राष्ट्रीय

Posted Date : 15-Jul-2018
  • नई दिल्ली, 15 जुलाई । देश में किशोर न्याय संशोधित कानून को लागू हुए भले ही ढाई साल का समय बीत गया हो, लेकिन इसके तहत अनिवार्य होने के बावजूद अब तक 1300 से अधिक बालगृहों (चाइल्ड केयर इंस्टीट्यूशन) ने पंजीकरण नहीं करवाया है। इनमें से भी 1100 से अधिक बालगृह अकेले केरल में हैं जिनका पंजीकरण नहीं हुआ है। हाल ही में 'मिशनरीज ऑफ चैरिटीÓ की झारखंड स्थित एक संस्था से बच्चों को बेचे जाने का मामला सामने आने के बाद, नोबेल पुरस्कार से सम्मानित बाल अधिकार कार्यकर्ता कैलाश सत्याथी और कई अन्य कार्यकर्ताओं ने सभी बालगृहों का तत्काल पंजीकरण किए जाने की मांग की थी। किशोर न्याय (बच्चों की देखभाल एवं संरक्षण) अधिनियम, 2015 के तहत बाल संरक्षण से जुड़ी हर संस्था का पंजीकरण कराना अनिवार्य है। यह संशोधित कानून जनवरी, 2016 में लागू हुआ था।
    एनसीपीसीआर की ओर से उपलब्ध कराए गए ताजा आंकड़ों (11 जुलाई, 2018 तक) के मुताबिक, देश में 5850 बालगृह पंजीकृत हैं तो 1339 बालगृह बिना पंजीकरण के चल रहे हैं। एनसीपीसीआर का कहना है कि केरल में 26 बालगृह पंजीकृत हैं, जबकि 1165 बालगृह बिना पंजीकरण के चल रहे हैं। इसके अलावा महाराष्ट्र में 110, मणिपुर में 13, तमिलनाडु में नौ, गोवा में आठ, राजस्थान में चार और नगालैंड में दो बालगृह पंजीकृत नहीं हैं। एनसीपीसीआर के सदस्य यशवंत जैन ने बताया, हमने कई बार राज्यों से कहा है कि सभी बाल गृहों का पंजीकरण अनिवार्य कराया जाए। कई राज्यों ने बहुत सक्रियता दिखाई है लेकिन कुछ राज्यों में आशा के अनुरूप प्रगति नहीं दिखी है। एनसीपीसीआर के अनुसार, देश के पंजीकरण/ बिना पंजीकरण वाले आठ हजार से अधिक बालगृहों में 2,32,937 बच्चे हैं।  (भाषा)

    ...
  •  


Posted Date : 15-Jul-2018
  • मिर्जापुर, 15 जुलाई। लोकसभा चुनाव से पहले पूर्वांचल के दौरे पर निकले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी रविवार को पूरी तरह से चुनावी मोड में दिखाई दिए। यूपी के किसान बहुल मिर्जापुर जिले में एक जनसभा को संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने कांग्रेस का नाम लिए बिना तीखा हमला बोला। उन्होंने कहा कि कुछ लोग किसानों के नाम घडिय़ाली आंसू बहाते हैं लेकिन उनके हित के लिए कुछ नहीं किया। प्रधानमंत्री ने कहा कि 40 साल से बाणसागर सिंचाई परियोजना लंबित पड़ी थी लेकिन पिछली सरकारों ने इसे पूरा करने के लिए कोई प्रयास नहीं किया। यही नहीं किसानों को उनके उत्पाद का उचित मूल्य मिले, इसके लिए भी एनडीए सरकार ने ही एमएसपी को डेढ़ गुना किया है। 
    भोजपुरी में अपने भाषण की शुरुआत करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि यह पूरा क्षेत्र दिव्य और अलौकिक है। विंध्य पर्वत और भागीरथी के बीच यह क्षेत्र सदियों से अपार संभावनाओं से भरा रहा है। पिछले दौरे में फ्रांस के राष्ट्रपति आए थे और मां विंध्यवासिनी के बारे में जानकर बहुत आश्चर्यचकित थे। प्रधानमंत्री ने कहा, पूर्वांचल के लोगों के जीवन का खेती किसानी अहम हिस्सा है। बाणसागर परियोजना से इस क्षेत्र के डेढ़ लाख हेक्टेयर जमीन की सिंचाई हो सकेगी।
    उन्होंने कहा, इस परियोजना का खाका 40 साल पहले खींचा गया था लेकिन इस पर काम शुरू होते-होते 20 साल गुजर गए। इसके बाद के वर्षों में कई सरकारें आईं लेकिन यह परियोजना पूरी नहीं हुई। वर्ष 2014 में जब हमारी सरकार आई तो लटकी हुई परियोजनाओं में इसका नाम भी था। इसके बाद बाणसागर परियेाजना को पूरा करने के लिए सारी ऊर्जा लगा दी गई। योगी आदित्यनाथ की सरकार बनने के बाद बीते सवा साल में जिस गति से इस परियोजना को आगे बढ़ाया गया, उसके फलस्वरूप यह परियोजना पूरी हो पाई।
    प्रधानमंत्री ने कहा कि पिछली सरकारों ने योजनाओं को पूरा करने पर ध्यान नहीं दिया। उन्होंने कहा, जो लोग आजकल किसानों के लिए घडिय़ाली आंसू बहाते हैं, उनसे आपको पूछना चाहिए कि आखिर क्यों उन्हें अपने शासन काल में देश भर में फैली इस तरह की अधूरी सिंचाई परियोजनाएं नहीं दिखाई दीं क्यों ऐसे कार्यों को अधूरा ही छोड़ दिया गया बाण सागर परियोजना उस अपूर्ण सोच, सीमित इच्छाशक्ति का भी उदाहरण है जिसकी एक बहुत बड़ी कीमत आप सभी को चुकानी पड़ी है। देश को भी आर्थिक रूप से नुकसान सहना पड़ा। लगभग 300 करोड़ के बजट से शुरू हुई ये परियोजना लगभग 3,500 करोड़ रुपए लगाने के बाद पूरी हुई है। 
    पटेल बहुल मिर्जापुर में पीएम मोदी ने अपना दल के संस्थापक सोनेलाल पटेल का भी जिक्र किया। उन्होंने कहा, पूर्वांचल का विकास हमारी प्राथमिकता है। इस क्षेत्र के लिए, यहां के गरीब, वंचित, शोषित के लिए जो सपने सोनेलाल पटेल जैसे कर्मशील लोगों ने देखे, उनको पूरा करने की तरफ हम निरंतर आगे बढ़ रहे हैं। पीएम मोदी ने कहा कि पिछले सरकारों ने फसलों के एमएसपी बढाने की दिशा में कुछ नहीं किया। पहले किसानों पर सिर्फ राजनीति की गई। सोनेलाल पटेल की बेटी अनुप्रिया पटेल मिर्जापुर से सांसद हैं। 
    पीएम मोदी ने कहा, हमने एमएसपी को डेढ़ गुना करने का वादा किया था जिसे पूरा किया है। उन्होंने कहा कि एमएसपी को बढ़ाने से किसानों को बहुत लाभ होगा। हमारी सरकार किसानों की दिक्कतों को दूर करने के लिए काम कर रही है। मिर्जापुर के मेडिकल कॉलेज के बनने पर आसपास के जिलों के लोगों को फायदा होगा। उन्होंने कहा कि पिछले दो साल में 5 करोड़ लोग गरीबी से बाहर निकले हैं, इसमें केंद्र की योजनाओं का प्रभाव है। 
    इससे पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पूर्वांचल के अपने दौरे के दूसरे दिन मिर्जापुर में करीब 4008 करोड़ रुपये की परियोजनाओं की सौगात दी। प्रधानमंत्री मोदी 3420 करोड़ की बाणसागर सिंचाई परियोजना और वाराणसी को मिर्जापुर से जोडऩे वाले चुनार पुल का लोकार्पण किया। इस पुल को बनाने में 69 करोड़ रुपये का खर्च आया है। प्रधानमंत्री मोदी केंद्रीय स्वास्थ्य और परिवार कल्याण राज्यमंत्री मंत्री अनुप्रिया पटेल के संसदीय क्षेत्र मिर्जापुर में मेडिकल कॉलेज का शिलान्यास किया। (नवभारत टाईम्स)

     

    ...
  •  


Posted Date : 15-Jul-2018
  • नई दिल्ली, 15 जुलाई। ऐसे में जब केरल में कई पादरियों पर यौन दुराचार का आरोप लगा है, आर्कबिशप सूसा पाकियम ने कहा कि कैथोलिक गिरजाघर में वर्तमान घटनाएं उसके लिए शर्म की बात हैं। पाकियम ने उम्मीद जतायी कि उस मामले में न्याय होगा जिसमें एक नन ने एक बिशप पर बलात्कार का आरोप लगाया है। जालंधर के बिशप फ्रांको मुलाक्कल पर लगे बलात्कार के आरोप के बारे में पूछे जाने पर आर्कबिशप ने कहा, उस मामले में न्याय होना चाहिए। यही गिरजाघर का रूख है। केरल कैथोलिक बिशप परिषद के अध्यक्ष पकियम ने कहा कि वह एक सार्वजनिक बयान देने की स्थिति में नहीं हैं क्योंकि यह एक ऐसा मुद्दा है जो कि गिरजाघर में दो लोगों के बीच हुआ है।
    बीते दिनों केरल के एक स्थानीय चर्च के चार पादरियों पर एक महिला ने यौन शौषण का आरोप लगाया था। पुलिस को दिए बयान में महिला ने आरोप लगाया था कि उसके साथ पादरियों ने रेप और ब्लैकमेल किया। पादरियों के खिलाफ पुलिस ने रेप और छेड़छाड़ का मामला दर्ज किया है। महिला के पति की शिकायत के बाद 5 पादरियों चर्च ने उनकी ड्यूटी से भी हटा दिया था।  महिला के पति ने आरोप लगाया था कि इन पादरियों ने चर्च में ईश्वर के समक्ष पाप स्वीकार करने आई महिला के साथ यौन उत्पीडऩ किया। पादरियों ने महिला की स्वीकारोक्ति का इस्तेमाल ब्लैकमेल करने के लिए किया। चर्च ने इस मामले में एक आंतरिक जांच शुरू की है। (भाषा)

    ...
  •  


Posted Date : 15-Jul-2018
  • मुंबई, 15 जुलाई। महाराष्ट्र के हिंगोली जिले के एक सरकारी स्कूल में कल उस समय दहशत का माहौल बन गया जब पता चला कि इसकी रसोई में दर्जनों जहरीले सांप मौजूद हैं।  यह घटना शुक्रवार दोपहर की है और यहां इन सांपों की मौजूदगी का पता तब चला जब इस स्कूल में खाना बनाने का काम करने वाली एक महिला रसोईघर के लकड़ी भंडार में जलावन की लकडिय़ां लेने पहुंची। तब उसे लकडिय़ों के ढेर के नीचे दो सांप दिखाई दिए थे और इस महिला ने फौरन इसकी सूचना स्कूल के प्रधानाचार्य को दी।
    जानकारी मिलते ही स्कूल के कुछ अन्य कर्मचारियों के साथ जब प्रधानाचार्य मौके पर पहुंचे तो उन्होंने वहां सिर्फ दो नहीं बल्कि कई अन्य सांपों को भी देखा। स्कूल में एक साथ इतने सारे सांप होने की खबर से आसपास के ग्रामीण इलाके में हड़कंप मच गया और स्थानीय लोग लाठियां लेकर इन्हें मारने स्कूल पहुंच गए। हालांकि इस दौरान स्कूल प्रशासन ने सांप पकडऩे वाले एक व्यक्ति को इसकी सूचना दे दी और इसने करीब दो घंटे की मशक्कत के बाद यहां मौजूद सारे सांपों को जिंदा पकड़ लिया। इस दौरान करीब 60 सांप पकड़े गए और ये सभी रसल वाइपर प्रजाति के थे। इस स्कूल के प्रशासनिक अधिकारी के मुताबिक इन सभी सांपों को वन विभाग के हवाले कर दिया गया है। (इंडियन एक्सप्रेस)

    ...
  •  


Posted Date : 15-Jul-2018
  • नई दिल्ली, 15 जुलाई । महाराष्ट्र में मार्च से मई के बीच तीन महीने में 639 किसानों ने आत्महत्या की है। राज्य के राजस्व मंत्री चंद्रकांत पाटिल ने विधान परिषद में यह जानकारी दी है। इस संबंध में सरकार से विधान परिषद में विपक्ष के नेता धनंजय मुंडे और राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (एनसीपी) के कुछ सदस्यों ने तथ्यात्मक जानकारी चाही थी।
    जवाब में राजस्व मंत्री ने बताया कि राज्य के ज्यादातर किसानों ने कर्ज के बोझ और फसलें खराब होने जैसी वजहों से आत्महत्या की है। उनके मुताबिक इन 639 में से 188 किसानों को सरकार की योजनाओं के तहत हर्जाना दिए जाने के पात्र माना गया था। इनमें से 174 ऐसे किसानों के परिवारों को हर्जाना दिया भी जा चुका है। फसलों के खराब होने, कर्ज का बोझ बढ़ जाने और उसे चुका पाने में सक्षम न होने की स्थितियों में विभिन्न योजनाओं के तहत हर्जाना दिए जाने का प्रावधान है।
    पाटिल ने बातया कि आत्महत्या करने वाले किसानों में से 122 को विभिन्न कारणों से इस हर्जाने के पात्र नहीं माना गया था। जबकि 329 किसानों के मामले अभी जांच की प्रक्रिया से गुजर रहे हैं। हालांकि विपक्षी नेता सरकार के इस जवाब से संतुष्ट नहीं हुए। उन्होंने आरोप लगाया कि सरकार किसानों के हित की जिन योजनाओं की बात कर रही है वे सब असफल हो चुकी हैं। इसके चलते बीते चार साल में राज्य के 13,000 से ज्यादा किसान आत्महत्या कर चुके हैं। पिछले साल ही 1,500 किसानों ने आत्महत्या की है। (पीटीआई)

    ...
  •  


Posted Date : 15-Jul-2018
  • हजारीबाग, 15 जुलाई । झारखंड के हजारीबाग में शनिवार देर रात कर्ज में डूबे एक ही परिवार के छह सदस्यों की मौत से पूरा जिला सन्न रह गया। शुरुआती जांच में मौत की वजह कर्ज को बताई जा रही है, लेकिन परिवार की हत्या की आशंका से भी इंकार नहीं किया जा रहा है।  
    बताया जा रहा है कि छह लोगों में दो लोगों ने फांसी लगाकर जान दी। एक बच्चे की धारदार हथियार से हत्या की गई है, जबकि एक बच्ची को जहर देकर मारा गया। एक महिला की गला दबाकर हत्या की गई है। ऐसा लगता है कि परिवार के पांच लोगों की मौत के बाद सबसे अंत में एक पुरुष ने छत से कूदकर जान दे दी। पुलिस को अपार्टमेंट के कमरे से एक सुसाइड नोट बरामद हुआ है। ब्राउन लिफाफे पर लाल स्याही से लिखा है कि अमन को लटका नहीं सकते थे। इसलिए उसकी हत्या की गई। 
    इसके नीचे नीली स्याही से मोटे अक्षरों में सुसाइड नोट लिखा है और उसके नीचे लिखा है- बीमारी+दुकान बंद+दुकानदारों का बकाया न देना+बदनामी+कर्ज=तनाव(टेंशन)=मौत। घटना हजारीबाग के खजांची तालाब के निकट सीडीएम अपार्टमेंट की है। परिवार के सबसे बुजुर्ग व्यक्ति और उनकी पत्नी ने फांसी लगाकर अपने जीवन का अंत किया, तो धारदार हथियार से गला काटकर बच्चे की हत्या की। 
    संभवत: उसी ने अपनी पत्नी की गला दबाकर हत्या की। वहीं बेटी की मौत की वजह जहर बतायी जा रही है। दो महिलाओं का शव एक कमरा में मिला है, जबकि दूसरे कमरे में तीसरी महिला और उनके पोते का शव मिला। इस घर के मुखिया की तीन साल की बेटी का शव बरामदे में पड़ा मिला। वहीं घर के मुखिया का शव फ्लैट के नीचे कम्पाउंड में मिला। शुरुआती जांच में इसे आत्महत्या का मामला माना जा रहा है, लेकिन पुलिस हत्या की आशंका से भी इन्कार नहीं कर रही है। कहा जा रहा है कि एक साथ छह लोगों की मौत के इस मंजर से ऐसा लगता है कि किसी ने इन सबकी हत्या कर दी है। हालांकि, पुलिस जांच के बाद ही कुछ भी कह पाने की स्थिति में होगी। 
    दिल्ली के बुराड़ी में बीते दिनों एक परिवार के 11 लोगों को सामूहिक खुदकुशी का मामला सामने आया था। बुराड़ी के चुंडावत (भाटिया) परिवार के 11 सदस्यों में सबसे बुजुर्ग नारायण देवी की पोस्टमार्टम रिपोर्ट से खुलासा हुआ है कि उसकी मौत भी परिवार के अन्य 10 सदस्यों की तरह ही फांसी पर लटकने से हुई है। इससे पहले 10 लोगों की पोस्टमार्टम में भी गड़बड़ी की आशंका को खारिज करते हुए दिल्ली पुलिस का कहना था कि सभी 10 लोगों की मौत फांसी लगाने से हुई है।(एनडीटीवी)

    ...
  •  


Posted Date : 15-Jul-2018
  • संभल  (उप्र), 15 जुलाई । यूपी के संभल में दबंगों ने महिला के साथ गैंगरेप की कोशिश की। वहीं गैंगरेप में नाकाम होने के बाद हैवानों ने महिला को जिंदा जला दिया और मौके से फरार हो गए। घटना के बाद इलाके में हड़कंप मच गया। सूचना मिलते ही मौके पर पहुंची पुलिस ने आरोपियों के खिलाफ नामजद मुकदमा दर्ज किया है। पुलिस आरोपियों की तलाश में छापेमारी कर रही है।
    पीडि़ता के परिजनों का आरोप है कि गांव के ही चार दबंग युवक आए दिन महिला के साथ छेड़छाड़ किया करते थे। शुक्रवार को महिला ने इन दबंगों की छेडख़ानी का विरोध किया, तो उनके बीच कहासुनी हो गई थी।  इसी बात को लेकर इन युवकों ने पहले तो महिला के घर में घुसकर मारपीट की और फिर उसे घर से उठाकर ले गए। परिजनों के मुताबिक, महिला के साथ गैंगरेप में नाकाम होने पर उन लोगों ने उस झोपड़ी को ही आग के हवाले कर दिया, जिसमें उन्होंने महिला को बंद कर रखा था।
    मृतक महिला की 6 साल की बच्ची थी। वहीं उसका पति दिल्ली में रहकर काम करता है। पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है।
    बताया जा रहा है कि महिला ने डायल 100 को कई बार फोन करके मदद मांगी थी, लेकिन फोन नहीं उठा। जिसका नतीजा था कि दबंगों ने खुलेआम महिला को जिंदा जला दिया। (न्यूज 18)

    ...
  •  


Posted Date : 15-Jul-2018
  • रावलपिंडी, 15 जुलाई । भ्रष्टाचार के मामले में पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ और उनकी बेटी मरियम नवाज ने रावलपिंडी की अदियाला जेल में बंद हैं। इस बीच मरियम ने जेल में बेहतर सुविधाओं को लेने से इंकार कर दिया है।
    जेल प्रशासन की ओर से पूर्व पीएम और उनकी बेटी को बेहतर सुविधाओं का प्रस्ताव भी दिया गया था। मरियम और नवाज को सोमवार तक इसी जेल में रहना होगा। दरअसल, सोमवार को ही उनकी जमानत याचिका दायर की जाएगी।
    नवाज शरीफ और मरियम को शुक्रवार को पाकिस्तान पहुंचते ही गिरफ्तार कर लिया गया था। इससे पहले रिपोर्ट आई थी कि नवाज और उनकी बेटी को जेल में बी क्लास सुविधा दी जा रही है। बी क्लास सुविधा में घर का खाना खाने की इजाजत होती है, साथ ही अलग से बॉथरूम होता है। इसके अलावा बिस्तर, गद्दा, मेज और कुर्सी, कूलर, टीवी जैसी सुविधाएं भी मिलती हैं।
    लंदन से लाहौर हवाई अड्डे पर उतरने के तुरंत बाद राष्ट्रीय उत्तरदायित्व ब्यूरो के अधिकारियों ने नवाज और उनकी बेटी मरियम को हिरासत में ले लिया था। इसके बाद पूर्व प्रधानमंत्री और उनकी बेटी ने अपनी पहली रात जेल में बिताई थी। शुक्रवार को हिरासत में लेने के बाद, उन्हें एक विशेष विमान से इस्लामाबाद भेजा गया और उसके बाद उन्हें  फिर आदियाला जेल में ले जाया गया।
    पाकिस्तान की जवाबदेही अदालत ने पनामा पेपर्स कांड से जुड़े भ्रष्टाचार के केस में 6 जुलाई को नवाज शरीफ को 10 साल जेल की सजा सुनाई थी। जबकि उनकी बेटी मरियम नवाज को 7 साल कैद और दामाद कैप्टन (पूर्व) सफदर को एक साल की सजा सुनाई है।  कोर्ट ने नवाज पर 80 लाख पाउंड (करीब 73 करोड़ रुपये) और और मरियम पर 20 लाख पाउंड (18.2 करोड़ रुपये) का जुर्माना भी लगाया है।
    अब नवाज शरीफ के वकील ख्वाजा हारिस सोमवार को कोर्ट में जमानत याचिका दायर करेंगे। जिसके बाद देखना होगा कि 25 जुलाई को पाकिस्तान में होने वाले आम चुनाव से पहले नवाज शरीफ परिवार को राहत मिलती है या उन्हें आगे भी जेल में वक्त बिताना पड़ेगा।(आज तक)

    ...
  •  


Posted Date : 15-Jul-2018
  • पुणे, 15 जुलाई । शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने आज सवाल किया कि केंद्र की भाजपा नीत सरकार अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के लिए उस तरह से एक तत्काल निर्णय क्यों नहीं करती जिस तरह से उसने नोटबंदी के मामले में किया था। ठाकरे ने पार्टी नेताओं की एक बैठक के बाद कहा, वे (भाजपा) चुनाव से पहले राम मंदिर निर्माण, समान नागरिक संहिता और जम्मू कश्मीर में धारा 370 हटाने की बात करते हैं लेकिन किस चुनाव में 2019 या 2050, वे यह नहीं बताते।
    ठाकरे ने कहा, आपने (भाजपा सरकार) जिस तरह से नोटबंदी का तत्काल निर्णय किया, आप राम मंदिर निर्माण का भी तत्काल निर्णय कर सकते हैं क्योंकि आपके पास बहुमत है। उन्होंने कहा कि अभी तक भाजपा का एजेंडा विकास था, लेकिन अब उसका स्थान राम मंदिर मुद्दे ने ले लिया है। (एनडीटीवी)

    ...
  •  


Posted Date : 15-Jul-2018
  • नई दिल्ली, 15 जुलाई । अठारह मई 2017 को जमशेदपुर के पास दो अलग-अलग जगहों पर बच्चा चोरी के शक में 7 लोगों की भीड़ ने हत्या कर दी। अफवाहों की शुरुआत कहां से हुई जब पुलिस ने इसकी जांच-पड़ताल शुरू की तो वह लोकल पत्रकार शंकर गुप्ता और सुशील अग्रवाल तक पहुंची। पुलिस का दावा है कि हमले से 7 दिन पहले इस तरह के मैसेज व्हाट्सऐप पर फैलने शुरू हुए। 
    पुलिस को जांच में पता चला कि शंकर गुप्ता ने 11 मई को ये मैसेज पोस्ट किए। इस मैसेज में लिखा था कि बच्चा चोर जादूगोड़ा में घुस चुके हैं। इसके बाद दुरकू गांव में एक बच्चे को अगवा करने की कोशिश कर रहे लोगों को सुबह 8 बजे लोगों ने पकड़ा। गांववालों की सूचना के बाद पुलिस ने बच्चा चोरों को पकड़ लिया। इसके बाद अग्रवाल ने कुछ घंटों बाद ये मैसेज पोस्ट किया। अगवा करने वालों के पास एटीएम कार्ड, चॉकलेट, गेंदें और बेहोशी की दवा मिली है। गुप्ता के मैसेज उस गु्रप पर चले जिसका वो एडमिनिस्ट्रेटर है। इस गु्रप से 225 लोग जुड़े हुए हैं, जिनमें पत्रकार, पुलिस अधिकारी और लोकल अफसर शामिल हैं।
    पुलिस का कहना है ये सारे मैसेज फर्जी हैं। उसने गुप्ता को गिरफ्तार किया और अग्रवाल से पूछताछ की। गुप्ता जमानत पर बाहर है और उसका कहना है कि ये मैसेज उसने भेजने शुरू नहीं किए थे। व्हाट्सऐप पर संदेश फैलने से पहले 1 और 6 मई को ये लेख हिंदुस्तान और प्रभात खबर में छपे। दोनों ही इस इलाके में काफी तादाद में पढ़े जाने वाले अखबार हैं। दोनों ने ही जमशेदपुर के पास चाकुलिया गांव से 12 साल के एक लड़के को अगवा करने की कोशिश की खबर छापी। 5 दिन बाद खबर छपी कि मानसिक रूप से परेशान एक शख्स को बच्चा चोरी करने की कोशिश के आरोप में पास के गांव में भीड़ ने मार डाला। ये खबर किसकी है ना तो उस संवाददाता का नाम था, ना पुलिस का बयान, लेकिन लड़के का फोटो छपा था।
    पुलिस के पास अपहरण के बारे में कोई जानकारी नहीं है। 13 साल के सुपाई का पता लगाने के लिए हम चाकुलिया गांव गए।  सुपाई अपनी बहन और दादा-दादी के साथ रहता है, उसने बताया कि उसके घर में कोई घुस आया था लेकिन ये साफ नहीं है कि वो चोर था या बच्चा अगवा करने वाला है, लेकिन जब हमने स्थानीय लोगों से बात की तो कहानी अपहरण की तरफ मुड़ गई। अपराधों के आंकड़े बताते हैं कि झारखंड में बच्चा चोरी के मामले बढ़ रहे हैं। 2014 से 2016 के बीच जितने अपहरण हुए उसके 3 गुना 2017 में हुए हैं। 
    झारखंड में बच्चों के अपहरण
    2014-  94
    2015- 122 
    2016- 288 
    स्रोत- एनसीआरबी रिपोर्ट

    लेकिन पुलिस मानती है कि झूठी अफवाहों से बढ़ते अपहरणों का कोई लेना देना नहीं है। यानी वो फर्जी खबरें कहां से आती हैं। उनके बारे में पूरी गहराई से पड़ताल होनी चाहिए, जिनसे पीट-पीटकर मारने की घटनाएं होती हैं।(एनडीटीवी)

    ...
  •  


Posted Date : 15-Jul-2018
  • नई दिल्ली, 15 जुलाई । कर्नाटक में बच्चा चोरी की अफवाह के चलते भीड़ ने कथित तौर पर एक सॉफ्टवेयर इंजीनियर की पिटाई कर दी। पिटाई की वजह से इंजीनियर की मौत हो गई। जबकि 3 अन्य लोग बुरी तरह घायल हो गए हैं। पुलिस ने इस मामले में 32 लोगों को गिरफ्तार कर लिया है। बताया जा रहा है कि हैदराबाद के रहने वाले मोहम्मद आजम, बशीर, सलमान और अकरम अपने दोस्त से मिलने के लिए मुरकी आए थे। लौटते हुए इनमें से एक शख़्स वहां बच्चों को चॉकलेट बांटने लगा। तभी वाट्सएप पर ये अफवाह फैल गई। इसके बाद काफी संख्या में गांव वाले इक_ा हो गए और उन्होंने चारों लोगों पर हमला कर दिया। खतरे की आशंका को देखते हुए चारो लोग कार से भागने लगे। बताया जा रहा है कि ग्रामीणों ने बाइक से उनका पीछा भी किया। बताया जा रहा है कि भागने के दौरान युवकों के कार की टक्कर सामने से आ रही बाइक से गई और वे गड्ढे में गिर पड़े। इसी दौरान ग्रामीणों ने उन्हें फिर घेर लिया और कार से खींचकर बुरी तरह पिटाई की। 
    चश्मदीदों के मुताबिक वहां सैकड़ों लोग इक_ा थे, लेकिन कोई भी युवकों को बचाने के लिए नहीं आया। जब तक पुलिस पहुंचती तब तक चारों शख्स में से एक मोहम्मद आजम की मौत हो चुकी थी। जबकि अन्य युवकों को अस्पताल ले जाया गया। पुलिस ने इस मामले में कुल 32 लोगों को गिरफ्तार किया है। जिसमें वाट्सएप गु्रप का एक एडमिन भी शामिल है। 
    पिछले दिनों ही महाराष्ट्र के धुले जिले में ग्रामीणों ने बच्चा चोरी करने वाले गिरोह का सदस्य होने के संदेह में पांच लोगों की पीट-पीटकर हत्या कर दी थी। धुले में साकरी तहसील के राइन पाड़ा गांव में 5 अनजान लोगों को संदिग्ध अवस्था में देख गांव वालों को शक हुआ कि ये बच्चा चोर हो सकते हैं। इसके बाद  गांव वालों ने उन्हें पहले ईंट-पत्थर से मारा और फिर कमरे बंद कर बेरहमी से पीटा। कमरे में इतना मारा गया कि इसी जगह पर पांचों ने दम तोड़ दिया था। तो वहीं गुजरात के अहमदाबाद में भी हाल ही में बच्चा चुराने के शक में भीड़ ने 40 वर्षीय महिला की पीट-पीटकर हत्या कर दी थी। (एनडीटीवी)

    ...
  •  


Posted Date : 14-Jul-2018
  • नई दिल्ली, 14 जुलाई। कड़ी सुरक्षा के बीच नौ दिवसीय जगन्नाथ यात्रा उत्सव शनिवार से शुरू हो चुका है। अहमदाबाद में सुबह की आरती में बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने शिरकत की। उधर, प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने वार्षिक जगन्नाथ रथ यात्रा के शुभ अवसर पर ट्विटर के जरिए बधाई दी।
    पीएम मोदी ने कहा- भगवान जगन्नाथ यात्रा के आशीर्वाद से हमारा देश तरक्की की नई ऊंचाई पर पहुंचे। सभी भारतीय सुखी और समृद्धि हो। इसके साथ ही, पीएम मोदी ने प्रसिद्ध मंदिर के तीन देवताओं के वीडियो भी ट्विटर पर शेयर किए।
    गुजरात में भगवान जगन्नाथ के सम्मान में वार्षिक रथ यात्राएं विभिन्न स्थानों पर निकली जा रही हैं। ऐसा माना जा रहा है कि जगन्नाथ उत्सव में देशभर से करीब 10 लाख लोग आकर इसमें हिस्सा लेंगे। ओडिशा के पुरी में ओडिया उत्सव के दौरान निकलने वाली रथ यात्रा में हर साल लाखों हिंदू श्रद्धालु पहुंचते हैं जबकि अहमदाबाद की रथ यात्रा दुनिया का तीसरा सबसे बड़ा कार्यक्रम है।  
    गुजरात सरकार ने शुक्रवार को कहा कि रथ यात्रा के दौरान किसी भी तरह की अप्रिय घटना को रोकने के लिए विभिन्न कदम उठाए जा रहे हैं। गृह राज्य मंत्री प्रदीप सिंह जडेजा ने तैयारियों का जायजा लेने के लिए गृह विभाग और पुलिस के शीर्ष अधिकारियों के साथ एक उच्च स्तरीय बैठक की। जडेजा ने कहा कि 14 जुलाई को होने वाले कार्यक्रम के लिए सभी 33 जिलों में पर्याप्त संख्या में पुलिस बल तैनात किए जाएंगे।  (लाइव हिन्दुस्तान)

    ...
  •  


Posted Date : 14-Jul-2018
  • अहमदाबाद, 14 जुलाई। पूर्व विधायक जयंती भानुशाली ने बलात्कार का आरोप लगने के बाद गुजरात भाजपा के उपाध्यक्ष पद से इस्तीफा दे दिया है। कच्छ जिले के 53 वर्षीय नेता ने राज्य भाजपा अध्यक्ष जीतू वघानी को भेजे अपने इस्तीफे में इस आरोप से इंकार करते हुए दावा किया है कि उनकी छवि को खराब करने की साजिश हो रही है। भाजपा ने एक बयान में दावा किया कि राज्य भाजपा अध्यक्ष ने भानुशाली का इस्तीफा स्वीकार कर लिया है।
    भानुशाली ने अपने इस्तीफा पत्र में कहा है, ऐसा प्रतीत होता है कि पुलिस को दिये गया आवेदन मेरी छवि खराब करने की साजिश है। मेरे और मेरे परिवार के ऊपर लगाए गए आरोप आधारहीन है। जब तक मैं अपने ऊपर लगे आरोपों से मुक्त होकर बाहर नहीं निकल जाता हूं, मैं पार्टी से अपील करता हूं कि वह मुझे जिम्मेदारियों से मुक्त करे। सूरत की रहने वाली एक युवती ने पुलिस आयुक्त कार्यालय में 10 जुलाई को एक आवेदन जमा किया था जिसमें उसने भानुशाली के खिलाफ दुष्कर्म का मामला दर्ज करने की मांग की है।
    सूरत के पुलिस आयुक्त सतीश शर्मा ने बताया कि मामले में अब तक प्राथमिकी दर्ज नहीं की गई है। युवती ने भानुशाली पर आरोप लगाया है कि उसने पिछले नवंबर से अब तक उसके साथ कई बार दुष्कर्म किया। महिला का दावा है कि भानुशाली ने उससे वादा किया था कि वह प्रतिष्ठित फैशन डिजाइनिंग कॉलेज में उसका दाखिला कराएंगे। (भाषा)

    ...
  •  


Posted Date : 14-Jul-2018
  • अहमदाबाद, 14 जुलाई । भाजपा के अध्यक्ष अमित शाह के गुजरात पहुंचने के 48 घंटों से भी कम समय में कांग्रेस को झटका लगा है। कांग्रेस के पूर्व विधायक और कद्दावर नेता रहे शंकर सिंह वाघेला के बेटे महेंद्र सिंह वाघेला शनिवार को भाजपा में शामिल हो गए हैं। महेंद्र सिंह ने 2012 में उत्तर गुजरात के बयाड विधानसभा क्षेत्र से जीत हासिल की थी, लेकिन दिसंबर 2017 में हुए चुनावों का वह हिस्सा नहीं बने थे।
    इससे पहले पिछले पखवाड़े में कांग्रेस के दिग्गज नेता व विधायक कुंवरजी बावलिया और राजकोट के कद्दावर नेता व पूर्व विधायक इंद्रनील राज्यगुरु ने भी कांग्रेस से इस्तीफा दे दिया था।  बावलिया के भाजपा में शामिल होते ही उन्हें कैबिनेट मंत्री बना दिया गया और अब महेंद्र सिंह भाजपा में शामिल हो गए हैं। 
    इस राजनीतिक चाल के रणनीतिकार माने जाने वाले अमित शाह गुरुवार शाम को अहमदाबाद पहुंचे थे और शनिवार तड़के भगवान जगन्नाथ की पारंपरिक रथ यात्रा शुरू करने के लिए मंगल आरती की। गुजरात विधानसभा चुनाव में बीजेपी को पिछली बार की तुलना में काफी कम सीटें आई हैं। वहीं कांग्रेस 77 सीटें आई थीं। बीजेपी बड़ी मुश्किल से बहुमत के आंकड़ो को छू पाई थी। लेकिन सरकार के लगने के कुछ दिन बाद से कांग्रेस के नेताओं के बीजेपी में शामिल होने का सिलसिला शुरू। (आईएएनएस)

    ...
  •  


Posted Date : 14-Jul-2018
  • नई दिल्ली, 14 जुलाई। सुप्रीम कोर्ट ने ऑनलाइन डेटा पर निगरानी करने के लिए सोशल मीडिया हब के गठन के सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय के निर्णय पर सख्त रूख अपनाते हुए शुक्रवार को पूछा कि क्या सरकार लोगों के व्हाट्सएप संदेशों को टैप करके 'निगरानी राजÓ चाहती है। सुप्रीम कोर्ट ने बंगाल से तृणमूल कांग्रेस के एक विधायक की जनहित याचिका पर सुनवाई पर सहमत हुई जिसमें सवाल उठाया गया कि क्या सरकार व्हाट्सएप या अन्य सोशल मीडिया मंचों पर लोगों के संदेशों को टैप करना चाहती है।
    चीफ जस्टिस दीपक मिश्रा, जस्टिस एएम खानविलकर एवं जस्टिस डीवाई चंद्रचूड़ की पीठ ने तृणमूल कांग्रेस के विधायक महुआ मोइत्रा की याचिका पर केन्द्र को नोटिस जारी किया। साथ ही इस मामले में अटॉर्नी जनरल केके वेणुगोपाल से सहयोग मांगा। पीठ ने पूछा, क्या सरकार नागरिकों के व्हाट्सएप संदेशों को टैप करना चाहती है? यह निगरानी राज बनाने जैसा होगा। मोइत्रा की पैरवी कर रहे वरिष्ठ अधिवक्ता ए एम सिंघवी ने कहा कि सरकार ने आवेदन मंगाए हैं और एक साफ्टवेयर के लिये निविदा 20 अगस्त को खुलेगी जो व्हाट्सएप, ट्विटर, इंस्टाग्राम जैसे सोशल मीडिया मंचों की पूरी तरह निगरानी करेगा।
    सिंघवी ने कहा, वे सोशल मीडिया हब के जरिए सोशल मीडिया की विषयवस्तु की निगरानी करना चाहते हैं। इस पर पीठ ने कहा कि वह 20 अगस्त को टेंडर खुलने के पहले इस मामले को तीन अगस्त के लिए सूचीबद्ध कर रही है और अटॉर्नी जनरल अथवा सरकार का कोई भी विधिक अधिकारी इस मामले में न्यायालय की सहायता करेगा। इससे पहले 18 जून को शीर्ष अदालत ने याचिका पर तत्काल सुनवाई करने से इंकार किया था, जिसमें सोशल मीडिया कम्यूनिकेशन हब बनाने के केन्द्र सरकार के कदम पर रोक लगाने की मांग की गई थी जो डिजिटल तथा सोशल मीडिया की विषयवस्तु को एकत्र कर उसका विश्लेषण करेगा।  (भाषा)

    ...
  •  


Posted Date : 14-Jul-2018
  • नई दिल्ली, 14 जुलाई। महाराष्ट्र के मशहूर शिरडी के साईं बाबा मंदिर में चमत्कार देखने लोगों का हुजूम उमड़ पड़ा है। भक्तों का दावा है कि द्वारका माई मंदिर की दीवार पर साईं बाबा का चेहरा उभर आया है। जिसे देखने देश भर से श्रद्धालु पहुंच रहे हैं।
    साईं बाबा का चेहरा उभरने की खबर सोशल मीडिया और व्हाट्सऐप पर वायरल हो रही है। जिसे देखकर लोगों का हुजूम शिरडी पहुंच रहा है। हालांकि, स्थानीय प्रशासन ने इसे महज एक अफवाह बताया है।
    गुरुवार रात को यह अफवाह उड़ी थी कि साईं बाबा का चेहरा दीवार पर उभर आया है। इसके बाद से लोग बड़ी तादाद में पहुंचने लगे हैं। कई लोग तो इस अवतार को देख भावुक होकर रोने लगे और तस्वीरें लेने गए।
    इस बारे में शिरडी साईं ट्रस्ट की सीईओ रूबल अग्रवाल ने कहा कि यह भक्तों की भावना से जुड़ा हुआ मुद्दा है। इस बारे में हमने जांच करने कहा है। जो भी जांच होगी उस पर हम एक्शन लेंगे।
    उन्होंने कहा कि अचानक भीड़ बढ़ जाने की वजह से सुरक्षा व्यवस्था बढ़ा दी गई है। द्वारका माई मंदिर को देखने के लिए लोग आ रहे हैं। हम सीसीटीवी के जरिये निगरानी कर रहे हैं।
    वहीं, एक भक्त का कहना है कि 2012 में भी यह प्रतिमा दिखाई दी थी। यह शायद मूर्ति का रिफ्लेक्शन है। व्हाट्सऐप पर इसके वायरल होने के बाद यहां हजारों की तादाद में लोग आ गए और भगदड़ की स्थिति बन गई थी। द्वारका माई वही मंदिर है जिसके बारे में यह कहानी प्रचलित है कि साईं बाबा ने यहां पानी से दीपक जलाए थे।  (आज तक)

    ...
  •  


Posted Date : 14-Jul-2018
  • नई दिल्ली, 14 जुलाई । मुख्य सचिव अंशु प्रकाश समेत तीन नौकरशाहों को हाईकोर्ट से झटका लगा है। हाईकोर्ट ने कड़े शब्दों में इन अधिकारियों को दिल्ली विधानसभा की समिति के समक्ष पेश होने का निर्देश दिया है।
    ऐसा न करने पर हाईकोर्ट ने अदालती अवमानना की प्रक्रिया शुरू करने की चेतावनी दी है। इन अधिकारियों ने प्रश्न एवं संदर्भ समिति की ओर से जारी समन को हाईकोर्ट में चुनौती दी थी।
    जस्टिस विभू बाखरू ने निर्देश में कहा कि याचिकाकर्ता अधिकारी हैं और उन्हें समिति के समक्ष पेश होना होगा। वह ऐसा नहीं करते तो कोर्ट उनके खिलाफ अदालती अवमानना का नोटिस जारी कर सकती है।
    हाईकोर्ट ने यह निर्देश दिल्ली विधानसभा, विधानसभा अध्यक्ष व दो समितियों की दलीलें सुनने के बाद दिया। इन लोगों ने कोर्ट को बताया कि ये नौकरशाह न समिति के समक्ष पेश हो रहे हैं और न ही उनसे पूछे गए सवालों का जवाब दे रहे हैं। यह अधिकारी कोर्ट के नौ मार्च के आदेश की आड़ में मनमानी कर रहे हैं।
    कोर्ट ने यह तर्क सुनने के बाद कहा कि नौकरशाह बिना किसी पूर्वाग्रह के समिति की कार्यवाही में हिस्सा लें। 
    इन नौकरशाहों को हर हाल में समिति के समक्ष पेश होना होगा। इनकी याचिकाओं का अंतिम निर्णय होने तक समिति इन पर कोई कड़ी कार्रवाई नहीं करेगी। समिति की बैठक की वीडियोग्राफी कराई जाएगी।
    विधानसभा की विशेषाधिकार समिति ने अंशु प्रकाश को 20 फरवरी को नोटिस जारी किया था। इससे एक दिन पहले उनके साथ आप के दो विधायकों ने कथित रूप से मारपीट की थी। विशेषाधिकार समिति ने यह नोटिस प्रश्न एवं संदर्भ समिति से शिकायत मिलने के बाद जारी किया था।
    प्रश्न एवं संदर्भ समिति ने सहकारी समिति के रजिस्ट्रार जेबी सिंह व ड्यूसिब के सीईओ शूरबीर सिंह को भी नोटिस जारी किया था। यह नोटिस दिल्ली नागरिक सहकारी बैंक लिमिटेड से जुड़े एक मामले में अधूरे व असंतोषजनक जवाब देने पर जारी हुआ था। इसके अलावा भी अन्य सवालों के जवाब न देने पर विधानसभा अध्यक्ष ने मामले को समिति को सौंप दिया था।(अमर उजाला)

    ...
  •  


Posted Date : 14-Jul-2018
  • नई दिल्ली, 14 जुलाई । अयोध्या मंदिर - मस्जिद भूमि विवाद  मामले के एक याचिकाकर्ता ने आज सुप्रीम कोर्ट से कहा कि जिस तरह अफगानिस्तान के बामियान में तालिबान ने बुद्ध की मूर्ति को ध्वस्त किया, वैसे ही 'हिन्दू तालिबानÓ ने बाबरी मस्जिद ढहायी। इस मामले के मुख्य याचिककर्ताओं में से एक दिवंगत एम सिद्दीकी के कानूनी वारिसों की ओर से पेश वरिष्ठ अधिवक्ता राजीव धवन ने प्रधान न्यायाधीश दीपक मिश्रा, न्यायमूर्ति अशोक भूषण और न्यायमूर्ति एस अब्दुल नजीर की पीठ से कहा कि कोई भी कानून या संविधान किसी धर्म के धार्मिक ढांचे को तोडऩे की अनुमति नहीं देता।  धवन ने इस मामले से शिया केन्द्रीय वक्फ बोर्ड के संबंध पर भी सवाल उठाये। उन्होंने ये टिप्पणियां उस समय कीं जब शिया बोर्ड ने पीठ से कहा कि इस महान देश में शांति, सौहार्द, एकता और अखंडता के लिये वह इलाहाबाद उच्च न्यायालय द्वारा मुस्लिमों को दिया गया विवादित भूमि का एक तिहाई हिस्सा हिन्दू समुदाय को दान में देना चाहता है।
    शिया केन्द्रीय वक्फ बोर्ड की ओर से पेश वकील ने कहा कि वह अयोध्या के विवादित स्थल की जमीन के मुस्लिम हिस्से के दावेदारों में शामिल हैं, क्योंकि बाबरी मस्जिद एक शिया मुस्लिम मीर बाकी द्वारा बनायी गयी थी। वकील ने कहा, यह मौलिक मुद्दा है। शिया केन्द्रीय वक्फ बोर्ड ने फैसला किया है कि देश की एकता, अखंडता, शांति और सौहार्द के लिये, हम हिन्दू समुदाय को जमीन का एक तिहाई हिस्सा दान में देना चाहते हैं। पहले परोक्ष आरोपों पर जवाब देने से इंकार करने वाले धवन ने बाद में शिया बोर्ड की दलीलों का जवाब दिया और कहा कि 1946 में बाबरी मस्जिद सुन्नी मस्जिद थी। उन्होंने कहा, आप यह दलील नहीं दे सकते कि यह (मस्जिद ढहाना) कुछ अराजक तत्वों ने किया।
    उन्होंने कहा, 1992 में क्या हुआ था? बामियान मूर्ति तालिबान ने ध्वस्त की थी और यह मस्जिद हिन्दू तालिबान ने ढहायी। यह नहीं किया जा सकता। यह नहीं किया जाना चाहिये था। ऐसा कोई नहीं कर सकता। धवन ने दलील दी कि जिन्होंने मस्जिद गिरायी उन्हें कोई दावा करने से रोका जाना चाहिये क्योंकि किसी को मस्जिद या किसी अन्य धार्मिक ढांचे को ध्वस्त करने का अधिकार नहीं है।(भाषा)

    ...
  •  


Posted Date : 14-Jul-2018
  • कल जब अदालत से नवीन जिंदल के खिलाफ आदेश हुआ है, तो उसी वक्त इस्पात मंत्री ने एक कार्यक्रम की तस्वीर ट्विटर पर पोस्ट की जिसमें वे इंडियन स्टील एंड ट्रेड कांफे्रंस में नवीन जिंदल के साथ दिया जलाते दिख रहे हैं।


    नई दिल्ली, 14 जुलाई । दिल्ली की एक विशेष अदालत ने कोयला घोटाला मामले में कांग्रेस नेता एवं उद्योगपति नवीन जिंदल व अन्य के खिलाफ घूसखोरी के लिए उकसाने का अतिरिक्त आरोप तय करने का आज आदेश दिया। यह मामला झारखंड के अमरकोंडा मुर्गदंगल कोयला ब्लॉक आवंटन से जुड़ा हुआ है। विशेष न्यायाधीश भरत पराशर ने कहा कि आरोपियों के खिलाफ 16 अगस्त को औपचारिक तौर पर आरोप तय किए जाएंगे। अदालत ने अप्रैल 2016 में जिंदल, पूर्व कोयला राज्य मंत्री दसारी नारायण राव, झारखंड के पूर्व मुख्यमंत्री मधु कोड़ा, पूर्व कोयला सचिव एच सी गुप्ता और अन्य 11 के खिलाफ आईपीसी और भ्रष्टाचार निरोधक अधिनियम की धाराओं के तहत आपराधिक षडयंत्र, धोखाधड़ी के लिए आरोप तय करने के आदेश दिए थे। 
    हालांकि उस वक्त भ्रष्टाचार निरोधक अधिनियम की धारा 12 के तहत आरोप नहीं तय किया गया था। आज के आदेश में अदालत ने कहा कि राव के खिलाफ घूसखोरी का आरोप था लेकिन चूंकि अब वह जीवित नहीं हैं तो उनके खिलाफ आरोप तय नहीं किया जाएगा। अदालत ने जिंदल स्टील के तत्कालीन सलाहकार आनंद गोयल, निहार स्टॉक्स लिमिटेड के निदेशक बीएसएन सूर्यनारायण और मुंबई की एस्सार पावर लिमिटेड के कार्यकारी उपाध्यक्ष सुशील कुमार मारु के खिलाफ धारा 120 बी (आपराधिक षड्यंत्र) लगाने का भी आदेश दिया है। 
    इन तीनों को इस मामले में तैयार एक अलग आरोपपत्र में नामजद किया गया था। अदालत ने मुंबई के केई इंटरनेशनल के मुख्य वित्तीय अधिकारी राजीव अग्रवाल और गुडग़ांव के ग्रीन इंफ्रा के उपाध्यक्ष सिद्धार्थ माद्रा को सबूतों के अभाव में मामले से आरोपमुक्त कर दिया। आरोपों पर बहस करते हुए सीबीआई के उप विधिक सलाहकार वीके शर्मा ने अदालत को बताया कि जिंदल के खिलाफ अधिनियम की धारा सात और धारा 12 के तहत मुकदमा चलाने के लिए पर्याप्त सबूत हैं। सीबीआई का आरोप था कि कोड़ा ने अमरकोंडा मुर्गदंगल ब्लॉक के आवंटन के लिए जिंदल समूह की कंपनियों - स्टील एंड पावर लिमिटेड (जेएसपीएल) और गगन स्पंज आयरन प्राइवेट लिमिटेड (जीएसआईपीएल) को लाभ पहुंचाया था। (भाषा)

     

    ...
  •  


Posted Date : 14-Jul-2018
  • लखनऊ, 14 जुलाई । उत्तर प्रदेश के बरेली में हलाला का एक चौंकाने वाला मामला सामने आया है। यहां एक मुस्लिम महिला को जब शादी के दो साल बाद भी बच्चे नहीं हुए तो उसके पति ने उसे तीन तलाक दे दिया और इसके बाद उसने अपने पिता के साथ उसका हलाला करा दिया। यानी ससुर ने बहू के साथ एक रात के लिए शादी की। ससुर ने अगली सुबह बहू को तलाक दे दिया। इसके बाद पति ने दोबारा शादी कर ली। हालांकि इसके बाद भी जब महिला को बच्चा नहीं हुआ तो उसने दोबारा उसे तलाक दे दिया। अब शख्स महिला का दोबारा हलाला कराना चाहता है। चौंकाने वाली बात यह है कि वह अपने ही भाई से पत्नी की एक रात के लिए शादी कराना चाहता है। महिला ने इसकी शिकायत थाने में की है। (एनडीटीवी)

    ...
  •