अंतरराष्ट्रीय

Previous123456789...8283Next
05-Dec-2020 7:23 PM 15

बीजिंग, 5 दिसंबर | अमेरिकी उपभोक्ता समाचार और व्यापार चैनल (सीएनबीसी) की वैश्विक मुख्य वित्तीय अधिकारी समिति ने हाल ही में चौथी तिमाही की सर्वेक्षण रिपोर्ट जारी की। इसमें ग्लोबल मल्टीनेशनल कॉरपोरेशन के मुख्य वित्तीय अधिकारियों ने चीन के आर्थिक संभावना स्तर को उन्नत किया और माना कि चीन कदम-ब-कदम कोरोना वायरस महामारी के प्रभाव को दूर कर आर्थिक वृद्धि साकार कर रहा है। सीएनबीसी वैश्विक मुख्य वित्तीय अधिकारी समिति बड़ी सीमा-पार कंपनियों के सीएफओ से गठित है। सर्वेक्षण परिणाम के मुताबिक उत्तरदाताओं ने चीनी आर्थिक संभावना स्तर को तीसरी तिमाही के 'स्थिर स्तर' से 'हल्के सुधार' तक उन्नत किया।

इस संस्था ने अमेरिका, कनाडा और ब्रिटेन की आर्थिक संभावना को 'हल्की गिरावट' से 'स्थिर' स्तर तक उन्नत किया। जापान, अन्य एशियाई देशों व क्षेत्रों, तथा यूरो क्षेत्रों की आर्थिक संभावना को 'स्थिर' स्तर तक बनाए रखा गया, वहीं अफ्रीका, मध्य-पूर्व, लातिन-अमेरिका और रूस की संभावना फिर भी 'हल्की गिरावट' पर बरकरार है।

-- आईएएनएस


05-Dec-2020 7:21 PM 14

बीजिंग, 5 दिसंबर | संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद ने 3 दिसंबर को शांति स्थापना और सतत शांति: सुरक्षा क्षेत्र में सुधार विषय पर एक वीडियो सम्मेलन आयोजित किया। संयुक्त राष्ट्र में चीन के स्थायी प्रतिनिधि चांग च्युन ने इसमें भाग लेकर चीन का रुख स्पष्ट किया। उन्होंने कहा कि स्थायी शांति और सतत विकास हासिल करने के लिए सुरक्षा क्षेत्र में सुधार करना एक महत्वपूर्ण आधार है। हर देश को अपनी राष्ट्रीय परिस्थितियों के मुताबिक अपना सुधार करना चाहिए, और हर देश की अपनी नीति होनी चाहिए।

चांग च्युन ने कहा कि संघर्ष-उपरांत देशों को आतंकवाद, हिंसक चरमपंथ, जातीय मुठभेड़, नेटवर्क सुरक्षा और अंतरराष्ट्रीय संगठित अपराध जैसे जोखिमों का सामना करना पड़ता है। इसलिए उनकी पूर्व चेतावनी, आपात प्रतिक्रिया और आतंकवाद विरोधी क्षमताओं में सुधार किए जाने की जरूरत है। इसके साथ संघर्ष-उपरांत देश अभी भी अपने यहां तैनात विदेशी सैनिकों की गंभीर आपराधिक चुनौतियों का सामना कर रहे हैं। उन्हें कानून के शासन में सुधार कर विभिन्न आपराधिक कृत्यों को न्यायिक दायरे में लाने की आवश्यकता है।

-- आईएएनएस


05-Dec-2020 6:50 PM 14

उत्तर कोरिया, 05 दिसंबर | दुनियाभर में कोरोना का खौफ अबतक खत्म नहीं हुआ है. रह-रह कर कोरोना वायरस के नये केस सामने आ रहे हैं. कोरोना के खौफ के बीच एक दिल दहला देने वाली खबर सामने आ रही है. खबर उत्तर कोरिया से है. अपनी क्रूरता के लिए मशहूर तानाशाह किंम जोंग उन ने एक युवक को इस लिए गोलियों से भुनवा दिया क्योंकि उसने कोरोना के खिलाफ बनाये गये नियम को तोड़ा था.

अंग्रेजी अखबर डेली मेल की रिपोर्ट के अनुसार 28 नवंबर को किम ने गोलियों से भुनवा दिया था. किम ने दावा किया है कि उसके यहां कोरोना के अबतक एक भी केस नहीं आये हैं.

किम ने अपने नागरिकों को डराने के लिए चीन से सटी सीमा पर एंटी एयरक्राफ्ट बंदूकों को तैनात कर रखा है. इन हथियारों से सीमा से लगभग एक किमी दूर किसी भी व्यक्ति को गोली मारी जा सकती है. किम ने चीनी सीमा को पूरी तरह से बंद करने का आदेश दे दिया है. मारे गये युवक पर यह भी आरोप है कि वो चीन से तस्करी करता था.

तस्करी करते हुए सैनिकों ने उस युवक को पकड़ा था, बाद में तानाशाह के आदेश पर सरेआम उसे गोलियों से भुनवा दिया गया. मालूम हो चीन उत्तर कोरिया का सबसे बड़ा व्यापारिक सहयोगी रहा है साथ ही मददगार भी रहा है, लेकिन कोरोना महामारी के कारण दोनों के बीच व्यापार में 75 प्रतिशत की गिरावट आयी है.

मालूम हो कोरोना संक्रमण शुरू होने के बाद से ही किम जोंग उन ने अपने देश की सीमा को अनिश्चितकाल के लिए बंद कर दिया है. सीमा पर पूरी सख्ती बढ़ा दी गयी है. स्थिति ऐसी हो गयी है कि उत्तर कोरिया में रोजमर्रा के सामानों की किल्लत हो गई है. लोग देश छोड़ने के लिए मजबूर हैं.

गौरतलब है कि किम जोंग उन ने पूरे देश में कोरोना वायरस पर रोक के लिए कड़े नियम लगा रखे हैं, जिसको तोड़ने पर सरेआम मौत की सजा का प्रावधान है. मीडिया रिपोर्ट के अनुसार किम ने कोरोना प्रसार को रोकने के लिए समुद्र पर मछली पकड़ने पर भी प्रतिबंध लगा दिया था.

मालूम हो किम जोंग उन अपने क्रूर फैसलों के लिए जाना जाता है. उसके बारे में कई सारी कहानियां हैं, जो उसके तानाशाह होने के प्रमाण देते हैं.(https://www.prabhatkhabar.com/)
-अरविंद कुमार मिश्रा 


05-Dec-2020 5:12 PM 20

बीजिंग. चीन के एक कोयला खदान में कार्बन मोनोक्साइड का स्तर अधिक हो जाने की वजह से 18 मजदूरों की मौत हो गई. स्थानीय अधिकारी ने शनिवार को यह जानकारी दी. सरकारी संवाद एजेंसी शिन्हुआ ने बताया कि यह घटना चोंगकिंग नगर निगम के योगचुआन जिले स्थित दियाओशुइदोंग कोयला खदान में शुक्रवार शाम पांच बजे हुई. पांच अब भी लापता हैं और इनकी तलाश की जा रही है. एक मजदूर को बचा लिया गया है. एक मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, खदान में कुछ कम उम्र के लड़के भी थे.

राहत और बचाव का काम जारी

शिन्हुआ के मुताबिक कार्बन मोनोक्साइड का स्तर बढ़ने से 18 मजदूरों की मौत की पुष्टि हुई है. खबर के मुताबिक पुलिस और दमकल विभाग के अधिकारियों सहित बचाव कर्मी खदान के उस हिस्से में पहुंचने का प्रयास कर रहे हैं जहां मजदूर फंसे हुए हैं. हादसे के कारणों की जांच की जा रही है.
यहां 1975 से हो रहा है खनन का काम स्थानीय आपात प्रबंधन विभाग ने बताया कि दियाओशुइदोंग कोयला खदान से वर्ष 1975 में खनन शुरू हुआ था और वर्ष 1998 में इसे निजी हाथों में दे दिया गया. इसकी वार्षिक उत्पादन क्षमता 1,20,000 टन कोयला है.

नामिबिया में हाथियों की आबादी बढ़ी, चारा के अभाव में सरकार ने बेचने का लिया फैसला

अमेरिका में फाइजर और मॉर्डना के कोविड-19 के टीके को बहुत जल्द मिलेगी मंजूरी 

चीन की कोयला खाने दुनिया में सबसे खतरनाक मानी जाती हैं. यहां मजदूरों की जान की सुरक्षा के लिए न के बराबर उपकरण मौजूद हैं. एक अनुमान के मुताबिकए हर साल इस तरह की दुर्घटनाओं में चीन में 5,000 से ज्यादा लोग मारे जाते हैं. शिन्हुआ के मुताबिक वर्ष 2013 में भी इसी खदान में जहरीली हाइड्रोजन सल्फाइड का रिसाव हुआ था जिससे तीन मजदूरों की मौत हो गई थी जबकि दो अन्य घायल हुए थे. (news18.com)
 


05-Dec-2020 5:11 PM 30

वॉशिंगटन. अमेरिकी संसद के उच्च सदन सीनेट ने सर्वसम्मति से ह्यूस्टन के उस पोस्ट ऑफिस का नाम सिख पुलिस अधिकारी संदीप सिंह धालीवाल के नाम पर करने के लिए एक विधेयक को मंजूरी दे दी, जहां पिछले साल नियमित जांच के लिए वाहन रोकने पर उनकी गोली मारकर हत्या कर दी गई थी. अब इस विधेयक को राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प (Donald Trump) के हस्ताक्षर के लिए व्हाइट हाउस (White House) भेजा जाएगा.

कांग्रेस के निम्न सदन प्रतिनिधि सभा सितंबर में ही द्विदलीय समर्थन से ह्यूस्टन के 315 एडिक्स हावेल रोड स्थित पोस्ट ऑफिस का नाम ‘डिप्टी संदीप सिंह धालीवाल पोस्ट ऑफिस बिल्डिंग’ करने को अपनी मंजूरी दे चुकी है. इस विधेयक के अमल के बाद ह्यूस्टन स्थित धालीवाल दूसरा पोस्ट ऑफिस होगा जिसका नाम किसी भारतीय के नाम पर होगा. इससे पहले दक्षिण कैलिफोर्निया में कांग्रेस सदस्य रहे दलीप सिंह सौंध को वर्ष 2006 में यह सम्मान मिला था.

गौरतलब है कि धालीवाल वर्ष 2015 में हैरिस काउंटी शेरिफ कार्यालय में कार्यरत पहले सिख अमेरिकी थे जिन्हें पगड़ी के साथ कार्य करने के नीतिगत फैसले के तहत नियुक्ति मिली. पिछले साल 27 सितंबर को उन्होंने ड्यूटी करते दौरान अपने प्राण गंवाए. धालीवाल के पिता प्यारा सिंह धारीवाल ने कहा, ‘हमारा परिवार बेटे के कार्यों के प्रति प्यार और समर्थन के लिए अभारी है.’

दिवंगत धालीवाल के अलावा सीनेट ने टेक्सास स्थित कैस्टरविल में अमेरिकी पोस्ट ऑफिस का नाम बदलने का भी बिल पास किया है. इस दफ्तर का नाम लांस कॉर्रपोरल रोनाल्ड डैन रैर्डन करने का प्रस्ताव है. सीनेटर रेड क्रूज ने बताया 'अब ह्यूस्टन के एडिक्स हॉवेल रोड स्थित अमेरिकी पोस्टल ऑफिस कानून व्यवस्था में शामिल अल्पसंख्यक और सिख-अमेरिकियों की श्रद्धांजलि के तौर पर रहेगा.' उन्होंने कहा 'जबकि कैस्टरविल का पोस्ट ऑफिस लांस कॉर्पोरल रैर्डन और उनके साथी सिपाहियों के स्मारक के तौर पर रहेगा.'

उन्होंने कहा 'हमने इन दोनों शानदार अमेरिकी नागरिकों को जल्दी खो दिया है. उनकी याद हमेशा रहेगी, क्योंकि हम उनके देश और समुदायों के लिए योगदानों का हमेशा सम्मान करेंगे.' क्रूज ने कहा 'मैं उम्मीद कर रहा हूं कि आगे राष्ट्रपति ट्रंप इन्हें कानून बनाने के लिए हस्ताक्षर कर देंगे.'  (news18.com)


05-Dec-2020 5:03 PM 18

बर्लिन. जर्मनी में एक महिला ने रातोंरात अपने एक पड़ोसी को करोड़पति  बना दिया. रेनेट वेडेल नाम की बुजुर्ग महिला ने अपने पड़ोसी के नाम 7.5 मिलियन डॉलर यानि 55.35 करोड़ रुपये की संपत्ति कर दी. इसकी जानकारी वाल्डसोल्म्स जिला अधिकारी ने विज्ञप्ति जारी कर दी.

रीनेट की मौत वर्ष 2019 में हुई

रेनेट जर्मनी के वाइपरफेल्डेन जिले में अपने पति अल्फ्रेड वीडेल के साथ 1975 से रहती थीं. अल्फ्रेड स्टॉक एक्सचेंज के कारोबार में काफी सफल और सक्रिय रहे. उनकी मौत वर्ष 2014 में हो गई थी. रीनेट का फ्रैंकफर्ट के एक नर्सिंग होम में वर्ष 2016 से इलाज चल रहा था. उनकी मौत वर्ष 2019 के दिसंबर में 81 साल में हो गई.

रीनेट की वसीयत का मूल उत्तराधिकारी उसकी बहन थी
वर्ष 2020 के अप्रैल में जिला प्रशासन ने यह जानकारी दी थी कि रेनेट अपने पीछे वसीयत छोड़ गई हैं, जिसमें बैंक बैलेंस, शेयर्स और बेशकीमती संपत्ति के दान का ब्यौरा शामिल किया गया है. स्थानीय मीडिया आउटलेट हेसेनचाउ ने बताया कि रेनेट की बहन जो उनके मूल उत्तराधिकारी थी जिसकी उनसे पहले ही मृत्यु हो गई थी.

स्थानीय मेयर बर्नेड हेनी ने हेसेनचाउ से बातचीत में कहा कि यह खबर सुनकर हमें झटका लगा और हमने सबसे पहले यह सोचा कि यह संभव नहीं हो सकता है. हमें यह लगा कि इस खबर में कहीं कोई कोमा लगाना रह गया और कुछ न कुछ अधूरा रह गया होगा. नगरपालिका को वाइपरफेल्डेन में एक संपत्ति भी मिली, जिसे शुरू में एक विरासत के रूप में छोड़ दिया गया था लेकिन घर और कैंपस के रखरखाव की वजह प्रारंभिक उत्तराधिकारी द्वारा अस्वीकार कर दिया गया था. उन्होंने कहा कि हम जिम्मेदारी के साथ इस जिम्मेदारी को पूरा करेंगे और एक कम्युनिटी भवन विकसित करेंगे और दंपत्ति को श्रद्धांजलि देंगे. (news18.com)


05-Dec-2020 5:03 PM 14

वाशिंगटन. अमेरिका की हाउस ऑफ़ रिप्रेसेंटेटिव्स ने शुक्रवार को गांजा को कानून के दायरे से बाहर करने के लिए मतदान किया. इस कानून के लागू होने के बाद गांजे का उपयोग फ़िर गैर-क़ानूनी नहीं रह जाएगा. अमेरिका में गांजे के शौक़ीन लोगों में इस खबर के बाद ख़ुशी की लहर दौड़ गई है. फिलहाल जब तक सीनेट रिपब्लिकन (Senate Republican ) के हाथों में रहेगी तब तक इस कानून के आगे बढ़ने की उम्मीद नहीं है. 1970 में गांजे को नियंत्रित तत्व की सूची में शामिल करने के बाद ऐसा पहली बार हो रहा है कि चैम्बर ऑफ़ कांग्रेस ने मारिजुआना पर संघीय प्रतिबंध को समाप्त करने के लिए मतदान किया. पंद्रह अमेरिकी राज्यों और कोलंबिया जिले ने गांजे के मनोरंजक उपयोग को वैध बना दिया है, वहीं अमेरिका के 30 से अधिक राज्यों ने औषधीय प्रयोजनों के लिए गांजे के प्रयोग की अनुमति दी है.

थैंक्स गिविंग वीक पर भांग की बिक्री रिकॉर्ड स्तर पर पहुंच जाती है

थैंक्स गिविंग वीक पर अमेरिका में भांग की बिक्री रिकॉर्ड स्तर पर पहुंच जाती है. गांजे पर लगे संघीय प्रतिबंध के कारण बहुत बार राज्य सरकारों के साथ टकराव की स्थिति पैदा होती है और गांजे के पौधे के व्यापार से जुड़ी कंपनियों की बैंकिंग सेवाओं और वित्तपोषण तक पहुंच को सीमित करता है.
डेमोक्रेटिक बहुमत वाले सदन ने गांजे पर लगे संघीय प्रतिबंध को हटाने के लिए वोटिंग की लेकिन बहुत से रिपब्लिकन सांसदों ने इस कानून का विरोध कर रहे हैं. जब तक डेमोक्रेट्स जार्जिया सीनेट की दोनों सीटें नहीं जीत लेते तब तक इस कानून को अमली जामा नहीं पहनाया जा सकेगा.
इस बिल से होंगे आर्थिक लाभ

गांजे पर प्रतिबंध हटने के बाद इसके प्रयोग करने वालों पर किसी तरह की क़ानूनी कार्यवाही बंद हो जाएगी और गांजे के अन्य उत्पादों पर 5 टैक्स लगाया जायेगा. एक डेमोक्रेट और कांग्रेस के कैनबिस कॉकस के सह अध्यक्ष अर्ल ब्लूमेनॉयर ने बहस में कहा कि यह कानून देश भर में गांजे को को वैध नहीं करता है बल्कि राज्य सरकारों की कार्यवाही में संघीय सरकार के हस्तक्षेप को कम करेगा. इस विधेयक के आर्थिक पक्ष पर बोलते हुए उन्होंने कहा कि इसके कारण राजस्व बढ़ेगा जो उन समुदायों के विकास में मदद करेगा जो इन कानूनों से सबसे ज्यादा प्रभावित होते हैं.
रिपब्लिकन रिप्रेजेंटेटिव डेबी लेस्को ने डेमोक्रेट्स के इस कदम को अविश्वसनीय बताते हुए कहा कि डेमोक्रेट्स कोरोनावायरस महामारी के बाजए गांजे को क़ानूनी जामा पहनाने में ज्यादा रूचि ले रहे हैं.
एक डेमोक्रेट और कांग्रेस के कैनबिस कॉकस के सह अध्यक्ष अर्ल ब्लूमेनॉयर ने बहस में कहा.  (news18.com)


05-Dec-2020 4:19 PM 19

इस्लामाबाद, 5 दिसंबर | इस्लामाबाद हाईकोर्ट ने पाकिस्तानी सरकार द्वारा जारी किए गए सोशल मीडिया के नए नियमों को लेकर सवाल उठाए हैं। शनिवार को यह जानकारी दी मीडिया को दी गई। द एक्सप्रेस ट्रिब्यून की रिपोर्ट के मुताबिक, कोर्ट ने शुक्रवार को हाल ही में स्वीकृत नियमों के खिलाफ पाकिस्तान बार काउंसिल (पीबीसी) द्वारा दायर याचिका पर सुनवाई की, जिसका शीर्षक 'रिमूवल एंड ब्लॉकिंग ऑफ अनलॉफूल ऑनलाइन कंटेंट (प्रोसिजर, ओवरसाइट एंड सेफगार्ड्स) रूल्स 2020' है।

पीबीसी का कहना है कि इन नियमों ने संविधान द्वारा प्रदत्त अधिकारों का उल्लंघन किया है।

इस्लामाबाद हाईकोर्ट ने चीफ जस्टिस अतहर मिनल्लाह ने अपनी असहमति जताते हुए कहा कि यदि नए नियमों ने आलोचनाओं को हतोत्साहित किया है, तो यह जवाबदेही को भी हतोत्साहित करेगा।

उन्होंने आगे कहा, "लोकतंत्र के लिए आलोचना बेहद महत्वपूर्ण है।" साथ में उन्होंने यह भी कहा कि पाकिस्तान दूरसंचार प्राधिकरण (पीटीए) द्वारा इसे प्रोत्साहित किया जाना चाहिए।

इस्लामाबाद हाईकोर्ट ने पीबीसी द्वारा उठाई गईं आपत्तियों को ध्यान में रखते हुए पीटीए को निर्देश जारी किए हैं और 18 दिसंबर को अगली सुनवाई की तारीख रखी है।

सरकार ने पिछले महीने मानवाधिकार कार्यकर्ताओं और संगठनों द्वारा आलोचना किए जाने के बावजूद सोशल मीडिया के नियमों को मंजूरी दे दी थी।(आईएएनएस)


05-Dec-2020 4:17 PM 22

बैंकॉक, 5 दिसम्बर | थाईलैंड के नाखोन सी थामाराट प्रांत में अचानक आई बाढ़ के कारण 13 लोगों के मारे जाने की खबर है। आपदा प्रबंधन अधिकारियों ने शनिवार को यह जानकारी दी।

डिपार्टमेंट ऑफ डिजास्टर प्रीवेंशन एंड मिटिगेशन की रिपोर्ट के अनुसार नाखोन में बीते कुछ दिनों से हो रही मूसलाधार बारिश के कारण आई बाढ़ में 13 ग्रामवासी मारे गए हैं।

पिछले महीने से लगातार हो रही बारिश के कारण थाईलैंड के 6 दक्षिणी राज्यों में भयानक बाढ़ आई हुई है। इसके कारण 66 जिलों के 2680 गावों के 321,057 परिवार प्रभावित हुए हैं।(आईएएनएस)
 


05-Dec-2020 2:45 PM 36

बीजिंग, 5 दिसंबर। चीन ने दक्षिण पश्चिमी सिचुआन प्रांत में मौजूद न्यूक्लियर फ्यूजन रिएक्टर का पहली बार संचालन किया. चीनी मीडिया ने शुक्रवार को यह जानकारी दी है. खास बात है कि अपने ऊंचे तापमान की क्षमता के चलते इस रिएक्टर को 'आर्टिफीशियल सन' (Artificial Sun) यानी कृत्रिम सूर्य भी कहा जा रहा है. खास बात है कि इस डिवाइस के तैयार होने से चीन के न्यूक्लियर पॉवर शोध में काफी मदद मिलेगी.

इस रिएक्टर का नाम है HL-2M रिएक्टर. यह चीन का सबसे बड़ा और आधुनिक न्यूक्लियर फ्यूजन एक्पेरिमेंटल रिसर्च डिवाइस है. वैज्ञानिकों ने उम्मीद जताई है कि यह डिवाइस स्वच्छ ऊर्जा स्रो त को पूरी तरह खोल सकती है. चीन के अखबार पीपुल्स डेली के अनुसार, यह डिवाइस गर्म प्लाज्मा (Hot Plasma) को मिलाने के लिए ताकतवर मेग्नेटिक फील्ड का इस्तेमाल करती है और 15 करोड़ डिग्री सेल्सियस तापमान पर पहुंच सकता है. यह सूर्य की कोर से औसतन 10 गुना ज्यादा गर्म हो सकता है.

अखबार के अनुसार, न्यूक्लियर फ्यूजन एनर्जी का विकास चीन की एनर्जी की जरूरतों को पूरा करने का एकमात्र तरीका नहीं है. बल्कि इससे चीन की अर्थव्यवस्था और ऊर्जा के विकास के लिए भी जरूरी है. चीनी वैज्ञानिक साल 2006 से ही छोटे न्यूक्लियर फ्यूजन रिएक्टर के विकास पर काम कर रहे हैं.

इतना ही नहीं चीन इस डिवाइस को अंतरराष्ट्रीय थर्मोन्यूक्लियर एक्पेरिमेंटल रिएक्टर पर काम कर रहे वैज्ञानिकों के साथ मिलकर काम करने की योजना बना रहा है. खास बात है कि विश्व का सबसे बड़ा न्यूक्लियर फ्यूजन रिसर्च प्रोजेक्ट फ्रांस में है. उम्मीद की जा रही है कि यह 2025 तक पूरा हो सकता है. (news18.com)


05-Dec-2020 2:16 PM 26

इस्लामाबाद, 5 दिसंबर| पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने कहा है कि उनकी सरकार इनाम और सजा की एक नई प्रणाली शुरू कर रही है, जिसके तहत भ्रष्टाचार और अनियमितताओं में लिप्त पाए जाने पर सिविल सेवकों को स्थानांतरित नहीं किया जाएगा, बल्कि बर्खास्त किया जाएगा। डॉन न्यूज ने शुक्रवार को प्रधानमंत्री हाउस में पाकिस्तान सिटीजन पोर्टल के दो साल पूरे होने पर आयोजित एक समारोह को संबोधित कर खान के हवाले से कहा, "हम भ्रष्ट नौकरशाह का अब स्थानांतरण नहीं करेंगे, बल्कि उसे बर्खास्त कर देंगे।"

प्रधानमंत्री ने 2 साल में 30 लाख शिकायतों को दर्ज करने के लिए पाकिस्तान सिटीजन पोर्टल की सराहना की। साथ ही लोगों से आग्रह किया कि वे अधिकारियों को जबावदेह बनाए रखने और अपने सशक्तीकरण के लिए इस मंच का उपयोग करें।

खान ने कहा, "मैं चाहता हूं कि ज्यादा से ज्यादा लोग इस सिटीजन पोर्टल का उपयोग करें। हम पोर्टल को और मजबूत करेंगे क्योंकि यह नागरिकों के लिए शिकायत दर्ज करने का सबसे अच्छा तरीका है। वहीं एक प्रधानमंत्री के रूप में मेरे लिए यह जानना भी आसान है कि कौन सा मंत्री या विभाग अच्छा काम कर रहा है और कौन सा नौकरशाह खराब प्रदर्शन कर रहा है।"

आधिकारिक आंकड़ों के अनुसार, 28 अक्टूबर, 2018 को लॉन्च होने के बाद से लगभग 30 लाख लोगों ने पोर्टल पर अपना पंजीकरण कराया है और इस पर 27 लाख शिकायतें दर्ज हुईं हैं, जिनमें से 25 लाख का समाधान किया जा चुका है।  (आईएएनएस)
 


05-Dec-2020 12:57 PM 25

बीजिंग, 5 दिसम्बर| चीन की एक खदान में कार्बन मोनोऑक्साइड का स्तर खतरनाक स्तर पर पहुंचने के कारण 18 लोगों की मौत हो गई जबकि एक आदमी को बचा लिया गया है। अधिकारियों ने शनिवार को इसकी जानकारी दी।

समाचार एजेंसी सिन्हुआ के मुताबिक यह दुर्घटना शुक्रवार को शाम पांच बजे योंगचुआन जिले के बंद पड़े डियाओसुइदोंग कोल माइन में घटी।

घटना के समय कामगार गड्ढे में उपकरणों को खोल रहे थे। उस समय गड्ढे में 24 मजदूर थे।

इस खदान को दो महीने पहले बंद कर दिया गया था।

बचाव कार्य जारी है जबकि दुर्घटना के कारणों का पता लगाने की कोशिश जारी है। (आईएएनएस)


05-Dec-2020 12:44 PM 50

वाशिंगटन, 5 दिसंबर | अमेरिका में कोविड-19 मामलों को लेकर एक भयावह रिकॉर्ड बना है, यहां महज 24 घंटों में 2,25,201 मामले दर्ज हुए हैं। जॉन्स हॉपकिन्स यूनिवर्सिटी के मुताबिक, महामारी शुरू होने के बाद से ये अब तक के सबसे बड़े एक-दिवसीय मामले हैं।

यूनिवर्सिटी के सेंटर फॉर सिस्टम साइंस एंड इंजीनियरिंग (सीएसएसई) ने शनिवार को अपने नए आंकड़ों में बताया कि शुक्रवार को देश में कुल मामलों की संख्या 14,343,430 हो गई है। वहीं इन्हीं 24 घंटों के दौरान देश में 2,506 नई मौतें भी हुईं, इसके बाद देश में कोरोना के कारण कुल मौतों की संख्या 2,78,605 हो गई है। दुनिया में मामलों और मौतों, दोनों की संख्या में अमेरिका शीर्ष पर है।

बुधवार को यहां 1,96,227 मामले दर्ज होने के साथ एक-दिवसीय मामले की सबसे बड़ी संख्या का विश्व रिकॉर्ड बना था। इसके अलावा रोगियों के अस्पताल में भर्ती होने की संख्या भी 100,000 से अधिक हो गई।(आईएएनएस)


05-Dec-2020 12:24 PM 17

न्यूयॉर्क 5 दिसंबर| न्यूयॉर्क में 2,08,297 कोविड-19 परीक्षण हुए जिनमें से 11,271 पॉजिटिव आए, जिनका प्रतिशत 5.41 है। मामलों के पॉजिटिव आने की यह दर एक दिन पहले के 4.84 प्रतिशत से ऊपर है। यह जानकारी गर्वनर एंड्रयू क्यूमो ने ट्वीट करके दी है।

समाचार एजेंसी सिन्हुआ ने शुक्रवार को बताया कि मई के बाद पहली बार दर 5 प्रतिशत से अधिक हुई। क्यूमो ने कहा कि राज्य की माइक्रो-क्लस्टर रणनीति के तहत फोकस क्षेत्रों में कोविड-19 परीक्षणों के पॉजिटिव आने की दर गुरुवार को 7.35 प्रतिशत थी जो कि बुधवार के 5.91 प्रतिशत से काफी ज्यादा थी। इन फोकस क्षेत्रों को छोड़कर राज्यव्यापी पॉजिटिवी दर गुरुवार को 4.79 प्रतिशत रही, जबकि एक दिन पहले यह 4.49 प्रतिशत थी।

वहीं गुरुवार को अस्पताल में 4,222 लोग थे, वहीं बुधवार को 4,063 लोग थे। क्यूमो ने चेतावनी दी थी कि मौजूदा हालातों को देखते हुए कुछ हफ्तों में यह आंकड़ा 6 हजार तक पहुंच सकता है।

गवर्नर ने एक अन्य ट्वीट में कहा, "कांग्रेस को पुनर्विचार करने से पहले राज्यों को मदद देने के लिए कोविड राहत बिल देना चाहिए। यह वो समय है जब वाशिंगटन को आगे आकर राहत देनी चाहिए।"

जॉन्स हॉपकिन्स यूनिवर्सिटी में सेंटर फॉर सिस्टम साइंस एंड इंजीनियरिंग के मुताबिक शुक्रवार दोपहर तक न्यूयॉर्क राज्य में कोरोनावायरस के कारण 34,793 मौतें हो चुकी थीं, जो देश में सबसे ज्यादा हैं।

यूएस हाउस की स्पीकर नैन्सी पेलोसी और सीनेट माइनोरिटी लीडर चक शुमर ने बुधवार को एक कांट-छांट किए गए कोविड-19 राहत बिल को सहमति देने की इच्छा का संकेत दिया है और सीनेट के मेजोरिटी लीडर मिच मैककोनेल से बातचीत में शामिल होने का आग्रह किया है।

डेमोक्रेट्स-नियंत्रित प्रतिनिधि सभा ने अक्टूबर की शुरूआत में 2.2 खरब डॉलर का राहत बिल पारित किया, लेकिन सीनेट रिपब्लिकन ने अब 500 अरब अमेरिकी डॉलर के पैकेज के लिए जोर देना शुरू किया है। (आईएएनएस)
 


05-Dec-2020 10:06 AM 15

वाशिंगटन, 5 दिसम्बर | दुनियाभर में कोरोनावायरस के कुल मामलों की संख्या 6.57 करोड़ के पार पहुंच चुकी है जबकि इस बीमारी के कारण अब तक 15.1 लाख से ज्यादा लोग अपनी जान गंवा चुके हैं। जॉन्स हॉपकिन्स यूनिवर्सिटी ने यह जानकारी दी।

अपने नवीनतम अपडेट में, यूनिवर्सिटी के सेंटर फॉर सिस्टम्स साइंस एंड इंजीनियरिंग (सीएसएसई) ने शनिवार को को खुलासा किया कि कोरोना के वर्तमान वैश्विक मामले 65,771,488 हैं जबकि 1,516,035 लोगों की मौत हो चुकी है।

सीएएसई के अनुसार, सबसे अधिक 14,343,430 मामलों और 278,605 मौतों के साथ अमेरिका दुनिया में सबसे अधिक प्रभावित देश बान हुआ है।

भारत 9,571,559 मामलों के साथ दूसरे स्थान पर है, जबकि देश में 139,188 लोगों की कोरोना से मौत हो चुकी है।

सीएसएसई के आंकड़ों के मुताबिक, 10 लाख से अधिक मामलों वाले अन्य देश ब्राजील (6,533,968), रूस (2,382,012), फ्रांस (2,321,703), ब्रिटेन (1,694,800), इटली (1,688,939), स्पेन (1,684,647), अर्जेटीना (1,454,631), कोलंबिया (1,352,607), जर्मनी (1,157,514), मेक्सिको (1,156,770), पोलैंड (1,041,846) और ईरान (1,016,835) हैं।

वर्तमान में ब्राजील 175,964 मौतों के साथ कोरोना से मौतों के मामले में दूसरे स्थान पर है।

वहीं, 20,000 से ज्यादा मौतों वाले देश मेक्सिको (108,173), ब्रिटेन (60,714), इटली (58,852), फ्रांस (54,859), ईरान (49,695), स्पेन (46,252), रूस (41,730), अर्जेटीना (39,512), कोलंबिया (37,467), पेरू (36,076) और दक्षिण अफ्रीका (21,963) हैं।

--आईएएनएस


05-Dec-2020 9:25 AM 19

दुनियाभर में तकरीबन 11 महीने से कहर बरपा रहे कोरोना वायरस की वैक्सीन जल्द ही आ जाएगी. एक साथ कई संभावित वैक्सीन पर काम चल रहा है. साथ ही सारे देश अपने हिसाब से वैक्सीन लेने की रणनीति बना रहे हैं. इस बीच इंटरनेशनल क्रिमिनल पुलिस ऑर्गेनाइजेशन ने डर जताया है कि अपराधी बड़े स्तर पर वैक्सीन को टारगेट करने वाले हैं.

इंटरपोल ने हाल ही में अपने सभी 194 देशों को इस बारे में सतर्क किया. उसका कहना है कि दुनिया के खूंखार अपराधी संगठन वैक्सीन की ताक में बैठे हैं और जैसे ही ये आम जनता को लगने की घोषणा होने लगेगी, वे काम शुरू कर देंगे. इसमें नकली वैक्सीन बेचने से लेकर वैक्सीन स्टॉक की चोरी और असल के साथ नकल की मिलावट जैसी बातें भी हो सकती हैं.

चोरी और मिलावट के अलावा ऑनलाइन खतरे भी बुरी तरह से बढ़ने वाले हैं. अपराधी तत्व इसके लिए महीनों से तैयारी कर चुके. मिरर में आई एक रिपोर्ट में इंटरपोल के सेक्रेटरी जनरल के हवाले से ये बात कही गई. सेक्रेटरी जनरल जर्गन स्टॉक कहते हैं कि जैसे देश की सरकारें वैक्सीन उत्पादन और उसके बंटवारे की तैयारी में हैं, वैसे ही इंटरनेशनल अपराधी इस सप्लाई चेन को बिगाड़ने की फिराक में हैं.
ये भी पढ़ें: कौन हैं देश की सबसे अमीर महिला Roshni Nadar, कितना धन है उनके पास?

बाजार में अभी से ही कोरोना जांच के लिए नकली टेस्ट किट आने की रिपोर्ट मिल रही है. ये खतरनाक है क्योंकि इसपर भरोसा कर मरीज अनजाने में बीमारी बढ़ा रहा है. और वैक्सीन आने के बाद इसका खतरा और बढ़ जाएगा. इसके बाद हर्ड इम्युनिटी की बात पर भरोसा कर देश अपनी सीमाएं खोल देंगे और बीमारी दोबारा तेजी से बढ़ सकती है. बता दें कि फिलहाल दुनियाभर में वैक्सीन देना एक लंबी प्रक्रिया है, जिसमें सालभर भी लग सकता है.

माना जा रहा है अपराधी वैक्सीन के साथ बड़ी हेरफेर करने वाले हैं. इंटरपोल को ऐसी वेबसाइट्स तैयार होने की जानकारी मिली है जो वैक्सीन के नाम पर जहर बेचेगी. ऐसे में देशों की साइबर सेल के पास एक बड़ा काम ऐसी साइटों की पहचान करना और लोगों को इस बारे में जागरुक करना भी होगा.

डार्क वेब वैक्सीन के आम लोगों तक लगना शुरू होने से पहले से ही सक्रिय है. वे कोरोना ठीक करने के नाम पर नकली प्लाज्मा तक बेच रहे हैं. Australian Institute of Criminology ने डार्क वेब पर इस खून की अवैध बिक्री का खुलासा किया है. अमीर लोग इसे खरीद रहे हैं ताकि वे कोरोना के लिए इम्यून हो सकें. इसके अलावा भी कोरोना से जुड़ी कई चीजों की बिक्री जोरों पर है. इसमें पीपीई भी हैं, जैसे N95 मास्क, ग्लव्स और बॉडी सूट. माना जा रहा है कि ये फैक्ट्रियों या फिर गोदाम से चुराए गए हैं. चोरी के बाद ये भारी कीमत पर डार्क नेट पर बेचे जा रहे हैं.

डार्क नेट इंटरनेट दुनिया का ऐसा सीक्रेट संसार है, जहां कुछ ही ब्राउजर के जरिए पहुंचा जा सकता है और ये सर्च इंजन में भी नहीं आता है. डार्क नेट का इस्तेमाल अक्सर अपराधी गलत कामों के लिए करते हैं. खासकर ये किसी चीज की अवैध बिक्री के लिए उपयोग होता है, जैसे नशा. अब जबकि कोरोना के कारण पूरी दुनिया परेशान है, तब डार्क नेट ज्यादा सक्रिय हो चुका है. इंटरपोल अब वैक्सीन के मामले में भी इससे डरा हुआ है.

इस बीच ये भी जानते चलें कि आखिर इंटरपोल क्या है और क्यों इसकी चेतावनी को गंभीरता से लेना चाहिए. इसका पूरा नाम इंटरनेशनल क्रिमिनल पुलिस ऑर्गेनाइजेशन है. 192 देश इसके सदस्य हैं, जिनमें से एक भारत भी है. साल 1923 में इस संगठन की स्थापना हुई थी, जिसका हेडक्वार्टर फ्रांस के लिऑन में तैयार हुआ. इसका मकसद है दुनियाभर की पुलिस इकट्ठे काम करे ताकि खूंखार और ऊंची पहुंच वाले अपराधियों को पकड़ा जा सके. मॉर्डन समय में चूंकि क्रिमिनल्स भी तकनीकों का सहारा लेकर काम करते हैं तो इंटरपोल भी तकनीकी तौर पर काफी संपन्न है.

हमें बहुतों बार इंटरपोल की मदद की जरूरत होती है, खासकर इंटरनेशनल लेवल पर तस्करी के मामलों में, बड़े स्तर के आर्थिक घपलों में, जब आरोपी देश छोड़कर भाग जाता है. ड्रग्स और नकली दवाओं के रैकेट के मामले में भी भारत कई बार इंटरपोल से मदद ले चुका है. ऐसे में इसकी चेतावनी को हल्के में नहीं लिया जा सकता. (news18)


04-Dec-2020 8:27 PM 23

बीजिंग, 4 दिसंबर| चीनी राष्ट्रीय अंतरिक्ष ब्यूरो से मिली खबर के अनुसार 3 दिसंबर की रात को 11 बजकर 10 मिनट पर छांगअ-5 एस्सेंडर ने चंद्रमा की सतह पर प्रज्वलन किया। तीन हजार न्यूटन वाले इंजन के 6 मिनट तक काम करने के बाद उसने सुचारु रूप से चंद्रमा से मिट्टी लाने वाले एस्सेंडर को चांद की कक्षा में भेजा। जिससे चीन ने पहली बार पृथ्वी को छोड़कर अन्य खगोलीय पिंड पर सफलतापूर्वक उड़ान भरी। 

विशेषज्ञों के अनुसार यह पृथ्वी पर उड़ान भरने की तरह नहीं है, छांगअ-5 के चांद की सतह पर टेकऑफ के लिये परिपक्व लॉन्च टॉवर सिस्टम मौजूद नहीं है। इसलिये लैंडर एस्सेंडर के अस्थायी टॉवर की भूमिका अदा करता है। टेकऑफ के दौरान शायद कुछ अप्रत्याशित समस्याएं पैदा होंगी। इसके अलावा क्योंकि चांद पर कोई नेविगेशन सैटेलाइट नहीं है, इसलिये भूमि पर स्थित निगरानी व नियंत्रण यंत्र की सहायता से उसे विशेष सेंसर के माध्यम से खुद पोजिशनिंग करनी पड़ती है।

उड़ान भरने से पहले लैंडर-एस्सेंडर संयोजन ने चांद की सतह पर चीन का राष्ट्रीय झंडा फहराया। फिर लैंडर व एस्सेंडर को अलग किया गया। यह पहली बार है कि चीन ने चांद की सतह पर अपने राष्ट्रीय झंडे का स्वतंत्र प्रदर्शन किया है। पृथ्वी पर वापस भेजे गये फोटो व वीडियो में यह देखा जा सकता है कि चीनी राष्ट्रीय झंडे का रंग लाल व आकर्षक है। (साभार- चाइना मीडिया ग्रुप, पेइचिंग) (आईएएनएस)


04-Dec-2020 8:18 PM 21

न्यूयॉर्क, 4 दिसंबर | भारतीय मूल के पूर्व अमेरिकी सर्जन जनरल विवेक मूर्ति के नवनिर्वाचित राष्ट्रपति जो बाइडेन की हेल्थकेयर टीम में बड़ी और अहम भूमिका के लिए चुने जाने की प्रबल संभावना है।

मूर्ति वर्तमान में बाइडेन-हैरिस ट्रांजिशन कोविड-19 टास्क फोर्स के सह-अध्यक्ष हैं।

विलमिंगटन (डेलावेयर) में बाइडेन ट्रांजिशन हेडक्वार्टर से आ रही खबरों के मुताबिक, बाइडेन द्वारा अगले सप्ताह स्वास्थ्य और मानव सेवा सचिव के लिए अपनी पसंद की घोषणा करने की उम्मीद है और मूर्ति कथित तौर पर इस पद के लिए दौड़ में आगे हैं और साथ ही सर्जन जनरल की अपनी पूर्व भूमिका के लिए एक शीर्ष पसंद हैं।

मूर्ति 15 दिसंबर, 2014 से 21 अप्रैल, 2017 तक अमेरिका के 19 वें सर्जन जनरल के रूप में काम कर चुके हैं।

अपने मृदुभाषी स्वभाव के लिए पहजाने जाने वाले, मूर्ति बेस्टसेलर 'टुगेदर : हीलिंग पॉवर ऑफ ह्यूमन कनेक्शन इन ए समटाइम्स लोनली वल्र्ड' के लेखक भी हैं।

मूर्ति को 2017 में राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप द्वारा इस्तीफा देने के लिए कहा गया था, हालांकि उन्हें 2014 में पूर्व राष्ट्रपति बराक ओबामा द्वारा चार साल के कार्यकाल के लिए नामित किया गया था।

सर्जन जनरल के रूप में सेवा करते हुए, मूर्ति ने अन्य सार्वजनिक स्वास्थ्य चुनौतियों के बीच इबोला और जीका वायरस के प्रसार का मुकाबला किया।

बाइडेन ने गुरुवार को एंथनी फौची के साथ भी बात की, जो नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ एलर्जी एंड इंफेक्शस डिजीज का नेतृत्व करते हैं।

बाइडेन ने 'सीएनएन' को बताया कि वह फौची को एक मुख्य चिकित्सा सलाहकार और अपनी कोविड-19 सलाहकार टीम का सदस्य बना रहे हैं।

--आईएएनएस


04-Dec-2020 8:01 PM 20

वाशिंगटन, 4 दिसम्बर | अमेरिकी सीनेट में अगले सप्ताह इस संबंध में मतदान होगा कि राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) को हथियारों की बिक्री करने के फैसले पर रोक लगाई जाए या नहीं। एक शीर्ष अधिकारी ने यह जानकारी दी। द हिल न्यूज वेबसाइट के मुताबिक, न्यूजर्सी के डेमोक्रेट सीनेटर बॉब मेनेंडेज ने गुरुवार को एक बयान में कहा कि वह अगले सप्ताह मतदान की उम्मीद करते हैं, जिसे वह हथियार बिक्री प्रस्तावों को नियंत्रित करने वाले नियमों के कारण रिपब्लिकन के समर्थन के बिना कर सकते हैं।

सीनेटर ने बयान में कहा, "यह तैयार है। हम इसके लिए समर्थन जुटा रहे हैं।"

घोषणा के बाद मेनेंडेज के साथ सीनेटर रैंड पॉल (रिपब्लिकन) और क्रिस मर्फी (डेमोक्रेट) ने यूएई को 23 अरब डॉलर की एफ -35 लड़ाकू जेट, सशस्त्र ड्रोन, मिसाइल और बमों की बिक्री को रोकने के लिए अस्वीकृति के चार प्रस्ताव पेश किए।

पिछले महीने, प्रशासन ने सूचित किया कि उसने संयुक्त अरब अमीरात को 10.4 अरब डॉलर का 50 एफ-35, 2.97 अरब डॉलर का 18 एमक्यू-9बी ड्रोन और 10 अरब डॉलर का एयर-टू-एयर और एयर-टू-ग्राउंड युद्ध सामग्री पैकेज के बिक्री को मंजूरी दी है।

यदि प्रत्येक डेमोक्रेट प्रस्ताव का समर्थन करते हैं तो पार्टी को 51 वोट प्राप्त करने के लिए तीन रिपब्लिकन सीनेटरों की आवश्यकता होगी।

द हिल न्यूज वेबसाइट के मुताबिक, चूंकि पॉल एक को-स्पॉन्सर हैं, जिसका अर्थ है कि उन्हें केवल दो रिपब्लिकन सीनेटरों के वोट की आवश्यकता होगी।

पिछले साल कांग्रेस ने पत्रकार और वाशिंगटन पोस्ट के स्तंभकार जमाल खशोगी की हत्या पर नाराजगी जताते हुए सऊदी अरब और यूएई को हथियारों की बिक्री को रोकने के लिए वोट किया था।

--आईएएनएस


04-Dec-2020 6:02 PM 18

पेरिस, 4 दिसंबर | फ्रांसीसी अधिकारियों ने उन मस्जिदों का निरीक्षण करना शुरू कर दिया है जिन पर उन्हें इस्लामिक कट्टरपंथ, अलगाववाद और चरमपंथ को बढ़ावा देने का संदेह है।

गृह मंत्री जेराल्ड डर्मेनिन ने इस बारे में घोषणा करते हुए कहा कि कुछ मस्जिदों को बंद किया जा सकता है अगर उन्हें आतंकवाद या अलगाववाद को बढ़ावा देते पाया गया।

यह कदम फ्रांसीसी अधिकारियों द्वारा अक्टूबर में छह महीने के लिए पेरिस के एक प्रसिद्ध मस्जिद को बंद करने के बाद आया है। हाल ही में फ्रांस में कई आतंकी हमले हुए हैं, जिसके मद्देनजर कड़े कदम उठाए जा रहे हैं। इन घटनाओं में एक चेचन शरणार्थी द्वारा एक शिक्षक सैमुएल पैटी की सिर काटकर हत्या कर देना भी शामिल है। इस मस्जिद, जिसमें लगभग 1,500 उपासक थे, ने पैटी के बारे में एक फेसबुक वीडियो पोस्ट किया था।

पैटी ने अभिव्यक्ति की आजादी को लेकर कक्षा में चर्चा के दौरान पैगंबर मुहम्मद के दो कार्टून दिखाए थे। इसे लेकर मस्जिद ने उनकी आलोचना की थी।

पैटी की हत्या के बाद, राष्ट्रपति इमैनुएल मैकों ने कहा कि फ्रांस इस्लामिक कट्टरवाद के खिलाफ अस्तित्ववाद की लड़ाई में लगा हुआ है।

पैटी की हत्या के दो हफ्ते बाद, फ्रांस के नीस शहर में एक गिरजाघर के अंदर चाकू से हमला करके तीन लोगों की हत्या कर दी गई थी।

डर्मेनिन ने कहा, "आगामी दिनों में, अलगाववाद को बढ़ावा देने के संदेहास्पद धार्मिक स्थलों का निरीक्षण किया जाएगा। जो ऐसा कर रहें होंगे उन्हें बंद कर दिया जाएगा।"

2015 के शार्ली हेब्दो हत्याकांड के बाद से फ्रांस में नवीनतम इस्लामिक आतंकवादी हमलों के कारण मैक्रों लगातार दबाव में हैं।

2015 से इस्लामिक हिंसा के कारण 240 से अधिक लोगों की मौत हो चुकी है। हमलों को लेकर विपक्ष सरकार पर लगातार निशाना साध रहा है।

आईएएनएस


Previous123456789...8283Next