बीजापुर

नाली निर्माण अधूरा, फिर भी भुगतान के लिए दबाव
16-Sep-2021 8:36 PM (78)
   नाली निर्माण अधूरा, फिर भी भुगतान के लिए दबाव

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

बीजापुर, 16 सितंबर। यहां नगर पालिका के एक वार्ड में अधूरे नाली निर्माण का मामला सामने आया है। जिसमें अधूरे निर्माण पर पूरा भुगतान किए जाने का दबाव बनाया जा रहा है। जबकि वार्ड में नाली निर्माण नहीं होने से वार्डवासियों को गंदे पानी की समुचित निकासी नहीं हो पा रही है और वार्डवासियों को गंदगी के बीच रहने मजबूर होना पड़ रहा है।

नगर पालिका के वार्ड क्रमांक 13 में बलराम जायसवाल के घर से राधेश्याम सोनी के घर तक और फिर बसंत वर्मा के घर से ठाकुर जी के घर तक कुल 380 मीटर नाली का निर्माण 13 लाख 46 हजार की लागत से किया जाना है। इसके लिए पालिका ने निर्माण की मियाद तीन माह रखी है। इसका ठेका एक ठेकेदार को दिया गया है। अब कार्य अवधि समाप्त होने को है। लेकिन नाली निर्माण अधूरा पड़ा है। बावजूद भुगतान को लेकर पालिका पर ठेकेदार द्वारा लगातार दबाव बनाया जा रहा है। जबकि पालिका के जिम्मेदारों का कहना है कि बेतरतीब व अधूरे नाली निर्माण का भुगतान करना असंभव है।

नगर पालिका के इंजीनियर विनय देवांगन ने बताया कि वार्ड 13 में कुल 380 मीटर नाली का निर्माण होना है,  लेकिन वर्तमान में 175 मीटर ही नाली का निर्माण हो पाया है। वह भी बेतरतीब तरीके से किया गया है। इंजीनियर देवांगन का कहना है कि ठेकेदार आकाश चांडक से कहा गया है कि वे तय मियाद से पहले नाली निर्माण को दुरुस्त कर पूरा कर लें, लेकिन पिछले कुछ दिनों से उन्होंने काम बंद कर दिया है और भुगतान के लिए वे लगातार कह रहे हंै।

इंजीनियर का कहना है कि ठेकेदार द्वारा अब तक 175 मीटर  नाली निर्माण ही किया गया है, वह बेतरतीब है। उनसे निर्माण सही करने को कहा गया है। उन्होंने बताया कि जितना नाली निर्माण ठेकेदार द्वारा किया गया है। उसका मूल्यांकन  4 लाख 50 हजार के करीब का होता है। किंतु ठेकेदार द्वारा 13 लाख 46 हजार का पूरा भुगतान करने को कहा जा रहा हैं।  उन्होंने आगे बताया कि ठेकेदार ने काम जल्द शुरू नहीं किया तो टेंडर निरस्त कर फिर से नए टेंडर की प्रक्रिया शुरू की जाएगी।

ज्ञात हो कि अक्टूबर में उक्त नाली निर्माण की अवधि खत्म हो रही है, लेकिन निर्माण कार्य अब तक बंद है। वहीं इस बारे में जानकारी लेने ठेकेदार आकाश चांडक को कॉल किया गया, लेकिन उन्होंने कॉल रिसीव नहीं किया।

इस संबंध में मुख्य नगर पालिका अधिकारी पवन मेरिया का कहना है कि भुगतान को लेकर दबाव जैसी कोई बात नहीं है। जितना काम हुआ है, उसके मूल्यांकन के आधार पर ही भुगतान किया जाएगा। नाली का काम ठेकेदार को पूरा करने कहा गया है।

अन्य पोस्ट

Comments