वेल्स स्टेट में ग्राफ्टन के समीप रोका गया तो उन्होंने दरवाजे अंदर से बंद कर लिए और बाहर निकलने से इंकार कर दिया। तब एक पुलिस अधिकारी ने एसयूवी की खिडक़ी को तोडऩे के लिए एक डंडे का उपयोग किया।
बच्चे जब घर से गाड़ी लेकर निकले थे तब पुलिस में इसकी चोरी की सूचना दी गई थी। पुलिस यह सुनिश्चित नहीं कर पाई कि कौन बच्चा गाड़ी चला रहा था और उन सबने क्वींसलैंड स्थित रॉकहैम्प्टन क्यों छोड़ा। पड़ताल के बाद यह बात सामने आई कि एक लडक़े की उम्र 14 साल, 2 लडक़ों की करीब 13 साल और एक 10 साल की लडक़ी है। पुलिस ऑफिसर ने बताया कि संभवत: सभी ने गाड़ी चलाई।
विलियम्स ने बताया, रॉकहैम्प्टन डाउन से ग्राफ्टन के बीच 1,000 किलोमीटर की दूरी है। मैं यह सोच भी नहीं सकता कि एक व्यक्ति 2 दिनों तक अकेले इतने लंबे सफर में गाड़ी चला सकता है। ऐसा लगता है कि बच्चों ने दो शहरों में गैस स्टेशनों पर गैसोलीन के लिए पैसे भी नहीं दिए। ग्लेन इनके न्यू साउथ वेल्स शहर में पुलिस द्वारा उनका पीछा किया गया, जहां उन्हें संदेह हुआ कि कोई 13 वर्षीय ड्राइविंग कर रहा था। हालांकि कुछ देर पीछा करने के बाद हाईवे पेट्रोलिंग अधिकारी और सामान्य ड्यूटी पर तैनात अधिकारी वापस हो गए।
पुलिस ने बताया कि 14 वर्षीय बच्चा ग्राफ्टन में रहता था। उनका मानना है कि सभी बच्चे यहीं जा रहने वाले हो सकते हैं। पुलिस द्वारा बच्चों की पूछताछ होनी बाकी है क्योंकि बिना अभिभावक की मौजूदगी में ऐसा नहीं किया जा सकता है। विलियम्स ने कहा कि उनसे शुल्क लिया जाएगा, लेकिन उनके अपराधों को अभी सूचीबद्ध नहीं किया है। अभी इस बात का पता भी नहीं चल पाया है कि बच्चे एक-दूसरे को कैसे जानते थे। बच्चों ने रॉकहैम्प्टन में छोड़े नोट में क्या लिखा था, इसका पता लगाना भी बाकी है।
अर्धवार्षिक अवकाश के लिए न्यू साउथ वेल्स में स्कूल बंद हैं, जबकि क्वींसलैंड में स्कूल की छुट्टी सोमवार को समाप्त हो गई। क्वींसलैंड में ड्राईविंग लाइसेंस के लिए आवेदन करने के लिए आवेदक की उम्र कम से कम 17 साल होनी चाहिए।(एपी)
 


Date : 16-Jul-2019

नयी दिल्ली, 16 जुलाई। पाकिस्तान ने अपने वायु क्षेत्र से उड़ानों पर लगा प्रतिबंध मंगलवार को तत्काल प्रभाव से हटा दिया।
रिपोर्टों के अनुसार, पाकिस्तान के विमानन प्राधिकरण ने पुलवामा  आतंकवादी हमले और उसके बाद भारतीय वायु सेना की हवाई कार्रवाई के बाद अपने  हवाई क्षेत्र में सभी प्रकार के उड़ानों पर लगे उन प्रतिबंधों को हटा दिया, जो  इस साल फरवरी में भारत के साथ गतिरोध के बाद लगाए गए थे। दूसरी तरफ केंद्र सरकार ने इस घटनाक्रम पर औपचारिक टिप्पणी करने से इनकार किया है। (वार्ता)
 


Date : 16-Jul-2019

नई दिल्ली, 16 जुलाई। बालाकोट एयरस्ट्राइक के 140 दिन बाद पाकिस्तान ने अपने एयरस्पेस को मंगलवार को खोल दिया है। पाकिस्तान सिविल एविएशन अथॉरिटी की ओर से जारी नोटिस में कहा गया कि तत्काल प्रभाव से पाकिस्तान एयरस्पेस को सभी प्रकार के नागरिक यातायात के लिए खोल दिया गया है। इस कदम से एयर इंडिया को बड़ी राहत मिलने की उम्मीद है। पाकिस्तानी एयरस्पेस बंद होने से एयरइंडिया को 491 करोड़ रुपये का भारी वित्तीय नुकसान उठाना पड़ा।
जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में 14 फरवरी को आत्मघाती बम विस्फोट के बाद भारत और पाकिस्तान के बीच तनाव बढऩे के कारण भारतीय उड़ानों के लिए पाकिस्तानी एयर स्पेस को बंद कर दिया गया है। नई दिल्ली से उड़ान भरने वाले विमानों की उड़ान की अवधि बढ़ जाने से एयर एंडिया को अतिरिक्त ईंधन की खपत और कर्मचारियों पर होने वाले खर्च में वृद्धि और उड़ानों में कमी आने के कारण रोजाना छह करोड़ रुपये का नुकसान हो रहा था।
पाकिस्तानी हवाई क्षेत्र पर रोक के कारण एयर इंडिया की उड़ान को नई दिल्ली से अमेरिका जाने में अब दो-तीन घंटे अधिक लगते हैं। वहीं, यूरोप की उड़ानों को करीब दो घंटे अधिक लगते हैं, जिससे वित्तीय नुकसान होता है। भारतीय वायुसेना की ओर से पाकिस्तान के बालाकोट स्थित जैश-ए-मोहम्मद के आतंकी शिविरों पर 27 फरवरी को हमला करने के बाद से पाकिस्तानी हवाई क्षेत्र में उड़ान भरने पर रोक लगा दी गई थी, जिससे नई दिल्ली से यूरोप और अमेरिका के लिए विमान सेवा देने वाली अधिकांश एयरलाइंस प्रभावित हुई थीं। (आजतक)
 


Date : 16-Jul-2019

नई दिल्ली, 16 जुलाई । एप्पल वॉच कई लोगों की मदद करने के लिए सुर्खियों में रहता है और एक बार फिर इसने एक यूजर की जिंदगी बचाई है। दरअसल एक शख्स अमेरिका में शिकागो स्काईलाइन की फोटो क्लिक करने के लिए जेट स्की की राइडिंग कर रहा था। तभी पानी की एक बड़ी लहर शख्स के जेट से टकराई और वो पानी में गिर गया। इस दौरान शख्स का फोन भी पानी में गिर गया। शख्स की मदद के लिए आसपास कोई मौजूद भी नहीं था, तभी काम आया ऐपल वॉच का एसओएस फीचर।
एक रिपोर्ट के मुताबिक, फिलिप एशो नाम का शख्स जब जेट स्की की सवारी कर रहा था, तभी पानी की बड़ी लहर जेट से टकराने की वजह से वह पानी में गिर गया और इस दौरान एशो का फोन भी गुम गया। जब एशो ने आसपास बोट में सवार कई लोगों के लिए मदद के लिए आवाज लगाई तो कोई सुन भी नहीं पाया, क्योंकि लहरें लगातार एशो से टकरा रही थीं और उन्हें नीचे की तरफ धकेल रही थीं।
एशो ने फ्लोटेशन डिवाइस भी पहना हुआ था, इसके बावजूद वो तैर नहीं पा रहे थे। बाद में एशो ने बताया कि इस दौरान उन्होंने ऐपल वॉच के एसओएस इमरजेंसी फीचर की मदद ली। ऐपल वॉच की मदद से एशो 911 पर मदद के लिए कॉल कर पाने में कामयाब रहे। अपने पहले प्रयास में, एशो ये भी नहीं समझ पाए कि डिस्पैचर क्या कह रहा था। हालांकि जब वे दोबारा अधिकारियों से कनेक्ट हुए तब तक बचाव दल घटनास्थल पर पहुंच चुका था और उन्होंने एशो को डूबने से बचा लिया।  
हाल ही में एक एस बेस्ड डॉक्टर ने एक रेस्टोरेंट में एप्पल वॉच सीरीज 4 की मदद से एक युवक की जिंदगी बचाई थी। युवक ने हाथ में ऐपल वॉच सीरीज 4 पहना हुआ था, जिससे डॉक्टर ने एट्रियल फिब्रिलेशन को डिटेक्ट कर लिया था। फिलहाल ईसीजी का ये फीचर भारत में ऐपल वॉच में मौजूद नहीं है। बहरहाल ये काफी कमाल की बात है कि ऐपल वॉच कई मौकों पर अपने कई फीचर्स की वजह से लोगों के काम आ रहा है। (आजतक)

 


Date : 15-Jul-2019

सैन फ्रांसिस्को, 15 जुलाई । कैलिफोर्निया की एक 11 वर्षीय लडक़ी के एप्पल आईफोन 6 में आग लगने से उसकी चादर में छेद हो गया, जिसके बाद उसने उपकरण को फेंक दिया। 9 टू 5 मैक ने किशोरी के हवाले से कहा, मैं अपने फोन को पकडक़र बैठी हुई थी, तभी मैंने आईफोन से हर जगह से चिंगारियों को निकलते देखा।
उसने कहा, मैं ठीक यहां बिस्तर पर बैठी थी, जब फोन से मेरी चादर में आग लग गई और इसमें छेद हो गए।
किशोरी की मां मारिया अडाटा ने एप्पल स्पोर्ट को फोन डायल किया, जिसके बाद उन्हें आईफोन की तस्वीरें भेजने और खुदरा विक्रेता को फोन करने का वहां से निर्देश दिया गया।
टॉन्टरे 23 डॉट कॉम ने मां के हवाले से कहा, यह मेरी बच्ची के साथ हो सकता था, हो सकता था कि मेरी बच्ची को आग लग जाती और वह घायल हो जाती। मुझे खुशी है कि वह ठीक है।
आईफोन बनाने वालों के अनुसार, बहुत सी चीजें ऐसी हैं, जिनके चलते एक आईफोन में आग लग सकती है, जैसे अनाधिकृत चार्जिग केबल और चार्जरों का उपयोग। हालांकि ऐसा नहीं है, जब पहली बार आईफोन में आग लगी है। 
दो साल पहले, ट्विटर पर एक वीडियो वायरल हो गया था, जिसमें दावा किया गया कि आईफोन 7 प्लस में आग लगी है। दिसंबर में एक ओहियो आदमी ने कहा था कि उसके आईफोन एक्स एस मैक्स में आग लगी और वह उसकी जेब में ही फट गया। (आईएएनएस)
 


Date : 15-Jul-2019

इस्लामाबाद 15 जुलाई । पाकिस्तान के पंजाब और खैबर पख्तूनख्वा प्रांतों में पोलियो के चार और मामले सामने आने के बाद इस वर्ष अब तक पूरे देश में यह संख्या बढक़र 45 पर पहुंच गई है।  
नेशनल इंस्टीट््यूट ऑफ हेल्थ (एनआईएच) पोलियो वायरोलॉजी लेबोरेटरी के एक अधिकारी ने नाम न छापने का अनुरोध करते हुए बताया कि लाहौर, झेलम, बन्नू और लक्की मरवात से पोलियो के चार नये मामले सामने आए हैं। 
उन्होंने कहा, लाहौर में नौ महीने का लडक़ा, झेलम में चार साल की लडक़ी, बानू में छह महीने के लडक़े और लक्की मरवत में 12 महीने की लडक़ी में पोलियो बीमारी के वायरस की पुष्टि की गई है। मल के नमूने पिछले महीने प्राप्त हुए थे, लेकिन रविवार को इसकी पुष्टि की गई।
गौरतलब है कि इस वर्ष अब तक पूरे देश में पोलियो के 45 मामले सामने आ चुके हैं जबकि पिछले वर्ष केवल 12 मामले सामने आये थे। यही नहीं वर्ष 2017 में तो पोलियो के केवल आठ मामले ही सामने आये थे। चिकित्सा जगत से जुड़े लोगों के बीच देश में पोलियों के बढ़ते मामले गंभीर चिंता का विषय हैं तथा सरकार भी इस बात को लेकर काफी गंभीर है। 
समाचारपत्र डॉन के मुताबिक पोलियो उन्मूलन पर प्रधानमंत्री के सहायक बाबर बिन अत्ता ने पुष्टि की कि चार और बच्चे पोलियो के वायरस से संक्रमित हैं। उन्होंने कहा, कुछ सकारात्मक चीजें हैं जिन्हें एकत्र किया गया है। झेलम की चार साल की बच्ची को स्ट्रोक का सामना करना पड़ा, जिसके कारण उसका प्रतिरक्षा स्तर नीचे चला गया। स्ट्रोक के कारण लडक़ी को लकवा मार गया था। जैसा कि उसके नमूने में पोलियो वायरस पाया गया था इसलिए इसे पोलियो का मामला घोषित किया गया है। हालांकि, यह दर्शाता है कि लडक़ी पर वायरस ने तब हमला किया जब उसकी प्रतिरक्षा स्तर नीचे चला गया था। दूसरी बात जो यह दर्शाता है कि हमारा निगरानी स्तर बहुत अधिक है।
पोलियो एक अत्यधिक संक्रामक बीमारी है जो पांच वर्ष से कम उम्र के बच्चों को मुख्य रूप से अपना निशाना बनाती है। इसका वायरस तंत्रिका तंत्र पर हमला करता है जिससे लकवा मार सकता है या मौत भी हो सकती है। पोलियो का कोई इलाज नहीं है हालांकि बच्चों को इस गंभीर बीमारी से बचाने के लिए टीकाकरण सबसे प्रभावी तरीका है। हर बार जब पांच वर्ष से कम उम्र के बच्चे को टीका लगाया जाता है, तो वायरस के खिलाफ उनकी सुरक्षा बढ़ जाती है। बार-बार के प्रतिरक्षण ने लाखों बच्चों को पोलियो से बचाया है, जिससे दुनिया के लगभग सभी देश पोलियो मुक्त हो गए हैं। (वार्ता)
 


Date : 15-Jul-2019

वाशिंगटन, 15 जुलाई। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और विवादों का चोली-दामन का साथ बन गया है। ताजा विवाद उनके हालिया ट्वीटों पर है जिनमें उन्होंने डेमोक्रेटिक पार्टी की कुछ महिला सांसदों को निशाना बनाया है। डोनाल्ड ट्रंप का कहना था कि इन सांसदों को वहीं लौट जाना चाहिए जहां से वे आई हैं। अमेरिकी राष्ट्रपति ने दावा किया कि इन सांसदों ने अमेरिका के बारे में बहुत सी भयानक बातें कही हैं जिन्हें चुनौती देना जरूरी है। डोनाल्ड ट्रंप का यह भी कहना था कि इन सांसदों को अमेरिका की आलोचना के बजाए अपने देश के हाल ठीक करने चाहिए। उन्होंने किसी का नाम तो नहीं लिया पर माना जा रहा है कि उनका निशाना अलेक्जेंड्रिया ओकासियो-कोर्टेज, राशिदा तालिब, इल्हान उमर और अयना प्रेसले हैं जिन्होंने मैक्सिको सीमा पर मौजूद शरणार्थी हिरासत केंद्रों में हालात खराब होने का आरोप लगाते हुए ट्रंप प्रशासन की आलोचना की थी।
इसके बाद डोनाल्ड ट्रंप पर नस्लवाद के आरोप लग रहे हैं। अमेरिका के निचले सदन हाउस ऑफ रिप्रेजेंटेटिव की स्पीकर नैंसी पेलोसी ने राष्ट्रपति की इन टिप्पणियों को विभाजनकारी करार दिया है। डेमोक्रेटिक नेताओं का समर्थन करते हुए उन्होंने ट्टीट किया, ‘जब डोनाल्ड ट्रंप चार अमेरिकी सीनेटरों को अपने देश वापस जाने के लिए कहते हैं तो इससे उनके मेक अमेरिका ग्रेट अगेन की योजना साफ हो जाती है। वे हमेशा से अमेरिका को व्हाइट बनाना चाहते हैं। हमारी विविधता हमारी ताकत है और हमारी एकता हमारी शक्ति है।’
सीनेटर कमला हैरिस ने भी इन टिप्पणियों की आलोचना की है। उनका कहना था, ‘ये पुराना तरीका है।कह देना कि जहां से आए थे वहीं चले जाए। ऐसी बातें सडक़ों पर सुनाई देती हैं, लेकिन इन्हें अमेरिकी राष्ट्रपति की जुबान पर नहीं होना चाहिए।’
 


Date : 14-Jul-2019

ढाका, 13 जुलाई । बंगलादेश में शनिवार को बिजली गिरने की अलग-अलग घटनाओं में कम से कम 14 लोगों की मौत हो गई। 
बंगलादेश में बिजली गिरने की अलग-अलग घटनाएं हुईं जिनमें इन लोगों की मौत हो गई। 
बिजली गिरने की एक घटना हुई जिसमें एक ही परिवार के तीन सदस्यों सहित कम से कम चार लोगों की मौत हो गई। बंगलादेश में इस वर्ष बिजली गिरने से मरने वालों की संख्या में काफी इजाफा हुआ है। एक गैर-सरकारी संगठन की ओर से एकत्र की गई जानकारी के मुताबिक इस वर्ष मई और जून में कम से कम 126 लोगों की मौत हुई है।  आंकड़ों के मुताबिक मारे गए लोगों में 21 महिलाएं, सात बच्चे और 98 पुरुष शामिल हैं। (वार्ता)


Date : 13-Jul-2019

इस्लामाबाद, 13 जुलाई । पाकिस्तान में आज आम इंसान से लेकर बिजनेसमैन तक सडक़ पर उतर आए हैं, जिससे पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान की मुश्किलें बढ़ गई हैं। दरअसल इमरान सरकार के एक फैसले से पाकिस्तानी बैचेन हो गए हैं। पाकिस्तान के तमाम बड़े शहर आज बंद हैं, बंद को पाकिस्तान के विपक्षी दलों ने भी समर्थन दिया है। 
दरअसल पाकिस्तान की आर्थिक तंगी को दूर करने के लिए इमरान सरकार ने अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष से कर्ज लेने का फैसला किया। आईएमएफ से कर्ज की मंजूरी भी मिल गई है। लेकिन कर्ज की शर्तों ने पाकिस्तानियों में बेचैनी पैदा कर दी है, और शनिवार इसी के खिलाफ लोग सडक़ पर उतर कर विरोध कर रहे हैं। 
फिलहाल आईएमएफ से आठ अरब डॉलर का कर्ज अब इमरान सरकार के गले की हड्डी बन गया है। कारोबारियों का कहना है कि आईएमएफ के इशारे पर तैयार बजट ने गरीबों की जिंदगी और मुश्किल बना दी है। उन्होंने कहा कि सरकार क्यों नहीं यह बात समझती कि जब कारोबार ही नहीं बचेगा तो टैक्स कहां से आएगा। आज इमरान सरकार की एक तरह से पहली बड़ी अग्निपरीक्षा है। 
पाकिस्तान की कारोबारी बिरादरी ने आज देशव्यापी हड़ताल का आह्वान किया है। जिसका असर दिख भी रहा है। कराची और इस्लामाबाद में सबसे ज्यादा असर दिख रहा है। पाकिस्तानी मीडिया में प्रकाशित रपटों में कहा गया है कि इस हड़ताल को टालने की कोशिशों को गुरुवार को तब धक्का लगा, जब कराची में प्रधानमंत्री इमरान खान से व्यापारी नेताओं की बातचीत बेनतीजा रही। 
कारोबारी संगठनों का कहना है कि केंद्रीय बजट में कर से जुड़े प्रावधानों के खिलाफ देश में बंद का आह्वान किया है। उनका कहना है कि उन्हें इससे आपत्ति नहीं है कि सरकार कर दायरे को बढ़ाना चाहती है, लेकिन यह डंडे के जोर पर किया जा रहा है जो मंजूर नहीं है। उन्होंने कहा कि देश में उद्योग-धंधों का बुरा हाल है। अर्थव्यवस्था का कोई क्षेत्र ऐसा नहीं है, जिसमें दिक्कत न हो। ऐसे में कारोबारियों के साथ जोर-जबरदस्ती मंजूर नहीं की जा सकती।
कारोबारियों के संगठन ऑल पाकिस्तान मरकजी अंजुमन-ए-ताजिरान के अध्यक्ष अजमल बलोच ने इस्लामाबाद में कहा कि यह हड़ताल सरकार के खिलाफ नहीं, बल्कि आईएमएफ के निर्देश पर बजट में किए गए कारोबारी विरोधी कर प्रावधान के खिलाफ है। उन्होंने कहा कि आईएमएफ ने खुद अपनी जारी रिपोर्ट में जिन शर्तों का उल्लेख किया है, उनसे कारोबार और अर्थव्यवस्था की हालत और खस्ता होगी।
उधर, लाहौर में ऑल पाकिस्तान अंजुमन-ए-ताजिरान के महासचिव नईम मीर ने भी बुधवार को सम्मेलन में कहा था कि 13 जुलाई को पाकिस्तान में हड़ताल रहेगी। उन्होंने कहा कि सरकार के साथ कारोबारी तब तक वार्ता नहीं करेंगे, जब तक सरकार अनुचित टैक्स को वापस नहीं ले लेती।
व्यापारी वर्गों का कहना है कि पाक सरकार को आईएमएफ के बीच जो डील हुई है उससे पाकिस्तान में रोजमर्रा की जरूरतों की वस्तुओं की कीमतों में करीब 30 फीसदी तक बढ़ोतरी हो सकती है, जिससे जनता की मुश्किलें और बढ़ जाएंगी। 
पाकिस्तान की सरकार अभी तक जनता को जो करों में राहत दे रही थी, उसे वापस लेना होगा। इसके अलावा नए करों को लागू करना है। यही नहीं, आईएमएफ का कहना है कि आने वाले दिनों में पाकिस्तान की सरकार को सरकारी नौकरियों में भी कटौती करनी होगी, ताकि सरकार पर आर्थिक बोझ कम हो सके। जिसके बाद से ही विरोध हो रहा है। (आजतक)

 


Previous12Next