कोण्डागांव

भारत के कोने-कोने से आए शिल्पियों की प्रदर्शनी व सांस्कृतिक कार्यक्रम
17-Oct-2021 7:09 PM (49)
भारत के कोने-कोने से आए शिल्पियों की प्रदर्शनी व सांस्कृतिक  कार्यक्रम

कोण्डागांव,17  अक्टूबर। गुरुवार को जिला मुख्यालय में नवनिर्मित शिल्पनगरी में कोंडानार हस्तशिल्प महोत्सव का शुभारंभ राज्य हस्तशिल्प बोर्ड के अध्यक्ष एवं विधायक नारायणपुर चंदन कश्यप द्वारा किया गया। इस अवसर पर जिला पंचायत अध्यक्ष देवचंद मातरम एवं कलेक्टर पुष्पेंद्र कुमार मीणा भी उपस्थित रहे। इस आयोजन में पारंपरिक लोक नृतकों द्वारा  मुख्य अथितियों का स्वागत किया गया।

उत्तर प्रदेश, बिहार, पश्चिम बंगाल से भी पहुंचे हैं शिल्पकार
इसके पश्चात पारंपरिक रूप से जनजाति नृत्यों एवं सांस्कृतिक कार्यक्रमों का भी आयोजन किया गया था। इस दौरान आये अतिथियों द्वारा शिल्पकारों द्वारा अपनी कलाओं के प्रदर्शन हेतु लगाई गई प्रदर्शनी का अवलोकन किया। जहां कोण्डागांव के साथ राज्य के विभिन्न कोनों एवं अन्य राज्यों से आए शिल्पकारों की कलाओं को देखकर सभी ने शिल्पकारों की सराहना की। ज्ञात हो कि इस महोत्सव में भाग लेने के लिए वाराणसी से बनारसी हैंडलूम, भागलपुर बिहार से भागलपुरी सिल्क एवं पश्चिम बंगाल से बंगाली सिल्क के प्रदर्शन हेतु शिल्पकार आए हैं। इसके अतिरिक्त नारायणपुरए रायपुर जांजगीर चांपा आदि जिलों से भी शिल्पकार प्रदर्शन हेतु अपनी कलाकृतियां लेकर आए हुए थे। इस दौरान सभी शिल्पकारों का  राज्य हस्तशिल्पों बोर्ड के अध्यक्ष चंदन कश्यप द्वारा सम्मनित किया गया।

इस अवसर पर हस्तशिल्प बोर्ड के अध्यक्ष श्री कश्यप ने कहा कि यह पहली बार है कि जिला प्रशासन के प्रयासों से जिले के स्थानीय शिल्पकारों को एक नया मंच दिलाने के लिए वृहद स्तर पर प्रदर्शनी एवं महोत्सव का आयोजन किया गया है। ऐसे आयोजनों से शिल्पकारो को ना सिर्फ प्रोत्साहन मिलता है बल्कि उनकी कलाकृतियों के विक्रय होने से उन्हें आमदनी भी प्राप्त होती है। कोरोना काल में छोटे.छोटे शिल्पकारों के समक्ष रोजी रोटी का संकट खड़ा कर दिया है ऐसे में इस प्रकार के आयोजनों से उन्हें मदद मिलेगी। इस दौरान उन्होंने लोगों से अपील की कि वह जितना अधिक से अधिक हो सके हस्तशिल्प से बनी सामग्रियों को खरीदें ताकि हमारी प्राचीन कलाओं की विरासत को हम संरक्षित कर सकें।

इस महोत्सव के प्रति लोगों में खासा उत्साह देखा गया। छुट्टियों में जहां लोग प्रतिदिन यहां आकर शिल्पकारों की प्रतिभाओं का अवलोकन कर रहे हैं। वही इस महोत्सव में आयोजित होने वाले पारंपरिक सांस्कृतिक नृत्यों का भी आनंद ले रहे हैं। महोत्सव में 15 अक्टूबर को गरबा 16 अक्टूबर को कोण्डागांव आर्केस्ट्रा, 17 अक्टूबर को कवि सम्मेलन 19 अक्टूबर को जगदलपुर आर्केस्ट्रा, 20 अक्टूबर को ज्वेलरी लॉन्च एवं ट्राइबल फैशन शो, 23 अक्टूबर को चांवरा स्कूल के विद्यार्थियों द्वारा नृत्य प्रस्तुति एवं 24 अक्टूबर को प्रमाण पत्र वितरण का कार्यक्रम रखा गया है। वही 18ए 21 एवं 22 अक्टूबर को ओपन स्टेज रखा जाएगा। जहां पर कोई भी व्यक्ति आकर अपनी प्रतिभा का मंचन कर सकता है। इसके लिए वे शिल्पनगरी में स्थित रजिस्ट्रेशन काउंटर पर जाकर अथवा व्हाट्सएप के माध्यम से मोबाइल नंबर 94064544 01 पर रजिस्ट्रेशन करा सकते हैं।
 

अन्य पोस्ट

Comments