छत्तीसगढ़ » जान्जगीर-चाम्पा

Date : 10-Nov-2019

अयोध्या मामले में कोर्ट के फैसले का सभी ने किया सम्मान, जिले के विभिन्न इलाकों से हिंदू और मुस्लिम भाइयों द्वारा एक-दूसरे के गले मिलने और मिठाई खिलाकर बधाई दिए

जांजगीर-चांपा, 10 नवंबर। अयोध्या मामले को लेकर जब सुप्रीम कोर्ट द्वारा फैसला सुनाया जा रहा था, तब तक जिला मुख्यालय सहित जिले सभी शहरों में सडक़ों पर सन्नाटा पसर गया था। फैसला आने के बाद वहीं तस्वीर सामने आई, जो हमेशा से जिले की रही है। 

हिंदू हो या मुस्लिम सभी पक्षों ने इसका सम्मान किया। कुछ ही समय में जिले के विभिन्न इलाकों से हिंदू और मुस्लिम भाइयों द्वारा एक-दूसरे के गले मिलने और मिठाई खिलाने की तस्वीर समाने आई। जगह-जगह पुलिसकर्मी तैनात रहे। सुप्रीम कोर्ट के फैसले के मद्देनजर कलेक्टर जेपी पाठक ने जिले की जनता से अपील की है कि जो भी फैसला आया है, सभी मिल-जुलकर उसका सम्मान करें। उन्होंने कहा कि जिले की संस्कृति के अनुरूप हम सभी को अपना भाईचारा कायम रखते हुए आपसी सौहार्द व सद्भाव कायम रखना है। हर हाल में अमन-चैन व शांति कायम रखना है। जिले में धारा 144 लागू है और सुरक्षा के लिए पुलिसकर्मी पूरे जिले में तैनात हैं।

 


Date : 10-Nov-2019

बिना रिपोर्ट दर्ज किए व जांच पड़ताल बगैर एक पक्ष को आरोपी और दूसरे पक्ष को पीडि़त बताने पर चौकी प्रभारी पर आरोप, एसपी से शिकायत

जांजगीर, 10 नवंबर। ग्राम सरखों में एक सप्ताह पहले दो पक्षों में मारपीट हुई थी, जिसके बाद मामला पुलिस तक पहुंचा, तब नैला चौकी प्रभारी ने एक पक्ष की रिपोर्ट ही नहीं लिखी। यहां तक बिना रिपोर्ट दर्ज किए व जांच पड़ताल बगैर उन्होंने एक पक्ष को आरोपी और दूसरे पक्ष को पीडि़त बता दिया, जिसकी शिकायत बीते आठ नवंबर को पुलिस अधीक्षक से की गई है। 

शिकायतकर्ता सावित्री पति सुखनंदन राठौर का आरोप है कि बीते चार नवंबर की रात करीब 9.30 बजे गांव में नवधा होने के कारण उसके पति व देवर नवधा सुनने गए थे। घर में वह अपनी देवरानी ममता व राजेश्वरी के अलावा बच्चों के साथ मौजूद थी। इसी दौरान गांव का रहने वाला गज्जू उर्फ भोला साहू शराब के नशे में टांगी लेकर घर के दरवाजे को धक्का देकर अंदर घुस गया और आंगन में खड़े होकर जोर-जोर से चिल्लाते हुए गाली देते हुए पति एवं देवर को जान से मारने की धमकी देने लगा। उसकी हरकतों को देखते हुए हम लोग डर गए। इसके बाद पड़ोसी फिरत बरेठ व मोहन राठौर को बुलाए और गज्जू को बाहर जाने के लिए कहा, लेकिन वह नहीं गया और पति व देवर की पिटाई कर भाग निकला। इसकी रिपोर्ट लिखाने थाने गए, लेकिन नैला पुलिस ने रिपोर्ट नहीं लिखी और चलता कर दिया। पांच नवंबर को फिर नैला चौकी में रिपोर्ट लिखाने पहुंचे तो रिपोर्ट दर्ज नहीं की। उल्टे चमकाया गया और बाहर का रास्ता दिखा दिया गया। वहीं पांच नवंबर की दोपहर नैला पुलिस घर आ गई और पति व देवरों के बारे में पूछताछ करने लगी। कारण पूछने पर उन्होंने बताया कि उनके खिलाफ नैला चौकी में जुर्म दर्ज हुआ है। 

वायएन शर्मा, प्रभारी, नैला चौकी ने बताया कि चार नवंबर की रात वे रिपोर्ट दर्ज करवाने पहुंचे थे, लेकिन हमने उनकी रिपोर्ट नहीं लिखी, क्योंकि उन्होंने भोला साहू से मारपीट की है।
मधुलिका सिंह, एएसपी, जांजगीर का कहना है कि मामले के संबंध में नैला चौकी प्रभारी से विस्तृत जानकारी लेकर उचित कार्रवाई की जाएगी।


Date : 08-Nov-2019

कलेक्टोरेट में मजदूरों ने दिया धरना, किसान सभा ने उठाई ग्रामीण मजदूरों की मांगें
छत्तीसगढ़ संवाददाता
जांजगीर-चांपा, 8 नवंबर
। ग्रामीण मजदूर महिलाओं की भारी संख्या के साथ कल सैकड़ों ग्रामीण मजदूरों ने कचहरी चौक से जुलूस निकाला और श्रम विभाग में व्याप्त अनियमितताओं के खिलाफ कलेक्टर कार्यालय पर प्रदर्शन किया। 

डिप्टी कलेक्टर को सौंपे अपने सात सूत्रीय ज्ञापन के जरिये उन्होंने पंजीकृत मजदूरों को कल्याणकारी योजनाओं का लाभ नियमित रूप से देने, पंजीयन कार्ड समय पर देने, पंजीयन के आवेदनों को मनमाने ढंग से निरस्त किये जाने पर रोक लगाने, मजदूर बच्चों को दो साल से बकाया छात्रवृत्ति प्रदान करने, सिलाई मशीन, औजार, साईकल आदि शीघ्र प्रदान करने की मांग की। डिप्टी कलेक्टर ने त्रिपक्षीय वार्ता के जरिये इन मुद्दों को सुलझाने का आश्वासन दिया है।

किसान सभा नेता सुखरंजन नंदी और बजरंग पटेल की अगुआई में हुए इस आंदोलन में आशाराम पटेल,श्रीराम मनोहर, विजय कुमार, संतोषी कंवर, हीरा बाई, शांति बाई दरस, गणेश, राजकुमारी, मंगला बाई, प्रेम बाई, कीरिन बाई शत्रु, देव कुमार सहित अनेको कार्यकर्ता शामिल थे।

प्रदर्शनकारी मजदूरों के पहुंचते ही कलेक्टर की रवानगी की किसान सभा नेताओं ने आलोचना की है और प्रशासन के उच्च अधिकारियों को मजदूरों की समस्या को हल करने के प्रति उदासीन बताया है। कलेक्टर के इस रवैये के बाद मजदूरों को वहीं कार्यालय के दरवाजे पर आधा घंटा धरना देने के लिए मजबूर होना पड़ा। किसान सभा नेताओं ने प्रशासन पर संवेदनहीन होने का आरोप लगाया है तथा समस्याएं हल न होने पर आंदोलन तेज करने की बात कही है।

 


Date : 07-Nov-2019

हादसे मेें युवक की मौत, ग्रामीणों का चक्काजाम, वाहनों की लंबी कतार, पीएम से इंकार

छत्तीसगढ़ संवाददाता

जांजगीर-चांपा, 7 नवंबर। बीती रात बलौदा नैला मार्ग पर नो एंट्री में घुसे ट्रेलर की चपेट में आकर युवक की मौत के बाद आक्रोशित ग्रामीणों ने बलौदा जांजगीर मार्ग पर चक्काजाम कर आरोपी वाहन चालक के खिलाफ कार्रवाई और मुआवजे की मांग करते हुए परिजनों ने शव का पोस्टमार्टम कराने से इन्कार किया है। वहीं जाम लगने के कारण सैंकड़ों वाहन की लंबी कतार लग गई है। समाचार लिखे जाने तक मौके पर पुलिस के अधिकारी ग्रामीणों को समझाने का प्रयास कर रहे हैं।

प्राप्त जानकारी के अनुसार बीती रात नो एंट्री में घुसे ट्रेलर की चपेट में आने से युवक कन्हैया बरेट की मौत पर ग्रामीणों द्वारा आज चक्का जाम किया गया। जिसके दौरान जांजगीर चांपा उप पुलिस अधीक्षक मधुलिका सिंह द्वारा समझाईश दी गई।


Date : 04-Nov-2019

गोवर्धन पूजा पर ग्राम पंचायत पुटीडीह में गौठान दिवस, गाय को नहला कर पूजा कर अन्न खिलाया गया

छत्तीसगढ़ संवाददाता
जांजगीर चांपा (डभरा), 4 नवंबर।
गोवर्धन पूजा पर ग्राम पंचायत पुटीडीह में गौठान दिवस मनाया गया। गाय को नहला कर पूजा करते हुए अन्न खिलाया गया। 

इस अवसर पर मुख्य अतिथि कांग्रेस प्रदेश सचिव राइस किंग खुंटे, विशिष्ट अतिथि डभरा एसडीएम राम प्रसाद आंचला, जनपद पंचायत सीईओ बसंत कुमार चौबे, उप अभियंता जोशी, सरपंच सुमन बैरागी एवं समस्त पंचगण, विभाग के कर्मचारी के साथ ग्रामवासी उपस्थित थे।राईसकिंग खुंटे ने बताया कि राज्य में कांग्रेस की भूपेश बघेल की सरकार चल रही है। इसमें गौ माताओं के रख रखाव पर विशेष ध्यान दिया जा रहा है। नरवा घुरवा बारी जैसा कार्यक्रम चलाए जा रहे हैं ताकि लोगों का प्रेम गौ-माताओं के प्रति बढ़़े और आवारा घूम रही गौ-माताओं को एक निश्चित जगह पर चारे पानी की व्यवस्था की। मैं धन्यवाद देता हूं ऐसे नेता को जिन्होंने गौ माता के प्रति इतने अच्छे कार्यक्रम को आयोजित किया।

रामेश्वर बैरागी ने बताया कि नरवा घुरवा बारी का कार्यक्रम गांव के लोगों के लिए लाभकारी होगा। इस कार्यक्रम के  तहत हर ग्राम पंचायत में गौ माताओं के लिए गौठान बनाना है और बहुत जगह बन भी रहा है इन गोठानो से पंचायत, महिला समूह, व किसानों को भी आर्थिक लाभ होगा। आज ग्राम पंचायत पुटिडिह में लगभग 10 एकड़ में घास उगाई जा रही है जिससे गौठान में रहने वाली गायों को खिलाया जाएगा और बचत घास को बेच कर आर्थिक लाभ भी कमाया जा सकता है।