राष्ट्रीय

Previous123456789...523524Next
01-Mar-2021 2:43 PM 15

60 साल से ऊपर के सभी लोगों और गंभीर बीमारियों वाले 45 साल से ऊपर के सभी लोगों को टीका दिया जा रहा है. सरकारी अस्पतालों में टीका मुफ्त में मिलेगा और निजी अस्पतालों को एक खुराक के लिए 250 रुपए तक लेने की अनुमति दी गई है.

 डॉयचे वैले पर चारु कार्तिकेय की रिपोर्ट-

टीका लेने के लिए दो तरीकों का इंतजाम किया गया है. लोग सरकारी वेबसाइट या ऐप पर पंजीकरण कर अस्पताल और समय बुक कर सकते हैं, या सीधा उन अस्पतालों में जा सकते हैं जहां टीका लग रहा है. सभी अस्पतालों को टीके की 40 प्रतिशत खुराकें अपॉइंटमेंट लेने वालों के लिए और 60 प्रतिशत खुराकें सीधा अस्पताल आने वालों के लिए रखने के निर्देश दिए गए हैं.

पहले चरण की तरह ही इस चरण में भी दोनों टीकों, सीरम इंस्टीट्यूट का कोविशील्ड और भारत बायोटेक का कोवैक्सीन, का इस्तेमाल किया जाएगा. कौन सा टीका लेना है यह चुनने की अनुमति नहीं मिलेगी. टीकाकरण केंद्र पर पहुंचने के बाद ही पता चलेगा कि कौन सा टीका लगेगा. टीका 10,000 सरकारी और करीब 20,000 निजी अस्पतालों में उपलब्ध होगा.

सरकार को उम्मीद है कि इस चरण में अगस्त तक 30 करोड़ लोगों को टीका लग जाएगा. पहले चरण में एक करोड़ से ज्यादा स्वास्थ्यकर्मियों और प्रथम पंक्ति के कर्मियों को टीके लगे. इनमें करीब 26 लाख मामलों में टीके के कुछ दुष्प्रभाव भी सामने आए, जिनमें से 151 मामले गंभीर थे. टीकाकरण कार्यक्रम का डाटा रखें वाले सरकारी पोर्टल कोविन के मुताबिक अभी तक टीका लेने के बाद 40 लोगों की मौत हो चुकी है.

प्रधानमंत्री से शुरुआत
टीकाकरण कार्यक्रम के दूसरे चरण की शुरुआत प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने खुद को टीका लगवा कर की. उन्होंने दिल्ली के एम्स अस्पताल में सोमवार सुबह टीका लगवाया और फिर इस बारे में ट्वीट किया. उम्मीद की जा रही है कि अब सभी केंद्रीय मंत्री, राज्यों के मुख्यमंत्री और जनता के अन्य प्रतिनिधि भी टीका लगवाएंगे. यह पहला टीका होगा. दूसरा टीका 29 से 42 दिनों के अंदर लगवाना होगा

वैक्सीनों को लेकर लोगों के मन में अभी भी शंकाएं हैं. कुछ लोग तुरंत टीका ना लगवा कर कुछ दिन इंतजार करना चाहते हैं. कोवैक्सीन पर विशेष रूप से लोगों को कम भरोसा है. इस टीका का परीक्षण अभी तक चल रहा है और इसकी सफलता और सुरक्षात्मकता का डाटा अभी तक सामने नहीं आया है. कई लोगों ने इसे लेने से इनकार कर दिया है और छत्तीसगढ़ जैसे कुछ राज्यों ने केंद्र सरकार को इसे ना इस्तेमाल करने के लिए अनुरोध किया है. रॉयटर्स के अनुसार अभी तक जितने लोगों को टीका लगा है उनमें से 11 प्रतिशत लोगों ने कोवैक्सीन लेने से मना कर दिया.

इस बीच कुछ लोगों को दोनों टीके ले लेने के बाद भी संक्रमण हो जाने की खबरें आ रही हैं. डॉक्टरों का कहना है कि दूसरा टीका ले लेने के तुरंत बाद शरीर में इम्युनिटी नहीं बनती है, बल्कि इसमें कुछ दिनों का समय लगता है. इसलिए जानकार टीका लगवा लेने के बाद भी मास्क पहनने जैसी सावधानी बरतने में कोताही ना बरतने की सलाह दे रहे हैं. (dw.com)


01-Mar-2021 1:33 PM 15

विजय वर्धन उप्रेती

पिथौरागढ़, 1 मार्च। लगता है कोरोना के चलते इस बार भी विश्व प्रसिद्ध मानसरोवर यात्रा नहीं हो सकेगी. ऐसे में कुमाऊं मंडल विकास निगम अब दूसरा प्लान तैयार कर रहा है. इस प्लान के मुताबिक, कैलाश की तर्ज पर आदि कैलाश यात्रा शुरू की जाएगी, ताकि धार्मि‍क‍ यात्रों को भारत की चाइना पर निर्भरता भी पूरी तरह खत्म हो.

1981 से कैलाश-मानसरोवर यात्रा बदस्तूर जारी रही, लेकिन कोरोना संकट ने दुनिया की सबसे बड़ी धार्मिक यात्रा को भी थाम दिया है. बीते साल की तरह इस बार भी यात्रा का आयोजन सम्भव नहीं दिख रहा है. आमतौर पर इन दिनों यात्रा की तैयारियां जोरों पर रहती थी, लेकिन इस बार न तो विदेश मंत्रालय स्तर पर और न ही कुमाऊं मंडल विकास निगम ने यात्रा को लेकर कोई पहल की है. ऐसे में तय माना जा रहा है कि पहली बार लगातार दो सालों तक मानसरोवर यात्रा नहीं होगी.

कुमाऊं मंडल विकास निगम के अध्यक्ष केदार जोशी का कहना है कि उनकी पूरी कोशिश है कि इस साल आदि कैलाश यात्रा को व्यापर स्तर पर आयोजित किया जा सके. इस यात्रा के शुरू होने से जहां एक विश्व विख्यात धार्मिक पर्यटन का ट्रैक विकसित होगा, वहीं चीन और नेपाल से सटे इलाके को पहचान भी मिलेगी.

असल में कैलाश पर्वत और मानसरोवर झील के तिब्बत में होने के कारण यात्रा को लेकर भारत की निर्भरता चीन पर है. ऐसे में अब कुमाऊं मंडल विकास निगम आदि कैलाश यात्रा शुरू करने का प्लान बना रहा है. आदि कैलाश का पूरा इलाका भारतीय सीमा में है. यही नहीं आदि कैलाश में कैलाश पर्वत के साथ ही पार्वती झील भी मौजूद है, जबकि ऊं पर्वत भी यही मौजूद है. मानसरोवर यात्रा में यात्रियों की संख्या फिक्स रहती है, जबकि आदि कैलाश में जितनी मर्जी उतने तीर्थ यात्री जा सकते हैं. यही नही चाइना बॉर्डर को जोड़ने वाली लिपुलेख सड़क बनने के कारण यहां की राह भी आसान हो गई है.

केएमवीएन अगर आदि कैलाश यात्रा को शुरू करता है तो खुद को घाटे से उबारने में वो सफल होगा ही, साथ ही चीन और नेपाल से सटे इलाकों में धार्मिक पर्यटन भी बढ़ेगा, जिससे बॉर्डर के लोगों को अपने ही घर पर रोजगार भी मिलेगा.  (https://hindi.news18.com)


01-Mar-2021 12:50 PM 19

नई दिल्ली, 1 मार्च : देश में कोरोनावायरस टीकाकरण अभियान का दूसरा चरण आज से शुरू हो गया. सबसे पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कोरोना वैक्सीन लगवाई. इस चरण में 60 साल से अधिक उम्र के लोगों एवं अन्य गंभीर बीमारियों से ग्रस्त 45 साल से अधिक उम के लोगों को टीका लगाया जाएगा. दिल्ली के एम्स में हुए प्रधानमंत्री मोदी के वैक्सीनेशन में उन राज्यों की झलक दिखी, जहां विधानसभा चुनाव होने हैं. प्रधानमंत्री ने असम का गमोसा यानी गमछा (Scarf) पहना हुआ था और केरल तथा पुदुच्चेरी की नर्सों रोसम्मा अनिल और पी निवेदा ने उन्हें वैक्सीन लगाई. 

प्रधानमंत्री मोदी ने वैक्सीन लेने के बाद ट्वीट में कहा, "मैंने एम्स में कोरोना वैक्सीन की पहली खुराक ली. यह तारीफ के काबिल है कि कैसे हमारे डॉक्टरों और वैज्ञानिकों ने कोरोना के खिलाफ वैश्विक लड़ाई को मजबूती देने के लिए तेजी से काम किया. मैं सभी से अपील करता हूं जो भी वैक्सीन लगवाने के योग्य है, वह भारत को कोरोना मुक्त बनाने में साथ आए."

प्रधानमंत्री की वैक्सीनेशन कार्यक्रम की मुख्य नर्स पी निवेदा के मुताबिक, प्रधानमंत्री ने उन लोगों से बात की और वैक्सीन लेने के बाद कहा, "लगा भी दिया और पता भी नहीं चला."

करीब तीन से एम्स में काम कर रही निवेदा ने कहा कि उन्हें आज सुबह पता चला कि प्रधानमंत्री वैक्सीन लेने के लिए आ रहे हैं. उन्होंने कहा, "मैं वैक्सीन सेंटर पर तैनात हूं. मुझे बुलाया गया. हम पता चला कि पीएम सर आज आ रहे हैं. प्रधानमंत्री जी से मिलकर अच्छा लगा." 

वैक्सीन लेने में लोगों को हो रही हिचकिचाहट को दूर करने के लिए प्रधानमंत्री मोदी ने भारत बायोटक की को-वैक्सीन ली. ट्रायल के दौरान को-वैक्सीन के इस्तेमाल को मंजूरी देने के बाद विवाद खड़ा हो गया था. लोगों के वैक्सीन लेने से कतराने की वजह से देश में कोरोना वैक्सीनेशन की रफ्तार सुस्त हो गई है. प्रधानमंत्री के इस कदम से लोगों को वैक्सीन लेने की प्रेरणा मिलेगी. नर्स ने कहा कि पीएम मोदी को दूसरी खुराक 28 दिन में लगेगी.


नर्स निवेदा ने कहा कि प्रधानमंत्री ने हमसे पूछा कि हम कहां से हैं और हमसे बात की." वहीं, केरल की नर्स रोसम्मा अनिल ने कहा कि यह एक सरप्राइज था. यह बहुत अच्छा था. प्रधानमंत्री सर भी बहुत सहज थे." (khabar.ndtv.com)


01-Mar-2021 12:48 PM 12

नई दिल्ली, 1 मार्च : आज से देश में दूसरे चरण का कोविड टीकाकरण (Covid Vaccination) अभियान शुरू हो गया है. अब 60 साल से ऊपर के बुजुर्ग और 45 साल से ऊपर के वैसे आमलोग भी टीका लगवा सकेंगे जो गंभीर रूप से बीमार हैं. इस बीच, हरियाणा (Haryana) के स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज (Anil Vij) ने कहा है कि वह टीका नहीं लगवाएंगे. उन्होंने इसके पीछे की वजह भी बताई है. इसके साथ ही विज ने लोगों से बढ़ चढ़कर टीका लगवाने की अपील की है.

उन्होंने ट्वीट किया, "आज आम जनता के लिए कोरोना वैक्सीन शुरू होने जा रही है. सब को निस्संकोच लगवानी चाहिए. मैं तो नही लगवा पाऊंगा क्योंकि कोविड होने के बाद मेरी एंटीबाडी 300 बनी है जोकि बहुत ज्यादा है. शायद मैंने जो ट्रायल वैक्सीन लगवाई थी इसमे उसका भी योगदान हो.  मुझे अभी वैक्सीन की जरूरत नही है."

बता दें कि निजी अस्पताल कोविड-19 वैक्सीन की प्रति खुराक 250 रुपये शुल्क वसूल सकेंगे. आज से शुरू हुआ टीकाकरण का दूसरा चरण छह सप्ताह चलेगा. टीका लगवाने के इच्छुक लोगों को CoWIN पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन कराना होगा. इसी पोर्टल पर पात्र लाभार्थी अपनी पसंद का केंद्र चुन सकते हैं और उपलब्ध स्लॉट के आधार पर अपॉइंटमेंट बुक कर सकते हैं. (khabar.ndtv.com)

 


01-Mar-2021 12:47 PM 13

नई दिल्ली, 1 मार्च : सोने के दामों में सोमवार को गिरावट देखी जा रही है. गोल्ड फ्यूचर के दामों में आखिरी ट्रेडिंग सेशन में जबरदस्त गिरावट देखी गई थी, लेकिन आज ट्रेडिंग में स्थिरता देखी जा रही है. हालांकि, सोने की कीमतों में लगातार गिरावट देखी गई है. पिछले सात महीनों में सोना 10,000 रुपए से ज्यादा सस्ता हो चुका है.

इंटरनेशनल स्पॉट कीमतों में सकारात्मक संकेत दिखने के बाद आज बाजार खुलने के बाद मल्टी-कमोडिटी एक्सचेंज पर अप्रैल गोल्ड में 0.6 फीसदी की उछाल देखी गई, जिसके बाद अप्रैल गोल्ड 46,020 और मई सिल्वर 1.1 उछाल लेकर 69,541 पर कारोबार कर रहा था.

GoodReturns साइट के अनुसार, अगर अलग-अलग शहरों में सोने की कीमतों पर नजर डालें तो, दिल्ली में 22 कैरेट के सोने की कीमत 44,810 और 24 कैरेट सोने की कीमत 48,910 चल रही है. मुंबई में 22 कैरेट सोना 44,920 और 24 कैरेट सोना 45,920 पर चल रही है. कोलकाता में 22 कैरेट सोना 45,320 रुपए है, वहीं 24 कैरेट सोना 48,/180 रुपए हैं. चेन्नई में 22 कैरेट सोने की कीमत 43,310 और 24 कैरेट 47,250 रुपए चल रही है. ये कीमतें प्रति 10 ग्राम सोने पर हैं.

बता दें कि शुक्रवार को आखिरी ट्रेडिंग सेशन में कमजोर हाजिर मांग के कारण कारोबारियों ने अपने सौदों की कटान की जिससे वायदा कारोबार में सोना 0.35 प्रतिशत की गिरावट के साथ 46,080 रुपये प्रति 10 ग्राम रह गया था. मल्टी कमोडिटी एक्सचेंज में अप्रैल महीने में डिलिवरी वाले सोना वायदा की कीमत 161 रुपये यानी 0.35 प्रतिशत की गिरावट के साथ 46,080 रुपये प्रति 10 ग्राम रह गई थी. (khabar.ndtv.com)
 


01-Mar-2021 12:47 PM 9

नई दिल्ली, 1 मार्च : कोरोना महामारी से दो चार होते हुए देश की जनता को इस वक्त महंगाई (Pricke Hike) की दोहरी मार भी झेलनी पड़ रही है. एक तरफ जहां पेट्रोल और डीजल के दामों में लगातार होती बढ़ोतरी ने जनता का बुरा हाल कर दिया है तो वहीं अब रसोई गैस के दामों में आए इजाफे ने भी लोगों की परेशानी को बढ़ा गिया है. दो महीनों में पेट्रोल-डीजल के दामों में करीब 8 रुपये बढ़े हैं तो एलपीजी गैस भी 125 रुपये महंगा हो गया है. दो महीनों में आए इस उछाल को समझने के लिए एक जनवरी 2021 और एक मार्च 2021 के दामों को तुलनात्मक तरीके से समझते हैं. आईओसीएल के अनुसार, अगर सिर्फ दिल्ली की बात करें तो एक जनवरी 2021 को पेट्रोल की कीमत 83.71 रुपये प्रति लीटर थी. आज (1 मार्च) यह 91.17 रुपये प्रति लीटर हो गया है. इसी तरह एक जनवरी को डीजल के दाम 73.87 रुपये प्रति लीटर थे, दो महीने बाद यानी की एक मार्च को यह बढ़कर 81.47 रुपये प्रति लीटर हो चुकी है.

एलपीजी के दामों में आए उछाल ने तो जनता की परेशानी को और भी बढ़ा दिया है. पिछले 2 महीने में 6ठवीं बार इसके दामों में बढ़ोतरी की गई है, जिसका असर अब लोगों की थाली में भी दिखाई देने लगेगा. एक जनवरी 2021 को रसोई गैस के सिलेंडर की कीमत 694 रुपये थी. एक मार्च को यह बढ़कर 819 रुपये प्रति सिलेंडर हो गई है. यानी की अब प्रति सिलेंडर 125 रुपये ज्यादा चुकाने होंगे. ध्यान रहें यहां सिर्फ दिल्ली के दामों की बात की जा रही है, कुछ राज्यों में इसके लिए दिल्ली से ज्यादा दाम चुकाने होंगे. 

एक तरफ कोरोना महामारी के चलते लोगों की आय में गिरावट देखने को मिल रही है तो वहीं दूसरी तरफ महंगाई ने जनता की चुनौतियों को और बढ़ा दिया है. (khabar.ndtv.com)

 


01-Mar-2021 12:46 PM 12

नई दिल्ली, 1 मार्च :   बिहार के मुख्यमंत्री व जनता दल यूनाइटेड के सुप्रीमो नीतीश कुमार आज 70 साल के हो गए, उनके जन्मदिन के अवसर को जेडीयू विकास दिवस के रूप में मना रही है. पार्टी के कार्यकर्ताओं ने पटना स्थित महावीर मंदिर पर लड्डू, नोटबुक और पेंसिल का वितरण कर मुख्यमंत्री का जन्मदिन मनाया. जनता दल यूनाइटेड के नेता व कार्यकर्ता आज नीतीश कुमार के शासन के दौरान बिहार में हुए विकास कार्यों की चर्चा करेंगे. मुख्यमंत्री के जन्मदिवस के मौके पर प्रधानमंत्री ने भी उन्हें शुभकामनाएं प्रेषित की. पीएम मोदी ने ट्वीट कर लिखा कि बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को उनके जन्मदिन की बधाई. उनके नेतृत्व में NDA ने बिहार में विकास के कई काम किए. उनकी लंबी आयु और स्वस्थ जीवन की कामना करता हूं.

इस मौके पर बिहार में विपक्ष के नेता और पूर्व उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने भी नीतीश कुमार को बधाई दी. तेजस्वी ने ट्वीट किया कि बिहार के माननीय मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को उनके 70वें जन्मदिवस की हार्दिक शुभकामनाएं. आपके स्वस्थ, सुखी और दीर्घायु जीवन की कामना करता हूं. इसके अलावा सोशल मीडिया पर नीतीश कुमार को बधाई देने वालों का तांता लगा है.

लोगों की शुभकामना संदेशों को पाने के बाद खुद मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने प्रतिक्रिय़ा जाहिर करते हुए लोगों का आभार प्रकट किया. उन्होंने लिखा कि हमारे जन्मदिन पर शुभकामनाओं के लिए सभी को आभार. आप सबकी प्रार्थनाओं, दुआओं से हमें विकास पथ पर निरंतर चलने की ऊर्जा मिलती है. बकौल नीतीश, सबके सहयोग, शुभकामनाओं और आशीर्वाद से हम सब मिलकर बिहार को विकास की नई ऊंचाइयों पर ले जाएंगे. (khabar.ndtv.com) 

 


01-Mar-2021 12:45 PM 11

लखनऊ, 1 मार्च : कोरोना वायरस महामारी के कारण एक साल के लंबे अंतराल के बाद उत्तर प्रदेश के सभी प्राथमिक स्कूल आज से खुल गए हैं. कक्षा 1 से 5 तक के लिए स्कूली शिक्षा को फिर से शुरू करने के लिए सरकार ने सख्त दिशा-निर्देश जारी किए हैं. छठी क्लास से ऊपर की कक्षाएं राज्य में पहले ही खुल चुकी थीं.

राज्य सरकार द्वारा पिछले महीने जारी एक आदेश के तहत प्राइमरी स्कूल खोले गए हैं, जिसमें एक पाली में 50 प्रतिशत उपस्थिति के साथ-साथ सभी को फेस मास्क और सैनिटाइजर का उपयोग करने के लिए कहा गया है.

लखनऊ के सबसे पुराने संस्थानों में से एक सिटी मॉन्टेसरी स्कूल के प्रशासकों ने कहा कि लगभग 75 प्रतिशत विद्यार्थी ही अपने माता-पिता की सहमति से स्कूल आ सके हैं.

स्कूल की वाइस प्रिंसिपल डॉ. यास्मीन खान ने NDTV से कहा, "हमने स्कूल के अलग-अलग गेट से सोशल डिस्टेंसिंग और अलग-अलग टुकड़ियों में छात्र-छात्राओं की एंट्री सुनिश्चित की. गेट पर भी उनका टेम्पेरेचर लिया और हैंड सैनिटाइज किया. हमलोग यह भी सुनिश्चित करेंगे कि दो पारियों के बीच एक घंटे का अंतराल हो ताकि स्कूल परिसर को सैनिटाइज किया जा सके."

कक्षा 4 की छात्रा नव्या वार्ष्णेय अपने साथ हैंड सैनिटाइजर लेकर आई थी. उसने अपने आसपास उसे  स्प्रे भी किया क्योंकि वह एक साल के लंबे अंतराल के बाद पहली बार स्कूल आई थी. नव्या ने NDTV से कहा, "मेरे माता-पिता ने मुझे स्कूल आने और क्लास में भाग लेने के लिए प्रोत्साहित किया. उन्होंने कहा कि डरो मत, स्कूल जाओ और पढ़ाई करो. यह लंबे समय के बाद अपने दोस्तों से मिलने का मौका है."

पश्चिमी यूपी के हापुड़ के एक सरकारी प्राइमरी स्कूल में छात्र बड़ी संख्या में स्कूल आने को तैयार हुए लेकिन कम संख्या में ही आ सके. राज्य के अधिकांश बच्चे सरकार द्वारा संचालित स्कूलों में ही पढ़ते हैं और वे सभी एक साल से कोरोना वायरस महामारी की वजह से ऑलनाइन क्लास करते रहे हैं, जो एक बड़ी चुनौती थी. राज्यभर में कई सरकारी स्कूलों को दोबारा खोलने से पहले सजाया-संवारा गया  है और वहां कोविड प्रोटोकॉल का पालन सुनिश्चित हो, इसकी व्यवस्था शिक्षकों द्वारा की गई है. (khabar.ndtv.com)

 


01-Mar-2021 12:44 PM 14

बिजनौर, 1 मार्च : भारतीय किसान यूनियन (भाकियू) के नेता राकेश टिकैत ने आरोप लगाया है कि पिछले कुछ दिनों से केंद्र सरकार की ‘खामोशी' इशारा कर रही है कि सरकार किसानों के आंदोलन के खिलाफ कुछ रूपरेखा तैयार कर रही है. सरकार और किसान यूनियनों के बीच बातचीत का दौर थम जाने पर उन्होंने कहा कि फिर से बात करने का प्रस्ताव सरकार को ही लाना होगा.

बीकेयू प्रवक्ता राकेश टिकैत ने उत्तराखंड के उधमसिंहनगर जाते समय रविवार रात बिजनौर के अफजलगढ़ में पत्रकारों से कहा, ‘15-20 दिनों से केंद्र सरकार की खामोशी से संकेत मिल रहा है कि कुछ होने वाला है. सरकार आंदोलन के खिलाफ कुछ कदम उठाने की रूपरेखा बना रही है.' टिकैत ने कहा, ‘समाधान निकलने तक किसान वापस नहीं जाएंगे. किसान भी तैयार है, वह खेती भी देखेगा और आंदोलन भी करेगा. सरकार को जब समय हो वार्ता कर ले.'

टिकैत ने कहा कि 24 मार्च तक देश में कई जगह महापंचायत की जाएगी. गणतंत्र दिवस पर किसानों के प्रदर्शन के दौरान लालकिला परिसर में हुए बवाल के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने आरोप लगाया कि ये सारा बखेड़ा सरकार ने खड़ा किया.
तीन कृषि कानूनों को लेकर किसानों द्वारा जगह-जगह अपनी खड़ी फसल नष्ट कर देने संबंधी सवाल पर टिकैत ने कहा, ‘बीकेयू तो किसानों को बता रही है कि अभी ऐसा समय नहीं आया है लेकिन सरकार किसान को ऐसा कदम उठाने से रोकने के लिए कोई अपील क्यों नहीं कर रही है.'

टिकैत ने उत्तर प्रदेश में जिला स्तर पर किसान आंदोलन को बढ़ाने के संकेत देते हुए कहा कि अब गेंहू की तैयार फसल आने वाली है, अगर किसान का गेंहू एमएसपी पर नहीं खरीदा जाता है तो सरकार जिम्मेदार होगी और इसके लिए किसान जिलाधिकारी कार्यालय के सामने धरना देंगे. (khabar.ndtv.com)

 


28-Feb-2021 7:35 PM 24

मुंबई, 28 फरवरी | बॉलीवुड के दिग्गज अभिनेता अमिताभ बच्चन ने एक ब्लॉग के जरिए खुलासा किया है कि उनकी सर्जरी हो रही है। 78 वर्षीय अभिनेता ने इस बारे में और कोई जानकारी साझा नहीं की, लेकिन उनके प्रशंसकों ने जल्द ही उनके स्वस्थ होने की कामना की है। बिग बी ने शनिवार को एक ब्लॉग में लिखा, "मेडिकल कंडीशन . सर्जरी . लिख नहीं सकता।" इसके बाद उनके कई प्रशंसकों ने सोशल मीडिया पर उनके अच्छे स्वास्थ्य की कामना की।

अभिनेता के कार्यालय ने आधिकारिक रूप से उनके स्वास्थ्य के बारे में कोई ब्योरा अभी नहीं दिया है।

बिग बी साल की शुरूआत से ही व्यस्त हैं। उनकी पांच फिल्में आ रही हैं। जबकि उनकी अगली रूमी जाफरी की मनोवैज्ञानिक सस्पेंस ड्रामा 'चेहरे' है, जिसमें सह-कलाकार इमरान हाशमी और रिया चक्रवर्ती हैं। बिग बी फिलहाल थ्रिलर 'मेडे' की शूटिंग कर रहे हैं जिसमें अजय देवगन और रकुल प्रीत सिंह भी हैं।

बच्चन 'सैराट' के निर्माता नागराज मंजुले की सामाजिक ड्रामा 'झुंड' में भी नजर आएंगे, जो 18 जून को रिलीज होने वाली है। इस अनुभवी अभिनेता के पास अयान मुखर्जी की एक्शन फंतासी फिल्म 'ब्रह्मास्त्र' है, जिसमें रणबीर कपूर, आलिया भट्ट, नागार्जुन और मौनी रॉय सह-कलाकार हैं। इसके अलावा प्रभास और दीपिका पादुकोण के साथ वो एक और फिल्म में काम कर रहे हैं जिसका टाइटल अभी रिलीज नहीं हुआ है।

बिग बी की आखिरी रिलीज फिल्म शूजीत सरकार की 'गुलाबो सिताबो' है जिसमें उन्होंने अभिनेता आयुष्मान खुराना के साथ स्क्रीन साझा किया था। फिल्म डिजिटल प्लैटफॉर्म पर रिलीज हुई थी।  (आईएएनएस)

 


28-Feb-2021 7:34 PM 19

हैदराबाद, 28 फरवरी | अभिनेत्री लक्ष्मी मांचू ने रविवार को यहां एक नेक कारण के लिए 100 किलोमीटर साइकिलिग को पूरा किया। उन्होंने इस पहल को खेल के लिए विशेष रूप से सक्षम लोगों के लिए पूरा किया। अपने अनुभव को साझा करते हुए, लक्ष्मी आईएनएएस से कहती हैं, "दूसरों के प्रति सहिष्णु होना और खुद के साथ सख्त होना। पिछले 60 दिनों से हर दिन मैं यही फॉलो कर रही हूं- सुबह 5 बजे उठना, अपनी सीमाएं बनाना और हर दिन कड़ी मेहनत करना।"

अभिनेत्री ने आदित्य मेहरा फाउंडेशन के कॉउज में भाग लिया और कहती हैं कि उन्हें इसकी प्रेरणा विभिन्न लोगों से मिली।

हाल ही में तेलुगू वेब सीरीज, 'पिट्टा कथलू' में नजर आने वाली लक्ष्मी कहती हैं, "उन लोगों से प्रेरित हूं, जो मुझसे कम हैं और अपने समुदाय से प्रेरित हूं, जो मुझसे ज्यादा हैं। मैं इस राइड के लिए आदित्य की शुक्रगुजार हूं।"  (आईएएनएस)

 


28-Feb-2021 7:33 PM 18

नई दिल्ली, 28 फरवरी | माइक्रोसॉफ्ट आधुनिक तकनीकों के साथ कदमताल मिलाते हुए नित्य नए प्रयोगों के लिए जाना जाता है। इसकी कड़ी में वह कथित तौर पर विंडोज पीसी (पर्सनल कम्प्यूटर्स) के लिए अपने 'एक्स-बॉक्स गेम स्ट्रीमिंग' ऐप को एक अंतिम रूप देने में जुटा है। इस ऐप में कंपनी की एक्स-क्लाउड सेवा से स्ट्रीमिंग गेम तक पहुंच शामिल है। फिलहाल इस नए 'एक्सबॉक्स' ऐप से विंडोज पीसी पर गेम स्ट्रीम नहीं किया जा सकता है क्योंकि यह मौजूदा एक्स-बॉक्स कंसोल कंपेनियन ऐप को सपोर्ट नहीं करता है।

'द वर्ज' में प्रकाशित एक रिपोर्ट के मुताबिक, इस नए ऐप से विंडोज यूजर्स एक्स-बॉक्स सीरीज वाले एस/आर कंसोल और एक्स-क्लाउड से गेम स्ट्रीम कर सकेंगे। यह ऐप पहली बार विंडोज पीसी में एक्स-क्लाउड स्ट्रीमिंग भी लाएगा।

माइक्रोसॉफ्ट विंडोज पीसी पर अनुभव को बेहतर बनाने के लिए 720पी की बजाय एक्स-क्लाउड के लिए 1080पी स्ट्रीम्स को तैयार कर रहा है।

माइक्रोसॉफ्ट अगले महीने "व्हाट्स न्यू फॉर गेमिंग" शीर्षक से एक कार्यक्रम आयोजित करने की योजना बना रहा है। इसमें कंपनी वेब और आईओएस के लिए एक्स-क्लाउड योजनाओं से संबंधित घोषणाएं भी कर सकती है।

गौरतलब है कि हाल ही में माइक्रासॉफ्ट ने वेब एवं पीसी पर ब्राउजर के माध्यम से आईओएस एवं आईपैडओएस के लिए अपनी गेम स्ट्रीमिंग सेवा - एक्स-क्लाउड का परीक्षण शुरू किया था। एप्पल के प्रतिबंध के कारण कंपनी ऐप स्टोर पर अपनी एक्स-क्लाउड सेवा जारी करने में असमर्थ रही है। यही वजह है कि कंपनी ने घोषणा की कि वह आईओएस पर सफारी के माध्यम से गेम स्ट्रीमिंग सेवा जारी करेगी। (आईएएनएस)

 


28-Feb-2021 7:32 PM 15

खुर्रम हबीब 

अहमदाबाद, 28 फरवरी | पूर्व भारतीय कप्तान दिलीप वेंगसरकर करीब तीन दशकों तक इंग्लैंड के खिलाफ उनकी ही पिच लॉडर्स पर हावी रहने के अलावा घर में भी स्पिन गेंदबाजी के खिलाफ एक मास्टर बल्लेबाज थे। कटक के विकेट पर उनके करियर की सर्वश्रेष्ठ 166 रनों पारी (श्रीलंका के खिलाफ) एक ऐसी पारी है, जो उनकी क्षमता को बयां करता है।

भारत और इंग्लैंड के बीच दूसरे और तीसरे टेस्ट के लिए क्रमश : चेन्नई और अहमदाबाद में बल्लेबाज स्पिन-अनुकूल पिचों पर बल्लेबाज परेशानियों का सामना कर रहे हैं। भारत के लिए 115 टेस्ट मैच खेलने वाले वेंगसरकर ने ऐसे तरीके बताए, जिससे कि ऐसी पिचों पर स्पिनरों का सामना किया जा सके।

भारत ने मुश्किल विकेट पर आखिरी दो टेस्ट जीते हैं और वेंगसरकर का कहना है कि ऐसी पिचों पर बल्लेबाजी करते समय बल्लेबाजों को कई बातों का ध्यान रखना चाहिए।

उन्होंने कहा, " हमारे (भारत) के लिए फायदा यह था कि हम गुणवत्तापूर्ण स्पिनरों के खिलाफ स्थानीय क्रिकेट और घरेलू क्रिकेट खेलने के आदी हैं। जिससे हमें काफी मदद मिली। आम तौर पर आप देखते हैं कि जब गेंद सीम कर रही है या टर्न हो रही है, तो आपको रनों के लिए कड़ी मेहनत करनी होगी। जब गेंद घूम रही होती है, तो किसी को बहुत देर तक खेलना चाहिए। इसके अलावा, आपको यह सुनिश्चित करने की आवश्यकता है कि डिफेंस करने के लिए आपका बल्ला पहली लाइन में होना चाहिए।"

रविचंद्रन अश्विन के खिलाफ बल्लेबाजी करते समय किन बातों का ध्यान रखना चाहिए, इस पर उन्होंने कहा, " सबसे पहली और महत्वपूर्ण बात यह है कि आपको यह देखना होगा कि आप किस तरह के विकेट पर बल्लेबाजी कर रहे हैं और फिर उसी के अनुसार आप परिस्थितियों के अनुसार ढलते हैं। अश्विन टॉप क्लास के स्पिनर हैं। इसलिए जब आप टॉस क्लास स्पिनर की भूमिका निभा रहे होते हैं, तो आप जानते हैं कि वह किसी चीज पर निर्भर होगा। उन्हें अपनी आस्तीन पर कुछ और (अतिरिक्त) विविधता मिली है, इसलिए आपको यह अनुमान लगाना होगा कि वह आगे क्या करने वाले है। यह बहुत महत्वपूर्ण है। यह सब विकेट और मैच की स्थिति पर निर्भर करता है। आप यह नहीं कह सकते कि मैं इस तरह या उस तरह से बल्लेबाजी करूंगा, आपको तब और वहां सुधार करना होगा।"

वेंगसरकर को लॉडर्स मैदान से काफी लगाव था। वह लॉडर्स में तीन टेस्ट शतक लगाने वाले एकमात्र बल्लेबाज हैं।

यह पूछे जाने पर कि ये कैसे संभव हुआ तो उन्होंने कहा, " उन दिनों इंग्लैंड का दौरा करते समय, हम काउंटी टीमों के खिलाफ अधिक मैच खेलते थे, यानी टेस्ट क्रिकेट के बाहर के मैच। इससे हमें विशेषकर इंग्लैंड में परिस्थितियों के अनुकूल होने में मदद मिली। एक बार जब आप परिस्थितियों के अनुकूल हो जाते हैं, तो आप बीच में अधिक समय बिता सकते हैं और रन बना सकते हैं, ताकि आपको आत्मविश्वास मिले। इसने मुझे आत्मविश्वास दिया।" (आईएएनएस)

 


28-Feb-2021 7:30 PM 16

नई दिल्ली, 28 फरवरी | कांग्रेस के महासचिव अजय माकन की ओर से मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और पूर्व उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट के बीच सुलह कराने की कोशिश रंग लाई है और दोनों अब साथ आ गए हैं। शनिवार को गहलोत और पायलट ने एक साथ किसानों की रैली को संबोधित करते हुए चार विधानसभा क्षेत्रों में होने वाले उपचुनावों के लिए अभियान शुरू किया। उपचुनावों का कार्यक्रम अभी घोषित नहीं हुआ है।

इससे पहले, दोनों नेताओं ने कांग्रेस नेता राहुल गांधी की राजस्थान की दो दिवसीय यात्रा के दौरान मंच साझा किया था।

कांग्रेस के एक अंदरूनी सूत्र ने आईएएनएस को बताया कि माकन को गहलोत और पायलट के बीच चल रही 'रस्साकशी' को खत्म करने का श्रेय दिया जाना चाहिए। उन्होंने (माकन) व्यक्तिगत रूप से गहलोत और पायलट को एक साथ लाने के लिए आवश्यक सभी चीजों का ध्यान रखा।

एक अन्य कांग्रेस नेता ने कहा, "माकन ने राजस्थान में सोनिया गांधी, राहुल गांधी और गहलोत के साथ पार्टी में चल रही खींचतान पर चर्चा की। उन्होंने तनातनी को समाप्त करने के लिए आवश्यक सभी कदमों पर चर्चा की।"  (आईएएनएस)

 


28-Feb-2021 7:27 PM 16

नई दिल्ली, 28 फरवरी | पर्यटन मंत्रालय ने हितधारकों और नागरिकों के बीच जागरूकता पैदा करने के उद्देश्य से हाल ही में देश की विभिन्न पर्यटन संपत्तियों और उत्पादों का प्रदर्शन करने के लिए 'देखो अपना देश' अभियान शुरू किया है। इस पहल के तहत, उत्तर प्रदेश में बौद्ध सर्किट और तीर्थस्थलों की पर्यटन क्षमता दिखाने के लिए 22 फरवरी को बेंगलुरु में एक घरेलू पर्यटन रोड शो का आयोजन किया गया था।

मंत्रालय की योजना के बारे में होम स्टे और बी एंड बी इकाई मालिकों को संवेदनशील बनाने के लिए केरल में एक कार्यशाला का आयोजन किया गया। इसने 'निधि' और 'साथी' प्रमाणन पर भी जानकारी दी, जो विशेष रूप से आतिथ्य उद्योग के लिए शुरू की गई थी। कार्यशाला में कोच्चि और पड़ोसी जिलों के 54 होम स्टे और बी एंड बी इकाई के मालिकों ने भाग लिया।

एक अन्य कार्यक्रम, कोच्चि में आयोजित एक उत्सव में केरल के 28 कलारूपों को प्रदर्शित किया गया। (आईएएनएस)

 


28-Feb-2021 7:24 PM 15

रांची, 28 फरवरी | झारखंड के पलामू जिले में रविवार को जले हुए चेहरे और कटी हुई टांग के साथ एक नाबालिग लड़की का शव बरामद किया गया। पुलिस ने यह जानकारी दी। शव सोन नदी के किनारे स्थित बरेपुर गांव के पास बरामद हुआ। पीड़िता पलामू जिले के कुसुवा गांव की निवासी है। उसके पिता ने 21 फरवरी को उसके अपहरण के संबंध में एक शिकायत दर्ज कराई थी।

बदमाशों ने लड़की का चेहरा जला दिया और एक पैर काट दिया। लड़की का गला भी काटा गया था। पुलिस को शक है कि पीड़िता के साथ पहले दुष्कर्म किया गया और बाद में उसे मार दिया गया।

शव बरामद होने के बाद ग्रामीणों में गहरा आक्रोश है। लड़की के पिता का आरोप है कि पुलिस ने लड़की को खोजने का कोई प्रयास नहीं किया।

लड़की तब लापता हो गई थी, जब वह 21 फरवरी को शौच करने गई थी।  (आईएएनएस)

 


28-Feb-2021 7:23 PM 15

हैदराबाद, 28 फरवरी | तेलंगाना के उद्योग और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्री केटी रामा राव ने रविवार को भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) से आईपीएल मैचों की मेजबानी के लिए हैदराबाद को भी शामिल करने की अपील की। केटीआर की अपील उन रिपोटरें के बाद सामने आई है, जिसमें कहा गया है कि हैदराबाद आईपीएल के 14वें संस्करण के लिए बीसीसीआई द्वारा चुने गए शहरों की सूची में शामिल नहीं है।

मंत्री ने ट्वीट कर कहा, "भारत के सभी मेट्रो शहरों की तुलना में हमारे यहां कोविड के मामले कम है और हम यह विश्वास दिलाते हैं कि सरकार की तरफ से आपको सभी सहायता दी जाएगी।"

बीसीसीआई ने कथित तौर पर आईपीएल 2021 को केवल छह शहरों तक सीमित करने का फैसला किया है। सनराइजर्स हैदराबाद के घरेलू शहर हैदराबाद को इस सूची से बाहर रखा गया है।

बीसीसीआई ने आईपीएल मैचों की मेजबानी के लिए चेन्नई, कोलकाता, अहमदाबाद, बेंगलुरु, दिल्ली और मुंबई को चुना है। मुंबई का मेजबानी के लिए चुना जाना आश्चर्यजनक है क्योंकि पिछले कुछ दिनों के दौरान महाराष्ट्र में कोविड मामलों में वृद्धि दर्ज हुई है।

महाराष्ट्र सरकार द्वारा दर्श्कों के बिना शहर में मैचों के मेजबानी की अनुमति दिए जाने के बाद शनिवार शाम को मुंबई को इस सूची में जोड़ा गया था।

हैदराबाद को मेजबानों की सूची में शामिल नहीं करने का कारण स्पष्ट नहीं है लेकिन ऐसी चर्चा है कि हैदराबाद क्रिकेट संघ (एससीए) में अंदरुनी मेतभेदों के कारण बीसीसीआई ने शहर की अनदेखी की है।

एचसीए के अध्यक्ष और भारत के पूर्व कप्तान मोहम्मद अजहरुद्दीन कथित रूप से भारत और इंग्लैंड के बीच टेस्ट के लिए अहमदाबाद में थे, जहां आईपीएल मैचों के आयोजन स्थलों के बारे में निर्णय लिया गया था। (आईएएनएस)

 


28-Feb-2021 7:21 PM 13

तिरुवनंतपुरम: केरल में सत्तारूढ़ लेफ्ट डेमोक्रेटिक फ्रंट (LDF) ने विधानसभा चुनाव के लिए अपने चुनावी स्लोगन रविवार को जारी कर दिया. माकपा के केरल सचिव ए विजयराघवन ने केरल में पार्टी मुख्यालय पर स्लोगन "Yes for sure it's LDF" जारी किया.

उन्होंने इस टैगलाइन से जुड़ा कंपेन मुख्यमंत्री पिनराई विजयन को सौंपा. विजयराघवन ने कहा कि यह स्लोगन संदेश देता है कि एलडीएफ दोबारा सत्ता में लौट रहा है. स्लोगन की लांचिंग के पहले ही इसके होर्डिंग पूरे राज्य में लगा दिए गए थे. इन पोस्टरों के साथ केरल में एलडीएफ के शासन के दौरान विकास कार्यों और कल्याणकारी योजनाओं का जिक्र भी है.

सीपीएम नेता और केरल के वित्त मंत्री थॉमस इसाक, केएन बालागोपाल समेत कई बड़े नेता समारोह में मौजूद थे.  केरल की 140 विधानसभा सीटों पर एक ही चरण में 6 अप्रैल को मतदान कराया जाएगा. राज्य में कुल 14 जिले हैं. मतगणना अन्य राज्यों के विधानसभा चुनाव संपन्न होने के साथ 2 मई को होगी.

 


28-Feb-2021 3:55 PM 17

श्रीहरिकोटा (आंध्र प्रदेश), 28 फरवरी | पृथ्वी अवलोकन उपग्रह अमेजोनिया -1 का सफल प्रक्षेपण भारत और ब्राजील के बीच साझेदारी को आगे बढ़ाने के लिए पहला कदम है। ब्राजील के विज्ञान, प्रौद्योगिकी, नवाचार और संचार मंत्री मार्कोस पोंटेस ने रविवार को यह बात कही। भारत ने रविवार की सुबह अपने रॉकेट पोलर सैटेलाइट लॉन्च व्हीकल-सी 51 (पीएसएलवी-सी51) अमेजोनिया -1 के साथ सफलतापूर्वक कक्षा में स्थापित किया। यह ब्राजील द्वारा डिजाइन और निर्मित किया गया पहला उपग्रह था।

पोंटेस ने यहां भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) मिशन नियंत्रण केंद्र में एक सभा को संबोधित करते हुए कहा, "हम कई वर्षो से उपग्रह पर काम कर रहे हैं। यह हमारे लिए एक महत्वपूर्ण क्षण है।"

खुद एक अंतरिक्ष यात्री, पोंटेस ने कहा कि सफल प्रक्षेपण ब्राजील के उपग्रह उद्योग के लिए एक नए युग का प्रतिनिधित्व करता है।

पोंटेस ब्राजील की अंतरिक्ष एजेंसी और रूसी अंतरिक्ष एजेंसी के बीच एक साझेदारी के हिस्से के रूप में अंतरिक्ष में जाने वाला एकमात्र ब्राजील निवासी हैं।

उन्होंने कहा कि यह भारत और ब्राजील के बीच मजबूत साझेदारी को आगे बढ़ने की दिशा में पहला कदम है।

यह दोनों देशों के बीच मजबूत रिश्ते की शुरुआत है। पोंटेस ने कहा कि दोनों देश साथ मिलकर काम करेंगे और जीतेंगे।

अमेजोनिया -1 राष्ट्रीय अंतरिक्ष अनुसंधान संस्थान (आईएनपीई) का ऑप्टिकल पृथ्वी अवलोकन उपग्रह है और इसे ब्राजील द्वारा निर्मित किया गया है।

इसरो के अध्यक्ष के. सिवन ने कहा कि अमेजोनिया-1 उपग्रह को एक सटीक कक्षा में स्थापित किया गया है और इसके सौर पैनल तैनात किए गए हैं।

सिवन ने कहा कि भारत और इसरो, ब्राजील द्वारा डिजाइन और निर्मित किए गए पहले उपग्रह को लॉन्च करने पर गर्व महसूस करते हैं। (आईएएनएस)


28-Feb-2021 3:54 PM 28

कोलकाता, 28 फरवरी | कोलकाता के ब्रिगेड परेड मैदान में हाई वोल्टेज विधानसभा चुनाव से पूर्व तीसरे मोर्चे की ताकत दिखाने के लिए सीपीएम के नेतृत्व वाले वाम मोर्चा और कांग्रेस पहली बार रविवार को एक संयुक्त रैली करने जा रहे हैं। हुगली के पीरजादा अब्बास सिद्दीकी के नेतृत्व वाले भारतीय सेक्युलर फ्रंट (आईएसएफ) भी इस विशाल रैली में हिस्सा लेगा।

पश्चिम बंगाल के विभिन्न जिलों के हजारों वामपंथी और कांग्रेस समर्थकों ने शनिवार रात से ही ट्रेनों और बसों से कोलकाता में प्रवेश करना शुरू कर दिया था। हावड़ा और सियालदह रेलवे स्टेशन पर शिविर खोले गए। दोनों दलों ने कई जुलूस निकाले, सोशल मीडिया पर व्यापक अभियान चलाकर लोगों से रैली में भाग लेने के लिए कहा।

तीन-पक्षीय चुनावी गठबंधन के 'पोस्टर बॉय' और पश्चिम बंगाल के पूर्व मुख्यमंत्री बुद्धदेव भट्टाचार्जी इस रैली से नदारद रहेंगे क्योंकि वह इस बार खराब स्वास्थ्य के कारण इसमें शामिल नहीं हो पाएंगे। बंगाल का वाम नेतृत्व चाहता था कि भट्टाचार्जी मेगा शो में उपस्थित हों और उन्होंने पूर्व सीपीआई-एम पोलित ब्यूरो सदस्य से अनुरोध भी किया था। लेकिन, आखिरी समय में पूर्व मुख्यमंत्री ने पार्टी को एक पत्र भेजा और कहा कि वह इस रैली में शामिल होने में असमर्थ हैं।

इस मेगा रैली में सीपीएम महासचिव सीताराम येचुरी, राज्य सचिव सूर्यकांत मिश्रा, वाम मोर्चा अध्यक्ष बिमान बोस, कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष अधीर रंजन चौधरी, आईएसएफ के पीरजादा अब्बास सिद्दीकी और अन्य नेता उपस्थित रहेंगे। सूत्रों ने कहा कि कांग्रेस नेता और छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल भी रैली में शामिल होंगे।

वाम-कांग्रेस और आईएसएफ गठबंधन इस विशाल रैली के माध्यम से आगामी विधानसभा चुनाव के लिए अपने प्रचार की शुरुआत करेंगे।

गौरतलब है कि वाम मोर्चा अध्यक्ष बिमान बोस तैयारियों का जायजा लेने के लिए शनिवार दोपहर परेड मैदान गए थे। उन्होंने कहा कि यह अब तक की सबसे बड़ी ब्रिगेड बैठकों में से एक होगी।

वाम मोर्चा और कांग्रेस ने पहले ही सीट-साझाकरण समझौते को अंतिम रूप दे दिया है। वाम दलों और आईएसएफ के बीच भी बातचीत हो गई है क्योंकि दोनों दलों ने नव-गठित राजनीतिक संगठन के लिए 30 सीटों पर सहमति व्यक्त की है। सूत्रों ने हालांकि कहा कि कांग्रेस और आईएसएफ के बीच सीट बंटवारे की बातचीत अभी भी जारी है।

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता प्रदीप भट्टाचार्य ने कहा कि यह गठबंधन तृणमूल कांग्रेस और भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की जनविरोधी और सांप्रदायिक राजनीति का विकल्प प्रस्तुत करने वाला है। (आईएएनएस)
 


Previous123456789...523524Next