छत्तीसगढ़ » कोरबा

Previous12Next
Date : 18-Jan-2020

बालको प्रबंधन के सहयोग और भारत एल्यूमिनियम कर्मचारी शिक्षण समिति द्वारा बाल सदन स्कूल के विद्यार्थियों की हौसला अफजाई की मिश्रा

कोरबा, 18 जनवरी।  बालको प्रबंधन के सहयोग और भारत एल्यूमिनियम कर्मचारी शिक्षण समिति ( इंटक) द्वारा संचालित बाल सदन उच्चतर माध्यमिक स्कूल का वार्षिक खेल उत्सव आज धूमधाम से संपन्न हुआ। समापन अवसर पर स्कूल प्रबंधन ने बाल मेला आयोजित किया। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि बालको के मानव संसाधन प्रमुख (चीफ पीपल ऑफिसर)  देबब्रत मिश्रा थे। बालको के कर्मचारी संबंध-मानव संसाधन (लीड) शुभदीप खान विशिष्ट अतिथि के तौर पर मौजूद थे।   उन्होंने विद्यार्थियों की हौसला अफजाई करते हुए उन्हें शिक्षा के साथ ही पाठ्यसहगामी गतिविधियों में उत्तरोतर प्रगति की शुभकामनाएं दीं। अधिकारियों ने बेहतरीन आयोजन के लिए शिक्षण समिति को साधुवाद दिया। आयोजन के दौरान श्री मिश्रा और श्री खान ने बाल मेला में आयोजित खेलों में भागीदारी की। स्कूल ने छात्र छात्राओं द्वारा निर्मित कलाकृतियों की प्रदर्शनी लगाई। श्री मिश्रा और श्री खान ने कलाकृतियों को उत्कृष्ट बताया।

 भारत एल्यूमिनियम कर्मचारी शिक्षण समिति के अध्यक्ष  जयप्रकाश यादव ने बताया कि स्कूल के जरिए लगभग 1000 ऐसे विद्यार्थियों को लाभ मिल रहा है जो बी.पी.एल. परिवारों से आते हैं। बालको के सहयोग से उन्हें नि:शुल्क शिक्षा दी जा रही है।कार्यक्रम में शिक्षण समिति के उपाध्यक्ष  पी.सी. पांडेय, सचिव  रमेश जांगिड़, संयुक्त सचिव  विमलेश साव, कोषाध्यक्ष  गणपति बैरागी, वरिष्ठ सदस्य श्के.व्ही.एस. वाई. राव व  आर.के. नामदेव, स्कूल के प्राचार्य श्री कौशिक और बालको इंटक के अनेक पदाधिकारी मौजूद थे।

 


Date : 18-Jan-2020

वाहन की चपेट में लकड़बग्घा घायल, प्राथमिक उपचार के बाद कानन पेण्डरी किया गया रवाना

छत्तीसगढ़ संवाददाता
कोरबा, 18 जनवरी।
जटगा वन परिक्षेत्र अंतर्गत पेंड्रारोड में बांधापारा के पास अज्ञात वाहन की चपेट में आकर लकड़बग्घा घायल हो गया। लकड़बग्घा की उम्र पांच वर्ष बताई जा रही है। लकड़बग्घा के शरीर में चोट के निशान हैं। प्राथमिक उपचार के बाद लकड़बग्घा को वन परिक्षेत्र अधिकारी मोहर सिंह मरकाम ने कानन पेंडारी बिलासपुर भेज दिया है।

कटघोरा वनमंडल के जटगा वनपरिक्षेत्र अंतर्गत पेंड्रारोड में बांधापारा के पास अज्ञात वाहन की चपेट में आकर लकड़बग्घा घायल हो गया। सूचना मिलने पर वनपरिक्षेत्र अधिकारी अपनी टीम के साथ मौके पर पहुंचे। ग्रामीणों के सहयोग से घायल लकड़बग्घा को वन परिक्षेत्र जटगा लाया गया। मौके पर सनत कुमार शांडिल वनपाल, एसडी महंत वनपाल, वनरक्षक बलराम सिंह, कत्नलाल राजवाड़े उपस्थित थे। प्राथमिक उपचार के बाद लकड़बग्घा को शासकीय वाहन से कानन पेंडारी भेजने की व्यवस्था की गई। उधर अमलीकुंडा में घायल हाथी को उपचार कराते हुए उसके बच्चे को सुरक्षित पी 675 के पास झुंड में छोड़ा गया। वहीं पी 69 फेंसिंग में भालू का शावक फंसा हुआ था। उसे भी सुरक्षित पी 69 में छोड़ा गया। कटघोरा वनमंडल के जटगा वन परीक्षेत्र में इसी तरह की कई घटनाएं हो चुकी हैं। अधिकारी मोहर सिंह मरकाम दलबल व वनरक्षक मंगल सिंह नायक मौके पर डटे हुए हैं।

 

 

 


Date : 18-Jan-2020

डीजल चोर खदान कर्मी को निलंबित करने की प्रक्रिया शुरू, डीजल चोरी करते पकड़े गए तीन आरोपियों को जेल भेजा

छत्तीसगढ़ संवाददाता
कोरबा, 18 जनवरी।
एसईसीएल दीपका क्षेत्र की कोयला खदान में डीजल चोरी करते पकड़े गए तीन आरोपियों को जेल भेज दिया गया है। इनमें एक एसईसीएल कर्मी शामिल है। उसे निलंबित किए जाने की प्रक्रिया शुरू कर दी गई है। जल्द ही निलंबन आदेश प्रबंधन का कार्मिक विभाग जारी करेगा।

दीपका क्षेत्र मुख्यालय के कार्मिक मुख्यालय से जानकारी मिली है कि डीजल चोरी के प्रकरण में एक कर्मचारी की भूमिका के संबंध में उसे प्रतिवेदन प्राप्त हुआ है। उक्तानुसार संबंधित को कंपनी की सेवा शर्तों के अंतर्गत निलंबित किए जाने के लिए प्रक्रिया जारी है। इसके अनुसार उस पर शिकंजा कसा जाएगा। जगदीश गभेल नामक कर्मचारी एसईसीएल दीपका में फीटर के तौर पर कार्यरत है, जिसके खिलाफ दीपका थाना ने मामला दर्ज किया है। दो दिन पहले दीपका खदान में रात्रि गश्त के दौरान सीआईएसएफ की टीम ने यहां इस कर्मचारी के साथ दो और लोगों को पकड़ा था। ये एक वाहन से डीजल चोरी कर रहे थे, जो खदान क्षेत्र में खड़ा हुआ था। 

सीआईएसएफ ने आरोपियों को स्थानीय पुलिस के सुपुर्द किया और इस बारे में प्राथमिकी भी दर्ज कराई। पुलिस ने प्रकरण में कार्रवाई करते हुए आरोपियों को कटघोरा कोर्ट में पेश किया, जहां से वे जेल भेज दिए गए। कर्मचारियों के ऐसे मामलों में विभागीय नियमों के अंतर्गत कार्रवाई की जानी प्रावधानित है। दीपका क्षेत्र के कार्मिक विभाग ने पुष्टि की है कि संबंधित कर्मी की चोरी में भूमिका की रिपोर्ट मिलने के साथ अब आगे की कार्रवाई करने के लिए प्रक्रिया की जा रही है। उच्चाधिकारियों को उसकी जानकारी दे दी गई है।

 

 


Date : 18-Jan-2020

डॉक्टरों की हड़ताल से जिला अस्पताल की व्यवस्था चरमराई, भर्ती मरीज भी करा रहे छुट्टी, नहीं मिल रही सुविधा

छत्तीसगढ़ संवाददाता
कोरबा, 18 जनवरी।
सरकारी डॉक्टरों की हड़ताल के तीसरे दिन भी मरीजों को इलाज की सुविधा नहीं मिलने से हलाकान रहे। डॉक्टरों के काम पर लौटने की तिथि तय नहीं होने से मरीज अस्पताल से छुट्टी करा रहे हैं। 

जिला अस्पताल में इलाज सुविधा की आस लेकर पहुंचे मरीजों को तीसरे दिन भी अव्यवस्था का सामना करना पड़ा। दो समय ओपीडी खोलने का आदेश जारी किए जाने के विरोध में अस्पताल के डॉक्टर हड़ताल पर हैं। उनकी जगह पर भले ही आयुर्वेदिक चिकित्सकों की ड्यूटी लगा दी गई है, किंतु वर्तमान में दाखिल मरीजों का अंग्रेजी दवा के माध्यम से इलाज जारी होने के कारण आयुर्वेद चिकित्सकों के लिए स्थिति संभालना मुश्किल हो गया है। मरीज छुट्टी कराकर निजी अस्पतालों में इलाज के लिए मजबूर हैं। 

शनिवार को ओपीडी में आने वाले नए मरीजों को बिना इलाज कराए तीसरे दिन लौटना पड़ा। सबसे बड़ी परेशानी रूटिन चेकअप कराने वाले मरीजों को हो रही है। गर्भवती और शिशुवती महिलाओं को इलाज से वंचित होना पड़ रहा है। ओपीडी में दाखिल गर्भवती महिलाओं का इलाज नर्स और एएनएम के भरोसे है। इमरजेंसी और रात्रिकालीन सेवा ठप हो गई है। डॉक्टरों की हड़ताल होने की जानकारी अब भी वनांचल क्षेत्र के लोगों में नहीं है। ऐसे में इलाज सुविधा को लेकर उनमें भटकाव की स्थिति बनी हुई है। जिला अस्पताल के अलावा सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों की दशा भी दयनीय है।

 


Date : 18-Jan-2020

माता-पिता ने घर में सेंध लगा उड़ाई अपहरण की अफवाह, सकुशल मिली युवती, खुला मां-बाप का राज

छत्तीसगढ़ संवाददाता
कोरबा, 18 जनवरी।
कुसमुंडा थाना क्षेत्र के एक गांव में यह मामला सामने आया है। यहां निवासरत किसान परिवार की 22 वर्षीय युवती शुक्रवार की रात घर से भाग गई। माता-पिता को इसकी भनक रात में ही लग गई और उन्होंने बदनामी से बचने बेटी के अपहरण की झूठी कहानी गढ़ ली। अपहरण की अफवाह को सच बताने उन्होंने इसके लिए योजनाबद्ध तरीके से मकान के पिछले हिस्से की दीवार पर सेंधमारी भी की थी। शिकायत लेकर वे कुसमुंडा थाना पहुंचे। पुलिस की सक्रियता से युवती सकुशल मिल गई जिसने प्रेमी के साथ भागने की सच्चाई बताई और दीवार में सेंधमारी करने से इंकार कर दिया। कड़ाई से पूछताछ करने पर मां-बाप का सच सामने आ गया। जांच पड़ताल के बाद खुलासा हुआ कि बेटी के घर से भाग जाने की बदनामी से बचने माता-पिता ने झूठी कहानी गढ़ी थी। इस घटना के बाद जहां क्षेत्र में हडक़ंप मचा रहा वहीं पुलिस भी सख्ते में आ गई थी। मामला घर में सेंधमारी कर युवती के अपहरण का था लिहाजा पुलिस ने उसे ढूंढने पूरी ताकत झोंक दी थी।

मलबा घर के अंदर मिला
युवती के माता-पिता ने दीवार पर छेद घर के अंदर से ही किया, जिसकी वजह से मिट्टी घर के अंदर ही मिली। मौके पर पहुंची पुलिस की नजर उस पर पड़ी और माजरा समझने में देर नहीं लगी। पुलिस को पता चल गया था कि घर के भीतर से ही दीवार में छेद किया गया है। लिहाजा माता-पिता पर सख्ती बरती गई जिससे उन्होंने सच कबूल कर लिया। कुसमुंडा पुलिस के अनुसार पुलिस को गुमराह करने वाले माता-पिता के खिलाफ धारा 151 के तहत कार्रवाई की जाएगी।

गेवरा बस्ती में मिली युवती
परिजनों ने युवती को नाबालिग होना बताया था जबकि घर में अंकसूची की जांच करने पर वह 22 साल की निकली। इसके साथ ही पुलिस ने गेवरा बस्ती में अपने एक परिचित के यहां ठहरी युवती को भी बरामद कर लिया। उसने बताया कि बिलासपुर में रहने वाले एक युवक से वह प्यार करती है और उससे शादी करना चाहती है जिसके साथ जाने के लिए ही वह घर से निकली थी। उसने दीवार में सेंधमारी से भी इंकार किया था।


Date : 17-Jan-2020

दीपका खदान में केबल खींचने के दौरान तीन कर्मी घायल, तीनों कर्मियों को अपोलो भेजा

छत्तीसगढ़ संवाददाता
कोरबा, 17 जनवरी।
दीपका खदान में केबल खींचने के दौरान तीन कर्मी घायल हो गए। उन्हें बिलासपुर अपोलो में दाखिल कराया गया है। एसईसीएल दीपका क्षेत्र में हरदीबाजार रोड में मिट्टी निकासी हेतु 42 क्यूबिक मीटर क्षमता की बुशायरस सावेल को लगाया गया है। बताया जा रहा है कि पिछले दिनों पिट वाइपर ड्रिल मशीन से केबल शिफ्टिंग का कार्य किया जा रहा था। इसी दौरान ड्रिल मशीन के केबल व्हील डोजर मशीन से खींचा गया। कार्य में लापरवाही होने से केबल की चपेट में आने से तीन विभागीय कर्मी घायल हो गए। इनमें से एक कर्मी कृष्ण कुमार देवांगन को गंभीर चोट लगी। तीनों घायलों को प्राथमिक उपचार के लिए नेहरू शताब्दी हॉस्पिटल गेवरा में दाखिल कराया गया। स्थिति गंभीर मानते हुए प्रबंधन ने घायल कर्मियों को उपचार हेतु बिलासपुर अपोलो अस्पताल रेफर कर दिया, जहां वर्तमान में इलाज जारी है। ऑपरेशन कर गंभीर रूप से घायल कर्मी का उपचार किया जा रहा है। खास बात यह है कि यह दुर्घटना उस वक्त हुई है, जब सभी खदान क्षेत्र में सुरक्षा पखवाड़ा आयोजित किया जा रहा है। दीपका में भी सुरक्षा पखवाड़ा आयोजित किया जा रहा है और शून्य दुर्घटना का टारगेट रखा जा रहा है, बावजूद लापरवाही से हुई दुर्घटना में तीन कर्मी घायल हो गए। इससे अंदाजा लगाया जा सकता है कि दुर्घटना को लेकर प्रबंधन गंभीर नहीं है और जानबूझकर कर्मियों को मौत के मुंह में धकेल रहा है।

 

 


Date : 17-Jan-2020

रेणु अग्रवाल ने नगर के विकास के कीर्तिमान कायम किए हैं, मूलभूत सुविधाओं पर व्यापक पैमाने पर कार्य किए गए हैं, हमें उनके इन्हीें कार्यों को आगे बढ़ाकर नगर निगम क्षेत्र को एक विकसित क्षेत्र बनाना हैं-  महापौर 

महापौर ने ली अधिकारियों की पहली बैठक

कोरबा, 17 जनवरी। नगर पालिक निगम के मुख्य प्रशासनिक भवन साकेत स्थित सभाकक्ष में महापौर  राजकिशोर प्रसाद ने निगम की अधिकारियों की पहली बैठक ली तथा निगम के विभिन्न कार्यो की विस्तार से जानकारी लेते हुए कार्यों की कार्यप्रगति की समीक्षा की। 

उन्होंने अधिकारियों को संबोधित करते हुए कहा कि विगत 05 वर्षों के दौरान राजस्व मंत्री जयसिंह अग्रवाल के मार्गदर्शन में पूर्व महापौर रेणु अग्रवाल ने नगर के विकास के कीर्तिमान कायम किए हैं, मूलभूत सुविधाओं पर व्यापक पैमाने पर कार्य किए गए हैं, हमें उनके इन्हीें कार्यों को आगे बढ़ाकर तथा आवश्यकतानुसार नई कार्ययोजनाएं तैयार कर कोरबा व सम्पूर्ण नगर निगम क्षेत्र को एक विकसित क्षेत्र बनाना हैं तथा जनआकांक्षाओं पर खरा उतरना हैं। 

श्री प्रसाद ने सडक़, नाली, पेयजल व्यवस्था, सडक़ रोशनी, साफ-सफाई से संबंधित कार्यो की विस्तार से जानकारी संबंधित कार्यपालन अभियंताओं एवं  अधिकारियों से लेते हुए मूलभूत सुविधाओं एवं नागरिक सेवाओं से जुड़े इन कार्यो की बेहतरी के संबंध में अधिकारियों से आवश्यक चर्चा की। बैठक के दौरान उन्होंने नए टी.पी.नगर के निर्माण, सीएसईबी चौक से मेजर ध्यानचंद चौक तक फोरलेन निर्माण सहित निगम द्वारा किए जा रहे प्रमुख विकास व निर्माण कार्यों के साथ-साथ वार्डों व बस्तियों में प्रगतिरत व प्रस्तावित विकास कार्यो की जानकारी ली तथा आवश्यक दिशा निर्देश दिए।

 बाईपास सडक़ों के निर्माण प्राथमिकता के साथ
बैठक के दौरान महापौर ने अधिकारियों से कहा कि शहर के बीच से हो रहे कोयला परिवहन एवं शहर में बढ़ते यातायात के दबाव से निपटने के लिए शहर के चारों ओर बाईपास सडक़ों का निर्माण हमारी प्राथमिकताओं में है। उन्होने कहा कि कोयला परिवहन बंद करना उद्देश्य नहीं हैं, बल्कि कोयले का परिवहन शहर के अंदर से न होकर शहर से बाहर से हों, ताकि शहर में बढ़ते प्रदूषण को रोका जा सके, उन्होंने कहा कि बाईपास सडक़ों के निर्माण की दिशा में सुनियोजित रूप से कार्य हों, इस दिशा में हमें आवश्यक कार्ययोजनाएं तैयार करनी।

साफ-सफाई कार्यो पर रहे विशेष फोकस - बैठक के दौरान महापौर श्री प्रसाद ने निगम के स्वास्थ्य अधिकारी  व्हीके सारस्वत से निगम द्वारा किए जा रहे साफ-सफाई कार्यो, उपलब्ध संसाधनों, कितने वार्डो में सफाई कार्य ठेके पर हो रहे हैं तथा  कितने वार्डो में निगम द्वारा स्वयं के अमले से सफाई कार्य कराए जा रहे हैं, आदि की विस्तार से जानकारी ली गई। महापौर श्री प्रसाद ने कहा कि साफ-सफाई कार्यो पर विशेष फोकस रखें, क्योंकि शहर की स्वच्छता से ही शहर की छबि बनती है, हमें कोरबा को एक सुंदर व स्वच्छ शहर बनाना हैं।

बैठक के दौरान मुख्य लेखाधिकारी पीआर मिश्रा, अधीक्षण अभियंता ग्यास अहमद, कार्यपालन अभियंता एके शर्मा, आरके माहेश्वरी, एमएन सरकार, आरके भोजासिया, आरके चौबे, भूषण उरांव, उपायुक्त बीपी त्रिवेदी, निगम सचिव पवन वर्मा, स्वास्थ्य अधिकारी व्हीके सारस्वत, सहायक अभियंता डीसी सोनकर, विनोद शांडिल्य, अखिलेश शुक्ला, एचआर बघेल, विवेक रिछारिया, एनकेनाथ, राजेश पाण्डेय, राकेश मसीह, तपन तिवारी, प्रकाश चन्द्रा, संजीव बोपापुरकर, लीलाधर पटेल, आनंद राठौर आदि सहित निगम के अन्य अभियंतागण व अधिकारी कर्मचारी उपस्थित थे।


Date : 17-Jan-2020

कोरबा-कटघोरा में हाथियों का उत्पात, फसल व मकानों को पहुंचा रहे नुकसान, दहशत में रतजगा कर रहे ग्रामीण 
छत्तीसगढ़ संवाददाता
कोरबा, 17 जनवरी।
हाथियों का उत्पात थमने का नाम नहीं ले रहा है। कटघोरा एवं कोरबा वनमंडल में डेरा जमाए हुए हाथियों ने कई किसानों के मकान व फसल को नुकसान पहुंचाया है। ग्रामीणों के मुताबिक हाथियों को खदेडऩे में वन अमला नाकाम साबित हो रहा है। ग्रामीणों ने जानमाल की सुरक्षा को लेकर खुद ही हाथियों को खदेडऩे का जिम्मा उठाया है। शाम ढलते ही मशाल लेकर चौकसी शुरू कर दी जा रही है। हाथियों के दहशत के कारण ग्रामीणों को रतजगा कर रात गुजारनी पड़ रही है।

कोरबा वन मंडल के करतला रेंज में एक वृद्ध दंतैल पिछले 4 दिनों से विचरण कर रहा है। यह दंतैल कभी जोगीपाली पहुंच जाता है तो कभी नोनदरहा क्षेत्र में पहुंचकर सब्जी के फसलों को रौंद देता है, जिससे वनांचलवासी काफी हलाकान है। दंतैल द्वारा बीती रात नोनदरहा में उत्पात मचाया गया। इस हाथी ने रात में गांव में प्रवेश किया और चार किसानों की बाड़ी उजाड़ते हुए वहां लगे हरे-भरे सब्जी के पौधों को तहस नहस कर दिया, जिससे ग्रामीणों को काफी नुकसान उठाना पड़ा है। हाथी के द्वारा गांव में बाड़ी उजाड़े जाने की सूचना पर वन विभाग का अमला मौके पर पहुंचकर नुकसानी का आंकलन शुरू कर दिया है। 

उधर कटघोरा वनमंडल के केंदईरेंज में उत्पात मचाने वाले हाथियों का 43 सदस्यी झुंड एतमा नगर परिक्षेत्र पहुंच गया है। हाथियों का यह दल परिक्षेत्र के सलिहाभाठा, कोदवारी, बालपचरा, खुरूभाठा में उत्पात मचाने के साथ ही अब तक 20 मकानों को क्षतिग्रस्त किया है। इतना ही नहीं झुंड ने ग्रामीणों के खेत में लगे अरहर, धान व हिरवा की फसल को भी नुकसान पहुंचाया है। हाथियों के उत्पात से वनांचल वासी हलाकान है और रतजगा करने को मजबूर है। ग्रामीणों के मुताबिक वन विभाग द्वारा उनको किसी तरह का सहयोग प्राप्त नहीं हो रहा है। विभाग हाथियों को खदेडऩे में नाकाम साबित हुआ है।

ग्रामीण व महिला हुए घायल
बांगो क्षेत्र में हाथियों के झुंड ने गांव में भारी उत्पात मचाया। हाथियों ने मकान को क्षतिग्रस्त कर दिया जिसकी चपेट में आ जाने से एक महिला घायल हो गई। वहीं हाथियों को देखकर भाग रहा ग्रामीण गिरकर घायल हो गया। दोनों को उपचार के लिए जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

 


Date : 16-Jan-2020

अनिश्चितकालीन हड़ताल पर डटे डॉक्टर, ओपीडी के बाद इमरजेंसी सेवाएं बंद, मरीज परेशान

छत्तीसगढ़ संवाददाता
कोरबा, 16 जनवरी।
सरकारी अस्पतालों में दो शिफ्ट में ओपीडी शुरू किए जाने को लेकर डॉक्टरों का विरोध समाप्त होने का नाम नहीं ले रहा है। मामले में आम सहमति नहीं बन पाने के बाद गुरुवार से चिकित्सक हड़ताल पर चले गए हैं। पहले ओपीडी की सेवाएं बाधित की गई थी और अब अपातकालीन सेवाओं को भी ठप कर दिया गया है। 

मरीजों की परेशानी को देखते हुए स्वास्थ्य विभाग ने विकल्प के तौर पर बाहर से बुलाए गए चिकित्सकों की व्यवस्था की है। सरकारी अस्पताल में नए नियम लागू करने से सरकार और चिकित्सकों में ठन गई है। अपनी मांगों को लेकर चिकित्सक अड़ गए हैं और अनिश्चितकालीन हड़ताल पर चले गए हैं। पहले तो केवल ओपीडी सेवाओं को बंद किया गया था, लेकिन अब अपातकालीन सेवाओं को भी ठप कर दिया गया है। जिससे सरकारी अस्पतालों में भर्ती मरीजों की परेशानी बढ़ गई है। डॉक्टरों का कहना है कि पहले ही उन पर काम का काफी बोझ है इसके बाद भी शाम के समय ओपीडी सेवाओं को शुरू करने का सरकार का नियम समझ से परे है। उन्होंने स्पष्ट रूप से कहा है कि पहले स्टाफ की संख्या बढ़ाए उसके बाद ही नया नियम लागू करें। जिला अस्पताल में कुल 20 चिकित्सक है जिनमें से 2 को छोड़कर सभी हड़ताल पर चले गए हैं। 
अन्य अस्पतालों में भी इसी तरह की स्थिति है। डॉक्टरों के हड़ताल पर चले जाने से स्वास्थ्य सुविधा पूरी तरह से चरमरा गई है। डॉक्टरों की हड़ताल कब तक चलेगी इसका पता नहीं है लेकिन मांगों को लेकर रायपुर में डॉक्टरों और शासन के बीच बैठक चल रही है। बैठक में निर्णय निकलने की संभावना है।

ओपीडी बहिष्कार पर सरकार सख्त, डॉक्टरों का कटेगा वेतन, आदेश जारी
छत्तीसगढ़ इन सर्विस डॉक्टर्स एसोसिएशन (सीडा) द्वारा सरकारी अस्पतालों में एक जनवरी से लागू नए ओपीडी समय का लगातार विरोध किया जा रहा है। इसे लेकर स्वास्थ्य मंत्रालय पत्र जारी कर विरोध कर ओपीडी में सेवा नहीं देने वाले चिकित्सकों का वेतन काटने और कार्रवाई के आदेश दिए है। इसके साथ ही हिदायत दी गई कि व्यवस्था का विरोध सिविल सेवा नियम का उल्लंघन है और कार्रवाई के दायरे में आता है। विरोध करने वाले डॉक्टरों से कहा गया है कि चिकित्सालय का कार्य अति आवश्यक है और आपातकालीन सेवाओं के अंतर्गत आता है। ऐसे में शासकीय अस्पतालों में आने वाले मरीजों का इलाज सुचारू रूप से नहीं किया जा रहा है। चिकित्सकों को बाह्य रोगियों के उपचार का बहिष्कार किया जाना सिविल सेवा नियम का उल्लंघन है। ऐसे में चिकित्सकों के खिलाफ कारण बताओ नोटिस जारी करते हुए तीन दिवस के अंदर जवाब मांगा गया है।

 


Date : 16-Jan-2020

बालकोनगर अय्यप्पा सेवा संघम ने मकर संक्रांति पर अय्यप्पा मंदिर में अनेक अनुष्ठान आयोजित

छत्तीसगढ़ संवाददाता

कोरबा, 16 जनवरी।   बालकोनगर अय्यप्पा सेवा संघम ने मकर संक्रांति पर अय्यप्पा मंदिर में अनेक अनुष्ठान आयोजित किए बालको के निदेशक (धातु)  दीपक प्रसाद ने भगवान अय्यप्पा की पूजा अर्चना कर बालको परिवार की उत्तरोत्तर प्रगति की कामना की।हाथों में थालाप्पोली लिए महिलाओं और किशोरी बालिकाओं ने शोभा यात्रा में हिस्सा लिया रथ यात्रा बालकोनगर के विभिन्न मार्गों से होती हुई अय्यप्पा मंदिर पहुंची। पूजा-अर्चना के बाद मंदिर के पट खोले गए। स्वामी अय्यप्पा के दर्शन के लिए बड़ी संख्या में श्रद्धालु उमड़ पड़े। मकरा विलक्कू पर अय्यप्पा मंदिर परिसर में आतिशबाजी हुई। बड़ी संख्या में बालकोनगरवासियों ने आतिशबाजी का आनंद उठाया। अनुष्ठानों के बाद अय्यप्पा सेवा संघम की ओर से श्रद्धालुओं को प्रसाद वितरित किया गया।   


Date : 16-Jan-2020

अतिरिक्त सचिव और कोरबा जिले के प्रभारी ने दूध उत्पादन के लिए स्वसहायता समूहों को प्रोत्साहित और डेयरियां स्थापित करने सभी जरूरी मदद देने के निर्देश अधिकारियों को दिये

छत्तीसगढ़ संवाददाता
कोरबा, 16 जनवरी।
भारत सरकार के अतिरिक्त सचिव और कोरबा जिले के प्रभारी  सुनील बर्थवाल ने  स्याहीमुड़ी के सीपेट और बेला गांव के नव निर्मित गौठान का दौरा किया। दोनों जगहों पर श्री बर्थवाल ने कोरबा के ग्रामीण क्षेत्रों के युवाओं और महिलाओं को रोजगार से जोडऩे के लिए स्थानीय जरूरतों के मुताबिक प्रशिक्षण आदि सुविधाएं मुहैया कराने के निर्देश दिए। 

श्री बर्थवाल ने अधिकारियों से कहा कि ग्रामीण क्षेत्रों में स्वास्थ्य और षिक्षा के लिए संचालित विभिन्न योजनाओं तथा कार्यक्रमों के तहत लोगों को दी जाने वाली सुविधाओं को स्थानीय युवाओं को रोजगार देने से जोड़ा जाये। सुपोषण अभियान से स्थानीय स्तर पर मषरूम उत्पादन, दलहन उत्पादन, सब्जी उत्पादन जैसे कार्यक्रमों को स्वसहायता समूहों के माध्यम से जोड़ा जाये। इससे स्थानीय स्तर पर लोगों को रोजगार तो मिलेगा ही साथ ही लोगों को पोषक खाद्य पदार्थ भी मिल सकेंगे। उन्होंने दूध उत्पादन के लिए भी स्वसहायता समूहों को प्रोत्साहित करने और डेयरियां स्थापित करने सभी जरूरी मदद देने के भी निर्देष अधिकारियों को दिये।  

श्री बर्थवाल ने स्थानीय स्तर पर उगाये जाने वाले मषरूम की  प्रोसेसिंग एवं पैकेजिंग की भी व्यवस्था के निर्देष अधिकारियों को दिए। इस दौरान जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी  एस.जयवर्धन भी मौजूद रहे। श्री बर्थवाल ने सीपेट में ट्रेनिंग कर रहे युवाओं से भी मुलाकात की। उन्होंने प्लास्टिक प्रोसेसिंग या वेल्डिंग जैसी विधाओं में प्रषिक्षण के बाद युवाओं को स्वरोजगार स्थापित करने के लिए प्रोत्साहित किया। श्री बर्थवाल ने सभी प्रषिक्षण प्राप्त युवाओं से भविष्य की योजनाएं पूछीं साथ ही अधिकारियों को अपना काम शुरू करने के इच्छुक सभी युवाओं को मुद्रा लोन दिलाने के साथ-साथ अन्य दस्तावेजीकरण में भी संभव मदद के निर्देष दिए। 

 


Date : 16-Jan-2020

सड़क सुरक्षा सप्ताह पर बालको के ट्रैफिक विंग की ओर से अनेक कार्यक्रम आयोजित,टाउनशिप में रहने वाले नागरिकों को सुरक्षा तथा यातायात के नियमों के प्रति जागरूक किया 

छत्तीसगढ़ संवाददाता
कोरबा, 16 जनवरी।
 31वें राष्ट्रीय सड़क सुरक्षा सप्ताह पर बालको के ट्रैफिक विंग की ओर से अनेक कार्यक्रम आयोजित किए जा रहे हैं। 11 से 24 जनवरी, 2020 तक आयोजित कार्यक्रम का उद्देश्य बालको अधिकारियों, कर्मचारियों, ठेका कामगारों और बालको टाउनशिप में रहने वाले नागरिकों को सुरक्षा तथा यातायात के नियमों के प्रति जागरूक बनाना है।

कार्यक्रम के दौरान चालक प्रशिक्षण शिविर, वन लेन ड्राइविंग रैली, बाइक रैली, विभिन्न प्रतियोगिताएं, सुरक्षा प्रश्नोत्तरी, स्कूलों में सड़क सुरक्षा पर परिचर्चा, गृहिणियों के लिए सड़क सुरक्षा जागरूकता कार्यक्रम, नुक्कड़ नाटक आदि आयोजित किए जाएंगे अभियान के अंतर्गत जिला पुलिस एवं यातायात विभाग के मार्गदर्शन में बालको के ट्रैफिक विंग ने परसाभाठा चौक से कोरबा के घंटाघर चौक तक बाइक रैली निकाली जिसमें अनेक बालको कर्मचारियों और ठेका कामगारों ने भागीदारी की।

 


Date : 14-Jan-2020

नवनिर्वाचित महापौर, सभापति, अध्यक्ष व उपाध्यक्षों ने किया पदभार ग्रहण, राजस्व मंत्री ने असंभव को संभव कर दिखाया-डॉ. महंत

छत्तीसगढ़ संवाददाता
कोरबा, 14 जनवरी।
राजीव गांधी ऑडिटोरियम में मंगलवार को कोरबा नगर निगम के महापौर राजकिशोर प्रसाद और सभापति श्यामसुंदर सोनी सहित पाली, कटघोरा, छुरी और दीपका निकाय के  अध्यक्ष एवं  उपाध्यक्ष ने पदभार ग्रहण किया। इस मौके पर विधानसभा अध्यक्ष डॉ चरणदास महंत, राजस्व मंत्री  जयसिंह अग्रवाल,पीसीसी अध्यक्ष मोहन मरकाम जिला प्रभारी मंत्री प्रेम साय टेकाम, विधायक द्वय पुरषोत्तम कंवर व मोहितराम केरकेट्टा, कलेक्टर किरण कौशल, पुलिस अधीक्षक जितेन्द्र सिंह मीणा व बड़ी संख्या में कांग्रेस के नेता, अन्य जनप्रतिनिधि, पत्रकारगण एवं आमजन मौजूद रहे। कार्यक्रम की शुरुआत राजगीत अरपा पैरी के धार के साथ की गई।

विधानसभा अध्यक्ष डॉ चरण दास महंत ने कहा कि असम्भव काम को राजस्व मंत्री जयसिंह अग्रवाल ने संभव कर दिखाया हैं। उनके बारे में मुझे कुछ ज्यादा कहने की जरूरत नहीं है। राजस्व मंत्री जयसिंह अग्रवाल ने अपने उद्बोधन में कहा कि स्थानीय चुनाव में चुन कर आए सभी जनप्रतिनिधी दलगत राजनीति से ऊपर उठ कर आम जनता के लिए काम करें। चुनाव के दौरान की प्रतिस्पर्धा को भूला कर अपने कर्तव्यों का निर्वहन करें।

 समारोह में डॉ. महंत ने रितु चौरसिया से पूछा तुम जांजगीर चांपा की हो जिस पर उन्होंने हांमें जवाब दिया। तब डॉ. महंत ने कहा कि उनके पिता के सामने रितु चौरसिया के दादा ने चुनाव लड़ा था। रितु चौरसिया को खूब तरक्की करने शुभकामनाएं डॉ. महंत ने दी।

 


Date : 14-Jan-2020

साई बाबा के भंडारा में मुख्यमंत्री की ओर से लगा 56 भोग, शामिल हुए विस अध्यक्ष, राजस्व मंत्री सहित हजारों नगरजन

छत्तीसगढ़ संवाददाता
 कोरबा, 14 जनवरी।
श्री साई बाबा सेवा समिति , गांधी चौक, कोरबा के 11वें स्थापना दिवस पर आयोजित पालकी यात्रा के दूसरे दिन आज मंगलवार को भंडारा में बाबा के प्रसाद का वितरण किया गया। भंडारा में विधानसभा अध्यक्ष डॉ. चरणदास महंत, राजस्व मंत्री जयसिंह अग्रवाल ने आयोजन की शुभकामनाएं देते हुए साईं बाबा से राज्य, जिलावासियों के सुख समृद्धि की कामना कर मुख्यमंत्री शासन की ओर से भंडारा में 56 भोग बाबा को समर्पित किया। साईं बाबा, शिरडी साईं की चरण पादुका, पंचमुखी हनुमान की पूजा व 56 भोग चढ़ाने पश्चात नर सेवा नारायण सेवा करते हुए शॉल, श्री फल भेंट कर उन्हें भोजन कराया गया। इसके बाद भंडारा प्रारम्भ किया गया।

भंडारा में विधानसभा अध्यक्ष डॉ. महंत, राजस्व मन्त्री जयसिंह अग्रवाल, प्रभारी मंत्री प्रेमसाय टेकाम, प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष मोहन मरकाम, अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के सदस्य सुभाष धुप्पड़, विधायक मोहित केरकेट्टा, पुरुषोत्तम कंवर, पूर्व विधायक बोधराम कंवर, महापौर राजकिशोर प्रसाद, सभापति श्यामसुंदर सोनी, पूर्व महापौर रेणु अग्रवाल,हरीश परसाई  आदि ने भी प्रसाद ग्रहण किया। हजारों की संख्या में नगरजन देर शाम तक भंडारा में शामिल होकर प्रसाद ग्रहण करने पहुंचते रहे।

 


Date : 14-Jan-2020

पानी की तलाश में गांव पहुंची चीतल पर कुत्तों का हमला, मौत

कोरबा, 14 जनवरी। कटघोरा वनमंडल के पाली वन परिक्षेत्र अंतर्गत ग्राम रंगोले के हथखोजा जंगल में एक मादा चीतल पानी की तलाश में विचरण करते हुए ग्राम की समीप पहुंच गई। इसी दौरान आवारा कुत्तों के झुंड ने चीतल को दौड़ाकर घेर लिया। चीतल अपनी जान बचाने के लिए भागते हुए कीचड़ के दलदल में फंस गई। कुत्तों का झुंड चीतल पर टूट पड़ा। इस बीच आवाज सुनकर ग्रामीण मौके पर पहुंचे। किसी तरह ग्रामीणों ने कुत्तों को भगाया। इससे पहले की वन विभाग का अमला पहुंचता इससे पहले ही चीतल ने दम तोड़ दिया।

 


Date : 13-Jan-2020

चिल्फी पुलिस ने मध्यप्रदेश से छत्तीसगढ़ लाई जा रही 4.5 लाख की शराब बरामद की, तीन वाहन समेत छह आरोपियों को गिरफ्तार किया 

छत्तीसगढ़ संवाददाता
बोड़ला, 13 जनवरी।
सोमवार तड़के चिल्फी पुलिस ने मध्यप्रदेश से छत्तीसगढ़ लाई जा रही 4.5 लाख की शराब बरामद की है। तीन वाहन समेत छह आरोपियों को गिरफ्तार किया गया है।  

पुलिस के मुताबिक, मध्य प्रदेश से वाहनों में भरकर चिल्फी के रास्ते करीब 148  पेटी शराब रायपुर व भिलाई ले जाई जा रही थी, पुलिस को इस संबंध की गुप्त सूचना प्राप्त हुई। 

पुलिस ने नाकाबंदी कर वाहनों की सघन तलाशी ली। इस दौरान 148  पेटी अवैध शराब पकड़ी गई। पुलिस के मुताबिक जब्त शराब की कीमत 4.5 लाख रुपए व जब्त तीन वाहनों की कीमत करीब 23 लाख रुपए हैं।

अफसर ने बताया कि गिरफ्तार सभी छह आरोपी सुपेला-भिलाई निवासी हैं। प्रारंभिक पूछताछ में आरोपियों ने बताया है कि शराब रायपुर व सुपेला-भिलाई में डिलिवर किया जाना था। सुपेला-भिलाई में उनके आदमी हैं, जिनके द्वारा इस शराब का इस्तेमाल पंचायत चुनाव के लिए भी किया जाना था। अधिकारी के मुताबिक सभी आरोपियों पर आबकारी एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज कर लिया गया है।


Date : 13-Jan-2020

दो पाली में ड्यूटी को लेकर डॉक्टरों का प्रदर्शन, 16 से ओपीडी बहिष्कार की घोषणा

छत्तीसगढ़ संवाददाता
कोरबा, 13 जनवरी।
जिला अस्पताल के चिकित्सकों के समय में बदलाव किया गया है। डॉक्टरों को दो शिफ्ट में ओपीडी में आना होगा। इसका विरोध भी डॉक्टरों ने शुरू कर दिया है। सोमवार को जिला अस्पताल के बाहर प्रदर्शन करने के साथ मांग पूरी नहीं होने पर 16 जनवरी से ओपीडी बहिष्कार की चेतावनी दी गई है।

पिछले दिनों राज्य सरकार ने इस आशय की घोषणा की है कि अब सभी शासकीय चिकित्सालय में ओपीडी सुबह और शाम खुल जाएगी और यहां मरीजों का पंजीयन करने के साथ उन्हें उपचार उपलब्ध कराया जाएगा। इसे जल्द ही क्रियान्वित किया जाना है । इस निर्णय के विरोध में चिकित्सक आ गए हैं । 

कोरबा में आज जिला अस्पताल के चिकित्सकों ने मुख्य द्वार पर प्रदर्शन किया और 2 समय ओपीडी खोले जाने के निर्णय का विरोध जताया। उन्होंने तर्क दिया कि इस चिकित्सालय में पहले से ही विशेषज्ञों की कमी बनी हुई है। इसे पूरा करने के लिए कई प्रस्ताव दिए गए, लेकिन अब तक कोई काम नहीं हो सका । चिकित्सकों की सीमित संख्या के कारण कई तरह की समस्याएं पेश आ रहे हैं। वर्तमान स्टाफ का उपयोग ही पोस्टमार्टम के साथ-साथ अन्य कार्यों में किया जा रहा है। इसके साथ ही यही डॉक्टर मरीजों को अटेंड करते हैं । इस स्थिति में दो बार ओपीडी का संचालन किया जाना व्यवहारिक रूप से सही प्रतीत नहीं होता है । चिकित्सकों ने इस मामले में 16 जनवरी से ओपीडी का बहिष्कार करने की बात कही है। इस बारे में सीएमएचओ के साथ-साथ अन्य संबंधित अधिकारियों को अवगत कराया जा रहा है।

 

 


Date : 13-Jan-2020

डॉयल 112 वाहन को हाथियों ने घेरा दो घंटे तक वाहन में जवान-मरीज दुबके रहे, मरीजों को ला रहे थे अस्पताल

छत्तीसगढ़ संवाददाता
कोरबा, 13 जनवरी।
मोरगा चौकी क्षेत्र से डॉयल 112 में दो महिला व दो पुरुष मरीजों को पोड़ी उपरोड़ा सीएचसी लाया जा रहा था। बीच रास्ते में उनका सामना हाथियों के झुंड से हो गया। हाथियों ने 2 घंटे तक वाहन को घेरे रखा। इस दौरान वाहन में मौजूद जवान व मरीज सहमे रहे। अंतत: हाथियों का झुंड कुरूभाठा जंगल की ओर आगे बढ़ा तो जवानों व मरीजों ने राहत की सांस ली।

जानकारी के अनुसार बांगो थाने की मोरगा चौकी में डायल 112 में पदस्थ चालक संजय कुमार पांडेय तथा आरक्षक शम्सुद्दीन गत रात्रि 8 बजे के लगभग डायल 112 में मोरगा क्षेत्र के दो पुरुष व दो महिला मरीजों को लेकर पोड़ी उपरोड़ा सीएचसी आ रहे थे। बांगो थाना से 25 किमी दूर ग्राम मातीन के कुरुभाठा जंगल के पास मेनरोड में डायल 112 के जवान वाहन लेकर पहुंचे तो अचानक सामने तीन दर्जन से ज्यादा हाथियों का झुंड दिखा। जिसमें छह दंतैल एवं दो हाथियों के शावक भी थी। हाथियों के झुंड को सामने देखते ही डायल 112 के चालक संजय पांडेय के होशो-हवास उड़ गए और उसने वाहन को वहीं रोक दिया। वाहन के दरवाजे एवं उसमें लगे शीशों को भी जवानों ने बंद कर दिया। 

 किसी तरह दो घंटे के बाद हाथियों का झुंड मुख्य मार्ग की ओर से कुरुभाठा जंगल की ओर कूच कर गया। हाथियों के काफी दूर निकल जाने के बाद डायल 112 का चालक संजय पांडेय वाहन में मरीजों को लेकर अस्पताल पहुंचा और इस घटना की जानकारी उसने बांगो टीआई एस.एस.पटेल को दी।

 उम्रदराज हाथी पहुंचा नोनदरहा
इस बीच कोरबा वनमंडल के करतला रेंज के नोनदरहा गांव में एक अन्य उम्रदराज दंतैल हाथी ने दस्तक दिया है। इसने यहां पहुंचते ही उत्पात मचाते हुए दो किसानों के बाड़ी में लगे आलू के फसल को तहस-नहस कर दिया। जिससे दोनों किसानों को भारी नुकसान उठाना पड़ा है।


Date : 12-Jan-2020

कोरबा में धान खरीदी की व्यवस्थाओं को देख, सीएस हुए खुश, कलेक्टर को कहा वेरी गुड

छत्तीसगढ़ संवाददाता
कोरबा, 12 जनवरी।
मुख्य सचिव आर पी मंडल धान खरीदी पर कोरबा जिले की कलेक्टर को वेरी गुड बोल गए। अपने संक्षिप्त प्रवास पर शनिवार सुबह कोरबा पहुंचे सीएस ने कोरबा के सोनपुरी धान खरीदी केंद्र का निरीक्षण किया। इस दौरान मुख्य सचिव ने धान बेचने आये किसानों से भी बात की और पूछा - कोई समस्या है क्या? किसानों ने धान खरीदी की व्यवस्थाओं पर संतोष जताया किसान बोले टोकन के हिसाब से समय पर खरीदी हो रही है। व्यवस्था अच्छी है कोई समस्या नहीं है। मुख्य सचिव ने किसानों के इस संतुष्टि भरे जवाब पर व्यवस्थाओं के लिए पास खड़ी कलेक्टर किरण कौशल को ''वेरी गुडÓÓ कहा और धान खरीदी में लगे अधिकारी-कर्मचारियों की प्रशंसा करते हुये हौसला अफजाई भी की।  

श्री मण्डल ने सोनपुरी समिति में धान खरीदी से संबंधित रजिस्टरों, बारदानों की उपलब्धता, नमीं मापक यंत्र, समर्थन मूल्स से संबंधित डिस्प्ले और बारिष की स्थिति में धान को बचाने के लिये तारपोलिन आदि की व्यवस्था की जानकारी ली। मुख्य सचिव ने किसानों से धान खरीदने के लिये टोकन जारी करने आदि के बारे में भी पूछा। इस दौरान खाद्य विभाग के सचिव डॉ कमलप्रीत सिंह, पर्यटन सचिव पी. अंबलगन, मार्कफेड की एमडी शम्मी आबिदी सहित एसपी अपर कलेक्टर आदि अधिकारी भी मौजूद रहे। धान खरीदी के केंद्र पर अधिकारियों ने खरीदे गए धान के बोरों को रेंडमली निकालकर तौल कराया और वजन सही पाया।

 खाद्य सचिव डॉक्टर कमलप्रीत सिंह ने खरीदी के लिए मिले खाली बारदानों को तौल कर उनका वजन भी चेक किया। अधिकारियों ने धान की बोरियों से भरी गाड़ी का भी केंद्र पर निरीक्षण किया। गाड़ी में जीपीएस सिस्टम को देखा और केंद्र संचालक को लोड गाड़ी का फोटो खींचकर साफ्टवेयर पर अपलोड करने के बाद ही गाड़ी को कस्टम मिलिंग या संग्रहण केंद्र के लिए रवाना के निर्देश दिए। मार्कफेड की एमडी ने केंद्र पर धान खरीदी से सम्बंधित रिकार्डो, स्टॉक पंजी, उठाव आदि की जांच की। उन्होंने बारदानों के गठानों की भी गिनती कर सत्यापन किया। खाद्य सचिव ने खरीदी के लिए मिले खाली बारदानों को तौल कर उनका वजन भी चेक किया। अधिकारियों ने धान की बोरियों से भरी गाड़ी का भी केंद्र पर निरीक्षण किया। गाड़ी में जीपीएस सिस्टम को देखा और केंद्र संचालक को लोड गाड़ी का फोटो खींचकर साफ्टवेयर पर अपलोड करने के बाद ही गाड़ी को कस्टम मिलिंग या संग्रहण केंद्र के लिए रवाना के निर्देश दिए।

 


Date : 12-Jan-2020

अंबिकापुर-बिलासपुर मार्ग पर लापरवाह ट्रेलर चालक ने तीन मकानों में वाहन घुसा दी​, बड़ा हादसा टला 

छत्तीसगढ़ संवाददाता
कोरबा, 12 जनवरी।
राष्ट्रीय राजमार्ग अंबिकापुर-बिलासपुर मार्ग पर लापरवाह ट्रेलर चालक ने तीन मकानों में वाहन घुसा दी। हादसे में लोग बाल-बाल बच गए। लेकिन मकानों के क्षतिग्रस्त हो जाने से लोगों को आर्थिक नुकसान उठाना पड़ा है। हादसे में ट्रेलर चालक के घायल होने की खबर है। बांगो पुलिस ने इस मामले में ट्रेलर सीजी 12 एस 5444 के चालक कमालउद्दिन निवासी झारखंड के खिलाफ प्रकरण कायम किया है।

टीआई एसएस पटेल ने बताया कि रात्रि 12 बजे हाइवे पर स्थित गुरसिया गांव में यह हादसा हुआ। ट्रेलर में सामान लोड था, जिसे लेकर चालक गंतव्य की ओर जा रहा था। गुरसिया पहुंचने के साथ वाहन अनियंत्रित हो गया और सड़क से उतर गया। उसने भरत अग्रवाल की दुकान सह मकान के अलावा सरोज देवी और एक ग्रामीण के मकान को चपेट में लिया। इनका काफी हिस्सा क्षतिग्रस्त हुआ है। दुर्घटना को अंजाम देने के बाद अंतिम स्थान पर पहुंचकर वाहन फंस गया। स्थिति इस कदर हो गई कि ट्रेलर के केबिन में चालक भी फंस गया। 

हादसे की खबर मिलने के बाद पुलिस यहां पहुंची। पुलिस टीम और आसपास के लोगों के यहां आवश्यक बचाव कार्य करते हुए केबिन में फंसे चालक को निकाला। तीन स्थानों पर मकानों को ठोंकने के बाद उसकी स्थिति असामान्य हो चुकी थी। उसे आनन फानन में निकालने के बाद उपचार के लिए भेजा गया। 

पुलिस ने बताया कि दुर्घटनाकारित वाहन कोरबा के केएस कंस्ट्रक्शन का बताया गया। जिसमें चालक के तौर पर कमालउद्दीन नियोजित था।


Previous12Next