छत्तीसगढ़ » गरियाबंद

Previous123Next
Date : 22-Sep-2019

आरक्षण के बाद राजनीतिक सरगर्मी तेज सोशल मीडिया में सुगबुगाहट शुरू

लीलाराम साहू
नवापारा-राजिम, 22 सितंबर (छत्तीसगढ़)।
नगरीय निकाय चुनाव के आरक्षण की प्रक्रिया स्पष्ट होने के बाद राजनीतिक सरगर्मी तेज हो गई है। इस बार नगर पालिका चुनाव में पार्षद का चुनाव लडऩे वालों को भी नए गणित के चलते चुनाव लडऩा पड़ेगा, चूंकि परिसिमन पश्चात प्रत्येक वार्डों में समान मतदाताओं के अधार पर जनसंख्या बराबर किया गया है। जिसके चलते वोटर एक वार्ड से दूसरे वार्ड में चला गया है। आरक्षण निकलने के बाद वाट्सप, फेसबुक, यू ट्यूब जैसे सोशल मीडिया में अनेक नामों को लेकर सुगबुगाहट भी शुरू हो गई है, तो कहीं-कहीं कुछ नेताओं को बधाई भी देने लगे हैं। 

गोबरा नवापारा नगर पालिका अनारक्षित है, यानी महिला या पुरुष दोनों चुनाव लड़ सकते हैं। वहीं राजिम नगर पंचायत अनारक्षित महिला, फिंगेश्वर नगर पंचायत भी अनारक्षित हुआ है। वैसे आरक्षण के बाद राजनैतिक गलियारों में हलचल जरूर बढ़ गई है। राजिम जहां गरियाबंद जिले का सर्वाधिक महत्वपूर्ण नगर पंचायत है, वहीं गोबरा नवापारा रायपुर जिले का माना हुआ नगर पालिका है। इन दोनों पालिका में अपना वर्चस्व स्थापित करने भाजपा और कांग्रेस को इस बार काफी पसीना बहाना पड़ेगा। पिछले चुनाव पर गौर करें, तो राजिम नगर पंचायत में भाजपा और कांग्रेस प्रत्याशी को पराजय का मुंह देखना पड़ा था। दोनों पार्टी के उम्मीदवार को पवन सोनकर ने पराजित कर रिकॉर्ड बनाया था। गोबरा नवापारा नगर पालिका की बात करें, तो यहां भी भाजपा और कांग्रेस को मात देते हुए निर्दलीय प्रत्याशी विजय गोयल ने जीत हासिल की। 

नगर पंचायत राजिम को निकाय चुनाव में आरक्षण कोटा सामान्य महिला को मिला है। इसकी जानकारी मिलते ही पुरुष वर्गों में चुनावी मैदान में उतरने का उत्साह चकनाचूर हो गया। समीकरण बदलते ही वे अब पत्नियों को मैदान में उतारने की जुगत में लग गए हैं। राजिम में भाजपा यदि इस बार सोच-समझ कर जीतने योग्य और जनता को स्वीकार्य केन्डीडेट नहीं दिया, तो इस बार भी उन्हें पराजय का मुंह देखना पड़ेगा। यही बात कांग्रेस के लिए भी लागू होगी। 

यहां यह बता देना लाजिमी होगा कि कांग्रेस से टिकट उसे ही मिलेगा, जिसे यहां के विधायक अमितेष शुक्ल चाहेंगे। वहीं भाजपा में पूर्व सांसद चंदूलाल साहू एवं पूर्व विधायक संतोष उपाध्याय उम्मीदवार तय करेंगे। राजिम नगर पंचायत के लिए भाजपा से जो नाम सामने आया है, उनमें पूर्णिमा चंद्राकर, अनिता-पूरन यादव, छाया रही, रेखा सोनकर, पुष्पा गोस्वामी प्रमुख है, जबकि कांग्रेस से पद्मा दुबे, रोशनी गोस्वामी का नाम सामने आया है। वैसे नगर पंचायत राजिम के मतदाता लगातार दो बार निर्दलीय उम्मीदवार पर ही भरोसा करते हुए अध्यक्ष बनाए हैं, लेकिन उस समय भाजपा सत्ता में थी। इस बार बदले हुए परिवेश में कांग्रेस सत्ता में है। पिछले चुनाव में निर्दलीय तथा भाजपा दूसरे एवं कांग्रेस तीसरे स्थान पर थी। 

बाक्स...
गोबरा नवापारा नगर पालिका की बात करें, तो यहां सामान्य घोषित किया गया है। इस घोषणा होते ही दोनों प्रमुख राजनैतिक दलों के कार्यकर्ताओं सहित अनेक महत्वाकांक्षी लोगों के नाम सामने आने लगे हैं। समूचे अभनपुर विधानसभा के एक मात्र नगरपालिका क्षेत्र होने के कारण राजनैतिक दृष्टिकोण से अध्यक्ष पद के लिए अनेक दावेदार अपनी दावेदारी पेश करने के साथ लोगों से मेलजोल बढ़ाने के साथ सोशल नेटवर्क पर भी सक्रिय हो गए हैं। कांग्रेस से जिला उपाध्यक्ष रतिराम साहू, ब्लॉक कांग्रेस अध्यक्ष धनराज मध्यानी, पूर्व पालिका उपाध्यक्ष जीतसिंग, पूर्व नगर पालिका सभापति एवं मराठा समाज के अध्यक्ष संध्या राव, रमेश तिवारी, सुनील जैन जैसे अनेक चर्चित चेहरे भी दावेदारी पेश कर सकते हैं। ये सभी कार्यकर्ताओं के बीच लोकप्रिय भी हैं। 

इसी तरह भाजपा में भी अनेक दावेदार हैं। वर्तमान अध्यक्ष विजय गोयल, निर्दलीय अध्यक्ष रहते हुए भाजपा का दमन थामा लिया, लेकिन इस बार उन्होंने पार्टी को सर्वोपरि बताते हुए अध्यक्ष पद चुनाव के लिए गेंद पार्टी के पाले में डाल दी है। इस पार्टी से विजय गोयल के अलावा नगर पालिका उपाध्याक्ष एवं प्रदेश भाजपा कार्यसमिति अनुसूचित जाति मोर्चा के सदस्य दयालूराम गाड़ा, मंडल अध्यक्ष परदेशीराम साहू, अनिल जगवानी, प्रसन्न शर्मा, बॉबी चांवला जैसे अनेक नाम हैं, जो अपनी दावेदारी पेश कर सकते हैं। बहरहाल सामान्य सीट घोषित होने के बाद इस बार मुकाबला रोचक मना जा रहा है। 

 


Date : 22-Sep-2019

हाट बाजारों में मुख्यमंत्री हाट बाजार क्लिनिक योजना अंतर्गत स्वास्थ्य शिविर लगाकर 2342 मरीजों को लाभान्वित किया

छत्तीसगढ़ संवाददाता 
गरियाबंद, 22 सितंबर।
दूरस्थ वनांचल एवं जनजातीय क्षेत्रों में जनसामान्य तक चिकित्सा सेवायें पहुंचाने के लिए मुख्यमंत्री हाट-बाजार क्लिनिक योजना को गरियाबंद जिले में सभी 8 5 ग्रामीण हाट बाजारों में सफलतापूर्वक संचालित किया जा रहा है। 

अगस्त माह में हाट बाजारों में मुख्यमंत्री हाट बाजार क्लिनिक योजना अंतर्गत स्वास्थ्य शिविर लगाकर 2342 मरीजों को लाभान्वित किया गया है।2 अक्टूबर को इस योजना का जिला स्तरीय विधिवत उद्घाटन किया जाएगा। जिले के दूर-दराज क्षेत्रों के ग्रामीण जन अपनी रोजमर्रा की जरूरत के सामान खरीदने-बेचने इन साप्ताहिक हाट बाजारों में पहुचते है चुंकि दूरस्थ ग्रामीण पहुंच विहिन क्षेत्रों में अभी भी चिकित्सा सुविधाओं की पर्याप्त पहुंच नहीं है। इसी को ध्यान में रखते हुए मुख्यमंत्री हाट बाजार क्लिनिक योजना की शुरूआत की गयी ताकि ग्रामीण वहां सामानों की खरीदी-बिक्री के साथ अपने परिजनों का ईलाज भी करा सकें। 

मुख्यमंत्री हाट बाजार क्लिनिक योजना में प्राथमिक चिकित्सा व्यवस्था उपलब्ध कराई जा रही है जिसके अंतर्गत चिकित्सक दल हाट बाजार स्थल में ही निश्चित स्थल पर स्वास्थ्य शिविर लगाकर ग्रामीण मरीजों का मौसमी बुखार, दर्द, मलेरिया, पेचिस, दस्त, उल्टी, रक्त अल्पता, कमजोरी, ब्लड प्रेशर, मधुमेह, आदि बिमारीयों की जॉच, उपचार व चिकित्सकीय परार्मश के साथ ही टी.बी. एवं कैंसर के संभावित मरीजों का स्क्रीनिंग भी करते हैं।

कलेक्टर  श्याम धावड़े द्वारा समय सीमा की बैठक में समस्त जिला व विकासखंड स्तर के अधिकारियों को हाट बाजार क्लिनिक स्थल का निरिक्षण करने का निर्देश दिया गया है। जिससे हाट बाजारों में मरीजों की संख्या एवं प्रकार के अनुसार दवाईयों की पर्याप्त व्यवस्था की जा सके। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी एवं अन्य विभागीय अधिकारियों द्वारा भी जिले के हाट बाजार क्लिनिक का निरिक्षण किया जा रहा है।

 

 


Date : 21-Sep-2019

अस्पताल में गंदगी देख तहसीलदार ने की सफाई
छत्तीसगढ़ संवाददाता
मैनपुर, 21 सितंबर।
प्लास्टिक मुक्त परिकल्पना को साकार करने आज विकासखंड मैनपुर में तहसीलदार पी डी लकड़ा के नेतृत्व में साइकिल रैली निकाली गई। 
विभिन्न चौक चौराहों से होते हुए रैली अस्पताल पहुंची। जहां अस्पताल प्रांगण में कचरे का ढेर और गंदगी देख तहसीलदार लकड़ा ने झाडू लेकर तो बीएमओ कुलेश्वर नेगी ने फावड़ा लेकर श्रमदान की शुरुआत की। जिसके बाद अधिकारियों और युवा वर्ग ने भी उत्साह से श्रमदान में हाथ बटाया।
शनिवार नगर के विभिन्न चौक चौराहों से निकाली गई रैली में प्लास्टिक कैरी बैग के साथ प्लास्टिक का उपयोग नहीं करने का संदेश दिया गया। रैली में बड़ी संख्या में लोगों ने हिस्सा लिया। रैली अस्पताल पहुंचते ही अधिकारियों का अमला श्रमदान में जुट गया। इस मौके पर तहसीलदार लकड़ा ने जनता से प्लास्टिक उपयोग नहीं करने की अपील की।

 

 


Date : 21-Sep-2019

प्लास्टिक मुक्त छत्तीसगढ़ और गढ़बो नवा छत्तीसगढ़ के संकल्प को लेकर जिला मुख्यालय, जनपद और नगरीय निकायों में सायकल रैली का आयोजन 

छत्तीसगढ़ संवाददाता
गरियाबंद, 21 सितंबर।
प्लास्टिक मुक्त छत्तीसगढ़ और गढ़बो नवा छत्तीसगढ़ के संकल्प को लेकर जिला मुख्यालय, जनपद और नगरीय निकायों में सायकल रैली का आयोजन शनिवार को किया गया। 

रैली में कलेक्टर श्याम धावड़े, एसपी एम.आर. आहिरे, जिला पंचायत सीईओ आर.के. खुटे, नगर पालिका अध्यक्ष मिलेश्वरी साहू सहित जिले के आमजन, बुद्धिजीवी वर्ग, जनप्रतिनिधि, स्वयंसेवी संस्था एवं मीडिया के प्रतिनिधियों ने सायकल रैली में प्लास्टिक मुक्त छत्तीसगढ़ के निर्माण में उत्साह से भाग लिया। जिला मुख्यालय में रैली सुबह 7 बजे से प्रारंभ होकर नगर के मुख्य मार्ग से होते हुए सिविल लाईन, गौरव पथ, कन्या शाला, बाजार वार्ड, बजरंग चैक, तिरंगा चैक से गुजरते हुए जिला चिकित्सालय गरियाबंद में समाप्त हुई। समापन उपरांत प्लास्टिक के उपयोग को नहीं करने की शपथ लिया गया। तत्पश्चात् श्रमदान भी आयोजित किया गया। जिसमें कलेक्टर सहित अधिकारी-कर्मचारी और आम जनता ने जिला अस्पताल परिसर की सफाई की। कलेक्टर के नेतृत्व में जिला अस्पताल में तीसरी बार सामूहिक श्रमदान किया गया।

्रकलेक्टर श्याम धावड़े ने कहा कि प्लास्टिक का उपयोग पर्यावरण के लिए सबसे ज्यादा नुकसानदेय है। आज हमें प्लास्टिक के उपयोग पर लगाम लगाने की आवश्यकता है। हमें राष्ट्रीय हरित प्राधिकरण, फसल अपशिष्ट, बायो मेडिकल वेस्ट को लागू करने के लिए उपाय करना होगा। उन्होंने कहा कि राज्य को प्लास्टिक मुक्त बनाने की दिशा में गरियाबंद भी पीछे नहीं रहेगा। जिले की आबो हवा शुद्ध है, जिसे हमें शुद्ध ही रखना है। 

नगर पालिका अध्यक्ष मिलेश्वरी साहू ने कहा कि स्वच्छता हमारे जीवन का अभिन्न अंग है। स्वच्छता ही सेवा की भावना को लेकर सायकल रैली और श्रमदान चलाया गया। उसका समाज ने स्वागत किया है। उन्होंने बताया कि हमें अपने दैनिक जीवन में प्लास्टिक के उपयोग को कम करते हुए कागज या कपड़े के थैले का उपयोग करना आवश्यक हो गया है। 
 सायकल रैली और श्रमदान में नगर पालिका उपाध्यक्ष मुकेश दासवानी, पार्षद आसीफ मेमन,  रितिक सिन्हा, बीरू यादव,  प्रकाश रोहरा, विनय दासवानी, आशीष शर्मा, आशीर्वाद सेवा समिति के सदस्य हरीश ठक्कर, विकास पारख, भावेश सिन्हा, रिखी राम साहू, प्रकाश सोनी, मुख्य नगर पालिका अधिकारी राजेश्वरी पटेल, जिला कार्यालय के अधिाकरी एवं कर्मचारी मिशन क्लीन सिटी, पुलिस एवं स्कूली बच्चों ने भाग लिया। जिला मुख्यालय के अलावा सभी जनपद एवं नगरीय निकायों में कार्यक्रम आयोजित किया गया।


Date : 21-Sep-2019

मैनपुर-धुमाल में पीएम आवास समय पर पूरा नहीं, नियमानुसार होगी कार्रवाई- सीईओ

छत्तीसगढ़ संवाददाता
देवभोग, 21 सितंबर।
पंचायत कर्मी द्वारा ठेकेदारी पद्धति अपनाने से प्रधानमंत्री आवास हितग्राहियों को पक्के मकान नहीं मिल पाए हैं। पिछले ढाई साल में आवास बनकर तैयार नहीं हो पाया जबकि रोजगार सहायक द्वारा हितग्राहियों से पूरा पैसा लेकर आज कल में आवास में बचे हुए काम को पूर्ण करने की बात कहकर टाला जा रहा है। 

मामला मैनपुर ब्लाक अंतर्गत ग्राम पंचायत धुमाल का है। जहां वर्ष 2017 में गोमती, राजो  नागेश सहित अन्य हितग्राहियों को प्रधानमंत्री आवास स्वीकृत किया गया और हितग्राहियों ने पंचायत सहायक खिरसिंधु बघेल को आवास ठेका में दे दिया। साथ ही प्रथम किश्त सहित पूरी राशि निकाल कर रोजगार सहायक को दिया गया। बार-बार दबाव बनाने से किसी तरह लेटर ढलाई किया गया। लेकिन अभी तक प्रधानमंत्री आवास में प्लास्टर सहित छोटे-मोटे कार्य अपूर्ण हैं जबकि ढाई साल से अधिक का समय हो गया है। बावजूद इसके गरीब हितग्राहियों के प्रधानमंत्री आवास को पूर्ण करने कोई पहल नहीं की जा रही है।

पंचायत अधिनियम को ठेंगा
पंचायत अधिनियम के तहत किसी प्रकार की ठेकेदारी प्रथा पंचायत में नहीं हो सकती और ना ही पंचायत कर्मी को ठेका लेने का अधिकार है बावजूद इसके रोजगार सहायक ने प्रधानमंत्री आवास का ठेका लिया। 

कलेक्टर से करेंगे शिकायत
हितग्राहियों का कहना है कि रोजगार सहायक द्वारा समय सीमा के भीतर प्रधानमंत्री आवास पूर्ण नहीं किया गया तो सीधा जिलाधीश से शिकायत कर कार्रवाई की मांग करेंगे। क्योंकि सरपंच-सचिव से गुहार लगाकर थक-हार चुके हैं लेकिन आवास पूर्ण कराने के लिए कोई पहल नहीं हो रही है। ग्रामीण इब्राहिम का कहना है कि रोजगार सहायक द्वारा राशि निकाली गई एवं रोजगार सहायक के कहने पर ही ठेका में आवास निर्माण का कार्य दिया गया। फिर भी आवास निर्माण पूरा करने में वर्षों लगा दिया। 

नरसिंह ध्रुव सीईओ मैनपुर ने बताया कि मामले की पूरी जानकारी ली जाएगी और अगर ठेका पद्धति से कार्य हो रहा है और नहीं बनाया गया है तो बिल्कुल नियमानुसार कार्रवाई की जाएगी। 

खिरसिंधु सहायक ग्राम पंचायत धोबनमाल का कहना है कि मिस्त्री पैसा लेकर गायब हो गया इसलिए आवास  पूरा नहीं हो पा रहा है। मेरी जिम्मेदारी पर आवास दिया गया है और सिर्फ प्लास्टर का कार्य बचा हुआ है लेकिन अब वह पूरा हो रहा है।

 


Date : 21-Sep-2019

पुरातत्व विभाग राजिम भूतेश्वर मंदिर पहुंच कर मंदिर का अवलोकन किया, अतिशीघ्र मरम्मत का कार्य प्रारंभ कराया जाएगा

छत्तीसगढ़ संवाददाता 
राजिम, 21 सितंबर।
महानदी तट पर स्थित प्राचीन भूतेaश्वर नाथ मंदिर की अवस्था जीर्णशीर्ण हो चुकी है। बजंरग दल के तुषार कदम सहित कार्यकर्ताओं ने पूर्व विधायक संतोष उपाध्याय को मंदिर की बिगड़ती हालत से अवगत कराया। श्री उपाध्याय ने शीघ्र पुरातत्व विभाग को अवलोकन करने बुलाया। जिस पर संस्कृति एवं पुरातत्व विभाग के उप संचालक जे आर भगत राजिम पहुंच कर मंदिर का अवलोकन किया। वर्तमान में मंदिर की छत में दरार होने और दरार से काफी मात्रा में पानी रिसने की वजह से मंदिर की दीवारों को काफी नुकसान पहुंच रहा है। पूरे मंदिर के चारों तरफ  की दीवारों के कोनो में घास तथा पीपल, बरगद के पौधे उग आये हैं जिसके कारण दीवारों में दरारें आ गई हैं। श्री उपाध्याय ने उप संचालक से कहा कि तत्काल मंदिर की मरम्मत की जाए । पुरातत्व अधिकारी ने बताया कि अतिशीघ्र मरम्मत का कार्य प्रारंभ कराया जाएगा। इस दौरान आशीष शिंदे, पंडित ऋषि तिवारी, लोकेश पारकर, दीपक ठाकुर, मनोज ठाकुर, धीरज ठाकुर, मुकेश ठाकुर उपस्थित थे।

 


Date : 21-Sep-2019

युवा समाज सेवी ब्रम्हानंद साहू ने डोमा में सीसी रोड निर्माण हेतु भूमिपूजन किया 

नवापारा-राजिम, 21 सितंबर। ग्राम डोमा में सीसी रोड निर्माण हेतु शासन से 2 लाख रूपए की स्वीकृति मिली है। स्वीकृति मिलने पर सीसी रोड निर्माण का भूमि पूजन किया गया। इस अवसर पर युवा समाज सेवी ब्रम्हानंद साहू पंचगण दीनू, हेमलता, सावित्री साहू, अर्चना साहू, मोंगरा साहू, बुधयारिन साहू, उपेन्द्र साहू, राजाराम साहू, दीनानाथ साहू उपस्थित रहे। यह सीसी रोड 8 5 मीटर लंबा बनेगा।

 


Date : 20-Sep-2019

स्वच्छ भारत अभियान के तहत साफ सफाई के नाम पर लाखों रुपए की गड़बड़ी का आरोप सरपंच-सचिव पर ग्रामीणों द्वारा लगाया

छत्तीसगढ़ संवाददाता
देवभोग, 20 सितंबर।
ग्राम पंचायत धोबनमाल में स्वच्छ भारत अभियान के तहत साफ सफाई के नाम पर लाखों रुपए की गड़बड़ी का आरोप सरपंच-सचिव पर ग्रामीणों द्वारा लगाया जा रहा है।

 मामला मैनपुर ब्लाक अंतर्गत ग्राम पंचायत धोबनमाल का है जहां वर्ष 17-18   एवं 18  -19 में 15 लाख 50 हजार  के करीब 14 वित्त मद के तहत पंचायत का आबंटन किया गया। ताकि पंचायत के जरूरी कार्यों के साथ ही साफ सफाई किया जाए। 
ग्रामीणों ने आरोप लगाया कि सरपंच-सचिव द्वारा गांव में नाली निर्माण तो दूर की बात है साफ-सफाई तक नहीं करवाई जाती। जबकि पंचायत से सरपंच के घर तक का मार्ग पूरी तरह कीचड़ से लथपथ है। जिसमें वाहन का आना जाना तो दूर पैदल चलना भी मुश्किल है। जिसे लेकर कई बार मुरमीकरण की मांग रखी गई लेकिन आबंटन का टोटा बताकर कीचड़ से भरी सड़क को ऐसे ही छोड़ दिया गया है। सबसे खराब स्थिति भरूवामुड़ा तालाब की है। एक ही निस्तारि तालाब होने के कारण सैकड़ों महिला पुरुष इस तालाब पर निर्भर है। बावजूद इसके तालाब की सफाई नहीं की जाती। गंदे पानी की निस्तारि से ग्रामीणों को खुजली जैसे अन्य चर्म रोग का सामना करना पड़ता है।

बैठक में आय-व्यय की जानकारी नहीं 
ग्रामीणों का कहना है कि सरकार द्वारा पंचायत में मूलभूत 14वें वित्त सहित निर्माण कार्य की राशिका आबंटन किया जाता है। ग्रामीणों के बीच पारदर्शिता रखते हुए आय-व्यय की जानकारी दिया जाना अनिवार्य है लेकिन सरपंच सचिव द्वारा इसका बिल्कुल पालन नहीं किया जाता। सरपंच सचिव ना आय की जानकारी देते हैं और ना खर्च की राशि बताते हैं। ऐसे में सरकार की गाइडलाइन अनुसार राशि का उपयोग करना मुश्किल है।

शिकायत पर कार्रवाई नहीं 
पंचायत प्रतिनिधि और सचिव द्वारा मनमर्जी से शासकीय राशि खर्च करने और 14वें वित्त मद की राशि में गड़बड़ी करने को लेकर बीते वर्ष विभाग अधिकारियों से शिकायत कर जांच की मांग की गई थी। लेकिन ना जांच हुई और ना कार्रवाई। ऐसे में ग्रामीणों ने कलेक्टर से शिकायत कर उच्च स्तरीय जांच एवं कार्रवाई की मांग करने की बात कही है। 

निर्भय साहू एसडीएम ने बताया कि मामले की शिकायत अब तक नहीं हुई है लेकिन फिर भी जांच के लिए निर्देश देते हुए गांव में साफ-सफाई सहित जरूरत के अनुसार कार्य करने के लिए निर्देश दिया जाएगा।

इस संबंध में ग्राम पंचायत सचिव गौरी शंकर यादव से संपर्क करना चाहा मगर उनके द्वारा फोन रिसीव नहीं किया गया।


Date : 20-Sep-2019

गोंड़वाना काल के वीर योद्धा अमर शहीद शंकर शाह और कुंवर रघुनाथ शाह के शहादत दिवस पर समाज प्रमुखों जनप्रतिनिधियों व गणमान्य नागरिकों ने श्रद्धाजंली दी

छत्तीसगढ़ संवाददाता
मैनपुर, 20 सितंबर।  
गोंड़वाना काल के वीर योद्धा अमर शहीद शंकर शाह और कुंवर रघुनाथ शाह के शहादत दिवस पर कार्यक्रम आयोजित किया गया। महाराजा शंकर शाह और कुंवर रघुनाथ शाह के छात्राचित्र का समाज प्रमुखों जनप्रतिनिधियों व गणमान्य नागरिकों ने पूजा अर्चना कर श्रद्धा सुमन अर्पित कर श्रद्धाजंली दी गई।

मौके पर जिला पंचायत गरियाबंद सभापति लोकेश्वरी नेताम ने स्वतंत्रता सग्राम के दोनों बलिदानियों के बारे में विस्तार से बताते हुए कहा कि इन बलिदानियों ने अपने शौर्य एवं प्राणों की आहुति दी। आदिवासी समाज लगातार संगठित होकर विकास के पथ पर बढ़ रहा है। राजा शंकर शाह, रघुनाथ शाह जैसा कोई बलिदानी नहीं है। 

आदिवासी युवा नेता रामकृष्ण धु्रव ने कहा कि युवा पीढ़ी को इन बलिदानियों के इतिहास एवं उनके राष्ट्र प्रेम से जुड़ी जानकारियां अध्ययन काल से होनी चाहिए इसके लिए उन्हें पाठ्यक्रम में शामिल करने का प्रयास होना चाहिए। प्रमुख रूप से सरपंच मैनपुर कस्तुरा बाई नायक, महेन्द्र नेताम, बलदेव राज ठाकुर, रामकृष्ण ध्रुव, नोकेलाल ध्रुव, बालक राम ठाकुर, टीकम नागवंशी, शिशुपाल नायक, मोहन ध्रुव, गौकरण नागेशक्ष बलिहार ध्रुव आदि उपस्थित थे।

 


Date : 20-Sep-2019

वन भैंसा राजा को मुख्य मार्ग में देख बाईक छोड़ भागे राहगीर

छत्तीसगढ़ संवाददाता
मैनपुर, 20 सितंबर।
कुल्हाड़ीघाट मुख्य मार्ग में कुल्हाड़ीघाट नदी पर बने पुल में अचानक वन भंैसा राजा के दिखते ही राहगीर बाईक छोड़कर भाग गए। लगभग एक घंटे से भी ज्यादा समय तक वन भैंसा राजा पुल और मुख्य मार्ग पर विचरण करता रहा। जिसके चलते मार्ग में आवगमन प्रभावित हो गया था।

ग्राम पंचायत कुल्हाड़ीघाट के समीप मुख्य मार्ग में पुल पर कुछ ग्रामीण बाईक के साथ खड़े थे और वन भैंसा राजा नदी में गोते लगा रहा था। जिसकी जानकारी ग्रामीणों को नहीं थी। अचानक वन भैंसा राजा पीछे से मुख्य मार्ग पुल पर आ गया। जिससे ग्रामीणों को बाईक छोड़कर जान बचाने भागना पड़ा।

ज्ञात हो कि पिछले लगभग एक माह से राजकीय पशु वन भैंसा राजा कुल्हाड़ीघाट ग्राम के आसपास मंडरा रहा है। राजा वनभैंसा स्वभाव से काफी आक्रमक और गुस्सैल होते हंै। पखवाडे भर पूर्व उसकी देखरेख के लिए वन विभाग द्वारा तैनात किये गये निगरानी कर्मी पर राजा वन भैंसा ने हमला कर उसे बुरी तरह घायल कर दिया था। यह लगातार कुल्हाड़ीघाट ग्राम के आसपास किसानों की दलहन-तिलहन के साथ धान की फसल को रौंद कर नुकसान पहुंचा रहा है। जिसकी शिकायत लगातार ग्रामीणों द्वारा वन विभाग से की जा रही है। लेकिन अब तक किसानों को मुआवजा देने और वन भैंसा से सुरक्षा प्रदान करने वन विभाग द्वारा प्रयास नहीं किए जाने से ग्रामीणों में नाराजगी है। 

 

 


Date : 20-Sep-2019

एक शिक्षक के भरोसे विद्यालय, कई जगह शिक्षक अधिक
छत्तीसगढ़ संवाददाता
देवभोग, 20 सितंबर।
देवभोग ब्लॉक में नदीपार प्राथमिक और मिडिल स्कूलों में छात्र-छात्राओं की पढ़ाई भगवान भरोसे चल रही है। नदीपार के अधिकांश स्कूलों में बच्चों की दर्ज संख्या अधिक है किंतु इन्हें एक- दो शिक्षक से ही काम चलाना पड़ रहा है। जिसे लेकर छत्तीसगढ़ संवाददाता द्वारा पड़ताल करने पर जानकारी मिली कि मुख्यालय सहित आस पास के पंचायत स्कूलों में बच्चों की दर्ज संख्या के अनुपात में अधिक शिक्षक पदस्थ हैं जबकि नदीपार के साहसखोल, सेनदमुड़ा, दहीगांव, बरही के अलावा कई स्कूलों के 50-50 से अधिक बच्चों पर एक शिक्षक पदस्थ है। बावजूद इसके शिक्षा विभाग द्वारा स्कूलों में शिक्षकों की व्यवस्था को लेकर कोई पहल नहीं की जा रही है जिसका खामियाजा बच्चों को भुगतना पड़ रहा है। 

एक ही शिक्षक द्वारा 6  विषय की पढ़ाई करवाई जा रही है। जिसकी वजह से सक्षम पालक अपने बच्चों को शासकीय स्कूल से निकाल कर निजि स्कूल में पढऩे भेज रहे हैं। लेकिन गरीब बच्चे इसी स्कूल में पढ़ाई करने मजबूर हैं।

विभागीय कामकाज से पढ़ाई ठप्प
ऐसे स्कूलों में जहां सिर्फ एक ही शिक्षक के भरोसे स्कूल संचालन हो रहा है वहां शिक्षको को पढ़ाने के अलावा विभागीय जानकारियां भी देना होता है। वर्तमान में निखार कार्यक्रम के तहत शिक्षकों को प्रशिक्षण दिया जा रहा है जिनमें एक शिक्षिकीय शाला टीचर भी शामिल हो रहे हैं। ऐसे में बच्चों कि पढ़ाई पूरी तरह डगमगा जाएगी। 

आंदोलन का सहारा
बच्चों एवं पालक द्वारा जब पढ़ाई छोड़ विभाग घेराव के साथ आंदोलन का रास्ता अपनाया जाता है तब कहीं जाकर शिक्षा विभाग गहरी नींद से जागता है। पिछले वर्ष मोटरापारा प्राथमिक शाला में शिक्षक की कमी को लेकर बच्चों और पालक द्वारा सडक़ में बैठकर धरना प्रदर्शन किया रहा जिसके बाद विभाग द्वारा तत्काल एक शिक्षक की व्यवस्था की गई थी। जिसे देख अन्य स्कूलों के पालक और बच्चे भी आंदोलन को शिक्षक दिलाने का रास्ता मानकर  आंदोलन की रणनीति बना रहे हैं। 

नदीपार स्कूलों में गुणवत्तापूर्वक पढ़ाई और बच्चों के उज्जवल भविष्य के लिए शिक्षा समिति ब्लॉक के स्कूलों की समीक्षा के दौरान स्कूलों में छात्र-छात्रा की दर्ज संख्या के अनुपात में स्कूलों में पदस्थ अधिक शिक्षकों को निकालकर शिक्षक विहीन स्कूल में स्थाई व्यवस्था की मांग हो रही है। ऐसे कई स्कूल हैं जहां शिक्षक जमा कर बैठ हुऐ हैं। जबकि ऐसे शिक्षकों को नदी पार के स्कूलों में भेजने के बावजूद जुगाड़ लगाकर मनचाहे स्कूल पहुंच जाते हैं। यही वजह है कि नदीपार के अधिकांश प्राथमिक और मिडिल स्कूल शिक्षक की कमी से जूझ रहे हैं। 
डमरूधर पुजारी विधायक बिंद्रानवागढ़ ने बताया कि ऐसे स्कूल जहां शिक्षक की कमी है उनकी समीक्षा करने के लिए अधिकारियों से चर्चा की जाएगी और जहां पर अधिक शिक्षक हैं उन शिक्षकों को नदी पार व्यवस्था करने के लिए भी बात रखी जाएगी।

प्रदीप शर्मा बीईओ ने कहा कि बच्चों की दर्ज संख्या के अनुपात में जहां शिक्षक ज्यादा हैं उन स्कूलों की समीक्षा की जा रही है और ऐसे स्कूलों से शिक्षक को निकालकर अभाव वाले स्कूल में व्यवस्था करने के लिए जिला शिक्षा अधिकारी को अवगत कराया जाएगा।


Date : 20-Sep-2019

अस्पताल से लौटते वृद्ध की हादसे में मौत
छत्तीसगढ़ संवाददाता
देवभोग, 20 सितंबर।
ओडिशा के अस्पताल से इलाज करा कर लौट रहे वृद्ध की सडक़ हादसे में मौत हो गई। कचिया तालाब के पास तेज रफ्तार बोलेरो साइकिल सवार को बचाने के चक्कर में गाड़ी घूम कर पलट गई। इसके चलते बीमार पीडि़त ने मौके पर ही दम तोड़ दिया।

पुलिस के अनुसार ओडिशा के अस्पताल से नवा गुड़ा के निवासी साधु राम अपना इलाज कर लौट रहे थे इस बीच गांव के साइकिल सवार खिरसिंधु रावत घर की ओर जा रहे थे जिसे बचाने के चक्कर में तेज रफ्तार बोलेरो पलट गई और मौके पर ही वृद्ध की मौत हो गई। जबकि वाहन में सवार ड्राइवर सहित परिजनों को मामूली चोट आई।

 


Date : 20-Sep-2019

रेडी टू ईट में लापरवाही, पृथक करने कलेक्टर ने दिए निर्देश

छत्तीसगढ़ संवाददाता
देवभोग, 20 सितंबर।
कलेक्टर द्वारा निरीक्षण के दौरान अवैधानिक रूप से संचालित झोलाछाप डॉक्टर के क्लीनिक पर छापा मार कार्रवाई साथ कांडेकेला के स्व सहायता समूह को रेडी टू ईट संचालन करने में लापरवाही बरतने के चलते  रेडी टू ईट पोषण आहार बनाने की कार्य से पृथक करने के निर्देश दिए।

 इसके साथ कलेक्टर श्याम धावड़े और जिला पंचायत सीईओ आरके खूटे छात्रावास एवं कस्तूरबा गांधी के छात्रवास पहुंचकर बच्चों की समस्या भी जानी। कलेक्टर श्याम धावड़े करीब 10 बजे से देर रात तक मैनपुर और देवभोग विकासखंड पर सरकार द्वारा संचालित योजनाओं का क्रियान्वयन किस तरह से किया जा रहा है यह देखने धरातल में पहुंचे। जहां कई जगह संतुष्ट होकर जरूरी दिशा निर्देश दिया तो वहीं लापरवाही बरतने वाले पर जमकर बरस पड़े।

 उरमाल में बैलोचन प्रधान द्वारा बिना दस्तावेज से क्लीनिक संचालित किया जा रहा था। जिसे कलेक्टर ने सील कर दिया। साथ ही नरवा गरवा घुरवा बाड़ी के तहत बनाए गए गौठान को निरीक्षण कर जानवरों के चारा पानी सहित सारी व्यवस्था करने की निर्देश दिए इसके अलावा स्थानीय अधिकारियों को जनता की समस्या में निपटारा करने में जरा भी देरी नहीं करने के आदेश भी दिया गया इसके बाद कलेक्टर धावडे सुपेबेडा  की किडनी पीडितों के बीच पहुंचकर स्वास्थ एवं पेयजल के बारे में जानकारी लिया और वापस लौटकर देर रात गिरसुल के दौरे पर रहे।

कलेक्टर ने सुनी ग्रामीणों की समस्या
कलेक्टर के मुख्यालय आने की जानकारी मिलने के बाद गांव गांव से ग्रामीण अपनी समस्या को लेकर कलेक्टर के समक्ष निराकरण के लिए गुहार लगाया सबसे पहले ग्रामीणों ने भैंरीगुडा पर सडक़ निर्माण के लिए जिलाधीश से मांग किया इसके बाद आईटीआई के छात्र छात्राओं ने भी प्रौद्योगिक विद्यालय में पेयजल बिजली सहित अन्य सुविधा मुहैया कराने के लिए छात्राओं ने जिलाधीश को अवगत कराते जल्द से जल्द निराकरण के लिए कहां जिस पर कलेक्टर द्वारा एस डी एम निर्भय साहू को निर्देशित करते हुए कहा कि बिंदु बार समस्या निराकरण करने के साथ निरक्षण करने के लिए कहा।

अवैध धान रोकने की कवायद तेज
समर्थन मूल्य में धान खरीदी होने के घोषणा के बाद उड़ीसा के व्यापारी काफी सकरी नजर आते हैं और अवेध धान को उपा जन केंद्र में खफा कर लाखों रुपए कमा लेते हैं और शासन को भी चूना लगाते हैं जिसको मध्य नजर रखते हुए कलेक्टर ने उरमाल में जांच नाका के तैयारी करने ेकी निर्देश दिया ताकि इस बार छोटे स बिजोलिया को उड़ीसा के धान खफाने से रोका जाए हालाकि इसके लिए जिला स्तरीय टीम भी तैनात किया जाएगा जो क्षेत्र समावर्ती क्षेत्र में अपनी पानी नजर बनाए रखेंगे।


Date : 20-Sep-2019

कलेक्टर की गिरसुल में रात्रिकालीन चौपाल, साफ-सफाई के लिए किया प्रेरित

छत्तीसगढ़ संवाददाता  
गरियाबंद, 20 सितंबर।
देवभोग क्षेत्र के दौरे पर निकले कलेक्टर ने बुधवार को रात्रि 8  बजे गिरसुल पहुंच लेंप की लाईट जला चौपाल लगाकर लोगों की समस्याएं सुनी। अपने बीच कलेक्टर और जिला पंचायत सीईओ को पाकर ग्रामीण गदगद हुए। कलेक्टर श्याम धावड़े व जिला पंचायत सीईओ आर के खूंटे ने लोगों से उनकी समस्या सुनते हुए शीघ्र निराकरण के निर्देश भी दिये। 

लोगों ने प्रमुख समस्याओं में पेयजल स्त्रोत के निरंतर नीचे चले जाने को लेकर कार्य योजना बनाने आग्रह किया, जिस पर समीप में स्थित बगोड़ा नाला को नरवा विकास कार्यक्रम के तहत लेने की स्वीकृति दी गई। साथ ही नहर नाली मरम्मत के निर्देश भी दिये गये। चौपाल में स्कूल की सफाई कर्मी को दो माह का वेतन नहीं मिलने और चिंता राम ने मनरेगा अंतर्गत मजदूरी नहीं मिलने की शिकायत मिली, जिसे कलेक्टर ने तत्काल वेतन देने के निर्देश शिक्षा विभाग को दिये। इसके अलावा ग्रामीणों ने विद्युत और शिक्षक की भी मांग की।
कलेक्टर ने बताया कि इंदागांव में सब स्टेशन चालू होने पर विद्युत की समस्या हल हो जायेगी, वहीं स्कूल में भी शिक्षक की अतिरिक्त व्यवस्था करने के निर्देश दिये गये। कलेक्टर ने ग्रामीणों को सफाई अभियान, प्लास्टिक का उपयोग नहीं करने और गौठानों में मवेशियों को नियमित रूप से रखने के लिए प्रेरित किया। 

शौचालय के उपयोग पर ग्रामीणों ने बतया कि यहां 472 शौचालय बनाये गये हैं, जिसका नियमित उपयोग किया जा रहा है। गांव की बालिका अंजली ने बताया कि उनके घर भी शौचालय बना है, जिसका उपयोग किया जा रहा है। चौपाल में ग्रामीण उत्साहित नजर आये। इस दौरान सरंपच  मैनाबाई, बुजुर्ग एवं ग्रामीणजन मौजूद थे।

कलेक्टर ने अपने भ्रमण के दौरान ग्राम सुपेबेड़ा का भी दौरा किया। यहां स्थानीय लोगों से बातचीत कर पेयजल स्वास्थ्य और अन्य व्यवस्थाओं के संबंध में जानकारी ली। ग्रामीणों ने बताया किय पेयजल में फिल्टर प्लांट लगने से उन्हें स्वच्छ पेयजल मिल रहा है। चर्चा के दौरान कलेक्टर ने अवैध धान परिवहन और शराब बिक्री पर रोक लगाने के लिए आगे आने कहा। इस दौरान काशी राम सोनवानी व पुस्तम सतनामी ने पेंशन हेतु आग्रह किया, जिसे कलेक्टर ने जनपद सीईओ को स्वीकृत करने के निर्देश दिये।


Date : 20-Sep-2019

फूलचंद अग्रवाल स्मृति महाविद्यालय में आत्मरक्षा के लिए कराते प्रशिक्षण

छत्तीसगढ़ संवाददाता

नवापारा-राजिम, 20 सितंबर। सेठ फूलचंद अग्रवाल स्मृति महाविद्यालय में सोमवार को महिला आत्मरक्षा को बढ़ावा देने हेतु मार्शल आर्ट के अन्तर्गत छात्राओं के लिए आत्मरक्षा सेे संबंधित कराते प्रशिक्षण की नि:शुल्क कक्षाएं प्रारंभ की गई। जिसमें महाविद्यालय की कई छात्राएं प्रशिक्षण ले रही है। प्रशिक्षण महाविद्यालय के स्नातकोत्तर समाजशास्त्र विभाग के सहा. प्राध्यापक विकास बंजारे (ब्लैक बेल्ट कराते) द्वारा दिया जा रहा है।

ज्ञात हो कि उक्त प्रशिक्षण शैली  एम.एम.ए. शैली की तकनीक पर आधारित स्ट्रीट फाइट कला में दिया जा रहा है। प्रशिक्षण के माध्यम से छात्राएं शारीरिक व मानसिक रूप से आत्मरक्षा हेतु मजबूत हो सकेगीं। इस पहल हेतु महा. डायरेक्टर भावना अग्रवाल और यश अग्रवाल द्वारा विशेष रूप से प्रोत्साहन दिया गया व महिला सुरक्षा की दृष्टि से एक महत्वपूर्ण व सराहनीय प्रयास बताया। प्रशिक्षण के शुभारंभ के अवसर पर महाविद्यालय प्रशासक डॉ.पीबी हरिहरनो, उपप्राचार्य डॉ. मनोज मिश्रा, डॉ. सी.एल.साहू विभागाध्यक्ष समाजशास्त्र उपस्थित रहे।


Date : 20-Sep-2019

सुपेबेड़ा में लोगों से मिले कलेक्टर, सीईओ, साफ-सफाई के लिए किया प्रेरित

छत्तीसगढ़ संवाददाता  
गरियाबंद, 20 सितंबर।
देवभोग क्षेत्र के दौरे पर निकले कलेक्टर ने बुधवार को रात्रि 8  बजे गिरसुल पहुंच लेंप की लाईट जला चौपाल लगाकर लोगों की समस्याएं सुनी। अपने बीच कलेक्टर और जिला पंचायत सीईओ को पाकर ग्रामीण गदगद हुए। कलेक्टर श्याम धावड़े व जिला पंचायत सीईओ आर के खूंटे ने लोगों से उनकी समस्या सुनते हुए शीघ्र निराकरण के निर्देश भी दिये। लोगों ने प्रमुख समस्याओं में पेयजल स्त्रोत के निरंतर नीचे चले जाने को लेकर कार्य योजना बनाने आग्रह किया, जिस पर समीप में स्थित बगोड़ा नाला को नरवा विकास कार्यक्रम के तहत लेने की स्वीकृति दी गई। साथ ही नहर नाली मरम्मत के निर्देश भी दिये गये। चौपाल में स्कूल की सफाई कर्मी को दो माह का वेतन नहीं मिलने और चिंता राम ने मनरेगा अंतर्गत मजदूरी नहीं मिलने की शिकायत मिली, जिसे कलेक्टर ने तत्काल वेतन देने के निर्देश शिक्षा विभाग को दिये। इसके अलावा ग्रामीणों ने विद्युत और शिक्षक की भी मांग की।

कलेक्टर ने बताया कि इंदागांव में सब स्टेशन चालू होने पर विद्युत की समस्या हल हो जायेगी, वहीं स्कूल में भी शिक्षक की अतिरिक्त व्यवस्था करने के निर्देश दिये गये। कलेक्टर ने ग्रामीणों को सफाई अभियान, प्लास्टिक का उपयोग नहीं करने और गौठानों में मवेशियों को नियमित रूप से रखने के लिए प्रेरित किया। शौचालय के उपयोग पर ग्रामीणों ने बतया कि यहां 472 शौचालय बनाये गये हैं, जिसका नियमित उपयोग किया जा रहा है। गांव की बालिका अंजली ने बताया कि उनके घर भी शौचालय बना है, जिसका उपयोग किया जा रहा है। चौपाल में ग्रामीण उत्साहित नजर आये। इस दौरान सरंपच  मैनाबाई, बुजुर्ग एवं ग्रामीणजन मौजूद थे।

कलेक्टर ने अपने भ्रमण के दौरान ग्राम सुपेबेड़ा का भी दौरा किया। यहां स्थानीय लोगों से बातचीत कर पेयजल स्वास्थ्य और अन्य व्यवस्थाओं के संबंध में जानकारी ली। ग्रामीणों ने बताया किय पेयजल में फिल्टर प्लांट लगने से उन्हें स्वच्छ पेयजल मिल रहा है। चर्चा के दौरान कलेक्टर ने अवैध धान परिवहन और शराब बिक्री पर रोक लगाने के लिए आगे आने कहा। इस दौरान काशी राम सोनवानी व पुस्तम सतनामी ने पेंशन हेतु आग्रह किया, जिसे कलेक्टर ने जनपद सीईओ को स्वीकृत करने के निर्देश दिये।

 


Date : 20-Sep-2019

विधायक द्वारा विभिन्न ग्रामों में निर्माण कार्य के लिए लााखें रूपए की स्वीकृति, नागरिकों एवं जनप्रतिनिधियों ने विधायक धनेन्द्र साहू के प्रति आभार व्यक्त किया

छत्तीसगढ़ संवाददाता  
नवापारा-राजिम, 20 सितंबर।
अभनपुर क्षेत्र के विधायक धनेन्द्र साहू द्वारा छत्तीसगढ़ राज्य ग्रामीण एवं अन्य पिछड़ा वर्ग विकास प्राधिकरण मद के अंतर्गत अभनपुर विधान सभा के विभिन्न ग्रामों में निर्माण कार्य के लिए लााखें रूपए की स्वीकृति हेतु मुख्यमंत्री को पत्र प्रेषित कर मांग किए थे। जिसमें ग्राम टोकरो सी.सी.रोड निर्माण 3 लाख, ग्राम पिपरौद में सी.सी.रोड 2 लाख, ग्राम दुलना में महिला सामुदायिक भवन निर्माण 6 .50 लाख, जनपद पंचायत अभनपुर प्रांगण में सामुदायिक भवन निर्माण (मितानीन उपयोग हेतु)  6 .50 लाख, ग्राम तामासिवनी में महावीर चौक पर सामुदायिक भवन निर्माण मंदिर के पास 6 .50 लाख, ग्राम निमोरा शेड निर्माण पेवर ब्लॉक फ्लोरिंग सहित शासकीय पूर्व माध्यमिक शाला 5 लाख, ग्राम कोलर शेड निर्माण पेवर ब्लाक फ्लोरिंग सहित शासकीय पूर्व माध्यमिक शाला 5, ग्राम हसदा बाजार शेड विस्तार पेवर ब्लाक फ्लोरिंग सहित बाजार चौक 5.50 लाख, ग्राम तामासिवनी बाजार शेड विस्तार पेवर ब्लाक फ्लोरिंग सहित 5.50 लाख कुल 09 कार्यो हेतु 45.50 लाख की प्रशासकीय स्वीकृति मिल गई है। इन सभी निर्माण कार्यो की स्वीकृत होने से ग्रामों के नागरिकों में हर्ष व्याप्त है। उक्त सभी निर्माण कार्यो की स्वीकृति प्रदान करने के लिए ग्राम के नागरिकों एवं जनप्रतिनिधियों ने क्षेत्रिय विधायक धनेन्द्र साहू के प्रति आभार व्यक्त किया है।

 

 


Date : 20-Sep-2019

35 दिनों में भुगतान का मिला आश्वासन, किसानों का धरना स्थगित

छत्तीसगढ़ संवाददाता 
राजिम, 20 सितंबर।
चंद्रेश एग्रो इंडस्ट्रीज द्वारा कृषि उपज मंडी राजिम में आसपास ग्राम के किसानों से खरीदे गए धान के भुगतान के लिए दिया गया चेक बाउंस होने के बाद गुस्साए किसानों ने अखिल भारतीय क्रांतिकारी किसान सभा के उपाध्यक्ष मदन लाल साहू और राज्य सचिव तेजराम विद्रोही के नेतृत्व में गुरूवार को सुबह 6  बजे से मंडी गेट में बैनर टांगा और नारेबाजी करते हुए अनिश्चितकालीन धरना प्रदर्शन कर रहे थे। 35 दिनों में भुगतान का आश्वासन मिलने के बाद किसानों ने धरना स्थगित कर दिया है। 

ज्ञात हो कि दो महीने से भुगतान पाने किसान भटक रहे थे। इसके लिए पिछले 11 तारीख को किसानों ने कलेक्टर को दिए ज्ञापन में कहा था कि एक सप्ताह के भीतर किसानों को उनके उपज का भुगतान किया जाए, लेकिन समय बीतने के बाद भी प्रशासन की ओर से कोई ठोस पहल नहीं की गई थी। जिससे आक्रोशित किसानों ने 17 तारीख को पुन: तहसील, एसडीएम और थाने में ज्ञापन देकर 19 तारीख से राजिम मंडी बंद कर अनिश्चितकालीन धरने का आह्वान किया था। इसके तहत किसान राजिम मंडी में धान खरीदी बंदकर मंडी गेट के सामने धरना प्रदर्शन कर रहे थे। 

इस दौरान तहसीलदार ओपी वर्मा, नायब तहसीलदार अंकुर रात्रे, मंडी सचिव प्रदीप शुक्ला और चंद्रेश एग्रो इंडस्ट्रीज के संचालक के पिता व्यास नारायण साखरिया के मध्य किसानों की बातचीत हुई। जिसमें 35 दिन में किसानों का पूरा भुगतान करने का आश्वासन लिखित में दिया गया। 

उक्त दिवस में भुगतान नहीं होने पर बैंक गारंटी एवं मंडी निधि से किसानों को भुगतान करने के विषय पर चर्चा की गई। जिसे सहमति बनाते हुए किसानों ने संबंधित पक्ष को 35 दिन का समय दिया है। धरना प्रदर्शन को समर्थन देने क्रांतिकारी किसान सभा के उपाध्यक्ष मदन लाल साहू, तेजराम विद्रोही, एवन कुमार, ललित कुमार, भुनूराम, पवन कुमार, हरख राम, जहूर राम, किसान नेता संजीव चंद्राकर, जागेश्वर चंद्राकर, राघोबा महाडिक़ सहित पीडि़त किसान गोपाल मंडल, सोमनाथ साहू, दिनेश कुमार साहू, चमन लाल, तुलसीराम, बिसाहू राम उपस्थित रहे।

 


Date : 20-Sep-2019

परसदा में राजमिस्त्री, कारपेंटर एव मजदूर संघ के संयुक्त तत्वावधान में विश्वकर्मा जयंती मनाई

छत्तीसगढ़ संवाददाता 
नवापारा-राजिम, 20 सितंबर
। ग्राम परसदा में राजमिस्त्री, कारपेंटर एव मजदूर संघ के संयुक्त तत्वावधान में विश्वकर्मा जयंती का आयोजन किया गया। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि अभनुपर विधायक धनेन्द्र साहू, अध्यक्षता जिला कांग्रेस कमेटी उपाध्यक्ष रतीराम साहू ने किया। वहीं विशिष्ट अतिथि के रूप में जिला पंचायत सदस्य शीला कण्डरा, पूर्व जनपद उपाध्यक्ष चंद्रहास साहू, जनपद सदस्य डिगेश्वरी वर्मा, परसदा सरपंच मालती धु्रव, नवागांव भागवत साहू, छांटा सरपंच कमलनारायण साहू, सेवानिवृत्त व्याख्याता यशवंत वर्मा उपस्थित थे। राजमिस्त्री एवं मजदूर संघ द्वारा कामकाज बंद कर भगवान विश्वकर्मा का विधि विधान के साथ पूजा अर्चना किया गया। 

मुख्य अतिथि धनेन्द्र साहू ने कहा कि भगवान विश्वकर्मा सृजन के देवता है विश्वकर्मा संपूर्ण समाज के निर्माण में ब्रह्मा जी के समतुल्य है। भगवान विश्वकर्मा देवशिल्पी थे अर्थात उस जमाने के इंजीनियर थे।  रतीराम साहू ने कहा कि जीवन मे श्रम के साथ साथ कर्म की पूजा का महत्व है। ब्रह्मा जी सृष्टि के रचयिता है। उन्हें वास्तुशास्त्र का संपूर्ण ज्ञान था और उन्हें किसी भी चीज के निर्माण के लिए देवताओ के द्वारा सेवा ली जाती थी। 

शाला प्रबंधन समिति अध्यक्ष टिकेश्वर यादव एवं शाला परिवार हायर सेकेण्डरी परसदा के मांग पर धनेंद्र साहू विधायक द्वारा विद्यालय परिसर में शेड निर्माण हेतु पांच लाख रुपये देने की घोषणा की।  कार्यक्रम के अंत में राजमिस्त्री संघ द्वारा उपस्थित अतिथियों को शाल व श्रीफल भेंटकर सम्मान किया। रात्रि में छत्तीसगढ़ी कार्यक्रम लोकझांझर प्रस्तुत किया गया। इस अवसर पर डमरू तारक, गोविंद धु्रव, हेमंत साहू, रामखिलावन वर्मा, पूरनलाल साहू, तिलकराम साहू, कुलेश्वर तारक, होरीलाल यादव, द्वारिका साहू, दयालू साहू, धु्रव साहू सहित बड़ी संख्या में ग्रामवासी उपस्थित थे।


Date : 19-Sep-2019

दो माह बाद भी भुगतान नहीं, मंडी गेट बंद कर धरने पर बैठे किसान

छत्तीसगढ़ संवाददाता

राजिम, 18 सितंबर। कृषि उपज मंडी समिति राजिम में 18  गांव के किसान आज मंडी के बाहर धरने पर बैठ गए हैं। साथ ही किसानों ने मंडी गेट पर ताला लगा गेट बंद कर दिया है।भुगतान का चैक बाउंस होने व दो माह से भुगतान नहीं किए जाने पर किसानों ने आज से धरना शुरू किया।

ज्ञात हो कि अपना कृषि उपज धान राजिम मंडी में खुली बोली के माध्यम से चंद्रेश एग्रो इंडस्ट्रीज को विक्रय किए थे। चंद्रेश एग्रो इंडस्ट्रीज के संचालक द्वारा किसानों को भुगतान हेतु जो चेक प्रदान किया गया था वह बाउंस हो गया था जिससे किसानों को भुगतान नहीं हो पाया है।

अखिल भारतीय क्रांतिकारी किसान सभा के उपाध्यक्ष मदनलाल साहू एवं राज्य सचिव कॉमरेड तेजराम विद्रोही के नेतृत्व में किसानों ने मंडी सचिव के हाथों कलेक्टर के नाम पत्र देकर सात दिवस के भीतर चंद्रेश एग्रो इंडस्ट्रीज के कृषि उपज मंडी में जमा अमानत राशि, चल अचल संपत्ति आदि को नीलाम कर शीघ्र ही किसानों को भुगतान करने की मांग की थी लेकिन भुगतान नहीं होने पर किसानों ने आज सुबह से भुगतान प्राप्ति तक राजिम मंडी बंद कर धरना प्रदर्शन करने की सूचना शासन-प्रशासन को दी थी।


Previous123Next