कोण्डागांव

मरकाम निकले 4 दिनों के दंतेवाड़ा पदयात्रा पर
10-Oct-2021 10:35 PM (44)
  मरकाम निकले 4 दिनों के दंतेवाड़ा पदयात्रा पर

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

 कोण्डागांव, 10 अक्टूबर। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष व विधायक मोहन मरकाम नवरात्र पर 8 अक्टूबर को कोंडागांव से दंतेवाड़ा के 140 किलोमीटर की पदयात्रा पर निकले हैं। इस पदयात्रा के दौरान वे 8 से 12 अक्टूबर तक पैदल ही दंतेवाड़ा दंतेश्वरी माई के दर्शन के लिए पदयात्रा में रहेंगे। इसके बाद दंतेवाड़ा पहुंचकर कोविड-19 नियमों का पालन करते हुए दंतेश्वरी माता का दंतेवाड़ा मंदिर में दर्शन किया जाएगा।

विधायक व छत्तीसगढ़ प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष मोहन मरकाम नवरात्रि पर दंतेश्वरी माता मंदिर दंतेवाड़ा दर्शन के लिए जाते हैं। इस दर्शन की खास बात है कि मोहन मरकाम यात्रा को पैदल ही तय करते हैं। लगभग 140 किलोमीटर के इस पद यात्रा को मोहन मरकाम ने लगभग 5 वर्ष पूर्व वर्ष 2017 में प्रारंभ किया था, लगातार 3 वर्षों तक उन्होंने पदयात्रा को नवरात्र के दौरान नियमित भी रखा, लेकिन विगत 2 वर्षों के कोविड-19 महामारी के चलते उन्होंने इस पदयात्रा पर अल्पविराम लगाया था। अब जब कोविड-19 महामारी कम हो चुकी है तो वे दंतेश्वरी मंदिर व जिला प्रशासन दंतेवाड़ा से अनुमति मिलने के बाद इस वर्ष में नवरात्रि के दौरान पुन: इस पद यात्रा को प्रारंभ किए हैं।

देश प्रदेश बस्तर संभाग व क्षेत्र की खुशहाली समृद्धि व सुख शांति की कामना को लेकर मोहन मरकाम ने पदयात्रा कोंडागांव के शासकीय विधायक निवास से प्रारंभ की। यहां उनकी पत्नी ने उन्हें आरती उतार कर माता दर्शन के लिए विदाई दी। अपने निवास से रवाना होने के बाद प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष व कोंडागांव विधायक मोहन मरकाम कोंडागांव के माता गुड़ी मां शीतला माता मंदिर में पहुंचकर ग्राम देवी से आशीर्वाद प्राप्त किया। कोंडागांव के शीतला माता ग्राम देवी माता का आशीर्वाद प्राप्त करने के बाद मोहन मरकाम  नगर से रवाना हुआ।

मोहन मरकाम ने चर्चा करते हुए बताया कि यह यात्रा प्रतिदिन दिन के समय पर पैदल चलेगा और 1 घंटे में लगभग 5 किलोमीटर की दूरी तय करेगा। कोविड-19 महामारी को ध्यान में रखते हुए यात्रा में केवल कोविड-19 के दोनों डोज लगाए हुए भक्तों को ही शामिल किया गया है। साथ ही उन्होंने बताया कि मंदिर में भी प्रवेश के पूर्व सभी भक्तों का कोरोना टेस्ट करवाया जाएगा और रिपोर्ट नेगेटिव आने पर ही मंदिर में प्रवेश करेंगे। 12 अक्टूबर को इस पदयात्रा का दंतेवाड़ा के दंतेश्वरी माता मंदिर में समापन किया जाएगा।

अन्य पोस्ट

Comments