राष्ट्रीय

12-Apr-2021 3:19 PM 19

चंडीगढ़, 12 अप्रैल | पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने सोमवार को कोरोनावायरस वैक्सीन की दूसरी खुराक ली। उन्होंने सभी पात्र लोगों से फिर से अपील की कि वे स्वयं की सुरक्षा और अपने परिवार और समाज के लिए टीकाकरण करवाने के लिए आगे आएं।

एक दिन पहले, मुख्यमंत्री ने अभिनेता सोनू सूद को राज्य सरकार के कोविड टीकाकरण कार्यक्रम का ब्रांड एंबेसडर नियुक्त करने की घोषणा की थी।

अमरिंदर ने कहा था, "वैक्सीन लेने के लिए लोगों को प्रेरित और प्रभावित करने के लिए सोनू सूद से अधिक उपयुक्त व्यक्ति और कोई नहीं है।

उन्होंने कहा था, "पंजाब में लोगों के बीच बहुत झिझक है। उनके बीच सोनू की लोकप्रियता, और हजारों प्रवासियों को सुरक्षित घर तक पहुंचाने में उनकी अनुकरणीय योगदान लोगों को प्रभावित करेगा।" (आईएएनएस)
 


12-Apr-2021 2:20 PM 16

भारत में अब स्पष्ट होने लगा है कि कोरोना वायरस संक्रमण की ताजा लहर पिछले सारी लहरों से ज्यादा खतरनाक है. देश में अब रोजाना डेढ़ लाख से भी ज्यादा नए मामले सामने आ रहे हैं और अब कोविड-19 से मृत्यु के मामले भी बढ़ रहे हैं.

    डॉयचे वैले पर चारु कार्तिकेय की रिपोर्ट 

पिछले 24 घंटों में देश में करीब 1,69,000 नए मामले सामने आए और 904 लोगों की मौत हो गई. यह पिछले साल हुई महामारी की शुरुआत से पहली बार है जब एक दिन में इतने मामले सामने आ रहे हैं. महाराष्ट्र, गुजरात, दिल्ली, छत्तीसगढ़, उत्तर प्रदेश, कर्नाटक, केरल, मध्य प्रदेश, राजस्थान समेत कई राज्यों का बुरा हाल है. कुछ दिनों पहले तक सिर्फ नए मामले बढ़ रहे थे जबकि अस्पताल में भर्ती होने की दर और मृत्यु दर कम ही थी. 

लेकिन अब धीरे धीरे इन दोनों दरों में बढ़ोतरी हो रही है और अस्पतालों पर दबाव बढ़ रहा है. महाराष्ट्र में पिछले 24 घंटों में 63,000 से भी ज्यादा नए मामले सामने आए और 349 लोगों की मृत्यु हो गई. राज्य में सप्ताहांत पर तालाबंदी लागू है. राज्य सरकार संपूर्ण तालाबंदी लगाने पर भी विचार कर रही है, लेकिन इस पर अभी फैसला नहीं लिया गया है.

दिल्ली में एक दिन में नए मामलों का ताजा आंकड़ा 10,000 पार कर गया है. राष्ट्रीय राजधानी में रात का कर्फ्यू लागू है और कई तरह की बैठकों पर प्रतिबंध लगा दिया गया है. शादियों में सिर्फ 50 और अंत्येष्टि पर अधिकतम 20 लोगों की उपस्थिति की सीमा तय कर दी गई है. दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा है कि अभी तो तालाबंदी की आवश्यकता नहीं है लेकिन अगर अस्पतालों में दबाव ज्यादा बढ़ गया तो तालाबंदी भी लगानी पड़ सकती है.

आर्थिक रूप से कमजोर परिवार महामारी के साथ तालाबंदी के असर के भी डर में जी रहे हैं. पिछले साल की तालाबंदी ने करोड़ों लोगों की आजीविका छीन ली थी और बड़ी संख्या में परिवारों को आर्थिक धक्का पहुंचाया था. अगर तालाबंदी दोबारा लागू होती है तो इन परिवारों का बुरा हाल हो जाएगा. इस बीच देश में वैक्सीन और दवा दोनों की कमी की खबरें भी आ रही हैं.

कई राज्य सरकारों ने वैक्सीन की कमी के बारे में बताया है, लेकिन केंद्र सरकार का कहना है कि वैक्सीन का पर्याप्त स्टॉक देश में उपलब्ध है. हालांकि कोरोना के इलाज में कारगर साबित हुई दवा रेमदेसिविर की कमी की बात केंद्र सरकार ने भी स्वीकार की है. हालात को देखते हुए इस दवा के निर्यात पर रोक लगा दी गई है. महामारी की इतनी चिंताजनक स्थिति के बावजूद हरिद्वार में कुंभ मेला और पश्चिम बंगाल में चुनाव के चलते रहने पर स्वास्थ्य विशेषज्ञ चिंता जता रहे हैं.

हरिद्वार में लाखों लोग मेले में हिस्सा ले रहे हैं और मास्क पहनने, सामाजिक दूरी बनाए रखने जैसे किसी नियम का पालन नहीं हो रहा है. पश्चिम बंगाल में भी चुनावी रैलियों में भारी भीड़ देखी जा रही है और देश के शीर्षस्थ पदों पर बैठे हुए नेता भी मास्क पहनने और सामाजिक दूरी बनाए रखने जैसे दिशा निर्देशों का ना खुद पालन कर रहे हैं और ना दूसरों से ऐसा करने की अपील कर रहे हैं. (dw.com)

 

 


12-Apr-2021 2:15 PM 14

मिनियापोलिस के उत्तर-पश्चिम में ब्रुकलिन केंद्र में पुलिस स्टेशन के बाहर सैकड़ों लोग जमा हुए और पुलिस द्वारा अश्वेत व्यक्ति को गोली मारे जाने का विरोध किया.

  (dw.com)

रविवार रात को मिनियापोलिस में 20 साल के अश्वेत को पुलिस की तरफ से गोली मार दिए जाने के खिलाफ जमकर विरोध हुआ. मिनियापोलिस के उपनगर में इस शख्स को गोली मारी गई थी. जॉर्ज फ्लॉयड की हत्या के मामले में मिनियापोलिस के पूर्व पुलिस अधिकारी पर इस वक्त मुकदमा चल रहा है. इस पूर्व पुलिस अधिकारी के खिलाफ मुकदमे का आज से तीसरा सप्ताह शुरू हुआ है. रविवार रात ब्रुकलिन में सैकड़ों लोग पुलिस स्टेशन के बाहर जमा हुए और अश्वेत की मौत का विरोध किया, इस दौरान पुलिस ने भीड़ को तितर बितर करने के लिए आंसू गैस के गोले दागे.

आधी रात तक नेशनल गार्ड की टीम मौके पर पहुंच चुकी थी. ब्रुकलिन केंद्र के मेयर ने कहा, "शीघ्र ही कर्फ्यू आदेश जारी किया जाएगा." 20 साल के डाउंटे राइट की मां ने रविवार शाम को लोगों से कहा कि उनके बेटे ने फोन कर बताया कि पुलिस ने उन्हें रोक लिया है. केटी राइट ने कहा कि उन्होंने सुना कि पुलिस ने उनके बेटे को फोन नीचे रखने को कहा और एक अधिकारी ने बाद में फोन बंद कर दिया. उसके कुछ देर बाद डाउंटे राइट की महिला मित्र ने फोन कर बताया कि उसे गोली मार दी गई.

ब्रुकलिन पुलिस विभाग के एक बयान के मुताबिक अधिकारियों ने एक ड्राइवर को ट्रैफिक उल्लंघन के लिए रोका था. जब उन्हें पता चला कि उस शख्स के खिलाफ एक वारंट जारी है तो पुलिस ने उन्हें हिरासत में लेने की कोशिश की. वह कार में दाखिल हो गया और एक अधिकारी ने फायरिंग कर दी, गोली ड्राइवर को लगी और वह मौके पर मारा गया.

यह गोलीबारी ऐसे समय में हुई है जब श्वेत अधिकारी डेरेक चॉविन पर जॉर्ज फ्लॉयड की हत्या पर कोर्ट में सुनवाई चल रही है. फ्लॉयड की मौत के बाद अमेरिका में कई महीने तक विरोध प्रदर्शन हुए थे और पुलिस पर रंगभेद का आरोप लगा था.

एए/सीके (एएफपी)
 


12-Apr-2021 9:58 AM 29

-सुनील कुमार

उत्‍तर प्रदेश के संभल से 90 साल के समाजवादी पार्टी के सांसद शफीकुर्रहमान बर्क ने अब तक कोरोना वैक्सीन नहीं लगवाई है. दरअसल संभल में पत्रकारों ने सांसद शफीकुर्रहमान बर्क से वैक्सीन को लेकर सवाल किया, जिस पर सांसद का जबाब सुन कर कोई भी हैरान हो सकता है. सांसद बोले कि बगैर वैक्सीन के वे अल्लाह की हिफाजत में हैं. मेरी जिंदगी और मौत किसी के बस में नहीं. अभी बहुत कुछ काम करना है.

उन्‍होंने कहा क‍ि वैक्सीन मुल्क का मामला है औ वह इसे मुल्क का मामला मानते हैं. पत्रकारों ने जब उनकी उम्र 80 बताई तो सांसद बोले वह 90 के हैं. इस बीच पत्रकाऱों ने कहा कि मौलानाओं ने भी वैक्सीन लगवाने को कहा है आप कब वैक्सीन लगवाएंगे? आप 90 के हैं तो आप कब लगवाएंगे वैक्सीन? सांसद का अब जो जबाब आया वह और भी चौंकाने वाला है. सपा सांसद ने कहा क‍ि अभी उन्हें वैक्सीन की जरूरत नहीं है.

आपको बताते चलें कि अपने बयानों को लेकर चर्चा में रहने वाले संभल सांसद डॉक्टर शफीकुर्रहमान बर्क के नाम से भी जाने जाते हैं. अब बड़ा सवाल यह है कि सांसद के अलावा डॉक्टर भी कहे जाने वाले संभल के सांसद को जब वैक्सीन की अब भी जरूरत नहीं है तब भला किसको वैक्सीन की सबसे ज्यादा जरूरत है. यह तो सांसद ने नहीं बताया.

अलबत्ता सांसद का वैक्सीन को लेकर जबाब तब और ज्यादा चर्चा में आ जाता है जब सांसद की पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव यूपी में वैक्सीन की कमी का आरोप लगा रहे हैं. वहीं संभल में पर्याप्त वैक्सीन भी है लेकिन उनकी पार्टी के सबसे बुजुर्ग सांसद शफीकुर्रहमान बर्क न वैक्सीन लगवा रहे हैं और न ही यह बता रहे कि वे कब वैक्सीन लगवाएंगे?


12-Apr-2021 9:53 AM 59

 

-सुमित कुमार

पानीपत. हरियाणा के पानीपत जिले के राधे कृष्ण मंदिर के पुजारी के बेटे पर संगीन आरोप लगे हैं. आरोप है कि उसने अपनी नौकरानी को प्रेम जाल में फंसाकर 6 साल तक यौन शोषण किया. यहां तक की आरोपी ने पीड़ित के साथ बिना फेरों के मंदिर में शादी भी रचाई और अब उस पर तालाक का दबाव बना रहा है जिसकी शिकायत लेकर पीड़ित महिला सीडब्ल्यूसी के आरोप में पहुंची और सारी आपबीती सुनाई.

पीड़िता ने बताया कि वो आरोपी के घर काम करने जाती थी और कुछ ही महीनों बाद पुजारी का बेटा उससे यौन शोषण करने लगा. लगभग 6 साल तक पुजारी का बेटा महापाप करता रहा. बाद में साल 2019 में दोनों ने शादी कर ली और शादी के बाद 6 महीने तक उसे एक किराए के मकान में रखा और फिर उसके बाद बार-बार उसके माता-पिता से दहेज के नाम से पैसों की मांगता रहा. जब उनके पास पैसे खत्म हो गए तो उस पर तलाक का दबाव बनाया जाने लगा.

सीडब्ल्यूसी की चेयरमैन पदमा रानी ने बताया कि 18 मार्च 2020 को पीड़िता ने हमारे कार्यालय में शिकायत दी कि राधा कृष्ण मंदिर में 2012 से किराए के मकान में रह रहे हैं. उसी मंदिर के ऊपरी हिस्से में सतीश शर्मा पंडित का परिवार भी रहता है. जब वह किराए पर रहती थी तो पीड़िता नाबालिग थी तब आरोपी के परिवार वालों ने उसे घर पर काम करने के 5 हजार में रखा था. 2 महीने काम करने के बाद आरोपी के परिवार वालों ने उसे पैसा नहीं दिया तो इस दौरान सतीश शर्मा के बेटा लड़की से प्रेम की बातें करने लगा.  उसके बाद में उसके साथ यौन शोषण करने लगा.

लड़की के साथ किराए के मकान में रहा
पदमा रानी ने बताया कि आरोपियों ने उस लड़की के साथ मजदूरी जैसा काम करवाया और उसकी पढ़ाई छुड़वाई. जब भी समय लगता उसका पुत्र भावुक लड़की के साथ रेप करता रहता.  पीड़िता के परिवार वालों को पता चलने पर शिकायत देने की बात कही तो परिवार वालों ने लड़की से शादी करने की बात कही. 2019 में मंदिर में बुलाकर अकेले लड़का आया और वरमाला डाल तो उस लड़की से शादी की. उसके बाद लड़की के साथ किराए के मकान में रहने लगा.

7 लोगों के खिलाफ केस दर्ज

उन्होंने कहा कि लड़की के साथ कोई शादी नहीं हुई कोई फेरे एवं मंत्र उच्चारण नहीं हुए. इसके बाद उसके साथ मारपीट करते और  दहेज के नाम से लाखों रुपए मांगते थे. पीड़िता के पिता ने लगभग डेढ़ लाख रुपया लड़के को दिया. पदमा रानी ने कहा कि जब इसके साथ यौन शोषण हुआ तब यह नाबालिग थी लेकिन अब वह बालिग है तो सीडब्ल्यूसी ने आदेश पारित करते हुए किला थाने को आरोपियों के खिलाफ सख्त से सख्त कार्यवाही करने के आदेश दिए है. पुलिस ने 7 लोगों के खिलाफ दहेज का मामला दर्ज कर लिया. (news18.com)


11-Apr-2021 8:31 PM 20

पटना, 11 अप्रैल | बिहार पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी को पश्चिम बंगाल के उत्तरी दिनाजपुर जिले में भीड़ ने पीट-पीटकर मार डाला गया था। इसके एक दिन बाद, कटिहार जिले में पुलिस दल पर स्थानीय गुंडों का हमला करने का एक वीडियो रविवार को वायरल हुआ। बारसोई पुलिस स्टेशन के एसएचओ सुनील कुमार ने कहा है कि यह घटना 7 अप्रैल को हुई थी और इस मामले के सिलसिले में दो लोगों को गिरफ्तार किया गया था, जिसमें चार लोग घायल हो गए थे।

पुलिस ने कहा, "नशे में धुत कुछ लोग रघुनाथपुर गांव में छिपे हुए थे, जिसके बाद एक टिप पर कार्रवाई करते हुए एएसआई संजय कुमार के नेतृत्व में एक पुलिस दल वहां छापा मारने गया। स्थानीय गुंडों के एक समूह, संभवत: शराब माफियाओं का एक समूह वहां पहुंचा गया और तीन अन्य महिला कांस्टेबल सहित चार पुलिस कर्मियों के साथ बेरहमी से मारपीट की।"

कुछ पुलिसकर्मी मौके से भागने में सफल रहे लेकिन हमले में संजय और तीन अन्य महिला कांस्टेबल घायल हो गए।

पीड़ितों का कटिहार के सदर अस्पताल में इलाज चल रहा है और उनकी स्थिति स्थिर बताई जा रही है।

कुमार ने कहा, "17 लोगों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की जा रही है, जिनमें से 15 की पहचान नहीं की जा सकी है।" (आईएएनएस)


11-Apr-2021 8:30 PM 22

बेंगलुरू, 11 अप्रैल (आईएएनएस)| प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को कर्नाटक को सलाह दी कि राज्य में फैले वायरस की जांच के लिए माइक्रो कंटेंट जोन पर ध्यान दिया जाए। राज्य के मुख्यमंत्री बी. एस. येदियुरप्पा ने रविवार को यह जानकारी दी। येदियुरप्पा ने कन्नड़ में किए गए एक ट्वीट में कहा, "प्रधानमंत्री से बात हुई है और उन्हें राज्य में महामारी की दूसरी लहर को कम करने के लिए किए गए उपायों से अवगत कराया गया है। उन्होंने हमारी सरकार के प्रयासों की सराहना की और हमें संक्रमण के प्रसार को रोकने के लिए मिनी कंटेनमेंट जोन पर ध्यान केंद्रित करने का सुझाव दिया है।"

देश भर में महामारी की दूसरी लहर को देखते हुए संक्रमण से निपटने को लेकर मोदी ने मुख्यमंत्रियों के साथ बातचीत की है।

येदियुरप्पा ने कहा, "प्रधानमंत्री ने परीक्षण बढ़ाने पर जोर दिया है और राज्य को माइक्रो कंटेनमेंट जोन पर ध्यान केंद्रित करने के साथ ही एम्बुलेंस, ऑक्सीजन की आपूर्ति और वेंटिलेटर सुनिश्चित करने की सलाह दी है।"

राज्य के स्वास्थ्य बुलेटिन के अनुसार, राज्य में शुक्रवार को 7,955 के मुकाबले शनिवार को 6,955 नए मामले सामने आए। इनमें से बेंगलुरू में शनिवार को 4,384 नए मामले दर्ज किए गए और राज्य भर में हुई 36 मौतों में से बेंगलुरू में 19 मौतें हुईं।

इस बीच वैक्सीन उत्सव पूरे राज्य में शुरू किया गया है, ताकि पात्र नागरिकों को वैक्सीन की खुराक उपलब्ध कराई जा सके और उन्हें संक्रमण से बचाया जा सके।

एक अन्य ट्वीट में येदियुरप्पा ने कहा, "कोविड-19 के खिलाफ इस लड़ाई में वैक्सीन हमारे लिए सबसे बड़ा हथियार है। मैं सभी योग्य नागरिकों से आग्रह करता हूं कि वे टीका लगवाएं और दूसरों को भी टीका लगवाने के लिए प्रोत्साहित करें। आइए हम फेस मास्क पहनकर सुरक्षित रहें और सामाजिक दूरी का पालन करें।"

शनिवार को राज्य भर में 45-59 वर्ष आयु वर्ग के 58,945 और 60 वर्ष से ऊपर के 43,179 लोगों को टीका लगाया गया था।

बुलेटिन में कहा गया है कि राज्य भर में टीकाकरण अभियान शुरू होने के बाद से अब तक 56,26,481 लोग वैक्सीन की खुराक प्राप्त कर चुके हैं।


11-Apr-2021 8:29 PM 26

नई दिल्ली, 11 अप्रैल | चोरी के केस में छापामारी करने गए बिहार के पुलिसकर्मी अश्वनी कुमार की पश्चिम बंगाल सीमा में हुई हत्या पर विश्व हिंदू परिषद ने आक्रोश जताया है। विश्व हिंदू परिषद ने हत्यारों को फांसी की सजा की मांग करते हुए बांग्लादेशी घुसपैठियों को देश से बाहर करने का मुद्दा उठाया। किशनगंज थानाध्यक्ष अश्विनी कुमार टीम के साथ किशनगंज से सटे बंगाल के बनतापारा में छापा मारने गए थे जहां उन्हें भीड़ ने पीट-पीटकर मार डाला। विश्व हिंदू परिषद के केंद्रीय महामंत्री मिलिंद परांडे ने कहा है कि पश्चिमी बंगाल के उत्तरी दिनाजपुर जिले के पंजीपारा थाना क्षेत्र के पंथापड़ा गांव में हुई यह नृशंस वारदात, पहली घटना नहीं है। बंग्लादेशी घुसपैठियों, शराब व तस्करी के लिए कुख्यात इस क्षेत्र में पहले भी अनेक बार सुरक्षा बलों पर हमले हुए हैं। किन्तु, बंगाल के स्थानीय पुलिस-प्रशासन की उदासीनता व राजनैतिक संरक्षण के चलते यह क्षेत्र अपराधियों का स्वर्ग बन चुका है। आतंकियों के स्लीपर सेल बनकर भारत की आंतरिक सुरक्षा के लिए भी खतरा हैं। इन हत्यारों, अपराधियों तथा अवैध घुसपैठियों की इन गतिविधियों पर पूर्ण विराम जरूरी है।


विश्व हिंदू परिषद के महामंत्री परांडे ने कहा कि बिहार का सीमावर्ती जिला होने के कारण अपराधी बिहार में कांड कर आसानी से बंगाल में शरण ले लेते हैं और यदि वहां की पुलिस जांच के लिए जाती है तो वे उस पुलिस पार्टी के जानी दुश्मन बन जाते हैं। थानाध्यक्ष अश्वनी कुमार के बलिदान पर उनके परिजनों के प्रति अपनी गहरी संवेदना व्यक्त करते हुए विहिप महामंत्री ने यह भी कहा कि अब इन बंग्लादेशी घुसपैठियों को चुन-चुन कर सीमा पार किया जाना तथा उनके राजनैतिक संबंधों को सार्वजनिक किया जाना भी नितांत आवश्यक है।

 (आईएएनएस)


11-Apr-2021 8:27 PM 23

नई दिल्ली, 11 अप्रैल (आईएएनएस)| भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने रविवार को चुनाव आयोग से तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) नेता सुजाता मंडल खान पर अनुसूचित जाति (एससी) समुदाय के खिलाफ अपमानजनक टिप्पणी करने का आरोप लगाया और उन पर आवश्यक कार्रवाई करने का आग्रह किया। यहां रविवार को केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी के नेतृत्व में भाजपा प्रतिनिधिमंडल ने ईसीआई से मुलाकात की और उन्हें ज्ञापन सौंपा। पार्टी के सांसद दुष्यंत गौतम, हंसराज हंस और सुनीता दुग्गल प्रतिनिधिमंडल का हिस्सा थे।

भाजपा के ज्ञापन में कहा गया है, "टीएमसी की सुजाता मंडल खान ने कहा है : भले ही ममता बनर्जी ने गरीब एससी की मदद की हो, फिर भी उनकी कमी कभी कम नहीं होगी। एक कहावत है कि कुछ स्वभाव से भिखारी होते हैं जबकि अन्य परिस्थितियों से भिखारी होते हैं। यहां अनुसूचित जातियां स्वभाव से भिखारी हैं।"

ज्ञापन में कहा गया है कि उनका बयान और आचरण न केवल संवैधानिक सिद्धांतों का उल्लंघन करता है, बल्कि आदर्श आचार संहिता (एमसीसी) का भी उल्लंघन है।

भाजपा ने कहा कि यह बयान द रिप्रेजेंटेशन ऑफ पीपल एक्ट, 1951 की धारा 125 के तहत भी अपराध है, क्योंकि यह दो समुदायों के बीच नफरत और दुश्मनी पैदा करने का इरादा रखता है। इसलिए आयोग चुनावी कानूनों, भारतीय दंड संहिता, अनुसूचित जाति और जनजाति (अत्याचार निवारण) अधिनियम 1989 और मॉडल के प्रावधानों के अनुसार सुजाता मंडल खान और टीएमसी के नेतृत्व के खिलाफ आवश्यक कार्रवाई करे।


11-Apr-2021 8:26 PM 19

नई दिल्ली, 11 अप्रैल | कोविड-19 के बढ़ते मामलों के बीच, कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने सरकार से सीबीएसई बोर्ड परीक्षा आयोजित करने पर पुनर्विचार करने के लिए कहा है और निर्णय लेने से पहले सभी हितधारकों से परामर्श करने की सलाह दी। राहुल गांधी ने एक ट्वीट में कहा, "विनाशकारी कोरोना के दूसरी लहर के तत्वाधान में, सीबीएसई परीक्षा आयोजित करने पर पुनर्विचार किया जाना चाहिए। सभी हितधारकों को व्यापक निर्णय लेने से पहले सलाह लेनी चाहिए।"

उन्होंने कहा, "भारत के युवाओं के भविष्य के साथ भारत सरकार कितना खेलेगी।"

इससे पहले दिन में कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक को पत्र लिखकर सीबीएसई परीक्षा नहीं करवाने का आग्रह किया था।(आईएएनएस)


11-Apr-2021 8:21 PM 19

नई दिल्ली, 11 अप्रैल | कोविड-19 मामलों में हालिया उछाल के मद्देनजर, भारत ने रविवार को स्थिति में सुधार होने तक रेमडेसिविर इंजेक्शन और एक्टिव फार्मास्युटिकल इंग्रीडिएंट्स (एपीआई) के निर्यात पर रोक लगा दी है। स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय के एक बयान में कहा गया है कि रेमडेसिविर की मांग में अचानक बढ़ोतरी के बाद यह कदम उठाया जा रहा है, जिसका इस्तेमाल कोविड-19 रोगियों के इलाज में किया जाता है।

देश में कोरोनावायरस के मामले लगातार बढ़ रहे हैं और रविवार को भारत में सक्रिय (एक्टिव) कोविड मामलों की संख्या 11.08 लाख हो चुकी है।

मंत्रालय ने एक बयान में कहा, "आने वाले दिनों में इंजेक्शन रेमडेसिविर और एक्टिव फार्मास्युटिकल इंग्रीडिएंट्स (एपीआई) की मांग में और वृद्धि होने की संभावना है।"

बयान में कहा गया है, "उपरोक्त बढ़ते कोविड मामलों के आलोक में, भारत सरकार ने स्थिति में सुधार होने तक इंजेक्शन रेमडेसिविर और एक्टिव फार्मास्युटिकल इंग्रीडिएंट्स (एपीआई) के निर्यात पर रोक लगा दी है।"

गिलियड साइंसेज, अमेरिका के साथ सात भारतीय कंपनियां स्वैच्छिक लाइसेंसिंग समझौते के तहत इंजेक्शन रेमडेसिविर का उत्पादन कर रही हैं। उनके पास प्रति माह लगभग 38.80 लाख यूनिट्स की स्थापित क्षमता है।

इसके अलावा, केंद्र सरकार ने अस्पताल और रोगियों की आसानी से पहुंच सुनिश्चित करने के लिए कई कदम उठाए हैं।

वहीं इसको बनाने वाली सभी कंपनियों को सलाह दी गई है कि वो अपनी वेबसाइट पर स्टॉक और डिस्ट्रीब्यूटर्स की जानकारी दें, ताकी प्रशासनिक टीम कालाबाजारी को रोक सके। आने वाले दिनों में दवा की मांग और बढ़ सकती है, जिस वजह से इसके उत्पादन को बढ़ाने पर भी जोर दिया जा रहा है।

मंत्रालय ने कहा है कि इसके लिए ड्रग्स इंस्पेक्टर और अन्य अधिकारियों को स्टॉक को सत्यापित करने और खराबी की जांच करने के लिए निर्देशित किया गया है। इसके साथ ही जमाखोरी और कालाबाजारी पर अंकुश लगाने के लिए अन्य प्रभावी कार्रवाई भी की जा रही है।

बयान के अनुसार, राज्य के स्वास्थ्य सचिव संबंधित राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों के ड्रग इंस्पेक्टरों के साथ इसकी समीक्षा करेंगे। फार्मास्युटिकल्स विभाग ने घरेलू प्रोड्यूसर्स के साथ मिलकर इस इंजेक्शन के उत्पादन को बढ़ावा दिया है।

राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों को सलाह दी गई है कि इन कदमों को फिर से सभी अस्पतालों, सार्वजनिक और निजी क्षेत्र दोनों में संप्रेषित किया जाना चाहिए और अनुपालन निगरानी की जानी चाहिए।(आईएएनएस)


11-Apr-2021 7:55 PM 11

नोएडा. पुलिस ने सेक्टर 49 के बरौला गांव में एक शख्स की हत्या के आरोप में उसकी पत्नी और प्रेमी को गिरफ्तार किया है. बरौला गांव में बीते दिनों एक शख्स के खुदकुशी कर लेने की खबर सामने आई थी. उसका शव घर में पंखे से लटकता हुआ पाया गया था. पुलिस ने जब घटना की पड़ताल की, तो मामला कुछ और निकला. नोएडा पुलिस के मुताबिक घटना खुदकुशी की नहीं, बल्कि सोची-समझी साजिश के तहत हत्या किए जाने का था. मृतक की शातिर पत्नी ने ही यह साजिश रची थी. उसने अपने पड़ोसी की मदद से पति की हत्या करवा दी और घटना को खुदकुशी का रूप देने की कोशिश की. पुलिस ने दोनों को गिरफ्तार कर लिया, साथ ही हत्या में इस्तेमाल की गई चुन्नी भी बरामद कर ली है.

नोएडा पुलिस के मुताबिक बरौला गांव में रहने वाले मुकेश के आत्महत्या कर लेने की सूचना पर पुलिस पहुंची थी. वहां मुकेश के परिजनों ने आशंका जाहिर की थी कि यह खुदकुशी नहीं, बल्कि हत्या है. इस आरोप के बाद पुलिस ने जांच शुरू की तो शक मुकेश की पत्नी सपना पर गया. पुलिस ने जब घटना की गंभीरता से जांच शुरू की तो पूरा मामला सामने आ गया. पुलिस ने बताया कि मुकेश अपनी पत्नी सपना के साथ अक्सर मारपीट करता रहता था. इससे तंग आकर सपना ने उसकी हत्या की साजिश रची. सपना ने पहले पड़ोसी अंकित को अपने प्रेम जाल में फंसाया और उसके बाद प्रेमी की मदद से पति को मौत के घाट उतार दिया.

मुकेश और सपना ने कुछ साल पहले लव मैरिज की थी. पुलिस के मुताबिक इसके बाद दोनों नोएडा के बरौला में रह रहे थे. पुलिस की पूछताछ में सपना ने बताया कि शादी के कुछ समय बाद से ही मुकेश उसके साथ मारपीट करने लगा था. रोज-रोज की इस प्रताड़ना से तंग आकर सपना ने मुकेश को ठिकाने लगाने की योजना बनाई. इसके लिए उसने पहले पड़ोसी अंकित को अपने मोहब्बत के जाल में फंसाया. अंकित जब पूरी तरह उसके काबू में आ गया, तब सपना ने उसे अपनी योजना बताई. सपना की योजना सुनकर अंकित के होश फाख्ता हो गए. उसने ऐसा कोई काम करने से इनकार किया, तो सपना ने उसे रेप केस में फंसाने की धमकी दी. इसके बाद अंकित की मदद से सपना ने पति मुकेश की हत्या करवा डाली. (news18.com)


11-Apr-2021 7:45 PM 19

नई दिल्ली,  11 अप्रैल : भारत में कोरोना वायरस  संक्रमण के मामलों में पिछले कुछ दिनों से जबरदस्त तेजी दर्ज की जा रही है. रविवार को स्वास्थ्य मंत्रालय के आंकड़ों के अनुसार पिछले 4 हफ्तों में कोरोना से पॉजिटिविटी दर साढ़े तीन गुना बढ़ गई है. पॉजिट‍िविटी दर अर्थात जितने भी टेस्ट हो रहे हैं उनमें से कितने पॉजिटिव मामले आ रहे हैं, उसे कहा जाता है. देश में कोरोना के मामलों के सारे रिकॉर्ड रविवार को टूट गए और पिछले 24 घंटे में 1,52,879 नए मामले दर्ज किए गए. इसके साथ ही देश में संक्रमितों का कुल आंकड़ा बढ़ कर 1.33 करोड़ हो गया. वहीं पिछले 24 घंटे में 839 लोगों की मौत संक्रमण से हो गई जिससे मृतकों का कुल आंकड़ा 1.69 लाख हो गया.

रविवार को लगातार पांचवें दिन देश में एक लाख से ज्यादा नए कोरोना संक्रमित सामने आए. एक दिन पहले की तुलना में रिववार को 5 फीसदी ज्यादा मामले आए. शनिवार को 1,45,384 मामले दर्ज किए गए थे.

 (ndtv.in)


11-Apr-2021 7:43 PM 29

मुंबई, 11 अप्रैल : मुंबई में संदिग्ध कार मामले में NIA ने दूसरी गिरफ्तारी की है. मुंबई पुलिस के API रियाज़ काजी को गिरफ्तार किया. रियाज़ काजी सचिन वझे की टीम का सदस्य था. उस पर सबूत मिटाने का आरोप है. एनआईए ने रियाज़ काजी को रात में 12:30 बजे गिरफ्तार किया. NIA ने कोर्ट में बताया कि काजी मामले में साजिशकर्ता का सहयोगी है. अदालत ने रियाज काजी को 16 अप्रैल तक NIA की हिरासत में भेज दिया है. आठ मार्च को केस NIA के पास जाने के बाद सचिन वझे और रियाज काजी ने बाकी सबूत मिटाना शुरू कर दिया था. रियाज काजी को इस बात की जानकारी थी कि सचिन वझे ने कार खड़ी की थी.

सबूतों को नष्ट करने में काजी की प्रमुख भूमिका रही है. CPU और DVR को नष्ट करते समय काजी सचिन वझे के साथ मौजूद था. कई ऐसे सीसीटीवी फुटेज हैं जिनमें काजी और सचिन वझे दोनों एक साथ दिखाई दे रहे हैं.

NIA ने कोर्ट को बताया कि यह मामला जिलेटिन या फिर मनसुख हत्या तक सीमित नहीं है. इस साजिश के लिए फंडिंग किसने की? जिलेटिन कहां से लाई गई? और मकसद क्या था? वझे से आधी जानकारी मिली है पूरी जानकारी और अधूरी कड़ियों को जोड़ने के लिए रियाज काजी की NIA कस्टडी जरूरी है.


 

दूसरी तरफ रियाज़ काजी के वकील ने NIA कस्टडी का विरोध करते हुए कहा कि रियाज काजी से 20 दिन तक पूछताछ हुई है. जो भी पता था सब बता दिया है. जब भी बुलाया गया तब गया, पूरा सहयोग किया है. एविडेंस एक्ट 27 के तहत सबूत बरामद करने में मदद की. जो भी किया सचिन वझे के आदेश पर किया. वझे की सोसायटी से DVR, सद्गुरु ऑटो पार्टस दुकान की डायरी और DVR, मुलुंड की दो दुकानों के DVR और CPU सब कुछ वझे के कहने पर किया और बरामदगी की डायरी भी बनाई है. विक्रोली कन्नमवार नगर के बंटी रेडियम शॉप का सीपीयू, रजिस्टर बरामद करने के बाद उसकी भी CIU के रजिस्टर में एंट्री की. 

वकील ने आगे बताया कि रियाज़ काजी अगर साजिश में शामिल होता तो अपने खिलाफ ही सबूत क्यों जमा करता? उसकी डायरी एंट्री क्यों करता? NIA सचिन वझे को 26 दिन तक अपनी कस्टडी में रखने के बाद भी साजिश क्यों और कैसे की गई ये जानने में नाकामयाब रही है. अब मुझे बलि का बकरा बनाया जा रहा है. सब कुछ सुनने के बाद कोर्ट ने एपीआई रियाज काजी को 16 अप्रैल तक NIA हिरासत में भेज दिया. (ndtv.in)

 


11-Apr-2021 7:39 PM 39

नई दिल्ली,  11 अप्रैल : केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव ने महाराष्ट्र, छत्तीसगढ़ और पंजाब को चिट्ठी लिखी है. जिलों में तैनात सेंट्रल टीम के मूल्यांकन के आधार पर यह पत्र लिखा गया है. केंद्र सरकार ने कोरोना वायरस टेस्टिंग, कांटैक्ट ट्रेसिंग, कन्टेनमेंट ऑपरेशन, हॉस्पिटल इन्फ्रास्ट्रक्चर की उपलब्धता को लेकर कमियों पर सवाल खड़े किए हैं. इन तीन राज्यों के अलग-अलग जिलों में समस्याएं अलग-अलग हैं. कहीं सवाल कन्टेनमेंट जोन को लेकर है तो कहीं टेस्टिंग को लेकर, या फिर कहीं अस्पताल के इन्फ्रास्ट्रक्चर को लेकर सवाल खड़ा किए गए हैं.

राज्यों में कोरोना से निपटने में राज्य सरकारों की कमियों को लेकर उन्हें चिट्ठी लिखी गई है. महाराष्ट्र, पंजाब और छत्तीसगढ़ को केंद्र ने चिट्ठी लिखी है. 50 सेंट्रल टीम इन तीनों राज्यों में भेजी गई हैं.

महाराष्ट्र के तीस जिलों में सेंट्रल टीम, छत्तीसगढ़ में 11 और पंजाब में 9 सेंट्रल टीमें कोरोना से बिगड़ते जमीनी हालात पर काबू पाने और सुझाव देने के लिए भेजी गई हैं. यह सेंट्रल टीमें हर डिस्ट्रिक्ट में दो लोगों की हैं जो रोजाना मिनिस्ट्री द्वारा नियुक्त अलग-अलग राज्यों के लिए नियुक्त नोडल ऑफिसर को भेजती हैं.

अब स्वास्थ्य मंत्रालय ने इन तीनों राज्यों से आई रिपोर्टों को लेकर कोरोना पर काबू पाने में जिलों का नाम उजागर करके कमियों का जिक्र किया है जिससे कि सुधार लाया जा सके.

 (ndtv.in)

 


11-Apr-2021 7:37 PM 22

नई दिल्ली, 11 अप्रैल : दिल्ली से सटे नोएडा के बहलोलपुर में आज भीषण आग लग गई. इससे दो छोटे बच्चों की मौत हो गई.  बहलोलपुर की कई झुग्गियों में भीषण आग लगी. आग लगने का कारण अभी स्पष्ट नहीं है. फायर ब्रिगेड की कई गाड़ियां मौके पर मौजूद हैं. फायर कर्मियों द्वारा आग बुझने के प्रयास किए जा रहे हैं. नोएडा के थाना फेस 3 इलाके में आग लगने की यह घटना हुई है. यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मृत दोनों बच्चों के परिवार को चार लाख रुपये की आर्थिक मदद देने की घोषणा की है.

नोएडा फेस-3 के बहलोलपुर में झुग्गियों में आग लगने से दो छोटे बच्चों की मौत हो गई है. उनकी आग में झुलसने से मौत हुई है. पुलिस के मुताबिक ऐसा लगता है बच्चे सो रहे थे,  इसी दौरान हादसा हुआ. मृत बच्चों की पहचान नहीं हो पाई है. बच्चों की उम्र दो से तीन साल के बीच है.

बहलोलपुर गांव नोएडा के फेज 3 इलाके में आता है. यहां बड़ी संख्या में झुग्गियां हैं.   (ndtv.in)


11-Apr-2021 7:35 PM 20

लखनऊ, 11 अप्रैल : बीजेपी ने पंचायत चुनाव में सजायाफ्ता पूर्व विधायक कुलदीप सेंगर (Kuldeep Sengar) की पत्नी संगीता सेंगर की उम्मीदवारी रद्द कर दी है. संगीता को उन्नाव जिले में जिला पंचायत सदस्य चुनाव के लिए बीजेपी की ओर से उम्मीदवार घोषित करने के चौथे दिन यह घटनाक्रम हुआ. पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह ने रविवार को एक बयान में कहा, ''उन्नाव जिले के वार्ड नंबर 22 में संगीता सेंगर का टिकट रद्द किया जाता है.'' उन्होंने कहा, '' संगीता सेंगर भाजपा की अधिकृत उम्मीदवार नहीं रहेंगी और उन्नाव में पार्टी के जिलाध्यक्ष से शीघ्र ही वहां से तीन नाम भेजने का आग्रह किया गया है.''

गौरतलब है कि सिंह ने त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव के लिए बृहस्पतिवार को जिला पंचायत सदस्य के अधिकृत उम्मीदवारों की जिले की सूची जारी की थी, जिसमें जिले के वार्ड संख्‍या 22 (फतेहपुर चौरासी तृतीय) से संगीता सेंगर को उम्मीदवार घोषित किया गया था. संगीता पूर्व में जिला पंचायत की अध्यक्ष रह चुकी हैं.

संगीता सेंगर को उम्मीदवार बनाए जाने पर भगवा पार्टी की आलोचना करते हुए समाजवादी पार्टी के मुख्य प्रवक्ता राजेंद्र चौधरी ने कहा था, ''भाजपा का दोहरा चरित्र है. एक तरफ भाजपा अपराधियों के खात्‍मे की बात करती है और दूसरी तरफ उनका महिमामंडन भी करती है. भाजपा के शासन में रहते अपराध खत्म नहीं हो सकता है.''

उल्लेखनीय है कि पूर्व विधायक कुलदीप सेंगर को उन्नाव जिले में 17 वर्षीय एक किशोरी से दुष्कर्म मामले में दोषी करार देते हुए दिल्‍ली की तीस हजारी अदालत ने 20 दिसंबर 2019 को उम्रकैद की सजा सुनाई थी. सेंगर को जिस समय यह सजा सुनाई गई थी, वह उन्नाव जिले के बांगरमऊ से बीजेपी विधायक थे. सजा सुनाए जाने के बाद उनकी विधानसभा सदस्यता रद्द कर दी गई थी. (ndtv.in)

 


11-Apr-2021 7:33 PM 17

नई दिल्ली, 11 अप्रैल : सरकार पेंशन क्षेत्र में प्रत्यक्ष विदेशी निवेश की सीमा बढ़ाकर 74 प्रतिशत कर सकती है. सूत्रों ने कहा कि इस बारे में विधेयक संसद के मानसून में लाया जा सकता है. बीमा क्षेत्र में एफडीआई  की सीमा को 49 से बढ़ाकर 74 प्रतिशत करने के कानूनी संशोधन को संसद ने को पिछले महीने ही मंजूरी दी है. बीमा अधिनियम, 1938 में अंतिम बार 2015 में संशोधन कर एफडीआई की सीमा को बढ़ाकर 49 प्रतिशत किया गया था. इससे इस क्षेत्र में पांच साल में 26,000 करोड़ रुपये का विदेशी निवेश आया है.

सूत्रों ने बताया कि पेंशन कोष नियामक एवं विकास प्राधिकरण (पीएफआरडीए) अधिनियम, 2013 में संशोधन मानसून सत्र या शीतकालीन सत्र में लाया जा सकता है. इसके जरिये पेंशन क्षेत्र में एफडीआई की सीमा बढ़ाई जाएगी. अभी पेंशन क्षेत्र में एफडीआई की सीमा 49 प्रतिशत है. सूत्रों ने बताया कि संशोधन विधेयक में राष्ट्रीय पेंशन प्रणाली (एनपीएस) न्यास को पीएफआरडीए से अलग करने का प्रावधान हो सकता है.

नियमन, 2015 के तहत तय होते हैं. इसे परमार्थ न्यास या कंपनी कानून के तहत लाया जा सकता है. इसके पीछे मंशा एनपीएस न्यास को पेंशन नियामक से अलग करना और 15 सदस्यों के सक्षम बोर्ड का प्रबंधन है. इनमें से ज्यादातर सदस्य राज्यों सहित सरकार से होंगे, क्योंकि इसमें सबसे बड़ा योगदान इन्हीं का रहता है.  (ndtv.in)

 


11-Apr-2021 7:27 PM 17

नई दिल्ली, 11 अप्रैल "आपकी तस्वीरें नासा के सेटेलाइट कैमरे में कैद हो गईं हैं, हमें वह सब पता है जो आपने किया है." दिल्ली पुलिस ने हत्या के दो संदिग्धों से इतना बोला तो उन्हें लगा कि पुलिस सही बोल रही है और उन्हें पूरा सच पता चल गया है. इसके बाद दोनों संदिग्धों ने अपना जुर्म कबूल कर लिया और हत्या का पूरा सच बता दिया. बाहरी दिल्ली के डीसीपी परमिंदर सिंह के मुताबिक 5 अप्रैल को मंगोलपुरी इलाके में सूचना मिली थी कि वहां पार्क में एक शख्स का शव पड़ा हुआ है. पुलिस ने मौके पर पहुंचकर पाया कि पार्क में पड़ा शख्स लहूलुहान है और उसके चेहरे पर चोट के कई निशान हैं. लेकिन पुलिस को हत्या के इस मामले में कोई चश्मदीद नहीं मिला. 

इसके बाद पुलिस ने मंगोलपुरी थाने में हत्या का केस दर्ज कर जांच शुरू की तो पता चला मृतक 35 साल का चंद्रभान था जो मंगोलपुरी इलाके का ही रहने वाला था. पुलिस को जांच में पता चला कि चंद्रभान को आखिरी बार प्रदीप और राजू नाम के दो लोगों के साथ देखा गया था. पुलिस ने दोनों को पूछताछ के लिए बुलाया लेकिन दोनों ने बताया कि उन्हें इस केस को लेकर कोई जानकारी नहीं है. किसी तरह के सबूत और चश्मदीद न होने के चलते पुलिस ने उन्हें छोड़ दिया. लेकिन पुलिस को कुछ सीसीटीवी फुटेज मिले जिसमें वारदात के पहले मृतक चंद्रभान दो लोगों के साथ नज़र आ रहा था, हालांकि उनके चेहरे साफ नहीं दिख रहे थे. इसके बाद पुलिस ने प्रदीप और राजू को दुबारा पूछताछ के लिए बुलाया. इस बार पुलिस ने उन्हें डर दिखाते हुए झूठ बोला कि जहां वह घूम रहे थे और जहां वारदात हुई उस पूरे इलाके में नासा के सीसीटीवी कैमरे लगे हैं और उनकी पूरी हरकत इन कैमरों में कैद हो गई है. आरोपियों को लगा कि पुलिस को सब पता चल गया है. इसके बाद उन्होंने अपना जुर्म कबूल कर लिया और सब कुछ तोते की तरह बता दिया. आरोपियों ने बताया चंद्रभान अक्सर सबके सामने छोटी छोटी बातों को लेकर उनकी बेइज़्जती करता था इसलिए उन्होंने उसकी हत्या कर दी. 5 अप्रैल को पहले तीनों ने एक साथ शराब पी फिर चंद्रभान के चेहरे पर पत्थर से वार करके उसकी हत्या कर दी. (ndtv.in)


11-Apr-2021 7:26 PM 13

नई दिल्ली, 11 अप्रैल। जब तक देश में कोरोना के संक्रमण की स्थिति में सुधार नहीं होता है तब तक इंजेक्शन रेमडीसीविर और रेमडीसीविर एक्टिव फ़ार्मास्युटिकल इंग्रीडिएंट्स के एक्सपोर्ट पर प्रतिबंध लगा दिया गया है. मरीजों और अस्पतालों के लिए रेमडीसीविर की आसान पहुंच सुनिश्चित करने के लिए केंद्र ने यह कदम उठाया है. गौरतलब है कि देश भर में इस दवा की कमी के कारण कोरोना संक्रमित मरीजों के इलाज में विलंब हो रहा है.

देश मे कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए केंद्र सरकार ने रेमडीसीविर  और रेमडीसीविर एक्टिव इंजेक्शन के निर्यात पर रोक लगा दी है. ये रोक तब तक रहेगी जब तक कि देश में कोरोना की स्थिति में सुधार नही आ जाता.

केंद्र सरकार के मुताबिक कोरोना के केसों में अचानक बढ़ोतरी के चलते रेमडीसीविर इंजेक्शन की जरूरत बढ़ गई है और आगे भी इसकी जरूरत कोरोना के मरीजों के लिए पड़ेगी जिसकी वजह से इसके निर्यात पर रोक लगाई गई है. सात भारतीय कम्पनियां Remdesivir injection का उत्पादन करती हैं. इन कंपनियों की हर महीने 38.80 लाख यूनिटों की उत्पादन क्षमता है. सभी घरेलू मैन्युफैक्चरर्स को सलाह दी गई है कि वे अपनी वेबसाइटों पर Remdesivir injection के स्टॉक, इसके डिस्ट्रीब्यूशन आदि की जानकारी डिस्प्ले करें.

राज्यों के हेल्थ सचिवों को ड्रग इंस्पेक्टर के जरिए ये देखना होगा कि कहीं इसकी कालाबाजारी तो नही हो रही है. जरूरत के अनुसार उचित कार्रवाई करनी होगी. फार्मास्युटिकल डिपार्टमेंट मैन्युफैक्चरर्स के सम्पर्क में है और इस बात को सुनिश्चित कर रहा है कि Remdesivir का प्रोडक्शन ज्यादा से ज्यादा हो.