छत्तीसगढ़ » बलरामपुर

Previous123456789...1314Next
16-Oct-2021 10:37 PM (41)

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

कुसमी,16 अक्टूबर। आज जिला बलरामपुर-रामानुजगंज के विकासखंड कुसमी में पत्थलगांव की घटना को लेकर स्वस्फूर्त दुकानें दिनभर बंद रहीं। नगर बंद का असर पूर्णत: देखने को मिला। मुआवजे व कई मांगों पर जोर देते हुए शत-प्रतिशत बंद में एकता का परिचय देकर सभी समुदाय सहित व्यापारियों ने भी भरपूर साथ दिया। सभी वर्गों ने स्थानीय बसस्टैंड में एकत्रित होकर राज्यपाल के नाम ज्ञापन सौंपा।

   विदित हो कि पत्थलगांव घटना को लेकर शनिवार को दुर्गा पूजा विसर्जन के बाद दुर्गा पूजा सेवा समिति के अध्यक्ष व पूर्व जनपद पंचायत कुसमी के पूर्व उपाध्यक्ष जन्मजय सिंह ने एक दिवसीय कुसमी नगर बंद का आह्वान किया था तथा सभी से इस विषम परिस्थिति में सहयोग की अपील की थी। इस बंद को सफल बनाने में व्यापारी वर्ग ने अपना पूर्ण सहयोग देकर शनिवार को दिन भर अपनी-अपनी दुकानों-प्रतिष्ठानों को बंद रखा।

जन्मजय सिंह सहित कई लोगों ने संवेदना व्यक्त करते हुए कहा कि पुलिस प्रशासन की लापरवाही के कारण यह दुखद घटना हुई है, प्रशासन को जानकारी के बावजूद भी बैरिकेडिंग की व्यवस्था नहीं की गई थी। उन्होंने शासन-प्रशासन से मांग रखी कि मृतक परिवार को एक करोड़ रुपये, सरकारी नौकरी ओर घायलों को 25-25 लाख मुआवजा दिया जाए तथा मामले पर उच्च स्तरीय जांच कर तत्काल कार्रवाई करने की मांग करते हुए प्रभारी एसडीएम कुसमी प्रवेश पैकरा को राज्यपाल के नाम ज्ञापन सौंपा गया।

ज्ञापन सौपने के दौरान सैकड़ों व्यापारियों के साथ जन्मजय सिंह ,उमेश्वर ओझा, राकेश भारती, अरविंद तिवारी , विकेश साहू, दुर्गेश गुप्ता, मोहमद शमीम, उपेंद्र सिंह, अर्जुन यादव, विनय यादव, श्रवण यादव, मोहमद आजाद खान, मो. नईम, मो. तौकित खान, संजय यादव, अजय प्रताप सिंह, नवीन सिंह ,बालेश्वर राम, पवन सोनी, संजय गुप्ता, राजू गुप्ता, जफर, प्रदीप गुप्ता सहित काफी संख्या में युवा वर्ग व नागरिकगण उपस्थित थे।


14-Oct-2021 9:07 PM (30)

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

रामानुजगंज,14 अक्टूबर। शारदीय नवरात्र की महाअष्टमी व नवमी के अवसर पर नगर के वार्ड 9 में स्थित मां महामाया मंदिर एवं पहाड़ी माई मंदिर में मंदिर का पट खुलते ही श्रद्धालुओं की लंबी कतार लग गई, वहीं नगर के सभी दुर्गा पंडालों में श्रद्धालुओं की भारी भीड़ पूजा-अर्चना के लिए देखी गई। मां महामाया मंदिर एवं पहाड़ी माई मंदिर सहित नगर के सभी दुर्गा पंडालों में दोपहर तक हवन-पूजन होती रही।

शारदीय नवरात्र के पहले दिन से ही मां महामाया मंदिर में एवं पहाड़ी माई मंदिर में श्रद्धालुओं का जनसैलाब उमड़ पड़ा था। यहां छत्तीसगढ़ के विभिन्न शहरों के साथ-साथ झारखंड से भी बड़ी संख्या में श्रद्धालु मत्था टेकने पहुंचे। नगर के दुर्गा पंडालों में भी पूजा-अर्चना के लिए श्रद्धालुओं की भारी भीड़ उमड़ी।
नगर के ज्यादातर दुर्गा पंडालों के द्वारा मूर्ति बनाने के लिए कोलकाता से कारीगर बुलाए गए थे। मां महामाया मंदिर की सजावट सागर फाउंडेशन के प्रमुख एवं नगर पंचायत अध्यक्ष रमन अग्रवाल द्वारा कराई गई थी, वहीं पहाड़ी माई मंदिर में मंदिर समिति के द्वारा सजावट कराई गई थी।

नगर के पीपल चौक दुर्गा पूजा समिति, मध्य बाजार दुर्गा पूजा समिति, खोपा महुआ दुर्गा पूजा समिति वार्ड क्रमांक 1 दुर्गा पूजा समिति के द्वारा कराया गया दुर्गा पंडाल का सजावट आकर्षण का केंद्र रहा।

40 फीट के रावण का होगा दहन
विगत कई वर्षों से सागर फाउंडेशन के प्रमुख एवं नगर पंचायत अध्यक्ष रमन अग्रवाल के द्वारा हाईस्कूल मैदान में रावण दहन कार्यक्रम का आयोजन किया जाता रहा है। इस बार भी रावण दहन का कार्यक्रम आयोजित किया जा रहा है, जहां 40 फीट के रावण पुतले का दहन किया जाएगा। रमन अग्रवाल ने इस संबंध में बताया कि रावण दहन कार्यक्रम के पूर्व भजन संध्या का भी कार्यक्रम आयोजित किया जा रहा है।


13-Oct-2021 8:26 PM (29)

नगर के साथ तातापानी का भ्रमण

बलरामपुर,13 अक्टूबर। सरगुजा संभागायुक्त जिनेविवा किंडो, बलरामपुर कलेक्टर कुंदन कुमार एवं जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी रीता यादव के द्वारा बलरामपुर स्थित उदय शांति बालगृह में निवासरत बच्चों को दशहरा के अवसर पर नगर के साथ-साथ तातापानी का भ्रमण कराया गया।

बलरामपुर पहुंचीं सरगुजा संभाग की आयुक्त सुश्री किंडो, कलेक्टर श्री कुमार एवं जिला पंचायत सीईओ आज उदय शांति बालगृह में निवासरत सभी बच्चों से रूबरू हुए, जिसके पश्चात सभी ने मिलकर बच्चों को बलरामपुर नगर भ्रमण के साथ-साथ तातापानी भ्रमण कराया और तातापानी की विशेषताओं के बारे में बच्चों को बताया गया।

तातापानी स्थित विशाल शिव की प्रतिमा एवं तातापानी परिषद स्थित भगवान भोलेनाथ के मंदिर में बच्चों सहित अधिकारियों ने भी माथा टेका और सभी की खुशहाली की कामना की। बच्चे अपने बीच आयुक्त, कलेक्टर एवं जिला पंचायत सीईओ को पाकर काफी खुश हुए।

उदय शांतिबालगृह के संचालक प्रभाकर द्विवेदी के द्वारा बलरामपुर पहुंची संभागायुक्त  व कलेक्टर को बच्चों के साथ जाकर स्मृति चिन्ह और गुलदस्ता भेंट दिया गया।

 सभी ने बच्चों को आश्वस्त कराया कि किसी भी प्रकार की समस्या होने पर प्रशासन हमेशा उनके साथ खड़ी है और हरसंभव उनकी मदद की जाएगी।


13-Oct-2021 8:25 PM (32)

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

बलरामपुर,13 अक्टूबर। बलरामपुर के नए सप्ताहिक बाजार के समीप विश्व हिंदू परिषद के द्वारा कवर्धा में हुए मामले को लेकर धरना प्रदर्शन किया गया। धरना प्रदर्शन के दौरान बड़ी संख्या में पहुंचे विश्व हिंदू परिषद बजरंग दल व अन्य संगठनों के साथ-साथ भाजपा के जिला पदाधिकारियों ने भी धरना प्रदर्शन में शामिल होकर कवर्धा में हुए मामले की कड़ी निंदा की।

सभा के माध्यम से उपस्थित लोगों के द्वारा कवर्धा मामले की निंदा करते हुए न्यायिक जांच कराने की मांग की गई।  विश्व हिंदू परिषद के द्वारा मुख्यालय में रैली की तैयारी की गई थी, लेकिन पुलिस ने उन्हें सभा स्थल से कुछ ही दूरी पर रोक दिया। जिसके बाद उपस्थित पदाधिकारी-कार्यकर्ताओं के द्वारा बलरामपुर अनुविभागीय दंडाधिकारी को मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन सौंपते हुए दोषियों पर कड़ी कार्रवाई की मांग की है।

धरना प्रदर्शन को संबोधित करते हुए नगर पंचायत रामानुजगंज के अध्यक्ष रमन अग्रवाल ने कहा कि जो घटना घटी है, नितांत निंदनीय है। पूरे छत्तीसगढ़ प्रदेश में विश्व हिंदू परिषद धर्म जागरण के माध्यम से सनातन धर्म के लोगों के द्वारा सार्वजनिक रूप से धर्म रक्षा मंच के तले उस घटना की निंदा की जा रही है और छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री को इस बात के लिए आगाह किया जा रहा है कि आप छत्तीसगढ़ की अस्मिता को खत्म करना बंद करें। हिंदू समाज को दबाने की कोशिश न करें।


11-Oct-2021 8:54 PM (39)

 

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

राजपुर,11 अक्टूबर। बरियो क्षेत्र में हो रही सिलसिलेवार चोरी के आरोपियों को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। आरोपियों में एक नाबालिग है।

बरियों पुलिस ने बताया कि 9 अक्टूबर को प्रार्थिया महादेवपारा निवासी शकुंतला देवी पटेल ने बरियों चौकी आकर रिपोर्ट दर्ज कराई कि 8 अक्टूबर को बहू के साथ घर में सोई थी, तभी रात्रि करीब 10.45 बजे घर के आलमारी खोलने की आवाज आई तो जाकर देखा कि चोर आलमारी से सामान चुराने की कोशिश कर रहे थे। चोर प्रार्थिया को देखकर भाग गये। चोरों के भागने के बाद आलमारी चेक की तो उसमें रख हुआ नगदी रकम 3500 रूपये नहीं था।

वहीं दूसरे मामला 10 अक्टूबर की है, जहाँ बरियों मंदिर पारा निवासी प्रार्थिया रजनी भगत पति अभिराम भगत उम्र 30 वर्ष चौकी आकर रिपोर्ट दर्ज कराई कि दिनांक 9 अक्टूबर के रात्रि करीब 8 बजे बरियों दुर्गा पूजा मंदिर में आरती में गई थी वहां से वापस आई तो घर में देखी कि चोरी हो गया था एवं ट्राली बैग में रखा हुआ नगदी रकम 3000 रूपये व एस.अ.बी.आई.ए.टी.एम.एवं पेन कार्ड एवं ममता तिवारी का नगदी रकम 500.00 रूपये का नोट जिसमें लाल रंग के पेन से नाना नानी लिखा हुआ था जिसे अज्ञात चोर द्वारा चोरी कर ले गये थे।

पुलिस ने नगर में हो रही सिलसिलेवार चोरी की वारदात की गंभीरता से लेते हुए इसकी जानकारी आने उच्च अधिकारियों को दी। जिसके बाद चौकी प्रभारी रजनीश सिंह के नेतृत्व में तत्काल टीम गठित कर आरोपियों को पकडऩे टीम रवाना हुई थी।

विवेचना दौरान लगातार संदेहियों से पूछताछ की जा रही थी। इसी बीच ग्राम बरियों के ही संजय गोंड़ (38) एवं नाबालिग को घटना दिनांक को चोरी हुये स्थान पर घूमते फिरते देखा गया था। पुलिस के पूछताछ करने पर उन्होंने अपना जुर्म स्वीकार कर लिया।

इस कार्रवाई में चौकी प्रभारी रजनीश सिंह सहित प्रधान आरक्षक अभिषेक दुबे,अश्विनी सिंह आरक्षक जुगन साय पैकरा, बबलू बेक, काशीराम भगत, नागेन्द्र पाण्डेय, रिंकू गुप्ता, प्रदीप यादव, नेतराम पैकरा, हीराचंद भास्कर,महिला आरक्षक स्वाति राजवाड़े, पुन्नी यादव सक्रिय थे।


11-Oct-2021 8:53 PM (24)

 

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

बरियों, 11 अक्टूबर। इन दिनों पूरा क्षेत्र माँ दुर्गा की पूजा-अर्चना में सराबोर है। जगह जगह मंदिर सहित दुर्गा पंडालों के माध्यम से मां दुर्गा की पूजा-अर्चना की जा रही है।

इस शरदीय नवरात्र के अवसर पर बघिमा स्थित चंद्रघंटा मंदिर में भक्तों की भारी भीड़ लग रही है। मंदिर में आकर्षक साज सज्जा की गई है। पूजा अर्चना में आ रहे भक्त रोजाना चंद्रघंटा मंदिर में लग रहे भंडारा का प्रसाद ग्रहण कर रहे हैं।

बघिमा स्थित चंद्रघंटा मंदिर में गांव के पटेल नारायण राम समिति के अध्यक्ष देव धरन शांडिल्य, सचिव अजय अग्रवाल, विष्णु अग्रवाल, नरेंद्र जायसवाल, दशरथ दास, सुदर्शन शांडिल्य, श्याम सुंदर, अशोक सारथी, गोल्डन सिंह, अनिल सिंह, धनीराम, अनुक शांडिल्य,चंदू राम, रामप्रकाश,प्रगति श्रीवास्तव, आशु श्रीवास्तव,सतीश जयसवाल, जितेंद्र बेहरा,नईहर साय सक्रिय हैं।  इस शारदीय नवरात्रि के अवसर पर प्रतिदिन दिन भंडारा का आयोजन किया जा रहा है एवं दशहरे पर रावण दहन का कार्यक्रम रैली के साथ किया जाएगा।


11-Oct-2021 8:45 PM (28)

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
राजपुर, 11 अक्टूबर।
अपर जिला एवं सत्र न्यायाधीश मधुसूदन चंद्राकर, न्यायिक मजिस्ट्रेट प्रथम श्रेणी निकसन डेविड लकड़ा, विधिक सह परिवीक्षा अधिकारी विकास गुप्ता द्वारा जिला मुख्यालय बलरामपुर में ग्राम विकास समिति द्वारा संचालित उदय शान्ति बालगृह बालक आश्रम और खुशी वृद्धाश्रम बलरामपुर तथा सखी वन स्टॉप सेंटर का आकस्मिक निरीक्षण किया गया।

निरीक्षण के दौरान सभी कमरों का भ्रमण किया तथा बच्चों को दी जा रही सुविधा के बारे में बच्चों से सामूहिक चर्चा की गई। बच्चों ने बताया कि उन्हें यहां सभी प्रकार की सुविधाएं जैसे भोजन, स्वास्थ्य, पेंटिंग चित्रकला शिक्षा, मनोरंजन, आदि सुविधा दी जा रही है, साथ ही रसोइया के साथ भी खानपान के बारे में चर्चा किया गया।

बालगृह व वृद्धाश्रम की व्यवस्था संतोषजनक पाई गई। बालगृह के बच्चों और वृद्धाश्रम में निवासरत माताओं को केला और सेव का फल वितरण किया गया, जिससे बच्चे व वृद्ध माताओं में काफी उत्साह रहा। इस दौरान संस्था संचालक प्रभाकर द्विवेदी और समस्त कर्मचारीगण उपस्थित पाए गए।


09-Oct-2021 8:10 PM (27)

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

बलरामपुर, 9 अक्टूबर। अनुविभागीय अधिकारी राजस्व रामानुजगंज ने अवैध रूप से संचालित दो क्लीनिकों को सील कर दिया है।

अवैध क्लीनिक संचालन की सूचना मिलने पर अनुविभागीय अधिकारी राजस्व रामानुजगंज गौतम सिंह की अगुवाई में टीम ने क्लीनिक की जांच की। क्लीनिक की जांच में पाया गया कि विजयनगर में रजा मेडिकल के पास इमामुद्दीन अंसारी के द्वारा अवैध रूप से लोगों का इलाज किया जा रहा था और इमामुद्दीन के पास चिकित्सका सुविधा प्रदान करने से संबंधित कोई वैध डिग्री या पत्रोपाधि नहीं है। जांच उपरांत एसडीएम द्वारा क्लिनिक को सील कर दिया। इसके पश्चात् विजयनगर में ही मो. अली के द्वारा भी अवैध क्लीनिक संचालित कर लोगों के इलाज की सूचना मिलने पर तत्काल प्रशासन की टीम द्वारा उसे सील कर दिया गया।

कलेक्टर कुंदन कुमार के निर्देश पर अवैध चिकित्सकीय गतिविधियों तथा क्लीनिकों पर कार्रवाई की जा रही है तथा सुदूर इलाकों तक चिकित्सा सेवाओं का विस्तार करते हुए लोगों की स्वास्थ्य संबंधी जरूरतों को प्राथमिकता के साथ पूरा किया जा रहा है।


09-Oct-2021 8:08 PM (23)

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

बलरामपुर, 9 अक्टूबर। बलरामपुर-रामानुजगंज जिला पूर्व में सर्वाधिक मलेरिया केस के लिए जाना जाता था, जहां वर्ष 2017 में जिले में कुल 11 हजार 8 मलेरिया के रोगी थे, वहीं वर्ष 2020 में कुल 444 मलेरिया के रोगी पाए गए थे। जिले में मलेरिया, डेंगू, फाइलेरिया सहित अन्य दूसरी वेक्टर जनित बीमारी के अध्ययन हेतु राज्य की टीम एंटोमोलोजिकल सर्वे करने आये थे। रायपुर से आई विशेषज्ञों की टीम बलरामपुर के ग्रामीण इलाकों से मच्छरों का सैंपल रायपुर लेकर गयी है, जहां एन.आई. एम.आर. रायपुर में इनकी जांच की जाएगी। जिले में इस वर्ष जनवरी से सितम्बर तक जहां कुल 152 मलेरिया के रोगी हंै, वहीं अब तक एलाइजा जांच में एक भी डेंगू के रोगी की पुष्टि नहीं हुई है।

एंटोमोलोजिकल टीम में स्टेट एंटोमोलेजिस्ट डॉ. सुबोध धर शर्मा, एंटोमोलोजिस्ट विनिता दुबे, किट संग्रहक तेज राम मण्डावी के अलावा जिला सलाहकार दिव्य किशोर व मुकेश शामिल थे। टीम द्वारा विकासखण्ड बलरामपुर के बडक़ीमहरी, सारंगपुर, बलरामपुर के कई गांवों से मच्छरों का सैंपल लिया तथा जांच रिपोर्ट एक सप्ताह के भीतर आने की संभावना है।

मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ.बसंत सिंह ने बताया कि जिले में मलेरिया व डेंगू के केस में अभी तक वांछित सफलता मिली है तथा वर्ष 2027 तक मलेरिया एलीमिनेशन का लक्ष्य रखा गया है। इसी कारण मच्छरों के हैबिट जानने के लिए जिले में एंटोमोलोजिकल सर्वे कराया गया ताकि मच्छरों की डेंसिटी पता लगाया जा सके, सर्वे के लिए हमने राज्य शासन को प्रस्ताव भेजा था। अभी वर्तमान में जिले में मलेरिया के केस कम मिले है, डेंगू के रैपिड टेस्ट जांच में केस मिले थे, जिसका सैंपल एलाइजा जांच हेतु रायगढ़ व अम्बिकापुर मेडिकल कॉलेज भेजा गया था, जहां सभी डेंगू के सैंपल नेगेटिव पाए गए। वर्तमान में जिले में एक भी डेंगू के कन्फर्म केस नहीं है किन्तु फिर भी लोगों को बीमारियों के प्रति सावधानी बरतना चाहिए।

जिला मलेरिया अधिकारी डॉ. सुबोध ने कहा कि जिले में इस तरह का सर्वे पहली बार हुआ है, जिसके लिए हम टीम के आभारी हैं। अभी जिले में मलेरिया के केस कम है। हमारी अपील है कि लोग रात को मच्छरदानी लगाकर सोएं, ताकि हम अपने जिले को मलेरिया मुक्त बना सके।


09-Oct-2021 8:06 PM (22)

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

कुसमी, 9 अक्टूबर। बलरामपुर-रामानुजगंज जिला पंचायत सीईओ रीता यादव ने शुक्रवार को जनपद पंचायत कुसमी के सभाकक्ष में कुसमी विकासखण्ड के सरपंच-सचिव व रोजगार सहायक, जनपद के अधिकारियों-कर्मचारियों की समीक्षा बैठक ली।

इस बैठक में मनरेगा, एनजीबी, 15 वां वित्त गोठान, सहित अन्य योजनाओं के समय के साथ सही तरीके से क्रियान्वयन हेतु आवश्यक निर्देश दिये गए। कोरोना गाइडलाइन का पालन करने इसके बचाव हेतु वैक्सीनेशन कार्यक्रम को सफल बनाने हेतु निर्देशित किया गया। इसके बाद सीईओ रीता यादव, जनपद सीईओ कुसमी रणवीर साय सहित अधिकारियों के साथ नगर से लगे ग्राम सेमरा में बनाए जा रहे ऑक्सीजन पार्क का निरीक्षण किया गया।

इसके बाद स्वामी आत्मानंद अंग्रेजी माध्यम स्कूल का भी निरीक्षण कर जायजा लेते हुए यहाँ के शिक्षकों को बच्चों के साथ अंग्रेजी में बात करने व आवश्यक जनरल नॉलेज स्कूल की दीवारों पर लिखने के साथ, यहाँ चल रहे निर्माण कार्य को भी जल्द से जल्द पूरा करने सहित अन्य आवश्यक निर्देश दिए गए।

कस्तूरबा गांधी आवासीय विद्यालय में भी जाकर आश्रम की अधीक्षिका व छात्राओं से मिलकर चर्चा कर समस्याओं से रूबरू हुर्इं। ग्राम गोपीनागर के गौठान का भी निरीक्षण किया गया।

गोठनों के माध्यम से जल्द ही किसानों के गोबर खरीदी शुरू करने की बात कही गई। इस दौरान जनपद अध्यक्ष हुमन्त सिंह सहित अन्य अधिकारी उपस्थित रहे।


09-Oct-2021 8:04 PM (31)

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

बलरामपुर, 9 अक्टूबर। जिले में स्वास्थ्य सुविधाओं में लगातार विस्तार होने के क्रम में एक और महत्वपूर्ण पहल हुई है। शासन के मंशानुरूप जिला चिकित्सालय में अब कैंसर से ग्रसित मरीजों को कीमोथेरेपी की सुविधा मिल रही है। कीमोथेरेपी के लिए पहले मरीजों को जिले से बाहर बड़े शहरों की ओर रुख करना पड़ता था, किन्तु अब जिला चिकित्सालय के ओपीडी कक्ष क्रमांक 52 में डॉ. सुबोध सिंह के द्वारा कीमोथेरेपी की सुविधा दी जा रही है और अब तक चार मरीज सफलतापूर्वक कीमोथैरेपी से लाभान्वित हुए हैं।

डॉ. सुबोध सिंह ने बताया कि कैंसर ऐसी बीमारी है, जिसका समय पर पता चल जाये तो उसकी गंभीरता को कम किया जा सकता है और बीमारी से लोगों की जान बचाई जा सकती है। भ्रांतियों के चलते लोग उपचार लेने में हिचकिचाते हैं तथा लक्षण के पहचान ना होने की स्थिति में समस्या गंभीर होकर भयावह और जानलेवा कैंसर का रूप ले सकती है।

डॉ. सुबोध सिंह ने इस प्रकार की भ्रांतियों को दूर करने के लिए सलाह दी है कि किसी प्रकार की समस्या दिखाई देने पर तुरंत अस्पताल आकर जांच कराएं। जिला चिकित्सालय में 4 अक्टूबर को इसके लिए विशेष कैंप का आयोजन किया गया था, जिसमें 13 लोग लाभान्वित हुए हैं।

कलेक्टर कुन्दन कुमार ने जिला चिकित्सालय के डॉक्टरों की टीम को बधाई दी और बेहतर से बेहतर सुविधा प्रदान करने के लिए उनका उत्साहवर्धन किया। छत्तीसगढ़ के सुदूर उत्तरपूर्व के अंतिम छोर के जिले में भी अब कैंसर के मरीजों को कीमोथेरेपी की सुविधा मिलने से लोग लाभान्वित होंगे।


06-Oct-2021 8:43 PM (77)

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

बलरामपुर, 6 अक्टूबर। भाजपा पिछड़ा वर्ग मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष ने बलरामपुर सर्किट हाउस में प्रेसवार्ता की। प्रेस वार्ता के दौरान राज्य सरकार पर चावल घोटाले का आरोप लगाते हुए जमकर निशाना साधा।

 पत्रकारों से चर्चा करते हुए प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना के अंतर्गत केंद्र से हर महीने 1 लाख 385 टन अतिरिक्त आवंटन छत्तीसगढ़ को दिया गया है। जो प्रति व्यक्ति 5 किलो प्रति महीने मान से 2 करोड़ से अधिक लोगों को हर महीने का यह लाभ मिलना था, लेकिन इसमें से मुश्किल एक तिहाई लोगों को यह लाभ पहुंच रहा है। करीब डेढ़ करोड़ गरीबों के मुंह का निवाला छीन लिया गया है। इसी मामले पर विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक, विधायक एवं प्रदेश भाजपा उपाध्यक्ष शिवरतन शर्मा, पूर्व खाद्य मंत्री पुन्नूलाल मोहले समेत भाजपा विधायकों के सवाल के जवाब में शासन ने स्वीकार किया है कि प्रति माह 1 लाख 385 टन अतिरिक्त चावल केंद्र द्वारा छत्तीसगढ़ को आवंटित किया गया है।

पूरे प्रदेश में राशनकार्ड पर मई से नवंबर 2021 तक के लिए 5 किलो प्रति सदस्य के मुताबिक 7 लाख मीट्रिक टन से अधिक चावल का आवंटन छत्तीसगढ़ शासन को मिला है, लेकिन इसका लाभ छत्तीसगढ़ में जरूरतमंद हितग्राहियों तक कांग्रेस सरकार ने नहीं पहुंचाया है। इस आवंटन का अधिकांश चावल लगभग 5 लाख टन प्रदेश की कांग्रेस सरकार खा गई। प्रदेश की कांग्रेस सरकार हर बार यह कहती आई है कि वह हर पंचायत में 1 क्विंटल चावल अतिरिक्त रखी जाएगी, जो गांव के किसी भी ऐसे व्यक्ति की जरूरत हो, उसे निशुल्क दिया जाएगा। जहां राज्य शासन ने पंचायतों को दिए गए एक क्विंटल चावल की कीमत 3200 रु. प्रति क्विंटल के रूप में वसूला है । इन सभी बातों को लेकर प्रदेश भर में राज्य सरकार के खिलाफ भाजपा प्रदर्शन करने की तैयारी में जुटी हुई है।

कांग्रेस द्वारा किए गए घोटाले को लेकर भाजपा का एक-एक कार्यकर्ता गांव-गांव जाकर उन्हें इन बातों से भी अवगत कराएगा। वह अपनी मांगों को लेकर प्रदेश भर में 7 और 8 अक्टूबर को राशन दुकानों पर धरना देगी और इससे संबंधित मांग पत्र वहां चिपका आएगी इसके अलावा 11 और 12 अक्टूबर को एसडीएम कार्यालय का घेराव कर ज्ञापन सौंपेंगे।

इस कार्यक्रम में भाजपा जिला अध्यक्ष श्री गोपाल कृष्ण मिश्रा, भाजपा पिछड़ा वर्ग मोर्चा जिला अध्यक्ष श्री शिवनाथ जयसवाल, भाजपा जिला महामंत्री जयप्रकाश गुप्ता, मीडिया प्रभारी धर्मेंद्र दुबे, भाजपा मंडल अध्यक्ष श्री अजीत सिंह, पिछड़ा वर्ग मोर्चा जिला उपाध्यक्ष मुकेश गुप्ता,महामंत्री दिलीप गुप्ता,जनपद अध्यक्ष विनय पैकरा, ओम प्रकाश सोनी, भाजयुमो महामंत्री अजय यादव, रामसेवक गुप्ता,भाजपा पिछड़ा वर्ग मोर्चा जिला मीडिया प्रभारी शिव कुमार यादव, सोशल मीडिया प्रभारी संजय यादव, पिछड़ा वर्ग मंडल अध्यक्ष विजय गुप्ता, मंडल महामंत्री रितेश गुप्ता तथा दर्जनों कार्यकर्ता मुख्य रूप से उपस्थित रहे।


03-Oct-2021 8:45 PM (259)

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

कुसमी, 3 अक्टूबर। जिला बलरामपुर के कुसमी अनुविभाग अंतर्गत वार्ड- 11 में करीब डेढ़ करोड़ की लागत से बनाए जा रहे प्री मैट्रिक 50 शैया बालक छात्रावास में हो रहे गुणवत्ताहीन कार्य से नाराज होकर सामरी विधायक चिन्तामणि महाराज ने तत्काल संबंधित विभाग के अधिकारियों को निर्देश देते हुए निर्माण पर रोक लगाने कहा है।

उल्लेखनीय है कि कुसमी में 1 करोड़ 52 लाख की लागत से प्री मैट्रिक 50 शैया बालक छात्रावास का निर्माण कार्य बलरामपुर के एजेंसी आशीष कंट्रक्शन द्वारा कराया जा रहा है। कार्य की स्वीकृति वर्ष 2020-21 संबंधित विभाग द्वारा बताई गई है। कार्य योजना का नाम आदिम जाति कल्याण विभाग है तथा एजेंसी ग्रामीण यांत्रिकी सेवा संभाग बलरामपुर है।

शनिवार को निर्माण हो रहे प्री मैट्रिक छात्रावास के नजदीक एक नवनिर्मित आंगनबाड़ी भवन का लोकार्पण करने सामरी विधायक व संसदीय सचिव चिंतामणि महाराज पहुंचे हुए थे तथा रास्ते से गुजरते वक्त चिंतामणि महाराज की नजर हो रहे निर्माण कार्य पर पड़ी। जिसका निरीक्षण करने विधायक चिंतामणि महाराज कार्यस्थल पहुंच गए।

 यहां पर स्टीमेट के विपरीत ठेकेदार द्वारा कुसमी मुख्यालय में ही मनमानी तरीके से कार्य कराया जाना देख चिंतामणि महाराज ने नाराजगी जाहिर करते हुए बिना मानिटरिंग का कार्य तत्काल बंद कराए जाने निर्देश दिया। कार्यस्थल पर कार्य के नाम वाला बोर्ड भी नजर नहीं आया।

 विधायक के पहुंचने की सूचना मिलते ही विभाग के सब इंजीनियर कार्यस्थल पर पहुंच गए, जहां पर इंजीनियर ने विधायक को अवगत कराते हुए बताया कि आज कार्य किया जा रहा है, इसकी कोई भी सूचना उन्हें नहीं दी गई थी। इस पर विधायक चिंतामणि महाराज ने निर्देश देते हुए कहा कि मुख्यालय के काम में किसी भी प्रकार का गुणवत्ताहीन कार्य बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। यदि कोई ठेकेदार मनमानी करते है तो इसकी जानकारी उच्च अधिकारी को दें, उसके बाद भी कोई नहीं सुनते है तो हमें बताएं।

विधायक ने निर्माण कार्यस्थल पर कॉलम जाली को देख इंजीनियर से पूछा- क्या इसी तरह का जाली बनाया जाना है। इस पर इंजीनियर ने जवाब देते हुए कहा नहीं सर। स्टीमेट के जस्ट विपरीत कॉलम जाली को तत्काल स्टीमेट के अनुसार बनाए जाने का निर्देश विधायक चिंतामणि महाराज ने दिया है तथा फिलहाल कार्य को रोक लगा दिया गया है।


03-Oct-2021 8:40 PM (55)

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

कुसमी, 3 अक्टूबर। लोक निर्माण विभाग उप संभाग  कार्यालय कुसमी में सब इंजीनियर समेत लिपिक व अन्य स्टॉफ की एक ओर कमी बनी हुई हैं, वहीं दूसरी तरफ यहां पदस्थ अधिकारी-कर्मचारी मुख्यालय में न रहकर अन्यंत्र रह रहे हैं। इससे क्षेत्र के जनहित से जुड़े कई विभागीय कार्य प्रभावित हो रहे हैं।

इस संबंध में कुसमी एसडीओ जे के तिग्गा को कहना है कि कुसमी सब डिवीजन में कुल 5 सब इंजीनियर का स्वीकृत पद हैं, लेकिन वर्तमान में एक ही सब इंजीनियर पदस्थ हैं। यहाँ के लिपिक जितेन्द्र सोनी डिवीजन कार्यालय रामानुजगंज में पदस्थ हैं, वहीं मानचित्रकार सुरेंद्र सिंह को कलेक्टर द्वारा बलरामपुर में बन रहे कांग्रेस कार्यालय भवन में ड्यूटी लगाई गई हैं। आगे कहा, मेरा कार्य क्षेत्र राजपुर तक है। राजपुर में रह कर समय-समय पर कुसमी कार्यालय सहित पूरे क्षेत्र का दौरा जारी रहता है।

उल्लेखनीय है कि लोक निर्माण विभाग के सब डिवीजन कुसमी कार्यालय में एक एसडीओ समेत दो सब इंजीनियर, 3 लिपिक 1 मानचित्रकार व कई पद स्वीकृत हैं। कुसमी उप संभाग के अंतर्गत दो अन्य भाग शंकरगढ़ एवं राजपुर भी शामिल हैं। कुसमी सब डिवीजन कार्यालय में एसडीओ जे के तिग्गा पदस्थ हैं, जबकि सब इंजीनियर के दोनों पद रिक्त हैं। यहां शंकरगढ़ सेक्सन के सब इंजीनियर बी तिर्की को कुसमी का अतिरिक्त प्रभार सौंपा गया है, वहीं तीन लिपिक के पद स्वीकृत हैं, लेकिन कुसमी में एक मात्र पदस्थ लिपिक जितेन्द्र सोनी इस कार्यायल में ड्यूटी पर नहीं आते हैं। यहाँ पदस्थ मानचित्रकार सुरेंद्र सिंह भी यहाँ कार्य नहीं कर रहे हैं।

वहीं कुसमी उपसंभाग में पदस्थ एसडीओ जे के तिग्गा मुख्यालय में न रह कर राजपुर के शासकीय आवास में रह कर कार्य कर रहे हैं। मुख्यालय कुसमी का कार्यालय कुछ संविदा कर्मचारियों, चतुर्थ श्रेणी के कर्मचारियों के भरोसे संचालित हो रहा हैं। एसडीओ जे के तिग्गा कभी कभार सप्ताह में एक दो दिन कुसमी कार्यायल पहुँचते हैं. जबकि यहाँ के अतिरिक्त प्रभार लिए सब इंजीनियर शंकरगढ़ में भी विभागीय कार्य की अधिकता के कारण कुसमी में नहीं रह पाते हैं। इस प्रकार से विभाग के मुख्य कार्यालय का अधिकारी कर्मचारियों के अभाव व लापरवाही का शिकार हो जाने से यहाँ का हाल बेहाल हो गया है।। क्षेत्रीय विधायक चिंतामणी महाराज लोक निर्माण विभाग के  संसदीय सचिव हैं, लेकिन उनके विधानसभा में ही इस विभाग की ऐसी स्थिति निर्मित हो गई हैं, इससे क्षेत्र के लोगों में नाराजगी देखी जा रही हैं।

 कुसमी क्षेत्र के सामरी रोड सामरी चाँदो मार्ग करौंधा महुआडांड़ झारखंड मार्ग सहित कुसमी जशपुर मार्ग की स्थिति भी काफी समय से जर्जर हालत में हैं। इससे आवागमन में काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है, लेकिन विभागीय लापरवाही व जनप्रतिनिधियों की उदासीनता के कारण व्यवस्था में सुधार नहीं हो पा रहा है।

सडक़ें जर्जर, धूल से बीमारियों को मिल रहा न्योता

लोक निर्माण विभाग द्वारा कुछ महीने पूर्व ही कई लाख रुपये वार्षिक मद से खर्च कर जर्जर सडक़ को जगह-जगह डामरीकरण के नाम पर सडक़ सुधारने का काम किया गया है। किये गए कार्यों में कई स्थानों पर कागजों पर ही अत्यधिक मूल्यांकन कर राशि की बंदरबाट किये जाने की जानकारी सामने आई है।

 वर्तमान में कुसमी नगर में सडक़ों पर कई स्थानों में जगह-जगह बड़े-बड़े गड्डे हो चुके हैं, जिसमें आए दिन मोटरसाइकिल से गुहरने वाले राहगीरों को वाहन अनियंत्रित होकर दुर्घटना की आशंका बनी हुई है तथा दुर्घटना होती रहती है। इसके साथ -साथ सडक़ किनारे बैठे व्यापारियों व नगरवासियों को खस्ताहाल सडक़ होने के कारण भारी मात्रा में धूल खाना पड़ रहा है। नगरवासियों का कहना है कि यही आलम रहा तो जल्द ही धूल से बड़ी बीमारियों को न्योता मिलेगा और दमा तथा साँस की बीमारी से नागरिक ग्रसित हो जाएंगे।


02-Oct-2021 7:50 PM (134)

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

कुसमी, 2 अक्टूबर। सामरी विधायक व संसदीय सचिव चिंतामणि महाराज ने शनिवार को जनपद पंचायत कुसमी अंतर्गत ग्राम पंचायत कंजिया में 6 लाख 75 हजार की लागत से निर्मित आंगनबाड़ी केन्द्र भवन का फीता काटकर लोकर्पण किया।

सर्वप्रथम विधायक व संसदीय सचिव चिंतामणि महाराज, जपं अध्यक्ष हुमंत सिंह, सीईओ रणवीर साय, जनपद सदस्य सरस्वती बुनकर, सरपंच सीतादेवी भगत ने भवन लोकार्पण के पहले पूजा-अर्चना की। इसके बाद नवनिर्मित आंगनबाड़ी भवन का फीता काटकर लोकार्पण किया गया। विधायक सहित उपस्थित जनप्रतिनिधियों ने भवन का निरीक्षण किया।

 विधायक ने ग्राम पंचायत द्वारा आयोजित सभास्थल पहुंचकर महात्मा गांधी जयंती पर उनके छायाचित्र पर पुष्प चढ़ाकर नमन किया। सभा में उपस्थित पंच व उपसरपंच सहित ग्रामवासियों को जनपद पंचायत अध्यक्ष व उपाध्यक्ष हरीश मिश्रा ने संबोधित करते हुए शासन की कई महत्वपूर्ण योजनाओं को विस्तार से साझा किया।

जनपद पंचायत उपाध्यक्ष हरीश मिश्रा ने सचिव सूरजमल सोनी की तारीफ करते हुए उन्हें जागरूक सचिव बताया। उन्होंने कहा कि कंजिया के सचिव हमेशा शोसल मीडिया पर जानकारियों को अपडेट कर ग्रामीणो को जागरूक करने तत्पर रहते हैं।

 इस अवसर पर उपस्थित आंगनबाड़ी सहायिका सिरमली बाई, अनिता बाई, सदावंती सिंह व मितानिन शकिनय सिंह, बालमीकि सिंह को जनप्रतिनिधियों के हाथों शाल व श्रीफल से सम्मानित किया गया। इस दौरान नगर पंचायत अध्यक्ष गोवर्धन राम, एल्डरमेन सुशील दुबे सहित ग्रामवासी उपस्थित थे।


02-Oct-2021 8:14 AM (36)

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

बलरामपुर, 1 अक्टूबर। जिला मुख्यालय के साप्ताहिक बाजार के समीप आज बलरामपुर जिले के छत्तीसगढ़ जुझारू आंगनबाड़ी सहायिका कल्याण संघ के द्वारा एक दिवसीय सांकेतिक धरना प्रदर्शन किया गया। रैली के माध्यम से कलेक्ट्रेट पहुंच कर मुख्यमंत्री के नाम बलरामपुर एसडीएम को ज्ञापन सौंपा ।

छत्तीसगढ़ जुझारू आंगनबाड़ी सहायिका संघ की जिलाध्यक्ष गायत्री बाउल ने बताया कि छत्तीसगढ़ जुझारूआंगनबाड़ी कार्यकर्ता सहायिका कल्याण संघ लगातार अपनी मांगों को सरकार समक्ष रखता आ रहा है, लेकिन इस तरफ कोई ध्यान नहीं दिया जा रहा है। पूर्व में हमने 50 दिन का आंदोलन भी किया है। हम सब अपनी त्योहारों को भी भूल कर त्यौहार के दिनों में भी उनका ध्यान आकर्षण के लिए कर रहे हंै।

छत्तीसगढ़ जुझारू आंगनबाड़ी सहायिका संघ संघर्ष करने के बाद भी अभी तक हमारी मांगों पर किसी प्रकार की विचार-विमर्श नहीं की गई। आंगनबाड़ी कार्यकर्ता सहायिकाओं के द्वारा कोविड-19 में भी अपने परिवार की चिंता न करते हुए पूरी निष्ठा के साथ हम आंगनबाड़ी की बहनों ने कार्य किया है।

जन घोषणापत्र में आंगनबाड़ी की बहनों से लिखित में कलेक्टर दर देने का वादा किया गया था, लेकिन अभी तक हमारी मांग पूरी नहीं की गई है।

 वहीं अध्यक्ष ने यह भी कहा कि प्रदेश के समस्त आंगनबाड़ी कार्यकर्ता, सहायिका में आक्रोश है। आज हमारे सामने ही सभी विभागों के वादे व मांग पूरे हो रहे हैं, लेकिन हमारी मांग पर किसी भी प्रकार की विचार-विमर्श नहीं किया जा रहा है। यह हमारे लिए बहुत ही दुर्भाग्य जनक बात है। हमारी मांग पूरी नहीं हुई तो आगे आंदोलन जारी रहेगी।


30-Sep-2021 8:22 PM (58)

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

बलरामपुर, 30 सितंबर। कोटरी का शिकार करने वाले 3 आरोपियों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया।

 जिले के सेमरसोत अभ्यारण्य अंतर्गत 26 सितंबर को खटवाबरदर के करीब 8-10 लोगों के द्वारा मिलकर जंगली जानवर कोटरी का शिकार कर शव को जंगल में ही छिपा दिया गया था। जैसी इसकी जानकारी वन अमला को लगी, वन अमला ने तत्काल इसकी सूचना उप निदेशक एलिफेंट रिज़र्व सरगुजा प्रभाकर खलखो को दी। श्री खलखो के निर्देश पर अधीक्षक सेमरसोत श्री केरकेट्टा के मार्गदर्शन में रेंजर बलरामपुर डी पी सोनवानी के द्वारा वन अमला के साथ 3 दिनों तक खटवाबरदर के जंगल में गस्त करते रहे एवं ग्रामीणों से पूछताछ करते रहे।

पूछताछ करने में पता चला कि आरोपी शंकर उर्फ मुन्ना अपने अन्य सहयोगी आरोपियों के साथ मिलकर कोटरी का शिकार तालाब के पास खेत में किया है। जिसके बाद खाने की तैयारी को लेकर उसे घर में रखा था। लेकिन जैसे शिकारियों को इसकी जानकारी लगी कि वन अमला गांव में शिकारियों की तलाश में जुटी है। जिसके बाद आरोपियों के द्वारा तत्काल मृत कोटरी को 1 बोरे में भरकर गाँव से लगे जंगल में दूर ले जाकर छिपा दिया गया।

वन विभाग के द्वारा आरोपियों से कड़ाई से पूछताछ करने से उन्होंने जंगल में छुपाना स्वीकार किया। आरोपियों के साथ वन अमला मौके पर पहुंची, जहाँ मृत को शव जब्त कर लिया। वन अधिकारियों द्वारा आरोपी शंकर उर्फ मुन्ना, रासपति एवं तेजकुमार के विरुद्ध वन्यप्राणी संरक्षण अधिनियम 1972 के तहत वन अपराध दर्ज करते हुए न्यायालय बलरामपुर में प्रस्तुत किया गया, जहाँ से सभी आरोपियों को जेल भेज दिया गया।

नहीं बख्से जाएंगे कोई आरोपी-केरकेट्टा

इस पूरे मामले में अधीक्षक सेमरसोत केरकेट्टा ने कहा है कि वन्य प्राणी की निर्ममतापूर्वक जान लेने वाले किसी भी आरोपी को नहीं बख्सा जाएगा। उन्होंने कहा कि जंगली जानवर का शिकार करना दंडनीय अपराध है, ऐसा करते हुए पाए जाने पर उनके खिलाफ वन प्राणी संरक्षण अधिनियम के तहत कठोर से कठोर कार्रवाई के प्रावधान हैं।


30-Sep-2021 8:17 PM (27)

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

बलरामपुर, 30 सितंबर। जिले से होकर गुजरने वाली एनएच 343 के डुमरखी गांव के समीप अज्ञात वाहन की ठोकर लकड़बग्घे की मौके पर मौत हो गई। इसकी जानकारी लगते ही वन अमला सुबह मौके पर पहुंचा। लकड़बग्घे के शव को पोस्टमार्टम के लिए डॉक्टरों की टीम बुलाई गई। पोस्टमार्टम के पश्चात लकड़बग्घे के शव को वन विभाग की टीम के द्वारा अंतिम संस्कार कर दिया गया।

बलरामपुर वन परीक्षेत्र अधिकारी रविशंकर लाल श्रीवास्तव ने बताया कि वन्य जीव लकड़बग्घे की मृत की जानकारी लगते ही टीम को तत्काल मौके पर रवाना कर दिया गया था। इसकी जानकारी उच्चाधिकारियों को भी दे दी गई है। उन्होंने कहा कि मृत लकड़बग्घा को देखने के बाद ऐसा नहीं लगता कि इसका किसी ने शिकार किया हो। उन्होंने कहा कि यह सडक़ को क्रॉस करते वक्त किसी वाहन की चपेट में आ गया है, जिससे इसकी मौत हुई है।

वन परिक्षेत्र अधिकारी ने लोगों से अपील की है कि वन जीवों की रक्षा करें। इनका शिकार करना दंडनीय अपराध है। शिकार करते हो पाए जाने पर वन अधिनियम के तहत कार्रवाई की जाएगी।


29-Sep-2021 7:41 PM (62)

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

राजपुर, 29 सितंबर। बलात्कार के बाद गर्भवती होने और बच्चा हो जाने के बाद दबाव में आकर पीडि़ता को अपने साथ रखने और बाद में छोड़ देना के मामले में रिपोर्ट के बाद शंकरगढ़ पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है।

पुलिस ने बताया कि पीडि़ता 27 सितंबर को थाना उपस्थित आकर इस आशय का लिखित आवेदन पत्र प्रस्तुत कर रिपोर्ट दर्ज कराई कि माह सितंबर वर्ष 2020 में ग्राम दोहना निवासी भीनू पैकरा (20 वर्ष) इसके घर पर आया और इसे अकेला देखकर तुमसे शादी करूंगा बोल कर इसके साथ जबरदस्ती बलात्कार किया और घटना की बात किसी को भी नहीं बताने के लिए बोला। जिससे यह गर्भवती हो गयी तो घटना की बात को अपने माता-पिता को बताई। तब इसके माता-पिता ग्राम पंचायत में बैठक कर भीनूराम के द्वारा इससे शादी करने की बात को स्वीकार करने पर पीडि़ता भीनु पैकरा के घर में रहने लगी।

बलात्कार से गर्भवती होकर यह अप्रैल के प्रथम सप्ताह में एक बच्ची को जन्म दी, लगभग 7-8 दिन जीवित रहने के बाद बच्ची रात में अचानक मर गई। घटना के कुछ दिन बाद वह कक्षा 12वीं की परीक्षा दिलाने अपने माता-पिता के घर आ गई। लगभग 1 माह बाद पीडि़ता भीनु के घर गई तो वह अपने घर में घुसने नहीं दिया और तुम मेरी पत्नी नहीं हो कहकर भगा दिया।

मामले में रिपोर्ट के बाद शंकरगढ़ पुलिस ने आरोपी के विरुद्ध धारा 376.2(6) भादवि पॉक्सो एक्ट की धारा 46 का कायम कर विवेचना में लिया गया। घटना की जानकरी वरिष्ठ अधिकारियों को दिया गया एवं पुलिस अधीक्षक बलरामपुर रामकृष्ण साहू एवं अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक बलरामपुर सुशील नायक के निर्देशन में पुलिस अनुविभागीय अधिकारी कुसमी के मार्गदर्शन में थाना प्रभारी शंकरगढ़ अमित गुप्ता द्वारा टीम गठित कर तत्परतापूर्वक प्रकरण के आरोपी भीनू पैकराको गिरफ्तार कर न्यायिक रिमाण्ड पर भेजा गया है।


29-Sep-2021 7:39 PM (54)

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

बलरामपुर, 29 सितंबर। बलरामपुर नगर पालिका में अध्यक्ष व पार्षदों के द्वारा सीएमओ के साथ हुई मारपीट की घटना में पुलिस ने विवेचना के बाद लूट व हमला करने का भी धारा जोड़ दिया है।

गत 22 सितंबर को सीएमओ बलरामपुर ने पुलिस से लिखित शिकायत की थी। जिसमें उल्लेख था कि पार्षदों व अध्यक्ष ने मिलकर मारपीट करते हुए गाली दिए तथा शासकीय दस्तावेज इधर-उधर करने तथा आगजनी की धमकी दिए थे। सीएमओ की शिकायत पर अध्यक्ष, उपाध्यक्ष, पार्षदों सहित 20 लोगों के विरुद्ध एफआईआर दर्ज किया था। जिनके ऊपर एफआईआर दर्ज किया गया था, उनमें अध्यक्ष गोविंद राम, उपाध्यक्ष नवीन गुप्ता, प्रवीण गुप्ता, संजीत सिंह, विनय यादव, राकेश सिंह, अमित गुप्ता, शंकर पासी, रोशन चौरसिया, दिलीप सोनी, अजय गुप्ता, जितेंद्र श्रीवास्तव, बसंत सिंह, रिकी गुप्ता, का नाम शामिल था।

गौरतलब है कि 20 सितंबर को नगर पालिका बलरामपुर में नगर पालिका अध्यक्ष, उपाध्यक्ष एवं पार्षदों ने सीएमओ के विरुद्ध पीआईसी की बैठक अध्यक्ष व पार्षदों के बार-बार निवेदन के पश्चात भी न कराने के कारण विकास कार्य रुका होने का आरोप लगाते हुए एक लिखित ज्ञापन कलेक्टर बलरामपुर, तहसीलदार बलरामपुर, अनुविभागीय दंडाधिकारी, कोतवाली थाना बलरामपुर, पुलिस अधीक्षक बलरामपुर, को नगर पालिका में तालाबंदी व आंदोलन के लिए दिए थे।

21 सितंबर को अध्यक्ष व पार्षदों ने 11.30 बजे तालाबंदी का कार्यक्रम किए और शाम को करीब 5.45 बजे तक पंडाल लगाकर मांग करते रहे कि बैठक हो। एसडीएम बलरामपुर ने समझाइश देकर सभी को शांत कराया व बैठक कर सभी को समझाइश देते हुए कहा कि अगले दिन बैठक होगी। इसी आश्वासन के पश्चात विवाद शांत हो गया था, लेकिन शाम 8 बजे की दरमियान पुन: सीएमओ व पार्षदों के बीच विवाद हो गया था।

सीएमओ बलरामपुर सुमित कुमार गुप्ता ने 22 सितंबर को लिखित शिकायत आवेदन देते हुए प्राथमिकी दर्ज कराया गया था। जिसके बाद पुलिस ने अध्यक्ष, उपाध्यक्ष, पार्षदों सहित 20 लोगों के विरुद्ध एफ आईआरदर्ज किया था, घटना में शामिल अभी सभी लोग फरार चल रहे हैं।

पार्षद पत्नी ने कहा- पति घर में थे उसके बाद भी उनका नाम जोड़ा गया

बलरामपुर नगर पालिका के वार्ड क्रमांक 15 के पार्षद की पत्नी आशा तिवारी ने बताया कि मेरे पति सुदेश्वर तिवारी जो घटना दिनांक 21 सितंबर को शाम 7.15 बजे से रात भर घर में ही रहे, जिसका प्रमाण मेरे निवास में लगे सीसीटीवी कैमरे में देख सकते हैं, लेकिन उनके ऊपर भी अनावश्यक परेशान करने के उद्देश्य से बाद में नाम जोड़ा गया है। श्रीमती तिवारी ने कहा कि मैं सीसीटीवी का फुटेज निकलवा कर सीडी व अन्य माध्यमों से शासन प्रशासन को अवगत कराउंगी।


Previous123456789...1314Next