छत्तीसगढ़ » गरियाबंद

Previous1234567Next
25-Sep-2020 8:12 PM

'छत्तीसगढ़' संवाददाता

नवापारा-राजिम, 25 सितंबर। भारतीय जनता पार्टी द्वारा लॉकडाउन को देखते हुए आज जनसंघ के संस्थापक पंडित दीनदयाल उपाध्याय जी की जयंती भाजपा नेताओं ने अपने अपने घरों में पं. दीनदयाल उपाध्याय के छायाचित्र पर माल्यार्पण कर उन्हें याद करते हुए नमन किया गया। इस अवसर पर पूर्व कृषि मंत्री चंद्रशेखर साहू ने अपने निवास में पं. उपाध्याय के छायाचित्र पर माल्यार्पण कर उन्हें याद करते हुए नमन किया।

श्री साहू ने कहा कि पंडित जी के मार्गदर्शन एवं कुशल नेतृत्व क्षमता का संदेश आज भी हमारे जहन में है। उन्होंने भारत की सनातन विचार धारा को युगानुकुल रूप में प्रस्तुत करते हुए देश को एकात्म मानववाद नामक विचार धारा से वे एक समावेशित विचारधारा के समर्थक थे, जो एक मजबूत और सशक्त भारत चाहते थे। नवापारा नगर के हृदय स्थल पंडित दीनदयाल उपाध्याय चौक पर उनकी प्रतिमा पर मंडल अध्यक्ष उमेश यादव, उपाध्यक्ष दुकालू चक्रधारी, तनु मिश्रा, युवा मोर्चा महामंत्री नागेंद्र वर्मा, प्रसार मंत्री किशन साहू, उपसरपंच हितेश मंडई के द्वारा माल्यार्पण कर श्रद्धा सुमन अर्पित किया गया। इसी तरह भाजपा मंडल अध्यक्ष उमेश यादव, नगर पालिका के पूर्व अध्यक्ष विजय गोयल, परदेशीराम साहू, दयालूराम गाड़ा, प्रसन्न शर्मा, बॉबी चावला, चुम्मन कंडरा, भाजयुमो नेता संजय साहू, नागेन्द्र वर्मा, मुकुंद मेश्राम, दुकालू चक्रधारी, छन्नूलाल साहू, मनीष देवांगन, किसन साहू, हितेष मंडई, साधना सौरज, अन्नपूर्णा देवांगन, तनु मिश्रा, धीरज साहू, पंकज देवांगन, ग्राम परसदा में पूर्व सरपंच श्रीमती मालती धु्रव, सहकारिता अध्यक्ष गोपाल साहू, ग्राम मंगलौर में  कार्यकारिणी सदस्य दिलीप देवांगन ग्राम सुंदरकेरा महामंत्री अखिलेश ठाकुर आदि कार्यकर्ताओं ने पंडित जी के जयंती घरों में रहकर मनाया।


25-Sep-2020 8:10 PM

'छत्तीसगढ़' संवाददाता

नवापारा-राजिम, 25 सितंबर। ग्राम पिपरौद मे भारतीय जनता पार्टी के संस्थापक सदस्य पं. दीनदयाल उपाध्याय की जयंती मनाई गई।

इस अवसर पर जनपद सदस्य कमलनारायण साहू, भूषण साहू, चुम्मन साहू, प्रीतम साहू, पवन साहू, यश कुमार साहू, लोमश साहू आदि कार्यकर्ताओं ने दीनदयाल उपाध्याय के छायाचित्र पर माल्यार्पण कर उन्हें याद किया।


25-Sep-2020 3:09 PM

'छत्तीसगढ़' संवाददाता
नवापारा-राजिम, 25 सितंबर।
नवापारा शहर में कोरोना के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए क्षेत्रीय विधायक धनेन्द्र साहू गुरुवार को नवापारा के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र का निरीक्षण करने पहुंचे। श्री साहू ने स्वास्थ्य विभाग के साथ सहित स्थानीय पालिका प्रशासन व पुलिस विभाग के जिम्मेदार अधिकारियो से चर्चा कर शहर की वास्तविक हालात पर जानकारी ली। स्थानीय सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र प्रभारी डॉ. एस. के तिवारी से उन्होंने अभी तक संक्रमित हुए कुल पॉजिटिव मरीजों जानकारी लेते हुए कोरोना संक्रमण को शहर से नियंत्रित करने के लिए हर आवश्यक कदम उठाने के निर्देशित भी किया। कोरोना के इस भयावह दौर में अस्पताल में अन्य दूसरे जनरल उपचार के लिए आने वाले लोगों को भी हर संभव सुविधा प्रदान करने के लिए आदेशित किया। स्थानीय पुलिस विभाग के जिम्मेदार को शहर में लॉक डाउन को और कड़ाई से लागू करने के लिए निर्देश दिए। साथ ही उन्हें पेट्रोलिंग को बढ़ाने सहित बेवजह घूमने फिरने वाले के खिलाफ कड़ी कार्यवाही करने की बात कही। मुख्य नगर पालिका अधिकारी भूपेंद्र उपाध्याय को नगर से मिल रही समस्याओं के बारे में अवगत कराते हुए स्थानीय प्रशासन की जिम्मेदारियों का सही ढंग से निर्वहन करने के निर्देश दिये और लॉकडाउन के बाद मास्क ना लगाने वाले ग्राहक, आम नागरिक व व्यापारी के खिलाफ चालानी कार्रवाई प्रारंभ करने का निर्देश दिए। 

इस दौरान विधायक श्री साहू के साथ पालिका अध्यक्ष धनराज मध्यानी, पूर्व नपा उपाध्यक्ष जीत सिंह, किराना व्यापारी संघ के अध्यक्ष श्याम आठवानी, विधायक प्रतिनिधि रामा यादव, पार्षद व सभापति अनूप खरे, अजय साहू, मंगराज सोनकर, हेमंत साहनी, पार्षद प्रतिनिधि अर्जुन लोकिन साहू, फागुराम रुमेश्वरी देवांगन, एल्डरमेन शाहिद रजा, राजा चावला, राकेश सोनकर आदि उपस्थित थे।

 


25-Sep-2020 3:08 PM

'छत्तीसगढ़' संवाददाता
राजिम, 25 सितंबर।
रायपुर, गरियाबंद और धमतरी जिलों के शहरी एवं ग्रामीण ईलाकों में लॉक डाउन का असर साफ देखने को मिल रहा है। लॉकडाउन पर प्रशासन की कड़ी नजर है, बेवजह इधर उधर घूमने वाले लोगों पर पुलिस प्रशासन सख्ती से पेश आ रही है। लॉकडाउन के तीसरे दिन सड़कें वीरान नजर आईं। शहर के प्रमुख चौक-चौराहों पर पुलिस के अधिकारी व जवानों की टीम नजर रखी हुई है। बेवजह घूमने-फिरने वालों को पुलिस की सख्ती भी झेलनी पड़ी। समझाइश के बाद लोगों को वापस करती रही।

ज्ञात हो कि बढ़ते कोरोना संक्रमण के चैन को तोडऩे के लिए रायपुर एवं धमतरी जिला में 21 की रात से एवं जिला गरियाबंद में 23 सितंबर की रात्रि 9 बजे से 30 सितंबर की रात्रि 12 बजे तक संपूर्ण जिले को कंटेंटमेंट जोन घोषित किया गया है और धारा 144 लगाई गई है। केवल अति आवश्यक कार्य के लिए ही बाहर निकलने की अनुमति दी जाएगी, बाकी अन्य लोगों पर कड़ी कार्रवाई की जाएगी। नवापारा औरा राजिम शहर तीन नदियों के साथ-साथ तीन जिलों का भी संगम होता है, लिहाजा तीनों दिशाओं के आने जाने वालों पर पुलिस की कड़ी नजर है। नवापारा के बेलाही पुल, पं. जवाहरलाल नेहरू पुल के दोनों ओर और चौबेबांधा पुल के पास पुलिस की टीम बैरिकेट्स लगाकर चेंकिग कर रही है। वहीं तीनों जिलों के पुलिस अधीक्षक ने अपने मातहतों को निर्देशित करते हुए कहा है कि लॉकडाउन का सख्ती से पालन कराया जाए। जिले की सभी सीमाओं को सील कर दिया गया है। जगह जगह पुलिसकर्मी तैनात है। पुलिस पेट्रोलिंग के माध्यम से भी लगातार निगरानी की जा रही है। 

गौरतलब है कि लॉकडाउन को गंभीरता से पालन करने के निर्देश आम लोगों को दिया गया है। कलेक्टर ने राजस्व और पुलिस विभाग को समन्वय कर लॉकडाउन पालन कराने के लिए निर्देशित किया है। वहीं आम नागरिकों से भी अपील की गई है कि लॉक डाउन का अनिवार्य रूप से पालन करें और कोरोना के बढ़ते संक्रमण के चैन को तोडऩे में अपनी सहभागिता निभाएं ।
 


24-Sep-2020 4:32 PM

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
राजिम, 24 सितंबर।
सामाजिक कार्यकर्ता एवं वरिष्ठ कवि भुनेश्वर साहू (85) के निधन पर शोक व्यक्त करते हुए त्रिवेणी संगम साहित्य समिति राजिम नवापारा के साहित्यकारों ने श्रद्धांजलि अर्पित किया है। स्व. भुनेश्वर साहू को याद करते हुए समिति के अध्यक्ष मकसूदन साहू ने कहा कि स्व. साहू के निधन से राजिम के सामाजिक एवं साहित्यिक जगत में एक रिक्तता आ गई है, जिसे भर पाना सम्भव नहीं है। समिति के उपाध्यक्ष कवि किशोर कुमार निर्मलकर ने कहा कि साहू जी एक मंझे हुए कवि थे। उनकी ओजमयी कविता सुनकर सभाओं में रौनक बढ़ जाता था। कवि श्रवण कुमार साहू 'प्रखरÓ ने कहा कि साहू जी माँ राजिम के सच्चे सपूत थे। अपने जीवनकाल में अनेक सामाजिक दायित्वों का निर्वहन करते हुए माँ राजिम की गाथा को अपनी रचना के माध्यम से जन-जन पहुंचाने में आपका योगदान हमेशा याद रखा जायेगा। समिति के सचिव संतोष कुमार साहू प्रकृति ने अपनी श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए कहा कि साहू जी ने त्रिवेणी संगम साहित्य समिति के अनेक कार्यक्रम में शिरकत करके समिति का मान बढ़ाते थे और नवोदित साहित्यकारों का मार्गदर्शन करते थे। इनके अलावा कवि मोहनलाल मानिकपन, दिनेश चौहान, डॉ रमेश सोनसायटी, रोहित माधुर्य, कोमल सिंह साहू, केंवरा यदु, भारत लाल साहू, छग्गू यास अड़ील, थानुराम राम निषाद, रामेश्वर रंगीला, डॉ मोतीलाल साहू रविन्द्र साहू आदि ने दुख व्यक्त करते हुए उनके आत्मा की शांति हेतु ईश्वर से प्रार्थना की है।


24-Sep-2020 4:31 PM

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
नवापारा-राजिम, 24 सितंबर।
अखिल भारतीय तेली महासभा के प्रदेश अध्यक्ष संजय प्रकाश साव के आदेशानुसार प्रदेश स्तरीय ऑनलाइन मीटिंग का आयोजन बुधवार को रखा गया था। जिसमें प्रदेश स्तर के साथ-साथ जिला स्तर एवं ब्लॉक् स्तर के विभिन्न पदाधिकारी मीटिंग में भाग लिए। डेढ़ घंटे चले इस मीटिंग में सामाजिक संगठन को मजबूती प्रदान करने के साथ-साथ समाज के गरीब आमजन को सहयोग प्रदान करने लोगों की सेवा भाव आदि विभिन्न विषय पर चर्चा की गई। 

इस अवसर पर प्रदेश महामंत्री तिलक साहू, महिला प्रकोष्ठ प्रदेश महामंत्री हेमलता साहू, युवा प्रकोष्ट के प्रदेश अध्यक्ष दिलीप साहू अधिवक्ता, युवा प्रदेश उपाध्यक्ष यश साहू, युवा प्रदेश महामंत्री राकी साहू, महिला प्रकोष्ठ बिलासपुर जिला अध्यक्ष शारदा साहू, उपाध्यक्ष पार्वती साहू, नगर अध्यक्ष बिलासपुर सरोज साहू, युवा प्रकोष्ठ जिला उपाध्यक्ष डॉक्टर सतीश साव, मुंगेली जिलाध्यक्ष गीतेश साहू, मुंगेली युवा जिला उपाध्यक्ष पुष्प राज साहू, बिलासपुर युवा प्रकोष्ठ जिला उपाध्यक्ष सुरेश साहू सहित विभिन्न पदाधिकारी शामिल हुए।
 


24-Sep-2020 4:30 PM

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
राजिम, 24 सितंबर।
गरियाबंद सामाजिक कार्यकर्ता रूपसिंग साहू ने लॉकडाउन को सफल बनाने के लिए जनता से अपील करते हुए कहा कि लॉकडाउन को लेकर जनता अपनी जिम्मेदारी को समझना होगा। यह तभी सफल हो सकते हैं जब वह सहयोग करें। श्री साहू ने कोरोना के चक्र ध्वस्त करने के लिए कहा कि सिर्फ लॉकडाउन से ही नहीं बल्कि लॉकडाउन के बाद एडवाइजरी का पालन करें। कोरोना जंग में तैनात पुलिस जवान एवं स्वास्थ्य विभाग के डॉक्टर सहित पूरा विभाग बड़ी संख्या में कोरोना पॉजिटिव हुए हैं। जवानों एवं स्वास्थ्य विभाग में हौसला बनाए रखने के लिए उच्च अधिकारी तमाम प्रयास कर रहे हैं। साथ ही लोगों से भी सहयोग की अपील की जा रही है। जब तक आपातकालीन स्थिति ना हो घर से नहीं निकले। चौक चौराहे में बड़ी संख्या में पुलिस की तैनाती की गई है बेमतलब घूमते पाए जाने पर कार्यवाही होगी। अब लोगों को समझना होगा कि समाज के प्रति उनकी क्या जिम्मेदारी है क्योंकि कोरोना वायरस तेजी से लोगों को संक्रमित कर रहा है। ऐसे में अगर हम घर से बाहर जाते हैं, एडवाइजरी का पालन नहीं करते हैं तो अपने आप को खतरे में डालते ही नहीं बल्कि अपने परिवार समाज गांव को खतरे में डाल रहे हैं। इसलिए जनता से अपील है कि कोरोना वायरस से सावधानीपूर्वक उससे लडऩा है। शासन प्रशासन अपनी पूरी शक्ति के साथ कोरोना से लड़ाई लड़ रही है लोगों की सहभागिता की जंग में महत्वपूर्ण अपने घर में रह रहे सुरक्षित रहे और अपनी जिम्मेदारी समझे अकेले शासन प्रशासन और लॉक डाउन के भरोसे कोरोना समाप्त नहीं होगा। इधर राज्य में कोरोना संक्रमण से निपटने के लिए लोगों को इलाज की सुविधा उपलब्ध कराने से लेकर संक्रमण के प्रति जागरूक करने के तमाम सरकारी प्रयासों का नेतृत्व कर रहे। इस कठिन अवसर पर एक बार फिर प्रदेश की जनता के समक्ष अपनी बात रखी। श्री साहू ने कहा कि राज्य में संक्रमण के फैलाव को देखते हुए इस बात की आवश्यकता है कि कम से कम न्यूनतम व्यवहारिक आवश्यकता को अपनाएं। जैसे हाथ को बार-बार सैनिटाइज करें, चेहरे पर मास्क लगाएं और भीड़ जगहों पर जाने से बचते हुए सामाजिक दूरी बनाए रखें। अब हमें हमें यह मान लेना चाहिए कि कोरोना या कोविड-19 अब हमारे जीवन का हिस्सा बन गया है। 
 


24-Sep-2020 4:29 PM

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
राजिम, 24 सितंबर।
केंद्र सरकार द्वारा पारित किए गए कृषि विधेयकों के खिलाफ  अखिल भारतीय किसान संघर्ष समन्वय समिति के देशव्यापी प्रतिरोध दिवस के आह्वान पर 25 सितंबर को छत्तीसगढ़ के किसान सड़कों पर उतर कर विरोध करेंगे। प्रदेश के किसान, मजदूर और आदिवासी संगठनों के मुखियाओं ने ऑनलाइन बैठक कर निर्णय लिया है कि केंद्र की मोदी सरकार द्वारा कृषि को कॉरपोरेट घरानों को सौंपने के लिए लाए गए अध्यादेशों का विरोध किया जाएगा। मोदी सरकार ने कृषि उपज वाणिज्य और व्यापार ( संवर्धन और सुविधा), मूल्य आश्वासन एवं कृषि समझौता और आवश्यक वस्तु अधिनियम (संशोधन) अध्यादेश को लोकसभा में अपने पूर्ण बहुमत का फायदा उठाते हुए तथा राज्यसभा में विपक्षी दलों के विरोध को दबाते हुए बिना मत विभाजन के गैर लोकतांत्रिक तरीके से विधेयक के रूप में पारित करा लिया। 

तेजराम विद्रोही ने बताया कि कृषि विधेयक का अध्यादेश लाने के समय से ही देश के किसान विरोध कर रहे हैं। हरियाणा व पंजाब के किसान व्यापक पैमाने पर सड़क पर विरोध करते रहे फिर भी सरकार अपना दमनात्मक व अडिय़ल रवैया अपनाते हुए किसान हितैषी होने का भ्रामक प्रचार कर रहा है। किसान समझ चुके हैं कि यह विधेयक किसानों व कृषि के लिए कब्रगाह के अलावा कुछ दूसरा नहीं है इसलिए इस अध्यादेश का छत्तीसगढ़ के किसानों ने विरोध करने का निर्णय लिया है। लॉकडाउन के चलते किसान अपने गांवों से शहरों को जोडऩे वाले सड़कों पर निकलेंगे, तो कहीं जिला, ब्लॉक, तहसील मुख्यालयों पर प्रदर्शन करेंगे।

बैठक में अखिल भारतीय क्रांतिकारी किसान सभा, छत्तीसगढ़ बचाव आंदोलन, छत्तीसगढ़ किसान सभा, हसदेव अरण्य बचाव आंदोलन, आदिवासी एकता महासभा, किसान पंचायत, किसान संघ, अखिल भारतीय किसान खेत मजदूर संघ आदि संगठनों से कॉमरेड बादल सरोज, मदन लाल साहू, नंदकुमार कश्यप, ठाकुर रामगुलाम सिंह, संजय पराते, तेजराम विद्रोही, आलोक शुक्ला, पारस नाथ साहू, सुरेन्द्र लाल सिंह, विजय पटेल, आयोध्या प्रसाद, राकेश सिंह, प्रशांत झा, रामलाल, चंद्रशेखर आदि शामिल हुए।
 


24-Sep-2020 3:59 PM

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
गरियाबंद, 24 सितंबर।
जनपद पंचायत गरियाबन्द के ग्राम पंचायत कसेरू में आज ग्राम स्वास्थ्य, पोषण समिति एवं पंचायत की समुचित सहभागिता से कोरोना बचाव की समुचित व्यवस्था मास्क एवं सेनेटाइजर का उपयोग करते हुए पंचायत की किशोरी बालिकाओं को किशोरावस्था में होने वाली शारिरिक बदलाव, रोगों और उनके दूरगामी परिणाम को उनकी माताओं को इसके बारे में अवगत कराया गया  और पंचायत द्वारा किशोरियों को सेनेटरी नेपकिन का वितरण किया गया। जिसमें ग्राम कसेरू और उनके आश्रित ग्राम कोसमी की महिलाएं और किशोरी बालिकाएं सम्मिलित हुई। 

ज्ञात हो कि आज से कृमि दिवस मनाया जा रहा है जिसमें घर-घर जाकर मितानिनों और एएनम द्वारा कृमि दवाई खिलाया जा रहा है। इसी क्रम में किशोरियों को कोरोना संक्रमण न फैले इसका पूरा प्रबंध कसेरू सरपंच ने करते हुए किशोरी बालिकाओं को सेनेटरी नेपकिन वितरण किया और इस कार्यक्रम में कोचवाय मितानिन संकुल समन्वयक उमा सिन्हा एवं एएनम आशा श्रीवास ने विभिन्न स्वास्थ्य संबन्धी जानकारी दी।

इस दौरान सरपंच धनेश्वरी दिवान एवं पंच कुमारी बाई, राधा बाई, आंगनबाड़ी कार्यकर्ता एवं मितानिन गीता सिन्हा, सोनबती, सुरुज, फेकन रमा दिवान, जितेंद्र कुमारी की मुख्य भूमिका रही।


23-Sep-2020 7:23 PM

गरियाबंद, 23 सितंबर। गरियाबंद जिले में कोरोना वायरस के प्रसार के रोकथाम हेतु कलेक्टर छतर सिंह डेहरे द्वारा संपूर्ण गरियाबंद जिले को कन्टेमेंट जोन घोषित करते हुए आज से 30 सितम्बर रात 12 बजे तक संपूर्ण लॉकडाउन का आदेश किया गया है। इसके साथ ही जिले की सभी सीमाओं को सील कर दिया गया है। केवल मेडिकल दुकानों को निर्धारित समय पर खुलने की अनुमति होगी। 

दण्ड प्रक्रिया संहिता 1973 की धारा 144, आपदा प्रबंधन अधिनियम 2005 की धारा 30, 34 सहपठित ऐपिडेमिक एक्ट 1837 यथासंशोधित 2020 द्वारा प्रदत्त शक्तियों का प्रयोग करते हुए कलेक्टर एवं जिला दण्डाधिकारी छतर सिंह डेहरे द्वारा 21 सितम्बर को आदेश प्रसारित किया गया है। पूर्व में जारी आदेश को अधिनामित करते हुए दण्ड प्रक्रिया संहिता 1973 की धारा 144 सम्पूर्ण जिले में 23 सितम्बर रात्रि 9 बजे से 30 सितम्बर की रात्रि 12 बजे की अवधि हेतु लागू की गई है तथा गरियाबंद जिले अन्तर्गत सम्पूर्ण क्षेत्र को कन्टेनमेंट जोन घोषित किया गया है। 

यह स्पष्ट किया गया है कि दुग्ध व्यवसाय हेतु कोई दुकान/पार्लर नही खोले जायेगें। 
केवल दुकान/ पार्लर के सामने फिजिकल डिस्टेंसिंग एवं मास्क संबंधी निर्देशों का पालन करते हुए उपरोक्त समयावधि में केवल दुग्ध विक्रय की अनुमति होगी। पैट शॉप/एक्वेरियम को केवल पशुओं को पशुचारा देने हेतु प्रात: 6 बजे से प्रात: 8 बजे तक एवं संध्या 5 बजे से 6 बजे तक शॉप खोलने की अनुमति होगी। एल.पी.जी. गैस सिलेन्डर की एजेसियों केवल टेलिफोनिक या ऑनलाईन ऑर्डर लेंगे तथा ग्राहकों को सिलेन्डरों की घर पहुंच सेवा उपलब्ध करायेंगे। इस आदेश का उल्लंघन करने वाले व्यक्ति/प्रतिष्ठानों पर विधि अनुसार कड़ी कार्रवाई की जायेगी। 
 


23-Sep-2020 7:23 PM

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
गरियाबंद, 23 सितंबर।
लॉकडाउन के पूर्व आम जनमानस को कम से कम दिक्कतों का सामना करना पड़े इसके लिए क्षेत्र के जिला पंचायत सदस्य व राजिम कोऑपरेटिव सोसायटी अध्यक्ष चंद्रशेखर साहू ने अपने निर्वाचन क्षेत्र के राजिम,बेलटुकरी,सिंधौरी,किरवई में संचालित सहकारी उचित मूल्य दुकानों का औचक निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान चंद्रशेखर साहू ने उचित मूल्य दुकानों में मौजूदा खाद्यान्नों की स्थिति,वितरण व्यवस्था, गुणवत्ता और मात्रा पर विशेष निगरानी रखी व स्टॉक मिलान भी किया । श्री साहू ने दुकान संचालक और हितग्राहियों से कोरोना के असर को देखते हुए सामुदायिक दूरियां,लागू पाबंदियों के दिशा-निर्देशों का पालन करने की अपील की।

चंद्रशेखर साहू ने राशन दुकान में वितरण हेतु आये चने में लगे कीड़े व गुणवत्ताहीन राशन को देखकर नाराजगी व्यक्त करते हुए कहा कि नागरिक आपूर्ति विभाग गरीब परिवार को राशन के नाम पर गुणवत्ताहीन व कीड़ेयुक्त चने का वितरण कर रही है यह किसी भी कीमत में स्वीकार्य नहीं होगा। उन्होंने राशन दुकानों में बेवजह भीड़ ना लगाते हुए धैर्य बनाए रखने की अपील की। उन्होंने कहा कि अधिक से अधिक अपने घरों में रहें। स्वास्थ्य निर्देशों का पालन और कोरोना सैनिकों का सम्मान करें।
 


23-Sep-2020 7:20 PM

राजिम, 23 सितंबर।  कृषि विधेयक के संबंध में पूर्व सांसद चंदूलाल साहू ने कहा कि केंद्र सरकार किसानों के हित के लिए प्रतिबद्घ है। किसानों को उपज का उचित भाव मिले तथा खेती आधुनिक एवं उन्नात हो इसके लिए लगातार प्रयासरत है। इसी के चलते संसद में तीन विधेयक पेश किया जो दोनों सदनों लोकसभा एवं राज्यसभा में पास भी हो गया। यह ऐतिहासिक कृषि सुधार बिल देश के किसानों और कृषि क्षेत्र के लिए महत्वपूर्ण है, इससे किसान बिचौलियों और तमाम अवरोधों से मुक्त होगा। उन्होंने आगे बताया कि किसान अपनी उपज कहीं भी कभी भी बेच सकेंगे जिससे उनका मुनाफा बढ़ेगा और अन्नादाता सशक्त होंगे। विपक्ष विरोध के लिए विरोध कर रहे हैं और किसानों को भ्रमित कर रहे हैं। इस बिल से मंडी व्यवस्था बंद हो जाएगी। सरकारी नियंत्रण समाप्त हो जाएगा एवं न्यूनतम निर्धारित मूल्य समाप्त हो जाएगी, जबकि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आश्वस्त कर चुके हैं। पूर्व सांसद साहू ने कहा कि सरकारी खरीद व्यवस्था कभी बंद नहीं होगी। किसी प्रकार से न्यूनतम समर्थन मूल्य प्रणाली खत्म नहीं होगी और न ही पूंजीपतियों का किसी प्रकार से दखल होगा। यह बिल क्रांतिकारी बिल होगा। पिछले 1973 में जो बिल बना था उसमें अभूतपूर्व सुधार हुआ है। अड़तिया प्रथा बंद होगा। विपक्ष इस बिल के बारे में सही अध्ययन नहीं किए हैं। आज किसान अपनी उपज को मंडी एरिया से बाहर जाकर किसी भी संस्था को या किसी भी स्थान में बेच सकेगा, जहां उसे ज्यादा मूल्य प्राप्त होगा।
 


23-Sep-2020 7:19 PM

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
नवापारा-राजिम, 23 सितंबर।
रायपुर कलेक्टर ने 21 सितंबर की रात 9 बजे से सम्पूर्ण रायपुर जिला को कंटेनमेंट जोन घोषित करते हुए पूर्ण लॉकडाउन के आदेश जारी किया है। जिसका व्यापक असर नवापारा शहर में भी देखने को मिला। केवल आवश्यक जरुरी सेवाओं को छोडक़र नगर की शेष दुकानें पूरी तरह से बंद रहीं। लॉकडाउन के पहले दिन मंगलवार को शहर के दोनों छोर की सभी दुकानें व गल्ली-मोहल्ले भी पूरी तरह से वीरान नजर आ रहे थे। लॉकडाउन के कड़े नियमों के भय के चलते और नवापारा पुलिस की गश्ती से लोग अपने घरों से बाहर नहीं निकले, जिससे नवापारा शहर का बंद पहले ही दिन सफल रहा। 

पुलिस एवं स्थानीय प्रशासन ने नगर के चारों ओर नाकेबंदी कर जबरदस्ती घूमने वालें लोगों को रोककर पूछताछ करते रहे। मुख्य नगर पालिकाधिकारी भूपेन्द्र उपाध्याय ने कहा कि कोरोना संक्रमण से बचने प्रशासन ने कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के साथ पुख्ता इंतजाम किया है। नगर प्रशासन ने लोगों से सख्ती से लॉकडाउन पालन करने की दशा में हर तरह के कदम उठाये हैं। जिसमें कोई भी नागरिक बेवजह फालतू नहीं घूम सकेगा। बेवजह घूमने पर उसे जेल भेजने की कार्यवाही भी की जा सकेगी। श्रीउपाध्याय ने कहा कि सभी नागरिक अपनी जागरूकता एवं आत्म नियंत्रण के माध्यम से अपनी जिम्मेदारी का निर्वहन करें। 

इधर स्थानीय पुलिस प्रशासन का अमला लॉकडाउन को सफल बनाने में लगातार जुटे रहे। वहीं जरुरी सेवाओं के नाम पर केवल दूध, दवाई, पेट्रोल पंप, गैस एजेंसी व अस्पताल खुले थे। पेट्रोल पंप में भी कड़ाई से नियमों का पालन किया जा रहा था और कलेक्टर द्वारा जारी गाइड लाइन के अनुसार केवल एंबुलेंस व आपात सेवा वाले वाहनों को ही पेट्रोल दिया जा रहा था। नगर के दोनों मुख्य मार्ग गंज रोड व सदर रोड पूरी तरह बंद के चलते वीरान थी। वहीं नगर के अन्य भीड़भाड़ वाले जगहों पर पुलिस की कड़ी निगरानी थी और स्थानीय पुलिस प्रसाशन लॉकडाउन को सफलता के साथ लागू करने में जुटे थे। 

एसआइ श्री मिश्रा ने कहा कि लॉकडाउन के नियमों को लागू कराने के लिए स्थानीय पुलिस पूरी तरह से अलर्ट है। नगर के बस स्टैंड स्थित दीनदयाल उपाध्याय चौक व पुल के समीप स्थानीय पुलिस बैरिकेटिंग कर बेवजह घूमने फिरने वालों के खिलाफ कार्रवाई भी कर रही है।

राजिम में 30 तक पूर्ण लॉकडाउन
गरियाबंद कलेक्टर छतरसिंह डेहरे के आदेश के बाद आज 23 सितंबर की रात्रि 9 बजे से 30 सितंबर की रात्रि 12 बजे तक गरियाबंद जिला में लॉकडाउन रहेगा। इसके लिए पुलिस अधीक्षक के निर्देशानुसार राजिम क्षेत्र के महत्वपूर्ण आने जाने वाले रास्ते जिसमें पंडित श्यामाचरण शुक्ला चौक नदी पुल, शिवाजी चौक, चौबेबांधा चौक, पथर्रा रोड में बेरीकेट्स लगाकर पुलिस के जवान तैनात किए गए हैं। 

अनावश्यक आने जाने वाले व्यक्तियों के विरुद्ध आवश्यक कार्यवाही की जाएगी। इस संबंध में अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक, उप पुलिस अधीक्षक गरियाबंद, थाना प्रभारी राजिम के साथ अवलोकन कर कठोर कार्यवाही करने का आवश्यक निर्देश दिया गया है।
 


23-Sep-2020 7:18 PM

गरियाबंद, 23 सितंबर। बीते दिनों केंद्र सरकार द्वारा लाये गये कृषि विधेयक पर प्रतिक्रिया देते हुए कांग्रेस नेता गेंदलाल सिन्हा ने कहा कि केंद्र सरकार का यह बिल किसान विरोधी है। उन्होंने इसे गरीब छोटे किसानों को पूंजीपतियों का गुलाम बनाने वाला बिल कहा। उन्होंने कहा कि केंद्र की मोदी सरकार किसानों की हितैषी है तो डीजल के दाम क्यों कम नहीं कर रही हैं? जबकि हमारे पड़ोसी देशों में भारत से कम दर पर डीजल बेचा जा रहा है। केंद्र की भाजपा सरकार वाकई में किसानों को उनकी मेहनत का वाजिब दाम दिलवाना चाहती है तो बिल में एमएससी दर पर किसानों की फसलों को खरीदने का प्रावधान करें, अगर कोई व्यापारी एमएससी दर से कम पर खरीदता है तो उस व्यापारी पर सजा का प्रावधान होना चाहिए।

केंद्र की मोदी सरकार किसानों की आय को दोगुनी करने का वादा करके सत्ता में आई थी, किसानों की आय दोगुनी नहीं तो कम से कम समर्थन मूल्य पर ही किसानों की फसलों का दाम देने वाला ही बिल पास कर दे। लेकिन मोदी सरकार ऐसा नहीं करेंगी, क्योंकि ये भाजपा सरकार किसानों की नहीं पूंजीपतियों की सरकार हैं। यह बिल पूंजीपतियों को लाभ पहुंचाने के लिए बनाया गया है। किसान के लिए नहीं हैं।भाजपा के सबसे पुराने घटक दल अकाली दल ने किसान विरोधी इस बिल के विरोध में हरसिमरत कौर बादल ने मोदी कैबिनेट से इस्तीफ़ा दे दिया है, और बिल के विरोध में किसानों के साथ अकाली दल खड़ा हुआ है, इससे अंदाजा लगाया जा सकता है कि ये बिल किस तरह से किसान विरोधी हैं? किसानों को उनकी ही ज़मीन पर मज़दूर बनाने और  कालाबाज़ारी को बढ़ावा देना वाला है। 

बिल को कानूनी मान्यता मिलने के बाद एक तरह से जमाख़ोरी को वैधता मिल जाएगी। 


23-Sep-2020 7:15 PM

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
राजिम, 23 सितंबर।
एनएचएम प्रदेश नेतृत्व के आह्वान पर नियमितीकरण की मांग को लेकर फिंगेश्वर और राजिम ब्लॉक के 2 सौ संविदा स्वास्थ्य कर्मचारी मंगलवार को चौथे दिन भी सीएचसी में नारेबाजी कर अनिश्चितकालीन हड़ताल पर डटे रहे। इस दौरान सरकार द्वारा 50 कर्मचारियों की बर्खास्तगी की निंदा करते हुए प्रदेश के 13 हजार कर्मचारियों ने सामूहिक त्याग पत्र देने की पेशकश की है। 

इस अवसर पर एनएचएम संघ के बीपीएम सौरभ विरमानी ने आंदोलनकारियों को संबोधित करते हुए कहा कि आंदोलन के हर कदम पर सामने खड़ा होकर हम साथ देंगे। ज्ञात हो कि कांग्रेस सरकार ने चुनावी जन घोषणा पत्र में प्रदेश के सभी अनियमित कर्मचारियों को नियमित करने का वायदा किया था। सरकार बनने के करीब 2 साल बाद भी नियमितीकरण की कोई प्रक्रिया तक शुरू नहीं की हैं, जिसे लेकर रोष है। एनएचएम में कार्यरत प्रदेश के 13 हजार एवं गरियाबंद जिले से दो सौ कर्मियों की हड़ताल से प्रदेश की स्वास्थ्य सेवाएं बुरी तरह ठप हो गई हैं। प्राइवेट हॉस्पिटल का खर्चा वहन ना कर सकने वाली आम जनता इससे सबसे ज्यादा प्रभावित हो रही है। खासकर पीएचसी, सीएचसी के कोविड सेंटर्स, जहां पर संविदा कर्मियों का पूरा अमला तैनात है। यहां कोरोना रोगी का चिह्नांकन करना, उनके सैंपल एकत्र करना, मैनेजमेंट सर्विलांस कार्य, अस्पताल हस्तांतरण या स्थानांतरण करवाना, कंटेनमेंट जोन के साथ-साथ ओपीडी, आईपीडी की सेवाएं बुरी तरह से चरमरा गई हैं। 

हड़ताल में एनएचएम कर्मचारी संघ फिंगेश्वर ब्लॉक इकाई से डॉ. शिल्पा हरिमानी, डॉ. देवेंद्र बंजारे, डॉ. स्वाति मिश्रा, मदन मिश्रा, संतोष साहू, गोविंद यादव, घनश्याम साहू, डिगेश्वरी साहू, हेमंत ठाकुर, धरम साहू, धनेश्वरी साहू, रवि विश्वकर्मा, चंचल गोस्वामी, विजय लक्ष्मी टंडन, सुरेश निषाद, पूर्णिमा गजेंद्र, पूनम सोनी, डॉ. मनोज कुमार, चंचल गोस्वामी सहित सभी कर्मचारी शामिल रहे।

 


21-Sep-2020 6:22 PM

राजिम, 21 सितंबर। राजिम विधायक अमितेश शुक्ला के प्रयासों से किरवई रोड से निर्माणाधीन हाई स्कूल भवन तक मुख्यमंत्री ग्राम सड़क योजना के तहत सड़क निर्माण के लिए 20 लाख रुपये की स्वीकृति मिली है। इस पर बेलटुकरी सरपंच भावना प्रकाश देवांगन ने हर्ष व्यक्त किया है। श्रीमती देवांगन बताया कि विधायक अमितेश शुक्ला बेलटुकरी के विकास के लिए हर संभव मदद करने की बात कहते हुए उन्होंने स्कूली छात्र-छात्राओं को समस्या से न जूझना पड़े इसलिए सड़क निर्माण की शीघ्र स्वीकृति दिलाई है। इससे ग्रामीणों में हर्ष का माहौल है तथा शुक्ला के प्रति आभार व्यक्त किया है। भावना ने कहा कि कोरोना काल के बावजूद ग्राम पंचायत में विकास के काम लगातार हो रहे हैं तथा विकास की गति निरंतर जारी रहेगी।

 


21-Sep-2020 6:21 PM

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
राजिम, 21 सितंबर।
शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय बिजली के प्राचार्य एवं समस्त शिक्षकों को कोरोना काल में पढ़ई तुंहर दुआर योजना के तहत स्कूली छात्र छात्राओं को शिक्षा से सतत् जोडऩे व ऑनलाइन क्लास लेने के कारण स्कूल शिक्षा विभाग छत्तीसगढ़ शासन द्वारा प्रशस्ति पत्र प्रदान किया गया है। संस्था के प्राचार्य पूरन लाल साहू ने बताया कि शासन के मंशा अनुरूप विद्यार्थियों के घर-घर जाकर पुस्तक वितरण करते हुए सभी छात्र-छात्राओं से मोबाइल नंबर लेकर लिंक से जोड़ते हुए पढऩे के लिए प्रेरित किए। संस्था के व्याख्याता विनय कुमार साहू द्वारा गणित विषय के सर्वाधिक 75 ऑनलाइन क्लास लिए जिसमे 952 विद्यार्थी शामिल हुए। इनके साथ-साथ वे विकासखण्ड स्तरीय टेक्निकल टीम के रूप में भी कार्य किया। वहीं शाला के प्राचार्य पूरन लाल साहू द्वारा राजनीति शास्त्र, संस्कृत, दिनेश कुमार साहू हिन्दी, रेखा सोनी अंग्रेजी, गीतांजली नेताम भूगोल, अर्थशास्त्र, संतोषी गिलहरे विज्ञान एवं शशि ठाकुर द्वारा हिन्दी व सामाजिक विज्ञान का ऑनलाइन क्लास ले रहे हैं।


21-Sep-2020 6:20 PM

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
नवापारा-राजिम, 21 सितंबर।
रविवार को सेठ फूलचंद अग्रवाल स्मृति महाविद्यालय के राष्ट्रीय सेवा योजना, रेडक्रॉस एवं शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय राष्ट्रीय सेवा योजना पोंड़ के संयुक्त तत्वावधान में फिट इंडिया व स्वास्थ्य जागरूकता का आयोजन कोविड 19 के नियमों का पालन करते हुए किया गया। कार्यक्रम के प्रथम चरण में स्वयंसेवक व ग्रामीण युवाओं को प्रो. लोमश साहू योगाचार्य के निर्देश में अनुलोम-विलोम, प्राणायाम, तारासन, बज्रासन, सूर्य नमस्कार व अनेक विधा से योगाभ्यास कराया। साथ ही ग्रामीण छात्राओं की 200 मीटर की दौड़ का आयोजन किया गया। जिसमें मुस्कान गिलहरे प्रथम, राधिका वर्मा व्दितीय स्थान पर रही। जिन्हें उचित उपहार से सम्मानित किया गया। इस अवसर पर ग्राम सरपंच ओमप्रकाश साहू ने अपने विचार रखते हुए कहा कि जीवन में अपने स्वास्थ्य को स्वस्थ, निरोग रखना हो तो प्रतिदिन कम से कम 40 मिनट कसरत तथा योग करें। लम्बे समय तक जीना है तो प्रकृति के नियमों के साथ जीना सीखो। 

वहीं कार्यक्रम के दूसरे चरण में स्वयंसेवकों ने ग्राम पोंड़ के चौक चौराहों पर कोरोना के अनेक स्लोगन दीवारों पर लिखकर कोरोना महामारी से बचने के लिए जागरूकता लाने का प्रयास किये। कार्यक्रम संयोजक डॅा. आरके रजक ने स्वयंसेवकों को निर्देशित किया कि घर-घर दस्तक देकर स्वच्छता, सफाई, कोरोना महामारी से बचने के उपाय का संदेश ग्रामजनों को दें। उन्होंने लोगों को समझाईश देते हुए कहा कि प्रकृति के गोद में अनेक औषधि जैसे गिलोय जो आज कोरोना महामारी के लिए कारगर साबित हो रहा है, मधुमेह, ब्लड प्रेशर, बुखार, मलेरिया आदि में केवल इसके तने के रस का सेवन करने से ही स्वास्थ्य लाभ मिल रहा हैं। जहां चिकित्सक विफल हो जाते हैं वहां आयुर्वेदिक उपचार कारगर साबित हो रहा है। 

स्वयंसेवकों ने अलग-अलग टोली में बंटकर ग्राम के सभी वर्गों को इस महामारी से बचने के लिए जड़ी-बूटी का काढ़ा, गरम पानी, ताजा भोजन का ही सेवन करने, सड़े-गले पदार्थों को नष्ट करने सहित सोशल डिस्टेंस, मास्क, सेनेटाइजर करने के लिए प्रेरित किया। उल्लेखनीय है कि राज्य संपर्क अधिकारी डॉ. समरेन्द्र सिंह, पं. रविशंकर विश्वविद्यालय समन्वयक डॉ. नीता वाजपेयी, जिला संगठक डॉ. ज्ञानेन्द्र शुक्ला के दिशानिर्देशों का पालन करते हुए समय-समय पर महाविद्यालय के कोरोना योध्दा ग्राम, शहर व मुहल्ले में अपने स्तर पर लोगों को जागरूक कर रहे हैं। 

इस जागरूकता अभियान में महाविद्यालय व विद्यालय के 52 स्वयंसेवकों ने हिस्सा लिया। जिसमें प्रमुख रूप से प्रियंका साहू, काजल साहू, हुमेश्वरी साहू, मीना साहू, तुकेशकुमार, ज्ञानेश्वर, जितेन्द्र मन्नाडे, सोनू बंजारे, तोरणलाल सोनवानी, नेमीचंद साहू, गंगा साहू, भुनेश्वरी साहू, धनेश्वरी डहरे, तारणी बारले, ग्राम उपसरपंच ललितकुमार मन्नाडे व वरिष्ठ स्वयंसेवकों की उपस्थिति रही। कार्यक्रम के सफल आयोजन के लिए ग्राम सरपंच ओमप्रकाश साहू, उपसरपंच ललितकुमार मन्नाडे, कार्यक्रम संयोजक डॉ. आरके रजक, कार्यक्रम अधिकारी नेमीचंद साहू, प्रो. लोमशकुमार साहू, अविनाश शर्मा, चितरंजन साहू, विकास साहू, लक्ष्मीनारायण साहू की भूमिका रही। 


20-Sep-2020 8:04 PM

जनप्रतिनिधियों ने की प्रतिबंध लगाने की मांग

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

नवापारा राजिम, 20 सितंबर। नगर के गंज रोड से रेत भरी हाइवा के तेज रफ्तार के चलते कांग्रेस और भाजपा के नेता आक्रोशित हंै। उन्होंने प्रशासन और पुलिस का ध्यान आकर्षित करते हुए ज्ञापन सौंपकर कार्रवाई की मांग की है।

 जनप्रतिनिधियों का कहना है कि गोबरा नवापारा नगर मुख्य मार्ग से इन दिनों बड़ी संख्या में हाइवा जैसी भारी वाहन चल रही हैं। जिस पर रोक लगाने के लिए नगर पालिका के पूर्व अध्यक्ष विजय गोयल, पूर्व उपाध्यक्ष दयालुराम गाड़ा, जिला कांग्रेस कमेटी के उपाध्यक्ष रतीराम साहू, वरिष्ठ भाजपा नेता बलदेव सिंग हुंदल, पार्षद मंगराज सोनकर, चुम्मन कंडरा सहित स्थानीय नागरिकों ने प्रशासन, पुलिस थाना, उपतहसील कार्यालय से मांग की है। इस संबंध में रतीराम साहू ने कहा कि गंज रोड, सोमवारी बाजार मार्ग में भारी भरकम वाहनों के आवागमन पर प्रतिबंध था, लेकिन वर्तमान समय में प्रशासन की उदासीनता के चलते पुन: भारी वाहनों का आवागमन समय सीमा का परवाह न कर तेज गति से होने लगा है, जिससे दुर्घटनाओं की भी आशंका बनी रहती है।

 वरिष्ठ भाजपा नेता बलदेव सिंग हुंदल ने रेतभरी भारी वाहनों पर अंकुश लगाने की मांग करते हुए कहा कि नवापारा प्रवेश द्वार से लेकर अंतिम छोर तक भारी व्यस्ततम मार्ग है। यहां छोटे-छोटे ठेले-खोमचे फुटपाती व्यवसायी के अलावा बड़े-बड़े प्रतिष्ठान स्थापित है। ऐसे व्यस्त मार्ग से रेत से भरी हाईवा दिन-भर दौड़ रही है, जो न्याय संगत बात नहीं है। इस पर तुरंत रोक लगनी चाहिए।

पूर्व पालिकाध्यक्ष विजय गोयल ने मुख्य नगर पालिकाधिकारी को पत्र लिखकर सूचित किया है कि भारी-भरकम रेत भरी हाइवा शहर के बीच से निकलने लगी है इससे अभी मंडी रोड में नए बने गौरवपथ के क्षतिग्रस्त होने का अंदेशा है। इस पर तत्काल प्रतिबंध लगाना चाहिए। चूंकि यह शहरी इलाका है, पूरा मार्केट गंज रोड पर बसा हुआ है, पूरा दिन बल्कि रात में भी चहल-पहल बनी रहती है, कभी भी दुर्घटना होने से इंकार नहीं किया जा सकता।

उन्होंने बताया कि सोमवारी बाजार के अलावा इस मार्ग पर स्टेट बैंक, यूनियन बैंक, कृषि उपज मंडी, निजी अस्पताल, सरकारी अस्पताल, कपड़ा दुकान, हार्डवेयर दुकान, मेडिकल स्टोर्स, किराना दुकान, होटल, फ ल के ठेले, सब्जी पसरा, स्कूल, पेट्रोल पंप, कृषि दवाईयों की दुकानें, मंदिरें एवं  चौक-चौराहे हंै। जहां लोगों का आना जाना व वातावरण भीड़ भरा रहता है। गोयल ने कहा कि स्थानीय प्रशासन यदि यह कहकर अपना पल्ला झाड़ती है कि ये मामला राजस्व विभाग का है तो बहुत ही दुर्भाग्यपूर्ण बयान है। उन्होंने पालिका परिषद, पालिका प्रशासन से निवेदन किया है कि नगर के गौरव पथ को बचाने के लिए उक्त विषय को तत्काल संज्ञान में लेते हुए भारी वाहन खासकर रेत गाडिय़ों को पुन: प्रतिबंधित करें। गोयल ने पत्र की प्रतिलिपि तहसीलदार एवं थानेदार को भी भेजी है।

गोयल ने अपने पत्र में लिखा है कि यदि इस मार्ग पर भारी-भरकम हाइवा चलते रहा तो पन्द्रह साल पहले वाली गंज रोड अपने वास्तविक रूप में फिर आ जाएगी। गोयल ने पत्र में लिखा है कि गंज रोड पर लोक निर्माण विभाग के अन्तर्गत आता है, जिसका निर्माण विभाग से अनापत्ति प्रमाण पत्र लेकर कार्य किया था। परिषद ने उक्त मार्ग को पालिका के अधीन करने लोक निर्माण विभाग से पत्राचार भी किया था, ताकि पालिका अपने हिसाब से गौरव पथ का मेंटेनेंस कर सके।


20-Sep-2020 8:02 PM

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

गरियाबंद, 20 सितंबर। एनएचएम के हड़तालरत अधिकारी-कर्मचारियों को कलेक्टर ने 24 घंटे के भीतर ड्यूटी पर लौटने नोटिस जारी किया है। अन्यथा अधिकारी-कर्मचारियों के विरुद्ध कड़ी अनुशासनात्मक दण्डात्मक कार्रवाई की जाएगी।

 कलेक्टर ने जारी नोटिस में  कहा है कि, एस्मा भी लागू है। अधिनियम की कंडिका 5 का उल्लंघन किए जाने की स्थित में दण्डात्मक कार्यवाही का प्रावधान है। छत्तीसगढ़ अत्यावश्क सेवा संधारण तथा विक्षिन्ता निवारण अधिनियम 1979 के प्रावधान के तहत कार्रवाई की जाएगी। आपदा प्रबंधन अधिनियम 2005 की धारा 51 एवं 56 में उल्लेखित प्रावधानों के तहत  के लिए प्रस्ताव प्रेषित किया जाएगा। छत्तीसगढ़ एपिडेमिक डिसीज कोविड-1 रेगुलेशन्स 2020 में उल्लेखित प्रावधानों के तहत कार्यवाही और राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के अन्तर्गत नियुक्ति एवं सेवा शर्तों में उल्लेखित कंडिकाओं के उल्लंघन करने के कारण अनुशासनात्मक कार्यवाही की जाएगी। 

जारी नोटिस में यह भी कहा गया है कि, 24 घण्टे की  अवधि के भीतरअपने कर्तव्य पर उपस्थित होकर सामान्य रूप से कार्य निष्पादन करें। वहीं सीएमएचओ ने सभी विकासखण्ड चिकित्सा अधिकारियों से हड़ताल में जाने वाले कर्मचारियों की सूची माँगी है।


Previous1234567Next