सरगुजा

अब तक 1 करोड़ 69 लाख रूपए गोबर विक्रेताओं के खाते में अंतरित
02-Mar-2021 8:03 PM 28
  अब तक 1 करोड़ 69 लाख रूपए गोबर विक्रेताओं के खाते में अंतरित

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

अम्बिकापुर, 1 मार्च। गोधन न्याय योजना के तहत अब तक जिले के 6 हजार 801 पशु पालकों को 1 करोड़ 69 लाख 60 हजार रूपए उनके खाते मे अंतरित किया जा चुका है। जिले के 158 गोठानों में 37 हजार 797 क्विंटल गोबर की खरीदी की गई है। पशुपालकों के द्वारा गोबर के विक्रय से राशि प्राप्त होने पर पशुपालकों को अब आर्थिक संबल मिल रहा है।

गोधन न्याय योजना के नोडल अधिकारी यशपाल प्रेक्षा ने बताया कि जिले के 158 गौठानों में 14वें चरण के अंतर्गत अब तक कुल 377797 क्विंटल गोबर की खरीदी की गई है जिसके एवज में 1 करोड़ 169 लाख 60 हजार रूपए का भुगतान पंजीकृत पशुपालकों के खाते में किया गया है।

खरीदे गए गोबर से वर्मी कम्पोस्ट खाद बनाने की प्रक्रिया भी गोठानों में महिला स्व सहायता समूहों के द्वारा सतत रूप से चल रही है। जिले के स्व सहायता समूह की महिलाओं द्वारा में अब तक 2334 क्विंटल वर्मी कम्पोस्ट खाद बनाया गया है। इसमे से 1103 क्विंटल वर्मी खाद का विक्रय कर 10 लाख 23 हजार 620 रुपये अर्जित किया है। उद्यानिकी विभाग को 707.98 क्विंटल, वन विभाग को 72.50 क्विंटल, रेशम विभाग को 145 क्विंटल, किसानों को 96.90 क्विंटल तथा अन्य लोगों को 81.37 क्विंटल वर्मी खाद का विक्रय किया गया है।

सरगुजा जिले में क्रय गोबर के शत प्रतिशत उपयोग हेतु वर्मी कम्पोस्ट उत्पादन के अलावा गोबर से निर्मित अन्य उत्पादों जैसे दीया, गोबर गमला, तुलसी चौरा, गौकाष्ठ, धूप अगरबत्ती, मूर्ति आदि का निर्माण महिला स्व-सहायता समूह के द्वारा किया जा रहा है। इन उत्पादों के विक्रय से समूह की महिलाओं को 1 लाख 83 हजार 850 रूपये का लाभ मिला है।

अन्य पोस्ट

Comments