छत्तीसगढ़ » कोरबा

10-Jul-2020 6:44 PM

कोरबा, 10 जुलाई। गुरुवार को जिले में कोरोना के 8 नए मरीज सामने आए हैं। इनमें पुलिस लाइन में निवासरत एक जवान भी शामिल है। इन सभी नए मरीजों को सावधानीपूर्वक विशेष कोविड अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

जिले के क्वारंटीन सेंटरों में ठहराए गए प्रवासी मजदूरों के जांच हेतु भेजे गए सेंपलों की रिपोर्ट आने के साथ ही कोरोना के मामले भी सामने आ रहे हैं। गुरूवार को जिले में 8 नए मामले सामने आए। देर शाम पाए गए मामलों में एनटीपीसी और करतला के क्वारंटीन सेंटर में ठहराए गए प्रवासी लोगों में से 7 पुरुष शामिल हैं। इसी कड़ी में पुलिस लाइन में करीब 30 वर्षीय एक आरक्षक जिसकी ड्यूटी 11 अन्य पुलिस जवानों के साथ ईएसआईसी अस्पताल डिंगापुर में निर्मित क्वारंटीन सेंटर में लगी हुई थी, उसने स्वास्थ्यगत कारणों से शंका समाधान के लिए अपना कोरोना टेस्ट कराया था। उसकी रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद पुलिस लाइन के उस ब्लॉक को, जहां वह पत्नी व पुत्री के साथ रहता है, उसे सील कर दिया गया है। तीन मंजिला इस ब्लॉक में कुल 12 परिवार रहते हैं और सभी को कंटेनमेंट जोन से बाहर नहीं निकलने की हिदायत दी गई है। जवान के प्राथमिक संपर्क में आए पत्नी व पुत्री समेत ब्लॉक के अन्य लोगों का सेंपल जांच के लिए लेने की कार्रवाई स्वास्थ्य टीम के द्वारा की गई है। पुलिस लाइन में मुनादी कराया जाकर सभी को सावधानी बरतने कहा गया है। सूचना के बाद यहां एडीएम संजय अग्रवाल, प्रभारी एसडीएम कमलेश नंदिनी साहू, नायब तहसीलदार पवन कोसमा, डीएसपी मुख्यालय रामगोपाल करियारे, रक्षित निरीक्षक संजय साहू व अन्य पुलिस अधिकारी यहां पहुंच गए थे।
 


10-Jul-2020 6:24 PM

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
कोरबा, 10 जुलाई।
जिला पंचायत के सीईओ कुंदन कुमार ने बरसते पानी में भी गांवों का दौरा कर धान चबूतरा, गौठान एवं चारागाह, कूप निर्माण, पौधारोपण आदि कार्यो का निरीक्षण किया। इस दौरान उन्होंने निर्देशित किया कि सभी धान चबूतरा दो दिवस में पूर्ण कर लिये जाये। 

छत्तीसगढ़ की महात्वाकांक्षी ग्राम सुराजी योजना एनजीजीबी के तहत गांव में बनाये गये गौठानों को स्वसहायता समूह की ग्रामीण महिलाओं के आजीविका केन्द्र बनाने के लिए श्रीमती किरण कौषल कलेक्टर कोरबा के द्वारा सतत् प्रयास किये जा रहे है। इसी श्रृंखला में गुरूवार को श्री कुमार ने पोड़ी उपरोड़ा के ग्राम पंचायतत बिंझरा में धान संग्रहण हेतु चबूतरा निर्माण कार्य को देखा। इस दौरान ग्रामीणों ने बताया कि ग्राम पंचायत बिंझरा में बहुत मात्रा में धान संग्रहण होता है, इसलिए धान चबूतरा का निर्माण उनके लिए उपयोगी एवं महत्वपूर्ण है। सीईओ ने स्वसहायता समूह की महिलाओं द्वारा बनाये गये गोबर उत्पाद-गमलों, मूर्तियों का अवलोकन किया तथा बी.पी.एम. को निर्देशित किया कि गमलों का विक्रय ग्राम पंचायत में करायेे। 

श्री कुमार ने महोरा गौठान के समीप अहीरन नदी को भी देखा, तथा उन्होंने कार्यपालन अभियंता, सिचाई विभाग को निर्देशित किया कि सिंचाई सुविधा हेतु जो भी संरचनाओं का निर्माण किया जा सकता है, उनका अवलोकन कर प्रस्ताव प्रस्तुत करे।
 
उन्होंने कहा कि यहां पर प्राकृतिक संसाधन अच्छे है, जिससे विकास की संभावनाएं अधिक है। उन्होंनेे जनपद पंचायत पाली के ग्राम पंचायत रैनपुर खुर्द के गौठान एवं चारागाह का भी निरीक्षण किया। इस गौठान में सभी सरंचनाएं निश्चित समय अवधि में पूर्ण कराने पर रोजगार सहायक श्रीमती उत्तरा बघेल को इस सप्ताह का श्रेष्ठ कर्मचारी  के रूप में सम्मानित करने के निर्देश दिये।


09-Jul-2020 10:03 PM

'छत्तीसगढ़' संवाददाता

कोरबा,  9 जुलाई। नाबालिग के माध्यम से घर पर नहा रही युवतियों का वीडियो बनवा कर अनैतिक संबंध बनाने का दबाव बनाने वाले दो आरोपियों को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। 
सीएसईबी पुलिस चौकी निवासी दो युवतियों ने पुलिस चौकी में आकर रिपोर्ट दर्ज कराई कि ईश्वर साहू एवं बीरेंद्र कुमार मानिकपुरी निवासी कोरबा के द्वारा छेड़छाड़ कर अनैतिक सम्बन्ध बनाने दबाव बना रहे हैं। आरोपियों द्वारा वीडियो बनाकर वायरल करने की धमकी दे रहे हैं। आरोपियों ने बाथरूम में नहाते समय एक नाबालिग के माध्यम से वीडियो बनाने का प्रयास किया है। उक्त शिकायत पर थाना कोतवाली में  धारा 354 क,354 ग व  पाक्सो एक्ट के अंतर्गत  पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया गया। आरोपियों को हिरासत में लेकर पूछताछ करने पर अपराध कबूल लिया। 

बताया जा रहा है कि आरोपियों ने नाबालिग  के माध्यम से वीडियो बनवाने का प्रयास किया, लेकिन बाथरूम का दरवाजा व खिड़की बन्द होने के कारण सफ़लता नहीं मिल पाई। आरोपियों से मोबाइल बरामद कर जांच किया गया, जिसमें कोई आपत्तिजनक फ़ोटो व वीडियो नहीं पाया गया है। आरोपियों को उपरोक्त अपराध में गिरफ्तार कर न्यायिक रिमांड पर भेजा जा रहा है ।


09-Jul-2020 9:58 PM

कोरबा,  9 जुलाई। अन्य राज्यों से कोरबा लौटे प्रवासी श्रमिकों को अब जिले में ही रोजगार दिया जाएगा। राज्य शासन के निर्देशानुसार अन्य प्रांतों में कार्यरत जिले के श्रमिक जो वापस जिले में आ चुके हैं उन्हें यहां के निजी और सार्वजनिक संस्थानों में रोजगार दिया जायेगा। कुशल मजदूरों को उनकी कार्यक्षमता के अनुसार जिले के व्यावसायिक और औद्योगिक संस्थानों में काम दिया जाएगा।   

 जिला प्रशासन द्वारा अलग-अलग संवर्ग अनुसार कुशल और अनुभवी श्रमिकों की स्कील मैपिंग करके सूची तैयार की जा रही है। श्रमिकों को उनके क्षमता और कार्य कुशलता के अनुसार उनको काम दिया जाएगा। काम की तलाश में अन्य राज्य में प्रवासी श्रमिकों को अब अपने घर के आसपास काम मिल जाएगा। क्वारेंटीन सेंटर में ठहरे प्रवासी मजदूरों को क्वारेंटाइन अवधि पूर्ण होने के बाद बारिश के सीजन में ही जिले में काम मिल जाएगा।

जिला प्रशासन द्वारा प्रवासी मजदूरों की आर्थिक समस्या दूर करने के लगातार प्रयास किये जा रहे हैं। जिले के निजी क्षेत्र के मुख्य प्रतिष्ठान एवं ठेके पर कार्यरत प्रतिष्ठान, उनके संस्थान में उपरोक्त पदों के अनुभवी कर्मचारियों की आवश्यकता होने पर प्राचार्य लाईवलीहुड कॉलेज जिला कोरबा से संपर्क कर सकते हैं। 

 


09-Jul-2020 9:56 PM

'छत्तीसगढ़' संवाददाता
कोरबा,  9 जुलाई।
शहर के मध्य में स्थित अशोक वाटिका को सौंदर्यीकरण कर संवारने की जिला प्रशासन की योजना आने वाले दिनों में फलीभूत होती दिख रही है। कलेक्टर श्रीमती किरण कौशल ने अशोक वाटिका को संवारने के लिए अधिकारियों के साथ औचक निरीक्षण किया। श्रीमती कौशल ने वाटिका के सौंदर्यीकरण के लिए विस्तृत कार्य योजना बनाकर एक सप्ताह में प्रस्तुत करने के निर्देश दिए। 

मौके पर उपस्थित नगर निगम आयुक्त एस.जयवर्धन ने बताया कि अशोक वाटिका को आक्सीजोन के साथ-साथ संपूर्ण वानस्पितिक पार्क के रूप में विकसित करने के लिए निगम तथा वन विभाग के अधिकारियों ने पहले एक कार्य योजना तैयार की थी। कलेक्टर ने पहले की कार्य योजना को भी मौके पर ही नक्शे पर देखा और उसमें वर्तमान परिस्थितियों के हिसाब से परिवर्तन के निर्देश दिए। श्रीमती कौशल ने वाटिका में पानी की व्यवस्था को प्राथमिकता से करने के लिए कहा। उन्होंने लोगों को मार्निंग-इवनिंग वॅाक के लिए सुविधा देने व्यवस्थित मार्ग बनाने, महिला-पुरूषों के लिए अलग-अलग ओपन जिम लगाने के साथ-साथ शहर के लोगों को योग के लिए बड़ा शेड भी बनाने को भी कार्य योजना में शामिल करने के निर्देश दिए। 

वन विभाग के अधिकारियों ने बताया कि इस लगभग 17 हेक्टेयर रकबे की अशोक वाटिका में बटरफ्लाई पार्क स्थापित करने की भी योजना है। विभिन्न प्रकार के फल-फूलदार पौधों का रोपण कर वाटिका के एक भाग में विभिन्न प्रकार की रंग-बिरंगी तितलियों के संरक्षण संवर्धन के लिए भी प्रयास किये जायेंगे।

 कलेक्टर श्रीमती कौशल ने अशोक वाटिका के सौंदर्यीकरण और समुचित विकास के लिए समेकित कार्य योजना बनाकर एक सप्ताह में प्रस्तुत करने के निर्देश दिए ताकि सौंदर्यीकरण का काम जल्द से जल्द शुरू किया जा सके।

 


09-Jul-2020 7:52 PM

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

कोरबा, 9 जुलाई। नाबालिग के माध्यम से घर पर नहा रही युवतियों का वीडियो बनवा कर अनैतिक संबंध बनाने का दबाव बनाने वाले दो आरोपी को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। 

सीएसईबी पुलिस चौकी निवासी दो युवतिया पुलिस चौकी  में आकर  रिपोर्ट दर्ज कराई की  ईश्वर साहू एवं बीरेंद्र कुमार मानिकपुरी निवासी पम्प हाउस कोरबा के द्वारा इनसे छेड़छाड़ कर अनैतिक सम्बन्ध बनाने दबाव बना रहे हैं। आरोपियों द्वारा वीडियो बनाकर वायरल करने की धमकी दे रहे है। आरोपियों ने बाथरूम में नहाते समय एक नाबालिग के माध्यम से वीडियो बनाने का प्रयास किया है। उक्त शिकायत पर थाना कोतवाली में  धारा 354 क,354 ग व  पाक्सो एक्ट के अंतर्गत  पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया गया। आरोपीगण को हिरासत में लेकर   पूछताछ करने पर अपराध कबूल लिया। 

बताया जा रहा है कि आरोपियों ने नाबालिग  के माध्यम से वीडियो बनवाने का प्रयास किया लेकिन बाथरूम का दरवाजा व खिडक़ी बन्द होने के कारण सफलता नहीं मिल पाई। आरोपीगण से मोबाइल बरामद कर जांच किया गया जिसमें मोबाइल में कोई आपत्तिजनक फोटो व वीडियो नहीं पाया गया है। आरोपीगण को उपरोक्त अपराध में गिरफ्तार कर न्यायिक रिमांड पर भेजा जा रहा है।

 


05-Jul-2020 9:13 PM

कोरबा, 5 जुलाई। जिले में आज ग्यारह प्रवासियों को कोरोना संक्रमित पाए जाने की पुष्टि हुई है। सभी अरदा,  डेलवाडीह ,  रामपुर,  बोईदा व  मुरली के  क़वारेटा इन सेंटर में रुके थे। संक्रमितो में 18 साल की युवती सहित तीन महिलायें और आठ पुरुष शामिल है। सभी को इलाज के लिए कोविड अस्पताल कोरबा लाया जा रहा है।कोरोना संकट के कारण हुए लॉक डाउन से कामकाज की तलाश में कोरबा जिले से देश के विभिन्न हिस्सों में गये लगभग 15 हजार से अधिक प्रवासी श्रमिक वापस लौट आये हैं। जिले में लौटे प्रवासी श्रमिकों से कोरोना संक्रमण का जिले में फैलाव रोकने के लिए सभी श्रमिकों को 14 दिनों के लिए 260 क्वारेंटाइन सेंटर्स में अवलोकन में रखा गया हैं। इन क्वारेंटाइन सेंटरों से अब तक दस हजार 686 प्रवासी श्रमिक क्वारेंटाइन अवधि पूरी होने के बाद अपने घर पहुंच गये है। जिले के क्वारेंटाइन सेंटरों में अभी चार हजार 829 लोग रह रहे हैं। प्रवासी श्रमिकों में से अब तक आठ हजार 627 श्रमिकों की कोरोना जांच कराई जा चुकी है, जिनमें से आठ हजार 176 श्रमिकों की जांच रिपोर्ट निगेटिव आई है। दो सोै ब्यासी प्रवासियों को जांच में कोरोना संक्रमित पाया गया है। जिन्हे ईलाज के लिए कोरबा, रायपुर, बिलासपुर के कोविड अस्पतालों और एम्स रायपुर भेजा गया है।

 


03-Jul-2020 11:52 AM

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
कोरबा, 3 जुलाई।
कलेक्टर श्रीमती किरण कौशल ने करतला जनपद पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारियों के प्रभार बदल दिए हैं। कलेक्टर कार्यालय से इस संबंध में गुरुवार की  देर शाम को आदेश जारी किया। 

जारी आदेश के अनुसार वर्तमान मुख्य कार्यपालन अधिकारी जनपद करतला डिप्टी कलेक्टर  देवेन्द्र कुमार प्रधान को कोरबा जनपद पंचायत का सीईओ का प्रभार सौंपा गया है।  सी.एल. धृतलहरे को जनपद पंचायत करतला का नया सीईओ बनाया गया है। कोरबा जनपद के मुख्य कार्यपालन अधिकारी एस.एस.रात्रे को जिला पंचायत कार्यालय कोरबा में सहायक परियोजना अधिकारी के रूप में संलग्न किया गया है।


03-Jul-2020 11:52 AM

विधानसभा में गलत जानकारी, शासकीय राशि दुरुपयोग

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
कोरबा, 3 जुलाई।
कलेक्टर श्रीमती किरण कौशल ने  करतला जनपद पंचायत के तत्कालीन मुख्य कार्यपालन अधिकारी जीके मिश्रा को निलंबित कर दिया है। श्रीमती कौशल ने गुरुवार को  निलंबन आदेश जारी कर दिया और निलंबन अवधि में उनका मुख्यालय परियोजना प्रशासक कार्यालय एकीकृत आदिवासी विकास परियोजना होगा।

कलेक्टर श्रीमती किरण कौशल से श्री मिश्रा के विरूद्ध तत्कालीन समय विधानसभा में गलत उत्तर प्रस्तुत करने और आदर्श आचार संहिता के दौरान शासकीय राशि का दुरूपयोग करने की शिकायतें की गई थी। श्रीमती कौशल ने इन शिकायतों की जांच के लिए जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी को जांच अधिकारी नियुक्त किया था। जिला पंचायत सीईओ द्वारा चार सदस्यीय जांच दल गठित कर पूरे प्रकरण की गहन जांच की थी और इस पर प्रतिवेदन कलेक्टर के समक्ष प्रस्तुत किया। प्राप्त जांच प्रतिवेदन के आधार पर श्री मिश्रा के विरूद्ध लगाये गये आरोपों की पुष्टि होने के बाद उन्हे आज देर शाम निलंबित कर दिया गया है।

जांच के दौरान अधिकारियों ने पाया है कि जनपद पंचायत करतला के एक्सिस बैंक से 24 ग्राम पंचायतों द्वारा पंचायत आम चुनाव आचार संहिता के दौरान 86 लाख रूपये से अधिक की राशि आहरित की गई। जिसकी पुष्टि बैंक के स्टेटमेंट से भी होती है। इसी प्रकार जांच में करतला जनपद के तत्कालीन सीईओ जी.के.मिश्रा द्वारा छत्तीसगढ़ विधानसभा में दो प्रश्नों के उत्तर में दो अलग-अलग आधी-अधूरी और गलत जानकारी वाले जवाब देने की भी पुष्टि जांच दल द्वारा की गई है। 

एक प्रश्न के उत्तर में तत्कालीन सीईओ ने करतला जनपद की 26 ग्राम पंचायतों में 47 विकास कार्यों के लिए लगभग एक करोड़ 19 लाख रूपये का आहरण ग्राम पंचायत सचिवों के एकल हस्ताक्षर से किया जाना बताया था तथा उसी प्रश्न के एक अन्य उत्तर में 26 ग्राम पंचायतों के 47 कार्यों के लिए 98 लाख रूपये का आहरण बताया गया। इस प्रकार श्री मिश्रा ने आहरित राशि की सही जानकारी विधानसभा के समक्ष प्रस्तुत नहीं करते हुए गलत और आधी अधूरी जानकारी दी थी।

पंचायत चुनावों के लिए लागू आदर्श आचार संहिता के दौरान करतला जनपद के तत्कालीन सीईओ जी.के.मिश्रा ने कार्यालय से शासकीय पत्र लिखकर सभी बैंकों को ग्राम पंचायत सचिवों के एकल हस्ताक्षर से राशि आहरित करने के निर्देश दिए थे, जोकि छत्तीसगढ़ पंचायत राज अधिनियम की धारा 66 की विपरीत है। श्री मिश्रा के इस कृत्य के लिए कलेक्टर श्रीमती कौशल ने उनके विरूद्ध विभागीय जांच करने की अनुशंसा शासन से की है और उन्हें तत्काल जनपद पंचायत करतला के प्रभार से हटाकर सहायक आयुक्त कार्यालय आदिवासी विकास विभाग कोरबा में संलग्न कर दिया था। एकल हस्ताक्षर से पंचायत चुनाव आचार संहिता के दौरान राशि आहरित किये जाने के कारण करतला जनपद के 9 पंचायत सचिवों को निलंबित कर दिया गया है और 14 ग्राम पंचायत सचिवों की दो-दो वेतनवृद्धियां असंचयी प्रभाव से रोकी गई है। इसके साथ ही ऐसे सभी पंचायत सचिवों को स्थांनांतरित कर अन्यत्र पंचायतों में पदस्थ कर दिया गया है।


29-Jun-2020 9:15 PM

'छत्तीसगढ़' संवाददाता
कोरबा, 29 जून।
कटघोरा उप जेल में निरूद्ध विचाराधीन बंदी रामकुमार चौहान  की मौत की दण्डाधिकारी जांच होगी। जिला दण्डाधिकारी श्रीमती किरण कौशल ने इसके आदेश जारी कर दिये हैं। दण्डाधिकारी जांच के लिए कटघोरा की एसडीएम श्रीमती सूर्यकिरण तिवारी को जांच अधिकारी नियुक्त किया गया है। जांच के उपरांत प्रतिवेदन प्रस्तुत करने 30 दिन की समय सीमा निर्धारित की गई है।
 
उल्लेखनीय है कि उप जेल कटघोरा में निरूद्ध विचाराधीन बंदी रामकुमार चौहान की तबियत खराब होने के कारण उसे जेल प्रहरियों द्वारा प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र कटघोरा भेजा गया था। 21 जून को विचाराधीन बंदी की सुबह सवा चार बजे उपचार के दौरान मृत्यु हो गई थी। मामले की गंभीरता को देखते हुए कलेक्टर ने इसके दण्डाधिकारी जांच के निर्देश जारी किये हैं। जांच के दौरान विचाराधीन बंदी को पहले से किसी बीमारी से पीडि़त होने, इलाज कराने संबंधी पड़ताल भी की जायेगी। इसके साथ ही विचाराधीन बंदी किस धारा में कब से जेल में निरूद्ध था, हवालात में उसे किसी प्रकार की शारीरिक यातना तो नहीं दी गई, बंदी के इलाज के दौरान ड्यूटी पर उपस्थित प्रहरियों की भी जानकारी जांच के दौरान ली जायेगी। प्रकरण की दण्डाधिकारी जांच के दौरान विचाराधीन बंदी के ईलाज के संबंध में की गई कार्यवाही, मृत्यु का कारण, पोस्टमार्टम रिपोर्ट आदि सभी पहलुओं को शामिल कर सूक्ष्म जांच होगी।


29-Jun-2020 9:14 PM

'छत्तीसगढ़' संवाददाता
कोरबा, 29 जून।
केन्द्र सरकार द्वारा पिछले तीन माह के दौरान पेट्रोल व डीजल पर लगने वाले केन्द्रीय उत्पाद शुल्क और कीमतों में बार-बार की जा रही अनुचित बढ़ोतरी के विरोध में प्रदेश कांग्रेस के निर्देश पर कोरबा जिला कांग्रेस ने सुभाष चौक पर सोमवार को विरोध प्रदर्शन किया।
  
जिला कांग्रेस अध्यक्ष सपना चौहान एवं मोहित केरकेट्टा ने बताया कहा कि जहां एक तरफ देश कोरोना महामारी और आर्थिक समस्या से लड़ रहा है वहीं दुसरी ओर मोदी सरकार पेट्रोल-डीजल की कीमतों और लगने वाले उत्पाद शुल्क को बार-बार बढ़ाकर इस मुश्किल वक्त में भी मुनाफाखोरी का काम रही है। महापौर राजकिशोर प्रसाद ने कहा कि केन्द्र की मोदी सरकार की जनविरोधी नीतियों से जनता की जेब खाली हो रही है और सरकार अपना खजान भरने में लगी है। 
प्रदेश सचिव सुरेन्द्र प्रताप जायसवाल ने कहा कि कच्चे तेल का अंतरराष्ट्रीय भाव कुछ महिनों में कम हुए हैं फिर भी मोदी सरकार देश के नागरिकों से छल करके उनकी गाढ़ी कमाई को जबरन वसूलने में लगा हैं।

प्रदर्शन उपरांत राष्ट्रपति के नाम ध्यानार्थ पत्र एसडीएम कोरबा को सौंपा गया। इस मौके पर उपस्थित सभापति श्याम सुंदर सोनी, जिला कांग्रेस महिला अध्यक्ष कुसुम द्विवेदी, राजीव कांग्रेस अध्यक्ष राहुल यादव, सेवादल अध्यक्ष प्रदीप पुरायणे, अल्पसंख्यक प्रकोष्ट जिला अध्यक्ष मो. शाहिद, कोरबा ब्लॉक अध्यक्ष संतोष राठौर, संगीता सक्सेना, अर्चना उपाध्याय, गीता गभेल, महेन्द्र प्रताप चौहान, राजेश यादव सहित अन्य उपस्थित थे।


29-Jun-2020 9:12 PM

'छत्तीसगढ़' संवाददाता
कोरबा, 29 जून।
करतला विकासखंड के पटियापाली हाईस्कूल के क्वारंटीन सेंटर में किसी भूत-प्रेत का साया नहीं है। इस सेंटर में भूत-प्रेत के साये से प्रभावित होने पर प्रवासी मजदूर को मूत्र पिलाने की घटना भी अफवाह मात्र निकली।
 
घटना के समाचार पत्रों में प्रकाशन के बाद कलेक्टर श्रीमती किरण कौशल ने इसके त्वरित जांच के निर्देश दिये थे। डिप्टी कलेक्टर  देवेन्द्र प्रधान की नेतृत्व में नायब तहसीलदार बरपाली, करतला के खंड शिक्षाधिकारी और उरगा थाना प्रभारी ने सोमवार को पटियापाली हाईस्कूल पहुंचकर पूरे मामले की जांच की। जांच से स्पष्ट हुआ है कि सेंटर में रूके प्रवासी मजदूरों ने ही जल्दी घर जाने की चाह में भूत-प्रेत का साया होने की अफवाह अन्य मजदूरों के बीच फैलाई थी। जांच दल ने क्वारंटीन सेंटर में रह रहे प्रवासी श्रमिकों के शपथपूर्ण बयान भी लिये और डाक्टर की मौजूदगी में मजदूरों की मानसिक कांउंसिलिंग भी की गई। क्वारंटीन सेंटर में रूके मजदूरों ने जांच दल को दिये अपने बयान में स्पष्ट किया है कि खेती-किसानी का समय होने के कारण सभी लोग जल्दी अपने-अपने घर जाना चाहते हैं। क्वारंटीन सेंटर से उन्हें निर्धारित समयावधि पूरा करने के पहले घर जाने नहीं दिया जा रहा था। मजदूरों ने भूत-प्रेत के नाम पर भय फैलाकर जल्दी घर जाने की सोंच के साथ यह अफवाह फैलाई थी। प्रवासी श्रमिकों ने यह भी स्पष्ट किया कि भूत-प्रेत की साये के नाम पर किसी भी प्रवासी मजदूर को मूत्र पिलाने जैसी घटना क्वारंटीन सेंटर में नहीं हुई है।

क्वारंटीन सेंटर के प्रभारी  घनश्याम प्रसाद शर्मा में बताया कि पिछले दिनों प्रवासी श्रमिक लक्ष्मीन बाई की तबियत खराब होने पर जांच के लिए डॉ. पवन मिश्रा को बुलाया गया था। डॉ. पवन मिश्रा ने बताया कि मरीज का मानसिक स्वास्थ्य ठीक नहीं है। जिसके कारण वे कभी भी किसी को भी कुछ भी बोल देती हैं। इस कारण से अन्य प्रवासी श्रमिकों ने लक्ष्मीन बाई पर भूत-प्रेत का  साया होने की अफवाह फैलाई थी। डॉ. पवन मिश्रा ने यह भी बताया कि क्वारंटीन सेंटर के एक अन्य श्रमिक चंद्रशेखर के सीने में दर्द होने और उस पर भी भूत-प्रेत का साया होने की आशंका को लेकर इलाज के लिए सेंटर में बुलाया गया था। परंतु भूत-प्रेत जैसी कोई बात श्रमिक के साथ नहीं थी।


29-Jun-2020 9:11 PM

'छत्तीसगढ़' संवाददाता
कोरबा, 29 जून।
मजदूरों को लेकर गढ़वा से हैदराबाद जा रही बस की कार से भिंड़त हो गई, घटना में चार महिलाएं व एक बच्ची घायल हो गई। सोमवार को कोरबा की कुछ महिलाएं  कार से  रतनपुर देवी दर्शन के लिए आई थी। गढ़वा से करीब 46 मजदूरों को लेकर आनंद टूरिस्ट ट्रैवल्स की बस हैदराबाद जा रही थी। सोमवार शाम रतनपुर के कर्रा गांव के पास कार और बस में जबरदस्त भिड़ंत हुई, जिससे कार खाई में जा गिरी। इस दुर्घटना में कार चालक को मामूली चोटें आई। वहीं कार में सवार बाकीमोंगरा निवासी कविता महंत, कुसमुंडा की सुप्रीता कुर्रे, गेवरा बस्ती की लक्ष्मी श्रीवास, कलावती श्रीवास को भी चोटें आई है। वहीं 9 साल की त्रिशा श्रीवास को भी मामूली चोट लगी है, जिनका इलाज सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में किया जा रहा है।  


29-Jun-2020 7:03 PM

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
कोरबा,  29 जून।
जिला अस्पताल के आइसोलेशन वार्ड में भर्ती एक महिला के साथ वार्ड बॉय ने छेड़छाड़ करते हुए दुष्कर्म करने का प्रयास किया। शोर मचाने के बाद वार्ड बॉय भाग गया। मंगलवार को महिला की शिकायत पर पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर जेल दाखिल कराया है।

इस संबंध में  मिली जानकारी के अनुसार ,ओडिशा से कोरबा लौटी महिला अपने 2 बच्चो के साथ कटघोरा विकासखंड के क्वॉरेंटाइन सेंटर में रह रही थी। क्वॉरेंटाइन सेंटर से  उसे इलाज के लिए उसे जिला अस्पताल लाया गया था।  महिला  ने बताया कि उसने वार्ड बॉय से गर्म पानी मांगा तब, वह महिला को रूम में आने की बात कहने लगा। महिला के नही जाने पर  आरोपी ने महिला से बच्चों को जल्दी सुला देने को कहा। इसके बाद रात करीब 11 बजे वार्ड बॉय शुभम गोस्वामी  महिला के वार्ड में प्रवेश किया।  महिला को इंजेक्शन लगाने के बाद उससे छेड़छाड़ करने लगा और दुष्कर्म करने का प्रयास किया।महिला ने बाहर बैठे सुरक्षा कर्मियों को चिल्लाते हुए आवाज लगाई।  तब तक वार्ड बॉय मौके से फरार हो गया। महिला ने इसकी शिकायत रामपुर चौकी में की है। घटना को गंभीरता से लेते हुए रामपुर चौकी प्रभारी और उनकी टीम ने आरोपी को रात में ही खोज निकाला और गिरफ्तार कर लिया है। 
 


28-Jun-2020 7:13 PM

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

कोरबा, 28 जून। प्रदेश के किसान मुख्यमंत्री भूपेश बघेल द्वारा आगामी हरेली त्यौहार से शुरू की जा रही गोधन न्याय योजना ग्रामीण अर्थव्यवस्था को तेज गति देने वाला प्रयास साबित हो सकती है। सरकार के गोबर खरीदने के निर्णय से अभी से ही ग्रामीणों में खुशी का माहौल है।

गांव-गांव में चर्चा है कि गोबर से गांव की अर्थ व्यवस्था को आगे बढ़ाने और मजबूत करने का काम एक किसान मुख्यमंत्री ही कर सकता है। कोरबा जिले के ग्रामीण क्षेत्रों में भी इस योजना को लेकर भारी उत्साह है। पढ़े-लिखे पशुपालक और पशुधन विकास विभाग से जुड़े अधिकारी तथा विशेषज्ञ अभी से ही इस योजना के फायदों को लेकर अपने-अपने तर्क और सुझाव लोगों के बीच साझा कर रहें हैं। कोरबा जिले के केवल 197 गोठान गांवों में पशुधन से मिलने वाले गोबर से ग्रामीणों को सालाना 17 करोड़ रूपये से अधिक की अतिरिक्त आय मिल सकती है। केवल गोठान गांव से मिले गोबर से यदि कम्पोस्ट खाद बना दी जाये तो यह आय लगभग दस गुना तक बढक़र 171 करोड़ रूपये तक पहुंच सकती है। इस पूरे कैलकुलेशन के पीछे पशुधन विशेषज्ञों का पूरा गणित है।

पशुधन विकास विभाग के उप संचालक डॉ. एस.पी.सिंह के मुताबिक पूरे कोरबा जिले में सात सौ से अधिक गांव हैं। जिनमें से अभी तक केवल 197 गांवों में ही नरवा, गरूवा, घुरवा, बाड़ी विकास कार्यक्रम के तहत सुव्यवस्थित गोठानों का निर्माण पूरा हो गया है। इन गोठान गांवों में पशु संगणना के अनुसार एक लाख 56 हजार 279 पशु हैं। औसतन छह किलोग्राम गोबर प्रतिदिन प्रति पशु के हिसाब से एक दिन में ही इन गांवों में नौ लाख 37 हजार 674 किलोग्राम गोबर का उत्पादन संभावित है। इस हिसाब से कोरबा जिले के 197 गोठान गांवों में ही प्रति वर्ष लगभग 34 करोड़ 22 लाख 51 हजार किलोग्राम गोबर का उत्पादन हो सकता है। विशेषज्ञों की मानें तो यदि राज्य सरकार पचास पैसे प्रति किलो की दर से भी ग्रामीणों से गोबर खरीदती है तो कोरबा के केवल गोठान गांवों से ही प्रतिदिन ग्रामीणों को चार लाख 68 हजार 837 रूपये और प्रतिवर्ष 17 करोड़ 11 लाख 25 हजार 505 रूपये की अतिरिक्त आमदनी हो सकती है। इसी गोबर से यदि वर्मी कम्पोस्ट खाद बना लिया जाये तो उसका रेट लगभग दस गुना बढ़ सकता है।

दो किलो गोबर से एक किलो खाद उत्पादन के मान से भी केवल गोठान गांवों से ही लगभग 17 करोड़ 11 लाख 25 हजार किलो से अधिक खाद का उत्पादन हो सकता है। जिले में वर्तमान में गोठानों में उत्पादित होने वाले वर्मी कम्पोस्ट को महिला स्व सहायता समूहों द्वारा दस रूपये प्रतिकिलो की दर से बेचा जा रहा है। पशुधनों के गोबर से बनी खाद को भी यदि इसी दर पर बेचा जाता है तो ग्रामीणों को 171 करोड़ 12 लाख 55 हजार रूपये की सालाना अतिरिक्त आमदनी मिल सकती है। 


28-Jun-2020 7:12 PM

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

कोरबा, 28 जून। कटघोरा उप जेल के रिश्वत कांड में निलंबित पूर्व जेल प्रहरी पर एक युवती ने बलात्कार का आरोप लगाया है। मंगलवार को  युवती की रिपोर्ट पर कटघोरा पुलिस ने पूर्व जेल प्रहरी के खिलाफ दुष्कर्म का अपराध कायम कर लिया है। आरोपी की गिरफ्तारी अब तक नहीं हुई है।

कटघोरा उप जेल के  निलंबित जेल प्रहरी धीरेंद्र सिंह परिहार से जुड़ा हुआ है। यह निलंबित जेल प्रहरी पूर्व में रिश्वत कांड के चलते चर्चा में आया था। पिछले साल ही दिसंबर में आरोपी ने एक कैदी के परिजन से दस हज़ार की घूस मांगी थी, तब उसे एसीबी की टीम द्वारा दस हज़ार की रिश्वत लेते हुए रंगे हाथों गिरफ्तार किया था । फिलहाल आरोपी धीरेंद्र सिंह परिहार जमानत पर बाहर हैं। युवती ने अपनी रिपोर्ट में कहा है कि आरोपी धीरेंद्र सिंह परिहार अक्सर जब वह घर पर अकेली रहती थी तो बुरी नियत से उसके घर घुस जाया करता था। एक दिन आरोपी ने सारी हदें पार कर दी और उसके साथ बलात्कार की घटना को अंजाम दे दिया। आरोपी ने युवती को घटना की जानकारी किसी अन्य को देने पर जान से मारने की भी धमकी दी। युवती ने इस घटना की जानकारी कटघोरा थाने पहुंच कर दी और फिर कटघोरा पुलिस ने युवती की रिपोर्ट पर अपराध पंजीबद्ध कर भादवि की धारा 376 और 450 के तहत अपराध कायम कर लिया है।  कटघोरा पुलिस आरोपी को गिरफ्तार करने छापा मार रही है।


28-Jun-2020 2:30 PM

'छत्तीसगढ़' संवाददाता

कोरबा, 28 जून। कटघोरा उप जेल के रिश्वत कांड में निलंबित पूर्व जेल प्रहरी पर एक युवती ने बलात्कार का आरोप लगाया है। मंगलवार को  युवती की रिपोर्ट पर कटघोरा पुलिस ने पूर्व जेल प्रहरी के खिलाफ दुष्कर्म का अपराध कायम कर लिया है। आरोपी की गिरफ्तारी अब तक नहीं हुई है।

कटघोरा उप जेल के  निलंबित जेल प्रहरी धीरेंद्र सिंह परिहार से जुड़ा हुआ है। यह निलंबित जेल प्रहरी पूर्व में रिश्वत कांड के चलते चर्चा में आया था। पिछले साल ही दिसंबर में आरोपी ने एक कैदी के परिजन से दस हज़ार की घूस मांगी थी, तब उसे एसीबी की टीम द्वारा दस हज़ार की रिश्वत लेते हुए रंगे हाथों गिरफ्तार किया था । फिलहाल आरोपी धीरेंद्र सिंह परिहार जमानत पर बाहर हैं। युवती ने अपनी रिपोर्ट में कहा है कि आरोपी धीरेंद्र सिंह परिहार अक्सर जब वह घर पर अकेली रहती थी तो बुरी नियत से उसके घर घुस जाया करता था। एक दिन आरोपी ने सारी हदें पार कर दी और उसके साथ बलात्कार की घटना को अंजाम दे दिया। आरोपी ने युवती को घटना की जानकारी किसी अन्य को देने पर जान से मारने की भी धमकी दी। युवती ने इस घटना की जानकारी कटघोरा थाने पहुंच कर दी और फिर कटघोरा पुलिस ने युवती की रिपोर्ट पर अपराध पंजीबद्ध कर भादवि की धारा 376 और 450 के तहत अपराध कायम कर लिया है।  कटघोरा पुलिस आरोपी को गिरफ्तार करने छापा मार रही है।

 

 


28-Jun-2020 2:28 PM

'छत्तीसगढ़' संवाददाता

कोरबा, 28 जून। प्रदेश के किसान मुख्यमंत्री भूपेश बघेल द्वारा आगामी हरेली त्यौहार से शुरू की जा रही गोधन न्याय योजना ग्रामीण अर्थव्यवस्था को तेज गति देने वाला प्रयास साबित हो सकती है। सरकार के गोबर खरीदने के निर्णय से अभी से ही ग्रामीणों में खुशी का माहौल है। गांव-गांव में चर्चा है कि गोबर से गांव की अर्थ व्यवस्था को आगे बढ़ाने और मजबूत करने का काम एक किसान मुख्यमंत्री ही कर सकता है। कोरबा जिले के ग्रामीण क्षेत्रों में भी इस योजना को लेकर भारी उत्साह है। पढ़े-लिखे पशुपालक और पशुधन विकास विभाग से जुड़े अधिकारी तथा विशेषज्ञ अभी से ही इस योजना के फायदों को लेकर अपने-अपने तर्क और सुझाव लोगों के बीच साझा कर रहें हैं। कोरबा जिले के केवल 197 गोठान गांवों में पशुधन से मिलने वाले गोबर से ग्रामीणों को सालाना 17 करोड़ रूपये से अधिक की अतिरिक्त आय मिल सकती है। केवल गोठान गांव से मिले गोबर से यदि कम्पोस्ट खाद बना दी जाये तो यह आय लगभग दस गुना तक बढ़कर 171 करोड़ रूपये तक पहुंच सकती है। इस पूरे कैलकुलेशन के पीछे पशुधन विशेषज्ञों का पूरा गणित है।

 

पशुधन विकास विभाग के उप संचालक डॉ. एस.पी.सिंह के मुताबिक पूरे कोरबा जिले में सात सौ से अधिक गांव हैं। जिनमें से अभी तक केवल 197 गांवों में ही नरवा, गरूवा, घुरवा, बाड़ी विकास कार्यक्रम के तहत सुव्यवस्थित गोठानों का निर्माण पूरा हो गया है। इन गोठान गांवों में पशु संगणना के अनुसार एक लाख 56 हजार 279 पशु हैं। औसतन छह किलोग्राम गोबर प्रतिदिन प्रति पशु के हिसाब से एक दिन में ही इन गांवों में नौ लाख 37 हजार 674 किलोग्राम गोबर का उत्पादन संभावित है। इस हिसाब से कोरबा जिले के 197 गोठान गांवों में ही प्रति वर्ष लगभग 34 करोड़ 22 लाख 51 हजार किलोग्राम गोबर का उत्पादन हो सकता है। विशेषज्ञों की मानें तो यदि राज्य सरकार पचास पैसे प्रति किलो की दर से भी ग्रामीणों से गोबर खरीदती है तो कोरबा के केवल गोठान गांवों से ही प्रतिदिन ग्रामीणों को चार लाख 68 हजार 837 रूपये और प्रतिवर्ष 17 करोड़ 11 लाख 25 हजार 505 रूपये की अतिरिक्त आमदनी हो सकती है। इसी गोबर से यदि वर्मी कम्पोस्ट खाद बना लिया जाये तो उसका रेट लगभग दस गुना बढ़ सकता है। दो किलो गोबर से एक किलो खाद उत्पादन के मान से भी केवल गोठान गांवों से ही लगभग 17 करोड़ 11 लाख 25 हजार किलो से अधिक खाद का उत्पादन हो सकता है। जिले में वर्तमान में गोठानों में उत्पादित होने वाले वर्मी कम्पोस्ट को महिला स्व सहायता समूहों द्वारा दस रूपये प्रतिकिलो की दर से बेचा जा रहा है। पशुधनों के गोबर से बनी खाद को भी यदि इसी दर पर बेचा जाता है तो ग्रामीणों को 171 करोड़ 12 लाख 55 हजार रूपये की सालाना अतिरिक्त आमदनी मिल सकती है।  


28-Jun-2020 2:17 PM

'छत्तीसगढ़' संवाददाता

कोरबा, 28 जून। जिला अस्पताल के आइसोलेशन वार्ड में भर्ती एक महिला के साथ वार्ड बॉय ने छेड़छाड़ करते हुए दुष्कर्म करने का प्रयास किया। शोर मचाने के बाद वार्ड बॉय भाग गया। मंगलवार को महिला की शिकायत पर पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर जेल दाखिल कराया है।

इस संबंध में  मिली जानकारी के अनुसार ,ओडिशा से कोरबा लौटी महिला अपने 2 बच्चो के साथ कटघोरा विकासखंड के क्वॉरेंटाइन सेंटर में रह रही थी। क्वॉरेंटाइन सेंटर से  उसे इलाज के लिए उसे जिला अस्पताल लाया गया था।  महिला  ने बताया कि उसने वार्ड बॉय से गर्म पानी मांगा तब, वह महिला को रूम में आने की बात कहने लगा। महिला के नही जाने पर  आरोपी ने महिला से बच्चों को जल्दी सुला देने को कहा। इसके बाद रात करीब 11 बजे वार्ड बॉय शुभम गोस्वामी  महिला के वार्ड में प्रवेश किया।  महिला को इंजेक्शन लगाने के बाद उससे छेड़छाड़ करने लगा और दुष्कर्म करने का प्रयास किया।महिला ने बाहर बैठे सुरक्षा कर्मियों को चिल्लाते हुए आवाज लगाई।  तब तक वार्ड बॉय मौके से फरार हो गया। महिला ने इसकी शिकायत रामपुर चौकी में की है। घटना को गंभीरता से लेते हुए रामपुर चौकी प्रभारी और उनकी टीम ने आरोपी को रात में ही खोज निकाला और गिरफ्तार कर लिया है। 


28-Jun-2020 2:15 PM

'छत्तीसगढ़' संवाददाता

कोरबा, 28 जून। सांसद श्रीमती ज्योत्सना चरणदास महंत  के प्रयास से अब जिले के 86 हजार पेंसन हितग्राहियों को प्रतिमाह तीन सौ रुपये अतरिक्त दिया जाएगा। इसका लाभ पेंशन की राशि से गुजर-बसर करने के लिए निर्भर है। विशेष पिछड़ी जनजाति, परित्यक्ता, विधवा, नि:शक्तजन एवं वृद्धजनों को मिलेगा । 

सासंद ने अपने  जनसंपर्क के दौरान खासकर ग्रामीण अंचलों में जन-जन के बीच जाकर यह समझा कि वर्तमान में जो पेंसन राशि दी जा रही है वह काफी कम है। इसके बाद सांसद श्रीमती महंत ने  विगत दिनों कोरबा जिला खनिज संस्थान न्यास की शासी परिषद की बैठक में उन्होंने खनिज मद से पेंशन हितग्राहियों को 300 रुपए अतिरिक्त देने का प्रस्ताव रखा। जनहितैषी इस प्रस्ताव को परिषद ने अपनी मंजूरी सर्वसम्मति से दी। वर्तमान में विधवा पेंशन योजना में 350 रुपए, नि:शक्तजन पेंशन योजना में 500 रुपए, वृद्धावस्था पेंशन में 60 से 79 वर्ष आयु के लिए 350 रुपए एवं 80 वर्ष या अधिक आयु पर 650 रुपए, सामाजिक सुरक्षा पेंशन में 350 रुपए, सुखद सहारा में 350 रुपए एवं मुख्यमंत्री पेंशन योजना में 350 रुपए प्रदाय किया जा रहा है। सांसद की पहल पर अब उपरोक्त राशि में 300 रुपए अतिरिक्त जोड़कर हितग्राहियों को प्रदाय किया जाएगा। नि:संदेह अतिरिक्त राशि मिलने से पेंशन हितग्राहियों के गुजर-बसर में अपेक्षाकृत अधिक सहारा प्राप्त होगा। सांसद की इस विशेष पहल से जिले के कुल 86035 पेंशन हितग्राही लाभान्वित होंगे। ग्रामीण क्षेत्रों में जनपद पंचायत कोरबा में कुल 15030, जनपद पंचायत करतला क्षेत्र में 16732, जनपद पंचायत कटघोरा में 9642, जनपद पंचायत पाली में 14360 एवं जनपद पंचायत पोड़ी उपरोड़ा में 14781 कुल 70545 पेंशन हितग्राही हैं। नगरीय क्षेत्र अंतर्गत नगर पालिक निगम क्षेत्र में 12791, नगर पालिका परिषद दीपका में 376, नगर पालिका परिषद कटघोरा में 1308, नगर पंचायत पाली में 239 एवं नगर पंचायत छुरीकला में 776 कुल 15490 पेंशन हितग्राही दर्ज है। सांसद की पहल पर अब जिला खनिज संस्थान न्यास द्वारा प्रतिमाह 300 रुपए के दर से 2 करोड़ 58 लाख 10 हजार 500 रुपए की अतिरिक्त राशि हितग्राहियों को प्राप्त होने वाली पेंशन से पृथक मिलेगी। शासी परिषद की बैठक में उपस्थित एवं वीडियो कान्फ्रेंसिंग से हिस्सा ले रहे प्रभारी मंत्री डॉ. प्रेमसाय सिंह टेकाम, राजस्व मंत्री जयसिंह अग्रवाल, कटघोरा विधायक पुरूषोत्तम कंवर, पाली-तानाखार विधायक मोहितराम केरकेट्टा, पूर्व महापौर रेणु अग्रवाल, सांसद प्रतिनिधि प्रशांत मिश्रा, पूर्व पार्षद मनीष शर्मा व अन्य ने सर्वसम्मति से प्रस्ताव का अनुमोदन किया और इस तरह का प्रस्ताव लाने पर अपना आभार भी जताया।