छत्तीसगढ़ » कोरिया

Date : 17-Feb-2020

औचक निरीक्षण करने पहुंचे सरगुजा आईजी ने तीन साल से ज्यादा समय से पदस्थ चिरमिरी व खडग़वां के 31 पुलिसकर्मियों को किया लाइन अटैच

छत्तीसगढ़ संवाददाता
चिरिमिरी, 17 फरवरी।
सरगुजा आईजी रतनलाल डांगी बीते दिन अचानक कोरिया जिले के थानों का औचक निरीक्षण करने पहुंच गए। जिससे जिले के पुलिस कर्मियों में हड़कंप मच गया। आईजी रतनलाल डांगी द्वारा सभी थानों के माल खाने तथा थानों में साफ-सफाई सहित अन्य सुविधाओं का निरीक्षण भी किया तथा आवश्यक निर्देश दिए। 

महानिदेशक सरगुजा सर्वप्रथम खडग़वां थाने का निरीक्षण करने पहुंचे जहां उन्हें खडग़वां थाने की हालत सही ना लगने पर थाना प्रभारी खडग़वा अश्वनी सिंह को जमकर फटकार लगाई। साथ ही उन्हें नोटिस जारी कर अपना लिखित स्पष्टीकरण  पुलिस महानिदेशक कार्यालय सरगुजा मे देने को कहा है। जब पुलिस महानिर्देशक ने थाने की पंजी का निरीक्षण किया, तो उन्होंने कई वर्षों से एक ही थाने में पदस्थ कई पुलिस कर्मियों देखकर काफी हैरानी जतायी। उनके द्वारा चिरिमिरी थाना का भी निरीक्षण किया गया और साथ ही सभी ऐसे पुलिसकर्मियों को तत्काल एक थाने से हटाने के निर्देश दिए, जो कई वर्षों से एक ही जगह पदस्थ है। साथ ही थानों में रिकॉर्ड सही रखने के निर्देश दिए।

गौरतलब है कि नव पदस्थ सरगुजा आईजी रतन लाल डांगी के सख्त निर्देश के बाद कोरिया के प्रभारी पुलिस कप्तान गिरिजाशंकर जायसवाल ने महज 24 घंटे के भीतर ही चिरमिरी और खडग़वां थाने क्षेत्र में 5 साल से अधिक तैनात 31 पुलिसकर्मियों को एक ही झटके में लाइन अटैच कर दिया है। बताया जा रहा है कि कोरिया जिले में पहली बार इतनी बड़ी कार्रवाई एक साथ की गई है। दरअसल शुक्रवार को सरगुजा संभाग के नव पदस्थ पुलिस महानिदेशक कोरिया जिले के आवास पर पहुंचे थे। जहां उन्होंने खडग़वां व चिरमिरी थाने का निरीक्षण किया गया। जहां उन्होंने कई वर्षो से अधिक समय से एक ही थाने में तैनात पुलिसकर्मियों को देखकर काफी हैरानी जताई थी। इसके बाद उन्होंने कोरिया एसपी को फौरन ही इन सभी को हटाने का निर्देश दिया, जिसके बाद प्रभारी पुलिस अधीक्षक ने आईजी के निर्देश का पालन करते हुए महज 24 घंटे के भीतर शनिवार को ही खडग़वां के 16  और चिरमिरी के 15 पुलिस जवानों को लाइन अटैच करने का आदेश जारी कर दिया।

 खडग़वां थाने के आरक्षक प्रमिला तिग्गा, धन सिंह मरकाम, सम्मेलाल कौशले, प्रेम लाल साहू, अशोक एक्का, अर्जुन पुलस्त, रमेश यादव, विनोद सिंह, सलोप पैकरा, संतोष सिंह, यशवंत सिंह ठाकुर, जगनारायण राजवाडे, श्याम लाल मरावी, तबियानुस कुजूर, सुखनंदन केवट, उत्तर कश्यप को रक्षित केंद्र पुलिस लाइन में अटैच किया गया है। वही चिरमिरी थाने से एएसआई लवांग सिंह, प्रधान आरक्षक सुखलाल खलखो, आरक्षक पुरषोत्तम बघेल, वीरेंद्र कुमार, जोसेफ कुजुर, थड्यूस एक्का, राजेन्द्र एक्का, पाल्यवान सिंह, प्रेम प्रकाश केरकेट्टा, रतन कुजूर, सुमन खलखो, कन्हैया उइके, देवराज सिंह, राजेन्द्र कुमारी और सुमन सिंह को लाइन अटैच किया गया है।

  अभी देखा जाए तो इस समय चिरिमिरी शहर में चर्चा का विषय ये भी बना हुआ हैं कि कई ऐसे भी पुलिस कर्मी तैनात आज भी है, जो चिरिमिरी मूलभूत से उन लोगों का निवास स्थान है और वो आज भी चिरिमिरी थाने में पदस्थ है।

     उपरोक्त संदर्भ में दूरभाष से चर्चा करने पर सरगुजा रेंज के आईजी रतनलाल डांगी ने कहा कि रेंज के सभी जिलों के एसपी को निर्देश दिया गया है कि तीन साल से ज्यादा समय तक एक ही थाने में पदस्थ पुलिस कर्मियों की सूची तैयार कर उनका अन्यत्र स्थानांतरण करे। रेंज में पुलिसिंग को चुस्त रखने के लिए आगे भी इस तरह की कार्यवाई जारी रहेगी ।

    उल्लेखनीय है कि इस बड़ी कार्रवाई के बाद भी चिरमिरी थाने सहित पोंडी थाना व कोरिया पुलिस चौकी में अभी भी बड़ी संख्या में ऐसे पुलिस कर्मी पदस्थ है जो न सिर्फ यहीं के मूल निवासी है बल्कि तीन साल से ज्यादा समय से एक ही जगह पर पदस्थ है ।


Date : 17-Feb-2020

पार्षद ने कराया बच्चों का अन्नप्राशन

चिरमिरी, 17 फरवरी। हल्दीबाड़ी स्टेट बैंक के समीप ही वार्ड क्रमांक 12 में स्थित आंगनबाड़ी में बीते दिन शुक्रवार को अन्नप्राशन कार्यक्रम का आयोजन किया गया जिसमें काफी संख्या में नन्हे मुन्ने बच्चे उपस्थित रहे। उक्त अवसर पर स्थानीय पार्षद राकेश पाराशर भी नन्हे मुन्ने बच्चों की खुशी में शामिल होने पहुंचे। नवनिर्वाचित पार्षद राकेश पाराशर अपने क्षेत्र के साथ-साथ आसपास के क्षेत्र में काफी लोकप्रिय हैं। इस कारण बच्चे भी उनसे घुले मिले रहते हैं। पार्षद ने अपने हाथों से छोटे बच्चों को मिठाईयां खिलाकर उनका अन्नप्राशन कराया तथा मौके पर उपस्थित मेडिकल स्टाफ के निगरानी में भी बच्चों को पोलियो की खुराक भी दिलाई गई, साथ ही उन्हें उपहार के तौर पर उनके दैनिक उपयोग में आने वाले बर्तन भी दिए गये। जिससे बच्चे काफी खुश थे। उक्त अवसर पर वार्ड क्रमांक 12 की आंगनबाड़ी सहायिका पूजा सिंह, पार्षद राकेश पाराशर, चिकित्सा स्टाफ सहित क्षेत्र के गणमान्य नागरिक भी उपस्थित रहे।


Date : 17-Feb-2020

आधा किमी भागी, तालाब में भी जा घुसी, मधुमक्खियों ने पीछा नहीं छोड़ा, मौत

छत्तीसगढ़ संवाददाता

बैकुंठपुर, 17 फरवरी। घर के पास मधुमक्खियों ने 11 वर्षीय बालिका पर हमला कर दिया, अपनी जान बचाने बालिका आधा किमी भागी, पानी के छोटे तालाब में भी जा घुसी, परंतु मधुमक्खियों ने पीछा नहीं छोड़ा। जानकारी मिलते ही बालिका परिजन उसे तत्काल अस्पताल लेकर आए, जहां उसकी मौत हो गई। घटना कोरिया जिले के चिरमिरी नगर निगम के हल्दीबाड़ी क्षेत्र की है।

जानकारी के अनुसार रविवार की दोपहर के समय हल्दी बाड़ी निवासी शेख मुईन की 11 वर्षीय बेटी अपने घर के पास ही खेल रही थी, कहीं से धुंआ निकलने के बाद मधुमक्खियों ने उस पर हमला कर दिया।

हमले से बचने वो भागने लगी, लगभग आधा किमी दूरी पर उसे छोटा तालाब दिखा जहां उसने अपने को पानी में घुसकर बचाने की कोशिश की, बावजूद इसके मधुमक्खियों ने उसे नहीं छोड़ा, लगातार उस पर हमला करते रही। आसपास के लोगों ने जैसे-तैसे उसे तालाब से निकाला और चिरमिरी के अस्पताल भेजा, जहां से उसे तत्काल जिला अस्पताल बैकुंठपुर भेज दिया गया। बैकुंठपुर पहुंचते ही कुछ समय बाद उसकी मौत हो गई।


Date : 16-Feb-2020

के.बी.पटेल नर्सिंग कॉलेज के छात्र-छात्राओं व शिक्षकों ने किया शहीदों को नमन 

छत्तीसगढ़ संवाददाता
चिरिमिरी, 16 फरवरी।
पुलवामा हमले की प्रथम बरसी पर के.बी.पटेल नर्सिंग एवं बीएड कॉलेज सरभोका चिरिमिरी के द्वारा शहीदों को पुष्पांजलि देते हुए मोमबत्ती जलाकर नमन किया गया।

डायरेक्टर विश्वजीत बारीक के द्वारा 14 फरवरी 2019 को याद करते हुए कहा गया कि उस दिन पूरा देश इस कायराना हमले से जहां स्तब्ध था वहीं आक्रोश भी था, परंतु नए भारत में जिस तरह सेनाओं और अर्ध सैनिक बलों के द्वारा अपने साथियों का कुछ ही दिनों में कायराना हरकत करने वालों को एक-एक कर जहन्नुम पहुंचाया वहीं भारत सरकार के दृढ़ निश्चय के कारण एयर स्ट्राईक करके आतंकवादियों के ट्रैनिंग सेन्टर को नेस्तानाबूद किया।


Date : 16-Feb-2020

नन्हें-मुन्नों ने किया फॉर्म हाउस का भ्रमण

छत्तीसगढ़ संवाददाता
मनेन्द्रगढ़, 16 फरवरी।
बचपन प्ले स्कूल के यूकेजी के बच्चों को ग्राम पिपरिया स्थित शहर के प्रतिष्ठित व्यापारी सुरेश अग्रवाल के फॉर्म हाउस ले जाया गया जहां बच्चों ने स्वीमिंग पूल का भ्रमण किया एवं फॉर्म हाउस में बच्चों को विभिन्न प्रकार के फल-फूल के पेड़ों के बारे में बताया गया।

फॉर्म हाउस में आम, अमरूद, बेर, शहतूत, सीताफल, बादाम, नारियल आदि फलों के साथ सब्जियों एवं विविध प्रजातियों के फूलों के बारे में बताया गया।  विद्यालय की काउंसलर सोनाली दास ने बच्चों को बताया कि फॉर्म हाउस एक प्रकार घर होता है जो कि शहर के भीड़-भाड़ से दूर ग्रामीण इलाकों में स्थित होता है। यह एक खेत या एक अच्छी तरह से व्यवस्थित बगीचे से घिरा होता है। यहां लोग शोर-शराबा से दूर कुछ समय के लिए परिवार के साथ कुछ समय व्यतीत करने आते हैं। फॉर्म हाउस में बच्चों को भ्रमण कराने का मुख्य उद्देश्य उन्हें प्रकृति के समीप लाना एवं ग्रामीण माहौल से परिचित कराना रहा साथ ही मोबाइल, कंप्यूटर एवं टेलीविजन की दुनिया से बाहर लाकर गांव के शुद्ध वातावरण में ऐसे मनोरंजक गतिविधियां कराना जिसमें उनका शारीरिक एवं मानसिक विकास हो। संस्था के डायरेक्टर्स संजीव ताम्रकार, आशीष कक्कड़, आशी कक्कड़ एवं ज्योति ताम्रकार ने बच्चों को सदा पेड़ों की रक्षा करने एवं सभी को कम से कम एक पौधा लगाने का संदेश दिया। साथ ही उन्होंने बताया कि पेड़ लगाना ही बड़ी बात नहीं होती, बल्कि उसकी देखरेख भी करनी जरूरी है। भ्रमण को सफल बनाने में विद्यालय की शिक्षिका सीमा साहू, आलिया कौशर, रागिनी गुप्ता, रोशनी अग्रवाल एवं रिद्धिमा जायसवाल सहित स्टाफ जमुना का विशेष सहयोग रहा।

 


Date : 16-Feb-2020

पर्यावरण संरक्षण पर छात्राओं ने की परिचर्चा

छत्तीसगढ़ संवाददाता
मनेन्द्रगढ़, 16 फरवरी।
राष्ट्रीय हरित वाहिनी के अंतर्गत शिक्षा विभाग द्वारा संचालित शासकीय कन्या उच्चतर माध्यमिक विद्यालय में पर्यावरण संरक्षण हेतु गठित इको क्लब की विचार संगोष्ठी तथा प्रकृति भ्रमण कार्यक्रम हर्बल गार्डन एवं हसदेव गंगा तट परिसर में संपन्न हुआ।

राष्ट्रीय हरित वाहिनी के जिला समन्वयक एवं पर्यावरण चिंतक सतीश उपाध्याय एवं व्याख्याता सुशीला एक्का की उपस्थिति में  विद्यालय की चयनित प्रतिभागी छात्राओं ने वन्य जीव संरक्षण, जैविक खेती, नदियों के बढ़ते प्रदूषण, जैव विविधता एवं तेजी से  पिघलते ग्लेशियर जैसे प्रमुख वैश्विक मुद्दों पर आधारित खुली परिचर्चा में बढ़ चढ़कर हिस्सा लिया।
सोनाली साहू ने कहा कि वन्य जीव पर्यावरण के महत्वपूर्ण घटक हैं। इनका संरक्षण बहुत जरूरी है। सोनाली ने वन्य जीवों के बिगड़ते हालात को सुधारने एवं उसके संरक्षण की पुरजोर अपील की। मंतशा ने नदियों एवं नालियों के बढ़ते प्रदूषण को मानव विकास की प्रमुख बाधा बताते हुए कहा कि औद्योगिकीकरण अच्छी बात है, लेकिन हमें प्राकृतिक संसाधनों के संरक्षण को नहीं भूलना चाहिए।

 पूजा सिंह ने राष्ट्रीय हरित वाहिनी इको क्लब की कार्य प्रणाली एवं स्कूली कार्यक्रम से पर्यावरण विकास की केंद्र शासन की योजना पर प्रसन्नता व्यक्त करते हुए कहा कि जो पेड़ हमें जीवन देता है उसी पेड़ को इंसान काटने में एक पल भी नहीं सोचता, यह बहुत चिंतनीय बात है। छात्रा दुजिया साहू ने तेजी से पिघलते ग्लेशियर से होने वाले प्राकृतिक नुकसान पर विचार व्यक्त किया। 

 पर्यावरण के विभिन्न वैश्विक मुद्दों पर परिचर्चा में भाग लेते हुए छात्रा आकांक्षा सिंह, अंकिता सिंह, उर्मिला, कविता, लीलावती, जयश्री, आकांक्षा, प्रीति, श्रद्धा, साक्षी, खुशबू, शाहीन परवीन, त्रिशिका, पुष्पा, हिना आदि ने भी अपने विचार व्यक्त किए। 

 


Date : 15-Feb-2020

मनेन्द्रगढ़ के शहरी-ग्रामीण बच्चे अब नहीं होंगे कुपोषित, 287 नौनिहालों का स्वास्थ्य परीक्षण, मुख्यमंत्री सुपोषण अभियान के तहत जागरूकता शिविर आयोजित

छत्तीसगढ़ संवाददाता 
मनेन्द्रगढ़, 15 फरवरी।
शुक्रवार को नपा क्षेत्रांतर्गत इंदिरा वार्ड क्र. 19 स्थित मंगल भवन में विशाल हेल्थ कैम्प का आयोजन मनेंद्रगढ़ शहरी व ग्रामीण की सुपरवाईजर शिल्पा अग्रवाल द्वारा कराया गया। कार्यक्रम की मुख्य अतिथि नपाध्यक्ष प्रभा पटेल एवं विशिष्ट अतिथि उपाध्यक्ष कृष्णमुरारी तिवारी, वार्ड पार्षद अजय जायसवाल व सरजू यादव रहे।

माँ सरस्वती के छायाचित्र के समक्ष दीप प्रज्जवलित कर कैम्प की शुरूआत की गई। सुपरवाईजर शिल्पा अग्रवाल के द्वारा मुख्यमंत्री सुपोषण अभियान के लक्ष्यों की पूर्ति हेतु जिला द्वारा संचालित सुराजी सुपोषित कोरिया की जानकारी दी गई कि किस प्रकार कुपोषित बच्चों को पांच माह तक अंडा अथवा चिक्की व लगातार हेल्थ कैम्प लगाकर दवाईयों का वितरण किया गया। इस प्रयास के कारण मनेंद्रगढ़ शहरी सेक्टर के 189 कुपोषित बच्चों में से 106 बच्चे व मनेंद्रगढ़ ग्रामीण सेक्टर के 244 बच्चों में से 106 बच्चे सामान्य आ गए हैं। नगर पालिका अध्यक्ष प्रभा पटेल के द्वारा प्राप्त उपलब्धियों पर आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं के कार्यों की सराहना की गई साथ ही हितग्राहियों को शासन की योजनाओं का अधिकाधिक लाभ उठाने व अपने बच्चों को कुपोषण मुक्त करने में सहयोग करने हेतु कहा गया। वार्ड पार्षद अजय जायसवाल ने कहा कि बच्चे देश का भविष्य हैं, अत: सभी कुपोषण मुक्त राष्ट्र निर्माण में अपना सहयोग दें। 

पार्षद सरजू यादव द्वारा भी आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं व सहायिकाओं के कार्यों की सराहना की गई। इस अवसर पर 6 माह से 3 वर्ष तक के बच्चों हेतु मुख्यमंत्री के निर्देशानुसार बच्चों को खिचड़ी देने के कार्यक्रम का शुभारंभ नगर पालिका अध्यक्ष के हाथों किया गया। वहीं हेल्थ कैम्प में 287 बच्चों का स्वास्थ्य जांच कर दवाईयां वितरित की गई। कैम्प में डॉ. श्वेता यादव व डॉ. एस. श्रीवास्तव ने विशेष सहयोग दिया। कार्यक्रम को सफल बनाने में आंगनबाड़ी कार्यकर्ता दीपू, गीता, शारदा, शांति, सुधा, राधा, अमरीन, प्रेमशीला, पूनम, सुनीता एवं बसंती का सहयोग सराहनीय रहा।

 


Date : 15-Feb-2020

चुनावी व्यस्तता से फुर्सत पाते ही भरतपुर सोनहत विधायक का जनदर्शन, बिजली, पानी, सड़क की समस्याओं से जल्द निजात दिलाने का वादा

छत्तीसगढ़ संवाददाता 
मनेन्द्रगढ़, 15 फरवरी।
त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव की चुनावी व्यस्तता से फुर्सत पाते ही भरतपुर सोनहत विधायक एवं सरगुजा विकास प्राधिकरण उपाध्यक्ष गुलाब कमरो ने अपने कार्यालय में जन दर्शन लगाया और अपने विधानसभा क्षेत्र की समस्याएं सुनी। इस दौरान ग्रामीणों के साथ ही कमरो ने पंचायत चुनाव के नवनिर्वाचित जनप्रतिनिधियों से भी मुलाकात की।

ग्रामीणों की बिजली, पानी व सड़क की समस्याओं से रूबरू होते हुए कमरो ने जल्द से जल्द समस्या से निजात दिलाने की बात कही। इस दौरान विधायक गुलाब कमरो ने विद्युत विभाग की सहायक अभियंता प्रीता एक्का को पूरे विधानसभा क्षेत्र में विद्युत व्यवस्था ठीक करने के निर्देश देने के साथ ही बिजली बिल में आ रही खामियों को दूर करने के निर्देश दिये। विधायक ने ग्रामीणों को भूपेश सरकार की जनकल्याणकारी योजनाओं के बारे में भी जानकारी दी। 

श्री कमरो ने कहा कि वे हमेशा जनता के बीच रहने वाले जनप्रतिनिधि हैं। पंचायत चुनाव की व्यस्तता के कारण वो अपने कार्यालय में नहीं बैठ पा रहे थे। उन्होंने कहा कि वे ग्रामीणों के पास खुद जाकर भी और कार्यालय में जनदर्शन लगाकर लोगों की समस्याओं से रूबरू होते हैं और उनकी समस्याओं के निराकरण के लिए हमेशा तत्पर रहते हंै। इस दौरान विधायक के मीडिया प्रतिनिधि रंजीत सिंह, पूर्व सरपंच अमर सिंह, सरपंच समेत ग्रामीण मौजूद थे।

 


Date : 15-Feb-2020

गैरहाजिर-लापरवाही शिक्षकों को नोटिस, डीईओ ने कुनकुरी के स्कूलों का भ्रमण 

छत्तीसगढ़ संवाददाता 
पत्थलगांव, 15 फरवरी।
गुरुवार को कुनकुरी विकास खण्ड के विभिन्न स्कूलों का जिला शिक्षा अधिकारी एन कुजूर एवं यशस्वी जशपुर के नोडल अधिकारी विनोद गुप्ता द्वारा सघन भ्रमण किया गया और 10वीं तथा 12वीं के विद्यार्थियों को अपनी क्षमता का पूरा उपयोग कर बेहतर प्रदर्शन करने हेतु अभिप्रेरित किया। शाउ मा वि केराडीह, नारायणपुर, बासनताला, कन्या नारायणपुर, सेन्द्रीमुन्डा के विद्यार्थियों को जो बोर्ड परीक्षा देंगे उन्हें प्रेरित कर परीक्षा में बेहतर प्रदर्शन के लिए टिप्स भी दिये गये। सभी विद्यालयों में प्राचार्य के साथ ही समस्त शिक्षकों के द्वारा अपने-अपने विषय पर किये जा रहे कार्यों की गहन समीक्षा की गई। सभी विषय शिक्षकों के प्री बोर्ड-1 परीक्षा परिणाम की भी समीक्षा की गई । मिशन 40 डेज के तहत किये गये कार्यों की समीक्षा करते हुए सभी शिक्षकों को प्रेरित किया गया कि वे 24 फरवरी तक समस्त गतिविधियों का निष्पादन गुणवत्ता के साथ करें । अभी भी प्रत्येक स्कूलों में 10 वीं और 12 वीं के 5 से 10 प्रतिशत कम अच्छे विद्यार्थी रह गये हैं, जिन पर ज्यादा फोकस करने का निर्देश जिला शिक्षा अधिकारी द्वारा दिया गया । 

भ्रमण के दौरान प्राथमिक शाला पतराटोली, जामचुंआ, नारायणपुर और गिनाबहार संकुलों के विभिन्न प्राथमिक एवं पूर्व माध्यमिक शालाओं का औचक निरीक्षण कर शिक्षा की गुणवता का परीक्षण किया गया। बच्चों से लिये गये फीडबैक के आधार पर प्राथमिक शाला पतराटोली एवं प्राथमिक शाला जामचुॅवा में शिक्षा का स्तर अपेक्षित स्तर का नहीं होने के कारण वहां पदस्थ शिक्षक श्री ब्रम्हदत राम, श्री मंगलेष्वर राम, श्रीमती मारिया गौरती, श्रीमती मनोरमा टोप्पो को कारण बताओ नोटिस जारी किया गया। संकुल समन्वयक गिनाबहार को कारण बताओ नोटिस जारी किया गया। पूर्व माध्यमिक शाला जामचुॅवा एवं पूर्व माध्यमिक शाला गिनाबहार के प्रधान पाठकों को भी कारण बताओ नोटिस जारी किया गया है।  

अंत में कुनकुरी विकासखण्ड में समस्त शासकीय और अशासकीय विद्यालयों के प्राचार्यों की समीक्षा बैठक जनपद कार्यालय के सभागार में ली गई जिसमें एक-एक प्राचार्यों से उनके विद्यालयों में बोर्ड परीक्षा को लेकर किये जा रहे तैयारी के संबंध में जानकारी प्राप्त की गई । जिला शिक्षा अधिकारी द्वारा सभी प्राचार्यों को शत प्रतिशत परीक्षा परिणाम लाने हेतु पूरे स्टाफ के साथ समन्वय स्थापित कर विद्यार्थियों के हित में अपना सर्वोत्कृष्ट देने के लिए प्रेरित किया गया । समीक्षा बैठक में विकासखण्ड के समस्त प्राचार्य, विकासखण्ड शिक्षा अधिकारी, सहायक विकासखण्ड शिक्षा अधिकारी, बी.आर.सी. एवं सभी एच.एम. उपस्थित रहे ।


Date : 14-Feb-2020

कोरिया में चुनाव रहा दिलचस्प, जबरदस्त क्रॉस वोटिंग, पूर्व मंत्री राजवाड़े के पुत्र के नाम की थी चर्चा, रविशंकर सिंह ने फंसाया पेच

छत्तीसगढ़ संवाददाता 
बैकुंठपुर।
कोरिया जिला पंचायत के उपाध्यक्ष के पद पर बड़ा दिलचस्प चुनाव देखने को मिला। वहीं जबरदस्त क्रॉस वोटिंग के कारण कांग्रेस के वेदांती तिवारी उपाध्यक्ष चुने गए, उन्हें 5 वोट मिले। दरअसल, जिला पंचायत के उपाध्यक्ष के पद पर पूर्व मंत्री राजवाड़े के पुत्र के नाम की चर्चा हर ओर सुनी जा रही थी, वही नामांकन के वक्त कांग्रेस के वेदांती तिवारी को उषा सिंह और ज्योत्स्ना पुष्पेंद्र का साथ मिला, दोनों में एक समर्थक और एक प्रस्तावक बन गए, इधर भाजपा से विजय राजवाड़े ने नामांकन दाखिल कर दिया, अचानक एकता परिषद के रविशंकर सिंह ने भी नामांकन जमा कर मामले में पेच फंसा दिया।

 नामांकन के बाद बाहर काफी संख्या में भाजपा समर्थक, नेता और दिग्गज नेता बैठे रहे। सभी आश्वस्त थे कि अध्यक्ष के बाद उपाध्यक्ष पर भी उनको जीत मिलेगी, 4 बजे तक सभी ने लंबा इंतजार किया, 4 बजे वोटिंग के बाद जो परिणाम सामने आया सब भौचक रह गए, कांग्रेस के वेदांती तिवारी को 10 में से 5 वोट मिले, जबकि विजय राजवाड़े को 4 और रविशंकर सिंह को खुद का एकमात्र वोट मिला, उनके समर्थक और प्रस्तावक में भी उनको वोट नही दिया।

भाजपा समर्थक आपस में भिड़े
जब जिला पंचायत उपाध्यक्ष की वोटिंग का सब इंतजार कर रहे थर, तभी भाजपा का ही एक समर्थक पूर्व मंत्री के खिलाफ नारेबाजी करने लगा, जिसके बाद भाजपा के दूसरे कार्यकर्ताओं ने उसकी जमकर धुनाई कर दी, मौके पर उपस्थित पुलिस ने मामले को संभाला और नारेबाजी कर रहा भाजपा कार्यकर्ता को थाने ले आई।

रणनीति के तहत बने प्रस्तावक
उपाध्यक्ष पद के नामांकन में ही बड़ा घमासान देखा गया, 10 सदस्यों में तीन सदस्यों ने नामांकन भर दिया, भाजपा से विजय राजवाड़े, कांग्रेस से वेदांती तिवारी और एकता परिषद से रविशंकर सिंह ने नामांकन भरा, तीनो को प्रस्तावक और समर्थक भी मिल गए, भरतपुर से जीत कर रविशंकर सिंह को रणनीति के तहत भाजपा के एक सदस्य खुद प्रस्तावक बन गए।

 


Date : 14-Feb-2020

मनेंद्रगढ़ जनपद में लहराया कांग्रेस का परचम निर्विरोध चुने गए अध्यक्ष, उपाध्यक्ष

छत्तीसगढ़ संवाददाता
मनेन्द्रगढ़, 14 फरवरी।
जनपद पंचायत मनेंद्रगढ़ में अध्यक्ष और उपाध्यक्ष पद का निर्वाचन संपन्न हुआ जिसमें कांग्रेस समर्थित अध्यक्ष और उपाध्यक्ष दोनों निर्विरोध चुने गए। अध्यक्ष और उपाध्यक्ष पद पर कांग्रेस का कब्जा होने पर कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने एक-दूसरे को बधाई दी और जमकर जश्न मनाया।

जनपद पंचायत मनेंद्रगढ़ के सभाकक्ष में प्रात: 10.30 बजे सम्मिलन प्रारंभ हुआ। सम्मिलन में जनपद सदस्य डॉ. विनय शंकर सिंह, राजेश साहू, मकसूद आलम, लक्ष्मी बाई, अनीता सिंह, राम लाल सिंह, रम्मी बाई अगरिया, सुभाषिनी राय, रोशन सिंह, नानकुंवर, बृजमोहन साहू, आरती सिंह उइके, कृष्णा सिंह, कमली बाई रवि, कविता दीवान, जयमंगल सिंह एवं निशा श्याम उपस्थित रहे। अध्यक्ष पद हेतु क्षेत्र क्रमांक 1 से जनपद सदस्य चुनकर आए डॉ. विनय शंकर सिंह एवं उपाध्यक्ष पद हेतु क्षेत्र क्रमांक 11 से निर्विरोध जनपद सदस्य चुनकर आए राजेश साहू ने अपना नाम निर्देशन पत्र भरा। दोनों ही पदों के लिए अन्य जनपद सदस्यों के द्वारा नाम निर्देशन पत्र नहीं भरे जाने पर अनुविभागीय अधिकारी (राजस्व) आरपी चौहान के द्वारा डॉ. विनय शंकर सिंह को अध्यक्ष एवं राजेश साहू को उपाध्यक्ष निर्वाचित घोषित किया गया। 15 वर्षों बाद जनपद में कांग्रेस का परचम लहराने पर राज्यमंत्री गुलाब कमरो, नपाध्यक्ष प्रभा पटेल, अधिवक्ता रमेश सिंह, जिला महामंत्री हरजीत सिंह छाबड़ा, पूर्व जनपद सदस्य शैलजा सिंह, संयुक्त महामंत्री अधिवक्ता रामनरेश पटेल, जगदीश मधुकर, अभिषेक वर्मा, बलवीर सिंह अरोरा आदि सभी ने प्रसन्नता जाहिर करते ।

हुए एक-दूसरे को बधाई दी एवं निर्विरोध निर्वाचित हुए अध्यक्ष और उपाध्यक्ष दोनों को अपनी शुभकामनाएं देते हुए उनके उज्जवल भविष्य की कामना की।


Date : 14-Feb-2020

कोरिया जिले में भाजपा का कांग्रेस को झटका, रेणुका बनीं अध्यक्ष, विधानसभा चुनाव जीत के बाद क्षेत्र में कांग्रेस के ग्राफ में लगातार गिरावट दिख रही

छत्तीसगढ़ संवाददाता

बैकुंठपुर, 14 फरवरी। कोरिया जिले में भाजपा ने कांग्रेस को तगड़ा झटका देते हुए जिला पंचायत में अध्यक्ष के पद पर बाजी मार ली है, वहीं विधानसभा चुनाव की जीत के बाद कांग्रेस के ग्राफ में लगातार गिरावट देखी जा रही है।

जैसा कि तय था कि भाजपा के 5 सदस्य होने के बाद जिला पंचायत अध्यक्ष पर भाजपा को ही जीत मिलेगी और हुआ वही। जानकारी के अनुसार जिला पंचायत अध्यक्ष के लिए हुए नामांकन में कांग्रेस की ओर से विधायक की बहन उषा सिंह करयाम और भाजपा की ओर से रेणुका सिंह ने नामांकन भरा, जिसके बाद हुई वोटिंग में भाजपा को 6 और कांग्रेस को 4 ही वोट मिले, भाजपा के 5 सदस्यों के साथ 1 वोट अतिरिक्त मिला, जिसके बाद 2 वोट से रेणुका सिंह जिला पंचायत अध्यक्ष चुनी गई, जीत की खबर आते ही भाजपा कार्यकर्ताओं में खुशी की लहर दौड़ पड़ी, जिला पंचायत कार्यालय के बाहर जमकर नारेबाजी हुई। एक दूसरे को बधाई देने का सिलसिला जारी रहा।

नामांकन के पहले हंगामा

जिला पंचायत अध्यक्ष के नामांकन के पहले हंगामा हो गया। नामांकन के समय भाजपा की जिला सदस्य चुन्नी पैकरा नहीं पहुंची, जिसके बाद कांग्रेस ने जिला पंचायत सदस्य के अपहरण का मामला उठाकर हंगामा खड़ा कर दिया, जिसके बाद कांग्रेस और भाजपा के कार्यकर्ता आमने-सामने हो गए, पुलिस में मामले को संभाला, कुछ देर बाद चुन्नी पैकरा चुनाव में हिस्सा लेने पहुंचीं, तब जाकर मामला शांत हो गया, वहीं कांग्रेस चुन्नी पैकरा को अपना मान रही थी, पर वो आकर भाजपा के पाले में चली गई।

भाजपा में उत्साह और जोश

जिला पंचायत अध्यक्ष पर भाजपा के काबिज होने से कांग्रेस बैकफुट में है, इससे पहले 5 जनपद में 3 में भाजपा ने अपने अध्यक्ष बना डाले।  त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव में मिली जीत से भाजपा के कार्यकर्ताओं में भारी उत्साह देखा जा रहा है। लोकसभा चुनाव में मिली जीत के बाद भाजपा लगातार भाजपा अच्छा कर रही है, जबकि कांग्रेस के एक साल के कार्यकाल में उसके जनाधार में गिरावट देखी जा रही है।


Date : 13-Feb-2020

नगर निगम में दूर दराज से आने वाले आम नागरिकों की सहूलियत के लिए सुव्यवस्थित कैंटीन का निर्माण पांच वर्ष में भी पूरा नहीं हो पाया

छत्तीसगढ़ संवाददाता 
चिरमिरी, 13 फरवरी।
नगर निगम में दूर दराज से आने वाले आम नागरिकों की सहूलियत के लिए सुव्यवस्थित कैंटीन का निर्माण पांच वर्ष में भी पूरा नहीं हो पाया है। इसी प्रकार करोड़ों रुपयों की लागत से म्यूजिकल फाउंटेन भी शुरू नहीं हो पाया है। 

ज्ञात हो कि आम नागरिकों को सरकार द्वारा दी गई सार्वजनिक कार्यक्रमों के लिए सौगात का आज तक कोई भी लाभ प्राप्त नहीं हुआ। नीलम सरोवर पार्क के सामने जगह तय कर आधा-अधूरा स्ट्रक्चर बस खड़ा कर दिया गया। पिछले पांच साल से कैंटीन को शुरु किए जाने की चर्चा ही हो रही है। कैंटीन की व्यवस्था ना होने से कार्यरत अधिकारी कर्मचारियों को काफी दिक्कतें उठानी पड़ती है। स्टाफ को भी चाय पीने बाहर जाना पड़ता है। कैंटीन बन जाने से निगम कर्मचारियों सहित नीलम सरोवर उद्यान घूमने पहुंचे लोग भी लाभान्वित होंगे।

 


Date : 12-Feb-2020

त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव संपन्न होने के बाद जिला और जनपद पंचायत के सदस्यों का प्रथम सम्मेलन 14 को

छत्तीसगढ़ संवाददाता
बैकुंठपुर,12 फरवरी।
त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव संपन्न होने के बाद जिला और जनपद पंचायत के सदस्यों का प्रथम सम्मेलन 13 और 14 फरवरी को होना है। इसी दिन जिले के पांचों जनपद पंचायतों के लिए अध्यक्ष उपाध्यक्ष का चुनाव भी संपन्न होगा। अध्यक्ष और उपाध्यक्ष के दावेदार अपने-अपने हिस्से के सदस्यों के साथ राज्य के अलग-अलग स्थानों पर डेरा डाले हुए हैं, कुछ रायपुर में हंै तो कुछ कहीं और। जनपद पंचायत में अध्यक्ष उपाध्यक्ष के नामों पर 13 फरवरी को मुहर लग जाएगी। 

जानकारी के अनुसार चुने गये जनपद सदस्यों को जोड़-तोड़ करने की शिकायतें भी मिल रही हैं। खरीद फरोख्त के चलते ही जनपद सदस्यों पर समर्थित राजनीतिक पार्टी के पदाधिकारियों द्वारा निगरानी रखी जा रही है। जनपद अध्यक्ष और उपाध्यक्ष पद के लिए दावेदार पूरा जोर लगा रहे हैं। मनेन्द्रगढ़, भरतपुर, सोनहत, बैकुंठपुर और खडग़वां में भाजपा कांग्रेस के अलावा निर्दलीय भी उपाध्यक्ष के पद पर जोर लगा रहे हैं दावेदारों ने सदस्यों को अपने पास रखे हुए हैं, ऐसे में जिसके बाद ज्यादा सदस्य वो उपाध्यक्ष बनने का सपना देख रहा है, ऐसे में चुनाव के बाद से क्षेत्र में जीत कर आए जनपद सदस्य नजर नहीं आ रहे हैं। 

जिला पंचायत में पेंच

पिछली बार की जिला पंचायत अध्यक्ष कलावती मरकाम चुनाव हार गई है। इस बार अध्यक्ष पद के लिए 4 दावेदार है, जिसमें उषा सिंह करयाम, फूलमती सिंह नेटी, रेणुका सिंह और चुन्नी पैकरा, कोरिया जिले में जिला पंचायत सदस्य के 10 सीट हैं जिनमें से बहुमत के लिए कम से कम 6   सीट होना चाहिए। संपन्न हुए चुनाव में भाजपा को 5, कांग्रेस को 2, 1 निर्दलीय, 1 एकता परिषद और 1 गोंगपा के खाते में सीट गई है। भाजपा के पास आधे सदस्य हैं वो हर हाल में इस मौके को हाथ से नहीं जाने देना चाहती। भाजपा पदाधिकारियों द्वारा पूरी ताकत लगा कर प्रतिष्ठा का सवाल बना दिया हैं। वहीं कांग्रेस ,भाजपा से दो कदम पीछे होने के बावजूद चुने हुए जनप्रतिनिधियों के संपर्क में हंै 


और साधने की कोशिश कर रहा हैं। कहीं बात बन गयी तो अध्यक्ष की कुर्सी पाने के लिए हर जतन की जा रही है। लेकिन ऐसा होने की उम्मीद कम ही दिख रही है लेकिन राजनीति में कुछ भी हो सकता हैं । इस उम्मीद के साथ अभी स्पष्ट रूप से यह कह पाना मुश्किल होगा कि इस बार कोरिया जिला पंचायत अध्यक्ष की कुर्सी पर किस राजनीतिक समर्थन का अध्यक्ष बनेगा।

सरपंच व पंचों ने ली शपथ
कोरिया जिले के सोनहत जनपद पंचायत क्षेत्र में नव निर्वाचित सरपंच व पंचों का शपथ ग्रहण कार्यक्रम आयोजित कर पद एवं गोपनीयता की शपथ दिलायी गयी। इस अवसर पर सभी पंचायतों में नव निर्वाचित सरपंच व पंचों को शपथ दिलाने के लिए अधिकारियों को दायित्व सौंपा गया था। जिनके द्वारा ग्राम पंचायत में उपस्थित होकर निर्वाचित जनप्रतिनिधियों को शपथ दिलाई गयी। इस अवसर पर शपथ लेने के बाद उपस्थित ग्रामीणों को संबोधित कर कुछ पंचायतों के सरपंच ने ग्राम विकास का वादा किया। जनता की  सभी प्रकार की परेशानियों को दूर करने एवं ग्राम पंचायत क्षेत्र का अधिक से अधिक विकास करने की बात कहीं। इस अवसर पर भारी संख्या में ग्रामीणों के अलावा ग्राम पंचायत के सचिव उपस्थित थे। आगामी दिवस में उप सरपंच का चुनाव सम्मेलन आयोजित कर किया जायेगा।

दो-दो को बांट दिए प्रमाण पत्र
बैकुंठपुर जनपद के ग्राम पंचायत डकईपारा में वार्ड क्रमांक 2 जीतने और हारने वालों दोनों प्रत्याशियों को पीठासीन अधिकारी ने प्रमाण पत्र बांट दिए। अब आज ही पंच सरपंच का शपथ ग्रहण होना हैं, दरअसल, वार्ड क्रमांक 2 में पंच के लिए 3 उम्मीद्वार मैदान में थे, दीपा सहाय को 3, इंद्रवती को 22 और नभा बेलवंश को 33 वोट मिले, जिसके बाद इंद्रवती और नश्राा सहाय दोनों को जीत का प्रमाण पत्र जारी कर दिया गया, ऐसे में आज होने वाले शपथ ग्रहण के लिए नपा परेशान हैं, उन्होंने कल तहसील बैकुंठपुर में मामले की शिकायत भी की थी, परन्तु अभी तक कुछ हुआ नहीं है।


Date : 11-Feb-2020

एनएच चौड़ीकरण शुरू, दुकानों को तोडऩे लगाए निशान, पार्किंग की है बड़ी समस्या
छत्तीसगढ़ संवाददाता 
बैकुंठपुर, 11 फरवरी।
सरगुजा संभाग के कोरिया जिला मुख्यालय बैकुंठपुर से निकलने वाली एनएच 43 पर एक बार फिर सडक़ चौड़ीकरण का कार्य शुरू होने वाला है। इसके लिए सर्वे का कार्य शुरू हो गया है, शहर के बीचोंबीच निकलने वाली इस सडक़ पर हमेशा ट्रैफिक का दबाव बना रहता है। शहर को क्रॉस करने में काफी समय लगता है जिससे कई कई घंटे यातायात बाधित होता है, इससे निजात पाने के लिए वर्षों से सडक़ के चौड़ीकरण की मांग उठती रही है। 

इस संबंध में राजस्व और नगर पालिका की टीम के साथ सर्वे कार्य में लगे तहसीलदार रिचा सिंह का कहना है कि सर्वे का कार्य जारी है, सडक़ के बीचोंबीच से 11-11 मीटर सडक़ के चौड़ीकरण कार्य किया जाना है, इस बार जल्द ही चौड़ीकरण का कार्य शुरू होगा। 

जानकारी के अनुसार कोरिया जिला मुख्यालय की एकमात्र सडक़ पर यातायात हमेशा बाधित रहता है, यहां से शहर के दोनों तरफ मनेन्द्रगढ़ और अंबिकापुर जाने में बड़ी दिक्कत होती है, जिसके कारण सडक़ के चौड़ीकरण की मांग उठती रही है। सडक़ के दोनों ओर दुकानों के सामने बाहर तक रखे रहते हंै, जिसके सडक़ और संकरी हो जाती है, वहीं जो फुटपाथ बनाए गए हैं, उन्हें दुकानदार अपने व्यवसाय के लिए उपयोग में ला रहे हैं, जिससे आम नागरिक को आने-जाने में कई परेशानियों का सामना करना पड़ता है, हर दिन सुबह 10 बजे और शाम को 6   बजे सडक़ पर सबसे ज्यादा ट्रैफिक देखा जाता है, यही कारण है शहर के फव्वारा चौक, घड़ी चौक, महलपारा चौक पर हमेशा यातायात बाधित रहता है, महलपारा चौक के बेहद कम होने के कारण वहां पर बड़ी गाडिय़ों के मुडऩे में बड़ी परेशानी देखी जाती है।

भाजपा सरकार ने कभी इस ओर ध्यान नहीं दिया, वहीं कांग्रेस की सरकार आते ही नवपदस्थ कलेक्टर विलास संदीपान भास्कर ने सडक़ के चौड़ीकरण का मुद्दा उठाया जिसके बाद उनका स्थानांतरण हो गया, वहीं वर्तमान कलेक्टर ने सडक़ चौड़ीकरण को लेकर सर्वे शुरू करवा दिया है, बीते तीन दिन से शहर में सडक़ के बीचोंबीच से दोनों ओर 11-11 मीटर नाप कर निशान लगाया जा रहा है, जिसके दायरे में कई दुकानें आ रही है, बताया जा रहा है कि तय है दर्जनों दुकानों का तोड़ा जाएगा। 

पार्किंग की है बड़ी समस्या
जिला मुख्यालय बैकुंठपुर में पार्किंग की मुख्य समस्या है, यहां सडक़ के दोनों ओर वाहनों के खड़े होने पर वाहनों के निकलने में बड़ी दिक्कत का सामना करना पड़ता है, सिंगल सडक़ होने के कारण आने-जाने वाले वाहन फंस जाते हंै और घंटों सडक़ को पार करने में लगता है, वहीं बेतरतीब वाहनों के खड़े होने के कारण भी यातायात बाधित होता है, बीते 4 साल में नगर पालिका ने पार्किंग की समस्या को लेकर कोई भी कदम नहीं उठाए, यही कारण है सडक़ के दोनों और सैकड़ों वाहन दिनभर खड़े रहते हंै।  

फिर ना हो जाए वसूली
वर्ष 2011-12 में तत्कालीन कलेक्टर ने चौड़ी करण का कार्य जोरों पर शुरू किया, लगभग बैकुंठपुर की दुकानों के तोड़े जाने को लेकर बड़े-बड़े निशान लगाए गए, लगभग दो से तीन माह तक सडक़ों के किनारें की दुकानों के तोड़े जाने का प्रशासन ने माहौल बनाया। परन्तु बाद में शहर के अंदर गली के मकानों को तोड़ा जाने लगा। मुख्य मार्ग में लगे निशान वाली दुकानों को प्रशासन ने राहत दे डाली, तब अतिक्रमण के नाम पर करोड़ो की वसूली हुई, सिर्फ दुकानों के सामने सरकारी छज्जे लगकार खानापूर्ति कर दी गई। एक बार फिर सडक़ चौड़ीकरण को लेकर प्रशासन ने मुहिम छेड़ी है।

 


Date : 11-Feb-2020

जंगली जानवरों का शिकार, 3 से पूछताछ के बाद पुलिस ने छोड़ा, आगे की जांच के लिए वन विभाग का अमला दुबारा ग्रामीणों से पूछताछ करेगा

छत्तीसगढ़ संवाददाता

बैकुंठपुर, 11 फवरी। कोरिया जिले में 4 जंगली जानवरों के शिकार का मामला सामने आया है। मामले में तीन आरोपियों को वन विभाग ने हिरासत में लिया और पूछताछ के बाद बीती रात में 10 हजार के मुचलके पर छोड़ दिया। वहीं दूसरे दिन भी विभाग का अमला पूछताछ में जुटा है।

मामले की जांच में जुटे डिप्टी रेंजर कृपाशंकर सिंह का कहना है कि मामला अवैध शिकार का है। सूचना पर कार्रवाई की गई है। कुछ बरामद भी हुआ है। जांच जारी है। मामले की पूरी जानकारी खुलासा होने के बाद उच्चाधिकारी देगें।

वहीं सोंस के पूर्व सरपंच भूपेन्द्र सिंह का कहना है मामला फर्जी लग रहा है, हलांकि इस क्षेत्र में एक समय काफी संख्या में मोर रहा करते थे। वहीं अभी यहां भालू, हिरन और कई जंगली जानवर हैं। सरकार को इनके संरक्षण के लिए कोई बड़ी पहल करना चाहिए।

इधर, पूर्व जिला पंचायत सदस्य खिलावन सिंह ने बताया कि मामले में वन विभाग की टीम मौके पर आई थी। कुछ जानवर के मांस और बाल बरामद किए हैं।

जानकारी के अनुसार कोरिया वनमंडल के चिरमिरी और बैकुंठपुर रेंज की सीमा पर स्थित ग्राम सोंस के पंडोपारा से लगे जंगल में अवैघ शिकार का मामला सामने आया है। यहां के निवासी प्रकाश पंडों और उसके साथियों ने रात के समय दो वन बिलाव, एक बारह सिंगा और एक जंगली सुअर मार कर खा गए। मारे गए जानवरों का हिस्सा पूरे गांव में बांटा गया, जिसके कारण गांव के 22 लोगों के नामों का खुलासा आरोपी प्रकाश ने वन विभाग की पूछताछ में कबूला है। अब आगे की जांच के लिए वन विभाग का अमला दुबारा ग्रामीणों से पूछताछ करेगा।

जानकारी के अनुसार मुखबिर की सूचना पर वनविभाग ने आरोपी प्रकाश तक पहुंचने की रणनीति बनाई। बैकुंठपुर के एक होटल से पकडक़र उससे कड़ी पूछताछ की, जिसके बाद उसने दो वन बिलाव, एक बारह सिंगा और एक जंगली सुअर मारे की जाने की बात कबूली, जिसके बाद उसके बताए अनुसार विभाग की टीम गांव पहुंची और गांव में उन्हें माहुल पत्ते से बने पत्तल मिले जिसमें खून लगा मिला, चमड़ी और जानवर के बाल बरामद हुए।

मुझे भी दो नहीं तो कर दंूगा खुलासा

वैसे तो सोंस के जंगलों में अवैध शिकार होता रहा है, परन्तु इस मामले का खुलासा तब हुआ जब आरोपी प्रकाश का एक साथी समयलाल ने गोश्त की मांग की। आरोपी प्रकाश ने उसकी बात को नजरअंदाज कर दिया, जिसके बाद बात वन विभाग के अमले तक पहुंच गई। इधर पूरे गांव में कार्रवाई का डर है।

 

डर से बोल दिया पूरे गांव का नाम

वन विभाग ने तीन आरोपियों को अपने कब्जे में लेकर पूछताछ की और फिर 10 हजार के मुचलके पर छोड दिया, वहीं आरोपी प्रकाश पंडों का कहना है कि मैने पूरे गांव का नाम इसलिए बोला क्योंकि मैं डर गया है, वहीं दो अन्य लोगों में को विभाग ने सींग होने और दूसरे के पुत्र के शामिल होने के लिए पूछताछ के लिए बताया। वहीं दोनों का कहना है वो इस पूरे मामले से अनभिज्ञ है उन्हें जबरन आरोपी बनाया गया है।

 

काफी संख्या में जंगली जानवर

कोरिया वन मंडल आने वाले सोंस के जगल में एक ओर सागौन प्लांटेशन है तो दूसरी ओर घना जंगल, इस जंगल में कई लोगो ने हिरन के दलों को अपनी आंखों से देखा है, वहीं सबसे ज्यादा संख्या में भालू और जंगली सुअर देखे जाते है, ग्रामीणों की माने तो यहां अब कुछ ही मोर बचे है, वहीं अवैध शिकार के कारण अब जंगली खरगोश नजर नहीं आते है।