छत्तीसगढ़ » बीजापुर

Date : 11-Nov-2019

कांग्रेेसियों ने निकाली जंगी रैली, केन्द्र के खिलाफ बोला हल्ला, किसानों का नहीं उद्योगपतियों की हिमायती है केंद्र सरकार, छग को आर्थिक चोट देने लगी मोदी सरकार-विधायक विक्रम शाह मण्डावी 

छत्तीसगढ़ संवाददाता
बीजापुर, 11 नवंबर।
बस्तर विकास प्राधिकरण के उपाध्यक्ष एवं स्थानीय विधायक विक्रम शाह मण्डावी ने आरोप लगाया है कि केन्द्र की मोदी सरकार छग को आर्थिक चोट देने में लगी है ताकि भूपेश सरकार किसानों से ढाई हजार रूपए क्विंटल में धान ना खरीद सके और किसान मौजूदा सरकार के खिलाफ  हो जाए। विक्रम मण्डावी ने कहा कि केन्द्र का ये फैसला सियासी है और उसे किसानों से नहीं बल्कि उद्योगपतियों से सरोकार है। 

केन्द्र की ओर से छग में ढाई हजार रूपए के समर्थन मूल्य पर धान खरीदी की मंजूरी को लेकर जिला कांग्रेस कमेटी ने यहां लाइवलीहुड कॉलेज के सामने सोमवार को एक दिनी धरना दिया। बड़ी संख्या में जिले के कोने-कोने से आए कांग्रेसियों और किसानों को संबोधित करते विधायक विक्रम मण्डावी ने कहा कि ऐसा मोदी सरकार इसलिए कर रही है क्योंकि अगले चुनाव में भूपेश सरकार से किसान खफ ा हो जाए,  लेकिन ऐसा नहीं होगा। केन्द्र से राशि नहीं आने की दशा में छग सरकार कर्ज लेकर भी किसानों से ढाइ्र्र हजार रूपए में धान लेगी। ये भूपेश सरकार का वादा और दावा है।

 इस मौके पर प्रदेश कांग्रेस महासचिव एवं जिले के प्रभारी सत्तार अली ने कहा कि किसानों को उनका अधिकार मिलेगा। इसके लिए दिल्ली भी कूच करेंगे। मोदी सरकार छग की अर्थव्यवस्था को विचलित करने की कोशिश में है। भूपेश सरकार किसानों की हितैषी है। 

प्रदेश सचिव अजय सिंह ने कहा कि ढाई हजार रूपए में धान खरीदी करने से भाजपा के पेट में दर्द हो रहा है। मोदी सरकार किसानों का हक छीनने में लगी है। सभा को एआईसीसी मेंबर नीना रावतिया उद्दे, ंिजला पंचायत उपाध्यक्ष शंकर कुडिय़म, अशोक तलाण्डी, सरिता वाचम एवं अन्य नेताओं ने भी संबोधित किया। इस मौके पर वक्ताओं ने सेन्ट्रल पूल में 32 लाख मेट्रिक टन चावल की खरीदी की मांग करते कहा कि छग को 1960  करोड़ रूपए की जीएसटी क्षतिपूर्ति राशि मुहैया कराई जानी चाहिए। मनरेगा के तहत छग में विभिन्न कामों के 300 करोड़ रूपए की मजदूरी लंबित है। इस आबंटित किया जाना चाहिए। इसके अलावा वक्ताओं ने किसान सम्मान निधि की राशि 729 करोड़ के आबंटन की मांग रखी।

 कांग्रेसियों ने वन अधिकार भूमि पट्टा वितरण से रोक हटाने, पीडीएस से घासलेट की कटौती वापस लेने अपिव की छात्रवृत्ति पर से भी रोक हटाने की मांग की। सभा के बाद मेन रोड पर एक जंगी रैली निकाली गई। इसमें बड़ी संख्या में किसान शामिल हुए। सभा में मुख्य रूप से लालू राठौर, सालिगराम नागवंशी, रमेश पामभोई, संतोष गुप्ता, पुरूषोत्तम सल्लूर, जेठूराम आजाद, लच्छूराम मौर्य, लक्ष्मी कुरसम, सुकलू पुनेम, मंगल राना, सुकदेव नाग, सहदेव नेगी, सोमारू नाग,सोनमति ताटी एवं बड़ी संख्या में कांग्रेसी मौजूद थे। 

 


Date : 11-Nov-2019

15 साल बाद गोरना के जंगल में क ख ग घ की गूंज, गांव में खुली शाला, बच्चों ने देखी स्कूल की सूरत

छत्तीसगढ़ संवाददाता
बीजापुर, 11 नवंबर।
यहां से छह किमी दूर गोरना गांव में 15 साल बाद प्राथमिक शाला खुली और इस पहुंच विहीन घनघोर जंगल में एक बार फिर क ख ग घ की गूंज सुनाई पड़ी।

बताया गया है कि इस गांव में 2004 में स्कूल बंद हो गया था और फिर 2005 में सलवा जुड़ूम की हिंसा के चलते इसे खोला नहीं गया। बस्तर विकास प्राधिकरण के उपाध्यक्ष व स्थानीय विधायक विक्रम शाह मंडावी और कलेक्टर केडी कुंजाम की खास दिलचस्पी से यहां स्कूल खुलने का मार्ग प्रशस्त हो सका। इसे जल्द खोलने में बीईओ मो. ज़ाकिर खान के अलावा सीएसी दिलीप दुर्गम व राजेश मिश्रा की अहम भूमिका थी। 

सोमवार को इसका विधिवत लोकार्पण हुआ। 55 बच्चों का दाखिला पहले ही दिन हो गया। यहां गांव के ही युवा सुरेश कुरसम व सोनुराम हपका को दस हजार की तनख्वाह पर ज्ञानदूतों के तौर पर पदस्थ किया गया। इनका कहना है कि गांव के ही स्कूल में पढ़ाना सौभाग्य की बात है। उन्होंने कहा कि स्कूल से गांव में शिक्षा का माहौल बनेगा। बच्चों की जि़ंदगी को नई दिशा मिलेगी। इस अवसर पर बीईओ मो ज़ाकिर खान, सीएसी दिलीप दुर्गम, राजेश मिश्रा, राजेश सिंह, लोकेश्वर चौहान, विजयेन्द्र भदौरिया, रमन झा, किरण कावरे और गांव के लोग मौजूद थे।

खुद तान दी झोपड़ी
गांव के ही लोगों ने खुद आगे आकर शाला के लिए झोपड़ी बना दी और छत पर ताढ़ के पत्ते डाल दिए। शिक्षा विभाग की ओर से टाटपट्टी, लेखन पठन सामग्री, थाली, ब्लैकबोर्ड, खेल सामग्री आदि मुहै्या कराए गए। मध्याह्न भोजन भी पहले ही दिन से शुरू हो गया।

पढ़ाई से दूर हो गए थे
15 साल से गांव के बच्चे शिक्षा से वंचित थे। कुछ ही बच्चे शहर जाकर पढ़ सके। इस वज़ह से सोमवार को 14 बरस तक के भी कुछ बच्चों ने दाखिला लिया। गांव की नई पौध अब शिक्षित हो सकेगी।


Date : 07-Nov-2019

मुठभेड़, जवान शहीद, पामेड़ थानाक्षेत्र के झारपल्ली के जंगलों में मुठभेड़ हुई थी

छत्तीसगढ़ संवाददाता

बीजापुर, 7 नवंबर। कल देर रात बीजापुर पुलिस-नक्सली मुठभेड़ में एक जवान शहीद हो गया। प्रभारी एसपी गोवर्धन ठाकुर ने बताया कि पामेड़ थानाक्षेत्र के झारपल्ली के जंगलों में मुठभेड़ हुई थी। जिसमें सीआरपीएफ 151 बटालियन का जवान कांताप्रसाद घायल हो गया था जिसने चेरला के कालीपेरु में इलाज के दौरान दम तोड़ दिया। 


Date : 06-Nov-2019

बरसों बाद बहेगी गांवों में शिक्षा की बयार, 14 साल बाद खुल गए 12 स्कूल, ज्ञानदूतों की नियुक्ति, डॉक्टर और शिक्षकों की कमी नहीं होगी-अग्रवाल

छत्तीसगढ़ संवाददाता
बीजापुर, 6 नवम्बर।
जिले में सलवा जुडूम की हिंसा के चलते चौदह साल पहले बंद स्कूलों को खोलने कर प्रकिया शुुरू कर दी है और फि लहाल अभी 12 स्कूलों को खोल दिया गया है। बुधवार को यहां आला नेताओं और अफ सरों की मौजूदगी में ज्ञानदूतों की नियुक्ति की गई। 

यहां कलेक्टोरेट परिसर में राजस्व मंत्री जयसिंह अग्रवाल, सांसद दीपक बैज, बस्तर विकास प्राधिकरण के उपाध्यक्ष एवं विधायक विक्रम शाह मण्डावी के अलावा कलेक्टर केडी कुुंजाम की मौजूदगी में इसकी औपचारिक घोषणा की गई। एक समारोहपूर्वक आयोजन में राजस्व एवं जिले के प्रभारी मंत्री जयसिंह अग्रवाल ने इसे अच्छी पहल बताते विधायक एवं कलेक्टर को धन्यवाद दिया। 

प्रभारी मंत्री ने कहा कि जिले में डॉक्टरों और शिक्षकों की नियुक्ति में राशि की कमी नहीं आने दी जाएगी। डीएमएफ  से इसकी व्यवस्था की जाएगी। स्कूलों के फिर से खुलने से सुखद परिणाम सामने आएंगे। सीएम भूपेश बघेल की भी यही सोच है कि बीजापुर सरीखे जिलों का तेजी से विकास हो। इस मौके पर विधायक विक्रम मण्डावी ने कहा कि जिले में कुछ कारणों से करीब 250 स्कूल बंद हो गए थे। इन्हें एक-एक कर शुरू किया जा रहा है। ज्ञानदूत के रूप में गांव के ही पढ़े लिखे युवाओं की नियुक्ति की जा रही है।

 विधायक विक्रम मण्डावी ने कहा कि स्पोट्र्स अकादमी के बच्चों ने देश विदेश में नाम कमाया है। वे खेल जारी रखें  और उन्हें हर सुविधा दी जाएगी। इस अवसर पर कलेक्टर केडी कुंजाम ने कहा कि अंदरूनी गांव के लोग खुद स्कूल खुलवाने की मांग को लेकर आ रहे हैं। सोच बदली है और यहीं विकास का पैमाना है। अब ऐसे अंदरूनी गांवों में शिक्षा का माहोल तैयार होगा। इस मौके पर ज्ञानदूतों को नियुक्ति पत्र दिए गए। अच्छा प्रदर्शन करने वाले खिलाडिय़ों को भी सम्मानित किया गया। कार्यक्रम का संचालन बीईओ मो जाकिर खान ने किया। 

इस अवसर पर एसपी गोवर्धन ठाकुर, जिला पंचायत के सीईओ पोषणलाल चंद्राकर, डीएफ ओ बीके साहू, एसडीएम डॉ हेमेन्द्र भूआर्य, जिला पंचायत उपाध्यक्ष शंकर कुडिय़म, सदस्य श्रीमती नीना रावतिया उद्दे, कमलेशर कारम, कांग्रेस नेता लच्छू राम एवं बड़ी संख्या में शिक्षक एवं विद्यार्थी मौजूद थे। 


Date : 05-Nov-2019

गाय के संरक्षण और गाय से किसानों को आर्थिक लाभ होने वाले विषय को लेकर स्थानीय किसान और सामाजिक कार्यकर्ताओं ने गौ ग्राम स्वावलंबन अभियान के तहत कार्यक्रम का आयोजन

प्रधानमंत्री व मुख्यमंत्री के नाम 5 सूत्रीय मांगों का ज्ञापन कलेक्टर केडी कुंजाम को सौंपा

छत्तीसगढ़ संवाददाता
बीजापुर, 5 नवंबर।
गाय के संरक्षण और गाय से किसानों को आर्थिक लाभ होने वाले विषय को लेकर  स्थानीय किसान  और सामाजिक कार्यकर्ताओं ने गौ ग्राम स्वावलंबन अभियान के तहत जिला मुख्यालय के जनपद पंचायत भवन के सामने कार्यक्रम का आयोजन किया। कार्यक्रम उपरांत प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी व मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के नाम 5 सूत्रीय मांगों का ज्ञापन कलेक्टर केडी कुंजाम को सौंपा गया। 

गौ ग्राम स्वावलंबन अभियान का शुभारंभ गौ माता की पूजा और आरती कर कार्यक्रम की शुरुआत की गई। इस दौरान सभा को संबोधित करते हुए मुख्य वक्ता महेंद्र नायक ने कहा कि भारत की रीढ़ की हड्डी है गाय। किसान गाय के माध्यम से खेतों में अनाज उत्पन्न करते हैं। देश में अधिकतर 70 प्रतिशत किसान खेती करते हैं। गाय में संपत्ति का भंडार है। गाय के गोबर से लेकर गोमूत्र तक उपयोगी है। आज हर कोई शॉर्टकट पद्धति से अपना काम कर रहे हैं। जिसका दुष्परिणाम आज निकल के सामने आ रहा है। 

गायत्री परिवार के सदस्य राजपूत ने कहा कि गौमाता के गोबर और गोमूत्र से कई प्रकार की बीमारियों का समाधान किया जा सकता है। प्राचीन समय में मेडिकल साइंस जब नहीं था तब गाय के गोबर और गोमूत्र से ही दवाई और लेप बना कर इलाज कर छोटी-छोटी बीमारियों के लिए उपयोग करते थे।

 रविशंकर शुक्ला ने कहा कि 9 महीना तक माता का दूध पीने के बाद ही गाय का दूध पीते हैं और बड़े होते हैं। गौ माता की सेवा करनी चाहिए। गौमाता में 64 कोटि के देवी देवता विराजते हैं। गौमाता बच्चों से लेकर बड़ों तक के लिए लाभदायक और उपयोगी सामान देती है।

सहसंयोजक नंदकिशोर राना ने कहा कि खेतों में भारी मात्रा में रासायनिक खादों व दवाईयों के उपयोग से जहां भूमि कठोर व बंजर हो रही हैं, वहीं उसमें ली जाने वाले फसले ंखर्चीली हो रही है तथा अनेकों प्रकार की बीमारियों का प्रमुख करण बना हुआ है। भारतीय नस्ल के गाय की गोबर व गोमूत्र से बनने वाली जैविक खाद से उक्त समस्या का समाधान निकाला जा सकता हैं तथा जनता को कर्ज व अनावश्यक खर्च से बचाया जा सकता है।

इस अवसर पर वन मंत्री महेश गागड़ा, नपाध्यक्ष भगवती पुजारी, नपा उपाध्यक्ष घासीराम नाग, जिपं सदस्य सुमन कोरसा, सिरोज विश्वकर्मा भुवन सिंह चौहान रमेश मांझी अजीत लंबाडी तिरुपति कटला व गायत्री परिवार के सदस्य, आर्ट ऑफ लिविंग के परिवार, सरस्वती मंदिर के परिवार सहित सैकड़ों की संख्या में ग्रामीण मौजूद थे ।


Date : 04-Nov-2019

इंद्रावती नदी के सतवा घाट में डोंगी पलटने से बही दोनों महिलाओं का शव राजस्व अमला और नगर सैनिकों के रेस्क्यू ऑपरेशन के बाद सतवा घाट से 2 किमी दूर बांगोली घाट में दबा मिला


बीजापुर, 4 नवंबरनेलसनार से लगे इंद्रावती नदी के सतवा घाट में शनिवार को डोंगी पलटने से बही दोनों महिलाओं का शव राजस्व अमला और नगर सैनिकों के रेस्क्यू ऑपरेशन के बाद सोमवार सुबह सतवा घाट से 2 किमी दूर बांगोली घाट में दबा मिला। शव मिलने की खबर लगते ही क्षेत्रीय विधायक विक्रम मंडावी घटना स्थल पहुंचे और पंचायती श्रद्धांजलि योजना के तहत मृतकों के परिजनों को दो-दो हजार की सहायता प्रदान की। वहीं विधायक मंडावी ने अंतिम संस्कार के लिए अपनी ओर से मृतकों के परिजनों को स्वेच्छा राशि दी। इस दौरान नीना रावतिया उद्दे, शंकर कुडियम, सुखदेव नाग, मोहित चौहान, लव कुमार रायडू, जागेन्द्र देवांगन सहित राजस्व अमला व नगर सैनिक उपस्थित थे। (विस्तृत समाचार पेज 12 पर)

 


Date : 04-Nov-2019

किसान हस्ताक्षर अभियान के प्रभारियों व सहप्रभारियों की नियुक्ति, केंद्र की मोदी सरकार किसान विरोधी - राठौर 

छत्तीसगढ़ संवाददाता
बीजापुर, 4 नवंबर।
जिला कांग्रेस कमेटी बीजापुर के अध्यक्ष लालू राठौर ने कहा कि छत्तीसगढ़ सरकार की घोषणा अनुसार राज्य के किसानों के धान का समर्थन मूल्य 2500 प्रति क्विंटल पर क्रय करने का निर्णय शासन द्वारा लिया गया है। किंतु राज्य शासन की मांगों के विपरीत केंद्र की मोदी सरकार द्वारा धान क्रय पर बोनस दिए जाने पर प्रतिबंध लगा दिया गया और छत्तीसगढ़ राज्य और किसानों से सौतेला व्यवहार करते हुए किसान विरोधी मानसिकता का परिचय दिया है। केंद्र की मोदी सरकार के अडिय़ल रवैए के बाद भी प्रदेश में  भूपेश बघेल की सरकार किसानों से किया वादा निभाते हुए किसानों से धान का समर्थन मूल्य 2500 में ही आगामी 1 दिसम्बर से खऱीदी कर रही है।

 श्री राठौर ने आगे बताया कि केंद्र की मोदी सरकार द्वारा किसानों और राज्य सरकार के प्रति नकारात्मक रवैये के कारण छत्तीसगढ़ प्रदेश कांग्रेस द्वारा केंद्र सरकार के किसान विरोधी रवैये का विरोध विभिन्न चरणों में करने का निर्णय लिया गया है। जिसके तहत जिला कांग्रेस कमेटी बीजापुर द्वारा ब्लाक स्तर पर किसान हस्ताक्षर अभियान चलाया जाएगा। इसके लिए ब्लाक स्तर पर किसान हस्ताक्षर अभियान के प्रभारियों एवं सहप्रभारियों की नियुक्ति की गई है। जिसमें प्रमुख रूप से भोपालपटनम ब्लाक के लिए प्रभारी बस्तर क्षेत्र आदिवासी विकास प्राधिकरण के उपाध्यक्ष एवं विधायक विक्रम शाह मंडावी एवं सह प्रभारी ब्लाक कांग्रेस के अध्यक्ष रमेश पामभोई, भैरमगढ़ के लिए प्रभारी सदस्य बस्तर क्षेत्र आदिवासी विकास प्राधिकरण एवं सदस्य जिला पंचायत बीजापुर की नीना रावतिया उद्दे एवं सहप्रभारी ब्लाक कांग्रेस कमेटी भैरमगढ़ के अध्यक्ष लच्छुराम मौर्य, बीजापुर ब्लाक के लिए प्रभारी जिला कांग्रेस कमेटी के महामंत्री सुखदेव नाग एवं सहप्रभारी जिला कांग्रेस कमेटी के प्रवक्ता  जगबंधु माँझी, उसूर ब्लाक के लिए प्रभारी सदस्य जिला पंचायत बीजापुर के बसंत ताटी एवं सहप्रभारी श्री सुकलू पुनेम, कुटरु ब्लाक के लिए प्रभारी जिला पंचायत सदस्य कमलेश कारम एवं सहप्रभारी ब्लाक कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष सोमारु नाग को नियुक्त किया गया है। 

इसी तरह गंगालूर ब्लाक के लिए जिला पंचायत बीजापुर के उपाध्यक्ष  शंकर कुडियाम एवं सहप्रभारी ब्लाक कांग्रेस अध्यक्ष गंगालूर के अध्यक्ष मंगल राना को नियुक्त किया गया है। ये सभी प्रभारीगण एवं सहप्रभारीगण अपने अपने ब्लाक में बूथ स्तर पर किसानों एवं आमजनो का हस्ताक्षर अभियान चलाते हुए हस्ताक्षर युक्त पत्र 10 नवम्बर तक जिला मुख्यालयों तक एवं 11 नवम्बर को जिला मुख्यालय से प्रस्थान कर 12 नवम्बर तक प्रदेश कांग्रेस कार्यालय के मुख्यालय तक पहुँचने के उपरांत 13 नवम्बर को प्रदेश कांग्रेस मुख्यालय से एआईसीसी मुख्यालय नई दिल्ली के लिए सड़क मार्ग से प्रस्थान करेंगे।


Date : 04-Nov-2019

डोंगी पलटने से बही दोनों महिलाओं का मिला शव शनिवार को नदी पार जा रहे थे साप्ताहिक बाजार

बीजापुर, 4 नवंबर। भैरमगढ़ ब्लॉक के नेलसनार से लगे इंद्रावती नदी के सतवा घाट में शनिवार को डोंगी पलटने से बही दोनों महिलाओं का शव राजस्व अमला और नगर सैनिकों के रेस्क्यू ऑपरेशन के बाद सोमवार सुबह सतवा घाट से 2 किलोमीटर दूर बांगोली घाट में दबा मिला।

बता दें कि शनिवार को बेलनार पोलोड़वाया से एक छोटी सी लकड़ी की डोंगी में बैठकर 8   ग्रामीण तुमनार साप्ताहिक बाजार आ रहे थे। इसी बीच इंद्रावती नदी के सतवा घाट में डोंगी अनियंत्रित होकर पलट गई। डोंगी पलटने से सभी बहने लगे। इनमें छह ग्रामीण किसी तरह बच गए। लेकिन दो महिलाएं नदी के तेज बहाव में बह गई थी। शनिवार से रेस्क्यू टीम द्वारा बही महिलाओं की खोज-बीन की जा रही थी। लापता महिलाओं में टिंगरी वेकको और गल्ले कोरसा थी, उनका शव आज सुबह सतवा घाट से दो किमी दूर घटना के 46  घंटे बाद बांगोली घाट में दबा मिला।

इस दौरान रेस्क्यू टीम में नगर सैनिक, राजस्व अमला में नायब तहसीलदार जुगल किशोर पटेल, पटवारी श्रवण कुमार गुप्ता, पटवारी बीरा रामनारायण आदि मौजूद रहे। नायब तहसीलदार ने मृतकों के परिजनों को 4-4 लाख का मुआवजा स्वीकृत की है।

दोनों महिलाओं के शव की खबर लगते ही क्षेत्रीय विधायक विक्रम मंडावी स्वयं घटना स्थल पहुंचे और पंचायती श्रद्धांजलि योजना के तहत मृतको के परिजनों को दो दो हजार रुपये की सहायता प्रदान की। वही विधायक मंडावी ने अंतिम संस्कार के लिए अपनी ओर से मृतकों के परिजनों को स्वेछा राशि दी। इस दौरान वहां नीना रावतिया उद्दे, शंकर कुडियम, सुखदेव नाग, मोहित चौहान, लव कुमार रायडू, जागेन्द्र देवांगन सहित राजस्व विभाग से नायब तहसीलदार जुगल किशोर पटेल, पटवारी श्रवण कुमार गुप्ता, पटवारी वीरा रामनारायण व नगर सैनिक उपस्थित थे।


Date : 04-Nov-2019

भारतीय बालिका जूनियर सॉफ्टबॉल में चयनित कविता अब चीन में दिखाएगी दमखम, चार राष्ट्रीय प्रतियोगिता में खेल चुकी है

 छत्तीसगढ़ संवाददाता
बीजापुर, 3 नवंबर।
भारतीय बालिका जूनियर सॉफ्टबॉल में चयनित हुई कविता का 100 खिलाडिय़ों में चयन हुआ है। वे 3 नवंबर को दिल्ली से चीन के लिए रवाना होंगी। कविता चीन में आयोजित प्रतियोगिता में अपने खेल का दमखम दिखाएगी। 

बीजापुर जिले के छोटे से गांव पुसगुड़ी में रहने वाली कविता दिल्ली से चीन के ग्वांगझू के लिए रवाना होगी और सॉफ्टबॉल में देश का प्रतिनिधित्व करेगी। कविता के कोच बीजापुर स्पोर्ट्स एकेडमी के हेड कोच सोपान ने बताया कि कविता ढाई सालों से स्पोर्ट्स अकैडमी में रहकर सॉफ्टबॉल खेल रही है। कविता ने अब तक 4 नेशनल प्रतियोगिता में भाग लिया है। कविता ने हाल ही में पंजाब में आयोजित सब जूनियर सॉफ्टबॉल राष्ट्रीय प्रतियोगिता में छत्तीसगढ़ का प्रतिनिधित्व किया था। जिसमें कांस्य पदक पर कब्जा जमाया था। जहां उन्होंने अपनी उत्कृष्ट प्रदर्शन के आधार पर भारतीय टीम के चयन प्रक्रिया में अपना नाम शामिल करवाया था। 

अब तक बीजापुर स्पोर्ट्स अकादमी के सॉफ्टबॉल खेल से 4 खिलाडिय़ों ने अंतरराष्ट्रीय स्तर पर भारतीय टीम का प्रतिनिधित्व किया है। इसमें अरुणा एवं सुनीता ने एशियन चैंपियनशिप फिलिपिंस और सुरेश हेमला ने मलेशिया में आयोजित एशियन चैंपियनशिप में भारत का प्रतिनिधित्व किया था। 

इधर कविता के भारतीय टीम में चयनित होने पर बस्तर विकास प्राधिकरण के उपाध्यक्ष व बीजापुर विधायक विक्रम मंडावी, कलेक्टर केडी कुंजाम, स्पोर्ट्स एकेडमी के अध्यक्ष श्री चंद्राकर एवं एकेडमी प्रभारी हेमंत भूआर्य ने उन्हें बधाई देते हुए उनके उज्जवल भविष्य की कामना की है।