छत्तीसगढ़ » कोरबा

Previous123Next
Date : 22-Jul-2019

शिवालयों में आस्था की बारिश, कांवरियों ने कनकीधाम में किया जलाभिषेक

छत्तीसगढ़ संवाददाता
कोरबा, 22 जुलाई।
 सावन का पहले सोमवार में भक्तों की भीड़ शिव मंदिरों में उमड़ी। मंदिरों में ऊं नम: शिवाय गुंजायमान रहा। देर रात दायीं तट नहर के सर्वमंगला घाट में कांवरियों ने जल लेकर कनकीधाम पहुंचे। जहां पूरे भक्तिभाव के साथ जलाभिषेक किया। 
शिव मंदिरों में आज विशेष पूजा-अर्चना की गई। मंदिर प्रबंधन समिति ने पूरी तैयारियां कर रखी थी। जिले के प्राचीन शिव मंदिर कनकीधाम, पाली के ऐतिहासिक शिव मंदिर, मां सर्वमंगला परिसर स्थित शिव मंदिर, शहर के मुड़ापार, पुरानी बस्ती, रविशंकर शुक्ल नगर स्थित कपिलेश्वर नाथ मंदिर, साडा कॉलोनी जमनीपाली, बलगी, सुराकछार स्थित शिव मंदिर समेत कुसमुंडा, बांकी मोंगरा, कटघोरा के चकचकवा पहाड़ स्थित शिव मंदिर में दर्शन करने भक्तों की भीड़ उमड़ी। कनकी में हर साल की तरह इस बार भी सावन में मेला लगा है। भगवान शिव का यहां प्राचीन मंदिर होने से दूर-दराज से भी श्रद्धालु जलाभिषेक करने के साथ पंचामृत, घी, से भी अभिषेक कर नारियल, धतुरा, कनेर व बेल पत्र अर्पित किए। सीएसईबी चौक से दर्री बरॉज तक की सड़क मार्ग को फोरलेन बनाया जा रहा है। इस वजह से खदान से निकले भारी वाहन नहर मार्ग से होकर गंतव्य स्थल तक पहुंच रहे हैं। इसी मार्ग से अब तक श्रद्धालु जलाभिषेक करने कनकीधाम तक पहुंचते थे। इस बार भारी वाहन के आगमन को देखते हुए श्रद्धालुओं के लिए नहर के दायीं ओर से कनकीधाम तक पहुंचेंगे। श्रद्धालुओं को मंदिर तक पहुंचने में कोई परेशानी न हो इसके लिए संकरे मार्ग का चौड़ीकरण कर रास्ता बनाया गया है।

 


Date : 22-Jul-2019

पहाड़ी कोरवा और जनजातियों के बीच पहुंचीं सांसद ज्योत्सना

समस्याओं से रूबरू होकर दिलाया शीघ्र निराकरण का भरोसा

छत्तीसगढ़ संवाददाता
कोरबा, 22 जुलाई।
कोरबा प्रवास पर पहुंची सांसद श्रीमती ज्योत्सना चरणदास महंत अपने संसदीय क्षेत्र के विभिन्न इलाकों में भ्रमण कर आमजन से मुलाकात करने के साथ उनकी समस्याओं से रूबरू हो रही हैं। अपने शासकीय निवास पर जनता से मुलाकात करने के पश्चात आज उन्होंने प्रदेश के राजस्व मंत्री जयसिंह अग्रवाल के साथ जिले के वनांचल ग्राम व पहाड़ी कोरवा सहित अन्य जनजातियों के लोगों से मुलाकात करने ग्राम गढ़कटरा, अजगरबहार का भ्रमण किया। यहां पहुंची सांसद को अपने बीच पाकर ग्रामवासी गदगद हो उठे और उनके साथ महिलाओं ने सेल्फी भी ली। इस अवसर पर ग्राम चुईया, अजगरबहार, धनगांव, कछार, सतरेंगा, गढ़, लेमरू, अरेतरा में पहाड़ी कोरवाओं, पंडो जनजाति के लोगों व खासकर महिलाओं से मिलकर उनकी समस्याओं और जरूरतों को सांसद ने जाना और समझा। उन्होंने आदिवासी अंचल के वृद्धजनों, बच्चों एवं विद्यार्थियों से भी आत्मीय चर्चा की एवं शिक्षा-स्वास्थ्य के बारे में जाना। भ्रमण के दौरान स्थानीय मंदिर में भी उन्होंने पूजा-अर्चना कर सुख-समृद्धि की कामना की। श्रीमती महंत ने उपस्थित ग्रामवासियों को बताया कि केन्द्र की सरकार ने छात्रावासों और दालभात केन्द्रों के चावल के कोटे में कटौती कर दी है। गरीबों को मिलने वाले मिट्टी तेल के कोटे में भी कटौती कर दी गई है। योजना का लाभ लेने से आज भी अधिकांश ग्रामवासी वंचित हैं जबकि पिछले 15 साल से यहां भाजपा की सरकार थी। श्रीमती महंत ने ग्रामवासियों को आश्वस्त किया कि अब प्रदेश में गरीब, किसान, मजदूर, आदिवासियों की सरकार का गई है और मुख्यमंत्री भूपेश बघेल सरकार बनने के पहले दिन से ही सभी वर्ग के लोगों के लिए घोषणा और योजना पर काम शुरू कर दिए हैं। ग्रामवासियों द्वारा बताई गई मूलभूत समस्याओं का यथाशीघ्र निदान कराने का भरोसा उन्होंने दिलाते हुए कहा कि आने वाले समय में ज्यादा से ज्यादा समस्याओं का निवारण करने का प्रयास किया जाएगा। उन्होंने ग्रामवासियों से बेहिचक और बेझिझक होकर उनसे मिलने की भी बात कही। राजस्व मंत्री जयसिंह अग्रवाल ने कहा कि छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की सरकार किसानों और आदिवासियों की सरकार है। किसानों को धान का समर्थन मूल्य और वनवासियों को उनके काबिज वनभूमि का पट्टा देने का काम हमने किया है। कांग्रेस की सरकार हमेशा आप लोगों के साथ है।

गांवों के भ्रमण के दौरान प्रमुख रूप से राजस्व मंत्री जयसिंह अग्रवाल, रामपुर विधानसभा के पूर्व विधायक श्यामलाल कंवर, जिला कांग्रेस शहर अध्यक्ष राजकिशोर प्रसाद, ग्रामीण अध्यक्ष श्रीमती उषा तिवारी, पूर्व अध्यक्ष हरीश परसाई, ब्लाक अध्यक्ष अजीत दास महंत, रज्जाक अली सहित क्षेत्र के कांग्रेसजन एवं ग्रामवासी उपस्थित थे। गांवों में कार्यक्रमों के दौरान दिल्ली की मुख्यमंत्री शीला दीक्षित के निधन पर शोक संवेदना भी व्यक्त की गई एवं 2 मिनट का मौन धारण कर मृतात्मा की शांति के लिए ग्रामवासियों ने कामना की।


Date : 22-Jul-2019

सर्वांगीण विकास के साथ शासकीय मद का दुरूपयोग रोकना प्राथमिकता-महंत

प्रेस से मिलिए कार्यक्रम में शामिल हुए विधानसभा अध्यक्ष 

छत्तीसगढ़ संवाददाता
कोरबा, 22 जुलाई।  
कोरबा में रेल, सड़क, पर्यावरण प्रदूषण, हाथी अभ्यारण्य क्षेत्र निर्माण कराने सहित अनेक समस्याएं हैं। कोरबा छत्तीसगढ़ प्रदेश का हृदयस्थल है। पूरे देश में कोरबा दुनिया में ऊर्जाधानी के नाम से विख्यात है। इसके बाद भी क्या वजह है कि जिले में व्याप्त समस्याओं का निराकरण नहीं हो पाया है। हम सबको साथ मिलकर कोरबा के विकास के लिए काम करना है। कोरबा का सर्वांगीण विकास कर शासकीय मद का दुरूपयोग रोकना पहली प्राथमिकता होगी।

उक्ताशय की बातें छत्तीसगढ़ विधानसभा अध्यक्ष डॉ. चरणदास महंत ने प्रेस क्लब तिलक भवन में आयोजित प्रेस से मिलिए कार्यक्रम के दौरान कही। डॉ. महंत ने कहा कि देखने में मिलता रहा है कि शासकीय योजनाओं के अधीन कार्य कम होते हंै और इस मद को खाने पर ज्यादा ध्यान होता है। यहीं वजह है कि शासकीय योजनाओं के अधिकांश विकास कार्यों का लाभ आम जनता को नहीं मिलता। उन्होंने कहा कि कोरबा की जनता ने उनकी धर्मपत्नी श्रीमती ज्योत्सना चरणदास महंत को सांसद चुना है। उन्होंने भरोसा दिलाया कि क्षेत्रीय सांसद इस प्रथा पर रोक लगाते हुए पूर्ण विकास कार्य पर जोर देगी। शासकीय मद का किसी भी तरह से दुरूपयोग न हों इस पर लोकतंत्र के चौथे स्तंभ को भी निगाह बनाए रखनी होगी। प्रेस से मिलिए कार्यक्रम में सर्वप्रथम पत्रकारों द्वारा विधानसभा अध्यक्ष डॉ. महंत का पुष्पगुच्छ से स्वागत किया गया। कार्यक्रम में मंच का संचालन वरिष्ठ पत्रकार एवं छत्तीसगढ़ गौरव के संपादक किशोर शर्मा, स्वागत भाषण प्रेस क्लब अध्यक्ष राजेन्द्र जायसवाल ने दिया। इस अवसर पर जिला कांग्रेस कमेटी शहर अध्यक्ष राजकिशोर प्रसाद, पूर्व जिलाध्यक्ष हरीश परसाई, पूर्व निगम सभापति संतोष राठौर, एनआरआई पल्लव शाह सहित ट्विंकल भाटिया व अन्य उपस्थित थे।

 


Date : 22-Jul-2019

गणेश को हाथी बचाव केंद्र ले जाने का बड़ा अभियान

कुमकी हाथियों के साथ 100 से अधिक अधिकारी-कर्मचारियों की टीम जुटी

छत्तीसगढ़ संवाददाता
कोरबा, 22 जुलाई।
कोरबा वनमंडल में आतंक का पर्याय बने गणेश हाथी को कब्जे में कर सरगुजा वन वृत्त के हाथी रेस्क्यू सेंटर पिंगला में शिफ्ट करने को लेकर सोमवार को बचाव अभियान शुरू किया गया। शासन स्तर से विशेषज्ञों के साथ बनाई गई कार्य योजना में पहली बार कर्नाटक से लाए गए प्रशिक्षित कुमकी हाथियों का भी इस्तेमाल किया जा रहा है। टीम में कोरबा डीएफओ वेंकटचलम, धरमजयगढ़ डीएफओ प्रणव मिश्रा एवं अंबिकापुर डीएफओ सहित 100 से अधिक अधिकारी कर्मचारी शामिल है। आसपास के गाँवों में अलर्ट जारी कर दिया गया है। 

कोरबा वनमंडल  के करतला अंतर्गत कुदमुरा रेंज से गणेश को ट्रेकिंग करने की कवायद शुरू की गई। कुदमुरा से टीम द्वारा गणेश का लोकेशन पता लगाया गया। लोकेशन ट्रेक होने तक कुमकी हाथियों को कुदमुरा रेस्ट हाउस में रखा गया। गणेश का लोकेशन कुदमुरा से लगे धरमजयगढ़ सीमा के छाल रेंज अंतर्गत बहरामार में मिला है। जिसके आधार पर टीम जंगल में आगे बढ़ रही है। 

गणेश का लोकेशन पता कर उसे काबू में करने कुमकी हाथी का इस्तेमाल किया जाएगा। लोकेशन स्पष्ट होने पर वन विभाग के आला अधिकारियों के मार्गदर्शन में कुमकी हाथियों को रेस्क्यू सेंटर से ऑपरेशन स्थल की ओर ले जाया जाएगा । पहले गणेश में रेडियो कालर लगाने की कार्रवाई की जाएगी। 

ज्ञात हो कि दंतैल हाथी गणेश के आतंक से कोरबा वन मंडल के कई गांव सहित पड़ोसी जिला थर्रा रहे हैं। यहां हाथी लंबे समय से स्वच्छंद विचरण कर रहा है। दल के साथ नहीं होने के कारण गणेश की मौजूदगी का सही स्थान भी नहीं मिल पा रहा है। हाथी गणेश पर सेटेलाइट कालर आईडी भी नहीं लगा है, जिसके माध्यम से उसका लोकेशन मिल सके। 

कोरबा व धरमजयगढ़ वन मंडल में गणेश हाथी द्वारा अभी तक एक दर्जन लोगों को मार डाला गया है। इसमें एक वन कर्मचारी भी शामिल है।  

 

 


Date : 20-Jul-2019

पुलिस ने बोल पाने में नि:शक्त बालिका को परिजनों से मिलाया

कोरबा, 20 जुलाई।  दर्री क्षेत्र में बोल पाने में नि:शक्त बालिका अपने परिजनों से बिछड़कर इधर-उधर भटक रही थी। जिसे पुलिस ने महिला सहायता केन्द्र में लाकर उसके परिजनों की पतासाजी शुरू की। अंतत: पुलिस ने बिछड़ी बालिका को परिजनों से मिलवाया। साथ ही खुले बदन घूम रही बालिका को पुलिस ने नए कपड़े भी भेंट किए। शनिवार की सुबह दर्री पुलिस को सूचना मिली कि गोपालपुर पुनर्वास के पास एक बोल सकने में नि:शक्त 6 वर्षीय बालिका इधर-उधर भटक रही है। संभवत: वह अपने परिजनों से बिछड़ गई है। इस सूचना पर पुलिस टीम तत्काल मौके पर पहुंची। बालिका को दर्री थाना स्थित महिला एवं बाल सहायता केन्द्र लाया गया। जहां उसे बिस्कुट, चॉकलेट व नाश्ता दिया गया। सोशल मीडिया में बच्ची की तस्वीर वायरल कर उसके परिजनों की तलाश शुरू की गई। जिसमें पुलिस को सफलता मिली। बालिका के परिजन उसे ढूंढते हुए दर्री थाना पहुंचे। परिजनों ने बताया कि बालिका का नाम प्रतिभा महंत है  उसे सुपुर्द लेने उसकी मां बसंती महंत थाना पहुंची थी।  बसंती महंत ने दर्री पुलिस का आभार जताया है।


Date : 20-Jul-2019

रेत तस्करों पर जांच टीम ने की कार्रवाई

छत्तीसगढ़ संवाददाता 
कोरबा, 20 जुलाई।
 जिले में रेत माफियाओं की सक्रियता बढ़ चुकी है। विभागीय सांठ-गांठ के कारण प्रतिबंध के बाद भी रेत घाटों से अवैध उत्खनन किया जा रहा है। जिसकी शिकायत राज्य सरकार को भी लगातार मिल रही थी। जिस पर शनिवार को केन्द्रीय राज्य स्तरीय टीम ने जिले के विभिन्न थाना क्षेत्रों में स्थित रेत घाटों में छापामार कार्रवाई की। रेतघाटों में अवैध उत्खनन एवं परिवहन में लगे 8 से 10 वाहनों को जब्त कर नजदीकी थाना में खड़ा किया गया है। बताया जा रहा है कि रायपुर से पहुंची जांच टीम में 8 से 10 सदस्य शामिल हैं। इस कार्रवाई से जिला खनिज विभाग को पूरी तरह से दूर रखा गया है। बताया जा रहा है कि बड़े रेत तस्करों पर कार्रवाई की मंशा से राज्य स्तरीय टीम ने छापामार कार्रवाई की थी परंतु इसमें जांच दल को अपेक्षाकृत सफलता नहीं मिली है। चर्चा इस बात की है कि राज्य स्तरीय जांच टीम के छापामार कार्रवाई की खबर पहले से ही बड़े रेत तस्करों को हो गई थी। जिसके कारण उन्होंने आज काम बंद रखा था। यहीं वजह है कि जांच टीम दोपहर तक केवल 8 से 10 ट्रैक्टर व हाइवा सहित अन्य वाहनों को जब्त कर पाई थी। 

जांच टीम द्वारा उरगा क्षेत्र से 6, कोतवाली क्षेत्र से 2 एवं सीएसईबी चौकी क्षेत्र से 3 वाहनों को अवैध उत्खनन व परिवहन करते पकड़ा है। हालांकि इसकी अधिकारिक पुष्टि नहीं की गई है। दोपहर बाद यह टीम पाली रेतघाट की ओर रवाना हुई थी। देर शाम तक जब्त वाहनों की संख्या में बढ़ोत्तरी होने की पूरी संभावना है। 

कोल वाशरियों की तर्ज पर छापामारी
ज्ञात रहे कि कुछ दिनों पूर्व केन्द्रीय राज्य स्तरीय उडऩदस्ता की टीम ने जिले में संचालित कई निजी कोल वाशरियों में छापामार कार्रवाई कर व्यापक पैमाने में अनियमितता उजागर की थी। जांच के दौरान कोल वाशरियों से लाखों टन भंडारण क्षमता से अधिक कोयला पाया गया था। कुछ इसी तर्ज पर रेत तस्करों पर भी कार्रवाई की गई है। हालांकि रेत तस्करी के मामले में छापामार कार्रवाई की सूचना लीक होने की खबर तेज है।

 


Date : 19-Jul-2019

सावन में खंड वर्षा ने किसानों को किया मायूस, सूखा बीता आषाढ़, सूखे के हालात

छत्तीसगढ़ संवाददाता 
कोरबा, 19  जुलाई।
जुलाई के प्रथम सप्ताह में मानसूनी बारिश हुई जिससे खेती का काम भी शुरू हो गया। बारिश होते ही कई किसान धान की बोआई कर लिए, लेकिन प्रथम सप्ताह के बाद बारिश के एकदम रुक जाने से किसान चिंतित व परेशान हैं। आषाढ़ में तो बारिश ने धोखा दे दिया। सावन की शुरुआत में भी खंडवृष्टि से किसान परेशान हैं। खेतों में दरारें पडऩे लगी है। रोपाई करने के बाद लगी फसल जस की जस खेतों में है। सूखे के हालात पैदा हो गए हैं। जिसे लेकर स्थानीय प्रशासन ने भी ब्लाकवार रिपोर्ट तैयार करने अधिकारियों को निर्देशित किया है।

विगत 10 दिन से बारिश नहीं होने से क्षेत्र के अनेक गांव में खेतों में दरारें पडऩी आरम्भ हो चुकी है। जो किसान धान बो चुके हैं वे परेशान हैं क्योंकि खेतों में पानी नहीं है। दरारें पड़ रही है। खेतों से सूखे होने के कारण फसल की हरियाली को देख मवेशी खेतों में पहुंचकर नुकसान पहुंचा रहे हैं। वहीं कई किसान अभी भी बोवाई नहीं किए हैं। ऐसे किसान खेती में पिछडऩे के डर से परेशान हैं। सिचाई साधन वाले किसान धान की नर्सरी तैयार कर चुके हैं मगर खेतों में पानी नहीं होने से पौधे नहीं बढ़ पा रहे हैं। क्षेत्र के अनेक गांव में ग्रामीण व्यवस्था के अनुसार अभी मवेशियों को चराने की व्यवस्था नहीं की गई है। जिससे गांव में आवारा मवेशियों की संख्या दिन प्रतिदिन बढ़ती जा रही है। सुबह होते ही ग्रामीण अपने मवेशियों को गोठान तक पहुंचा रहे हैं लेकिन उसके बाद सवेशी सीधे खेतों में पहुंच कर फसल को नुकसान पहुंचा रहे हैं। आषाढ़ का महिना सूखा बीत गया। सावन में भी मेघ बरस नहीं रहे हैं। खंड वर्षा का आलम है, जिले के विभिन्न इलाकों में छिटपुट बारिश हो रही है। सावन मास में भी पानी नहीं बरसा तो फिर  इस बार सूखे के हालात पैदा होंगे। हालांकि जिन क्षेत्रों में नहर व वैकल्पिक माध्यमों से सिंचाई हो रही हैं, वहां हालात और है। मगर यह आंकड़ा काफी कम है। जिले की अधिकांश खेती वर्षा पर ही आश्रित है। 


Date : 19-Jul-2019

दंतैल गणेश का उत्पात जारी, गेरांव में फसल चौपट करने के बाद पहुुंचा घोटमार

छत्तीसगढ़ संवाददाता 
कोरबा, 19 जुलाई।
धरमजयगढ़ वन सीमा से कोरबा वनमंडल में प्रवेश करने वाले दंतैल गणेश का आतंक लगातार जारी है। कटहल, फल, सब्जी की फसल को नुकसान पहुंचाने के अलावा कई ग्रामीणों के मकान को भी गणेश ने क्षतिग्रस्त कर दिया गया है। हालांकि अब तक गणेश ने जनहानि तो नहीं पहुंचाई है लेकिन वन सीमा से खदेड़े नहीं जाने के कारण जनहानि का खतरा बरकरार है। दंतैल ने एक बार फिर गेरांव में कटहल व सब्जी की फसल को नुकसान पहुंचाया है। अब गेरांव से वह घोटमार जंगल की ओर आगे बढ़ गया है। जिससे ग्रामीणों में दहशत व्याप्त है।

दो दिनों तक कोरबा परिक्षेत्र के कोरकोमा व ढेंगुरडीह में उत्पात मचाने के बाद खतरनाक दंतैल हाथी गणेश करतला रेंज के घोटमार गांव पहुंच गया है। दंतैल को शुक्रवार तड़के यहां के जंगल में विचरण करते हुए देखा गया। घोटमार पहुंचने से पहले दंतैल ने गेरांव में किसानों की बाड़ी में घुस कर वहां लगे कटहल के पौधों को तहस- नहस किया और उसमें लगे फल को चट करने के बाद रात 11 बजे करतला रेंज के जंगल में प्रवेश कर गया। जंगल में काफी देर तक विचरण करने के बाद यह दंतैल घोटमार पहुंचा। दंतैल के घोटमार पहुंचने की सूचना पर वन विभाग का अमला मौके पर पहुंच गया है और उसकी निगरानी में जुट गया है। वन विभाग की ओर से आसपास के गांवों में मुनादी कराये जाने के साथ ही ग्रामीणों को सतर्क कर दिया गया है। गणेश के कोरबा रेंज से जाने से यहां के कर्मियों व ग्रामीणों ने राहत की सांस ली है। लेकिन करतला रेंज की परेशानी बढ़ गई है। उधर 11 हाथियों का झुंड बालको के औराकछार में विचरणरत है। इसे यहां के जंगल में देखा गया। कल हाथियों का यह झुंड नवाडीह पहुंच गया था। झुंड फिलहाल शांत है और जंगल ही जंगल घुम रहा है।


Date : 19-Jul-2019

सदस्यता अभियान पर भाजयुमो की बैठक
छत्तीसगढ़ संवाददाता
कोरबा, 19 जुलाई।
विगत दिनों रायपुर के एकात्म परिसर में भाजयुमो के संगठन पर्व सदस्यता अभियान को लेकर बैठक आयोजित की गई थी। जिसमें प्रदेश भर के भाजयुमो पदाधिकारियों ने शिरकत की थी। कोरबा भाजयुमो जिलाध्यक्ष चिंटू राजपाल के नेतृत्व में भी पदाधिकारी बैठक में शामिल हुए थे।

 बैठक में लिए गए निर्णय के अनुरूप 19 जुलाई शुक्रवार को जिला कार्यसमिति की बैठक आयोजित की गई। जिसमें सदस्यता अभियान को लेकर पार्टी के वरिष्ठजनों ने मार्गदर्शन दिया। आगामी 29 जुलाई को प्रदेश अध्यक्ष विजय शर्मा का प्रवास होने जा रहा है। सदस्यता अभियान पर विभिन्न मंडलों के कार्यक्रमों में हिस्सा लेंगे। 

इसके अलावा भाजयुमो प्रदेश उपाध्यक्ष प्रबल प्रताप सिंह जूदेव भी 3 अगस्त को कोरबा पहुंचेंगे। भाजयुमो के वरिष्ठ पदाधिकारियों के कोरबा आगमन एवं सदस्यता अभियान को लेकर रणनीति बैठक में तैयार की गई। साथ ही मंडलवार सदस्य बनाए जाने पर चर्चा की गई। जिसमें भाजयुमो जिलाध्यक्ष चिंटू राजपाल, भाजयुमो प्रभारी अनूप सिन्हा, सह प्रभारी पवन केशरवानी, जिला सदस्यता प्रभारी नरेन्द्र देवांगन, सह प्रभारी राधेश्याम सिंह व अन्य पदाधिकारी व कार्यकर्ता उपस्थित रहे।

आपस में भिड़ गए कार्यकर्ता
दीनदयाल कुंज में आयोजित जिला भाजयुमो की बैठक में गुटबाजी भी देखने को मिली। बैठक में हिस्सा लेने पहुंचे कटघोरा क्षेत्र के भाजयुमो नेताओं के बीच किसी बात को लेकर विवाद हो गया। विवाद इतना बढ़ा कि वे आपस में ही भिड़ गए।
 बताया जा रहा है कि पार्टी के वरिष्ठ सदस्यों ने आक्रोशित कार्यकर्ताओं को शांत कराते हुए विवाद का पटाक्षेप कराया। लेकिन इस घटना ने जिला भाजयुमो के कटघोरा मंडल में व्याप्त आपसी गुटबाजी को एक बार फिर सामने ला दिया है।

 


Date : 19-Jul-2019

संसद में 45 हजार असुरक्षित शौचालय का मुद्दा उठाया सासंद ने 

कोरबा, 19 जुलाई। लोकसभा क्षेत्र की सांसद श्रीमती ज्योत्सना चरणदास महंत ने आज संसद में अपनी बात रखी। उन्होंने प्रधानमंंत्री नरेन्द्र मोदी की महत्वाकांक्षी योजना स्वच्छ भारत मिशन पर छत्तीसगढ़ में शौचालयों की दुर्दशा को रेखांकित करते हुए अपनी बात रखी। श्रीमती महंत ने स्वच्छ भारत मिशन की वस्तुस्थिति पर प्रकाश डालते हुए सदन को बताया कि कोरबा जिले के 4 विधानसभा क्षेत्रों रामपुर, कटघोरा, कोरबा, पाली-तानाखार में योजनांतर्गत 1 लाख 43 हजार शौचालय बनाये गये हैं जिनमें से 45 हजार शौचालय दुर्दशा के कारण उपयोग में लाये ही नहीं जा सकते क्योंकि ये स्वास्थ्य के दृष्टिकोण से बेहद असुरक्षित हैं। आधे-अधूरे शौचालयों के निर्माण के अलावा आवश्यक व्यवस्थाओं पूर्ति में गंभीरता नहीं दिखाई गई और कमजोर व अधूरे शौचालयों का निर्माण असुरक्षित हैं। ऐसे शौचालयों का उपयोग संक्रामक बीमारियों की वजह भी बनेगा । श्रीमती महंत ने सवाल किया कि क्या सरकार के पास पूरी जानकारी है कि कितने शौचालय उपयोग में लाये जा रहे हैं? असुरक्षित शौचालयों का निर्माण योजना के क्रियान्वयन की हकीकत बयां करता है। 

 

 


Date : 18-Jul-2019

सफाई कर्मियों का वेतन बढ़ाने की मांग को लेकर आंदोलन

छत्तीसगढ़ संवाददाता
कोरबा, 18 जुलाई।
नगर पालिक निगम अंतर्गत शहरी क्षेत्र में साफ-सफाई का जिम्मा संभालने वाले सफाई कर्मी वेतन बढ़ाने की मांग को लेकर गांधीगिरी कर रहे हैं। पिछले दो दिनों से सफाई कर्मी रोजाना सुबह 1 घंटे चौक पर धरना देकर अपनी मांग पूरी करने आंदोलन कर रहे हैं। 

सफाई कर्मियों के इस आंदोलन के कारण साफ-सफाई व्यवस्था चरमरा गई है। खासकर निहारिका, महाराणा प्रताप नगर, घंटाघर एमपी नगर, आरएसएस नगर, बुधवारी, शिवाजीनगर सहित अन्य क्षेत्र के सफाई कर्मी ठेकेदार से मजदूरी के रूप में 300 रुपए तथा 100 रुपए सुरक्षानिधि काटे जाने की मांग कर रहे हैं। उनका आरोप है कि ठेकेदार राजू जायसवाल द्वारा मजदूरों को 270 रुपए की दर से मजदूरी का भुगतान किया जा रहा है जो शासन नियमों के विपरित है। सफाई कर्मियों को नियमत: 352 रुपए मजदूरी दी जानी चाहिए लेकिन शासन के गाइड लाइन का ठेकेदार द्वारा पालन नहीं किया जा रहा है। पिछले दो दिनों से उक्त क्षेत्रों में साफ-सफाई व्यवस्था चरमराई हुई है।


Date : 18-Jul-2019

एसईसीएल व सीएसईबी के क्षेत्रों में सफाई व्यवस्था ठीक नहीं 

छत्तीसगढ़ संवाददाता
कोरबा, 18 जुलाई।
आयुक्त एसके दुबे ने आज निगम क्षेत्र में स्थित सार्वजनिक उपक्रमों के अधिकारियों की बैठक के दौरान उपक्रमवार संबंधित कार्यों की कार्यप्रगति की समीक्षा की। 

एसईसीएल कोरबा के साफ-सफाई कार्यों के संबंध में  समीक्षा करते हुए उन्होंने कहा कि इनके आधिपत्य वाले क्षेत्रों में सफाई की स्थिति ठीक नहीं है, डस्टबिन नहीं बांटें गए हैं, मुड़ापार बाईपास मार्ग में गंदगी भरी पड़ी है। संयुक्त समिति द्वारा प्रस्तुत निरीक्षण रिपोर्ट में बताया गया है कि एसईसीएल कुसमुण्डा क्षेत्र में सड़क, नाली आदि की सफाई नहीं हो रही, डस्टबिन का वितरण नहीं हुआ है। 

यह भी अफसोसजनक है कि एसईसीएल कुसमुण्डा द्वारा पूर्व में दिए गए निर्देशों के तहत अभी तक इस संबंध में कोई कार्ययोजना प्रस्तुत नहीं की गई, अत: इस संबंध में ठोस कदम उठाएं जाएं। सीएसईबी वेस्ट एवं ईस्ट के आधिपत्य वाले क्षेत्रों में भी साफ-सफाई व्यवस्था असंतोषजनक है और जगह-जगह कचरे के ढेर लगे हुए हैं। 

एसएलआरएम सेंटरों के निर्माण की कार्यप्रगति आगे नहीं बढ़ पायी है, अत: इस दिशा में त्वरित रूप से आवश्यक कार्यवाही करें। एनटीपीसी की समीक्षा के दौरान पाया गया कि डोर-टू-डोर अपशिष्ट संग्रहण किया जा रहा है, किन्तु कचरे का पृथकीकरण नहीं हो रहा है, वहीं डस्टबिन वितरित नहीं किए गए हैं, इस पर भी समुचित कार्यवाही करने के निर्देश आयुक्त श्री दुबे ने दिए, वहीं बालको के कार्यों की भी समीक्षा की गई। 

 


Date : 18-Jul-2019

पॉवर इम्पीरिया में सावन के झूले का आनंद

छत्तीसगढ़ संवाददाता
कोरबा, 18 जुलाई।
सावन महिने के प्रथम दिन बुधवार को पावर इम्पीरिया की महिलाओं ने हर्षोल्लास के साथ सावन झूला का आनंद लिया। 

कार्यक्रम में श्रीमती कल्पना मिश्रा, तारा सोनी, रेनू यादव, रिंकु मिदिया, डॉ. ज्योति श्रीवास्तव, विनीता सोनी, वीना भावनानी, शालू, सोनल शाह, बबली भामरा, राज कौर, जागृत, जागृति गुप्ता, शीला साहू, अदिती गुप्ता, रजनी, परी अग्रवाल, रेखा श्रीवास्तव, निधी, अलकनंदा दत्ता,अनीता इंडा, अलका फिलिप, दिशा चौधरी, आदिति,उमा गोयल, सुदीप्ता चौधरी, रुमित गुलाटी, उपासना गुप्ता, ज्योति, पूनम मंडल, दीप्ति, कुसुम, स्मिता शुक्ला, रश्मि चौरसिया, शोभा, मिकी, शांति देवी, किरण तिवारी, प्रीति,असलेखा, सुमिता, नीलम गुप्ता, गायत्री देवांगन, सोनिया, रंजीत,रितू, दिव्या, मीना अग्रवाल, रश्मि,निता डोडेजा, सुश्रिता पंडा, मधु चौधरी, कृतिका, रिंकी, प्रतिमा पारीख, रीता कोहली एवं रीता वासन सहित अन्य महिलाएं उपस्थित थीं।

 


Date : 18-Jul-2019

निगम की कार्रवाई के बाद भी सड़कों पर मवेशियों का कब्जा

छत्तीसगढ़ संवाददाता
कोरबा, 18 जुलाई।
शहर की सड़कों पर इन दिनों आवारा मवेशियों का जमावड़ा देखने को मिल रहा है। मार्ग से गुजरने वाले राहगीरों को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। आए दिन दुर्घटनाएं हो रही है। मवेशियों को नियंत्रित करने के लिए नगर निगम ने अभियान तो छेड़ रखा है इसके बावजूद समस्या का समाधान नहीं हो पा रहा है। नगर निगम की कार्रवाई आगे पाट पीछे सपाट की तर्ज पर चल रही है।

आलम यह है कि मुख्य सड़कों पर बैठे रहते हैं जिसके कारण हादसों की संख्या में लगातार वृद्धि हो रही है। 9 जुलाई से नगर निगम द्वारा कांजी हाऊस में आवारा मवेशियों को रखने का काम शुरू किया गया है। काऊ कैचर के माध्यम से मवेशियों को कांजी हाऊस में पहुंचाया जा रहा है। इसके बावजूद सड़कों पर मवेशियों का कब्जा है। सुबह से शाम तक आवारा मवेशी सड़क पर आकर बैठ जाते हैं। दुपहिया व चारपहिया वाहन चालकों को परेशानियों का सामना करना पड़ता है। इस वजह से यातायात बाधित तो होती है। साथ ही दुर्घटना की आशंका बनी रहती है। नगर निगम ने अब तक 54 मवेशियों को ही पकड़कर पहुंचाया है। जबकि सड़कों पर सैकड़ों मवेशी घूमते देखा जा सकता है। उससे कहीं न कहीं उनके मालिक जिम्मेदार है। जो मवेशियों को बांध कर रखने के बजाय खुले में छोड़ देते हैं। नगर निगम को मवेशी मालिकों के ऊपर कड़ी कार्रवाई करते हुए जुर्माने की राशि बढ़ाया जाना चाहिए। ताकि उन्हें अपनी जिम्मेदारी का अहसास हो सके।

निगम ने चलाया अतिक्रमण हटाओ अभियान
शहर को व्यवस्थित करने के दिशा में नगर निगम ने अतिक्रमण हटाओ अभियान शुरू कर दी है। बस स्टैंड सहित शहर के प्रमुख स्थलों पर अतिक्रमण कर यातायात व्यवस्था को बाधित किया गया है। लगातार मिल रही शिकायत के बाद नगर निगम द्वारा अभियान चलाया गया। कुछ दिन पूर्व बस स्टैंड में खड़ी कंडम वाहनों को हटाने के लिए नोटिस जारी किया गया। 
साथ ही नए ठेले संचालित करने वाले संचालकों को भी नोटिस दिया गया। नोटिस का पालन नहीं करने पर नगर निगम ने अतिक्रमण हटाओ अभियान शुरू किया। निगम की कार्रवाई का बस मालिकों ने भी समर्थन किया है। शहर को अतिक्रमणकारियों के कब्जे से मुक्त करने के लिए कोरबा नगर निगम द्वारा लगातार प्रयास कर रही है। कई बार नगर निगम में शिकायतें आई थी। इसे गंभीरता से लेते हुए निगम आयुक्त के निर्देश पर तोड़ू दस्ता के द्वारा कार्रवाई की।

 बस स्टैंड समेत आसपास के क्षेत्रों में बेजाकब्जा कई लोगों ने कर रखा था। जिसे आज नगर निगम की टीम ने अतिक्रमण हटाओ अभियान चलाकर बेजा कब्जा हटाया। नगर निगम के द्वारा बस स्टैंड के समीप हुए कब्जे को जिस तरह से हटाया गया, बस मालिकों ने कार्रवाई को उचित बताया है।


Date : 18-Jul-2019

कछुआ चाल से चल रहा जिला अस्पताल के कंपोजिट बिल्डिंग का निर्माण

छत्तीसगढ़ संवाददाता
कोरबा, 18 जुलाई। 
शासकीय निर्माण कार्य में लापरवाही कोई नई बात नहीं है। कुछ ऐसा ही हाल जिला अस्पताल परिसर में बन रहे कम्पोजिट बिल्डिंग का है। तय समय सीमा के 10 माह बाद भी निर्माण कार्य अधूरा है। ठेकेदार की लापरवाही के कारण निर्माण कार्य कछुआ गति से चल रहा है। 

आईएसओ सर्टिफाइड जिला अस्पताल में चिकित्सा सुविधाएं बढ़ाते हुए इसे सुपर स्पेशियलिटी हॉस्पिटल के तर्ज पर तैयार करने के लिए परिसर में पौने 3 करोड़ की लागत से कंपोजिट बिल्डिंग का निर्माण चल रहा है। जहां बर्न यूनिट, ट्रामा केयर यूनिट, आईसीयू जैसी 3 बड़ी सुविधाएं शुरू होनी है। इसके अलावा फिजियोथैरेपी यूनिट, जेनेटिक वार्ड की सुविधा भी होगी। लेकिन तय समय से 10 माह देरी से चल रहे निर्माण कार्य की वजह से ये महत्वपूर्ण सुविधाएं अटकी हुई है। इसके साथ ही सुपर स्पेशीलिटी हॉस्पिटल के लिए डॉक्टर व अन्य स्टाफ की पदस्थापना भी लटक गई है। कंपोजिट बिल्डिंग का निर्माण हाउसिंग बोर्ड करा रही है। 14 नवंबर 2017 को तत्कालीन कोरबा सांसद डॉ. बंशीलाल महतो ने कंपोजिट बिल्डिंग निर्माण कार्य का भूमिपूजन किया था। निर्माण कार्य पूर्णता की तय अवधि सितंबर 2018 थी। लेकिन   कंपोजिट बिल्डिंग का निर्माण पूरा नहीं हुआ है। 

दूसरी ओर जिला अस्पताल प्रबंधन को कंपोजिट बिल्डिंग के हैंडओवर का इंतजार है।बताया जाता है कि जिला अस्पताल के साथ बन रहे कंपोजिट बिल्डिंग में बड़े अस्पतालों की तरह चिकित्सा सुविधा शुरू हो जाएगी। शासन की सभी योजनाएं वहां लागू होगी इसलिए रियायती फीस समेत स्वास्थ्य कार्ड में इलाज होगा। जिले के 12 लाख लोगों को इसका फायदा होगा। जिले में बर्न केस ज्यादा होते है इसलिए बर्न यूनिट से ऐसे केस के मरीजों को त्वरित चिकित्सा मिलेगी।


Date : 18-Jul-2019

मालवाहक की टक्कर से बाइक सवार छात्र घायल

कोरबा, 18 जुलाई। शारदा विहार मोड़ के समीप मालवाहक ऑटो चालक ने लापरवाहीपूर्वक वाहन चलाते हुए बाइक सवार कॉलेज छात्र को अपनी चपेट में ले लिया। हादसे में बाइक सवार छात्र घायल हो गया है जिसे उपचार के लिए स्थानीय अस्पताल में भर्ती कराया गया है।दर्री थाना अंतर्गत पावर सिटी अयोध्यापुरी निवासी विशाल दास पीजी कॉलेज कोरबा में बीए अंतिम वर्ष का छात्र है, कल वह अपनी बाइक क्रमांक सीजी-12एयू-4207 में सवार होकर सिटी मॉल आया हुआ था, जहां से वह कॉलेज जा रहा था। शारदा विहार मोड़ के पास मालवाहक ऑटो क्रमांक सीजी-12एआर-0418 के चालक ने लापरवाहीपूर्वक वाहन चलाते हुए बाइक को जोरदार टक्कर मार दी। हादसे में विशालदास घायल हो गया है। जिसकी रिपोर्ट पर पुलिस ने मालवाहक ऑटो चालक के खिलाफ धारा 279, 337 के तहत अपराध दर्ज किया है। 

 


Date : 18-Jul-2019

निजीकरण व श्रम विरोधी नीतियों पर छेड़ेंगे आंदोलन

छत्तीसगढ़ संवाददाता
कोरबा, 18 जुलाई।
केंद्र सरकार द्वारा प्रस्तुत बजट की पूरे देश में खिलाफत करने के लिए एटक की केन्द्रीय समिति ने फैसला लिया है। इसी कड़ी में कोरबा क्षेत्र के अंतर्गत एसईसीएल की तमाम परियोजनाओं मानिकपुर, रजगामार, सुराकछार, सेंट्रल वर्कशॉप, बगदेवा, बलगी, सिंघाली, ढेलवाडीह, सराईपाली तथा बांकी में एटक कार्यकर्ताओं ने बजट के विरोध में धरना प्रदर्शन किया। एटक के दीपेश मिश्रा ने कहा कि सरकार इस देश में सब कुछ बेच देने की मुहिम चला रही है। इनका लक्ष्य देश के धरोहर सार्वजनिक उपक्रमों को पूरी तरह समाप्त कर निजीकरण की ओर ले जाना है। ं श्रम कानूनों को कमजोर कर यह सरकार बड़े उद्योग घरानों को लाभ पंहुचा रही है। इन्हीं मुद्दों पर एटक राष्ट्रव्यापी आंदोलन छेडऩे की योजना बना रही है। प्रदर्शन में राजू श्रीवास्तव, मृत्युंजय कुमार, उज्जवल बनर्जी, राजेश पाण्डेय, एनके साव, धर्मा राव, प्रमोद सिंह, रेवत मिश्रा, महेंद्र सिंह, कमर बख्श, ज्ञान चंद साहू, प्रमोद धर दीवान, संजय सिंह, नवीन चौबे, एसके प्रसाद, भागवत सिंह, एनके दास, रंजन राम, आदि शामिल हुए।


Date : 18-Jul-2019

किराना दुकान का शटर तोडक़र नगदी की चोरी

छत्तीसगढ़ संवाददाता
कोरबा, 18 जुलाई।
दीपका क्षेत्र में संचालित एक किराना दुकान का शटर तोडक़र चोरों ने दराज में रखा 15 हजार रुपए पार कर दिया है। चोरी की रिपोर्ट दीपका थाना में दर्ज कराई गई है। दीपका थाना अंतर्गत दीपका कालोनी के आवास क्रमांक एम-125 में निवासरत दीपनारायण तिवारी पिता मथुरा प्रसाद द्वारा प्रगतिनगर व्यवसायिक काम्पलेक्स में दीप प्रोविजन स्टोर एवं किराना दुकान का संचालन किया जाता है। कल रात लगभग 10 बजे रोजाना की तरह वह दुकान बंद कर घर आ गया था। अगली सुबह जब वह दुकान खोलने पहुंचा तो उसने देखा कि दुकान का शटर टूटा हुआ है। चोरों ने सब्बल की मदद से शटर को तोडक़र वारदात को अंजाम दिया है। संचालक दीप नारायण ने बताया कि चोरों ने दुकान से केवल दराज में रखा 15 हजार रुपए चुराया है, अन्य किराना सामान की चोरी नहीं की गई है। मामले में दीपका पुलिस ने अज्ञात चोर के खिलाफ धारा 457, 380 के तहत अपराध पंजीबद्ध कर उसकी पतासाजी प्रारंभ कर दी है।

 


Date : 18-Jul-2019

हाथी ‘गणेश’ ने मंदिर को किया क्षतिग्रस्त

छत्तीसगढ़ संवाददाता
कोरबा, 18 जुलाई।
कोरबा में खतरनाक दंतैल हाथी गणेश ने उत्पात मचाते हुए बुधवार की रात कोरकोमा मार्ग पर बने एक मंदिर को क्षतिग्रस्त कर दिया बुधवार रात दंतैल ने कोरकोमा मार्ग पर बने एक मंदिर को क्षतिग्रस्त कर दिया। इतना ही नहीं रास्ते में धान की फसल व एक ग्रामीण के केला बाड़ी में प्रवेश कर वहां लगे केला व सब्जी के पौधों को भी तहस-नहस कर दिया। रास्ते में उत्पात मचाने के बाद दंतैल सुबह होने से पहले ढेंगुरडीह पहुंच गया। हालांकि वन विभाग द्वारा इसकी निगरानी के लिए टीम बनाई गई है जो लगातार पीछा कर रही है। बावजूद इसके दंतैल के उत्पात पर विराम नहीं लग रहा है। 

दंतैल ने मंगलवार की रात कोरकोमा पहुंचकर वहां स्कूल आश्रम के बाउंड्रीवाल को तोड़ दिया था तथा रात भर बस्ती में उत्पात मचाया था जिससे गांव वाले काफी दहशत में थे और रतजगा करने को मजबूर हुए। गांव में उत्पात मचाने के बाद यह दंतैल बुधवार तडक़े जंगल में जाकर छिप गया था। जहां दिन भर विश्राम करने के बाद रात में फिर आगे बढ़ा और ढेंगुरडीह पहुंच गया। इस दौरान उसने रास्ते में भार उत्पात मचाया। उधर बालको रेंज के भटगांव जंगल में एक सप्ताह तक डेरा डालने के बाद 11 हाथियों का दल बालको की ओर वापस लौट रहा है। हाथियों के इस दल को गुरुवार की सुबह नवाडीह के निकट विचरण करते हुए देखा गया और इसकी जानकारी वन विभाग को दिए जाने पर विभाग का अमला मौके पर पहुंचकर हाथियों की निगरानी में जुट गया है। 
ग्रामीणों को हाथियों के आगमन की जानकारी दिए जाने के साथ ही सचेत किया जा रहा है। हाथियों के हमले को लेकर वन विभाग की परेशानी जरूर बढ़ी है लेकिन नियंत्रण को लेकर उसके दावों का दम कहीं नजर नहीं आ रहा है।

 


Date : 18-Jul-2019

देश की संपत्ति बचाने व मजदूर हित में करेंगे संघर्ष-एटक

छत्तीसगढ़ संवाददाता
कोरबा, 18 जुलाई।
अखिल भारतीय ट्रेड यूनियन कांग्रेस (एटक) की राष्ट्रीय कार्यसमिति के निर्णय अनुसार बालको एटक के द्वारा केन्द्र सरकार के आमजन व श्रम विरोधी बजट के विरोध में तीन दिवसीय विरोध दिवस मनाया गया। 15 से 17 जुलाई तक आजाद चौक परसाभाठा में प्रदर्शन व सभा की गई। 

एटक राज्य महासचिव हरिनाथ सिंह ने इस मौके पर कहा कि दूसरी बार केन्द्र की सत्ता में बैठे प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा 100 दिनों के लिए जो कार्य एजेण्डा बनाया गया है, उसके अनुसार 44 श्रम कानूनों की जगह अब 4 कोडीफिकेशन होगा जो पूरी तरह से मजदूर व मेहनतकशों के विरोध में है। 

फायदे वाली सार्वजनिक क्षेत्र की खदानों को हस्तांतरित करना, बेचना, कोयला, तेल, बिजली, रेलवे, रेलवे स्टेशनों, हवाई अड्डों का निजीकरण, किसानों की जमीन जबरन कार्पोरेट फार्मिंग के नाम पर हड़पने की कोशिशों के बीच शिक्षा व स्वास्थ्य तथा कल्याणकारी योजनाओं के लिए बजट कम कर दिया गया है। 

रेलवे इंजन व कोच बनाने वाले कारखाना को बेचा जा रहा है जिसका पहला निशाना रायबरेली का कारखाना बना। बजट प्रतिरोध सभा को एमएल रजक, सुनील सिंह, एसके सिंह आदि ने भी संबोधित किया।

 


Previous123Next