छत्तीसगढ़ » बलरामपुर

Date : 16-Jul-2019

स्वर्ण को मिला जन्म के 12 दिन बाद जाति प्रमाण पत्र

छत्तीसगढ़ संवाददाता 
बलरामपुर, 16 जुलाई।
राज्य शासन ने अस्पताल में जन्म लेने वाले नवजात को जन्म प्रमाण पत्र के साथ स्थाई जाति प्रमाण पत्र देने की एक नई योजना प्रारंभ की है। इस योजना के लागू होने से अस्पताल में पैदा होने वाले बच्चों को भविष्य में अपने जाति प्रमाण पत्र बनवाने के लिए भटकना नहीं पड़ेगा।

 कलेक्टर संजीव कुमार झा ने जन्म के साथ जाति प्रमाण पत्र देने की योजना का जिला चिकित्सालय बलरामपुर में शुभारंभ करते हुए ग्राम भनौरा के 12 दिवस की नवजात शिशु स्वर्ण गुप्ता के पिता संतोष गुप्ता एवं माता श्रीमती मनीषा गुप्ता को जन्म प्रमाण पत्र के साथ जाति प्रमाण पत्र प्रदान किया। कलेक्टर ने अस्पताल परिसर में उपस्थित लोगों से कहा कि इस योजना का असर ग्रामीण इलाकों में ज्यादा पड़ेगा और लोगों का रूझान अस्पताल की ओर होगा, जिससे असुरक्षित प्रसव के साथ-साथ शिशु मृत्यु दर में कमी होगी।  उन्होंने कहा कि अभी तक लोगों को अपने जाति प्रमाण पत्र बनवाने के लिए महीनों तक अधिकारियों एवं कार्यालयों का चक्कर काटना पड़ता था। इस योजना के लागू होने से अब नवजात शिशुओं को जन्म प्रमाण पत्र के साथ-साथ जाति प्रमाण पत्र प्रदान किया जा रहा है।

 कलेक्टर ने किया जिला चिकित्सालय का निरीक्षण
इस दौरान कलेक्टर संजीव कुमार झा जिला चिकित्सालय में चिकित्सालय अधीक्षक से मरीजों हेतु दी जा रही स्वास्थ्य सुविधा की जानकारी ली। उन्होंने वार्डों का भ्रमण कर मरीजों से स्वास्थ्य के बारे में जानकारी ली। कलेक्टर ने जनरल वार्ड, प्राईवेट वार्ड, प्रसव कक्ष, ऑक्सीजन प्लांट आदि का निरीक्षण किया। उन्होंने प्रसव कक्ष को साफ-सुथरा रखने के निर्देश दिये और गहन शिशु चिकित्सा कक्ष पहुंचकर डॉक्टरों से नवजात शिशुओं के स्वास्थ्य के बारे में जानकारी ली।


Date : 14-Jul-2019

वनों के साथ-साथ वन्य प्राणियों की भी सुरक्षा हो- विधायक

छत्तीसगढ़ संवाददाता 
बलरामपुर, 14 जुलाई।
वृक्षारोपण महाभियान 2019 के तहत् वनमण्डल बलरामपुर द्वारा जिला चिकित्सालय परिसर में वन महोत्सव कार्यक्रम का आयोजन किया गया। कार्यक्रम में विधायक एवं सरगुजा विकास प्राधिकरण के उपाध्यक्ष बृहस्पत सिंह, कलेक्टर संजीव कुमार झा, वनमण्डलाधिकारी विवेकानन्द झा एवं निर्वाचित जनप्रतिनिधियों द्वारा जिला चिकित्सालय परिसर में वृक्षारोपण किया गया। इस अवसर पर विधायक एवं कलेक्टर ने आम नागरिकों हेतु नि:शुल्क पौध प्रदाय रथ को हरी झण्डी दिखाकर रवाना किया।

वन महोत्सव कार्यक्रम में विधायक बृहस्पत सिंह ने कहा कि सरकार की महत्वाकांक्षी योजना नरवा, गरूवा, घुरूवा एवं बाडी के तहत् बनाये जा रहे गोठानों में भी वृक्षारोपण करने की कार्ययोजना बनाई गई है। इसके साथ ही हम सबको मिलकर स्कूल एवं ग्राम पंचायत परिसरों तथा खेत की मेड़ों में वृक्षारोपण करना है। विधायक ने वृक्षारोपण के साथ ही वनों एवं वन्य प्राणियों की सुरक्षा करने की बात कही। उन्होंने कहा कि हम सब की भागीदारी से हमारी आने वाली पीढ़ी का भविष्य उज्ज्वल हो सकेगा।विधायक ने बलरामपुर-रामानुजगंज बीच में स्थित घने वनों में मौजूद वन्य प्राणियों की संख्या की जिक्र करते हुए कहा कि राजधानी रायपुर में स्थित जंगल सफारी की तरह ही हमें भी वनों को विकसित करना होगा।उन्होंने ग्राम तातापानी में जिला प्रशासन द्वारा आयोजित प्रथम सावन महोत्सव की सराहना करते हुए उन्होंने तातापानी सावन महोत्सव के सफल आयोजन के लिए जनप्रतिनिधियों एवं स्थानीय नागरिकों से सहायोग की अपील की। इसके साथ विधायक ने जिला अधिकारियों से टीम भावना के साथ कार्य करते हुए जिले के विकास कार्य में सहयोग करने की बात कही।

कलेक्टर संजीव कुमार झा ने कहा कि.जिले में बृहद वृक्षारोपण कार्यक्रम का आयोजन किया गया है। उन्होंने बताया कि जिले का 47 प्रतिशत क्षेत्र वनों से अच्छादित है, जिसे हमें बचाना है। उन्होंने राज्य शासन की महत्वाकांक्षी योजना नरवा, गरूवा, घुरूवा एवं बाड़ी पर चर्चा करते हुए कहा कि जिले के सभी गोठानों में वृक्षारोपण किया जा रहा है। कलेक्टर ने कहा कि तातापानी में उद्यान विभाग की सहयोग से हर्बल वाटिका बनाया जाएगा, जहां औषधि पौधे लगाये जाएंगे। हर्बल वाटिका का शुभारंभ 02 अक्टूबर को गांधी जयंती के अवसर पर किया जाएगा। उन्होंने कहा कि हमें वृक्षों को बचाने हेतु संकल्प लेना होगा और इसके लिए जनमानस को जोडऩा होगा। कलेक्टर ने कहा कि अगले वर्ष आम जनता को आवश्यकतानुसार उनकी पसंद का पौधा दिया जाएगा।  वन मण्डलाधिकारी श्री विवेकानन्द झा ने बताया कि इस वर्ष वन विभाग द्वारा 27 सौ हेक्टेयर भूमि में 36 लाख पौधरोपण का लक्ष्य रखा गया है। साथ ही आम जनता के लिए नि:शुल्क पौधा का वितरण किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि वन प्रबंधन समिति द्वारा छोटे क्षेत्रों में फलदार पौधे का बीज लगाया जा रहा है। 


Date : 13-Jul-2019

शास.महाविद्यालय बलरामपुर ने मनाया  स्थापना दिवस

छत्तीसगढ़ संवाददाता 
बलरामपुर, 13 जुलाई।
शासकीय महाविद्यालय बलरामपुर का 11वां स्थापना दिवस प्राचार्य प्रो. एन.के. देवांगन के मुख्य आतिथ्य में मनाया गया।कार्यक्रम में विश्व जनसंख्या दिवस एवं छात्र उन्मुखीकरण कार्यक्रम आयोजित किया गया।

इस अवसर पर प्राचार्य प्रो. एन.के. देवांगन ने कहा कि महाविद्यालय के विकास के साथ-साथ हमें पर्यावरण संरक्षण हेतु हर संभव प्रयास करना चाहिए तथा स्वयं के विकास के साथ ही सेवा हमारा मूलमंत्र होना चाहिए। प्राचार्य द्वारा महाविद्यालय की उपलब्धियों को विस्तारपूर्वक बताया गया। उन्होंने कहा कि महाविद्यालय के विकास में सबका योगदान महत्वपूर्ण है, जो सदैव प्राप्त होता रहा है। 

छात्रसंघ प्रभारी डॉ. यू.के. पाण्डेय ने बताया कि महाविद्यालय के विकास में प्राध्यापकों के साथ-साथ छात्र-छात्राओं का भी हमेशा सहयोग रहा है।डॉ.अर्चना गुप्ता ने छात्रों को नियमित उपस्थिति देने पर जोर देते हुए अपने अध्ययन को सुदृढ़ बनाते हुए भविष्य निर्माण हेतु प्रोत्साहित किया। 

डॉ. एस.एन. साहू ने छात्र-छात्राओं को एनसीसी गतिविधियां द्वारा समाज सेवा एवं राष्ट्रसेवा का संदेश देते हुए कड़ी मेहनत से सफलता प्राप्त होने का संदेश दिया, साथ ही उनके उज्ज्वल भविष्य की कामना की।कार्यक्रम में कुणाल सोनी, आर.एस. राम, जी.पी. कोरी सहित महाविद्यालय के सभी अधिकारी एवं कर्मचारी उपस्थित रहे।