छत्तीसगढ़ » कोरिया

Previous123456789...1718Next
05-May-2021 6:05 PM 12

छत्तीसगढ़ संवाददाता
मनेन्द्रगढ़, 5 मई।
शराब के लिए पैसे नहीं मिलने पर बेटे ने अपने पिता को जान से मारने की धमकी देते हुए उसके साथ मारपीट की है। पिता ने बेटे  के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराई है।
नगर पंचायत खोंगापानी अंतर्गत एलसीएच कॉलोनी कंचन दफाई निवासी कॉलरी कर्मचारी मनीराम केंवट ने थाने में रिपोर्ट दर्ज कराई है कि घटना दिवस 2 मई की दोपहर 1.30 बजे वह घर में अपने परिवार सहित थे। उसी समय उनका बेटा कृष्णमुरारी केंवट बाहर से आया और उनसे कहा कि उस पर ध्यान नहीं देते हो। शराब पीने के लिए पैसे नहीं देते हो कहकर शराब के नशे में गालियां देने लगा। गाली देने से मना करने पर उसने जान से मारने की धमकी देते हुए मारपीट की। पत्नी सावित्री, बेटी सरस्वती व बेटा सूर्यकांत एवं चंदिन सिंह ने बीच-बचाव किया।
 


05-May-2021 5:56 PM 14

रंग लाया विधायक कमरो का प्रयास

छत्तीसगढ़ संवाददाता
मनेन्द्रगढ़, 5 मई।
सविप्रा उपाध्यक्ष विधायक गुलाब कमरो का प्रयास एक बार फिर रंग लाया है। कोविड केयर सेंटर में अब मरीजों को इलाज के साथ ऑक्सीजन सहित बिस्तर की सुविधा मिलेगी। आपदा की इस घड़ी में क्षेत्र में ऑक्सीजन सहित बिस्तर की उपलब्धि कोविड मरीजों के लिए बहुत बड़ी राहत है।

स्वास्थ्य सुविधाओं के लिए संवेदनशील विधायक कमरो की पहल पर कोविड केयर सेंटर आमाखेरवा एसईसीएल सेंट्रल हॉस्पिटल मनेंद्रगढ़ में कोविड मरीजों की सुविधाओं एवं बेहतर इलाज हेतु दिल्ली व रायपुर से उपकरणों की व्यवस्था कर ऑक्सीजन पाइप लाइन का कार्य पूर्ण कर लिया गया है। विधायक कमरो ने एसईसीएल प्रबंधन, राजस्व, सीजीएमएससी, स्वास्थ्य एवं सभी सहयोगी टीम के प्रति आभार व्यक्त करते हुए सभी से मिले सहयोग के प्रति उन्हें साधुवाद दिया है। विधायक ने सभी से शासन की गाइडलाइंस का पालन करते हुए कहा कि सभी के सहयोग एवं समन्वय से हम कोरोना की जंग अवश्य जीतेंगे।
 


05-May-2021 5:55 PM 15

छत्तीसगढ़ संवाददाता
मनेन्द्रगढ़, 5 मई।
कोरोना महामारी के इस कठिन समय में भाजपा की महिलाओं ने सोशल मीडिया में एक वीडियो के माध्यम से लोगों को जागरूक किया और बताया कि इस कठिन दौर में किस तरह से हम सरकारी नियमों का पालन कर वैश्विक महामारी कोरोना से बच सकते हैं। 

प्रदेश भाजपा महिला मोर्चा की महामंत्री व पूर्व संसदीय सचिव चंपा देवी पावले ने कहा कि कोरोना के इस कहर से बचें, घर में रहें और सुरक्षित रहें सामाजिक दूरी है बहुत जरूरी। भाजपा महिला मोर्चा की जिला अध्यक्ष उर्मिला नेताम ने लोगों को सलाह दी कि 2 गज की दूरी मास्क है जरूरी। 

भारतीय जनता युवा मोर्चा प्रदेश कार्यसमिति सदस्य रूबी पासी ने लोगों से अपील की कि कोरोना वायरस से सावधान रहें अफवाहों से बचें, क्योंकि सावधानी ही बचाव है। जिला कन्या शक्ति संयोजिका कोमल पटेल ने लोगों को सलाह दी कि यदि हम सब नियमित मास्क पहनें तो पूरा देश सुरक्षित हो सकता है। 

जिला भाजपा महिला मोर्चा की जिला मंत्री प्रतिमा पटवा ने लोगों से आग्रह किया कि बेवजह घर से बाहर निकलना खतरनाक हो सकता है। घर पर रहें और सुरक्षित रहें। जिला की बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ की संयोजिका जया कर ने लोगों से निवेदन किया कि कोरोना से डरना नहीं है और न ही घबराना है, बल्कि हिम्मत रख कर हमें कोरोना वायरस से लड़ कर जीतना है। 

भाजपा महिला मोर्चा मंडल अध्यक्ष गीता पासी ने लोगों से अपील की कि कोरोना से अगर बचना है तो मास्क पहनना है और भीड़ से दूरी बनाए रखना है। भाजपा मंडल उपाध्यक्ष महेश्वरी सिंह ने लोगों से आग्रह किया कि सरकारी गाइडलाइन का पालन करें और सुरक्षित रहें। भाजपा महिला मोर्चा की जिला मीडिया प्रभारी डॉ. रश्मि सोनकर ने लोगों को कोरोना वायरस से जुड़ी अफवाहों से बचने की सलाह दी और उन्हें कहा कि कोई भी दवाई बिना डॉक्टरी सलाह के न लें सर्वप्रथम डॉक्टर से संपर्क करें और तभी उपचार करें। भाजपा कार्यकर्ता प्रियंका राय ने कहा कि इस समय कोई भी लापरवाही जानलेवा साबित हो सकती है, ऐसे में बिना जानकारी के कोई भी कदम ना उठाएं। इस तरह अगर हम सभी मिलकर इस कोरोना महामारी के कठिन दौर में जागरूक रहेंगे तो जल्द ही हम इस कोरोना वायरस को मात दे पाएंगे।
 


05-May-2021 5:29 PM 17

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
बैकुंठपुर (कोरिया), 5 मई।
कोरिया जिले में कोरोना का प्रकोप बढऩे से अब मरने के बाद भी लोगों की अंतिम क्रिया में दिक्कतें आ रही है। संक्रमित मरीज की मृत्यु के बाद उसका अंतिम संस्कार करना मुश्किल हो रहा है। मृतक के परिजन भी मृत शरीर का दाह संस्कार करने से डर रहे हैं। यदि कोई अंतिम संस्कार कर भी रहा है तो उसके बाद अस्थि विसर्जन के लिए अस्थि श्मशान से नहीं ले जा रहे हैं। कोरोना के इस दौर ने जीवित लोगों को तो दूर किया ही है। अब मरने के बाद भी कोई अपना या पराया पास नहीं आ रहा है।

जिंदगी से विदाई के बाद विधि-विधान पूर्वक अंतिम संस्कार सभी धर्मों में हर व्यक्ति का अधिकार माना गया है, लेकिन कोरोना के कहर के चलते संक्रमित लोगों से यह अधिकार भी छिन सा गया है। फिलहाल इस समय जितनी भी मौत कोरोना के कारण हो रही हैं, उन मृतकों के संक्रमित शवों को अंतिम संस्कार और शव यात्राएं भी नसीब नहीं हो रही है। आलम यह है कि मौत के बाद परिजन तक शव के अंतिम संस्कार के लिए सामने नहीं आ रहे है। तो कुछ अपनों की विदाई देना भी चाहते है तो कोरोना के नियम आड़े आ रहे है। कई ऐसे हैं जो संक्रमण के खौफ से मुक्तिधाम में अपनों के शवों के पास भी नहीं जाना चाहते। 

कोरिया जिला मुख्यालय बैकुंठपुर की बात करें तो महिने में एक्का-दुक्का मौत के बाद यहां स्थित मुक्तिधाम में शव का अंतिम संस्कार किया जाता था, परन्तु अब हर दिन 2 से 3 शव का अंतिम संस्कार किया जा रहा है। बीते 15 अप्रैल से 4 मई तक 61 मौत हो चुकी है, कोविड अस्पताल में मौत होने के बाद ज्यादातर शवों को अंतिम संस्कार यहीं किया जाता है। अपै्रल के दूसरे पखवाड़े से लगातार मौत का आंकड़ा बढ़ा है। इस दौरान कोविड अस्पतालों में कोविड से मृत व्यक्तियों के कई परिजन भी शव लेने नहीं पहुंच रहे है। इस दौरान ऐसे कई मामले सामने आ रहे है, जिसमें कोविड अस्पताल में संक्रमितों की मौत के बाद परिजन का पता नहीं रहता।

अपनों का नहीं मिल रहा साथ
कोरोना के संक्रमण के कारण अपनों से दूर होने की सामाजिक मजबूरी के बावजूद इलाज और व्यवस्थाओं के अभाव में अपना जीवन गंवाने वाले मृतकों को अंतिम समय में भी अपनों का साथ नहीं मिल रहा है। दरअसल अस्पताल से लेकर श्मशान घाट तक महामारी का खौफ इस कदर है कि अपनों को गंवाने के बाद खुद की सुरक्षा की मजबूरी के कारण लोग शवों को 4 लोगों का कंधा तक नसीब नहीं हो पा रहा है। ऐसी तमाम मौतों के मामलों में न तो शव यात्राएं निकल पा रही हैं, न ही श्मशान में विधि-विधान से उनका अंतिम संस्कार हो पा रहा है। 
अस्पतालों से सीधे संक्रमित शव श्मशान में भेजे जा रहे हैं। उनके साथ इक्का-दुक्का परिजन ही मौजूद रहते हैं। कई स्थानों पर स्थिति ऐसी बन रही है कि मृतकों के परिजन श्मशान के कर्मचारियों को ही दाह संस्कार का बोलकर संक्रमण के डर से श्मशान के गेट से अंदर ही नहीं आ रहे हैं। यह स्थिति देखकर अब तक श्मशान में अंतिम संस्कार की रस्में पूरी कराने वाले कर्मकांडी पंडित भी दुखी है।

परिजन बना रहे दूरी
जानकारी के अनुसार गत दिवस बनारस उप्र का एक व्यक्ति कोरिया जिला मुख्यालय बैकुंठपुर में अपनी बेटी के पास आया था और वह कोरोना की चपेट में आ गया जिसके बाद व्यक्ति को कोविड सेंटर में भर्ती किया गया। जहां उपचार के दौरान उसकी मौत हो गई। तब उक्त व्यक्ति के शव को लेकर सिर्फ उसकी बेटी ही शव लेने पहुंची परन्तु बाहर से कोई भी अन्य रिश्तेदार उनकी मौत के बाद नहीं आए। 

इसी तरह कंचनपुर कोविड अस्पताल में एक अन्य व्यक्ति की मौत संक्रमण के चलते उपचार के दौरान मौत हो गई, लेकिन परिजन शव लेने ही नहीं पहुंचे। ऐसे में प्रशासन द्वारा शव का अंतिम संस्कार कराया गया। 

इस तरह के कई मामले कुछ दिनों से कोविड हास्पिटल में देखने को मिल रहा है। कोविड मृतक के परिजन शव लेने नहीं आ रहे हंै और आ भी रहे हंै, तो पुत्र-पुत्री ही आ रहे हैं। कोरोना संक्रमण को लेकर भय लोगों के मन में इतना बना हुआ है कि संक्रमण के बाद यदि किसी की मौत हो जाती है, तो उनके परिजन ही उनसे दूरी बना ले रहे हैं। इस संकट की घड़ी में मृतक का अपने परिवार के लोग ही अंतिम वक्त में साथ दे रहे है। बाकि अन्य परिजन व शुभचिंतक कोई पास नहीं पहुंच रहे है। 

अस्थियों के विसर्जन में कई परेशानियां
कोरिया जिला मुख्यालय में बीते 2 सप्ताह से स्थिति ऐसी है कि संक्रमित शवों को जलाए जाने के बाद लोग उनका विधि-विधान से ना तो अस्थि इकट्ठा कर रहे हैं, और ना ही वर्तमान दौर में नदियों में अस्थि विसर्जन कर पाने की स्थिति में हैं। हालांकि कुछ तीसरे दिन आकर अस्थियां एकत्रित करते देखे जा रहे हैं, बाद में उन्हें प्रयागराज ले जाकर विसर्जन करने में कई परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है।
 


04-May-2021 8:43 PM 28

   नोडल अधिकारी बदले, अब जिला सीईओ कोविड के नए नोडल अफसर   

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

बैकुंठपुर, 4 मई। कोरिया जिले के बैकुंठपुर स्थित कोविड केयर हॉस्पिटल से एक मरीज भाग गया, जिसके बाद पुलिस ने उसे तत्काल पकड़ लिया। घटना दो दिन पुरानी है, जिसकी सूचना पर संसदीय सचिव अंबिका सिंहदेव ने जिला प्रशासन को मामले में उनके द्वारा पूर्व में भी कई बार इस तरह की चेतावनी थी यह कहकर चेताया, जिसके बाद प्रशासन ने कोविड में प्रशासनिक अधिकारियों के प्रभार में फेरबदल किया।

कोरिया जिले में कोरोना संक्रमण कम होने का नाम नहीं ले रहा है। इस दौरान ज्यादातर संक्रमितों को होम आईसोलेशन में रखकर उपचार किया जा रहा है, वहीं गंभीर मरीजों को कोविड सेंटर में रखकर उपचार किया जा रहा है।

जिला मुख्यालय बैकुठपुर के कंचनपुर में स्थित कोविड केयर सेंटर में 100 बिस्तरीय अस्पताल की सुविधा कोरोना संक्रमितों के लिए संचालित है। सत्तर 70 फीसदी से अधिक मरीज भर्ती किये गये हैं। संक्रमितों की देखभाल के लिए स्वास्थ्य कर्मी दिन रात लगे हुए है। इसके बावजूद गत दिवस कोविड केयर हास्टिपल कंचनपुर से एक कोविड मरीज अस्पताल से भाग निकला। जिसके बाद अस्पताल कर्मियों मेंं हडक़ंप मच गया। भागे संक्रमित की खोजबीन में स्वास्थ्य कर्मी जुटे रहे। वहीं पुलिस ने उक्त मरीज को तत्काल पकड़ कर अस्पताल पहुंचाया।

इधर, बेहद संवेदनशील कोविड अस्पताल को लेकर संसदीय सचिव अंबिका सिंहदेव ने कलेक्टर से मामले पर चर्चा की। जिसके बाद अस्पताल की व्यवस्था का संचालन करने के लिए गत दिवस कलेक्टर कोरिया ने प्रशासनिक अधिकारियों को जिम्मेदारी में फेरबदल किया।

कलेक्टर कोरिया ने कोविड केयर हास्पिटल कंचनपुर के नोडल अधिकारी बनाये गये एसडीएम बैकुंठपुर के स्थान पर मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत को नया नोडल अधिकारी की जिम्मेदारी दी और उन्हें सहायक नोडल अधिकारी बना दिया है।


04-May-2021 5:24 PM 18

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
मनेन्द्रगढ़, 4 मई।
स्वास्थ्य के प्रति संवेदनशील सविप्रा उपाध्यक्ष व भरतपुर-सोनहत विधायक गुलाब कमरो की अनुशंसा सहित प्रस्ताव पर सरगुजा क्षेत्र आदिवासी विकास प्राधिकरण मद से क्षेत्रीय आवश्यकताओं एवं जनहित में 7 कार्यों के संपादन हेतु 8 लाख 50 हजार की राशि की स्वीकृति प्रदान की गई है।

सविप्रा मद से सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र मनेंद्रगढ़ में कोविड-19 संक्रमण के रोकथाम हेतु आवश्यक उपकरण एवं दवा क्रय करने के लिए 2 लाख रुपये, सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र जनकपुर व सोनहत में आवश्यक उपकरण एवं दवा क्रय हेतु 1-1 लाख रुपये, नगर पालिका परिषद मनेन्द्रगढ़, नगर पंचायत खोंगापानी व नई लेदरी में कोविड-19 संक्रमण के रोकथाम के लिए आवश्यक उपकरण व दवाई क्रय हेतु 1-1 लाख रुपये व ग्राम पंचायत कटगोड़ी में सार्वजनिक पेयजल हेतु पानी टैंकर क्रय हेतु 1 लाख 50 हजार रूपए की स्वीकृति प्रदान की गई है। 

विधायक गुलाब कमरो ने कोरोना के इस संकट काल में क्षेत्र की जनता के लिए दवा व आवश्यक उपकरणों की कमी समुदाय स्वास्थ्य केंद्रों में न हो इसकी चिंता करते हुए अपने विधानसभा क्षेत्र के सभी सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों सहित नगरीय निकायों में दवा व आवश्यक उपकरणों की खरीदी हेतु 7 लाख की राशि सरगुजा विकास प्राधिकरण मद से स्वीकृत की है वहीं अपने विधानसभा क्षेत्र के ग्राम पंचायत कटगोडी में पंचायत वासियों को पानी की किल्लत न हो इसके लिए टैंकर खरीदी हेतु 1 लाख 50 हजार की राशि स्वीकृत की है।
 


04-May-2021 5:23 PM 16

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
मनेन्द्रगढ़, 4 मई।
कोरोना काल में ड्यूटी के साथ स्थानीय पुलिस मानवता की मिसाल पेश कर रही है। मात्र एक फोन कॉल पर मनेंद्रगढ़ पुलिस द्वारा हर जरूरतमंद को भोजन उपलब्ध कराया जा रहा है, जिसकी सर्वत्र सराहना की जा रही है।

मनेंद्रगढ़ पुलिस थाने में पदस्थ थाना प्रभारी सचिन सिंह ने पहले प्रेशर कुकर से भाप लेने की विधि से पूरे स्टाफ को कोरोना महामारी से बचाव के लिए प्रेरित किया। इसके बाद शहर एवं आसपास आने वाले सभी स्थानों में निवासरत् गरीब और असहाय लोगों को कोरोना काल में हो रही भोजन की समस्या को देखते हुए भोजन उपलब्ध कराने का निर्णय लिया है। 
थाना प्रभारी ने बताया कि नगर के प्रतिष्ठित व्यपारियों, जनप्रतिनिधियों और आमजनों के सहयोग से यह काम शुरू किया गया है। सभी लोगों द्वारा इस अनुकरणीय कार्य में सहयोग प्रदान किया जा रहा है, जिसकी वजह से हम जरूरतमंदों को दो वक्त का भोजन उपलब्ध करा रहे हैं। उन्होंने बताया कि सोशल मीडिया के माध्यम से तीन नंबर 7000929213, 7000542512 एवं 7000103319 उपलब्ध कराए हैं, जिनसे बात करके कोई भी व्यक्ति किसी असहाय के लिए भोजन की जानकारी उपलब्ध करा सकता है। उसके बाद थाना स्टाफ द्वारा कोरोना गाइडलाइन का पालन करते हुए संबंधित व्यक्ति को उसके घर पर ही भोजन पहुंचा दिया जाएगा। पुलिस, आमजन, व्यापारियों और जनप्रतिनिधियों द्वारा की गई इस अनूठी पहल की समाज का हर वर्ग तारीफ कर रहा है साथ ही नि:शक्त व असहाय जनों को संकट के समय में घर बैठे भोजन प्राप्त होने पर वे इस अनुकरणीय कार्य में शामिल लोगों को आशीष दे रहे हैं।
 


03-May-2021 6:49 PM 21

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
बैकुंठपुर, 3 मई।
कोरिया जिले में 1 मई को 18 वर्ष या उससे उपर 44 वर्ष आयु वर्ग के लोगों का कोरोना टीका का कार्य शुरू नहीं हुआ बल्कि दूसरे दिन 2 मई को टीकाकरण का कार्य निर्धारित केंद्रों में शुरू की गई। पहले दिन मात्र 128 लोगों को ही टीका लग पाया।

जानकारी के अनुसार उक्त आयुवर्ग के लोगों के लिए जिले के सभी ब्लाकों में टीकाकरण केंद्र बनाए गए है। जिले में कुल 8 टीकाकरण केंद्र बनाए गए हैं। पहले दिन सभी टीकाकरण केंद्रों में सीमित संख्या में ही लोग टीका लगवाने केंद्र तक पहुंचे। इसका मुख्य कारण प्रचार-प्रसार का अभाव था। लोगों को पहले से पता था कि 1 मई से 18 वर्ष या इससे उपर वालों का टीका लगाया जायेगा, जिसे लेकर कुछ लोग टीकाकरण केंद्र पहुंचे तो उन्हें निराशा हाथ लगी। आनन फानन में 2 मई को टीका लगाने का दिन नियत किया गया, लेकिन इसे लेकर आम लोगों तक जानकारी एक दिन पहले नहीं पहुंच पाई थी। इस संबंध में मुनादी भी नहीं करायी गई थी। वही उक्त आयु वर्ग के लोगों के टीकाकरण करने लिए नए दिशा-निर्देश  30 अपै्रल को स्वास्थ्य व परिवार कल्याण विभाग के अवर मुख्य सचिव द्वारा कलेक्टरों का जारी किया गया कि पहले चरण में 18 से 44 आयुवर्ग के लोगों का टीकाकरण में अंत्योदय कार्डधारियों का टीका लगाया जाएगा। जिसके बाद बीपीएल फिर एपीएल कार्डधारियों का। इस तरह पहले दिन कोरिया जिले में सिर्फ अंत्योदय कार्डधारियों का टीकाकरण किया गया। जानकारी के अभाव में टीकाकरण केंद्रों में बहुत कम संख्या में पात्र हितग्राही टीकाकरण के लिए पहुंचे।

दो केंद्रों में एक भी नहीं पहुंचे
कोरिया जिले में 18 प्लस उम्र के लोगों को टीका लगाने के लिए आठ केंद्र बनाए गए है, जिनमें जिला मुख्यालय बैकुण्ठपुर में मानस भवन, खडग़वां में एनआरसी भवन, मनेंद्रगढ़ में सीएससी, सोनहत में सीएससी, जनकपुर में सीएससी, के साथ चिरमिरी में तीन टीकाकरण केंद्र बनाए गए है, जिनमें एसईसीएल डोमनहील, शा कन्या स्कूल गोदरीपारा तथा शा हासे स्कूल हल्दीबाडी में केंद्र बनाये गये हैं। पहले दिन 2 मई को जिल में कुल आठ टीकाकरण केंद्रों में निर्धारित समय तक कुल 128 लोगों का ही टीका लग सका। 
इस दिन बैकुंठपुर के मानस भवन में सर्वाधिक 34 लोगों का टीका लगाया गया। इसी तरह खडग़वां में 30, सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र मनेंद्रगढ में  28, सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र सोनहत में 17, गोदरीपारा में 10, हल्दीबाडी में 9 लोगों को टीका लगाया गया। इस दिन टीकाकरण केंद्र सीएससी जनकपुर व डोमनहील में एक भी लोगों को दिन भर में टीका नही लग पाया। ऐसी स्थिति इसलिए निर्मित हुई कि पहले दिन दो केंद्रों टीकाकरण की स्थिति 0 रही क्योकि लोगों को इसके बारे में पूर्व में पर्याप्त प्रचार प्रसार नही किया गया आनन फानन में दूसरे दिन टीकारण चालू कर दिया गया। जब शहरी क्षेत्र में यह स्थिति है, तो फिर ग्रामीण क्षेत्र के लोगों को इसकी जानकारी हुई होगी समझा जा सकता है।

टीकाकरण में दूरी बनी ग्रामीणों के लिए बाधा
कोरिया जिले में 18 वर्ष या इससे उपर के  44 वर्ष तक के पात्र हितग्राहियों का टीकारण गत 2 मई से शुरू किया गया। जिसके लिए केवल 8 टीकाकरण केंद्र जिले में बनाए गए है। इससे शहरी क्षेत्र के लोगों के लिए तो सुविधा है लेकिन सबसे ज्यादा परेशानी ग्रामीण क्षेत्रों  ग्रामीणों टीकाकरण के लिए लंबी दूरी तय करना पड़ेगा। जब जाकर ही पात्र हितग्राही को टीका लग पाएगा। 

जानकारी के अनुसार सोनहत ब्लाक मुख्यालय में सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र, वनांचल भरतपुर जनपद मुख्यालय में स्थित सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में तथा खडग़वां ब्लॉक मुख्यालय में टीकाकरण केंद्र बनाए गए है। जहां तक ग्रामीण परिवारों को पहुंचने के लिए लंबी दूरी तय करना होगा। सोनहत व जनकपुर वनांचल क्षेत्र में कई ऐसे दूरस्थ क्षेत्र है, जहां के ग्रामीण ब्लाक मुख्यालय के टीकाकरण केंद्र में मुश्किल में पहुॅंच सकते है। वर्तमान में लॉकडाउन के चलते सार्वजनिक परिवहन पूरी तरह से बंद है ऐसे में  ब्लॉक मुख्यालयो में दूरस्थ ग्रामीण क्षेत्र के लोगों का पहुंचना मुश्किल हो गया है ।  
 

 


03-May-2021 6:34 PM 29

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

बैकुंठपुर, 3 मई। कोरिया जिले में बीते दो दिनों के मुकाबले कोरोना मामले में थोड़ी बढ़ोतरी आई है। साथ ही मौत के आंकड़े मेें थोड़ी कमी आई है। स्वास्थ्य विभाग द्वारा जारी कोरोना आंकड़ों के अनुसार 2 मई को कोरिया जिले में कुल 502 पॉजिटिव मामले सामने आए, जबकि इसके पूर्व गत 30 अपै्रल को 522 तथा 1 मई को 527 की संख्या में पॉजिटिव मिले थे। वहीं गत 30 अपै्रल व 1 मई को दो दिनों में 9 लोगों की मौत हो गई थी। जिले में मौत का आंकड़ा अब तक 100 पहुंच चुका है।

प्राप्त जानकारी के अनुसार 2 मई को कोरिया जिले में कुल मिले 502 पॉजिटिव मामले में शहरी क्षेत्र में 233 तथा ग्रामीण क्षेत्र में 269 की संख्या में पॉजिटिव मामले दर्ज किए गए। हालांकि इस दिन बीते दो दिनों की अपेक्षा कम सैंपल की जांच की गई थी। इस दिन 1221 सैंपलों की जांच हुई थी। इस दिन शहरी क्षेत्र शिवपुर चरचा में 35, बैकुंठपुर में 36, चिरमिरी में 81, मनेद्रगढ़ में 65, लेदरी में 3, झगराखांड में 7 तथा खोंगापानी में 6 की संख्या में पॉजिटिव मिले थे, वहीं ग्रामीण क्षेत्र बैकुण्ठपुर में इस दिन 119, खडग़वां में 51, मनेंद्रगढ़ में 24, सोनहत में 54 तथा जनकपुर में 21 पॉजिटिव मिले। इसके साथ ही इस दिन तक कोरिया जिले में अब तक कुल संक्रमितों की संख्या 14171 पहुंच गयी। इस दिन तक जिले में 9453 लोग कोरोना संक्रमण को मात दे चुके है तथा इस दिन तक जिले में कुल एक्टिव प्रकरणों की संख्या 3839 रही। वहीं इस दिन तक कोविड अस्पताल कंचनपुर में 68, एसईसीएल चरचा अस्पताल में 33, एसईसीएल मनेंद्रगढ़ अस्पताल में 14, एसईसीएल चिरमिरी अस्पताल में 27 संक्रमित भर्ती रहे, वहीं होम आईसोलेशन में 3697 संक्रमित रखे गए थे।

ग्रामीण क्षेत्रों में तेजी से फैल रहा संक्रमण

कोरिया जिले में एक सप्ताह से ग्रामीण क्षेत्रों में कोरोना संक्रमितों की संख्या में लगातार बढ़ोतरी होने लगी है। हालत यह हो गई कि शहरी क्षेत्र के मुकाबले ग्रामीण क्षेत्र में अब कोरोना पॉजिटिवों की संख्या बढ़ती जा रही है। शहरी क्षेत्र बैकुंठपुर में अभी कुछ दिनों से दो अंकों में पॉजिटिव  निकल रहे है।  वहीं ग्रामीण क्षेत्र बैकुठपुर में तीन अंकों में पॉजिटिव मिल रहे हैं।

इसी तरह का हाल वनांचल जनकपुर क्षेत्र का है। कुछ दिनों पूर्व तक वनांचल जनकपुर क्षेत्र में एक अंक में पॉजिटिव प्रकरण सामने आ रहे थे वहीं अब कुछ दिनों से दो अंकों में पॉजिटिव प्रकरण सामने आ रहे हैं। इसी तरह खडग़वां जनपद क्षेत्र में भी तेजी से संक्रमण फैल रहा है।

सोनहत जनपद पंचायत की भी हालत अब धीरे-धीरे खराब हो रही है यहां भी कुछ दिनों के मुकाबले कोरोना संक्रमितों की संख्या में लगातार इजाफा हो रहा है। जिससे कि प्रशासन की चिंता बढ़ गई है।

विवाह आयोजन में नियम विरूद्ध भीड़

कोरेाना संक्रमण के चलते जिले को कंटेटमेंट जोन घोषित किया गया है और इस दौरान विवाह कार्यक्रम के लिए मात्र 20 लोगों को ही अनुमति दी जा रही है।

साथ ही निर्देश में यह भी उल्लेखित किया गया है कि वर वधु के निवास स्थान में ही विवाह संपन्न कराये जायेंगे जिसके चलते शहरी क्षेत्र में विवाह नहीं हो रहा है, लेकिन ग्रामीण क्षेत्रों में लगातार विवाह संपन्न कराया जा रहा है। इस कार्य के लिए कुछ जगहों पर तो प्रशासन से अनुमति ली जा रही लेकिन कई जगहों पर बिना अनुमति के ही विवाह आयोजन हो रहा है। जिसकी निगरानी सही तरीके से नहीं हो पा रहा है। उक्त दोनों ही स्थिति में विवाह आयोजन में नियम विरूद्ध तरीके से जमकर ग्रामीण क्षेत्रों में भीड़ उमड़ रही है। यही कारण है कि ग्रामीण क्षेत्रों में पिछले कुछ दिनों से कोरोना संक्रमण की गति तेज हो गयी है। हालांकि सूचना पर प्रशासन कार्यवाही भी कर रही है, लेकिन ज्यादातर जगहों पर हो रही विवाह के संबंध में सूचना भी नहीं मिल पा रही है। क्योंकि अनुमति नहीं ली गई है। इस तरह जिले के ग्रामीण क्षेत्रों में लगातार विवाह आयोजन में उमड़ रही भीड़ कोरोना संक्रमण को बढ़ावा दे रहा है। उल्लेखनीय है कि गत 21 मई से विवाह के मुहूर्त शुरू हो गए है।

नेता घूम सकते हंै तो हम क्यों नहीं?

कोरिया जिले में कहने को कंटेनमेंट जोन लागू है, जनप्रतिनिधि कई तरह की बैठक ले रहे हैं, लगातार आना जाना कर रहे है, उन्हें इस बेहद गंभीर कोरोना कॉल में अपनी सक्रियता दिखाने से पीछे नहीं है। दूसरी ओर कंटेनमेंट जोन होने के बाद भी लगातार कोरोना संक्रमित बढ़ रहे है ग्रामीण क्षेत्रों के साथ शहरी क्षेत्रों में लोग भी घर के बाहर निकल कर इधर-उधर जा रहे है, उनके पूछने पर उनका कहना है कि जब नेता कहीं भी आ जा सकते हंै, इसका मतलब है कि कोरोना नेता लोगों से डरता है, तो हम क्यों घर में रहे, नेता बाहर घूम सकते है, तो हम भी बाहर आ जा सकते हैं। वहीं कुछ तो बिना काम के घूमते नजर आते हंै।


03-May-2021 5:13 PM 18

छत्तीसगढ़ संवाददाता
मनेन्द्रगढ़, 3 मार्च।
सविप्रा उपाध्यक्ष विधायक गुलाब कमरो की अनुशंसा पर सरगुजा क्षेत्र आदिवासी विकास प्राधिकरण मद से विधानसभा क्षेत्र में 87 लाख के 17 विकास कार्यों को स्वीकृति प्रदान की गई है।

विधानसभा अध्यक्ष डॉ. चरणदास महंत के घोषणानुरूप सिद्धबाबा पर्यटन स्थल उन्नयन, जीणोद्धार कार्य हेतु 10 लाख, ग्राम पंचायत चैनपुर मितानित भवन निर्माण हेतु 8 लाख, नगर पंचायत खोंगापानी वार्ड क्र. 4 में सांस्कृतिक शेड निर्माण हेतु 4 लाख, ग्राम पंचायत डुगला में ज्योति निकेतन स्कूल तक सीसी सडक़ निर्माण हेतु 5 लाख, ग्राम पंचायत मधोरा में सीसी रोड निर्माण हेतु 5 लाख, ग्राम पंचायत तंजरा में सीसी सडक़ निर्माण हेतु 3 लाख, ग्राम पंचायत मुर्किल के ग्राम रौक में में सीसी सडक़ निर्माण हेतु 5 लाख, ग्राम पंचायत बडग़ांवखुर्द-सीतापुर में सडक़ निर्माण घाट कटिंग कार्य हेतु 6 लाख, ग्राम पंचायत कटवार में सांस्कृतिक शेड निर्माण हेतु 2 लाख, ग्राम पंचायत मनवारी-अगरिया पारा में पुलिया निर्माण हेतु 5 लाख, ग्राम पंचायत जनकपुर-सहकारी भवन मरम्मत कार्य हेतु 5 लाख, ग्राम पंचायत तिलोखन-धनहर पटेलपारा में सीसी सडक़ निर्माण हेतु 5 लाख, ग्राम पंचायत केलुआ-भरेवापारा में पुलिया निर्माण हेतु 5 लाख, ग्राम पंचायत उजियारपुर (जामपारा) में रामसाय घर से रामलाल घर तक सीसी सडक़ निर्माण हेतु 4 लाख, ग्राम पंचायत बुलाकीटोला-बस्ती में आरसीसी सडक़ निर्माण हेतु 5 लाख, ग्राम पंचायत सेमरा-समुदायिक भवन निर्माण (आजीविका नवा बिहान) हेतु 5 लाख एवं ग्राम पंचायत साल्ही के नोनझरी पारा में सीसी सडक़ निर्माण कार्य के लिए 5 लाख रूपए सविप्रा मद से मंजूर किए गए हैं।
 


02-May-2021 10:48 PM 21

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
मनेन्द्रगढ़, 2 मई।
18 वर्ष से अधिक उम्र के लोगों को लगने वाले नि:शुल्क कोविड टीकाकरण के लिए साविप्रा उपाध्यक्ष व विधायक  गुलाब कमरो ने अपने विधायक निधि के 2 करोड़ रुपए की राशि मुख्यमंत्री सहायता कोष में दी है। इस राशि का उपयोग नि:शुल्क टीकाकरण में किया जाएगा।

गौरतलब है कि विधायक गुलाब कमरो कोविड काल में लगातार लोगों की मदद के लिए आगे रहें हैं। विधायक ने कहा कि 18 वर्ष से अधिक उम्र वालों को 1 मई से कोरोना का नि:शुल्क टीका लगना शुरू हो चुका है। इसके लिए उन्होंने स्वेच्छा से अपने वित्तीय वर्ष 2021-22 की विधायक निधि की 2 करोड़ की राशि मुख्यमंत्री सहायता कोष में देने का निर्णय लिया है। उन्होंने कहा कि यह हमारी सरकार का बहुत अच्छा निर्णय है और मुझे लगता है कि टीकाकरण से आने वाले दिनों में इस महामारी से जरूर निजात मिलेगी। ज्ञात हो कि जिले में ऑक्सीजन की कमी न हो पर्याप्त मात्रा में कोविड केयर सेंटर में ऑक्सीजन उपलब्ध रहे इसके लिए  विधायक ने कलेक्टर कोरबा से चर्चा की जिस पर कलेक्टर कोरबा ने ऑक्सीजन गैस रिफलिंग सुविधा हेतु अपनी सहमति प्रदान की है। विधायक कमरो ने विधानसभा अध्यक्ष डॉ. चरणदास महंत व कलेक्टर कोरबा के प्रति आभार व्यक्त किया है।

विधायक व कलेक्टर पहुंचे ऑक्सीजन प्लांट
विद्या ऑक्सीजन गैस प्लांट सूरजपुर में  एक निजी  क्लीनिक के मालिक द्वारा  मारपीट किए जाने पर  ऑक्सीजन प्लांट के  मालिक ने  ऑक्सीजन सप्लाई पर  रोक लगा दी थी,  इसकी जानकारी मिलने पर  तत्काल सविप्रा उपाध्यक्ष व भरतपुर-सोनहत विधायक गुलाब कमरो व कलेक्टर कोरिया एसएन राठौर सूरजपुर स्थित विद्या ऑक्सीजन प्लांट पहुंचे।
 सूरजपुर स्थानीय प्रशासन की उपस्थिति में ऑक्सीजन प्लांट के मालिक से विस्तृत चर्चा कर प्रशासन स्तर पर पूर्ण सहयोग करते हुए संपूर्ण सुरक्षा के दृष्टिकोण से प्लांट में अस्थायी रूप से चौकी स्थापित की गई जिसमें एक प्रशासनिक अधिकारी व पुलिस अधिकारी की निगरानी में पूरी व्यवस्था रहेगी। विधायक गुलाब कमरो एवं कोरिया कलेक्टर ने विद्या ऑक्सीजन गैस प्लांट सूरजपुर में गैस रिफिलिंग कार्य में हरसंभव मदद का भरोसा गैस प्लांट के मालिक को दिया है। विधायक एवं कलेक्टर से चर्चा करने के उपरांत विद्या ऑक्सीजन गैस प्लांट के मालिक ने ऑक्सीजन की आपूर्ति करना प्रारंभ कर दिया है।
 


02-May-2021 8:25 PM 19

मनेन्द्रगढ़, 2 मई। सविप्रा उपाध्यक्ष व विधायक गुलाब कमरो की कोरोना काल में स्वास्थ्य के क्षेत्र में सराहनीय पहल से मेसर्स बालाजी गैसेज कोरबा से कोरिया जिले को 50 मेडिकल ऑक्सीजन आपूर्ति की अनुमति मिली है। कोरिया जिले में कोरोना के उपचार हेतु 50 मेडिकल ऑक्सीजन सिलेंडरों की पूर्ति एवं रिफलिंग की अतिरिक्त व्यवस्था के लिए अनुमति आदेश नियंत्रक खाद्य एवं औषधि प्रशासन छत्तीसगढ़ शासन ने जारी किया है। 

उल्लेखनीय है कि कोरिया जिले में कोरोना संक्रमण का खतरा बरकरार है। कई लोग कोरोना की चपेट में आ चुके हैं। कोविड मरीजों की ऑक्सीजन की कमी से जान ना जाए इसकी चिंता करते हुए विधायक कमरो ने कोरबा कलेक्टर से ऑक्सीजन की आपूर्ति हेतु बात की थी जिसमें कलेक्टर ने ऑक्सीजन आपूर्ति का आश्वासन दिया था। विधायक की पहल पर कोरिया जिले में कोरोना के मरीजों के उपचार हेतु में. बालाजी गैसेस कोरबा से
50 मेडिकल ऑक्सीजन सिलेंडरों की पूर्ति एवं रिफलिंग की अतिरिक्त व्यवस्था के लिए नियंत्रक खाद्य एवं औषधि प्रशासन छत्तीसगढ़ शासन ने अनुमति आदेश जारी किया है।
 


02-May-2021 7:02 PM 15

छत्तीसगढ़ संवाददाता,
मनेन्द्रगढ़, 2 मई।
बार्डर पर स्थित चेकपोस्ट व कोविड केयर सेंटर का विधायक ने निरीक्षण किया। कोरोना महामारी के संकट काल में सरगुजा विकास प्राधिकरण के उपाध्यक्ष भरतपुर सोनहत विधायक गुलाब कमरो अपने विधानसभा क्षेत्र के दूरस्थ वनांचल क्षेत्र जनकपुर पहुंचे, जहां उन्होंने सबसे पहले छत्तीसगढ़-मध्यप्रदेश की सीमा में स्थित रामानुजनगर घाघरा चेकपोस्ट का निरीक्षण किया तथा स्थिति का जायजा लिया एवं चेकपोस्ट में कार्यरत कर्मचारियों का हालचाल जानकर वस्तु स्थिति से अवगत हुए। 

उन्होंने सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र जनकपुर स्थित 10 बिस्तरीय कोविड केयर सेंटर का भी निरीक्षण किया तथा सेंटर में कार्यरत अधिकारी-कर्मचारियों को मरीजों के बेहतर इलाज व सुविधाओं हेतु  आवश्यक दिशा निर्देश दिए। 

वे पोस्ट मैट्रिक आदिवासी कन्या छात्रावास में बनने वाले 10 बिस्तरीय कोविड केयर सेंटर का भी निरीक्षण करने पहुंचे यहां डॉक्टरों व प्रशासनिक अधिकारियों को छात्रावास में मरीजों के रहने व इलाज की सुविधाओं पर विशेष रूप से ध्यान देने को कहा। उन्होंने कोटाडोल पुलिस थाना व प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र का भी निरीक्षण किया। इस दौरान थाना प्रभारी तेजनाथ सिंह, नायब तहसीलदार श्रीकांत पांडेय एवं ब्लाक कांग्रेस अध्यक्ष रामप्रकाश मानिकपुरी मौजूद रहे। विधायक ने कोरोना काल में जनकपुर में एक जरूरतमंद परिवार को राशन सामग्री वितरण कर कोविड नियमों का पालन कर शासन-प्रशासन का सहयोग करने की अपील की। 
 


02-May-2021 7:01 PM 16

छत्तीसगढ़ संवाददाता,
मनेन्द्रगढ़, 2 मई।
सविप्रा उपाध्यक्ष विधायक गुलाब कमरो ने दूरस्थ वनांचल क्षेत्र स्थित जनकपुर थाना परिसर में मजदूर दिवस के अवसर पर प्रशासनिक अधिकारी, डॉक्टर्स व थाना स्टाफ को श्रीफल देकर उनका सम्मान किया एवं कोरोना काल में उनके द्वारा दिये गये योगदान पर आभार व्यक्त किया। 

विधायक ने एसडीएम आरपी चौहान, बीएमओ डॉ. आरके रमन, डॉ. इंद्रेश, डॉ. प्रभाकर तिवारी, डॉ. सुमित गुप्ता, थाना प्रभारी विवेक खलखो, एएसआई अजय बघेल, लक्ष्मी कश्यप सहित अन्य को शॉल व श्रीफल देकर सम्मानित कर उनके उज्जवल भविष्य की कामना की। इस अवसर पर ब्लॉक कांग्रेस अध्यक्ष रविप्रताप सिंह, जिला महामंत्री रामनरेश पटेल, विधायक प्रतिनिधि अंकुर प्रताप सिंह, अवधेश सिंह, अमित गुप्ता एवं विधायक जिला प्रातिनिधि रंजीत सिंह आदि उपस्थित रहे।
 


02-May-2021 6:57 PM 20

छत्तीसगढ़ संवाददाता,
मनेन्द्रगढ़, 2 मई।
शराबी बेटे को जब माँ ने शराब पीने से मना किया तो वह अपनी माँ पर ही टूट पड़ा। माँ को दूसरे के घर में जाकर अपनी जान बचानी पड़ी, लेकिन अतातायी बेटे ने वहां भी पहुंचकर माँ के साथ गाली-गलौज करते हुए डंडे से उसकी बेदम पिटाई कर दी। माँ की शिकायत पर मनेंद्रगढ़ पुलिस द्वारा आरोपी बेटे के खिलाफ केस दर्ज कर विवेचना की जा रही है।

मनेंद्रगढ़ थानांतर्गत ग्राम डोमनापारा निवासी कुसुम बाई ने बताया कि उसका बेटा पिछले 10 दिनों से लगातार शराब पी रहा है और घर पर खाना भी नहीं खा रहा है। बेटे के स्वास्थ्य को लेकर चिंतित माँ ने शुक्रवार को दिन के 12 बजे उसे शराब पीने से मना किया तो उसने कहा कि वह उसे मना करने वाली कौन होती है। यह कहकर गाली-गलौज की और जान से मारने की धमकी देते हुए डंडे से उसके साथ मारपीट की। 

बेटे की पिटाई से भयभीत मां पड़ोस में रहने वाले भगवान सिंह के घर जान बचाकर भागी, लेकिन शराबी बेटे ने दौड़ाकर उसके साथ मारपीट की। भगवान सिंह व सोनमती ने बीच-बचाव किया जिससे उसकी जान बची। माँ ने बताया कि बेटे की पिटाई से उसके सिर, पीठ व शरीर के अन्य हिस्सों में गंभीर चोट आई है। 
 


02-May-2021 6:18 PM 16

छत्तीसगढ़ संवाददाता

मनेन्द्रगढ़, 2 मई। सविप्रा उपाध्यक्ष व विधायक गुलाब कमरो की कोरोना काल में स्वास्थ्य के क्षेत्र में सराहनीय पहल से मेसर्स बालाजी गैसेज कोरबा से कोरिया जिले को 50 मेडिकल ऑक्सीजन आपूर्ति की अनुमति मिली है।

कोरिया जिले में कोरोना के उपचार हेतु 50 मेडिकल ऑक्सीजन सिलेंडरों की पूर्ति एवं रिफलिंग की अतिरिक्त व्यवस्था के लिए अनुमति आदेश नियंत्रक खाद्य एवं औषधि प्रशासन छत्तीसगढ़ शासन ने जारी किया है।

उल्लेखनीय है कि कोरिया जिले में कोरोना संक्रमण का खतरा बरकरार है। कई लोग कोरोना की चपेट में आ चुके हैं। कोविड मरीजों की ऑक्सीजन की कमी से जान ना जाए इसकी चिंता करते हुए विधायक कमरो ने कोरबा कलेक्टर से ऑक्सीजन की आपूर्ति हेतु बात की थी जिसमें कलेक्टर ने ऑक्सीजन आपूर्ति का आश्वासन दिया था। विधायक की पहल पर कोरिया जिले में कोरोना के मरीजों के उपचार हेतु में. बालाजी गैसेस कोरबा से 50 मेडिकल ऑक्सीजन सिलेंडरों की पूर्ति एवं रिफलिंग की अतिरिक्त व्यवस्था के लिए नियंत्रक खाद्य एवं औषधि प्रशासन छत्तीसगढ़ शासन ने अनुमति आदेश जारी किया है।

 


01-May-2021 9:16 PM 20

कल रिकॉर्ड 522 नए कोरोना संक्रमित

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
बैकुंठपुर, 1 मई।
कोरिया जिला 21 दिन से कंटेटमेंट जोन में है, बावजूद कोरोना संक्रमण के दिन पर दिन मरीज बढ़ते जा रहे है, 30 अप्रैल को अब तक के सबसे ज्यादा 522 कोरोना संक्रमित मामले सामने आए है, जबकि 5 मौत भी होने की बात सरकारी बुलेटिन बता रहा है। अब तक जिले में 94 मौतें हो चुकी है। 
कोरिया जिले मेें मौत का आंकड़ा शतक तक पहुंचने के करीब है, आज तक 94 मौतों को सरकारी आंकड़ा सामने आ चुका है। 

26 अप्रैल से 30 अप्रैल तक मात्र 5 दिन में 24 लोगों की मौत हो चुकी है। जो कि हैरान करने वाला है। 15 अप्रैल से स्वास्थ्य विभाग की कमान जिला प्रशासन के पास है, यह इत्तेफाक है कि सीएमएचओ डॉ रामेश्वर शर्मा के कोरोना पॉजिटिव होने के बाद से मौत के आंकड़ों में लगातार बढ़ोत्तरी देखी जा रही है। उनके पॉजिटिव आने के बाद वो होम आईशोलेशन में है। स्वास्थ्य विभाग की निगरानी राजस्व अधिकारियों पर है। तय है कि अब प्रशासन को कोरोना वॉरियरों को प्रोत्साहित करने का समय आ गया है, अपनी जान पर खेलकर कोविड अस्पताल हो या मैदानी अमला पूरी मुस्तैदी से कोरोना के संक्रमितों की जांच करने और उनके इलाज में लगा हुआ है। दूसरी ओर जिले में कुल पॉजिटिव मामलों की संख्या 13142 हो गई है जिसमें 3372 एक्टिव मामले है, 9018 मरीज स्वस्थ्य हो चुके है। आज शहरी क्षेत्र मेें 219 तो ग्रामीण क्षेत्रों में 303 सबसे ज्यादा मामले आए है।

5 दिन में तेजी से बढ़ गए मौत के आंकड़े
13 अप्रैल से कंटेटमेंट जोन में मौत का आंकड़ा तेजी से बढ़ा, 14 अप्रैल को मौत का आंकड़ा 46 पर रूका हुआ था, उसके बाद 25 अप्रैल तक आंकड़ा बढक़र 70 हो गया, इस दौरान 9 दिन में 24 लोगों की जान चली गई, उसके बाद  30 अप्रैल तक मात्र 5 दिन में मौतों की रफ्तार में तेजी देखी गई और इन 5 दिनों में 24 लोगों की मौत हो गई। कटेंटमेंट जोन के 15 दिनों में 48 लोगों की जान जा चुकी है। जिसमें 26 अप्रैल को 07 मौत, 27 अप्रैल को 05 मौत, 28 अप्रैल को 03 मौत, 29 अप्रैल को 04 मौत और आज 30 अप्रैल 05 मौत की जानकारी सरकारी बुलेटिन में सामने आई है।

लगातार बढ़ रहा संक्रमण
बीते 21 दिन से कंटेटमेट जोन है, सब कुछ बंद है लोगों की आवाजाही पर भी नियंत्रण है, ऐसे में मामलों में लगातार बढ़ोत्तरी समझ से परे है। आज 30 अप्रैल को सबसे ज्यादा 522 मामले सामने आए है। शहरी क्षेत्र में चिरमिरी कोरिया जिले का हॉटस्पॉट बना हुआ है, जबकि अब बैकुंठपुर का ग्रामीण क्षेत्र में भी सबसे ज्यादा मामले सामने आ रहे है। प्राय: हर दिन चिरमिरी में 100 से ज्यादा मामले सामने आते है, चिरमिरी में शुक्रवार को 114 वहीं बैकुंठपुर के ग्रामीण क्षेत्रों 114 पॉजिटिव मामले सामने आए है। बैकुंठपुर शहर में मामले धीरे-धीरे कम हो रहे है, जबकि सोनहत, भरतपुर जहां संक्रमण कम था वहां अब लगातार मामले बढ़ते देखे जा रहे है।  अब तक 3236 संक्रमितों को होम आईशोलेशन में रखे गए है।
 


01-May-2021 9:15 PM 18

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
चिरमिरी, 1 मई। 
महापौर कंचन जायसवाल ने कलेक्टर कोरिया को जिला खनिज न्यास मद से स्थापित विद्युत शवदाह गृह की जांच कर कार्रवाई करने के लिए शिकायत पत्र भेजा है।
श्रीमती जायसवाल ने अपने शिकायत पत्र में कहा है कि वर्ष 2018 में जिला खनिज न्यास मद के अन्तर्गत नगर पालिक निगम चिरमिरी के डोमनहिल मुक्तिधाम में विद्युत शवदाह गृह स्थापित करने हेतु राशि स्वीकृत कर नगर पालिक निगम चिरमिरी को निर्माणकर्ता एजेंसी बनाया गया था। निगम द्वारा डोमनहिल मुक्तिधाम में विद्युत शवदाह गृह स्थापित कर संबंधित ठेकेदार को संपूर्ण राशि का भुगतान किया जा चुका है तथा विद्युत शवदाह गृह प्रारंभ नहीं होने के बाद भी निगम के अधिकारियों के द्वारा संबंधित ठेकेदार को उसकी सुरक्षित राशि एवं अमानत राशि का भी भुगतान कर दिया गया है, लेकिन आज दिनांक तक विद्युत शवदाह गृह प्रारंभ नहीं हो सका जिस कारण हमारे निगम क्षेत्र की जनता को इसका लाभ नहीं मिल पा रहा है। समय रहते जिला खनिज न्यास मद से स्थापित विद्युत शवदाहगृह प्रारंभ हो गया होता तो यह परिस्थिति निर्मित नहीं होती।

मेरे द्वारा समय-समय पर स्थल निरीक्षण कर निगम के अधिकारियों को जिला खनिज न्यास संस्थान मद से स्थापित विद्युत शवदाह गृह को शीघ्र प्रारंभ करने हेतु निर्देशित किया गया था, परन्तु आज दिनांक तक विद्युत शवदाह गृह प्रारंभ नहीं किया गया है। इसके कारण निगम क्षेत्र के नागरिकों में कोरोना के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए आक्रोश बढ़ रहा है।

उपरोक्त समस्त तथ्यों को देखते हुए तत्काल विद्युत शवदाह गृह को प्रारंभ करने तथा अनियमित रूप से ठेकेदार को अमानत राशि एवं सुरक्षित राशि सहित संपूर्ण भुगतान की गई राशि की जांच कर दोषी अधिकारी के खिलाफ शीघ्र कठोर कार्यवाई करे ताकि भविष्य में शासन की राशि का कोई दुरुपयोग न कर सके और उनका मनोबल बढ़ाने वाले राजनीतिज्ञ लोग भयभीत हो सके और अपनी राजनीति का चश्मा चमकाने से बाज आए।

कंचन ने कहा कि कोरोना की भीषण महामारी के बढ़ते संक्रमण बचाओ के विकल्प को छोड़ पूर्व के जनप्रतिनिधि सोशल मीडिया या अन्य माध्यमों से अपनी राजनीति का चश्मा चमकाने की झूठी कोशिश कभी सकारात्मक नहीं हो सकती। उनके इन कार्यों से ही जिले का एकलौता नगर निगम इसका दंश झेल रहा है। 
 


01-May-2021 9:12 PM 19

मुख्यमंत्री का नि:शुल्क टीकाकरण के लिए जताया आभार

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
चिरमिरी, 1 मई।
विधायक डॉ.विनय जायसवाल ने अपने विधायक निधि के 2 करोड़ रुपए 1 मई से 18 वर्ष से अधिक उम्र के लोगों को लगने वाले नि:शुल्क कोविड टीकाकरण के लिए दिया है। 

विदित हो कि 1 मई से 18 वर्ष के आयु के ऊपर वाले लोगों को कोरोना का टीका लगना है। इसके लिए मनेंद्रगढ़ विधायक ने अपने विधायक निधि से 2 करोड़ की राशि मुख्यमंत्री सहायता कोष में देते हुए उपयोग करने का पत्र प्रेषित किया है। इस राशि का उपयोग नि:शुल्क टीकाकरण में किया जाएगा।

गौरतलब है कि विधायक डॉ.विनय जायसवाल कोविड काल में लगातार लोगों की मदद कर रहे हैं।  उनके प्रयास से जिले के सबसे बड़े क्षेत्र नगर निगम और जिले के बीचों-बीच स्थापित बड़ी बिल्डिंग में जल्द ही 100 बिस्तर का कोविड सेंटर प्रारंभ करने के लिए राज्य के मुखिया को प्रस्ताव भी भेजा है, जो इस भीषण महामारी के काल में जीवनी का काम करेगी। 

विधायक डॉ.जायसवाल ने बताया कि इसकी प्रशासनिक स्वीकृति मिलने के बाद हम लोग उक्त कोविड सेंटर में 20 से 50 तक वेंटिलेटर की भी व्यवस्था की जाएगी। जो सुविधा कोविड प्रभावितों को शीघ्र मिलेगी। इसके लिए विधायक विनय जायसवाल लगातार अधिकारियों से बात कर चर्चा कर रहे हैं। 

डॉ.जायसवाल ने बताया कि 18 वर्ष से अधिक आयु के लोगों को 1 मई से कोरोना का नि:शुल्क टीका लगना है।  इसके लिए उन्होंने वित्तीय वर्ष 2021-22 की विधायक निधि की 2 करोड़ की राशि मुख्यमंत्री सहायता कोष में देने का निर्णय लिया है। उन्होंने कहा कि 18 वर्ष से अधिक आयु वर्ग के लोगों का नि:शुल्क टीकाकरण करने का प्रदेश सरकार का बहुत अच्छा निर्णय है। जिसकी हम सभी दिल से सराहना करते हुए राज्य के मुखिया का आभार व्यक्त करते है, जो इस संकट की घड़ी में अपने राज्य के लोगों को हर संभव मदद देने के लिए खड़े है।
 


01-May-2021 6:35 PM 22

कंटेनमेंट जोन के कारण मजदूरी लेने पर बैन

1 मई मजदूर दिवस

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
बैकुंठपुर, 1 मई।
आज मजदूर दिवस है, परन्तु मजदूरों के हाथ खाली है, उन्हें कोरोना महामारी के डर से प्रशासन ने उनकी खाते में आए मजदूरी लेने से रोक रखा है, जबकि केन्द्र सरकार के मनरेगा की वेबसाइट बताती है, कि बीते वर्ष 2020-21 में मजदूरों की मजदूरी 1 करोड़ 18 लाख 60 हजार बकाया है, जबकि चालू वर्ष 2021-22 में 27 लाख 54 हजार की मजदूरी बकाया है।  कंटेनमेंट जोन ने उनके अपनी मजदूरी लेने पर बैन लगा रखा है, कलेक्टर के आदेश के बाद बिना मेडिकल प्रमाण पत्र के बैंक उन्हें उनकी मजदूरी नहीं दे सकता है।

मनरेगा के वेबसाईट से मिली जानकारी के अनुसार बीते वर्ष 2020-21 में कोरिया जिले के मजदूरों के खातों में ं1 करोड 35 लाख 90 हजार रू की मजदूरी का भुगतान मजदूरों के खाते में हो गया, यह भुगतान 29 मार्च 2021 को हुआ। इसमें बैकुंठपुर को 201 लाख, भरतपुर 270, खडगवां 514 लाख, मनेन्द्रगढ 214 और सोनहत में 157 लाख रू का लगभग भुगतान किया गया। परन्तु 11 अप्रेल से जिले को कंटेनमेंट जोन मे तब्दिल कर दिया गया, ऐेसे में मजदूरों की मजदूरी निकालने पर बैन लग गया। बीते वर्ष की 1 करोड 18 लाख 60 हजार रू की मजदूरी अब तक लंबित है। इसी तरह वर्ष 2021-22 में लगभग 27 लाख 54 हजार की मजदूरी चालू वित्तीय वर्ष की बाकि है, जिसमें बैकुंठपुर की शून्य है जबकि भरतपुर 16.23, खडगवां 1.76, मनेन्द्रगढ 1.01 और सोनहत 8.54 लाख बाकी है।  

लग्न और तमाम खर्च पर लगा है बैन
सिर्फ बैकुंठपुर की बात करें तो तीन दिन पूर्व तक लग्न/विवाह के लिए 5 सौ से ज्यादा लोगों को अनुमति प्रदान की जा चुकी थी, हलांकि सोशल डिस्टेंसिंग के तहत विवाह किए जा रहे हंै, बावजूद इसके विवाह में खर्च तो होगा ही, कई मजदूरों की माने तो बैंक उन्हें अपनी राशि निकालने के लिए साफ इंकार कर चुके है, जैसे-तैसे कर्जा लेकर वे कम से कम लोगों की उपस्थिति में विवाह समारोह कर पाए है। जब पैसा निकलेगा तो कर्जा चुकाएंगे और साथ में ब्याज भी देना होगा।

मजदूरी मिलने का कोई फायदा नहीं
मनरेगा के तहत बीते वर्ष की मजदूरी मजदूरों की खाते में तो आ चुकी है, परन्तु उनके हाथ अब तक मजदूरी नहीं आ सकी है, ग्रामीण क्षेत्रों में चोरी छिपे आधार कार्ड के जरीए थोडा बहुत लेनदेन किया जा रहा है, परन्तु वह भी ना के बराबर। मजदूरों का कहना है कि एक तो खाते में जो मजदूरी आई भी है वहां भी आधी, जिसे हम निकाल नहीं सकते है, तो राशि के आना ना आना एक बराबर ही कहेगें।

50 दिनों की मजदूरी लंबित का भुगतान हो- आप
आम आदमी पार्टी के जिला अध्यक्ष रमाशंकर मिश्रा ने कलेक्टर को पत्र लिखकर मजदूरों को बची 50 दिन की लंबित मजदूरी दिए जाने की मांग की है। उन्होंने अपने पत्र में लिखा है कि कोरोना महामारी की पहली लहर में मजदूरों ने डटकर सामना किया और दूसरी लहर में भी वो कोरोना संकट का सामना कर रहे है, ऐसे में उनकी सत्र 2021-21 की 50 दिनों की मजदूरी रोकना समझ से परे है।
 


Previous123456789...1718Next