राजनांदगांव

नांदगांव के छात्रावासों पर निगरानी के लिए बनी प्रशासनिक टीम
28-Sep-2021 12:26 PM (80)
नांदगांव के छात्रावासों पर निगरानी के लिए बनी प्रशासनिक टीम

   जशपुर में हुए रेप के बाद कलेक्टर की अगुवाई में छात्रावासों पर टीम की निगाह  

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

राजनांदगांव, 28 सितंबर। जशपुर में दिव्यांग के साथ हुए दुष्कर्म की घटना के बाद कलेक्टर तारन प्रकाश सिन्हा ने प्रशासनिक अधिकारियों को राजनांदगांव जिले  के छात्रावासों की सुरक्षा की जिम्मेदारी सौंपी है। इसके लिए अलग-अलग अधिकारियों को आकस्मिक निरीक्षण से लेकर अंदरूनी सुरक्षा पर पैनी नजर रखने के निर्देश दिए गए हैं। बताया जा रहा है कि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के निर्देश के बाद छात्रावासों और आश्रम के विद्यार्थियों की सुरक्षा पर विशेष ध्यान देने टीम का गठन किया गया है। खासतौर पर बालिका छात्रावासों के लिए टीम अलर्ट रहेगी।

बताया जा रहा है कि कलेक्टर ने सभी एसडीएम को आश्रम एवं छात्रावास का सतत निगरानी करने के निर्देश दिए है। कलेक्टर ने कहा कि आश्रम एवं छात्रावास में किसी तरह की लापरवाही होने पर कड़ी कार्रवाई की जाएगी। जांच के लिए मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत लोकेश चंद्राकर की आस्था मूकबधिर शाला बसंतपुर, अपर कलेक्टर सीएल मारकण्डेय  की अभिलाषा अस्थिबाधित एवं दृष्टि बाधित शाला, अनुविभागीय अधिकारी राजस्व मुकेश रावटे  की मनोकामना मनोविकास शाला बल्देवबाग तथा शासकीय बौद्धिक मंद बालक एवं बालिका विशेष विद्यालय आरके नगर चौक का निरीक्षण करने के लिए ड्यूटी लगाई गई।

इसी तारतम्य में जांच अधिकारी जिला पंचायत सीईओ लोकेश चंद्राकर, अपर कलेक्टर सीएल मारकण्डेय एवं अनुविभागीय अधिकारी अधिकारी राजस्व मुकेश रावटे ने सोमवार को सभी विशेष विद्यालयों का निरीक्षण किया। इस दौरान सभी व्यवस्था संतोषजनक पाई गई। जांच अधिकारियों ने संस्थाओं को बच्चों की सुरक्षा का ध्यान रखने तथा शासन के निर्देशों के अनुरूप संस्थान संचालित करने के निर्देश दिए। संस्था परिसर में साफ-सफाई है। जिला मुख्यालय के अतिरिक्त सभी एसडीएम द्वारा अपने अनुविभाग में आश्रम एवं छात्रावासों का निरीक्षण किया गया।

अन्य पोस्ट

Comments