महासमुन्द

किट नहीं होने का बोर्ड लगाकर जिला अस्पताल टेस्टिंग सेंटर बंद किया
14-Apr-2021 4:51 PM 19
किट नहीं होने का बोर्ड लगाकर जिला अस्पताल टेस्टिंग सेंटर बंद किया

हमारे पास किट की कोई कमी नहीं है बल्कि 9 कर्मी ट्रेनिंग में गए हैं-सीएमएचओ 

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
महासमुंद, 14 अप्रैल।
महासमुंद में कई लोग लगातार दो दिनों से जिला अस्पताल परिसर व टाउन हॉल का चक्कर काट रहे हैं। यहां उन्हें किट नहीं होने के कारण वापस भेज दिया जा रहा है। 

कल मंगलवार को जिला अस्पताल परिसर के टेस्टिंग सेंटर में दोपहर 12 बजे से ही टेस्ट किट नहीं होने का बोर्ड लगाकर सेंटर को बंद कर दिया गया। यहां से निकलकर लोग टाउन हाल में भी टेस्ट कराने के लिए लंबे समय तक इंतजार करते रहे, लेकिन यहां टाउन हॉल में कोई भी स्वास््थ्यकर्मी नहीं पहुंचा। कई लोग दो दिनों तक लगातार टेस्टिंग के लिए महासमुंद में घूम रहे हैं लेकिन उनका टेस्ट नहीं हो रहा है। 

अब जाकर जानकारी मिली है कि जिला अस्पताल के कर्मचारी ट्रेनिंग के लिए राजधानी के मेकाहारा गए हैं। इनकी ट्रेनिंग शनिवार तक चलेगा। ट्रेनिंग खत्म होने के 2-3 दिन के अंदर लैब शुरू हो जाएगा।  यही कारण है कि टेस्ट कराने पहुंच रहे लोगों को वापस भेजा जा रहा है। कल मंगलवार को कोविड अस्पताल में व्याप्त अव्यवस्था, टेस्टिंग कम करने और टेस्टिंग सेंटर्स में सुविधाएं नहीं होने के विरोध में पूर्व विधायक डॉ विमल चोपड़ा ने जिला अस्पताल में प्रदर्शन किया। इस दौरान भाजपा नेताओं ने जमकर नारेबाजी की और अस्पताल के सामने ही धरने पर बैठ गए। 

जिला अस्पताल से मिली जानकारी के अनुासर महासमु्ंद में बायोलॉजी लैब को जल्द शुरू किया जाएगा। इसके लिए स्वास्थ्य विभाग के 9 अधिकारी राजधानी के मेकाहारा स्थित लैब में ट्रेनिंग ले रहे हैं। यह ट्रेनिंग एक सप्ताह की है, जिसके 2 से 3 दिन बाद महासमुंद का पुराना जिला चिकित्सालय स्थित वायरोलॉजी लैब शुरू हो जाएगी। यह ट्रेनिंग बीते शनिवार से शुरू हुई है जो आगामी शुक्रवार तक चलेगी। इसी कारण वर्तमान समय में जिले में टेस्टिंग का कार्य प्रभावित हुआ है। मंगलवार को जिला मुख्यालय के खरोरा और टाउन हॉल में इसके चलते टेस्ट नहीं हो पाया। इसी के चलते लोगों को काफी परेशानियों का सामना भी करना पड़ रहा है।

हालात यह है कि मंगलवार को जिला अस्पताल परिसर के टेस्टिंग सेंटर में दोपहर 12 बजे से ही टेस्ट किट नहीं होने का बोर्ड लगाकर सेंटर को बंद कर दिया गया। यहां से निकलकर लोग टाउन हाल में भी टेस्ट कराने के लिए लंबे समय तक इंतजार करते रहे, लेकिन कोई भी स्वास्थ्य कर्मी टाउन हॉल नहीं पहुंचा।

इस संबंध में सीएमएचओ डॉ.एनके मंडपे कहते हैं कि हमारे पास किट की कोई कमी नहीं है बल्कि 9 कर्मी ट्रेनिंग में गए हैं। जिसके कारण व्यवस्था प्रभावित हो रही है। जिले में जल्द वायरोलॉजी लैब शुरू होने वाली है। कर्मचारियों की ट्रेनिंग शनिवार तक चलेगा। इसके 2 से 3 दिन के अंदर लैब शुरू हो जाएगा और लोगों को जल्द रिपोर्ट मिलेगी। 
 

अन्य पोस्ट

Comments