छत्तीसगढ़ » बलरामपुर

20-Sep-2020 9:19 PM

रामानुजगंज, 20 सितंबर। बंधुआ मजदूरी कराने ले गए सात नाबालिग व 8 बालिग मजदूरों को पुलिस ने दिगर प्रांतों से छुड़वाया। पुलिस ने मामले में गांव के दो लोगों के विरुद्ध अपराध पंजीबद्ध कर हिरासत में ले लिया है।

बलरामपुर रामानुजगंज जिला के चुमरा से 10-12 नाबालिग बच्चों को काम कराने के नाम प्रलोभन देकर बनारस ले जाया गया था, जहां से बच्चों को हरियाणा दिल्ली गाजियाबाद मेरठ में बंधुआ मजदूरी कराई जा रही थी। इसकी सूचना रामानुजगंज थाने में दी गई जिसके बाद इसकी जानकारी पुलिस अधीक्षक रामकृष्ण साहू को दी गई, जिनके द्वारा दूसरे प्रदेशों में बच्चों को जाकर मजदूरी करवाई जाने की जानकारी पुलिस महानिरीक्षक रतनलाल डांगी को दी। आईजी के निर्देश के बाद यहां से दूसरे ही दिन टीम रवाना कर दी गई जिनके द्वारा 7 नाबालिग बच्चों सहित आठ बालिका मजदूर को सकुशल वापस लाया गया जिसकी जानकारी पुलिस अधीक्षक रामकृष्ण साहू ने आज पत्रकार वार्ता के दौरान दी। 

इस संबंध में पुलिस अधीक्षक रामकृष्ण साहू ने बताया कि ग्राम सिमरा से 10-12 बच्चों के काम करने के बहाने बनारस ले जाए जाने की सूचना 10 सितंबर को प्राप्त हुई। जिसके बाद तत्काल विजय नगर चौकी प्रभारी विनोद पासवान एवं त्रिकुंडा थाना प्रभारी रजनीश सिंह के नेतृत्व में टीम गठित कर बच्चों की बरामदगी हेतु विशेष पुलिस बल 50-35 सीटर बस से टीम को भेजा गया। टीम ने दिल्ली,गुडग़ांव फरीदाबाद,गाजियाबाद,मेरठ एवं अन्य जगहों पर पतासाजी एवं छापेमारी कर कुल 7 नाबालिग बच्चों सहित आठ बालिक मजदूर बरामद कर वापस लाया गया। 

पुलिस ने ग्राम चुमरा के विचारण यादव एवं बंसी गुण जिनके द्वारा बच्चों को प्रलोभन देकर काम करने के लिए ले जाया गया था, उनके विरुद्ध अपराध पंजीबद्ध कर हिरासत में ले लिया गया है। पुलिस अधीक्षक रामकृष्ण साहू ने कहा कि टीम में सम्मिलित सभी पुलिसकर्मियों को इनाम दिया जाएगा, जिन्होंने कोरेना संक्रमण काल की विपरीत परिस्थिति में अपने फर्ज का बखूबी निर्वहन किया।

10 दिन के मेहनत के बाद मिली सफलता-

पुलिस सूचना पर पहले बनारस गई परंतु पता चला कि सभी बच्चों को अलग-अलग जगह पर काम करने के लिए भेजा गया है जिसके बाद पुलिस के लिए एक बड़ी चुनौती थी कि सभी स्थानों से बच्चों को बरामद करें। पुलिस के द्वारा लगातार छापामारी करते हुए दिल्ली गुडग़ांव फरीदाबाद गाजियाबाद मेरठ एवं अन्य जगहों से बच्चों को बरामद किया।

एक राय हो भागने का नहीं करें प्रयास इसलिए सभी को अलग-अलग काम पर लगवाया

हरियाणा के दलाल के द्वारा पहले तो बच्चों के साथ मारपीट की गई वहीं सभी बच्चे एक राय होकर कहीं भागने का प्रयास ना करें इसलिए सभी को अलग-अलग काम पर लगाया गया। कुछ बच्चों को कंट्रक्शन काम में तो कुछ को क्रेशर में काम पर लगाया गया था।

पुलिस अधीक्षक रामकृष्ण साहू ने बताया कि शामली पाठ के दो बच्चों को जम्मू कश्मीर के पुलवामा ले जाया गया था जहां से उन्हें सकुशल वापस ले आया गया है।


11-Sep-2020 10:23 PM

शासन की महत्वपूर्ण योजनाओं की हुई समीक्षा

बलरामपुर, 11 सितम्बर।जिला विकास समन्वय एवं निगरानी समिति की बैठक केंद्रीय राज्यमंत्री, जनजातीय कार्य मंत्रालय रेणुका सिंह की अध्यक्षता तथा समिति के सदस्यों की उपस्थिति में न्यू सर्किट हाउस बलरामपुर में आयोजित की गई। बैठक में पूर्व निर्धारित 33 बिंदुओं में अधिकारियों के साथ विस्तृत चर्चा कर आवश्यक दिशा-निर्देश दिये। 

कलेक्टर श्री श्याम धावड़े द्वारा अभिवादन के साथ ही जिले की आधारभूत जानकारी देते हुए बैठक की शुरुआत की गई। केंद्रीय राज्यमंत्री रेणुका सिंह ने मनरेगा, प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना, दीनदयाल अंत्योदय योजना, प्रधानमंत्री उज्जवला योजना, प्रधानमंत्री कौशल विकास, प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना, स्वच्छ भारत मिशन, कोविड-19, प्रधानमंत्री आवास योजना, कृषि सिंचाई योजना, मध्यान्ह भोजन, खाद्यान्न वितरण, एकीकृत बाल विकास योजना तथा पेयजल योजना के संबंध में विभागीय अधिकारियों के साथ चर्चा कर जानकारी ली।

केंद्रीय राज्यमंत्री श्रीमती सिंह ने प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना की समीक्षा करते हुए नए स्वीकृत सड़कों की जानकारी ली तथा गुणवत्तापूर्ण सड़क निर्माण करने के निर्देश दिए। समिति के सदस्यों द्वारा सड़क एवं पुलिया के क्षतिग्रस्त होने के कारण गांव से संपर्क प्रभावित होने की जानकारी देने पर तत्काल मरम्मत कार्य पूर्ण करने के निर्देश दिए। उन्होंने मनरेगा से जुड़े कार्यों की जानकारी लेते हुए संचालित निर्माण कार्य, नियोजित मजदूरों की संख्या तथा भुगतान संबंधी जानकारी ली। मनरेगा के मजदूरी भुगतान तथा मास्टररोल के संबंध में चर्चा कर इससे जुड़े महत्वपूर्ण सुझाव दिए। 

पांचवी अनुसूची के क्षेत्रों के लिए विशेष प्रावधानों की जानकारी देते हुए उन्होंने विशेष पिछड़ी जनजातियों को शासकीय योजनाओं का पूरा लाभ मिले, यह सुनिश्चित करने के निर्देश दिये। राष्ट्रीय सामाजिक सहायता कार्यक्रम की समीक्षा करते हुए उन्होंने कहा कि पेंशन का भुगतान समय पर हो तथा योजना का लाभ समस्त हितग्राहियों को समय पर मिले। 

रेणुका सिंह ने प्रधानमंत्री आवास योजना शहरी एवं ग्रामीण के अंतर्गत स्वीकृत तथा पूर्ण हो चुके आवासों की संख्यात्मक जानकारी ली। प्रधानमंत्री आवास योजना के अधिकारियों ने उन्हें बताया कि 2020-21 के लिए 4 हजार आवास निर्माण का लक्ष्य मिला है, उसके लिए कार्यवाही जारी है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री आवास योजना के सफल क्रियान्वयन के लिए सरपंचों एवं पंचों को जिम्मेदारी देकर मॉनिटरिंग कराई जाये ताकि गुणवत्तापूर्ण कार्य होने के साथ ही पात्र हितग्राहियों को उसका लाभ मिले।

स्वच्छ भारत मिशन की समीक्षा करते हुए उन्होंने खुले में शौच मुक्त होने के तिथि की जानकारी ली तथा व्यक्तिगत शौचालय निर्माण के संबंध में प्राप्त शिकायतों पर गंभीरता के साथ कार्यवाही करने को कहा। श्रीमती सिंह ने जल जीवन मिशन, रूर्बन मिशन, प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई एवं फसल बीमा योजना, सर्व शिक्षा मिशन के संबंध में विभागीय अधिकारियों से महत्वपूर्ण बिन्दुओं पर चर्चा की। 


11-Sep-2020 10:22 PM

जिला सड़क सुरक्षा समिति की बैठक 

बलरामपुर, 11 सितम्बर। जिला सड़क सुरक्षा समिति की बैठक केन्द्रीय राज्य मंत्री, जनजातीय कार्य मंत्री रेणुका सिंह के अध्यक्षता में न्यू सर्किट हाउस बलरामपुर में सम्पन्न हुई। बैठक में सड़क सुरक्षा से जुड़े महत्वपूर्ण बिन्दुओं पर चर्चा की गई। 

बैठक में सड़क दुर्घटना में कमी लाने के लिए जिले में विशिष्ट लक्ष्यों के साथ सड़क सुरक्षा कार्ययोजना की समीक्षा की गई। केन्द्रीय मंत्री ने ब्लैक स्पॉटों की पहचान कर सुधार से संबंधित कार्यों की समीक्षा करते हुए कहा कि चिन्हित ब्लैक स्पॉट में सड़क दुर्घटना में निगरानी रखी जाए तथा सड़क इंजीनियरिंग के उपायों को अपनाएं ताकि दुर्घटना में कमी आये। 

 रेणुका सिंह ने हेलमेट न पहनने के कारण होने वाली सड़क दुर्घटनाओं से बचाव के लिए जन जागरूकता बढ़ाने तथा हेलमेट न पहनने वालों पर कार्यवाही करने को कहा। उन्होंने पशुओं के कारण होने वाली सड़क दुर्घटनाओं के बारे में चर्चा करते हुए कहा कि पशु सड़क में न घूमें, यह सुनिश्चित किया जाये ताकि पशुधन एवं जनहानि न हो। गति सीमा और यातायात को सुचारू बनाने के लिए प्रमुख मार्गों पर रोड लेन मार्किंग, राज्यमार्गो एवं सहायक मार्गों के जक्शन में रंबल स्ट्रिप का निर्माण, नेशनल हाईवे में टी-जंक्शन, वाय-जंक्शन तथा सांकेतिक बोर्ड लगाया जाए। उन्होंने कहा कि यातायात नियमों के लिए जन जागरूकता के साथ-साथ स्थानीय स्तर पर स्कूलों एवं कॉलेजों में छात्र-छात्राओं को जानकारी दी जाए।

इस अवसर पर विधायक श्री बृहस्पत सिंह, कलेक्टर श्री श्याम धावड़े, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक, अतिरिक्त मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत, जिला स्तरीय अधिकारी सहित जनप्रतिनिधिगण उपस्थित थे।


11-Sep-2020 10:21 PM

बलरामपुर, 11 सितम्बर। कोविड-19 के कारण परिवहन सेवाएं सुचारू रूप से संचालित नहीं हो रही हैं। ऐसे में परीक्षार्थियों को परीक्षा केन्द्र तक जाने में निजी वाहनों की आवश्यकता होती, लेकिन मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने जेईई एवं नीट की परीक्षा तिथि की घोषणा के साथ ही परीक्षार्थियों को परीक्षा से वंचित न होना पड़े, इसलिए नि:शुल्क परिवहन सुविधा उपलब्ध करवाई है। नीट की परीक्षा 13 सितम्बर को आयोजित की गई है, जिसके तहत् बलरामपुर-रामानुजगंज जिले के कुल 87 परीक्षार्थियों को संयुक्त जिला कार्यालय भवन बलरामपुर से उनके परीक्षा केन्द्र रायपुर, बिलासपुर एवं दुर्ग-भिलाई हेतु अपर कलेक्टर श्री विजय कुजूर द्वारा हरी झण्डी देकर रवाना किया गया। जिसमें बिलासपुर परीक्षा केन्द्र हेतु 29 छात्र एवं 08 छात्राएं, रायपुर हेतु 22 छात्र एवं 13 छात्राएं तथा दुर्ग-भिलाई हेतु 05 छात्र एवं 10 छात्राएं परीक्षा में शामिल होने के लिए रवाना हुए।


10-Sep-2020 9:23 PM

'छत्तीसगढ़' संवाददाता

बलरामपुर, 10 सितम्बर। कलेक्टर श्याम धावड़े कुसमी विकासखण्ड के अंतर्गत सुदूर नक्सल प्रभावित क्षेत्र ग्राम पंचयात सबाग पहुंच कर वहां संचालित प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र का निरीक्षण किया, साथ ही ग्राम पंचायत के सरंपच से शासन के जनकल्याणकारी योजना के क्रियान्वयन तथा सीआरपीएफ के अधिकारी से क्षेत्र में नक्सल गतिविधियों तथा सुरक्षा के संबंध में जानकारी ली।

कलेक्टर श्याम धावड़े ने सुदूर नक्सल प्रभावित क्षेत्र सबाग में प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र का निरीक्षण किया। उन्होंने स्वास्थ्य केन्द्र में कार्यरत स्वास्थ्य अधिकारी एवं कर्मचारियों से ग्रामीणों को दी जा रही स्वास्थ्य सुविधा के बारे में जानकारी ली। स्वास्थ्य अधिकारी से प्रतिदिन ओपीडी में आने वाले मरीजों तथा स्वास्थ्य केन्द्र में होने वाले संस्थागत प्रसव के बारे में पूछा। कलेक्टर ने स्वास्थ्य केन्द्र में साफ-सफाई एवं व्यवस्था को देख कर प्रसन्नता जाहिर करते हुए कार्यरत अधिकारी एवं कर्मचारियों का हौसला अफजाई किये तथा क्षेत्र के लोग को नि:स्वार्थ भाव से चिकित्सा सुविधा उपलब्ध कराने को कहा।

स्वास्थ्य अधिकारी अनिल पाठक एवं कार्यरत स्वास्थ्य कार्यकर्ता ने बताया कि स्वास्थ्य केन्द्र में प्रतिदिन 15 से 20 मरीज अपनी इलाज के लिए आते हैं साथ ही यहां प्रत्येक माह 10 से 15 गर्भवती माताओं का संस्थागत प्रसव कराया जाता है। स्वास्थ्य अधिकारी ने जानकारी दी कि स्वास्थ्य केन्द्र में प्रर्याप्त मात्रा में दवाई उपलब्ध है। उन्होंने कहा कि दूरस्थ क्षेत्र एवं आवागमन की सुविधा न होने से यहां कार्य करना चुनौतिपूर्ण है। मोटर बाईक एम्बुलेंस ही इस क्षेत्र के मरीजों को लाने तथा ले जाने का कारगर साधन है। चिकित्सा अधिकारी ने प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र से मेन रोड तक सड़क निर्माण कार्य शीघ्र प्रारंभ कराने तथा स्वास्थ्य केन्द्र परिसर में भूमि समतलीकरण एवं बाउण्ड्रीवॉल कराने का आग्रह किया।कलेक्टर श्याम धावड़े ने ग्रामीण यांत्रिकी विभाग के अधिकारी से सड़क निर्माण का कार्य शीघ्र प्रारंभ करने तथा परिसर में भूमि समतलीकरण एवं बाउण्ड्रीवाल हेतु शीघ्र प्रकरण तैयार कर प्रस्तुत करने के निर्देश दिये।

निरीक्षण के दौरान ग्राम पंचायत सबाग की सरपंच कैलासो नगेशिया से चर्चा करते हुए कलेक्टर ने शासन के जनकल्याणकारी योजना के संबंध में जानकारी ली। उन्होंने सरपंच तथा सचिव को निर्देश दिये कि पंचायत में कोई भी व्यक्ति बिना राशन कार्ड के न रहे। उन्होंने उपस्थित ग्रामीणों से फसल गिरदावरी तथा शासन की जनकल्याणकारी योजना का लाभ मिल रहा हैं या नहीं इस संबंध में जानकारी ली। तत्पश्चात कलेक्टर श्री धावड़े सबाग स्थित सीआरपीएफ कैम्प पहुंचे वहां उन्होंने अधिकारियों से क्षेत्र मे नक्सल गतिविधियों तथा सुरक्षा के संबंध में जानकारी ली। अधिकारियों ने क्षेत्र के भौगोलिक स्थिति की जानकारी देते हुए उनके द्वारा किये गये सुरक्षा के उपाय के बारे में बताया। अधिकारियोंं ने कलेक्टर को अवगत कराया कि गर्मी के सीजन में क्षेत्र का जल स्तर काफी नीचे चला जाता है। जिससे पेयजल एवं निस्तार हेतु समस्या होती है। उन्होंने कलेक्टर से समीप के नाले में स्टापडेम बनाने का आग्रह किया। कलेक्टर ने ग्रामीण यांत्रिकी विभाग के अधिकारी से स्थिल निरीक्षण कर प्रस्ताव तैयार करने को कहा।


10-Sep-2020 9:17 PM

कलेक्टर ने हरी झंडी दिखाकर किया रवाना

'छत्तीसगढ़' संवाददाता

बलरामपुर, 10 सितम्बर। केंद्र तथा राज्य शासन द्वारा आगामी 3 वर्षों तक कुपोषण, बौनापन तथा एनीमिया की दर को कम करने के लिए 1 से 30 सितम्बर तक राष्ट्रीय पोषण माह का आयोजन किया जा रहा है। जिसके तहत बच्चों, शिशुवती, गर्भवती माताओं को जागरूक करने तथा गांव-गांव में प्रचार-प्रसार करने के लिए के लिए कलेक्टर श्याम धावड़े एवं अपर कलेक्टर विजय कुमार कुजूर ने सुपोषण साक्षरता रथ को हरी झण्डी दिखाकर रवाना किया। पोषण रथ के द्वारा ऑडियो के माध्यम से एनीमिया, डायरिया, स्वच्छता, पौष्टिक आहार एवं साफ-सफाई पर आधारित संदेश दिया जाएगा।

 जिला महिला एवं बाल विकास के अधिकारी ने कहा कि पोषण रथ जिले के सभी 468 ग्राम पंचायतों में जाएगी इसके द्वारा सुपोषण संबंधित योजनाओं व महत्वपूर्ण जानकारी लोगों को दी जाएगी। राष्ट्रीय पोषण माह में प्रतिदिन बच्चों, महिलाओं को कुपोषण से बचाने अलग-अलग गतिविधियों का आयोजन थीम के द्वारा तैयार किया गया है, इस थीम पर हर दिन अलग-अलग गतिविधियां आयोजित की जा रही है।


10-Sep-2020 9:15 PM

'छत्तीसगढ' संवाददाता

बलरामपुर,10 सितम्बर। मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत हरीश एस. ने पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग के द्वारा प्रदत्त शक्तियों का प्रयोग करते हुए महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार योजना एवं 15वां वित्त से अभिसरण के माध्यम से समस्त विकासखण्डों के विभिन्न ग्राम पंचायतों में 50 उचित मूल्य दुकान सह गोदाम भवन निर्माण के लिए 5 करोड़ 18 लाख 50 हजार की राशि की प्रशासकीय स्वीकृति दी है। गोदामों का निर्माण कार्य मनरेगा के माध्यम से होने से मजदूरों को रोजगार भी मिलेगा।

स्वीकृत गोदान भवनों में जनपद पंचायत वाड्रफनगर के ग्राम केसारी, बैकुण्ठपुर, गोंदला, जौवराही, शिवरी, इंजानी, नवगई, सरना, बेतों, गुरमुटी, जनपद पंचायत बलरामपुर के रामनगरकलां, सागरपुर, धनवार, डुमरखोरका, गोविन्दपुर, खटवाबरदर, पिण्ड्रा, सरगवां, जनपद पंचायत शंकरगढ के बेलकोना, नवाडीह, आसनपानी, चांगरो, जामपानी, जरहाडीह, कोटालु, लडुवा, जनपद पंचायत रामचन्द्रपुर के कमलपुर, कृष्णनगर(केरवाशीला), सेमरवा, डुंगरू, नेहरूनगर, रामचन्द्रपुर, भवरमाल, देवगई, जनपद पंयायत कुसमी के ग्राम धन्जी, गौतमपुर, राजेन्द्रपुर, इदरीपाट, दात्रम, लक्ष्मणपुर, कंजीया, मगाजी तथा जनपद पंचायत राजपुर के बैढ़ी, बुढ़ाबगीचा, डीगनगर, चन्द्रगढ़, धंधापरु, खुखरी, आरा, भेण्डरी में उचित मूल्य दुकान सह गोदाम भवन निर्माण के लिए सभी ग्राम पंचायतों हेतु 10 लाख 37 हजार की प्रशासकीय स्वीकृति प्रदान की गई है। उक्त कार्य के लिए ग्राम पंचायत को निर्माण एजेन्सी बनाया गया है। जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी ने समस्त निर्माण एजेन्सीयों को शासन द्वारा दिये गये दिशा निर्देशों का पालन करते हुए कार्यो का संपादन सुनिश्चित करने के निर्देश दिये है।


06-Sep-2020 7:51 PM

बलरामपुर, 6 सितंबर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल द्वारा कलेक्टरों, पुलिस अधीक्षकों तथा जिला पंचायत मुख्य कार्यपालन अधिकारियों के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग कर कोविड-19 के वर्तमान स्थिति की समीक्षा करते हुए आवश्यक दिशा-निर्देश दिए गए।

श्री बघेल ने कलेक्टरों को संबोधित करते हुए कहा कि कोविड-19 के प्रसार को रोकने के लिए राज्य शासन ने प्रारंभ से ही आवश्यक कदम उठाए हैं तथा कोरोना संक्रमितों के लिए सभी स्वास्थ्य सुविधाएं उपलब्ध कराई गई हैं। उन्होंने कहा कि अब से जिन कोरोना संक्रमितों को कोई भी लक्षण नहीं है अथवा बिल्कुल हल्के लक्षण हैं एवं अन्य कोई शारीरिक समस्या नहीं है, ऐसे मरीजों को होम आइसोलेशन में ही रखना है। होम आइसोलेशन के लिए स्वास्थ्य विभाग द्वारा अलग से दिशा-निर्देश जारी किये गये हैं, उनका पालन करना अनिवार्य होगा। 

कोरोना महामारी से लड़ाई में सहयोग की अपील

कलेक्टर श्याम धावड़े ने जिले के नागरिकों को संबोधित करते हुए कहा है कि कोरोना वायरस कोविड-19 से लडऩे में प्रशासन सक्रियता के साथ कार्य कर रहा है। शासन द्वारा प्राप्त निर्देशों का पालन करते हुए सभी व्यवस्थाएं की गई हैं। कोविड अस्पताल के साथ-साथ आईसोलेशन सेंटर भी बनाए गए हैं ताकि मरीजों को बेहतर इलाज के साथ ही चिकित्सकीय निगरानी में भी रखा जा सके। उन्होंने अपील की है कि कोरोना से बचाव के मानकों का पालन करें, मास्क का आवश्यक रूप से प्रयोग करें, हाथों को धोएं तथा सोशल/फिजीकल डिस्टेंसिंग का पालन करें। 

उन्होंने कहा कि भ्रामक खबरों पर ध्यान न दें, कोरोना के लक्षण तथा इलाज से जुड़ी जानकारी स्वास्थ्य विभाग द्वारा समय-समय पर जारी की गई है। कलेक्टर श्री श्याम धावड़े ने कहा कि कोविड-19 के अलावा अन्य स्वास्थ्य सुविधाएं आगे भी पूर्ववत प्राप्त होती रहेंगी। आप सभी के सहयोग से ही हम इस कोरोना महामारी की लड़ाई से विजय प्राप्त कर सकेंगे।


03-Sep-2020 9:21 PM

बलरामपुर, 3 सितम्बर। प्रमुख सचिव वाणिज्य एवं उद्योग तथा वन एवं जिले के प्रभारी सचिव मनोज कुमार पिंगुआ ने विभागीय अधिकारियों के साथ शासन की प्राथमिकता प्राप्त योजनाओं के संचालन तथा प्रगति के संबंध में चर्चा कर अधिकारियों को आवश्यक दिशा-निर्देश दिए। उन्होंने बैठक में गिरदावरी, मुख्यमंत्री सुपोषण अभियान, सार्वभौम पीडीएस, कोविड-19, स्वास्थ्य सेवाओं की जानकारी, वनाधिकार पट्टा, वन प्रबंधन, उद्यमिता विकास एवं नए उद्योगों को बढ़ावा देने हेतु शासन की योजनाओं के संबंध में विस्तृत चर्चा की।

प्रभारी सचिव मनोज कुमार पिंगुआ ने कृषि अधिकरियों से पिछले वर्ष खरीदे गए धान की मात्रा, पंजीकृत किसानों की संख्या, वर्तमान खरीफ वर्ष में धान, मक्का तथा अन्य फसलों का रकबा के संबंध जानकारी ली। जिले में खाद के भंडारण के संबंध में जानकारी लेते हुए खाद की कालाबाजारी तथा जमाखोरी न हो, यह सुनिश्चित करने के निर्देश दिए। उन्होंने गोधन न्याय योजना की समीक्षा करते हुए अब तक क्रय किए गए गोबर की मात्रा, उसका रखरखाव, नियमित भुगतान तथा वर्मी कम्पोस्ट निर्माण के लिए की जा रही तैयारियों की जानकारी ली। जिले में उद्योगों को बढ़ावा देने तथा सरकारी योजनाओं का बेहतर लाभ पहुंचाने के लिए उद्यमिता कार्यशाला आयोजित करने के निर्देश दिए। उन्होंने स्थानीय स्तर पर कौशल विकास के प्रशिक्षु युवाओं को उद्यम स्थापित करने के लिए प्रोत्साहित करने को कहा। नई औद्योगिक नीति में नए उद्योगों को बढ़ावा देने तथा आन्तरप्रोन्योर के लिए अनेक प्रावधान किए गए है, इसका लाभ क्षेत्र के लोगों को मिले इस दिशा में प्रभावी कदम उठाए जाएं। उन्होंने मुख्यमंत्री सुपोषण अभियान की समीक्षा के दौरान अधिकारियों को निर्देशित किया कि सुपोषण अभियान शासन की प्राथमिकता होने के साथ-साथ हमारा नैतिक दायित्व भी है। सुपोषण अभियान की उच्च स्तरीय समीक्षा की जा रही है, कुपोषण मुक्ति के लिए गंभीरता से कार्य करें, इसमें लापरवाही होने पर कड़ी कार्यवाही की जाएगी। 

प्रभारी सचिव श्री पिंगुआ ने समस्त अनुविभागीय अधिकारी राजस्व से एक-एक कर गिरदावरी की प्रगति की समीक्षा की। उन्होंने कहा कि जितनी गंभीरता से गिरदावरी की मॉनिटरिंग की जा रही है, उतनी गंभीरता से गिरदावरी भी करें। शत-प्रतिशत त्रुटिरहित गिरदावरी का कार्य समय-सीमा में पूर्ण करें। श्री पिंगुआ ने व्यक्तिगत वन अधिकार, सामुदायिक वन अधिकार तथा वन प्रबंधन के विषय में अधिकारियों को शासन की मंशा से अवगत कराया। जिले में वन संसाधनों की बहुलता है इसलिए वन तथा वन्य जीवों के संरक्षण के लिए प्रभावी कदम उठाएं।

स्वास्थ्य सेवाओं पर बात करते हुए उन्होंने मलेरिया तथा मौसमी बीमारी के लिए की गई तैयारियों तथा प्रभावितों की संख्यात्मक जानकारी ली। उन्होंने कोरोना के लिए जिले के आइसोलेशन सेंटर तथा अस्पताल में उपलब्ध बिस्तरों के बारे में पूछा तथा कहा कि कोरोना वायरस से बचाव के मानकों का लोग पालन करें ताकि संक्रमण से बचा जा सके। कलेक्टर श्री श्याम धावड़े ने प्रभारी सचिव को अवगत कराते हुए कहा कि शासन की महत्वाकांक्षी योजनाओं के बेहतर क्रियान्वयन के लिए प्रत्येक जिलाधिकारी को 8-8 ग्राम पंचायत की जिम्मेदारी सौंपी गई है।


03-Sep-2020 9:18 PM

बलरामपुर, 3 सितम्बर। शासन के निर्देशानुसार राज्य में गिरदावरी सत्यापन का कार्य जारी है। प्रमुख सचिव वाणिज्य एवं उद्योग तथा वन एवं जिले के प्रभारी सचिव मनोज कुमार पिंगुआ जिला प्रवास के दूसरे दिन गिरदावरी सत्यापन का निरीक्षण करने सुदूर वनांचलों के गांवों में पहुंचे। 

उन्होंने विकासखंड बलरामपुर के ग्राम पचावल, विकासखण्ड कुसमी के ग्राम सामरी तथा गजाधारपुर, शंकरगढ़ के मनकेपी तथा विकासखंड राजपुर के ग्राम नवकी में गिरदावरी सत्यापन कार्य का औचक निरीक्षण किया। प्रभारी सचिव द्वारा निरीक्षण के दौरान विकासखंड शकंरगढ़ के मनकेपी के राजस्व निरीक्षक तथा पटवारी का जवाब संतोषजनक नहीं पाए जाने पर कड़ी नाराजगी जताते हुए राजस्व निरीक्षक तथा पटवारी को कारण बताओ नोटिस जारी किया है।

श्री पिंगुआ द्वारा गिरदावरी सत्यापन कार्य के निरीक्षण के दौरान धान के खेतों के साथ ही, मक्का, रागी, गोंदली(कुटकी का एक प्रकार) के खेतों में भी पहुंचे। उन्होंने सामरी तथा गजाधरपुर में गिरदावरी सत्यापन का कार्य कर रहे पटवारियों से चर्चा कर फसल क्षेत्र तथा रकबा मिलान की जानकारी ली।

 प्रभारी सचिव ने विकासखंड शंकरगढ़ के मनकेपी पहुंचकर गिरदावरी सत्यापन कार्य की जांच की। उन्होंने राजस्व निरीक्षक तथा पटवारी को मौके को बुलाकर खसरा नंबर 116 की जानकारी ली, लेकिन राजस्व निरीक्षक तथा पटवारी द्वारा संतोषप्रद जवाब नहीं दिए जाने पर कड़ी नाराजगी जताई। जिस पर राजस्व निरीक्षक तथा पटवारी की लापरवाही को गंभीर मानते हुए कारण बताओ नोटिस जारी कर जवाब मांगा गया है। 


03-Sep-2020 9:16 PM

बलरामपुर, 3 सितम्बर। छत्तीसगढ़ स्कूल शिक्षा विभाग के निर्देशानुसार बलरामपुर-रामानुजगंज जिले में तीन अंग्रेजी माध्यम विद्यालय बलरामपुर, रामानुजगंज तथा वाड्रफनगर की स्वीकृति प्राप्त हुई थी। इसे पश्चात् पुन: एक और शासकीय उत्कृष्ट (अंग्रेजी माध्यम) मॉडल स्कूल सेमरा विकासखण्ड कुसमी में आरंभ हो रही है, जिसमें कक्षा 1ली से 12वीं तक के छात्र/छात्राओं को अंग्रेजी माध्यम में अध्यापन कराया जाएगा। इस विद्यालय में प्रवेश हेतु प्रवेश प्रक्रिया 5 सितम्बर से प्रारंभ की जा रही है। 


03-Sep-2020 9:15 PM

बलरामपुर, 3 सितम्बर। कलेक्टर एवं जिला दण्डाधिकारी श्याम धावड़े के निर्देश पर आबकारी विभाग द्वारा अवैध शराब बिक्रय करने वाले पर कार्यवाही की जा रही है। विभाग द्वारा ग्राम कालिकापुर थाना रामचन्द्रपुर निवासी मुनिया साव के पास से 12 लीटर अवैध हाथ भठ्ठी महुआ शराब जब्त किया गया तथा आबकारी अधिनियम के तहत प्रकरण दर्ज कर उसे जेल भेजा गया है।


21-Aug-2020 7:24 AM

राजपुर, 20 अगस्त। विकासखंड के अंतर्गत ग्राम पंचायत डिगनगर में राशन वितरण में की गई अनियमितता के संबंध में ग्रामीणों ने खाद्य मंत्री सहित स्थानीय विधायक एवं एसडीएम राजपुर मुख्य कार्यपालन अधिकारी राजपुर व खाद्य अधिकारी को ज्ञापन सौंप जांच की मांग की है।

ग्रामीणों का कहना है कि कोरोना काल में लॉकडाउन के समय शासन के नियमानुसार अप्रैल एवं मई-जून का राशन निशुल्क देना था, परंतु अप्रैल का ही राशन निशुल्क दिया गया जबकि मई जून के चावल का पूरा पैसा राशन कार्डधारियों से लेने के बाद भी राशन नहीं दिया गया। ग्रामीणों ने गांव के सरपंच सचिव सहित राशन विक्रेता एवं उसके सहयोगी पर आरोप लगाते हुए कहा कि राशन वितरण संबंधी सूची मांगने पर कार्ड धारियों से अभद्र व्यवहार किया जाता है। उन्होंने कहा कि मई-जून में मिट्टी तेल का वितरण हितग्राहियों से 35 रुपए प्रति लीटर की दर से लेकर विक्रय किया गया एवं शक्कर का वितरण भी सही ढंग से नहीं किया गया।
गौरतलब है कि ग्राम पंचायत डिगनगर में राशन संबंधी वितरण की अनियमितता को लेकर पूर्व में भी ग्रामीणों ने उच्च अधिकारियों से शिकायत की थी जिसके उपरांत एसडीएम राजपुर तहसीलदार राजपुर एवं खाद्य अधिकारी ने उक्त मामले की जांच की थी, परंतु कोई कार्रवाई नहीं होने पर दर्जनों ग्रामीणों ने मामले में उचित कार्रवाई के लिए खाद्य मंत्री सहित उच्च अधिकारियों को ज्ञापन सौंपा है।


20-Aug-2020 10:12 PM

छत्तीसगढ़' संवाददाता

कुसमी, 20 अगस्त। बलरामपुर - रामानुजगंज पुलिस अधीक्षक रामकृष्ण साहू ने आदेश जारी करते हुए अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक प्रशांत कतलम, उप पुलिस अधीक्षक नक्सल ऑपरेशन डीके सिंह, पुलिस अनुविभागीय अधिकारी कुसमी मनोज तिर्की, वाड्रफनगर ध्रुवेश जयसवाल, रामानुजगंज नितेश गौतम को थानों का पुनआबंटन करते हुए पर्यवेक्षण का दायित्व सौंपा हैं। पुलिस अधीक्षक रामकृष्ण साहू ने जारी आदेश में अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक बलरामपुर प्रशांत कतलम को थाना अजाक, उपपुलिस अधीक्षक नक्सल ऑपरेशन डीके सिंह को चांदो व सामरी, पुलिस अनुविभागीय अधिकारी कुसमी मनोज तिर्की को कुसमी, शंकरगढ़, करौंधा व राजपुर, पुलिस अनुविभागीय अधिकारी रामानुजगंज नितेश गौतम को रामानुजगंज,बलरामपुर, रामचंद्रपुर,पस्ता एवं पुलिस अनुविभागीय अधिकारी वाड्रफनगर ध्रुवेश जायसवाल को बसंतपुर, सनवाल, रधूनाथनगर, त्रिकुंडा, चलगली का प्रवेक्षण का दायित्व सौंपा गया हैं। सभी थानों के प्रवेक्षण की जिम्मेदारी उक्त पुलिस अधिकारियों की हैं. जो अपने - अपने आबंटित थानों का प्रवेक्षण करेंगे।


19-Aug-2020 10:57 PM

'छत्तीसगढ़' संवाददाता

कुसमी, 19 अगस्त। थाना अंतर्गत नशीली कफ सिरप का जखीरा पकडऩे में कुसमी पुलिस ने सफलता हासिल किया है। नशीली कफ सिरप के साथ एक आरोपी को पुलिस ने पकड़ा है। वहीं पुलिस पर भेदभाव कार्रवाई का आरोपी के पिता ने आरोप लगाया है।

पुलिस अधीक्षक बलरामपुर रामकृष्ण साहू एवं अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक प्रशांत कतलम द्वारा जिले में अवैध मादक पदार्थों पर नकेल कसने एवं कार्यवाही करने के निर्देशन में व पुलिस अनुविभागीय अधिकारी कुसमी मनोज के मार्गदर्शन में थाना प्रभारी निरीक्षक प्रकाश राठौर द्वारा टीम गठित कर 18 अगस्त को मुखबिर की सूचना पर कुसमी निवासी यासीन खान के कब्जे से घर में रखे अवैध रूप से बिक्री हेतु मादक पदार्थ प्रतिबंधित कफ सिरप कुल राशि 31 हजार 550 रुपये की प्रतिबंधित कफ सिरप जब्त कर आरोपी मोहम्मद यासीन खान के विरुद्ध थाना कुसमी में अपराध पंजीबद्ध कर गिरफ्तार कर रिमांड पर न्यायालय में पेश किया गया।

उक्त कार्यवाही में थाना प्रभारी प्रकाश राठौर, सहायक उपनिरीक्षक भगवती प्रसाद कुर्रे, प्रधान आरक्षक रोशन लकड़ा, अमरेंद्र सिंह सागर सिंह, बाबूलाल पैकरा, राधेश्याम पैकरा, राजेंद्र कश्यप, संदीप बेेक, अनिल साहू, धीरेंद्र चंदेल एवं महिला आरक्षक संगम सुचिता का सराहनीय योगदान रहा।

गिरफ्तार आरोपी यासीन के पिता नूर मोहम्मद ने पुलिस पर भेदभावपूर्ण कार्रवाई का आरोप लगाते हुए बताया कि इस केस में दो और लोग शामिल थे जिन्हें छोड़ दिया गया। आगे उसने बताया कि हम लोग गरीब परिवार से हैं मेरे बेटे के पास इतना पैसा नहीं है, जो ज्यादा मात्रा में नशीली कफ सिरप खपाने का काम कर सके इसमें कुसमी के एक मेडिकल स्टोर संचालक शामिल हैं। उसी के द्वारा ही झारखंड के गढ़वा से ट्रक के माध्यम सिरफ मंगवाकर क्षेत्र में खपाने की तैयारी थी। उक्त मेडिकल स्टोर संचालक को भी पुलिस द्वारा पकड़ा गया था।  इसके अलावा पुत्र यासीन को पकडऩे के बाद कुसमी पुलिस के द्वारा मेरे बेटे के मोबाइल नंबर से शंकरगढ़ के एक युवक को कफ सिरप लेने के लिए बुलाया गया जो मंगलवार के शाम को कफ सिरप लेने पहुंच गया. जिसे पुलिस ने कुसमी से लगे ग्राम सेमरा में पक? लिया गया। लेकिन मंगलवार देर शाम तक कुसमी के मेडिकल स्टोर संचालक व शंकरग? से कफ सिरप लेने पहुँचे युवक को पुलिस द्वारा छो? दिया गया. जबकी उसके पुत्र यासीन के खिलाफ कार्यवाही कर उसे जेल भेज दी गई. यासीन के पिता नूर मोहम्मद का कहना है कि जब मेडिकल स्टोर संचालक व शंकरगढ़ का युवक भी इस मामले में शामिल हैं तो उनके खिलाफ कार्यवाही क्यों नही की गई। . इस मामले में एसडीओपी मनोज तिर्की ने कहा कि जांच उपरांत कार्रवाई की जाएगी।

थाना प्रभारी निरीक्षक प्रकाश राठौर से भेदभावपूर्ण कार्यवाई के आरोप के संबंध में पूछे जाने पर उन्होंने कहा कि नशीला पदार्थ जिस स्थान से मिला वहां के आरोपी पर कार्यवाही की गई। आरोप निराधार हैं। किसी प्रकार का आधार होता तो उस दिशा में अन्य लोगों पर भी कार्रवाई की जाती।