छत्तीसगढ़ » कोरिया

Previous12Next
Date : 21-Sep-2019

अग्रसेन जयंती महोत्सव शुरू

छत्तीसगढ़ संवाददाता
पत्थलगांव,  21 सितंबर।
शनिवार सुबह अग्र समाज के महाराजा श्री अग्रसेन जी की जयंती का आज वरिष्ठजनो एव अग्रजनों की अगुवाई में भव्य आयोजन कर शुरू किया गया। सर्वप्रथम महाराजा श्री अग्रसेन जी की प्रतिमा पर माल्यर्पण कर आरती की। फिर समाज के वरिष्ठजनों ने दीप प्रज्वलित किया। इसके बाद पूर्व से तय आयोजन के अनुसार अग्र बन्धुओं ने रक्त दान करने हेतु रक्त की जांच की।

विदित हो कि अग्रवाल समाज द्वारा महाराजा अग्रसेन जी की जयंती महोत्सव 21 से 29 सितंबर तक मनाया जाएगा। महोत्सव में बच्चों, महिलाओं और युवाओं सहित सभी वर्ग के लोगों के लिए कई प्रतियोगिताएं होंगी। आरती के पश्चात अग्रसेन भवन में रक्त जांच शिविर लगाया गया जिसमे काफी लोगों ने रक्तदान किया। अग्रवाल नवयुवक समिति के अध्यक्ष राहुल अग्रवाल, उपाध्यक्ष कुशल अग्रवाल, सचिव शशांक गोयल, कोषाध्यक्ष अभिषेक अग्रवाल तथा अंकित बंसल एवं अन्य सदस्यों के तत्वाधान में गठित होने वाली इस समिति में सभी इच्छुक रक्तदाताओं के नाम के साथ उनके ब्लडग्रुप की सूची तैयार की जाएगी। इससे आवश्यकता पडऩे पर रक्तदान के लिए तत्काल संबंधित व्यक्ति अस्पताल पहुंचकर रक्तदान कर सकेगा। 

25 को मास्टर शेफ विजय शर्मा
मास्टर शेफ प्रतियोगिता में रायपुर के विजय शर्मा अपनी कला का प्रदर्शन करेंगे। मास्टर शेफ प्रतियोगिता में रनर अप रहे विजय शर्मा देश-विदेश मे अपनी कला का प्रदर्शन करते रहे हैं। उनके मार्गदर्शन में ही 25 सितंबर को अग्रसेन भवन में मास्टर शेफ प्रतियोगिता आयोजित की जा रही है । इसे लेकर अग्रवाल समाज में काफी उत्साह का माहौल है।

 अग्रवाल सभा के संरक्षक राजेन्द्र गर्ग, रामलाल अग्रवाल, ब्रम्हप्रकाश गर्ग, कोषाध्यक्ष अंजनी मित्तल, सहसचिव ओमप्रकाश बंसल, नरेश गोयल, सलाहकार सतीश जिंदल, अग्र पंचायत के मुरारी लाल अग्रवाल, जगदीश सिंघल, अग्रवाल नवयुवक समिति द्वारा अध्यक्ष राहुल अग्रवाल के मार्गदर्शन में कार्यक्रमों का आयोजन किया जा रहा है। 

 


Date : 21-Sep-2019

विधायक कमरो ने अस्पताल-स्कूल का किया निरीक्षण, अव्यवस्था पर भड़के

मनेन्द्रगढ़, 21 सितम्बर। सरगुजा विकास प्राधिकरण के उपाध्यक्ष एवं भरतपुर-सोनहत विधानसभा क्षेत्र के विधायक गुलाब कमरो ने अपने विधानसभा क्षेत्र का भ्रमण करसरकारी अस्पतालों एवं स्कूलों का औचक निरीक्षण किया। अव्यवस्था मिलने पर उन्होंने जिम्मेदारों को फटकार लगाई वहीं जन चौपाल लगाकर ग्रामीणों की समस्याएं भी सुनी और कई समस्याओं का मौके पर ही निराकरण कर उन्हें राहत पहुंचाई।

भ्रमण पर निकले श्री कमरो को ग्राम पंचायत घाघरा के नवाटोला निवासी बुजुर्ग पिता कल्लू लाल ने अपने जवान पुत्र के मानसिक रोगी होने की जानकारी दी और बताया कि पिछले दस सालों से उनका पुत्र मानसिक बीमारी से जूझ रहा है। उसे इलाज की दरकार है। इस पर राज्यमंत्री ने पुत्र का इलाज कराने उसके पिता को हरसंभव मदद का भरोसा दिलाया। वहीं उन्होंने ग्रामीणों को राहत पहुंचाने सोलर पंप व बिजली की सुचारू व्यवस्था करने के निर्देश दिए। 

इसके बाद अचानक उन्होंने प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र बहरासी पहुंचकर अस्पताल का निरीक्षण किया। प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में अव्यवस्था देख उन्होंने नाराजगी जाहिर की और कहा कि स्वास्थ्य के मामले में कोताही बर्दाश्त नहीं की जाएगी। बीएमओ को अनुपस्थित व लापरवाह कर्मचारियों को नोटिस जारी करने के निर्देश दिए साथ ही जल्द व्यवस्था दुरूस्त करने को कहा। विधायक कमरो ने भरतपुर विकासखण्ड के रामगढ़ हाई स्कूल का भी औचक निरीक्षण किया। कक्षा में जाकर बच्चों से मुलाकात की। बच्चों ने स्कूल संबंधी समस्या बताई। बच्चों की मांग पर तत्काल उन्होंने उनकी समस्या का निराकरण किया। राज्यमंत्री ने ग्राम पंचायत तोजा में बहुप्रतीक्षित 5 लाख की लागत से बनने वाली पुलिया का भूमि पूजन किया। वहीं चौपाल लगाकर ग्रामीणों की समस्याएं भी सुनी। विधायक को सहज और सरल तरीके से अपने बीच पाकर ग्रामीण प्रसन्नचित नजर आए और उनके समक्ष अपनी समस्याएं रखी जिसका उन्होंने तत्काल निराकरण किया।
 इसी क्रम में गुलाब कमरो के समक्ष ग्राम पंचायत रामगढ़ के ग्राम गिरवानी में 40 परिवारों ने गोंडवाना गणतत्र पार्टी छोड़कर कांग्रेस की सदस्यता ली। इस अवसर पर विधायक ने सभी को माल्यार्पण करउनका स्वागत किया साथ ही क्षेत्र के विकास में जुड़कर मुख्यधारा में आने अपनी शुभकामनाएं दी। इस दौरान जनपद सदस्य शैलजा सिंह, जिला संयुक्त महामंत्री अधिवक्ता रामनरेश पटेल, मीडिया प्रतिनिधि रंजीत सिंह सहित बड़ी संख्या में ग्रामीण जन, पार्टी पदाधिकारी और कार्यकर्ता मौजूद रहे।

 


Date : 21-Sep-2019

चिकित्सक भास्कर मरीजों पर भड़के, कलेक्टर से शिकायत

छत्तीसगढ़ संवाददाता
बैकुंठपुर, 21 सितंबर।  
कोरिया के जिला अस्पताल बैकुंठपुर में चिकित्सकों का रवैया सुधरने का नाम नहीं ले रहा है। ऐसा ही एक मामला शुक्रवार की सुबह जिला अस्पताल में देखने को मिला, जब बच्चों के डॉक्टर भास्कर दत्त मिश्रा ने अपने केबिन से नौनिहालों को लेकर पहुंचे मरीजों को चिल्लाकर बाहर भगा दिया। इस दौरान कई बच्चे तेज आवाज सुनकर सहम गए। इसी बीच मौके पर उपस्थित मरीजों ने इसकी शिकायत कलेक्टर, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी समेत स्वास्थ्य विभाग के अन्य आलाधिकारियों से की।

मामले में मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. रामेश्वर शर्मा का कहना है कि मामला निंदनीय है, मैं उक्त चिकित्सक को नोटिस जारी कर जवाब मांगता हूं।

इधर,  बच्चों का इलाज कराने पहुंची महिलाएं प्रिया, रामवती, राज कुमारी आदि ने बताया कि चिकित्सक भास्कर दत्त मिश्रा 10 बजकर 15 मिनट के बाद अपने कक्ष में पहुंचे तो हम सभी पर्ची जमा किए, फिर एकाएक चिकित्सक ने तेज आवाज में चिल्लाकर सबको बाहर भगा दिया, इसमें कई बच्चे डरकर रोने लगे और हम सभी भी डर गए। इस दौरान चिकित्सक के इस कृत्य का विरोध भी दर्ज कराया गया, तो वे बहस करने लगे और सीधे तौर पर कहा कि जिससे शिकायत करना है कर दो। इस तरह के व्यवहार वाले चिकित्सक के विरूद्ध कार्रवाई की जानी चाहिए। 

ऐसे में कई मरीजों ने दूसरे चिकित्सक से इलाज कराया।  जानकारी के अनुसार संबंधित चिकित्सक डॉ. मिश्रा की नियुक्ति डीएमएफ फंड से हुई है, बावजूद इसके नियमित चिकित्सक से भी बुरा बर्ताव मरीजों से करते हैं।  

 


Date : 21-Sep-2019

कमरो ने किया लोकार्पण-भूमिपूजन, बांटे नवीन राशन कार्ड

छत्तीसगढ़ संवाददाता
मनेन्द्रगढ़, 21 सितंबर।
सरगुजा विकास प्राधिकरण के उपाध्यक्ष गुलाब कमरो ने शुक्रवार को भरतपुर-सोनहत विधानसभा क्षेत्र में कई सड़क निर्माण कार्यों का भूमि पूजन एवं लोकर्पण किया, वहीं चौपाल लगाकर ग्रामीणों की समस्याएं भी सुनी और कई समस्याओं का मौके पर ही निराकरण भी किया।

ग्राम पंचायत पेंड्री के देवपारा में 5 लाख 20 हजार की लागत से बनने वाली सीसी सड़क निर्माण कार्य का विधिवत् भूमि पूजन किया। 200 मीटर लंबाई की की उक्त ग्रामीण शुद्धू के घर से मंगलू के घर तक बनाई जाएगी। यहां कच्ची सड़क होने की वजह से खासकर बरसात के मौसम में कीचड़ और दलदल की वजह से ग्रामीणों को आने-जाने में काफी परेशानियों का सामना करना पड़ता है। अब पक्की सड़क का निर्माण होने से ग्रामीण सहजतापूर्वक आवागमन कर सकेंगे। 

भूमि पूजन के अवसर पर उपस्थित ग्रामीणों ने श्री कमरो से गांव में सांस्कृतिक भवन की मांग की। ग्रामीणों ने कहा कि धार्मिक आयोजनों के साथ ही वैवाहिक कार्यक्रमों एवं अन्य आयोजनों में भवन की काफी कमी खलती है। ग्रामीणों की मांग पर श्री कमरो ने तत्काल सांस्कृतिक भवन निर्माण हेतु 10 लाख रूपए की राशि स्वीकृत की। इसके बाद उन्होंने ग्राम पंचायत घुटरा के अगरियाबहरा पहुंचकर यहां 5 लाख 20 हजार की लागत से नवनिर्मित सीसी सड़क का फीता काटकर लोकार्पण किया। इसके अलावा ग्राम पंचायत रोझी, पसौरी, बुलाकीटोला और तिलोखन में भी सीसी सड़क निर्माण कार्य का भूमि पूजन किया गया।

श्री कमरो ने ग्राम पंचायत पहाड़हसवाही, मनवारी और केलुआ में हितग्राहियों को नवीन राशन कार्ड का वितरण भी किया। साथ ही चौपाल लगाकर आमजनों व ग्रामीणों की समस्याएं सुनी, वहीं कई समस्याओं का त्वरित निराकरण किया। राज्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश सरकार के नेतृत्व में समूचा प्रदेष विकास के नए सोपान तय करेगा। सड़क, शिक्षा, स्वास्थ्य, बिजली, पानी सभी बुनियादी सुविधाओं पर प्राथमिकता से गौर किया जा रहा है। 

इस दौरान जनपद सदस्य शैलजा सिंह, ब्लाक अध्यक्ष राजेश साहू, जिला संयुक्त महामंत्री अधिवक्ता रामनरेश पटेल, मीडिया प्रतिनिधि रंजीत सिंह, सुनील राय, अविनाश पाठक, रामकुमार साहू, प्रदीप साहू, संदीप द्विवेदी, आनंद राय, सरपंच गीता बाई पेण्ड्री, सरपंच बाबूराम घुटरा, प्रदेश महामंत्री आदिवासी कांग्रेस डॉ. विनय शंकर सिंह, जिला महामंत्री मकसूद आलम, मजहर अली, वीरबली, सकील अहमद, संत लाल, राजेश जायसवाल, शुभकरण सिंह, विमल हितकर, मो. इमरान सहित बड़ी संख्या में ग्रामीण जन, पार्टी पदाधिकारी और कार्यकर्ता मौजूद रहे।

 


Date : 21-Sep-2019

पीएम आवास में हेराफेरी के आरोपी की दोबारा नियुक्ति ग्रामीणों ने किया विरोध

छत्तीसगढ़ संवाददाता
बैकुंठपुर, 21 सितंबर।
कोरिया जिले के मनेंद्रगढ़ जनपद पंचायत अंतर्गत ग्राम पंचायत के बंजी के जिस रोजगार सहायक शंकर सिंह टेकाम को पीएम आवास योजना में गड़बड़ी करने के आरोप में जांच उपरांत आरोपी रोजगार सहायक को सेवा से पृथक कर दिया गया था जिसे अब मनेंद्रगढ़ जनपद पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी द्वारा पुर्ननियुक्ति प्रदान की जा रही है। इसे लेकर ग्राम पंचायत बंजी के ग्रामीण सर्वजीत, महेंद्र सिंह, दौलत सिंह, दलबीर सिंह, राजकुमार, रामलाल सहित अन्य ने गत दिवस कलेक्टर कोरिया को आवेदन देकर धोखाधड़ी करने वाले रोजगार सहायक की पुर्ननियुक्ती का विरोध करते हुए पुर्ननियुक्ति प्रदान नहीं करने की मांग की है। 

कलेक्टर कोरिया को दिए शिकायत में ग्रामीणों ने उल्लेख किया है कि मनेंद्रगढ़ जनपद पंचायत अंतर्गत ग्राम पंचायत बंजी के रोजगार सहायक शंकर सिंह टेकाम को पूर्व में पीएम आवास योजना में धोखाधड़ी करने के आरोप में जांच उपरांत सेवा से पृथक किया गया था जिसे अब मनेंद्रगढ़ जनपद के मुख्य कार्यपालन अधिकारी द्वारा पुर्ननियुक्ति दिया जा रहा है जबकि ग्राम पंचायत के रोजगार सहायक के विरूद्ध ग्राम बंजी में प्रधानमंत्री ग्रामीण आवास योजनांतर्गत हितग्राही फूलकुंवर के स्वीकृत आवास को रोजगार सहायक अपने बहू फूलकुंवर को अनुचित तरीके से लाभ दिलाने एवं आवास को दूसरे की जमीन जो कि बैगा की है पर अपने लिए आवास बनाया जा रहा था। जिसकी जांच जिला स्तरीय टीम द्वारा किया गया एवं जांच उपरांत शिकायत सहीं पाई गई। जिस पर दोषी रोजगार सहायक को पद से पृथक कर दिया गया था। अब उसे पुन: पुर्ननियुक्ति मुख्य कार्यपालन अधिकारी जनपद पंचायत मनेंद्रगढ़ द्वारा की जा रही है जो कि न्यायोचित नहीं है। ग्रामीणों ने इस आदेश पर रोक लगाने की मांग की है। 

उल्लेखनीय है पीएम आवास में गड़बड़ी करने के मामले को लेकर ‘छत्तीसगढ़’ ने प्रमुखता से उठाया था जिसके बाद मामले की जांच की गई थी। जिसमें रोजगार सहायक दोषी पाया गया था।

सरपंच का बेटा है रोजगार सहायक
पीएम आवास में गड़बड़ी के आरोप में सेवा से पृथक किये गये रोजगार सहायक शंकर सिंह टेकाम ग्राम पंचायत बंजी के सरपंच लखन सिंह का बेटा है। रोजगार सहायक व ग्राम पंचायत के सचिव सच्चिदानंद द्विवेदी द्वारा मिलकर पूर्व में ग्राम पंचायत की कई योजनाओं व कार्यो में अनियमितता की गई थी। ग्राम पंचायत के सचिव को अनियमितताओं के कारण निलंबित कर जनपद पंचायत में संलग्न कर दिया गया था। मनरेगा के कार्यो में भी सरपंच रोजगार सहायक मिलकर फर्जी मस्टर रोल तैयार करने की भी शिकायत रही है।  


Date : 21-Sep-2019

कूटरचित कर भूमि में किया बदलाव, कलेक्टर से शिकायत

छत्तीसगढ़ संवाददाता

बैकुंठपुर, 21 सितम्बर। कोरिया जिले के सोनहत निवासी कमलेश चंद्र मारिक द्वारा कलेक्टर कोरिया को शिकायत देकर मांग की गई है कि उसके द्वारा खरीदी गई भूमि के साथ रास्ते की भूमि को हल्का पटवारी द्वारा शासकीय अभिलेख में कूट रचना किया गया तथा इसके आधार पर दी गई रास्ते की प्रदायित भूमि पर रोक लगाने की मांग की है। ताकि भविष्य में किसी तरह की विवाद की स्थिति उत्पन्न न हो।

इस संबंध में कमलेश चंद्र मारिक ने कलेक्टर को दिये अपने शिकायत में उल्लेख किया है कि उसके द्वारा वर्ष  2014-15 में खसरा क्रमांक 514-2 के रकबा 0.05 में से 0.03 हे.भूमि क्रय कर मकान निर्माण कराकर निवास कर रहा है। जिसमें खसरा नम्बर  514-2 के मालिक प्रार्थी को विक्रित भूमि से आवागमन निकास हेतु 7 फीट चौड़ाई के आधार पर निकास रास्ता दिया जाकर विक्रय हेतु तैयार चौहद्दी में देय 7 फीट के रास्ते को दर्शित कराते हुए रजिस्ट्री पत्र में रास्ते का उल्लेख कराया गया ताकि प्रार्थी को भविष्य में होने वाली असुविधाओं से सुरक्षित रह सके।  जिसके लिए क्रय भूमि में देय निकास रास्ता का डायवर्सन भी कराया गया।

वर्तमान में खसरा क्रमांक  514-2 के भू स्वामी पास लगभग 3 डिसमिल भूमि ही शेष होगी जिसमें से प्रार्थी को देय निकास रास्ते भूमि को सोनहत के हल्का 7 के पटवारी शत्रुधन शर्मा द्वारा शासकीय अभिलेख में छेड़छाड़ करते हुए 3 डिसमिल को 5 डिसमिल बनाकर कूटरचित सहयोग देते हुए 514-2 के भू स्वामी के माध्यम से महेंद्र कुमार आ रामविलास ग्राम सोनहत को विक्रय पत्र का निष्पादन करा दिया गया है। जिससे प्रार्थी के परिवार का आवागमन निकास का रास्ता हमेशा के लिए अवरूद्ध हो गया है।

उक्त विक्रित भूमि के नामांतरण हेतु तहसीलदार के समक्ष आवेदन भी लगाया गया है। हल्का पटवारी द्वारा प्रार्थी को देय रास्ते की जानकारी होने के पश्चात भी शासकीय अभिलेख में कूट रचना कर विक्रय करा दिया जाना आपराधिक कृत्य में आता है। प्रार्थी ने मांग की है कि प्रार्थी के रास्ते की भूमि 7 फीट के नामंातरण पर रोक लगाई जाये एवं दिये गये रास्ते की भूमि को सार्वजनिक कराते हुए शासकीय खाते में इंद्राज किया जाये एवं सोनहत पटवारी के विरूद्ध उसके अवैध कृत्यों पर अपराध कायम किये जाने की मांग की गई।


Date : 20-Sep-2019

मनरेगा अंतर्गत तालाब गहरीकरण कार्य में अनियमिता बरतने की शिकायत कलेक्टर से करते हुए उचित जांच कर दोषियो के विरूद्ध कार्रवाई की मांग की

छत्तीसगढ़ संवाददाता
बैकुंठपुर, 20 सितम्बर।
कोरिया जिले के जनपद पंचायत खगवां अंतर्गत ग्राम पंचायत सकरिया में मनरेगा के तहत तालाब गहरीकरण कार्य में अनियमिता बरतने की शिकायत कलेक्टर से करते हुए उचित जांच कर दोषियो के विरूद्ध कार्रवाई की मांग की गई है। 

ग्राम पंचायत सकरिया निवासी त्रिवेणी प्रसाद पिता रामरतन साहू ने कलेक्टर को 17 सितंबर को दिये अपनी शिकायत में बताया है कि खडगवां जनपद के अंतर्गत ग्राम पंचायत सकरिया में मनरेगा योजना के तहत गांव के पंडरी तालाब का गहरीकरण कार्य हेतु राशि स्वीकृत हुई। जिसके बाद कार्य ग्राम पंचायत के उप सरपंच गुलाब कुंवर रोजगार सहायक धमेंद्र साहू, पंच मूलचंद्र, रामप्रवेश एवं रामनिधि के देख रेख में कार्य कराया गया। शिकायत में बताया गया है कि मनरेगा के तालाब गहरीकरण कार्य में कुछ ही कार्य मजदूरों के माध्यम से कराया गया तथा अधिकांश कार्य जेसीबी से कराया गया जिससे कि क्षेत्र के मजदूरों को कार्य करने का पूरा अवसर नहीं मिल पाया। जबकि मनरेगा कार्य में मशीन से कार्य कराए जाने की मनाही है। इसके बावजूद ग्राम पंचायत के उक्त लोगों द्वारा जेसीबी से कार्य पूर्ण करा लिया गया। तालाब गहरीकरण कार्य के दौरान निकाली गयी मिट्टी को तालाब की मेढ़ में न गिराकर दूसरे अन्य जगहों पर ले जाया गया। इस तरह का बिल बढ़ाने का कार्य किया गया है। 
पंडरी तालाब गहरीकरण कार्य में फर्जी मस्टर रोल तैयार कर राशि आहरण किये जाने की शिकायत भी शामिल है। सौंपे गए शिकायत में बताया गया है कि ग्रामीण ममता, सखीयारों, रमेश, रामतीरथ, सुशीला, रामनिधि के नाम पर भी मस्टर रोल भरा गया है जबकि उक्त सभी लोग एक भी दिन तालाब गहरीकरण कार्य में कार्य ही नहीं किए हैं तब उनका नाम मस्टर रोल में कैसे भर दिया गया। इस मामले की जांच व दोषियों पर उचित कार्रवाई की मांग की गई है। 

 

 

 


Date : 19-Sep-2019

कमरो ने किया लाखों के निर्माण कार्यों का भूमिपूजन

छत्तीसगढ़ संवाददाता
मनेन्द्रगढ़, 19 सितम्बर।
सरगुजा विकास प्राधिकरण के उपाध्यक्ष गुलाब कमरो ने गुरूवार को विभिन्न कार्यक्रमों में शामिल होते हुए लाखों रूपए की लागत से विभिन्न निर्माण कार्यों का भूमिपूजन किया।

श्री कमरो के द्वारा 4 लाख की लागत से ग्राम पंचायत बौरीडांड़ के रेलवे केबिन से शांतिनगर चौघड़ा को जोडऩे वाली बहुप्रतीक्षित सड़क निर्माण कार्य का विधिवत् भूमिपूजन किया गया। बता दें कि रेलवे केबिन से शांतिनगर चौघड़ा को जोडऩे वाली सड़क लंबे समय से उपेक्षित पड़ी थी जिससे लोगों को आवागमन में काफी परेशानियों का सामना करना पड़ता था, लेकिन अब सड़क बनने से आवागमन सरल और सुगम होगा। आह्लादित ग्रामीणों ने राज्यमंत्री के प्रति हृदय से आभार व्यक्त किया। 

इस दौरान श्री कमरो ने ग्राम चौघड़ा में चौपाल लगाकर ग्रामीणों की समस्याएं सुनीं। कई समस्याओं का उनके द्वारा त्वरित निराकरण भी किया गया। महिला बाल विकास विभाग की ओर से आयोजित गोद भराई कार्यक्रम में शामिल होकर उन्होंने महिला की गोदभराई की रस्म पूरी की। वहीं उन्होंने ग्राम पंचायत चनवारीडांड़ परिसर में 17 ग्राम पंचायतों के 24 हितग्राहियों को राष्ट्रीय परिवार सहायता राशि का चेक सौंपते हुए उनसे शासन द्वारा दी जाने वाली इस राशि का समयानुसार उचित उपयोग करने की सलाह दी। साथ ही उन्होंने कहा कि उनकी कोशिश होगी कि ऐसे परिवारों को शासन की समस्त योजनाओं का लाभ समय पर मिले। उनके द्वारा चनवारीडांड़ और बौरीडांड़ ग्राम पंचायत के हितग्राहियों को नवीन राशन कार्ड का भी वितरण किया गया। 

उन्होंने कहा कि बीपीएल राशन कार्ड के लिए जो लोग आवेदन जमा नहीं कर पाए हैं या जिनके राशन कार्ड में नवीनीकरण के बाद कोई त्रुटि है अथवा नवीनीकृत राशन कार्ड नहीं मिल पाए हैं, उन्हें पुराने राशन कार्ड पर ही राशन वितरित किया जाएगा। इस बीच उन्होंने ग्राम पंचायत चनवारीडांड़ के मलाईभट्ठा में निवासरत् मो. सलीम के घर जाकर मासूम की मौत पर शोक-संवेदना व्यक्त की। 30 वर्षीय मो. सलीम ने आरोप लगाया कि सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र मनेंद्रगढ़ में पदस्थ डॉ. किरण किशोर की इलाज में लापरवाही से उनके मासूम पुत्र की मौत हुई है। उन्होंने कहा कि पुलिस में भी इसकी शिकायत दर्ज कराई गई है। मो. सलीम ने राज्यमंत्री से दोषी डॉक्टर के खिलाफ जांच कराकर कार्रवाई किए जाने की मांग की। उन्होंने परिवार को ढाढस बंधाया और कहा कि जांच में दोषी पाए जाने वाले शख्स को बक्शा नहीं जाएगा। श्री कमरो ने एसडीएम को शिकायत की जांच कर कार्रवाई करने के निर्देश दिए। 

इसके बाद वे ग्राम पंचायत कठौतिया पहुंचे, जहां राष्ट्रीय राजमार्ग से फूल सिंह के घर तक पहुंच मार्ग 5 लाख की लागत से बनने वाली सीसी सड़क निर्माण कार्य का भूमिपूजन किया। इस दौरान श्री कमरो के मीडिया प्रतिनिधि पत्रकार रंजीत सिंह, चनवारीडांड़ सरपंच राम सिंह मरावी, बौरीडांड़ सरपंच फुलवसिया, जनपद सदस्य दिलीप कुमार गुप्ता, रफीक मेमन, जिला महामंत्री अधिवक्ता रामनरेश पटेल, जिला उपाध्यक्ष कृष्णमुरारी तिवारी, ब्लाक अध्यक्ष राजेश साहू, अज्जू रवि, अमर सिंह, सुनील राय, आनंद राय, रविंद्र सोनी, अशोक गुप्ता, गजानंद चक्रधारी, सीईओ एके निगम एवं लेखापाल सत्येन्द्र सिन्हा आदि उपस्थित रहे। 


Date : 19-Sep-2019

ग्रामीणों ने कलेक्टर से की नवीन शाला भवन की मांग
छत्तीसगढ़ संवाददाता 
बैकुंठपुर,  19 सितंबर।
कोरिया जिले के भरतपुर जनपद पंचायत क्षेत्र के ग्राम पंचायत बेलगांव के सरपंच पंच व अन्य ग्रामीणों द्वारा कलेक्टर को पत्र देकर प्राथमिक शाला का नवीन शाला भवन या अतिरिक्त कक्ष निर्माण कराए जाने की मांग की है। 

कलेक्टर कोरिया को सौंपे हस्ताक्षरयुक्त शिकायत में उल्लेख किया गया है कि भरतपुर जनपद पंचायत क्षेत्र के ग्राम पंचायत बेलगांव में स्थित प्राथमिक शाला भवन काफी पुराना हो गया है जिसके चलते स्कूल भवन के छत का प्लास्टर टूट कर गिर रहा है। जिससे कि कभी भी छोटे बच्चों को दुर्धटना का शिकार होना पड़ सकता है साथ ही उन्होनें बताया है कि प्राथमिक शाला भवन के दीवार में भी कई जगहों से दरारें आ गई है। ऐसी स्थिति में प्राथमिक शाला बेलगांव के लिए नया शाला भवन बनाये जाने या फिर अतिरिक्त कक्ष का निर्माण कराया जाये जिससे कि जर्जर शाला भवन के कारण संभावित दुर्घटना से बचा जा सके। 

उन्होंने बताया कि ग्राम बेलगांव की प्राथमिक शाला में बच्चों की संख्या अधिक है, वर्तमान शाला भवन जर्जर हो गया है तथा छत का प्लास्टर टूट कर गिरने से कभी भी हादसा हो सकता है। उल्लेखनीय है कि अभी भी कोरिया जिले में कई स्थान ऐसे है जहां के शाला भवन की स्थिति जर्जर हो गई है लेकिन मजबूरी में शिक्षकों को जर्जर भवनों में ही स्कूलों का संचालन करना पड़ रहा है। लापरवाही के कारण स्कूलों में कभी भी कोई हादसा हो सकता है। बच्चों की सुरक्षा को लेकर यह जरूरी है कि जिले में जितने भी शाला भवन जर्जर हो गए हैं वहां अतिरिक्त कक्ष या नवीन शाला भवन का निर्माण कराया जाए। 

कहीं नए भवन का उपयोग ही नहीं हो रहा
कोरिया जिले में जहां एक ओर कई जगहों पर जर्जर शाला भवन में पढा़ई करना बच्चों की मजबूरी बनी हुई है, वहीं अनेक स्कूल ऐसे हैं जहां सर्व शिक्षा अभियान के तहत अतिरिक्त कक्ष बनाये गए हैं। जबकि वहां पहले से ही अच्छी हालत में स्कूल है तथा पर्याप्त कमरे हैं इसके बावजूद अतिरिक्त कक्ष की स्वीकृति देकर नया अतिरिक्त कक्ष बनाया गया है। जबकि पूर्व से ही अच्छी हालत में पर्याप्त भवन होने के कारण बाद में बनाये गए अतिरिक्त भवन का उपयोग नहीं हो रहा है। नया बनाया गया अतिरिक्त कक्ष बंद पड़ा हुआ है या फिर गोदाम के रूप में उपयोग लिया जा रहा है कहीं-कहीं पर तो मध्यान्ह भोजन पकाने के लिए भी नए अतिरिक्त कक्ष का उपयोग किया जा रहा है।

लाखों के प्रधान पाठक कार्यालय में लगा ताला 
जिले के कई स्थानों पर संचालित स्कूल परिसरों में लाखों रूपये खर्च कर पूर्व में प्रधानपाठक कक्ष का निर्माण कराया गया। जिनमें से अधिकांश जगहों पर बनाए गए प्रधान पाठक कक्ष का उपयोग तो किया जा रहा है लेकिन कुछ स्कूल ऐसे हैं जहां पूर्व में बनाये गये स्कूल भवन से थोड़ी दूरी पर या बगल में बनाए गए प्रधानपाठक कक्ष के निर्माण में लाखों खर्च करने के बाद भी नए भवन में ताला लटका हुआ है। नवीन भवन का उपयोग नहीं किया जा रहा है। जानकारी के अनुसार पांच वर्ष पूर्व सर्व शिक्षा अभियान के तहत प्राथमिक व पूर्व माध्यमिक शालाओं हेतु लाखों रूपये की राशि से प्रधान पाठक कक्ष का निर्माण कार्य कराया गया लेकिन बनाये गये नवीन कार्यालय भवन का उपयोग कई वर्ष बीत जाने के बाद भी नहीं हो रहा है। कहीं गोदाम बना दिया गया तो कहीं पर रसोई बनाया गया है। इस संबंध में प्रधान पाठकों के अपने-अपने तर्क हंै।

 

 


Date : 19-Sep-2019

धूमधाम से मनेगा श्री गुरूनानक देव जी का 550वां प्रकाश पर्व

छत्तीसगढ़ संवाददाता,
मनेन्द्रगढ़, 19 सितम्बर।
सिखों के प्रथम गुरू गुरूनानक देव जी का 550वां प्रकाश पर्व धूमधाम से मनाया जाएगा। सिख सम्प्रदाय में इस पर्व को मनाने की तैयारियां जोर-शोर से चल रही है। इस बार श्री गुरूनानक देव के 550वें प्रकाश पर्व को देखते हुए पूरे उत्साह के साथ समाज, संगत के लोग भव्य तैयारियों में जुटे हुए हैं।

गुरूद्वारा श्री गुरूसिंह सभा मनेंद्रगढ़ द्वारा बैठक कर प्रकाश पर्व की रूपरेखा तैयार की गई। बैठक में सरदार गुरूवचन सिंह चावला, सरदार हरजीत सिंह छाबड़ा, जोगिंदर सिंह छाबड़ा, बलवीर सिंह अरोरा, गुरमीत सिंह रैना, जसवीर सिंह रैना, सुरेंद्र पाल सिंह माखीजा, अजीत सिंह रैना एवं जसवीर सिंह रैना उपस्थित रहे। प्रकाश पर्व की तैयारियों के संबंध में जानकारी देते हुए सरदार जसवीर सिंह रैना ने बताया कि 550वें प्रकाश पर्व के मद्देनजर शहर में पहली बार सर्कस ग्राउंड में भव्य पंडाल का निर्माण कर धूमधाम से प्रकाशोत्सव के रूप में गुरूनानक देव जी की जयंती मनाई जाएगी। इस मौके पर शबद कीर्तन होगा व गुरू की जीवनी पर प्रकाश डाला जाएगा। गुरूनानक देव जी की शोभायात्रा 9 नवंबर को गुरूद्वारा श्री गुरूसिंह सभा से प्रारंभ होकर शहर के प्रमुख मार्गों से होते हुए सर्कस ग्राउंड में समाप्त होगी। 9 और 10 नवंबर को सुबह से शाम तक गुरू का अटूट लंगर होगा। 11 नवंबर को स्टेशन रोड स्थित गुरूद्वारा श्री साधसंगत एवं 12 नवंबर को गुरूद्वारा श्री गुरूसिंह सभा में गुरूपर्व धूमधाम से मनाया जाएगा। इस हेतु रागी  जत्था दीप सिंह अमृतसर वाले को शबद-कीर्तन हेतु आमंत्रित किया गया है। सिख समाज ने सभी समाज के लोगों से प्रकाश पर्व में बढ़-चढक़र हिस्सा लेने एवं गुरूनानक देव जी की वाणी को अपने जीवन में उतारने का अनुरोध किया है।

 


Date : 19-Sep-2019

बैगा आदिवासी की जमीन पर कब्जा, कब्जे पर रोक लगाने की मांग कलेक्टर से की 

छत्तीसगढ़ संवाददाता 
बैकुंठपुर, 19 सितंबर।
संरक्षित बैगा जनजाति के एक ग्रामीण ने कलेक्टर कोरिया को आवेदन देकर उसके पट्टे की भूमि पर एक गैर आदिवासी व उसके दो अन्य साथियों द्वारा जबरन मकान बनाये जाने की शिकायत करते हुए उनके अवैध कब्जे पर रोक लगाने की मांग की है। 

मिली शिकायत के अनुसार कोरिया जिले के भरतपुर जनपद पंचायत क्षेत्र के ग्राम पंचायत बहरासी अंतर्गत ग्राम कौशीटोला निवासी इंद्रभान बैगा ने गत दिवस कलेक्टर कोरिया के नाम पर आवेदन देकर बताया कि उसके पट्टे की जमीन पर लड़ाई-झगड़ा करके सुनील पाण्डेय द्वारा मकान बनाया जा रहा है। मना करने पर जान से मारने की धमकी दी जाती है। साथ में उसके दो साथी परमजीत व संतोष कंवर तीनों मिलकर मेरे पट्टे की जमीन पर मकान बना रहे हंै। पीडि़त ने कलेक्टर को आवेदन देकर न्याय दिलाने की मांग की। 

वहीं पीडि़त इंद्रभान बैगा ने बताया कि उसकी दूसरी पट्टे के खेत में बहादुर सिंह, मोहन सिंह, गोविंद सिंह, राजू सिंह द्वारा जबरन मेरे पट्टे के खेत पर कब्जा कर धान बोया गया है। मना करने पर जान से मारने की धमकी दी जाती और टांगी, फरसा, धनुष-बाण लेकर चारों मिलकर पीडि़त को मारने के लिए दौड़ाते हैं। पीडि़त ने अपने साथ न्याय करते हुए पट्टे की खेत से कब्जा मुक्त कराने की मांग की। 

150 किमी तय करना पड़ता है पीडितों को 
भरतपुर जनपद पंचायत क्षेत्र के कई गावों के पीडि़त ऐसे हैं जिनके द्वारा अपने क्षेत्र से करीब 150 किमी या इससे भी अधिक दूरी तय कर कोरिया जिला मुख्यालय बैकुंठपुर के कलेक्टर कार्यालय में आकर शिकायत करने की मजबूरी बनी हुई है। जबकि राज्य शासन द्वारा प्रत्येक सोमवार व मंगलवार को संबंधित हल्का पटवारियों को अपने पंचायत मुख्यालय में रहकर ग्रामीणों की समस्याओं को दूर करना है तथा जो शिकायत स्थानीय स्तर पर नहीं हल हो सकती उसकी जानकारी तहसील कार्यालय को देनी है। लेकिन स्थानीय स्तर पर शिकायत का निपटारा नहीं हो पा रहा है। पटवारी अपने हल्का के पंचायत मुख्यालय में नहीं बैठ रहे हैं। वहीं स्थानीय स्तर पर ग्रामीणों की शिकायत पर अधिकारी एक्शन नहीं ले रहे हैं। जिस कारण गरीब ग्रामीणों को किसी तरह राशि की व्यवस्था कर लंबी दूरी तय कर सिर्फ एक शिकायत करने आने को मजबूर होना पड़ रहा है।

 


Date : 19-Sep-2019

कोरिया के दो रेत खदानों की नीलामी रूकी
छत्तीसगढ़ संवाददाता 
बैकुंठपुर, 19 सितंबर।
कोरिया जिले के 2 रेत खदानों के लिए मंगलवार को निविदा निकाले जाने की प्रक्रिया पर रायपुर से आए निर्देशों के बाद रोक लगा दी गई। प्राप्त लिफाफों को सीलबंद कर ट्रेजरी में रख दिया गया है। जिसके बाद मप्र, उप्र सहित राज्य भर से आए खदानों में हिस्सा लेने वाले लोगों को निराशा हाथ लगी है। दूसरी ओर जिन दो खदानों की निविदा निकाली गई है, वहां के ग्राम पंचायतों से 29 लाख रूपए रायल्टी बकाया है। 

इस संबंध में खनिज अधिकारी त्रिवेणी देवांगन का कहना है कि कोरिया जिले में गौण खनिज साधारण रेत के उत्खनन पट्टा नीलामी रेत खदान समूह ए-1 कोटाडोल एवं बी-2 हरचौका का 10 से 16   सितंबर तक निविदा आमंत्रित की गई थी। 17 सितंबर को तकनीकी बोली खोली गई, तत्पश्चात वित्तीय बोली खोला जाना था किन्तु संचालक भौमिकी एवं खनिकर्म अटल नगर रायपुर के निर्देश अनुसार अपरिहार्य कारणों से आगामी तिथि तक वित्तीय बोली नहीं खोली जा रही है। निविदा को डबल सील बंद कर जिला कोषालय के स्ट्रांग रूम में रखा गया है। 

जानकारी के अनुसार राज्य शासन द्वारा कोरिया के भरतपुर जनपद क्षेत्र के ग्राम कोटाडोल तथा हरचौका रेत खदानों की नीलामी के लिए 28  0 आवेदकों ने आवेदन लिये थे। सिर्फ दो रेत खदानों के लिए मप्र, उप्र सहित छत्तीसगढ़ राज्य से काफी संख्या में निविदा में हिस्सा लेने पहुंचें थे। पूरे दिन बड़ी-बड़ी लग्जरी वाहनों से कलेक्टर कार्यालय पटा रहा। आवेदनों को देखते हुए प्रशासन ने कड़े सुरक्षा व्यवस्था के बंदोबस्त किए थे। निविदा स्थान पर मोबाइल ले जाने की मनाही थी। 

सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार एक ही व्यक्ति द्वारा कई आवेदन अलग-अलग नामों से लिए गए थे ताकि उन्हें लाभ मिल सके। दिनभर चली कार्रवाईके बाद शाम को नीलामी की बोली लगाई जानी थी लेकिन खनिज अधिकारी ने संचालक भौमिकी के आदेश का हवाला देकर अपरिहार्य कारण बताते हुए नीलामी प्रक्रिया रोक दी। 

उल्लेखनीय है कि अभी भी कोरिया जिले के भरतपुर जनपद क्षेत्र में जितनी भी जगहों से रेत का उत्खनन कार्य किया जा रहा है उनमें से कहीं पर नियमानुसार प्रक्रिया नहीं अपनाई गई है और अवैध तरीके से ही रेत का उत्खनन एवं परिवहन का कार्य बड़े स्तर पर किया जा रहा है। इस समय वन क्षेत्र भगवानपुर से भारी मात्रा में अवैध रेत का उत्खनन जारी है, प्रतिबंधित अवधि में भी इस क्षेत्र में बेधडक़ रेत का अवैध रूप से उत्खनन कार्य जारी रहा है। गौरतलब है कि कोरिया जिले के भरतपुर जनपद क्षेत्र में अवैध रूप से अंतर्राज्यीय रेत माफियाओं द्वारा नियम विरूद्ध तरीके से रेत का उत्खनन एवं परिवहन का कार्य किये जाने की खबर को ‘छत्तीसगढ़’  लगातार प्रमुखता से उठाता रहा है।

ग्राम पंचायतों की नहीं ली गई सहमति
मिली जानकारी के अनुसार भरतपुर जनपद क्षेत्र के ग्राम कोटोडोल तथा हरचौका में रेत खदानों की नीलामी की प्रक्रिया पूरी कर ली गई थी। लेकिन अपरिहार्य कारणों से अंतिम दिवस स्थागित कर दिया गया। इसके पूर्व संबंधित ग्राम जहां के रेत खदानों की नीलामी की जानी थी उस ग्राम पंचायत से सहमति का प्रस्ताव भी नहीं लिया गया। जबकि इसके लिए संबंधित ग्राम पंचायत से प्रस्ताव लिया जाना अनिवार्य है। 

 


Date : 19-Sep-2019

 नगर निगम, नगर पालिका और नगर पंचायतों में महापौर महिला आरक्षित होने पर पुरूष दावेदार मायूस

छत्तीसगढ़ संवाददाता
बैकुंठपुर, 19 सितंबर।
कोरिया जिले में नगर निगम, नगर पालिका और नगर पंचायतों में बुधवार को हुए आरक्षण के बाद कई दावेदारों के सपने टूट गए तो कई दावेदारों के समर्थकों ने सोशल मीडिया पर उनकी दावेदारी ठोंक दी है। दावेदारों के समर्थकों के पोस्ट से सोशल मीडिया पटा पड़ा है।

जानकारी के अनुसार राज्य की राजधानी में संपन्न हुए आरक्षण में जिले की एकमात्र नगर निगम चिरमिरी महिला अनारक्षित, मनेन्द्रगढ़ नगर पालिका अनारक्षित, बैकुंठपुर नगर पालिका अनारक्षित महिला और चरचा शिवपुर का अध्यक्ष पद अन्य पिछड़ा वर्ग के लिए हो गया है। इसके अलावा नगर पंचायत खोंगापानी, झगराखांड अनारक्षित तो नई लेदरी का अध्यक्ष पद अब अनारक्षित महिला हो गया है। दरअसल, कोरिया जिले के सभी नगरीय निकायों व नगर निगम में कांग्रेस का कब्जा है। 

नगर निगम चिरमिरी में कांग्रेस से बागी होकर निर्दलीय चुनाव लड़े के डमरू रेड्डी चुनाव जीत कर महापौर बने, बाद में उन्होनें विधानसभा चुनाव के पूर्व अपनी घर वापसी की, अब नगर निगम पर कांग्रेस सत्तासीन है। 

दूसरी ओर मनेन्द्रगढ़ नगर पालिका में राजकुमार केशरवानी, बैकुंठपुर नगर पालिका में अशोक जायसवाल, नगर पालिका शिवपुर चरचा में अजीत लकड़ा, खोंगापानी नगर पंचायत में निर्मला चतुर्वेदी, नई लेदरी नगर पंचायत में विष्णुदास, झगराखांड नगर पंचायत में ओमप्रकाश विश्वकर्मा काबिज है। नगरीय निकायों के चुनाव को लेकर दावेदारों की फौज सोशल मीडिया में सामने आ खड़ी हुई है। दूसरी ओर लोकसभा में कांग्रेस को मिली करारी हार का लाभ भाजपा लेने की तैयार बैठी है। वहीं बीते 5 साल में शहरों में काबिज कांग्रेस को जागरूक मतदाताओं से रूबरू होना है।

दो नपा में एक साल बाद चुनाव
कोरिया जिले के बैकुंठपुर और शिवपुर चरचा नपा में वर्ष 2020 में चुनाव होना है। आरक्षण होने के बाद महिला दावेदारों को अपने पक्ष में माहौल बनाने के लिए काफी समय मिल गया है। दरअसल, भाजपा सरकार ने दोनों नगर पालिका क्षेत्र के कुछ ग्राम पंचायतों को जोड़ कर नगर पालिका बना दिया। जिससे ग्रामीण क्षेत्र के लोगों को कई परेशानियों का सामना करना पड़ा और उन क्षेत्रों का विकास रूक गया। नेताओं का विरोध शुरू हो गया। भाजपा सरकार ने विधानसभा चुनाव पूर्व ग्रामीण क्षेत्रों को हटाने की प्रक्रिया शुरू की। बावजूद इसके विधानसभा चुनाव में भाजपा को करारी हार का सामना करना पड़ा। अब दोनों नगर पालिका क्षेत्र से ग्राम पंचायतों को अलग कर दिया गया है और वहां आगामी त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव में वोट डाले जाएगें। इस प्रक्रिया के कारण दोनों नगर पालिका का समय पर चुनाव नहीं हो पाया। 

वर्ष 2015 में हुए चुनाव में भाजपा को हार का सामना करना पड़ा था और अब वर्ष 2020 में भाजपा फिर सत्ता में आने एड़ी चोटी जोर लगाने की तैयारी में है।  


Date : 19-Sep-2019

सरपंच ने सरकारी भूमि से बेजा कब्जा हटाने कलेक्टर से की मांग

छत्तीसगढ़ संवाददाता
बैकुंठपुर, 19 सितंबर।
जनपद पंचायत बैकुंठपुर अंतर्गत ग्राम पंचायत सरभोका के सरपंच व अन्य द्वारा एसडीएम बैकुंठपुर को शिकायत कर सरकारी भूमि से कब्जा हटाए जाने की मांग की गई है। 

मिली शिकायत के अनुसार जनपद पंचायत बैकुंठपुर के ग्राम पंचायत सरभोका के सरपंच व अन्य ने हस्ताक्षरयुक्त शिकायत बैकुंठपुर एसडीएम को सौंपकर बताया कि सरभोका के माजा मोड़ स्थित शासकीय भूमि सहकारी समिति के नाम पर है। जिस पर तुलाराम द्वारा खेती कर कब्जा किया जा रहा है तथा राम प्रसाद द्वारा आंगनबाड़ी केंद्र भवन सरभोका के पास शासकीय भूमि पर अवैध रूप से कब्जा कर खेती की जा रही है। 

शिकायत में उल्लेख किया गया है कि उनके द्वारा पूर्व में शिकायत दी गई थी कि लल्लू एवं श्यामपति द्वारा सरकारी भूमि में अतिक्रमण कर घर बनाया गया है। जिसे देखकर अन्य लोग भी खाली पड़ी शासकीय जमीन पर अवैध कब्जा कर रहे हैं। यदि इस दिशा में कार्रवाई नहीं की गई तो ग्राम पंचायत अंतर्गत शासकीय भूमि बचाना मुश्किल होगा। जिसे ध्यान में रखते हुए अवैध कब्जाधारियों के विरूद्ध उचित कार्रवाई करने की मांग की गई है। 

निस्तार भूमि पर अवैध कब्जा
ग्राम पंचायत सरभोका के सरपंच द्वारा कलेक्टर कोरिया को निस्तार भूमि पर अवैध कब्जा करने की शिकायत देकर उचित कार्रवाई की मांग की हंै। उन्होंने शिकायत में लिखा है कि ग्राम सरभोका के जूनापारा के सभी निवासी का लगभग 30 एकड़ शासकीय भूमि जो मांजा मोड़ से लगा हुआ है। उसमें शांति बाई, मुन्नी बाई, लल्लू आदि द्वारा अवैध रूप से कब्जा किया गया है। जिनके कब्जा हटाने के लिए पूर्व में नायब तहसीलदार पटना को आवेदन दिया गया था। जिसमें उनका पट्टा रद्द करने के लिए भी आवेदन दिया गया था। जिसके संबंध में अब तक कोई कार्रवाई नहीं हुई।   


Date : 18-Sep-2019

हाथियों ने की मक्के की फसल बर्बाद, किसान के माथे पर चिंता की लकीरें

छत्तीसगढ़ संवाददाता
मनेन्द्रगढ़, 18 सितम्बर।
बीती रात जनकपुर वन परिक्षेत्र अंतर्गत ग्राम हथवारी में सात हाथियों के दल जिसमें दो शावक भी शामिल हैं, ने एक किसान की बाड़ी में लगी मक्के की फसल को पूरी तरह से बर्बाद कर दिया। फसल की बर्बादी से किसान के माथे पर चिंता की लकीरें छा गई हैं।

जानकारी के अनुसार मंगलवार की रात सात से आठ बजे के बीच सात हाथियों का दल मध्यप्रदेश की सीमा से जनकपुर वन परिक्षेत्र अंतर्गत ग्राम हथवारी में प्रवेश किया जिससे ग्रामीणों में भय का वातावरण निर्मित हो गया। हाथियों से किसी प्रकार की जनहानि तो नहीं हुई, लेकिन उदर्शन गोंड़ पिता रामा सिंह की बाड़ी में लगी मक्के की फसल को हाथियों के समूह ने पूरी तरह से तहस-नहस कर दिया। 

फसल को बर्बाद करने के बाद हाथियों का दल वापस मध्यप्रदेश के संजय राष्ट्रीय उद्यान के वन क्षेत्र में जाकर विचरण कर रहा है। मौके पर मध्यप्रदेश और छत्तीसगढ़ के वन कर्मचारी उपस्थित होकर हाथियों की गतिविधियों पर सतत् निगरानी बनाए हुए हैं। वन अमले ने ग्रामीणों से हाथियों से दूरी बनाए रखने और उनके साथ किसी भी प्रकार की छेड़छाड़ नहीं करने की अपील की है।


Date : 18-Sep-2019

पैसेंजर ट्रेन से कोच हटाए जाने से मुसाफिर परेशान, डीआरयूसीसी सदस्य ने लिखा पत्र

छत्तीसगढ़ संवाददाता
मनेन्द्रगढ़, 18 सितम्बर।
दक्षिण-पूर्व मध्य रेलवे बिलासपुर रेल मंडल के डीआरयूसीसी सदस्य श्यामसुंदर पोद्दार ने मंडल रेल प्रबंधक को पत्र लिखकर बिलासपुर-चिरमिरी और चिरमिरी-बिलासपुर से हटाए गए कोच को यात्रियों की सहूलियत को देखते हुए शीघ्र जोड़े जाने की मांग की है।

तत्संबंध में डीआरयूसीसी सदस्य ने कहा कि विगत् दिनों ट्रेन नं. 58223 मनेन्द्रगढ़-अम्बिकापुर, 58224 अम्बिकापुर-अनूपपुर, 58227 अनूपपुर-मनेन्द्रगढ़ ट्रेन की जगह शहडोल तक मेमू चलाया जाना  स्वागत योग्य और सराहनीय पहल है, लेकिन उपरोक्त ट्रेनों की लगभग 8 बोगी जो रात्रि में मनेन्द्रगढ़ से चिरमिरी-बिलासपुर पैसेंजर में जोड़ी जाती थी, उन्हें बंद कर दिया गया है। वर्तमान में बिलासपुर से मात्र 6 बोगी जिसमें 3 शयनयान, एक दिव्यांग, तीन एसएलआरडी एवं एक बोगी जनरल लगाई जाकर अनूपपुर से भोपाल कोच एवं दुर्ग-अम्बिकापुर कोच जोड़कर लगभग 10 बोगी की ट्रेन चिरमिरी तक चलाई जा रही है। बिलासपुर से चलने वाली ट्रेन में एक मात्र जनरल बोगी लगाए जाने से यात्रियों को परेशानी उठानी पड़ रही है। उन्होंने कहा कि यह क्षेत्र श्रमिक आदिवासी बाहुल्य क्षेत्र है। आदिवासी गरीब श्रमिकों को यात्रा में काफी परेशानी उठानी पड़ रही है। साथ ही अतिरिक्त भार शयनयान बोगी पर पड़ रहा है। डीआरयूसीसी सदस्य ने मंडल रेल प्रबंधक से चिरमिरी-बिलासपुर और बिलासपुर-चिरमिरी यात्री पैसेंजर ट्रेन में एक अतिरिक्त शयनयान बोगी एवं कम से कम दो जनरल (सामान्य) बोगी अविलंब लगाए जाने की मांग की है। 

 


Date : 18-Sep-2019

65 बच्चों पर एक शिक्षक, ग्रामीणों ने मांग को लेकर कलेक्टर से मुलाकात कर आवेदन सौपा
छत्तीसगढ़ संवाददाता 
बैकुंठपुर, 18  सितंबर।
कोरिया जिले के कई स्कूलों में वर्तमान शिक्षा सत्र में भी शिक्षकों की कमी बरकरार है। जिले में संचालित कई प्राथमिक शाला तथा माध्यमिक शाला ऐसे हैं जिसका संचालन एक ही शिक्षक के भरोसे किया जा रहा है। 

जानकारी के अनुसार ऐसे स्कूलों में एकल शिक्षकीय व्यवस्था होने के कारण बच्चों की पढ़ाई बुरी तरह से प्रभावित हो रही है। वहीं कई उच्च प्राथमिक शाला ऐसे भी हंै, जहां बच्चों की संख्या अधिक है लेकिन शिक्षक दो ही हैं जिनमें से एक शिक्षक विभागीय बैठक व डाक बनाने में ही व्यस्त रहते हैं। लंबा समय बीत जाने के बाद भी शिक्षा विभाग द्वारा एकल शिक्षकीय विद्यालयों व दो शिक्षक वाले विद्यालयों में छात्रों की अधिक संख्या को देखते हुए भी शिक्षक की व्यवस्था नहीं कर पाये हैं। 

यही कारण है कि एक दो शिक्षक वाले प्राथमिक व पूर्व माध्यमिक शाला में विद्यार्थियों का भविष्य चौपट हो रहा है। ऐसा नहीं कि विकासखंड शिक्षा अधिकारियों को इसकी जानकारी नहीं है। जानकारी होने के बावजूद आवश्यकता वाले स्कूलों में शिक्षकों की व्यवस्था नहीं की जा रही है। 

जिले के भरतपुर जनपद क्षेत्र के ग्राम पंचायत बेलगांव के आश्रित गांव चरखर में संचालित प्राथमिक विद्यालय में शिक्षक की मांग को लेकर ग्राम पंचायत के सरपंच ने कलेक्टर को आवेदन देकर विद्यालय में शिक्षक की मांग की है। मिली शिकायत के अनुसार भरतपुर जनपद के ग्राम चरखर में संचालित प्राथमिक शाला में 65 बच्चे पढ़ रहे हैं जिन्हें पढ़ाने बब्बू राम बैका प्रधानपाठक ही एक मात्र शिक्षक है। ग्रामीणों ने बताया कि पिछले एक वर्ष से एकल शिक्षकीय विद्यालय का संचालन हो रहा है जिससे कि विद्यार्थियों को नुकसान उठाना पड़ रहा है। कलेक्टर से मांग की गईहै कि जल्द शिक्षक की पदस्थापना की जाये। 

उल्लेखनीय है कि शिक्षा के अधिकार अधिनियम के तहत छात्र अनुपात में शिक्षक होने चाहिए लेकिन कोरिया जिले में कई ऐसे विद्यालय ऐसे हैं जहां शिक्षा के अधिकार अधिनियम के अनुसार शिक्षक ही पदस्थ नहीं है। 

 


Date : 18-Sep-2019

भरतपुर के बैगा परिवारों ने कलेक्टर से मांगी बिजली, रतनजोत काटकर कब्जा करने की शिकायत

छत्तीसगढ़ संवाददाता
बैकुंठपुर, 18  सितंबर
। तत्कालीन प्रदेश सरकार द्वारा रतनजोत पौधे लगाने की दिशा में अभियान चलाकर सभी ग्राम पंचायत क्षेत्रों में भारी संख्या में रतनजोत के पौधे लगाये गये थे। अब कुछ क्षेत्रों में लोगों द्वारा रतनजोत काटकर उक्त स्थल पर कब्जा करने में लगे हुए हैं। मंगलवार को भरतपुर जनपद पंचायत क्षेत्र के ग्राम बेलगांव के लोगों ने कलेक्टर से शिकायत कर उचित कार्रवाई की मांग की है। 

शिकायत के अनुसार ग्राम पंचायत बेलगांव में 15 वर्ष पूर्व रतनजोत का पौधा लगाकर सुरक्षित किया गया था। जिसे वर्तमान में गांव के कमलेश, शिवबालक, रमदमन, मुनीप्रसाद द्वारा लगाये गये रतनजोत के पौधों को काटकर उक्त स्थल पर कब्जा किया जा रहा है। लगातार पौधों की कटाई की जा रही है। इसे लेकर पूर्व में राजस्व विभाग को सूचना दी गई थी। लेकिन राजस्व विभाग द्वारा इस दिशा में किसी तरह की कार्रवाईनहीं की गई। जिससे कि अब अन्य लोग भी लगाये गये रतनजोत के पौधों को काटने में लगे हुए है। ग्राम पंचायत के पंच राजेंद्र सिंह, राम सहोदर के साथ ग्रामीणों ने रतनजोत के पौधों को काटने से बचाने तथा स्थल पर कब्जा रोकने की मांग आवेदन देकर किया गया है।

संरक्षित बैगा परिवारों ने मांगी विद्युत सुविधा
भरतपुर जनपद पंचायत क्षेत्र के ग्राम पंचायत बेलगांव के कुछ बैगा परिवारों के घर तक विद्युत नहीं पहुंच पाई है। जिसके लिए कुछ विद्युत पोल लगाकर विजली पहुंचाई जा सकती है जिसे लेकर एक बैगा परिवार ने कलेक्टर से विद्युत सुविधा प्रदान करने की मांग की है। 

जनकारी के अनुसार भरतपुर जनपद पंचायत क्षेत्र के ग्राम पंचायत बेलगांव निवासी रमेश बैगा ने कलेक्टर से मांग की है कि गांव के जुन्हापारा में 7 संरक्षित जनजाति बैगा परिवार का घर जंगल किनारे है। विद्युतीकरण कार्य के दौरान गांव के अन्य हिस्सों में विद्युत लाईन पहुंचाई गई। रमेश ने बताया कि लेकिन हमारे पारा के सात घर जंगल किनारे क्षेत्र. में होने के कारण छोड़ दिया गया है। जहां तक विद्युत पोल विस्तार के लिए करीब 10 की संख्या में विद्युत पोल की आवश्यकता होगी जिसे लगवाने की मांग की गई है ताकि हम बैगा परिवारों के घर भी बिजली की सुविधा मिल सके।  


Date : 17-Sep-2019

सोल्लास से मनाई विश्वकर्मा जयंती

छत्तीसगढ़ संवाददाता 
मनेन्द्रगढ़, 17 सितम्बर।
मंगलवार को विश्वकर्मा भगवान की जयंती धूमधाम से मनाई गई। पूजा पण्डालों, फैक्ट्रियों, लोहे की दुकान, वाहन शो रूम, सर्विस सेन्टर आदि में विधि-विधान के साथ भगवान विश्वकर्मा की पूजा-अर्चना कर परिवार व व्यापारिक सुख-समृद्घि की कामना की गई। इस मौके पर मशीनों, औजारों की साफ-सफाई भी की गई। नगर में शहीद भगत सिंह तिराहा, श्री राम मंदिर, रेलवे टीआरडी, विद्युत विभाग आदि स्थानों में भगवान विश्वकर्मा की प्रतिमा स्थापित की गई है। ऑटो संघ द्वारा प्रतिवर्ष शहीद भगत सिंह तिराहा में भगवान विश्वकर्मा की प्रतिमा स्थापित कर विधि-विधान से पूजा-अर्चना की जाती है। इस वर्ष भी संघ द्वारा विश्वकर्मा भगवान की नयनाभिराम प्रतिमा स्थापित की गई है। ऑटो संघ द्वारा भगवान की स्थापना के बाद श्रद्धालुओं को प्रसाद वितरण किया गया। 18 सितम्बर बुधवार को धूमधाम के साथ नगर के विभिन्न सरोवरों में भगवान विश्वकर्मा की प्रतिमाओं का विसर्जन किया जायेगा।


Date : 17-Sep-2019

बैंक के चपरासी-बैंक मित्रों को हटाने ग्रामीणों ने कलेक्टर को सौंपा ज्ञापन
छत्तीसगढ़ संवाददाता 
बैकुंठपुर, 17 सितंबर।
प्रदेश आदिवासी कांग्रेस जिलाध्यक्ष युधिष्ठिर सिंह कमरो, सरपंच देवाडांड व क्षेत्र के अन्य दर्जनों की संख्या में ग्रामीणों ने संयुक्त हस्ताक्षरित शिकायत पत्र कलेक्टर व सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया के शाखा प्रबंधक बैकुंठपुर को देकर खडग़वां जनपद क्षेत्र. के ग्राम देवाडांड स्थित सेंट्रल बैंक की शाखा में पदस्थ चपरासी एवं बैंक मित्रों को तत्काल हटाए जाने की मांग की। 

लीड बैंक सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया के शाखा प्रबंधक बैकुंठपुर को सौंपे हस्ताक्षरयुक्त शिकायत में बताया है कि खडग़वां के देवाडांड स्थित सेंट्रल बैंक की शाखा में पदस्थ चपरासी मुनीष कुमार हलवाई के व्यवहार से क्षेत्र के उपभोक्ता परेशान हंै। बताया गया कि वह सही तरीके से लोगों से बात नहीं करता है तथा लोगों का ऋण पास करवाने के एवज में पैसों की मांग की जाती है और तभी ऋण पास होने की बात कहकर कई लोगों से वसूली की जा चुकी है तथा बदसलूकी भी किया जाता है। 
बैंक मित्रों द्वारा बैंक आने वाले कई लोगों से पैसे आहरण करने के नाम पर राशि की वसूली की जाती है। बैंक में कई ऐसे ग्रामीण आते हैं जो अपना विड्रॉल फार्म खुद नहीं भर पाते जिनका सहयोग करने के नाम पर राशि वसूली जाती है। इस तरह की शिकायत के चलते देवाडांड बैंक के चपरासी का स्थानांतरण करने एवं बैंक मित्रों को हटाकर नई भर्ती करने की मांग की गई। साथ ही यह भी चेतावनी दी गई कि यदि 15 दिवस के भीतर कार्रवाई नहीं होती है तो देवाडांड सेंट्रल बैंक के सामने क्षेत्र के ग्रामीणों के द्वारा चक्काजाम किया जायेगा। जिसकी संपूर्ण जवाबदारी प्रशासन की होगी। 

ऋण स्वीकृति के लिए अवैध राशि वसूली का आरोप
कलेक्टर कोरिया को भी सेंट्रल बैंक शाखा देवाडांड में पदस्थ चपरासी की शिकायत क्षेत्रवासियों द्वारा सोमवार को कर कार्रवाई की मांगी की गई।  शिकायत में बताया कि मनोज कुमार ग्राम सलका द्वारा पीएमजेपी योजनांतर्गत पांच लाख की स्वीकृति प्रदाय किया गया। जिसमें चपरासी द्वारा 25 हजार रूपये पांच प्रतिशत लिया गया। नहीं देने पर अनुदान नहीं देने व मिलने की बात कह वसूली किया गया। 

इसी तरह युधिष्ठिर सिंह ग्राम धवलपुर अपनी पत्नी मानकुंवर के नाम पीएमजेपी योजना से 10 लाख के प्रकरण हेतु ब्रांच मैनेजर से बात किया गया तो वे बोले कि चपरासी से मिलो। जब चपरासी से मिला तो उसने 5 प्रतिशत 50 हजार रूपए लेने की बात कहते हुए कहा कि स्वीकृति से पहले 25 हजार तथा 25 हजार बाद में देना होगा। जब लोन स्वीकृत हुआ तो 10 हजार रूपये मेरे द्वारा दिया गया लेकिन अभी तक लोन की स्वीकृति नहीं हुई। बोलने पर चपरासी का जवाब आता है कि अब ब्रांच मैनेजर बदल गए हैं और पैसा डूब गया है। इसी तरह कई ऐसे लोग हंै जिनसे चपरासी द्वारा लोन स्वीकृत कराने के नाम पर राशि की वसूली अवैध तरीके से की गई। जिस पर चपरासी के खिलाफ जांच कर कार्रवाई की मांग की गई।

 


Previous12Next