छत्तीसगढ़ » बिलासपुर

Previous123456Next
25-Sep-2020 11:09 PM

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

बिलासपुर, 25 सितंबर। पिता की मौत की ख़बर सुनकर भी बेटा कोरोना महामारी के दौरान लगी पाबंदियों के चलते अमेरिका से घर नहीं पहुंच पाया। ऐसे में छोटी बहन ने पिता को कांधा दिया और रीति रिवाज के साथ अंतिम संस्कार किया।

एक निजी कम्पनी में मैकेनिकल इंजीनियर के पद से रिटायर्ड कल्पना विहार, नेहरू नगर निवासी महेन्द्र सिंह चौहान (73 वर्ष) का देहावसान हो गया। चौहान ने अपने बच्चों को अच्छी परवरिश और शिक्षा दीक्षा दी। बेटा रिशु और बड़ी बेटी शैली सिंह अमेरिका में जॉब करते हैं। उनकी छोटी बेटी ऋ तु सिंह भी कम्प्यूटर इंजीनियर है और बेंगलुरु में अपने पति के साथ जॉब पर है। बिलासपुर में पिता की मौत की ख़बर इन बच्चों के पास पहुंची लेकिन अमेरिका से भारत के लिये हवाई सेवा बाधित होने के कारण वहां से बड़ी बेटी और बेटा नहीं पहुंच पाये।

बेंगलुरु से बेटी ऋ तु सिंह हवाई सफर करके रायपुर फिर बिलासपुर अपने घर पहुंचीं। पिता का अंतिम संस्कार करना था और बेटा सात समुन्दर पार था। रिश्तेदारों व शुभचिंतकों से राय मिली कि ऋतु ही पिता को अंतिम विदाई देने की रस्म पूरी करे। ऋ तु ने यह फर्ज निभाया। उनसे पिता को कांधा दिया और सरकंडा स्थित पं. देवकीनंदन श्मशान गृह में उन्हें मुखाग्नि दी।

स्व. चौहान अमलाई के एक प्राइवेट कम्पनी में जॉब करते थे और सेवानिवृत्त होने के बाद बिलासपुर आकर रहने लगे। उन्हें कैंसर भी हुआ था पर वे इससे छुटकारा पा चुके थे। वे बीते कुछ दिनों से बीमार चल रहे थे।


25-Sep-2020 10:44 PM

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
बिलासपुर, 25 सितम्बर।
एचआईवी पीडि़त बच्चियों को अमेरी स्थित आश्रय घर से बलपूर्वक निकालकर ले जाने, संस्था के संचालकों के साथ दुव्र्यवहार करने के मामले में दायर याचिका पर सुनवाई करते हुए आज राज्य शासन ने हाईकोर्ट में सुनवाई हुई। शासन ने इस मामले में चार सप्ताह के भीतर जवाब प्रस्तुत करने के लिये कहा है।

अमेरी स्थित शेल्टर होम अपना घर के चेयरमैन प्रवीण खट्टर की ओर से दायर पिटीशन में कहा गया है कि बीते 17 अगस्त को एचआईवी पीडि़त बच्चियों को बाल संरक्षण समिति, महिला बाल विकास विभाग और बिलासपुर पुलिस की टीम बलपूर्वक निकालकर ले लग गई थी। इस दौरान बच्चियों से और शेल्टर होम के संचालक तथा कर्मचारियों से दुव्र्यवहार किया गया। गैर कानूनी तरीके से ले जाये जाने को लेकर पूछताछ करने पर संस्था की अधिवक्ता के साथ भी दुर्व्यवहार किया गया। संस्था से जिन बच्चियों को जबरन ले जाया गया है वे सरकारी संरक्षण में प्रताडि़त होने और दवा, भोजन, शिक्षा की ठीक व्यवस्था नहीं होने के कारण वापस आना चाहती हैं। उनकी संस्था अभी भी अस्तित्व में है और बच्चियों के संरक्षण के लिये सभी प्रावधानों, नियमों का पालन करती रही है। इस प्रकार की बलपूर्वक कार्रवाई करने वालों के विरुद्ध कार्रवाई की जाये और बच्चियों को वापस संस्था के सुपुर्द किया जाये।

हाईकोर्ट ने इस मामले में याचिकाकर्ता का पक्ष सुनने के बाद शासन को चार सप्ताह के भीतर जवाब देने के लिये कहा है। मामले की अगली सुनवाई 26 अक्टूबर को होगी।

मानवाधिकार आयोग ने भी मांगा जवाब
उपरोक्त मामले में महिला बाल विकास अधिकारी, पुलिस अधिकारी व बाल संरक्षण समिति के सदस्यों के खिलाफ राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग से भी शिकायत की गई थी। इसे लेकर आयोग ने राज्य के पुलिस महानिदेशक से छह सप्ताह के भीतर जवाब मांगा है। 


25-Sep-2020 9:57 PM

भाजपा सांसदों ने स्वास्थ्य मंत्री को पत्र लिखकर की मांग

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
बिलासपुर, 25 सितम्बर।
प्रदेश के तीन सांसदों ने स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव से मांग की है कि सरकार अपना वादा पूरा करे और न केवल आंदोलनरत स्वास्थ्य कर्मचारियों को बल्कि सभी संविदा कर्मचारियों का संविलियन करें और उनके विरुद्ध की गई दंडात्मक कार्रवाई को निरस्त करें।

बिलासपुर सांसद अरुण साव, दुर्ग सांसद विजय बघेल व रायगढ़ सांसद गोमती साय ने पत्र में कहा है कि स्वास्थ्य विभाग के 10 हजार से अधिक संविदा कर्मचारी संविलियन की मांग को लेकर आंदोलनरत हैं। ये वही कर्मचारी हैं जो पिछले 6 माह से अपनी जान जोखिम में डालकर राज्य की जनता की सेवा में दिन रात जुटे हैं। सरकार ने इनकी सुरक्षा के लिये कोई व्यवस्था नहीं की है। अभाव के बावजूद जनता की नाराजगी सहते हुए वे महामारी के खिलाफ लड़ाई में जुटे हैं। कांग्रेस ने संविलियन का वादा अपने घोषणा पत्र में किया है। अब सरकार को बने लगभग दो वर्ष हो रहे हैं कोई कार्रवाई नहीं की गई है। ऐसे में सोई सरकार को जगाने के लिये उन्हें आंदोलन का रास्ता अपनाना पड़ा है। आंदोलनकारियों की मांग पूरी करने के बजाय सरकार उन पर कठोर कार्रवाई कर रही है जो तानाशाहीपूर्ण और निंदनीय है। 


25-Sep-2020 9:40 PM

अब तक 9 पॉजिटिव का कराया सुरक्षित प्रसव

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
बिलासपुर,  25 सितम्बर।
सिम्स में कोरोना पॉजिटिव दो महिलाओं ने स्वस्थ बच्चे को जन्म दिया है। अब तक यहां 9 कोरोना संक्रमित महिलाओं का सुरक्षित प्रसव कराया गया है। आज शहर के मंगला चौक निवासी 28 वर्षीय पॉजिटिव महिला की डिलीवरी कराई गयी।  उन्हें प्रसव पीड़ा के साथ आज सिम्स में लाया गया। उन्हें हॉस्पिटल लाते ही तुरन्त ऑपरेशन किया गया। बच्चे के गले में दो नाल फंसी हुई थी। बच्चे की स्थिति नाजुक थी। नॉर्मल डिलीवरी संभव नहीं थी। बच्चे की स्थिति को देखते हुए सिम्स के डॉक्टरों ने ऑपेरशन कर महिला की सुरक्षित डिलीवरी आज 25 सितंबर को करवाई। 

इसी प्रकार तखतपुर ब्लॉक के ग्राम गनियारी में रहने वाली 26 वर्षीय पॉजिटिव गर्भवती महिला को प्रसव पीड़ा  के साथ  गंभीर हालत में 24 सितंबर को सिम्स लाया गया था। डॉक्टरों ने जांच किया तो मालूम चला कि उनकी भी नॉर्मल डिलीवरी संभव नहीं है, इस विपरीत परिस्थिति में भी सिम्स के काबिल डॉक्टरों ने सभी सुरक्षा मानकों को ध्यान में रखते हुए गर्भवती महिला का ऑपरेशन कर  उसी दिन दोपहर में सुरक्षित डिलीवरी करायी। डॉक्टर तस्नीम एवं डॉक्टर बिवेडकर की टीम द्वारा ऑपरेशन किया गया एवं डॉक्टर आरती पांडेय ने सुचारू व्यवस्था करवाई। दोनों महिला एवं बच्चे  स्वस्थ हैं।

बच्चे के जन्म पर परिवार के सदस्य बहुत खुश हैं और इसके लिए उन्होंने सिम्स प्रबंधन के प्रति आभार व्यक्त किया।


25-Sep-2020 9:28 PM

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

बिलासपुर,  25 सितम्बर। पुलिस ने आईपीएल क्रिकेट मैच के दौरान सट्टा खिलाने वाले 5 लोगों को गिरफ्तार कर लाखों रुपए की सट्टा-पट्टी , टीवी मोबाइल व नगद रकम जब्त की है ।

सिविल लाइन पुलिस ने गुरुवार की रात सिंधी कॉलोनी में गुरुमुख थदानी के घर छापा मारा गया। छत में एलईडी टीवी लगाकर तीन लोग क्रिकेट के प्रत्येक बॉल और रन पर सट्टा खिलाते हुए पकड़ा गया। पुलिस ने गुरमुख थदानी,  हरीश बजाज, राजू कारड़ा को मौके से पकड़ा। आरोपियों के पास से 11000 नगद एवं 15 लाख रुपए की सट्टा पट्टी जब्त की गई।

इसी प्रकार सरकंडा पुलिस ने जबड़ा पारा में झगड़ा पारा में सुमित पमनानी के घर छापा मारा । आरोपी घर के बाहर टीवी लगाकर क्रिकेट सट्टा खिला रहा था। पुलिस ने सट्टा खिलाने वाले गौतम चिमनानी एवं सुमित पमनानी को गिरफ्तार किया। इनके पास से 6500 रुपये नगद, 5 लाख 62 हजार की सट्टा-पट्टी एक टीवी व दो मोबाइल जब्त किया है।

ज्ञात हो कि जबसे आईपीएल क्रिकेट मैच हुआ है ऑनलाइन सट्टा खिलाने के लगातार मामले सामने आ रहे हैं और पुलिस ने अब तक दर्जन भर आरोपियों को गिरफ्तार किया है।  


25-Sep-2020 2:55 PM

राजेश अग्रवाल

बिलासपुर, 25 सितंबर('छत्तीसगढ़')। जिले में बीते 24 घंटे के भीतर 1812 मरीज कोरोना अस्पतालों और होम आइसोलेशन से डिस्चार्ज किया गया है। हालांकि इस अवधि में 214 नये मरीज भी मिले हैं और जिले के पांच मिलाकर सात की मौत भी हो गई।

एक साथ इतने मरीजों के स्वस्थ होने के पीछे स्वास्थ्य विभाग द्वारा दी गई नई गाइडलाइन है, जिसके अंतर्गत होम आइसोलेशन में रह रहे कम लक्षण वाले मरीजों को 10 दिन में डिस्चार्ज किया जाना है। ऐसे मरीज जिनमें लक्षण नहीं पाये गये हैं उन्हें 10 दिन में डिस्चार्ज टिकट मिल जाएगी, लेकिन लक्षण वाले मरीज आगे सात दिनों तक और स्वास्थ्य विभाग की निगरानी में रहेंगे। इस व्यवस्था के बाद जिले में ठीक होने वाले मरीजों का कुल आंकड़ा 4833 पहुंच गया है जबकि 2362 केस अब भी सक्रिय हैं। नए 214 मरीजों में चार डॉक्टर हैं। रेलवे क्षेत्र के एक डॉक्टर के परिवार के तीन सदस्य एक साथ कोरोना संक्रमित पाये गये हैं।

संभागीय कोविड अस्पताल में कल दो मरीजों की मौत हो गई। इसके अलावा निजी अस्पतालों में पांच की मौत हुई। कुल सात मृतकों में बिलासपुर जिले के 5 तथा कोरिया तथा गौरेला-पेन्ड्रा-मरवाही जिले के एक-एक मरीज हैं। मृतकों में एक 34 वर्ष की महिला है शेष सभी की उम्र 55 वर्ष से अधिक है।

स्वास्थ्य विभाग ने राज्य के विभिन्न जिलों में 7 से 21 दिसम्बर तक किये गये सर्वे में बिलासपुर को रिकवरी में दूसरा स्थान मिला है। जिला बेमेतरा को इस सर्वे में पहला स्थान मिला। उपचार व्यवस्था में गरियाबंद सबसे ऊपर पाया गया जबकि बिलासपुर पांचवें नंबर पर है।

सिम्स में नये डीन की नियुक्ति, व्यवस्था में सुधार
सिम्स चिकित्सालय मे कोरोना मरीजों के इलाज में लापरवाही की शिकायत के बाद स्त्री रोग विशेषज्ञ डॉ. स्मृति नागरिया को नया डीन नियुक्त किया गया है। सिम्स की व्यवस्था में सुधार के लिये लगातार तीन दिन से काम हो रहा है। अब कोरोना मरीजों के लिये ट्राईएज काउन्टर बनाया गया है जहां से उन्हें लक्षण के अनुसार अलग-अलग अस्पतालों में रेफर किया जायेगा, जिससे वे भर्ती होने के लिये भटकेंगे नहीं। इस काउन्टर में खाली बेड के अलावा लक्षण के अनुरूप कहां बेहतर उपचार होगा इसका निर्णय लिया जायेगा। सिम्स में कोरोना संक्रमित और दूसरे बीमार व्यक्तियों की एक साथ ओपीडी पर एकत्र होने वाली भीड़ को भी नियंत्रित किया गया है। इनके प्रवेश व निकास की अलग-अलग व्यवस्था की गई है। यहां अब गोल घेरे से मार्किंग कर उद्घोषणा कर मरीजों को बुलाया जा रहा है। इसके अलावा प्रतीक्षारत मरीजों की बैठक व्यवस्था भी की गई है। सिम्स परिसर में नगर निगम ने तीन दिन से सफाई अभियान भी चला रखा है। 
 


25-Sep-2020 12:38 PM

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
बिलासपुर, 25 सितम्बर।
छत्तीगढ़ पुलिस के डीएसपी लालचंद मोहले का फेसबुक पर फर्जी पेज बनाकर उनके फेसबुक दोस्तों से बीमारी के इलाज के लिये पैसे मांगे जा रहे हैं। मोहले ने लोगों से झांसे में नहीं आने और सावधान रहने की अपील की है।

मोहले बिलासपुर व मुंगेली जिले में काम कर चुके हैं और इस समय रायपुर माना में सीएसपी हैं। उनके एक परिचित तखतपुर के टेकचंद कारडा ने उनके फेसबुक पेज पर देखा जिसमें उन्होंने मैसेज किया है कि उनकी तबियत खराब है और हॉस्पिटल में भर्ती हैं। उन्हें रुपयों की जरूरत है और वे उनके एकाउन्ट में 10 हजार रुपये जमा करा दें। यह मैसेज कई लोगों को भेजा गया। कारड़ा ने मोहले को फोन लगाकर वस्तुस्थिति पूछी तो उन्होंने बताया कि वे स्वस्थ हैं और किसी ने उनके नाम से फर्जी फेसबुक पेज बना लिया है। यदि कोई पैसे मांग रहा है तो उसके झांसे में न आये। फर्जी आईडी बनाने वाले ने फेसबुक पर जो फोन नंबर दिया है उसकी जगह ट्रू कालर पर ओडिशा की बताई जा रही है।

उल्लेखनीय है कि इस समय पूरे प्रदेश में पुलिस साइबर मितान अभियान चलाकर साइबर क्राइम से बचने के लिये जागरूकता अभियान चला रही है पर आईडी के  हैकर ने इस बार एक पुलिस अधिकारी को ही निशाना बना लिया है। मोहले ने बताया कि आगे की कार्रवाई के लिये उन्होंने साइबर सेल को इसके बारे में जानकारी दे दी है और वह कार्रवाई कर रही है। 


25-Sep-2020 12:28 PM

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
बिलासपुर, 25 सितम्बर।
जांजगीर-चाम्पा जिले के नवागढ़ में थाने से ड्यूटी कर रात को लौट रहे एक नगर सैनिक की गला रेतकर हत्या कर दी गई।

नगर सैनिक रज्जू प्रसाद तिवारी की ड्यूटी नवागढ़ थाने में लगी है। रात में ड्यूटी कर घर के लिये निकल गया था। अमोरा व अवरीद ग्राम के बीच उसकी खून से लथपथ लाश सडक़ पर आज सुबह पड़ी हुई मिली। लोगों ने इसकी जानकारी पुलिस को दी। मृतक के सिर व शरीर के कई हिस्सों पर धारदार हथियार से वार किया गया प्रतीत हो रहा है। घटना को अंजाम देने वाले अपराधी का अभी पता नहीं चला है। पुलिस ने पंचनामा तैयार कर शव को पोस्टमार्टम के लिये भेजा है। थाना प्रभारी विवेक पांडेय ने बताया कि मामले में हत्या का अपराध दर्ज किया गया है। आरोपी की तलाश की जा रही है।


24-Sep-2020 9:57 PM

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

बिलासपुर, 24 सितम्बर। नाबालिग के साथ अनाचार करने का आरोपी कोरोना पॉजिटिव निकल गया। अब पुलिस विभाग का पूरा स्टाफ भी अपना कोरोना टेस्ट करा रहे हैं।

तखतपुर क्षेत्र के भिलौनी निवासी एक नाबालिग का गांव का ही आरोपी सूरज सूर्यवंशी (20 वर्ष) ने बहला फुसलाकर अपह्रत कर लिया था। पुलिस ने आज आरोपी के चंगुल से नाबालिग को छुड़ा लिया तथा उसके खिलाफ धारा 363 366 का 376 पास्को 4,6 के तहत अपराध दर्ज किया। आरोपी को गिरफ्तार करने के बाद उसे थाने में बिठाकर बयान लिया गया। जब युवक को डॉक्टरी मुलाहिजा के लिए तखतपुर स्वास्थ्य केंद्र ले जाया गया तब उसे कोरोना पॉजिटिव पाया गया। इसके बाद  पुलिस विभाग में हडक़ंप मच गया और सभी स्टाफ दहशत में आ गये। चूंकि आरोपी को काफी देर थाने में बिठाकर रखा गया था, पूरे स्टाफ का कल कोरोना टेस्ट कराया जायेगा। वीडियो कांफ्रेंस के जरिये उसे आज जज के सामने पेश किया गया, जहां से उसे सेन्ट्रल जेल भेज दिया गया। जेल में बनाये गये आइसोलेशन सेंटर में उसे रखा गया है। 


24-Sep-2020 4:18 PM

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
बिलासपुर, 24 सितम्बर।
बिलासपुर से हवाई सेवा शुरू करने के लिये दायर जनहित याचिकाओं पर सुनवाई करते हुए आज हाईकोर्ट ने राज्य सरकार को 3-सी कैटेगरी लाइसेंस के लिये जरूरी सभी अधूरे काम अक्टूबर माह में पूरा करने और निर्धारित प्रारूप में अतिरिक्त जमीन के लिये रक्षा मंत्रालय को आवेदन करने का निर्देश दिया।

बिलासपुर में एयरपोर्ट की मांग के लिए छत्तीसगढ़ हाईकोर्ट प्रैक्टिसिंग बार के अध्यक्ष संदीप दुबे ने अधिवक्ता सुदीप श्रीवास्तव की तरफ से एवं एक अन्य जनहित याचिका की सुनवाई के बाद हाईकोर्ट के चीफ जस्टिस पी.आर. रामचंद्र मेनन और जस्टिस पीपी साहू की बेंच ने आदेश सुरक्षित रखा था, जिस पर आज फैसला आया। हाईकोर्ट ने राज्य सरकार के सभी सम्बन्धित अधिकारियों को एयरपोर्ट के रुके काम पूरा करने के लिये अक्टूबर तक का समय दिया है। कोर्ट ने कहा कि व्यापक जनहित के इस मामले में राज्य व केन्द्र सरकार समन्वय बनाकर युद्धस्तर पर कार्रवाई की जाये। 

राज्य सरकार 3 जी कैटेगरी का एयरपोर्ट विकसित करने के लिये आवश्यक राशि स्वीकृत कर तुरंत जारी करे। एयरपोर्ट विकास के लिये 1.22 करोड़ रुपये की प्रशासनिक स्वीकृति मिलने के बावजूद आबंटन तीन माह से रुका हुआ है। अक्टूबर में कार्य पूरा कर इसकी जानकारी डीजीसीए को उपलब्ध कराई जाये ताकि वह 3 सी लाइसेंस के लिये बिना देरी किये निरीक्षण करे। अगली सुनवाई 20 अक्टूबर को होगी। इस दिशा में की गई कार्रवाई के बारे में सभी सम्बन्धित विभाग हाईकोर्ट को अवगत करायेंगे। 


24-Sep-2020 2:34 PM

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
बिलासपुर, 24 सितम्बर।
हाईकोर्ट ने लोक निर्माण विभाग जगदलपुर के मुख्य अभियंता पीडी साय के स्थानांतरण आदेश पर रोक लगाते हुए विभाग के सचिव को नोटिस जारी कर चार सप्ताह के भीतर जवाब मांगा है।

साय का स्थानांतरण 15 सितम्बर को महाप्रबंधक छत्तीसगढ़ सडक़ निगम रायपुर में किया गया था जिसे उन्होंने अधिवक्ता संदीप दुबे व शांतम अवस्थी के माध्यम से हाईकोर्ट में चुनौती दी थी। साय की ओर से कहा गया कि उनका तबादला नियम विरुद्ध है क्योंकि सडक़ निगम का गठन कम्पनी अधिनियम के अंतर्गत हुआ है। उनका विभागीय कैडर इस पद के लिये नहीं है। स्थानांतरण से पूर्व उनसे सहमति भी नहीं ली गई है। स्थानांतरण के तहत उनकी जगह पर जिन्हें पदस्थ किया गया है वे कनिष्ठ अधिकारी हैं, वरिष्ठ अधिकारी के रहते ऐसा नहीं किया जा सकता। बड़े अधिकारियों के इशारे पर उनका विधि विरुद्ध तबादला किया गया है। मामले की सुनवाई आज जस्टिस गौतम भादुड़ी की सिंगल बेंच ने की।


24-Sep-2020 12:30 PM

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

बिलासपुर, 24 सितम्बर। कोल इंडिया की ओर से स्पष्ट किया गया है कि सीएमपीडीआई को कोल इंडिया से अलग नही किया जायेगा।

एसईसीएल की एक प्रेस नोट में उक्त जानकारी देते हुए बताया गया है कि सीएमपीडीआई कोयला उत्पादक कम्पनियों के लिये मार्गदर्शक की भूमिका में है और 2023-24 तक कोल इंडिया के एक बिलियन टन कोयला उत्पादन के लक्ष्य को हासिल करने में यह महत्वपूर्ण भूमिका निभायेगा।

सीएमपीडीआई ने वर्ष 2019-20 में 292 वर्ग किलोमीटर का विस्तृत अन्वेषण किया और 25 जियोलॉजिकल रिपोर्ट तैयार किये। इस अध्ययन से 7.8 बिलियन 
टन कोयला संसाधनों को कोल इंडिया लिमिटेड से जोड़ा जा सकता। इसके पहले भी सीएमपीडीआई ने 140 वर्ग किलोमीटर का अन्वेषण कर 6 जियोलॉजिकल रिपोर्ट बनाए। इसके आधार पर 9.75 बिलियन टन कोयला संसाधन अनुमानित है। वर्ष 2019-20 में सीएमपीडीआई ने विस्तृत अन्वेषण के लिये 12.94 मीटर ड्रिलिंग तथा क्षेत्रीय अन्वेषण में 1.16 लाख मीटर ड्रिलिंग की। 

इसी वर्ष में 178 मिलियन टन संसाधनों को जोडऩे के लिये 32 प्रोजेक्ट सीएमपीडीआई द्वारा बनाये गये। साथ ही 35 परियोजनाओं में तकनीकी कंसल्टेन्ट के रूप में सीएमपीडीआई की महत्वपूर्ण भूमिका रही।

ज्ञात हो कि सीएमपीडीआई का कार्पोरेट कार्यालय रांची में है। इसके सात क्षेत्रीय संस्थान आसनसोल, धनबाद, रांची, नागपुर, बिलासपुर, सिंगरौली तथा भुवनेश्वर में स्थित हैं। 


24-Sep-2020 12:28 PM

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

बिलासपुर, 24 सितम्बर। गौरेला पेंड्रा मरवाही के कलेक्टोरेट सभाकक्ष में मरवाही विधानसभा उप निर्वाचन के लिये कार्यपालिक मजिस्ट्रेटों एवं पुलिस अधिकारियों को  निर्वाचन संबंधी प्रशिक्षण प्रदान किया गया।

कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी डोमन सिंह ने इस मौके पर कहा कि उप-चुनाव की होने के साथ ही आदर्श आचरण संहिता का पालन किया जाये। सभी कर्मी निष्पक्ष भाव से निर्वाचन कार्य संपादित करें। इसके लिये जिले में विभिन्न निगरानी टीमों का गठन किया गया है। कलेक्टर ने कहा कि कोई भी पुस्तिका, पोस्टर सामग्री प्रकाशित हो तो उसके मुख पृष्ठ पर मुद्रक, प्रकाशक का नाम अनिवार्य रूप से हो।

पुलिस अधीक्षक सूरज सिंह परिहार ने कहा कि उप-निर्वाचन में कानून और व्यवस्था बनाए रखने के लिये लाइसेंसीकृत हथियार जमा कराये जाएंगे। मतदान प्रारंभ होने के 48 घंटे पूर्व विधानसभा क्षेत्र के बाहर से आए प्रचार-प्रसार करने वाले व्यक्तियों को बाहर कर दिया जायेगा। निर्वाचन प्रक्रिया में बाधा उत्पन्न कर सकते हैं ऐसे संदेहास्पद व्यक्तियों को जिला दण्डाधिकारी द्वारा जिला बदर करने की कार्रवाई  की जायेगी।


24-Sep-2020 12:27 PM

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

बिलासपुर, 24 सितम्बर। कोरोना संक्रमित मरीज के इलाज में लापरवाही बरतने के चलते मौत हो जाने के मामले में सुगम हॉस्पिटल के दस्तावेजों को स्वास्थ्य विभाग की टीम ने जब्त किया है। जांच के बाद इस मामले में कार्रवाई की जायेगी।

कोनी निवासी मीडियाकर्मी नरेश पटेल (53 वर्ष) को तबियत बिगडऩे पर सरकंडा स्थित सुगम हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया था। डॉक्टरों ने उन्हें मलेरिया पीडि़त बताया। चार दिन बाद भी तबियत नहीं सुधरी तो उसी हालत में अस्पताल से डिस्चार्ज कर दिया गया। इसके बाद मरीज को कोविड अस्पताल लाया गया तो उसकी रिपोर्ट पॉजिटिव पाई गई। बीते मंगलवार को उसकी मौत हो गई।

परिजनों ने आरोप लगाया कि डॉक्टरों ने जान-बूझकर मृतक के स्वास्थ्य का ठीक परीक्षण नहीं किया और बीमारी की वस्तुस्थिति को छिपाया। इलाज में देरी के कारण यह मौत हुई है। उन्होंने स्वास्थ्य विभाग से इस बारे में शिकायत की। 

सीएमएचओ डॉ. प्रमोद महाजन ने डॉ. अनिल श्रीवास्तव, डॉ. मनीष श्रीवास्तव और प्रवीण शर्मा की एक टीम गठित की है और इसकी जांच शुरू कर दी है। बुधवार को इस टीम ने सुगम हॉस्पिटल से इलाज के दस्तावेजों को जब्त किया है। हॉस्पिटल के डॉक्टर का बयान भी दर्ज किया जायेगा। इसके बाद आगे कार्रवाई की जायेगी। 


24-Sep-2020 12:26 PM

(फोटो हेल्थ मीटिंग शैलेष पांडेय)


‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
बिलासपुर, 24 सितम्बर।
विधायक शैलेष पांडेय ने स्वास्थ्य अधिकारियों को निर्देश दिया है कि निजी अस्पतालों पर लग रहे मनमानी, गलत उपचार व फीस के नाम पर हो रही लूट के आरोपों को गंभीरता से लेते हुए उनकी जांच करें। इसके लिये एक चार सदस्यीय टीम बनाई गई है।

विधायक ने 23 सितम्बर को कोरोना संक्रमण पर नियंत्रण व बेहतर उपचार की व्यवस्था पर बैठक ली। उन्होंने वर्तमान व्यवस्था और लापरवाही पर नाराजगी जताई और अधिकारियों को तत्काल व्यवस्था दुरुस्त करने का निर्देश दिया।

पांडेय ने कहा कि निजी अस्पतालों की जांच रिपोर्ट कार्रवाई के लिए शासन के पास भेजी जायेगी। उन्होंने कहा कि मरीज जिन परिस्थितियों में आएं उनका तत्काल उपचार शुरू किया जाए। उन्होंने सभी मरीजों का डाटा तैयार करने कहा ताकि मालूम हो कि वे किन स्थिति में अस्पताल पहुंचे और उनका क्या उपचार किया गया। पांडे ने नवजात शिशु जिला अस्पताल में जल्द ही गायनिक महिला चिकित्सक नियुक्त करने कहा किया है, ताकि महिलाओं का उपचार और डिलिवरी भी यहां भी हो सके। 

उन्होंने कहा कि राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के कर्मचारियों की हड़ताल के कारण स्टाफ की पैदा हुई कमी को देखते हुए शासन से चर्चा की जायेगी। चिकित्सकों ने भी इस मौके पर अपने सुझाव रखे।
 
बैठक में सीएमएचओ डॉ प्रमोद महाजन, सिम्स  के डीन पी के पात्रा, डा. आरती पांडे, शेफाली कुमावत, प्रवीण शर्मा, डॉ पुनीत भारद्वाज, आयुर्वेदिक हॉस्पिटल के डॉ. प्रदीप शुक्ला सहित बड़ी संख्या में चिकित्सक और अधिकारी उपस्थित थे।  


24-Sep-2020 12:23 PM

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

बिलासपुर, 24 सितम्बर। गौरेला-पेन्ड्रा-मरवाही जिले में मां-बाप और पत्नी ने मिलकर एक शराबी युवक की सिर पर लोढा से ताबड़तोड़ वार कर हत्या कर दी। आरोपी खुद ही थाने जाकर पुलिस को गुमराह करते रहे लेकिन पुलिस ने सूक्ष्म विवेचना कर मामले को सुलझा लिया। तीनों आरोपी गिरफ्तार कर लिए गए हैं।

पुलिस अधीक्षक सूरज सिंह परिहार ने बताया कि कोटमीकला निवासी दशरथ सिंह, उसकी पत्नी मोतीबाई ने अपने बेटे जीवन सिंह की 20 सितम्बर की रात हत्या कर दी। इसमें उसकी बहू मानकुंवर ने भी साथ दिया। पुलिस को ग्रामीण प्यारेलाल ने सूचना दी कि जीवन सिंह अपने पिता के पुराने घर में मरणासन्न स्थिति में पड़ा हुआ है। उसका चेहरा खून से सना है। पुलिस ने रात में ही पहुंचकर घटनास्थल को सुरक्षित कर लिया और धारा 302 आईपीसी के तहत अपराध दर्ज कर जांच शुरू की। पूछताछ के दौरान मृतक के परिवार वालों की गतिविधि संदिग्ध लगी। जो कहानी सामने आई उससे मालूम हुआ कि मृतक जीवन सिंह दोपहर में काफी शराब पीकर आया था। वह अपनी मां और पत्नी को लगातार गालियां दे रहा था तथा पिता से भी हाथापाई कर रहा था। वह खेत और बाड़ी के बंटवारे की मांग कर रहा था। रोष में आये पिता सुकुल सिंह ने उसका कॉलर पकड़ा और बिस्तर पर लिटा दिया। पत्नी से उसने हत्या के लिये पास में रखे लोढ़ा (पत्थर) को मंगाया। मृतक की पत्नी ने उसके पैरों को दबाया और तीनों ने मिलकर उसे मार डाला। मौत के बाद उन्होंने आपस में मशविरा किया और पुलिस पूछताछ में किसी अज्ञात व्यक्ति द्वारा दुश्मनी के कारण की गई हत्या बताते रहे। पुलिस ने तीनों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है।  


24-Sep-2020 12:22 PM

अटल आवास पर कब्जे का विवाद था, पांच गिरफ्तार, बाकी की तलाश

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
बिलासपुर, 24 सितम्बर। अशोक नगर सरकंडा में अटल आवास पर कब्जे के विवाद में आधा दर्जन लोगों ने एक आटो रिक्शा चालक को पीट-पीट कर अधमरा कर दिया। इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई। पुलिस ने पांच हमलावरों को गिरफ्तार कर लिया है जबकि बाकी की तलाश की जा रही है।

15 सितम्बर की रात मुरुम खदान, अटल आवास में रहने वाले सुनील सारथी पर रामजी यादव व अन्य आधा दर्जन लोगों ने घेर लिया और उसको लात घूंसों से मारा। बेदम पिटाई से घायल सुनील सारथी को 108 की मदद से बेहोशी की हालत में जिला चिकित्सालय पहुंचाया गया जहां उसने 21 सितम्बर को दम तोड़ दिया। इस बीच पुलिस ने आरोपियों की तलाश की और रामजी यादव (60 वर्ष), बजरंग यादव (25 वर्ष), अक्षय दुबे (20 वर्ष), पिंकू यादव (22 वर्ष), नवल राव भोसले (42 वर्ष) को गिरफ्तार कर लिया। सभी पर हत्या का अपराध दर्ज करते हुए न्यायालय में पेश किया गया। घटना में कुछ और लोग भी शामिल हैं जिनकी पुलिस तलाश कर रही है।

पुलिस के अनुसार घटना अटल आवास के एक मकान पर कब्जे को लेकर हुई। सुनील सारथी की नानी चरण बाई के नाम पर यह आवास है। उसने मोहल्ले में कह रखा था कि मकान उसकी सौतेली बेटी कामता को दी जाये, जिसे उसने बचपन से अपने पास रखा था। मोहल्ले वालों ने यह मकान कामता को दिला दिया। इस पर सुनील सारथी और मोहल्ले के लोगों में झगड़ा होता था क्योंकि सुनील इस मकान को अपनी मां के नाम कराना चाहता था। मृतक सुनील की मां जब इस चर्टर में रहने गई तो मोहल्ले के लोगों ने उसे वहां से खींचकर निकाल दिया और सुनील को मोहल्ले के तालाब के पास घेर लिया और उसकी पिटाई कर दी। 


23-Sep-2020 11:09 PM

'छत्तीसगढ़' संवाददाता

बिलासपुर, 23 सितम्बर। सिम्स चिकित्सालय की व्यवस्था में सुधार के लिये विभिन्न विभागों के समन्वय के साथ आज तेजी से कार्य प्रारंभ कर दिया गया है।

सिम्स पहुंचने वाले मरीजों की भीड़ के बीच संक्रमण को रोकने के लिये आज गोल घेरे की मार्किंग की गई तथा बेरिकेड्स लगाये गये। उन्हें कतार के दौरान बैठने के लिये कुर्सियों की सुविधा भी दी गई है। सिम्स में सैम्पल लेने के लिये अतिरिक्त बूथ बनाये जा रहे हैं जिससे सैम्पल के लिये लोगों की भीड़ कम हो। इसके अलावा हेल्प डेस्क भी बनाया गया है। जांच के लिये पहुंचने वाले मरीजों के प्रवेश और निकास के लिये अलग-अलग व्यवस्था की गई है। 

सिम्स में साफ-सफाई के लिये नगर-निगम द्वारा आज से अभियान चलाया गया है। जाम नली, सीवरेज और चैम्बर की आज जेटिंग मशीन से सफाई की गई। यहां से गिट्टी, रेत, मलबा व कचरा उठाया गया। सिम्स परिसर के चारों ओर उगे अनावश्यक छोटे झाड़ भी साफ किये गये। सफाई का अभियान आगामी तीन-चार दिनों तक चलेगा।

ज्ञात हो कि संभागायुक्त डॉ. संजय अलंग ने सिम्स की व्यवस्था में सुधार के लिये 22 सितम्बर को बैठक आयोजित की थी। कलेक्टर डॉ. सारांश मित्तर की अध्यक्षता में एक उच्चस्तरीय समिति यहां की व्यवस्था पर निरंतर निगरानी रखेगी।

 

 

 

 


23-Sep-2020 11:06 PM

'छत्तीसगढ़' संवाददाता

बिलासपुर, 23 सितम्बर। बीते 24 घंटे के भीतर जिले में कोरोना के 187 नये मामले सामने आये हैं और सात लोगों की मौत हो गई है। मृतकों में एक 22 साल की युवती भी शामिल है। लॉकडाउन पहले ही दिन से प्रभावी रहा और इसके उल्लंघन की कोई कार्रवाई पुलिस ने नहीं की।

जिले में कोरोना संक्रमण की रफ्तार थम नहीं रही है। कल रात जारी रिपोर्ट में 187 नये संक्रमितों का पता चला। इनमें बिलासपुर शहरी क्षेत्र से 120, बिल्हा से 26, मस्तूरी से 34, तखतपुर से तीन और कोटा से चार केस हैं। कल हुई सात मौतों में एक 22 साल की युवती है। 87 साल के एक बुजुर्ग की भी कोरोना से जान चली गई। कल शाम तक 112 मरीज स्वस्थ हो गये जिन्हें संभागीय कोविड अस्पताल और निजी अस्पतालों से डिस्चार्ज किया गया है। अब तक जिले में कोरोना से मरने वालों की संख्या 134 पहुंच चुकी है। संक्रमण के कुल 6936 केस अब तक सामने आ चुके हैं जिनमें से 5 हजार से ज्यादा केस सिर्फ सितम्बर माह के 22 दिनों में मिले हैं। इनमें से 2750 मरीज स्वस्थ हो चुके हैं।

संक्रमण की चेन तोडऩे के लिये 22 सितम्बर से जिले के नगरीय निकाय क्षेत्रों में लॉकडाउन घोषित किया गया है। इस दौरान सब्जी और किराना सामान की दुकानों को भी बंद करके रखा गया है।

चौक-चौराहों पर पुलिस बल लॉकडाउन का पालन कराने के लिये तैनात है। लोग लॉकडाउन के नियमों के जानकार हो चुके हैं इसलिये ज्यादातर लोग घरों में ही समय बिता रहे हैं। पुलिस ने 22 और 23 सितम्बर तक कोई बड़ी कार्रवाई उल्लंघन के मामले में नहीं की है। जो लोग बाहर निकले उन्हें रोककर पूछताछ की जा रही है और उचित कारण नहीं बताने पर घर वापस भेजा जा रहा है।

एक मीडियाकर्मी 53 वर्षीय नरेश पटेल की मौत पर निजी अस्पताल की लापरवाही का आरोप लगा है। कोनी निवासी पटेल को सुगम हॉस्पिटल सरकंडा में भर्ती कराया गया था और उसे मलेरिया पीडि़त बताकर उपचार किया जा रहा था। चार दिन तक परिजनों से बिल के रूप में मोटी रकम ली गई और उसका कोरोना टेस्ट मौत के बाद पॉजिटिव निकला। पटेल के बेटे दीपक ने अस्पताल प्रबंधन पर कार्रवाई की मांग की है। इसके पहले भी निजी अस्पतालों में मौत की कई घटनायें हो चुकी हैं, जिसे लेकर परिजन प्रबंधन पर लापरवाही का आरोप लगाते रहे हैं।

 

 


23-Sep-2020 5:33 PM

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
बिलासपुर, 23 सितम्बर।
सिम्स चिकित्सालय की व्यवस्था में सुधार के लिये विभिन्न विभागों के समन्वय के साथ आज तेजी से कार्य प्रारंभ कर दिया गया है।

सिम्स पहुंचने वाले मरीजों की भीड़ के बीच संक्रमण को रोकने के लिये आज गोल घेरे की मार्किंग की गई तथा बेरिकेड्स लगाये गये। उन्हें कतार के दौरान बैठने के लिये कुर्सियों की सुविधा भी दी गई है। सिम्स में सैम्पल लेने के लिये अतिरिक्त बूथ बनाये जा रहे हैं जिससे सैम्पल के लिये लोगों की भीड़ कम हो। इसके अलावा हेल्प डेस्क भी बनाया गया है। जांच के लिये पहुंचने वाले मरीजों के प्रवेश और निकास के लिये अलग-अलग व्यवस्था की गई है।  

सिम्स में साफ-सफाई के लिये नगर-निगम द्वारा आज से अभियान चलाया गया है। जाम नली, सीवरेज और चैम्बर की आज जेटिंग मशीन से सफाई की गई। यहां से गिट्टी, रेत, मलबा व कचरा उठाया गया। सिम्स परिसर के चारों ओर उगे अनावश्यक छोटे झाड़ भी साफ किये गये। सफाई का अभियान आगामी तीन-चार दिनों तक चलेगा।

ज्ञात हो कि संभागायुक्त डॉ. संजय अलंग ने सिम्स की व्यवस्था में सुधार के लिये 22 सितम्बर को बैठक आयोजित की थी। कलेक्टर डॉ. सारांश मित्तर की अध्यक्षता में एक उच्चस्तरीय समिति यहां की व्यवस्था पर निरंतर निगरानी रखेगी। 


Previous123456Next