छत्तीसगढ़ » मुंगेली

Date : 22-Jul-2019

आषाढ़ सूखा बीता, सावन में फुहारें भी नहीं

मुंगेली, 22 जुलाई। मुंगेली में आषाढ़ माह में उसके अनुरूप बारिश नही हुई, वहीं सावन भी मुंगेली को अपने फुहार से वंचित रखा है इस बार वर्षा के नाम पर दो दिन जून में व दो दिन जुलाई में नाम मात्र हुई बारिश से खेती में बोनी आरंभ हो गई थी और किसानों को मानसूनी बारिश होने की उम्मीदे थी लेकिन बारिश ने दगा दे दिया और स्थिति अब भयावह हो गई है और आने वाले दिनो में यदि बारिश नही होती है हाहाकार मचने की संभावना बनती दिखाई दे रही है। 

माह जुलाई में 18 दिनों से बारिश नही हुई है। बारिश नही होने की इतनी विकट स्थिति पहले 50 सालों में कभी नही थी यद्यपि रोजना बादल आ रहे है और बरसने की स्थिति निर्मित होती है पिछले तीन दिनों से बारिश के नाम में बूदा-बांदी भी इतनी भी कमजोर हुई कि कपडे भी भीग नही पा रहे है। इसकी मात्र इतनी कम है कि तुलना में सावन की फुहार बारिश लगने लगती है। मानसूनी बारिश के लिये जितनी भी भविष्यवाणी हुई है या मौसम के अलर्ट जारी हुए है मुंगेली के मामले में सारी भविष्यवाणियां गलत साबित हुई है बोनी के पश्चात बारिश के इंतजार करते कृषकों की हालत खराब है।

जुलाई महीने में 19 दिनो से बारिश नही हुई है यद्यपि कुछ दिनों बादल आये दो-चार बूद टपकर चले गये। जिसे बारिश कहना भी कृषकों के साथ अन्याय होगा। इधर दिन में सूर्य देवता अंगारे बरसा रहे है जिससे तापमान 34 से 36 डिग्री तक चल रहा है और रात्रि में चांदनी निकली रहती है इधर गर्मी के मारे कुलर, चल रहे हैं वहीं यही हालत रही तो कुछ दिनों बाद पेयजल के पानी का संकट एक बार फिर से गहराने की स्थिति निर्मित होने लगे है। 

इधर खेतो में बोये धान की स्थिति अत्यत दयनी है बनी हुई है पानी के चलते जहां जमीन फटने की स्थिति में है वहीं पौधे मुरझाने लगे है। इधर सावन माह में अच्छी बारिश की उम्मीद जगी थी लेकिन बारिश नही होने से उम्मीदे दम तोडऩे लगी है अब भारी वर्षा के लिये कोई सिस्टम बनता नही दिखाई दे रहा है। मुंगेली क्षेत्र के किसान अपने किस्मत को कोसने को विवश है इधर पानी नही गिरने से स्त्रोत की फिडिंग नही होने से बोर भी पानी नही दे पा रहे है जिसके चलते आने वाले दिनों में खेती के लिये बारिश व पेयजल हेतु पानी की समस्या  दिनों-दिन गहराने लगी है और किसान के पास, आकाश में टिक-टिकी लगाकर देखने के व पानी गिरने का इंतजार करने के अलावा और कोई चारा नहीं होने से विवश व मजबूर हंै। 


Date : 22-Jul-2019

मरकाम से नगर विकास, पंचायत और ननि चुनाव पर चर्चा 

मुंगेली, 22 जुलाई। नवनियुक्त प्रदेश अध्यक्ष मोहन मरकाम से कांग्रेसियों ने  रोहित शुक्ला अध्यक्ष शहर कांग्रेस कमेटी के नेतृत्व में मुलाकात की। अध्यक्ष रोहित शुक्ला ने बताया कि प्रदेशाध्यक्ष से संगठन से जुड़े विभिन्न मुद्दों की जानकारी दी गई। साथ ही नगर विकास सही आगामी होने वाले पंचायत और नगरीय निकाय चुनाव के संबंध में चर्चा की गई। महामंत्री जित्तू श्रीवास्तव ने बताया कि प्रदेशाध्यक्ष को मुंगेली आगमन के लिए आमंत्रित किया गया। मुलाकात करने वालो में अध्यक्ष रोहित शुक्ला, जित्तू श्रीवास्तव महामंत्री कांग्रेस कमेटी, दीपक गुप्ता,देवेंद्र वैष्णव,अमित शर्मा,मूलचंद देवांगन अहसान अली,आयुष शुक्ला,टीपू खान,राहुल यादव,संदीप यादव,मोती,किशोर बैरागी, वैभव ताम्रकार विभाष पांडेय,महिला शहर कांग्रेस से श्रीमती ललिता सोनी, मनोरमा गुप्ता, राजकुमारी हिंडोरे,नूरजहां, वैशाली सोनी,  रानी सोनी, शैलेन्द्र,शैलेश राज आदि थे।

 


Date : 20-Jul-2019

पहली ही बारिश में बह गई सीसी रोड 

छत्तीसगढ़ संवाददाता 
लोरमी, 20 जुलाई।
ग्राम पंचायत थानाघाट में मुख्यमंत्री ग्रामीण विकास योजना के तहत 2.60 से नवनिर्मित नाका से नदी तक सीसी रोड जो कि 3 माह पूर्व ही निर्माण की गई थी, वह पहली ही बारिश में टूटकर पूरी तरह से बह गई है, जिसमें यह पता ही नहीं चल पा रहा कि यह रोड नवनिर्मित है यास 8 साल पुराना है, जिससे इसकी गुणवत्ता समझा जा सकता है। ग्रामीणों का आरोप है कि  इसी तरह से रोजगार गारंटी योजना के कार्यों में सरपंच पति एवं अपने चहेतो के नाम मस्टररोल में भरकर भारी मात्रा में भ्रष्टाचार को अंजाम दिया गया है। जिसकी शिकायत उपसरपंच एवं ग्रामीणों द्वारा सीईओ, एसडीएम से लेकर कलेक्टर तक शिकायत किया गया है। वर्तमान में चल रहे 14 वे रिक्त की राशि से गुणवत्ताहीन निर्माण कार्यों पर रोक लगाने की मांग की गई थी। जिससे पूर्व में हुए निर्माण कार्यों की जांच होने तक वर्तमान में निर्माण कार्य में रोक लग सके। 

ग्रामीणों नेआरोप लगाया है कि यह सब भ्रष्टाचार का खेल अधिकारियों की जानकारी में ही उन्हीं की राह पर किया जा रहा है। इस विषय में उन पर सीईओ एल के कौशिक ने कहा कि जांच एंजेसी कमेटी का गठन किया गया है।


Date : 13-Jul-2019

मानसून के प्रभाव के चलते खरीफ का धान एक महीने पिछड़ा

छत्तीसगढ़ संवाददाता 
मुंगेली, 13 जुलाई।
इस वर्ष बारिश ने किसानों को  दगा दिया है। जून के आखिर में एक दिन हुई बारिश ने आशा जगाई थी।   मानसूनी बारिश का इंतिजार करते रहे पिछले सप्ताह हुई बारिश ने मानसूनी बारिश का आभास कराया बारिश हुई। किसानों के हल व टेक्ट्रर खेत में चलने लगे और बोनी आरंभ हो गई। किसान जो पूर्व की हल्की बारिश ने धान बोना आरंभ कर दिये थे इसमें तेजी आई और किसान तेजी के साथ धान बोने में जुट गए। 

इस तरह मानसून के देर आगमन के कारण खरीफ फसल में धान की बोनी लगभग एक माह पिछड़ कर प्रभावित हुई है। पिछले हफ्ते में हुई बारिश किसान के लिये खेती के लिए उपयुक्त अवसर दिया। उप संचालक कृषि डी.के.ब्यौहार ने बतलाया कि जिले में बोता बोनी के लक्ष्य 69 हजार हेक्ट. के विरूद्ध 60 हजार 250 हेक्ट. में हो पाई है बोनी की प्रतिशत 87.3 है। पिछले वर्ष 9 जुलाई के स्थिति में बोता बोनी 50 हजार 530 हेक्ट. में हुई थी। जो बोनी के लक्ष्य 65700 हेक्ट. के अनुसार 76.9 प्रतिशत है।  सरकारी आकड़ों के अनुसार इस बार धान की बोनी पिछले वर्ष के मुकाबले 9 जुलाई के स्थिति में 10.4 प्रतिशत अधिक है। जिले में रोपा बोनी के लक्ष्य में इस बार 7800 हेक्ट. की कमी आई है। पिछले वर्ष रोपा बोनी का लक्ष्य 37800 हेक्ट. था जो घट कर इस बार 30 हेक्ट. रह गया है।   

मानसून और बारिश को लेकर किसान के मन में अब भी डर बना हुआ है कि धान बोने के लायक बारिश हो गई और किसानों ने खेत में धान बो भी लिये लेकिन आगे भटके मानसून से भविष्य में पानी की स्थिति क्या होगी इसको लेकर किसान अभी भी चिंता जता रहे है। जिले में सामान्य वर्षा का औसत 869.3 मि.मी. है 1 जून से 9 जुलाई 2019 कुल वर्षा 202.6 मि.मी. रही इसी अवधि में गतवर्ष 273.7 मि.मी. वर्षा रही। जिले में 10 वर्ष की वर्षा में कमी 33.8 प्रतिशत रही। सामान्य वर्षा के तुलना में 9 जुलाई की स्थिति में सामान्य वर्षा के मुकाबले वर्षा 33.8 प्रतिशत गिरा है। 

 


Date : 11-Jul-2019

अनाज व्यवसायी की चाकू मारकर हत्या, एक बंदी, 2 फरार

छत्तीसगढ़ संवाददाता
मुंगेली, 11 जुलाई।
बुधवार सुबह शहर के रिहायशी इलाके में अनाज व्यवसायी की चाकू मारकर हत्या उसकी पत्नी के सामने कर दी गई। तीन आरोपियों में से 1 आरोपी मृतक के निवास स्थान के पास ही का रहने वाला है। शाम को ही एक आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया है, वहीं दो आरोपी फरार है। 

घटना की सिटी कोतवाली से कुछ दूर पड़ाव चौक के पास सारथी पारा की है, जिसमें अनाज व्यवसायी धीगड़मल जैन अपनी पत्नी के साथ अपने मकान में निवास कर रहा। उनके निवास स्थान के पास ही उनकी दुकान है। 

  धीगड़मल जैन के मकान के सामने आरोपी गांजा, शराब आदि पीते थे। जिस पर धीगड़मल उन्हें अपने मकान के सामने ऐसा करने से मना करता था। घटना का समय भी आरोपी ऐसे ही हरकत कर रहे थे, मना करने पर तीन युवक सुबह गल्ला व्यापारी की आंख में मिर्च डालकर चाकू मारकर हत्या कर दरवाजा व चेनल गेट बंद कर फरार हो गये। तीन आरोपियों में से 1 आरोपी मृतक के  निवास स्थान के पास ही का रहने वाला है। 

घटना के दौरान आरोपी के एक वीवो मोबाइल घटना स्थल पर छूट गया, जो आरोपियों की पहचान कर उनके पकड़े जाने का कारण बना। मोबाइल मिलने के साथ व कई स्थानों में सीसीटीवी कैमरे में रिकार्ड फुटेज के आधार पर पतासाजी की गई जिससे एक आरोपी रघुवीर उर्फ  रघु निषाद को गिरफ्तार कर कड़ाई से पूछने पर अपराध करना कबूल लिया तथा दो आरोपी कुबेर और पप्पू उर्फ अरविंद फरार है। 

बुधवार शाम को 4 बजे घटना का खुलासा करते एसपी सी.डी.टंडन ने बताया कि आरोपी रघुवीर निषाद  को गिरफ्तार कर लिया गया है व फरार पप्पू चौहान एवं कुबेर सारथी को शीघ्र ही गिरफ्तार कर लिया जाएगा। 

एसडीओपी तेजराम पटेल ने बताया कि साइबर सेल व सीसीटीवी फुटेज की मदद से हमले में शामिल एक आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया। पुलिस ने घटना में प्रयुक्त हथियार को भी बरामद कर लिया है. पुलिस का कहना है कि हत्या के बाकी फरार आरोपियों को भी जल्द गिरफ्तार कर लिया जाएगा। 


Date : 11-Jul-2019

झुलसे सिनेमाघर मैनेजर की अस्पताल में मौत

छत्तीसगढ़ संवाददाता
मुंगेली, 11 जुलाई।
रामगोपाल तिवारी वार्ड निवासी ओमप्रकाश बडग़ैय्या उम्र 46 वर्ष की ईलाज के दौरान अपोलो अस्पताल बिलासपुर में 9 जुलाई को रात्रि 2 बजे मौत हो गई। समाचार मिलते ही मुंगेली में शोक की लहर फैल गई और एक बार फिर से मनुराज टॉकीज में हुई घटना का जिक्र चर्चा में चल पड़ा। लोगों का कहना था कि सिने मालिक के मांग पर यदि पुलिस की व्यवस्था की होती तो यह घटना नही घटती, वहीं घटना के दिन एक आरोपी को पकडऩे के बाद भी यदि बल की व्यवस्था की जाती तो भी यह घटना नही घटती।

मैनेजर ओमप्रकाश सहज, सरल, मृदुभाषी युवा व्यक्ति था जिसके व्यवहार के सभी कायल थे और ओमप्रकाश के असामयिक निधन से लोग ओमप्रकाश के व्यवहार को याद करते हुए गहरा शोक व्यक्त कर रहे है। 

उल्लेखनीय है कि 2 जुलाई को मनुराज टॉकीज में प्रद्रशित छत्तीसगढ़ी फिल्म के दौरान ओरापियों द्वारा टॉकीज के अंदर हो हल्ला कर रहे थे जिससे महिलाओं से छेड़छाड़ न हो और महिलाओं के बचाव के लिये युवकों को मना करना टॉकीज के मैनेजर ओमप्रकाश को बड़ा महंगा पड़ा और आरोपियों ने टॉकीज के बुकिंग कक्ष के अदंर जाकर हिसाब-किताब में व्यस्त ओमप्रकाश पर पेट्रोल डालकर आग लगा दीं। जिससे वह बुरी तरह झुलस गया और प्राथमिक उपचार के उपरांत उसे बिलासपुर रिफर कर दिया गया। बिलासपुर के बी.टी.सी.अस्पताल में चल रहा था लेकिन तबियत नाजुक हो जाने के कारण ओमप्रकाश को अपोलो अस्पताल में दाखिल करना पड़ा। जहां तीन दिनों पश्चात उसकी मौत हो गई। ओमप्रकाश परिवार का मुखिया था जिसके भरोसे परिवार की गाड़ी चल रही थी उनके बाद उनकी पत्नी तथा एक 16 वर्षीय पुत्र जो कक्षा 10 वीं की छात्र है व एक 12 वर्षीय दिव्यांग पुत्री है।  

 


Date : 10-Jul-2019

मुख्यमंत्री कन्यादान योजना में शादीशुदा की करा दी दोबारा शादी?

छत्तीसगढ़ संवाददाता
लोरमी, 10 जुलाई।  
लोरमी विकासखण्ड के ग्राम डोगरीगढ़ मंदिर परिसर में मंगलवार को 53 जोड़ों का सामूहिक मुख्यमंत्री कन्यादान योजना के तहत विवाह कराया गया, जिसमें 45 जोड़ों का पंजीयन विभाग के कर्मचारियों के द्वारा कराया गया है जिसमें टारगेट पूरा करने के लिए दोबारा शादी कराने का मामला सामने आया है।

आदिवासी समाज के संरक्षक भागवत पट्टा ने बताया कि समाज के 150 शादी करने की बात कहे थे लेकिन अधिकारी द्वारा सभी का नाम काटकर मात्र 60 को शादी किये जिसमें 7 लोगों का पंजीयन भी नहीं किया गया वही शादी के दौरान अव्यवस्था भी दिखने को मिला है शादी हल्के बारिश में खुले जगह पर किया गया जिसमें जोड़ों को परेशानियों का सामना करना, वहीं 7 जोड़े को बिना किसी समान दिये उन्हें बाद में देने की बात कहते हुए भेज दिया गया जो समान भी दिया गया है वह काफी निम्नस्तर है।

मुख्यमंत्री कन्यादान योजना के तहत शासन से 25 हजार की राशि प्रति जोड़े को मिलता है पंजीयन के हिसाब से कुल 53 जोड़े को लिया जाये तो 53 जोड़ो का 13 लाख 25 हजार रूपये की राशि होती है, वहीं समान भी खराब दिये जाने की बाते सामने आ रही है।

जब इस मामले को लेकर परियोजना अधिकारी से पूछा गया तो उन्होंने सभी जोड़ों के प्रमाणित दस्तावेज होने की बात कही। उन्होंने कहा कि सभी से शपथ पत्र लिया गया है अगर वे गलत जानकारी दिये होगे तो उनकी गलती है। गलत जानकारी दिये होगे तो उन पर कार्यवाही किया जाएगा।

पूनम वर्मा परियोजना अधिकारी लोरमी 
अभी जानकारी नहीं मिली है जानकारी लेता हूं अगर ऐसी कोई शिकायत होगा तो निष्पक्ष जांच कर कार्रवाई की जाएगी, संबंधित अधिकारी को बुलाकर मामले की जानकारी लेता हूं।

मुंगेली कलेक्टर सर्वेश्वर नरेन्द्र भुरे
मुख्यमंत्री कन्या विवाह योजना कार्यक्रम में पूरी तरह से अव्यवस्था रहा। काफी जोड़ों का शादी नहीं कराया गया। मात्र कुछ जोड़ों का शादी कराया गया जिसमें से 7 जोड़ों को बिना समान दिये वापस भेज दिये।
भागवत पट्टा समाज प्रमुख


Date : 09-Jul-2019

बरसों से बेरुखी झेल रहे कार्यकर्ताओं को अब मिलेगा काम-सिंहदेव

छत्तीसगढ़ संवाददाता 
मुंगेली, 9 जुलाई।
प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव के नगर आगमन पर पड़ाव चौक में शहर कांग्रेस अध्यक्ष रोहित शुक्ला व महिला कांग्रेस की अध्यक्ष ललिता सोनी के नेतृत्व में कांग्रेसियों ने भव्य स्वागत गाजे-बाजे व आतिशबाजी कर उत्साह पूर्वक किया। 

पार्टी के कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए टी.एस.सिहदेव ने कहा कि प्रदेश सरकार की मंशा और उसकी योजना से ग्रामीण स्तर पर रोजगार में बढ़ोतरी होगी। उन्होंने स्व सहायता समूह को बढ़ावा देने की भी बात कहते हुए कहा कि आने वाले दिनों में नए सिरे से राशन कार्ड बनेंगे और सभी वर्गों को 35 किलो चावल मिलेगा। इसके लिए उन्होंने ग्रामीणों को पंचायतों में अपना नाम दर्ज कराने और आधार कार्ड बनवाने की सलाह दी। वहीं उन्होंने चुटकी लेते हुए कहा कि सभी को 35 किलो चावल मिल सके इसके लिए भी परिवार को नियंत्रित रखें। अगर परिवार में हम दो हमारे दो के नियम का पालन किया जाएगा, तभी सरकार सभी को चावल दे पाएगी। उन्होंने कहा कि जो लोग आय कर देते हैं, उन्हें 10 रुपये किलो और जो नहीं देते, उनको एक रुपए किलो की दर पर यह चावल उपलब्ध कराया जाएगा।

 कमेटी हॉल में उन्होंने मुंगेली के नागरिकों को आश्वस्त किया कि मुंगेली विधानसभा में विकास कार्यों के लिए दो करोड़ रुपए का आवंटन होगा, वहीं उन्होंने अपने कार्यकर्ताओं को भी आश्वस्त किया कि बरसों से बेरुखी झेल रहे कार्यकर्ताओं को अब काम हासिल होगा, लेकिन उसके लिए उन्होंने कार्यकर्ताओं से एकजुट रहने का भी आह्वान किया।
 उन्होंने कहा कि बूथ में किए जा रहे परफॉर्मेंस के आधार पर ही उन्हें जवाबदारी दी जाएगी। स्वास्थ्य सुविधाओं का जिक्र करते हुए कहा कि कुछ दवाइयों की सूची सभी शासकीय अस्पतालों में चस्पा की जाएगी और उन्हें निशुल्क उपलब्ध कराया जाएगा। वहीं उन्होंने को मितानिनों को भी अपडेट रहने के लिए कहा, जिससे कि यह पता चले कि दवाइयों का स्टेटस क्या है। इसके लिए कांग्रेस कार्यकर्ताओं की भी जिम्मेदारी तय करने की बात उन्होंने कही।

 स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव ने कमेटी हॉल में जहां जनता को संबोधित किया, वहीं उनकी समस्याएं भी सुनी। कलेक्टर कार्यालय में समीक्षा के दौरान मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के माता बिन्देश्वरी देवी बघेल के निधन का समाचार मिलते ही कार्यक्रम स्थगित कर दो मिनट मौन धारण कर श्रद्धांजलि दी गई।

 कार्यक्रम में नेता प्रतिपक्ष एवं बिल्हा विधायक धरमलाल कौशिक, मुंगेली विधायक पुन्नूलाल मोहले, लोरमी विधायक धर्मजीत सिंह एवं बिलासपुर विधायक शैलेष पाण्डेय, अर्जुन तिवारी, जिपं अध्यक्ष कृष्णा बघेल, नपाध्यक्ष सावित्री सोनी, जिपं उपाध्यक्ष शत्रुहन चंद्राकर, जिपं सदस्य जागेश्वरी वर्मा,, अटल श्रीवास्तव, राकेश पात्रे, आत्मा सिंह क्षत्रिय, चुरावन मंगेश्कर, हेमेन्द्र गोस्वामी, स्वतंत्र मिश्रा, दुर्गा बघेल, रोहित शुक्ला, राजेंद्र शुक्ला, अनिल दास, राकेश तिवारी, सागर सिंह,राजेश छेदईया, सोम वर्मा, दिलीप बंजारा, अरविंद वैष्णव, संजय जायसवाल, राहुल सिंह, प्रिंसु दुबे, वैभव ताम्रकार, राजा माणिक, टीपू खान दीपक गुप्ता, देवेन्द्र वैष्ण्व, आरिफ खोखर, ललिता सोनी, वैशाली सोनी, मायारानी सिंह लोरमी, पथरिया अम्बालिका साहू, लतारानी वैष्णव, पुलिस अधीक्षक सीडी टंडन, डीएफओ एफ टोप्पो, जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी लोकेश चंद्राकर, अपर कलेक्टर राजेश नशीने सहित अन्य जनप्रतिनिधि एवं विभिन्न विभागों के अधिकारी उपस्थित थे।


Date : 09-Jul-2019

ठोस अपशिस्ट प्रबंधन का निष्पादन सुनिश्चित करें-कलेक्टर 

छत्तीसगढ़ संवाददाता
मुंगेली, 9 जुलाई।
अपर कलेक्टर राजेश नशीने की अध्यक्षता में सोमवार को कलेक्टोरेट स्थित मनियारी सभाकक्ष में मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी, खण्ड चिकित्सा अधिकारियों, खण्ड कार्यक्रम प्रबंधक एवं नगरीय निकाय के मुख्य नगर पालिका अधिकारियों की बैठक लेकर ठोस अपशिष्ट प्रबंधन के संबंध में समीक्षा की। 

उन्होंने जिला अस्पताल के सलाहकार, खण्ड चिकित्सा अधिकारियों, मुख्य नगर पालिका अधिकारियों को निर्देशित किया कि ठोस अपशिष्ट प्रबंधन का निष्पादन सुनिश्चित करें। इस कार्य को गंभीरता से लेते हुए कार्य संपादित करें, ताकि पर्यावरण प्रदूषण से बचा जा सकें। उन्होने कहा कि अनुपयोगी प्लास्टिक बॉटल, डिस्पोजल, दवाईयां को पर्यावरण की दृष्टि से जलाना या गड्ढ़े में दबाना सुनिश्चित करें, ताकि मानव जीवन पर प्रतिकूल प्रभाव न पड़े और प्रदूषण से बचा जा सकें। इस कार्य हेतु आबंटन राशि भी उपलब्ध कराया जाना चाहिए। 

छत्तीसगढ़ पर्यावरण मण्डल बिलासपुर से आई क्षेत्रीय अधिकारी श्रीमती यादव ने ठोस अपशिष्ट प्रबंधन के नियमों एवं निष्पादन कार्य के बारे में खण्ड चिकित्सा अधिकारियों, नगरीय निकाय के मुख्य नगर पालिका अधिकारियों को विस्तार से जानकारी दी। उन्होने कहा कि जलस्त्रोत से दूर पीट का निर्माण करें। उन्होने कहा कि टिटनेस, हाईपरटेंशन टीकाकरण की जानकारी एवं वार्षिक रिपोर्ट को डिस्प्ले करना भी जरूरी है। जिला स्तरीय मॉनिटरिंग कमेटी बनाई गई है जिसका 6 माह में बैठक होगी।

बैठक में डिप्टी कलेक्टर आरआर चुरेंद्र, जिला अस्पताल के सलाहकार सुरभि केशरवानी, मुंगेली नगर पालिका के मुख्य नगर पालिका अधिकारी राजेश गुप्ता, जिला टीकाकरण अधिकारी डॉ. कमलेश खैरवार, पथरिया सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र के खण्ड कार्यक्रम प्रबंधक सहित अन्य अधिकारी-कर्मचारी उपस्थित थे।

 


Date : 09-Jul-2019

मध्यान्ह भोजन से अंडा हटाये जाने की कबीरपंथी समाज ने मांग की

मुंगेली, 9 जुलाई। छत्तीसगढ़ सरकार द्वारा मध्यान्ह भोजन में अंडा शामिल करने से कबीरपंथी समाज नाराज है। कबीर पंथ समाज जिला मुंगेली ने मंत्री टी.एस. सिंहदेव को पत्र लिख कर राज्य के स्कूलों में मध्यान्ह भोजन के मेनू से अंडा को तत्काल हटाने की मांग की है। इसके साथ ही समाज ने चेतवानी भी दी है कि शासन द्वारा त्वरित कार्यवाही नहीं करने पर हमें आंदोलन करने के लिये बाध्य होना पड़ सकता है। कबीर पंथी समाज के एक प्रतिनिधिमंडल ने मंत्री से मिलकर अपनी मांग रखी है।