राष्ट्रीय

Previous123456789...892893Next
28-Sep-2021 4:12 PM (24)

जयपुर, 28 सितम्बर | राजस्थान के सिरोही जिले की पोक्सो स्पेशल कोर्ट ने 8 साल की बच्ची से दुष्कर्म करने वाले और हत्या के दोषी को मौत की सजा सुनाई है। सुनवाई के दौरान अदालत ने 24 गवाहों को सुना और लड़की की डीएनए जांच रिपोर्ट का अध्ययन किया। उसके बाद सभी साक्ष्यों और गवाहों के बयानों के आधार पर न्यायाधीश ने 26 वर्षीय नोकरम उर्फ धर्मा को मौत की सजा देने की घोषणा की।


पुलिस के अनुसार अनादरा थाना क्षेत्र के तेलपी खेड़ा गांव में 25 सितंबर 2020 को दुष्कर्म व हत्या का यह जघन्य अपराध दर्ज किया गया था। उस वक्त 8 साल की बच्ची और उसका छोटा भाई नदी के किनारे से गुजर रहे थे।

इसी दौरान नशे में धुत धर्मा ने मासूम को जबरन पकड़ लिया, जबकि उसका छोटा भाई डर गया और मौके से भाग गया। धर्मा ने नदी के किनारे मासूम बच्ची के साथ दुष्कर्म किया और गला घोंटकर उसकी हत्या कर दी और मौके से फरार हो गया।

रविवार को अपने फैसले में, अदालत ने कहा, "बच्चों को किसी भी डर और असुरक्षा के बिना खुशी से समाज में रहने का अधिकार है। हालांकि, आज समाचार पत्रों में युवा लड़कियों के खिलाफ दुष्कर्म और अपराधों की खबरों की बाढ़ आ गई है।"

सभी सबूतों को सुनने के बाद, न्यायाधीश ने फैसला सुनाया कि यह दुर्लभतम मामला है और इसके लिए मौत की सजा से कम कोई सजा नहीं दी सकती है। (आईएएनएस)


28-Sep-2021 4:09 PM (22)

नई दिल्ली, 28 सितम्बर | हरियाणा के स्वास्थ्य और गृह मंत्री अनिल विज को सोमवार देर शाम कोविड-19 के बाद की शिकायत के बाद अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान में भर्ती कराया गया। उन्हें सांस लेने में तकलीफ की शिकायत के बाद एम्स ले जाया गया। मंत्री ने सोमवार शाम को कोविड के बाद सांस लेने में तकलीफ की शिकायत की, इसके बाद उन्हें दिल्ली के एम्स अस्पताल ले जाया गया। उन्हें एम्स निदेशक रणदीप गुलेरिया की निगरानी में रखा गया है। वह ऑक्सीजन सपोर्ट पर है। रविवार को उनका ऑक्सीजन लेवल गिर गया जिसके बाद डॉक्टरों ने उन्हें आराम करने की सलाह दी।


इससे पहले भी हरियाणा के स्वास्थ्य मंत्री को अगस्त में पीजीआई चंडीगढ़ में भर्ती कराया गया, जब उनका ऑक्सीजन लेवल गिर गया था। स्वास्थ्य खराब होने के कारण अनिल विज हरियाणा विधानसभा के मानसून सत्र में शामिल नहीं हुए।

भाजपा के वरिष्ठ नेता ने पिछले साल दिसंबर में भारत बायोटेक के कोवैक्सिन के परीक्षण के दौरान एक खुराक लेने के तुरंत बाद कोविड -19 को अनुबंधित किया था। उन्हें गुरुग्राम के एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया और तीन सप्ताह के बाद छुट्टी दे दी गई। उन्होंने भारत बायोटेक द्वारा विकसित कोवैक्सिन के तीसरे चरण के परीक्षणों में पहला स्वयंसेवक बनने की पेशकश की गई थी। उन्हें टीकों की दोनों खुराकें दी गई हैं। हालांकि, उन्होंने कई बार ऑक्सीजन के स्तर में गिरावट के कारण कोविड के बाद की जटिलताओं की शिकायत की है और उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया है। (आईएएनएस)


28-Sep-2021 4:08 PM (22)

चंडीगढ़, 28 सितम्बर | पंजाब कांग्रेस के दिग्गज नेता और पूर्व मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह मंगलवार देर शाम केंद्रीय गृह मंत्री और भाजपा नेता अमित शाह से मुलाकात कर सकते हैं। हालांकि उनके मीडिया सलाहकार ने इससे इनकार किया है। सूत्रों ने बताया कि पूर्व मुख्यमंत्री की भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के अध्यक्ष जेपी नड्डा से भी मिलने की संभावना है।


हालांकि, अमरिंदर सिंह के मीडिया सलाहकार रवीन ठुकराल ने भाजपा नेताओं के साथ उनकी मुलाकात से इनकार करते हुए कहा कि वह कुछ दोस्तों से मिलने के लिए निजी तौर पर दिल्ली आए हैं।

ठुकराल ने ट्वीट किया, "कैप्टन अमरिंदर के दिल्ली दौरे के बारे में बहुत कुछ कहा जा रहा है। वह निजी दौरे पर हैं, इस दौरान वह कुछ दोस्तों से मिलेंगे और नए मुख्यमंत्री के लिए कपूरथला का घर भी खाली करेंगे। किसी भी तरह की अनावश्यक अटकलों की जरूरत नहीं है।"

प्रस्तावित बैठक महत्वपूर्ण हैं क्योंकि अमरिंदर सिंह ने कहा था कि उन्होंने 'अपमानित' महसूस करते हुए पद छोड़ दिया है।

साथ ही उन्होंने कहा था कि 'भविष्य की राजनीति का विकल्प हमेशा होता है और वह उस विकल्प का इस्तेमाल करेंगे।

कयास लगाए जा रहे हैं कि अमरिंदर सिंह भाजपा में शामिल हो सकते हैं।

अमरिंदर के इस्तीफे और राजनीतिक खींचतान के बाद, चरणजीत सिंह चन्नी ने 20 सितंबर को अपने दो डिप्टी के साथ मुख्यमंत्री पद की शपथ ली थी। उपमुख्यमंत्री- सुखजिंदर सिंह रंधावा और ओपी सोनी, अमरिंदर सिंह के नेतृत्व वाली पिछली मंत्रिपरिषद में भी मंत्री थे। (आईएएनएस)


28-Sep-2021 3:31 PM (25)

हैदराबाद, 28 सितम्बर | हैदराबाद-बेंगलुरु राष्ट्रीय राजमार्ग पर गगनपहाड़ गांव के पास एक झील के उफान पर होने के कारण, अधिकारियों ने हैदराबाद हवाई अड्डे पर जाने वाले लोगों को आउटर रिंग रोड (ओआरआर) का उपयोग करने की सलाह दी है। अप्पा चेरुवु के ओवरफ्लो होने के कारण एनएच44 का एक हिस्सा जलमग्न हो गया है, जिससे हैदराबाद को शमशाबाद, कुरनूल और बेंगलुरु में राजीव गांधी अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे से जोड़ने वाले प्रमुख राजमार्ग पर यातायात बाधित हो गया है।


साइबराबाद पुलिस ने हवाई अड्डे, कुरनूल, बेंगलुरु आदि की ओर जाने वाले नागरिकों से एनएच44 के बजाय ओआरआर का उपयोग करने की अपील की है।

लगातार दूसरे साल गगनपहाड़ में एनएच44 खंड पानी के नीचे आ गया है। साइबराबाद ट्रैफिक पुलिस एक लेन पर केवल भारी वाहनों को ही अनुमति दे रही है।

चेवेल्ला के सांसद जी. रंजीत रेड्डी ने अधिकारियों के साथ गगनपहाड़ का दौरा किया और स्थिति की समीक्षा की।

पिछले साल अक्टूबर में गगनपहाड़ में पांच लोग बह गए, जब भारी बारिश के बाद झील में पानी भर गया था।

इस बार किसी भी तरह की त्रासदी को रोकने के लिए प्रशासन ने यातायात को डायवर्ट कर एहतियाती कदम उठाए।

इस बीच, तेलंगाना राज्य पुलिस अकादमी (टीएसपीए) के पास ओआरआर सर्विस रोड पर हिमायत सागर झील का पानी ओवरफ्लो हो गया।

साइबराबाद ट्रैफिक पुलिस ने ट्रैफिक डायवर्जन की घोषणा की। ओआरआर सर्विस रोड पर टीएसपीए से शमशाबाद की ओर जाने वाले ट्रैफिक को टीएसपीए-खलीजखान दरगाह-किस्मतपुर-बुडवेल एक्सटेंशन-पिलर नंबर 194-आरामघर पर डायवर्ट किया जा सकता है।

चक्रवात 'गुलाब' के प्रभाव में पिछले दो दिनों से हो रही भारी बारिश के बाद शहर के बाहरी इलाके हिमायत सागर और उस्मान सागर जलाशयों में पानी अधिकतम स्तर पर पहुंच गया है।

अधिकारियों ने मुसी नदी में पानी छोड़ने के लिए दोनों जलाशयों के द्वार खोल दिए हैं, जो शहर से होकर बहती है।

मुसी के किनारे रहने वाले लोगों को अलर्ट कर दिया गया है।  (आईएएनएस)


28-Sep-2021 3:30 PM (25)

नई दिल्ली, 28 सितम्बर | देशभर में अपने जनाधार और जनपतिनिधियों की संख्या बढ़ाने की मुहिम में लगी भाजपा को पुड्डुचेरी में एक बड़ी कामयाबी मिली है। 1980 में भारतीय जनता पार्टी के नाम से गठित होने वाले राजनीतिक दल को पहली बार पुड्डुचेरी से राज्यसभा की सीट मिली है। पार्टी की इस सफलता से उत्साहित प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पुड्डुचेरी से भाजपा को पहली बार राज्यसभा सीट मिलने को पार्टी के सभी कार्यकर्ताओं के लिए गर्व की बात बताया है। पुड्डुचेरी की जीत से उत्साहित प्रधानमंत्री मोदी ने ट्वीट करके लिखा कि यह भाजपा के सभी कार्यकर्ताओं के लिए गर्व की बात है कि हमारी पार्टी को एस सेल्वागणपति जी के रूप में पुड्डुचेरी से पहला राज्यसभा सांसद मिला है।


प्रधानमंत्री ने पुड्डुचेरी की जनता का आभार जताते हुए यह भरोसा दिलाया कि वे राज्य की प्रगति के लिए लगातार कार्य करते रहेंगे।

आपको बता दें कि केंद्र शासित प्रदेश पुड्डुचेरी में भाजपा, एआईएनआरसी की गठबंधन सरकार है और समझौते के तहत इस बार राज्यसभा सीट भाजपा के खाते में आई है और इस तरह से पुड्डुचेरी से पहली बार राज्यसभा में भाजपा का कोई सांसद पहुंचा है और वो भी निर्विरोध निर्वाचित होकर।

इसके साथ ही प्रधानमंत्री ने अपने मंत्रिमंडल के दो सहयोगियों सवार्नंद सोनोवाल और एल मुरुगन को भी राज्यसभा चुनाव में निर्विरोध निर्वाचित होने पर बधाई दी।

प्रधानमंत्री ने ट्वीट किया कि मेरे मंत्रिमंडलीय सहयोगियों सवार्नंद सोनोवाल और एल मुरुगन को क्रमश: असम और मध्य प्रदेश से राज्यसभा के लिए निर्वाचित होने पर बधाई।

उन्होने अपने दोनों मंत्रिमंडलीय सहयोगियों पर विश्वास जताते हुए लिखा कि ये दोनों संसद की कार्यवाहियों में अपना योगदान देंगे और लोगों की भलाई के हमारे एजेंडे को बढ़ाएंगे।

आपको बता दें कि सोमवार को इन सीटों पर नाम वापस लेने की आखिरी तारीख थी और इन सभी सीटों पर एक ही उम्मीदवार होने की वजह से निर्वाचन अधिकारियों ने इन्हे निर्विरोध निर्वाचित घोषित कर दिया। (आईएएनएस)


28-Sep-2021 3:29 PM (25)

नई दिल्ली, 28 सितम्बर | लाहौर का एक सत्र अदालत ने पाकिस्तान दंड संहिता (पीपीसी) के धारा 295 सी के तहत ईश-निंदा के आरोप में एक मुस्लिम महिला को मौत की सजा सुना दी। डॉन न्यूज ने इसकी जानकारी दी। फैसले में कहा, "दोषी सल्मा तनवीर को मौत की सजा सुनाई गई है और पीकेआर फाइन यू/एस 295-सी पीपीसी के तहत 50,000 रुपये का जुर्माना भी लगाया गया है।"


अतिरिक्त जिला सत्र न्यायाधीश मंसूर अहमद कुरेशी ने अपने 22-पेज के फैसले में कहा, "यह उचित संदेह से परे साबित हुआ है कि सल्मा तनवीर ने पवित्र पैगंबर मुहम्मद (पीबीयूएच) के संबंध में अपमानजनक लेखन लिखे और वितरित किए और वह साबित करने में नाकाम रहे कि उसका मामला पीपीसी की धारा 84 द्वारा प्रदान किए गए अपवाद में पड़ता है।"

डॉन समाचार रिपोर्ट में कहा गया है कि एक निजी स्कूल के मालिक और प्रिंसिपल पर अपने लेखन की फोटोकॉपी वितरित करने का आरोप लगाया गया था, जिसमें उन्होंने भविष्यवक्ता की अंतिमवस्था से इंकार कर दिया और उन्हें एक भविष्यद्वक्ता के रूप में दावा किया।

महिला के वकील, मुहम्मद रमजान ने तर्क दिया था कि संदिग्ध घटना के समय अस्वस्थ मस्तिष्क में थी।

उन्होंने कहा कि संबंधित मजिस्ट्रेट ने संदिग्ध की मानसिक परीक्षा का आदेश दिया था जो संदिग्ध के हिस्से पर किसी भी गलती के बिना लंबित रहा था।

इस वकील ने आगे कहा कि फोटोकॉपीज से लेखन की तुलना संभव नहीं थी क्योंकि कथित दस्तावेजों की फोटोकॉपी में छेड़छाड़ की गई थी।

एक राज्य अभियोजक, सदिया आरिफ ने शिकायतकर्ता के वकील गुलाम मुस्तफा चौधरी की सहायता करते हुए अदालत के समक्ष प्रस्तुत किया कि अभियोजन पक्ष ने मौखिक और वृत्तचित्र साक्ष्य के आधार पर अपना मामला साबित कर दिया।

उन्होंने कहा कि संदिग्ध यह साबित करने में असफल रहा कि निन्दा सामग्री लिखने और वितरित करने के समय वह अपने कार्य की प्रकृति को जानने में असमर्थ थी।

धारा 84 असुरक्षित दिमाग के व्यक्ति द्वारा किए गए अपराधों से संबंधित है।

निश्तर कॉलोनी पुलिस ने स्थानीय मस्जिद के कारी इफ्तिखार अहमद रजा की शिकायत पर महिला के खिलाफ 2 सितंबर, 2013 को प्राथमिकी दर्ज की थी।

न्यायाधीश ने टिप्पणी की कि रिकॉर्ड से पता चला कि महिला अपनी गिरफ्तारी तक अपने स्कूल को अकेले चला रही थी।

इसलिए, महिला को कानूनी पागलपन से पीड़ित नहीं होने के लिए कहा जा सका।

न्यायाधीश ने आगे देखा कि यह स्पष्ट था कि संदिग्ध असामान्यता से मुक्त नहीं थी अन्यथा, वरना ऐसी अपमानजनक सामग्री को लिखकर उसके वितरित नहीं करती। (आईएएनएस)


28-Sep-2021 3:28 PM (14)

नई दिल्ली, 28 सितम्बर | राष्ट्रीय राजधानी की मंडोली जेल में कम से कम 25 कैदियों ने जानबूझकर खुद को घायल कर लिया है। यह जानकारी आधिकारिक सूत्रों ने मंगलवार को दी। सूत्रों के अनुसार, यह घटना सोमवार शाम को जेल नंबर 11 में हुई जब दो कैदी दानिश और अनीश बिना किसी कारण के अपने वार्ड से बाहर जाना चाहते थे। बाद में पुलिसकर्मियों ने उन्हें रोक दिया क्योंकि दोनों के बीच एक मौजूदा गिरोह प्रतिद्वंद्विता थी।


जेल सूत्रों ने कहा, "इस बात ने उन्हें उत्तेजित कर दिया और उन्होंने खुद को नुकसान पहुंचाना शुरू कर दिया और दूसरों को भी ऐसा करने के लिए कहा।"

इसके बाद अन्य कैदियों ने भी दीवारों पर सिर पीटकर और एक-दूसरे को छुरा घोंपकर खुद को घायल करना शुरू कर दिया। इसके बाद जेल अधिकारियों को स्थिति को नियंत्रित करने के लिए बल का प्रयोग करना पड़ा।

सूत्रों ने कहा, "करीब 25 कैदियों को मामूली चोटें आई, जिनमें से एक को नजदीकी अस्पताल ले जाना पड़ा।"

गौरतलब है कि रोहिणी कोर्ट में जितेंद्र सिंह मान उर्फ 'गोगी' की नाटकीय हत्या के बाद अधिकारियों ने उच्च सुरक्षा वाली तिहाड़ जेल, मंडोली जेल और रोहिणी समेत दिल्ली की सभी जेलों में गैंगवार की आशंका जताई है। जेल को हाई अलर्ट पर रखा गया है।

गोगी तिहाड़ जेल में बंद था जबकि उनके प्रतिद्वंद्वी टीलू ताजपुरिया मंडोली जेल में हैं।  (आईएएनएस)


28-Sep-2021 3:27 PM (24)

नई दिल्ली, 28 सितम्बर | अगले 48 घंटे के भीतर देश भर के सीबीएसई से संबद्ध सभी स्कूलों को 10वीं और 12वीं कक्षा के छात्रों का डेटा अपडेट और अपलोड करना होगा। स्कूलों से यह डेटा मिलने के बाद ही सीबीएसई बोर्ड इस साल नवंबर में शुरू होने वाली पहले बैच की बोर्ड परीक्षाओं की डेट शीट घोषित करेगा। सीबीएसई बोर्ड फिलहाल देश भर के 10वीं एवं 12वीं कक्षा के सीबीएसई छात्रों का ब्यौरा एकत्र कर रहा है। इस संदर्भ में सीबीएसई बोर्ड ने देशभर के स्कूलों के लिए एक नोटिस भी जारी किया है। नोटिस में सीबीएसई ने स्पष्ट किया है कि सभी स्कूलों को तय समय में छात्रों की जानकारी 'लिस्ट ऑफ कैडिडेट्स' यानी एलओसी बनाकर बोर्ड को भेजनी है। स्कूलों द्वारा यह प्रक्रिया 30 सितंबर पूरी की जानी है।


सीबीएसई के परीक्षा नियंत्रक संयम भारद्वाज के मुताबिक सीबीएसई बोर्ड इस बार दो चरणों में बोर्ड परीक्षाएं आयोजित कर रहा है। कोरोना महामारी के मद्देनजर सावधानी बरतते हुए यह फैसला लिया गया है। इस योजना के तहत बोर्ड परीक्षा का पहला चरण नवंबर व दिसंबर माह के दौरान आयोजित किया जाएगा।

सीबीएसई बोर्ड का कहना है कि पहले चरण की परीक्षाओं की तैयारियों को देखते हुए बोर्ड ने सभी स्कूलों और प्रधानाचार्यों को उम्मीदवारों की सूची जमा करने का निर्देश दिया है।

देशभर के ऐसे सभी स्कूल जो सीबीएसई से एफिलिएटिड है वे अब अपनी आधिकारिक लिस्ट सीबीएसई के संबंधित पोर्टल पर अपलोड कर सकेंगे। सीबीएसई के मुताबिक स्कूलों के लिए यह सुविधा 30 सितंबर तक जारी रहेगी।

यह प्रक्रिया शुक्रवार यानी 17 सितंबर से शुरू हो गई है। इस माह के अंत यानी 30 सितंबर तक देशभर के सभी सीबीएसई स्कूल बोर्ड परीक्षा में शामिल होने वाले अपने छात्रों का ब्यौरा सीबीएसई को भेज सकते हैं। यह ब्यौरा ऑनलाइन माध्यम से बोर्ड को भेजा जाएगा।

दरअसल सीबीएसई बोर्ड 16 अगस्त को ही स्कूलों को छात्रों का ब्यौरा यानी एलओसी बनाने का निर्देश दे चुका है। बोर्ड द्वारा इस प्रक्रिया को आधिकारिक रूप से 17 सितंबर से शुरू किया जा रहा है इसके लिए उपलब्ध कराए गए पोर्टल पर जाकर विभिन्न स्कूलों को अपना विवरण अपलोड करना होगा। (आईएएनएस)


28-Sep-2021 3:23 PM (27)

भुवनेश्वर, 28 सितम्बर | पुलिस ने मंगलवार को बताया कि ओडिशा के पिपिली इलाके के बलंगा पुलिस थाने में बीती आधी रात को भीषण विस्फोट हुआ। पुलिस ने कहा कि थाने में मलखाना की संतरी सरोज बेहरा विस्फोट से बाल-बाल बच गई, जबकि अन्य कर्मचारी उपचुनाव ड्यूटी पर थे।


पुलिस को संदेह है कि विस्फोट विभिन्न क्षेत्रों में छापेमारी के बाद मलखाना में जब्त और जमा किए गए विस्फोटकों के बड़े जखीरे के कारण हुआ होगा।

धमाका इतना जोरदार था कि पूरा कार्यालय भवन ढह गया जबकि आग में लगभग सभी कार्यालय का सामान, दस्तावेज, और इलेक्ट्रॉनिक्स सामान जल कर राख हो गया।

सेंट्रल रेंज के आईजी नरसिंह भोला और पुरी के एसपी कंवर विशाल सिंह ने थाने का दौरा कर इसकी जांच की।

एसपी सिंह ने कहा कि विस्फोट में इमारत के सभी बिजली के उपकरण और फर्नीचर क्षतिग्रस्त हो गए है। विस्फोट में कोई चोट या हताहत नहीं हुआ है। हमने घटना की जांच शुरू कर दी है। अतिरिक्त एसपी पी. प्रधान को प्रारंभिक जांच करने और जांच से जुड़ी एक रिपोर्ट जमा करने के लिए कहा गया है।

उन्होंने कहा कि सभी दस्तावेजों और रिपोटरें का विश्लेषण करने के बाद विस्तृत और गहन जांच की जाएगी।

सिंह ने कहा कि जिला स्तरीय वैज्ञानिक और बम निरोधक दल पहले ही मौके पर पहुंच चुके हैं जबकि राज्य फोरेंसिक लैब की एक टीम भी इसकी जांच करेगी।

भोला ने कहा कि अगर कोई पुलिस अधिकारी जांच रिपोर्ट में दोषी पाया जाता है, तो उसके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी, क्योंकि वहां बहुत सारे जब्त विस्फोटक थे। इसलिए, हमें उस विशेष विस्फोटक का पता लगाना होगा जो विस्फोट का कारण बना और इसका प्रभारी कौन था।

ओडिशा पुलिस के आईजी ने कहा कि इस विस्फोट के बाद सभी पुलिस थानों को निर्देश दिया गया है कि जब्त विस्फोटक को या तो निष्क्रिय कर दिया जाए या ऐसी घटना से बचने के लिए सुरक्षित स्थान पर रखा जाए।

उन्होंने कहा कि थाना अब अस्थायी भवन से चलेगा और जल्द ही थाना प्रभारी के लिए नए भवन के निर्माण के लिए राशि मांगी जाएगी।

इस बीच, भाजपा प्रवक्ता संबित पात्रा ने घटना की निष्पक्ष जांच की मांग की। पात्रा ने कहा कि पिपिली क्षेत्र में लंबे समय से गिरोह युद्ध और बमबारी की खबरें आती रही हैं। हाल ही में, सतसंखा में भाजपा कार्यालय पर एक बम फेंका गया था, जिसकी मीडिया में खबर आई थी।

उन्होंने सवाल किया कि जहां पुलिस ही सुरक्षित नहीं है, वे लोगों की सुरक्षा कैसे सुनिश्चित कर सकते हैं?

अपनी प्रतिक्रिया में, बीजेडी के वरिष्ठ नेता और मंत्री समीर दास ने कहा कि यह संदेह था कि विस्फोट 2018 में जब्त किए गए विस्फोटकों के कारण हुआ और सौर बैटरी भी वहां संग्रहित की गई थी। दास ने कहा कि इस घटना से उपचुनाव का कोई संबंध नहीं है।

ओडिशा के पुरी जिले में पिपिली विधानसभा क्षेत्र के लिए लंबे समय से लंबित उपचुनाव 30 सितंबर को होगा। सुरम्य विधानसभा क्षेत्र के लिए उपचुनाव की आवश्यकता थी क्योंकि इसके मौजूदा बीजेडी विधायक प्रदीप महारथी की अक्टूबर 2020 में कोविड -19 के कारण मौत हो गई थी।  (आईएएनएस)


28-Sep-2021 3:21 PM (20)

भोपाल, 28 सितम्बर | मध्यप्रदेश में पूर्व मुख्यमंत्री और राज्यसभा सदस्य दिग्विजय सिंह की सक्रियता एक बार फिर तेजी से बढ़ चली है, वे हर मोर्चे पर पार्टी की कमान संभाले नजर आ रहे हैं। वहीं कांग्रेस के तमाम बड़े नेता इन दिनों चुप्पी साधे हुए हैं, तो वहीं प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ स्वास्थ्य कारणों से देश से बाहर हैं। बीते कुछ दिनों की राज्य की सियासी हलचल और खासकर कांग्रेस की गतिविधियों पर नजर दौड़ाई जाए तो इनमें पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह की सक्रियता सबसे ज्यादा नजर आती है। वे राज्य के अलग-अलग हिस्सों में दौरे कर रहे हैं, आंदोलन, धरना और प्रदर्शन में हिस्सा भी ले रहे हैं। इसके साथ ही सीधे तौर पर वे सत्ताधारी दल भारतीय जनता पार्टी के खिलाफ मोर्चा खोले हुए हैं।


ऐसा नहीं है कि सिर्फ दिग्विजय सिंह ही सबसे ज्यादा सक्रिय हों, हां कुछ नेता जिनमें पूर्व केंद्रीय मंत्री अरुण यादव, पूर्व मंत्री विजयलक्ष्मी साधो, जीतू पटवारी, पीसी शर्मा, कमलेश्वर पटेल, सचिन यादव जैसे नेता भी अपनी सक्रियता बनाए हुए हैं, मगर इन सभी नेताओं की सक्रियता सीमित दायरे में है। पूरे राज्य में अगर कोई एक नेता सक्रिय है तो वह दिग्विजय हैं। इनके अलावा पूर्व केंद्रीय मंत्री सुरेश पचौरी, पूर्व मंत्री अजय सिंह जैसे तमाम नेताओं की सक्रियता नजर नहीं आ रही है। इतना ही नहीं कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष और पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ की इन दिनों स्वास्थ्य कारणों से देश के बाहर हैं। इन स्थितियों में मध्य प्रदेश की कांग्रेस की कमान पूरी तरह दिग्विजय सिंह ने थाम रखी है। उन्होंने सोमवार को भोपाल में किसान आंदोलन में हिस्सा लिया तो है, मंगलवार को इंदौर में प्रदर्शन करने पहुंच गए।

कांग्रेस ने इंदौर में प्रदर्शन का ऐलान किया है। यह प्रदर्शन कई कांग्रेसी नेताओं के खिलाफ जिला प्रशासन द्वारा की गई जिला बदर कार्रवाई का विरोध को लेकर है। इस प्रदर्शन में कांग्रेस के तमाम बड़े नेता सड़क पर उतरे हैं।

कांग्रेस के इंदौर प्रदर्शन पर भाजपा सांसद शंकर लालवानी ने तंज कसते हुए कहा कि दिग्विजय सिंह और कांग्रेस कभी-कभी बाहर निकलते हैं। उन्हें प्रदेश और शहर के विकास की चिंता नहीं है। वह केवल गैरकानूनी काम करने वाले लोगों के समर्थन में सामने आते हैं। (आईएएनएस)


28-Sep-2021 3:16 PM (20)

चंडीगढ़ : हरियाणा में ‘‘सुल्तान’’ के नाम से मशहूर भैंसे की हार्ट अटैक से मौत हो गई है. इस भैंसे की कीमत 21 करोड़ रुपए थी और यह अपने मालिक को करोड़ों रुपए कमाकर देता था. दिलचस्प बात यह है कि राजस्थान के पुष्कर में हर साल लगने वाले पशु मेले में एक अफ्रीकी किसान ने ‘सुल्तान’ की बोली करोड़ों में लगाई थी. बावजूद इसके मालिक ने इसे बेचने से इनकार कर दिया.

करोड़ों रुपए कमाता था 14 साल का ‘सुल्तान’
‘सुल्तान’ की मौत के बाद इसके मालिक नरेश काफी उदास हैं. नरेश हरियाणा के कैथल जिले में रहते हैं. ‘सुल्तान’ की उम्र 14 साल बताई जा रही है. रिपोर्ट्स के मुताबिक ‘सुल्तान’ हर साल अपने मालिक को करोड़ों रुपए कमाकर देता था. दरअसल मुर्राह नस्ल के इस भैंसे के सीमन की देश में खूब डिमांड थी. भैंसे के मालिक को उसके सीमन से हर महीने लाखों रुपए की कमाई होती थी.

कई अवार्ड किए अपने नाम
‘सुल्तान’ की धमक देशभर के पशु मेलों में थी. वह कई मेलों में अवार्ड भी जीत चुका था. दिखने में तंदुरुस्त ‘सुल्तान’ ने साल 2013 में राष्ट्रीय पशु सौंदर्य प्रतियोगिता में हिसार, झज्जर और करनाल से राष्ट्रीय विजेता का खिताब जीता था.

‘सुल्तान’ की खासियतें क्या थीं?

‘सुल्तान’ 6 फीट लंबा था.
इसका वजन 1.5 टन था.
‘सुल्तान’ एक दिन में 10 किलो दूध, 15 किलो सेब, 20 किलो गाजर, 10 किलो अनाज और 10-12 किलो हरे पत्ते खाता था. 
‘सुल्तान’ को शराब का सेवन भी कराया जाता था. (abplive.com)


28-Sep-2021 3:14 PM (16)

मुंबई के घाटकोपर इलाक़े से एक चौंकाने वाली घटना सामने आयी है. इलाके में महज़ 14 साल की लड़की का खाना ना खाने को लेकर अपनी मां के साथ झगड़ा हो गया जिसके बाद गुस्सा में आकर उसने अपने कमरे में फंदा लगाकर आत्महत्या कर ली.

पंथनगर पुलिस स्टेशन के एक अधिकारी ने बताया की घटना कल दोपहर की है जब उन्हें पता चला की एक 14 साल की बच्ची ने आत्महत्या कर ली है. पुलिस ने बताया कि मामले की जानकारी मिलने के बाद पुलिस की एक टीम मौके पर पहुंची जहां पता चला की लड़की ने खुद के घर में पंखे से फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली है.

डॉक्टरों ने किया मृत घोषित
पुलिस लड़की को तुरंत घाटकोपर के राजावाड़ी अस्पताल के गई जहां जांच के दौरान लड़की को मृत घोषित कर दिया गया. एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया की कल दोपहर को लड़की और उसकी मां के बीच खाना खाने को लेकर झगड़ा हुआ था. बताया गया कि, कल दोपहर एक बजे के दौरान मां ने लड़की को खाना खाने को कहा पर लड़की ने खाना नहीं खाया. इसी बात को लेकर दोनों के बीच शाब्दिक विवाद हो गया और गुस्से में आकर लड़की कमरे में चले गई और दरवाज़ा बंद कर लिया.

बताया जा रहा है कि, घर वालों ने दरवाज़ा खोलने के लिए कई बार कहा पर लड़की ने दरवाज़ा नहीं खोला और जब दरवाज़ा तोड़ा तो देखा कि लड़की ने पंखे में रस्सी लगाकर आत्महत्या कर ली है. वहीं, इस मामले में पुलिस ने फ़िलहाल एफआईआर दर्ज की है और सभी सम्बंधित लोगों के बयान दर्ज कर रही है ताकि लड़की के आत्महत्या करने की असली वजह अगर कोई दूसरी है तो उसका पता लगाया जा सके. (abplive.com)


28-Sep-2021 2:57 PM (22)

नई दिल्ली: पश्चिम बंगाल की भवानीपुर विधानसभा सीट पर उपचुनाव में सत्ताधारी दल तृणमूल कांग्रेस और बीजेपी आमने-सामने हैं. भवानीपुर से बंगाल की मुख्यमंत्री और तृणमूल कांग्रेस सुप्रीमो ममता बनर्जी चुनाव मैदान में हैं. भवानीपुर विधानसभा में हुई हिंसा को लेकर बीजेपी के नेता मंगलवार को चुनाव आयोग पहुंचे. बीजेपी के प्रतिनिधिमंडल में केंद्रीय मंत्री भूपेंद्र यादव, मुख्तार अब्बास नकवी और अनुराग ठाकुर शामिल थे. इनकी मांग है कि भवानीपुर में चुनाव निष्पक्ष हो. साथ ही बीजेपी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष और बंगाल बीजेपी के पूर्व अध्यक्ष दिलीप घोष के साथ चुनाव प्रचार के दौरान हुई धक्का-मुक्की और दुर्व्यवहार की जांच करने की मांग की  गई है. भाजपा नेताओं की मांग है कि भवानीपुर में चुनाव के दौरान धारा 144 लगाई जाए.

बीजेपी के वरिष्ठ नेता और केंद्रीय मंत्री भूपेंद्र यादव ने चुनाव आयोग से मुलाकात के बाद कहा, "बंगाल में चुनाव और हिंसा एक दूसरे के पर्याय बन गए हैं. उनको (तृणमूल कांग्रेस को) हिंसा में विश्वास है. दिलीप घोष पर हमला हुआ उससे लगता है टीएमसी हिंसा को लोकतंत्र मान चुकी है.  राज्य  सरकार से आयोग ने रिपोर्ट मांगी है. 8 लोगों को गिरफ्तार किया गया है, वह काफी नहीं है. माइक्रो आब्जर्वर तैनात किए जाएंगे. दोषी अधिकारियों पर कार्रवाई की जाएगी. उन्होंने कहा कि पिछली बार भी तत्कालीन सरकार के इशारे पर हिंसा हुई थी. 

बीजेपी ने चुनाव आयोग से मांग की है कि भवानीपुर में तत्काल प्रभाव से पेट्रोलिंग तेज की जाए और यह सुनिश्चित किया जाए कि मतदान वाले दिन इसे और बढ़ाया जाए. भवानीपुर विधानसभा क्षेत्र में  केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बल की कम से कम 40 या उससे ज्यादा कंपनियां तैनात की जाए ताकि यह सुनिश्चित हो सके कि हर बूथ पर केंद्रीय बल मौजूद हो. राज्य की पुलिस और होम गार्ड को चुनाव ड्यूटी के लिए तैनात नहीं किया जाए. 

उपद्रवी और असामाजिक तत्वों को राउंड अप पर लिया जाए. ऐसे बूथों, क्षेत्रों और तत्वों की सूची स्थानीय अधिकारियों को सौंप दी गई है. हर बूथ खासकर वार्ड 77 तथा वार्ड 63 और 82 के कुछ हिस्सों में बुर्का पहने महिलाओं की पहचान के लिए महिला सुरक्षाकर्मियों की तैनाती की जाए. 

भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष दिलीप घोष को भवानीपुर विधानसभा क्षेत्र में तृणमूल कांग्रेस के कथित समर्थकों ने सोमवार को धक्का दिया और उनसे दुर्व्यवहार किया, जिसके बाद उनके सुरक्षा अधिकारियों को पिस्तौल निकालनी पड़ी. चुनाव प्रचार के अंतिम दिन यहां का राजनीतिक तापमान काफी गर्म नजर आया. बीजेपी उम्मीदवार प्रियंका टिबरेवाल के लिए प्रचार करते समय भाजपा सांसद अर्जुन सिंह के खिलाफ सत्तारूढ़ तृणमूल के कार्यकर्ताओं ने ‘‘वापस जाओ'' के नारे लगाए. (ndtv.in)


28-Sep-2021 2:56 PM (21)

मुंबई : महाराष्ट्र की सत्ता पर काबिज शिवसेना ने मंगलवार को आरोप लगाया कि 'हताश भाजपा' प्रवर्तन निदेशालय के जरिये पार्टी नेताओं और कर्मियों को निशाना बना रही है. सेना ने अपने पूर्व सहयोगी को चेतावनी देते हुए कहा कि इस तरह के प्रयासों के बावजूद कांग्रेस और एनसीपी के साथ गठबंधन वाली उनकी सरकार नहीं गिरेगी. शिवसेना की लोकसभा सांसद भावना गवली के करीबी को केंद्रीय एजेंसी द्वारा मनी लांड्रिंग के आरोप में आज सुबह गिरफ्तार किया गया था. 

साथ ही प्रवर्तन निदेशालय ने परिवहन मंत्री और शिवसेना के विधायक अनिल परब को पूर्व मंत्री अनिल देशमुख से जुड़े मनी लांड्रिंग मामले में दूसरा समन जारी किया था. वह सुबह 11 बजे एजेंसी के मुंबई स्थित बलार्ड एस्टेट ऑफिस में पेश हुए. 

प्रवर्तन निदेशालय ऑफिस के लिए निकलने से पहले परब ने कहा कि उन्होंने कुछ भी गलत नहीं किया है और पूरा सहयोग देने की पेशकश की है. उन्हें इससे पहले 31 अगस्त को समन भेजकर तलब किया गया था. 

उन्होंने कहा, "मैं आज प्रवर्तन निदेशालय जा रहा हूं, जैसा मैंने पहले कहा है कि मैंने कुछ भी गलत नहीं किया है, मैं सभी सवालों के जवाब देने जा रहा हूं. मुझे नहीं पता है कि उन्होंने मुझे क्यों बुलाया है. वे जो भी मुझसे पूछेंगे, मैं उसका जवाब दूंगा और सहयोग करूंगा." हालांकि पहले परब ने अपने व्यस्त कार्यक्रमों का हवाला देते हुए एजेंसी के सामने पेश होने से 14 दिन का समय मांगा था. 

शिवसेना सांसद संजय राउत ने पहले कहा था कि साथियों के खिलाफ कार्रवाई 'अपेक्षित' थी. उन्होंने एजेंसी के नोटिस भेजे जाने पर तंज कसते हुए 'उन्हें लव लैटर' बताया था. 

पिछले सप्ताह पार्टी के मुखपत्र सामना ने महाराष्ट्र के भाजपा नेताओं पर विरोधियों को धमकाने का आरोप लगाया था, साथ ही कहा था कि भाजपा निराधार आरोपों के जरिये विकास को रोकना चाहती है. (ndtv.in)


28-Sep-2021 2:55 PM (18)

नई दिल्ली : कांग्रेस में शामिल होने जा रहे कन्हैया कुमार भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी में उनके द्वारा लगाया गया एसी भी निकाल ले गए हैं. जेएनयू छात्रसंघ के पूर्व अध्यक्ष कन्हैया कुमार आज दोपहर बाद कांग्रेस में शामिल हो सकते हैं.  सीपीआई बिहार सचिव राम नरेश पांडेय ने मंगलवार को इस घटना की पुष्टि की. नरेश ने कहा कि सीपीआई के पटना कार्यालय पर जो एयरकंडीशनर कन्हैया कुमार ने अपने लिए लगाया था, वो उसे अपने साथ ले गए हैं.

पांडेय ने कहा कि हमने उन्हें ऐसा करने की रजामंदी दे दी, क्योंकि ये एयरकंडीशनर उन्होंने अपने पैसे से लगवाया था. हालांकि पांडेय ने उम्मीद जताई कि कन्हैया कुमार कांग्रेस में शामिल होने का अपना फैसला वापस ले लेंगे. पांडेय ने कहा कि कन्हैया कुमार की विचारधारा कम्युनिस्ट की है और ऐसे लोग अपनी विचारधारा से कभी नहीं डिगते हैं.

पांडेय ने बताया कि कन्हैया कुमार नई दिल्ली में 4-5 सितंबर को राष्ट्रीय कार्यकारी परिषद की बैठक में शामिल हुए थे और तब उन्होंने पार्टी छोड़ने का कोई संकेत नहीं दिया था. न ही उन्होंने पार्टी में किसी विशेष पद की मांग रखी थी. जेएनयू छात्रसंघ के पूर्व अध्यक्ष कन्हैया कुमार और राष्ट्रीय दलित अधिकार मंच के नेता और गुजरात से विधायक जिग्नेश मेवानी के आज कांग्रेस में शामिल होने की संभावना जताई जा रही है.

मौजूदा समय में कन्हैया कुमार सीपीआई की नेशनल एक्जीक्यूटिव काउंसिल के सदस्य हैं. यह पार्टी में नीतिगत निर्णय लेने वाली शीर्ष संस्था है. मेवानी वदगाम विधानसभा सीट से निर्दलीय विधायक हैं और राष्ट्रीय दलित अधिकार मंच के संयोजक भी हैं. वर्ष 2017 गुजरात चुनाव में कांग्रेस पार्टी ने इस सीट पर मेवानी के खिलाफ अपना उम्मीदवार नहीं उतारा था. (ndtv.in)


28-Sep-2021 2:54 PM (10)

नई दिल्ली : भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद के विशेषज्ञों के अनुसार, स्कूलों को एक चरणबद्ध तरीके (प्राथमिक स्कूलों से शुरुआत करते हुए सैकेंडरी स्कूलों तक) से खोलने और बहुस्तरीय हल्के उपाय उठाए जाने की आवश्यकता है. द इंडियन जर्नल ऑफ मेडिकल रिसर्च में प्रकाशित एक विचार के मुताबिक, विशेषज्ञों ने यूनेस्को की एक रिपोर्ट का हवाला दिया है, जिसमें कहा गया है कि भारत में 500 से ज्यादा दिनों तक स्कूलों को बंद रखने से 32 करोड़ बच्चे प्रभावित हुए हैं. 

कोविड-19 महामारी के दौरान स्कूलों को खोलनाः एक सतत दुविधा‘ शीर्षक से पेश विचारों के अनुसार, कोविड समय से पूर्व की अवस्था में जितना जल्द से जल्द वापस जाना भारतीय संदर्भ में दूरदर्शितापूर्ण लगता है. 

रिपोर्ट के लेखक, तनु आनंद, बलराम भार्गव और समीरन पांडे ने कहा कि यद्यपि यह आवश्यक है कि स्कूलों को फिर से खोलने और किसी भी लहर को रोकने के लिए राज्य और यहां तक की जिले के विशिष्ट आंकड़ों और टीकाकरण कवरेज की स्थिति के बारे में पता होना जरूरी है. 

विशेषज्ञों ने भारत में पहले से ही व्यापक रूप से सीखने की असमानताओं पर प्रकाश डाला है और कहा है कि स्कूलों में व्यक्तिगत रूप से सीखने के लिए उचित समय क्या है, इस पर वैज्ञानिक सहमति का अभाव है. 

रिपोर्ट में कहा गया है कि यह सुझाव देने के लिए पर्याप्त सबूत हैं कि एक से 17 साल की आयु के बच्चों में वयस्कों की तरह सार्स-सीओवी-2 संक्रमण के हल्के रूप में समान संवेदनशीलता होती है. (ndtv.in) 
 


28-Sep-2021 2:37 PM (15)

नई दिल्ली : छात्र नेता कन्हैया कुमार तथा गुजरात के दलित नेता जिग्नेश मेवानी आज कांग्रेस पार्टी में शामिल होने जा रहे हैं. मंगलवार सुबह दिल्ली स्थित कांग्रेस कार्यालय के बाहर उनका पार्टी में स्वागत करने के लिए पोस्टर लगाए गए हैं.

कन्हैया कुमार लोकसभा चुनाव 2019 से ऐन पहले भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी में शामिल हुए थे, और बिहार स्थित अपने गृहनगर बेगूसराय से भारतीय जनता पार्टी के गिरिराज सिंह के विरुद्ध चुनाव लड़े थे, लेकिन जीत नहीं पाए थे.

संसद पर हमले के मास्टरमाइंड अफ़ज़ल गुरु की बरसी मनाने के लिए वर्ष 2016 में आयोजित एक कार्यक्रम के दौरान 'राष्ट्र-विरोधी नारे' लगने के मामले में जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय के छात्रसंघ के पूर्व अध्यक्ष कन्हैया कुमार को जेल भेजा गया था.

गुजरात की वडगाम विधानसभा सीट से जनप्रतिनिधि जिग्नेश मेवानी अगले साल गुजरात में होने जा रहे विधानसभा चुनाव में कांग्रेस के गणित के लिहाज़ से काफी अहम साबित हो सकते हैं. पेशे से वकील तथा पूर्व पत्रकार जिग्नेश मेवानी ऐसे वक्त में कांग्रेस का हाथ थाम रहे हैं, जब पार्टी अनुसूचित जाति समुदाय की ओर हाथ बढ़ा रही है, जो उनका परंपरागत समर्थक रहा है. हाल ही में पार्टी ने पंजाब में कैप्टन अमरिंदर सिंह को हटाकर दलित मुख्यमंत्री - चरणजीत सिंह चन्नी - को तैनात किया है.

जिग्नेश मेवानी ने ट्वीट कर इस कदम का समर्थन भी किया था, "चरणजीत सिंह जी को पंजाब का मुख्यमंत्री नियुक्त करने का फैसला एक संदेश है, जो राहुल गांधी और कांग्रेस ने दिया है... इसका ज़ोरदार असर न सिर्फ दलितों पर होगा, बल्कि समूचे निचले तबके पर होगा... दलितों के लिए यह कदम सिर्फ शानदार नहीं, सुकून देने वाला भी है..."

सूत्रों के मुताबिक, कन्हैया कुमार दो हफ्ते में दो बार राहुल गांधी से मुलाकात कर चुके हैं. उन्होंने प्रियंका गांधी वाड्रा से भी मुलाकात की है. (ndtv.in)


28-Sep-2021 2:36 PM (17)

जयपुर : राजस्थान में बाल विवाह से जुड़ा नया कानून पारित होने के बाद से इस पर विवाद बढ़ता ही जा रहा है. विपक्ष का कहना है कि इसके जरिये सरकार बाल विवाह को मान्यता देने का प्रयास कर रही है. इस बिल को पारित कराए जाने के दौरान विधानसभा में भी जबरदस्त हंगामा हुआथा. साथ ही बाल विवाह के खिलाफ लड़ाई लड़ रहे संगठनों और सामाजिक संस्थाओं ने भी सवाल उठाए थे. राजस्थान में पिछले हफ्ते विधानसभा में बाल विवाह से जुड़ा कानून पारित किया गया है. इसको लेकर सवाल उठने लगे हैं. विपक्ष के अलावा कई संगठनों ने भी इसे पीछे की ओर ले जाने वाला कदम बताया है. 

महिला और बाल अधिकार से जु़ड़े संगठनों और सामाजिक समूहों ने राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत को चिट्ठी लिखी है. उनका कहना है कि राजस्थान का राज्य विवाह संशोधन बिल 2021 कहता है कि बाल विवाह समेत सभी तरह की शादियों को पंजीकृत कराया जाना अनिवार्य है. नाबालिगों के मामले में कहा गया है कि उनके माता-पिता या अभिभावकों को उनकी शादी पंजीकृत करानी चाहिए.

पिछले हफ्ते जब विधानसभा में यह विधेयक पारित हो रहा था तो भारी हंगामा हुआ था. बाल विवाह और इसकी शिकार लड़कियों के अधिकारों के लिए लड़ रहे संगठनों ने भी इसे प्रतिगामी कदम ठहराया है. उनका कहना है कि नाबालिगों समेत सभी तरह के विवाह का रजिस्ट्रेशन कराना अनिवार्य बनाने के जरिये राजस्थान सरकार पिछले दरवाजे से बाल विवाह को मान्यता देने का प्रयास कर रही है. (ndtv.in)


28-Sep-2021 2:35 PM (16)

मुंबई : बॉम्बे हाईकोर्ट ने कार्यस्थल पर यौन उत्पीड़न के मामलों की अदालती कार्यवाही की मीडिया रिपोर्टिंग को लेकर के सख्त रुख अपनाया है. कोर्ट ने अपने एक आदेश में कार्यस्थल पर यौन उत्पीड़न के मामलों की मीडिया रिपोर्टिंग पर रोक लगाने के आदेश जारी किए हैं. हाईकोर्ट के जस्टिस गौतम पटेल ने आदेशों और निर्णयों की मीडिया रिपोर्टिंग पर रोक लगाने का आदेश जारी किया है. इसके साथ ही हाईकोर्ट ने आदेश दिया है कि इन मामलों में आदेश भी सार्वजनिक या अपलोड नहीं किए जा सकते हैं. ऑर्डर की कॉपी में पार्टियों की व्यक्तिगत रूप से पहचान योग्य जानकारी का उल्लेख नहीं किया

कोर्ट ने कहा कि कोई भी आदेश खुली अदालत में नहीं बल्कि न्यायाधीश के कक्ष में या इन कैमरा दिया जाएगा. कोर्ट ने कहा है कि यदि किसी भी पक्ष द्वारा इसका उल्लंघन किया जाता है तो इसे न्यायालय की अवमानना ​​माना जाएगा. 

कोर्ट ने अपने आदेश में कहा है कि कोई भी पक्ष, उनके वकील या गवाह मीडिया को मामले में अदालत के आदेश या किसी अन्य फाइलिंग के विवरण का खुलासा नहीं कर सकते हैं. साथ ही कोर्ट ने कहा है कि सिर्फ अधिवक्ताओं और वादियों को सुनवाई में हिस्सा लेने की अनुमति होगी.  (ndtv.in)


28-Sep-2021 2:33 PM (13)

नई दिल्ली : बॉलीवुड कपल्स आए दिनों सोशल मीडिया पर लाइमलाइट में रहते हैं, लेकिन जब बात रणबीर कपूर और आलिया भट्ट की हो तो फैंस उनकी छिपी तस्वीर भी खोज निकालते हैं. बता दें कि आज बॉलीवुड के हैंडसम एक्टर रणबीर कपूर का जन्मदिन है और इस खास मौके पर फैंस के साथ ही सेलेब्स भी उन्हें जमकर बधाई दे रहे हैं. इस दौरान उनके फैन पेज पर एक वीडियो शेयर किया गया है जो सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा है. इस वीडियो में दोनों की केमिस्ट्री फैंस का दिल जीत रही है. 

यूं ईवेंट में प्रोपोज करते आए नजर
सोशल मीडिया पर रणबीर कपूर और आलिया भट्ट का एक वीडियो फैंस को खास पसंद आ रहा है. इस वीडियो में दोनों सितारे काफी रोमांटिक अंदाज में नजर आ रहे हैं. पहले वीडियो में तो रणबीर अलिया को प्रोपोज करते नजर आ रहे हैं वहीं दूसरे वीडियो में वे भरे ईवेंट में किस करते नजर आते हैं. जिसके बाद उन्हें यह अंदाजा लगता है कि उन्से कितनी बड़ी गलती हो गई है और वे दोनों ही फिर मुस्कुराते हुए नजर आते हैं. फिलहाल तो दोनों का ये वीडियो फैंस को काफी पसंद आ रहा है.

बड़े बजट की फिल्में हैं दोनों सितारों के पास 
आलिया और रणबीर दोनों ही बॉलीवुड के बड़े सितारे हैं. दोनों के काम की बात करें तो अब वे दोनों साथ में 'ब्रह्मास्त्र' फिल्म में नजर आएंगे. फैंस को इस फिल्म का बेसब्री से इंतजार है. इस फिल्म में उनके साथ बिग बी यानी की अमिताभ बच्चन और मौनी रॉय भी दिखाई देगें. इसके अलावा आलिया रणवीर सिंह के साथ रॉकी रानी की प्रेम कहानी की शूटिंग में बिजी हैं वहीं रणबीर कपूर के पास 'एनिमल' और 'शमशेरा' फिल्म भी है  (ndtv.in)


Previous123456789...892893Next