छत्तीसगढ़ » बिलासपुर

Previous12Next
14-Jul-2020 9:24 PM

बिलासपुर, 14 जुलाई। बीईसी फर्टिलाइजर संयंत्र परिसर में विधायक शैलेष पांडेय की उपस्थिति में पौधारोपण किया गया। पांडेय ने संयंत्र परिसर में हरियाली और पेड़ पौधों की समुचित व्यवस्था की प्रशंसा की। इस दौरान संयंत्र के वाइस प्रेसिडेन्ट एनएस राजू ने बताया कि पर्यावरण को हरा-भरा रखन के लिये प्रारंभ से ही काम किया जा रहा है जिससे पर्यावरण संतुलित रहे। 

इस अवसर पर सेल्स व मार्केटिंग हेड अरुण दाभड़कर, सहायक महाप्रबंधनक वर्क्स दिलीप गोवर्धन व अन्य अधिकारी कर्मचारी उपस्थित थे। 


14-Jul-2020 9:22 PM

बिलासपुर, 14 जुलाई । डॉ सी. वी. रामन विश्वविद्यालय में तकनीकी रूप से दक्षता और डॉक्यूमेंटेशन को अधिक प्रभावी बनाने के लिए पांच दिवसीय एक्सपर्ट ट्रेनिंग वेबीनार का आयोजन किया गया है। इस वेबीनार में विषय विशेषज्ञ एमएस ऑफिस, इंटरनेट, गूगल डॉक, गूगल शीट, गूगल क्लासरूम, ई लर्निंग, वीडियो रिकॉर्डिंग, वीडियो एडिटिंग, मीटिंग एप्स सहित अनेक विषयों पर जानकारी दी जा रही है। यह वेबीनार एचआर और आइक्यूएसी सेल द्वारा आयोजित किया गया है। 

विश्वविद्यालय के कुलसचिव गौरव शुक्ला ने बताया कि अब का समय प्राध्यापकों के साथ विश्वविद्यालय के अधिकारियों-कर्मचारियों और अन्य सपोर्टिंग स्टाफ के इंटरनेट सहित तकनीकी रूप से अपडेट लोगों का ही है। वही सरवाइव कर पाएगा जो तकनीकी रूप से बहुत दक्ष हो। इस एक्सपोर्ट ट्रेनिंग प्रोग्राम में अपने विषय में दक्ष विश्वविद्यालय के अधिकारी जानकारी साझा कर रहे हैं।

इस वेबिनार में डिस्टेंस एजुकेशन के डायरेक्टर अरविंद तिवारी गूगल डॉक, गूगल मीट, वीडियो एडिटिंग, वीडियो रिकॉर्डिंग सहित  विभिन्न विषयों पर जानकारी दे रहे हैं। सहायक कुलसचिव गोविंद वर्मा, अभिषेक शुक्ला, लक्ष्मीकांत तिवारी, अभिषेक शुक्ला व अमित जायसवाल प्रतिदिन कार्यालय में उपयोग होने वाले एमएस आफिस एवं सॉफ्टवेयर की जानकारी दे रहे हैं। सहायक प्राध्यापक अभिषेक पाठक व ट्रेनिंग एंड प्लेसमेंट ऑफिसर राजीव पीटर भी अनेक विषयों जानकारी देंगे। यह जानकारी सभी अधिकारी, कर्मचारी व अन्य स्टाफ के साथ विद्यार्थियों के लिए बहुत उपयोगी है। शुक्ला ने बताया कि इस अपडेशन प्रोग्राम में विश्वविद्यालय के शत-प्रतिशत अधिकारी कर्मचारी और प्राध्यापक शामिल हो रहे हैं। साथ ही साथ देश के कई राज्यों के विश्वविद्यालयों और शिक्षण संस्थानों के लोग भी बड़ी संख्या में जुड़े हैं। 
सीवीआरयू में महिला उत्पीड़न पर वेबिनार   
विश्वविद्यालय के वूमेन सेल द्वारा वूमेन हराशसमेंट इन डिजिटल स्पेस विषय पर एक वेबिनार का आयोजन किया गया। इसमें विशेषज्ञों ने डिजिटल स्पेस पर उत्पीड़न और उससे बचाव के संबंध में जानकारियां दीं। इस दौरान बरकतउल्ला विश्वविद्यालय भोपाल की विधि विभाग की डीन प्रोफेसर मोना पुरोहित ने सम्बन्धित कानूनों के बारे में जानकारी दी। साथ ही इसके बारे में विस्तार से बताया।  रायगढ़ के पुलिस साइबर सेल के इंचार्ज दुर्गेश सिंह ने साइबर अपराध और इसकी तकनीकी प्रक्रियाओं के बारे में बताया। रायगढ़ के एएसपी राजेंद्र प्रसाद ने महिलाओं के अधिकारों और उनके संरक्षण के बारे में भी जानकारी दी। यह आयोजन वूमेन सेल और डिपार्टमेंट ऑफ लॉ द्वारा आयोजित किया गया था। इस अवसर पर वूमेन सेल की अध्यक्ष डॉ. नमिता भारद्वाज, सचिव अमृता वर्मा, विधि विभाग के सहायक प्राध्यापक जे.के. पटेल सहित बड़ी संख्या में छात्राएं उपस्थित थीं। 

 


14-Jul-2020 9:21 PM

लगातार हो रहे वीआईपी दौरे, ड्यूटी कर रहे जवान

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
बिलासपुर, 14 जुलाई।
नवगठित गौरेला-पेन्ड्रा-मरवाही जिले का थाना आज तीन सिपाहियों के कोरोना संक्रमित पाये जाने के बाद सील कर दिया गया। यहां का कामकाज अब पेन्ड्रा थाने में शिफ्ट किया जा रहा है। ज्ञात हो कि मरवाही चुनाव के चलते इन दिनों जिले में लगातार वीआईपी पहुंच रहे हैं और पुलिस इनके बीच वीआईपी ड्यूटी कर रही है। 

पुलिस अधीक्षक सूरज सिंह परिहार के आदेश पर आज थाना सील किया गया। उन्होंने बताया कि रुटीन चेकअप के दौरान इन पुलिस कर्मियों के संक्रमित होने का पता चला। बाकी सभी पुलिस कर्मियों का एक सैम्पल निगेटिव पाया गया है। उल्लेखनीय है कि कोरोना संक्रमित सिपाहियों सहित किसी में भी कोरोना के लक्षण दिखाई नहीं दे रहे थे। इन सिपाहियों की प्रदेश से बाहर की कोई यात्रा भी नहीं हुई है। 

मरवाही उप-चुनाव के चलते मंत्रियों और सुरक्षा प्राप्त विभिन्न दलों के नेताओं का गौरेला-पेन्ड्रा-मरवाही जिले में लगातार दौरा हो रहा है। प्रांयः इन कार्यक्रमों में सामाजिक दूरी के नियम का उल्लंघन हो रहा है और पुलिस कर्मियों को इनके बीच ड्यूटी करनी पड़ रही है। थानों में भी फरियाद लेकर लोग पहुंचते हैं और पुलिस कर्मी उनके सम्पर्क में आते रहते हैं।

एसपी परिहार ने बताया कि गौरेला थाने के स्टाफ की कल दुबारा सैम्पलिंग लेकर रिपोर्ट ली जायेगी। निगेटिव रिपोर्ट आने के बाद उन्हें ड्यूटी पर वापस लेने का निर्णय लिया जायेगा। इसी तरह थाने को भी सैनेटाइज करने के बाद फिर से खोल दिया जायेगा। 

 


14-Jul-2020 2:08 PM

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
बिलासपुर, 14 जुलाई।
सिम्स चिकित्सालय में पदस्थ कोरोना की नोडल अधिकारी डॉ. आरती पांडेय की घरेलू सहायक कोरोना संक्रमित पाई गई हैं। इसके बाद डॉ. पांडेय और मानसिक चिकित्सालय में पदस्थ उनके पति का भी सैंपल लिया गया है। अपार्टमेंट में भी लोगों का कोरोना टेस्ट कराया जा रहा है।

चंद्रा पार्क अपार्टमेंनट स्थित डॉ. पांडेय के निवास पर काम करने वाली 30 वर्ष की घरेलू सहायक को कोरोना संक्रमित पाया गया है। उसकी कोई ट्रैवल हिस्ट्री नहीं है। बीते शुक्रवार को उनसे सर्दी, खांसी, तेज बुखार की शिकायत की थी, जिसके बाद उसका सैम्पल लिया गया था। सोमवार की शाम उसकी रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव आई। महिला के कोरोना ग्रस्त होने की खबर फैलते ही चंद्रा पार्क में हडक़म्प मच गया क्योंकि वह अपार्टमेंट के अन्य घरों में भी आती-जाती रहती थी। महिला को इलाज के लिये संभागीय कोविड अस्पताल में भर्ती कराया गया है। 

इधर डॉ. पांडेय व राज्य मानसिक चिकित्सालय में पदस्थ उनके पति डॉ. आशुतोष तिवारी का भी सैम्पल लिया गया है। दोनों होम क्वॉरंटीन पर चले गए हैं। डॉ. पांडेय के पास सिम्स के कोरोना विभाग के नोडल अधिकारी होने के साथ-साथ जनम्पर्क प्रभारी के रूप में दायित्व है। उनके क्वॉरंटीन पर चले जाने के बाद सिम्स में दूसरी व्यवस्था की जा रही है। चंद्रा पार्क में महिला के सम्पर्क में आये सभी लोगों का कोरोना टेस्ट के लिए सैम्पल लिया गया है।


13-Jul-2020 10:52 PM

'छत्तीसगढ़' संवाददाता

बिलासपुर, 13 जुलाई। चाय-चौपाल कार्यक्रम के अंतर्गत प्रदेश के लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी मंत्री गुरु रुद्र कुमार ने आज मरवाही इलाके के कई गांवों में सभाएं लीं और क्षेत्र में 14 पानी टंकियों की स्वीकृति दी।

स्व. अजीत जोगी के गांव जोगीसार के चार मोहल्लों में उन्होंने चार पानी टंकियों की मंजूरी दी। ग्राम बेलपत में भी उन्होंने टंकी निर्माण की मंजूरी दी। जिला पंचायत सदस्य शुभम् पेन्ड्रो की मांग पर मनौरा झावर, नेवरा नवापारा, गौरखेड़ा, सिवनी गांवों में पानी टंकियों का निर्माण कराया जायेगा। खोड़री में पानी टंकी का निर्माण पूरा हो गया है, जिसे उन्होंने शीघ्र प्रारंभ करने कहा।

इसके पहले मंत्री ने जिले के अधिकारियों की एक बैठक विश्राम गृह में ली और विभागीय कार्यों की समीक्षा की। उन्होंने अधिकारियों से कहा कि नल-जल योजना में किसी तरह की कोताही बर्दाश्त नहीं की जायेगी।

 

इसमे डंडे की आवश्यकता नही। पुलिस धीरज रखो। https://t.co/ejb3VfEvD6

— RK Vij, IPS (@ipsvijrk) July 14, 2020

 

सेमरा भदौरा के चाय चौपाल में जिले के प्रभारी मंत्री जयसिंह अग्रवाल भी उपस्थित थे। यहां उन्होंने लोगों की पेयजल समस्या, बीपीएल व एपीएल राशन कार्ड की समस्या आदि का समाधान करने का निर्देश दिया।  

मंत्री ने कहा कि भूपेश सरकार के कार्यों के बल पर मरवाही में पार्टी को निश्चित जीत मिलेगी। वे दुबारा फिर आयेंगे और कार्यों की प्रगति की समीक्षा करेंगे। प्रदेश कांग्रेस उपाध्यक्ष अटल श्रीवास्तव, बिलासपुर जिला कांग्रेस अध्यक्ष विजय केशरवानी,  गौरेला-पेन्ड्रा-मरवाही जिला कांग्रेस अध्यक्ष मनोज गुप्ता जिला पंचायत सदस्य राजेश्वर भार्गव सहित बड़ी संख्या में कार्यकर्ता इन कार्यक्रमों में उपस्थित रहे। बिलासपुर में रुकने पर छत्तीसगढ़ भवन में उनका स्वागत किया गया। 


13-Jul-2020 9:51 PM

'छत्तीसगढ़' संवाददाता

बिलासपुर, 13 जुलाई। सिविल लाइन पुलिस ने शहर के बाहरी इलाके में एक बड़े होटल पर दबिश देकर व्यवसायी परिवार के 21 लोगों को जुआ खेलते हुए पकड़ा है। इनमें पिता-पुत्र भी शामिल हैं। इनसे 3 लाख 51 हजार रुपये और दो दर्जन मोबाइल फोन जब्त किए गए हैं। 

सिविल लाइन थाना प्रभारी सुरेन्द्र स्वर्णकार ने बताया कि उसलापुर स्टेशन के समीप स्थित अलका एवेन्यू के भीतर स्थित रॉयल पार्क में बड़ी संख्या में इक_ा होकर जुआ खेलने की खबर मिलने पर कल रात छापा मारा गया था। टीम ने जिन लोगों को पकड़ा है उनमें से अधिकांश शहर के प्रमुख बाजारों में व्यवसायी अथवा उनके बेटे हैं। सभी के खिलाफ जुआ एक्ट के अलावा कोविड-19 को देखते हुए महामारी अधिनियम की धारा 188 के अंतर्गत भी कार्रवाई की गई है। 

पकड़े गये लोगों में रोशन डिडवानी, आकाश कुमार, अमित गुप्ता, कपिल कुकरेजा, भावेश टहिल्यानी, कान्हा चौधरी, संजय डोड़वानी, अविनाश नारवानी, जय सिरवानी, नीरज सोनी, मोहित लालवानी, सौरभ बजाज, प्रशांत कटेलिहा, महेश लालचंदानी, मंदीप गांधी, किशोर कुकरेजा, गौरव रावलानी, लखन जोनवानी, प्रवीण देवांगन, मोहन दगड़े और गुबिना सिंह शामिल हैं। 


13-Jul-2020 9:50 PM

बिलासपुर, 13 जुलाई। पूर्व विधायक व जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ (जे) के विधायक अमित जोगी ने आरोप लगाया है कि कोरोना के नाम पर स्व. अजीत जोगी की अंत्येष्टि व दशगात्र के कार्यक्रम में प्रशासन ने लोगों को उनके अंतिम दर्शन से वंचित रखा, वहीं अब सत्ताधारी दल कांग्रेस अपने राजनीतिक कार्यक्रम 'चाय पर चौपालÓ कार्यक्रम में भीड़ जुटाने के लिये गांव-गांव सरकारी अधिकारी नियुक्त कर भीड़ इक_ी करने के लिये मुनादी करा रही है और स्व. जोगी से जुड़े भोले-भाले लोगों को लॉलीपॉप देकर बलपूर्वक तोडऩे में लगी है। क्या कोरोना के डर की जगह जोगी ने ले ली है, जो मंत्रालय छोड़कर मंत्री मरवाही घूमने लगे हैं? यह प्रशासनिक दुरुपयोग व अस्वस्थ राजनीति है किन्तु जोगी परिवार का मरवाही से सम्बन्ध दल तक नहीं दिलों तक है, यही हमारी ताकत है। 

 


13-Jul-2020 9:48 PM

'छत्तीसगढ़' संवाददाता
बिलासपुर, 13 जुलाई।
चाय-चौपाल कार्यक्रम के अंतर्गत प्रदेश के लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी मंत्री गुरु रुद्र कुमार ने आज मरवाही इलाके के कई गांवों में सभाएं लीं और क्षेत्र में 14 पानी टंकियों की स्वीकृति दी। 

स्व. अजीत जोगी के गांव जोगीसार के चार मोहल्लों में उन्होंने चार पानी टंकियों की मंजूरी दी। ग्राम बेलपत में भी उन्होंने टंकी निर्माण की मंजूरी दी।
 जिला पंचायत सदस्य शुभम की मांग पर मनौरा झावर, नेवरा नवापारा, गौरखेड़ा, सिवनी गांवों में पानी टंकियों का निर्माण कराया जाएगा। खोडऱी में पानी टंकी का निर्माण पूरा हो गया है, जिसे उन्होंने शीघ्र प्रारंभ करने कहा।

इसके पहले मंत्री ने जिले के अधिकारियों की एक बैठक विश्राम गृह में ली और विभागीय कार्यों की समीक्षा की। उन्होंने अधिकारियों से कहा कि नल-जल योजना में किसी तरह की कोताही बर्दाश्त नहीं की जाएगी। 

सेमरा भदौरा के चाय चौपाल में जिले के प्रभारी मंत्री जयसिंह अग्रवाल भी उपस्थित थे। यहां उन्होंने लोगों की पेयजल समस्या, बीपीएल व एपीएल राशन कार्ड की समस्या आदि का समाधान करने का निर्देश दिया।   

मंत्री ने कहा कि भूपेश सरकार के कार्यों के बल पर मरवाही में पार्टी को निश्चित जीत मिलेगी। वे दुबारा फिर आएंगे और कार्यों की प्रगति की समीक्षा करेंगे।
 इन कार्यक्रमों में प्रदेश कांग्रेस उपाध्यक्ष अटल श्रीवास्तव, बिलासपुर जिला कांग्रेस अध्यक्ष विजय केशरवानी,  गौरेला-पेन्ड्रा-मरवाही जिला कांग्रेस अध्यक्ष मनोज गुप्ता जिला पंचायत सदस्य राजेश्वर भार्गव सहित बड़ी संख्या में कार्यकर्ता उपस्थित रहे। बिलासपुर में रुकने पर छत्तीसगढ़ भवन में उनका स्वागत किया गया। 

 

 


13-Jul-2020 9:45 PM

'छत्तीसगढ़' संवाददाता
बिलासपुर, 13 जुलाई।
परम्परागत कृषि विकास योजना के अंतर्गत कोटा विकासखंड के तीन गांवों सिलदहा, भैंसाझार और बछालीखुर्द में 500 हेक्टेयर रकबे पर एचएमटी धान का जैविक उत्पादन किया जा रहा है, जिनमें 13 हजार क्विंटल धान उत्पादन की संभावना है। 

जैविक उत्पाद की ब्रांडिंग, पैकेजिंग और विपणन की व्यवस्था भी की जायेगी। खेतों में ढेचा बोनी और मथाई की गई है और जैविक उर्वरक तथा वर्मी कम्पोस्ट का प्रयोग किया जा रहा है। जैविक खेती से प्रति हेक्टेयर तीन बोरी यूरिया व 1.5 बोरी पोटाश की बचत होती है जिससे लागत पांच से छह हजार रुपये कम हो जाती है। 

कृषि उप संचालक शशांक शिंदे ने बताया कि यह योजना पिछले साल से लागू है। इसका उद्देश्य हानिकारक रसायनों का फसलों में इस्तेमाल रोकना है। भारत सरकार द्वारा इन उत्पादों को प्रमाणित कर प्रमाण-पत्र भी दिया जाएगा, जिससे किसानों को उचित मूल्य मिल सके। जैविक खेती पर प्रति हेक्टेयर 10 से 12 हजार रुपये अनुदान भी दिया गया है। 
किसान संतोष राज का कहना है कि जैविक खेती पारम्परिक है, इससे रासायनिक उर्वरकों पर निर्भरता घटी है तथा भूमि की कार्बनिक उपजाऊ क्षमता बढ़ी है।

 

 

 


13-Jul-2020 9:45 PM

बिलासपुर, 13 जुलाई। कोविड-19 के दौरान छत्तीसगढ़ लाए गए प्रवासी मजदूरों के क्वारंटीन सेंटरों में रहवास व परिवहन में हुए व्यय की प्रतिपूर्ति के लिए पीएम केयर्स फण्ड से राज्य सरकार को कुल 13 करोड़ 31 लाख 40 हजार 940 रुपए आवंटित किया गया है। बिलासपुर लोकसभा क्षेत्र के तीनों जिलों को कुल एक करोड़ 67 लाख 1 हजार 199 रुपए जारी किए गए हैं।
सांसद अरुण साव ने मोदी सरकार के इस कदम का स्वागत किया है। उन्होंने बताया कि इस राशि को जिलों के कलेक्टरों के खातों में भी तत्काल प्रभाव से जमा करा दिया गया है। बिलासपुर जिला प्रशासन को क्वारंटीन सेंटरों में प्रवासी मजदूरों की रहवास व्यवस्था के लिए 64 लाख 75 हजार रुपए, गौरेला-पेण्ड्रा-मरवाही जिले के खाते में प्रवासी श्रमिकों की परिवहन व्यवस्था के लिए 54 लाख 80 हजार 829 रुपए तथा मुंगेली जिले को कुल 47 लाख 45 हजार 370 रुपए आवंटित किया गया है।  

मोदी सरकार ने देश भर के सभी सांसदों की संसदीय निधि में से एक करोड़ रुपए सहित वेतन-भत्तों में से 30 फीसदी राशि को पीएम केयर्स फण्ड में जमा करा लिया है। इसी तरह भाजपा के सभी जनप्रतिनिधियों एवं कार्यकर्ताओं से न्यूनतम सौ रुपए पीएम केयर्स फण्ड में जमा करने की अपील की गई थी। साव ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के सक्षम नेतृत्व के कारण पूरी दुनिया में आज तुलनात्मक दृष्टि से भारत बेहतर स्थिति में है। 

 


13-Jul-2020 9:00 PM

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
बिलासपुर, 13 जुलाई।
नोवेल कोरोना वायरस कोविड-19 के दौरान छत्तीसगढ़ लाए गए प्रवासी मजदूरों के क्वारेंटाइन सेंटरों में रहवास व परिवहन में हुए व्यय की प्रतिपूर्ति के लिए पीएम केयर्स फण्ड से राज्य सरकार को कुल 13 करोड़ 31 लाख 40 हजार 940 रुपए आवंटित किया गया है। बिलासपुर लोकसभा क्षेत्र के तीनों जिलों को कुल एक करोड़ 67 लाख 1 हजार 199 रुपए जारी किए गए हैं।

सांसद अरुण साव ने मोदी सरकार के इस कदम का स्वागत किया है। उन्होंने बताया कि इस राशि को जिलों के कलेक्टरों के खातों में भी तत्काल प्रभाव से जमा करा दिया गया है। बिलासपुर जिला प्रशासन को क्वारेंटाइन सेंटरों में प्रवासी मजदूरों की रहवास व्यवस्था के लिए 64 लाख 75 हजार रुपए, गौरेला-पेण्ड्रा-मरवाही जिले के खाते में प्रवासी श्रमिकों की परिवहन व्यवस्था के लिए 54 लाख 80 हजार 829 रुपए तथा मुंगेली जिले को कुल 47 लाख 45 हजार 370 रुपए आवंटित किया गया है।  

मोदी सरकार ने देश भर के सभी सांसदों की संसदीय निधि में से एक करोड़ रुपए सहित वेतन-भत्तों में से 30 फीसदी राशि को पीएम केयर्स फण्ड में जमा करा लिया है। इसी तरह भाजपा के सभी जनप्रतिनिधियों एवं कार्यकर्ताओं से न्यूनतम सौ रुपए पीएम केयर्स फण्ड में जमा करने की अपील की गई थी। साव ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के सक्षम नेतृत्व के कारण पूरी दुनिया में आज तुलनात्मक दृष्टि से भारत बेहतर स्थिति में है। 

 


13-Jul-2020 8:53 PM

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
बिलासपुर 13 जुलाई।
परम्परागत कृषि विकास योजना के अंतर्गत कोटा विकासखंड के तीन गांवों सिलदहा, भैंसाझार और बछालीखुर्द में 500 हेक्टेयर रकबे पर एचएमटी धान का जैविक उत्पादन किया जा रहा है, जिनमें 13 हजार क्विंटल धान उत्पादन की संभावना है। 

जैविक उत्पाद की ब्रांडिंग, पैकेजिंग और विपणन की व्यवस्था भी की जायेगी। खेतों में ढेचा बोनी और मथाई की गई है और जैविक उर्वरक तथा वर्मी कम्पोस्ट का प्रयोग किया जा रहा है। जैविक खेती से प्रति हेक्टेयर तीन बोरी यूरिया व 1.5 बोरी पोटाश की बचत होती है जिससे लागत पांच से छह हजार रुपये कम हो जाती है। 

कृषि उप संचालक शशांक शिंदे ने बताया कि यह योजना पिछले साल से लागू है। इसका उद्देश्य हानिकारक रसायनों का फसलों में इस्तेमाल रोकना है। भारत सरकार द्वारा इन उत्पादों को प्रमाणित कर प्रमाण-पत्र भी दिया जायेगा, जिससे किसानों को उचित मूल्य मिल सके। जैविक खेती पर प्रति हेक्टेयर 10 से 12 हजार रुपये अनुदान भी दिया गया है। किसान संतोष राज का कहना है कि जैविक खेती पारम्परिक है, इससे रासायनिक उर्वरकों पर निर्भरता घटी है तथा भूमि की कार्बनिक उपजाऊ क्षमता बढ़ी है।

 


13-Jul-2020 6:05 PM

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
करगीरोड कोटा, 13 जुलाई।
अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद् का 72वां स्थापना दिवस मनाया गया एवं नए कार्यकारिणी का गठन किया गया। कोरोना महामारी को ध्यान में रखते हुए सिर्फ 50 लोगों को ही कार्यक्रम में एकत्रित किया गया। चुनाव अधिकारी आकाश गुप्ता द्वारा नवीन कार्यकारिणी की घोषणा की गई। जिसमें नगर अध्यक्ष के प्रकाश गुप्ता एवं नगर मंत्री प्रियंक अग्रहरी को नियुक्त किया गया। 

नवीन कार्यकारिणी में उपाध्यक्ष कामता साहू, विक्रांत गोयल, आशीष ठाकुर, शीतल जगत सह मंत्री मोहन वैष्णव, सुहानी जायसवाल, उषा शर्मा, हिमांशु बघेल,  अवधेश बिंझवार छात्र प्रमुख गरिमा देवानी सह प्रमुख खुशबू गुप्ता, सौम्या तिवारी,  कार्यालय मंत्री सुधांशु तिवारी सहप्रमुख अजय मानिकपुरी सोशल मीडिया प्रमुख अजय मानिकपुरी सह प्रमुख प्रकाश तिवारी एसएफडी प्रमुख प्रियंका नापित सह प्रमुख ईश्वरी साहू, नीलमणि जांगड़े  नवीन साहू सह प्रमुख अशोक था राष्ट्रीय कला मंच प्रमुख सुरभि दुबे सह प्रमुख रितु सोनी, रोशनी तिलगाम क्री?ा  प्रमुख सूर्यदेव सिंह ठाकुर सहप्रमुख दीप राज साहू, अनिमेष अग्रहरि छात्रावास प्रमुख विंदन बघेल सह  प्रमुख राकेश राज कार्यकारिणी सदस्य सोनल  अग्रवाल, प्रिंसी दीवानी, प्रियंका जायसवाल, स्नेहा अग्रहरी,प्रियेश अग्रहरि,  ऋतु बिंझवार, भगवती मानिकपुरी, मयंक निर्मलकर, मुस्कान शुक्ला को दायित्व दिया गया।

कार्यक्रम में विभाग संयोजक बिलासपुर अमन कुमार अग्रहरि, प्रदेश कार्यकारणी सदस्य मनीष गन्धर्व, रोहित साहू, पूर्व प्रदेश कार्यकारणी सदस्य नगर अध्यक्ष देवकिशन साहू पूर्व नगर मंत्री चंद्रकांत अग्रवाल,  अभिषेक गुप्ता, संदीप साहू, वासुदेव सिंह ठाकुर उपस्थित थे।
 


12-Jul-2020 11:15 PM

'छत्तीसगढ़' संवाददाता

बिलासपुर, 12 जुलाई। शहीद विनोद चौबे की स्मृति में आज मिट्टी तेल गली स्मार्ट रोड में करीब 250 पौधे रोपे गये। कार्यक्रम में जनप्रतिनिधि और अधिकारी शामिल हुए। इन पौधों में 170 नीम के तथा बाकी बहुनिया, अशोक, कदम और टिबुबिया गोल्डन आदि हैं। 

विधायक शैलेष पांडेय, रश्मि सिंह, महापौर रामशरण यादव, संभागायुक्त डॉ. संजय अलंग, पुलिस महानिरीक्षक दीपांशु काबरा, कलेक्टर डॉ. सारांश मित्तर, पुलिस अधीक्षक प्रशांत अग्रवाल, नगर निगम आयुक्त प्रभाकर पांडेय, नगर निगम सभापति शेख नजीरुद्दीन, पार्षद व जिला कांग्रेस अध्यक्ष विजय केशरवानी, प्रदेश कांग्रेस उपाध्यक्ष अटल श्रीवास्तव, शहर कांग्रेस अध्यक्ष प्रमोद नायक, सहित अन्य लोगों ने यहां पौधे लगाये। 

आयुक्त पांडेय ने घोषणा की कि हर वर्ष चौबे की पुण्यतिथि पर नगर निगम पौधारोपण कराएगा। कार्यक्रम स्मार्ट सिटी लिमिटेड और नगर निगम की ओर से रखा गया था।
पौधारोपण से पूर्व जनप्रतिनिधियों ने सिविल लाइन्स पर स्थापित शहीद विनोद चौबे की प्रतिमा पर माल्यार्पण कर उन्हें श्रद्धांजलि दी।

 


12-Jul-2020 8:35 PM

'छत्तीसगढ़' संवाददाता
बिलासपुर, 12 जुलाई।
शहीद विनोद चौबे की स्मृति में आज मिट्टी तेल गली स्मार्ट रोड में करीब 250 पौधे रोपे गये। कार्यक्रम में जनप्रतिनिधि और अधिकारी शामिल हुए।

इन पौधों में 170 नीम के तथा बाकी बहुनिया, अशोक, कदम और टिबुबिया गोल्डन आदि हैं। 

विधायक शैलेष पांडेय, रश्मि सिंह, महापौर रामशरण यादव, संभागायुक्त डॉ. संजय अलंग, पुलिस महानिरीक्षक दीपांशु काबरा, कलेक्टर डॉ. सारांश मित्तर, पुलिस अधीक्षक प्रशांत अग्रवाल, नगर निगम आयुक्त प्रभाकर पांडेय, नगर निगम सभापति शेख नजीरुद्दीन, पार्षद व जिला कांग्रेस अध्यक्ष विजय केशरवानी, प्रदेश कांग्रेस उपाध्यक्ष अटल श्रीवास्तव, शहर कांग्रेस अध्यक्ष प्रमोद नायक, सहित अन्य लोगों ने यहां पौधे लगाये। आयुक्त पांडेय ने घोषणा की कि हर वर्ष चौबे की पुण्यतिथि पर नगर निगम पौधारोपण करायेगा। कार्यक्रम स्मार्ट सिटी लिमिटेड और नगर निगम की ओर से रखा गया था।

पौधारोपण से पूर्व जनप्रतिनिधियों ने सिविल लाइन्स पर स्थापित शहीद विनोद चौबे की प्रतिमा पर माल्यार्पण कर उन्हें श्रद्धांजलि दी।


10-Jul-2020 10:06 PM

छत्तीसगढ़ संवाददाता

बिलासपुर, 10 जुलाई। कोरोना महामारी के चलते लम्बे समय से अवरुद्ध चल रहे अदालती कामकाज को पटरी पर कैसे लाया जाये, इस पर विचार करने के लिए छत्तीसगढ़ हाईकोर्ट के सभी 15 जज अगले सप्ताह एक बैठक करेंगे और कोई निर्णय लेंगे। 

छत्तीसगढ़ विधिक सेवा प्राधिकरण के कार्यपालिक अध्यक्ष व हाईकोर्ट जज जस्टिस प्रशांत मिश्रा ने आज पत्रकारों से अनौपचारिक चर्चा के दौरान यह जानकारी दी। 
जस्टिस मिश्रा से पूछा गया था कि कोरोना महामारी के चलते जिला व निचले स्तर पर अदालतों में पक्षकारों को दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है, साथ ही वकील और इस न्यायिक व्यवसाय से जुड़े अन्य लोगों को भी काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। इसका क्या हल निकाला जा रहा है। 

जस्टिस मिश्रा ने कहा कि इस स्थिति से हाईकोर्ट प्रशासन वाकिफ है और अगले सप्ताह किसी दिन हाईकोर्ट के सभी जस्टिस इस मुद्दे पर विचार के लिये बैठक करने वाले हैं। कोई ऐसा समाधान निकाला जाएगा कि अदालती कामकाज सामान्य तरीके से वापस शुरू हो सके। 

उल्लेखनीय है कि कोरोना वायरस के चलते इस वर्ष 24 मार्च को लागू किये गये लॉकडाउन के बाद से हाईकोर्ट सहित निचली सभी अदालतों में सम्मुख उपस्थिति के साथ सुनवाई पर रोक लगी हुई है। जमानत आदि के अत्यन्त आवश्यक मामलों को ही जिला व निचली अदालतों में सुना जा रहा है। हाईकोर्ट में वीडियो कांफ्रेंस के जरिये ऑनलाइन सुनवाई की जा रही है जिनकी संख्या अत्यंत सीमित है। 

हाईकोर्ट सहित अन्य अदालतों में काम करने वाले वकीलों को ही नहीं बल्कि फोटो कॉपी, टाइपिंग, क्लर्क आदि व्यवसाय जुड़े लोग भी आर्थिक संकट से जूझ रहे हैं। इन्होंने न केवल शासन से राहत मांगी है बल्कि हाईकोर्ट में याचिकायें भी दायर की है।   

 


10-Jul-2020 10:05 PM

चीफ जस्टिस की डबल बेंच में सुनवाई, राज्य सरकार से भी मांगा जवाब 
छत्तीसगढ़ संवाददाता
बिलासपुर, 10 जुलाई।
प्रदेश के वकीलों द्वारा आर्थिक सहायता की मांग को लेकर दायर याचिका पर सुनवाई करते हुए हाईकोर्ट ने आज छत्तीसगढ़ स्टेट बार कौंसिल को अधिवक्ता कल्याण समिति के साथ बैठक कर रिपोर्ट प्रस्तुत करने के लिए कहा है। 

कोरोना महामारी के बाद से ठप अदालती कामकाज के कारण अधिवक्ताओं को आर्थिक संकट का सामना करना पड़ रहा है। इसे लेकर अधिवक्ता राजेश केशरवानी व आनंद मोहन तिवारी की याचिकाओं पर आज चीफ जस्टिस पी.आर. रामचंद्र मेनन और जस्टिस पी.पी. साहू की डबल बेंच में आगे की सुनवाई हुई। 

कोर्ट ने जानना चाहा कि बार कौंसिल की फिक्स डिपॉजिट से 20 प्रतिशत राशि राहत के लिये जारी करने के उनके आदेश के परिपालन में क्या किया गया है। कौंसिल की ओर से बताया गया कि 6 जुलाई से हाईकोर्ट के बंद होने के कारण वे फिक्स डिपॉजिट से राशि नहीं निकाल सके, हालांकि 300 और वकीलों को सहायता दी गई है। 

याचिकाकर्ता के वकील संदीप दुबे ने न्यायालय को अवगत कराया कि स्टेट बार कौंसिल ने अभी तक अधिवक्ता कल्याण समिति के साथ बैठक कर राशि आवंटित करने पर सहमति नहीं दी है। वकीलों द्वारा इस फंड में करीब चार करोड़ रुपये जमा है। अधिवक्ता कल्याण अधिनियम 1982 की धारा 15 के अनुसार ऐसे संकट के समय में वकीलों की मदद करना है। इसके लिए ट्रस्ट कमेटी के साथ मिलकर बार कौंसिल को नियम भी बनाना है, पर राज्य बनने के 20 साल बाद भी अब तक नियम नहीं बनाये गये हैं। बार कौंसिल द्वारा बिना नियम बनाये ही चार माह से पैसे दिये जा रहे हैं। 

बार कौंसिल की ट्रस्टी कमेटी के चेयरमेन विधि मंत्री तथा सदस्य सचिव प्रदेश के विधि सचिव होते हैं। बार कौंसिल के सदस्य ट्रस्टी होते हैं। उन्होंने न तो ट्रस्टी कमेटी को पैसा जारी करने कहा, बल्कि बार एसोसियेशन से पूछना जरूरी समझा, जबकि ट्रस्ट में जमा राशि बार के सदस्यों की ही है। यह राहत पहुंचाने में देरी का तरीका है। याचिकाकर्ता अधिवक्ता आनंद मोहन ने कहा कि उन्होंने जो योजना बनाकर बार कौंसिल व अधिवक्ता कल्याण कमेटी को दी है, उसे भी देखा जाये। 

सुनवाई के पश्चात कोर्ट ने निर्देश दिया कि बार कौंसिल दो सप्ताह के भीतर ट्रस्टी कमेटी के साथ बैठककर अधिवक्ता कल्याण अधिनियम की धारा 15 के अंतर्गत नियम बनाये, साथ ही याचिकाकर्ताओं के सुझावों पर गौर करें। इस बारे में राज्य सरकार से भी जवाब मांगा गया है। 
 


09-Jul-2020 10:19 PM

ननि आयुक्त की कार्रवाई, सिविल लाइन पुलिस अलग से जांच कर रही

'छत्तीसगढ़' संवाददाता
बिलासपुर, 9 जुलाई।
नगर निगम में 12 लाख रुपये की एफडीआर चोरी के मामले में आयुक्त ने तीन लिपिकों की एक वर्ष की वेतन वृद्धि रोक दी है और तीन इंजीनियरों को नोटिस जारी किया है।

ज्ञात हो कि ठेकेदार अनिल बिल्डकॉन के पेटी ठेकेदार ने नगर निगम में शिकायत की थी कि उसके द्वारा जमा कराये गये 12 लाख रुपये के एफडीआर नगर निगम से गायब हैं। बाद में पता चला कि ये एफडीआर नगर निगम से रिलीज किये जा चुके हैं, जबकि काम पूरा नहीं हुआ है। यह राशि आहरित भी की जा चुकी है। 

शिकायत पर कार्रवाई नहीं होने पर पेटी ठेकेदार ने सिविल लाइन थाने में अपने एफडीआर के चोरी होने की एफआईआर दर्ज करा दी। एफआईआर दर्ज होने के बाद नगर निगम प्रशासन, इंजीनियरों और कर्मचारियों में हड़कम्प मच गया। चूंकि अनिल बिल्डकॉन के कार्य सभी जोन में चल रहे हैं इसलिये इसमें संयुक्त हस्ताक्षर से जारी होने वाले एफडीआर में कुछ इंजीनियरों और लिपिकों की मिलीभगत होने की आशंका जताई जा रही है।

नगर निगम आयुक्त प्रभाकर पांडेय ने मामले की जांच के लिये एक कमेटी बनाई जिसमें अपर आयुक्त आरबी वर्मा, अधीक्षण अभियंता जीएस ताम्रकार और लेखाधिकारी अविनाश बापते को शामिल किया गया था। कमेटी ने जांच के बाद पाया कि  तीन लिपिको ने इस मामले में लापरवाही बरती है। इन तीनों लिपिकों राजेन्द्र सिंह ठाकुर, प्रभात श्रीवास्तव और गोवर्धन चौहान की एक वार्षिक वेतन वृद्धि असंचयी प्रभाव से रोक दी गई है। इसके अलावा कार्यपालन यंत्री पी.के. पंचायती, मनोरंजन सरकार व आर.के.चौबे को कारण बताओ नोटिस जारी कर एक सप्ताह के भीतर जवाब देने कहा गया है। एफडीआर की राशि का ब्याज सहित ठेकेदार के भुगतान से काटने का निर्देश दिया गया है। अधीक्षण अभियंता को ठेकेदार के विरुद्ध निहित प्रावधानों के अनुसार कार्रवाई करने का निर्देश भी दिया गया है।

ज्ञात हो कि इस मामले में सिविल लाइन पुलिस सम्बन्धित लिपिकों व इंजीनियरों से अलग से पूछताछ कर रही है। 

 


09-Jul-2020 10:05 PM

'छत्तीसगढ़' संवाददाता

करगीरोड (कोटा), 9 जुलाई। रतनपुर मार्ग पर कलारतराई ग्राम पंचायत के बाकी घाट गांव के पहाड़ से दिन-रात पोकलैंड और जेसीबी मशीन लगाकर अवैध उत्खनन किया जा रहा है और ट्रैक्टर हाईवा से गिट्टी, मुरूम तथा मिट्टी का परिवहन कर महंगे दामों में बेचे जाने का सामने आया है।

इस अवैध उत्खनन से प्राकृतिक सुंदरता, हरे-भरे पेड़ और खनिज सम्पदा नष्ट हो रही है। यह जारी रहा तो इस मार्ग की हरियाली, पहाड़ तेजी से नष्ट हो जायेंगे। यही नहीं अवैध उत्खनन करने वाले यहीं अवैध रुप से रह रहे हैं। अवैध रूप से मुरूम, मिट्टी निकालकर सिंचाई विभाग और पंचायत को भी बेचा जा रहा है। जिसकी शिकायत एसडीएम, तहसीलदार व खनिज विभाग से की गई थी। 

कलारतराई के पंचायत सचिव बालादास बंजारे का कहना है कि क्रशर संचालक मनमानी कर रहा है कहीं पर भी पहाड़ की खुदाई की जा रही है जो गलत है। विधायक प्रतिनिधि विकास सिंह ठाकुर ने अवैध उत्खनन करने वालों पर कड़ी कार्रवाई की मांग की है। वहीं एसडीएम आनंदरूप तिवारी ने कहा कि पहाड़ी पर अवैध उत्खनन करने वालों पर तत्काल कार्रवाई की जायेगी।

 

 


08-Jul-2020 10:43 PM

'छत्तीसगढ़' संवाददाता

बिलासपुर, 8 जुलाई। एक जून से चलाई जा रही स्पेशल हावड़ा- मुम्बई- हावड़ा ट्रेन अब प्रतिदिन के बजाय सप्ताह में सिर्फ एक दिन चलेगी। 10 जुलाई से 02834 नंबर के साथ हावड़ा से यह ट्रेन प्रत्येक शुक्रवार को हावड़ा से चलेगी तथा 02833 नंबर के साथ प्रत्येक सोमवार से अहमदाबाद से हावड़ा के लिये रवाना होगी।

मुम्बई से हावड़ा के बीच स्पेशल ट्रेन 15 जुलाई से साप्ताहिक की जा रही है। 02810 नंबर के साथ यह ट्रेन प्रत्येक बुधवार को हावड़ा से तथा प्रत्येक शुक्रवार को 02809 नंबर के साथ मुम्बई सेर रवाना होगी। रेलवे की ओर से उक्त जानकारी देते हुए बताया गया है कि दोनों स्पेशल गाडिय़ों की समय सारिणी और ठहराव में कोई बदलाव नहीं किया गया है। 

 

 


Previous12Next