छत्तीसगढ़ » कोरिया

Previous123Next
Date : 22-Jul-2019

शराब के नशे में युवकों ने डॉक्टर से की मारपीट

छत्तीसगढ़ संवाददाता 
मनेन्द्रगढ़, 22 जुलाई।
रविवार की रात शराब के नशे में धुत दो युवकों ने शासकीय सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र मनेंद्रगढ़ में इमरजेंसी ड्यूटी पर तैनात चिकित्सक एवं वार्ड ब्वॉय से दुव्र्यवहार करते हुए उनके साथ मारपीट की। डॉक्टर ने घटना की रिपोर्ट मनेंद्रगढ़ पुलिस थाने में दर्ज करा दी है।

जानकारी के अनुसार नगर पंचायत खोंगापानी निवासी 22 वर्षीय संदीप पिता सुमेर सिंह रविवार की रात 8 बजे बाइक पर सवार होकर अपने घर जा रहा था कि खोंगापानी में ही बाइक के अनियंत्रित होकर दुर्घटनाग्रस्त हो जाने से उसके सिर में चोट आई। वह नार्थ झगराखांड वार्ड क्र. 7 निवासी अपने साथी 24 वर्षीय आकाश दास पिता केके दास के साथ शासकीय सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र मनेंद्रगढ़ पहुंचा। बताया जाता है दोनों युवक शराब के नशे में मदहोश थे और उनके द्वारा नर्स से बहस की जाने लगी। ड्यूटी पर तैनात चिकित्साधिकारी डॉ. एसएस सिंह समझाने के लिए गए तो आरोपियों ने उनका कॉलर पकड़कर उनके और वार्ड ब्वॉय के साथ दुव्र्यवहार करते हुए मारपीट की गई। डॉ. सिंह की रिपोर्ट पर मनेंद्रगढ़ पुलिस द्वारा आरोपी संदीप सिंह 22 वर्ष निवासी वार्ड क्र. 4 खोंगापानी एवं आकाश दास 24 वर्ष निवासी वार्ड क्र. 7 झगराखांड के खिलाफ धारा 353 शासकीय सेवक से मारपीट, 186 शासकीय कार्य में बाधा, 294, 34 एवं चिकित्सा सेवा संस्थान में हिंसा व क्षति या हानि की रोकथाम अधिनियम की धारा 3 के तहत् अपराध दर्ज किया गया।

स्वास्थ्य कर्मचारी संघ ने दी तीन दिनों की मोहलत
चिकित्साधिकारी डॉ. एसएस सिंह के साथ हुए दुव्र्यवहार एवं मारपीट के संबंध में कठोर कार्रवाई एवं चिकित्सालय में सुरक्षा व्यवस्था की मांग को लेकर छत्तीसगढ़ प्रदेश स्वास्थ्य कर्मचारी संघ ने एसडीएम आरपी चौहान एवं बीएमओ डॉ. सुरेश तिवारी को ज्ञापन सौंपा। ज्ञापन में कहा गया कि इस प्रकार की घटना पूर्व में तीन-चार बार हो चुकी है। इस स्थिति में बिना सुरक्षा के आपातकालीन ड्यूटी चिकित्सक और स्टाफ नहीं कर पाएंगे। पूर्व में बटालियन से चौबीस घंटे सुरक्षा उपलब्ध कराया गया था, लेकिन अब सुरक्षा की कोई व्यवस्था नहीं है जिस कारण इस प्रकार की घटना लगातार घटित हो रही है।  स्वास्थ्य कर्मचारी संघ ने तीन दिवस के भीतर दोषियों पर नर्सिंग होम एक्ट के तहत् कार्रवाई एवं बटालियन द्वारा पर्याप्त सुरक्षा उपलब्ध कराए जाने की मांग करते हुए कहा कि समय-सीमा में कार्रवाई नहीं होने पर 26 जुलाई से आपातकालीन (रात्रि में) सेवा कोई अधिकारी कर्मचारी नहीं करेंगे एवं धरना प्रदर्शन हेतु बाध्य होंगे। ज्ञापन सौंपने के दौरान संघ के ब्लाक अध्यक्ष खुर्शीद अहमद, आरडी दीवान, सौमेंद्र मंडल, मुकेश सिंह, रविन्द्र मिश्रा, करन सिंह, सुबीना डेविड, पिंकू पटेल, संगीता, श्रीनिवास मिश्रा, डॉ. कीर्तन, डॉ. सुरेंद्र सिंह आदि उपस्थित रहे।

 कमरो ने की घटना की निंदा
राज्यमंत्री गुलाब कमरो ने बीती रात शासकीय सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र मनेंद्रगढ़ में डॉक्टर व वार्ड ब्वॉय के साथ दुव्र्यवहार एवं मारपीट की कड़ी निंदा की है। उन्होंने कहा कि ऐसी घटनाओं की पुनरावृत्ति नहीं होनी चाहिए। राज्यमंत्री ने हॉस्पिटल में सुरक्षा व्यवस्था उपलब्ध कराने प्रशासन को आवश्यक दिशा निर्देश दिए।

 


Date : 22-Jul-2019

मीना बाजार में हादसा, हवाई झूले से गिरकर युवती घायल

छत्तीसगढ़ संवाददाता 
मनेन्द्रगढ़, 22 जुलाई।
बीती रात शहर में चल रहे डिजनी लैंड (मीना बाजार) में हादसे में एक युवती गंभीर रूप से घायल हो गई जिसका उपचार शासकीय सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र मनेंद्रगढ़ में किया जा रहा है।

जानकारी के अनुसार ग्राम पंचायत चैनपुर निवासी खुशी शिवहरे 22 वर्ष पिता ललित शिवहरे अपने भाई राज शिवहरे 16 वर्ष व सहेली शिखा दुबे 21 वर्ष निवासी वार्ड क्र. 16 मनेंद्रगढ़ के साथ रविवार की रात सर्कस ग्राउंड में चल रहे डिजनी लैंड (मीना बाजार) में घूमने गई हुई थी। रात्रि लगभग 10 बजे दोनों सहेली हवाई झूला झूल रहे थे। झूले से उतरने के दौरान खुशी झूले से ठीक तरह से उतर भी नहीं पाई थी कि झूला शुरू हो गया जिससे वह झूले की चपेट में आकर फिसल गई और नीचे गिरकर बेहोश हो गई। खुशी के भाई राज ने पुलिस की मदद से पीएसआर वाहन से अपनी बहन को शासकीय सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पहुंचाया जहां उसे भर्ती कर इलाज किया जा रहा है। युवती के कमर से लेकर बांए पैर में गंभीर चोट आई है। पुलिस के अनुसार डॉक्टरी रिपोर्ट के आधार पर मामला दर्ज किया जाएगा। वहीं हादसे के तुरंत बाद पुलिस द्वारा मीना बाजार को बंद करा दिया गया।

मौके पर पहुंचा प्रशासन
घटना की सूचना मिलते ही एसडीएम आरपी चौहान और तहसीलदार सुधीर खलखो मौके पर पहुंचकर घटना की जानकारी ली। एसडीएम के अनुसार प्रथम दृष्टया अनुबंध शर्तों का पालन नहीं होना पाया गया है। उन्होंने जांच कर कार्रवाई किए जाने की बात कही है।


Date : 22-Jul-2019

बच्चों के विवाद ने लिया खूनी संघर्ष, एक ही परिवार के तीन आहत

छत्तीसगढ़ संवाददाता 
मनेन्द्रगढ़, 22 जुलाई।
खेल-खेल में बच्चों के बीच उपजे विवाद ने खूनी संघर्ष का रूप ले लिया। एक ही परिवार के तीन सदस्यों को घायल अवस्था में शासकीय सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र मनेंद्रगढ़ में भर्ती कराया गया है।

थानांतर्गत ग्राम पंचायत घुटरा निवासी रामप्रसाद साहू पिता रामस्वरूप साहू ने मनेंद्रगढ़ पुलिस थाने में इस आशय की रिपोर्ट दर्ज कराई कि उसका भतीजा विनोद एवं भतीजी आरती साहू और रिश्तेदार विजय साहू का पुत्र पिंटू साहू तीनों रविवार की शाम घर के बाहर खेल रहे थे। बच्चों में किसी बात को लेकर विवाद हो गया जिस पर बुजुर्ग रामस्वरूप साहू ने बच्चों का विवाद शांत कराया और पिंटू साहू को अपने घर जाने के लिए कहा। कुछ देर बाद बालक पिंटू अपने पिता विजय साहू और माँ लीलावती के साथ वापस लौटा। दोनों पति-पत्नी हाथ में डंडा और फावड़ा लिए हुए थे। दोनों ने घर के बाहर खड़े होकर रामस्वरूप साहू आवाज दी और जैसे ही वे घर से बाहर निकले उन पर हमला कर दिया। अचानक हुए हमले से रामस्वरूप के सिर में चोट आई और घायल होकर वह वहीं गिर गया। शोर मचाने पर रामस्वरूप की पत्नी सुमित्रा और बहू अनीता साहू दोनों बच्चे आरती और विनोद बीच-बचाव के लिए पहुंचे तो आरोपियों ने सुमित्रा और अनीता को भी मारकर आहत कर दिया। मारपीट से सुमित्रा के सिर में चोट आई वहीं अनीता का बांया हाथ फ्रेक्चर हो गया। 108 एंबुलेंस से घायलों को शासकीय सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र मनेंद्रगढ़ लाकर भर्ती कराया गया। पुलिस द्वारा आरोपी विजय साहू पिता रामकुमार और लीलावती पति विजय साहू निवासी पीपरटोला ग्राम पंचायत घुटरा के खिलाफ भादवि की धारा 294, 505, 323, 34 के तहत् जुर्म दर्ज किया गया।


Date : 21-Jul-2019

कोरिया के पांच युवकों की गुजरात में आग में झुलसने से मौत
6 दिन बाद शव पहुंचा, जनकपुर का मोहनटोला सदमे में 
छत्तीसगढ़ संवाददाता
मनेन्द्रगढ़, 21 जुलाई।
कोरिया जिले के दूरस्थ वनांचल क्षेत्र जनकपुर से करीब 20 किलोमीटर दूर ग्राम पंचायत मोहनटोला से कमाने-खाने सूरत (गुजरात) गए चार युवकों की आग से झुलस जाने से मौके पर ही मौत हो गई जबकि पांचवें युवक की दूसरे दिन सूरत के अस्पताल में उपचार के दौरान मौत हो गई। इस   घटना से गांव सदमे में है।  घटना के 6 दिन बाद  शनिवार को शव गाँव पहुंचा। गमगीन माहौल में उनका अंतिम संस्कार किया गया।

प्राप्त जानकारी के अनुसार जनकपुर से करीब 20 किलोमीटर दूर ग्राम पंचायत मोहनटोला में रहने वाले शिव प्रसाद पिता कंधई (18), जयलाल पिता भागवत सिंह (20), ग्राम गुढ़टोला रामगढ़ निवासी रोहित पिता दलप्रताप (19) तथा मध्यप्रदेश की सीमा से लगे ग्राम बैराग के दो युवक रोजगार की तलाश में सूरत गए थे। बताया जाता है कि सभी युवक एक किराए के मकान में रहकर सूरत के एक कपड़ा व्यापारी के यहां काम करते थे। 

13 जुलाई शनिवार को दो युवकों की नाईट शिफ्ट होने की वजह से वे रात 9 बजे काम पर चले गए। शेष पांचों युवक घर पर सो रहे थे कि रात करीब 2 बजे घर में अचानक आग की लपटें उठने लगी और सभी युवक उसमें घिर गए। सभी ने अपने को बचाने का भरसक प्रयास किया, लेकिन वे सफल नहीं हो सके। आग की चपेट में आकर बुरी तरह झुलस जाने की वजह से चार युवकों की मौके पर ही दर्दनाक मौत हो गई जबकि साथी शिवप्रसाद गंभीर रूप से झुलस गया और घटना के दूसरे दिन रविवार की दोपहर इलाज के दौरान उसने भी दम तोड़ दिया। इस दु:खद घटना की जानकारी जैसे ही मृतकों के परिजनों तक पहुंची पूरे गाँव में मातम पसर गया। परिजन तत्काल सूरत के लिए रवाना हुए और कानूनी प्रक्रिया पूरी करने के उपरांत घटना के 6 दिन बाद शनिवार को वे युवकों का शव लेकर गाँव पहुंचे।

कमरो ने जताया शोक, कहा- हरसंभव मदद
भरतपुर-सोनहत विधानसभा क्षेत्र के विधायक राज्यमंत्री गुलाब कमरो Aने इस दु:खद घटना पर अपनी शोक-संवेदना व्यक्त करते हुए कहा कि दु:ख की इस घड़ी में वे शोक-संतप्त परिवार के साथ हैं। उन्होंने मृतात्माओं की शांति के लिए ईश्वर से प्रार्थना की और कहा कि वे शीघ्र मृतकों के परिजनों से मिलेंगे तथा उन्हें शासन से हरसंभव मदद दिलाई जाएगी।


Date : 20-Jul-2019

जल संसाधन विभाग द्वारा निर्मित पाइप लाइन के जरिये बनी नहर 

बैकुंठपुर,। ये कोरिया जिले के जल संसाधन विभाग द्वारा निर्मित पाइप लाइन के जरिये बनी नहर है, जो अब कई जगह से फुट गयी है। बताया जाता है कि जिले के खडग़वां तहसील के सांवला डेम की उक्त नहर तब टूट गयी जब यहां औसत बारिश से 100 मिमी कम वर्षा हुई है। बताया जाता है पूर्व में इसके निर्माण में कई अनितमिततायें बरती गईं थीं, इसके अलावा वार्षिक मरम्मत के नाम पर सिर्फ लीपापोती की जाती रही, जिसके कारण कुछ ही वर्ष पहले बनी ये नहर कई जगह से टूट गयी है। अब विभाग फिर इसकी मरम्मत में जुटा है। तस्वीर छत्तीसगढ़ /चंद्रकांत पारगीर


Date : 20-Jul-2019

मोबाइल कांफ्रेंसिंग सुविधा पर याचिका, हाईकोर्ट ने सूचना आयोग से मांगा जवाब

छत्तीसगढ़ संवाददाता 
बैकुंठपुर, 20 जुलाई।
 छत्तीसगढ़ राज्य सूचना आयोग से आरटीआई कार्यकर्ता राजकुमार मिश्रा ने दूसरे राज्यों की तरह  छत्तीसगढ़ में भी अपील और शिकायत प्रकरणों की सुनवाई मोबाइल पर ऑडियो कांफ्रेंसिंग  का पालन नहीं करने के कारण  छत्तीसगढ़ उच्च न्यायालय में रिट याचिका प्रस्तुत किया। जिसमें उच्च न्यायालय ने सूचना आयोग से जवाब मांगा है। 

चिरमिरी निवासी आरटीआई कार्यकर्ता राजकुमार मिश्रा ने   01.02.2018  को छ0ग0 राज्य सूचना आयोग को एक पत्र लिखकर आईटी एक्ट-2000  के अनुसार द्वितीय अपील और शिकायतों की सुनवाई मोबाइल पर ऑडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से कराए जाने हेतु लिखित में अनुरोध किया. छग सूचना आयोग के द्वारा एक पत्र भेजकर अपील और शिकायत प्रकरणों की सुनवाई मोबाइल पर ऑडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से कराए जाने का कोई प्रावधान नहीं होना बताया गया। उपरोक्त पत्र के जवाब में आरटीआई कार्यकर्ता ने  28.08.2018 को एक और पत्र लिखकर उसमें कई सूचना आयुक्त के द्वारा ऐसा किया जाना दस्तावेज सहित बताया  गया।

सूचना आयोग के   29.10.2018 के फुल आयुक्त की मीटिंग के एजेंडा क्रमांक 9.5 में पायलट प्रोजेक्ट के रूप में किसी एक जिले में लिए जाने का प्रस्ताव किया गया। विधि अधिकारी भी इस संबंध में अपनी सहमति दी। उन्होंने अपने अभिमत में रायगढ़ या महासमुंद जिले को मोबाइल से ऑडियो कॉन्फ्रेंसिंग से जोडऩे का विकल्प दिया। आरटीआई कार्यकर्ता ने सूचना आयोग को दो पत्र लिखकर अनुरोध किया कि पायलट प्रोजेक्ट के रूप में कोरिया को भी जोड़कर मोबाइल पर ऑडियो कॉन्फ्रेंसिंग से सुनवाई किया जाए. आरटीआई कार्यकर्ता के इस आवेदन पर कोई कार्यवाही या आदेश नहीं किया गया।
सूचना आयोग के कार्यालय के महासमुंद और रायगढ़ जिले का कॉज लिस्ट  29.10.2018 से 29.06.2019 तक का जब आरटीआई कार्यकर्ता के अवलोकन किया तो पाया कि इस समय अवधि में एक भी प्रकरण की सुनवाई ऑडियो कॉन्फ्रेंसिंग से नहीं हुआ है। उत्तरवादी के पास इस तरह का नियम बनाने का अधिकार है। अपने इस अधिकार का प्रयोग उत्तरवादी के द्वारा आदेश करने के विपरीत नहीं किया जा रहा है जिससे अपार जनसमूह लाभ प्राप्त करने से वंचित हैंं।

सूचना आयोग  के इस तरह के गैर जिम्मेदारी पूर्वक काम ना करने के कारण आरटीआई कार्यकर्ता ने छत्तीसगढ़ उच्च न्यायालय में रिट याचिका प्रस्तुत की। इस रिट याचिका में छत्तीसगढ़ उच्च न्यायालय ने छत्तीसगढ़ राज्य सूचना आयोग से जवाब तलब किया है। आरटीआई कार्यकर्ता ने अपने याचिका में सूचना आयोग का अपील और शिकायत प्रकरणों की सुनवाई मोबाइल पर ऑडियो कांफ्रेंसिंग से होने वाले लाभ का स्पष्ट जिक्र किया है।


Date : 20-Jul-2019

भाषण प्रतियोगिता में अंजलि अव्वल

मनेन्द्रगढ़, 20 जुलाई। यूनिवर्सल पब्लिक हायर सेकेंडरी स्कूल में योग गुरू विवेक तिवारी के द्वारा योगाभ्यास कराया गया साथ ही बच्चों को योग के महत्व की जानकारी दी गई। इसके पश्चात् बच्चों के लिए ड्राईंग एवं भाषण प्रतियोगिता रखी गई।
5वीं से 8वीं तक के बच्चों ने ड्राईंग जबकि 6वीं से 12वीं के बच्चों ने भाषण प्रतियोगिता में हिस्सा लिया। 6वीं से 8वीं तक स्वच्छ भारत, शिक्षा और पर्यावरण का महत्व तथा कक्षा 9वीं से 12वीं में आपके प्रेरणा स्रोत, मोबाइल क्रांति, जीवन में खेलों का महत्व, मानव जीवन में आत्मनिर्भरता विषय पर भाषण प्रतियोगिता रखी गई। प्रतियोगिता में संस्था के बच्चों ने बढ़-चढ़कर भाग लिया। प्रतियोगिता के निर्णायक उत्कर्ष पांडेय, राजेश सिंह एवं इशिता रहे। भाषण प्रतियोगिता में ब्लू हाउस से अंजली पांडेय प्रथम, रागिनी यादव द्वितीय एवं अंशिता शुक्ला ग्रीन हाउस ने तृतीय स्थान प्राप्त किया। इस अवसर पर संस्था प्राचार्य राजकुमार पांडेय एवं सचिव संध्या पांडेय के द्वारा स्कूल के विभिन्न गतिविधियों पर प्रकाश डाला गया। कार्यक्रम को सफल बनाने में निर्मल दोहरे, रोहिनी प्रसाद गोस्वामी, सुनीता साहू, संगीता चंदा, संध्या दास, अमृतरानी, रोशनी वर्मा, अंजू सिंह, पार्वती देव, प्रभा प्रधान, जयलक्ष्मी, प्रियंका मिश्रा, डिम्पी कछवाहा, भावना वर्मा, स्वाति दुबे, अंजना अग्रवाल, स्वाति अग्रवाल, दीपिका तिवारी, प्रीति गुप्ता, शिवानी दास, एसएस सुनीता राव, सरिता सहाू, अंकिता सिंह, खुशी शिवहरे, विभा कुशवाहा, गोपाल तिवारी, अभिलाषा सिंह, मोनिका आदि शिक्षकों का सराहनीय योदगान रहा।


Date : 19-Jul-2019

तहसील स्तर पर निराकरण नहीं, छोटी-छोटी शिकायतें कलेक्टर के पास पहुंच रहीं

छत्तीसगढ़ संवाददाता
बैकुंठपुर, 19 जुलाई।
कोरिया जिले में बीते 2 माह से तहसील स्तर पर समस्याओं का निराकरण ना होने पर जिले भर के विभिन्न क्षेत्रों से आए फरियादी कलेक्टर कार्यालय उम्मीद लेकर आते है परन्तु यहां भी उन्हें नाउम्मीदी ही हाथ लग रही है। हालात यह है कि जिले के खडगवां थानांतर्गत ग्राम देवाडॉड निवासी ने कलेक्टर कोरिया को शिकायत पत्र देकर सुरक्षा की मांग की है।  

उचित मूल्य दुकान से कम चावल देने की शिकायत
जिले के भरतपुर जनपद क्षेत्र के ग्राम नगरी पंचायत मोहनटोला निवासी कतकी  ने शिकायत प्रस्तुत कर बताया कि उसके नाम जारी राशन कार्ड क्रमांक 53020502410029 में चावल की पात्रता 35 किलो है लेकिन क्षेत्र के उचित मूल्य दुकान संचालक के द्वारा उसे विगत दो वर्षो से मेरे कार्ड पर 10 किग्रा प्रतिमाह दो वर्षो से प्रदान किया जा रहा है। पीडि़ता ने कलेक्टर को आवेदन देकर पात्रतानुसार कार्ड पर निर्धारित आबंटन का पूरा चावल प्रदान किया जाये। गौरतलब है कि भरतपुर में खाद्यान की अफरातफरी की सबसे ज्यादा शिकायत है, परन्तु जिला प्रशासन ने मौन धारण कर रखा है। 

निजी भूमि पर कब्जा कर धान बोने की शिकायत
जिले के मनेद्रगढ जनपद क्षेत्र के ग्राम सोनारी निवासी हरिश्चंद पिता स्व रामऔतार के पिता द्वारा प्राप्त भूमि खनं 48-2 व 51-2 में गांव के राम कुमार पिता राम दुलारे वगैरह के द्वारा जबरन कब्जा कर उसमें धान बो दिये है। पीडित ने मांग की है कि उसके स्वामित्व की उक्त खसरा नम्बर की भूमि को अवैध कब्जा से मुक्त कराया जाए। इसी तरह अवैध कब्जे की शिकायत नपा बैकुंठपुर के वार्ड क्रमांक 21 में पार्षद व वार्ड वासियो द्वारा हस्ताक्षरयुक्त शिकायत देकर बताया कि उक्त वार्ड में खसरा क्रमांक 200-1 को फर्जी तरीके से स्टांप में रिंकू कुशवाहा एवं रानू सिंह द्वारा सहमति पत्र पर हस्ताक्षर कराकर जमीन पर मेढ बनाकर अतिक्रमण किया जा रहा है। जबकि 30 फीट रोड नक्शे में पहले से ही दर्शित है। जिसमें उमाशंकर द्वारा बाउन्ड्रीवाल बनाकर अतिक्रमण कर लिया गया है। जिसे मुक्त कराये जाने की मॉग की गयी है। 

नहीं मिलेे पाईप 
बैकुंठपुर जनपद क्षेत्र के ग्राम शिवपुर निवासी रामलखन साह  ने कलेक्टर से शिकायत कर योजना के तहत पाईप दिलाये जाने की मांग की है। उन्होंनें बताया है कि उसके द्वारा छग बीज एवं कृषि विकास निगम कोरिया में डीएमएफ और पीएमकेएसवाई योजना के तहत स्प्रिंकलर पाईप हेतु बीते वर्ष 20 अगस्त 2018 को 2741 रूपये नगद जमा किया था लेकिन आज तक उसे उक्त निगम से पाईप नहीं मिल पायी है जिसे तत्काल दिलाये जाने की मांग की गयी। गौरतलब है कि डीएमएफ की राशि से दर्जनों किसानों को स्प्रिंकलर बांटे गए, परन्तु आज तक पाइप नहीं दिए गए है, जबकि भौतिक सत्यापन कर राशि का आहरण कर लिया गया है। 

पट्टा न बनने देने की मांग
जिले के नागपुर पुलिस सहायता केंद्र अंतर्गत ग्राम सेंधा निवासी श्यामलाल पिता ठाकुरदीन ने बताया कि उसके द्वारा ग्राम सेंधा में भूमि नम्बर 87-1 पर वर्ष 1991 से काबिज है तथा जुताई बोआई करते चला आ रहा है। मेरी कब्जे की उक्त भूमि पर जोर जबरजस्ती से डॉ जागेश्वर प्रसाद श्रीवास पटवारी से मिलकर पट्टा बनवाना चाहता है। जिसे न बनने देने की मांग की गयी। 

कार्य से निकालने का प्रस्ताव को लेकर शिकायत
जनपद पंचायत खडगवां अंतर्गत ग्राम अखराडॉड निवासी बेला बाई पति मनीलाल ने कलेक्टर से वह शा पूर्व माध्यमिक शाला अखराडॉड में बीते 10 वर्षो से मध्यान्ह भोजन सहायिका के पद पर कार्य कर रही है लेकिन शाला विकास समिति, समूह द्वारा कार्य से निकालने का प्रस्ताव बनाया गया है। उनकी मॉग है कि वह कार्य करना चाहती है इसलिए उसे यथावत रखते हुए प्रस्ताव का निरस्त करने की मांग की साथ ही बताया गया है कि उसके द्वारा मध्यान्ह भोजन हेतु लकडी लाकर जलाया गया है जिसकी राशि करीब 7500 रूपये बकाया है जिसे दिलाये जाने की भी मॉग की। 


Date : 19-Jul-2019

एसईसीएल हसदेव से मृत पति के बकाए राशि की मांग आत्मदाह की चेतावनी

छत्तीसगढ़ संवाददाता,
मनेन्द्रगढ़, 19 जुलाई।
कॉलरी कर्मी की पत्नी ने कम्पनी के नियमानुसार अपने मृत पति के बकाया राशि का भुगतान 15 दिवस के भीतर नहीं किए जाने पर आत्मदाह की चेतावनी दी है।

राजनगर कॉलरी अंतर्गत शांतिनगर कॉलोनी निवासी रीता सिंह ने एसईसीएल हसदेव क्षेत्रांतर्गत राजनगर आरओ के उपक्षेत्रीय प्रबंधक को लिखे अपने पत्र में कहा कि उसके पति जगत सिंह पिता स्व. घासीराम मैकेनिकल फिटर हेल्पर के पद पर एसईसीएल राजनगर आरओ 7/8 कॉलरी में कार्यरत् थे। कम्पनी के सेवाकाल में बीमारी से ग्रसित हो जाने के कारण 28 सितम्बर 2015 को उनकी मृत्य हो गई। पति की मृत्यु के पश्चात् कम्पनी के नियमानुसार सम्पूर्ण देय राशि सीएमपीएफ, विधवा पेंशन, ग्रेज्युटी, सामूहिक कामगार ग्रेच्युटी, बीमा राशि, लाईफ कवर, बोनस, अवकाश राशि एवं श्रमिकों के वेतन से काटी गई सहायता राशि भुगतान करने हेतु उसके द्वारा विधिवत् रूप से कॉलरी कार्यालय में आवेदन दिया गया, लेकिन कॉलरी प्रबंधन द्वारा उपरोक्त सम्पूर्ण राशि का भुगतान न कर आधी-अधूरी राशि ही उसे प्रदाय की गई।

 शेष राशि भुगतान के संबंध में मौखिक रूप से उसे कहा गया कि ग्रेच्युटी न्यायालय से अंतिम निर्णय हो जाने के बाद ही भुगतान किया जा सकता है। मृत कॉलरी कर्मी की पत्नी ने कहा कि चूंकि ग्रेज्युटी अपीलीय न्यायालय द्वारा उसके पक्ष में निर्णय करते हुए ग्रेच्युटी भुगतान करने का निर्णय दिया गया है जिसकी प्रतिलिपि कॉलरी कार्यालय में 25 मई 2019 को प्रस्तुत कर बकाया देय राशि भुगतान करने निवेदन किया गया, लेकिन आज तक भुगतान नहीं किया गया है, न तो भुगतान नहीं करने का कोई लिखित कारण ही बताया गया है।

 मृतक कॉलरीकर्मी की पत्नी ने कहा कि उसे लगने लगा है कि कॉलरी प्रबंधन उसे मिलने वाले जायज बकाया देय राशि को हड़प कर उसके साथ अन्याय करना चाहती है। उसने कहा कि उसे विवश होकर न्याय पाने के लिए आत्मदाह करने का फैसला लिया गया है। उसने कहा कि आवेदन के 15 दिवस के भीतर उसके पति की बकाया सम्पूर्ण देय राशि का भुगतान नहीं किया गया तो वह एसईसीएल राजनगर आरओ उपक्षेत्रीय कार्यालय के समक्ष 15 दिवस के बाद किसी भी तिथि व समय पर आत्मदाह करने को विवश होगी जिसकी सम्पूर्ण जवाबदेही दोषी कॉलरी प्रबंधन की होगी।


Date : 19-Jul-2019

नि:शुल्क नेत्र शिविर 28 को, फेको पद्धति से किए जाएंगे ऑपरेशन

छत्तीसगढ़ संवाददाता
मनेन्द्रगढ़, 19 जुलाई।
स्व. चंदूलाल अग्रवाल स्मृति लायंस नेत्र चिकित्सालय ट्रस्ट मनेंद्रगढ़ द्वारा पूर्व घोषित प्रति माह नि:शुल्क फेको नेत्र ऑपरेशन योजना के अंतर्गत जुलाई माह में 28 जुलाई रविवार को नेत्र जांच शिविर मौहारपारा स्थित नेत्र चिकित्सालय परिसर में प्रात: 11 से 2 बजे तक आयोजित किया जा रहा है, जिसमें पूर्व में प्राप्त आवेदकों के नेत्र की जांच की जाएगी तथा नेत्र ऑपरेशन हेतु अंतिम चयन किया जाएगा। इस शिविर में नए आवेदक भी शामिल हो सकेंगे तथा उनके नेत्रों की भी जांच कर ऑपरेशन हेतु चयनित किया जाएगा।

ट्रस्ट चेयरमेन ला. आरपी गुप्ता ने जानकारी देते हुए बताया कि लायंस द्वारा आयोजित शिविर में पहली बार अत्याधुनिक फेको पद्धति से नि:शुल्क ऑपरेशन किए जाएंगे और इस विधि में मरीज को अल्प समय में ही पूरा आराम मिल जाता है तथा टांके रहित ऑपरेशन होने के कारण कुछ घंटों में ही निदान हो जाता है। लायंस द्वारा जारी प्रतिमाह नि:शुल्क फेको नेत्र ऑपरेशन योजना में श्री राम नेत्र चिकित्सालय मनेंद्रगढ़ द्वारा उल्लेखनीय सहयोग प्रदान किया जा रहा है जिसके फलस्वरूप ही लायंस द्वारा फेको ऑपरेशन की सुविधा नि:शुल्क उपलब्ध करना संभव हो सका है। 

समस्त दवाएं, ऑपरेशन, जांच आदि के समस्त खर्च स्व. चंदूलाल अग्रवाल स्मृति लायंस नेत्र चिकित्सालय ट्रस्ट मनेंद्रगढ़ द्वारा वहन किए जाएंगे। चूंकि फेको काफी महंगी प्रक्रिया है, अत: इस हेतु आरंभ में ट्रस्ट द्वारा अपनी क्षमतानुसार प्रतिमाह 15 नि:शुल्क ऑपरेशन का लक्ष्य निर्धारित किया गया है, जिसे जनसहयोग से भविष्य में बढ़ाया भी जा सकता है। 28 जुलाई को आयोजित शिविर में शामिल होने के इच्छुक जन गोयल मेडिकल स्टोर स्टेशन रोड या मौहारपारा स्थित ट्रस्ट के कार्यालय में प्रात: 11 से 2 बजे तक कार्यालयीन समय में संपर्क कर पंजीयन करा सकते हैं। लायंस अध्यक्ष रितेश जैन ने क्षेत्र के लोगों से इस विशेष सुविधा का अधिकाधिक लाभ लेने की अपील की है।

 


Date : 19-Jul-2019

बच्चे के भोजन में मुनगा भाजी, 4 माह में सुधार

कुपोषण के खिलाफ कारगर मुनगा

छत्तीसगढ़ संवाददाता
बैकुंठपुर, 19 जुलाई।
कोरिया जिले में बीते वर्ष से जारी सुपोषण ट्री मुनगा अभियान की विभाग द्वारा कराई गई केस स्टैडी में सकारात्मक नतीजे सामने आने लगे है। कुपोषित बच्चों की जांच के बाद उन्हें लगातार मुनगा भाजी खिलाने के बाद आए परिणाम से वो सुपोषण की ओर लौट आया है। 

इस संबंध मे जिला कार्यक्रम अधिकारी चंद्रबेश सिंह सिसोदिया ने बताया कि सुपोषण ट्री मुनगा अभियान को लेकर बीते दिनों से एक केस स्टेडी करवाई गयी, कुपोषित बच्चों निगरानी में रखकर मुनगा भाजी के साथ पोषण आहार दिया गया, कुछ ही दिनों में ऐसे बच्चे सुपोषित हो गए, अब ऐसा करके हम जल्द ही कोरिया को कुपोषण से मुक्ति दिला सकते है। 

जानकारी के अनुसार खोंगापानी नगर पालिका क्षेत्र के वार्ड न. 56 दफाई में श्रीमती सपना का पुत्र गौरव कुमार कम वजन की समस्या से ग्रसित था। आंगनबाडी केन्द्र की कार्यकर्ता सुशीला दास द्वारा गृह भेंट कर उन्हें अवगत कराया गया कि आपका बच्चा मध्यम कुपोषण क श्रेणी में है। अभिभावक ने बताया गया कि बच्चे के वजन को आयु अनुसार सामान्य में लाने के लिए कई चिकित्सकों को दिखाकर मंहगी-मंहगी दवाईयां दी जा चुकी है, लेकिन बच्चे के स्वास्थ्य में कोई परिवर्तन नही दिखा। आंगनबाडी कार्यकर्ता सुषीला दास के द्वारा सपना को उसे आंगनबाड़ी भेज कर बच्चों को सुपोषित बनाने के लिए विविध कार्यक्रम में शामिल करें। जहां सुपोषण ट्री मुनगा अभियान- एक जन आंदोलन के तहत अधिक से अधिक मुनगा पौधरोपण एवं उसकी पत्तियों, फलों के नियमित सेवन से 300 से अधिक प्रकार के बीमारियों से बचाव व कमजोर बच्चों को स्वस्थ्य करने हेतु एक प्रभावी माध्यम के रूप में उपयोग करने की समझाईश दी जा रही है। 

सुशीला दास द्वारा इस अभियान में शामिल होने हेतु गौरव की मॉ सपना को प्रेरित किया गया। मुनगा के फायदे की जानकारी प्राप्त कर सपना के द्वारा घर में मुनगा पौधा लगाया गया। साथ ही आंगनबाड़ी कार्यकर्ता के बताये अनुसार सपना द्वारा प्रतिदिन 100 ग्राम मुनगा भाजी तैयार कर अलग-अलग समय में गौरव को सेवन करया गया। इसके अतिरिक्त आंगनबाड़ी केन्द्र में प्रदायित अतिरिक्त पौष्टिक आहार का सेवन भी किया गया। गौरव के वजन में पाया गया सकारात्मक परिवर्तन आया, पूर्व में उसका वजन 8 किलो ग्राम था जो बढक़र 12.800 किलो ग्राम हो गया। वहं भी मात्र 4 माह में। उल्लेखनीय है कि महिला एवं बाल विकास विभाग जिला कोरिया द्वारा बिना किसी शासकीय खर्च के पूरे जिले में विगत् 01 वर्ष में 40000 से अधिक मुनगा पौधे का रोपण कराया गया।

 


Date : 18-Jul-2019

मप्र की अवैध विदेशी शराब का परिवहन करते युवक पकड़ाया

छत्तीसगढ़ संवाददाता 
मनेन्द्रगढ़, 18 जुलाई।
अवैध शराब के खिलाफ पुलिस का अभियान सतत जारी है। बीती रात पुलिस ने एक बार फिर से पड़ोसी राज्य मध्यप्रदेश की अवैध अंग्रेजी शराब का परिवहन करते एक युवक को बाइक सहित हिरासत में लिया और उसके खिलाफ आबकारी एक्ट के तहत कार्रवाई की।

जानकारी के अनुसार मनेंद्रगढ़ पुलिस को मुखबिर से सूचना मिली कि एक युवक मध्यप्रदेश की अंग्रेजी शराब बैग में लेकर नागपुर जाने बाइक से निकला है। सूचना पर पुलिस ने रिंग रोड में चौकसी बढ़ाई और मंगलवार की मध्य रात्रि 12 बजे हॉटल हसदेव इन के पास बिना नंबर मोटरसाइकिल में बैग लेकर जाता एक युवक नजर आया। पुलिस ने उसे रूकवाया और पूछताछ कर उसकी तलाशी ली। युवक ने अपना नाम विवेक मिश्रा उर्फ गोलू 19 वर्ष निवासी नागपुर सेमरा रेलवे फाटक के पास होना बताया।   युवक ने बताया कि वह राजनगर (मप्र) से बैग में विदेशी शराब लेकर जा रहा था। पुलिस द्वारा आरोपी के पास से 24 पाव गोवा अंग्रेजी शराब जब्त कर उसके खिलाफ आबकारी अधिनियम के तहत् कार्रवाई की गई। बताया जाता है कि युवक के पास 24 पाव से अधिक शराब थी, जिसे पुलिस की पकड़ में आने से पहले ही उसके द्वारा नष्ट कर दिया गया।   बता दें कि आरोपी युवक के पिता और उसके नाबालिग भाई को मनेंद्रगढ़ पुलिस 11 जुलाई को वैन में 46 हजार 750 रूपए की अवैध अंग्रेजी शराब का परिवहन करते पहले ही पकड़ चुकी है।

 


Date : 18-Jul-2019

शहर से लेकर गांव तक शो पीस बनते जा रहे कोरिया नीर-कलेक्टर 

छत्तीसगढ़ संवाददाता 
मनेन्द्रगढ़, 18 जुलाई।
बेंगलुरू में लगे वाटर एटीएम से अपनी प्यास बुझाकर पुलकित हुए तत्कालीन कोरिया कलेक्टर एस. प्रकाश ने वाटर एटीएम को जिले में लाकर 'कोरिया नीर' की संज्ञा देते हुए जिला मुख्यालय बैकुंठपुर से लेकर जिले के सभी ब्लाकों में स्थापित करवाया था। कलेक्टर की मंशा थी कि इस प्लांट के लगने से पानी से होने वाले विभिन्न प्रकार की जलजनित बीमारियों से छुटकारा मिलेगा और लोगों के स्वास्थ्य में भी सुधार होगा, लेकिन उनके तबादले के बाद शहर से लेकर गांव तक यह योजना दम तोड़ती नजर आ रही है और आला-अधिकारी हाथ पर हाथ धरे बैठे हैं।

मनेंद्रगढ़ में कुल 6 स्थानों पर वाटर एटीएम की स्थापना की गई है जिसमें से सरकारी अस्पताल के बगल में एक सप्ताह से, आमाखेरवा रोड में एक माह और मौहारपारा में पिछले एक साल से प्लांट पूरी तरह बंद पड़ा है। वार्ड क्र. 1 लोको कॉलोनी मंगल भवन के पास स्थापित वाटर एटीएम में अत्यधिक दबाव होने से वह भी किसी प्रकार रो-धोकर चल रहा है। वहीं सेंट्रल हॉस्पिटल परिसर में 7 लाख की लागत से निर्मित कोरिया नीर स्थापना के साल भर बाद भी आज तक आरंभ ही नहीं हो सका है। केंद्रीय चिकित्सालय में न केवल कॉलरी कर्मचारी और उनके परिवार बल्कि दूर-दराज से मरीज व उनके परिजन इलाज के लिए आते हैं। पीने के पानी की व्यवस्था नहीं होने से वे इधर-उधर परेशान होते रहते हैं। 

वार्ड पार्षद आदित्य राज डेविड ने कहा कि आरओ वाटर प्लांट आरंभ कराने के लिए वे पीएचई विभाग में काफी अनुनय-विनय कर चुके हैं, लेकिन अब ऐसा नहीं होगा। उन्होंने चेतावनी भरे लहजे में कहा कि वाटर एटीएम के लिए वे आंदोलन का रास्ता अपनाएंगे और तब तक पीछे नहीं हटेंगे, जब तक की प्लांट शरू नहीं कर दिया जाएगा।

 इसके अलावा ग्रामीण क्षेत्र की बात करें तो तहसील अंतर्गत बिहारपुर के बस स्टैंड में भी एक साल पहले स्थापित कोरिया नीर का शुभारंभ आज तक नहीं होने से वह शो पीस बनकर रह गया है। बिहारपुर के उप सरपंच ने बताया कि वाटर प्यूरीफिकेशन प्लांट को शुरू करने उनके द्वारा कई बार लिखित एवं मौखिक रूप से विभाग का ध्यानाकर्षण कराया गया, लेकिन इसे शुरू नहीं किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि पानी के लिए लाखों रूपए पानी की तरह बहाने के बाद भी इसका लाभ नहीं मिलना प्रशासनिक कार्यव्यवस्था पर सवाल खड़े करता है।

इनका कहना है 
पीएचई विभाग के अधिकारियों से बात हुई है। उनका कहना है कि उपकरण खराब है और महंगे आते हैं। कलेक्टर को स्टीमेट दिया गया है। डीएमएफ से राशि मांगी गई है। पीएचई बनाकर देगी, तब सुचारू रूप से संचालन होगा।

खेल कुमार पटेल, सीएमओ नपा मनेंद्रगढ़
खराब हुए कोरिया नीर कब तक बनेंगे कह नहीं सकते, लेकिन शीघ्र चालू करने का प्रयास किया जाएगा। मेरे द्वारा कार्यपालन यंत्री को जानकारी दे दी गई है।
एसबी सिंह, एसडीओ पीएचई


Date : 18-Jul-2019

फर्जी महिला समूह बनाकर कर्ज लेने की शिकायत
छत्तीसगढ़ संवाददाता 
बैकुंठपुर, 18 जुलाई।
प्रदेश सरकार की मंशानुसार महिलाओं को आर्थिक रूप से सुदढ़ करने के उद्देश्य से गॉव गॉव में महिला स्वयं सहायता समूह का गठन कराया गया है जिसस कि महिलाएॅ विभिन्न तरह के कार्य में जुडकर आर्थिक रूप से सबल बने लेकिन इस कार्य में कई पंचायत क्षेत्रों में फर्जी महिला स्वयं सहायता समूह बनाकर बैंक से राशि आहरण करने की भी शिकायत अब आम होती जा रही है।

यदि विभिन्न गॉवों में बनाई गयी महिला स्वयं सहायता समूहों की जॉच की जाये तो फर्जी समूह का पता चल सकेगा। इसी तरह की शिकायत गत दिवस कलेक्टर कोरिया के पास करते हुए सोनहत जनपद क्षेत्र के ग्राम कछार के कुछ महिलाओं ने करते हुए जांच की मॉग की और दोषियों के विरूद्ध कडी कार्यवाही की मॉग की।  

मिली शिकायत के अनुसार जनपद क्षेत्र के ग्राम पंचायत कछार की कुछ महिलाओं ने कलेक्टर को सौंपे अपने शिकायत पत्र में उल्लेख किया है कि उन्हे बिना बताये तथा हस्ताक्षर कराये बिना ही कुछ लोगों ने इंदिरा गॉधी स्वयं सहायता समूह का गठन कर लिया गया है जिसमें उन्हे शामिल किया गया लेकिन इस बात की जानकारी उन्हे नही दी गयी। समूह गठन करने के पश्चात ग्रामीण बैंक कटगोडी से राशि भी आहरित कर ली गयी तब तक उन्हे किसी तरह की जानकारी नही दी गयी थी। गठित समूह की अध्यक्ष कलावती पति शिवमंगल तथा सचिव पूनम देवी पाण्डेय पति संतोष पाण्डेय के द्वारा फर्जी समूह बनाया गया और फर्जी तरीके से बैक से राशि आहरण किया गया। उन्होने अपने शिकायत में उल्लेख किया है कि उन्हे इस बात की जानकारी तब मिली जब उन्हे ग्रामीण बैंक कटगोडी से नोटिस मिला। ऐसे फर्जीवाडा की जॉच कराकर संबंधितों के विरूद्ध कड़ी कार्यवाही की मॉंग की गयी है।


Date : 18-Jul-2019

समिति कर्मचारियों की बैठक में सहकारी केंद्र बैंक में विभिन्न रिक्त पदों पर नियमित करने की मांग का प्रस्ताव
छत्तीसगढ़ संवाददाता 
बैकुंठपुर, 18 जुलाई।
कोरिया जिला मुख्यालय बैकुंठपुर के छिंदडॉड में आदिम जाति सेवा सहकारी समिति कर्मचारी संघ द्वारा बैठक का आयोजन किया गया जिसमें निर्णय लिया गया कि समिति में कार्यरत सभी कर्मचारियों को उनकी योग्यता अनुसार जिला सहकारी केंद्र बैंक में विभिन्न रिक्त पदों पर नियमित करने की मॉग का प्रस्ताव पारित किया गया। 

पारित प्रस्ताव के अनुसार समिति कर्मचारियों को समान कार्य समान वेतन देने, छग शासन समिति कर्मचारियों को राज्य कर्मचारी का दर्जा देने, समिति में कार्यरत कर्मचारी विगत कई वर्षो से अल्प वेतनभोगी के रूप में कार्यरत है अब उम्र अधिक होने के कारण किसी भी दूसरे विभाग में नौकरी की पात्रता नहीं रखते, यदि  मॉंग पूरी नही होता है तो वर्ष 2019-20 में धान खरीदी, खाद बीज, केसीसी नगद ऋण वितरण कार्य समिति के माध्यम सें कई बडे योजनाओं को संचालित किया जा रहा है जिसे प्रभावित किया जायेगा। 

बैठक में जानकारी दी गयी कि पूरे सरगुजा संभाग में कार्यरत कर्मचारियों की संख्या 540 है। समिति के कर्मचारी शासन की विभिन्न योजनाओं की लागू करवाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते है इसके बाद भी अल्प वेतन दिया जा रहा है जिससे कि समिति कर्मियों की आर्थिक स्थिति खराब है। बैठक में प्रस्ताव पारित किया गया कि संघ की मॉगें पूरा नही की जाती है तो आगामी 1 अगस्त को एक दिवसीय हडताल कलेक्ट्रेड चौक अंबिकापुर में किया जाना प्र्रस्तावित किया गया है। बैठक में प्रमुख रूप से समिति के संभाग अध्यक्ष प्रभाकर सिंह, उपाध्यक्ष समलित कुशवाहा, कोषाध्यक्ष बसंत जायसवाल तथा सचिव ज्ञानचंद्र गुप्ता के अलावा समिति के सदस्य शामिल रहे।

 


Date : 18-Jul-2019

कोरिया वन कर्मियों की हड़ताल खत्म
छत्तीसगढ़ संवाददाता 
बैकुंठपुर, 18 जुलाई।
कोरिया वन मण्डलाधिकारी बैकुंठपुर की कार्यवाही से व्यथित होकर छत्तीसगढ़ वन कर्मचारी संघ के बैनर तले वन कर्मियों की 12 दिन चली हड़ताल सुलह के बाद खत्म हो गयी। कर्मचारी काम पर लौट गए है।  सुलह कराने डीएफओ सुरजपुर और बलरामपुर की अहम भूमिका रही। 

जानकारी के अनुसार बीते 11 जुलाई को छग वन कर्मचारी संघ के पदाधिकारियों एवं वन अधिकारियों की बैठक सुलह व हड़ताल समाप्त कराने केा लेकर आयोजित की गयी। उक्त बैठक डीएफओ सुरजपुर वीपी सिंह की अध्यता में डीएफओ बलरामपुर व्ही एन झा,  सहा वन  मण्डलाधिकारी बलरामपुर एसएन ओझा सहायक वन मण्डलाधिकारी सूरजपुर वीएस भगत और डीएफओ कोरिया मनीष कश्यप जिनके विरूद्ध वन कर्मियों ने हटाने को लेकर मोर्चा खोल दिया था।

 सुलह बैठक में डीएफओं कोरिया मनीष कश्यप ने वन कर्मचारी संघ के पदाधिकारियों ने अपनी गलती मानते हुए उनके द्वारा संस्थित किये गये समस्त कार्यवाहियों को निरस्त करने का आवश्यन देने के साथ ही भविष्य में ऐसी पुनरावृत्ति नहीं होने का आश्वासन दिया।  बैठक में संघ की ओर से सतीष कमार मिश्र प्रांताध्यक्ष,सतीश बहादुर सिंह संभागीय अध्यक्ष सरगुजा, अशोक तिवारी संभागीय अध्यक्ष रेंजर एसोसिएशन सरगुजा, जीवन भारती संभागीय अध्यक्ष बिलासपुर, रामलोचन द्विवेदी,तीरथराज शुक्ला, के साथ सरगुजा संभाग के  समस्त जिला अध्यक्ष अशोक सिह, श्याम बिहारी मिश्र,शैलेष गुप्ता, अजीत सिंह,पवन रूपौलिया सहित प्रांतीय व संभागीय अधिकारी उपस्थित थे।

संघ व अधिकारी के समझौते में क्या
कोरिया वन मण्डलाधिकारी द्वारा कर्मचारियों के हितों के प्रतिकूल आदेश निर्देश जारी किये गये थे जिससे कोरिया वन मण्डल के कर्मचारियों में नाराजगी थी और वे डीएफओ कोरिया केा हटाने के लिए अनिश्चित कालीन हड़ताल पर डट गये थे। अधिकारियों द्वारा यह आश्वासन दिया गया कि वन मण्डाधिकारी कोरिया द्वारा ऐसे समस्त आदेश निर्देश को तत्काल प्रभाव से विलोपित कर दिया जायेगा तथा भविष्य में ऐसे आदेश निर्देश जारी नहीं किये जायेंगे। 

आंदोलन अवधि का वेतन भुगतान वन मण्डलाधिकारी द्वारा नियमानुसार भुगतान कराये जाने का आश्वासन दिया गया जिससे वन मण्डलाधिकारी एवं उनके अधीनस्थ कर्मचारियों के मध्य बेहतर सांमजस्य स्थापित होने के साथ ही विवाद का पटाक्षेप हो गया। 

 


Date : 18-Jul-2019

अम्माकुडी बांध निर्माण कार्य और शौचालय निर्माण की जांच की मांग जिला पंचायत सदस्य सिंह ने कलेक्टर से की

छत्तीसगढ़ संवाददाता 
बैकुंठपुर, 18 जुलाई।
कोरिया जिले के सबसे दूरस्थ तहसील भरतपुर क्षेत्र अंतर्गत ग्राम मर्सरा में बने अम्माकुडी बांध निर्माण कार्य और शौचालय निर्माण की जांच की मांग क्षेत्र के जिला पंचायत सदस्य श्रीमती फूलमती सिंह ने कलेक्टर कोरिया से की है। 

उन्होंने कलेक्टर कोरिया को लिखे शिकायत पत्र में उल्लेख किया है कि भरतपुर जनपद पंचायत क्षेत्र में ग्राम मसर्रा में आमाकुंडी बांध निर्माण में अनियमितता बरती गयी है जिसकी जांच किया जाये। साथ ही आमाकुंडी बांध से संबंधित दस्तावेज को पंचायत में ग्राम सभा आयोजित कर ग्राम वासियों व उन्हें बुलाकर बांध निर्माण से संबंधित दस्तावेज प्रस्तुत किये जाये और बंाध निर्माण से संबंधित समस्त जानकारी को ग्राम वासियों के बीच बताया जाये साथ ही आय व्यय की जानकारी दी जाये जिससे कि लोगों के बीच बांध को लेकर उठ रहे सवालों का जवाब जनता को मिल सके। 

उन्होंने आगे बताया है कि जनपद क्षेत्र के सभी ग्राम पंचायतों अंतर्गत बनाये गये शौचालय निर्माण कार्य के संबंध में भी ग्रामावार निर्माण कार्यो की जांच की मांग रखी। उन्होने छत्तीगसढ को बताया कि जिलामुख्यालय से 160 किमी दूर स्थित भरतपुर जनपद क्षेत्र में वैसे तो लगभग हर निर्माण कार्य में भष्ट्राचार की शिकायत मिलती रही है वनांचल क्षेत्र में निर्माण कार्यो की जांच व निरीक्षण करने जिम्मेदार अधिकारी नही पहुंचते है जिस कारण मनमाना कार्य किया जाता रहा है। इसी तरह हितग्राहियों के शौचालय निर्माण कार्य में जमकर भ्रष्ष्ट्राचार किये जाने की शिकायत पूर्व में कुछ ग्राम पंचायत क्षेत्रों से की गयी थी लेकिन जांच के नाम पर खानापूर्ति कर दी गयी। जिला पंचायत सदस्य फूलमती सिंह ने कलेक्टर ने भरतपुर जनपद अंतर्गत सभी गांवों में बनाये गये शौचालय निर्माण कार्य की जांच निष्पक्षतापूर्वक किये जाने की मांग की है। 

जल्द मजदूरी दिलाए जाने की मांग 
भरतपुर जनपद अंतर्गत जिला पंचायत सदस्य फूलमती सिंह ने भरतपुर जनपद क्षेत्र के कई ग्राम पंचायत क्षेत्र अंतर्गत हितग्राहियों के शौचालय निर्माण कार्य में मजदूरों केा आज तक मजदूरी नहीं मिल पायी है जबकि संपूर्ण कोरिया जिला खुले में शौचमुक्त जिला घोषित किया जा चुका है लेकिन शौचालय निर्माण कार्य में जुट मजदूरो को बकाया मजदूरी दिलाये जाने की दिशा मे अब तक पहल नहीं की गयी। उन्होंने कलेक्टर से मॉंग की है कि इस दिशा में जल्द सभी पंचायत अंतर्गत जिन मजदूरों ने शौचालय निर्माण कार्य में कार्य किया था और उन्हे मजदूरी नही मिल पायी है उन सब मजदूरों को शीघ्र बकाया मजदूरी दिलाये जाने की मॉग करने के साथ अधुरे निर्माण कार्य को पूरा करने तथा लापरवाही बरतने वाले निर्माण एजेंसी के विरूद्ध कडी कार्यवाही करने की मांग की। 


Date : 18-Jul-2019

आदिवासी बच्चों को 5 दिन अंडा देने की मांग

छत्तीसगढ़ संवाददाता
बैकुंठपुर, 18 जुलाई।
सडक़ और सदन में उबले अंडे देने पर बवाल के बीच आज कोरिया जिले की आदिवासी अधिकारी समिति की महिलाओं ने सरकारी स्कूल और आंगनबाड़ी केंद्रों में 5 दिन बच्चों को अंडा देने की मांग की है। उन्होंने यह भी कहा है कि जो नहीं खाते हैं उन्हें केला और दूध दिया जाए।

आज गुरुवार को आदिवासी अधिकार समिति सोनाहत, मनेन्द्रगढ़, बदरा सहित जिले भर की महिलाएं कलेक्टर कार्यालय पहुंची।  उन्होंने मुख्यमंत्री के नाम पर ज्ञापन कलेक्टर कोरिया को सौंपा। महिलाओं ने बताया कि राज्य में कुपोषण की दर ज्यादा है ऐसे में सरकार स्कूलों में बच्चों को भोजन में अंडा प्रदान करे, सप्ताह में 5 दिन स्कूल के साथ साथ आंगनबाड़ी केंद्रों में भी इसकी शुरुआत की जाए। जिससे कुपोषण में कमी आएगी।

 उन्होंने कहा कि जो अंडा नही खाना चाहते उन्हें दूध और केला देना चाहिए।  इस अवसर पर आदिवासी अधिकार समिति की बालकुवार, जयमन, संगीता, प्रमिला, मुक्ता, जयमतिया, शांति, फूलबाई, इंद्रवती, शांति, रामबाई, रुबीना, सोनकुंवर, जानकी सहित काफी संख्या में महिलाएं उपस्थित थी।

 


Date : 18-Jul-2019

बनास नदी में रेत खनन : विरोध में महिलाओं का हस्ताक्षर अभियान

छत्तीसगढ़ संवाददाता
बैकुंठपुर, 18 जुलाई।
कोरिया जिले के भरतपुर के बनास सहित कई नदियों में जारी अवैध उत्खनन के खिलाफ महिलाओं ने अब गांव-गांव में हस्ताक्षर अभियान की शुरूआत की है। दूसरी ओर प्रशासन ने किसी भी तरह की कार्यवाही के लिए कदम नहीं उठाए है। 
इस संबंध में खनिज अधिकारी अनिल साहू का कहना है कि जल्द कार्यवाही की जाएगी, परन्तु कब ये उन्होंने बताने से इंकार कर दिया। दूसरी ओर कलेक्टर कोरिया डोमन सिंह ने कार्यवाही का आश्वासन दिया था, परन्तु अभी तक किसी भी तरह की कार्यवाही नहीं की गई है।
जानकारी के अनुसार वर्ष 2018 में पहली बार भरतपुर की बनास नदी के साथ जमथान, कोटाडोल, मलकडोल स्थित नदियों से रेत का अवैघ कारोबार शुरू हुआ, जिस पर काफी बवाल मचा और ठीक विधानसभा के पहले इस कारोबार पर ब्रेेक लग गया। इसके बाद नई सरकार में 5 महीने बाद एक बार धडल्ले से अवैध रेत का कारोबार शुरू हो गया। वहीं जिला पंचायत सदस्य रविशंकर सिह के साथ काफी संख्या में महिलाओं ने विशाल रैली निकाल कर अपना विरोध जताया, परन्तु उक्त अवैघ कारोबार पर किसी भी तरह की रोक नहीं लग सकी, बल्कि अब तो प्रशासन द्वारा चुपचाप पीट पास भी जारी किया जाने लगा है।

बताया जाता है मात्र 180 रू के सरकारी पीटपास में प्रति हाइवा 80 हजार रू में रेत का परिवहन किया जा रहा है। रोजाना एक दर्जन हाइवा उप्र और मप्र भेजा जा रहा है। इसके विरोध में मंगलवार से महिलाओं ने अब गांव गांव में जाकर ग्रामीणों के हस्ताक्षर ले रही हैं, उनका कहना है कि वे यहां की धरोहर को बचाना चाहती है, यदि नदी में रेत नहीं रहेगी तो पानी सूख जाएगा। इस हस्ताक्षर अभियान में पुरूष कम और महिलाएं ज्यादा देखी जा रही है। अभियान में लोगों का जुडाव भी देखा जा रहा है। 

कछुओं की प्रजाति को खतरा
अवैध रेत के कारोबार के खिलाफ मोर्चा खोलने वाले जिला पंचायत सदस्य रविशंकर सिंह बताते हैं कि बनास से निकल रही रेत से यहां के कछुओं की प्रजाति पर खतरा मंडरा रहा है, यहां काफी संख्या में दुर्लभ प्रजाति के कछुएं पाए जाते हंै, उन्होंने बताया कि इस रेत के अवैध कारोबार को रोकने में ना तो वन विभाग दिलचस्पी दिखा रहा है और ना ही राजस्व विभाग। इस कारोबार से पूरे जनकपुर क्षेत्र में दहशत का महौल व्याप्त है। नदियों को बचाने में वो किसी भी कीमत पर झुकने वाले नहीं है।

 


Date : 17-Jul-2019

अधिकारी पर कार्य में बाधा पहुंचाने व अभद्र व्यवहार का आरोप

छत्तीसगढ़ संवाददाता 
मनेन्द्रगढ़, 17 जुलाई।
जिला व्यापार एवं उद्योग केन्द्र मनेंद्रगढ़ के कर्मचारियों ने सहायक प्रबंधक पर कार्यालयीन कार्य में हस्तक्षेप करने एवं अभद्र व्यवहार किए जाने का आरोप लगाया है। कर्मचारियों ने संबंधित अधिकारी की लिखित शिकायत महाप्रबंधक से करते हुए अनुशासनात्मक कार्रवाई किए जाने की मांग की है।

जिला व्यापार एवं उद्योग केन्द्र में पदस्थ कर्मचारी सुमन कश्यप, बोलेश्वर पैकरा, अमृत कुमार एक्का, बबलू राम एवं प्रमोद सिंह ने अपनी शिकायत में कहा कि उत्तम कुमार दुबे सहायक प्रबंधक जिला व्यापार एवं उद्योग केन्द्र मनेंद्रगढ़ के द्वारा अपने निचले कर्मचारियों के कार्यों में बाधा उत्पन्न किया जाता है एवं ऑफिस कार्यालय में इनके द्वारा अपने मनमर्जी मुताबिक केवल महिला कर्मचारी के कमरे में कैमरा लगाया गया है, बाकि कमरों में कैमरा नहीं लगाया गया है। इनके द्वारा अपने निचले कर्मचारियों से चाहे महिला हो या पुरूष उनसे अभद्र व्यवहार कर उन्हें डराया-धमकाया जाता है जिससे सभी कर्मचारी मानसिक तौर से प्रताडि़त हो रहे हैं। कर्मचारियों ने उक्त अधिकारी के विरूद्ध अनुशासनात्मक कार्रवाई किए जाने की मांग की है, ताकि वे सभी तनावमुक्त होकर कार्यालयीन कार्य सम्पादित कर सकें। 


Previous123Next