छत्तीसगढ़ » बीजापुर

Date : 22-Jul-2019

शिकायत के बाद तीन पोटाकेबिन अधीक्षक हटे, सालों से एक ही जगह पर रहे पदस्थ, कलेक्टर ने की कार्रवाई 

छत्तीसगढ़ संवाददाता
बीजापुर, 22 जुलाई।
उसूर ब्लाक के पोटाकेबिनों में व्यवस्था में खामी की शिकायत व लंबे समय से एक ही जगह में पदस्थ अधीक्षकों पर कलेक्टर ने कार्रवाई करते हुए उन्हें अधीक्षकीय कार्य से हटाकर उन्हें मूल संस्था भेज दिया गया है।

राजीव गांधी शिक्षा मिशन के जिला समन्वयक बसमैया ने बताया कि पोटाकेबिन बासागुड़ा, पामेड़ व तिम्मापुर की बहुत दिनों से शिकायत थी। संस्था में व्यवस्था की खामी को देखते हुए बासागुड़ा पोटाकेबिन अधीक्षक प्रकाश पतंगी को हटाकर उन्हें उनके मूल संस्था फू तकेल प्राथमिक शाला, पामेड़ पोटाकेबिन अधीक्षक सत्यनारायण तोकल को हटाकर माध्यमिक शाला पामेड़ व तिम्मापुर अधीक्षिका ज्योति शांडिल्य को हटाकर पोटाकेबिन तिम्मापुर में पदस्थ किया गया है। श्री बसमैया ने बताया कि पामेड़ अधीक्षक सत्यनारायण तोकल आठ वर्षों से बासागुड़ा अधीक्षक प्रकाश पतंगी 6 वर्षों से और तिम्मापुर अधीक्षिका तीन वर्षों से पोटाकेबिन में अधीक्षक के पद पर रहे है। उनके कार्यकाल के दौरान बहुत बार व्यवस्था में खामी की शिकायत मिल रही थी। इसे संज्ञान में लेते हुए कार्रवाई की गई है। 

अब ये होंगे अधीक्षक
अधीक्षकों को हटाने की कार्रवाई के बाद अब नए अधीक्षकों की नियुक्ति भी कर दी गई। बासागुड़ा पोटाकेबिन में रितेश सर्वागीरी, पामेड़ पोटाकेबिन में प्रसाद चन्नम व तिम्मापुर पोटाकेबिन में श्रीमती सूर्यकांता को अधीक्षक के पद पर पदस्थ किया गया है।

 


Date : 22-Jul-2019

छद्म राष्ट्रवाद से देश का भला नहीं होगा- अल्लवारु

युवा कांग्रेस के राष्ट्रीय प्रभारी ने कार्यकर्ताओं में भरा जोश

छत्तीसगढ़ संवाददाता

बीजापुर, 22 जुलाई। हिंसक भीड़, उन्मादी भाषण व छद्म राष्ट्रवाद से देश का भला नहीं होगा। मौजूदा दौर में देश के अंदर खूबसूरत झूठ कड़वे सच पर भारी है। यह बातें युवा कांग्रेस के राष्ट्रीय प्रभारी कृष्णा अल्लवारु ने कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कही।

यहां एक दिनी प्रवास पर पहुंचे राष्ट्रीय प्रभारी कृष्णा अल्लवारु ने  जिला कांग्रेस युवा कांग्रेस महिला कांग्रेस के कार्यकर्ताओं की बैठक ली। उन्होंने कार्यकर्ताओं से कहा कि बापू के अहिंसा और बाबा साहेब के समानता वाले संविधान पर इस देश का नीव है। इसे लोगों के बीच लाना है। लोकसभा चुनाव के दौरान देश के साढ़े बारह करोड़ लोगों ने इसे समर्थन दिया है। श्री अल्लवारु ने युवाओं की ज्यादा सहभागिता पर कहा कि आप 65 फीसदी है। संविधान देश और बस्तर की मूल जियो और जीने दो की भावना को बचाने की जिम्मेदारी आप पर है। वहीं उन्होंने विधानसभा व लोकसभा चुनाव में अच्छे प्रदर्शन पर जिला कांग्रेस कमेटी की तारीफ की। साथ ही उन्होंने इस लय को आगामी पंचायत व नगरीय निकाय चुनाव में भी जारी रखना को कहा। इस दौरान प्रदेश युवा कांग्रेस के प्रभारी संतोष कोलकोंडा, जिला कांग्रेस अध्यक्ष लालू राठौर व वरिष्ठ कांग्रेस नेता बसंत ताटी ने भी कार्यकर्ताओं के समक्ष अपने विचार रखे। इस अवसर पर महामंत्री सुखदेव नाग,  ज्योति कुमार, जगबंधु मांझी, संतोष गुप्ता, श्यामू गुप्ता, महेश बेलसरिया, सम्मा हेमला, नंदू झाड़ी, हमीदा बेगम, रंजना उद्दे, कविता यादव, जानकी, सरस्वती,  गीता, अनिता, लक्ष्मण कड़ती सहित बड़ी संख्या में कांग्रेस कार्यकर्ता मौजूद रहे।


Date : 22-Jul-2019

राशनकार्ड नवीनीकरण का मंडावी ने लिया जायजा

ग्रामीणों को न हो परेशानी अफसरों को दी हिदायत

छत्तीसगढ़ संवाददाता
बीजापुर, 22 जुलाई।
बस्तर विकास प्राधिकरण के उपाध्यक्ष व बीजापुर विधायक विक्रम मंडावी ने राशन कार्डों के हो रहे नवनीकरण के काम को देखा और अफसरों से कार्य की प्रगति की जानकारी ली।साथ ही विधायक ने अफसरों को दूर दराज से आये ग्रामीणों को किसी भी तरह न होने की हिदायत भी दी।

भैरमगढ़ नगरीय निकाय क्षेत्र में चल रहे राशनकार्ड नवनीकरण कार्य का विधायक विक्रम मंडावी ने जायजा लिया।उन्होंने देखा कि दूरदराज से आगे ग्रामीण गर्मी में कार्ड बनवाने लाइन में खड़े होकर परेशान हो रहे।इसमें खासकर महिला जो अपने दुधमुहे बच्चों को लेकर कतार में खड़ी रही। उन्हें  देखकर विधायक ने अफसरों को हिदायत दी कि उनका जल्द से जल्द नवनीकरण का कार्य करें। साथ ही कर्मचारियों को निर्देश दिया कि इस कार्य में कोताही बिल्कुल भी न बरते। क्यों कि ग्रामीण दस से बाहर किलोमीटर दूर से पैदल चलकर इस काम के लिए आ रहे है। इसके बाद विधायक मंडावी टिन्डोडी पंचायत के ग्राम धुसावाडा पहुंचे।यहां उन्होंने स्कूल आश्रमों का निरीक्षण कर मौजूद शिक्षकों से संस्थाओं के संचालन की जानकारी ली। साथ ही स्कूल आश्रम के भवनों की मरम्मत का काम शीघ्र कराए जाने का आश्वासन दिया।


Date : 21-Jul-2019

जवान की मौजूदगी पर सीबीआई अफसरों ने जताया खेद
पीडि़त अभी अड़े हैं गांव में ही बयान दर्ज कराने, आप नेत्री ने समझाने की बात कही
सोनी सोढ़ी ने भी जताया ऐतराज, अगस्त में होगा बयान
छत्तीसगढ़ संवाददाता
बीजापुर, 21 जुलाई।
एड़समेटा में बातचीत के दौरान एक जवान के वहां पत्रकार बता मौजूद रहने पर सीबीआई की अफ सर सारिका जैन ने गांव के लोगों के सामने खेद जताया और इधर, याची एवं आप नेत्री सोनी सोढ़ी ने भी इस पर गहरा ऐतराज जताते विरोध किया है। 

सूत्रों के मुताबिक सीबीआई टीम ने एड़समेटा में ग्रामीणों से मुलाकात के बाद अगस्त में गंगालूर में आकर बयान देने कहा है। आप नेत्री सोनी सोढ़ी के मुताबिक सुप्रीम कोर्ट ने बयान के दौरान किसी भी पुलिस के जवान की मौजूदगी पर सख्त पाबंदी लगाई थी लेकिन एक जवान शुक्रवार को सीबीआई टीम के आसपास खुद को पत्रकार बताकर मौजूद था। यही नहीं, वह टीम और ग्रामीणों के बीच हो रही बातचीत के दौरान भी था। आप नेत्री के मुताबिक जब टीम लौट रही थी, तो गांव की महिलाओं ने उस व्यक्ति का जूता देख पहचाना और उसे पकड़कर सीबीआई के सामने लाया। तब उस व्यक्ति ने कबूल किया कि वह जवान है। तब टीम लीडर सारिका जैन ने ग्रामीणों से खेद जताते कहा कि अभी बयान नहीं हो रहा है। सोनी सोढ़ी ने भविष्य में बयान के दौरान इस पर बात खास गौर करने का आग्रह सीबीआई से किया है। हालांकि आप नेत्री ने कहा कि मीडियाकर्मियों के बारे में कोर्ट ने उनके रहने या नहीं रहने के बारे में कोई जिक्र नहीं किया है। 

कदम काबिले ए तारीफ
याची सोनी सोढ़ी ने एक महिला सीबीआई अफ सर के एड़समेटा जैसे अंदरूनी गांव में पैदल जाने को काबिल ए तारीफ  बताते कहा कि वहां जाना ही हिम्मत का काम है। पहाड़ी रास्तों पर उन्हें मीलों पैदल चलना पड़ा। उन्होंने विधायक विक्रम मण्डावी और एसपी दिव्यांग पटेल का भी आभार मानते कहा कि सारी सुविधाएं टीम को दी गईं। किसी प्रकार की कोई दिक्कत नहीं आई। 

फिर आएगी टीम
सूत्रों के मुताबिक सीबीआई की टीम फि र से अगस्त में आएगी। शुक्रवार को गंगालूर पहुंचते टीम को रात हो गई थी। टीम रात में गंगालूर में ही रूकी और सुबह जिला मुख्यालय आई। 

फि र वह लौट गई। आप नेत्री ने बताया कि अगस्त में गंगालूर में बयान लेने की नोटिस पीडि़त परिवारों को दी गई है लेकिन इसका ये कहकर विरोध किया जा रहा है कि बयान गांव में ही हो। सोनी सोड़ी ने पत्रकारों को बताया कि वे गंगालूर में आकर बयान देने के लिए ग्रामीणों को समझाएंगी क्योंकि अंदरूनी गांव जाना सीबीआई अफ सरों को परेशानी में डालने वाला होता है। इसके अलावा कंप्यटर टाइपिंग आदि की सुविधा भी गांव में नहीं है। 

 


Date : 20-Jul-2019

जवान की मौजूदगी पर सीबीआई अफ सरों ने जताया खेद

पीडि़त अभी अड़े हैं गांव में ही बयान दर्ज कराने, आप नेत्री ने समझाने की बात कही

सोनी सोढ़ी ने भी जताया ऐतराज, अगस्त में होगा बयान

छत्तीसगढ़ संवाददाता
बीजापुर, 20 जुलाई।
एड़समेटा में बातचीत के दौरान एक जवान के वहां पत्रकार बता मौजूद रहने पर सीबीआई की अफ सर सारिका जैन ने गांव के लोगों के सामने खेद जताया और इधर, याची एवं आप नेत्री सोनी सोढ़ी ने भी इस पर गहरा ऐतराज जताते विरोध किया है। 

सूत्रों के मुताबिक सीबीआई टीम ने एड़समेटा में ग्रामीणों से मुलाकात के बाद अगस्त में गंगालूर में आकर बयान देने कहा है। आप नेत्री सोनी सोढ़ी के मुताबिक सुप्रीम कोर्ट ने बयान के दौरान किसी भी पुलिस के जवान की मौजूदगी पर सख्त पाबंदी लगाई थी लेकिन एक जवान शुक्रवार को सीबीआई टीम के आसपास खुद को पत्रकार बताकर मौजूद था। यही नहीं, वह टीम और ग्रामीणों के बीच हो रही बातचीत के दौरान भी था। आप नेत्री के मुताबिक जब टीम लौट रही थी, तो गांव की महिलाओं ने उस व्यक्ति का जूता देख पहचाना और उसे पकड़कर सीबीआई के सामने लाया। तब उस व्यक्ति ने कबूल किया कि वह जवान है। तब टीम लीडर सारिका जैन ने ग्रामीणों से खेद जताते कहा कि अभी बयान नहीं हो रहा है। सोनी सोढ़ी ने भविष्य में बयान के दौरान इस पर बात खास गौर करने का आग्रह सीबीआई से किया है। हालांकि आप नेत्री ने कहा कि मीडियाकर्मियों के बारे में कोर्ट ने उनके रहने या नहीं रहने के बारे में कोई जिक्र नहीं किया है। 

कदम काबिले ए तारीफ
याची सोनी सोढ़ी ने एक महिला सीबीआई अफ सर के एड़समेटा जैसे अंदरूनी गांव में पैदल जाने को काबिल ए तारीफ  बताते कहा कि वहां जाना ही हिम्मत का काम है। पहाड़ी रास्तों पर उन्हें मीलों पैदल चलना पड़ा। उन्होंने विधायक विक्रम मण्डावी और एसपी दिव्यांग पटेल का भी आभार मानते कहा कि सारी सुविधाएं टीम को दी गईं। किसी प्रकार की कोई दिक्कत नहीं आई। 

फिर आएगी टीम
सूत्रों के मुताबिक सीबीआई की टीम फि र से अगस्त में आएगी। शुक्रवार को गंगालूर पहुंचते टीम को रात हो गई थी। टीम रात में गंगालूर में ही रूकी और सुबह जिला मुख्यालय आई। 

फि र वह लौट गई। आप नेत्री ने बताया कि अगस्त में गंगालूर में बयान लेने की नोटिस पीडि़त परिवारों को दी गई है लेकिन इसका ये कहकर विरोध किया जा रहा है कि बयान गांव में ही हो। सोनी सोड़ी ने पत्रकारों को बताया कि वे गंगालूर में आकर बयान देने के लिए ग्रामीणों को समझाएंगी क्योंकि अंदरूनी गांव जाना सीबीआई अफ सरों को परेशानी में डालने वाला होता है। इसके अलावा कंप्यटर टाइपिंग आदि की सुविधा भी गांव में नहीं है। 

 


Date : 20-Jul-2019

लकड़ी तस्करी, वाहन जब्त चौखट और दरवाजे बरामद

छत्तीसगढ़ संवाददाता
बीजापुर/भोपालपटनम, 20 जुलाई।
भोपालपटनम रेंज में तारूड़ और फारेस्ट बेरियर के बीच गष्त पर निकले वनकर्मिंयों ने शुक्रवार की रात करीब साढ़े 10 बजे एक महिन्द्रा पिक अप वाहन से 38 हजार की लकड़ी बरामद की। ये इमारती लकड़ी तेलंगाना ले जाई जा रही थी।

एसडीओ फ ारेस्ट अशोक पटेल ने बताया कि रेंजर कोटेश्वर राव चापड़ी रात में गश्त पर थे, तभी तारलागुड़ा रोड में तारूड़ के पास एक पिक अप को भोपालपटनम की ओर से आते देखा गया और उसे रोका गया। तलाशी लेने पर इसमें 70 इमारती लकडिय़ा पाई गईं। ये चौखट व दरवाजे के फ्र ेम बनाने के लिए ले जाई जा रही थीं। इसकी कीमत करीब 38 हजार रूपए आंकी गई है। एसडीओ अशोक पटेल ने बताया कि वन कर्मियों ने 0.5 घनमीटर लकड़ी को बरामद कर लिया। पिक अप वाहन को भी डिपो लाया गया।  चित्तूर जिला मुलगू तेलंगाना निवासी आरोपी नुकल वेंकटेश्वर ही वाहन मालिक है और वहीं लकड़ी की तस्करी कर रहा था। वाहन राजसात की कार्रवाई की जा रही है। इस कार्रवाई में रेंजर कोटेश्वर राव चापड़ी के साथ एटी शैलेष व चौकीदार मौजूद थे। 

 


Date : 20-Jul-2019

मोदी सरकार का चरित्र किसान व गरीब विरोधी-विक्रम

केन्द्र की नीतियों के खिलाफ  कांग्रेस ने दिया धरना

छत्तीसगढ़ संवाददाता
बीजापुर, 20 जुलाई।
बस्तर विकास प्राधिकरण के उपाध्यक्ष एवं स्थानीय विधायक विक्रम शाह मण्डावी ने मोदी सरकार पर किसानों से छलावा और गरीबों के पेट पर चोट करने का आरोप लगाते कहा कि केन्द्र छग की जनता पर आर्थिक चोट करने पर आमादा है, लेकिन कांग्रेस की भूपेश सरकार नहीं डिगेगी। 

विधायक विक्रम मण्डावी यहां जिला कांग्रेस कमेटी की ओर से  केन्द्र सरकार की नीतियों के खिलाफ  आयोजित एक दिनी धरने को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि छग में केन्द्र ने केरोसिन में 38 फ ीसदी की कटौती की है, जबकि छग खासकर बस्तर और सरगुजा के गांवों में लोगों को बिजली नहीं होने से केरोसीन की ज्यादा जरूरत होती है। इसी तरह धान के सर्मथन मूल्य में केन्द्र अपना हिस्सा नहीं दे रही है और गरीबों को राशन दुकानों से दिए जाने वाले चावल में भी कटौती की है। 
इस मौके पर प्रदेश कांग्रेस सचिव अजय सिंह ने कहा कि छग से केन्द्र का सौतेला व्यवहार कतई बर्दाष्त नहीं किया जाएगा।  कांग्रेस जिलाध्यक्ष लालू राठौर ने कहा कि 2500 समर्थन मूल्य से किसान का एक-एक दाना धान भूपेश सरकार ने अपने वादे के मुताबिक खरीदा और अब छग के किसानों को मोदी सरकार धोखा दे रही है। 

पूर्व जिला पंचायत उपाध्यक्ष मिच्चा मुतैया ने मोदी सरकार की नीतियों की जमकर आलोचना की। कार्यक्रम का संचालन जिला पंचायत सदस्य कमलेश कारम ने किया। सभा को कांग्रेस जिला उपाध्यक्ष जगबंधु मांझी एवं जनपद सदस्य श्रीमती रत्ना सोढ़ी, युवक कांग्रेस जिलाध्यक्ष एजाज खान ने भी संबोधित किया। इस अवसर पर रेंगा नागेश, सुकलू पूनेम, ज्योति कुमार, सुखदेव नाग, कुषाल खान, वीरेन्द्र ठाकुर समेत बड़ी संख्या में कांग्रेसी मौजूद थे। कांग्रेसियों ने लाईवलीहुड कॉलेज से कलेक्टोरेट तक रैली निकाली और राष्ट्रपति के नाम एक ज्ञापन एसडीएम एआर राना को सौंपा। 


Date : 20-Jul-2019

शासन दोनों अधिकारियों से मुआवजे की राशि वसूलने के लिए स्वतंत्र 

छत्तीसगढ़ संवाददाता
बिलासपुर, 20 जुलाई।
चुनाव के दौरान एसडीएम से विवाद के बाद जेल भेज दिये शिक्षक की मौत के मामले में हाईकोर्ट ने शासन को 15 लाख रुपये मुआवजा देने का आदेश दिया है। मुआवजे के दो-दो लाख रुपये माता-पिता को, 6 लाख रुपये पुत्र को तथा 5 लाख रुपये पुत्री को दिये जाएंगे। 

घटना सन् 2009 के लोकसभा चुनाव की है। चार अप्रैल 2009 को चुनाव को लेकर मुंगेली के तत्कालीन एसडीएम ने पथरिया में कर्मचारियों की बैठक बुलाई थी। इसमें उपस्थित शिक्षा कर्मी विजय कुमार डड़सेना (32 वर्ष) का बैठक स्थल में अव्यवस्था को लेकर एसडीएम से विवाद हो गया। एसडीएम ने उसे गिरफ्तार करने का आदेश दिया। पुलिस ने उस पर धारा 151, 107-16 दर्ज कर गिरफ्तार कर लिया। इसके बाद उसे पथरिया तहसीलदार के न्यायालय में पेश किया। धारा 151 जमानती धारा है लेकिन तहसीलदार ने उसे जेल भेजने का आदेश दे दिया। जेल भेजे जाने के बाद उसके परिवार के लोगों को नियमानुसार सूचना भी नहीं दी गई। उसके पिता रामखिलावन ने बेटे के तीन दिन तक घर नहीं लौटने पर तलाश शुरू की। तब उन्हें पता चला कि उनके बेटे को केन्द्रीय जेल बिलासपुर भेजा गया है। जेल में भेजे जाने पर पता चला कि उसे सिम्स चिकित्सालय में भर्ती कराया गया है। वहां पहुंचने पर उसे अपने बेटे की लाश मिली। शिक्षक विजय डड़सेना के साथ बुरी तरह मारपीट की गई थी। उसके शरीर पर कई जगह गंभीर चोट के निशान थे। 

बेटे की मौत के लिए जिम्मेदार लोगों पर कार्रवाई और मुआवजे की मांग को लेकर पिता ने हाईकोर्ट में याचिका दायर की। 10 साल की लम्बी लड़ाई के बाद कोर्ट ने शिक्षक के परिवार को दो माह के भीतर 15 लाख रुपये मुआवजा देने का आदेश शासन को दिया है। विलम्ब करने पर नौ प्रतिशत की दर से ब्याज भी देना होगा। कोर्ट ने यह भी कहा है कि शिक्षक को जेल भेजने वाले एसडीएम और तहसीलदार से शासन चाहे तो इस रकम की वसूली कर सकती है। 

 


Date : 20-Jul-2019

एड़समेटा काण्ड-सीबीआई टीम पैदल पहुंची, घायलों और मृतकों के परिजनों से की बात
मीडिया से दूरी बनाई और लगाई फोटोग्राफी पर पाबंदी
छत्तीसगढ़ संवाददाता
बीजापुर, 20 जुलाई।
यहां से करीब तीस किमी दूर गंगालूर थाना क्षेत्र के एड़समेटा में हुई मुठभेड़ की जांच करने सीबीआई की टीम पैदल पहुंची और बयान लिए। इस कार्यवाही से मीडियाकर्मियों को दूर रखा गया और फोटो के अलावा वीडियोग्राफी पर भी पाबंदी लगा दी गई। 

कड़ी सुरक्षा में सीबीआई अफसर सारिका जैन की अगुवाई में चार सदस्यीय टीम जिला मुख्यालय से दोपहर गंगालूर पहुंची और फिर यहां से सात किमी दूर दो पहाडिय़ों के अलावा तीन पहाड़ी नालों को पार कर ष्षाम करीब चार बजे पहुंची। सीबीआई अफसरों ने पहले ही मीडियाकर्मियों को बता दिया था कि वे इस बारे में कोई भी जानकारी नहंी देंगे। एड़समेटा में उन्होंने पत्रकारों को फोटोग्राफी और वीडियोग्राफी करने से मना कर दिया। सुबह से ही गांव के लोग गांव से करीब एक किमी गुड़ी (देवस्थल) के समीप घटनास्थल पर एकत्र हो गए थे। मौसम साफ था इसलिए किसी को ज्यादा दिक्कत नहीं हुई।

 सीबीआई की टीम बुधवार की रात को ही जिला मुख्यालय आ गई थी। गुरूवार को इस टीम ने जिला मुख्यालय में अफसरों से चर्चा की । ष्षुक्रवार को सीबीआई के अफसर गंगालूर थाने गए और वहां केस से जुड़े मामलों को देखा। सीबीआई की टीम मृतक सोनू की रिश्तेदार पूनेम सनकी, मृतक कारम पदेगा एवं मृतक उवके छोटे भाई कारम बदरू के रिष्तेदार बण्डी कारम, मृतक पाण्डू के पुत्र  कारम कमलू, मृतक मासा कारम की मां कारम सोमली, मृतक बुधराम की पत्नी सोमली कारम,घायल कारम छोटू , पूनेम सोमलू, कारम आयतू एवं कारम सन्नू के अलावा कुछ और लोगों के बयान दर्ज किया जा रहे हैं। सीबीआई की टीम शुक्रवार की देर शाम तक गंगालूर नहीं पहुुंची थी। 

ये है मामला 
17 मई 2013 को सर्चिंग के दौरान   एड़समेटा में सुरक्षाबलों और नक्सलियों की कथित मुठभेड़ हुई थी। इसमें तीन नाबालिग समेत आठ लोगों की मौत हुई थी। इसमें तब ग्रामीणों ने कहा था कि वे बीज पण्डुम मनाने देवस्थल में जमा हुए थे जबकि फोर्स का कहना कि यहां नक्सलियों ने पुलिस पर हमला किया था। इस मामले की जांच के लिए एसआईटी का गठन किया गया था। फिर याची डिग्रीप्रसाद, हाईकोर्ट के वकील किषोर नारायण एवं आप नेत्री सोनी सोढ़ी ने सुप्रीम कोर्ट से इस मामले की सीबीआई जांच की गुहार लगाई थी। 

 


Date : 19-Jul-2019

एड़समेटा काण्ड : सीबीआई टीम पैदल पहुंची, घायलों और मृतकों के परिजनों से की बात

मीडिया से दूरी बनाई और लगाई फोटोग्राफी पर पाबंदी

छत्तीसगढ़ संवाददाता
बीजापुर, 19 जुलाई।
यहां से करीब तीस किमी दूर गंगालूर थाना क्षेत्र के एड़समेटा में हुई मुठभेड़ की जांच करने सीबीआई की टीम पैदल पहुंची और बयान लिए। इस कार्यवाही से मीडियाकर्मियों को दूर रखा गया और फोटो के अलावा वीडियोग्राफी पर भी पाबंदी लगा दी गई। 

कड़ी सुरक्षा में सीबीआई अफसर सारिका जैन की अगुवाई में चार सदस्यीय टीम जिला मुख्यालय से दोपहर गंगालूर पहुंची और फिर यहां से सात किमी दूर दो पहाडिय़ों के अलावा तीन पहाड़ी नालों को पार कर ष्षाम करीब चार बजे पहुंची। सीबीआई अफसरों ने पहले ही मीडियाकर्मियों को बता दिया था कि वे इस बारे में कोई भी जानकारी नहंी देंगे। एड़समेटा में उन्होंने पत्रकारों को फोटोग्राफी और वीडियोग्राफी करने से मना कर दिया। सुबह से ही गांव के लोग गांव से करीब एक किमी गुड़ी (देवस्थल) के समीप घटनास्थल पर एकत्र हो गए थे। मौसम साफ था इसलिए किसी को ज्यादा दिक्कत नहीं हुई।

 सीबीआई की टीम बुधवार की रात को ही जिला मुख्यालय आ गई थी। गुरूवार को इस टीम ने जिला मुख्यालय में अफसरों से चर्चा की । ष्षुक्रवार को सीबीआई के अफसर गंगालूर थाने गए और वहां केस से जुड़े मामलों को देखा। सीबीआई की टीम मृतक सोनू की रिश्तेदार पूनेम सनकी, मृतक कारम पदेगा एवं मृतक उवके छोटे भाई कारम बदरू के रिष्तेदार बण्डी कारम, मृतक पाण्डू के पुत्र  कारम कमलू, मृतक मासा कारम की मां कारम सोमली, मृतक बुधराम की पत्नी सोमली कारम,घायल कारम छोटू , पूनेम सोमलू, कारम आयतू एवं कारम सन्नू के अलावा कुछ और लोगों के बयान दर्ज किया जा रहे हैं। सीबीआई की टीम शुक्रवार की देर शाम तक गंगालूर नहीं पहुुंची थी। 

ये है मामला 
17 मई 2013 को सर्चिंग के दौरान   एड़समेटा में सुरक्षाबलों और नक्सलियों की कथित मुठभेड़ हुई थी। इसमें तीन नाबालिग समेत आठ लोगों की मौत हुई थी। इसमें तब ग्रामीणों ने कहा था कि वे बीज पण्डुम मनाने देवस्थल में जमा हुए थे जबकि फोर्स का कहना कि यहां नक्सलियों ने पुलिस पर हमला किया था। इस मामले की जांच के लिए एसआईटी का गठन किया गया था। फिर याची डिग्रीप्रसाद, हाईकोर्ट के वकील किषोर नारायण एवं आप नेत्री सोनी सोढ़ी ने सुप्रीम कोर्ट से इस मामले की सीबीआई जांच की गुहार लगाई थी। 

 


Date : 18-Jul-2019

एडसमेटा मुठभेड़ जांच, सीबीआई पहुंची बीजापुर

छत्तीसगढ़ संवाददाता
बीजापुर, 18 जुलाई।
एडसमेटा में कथित मुठभेड़ के मामले में सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद सीबीआई की टीम जांच के लिए बीजापुर पहुंच गई है। सीबीआई की चार सदस्यीय टीम आज सुबह गंगालूर थाना क्षेत्र स्थित एडसमेटा के लिए रवाना हुई। वह पीडि़त परिवार वालों के साथ ही ग्रामीणों के बयान लेगी। इसके साथ ही मुठभेड़ में शामिल जवानों से भी इस मामले को लेकर सवाल-जवाब किया जा सकता है। जांच टीम दिनभर में जांच पूरी करने के बाद  आज  शाम तक वापस जगदलपुर पहुंच जाएगी।  
गौरतलब है कि 17-18 मई को सीआरपीएफ की फायरिंग में 3 नाबालिग समेत 8 लोगों की मौत हुई थी, जिसके बाद सीआरपीएफ पर फर्जी मुठभेड़ का आरोप लगा था।

ग्रामीणों का कहना था कि वे त्यौहार मनाने इक_ा हुए थे और उनके ऊपर सीआरपीएफ के जवानों ने अंधाधुंध फायरिंग कर दी थी, जिसके बाद मामले में एसआईटी जांच के आदेश दिये गए थे। एसआईटी की सुस्त कार्रवाई को देखते हुए सुप्रीम कोर्ट ने मामले की जांच के आदेश सीबीआई को दिया था।

 


Date : 16-Jul-2019

महाविद्यालय में शिक्षकों की कमी, 200 छात्राओं पर 4 शिक्षक, पढ़ाई में आ रही दिक्कत का असर रिजल्ट पर 

बीजापुर, 16 जुलाई। शासकीय शहीद वेंकट राव महाविद्यालय की स्थिति इन दिनों बेहद ही दयनीय बनी हुई है। यहां 200 स्टूडेंट के लिए चार नियमित शिक्षक ही है्र जो छात्रों के लिए नाकाफ ी है। कॉलेज में शिक्षकों की कमी का असर सीधे तौर पर छात्रों के रिजल्ट पर पड़ रहा है।

महाविद्यालय में भूगोल, अर्थशास्त्र, राजनीति विज्ञान, वनस्पति विज्ञान, जंतु विज्ञान, रसायन शास्त्र, हिंदी, अंग्रेजी जैसे विषय मे छात्र-छात्राएं प्रवेश लेते है लेकिन इन छात्रों को पता ही नहीं होता है कि कॉलेज में इन विषयों को अध्यन कराने वाले शिक्षक ही मौजूद नहीं है। विज्ञान के शिक्षक चंदन कुमार झा ने बताया कि यहां पर 100 से ज्यादा स्टूडेंट विज्ञान विषय के है और मैं अकेला ही शिक्षक हूं और इतने सारे छात्रों को अध्यापन का कार्य कराने में काफ ी मशक्कत करनी पड़ती है। जब संविदा के शिक्षक अध्यन कराने आते है तो उनके ऊपर भी हमे मेहनत करनी पड़ती है ताकि वह बच्चों को अच्छी तरह से अध्यन करा संके।

सविंदा शिक्षकों से पढऩे को मजबूर हंै स्टूडेंट . 
हर साल 200 से ज्यादा छात्र-छात्राएं कॉलेज में दाखिला लेते है जो शिक्षक अध्यापन का कार्य कराते है वे खुद ही सीखने की उम्र में होते है। अध्यापन का अनुभव न होने के कारण स्टूडेंट शिक्षकों से अध्यन पर ध्यान नहीं दे पाते। जिस कारण हर साल महाविद्यालय का रिजल्ट काम चलाऊ रहता है।  

कॉलेज में चौकीदार, बाबू भी नहीं 
शहीद वेंकट राव महाविद्यालय में सिर्फ  शिक्षकों की कमी ही नहीं बल्कि बाबू, चौकीदार की भी कमी है। बाबू नहीं होने से बाबू का काम भी शिक्षकों को करना पड़ता है। चौकीदार नहीं होने से कॉलेज की सुरक्षा पर भी सवालिया निशान खड़े होते है। 

कॉलेज के शिक्षक दो साल से किराये पर बाहर रहने को मजबूर 
महाविद्यालय के शिक्षकों को रहने के लिए जिला प्रशासन द्वारा कॉलेज कैंपस में आवास तो बना दिये गए है पर पानी और बिजली की सुविधा नहीं होने के कारण शिक्षक बाहर किराये पर रहने को मजबूर है। अब देखना दिलचस्प होगा कि जिला प्रशासन इस कॉलेज की दयनीय स्थिति में कब तक सुधार कर पाता है।


Date : 16-Jul-2019

6वीं अनुसूची लागू करने आवाज बुलंद करेगा आदिवासी समाज
अगस्त की तैयारियों की समीक्षा को लेकर बैठक 21 को 
ब्लाक व जिला स्तर पर होनी है आमसभा व रैली
छत्तीसगढ़ संवाददाता
बीजापुर, 16 जुलाई।
सर्व आदिवासी समाज द्वारा 9 अगस्त को विश्व आदिवासी दिवस को हर्षोल्लास पूर्वक मनाने व तैयारियों की समीक्षा के लिए आगामी 21 जुलाई को स्थानीय गोंडवाना भवन में दोपहर 2 बजे बैठक आयोजित की गई है। जिसमें आदिवासी समाज के प्रमुखों, सदस्यों को उपस्थित होने की अपील की गई है। उक्त जानकारी सर्व आदिवासी समाज के प्रवक्ता सुशील हेमला ने विज्ञप्ति जारी कर दी है।

श्री हेमला ने बताया कि अनुसूचित जनजाति अधिकारी, कर्मचारी संघ के अध्यक्ष डॉ बीआर पुजारी ने बीजापुर जिले के सभी अनुसूचित जनजाति के शासकीय सेवकों से 21 जुलाई के बैठक में अनिवार्य रूप से शामिल होने के लिए अपील किया है और कहा है कि पूर्व के संघर्षों व निरन्तर मांगों के अनुरूप इस वर्ष शासन द्वारा 9 अगस्त विश्व आदिवासी दिवस पर छुट्टी घोषित किया गया है। इस लिए अधिकाधिक संख्या में लोग शामिल होंवे। श्री हेमला ने बताया कि 5वीं अनुसूची को कड़ाई से लागू करने में शासन स्तर पर नीतियां स्पष्ट नहीं है। सर्व आदिवासी समाज शासन-प्रशासन से 5वीं अनुसूची को कड़ाई से पालन करने व 6वीं अनुसूची लागू करने, लौह खदान निक्षेप क्रमांक13 नंदराज पहाड़ी बचाने, जिले के आदिम समुदाय के देव स्थलों के संरक्षण संवर्धन करने, वन अधिकार पट्टा देने, पेशा एक्ट लागू करने व 10 फ रवरी को वीर शहीद गुण्डाधुर की शहादत दिवस पर अवकाश घोषणा की मांग करता है। सुशील हेमला ने बताया कि 9 अगस्त विश्व आदिवासी दिवस को बीजापुर जिले के सभी विकास खंड मुख्यालय भोपालपटनम, उसूर व भैरमगढ़ सहित जिला मुख्यालय बीजापुर में रैली व आम सभा की जाएगी। इसके तैयारियों की समीक्षा के लिए 21 जुलाई को बैठक किया जाएगा।


Date : 16-Jul-2019

थाने के सामने बिक रहा था गांजा, एक साल बाद पुलिस ने पकड़ा, छापेमार कार्रवार्ई में ढाई किलो गंजा सहित आरोपी पड़ाया

छत्तीसगढ़ संवाददाता
बीजापुर, 16 जुलाई।
जिला मुख्यालय में कोतवाली के सामने से गांजा बेचने वाले एक आरोपी सहित ढाई किलो गांजा पुलिस ने पकड़ा है। पुलिस की माने तो आरोपी करीब एक साल से यहां धंधा कर रहा था।

नगर निरीक्षक चन्द्रशेखर बारीक के मुताबिक आरोपी गोनेट पापैया निवासी विजय नगर के घर से पुलिस ने मुखबीर की सूचना पर छापेमार कार्रवाई करते हुए ढाई किलो गांजा बरामद किया है। जिसकी कीमत 10 हजार रुपये बताई गई है। 

टीआई बारीक ने आशंका व्यक्त की है कि आरोपी करीब एक साल से यह धंधा कर रहा था। तीन-चार माह पूर्व भी पुलिस को मुखबीर से गांजा बेचे जाने की सूचना मिली थी। तब छापामार कार्रवाई में आरोपी के घर से कुछ भी बरामद नहीं हुआ था। कल फि र से मुखबीर से पुख्ता सूचना के बाद पुलिस ने रेड किया तो आरोपी गोनेट पापैया के घर से ढाई किलो गांजा बरामद कर जब्त किया गया। 

टीआई ने बताया कि धारा 20 बी एनडीपीएस नारकोटिक्स के तहत मामला कायम कर आरोपी को दंतेवाड़ा जेल भेज दिया गया है। इधर थाने के सामने गांजा बेचने की खबर ने शहर में लोगों के बीच चर्चा का विषय बन गया है।


Date : 12-Jul-2019

नक्सलियोंं ने की पटवारी की पिटाई, ग्रामीणों का फार्म भरवाने इतामपारा पंचायत गए थे  

छत्तीसगढ़ संवाददाता
बीजापुर, 12 जुलाई।
भैरमगढ़ तहसील के इतामपारा पंचायत में बीते दिनों माओवादियों ने एक पटवारी की बेरहमी से पिटाई कर दी। माओवादियों की पिटाई से पटवारी को काफ ी चोट आई है। ग्रामीणों के निवेदन के बाद माओवादियों ने पटवारी को छोड़ दिया है।

सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक बुधवार की सुबह भैरमगढ़ तहसील के हल्का नम्बर 15 के पटवारी सुरजू राम अपने एक साथी के साथ प्रधानमंत्री सम्माननिधि योजना का फ ार्म ग्रामीणों से भरवाने ग्राम पंचायत इतामपारा गए हुए थे। यहां उनके पहुंचते ही कुछ माओवादी उनके पास आ धमके और उनकी आँख में पट्टी बांधकर उन्हें जंगल की ओर ले गए। माओवादियों ने यहां उनकी डंडों से बेरहमी से पिटाई कर दी। माओवादियों के मार से पटवारी सुरजू को गंभीर चोट पहुंची है। ग्रामीणों हस्तक्षेप के बाद माओवादियों ने पटवारी को छोड़ दिया, तब उन्हें भैरमगढ़ लाया गया। यहां उनका उपचार किया गया। माओवादियों ने यह घटना को अंजाम क्यों दिया इसका कारण अज्ञात है। घटना की रिपोर्ट भी अब तक दर्ज नहीं कराई गई है जबकि उक्त घटना की जानकारी उच्चाधिकारियों को भी है।  

 


Date : 11-Jul-2019

जिस स्कूल में पढ़े विधायक विक्रम आज वहीं छात्राओं को बांटी साइकिल

भैरमगढ़ एकलव्य गुरुकुल विद्यालय पहुंच देखी व्यवस्था

छत्तीसगढ़ संवाददाता
बीजापुर, 11 जुलाई।
भैरमगढ़ के जिस स्कूल से पढ़ाई पूरी कर निकले विधायक विक्रम मंडावी गुरुवार को उसी स्कूल में पहुंच कर बच्चों से मुलाकात की और छात्राओं को साइकल वितरण किया।

शासकीय उच्चत्तर माध्यमिक विद्यालय भैरमगढ़ में एक कार्यक्रम के लिए पहुंचे बस्तर विकास प्राधिकरण के उपाध्यक्ष व क्षेत्रीय विधायक विक्रम मंडावी ने यहां शिक्षकों व छात्र-छात्राओं को संबोधित करते हुए कहा कि आज का दिन उनके लिए खास है। क्यों कि जिस स्कूल से वे पढ़कर निकले है। आज उसी स्कूल में पहुंचकर वे छात्रों को संबोधित कर रहे है।
 श्री मंडावी ने कहा कि उन्होंने इसी स्कूल से 8 से 12 तक की शिक्षा ली है लेकिन तब के और अब के शिक्षा में काफ ी अंतर है। आज जो शिक्षा और सुविधा आप लोगों को स्कूल में मिल रही है। उस समय ऐसा नहीं था। उन्होंने बच्चों को अच्छी शिक्षा ग्रहण करने की पैरवी करते हुए उनके उज्जवल भविष्य की कामना की। साथ ही विधायक मंडावी ने कहा कि शिक्षा के क्षेत्र में किसी भी तरह की अड़चन या कमी आने नहीं दी जाएगी। उन्होंने यहां छात्राओं को साइकिल का वितरण किया। 

इसके बाद विधायक विक्रम मंडावी भैरमगढ़ स्थित एकलव्य गुरुकुल विद्यालय के निरीक्षण पर पहुंचे। यहां पहुंचकर उन्होंने बच्चों से मुलाकात की और टीचरों से पढ़ाई व व्यवस्था की जानकारी ली। उन्होंने लैब और लाइब्रेरी का यहां जायजा भी लिया। इस अवसर पर नगर पंचायत के पूर्व अध्यक्ष सुखदेव नाग, नगर पंचायत उपाध्यक्ष लव कुमार रायडू, पार्षद जागेन्द्र देवांगन, ब्लाक कांग्रेस अध्यक्ष लच्छुराम मौर्य, आईटी सेल के जिला अध्यक्ष मोहित चौहान मौजूद थे।

 


Date : 08-Jul-2019

फेडरेशन ने मुख्यमंत्री के नाम विधायक को सौंपा ज्ञापन

छत्तीसगढ़ संवाददाता                                                         
बीजापुर, 8 जुलाई।
छग सहायक शिक्षक फेडरेशन जिला बीजापुर के शिक्षकों ने अपनी चार सूत्रीय मांगों का ज्ञापन मुख्यमंत्री के नाम क्षेत्रीय विधायक को सौंपा।

रविवार को विधायक विक्रम मंडावी के गृह निवास भैरमगढ़ में पहुंचकर फेडरेशन के पदाधिकारियों व सदस्यों ने जन घोषणा के संदर्भ में अपनी चार सूत्रीय मांगों का ज्ञापन सौंपा गया। ज्ञापन में प्रमुख रूप से वर्ष बंधन समाप्त कर सभी का संविलियन, 10 वर्ष पूर्ण कर चुके शिक्षको को उच्चतर क्रमोन्नत वेतनमान, सहायक शिक्षकों की वेतन विसंगति व शिक्षाकर्मियों के आश्रितों को अनुकम्पा नियुक्ति शामिल है। इसके अलावा विधायक विक्रम मंडावी को स्थानीय समस्याओं से भी अवगत कराया गया। इस पर विधायक ने मांगों को मुख्यमंत्री से चर्चा कर जल्द पूरा कराने का आश्वासन दिया। 

उक्त मांगों को लेकर जिला संयोजक पुरुषोत्तम झाड़ी ने बताया कि मुख्यमंत्री द्वारा हमारी मांगों को शीघ्र ही  पूरा नहीं किया जाता है तो संघ के निर्णय अनुसार आगामी 15 जूलाई को विधानसभा का घेराव किया जायेगा। इस अवसर पर मुख्य रूप से जिला संयोजक पुरुषोत्तम झाड़ी, महेश शेट्टी, कुश रायडू, गोपाल कृष्ण पांडे, संजीव अवस्थी, मोहसिन खान, जोगेश जंगम, सुरेश राजपूत, चन्द्रभान निषाद, कमलनारायण कुंजाम, दिनेश टांडिया, बारीक चंद्र समरथ, गोरेलाल नायक, विक्रम ठाकुर, यशवंत देवांगन, रूपसिंग ठाकुर, अशोक मिंज, चुन्नीलाल गागड़ा, लक्ष्मीनारायण सेन उपस्थित थे।