सरगुजा

प्रवासी श्रमिकों के लिए पंचायतों में बनाया गया क्वारिन्टीन सेंटर
13-Apr-2021 9:20 PM 13
 प्रवासी श्रमिकों के लिए पंचायतों में बनाया गया क्वारिन्टीन सेंटर

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

लखनपुर,13 अप्रैल।कोरोना संक्रमण के बढ़ते ग्राफ को देखते हुए जिला प्रशासन के निर्देशानुसार जपं क्षेत्र के सभी 73 ग्राम पंचायतों में शासकीय स्कूल भवनों को क्वारिन्टीन सेन्टर बना कर दूसरे राज्यों से आने वाले प्रवासी श्रमिकों को रखें जाने तथा भोजन के लिए सुखा राशन दिये जाने व्यवस्था की गई है।इस सम्बन्ध में जपं मुख्य कार्यपालन अधिकारी अजय सिंह ने बताया कि पंचायतों में क्वारिन्टीन सेन्टर बनाकर दूसरे राज्यों से आने वाले प्रवासी श्रमिकों को रखें जाने व्यवस्था की गई है साथ ही निगरानी टीम भी गठित किया गया है। ग्राम सचिव लेखा पंजी बनाकर प्रवासी श्रमिकों के नाम दर्ज करेंगे।इस बात का ध्यान रखेंगे कि गांव के किसी मुहल्ले टोले में किसी को सर्दी खांसी बुखार जैसे कोई लक्षण तो नहीं है यदि है तो स्वास्थ विभाग को इतला करेंगे। इसके अलावा गांव के किसी परिवार में कोई संक्रमित व्यक्ति पाया जाता है तो उसे होम कोरन्टाइन में रहने तथा ग्राम में नहीं घूमने की सलाह देंगे।

संक्रमित व्यक्ति का परिवार जिन्हें होम क्वारेन्टाईन में रखा गया है भूखा ना रहे और घर मकान में एक या दो कमरे हैं तो संक्रमित व्यक्ति सोसल डिस्टेसिग नियम का पालन करते हुए परिवार के सदस्यों से दूरी बनाये रखे और कोशिश 19 नियमों का पालन करें समझाईश देते हुए निगरानी रखेंगे। कोरोना संक्रमण से एहतियात बरतने सलाह देंगे।

ग्राम सचिव भोजन व्यवस्था कराने में मदद करेंगे। घर मकान छोटी है तो संक्रमित व्यक्ति को परिजनों से दूर रहते हुए एक दूसरे कमरे में बेड मास्क लगाने सेनिटाइजर उपयोग के साथ कोविड19 नियमों का पालन करने सलाह देते रहेंगे।जब तक परिवार के अन्य दूसरे सदस्यों का कोरोना जांच रिपोर्ट निगेटिव नहीं आ जाता है। यदि कोई संक्रमित व्यक्ति बनाये गये नियमों का उल्लघंन करता है या बात नहीं मानता है तो इसकी सूचना मोनेटिरिग करने वाले कर्मचारियों को देंगे। मानिटर कर्मचारी तहसीलदार या नोडल अधिकारी तक इसकी सूचना देंगे। इस तरह की व्यवस्था पंचायतों में की गई है ताकि कोरोनावायरस के चैन को तोड़ा जा सके।

अन्य पोस्ट

Comments