छत्तीसगढ़ » कवर्धा

मवेशियों की तस्करी करते तीन पकड़ाए, 41 भैंस-भैंसी को वाहन से यूपी ले जा रहे थे
05-May-2021 4:51 PM (56)

'छत्तीसगढ़' संवाददाता
बोड़ला, 5 मई।
कबीरधाम जिले के बोड़ला थाना क्षेत्र में कल मुखबिर की सूचना पर एक कंटेनर में यूपी ले जा रहे 41 मवेशियों को बरामद कर 3 तस्करों को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। ज्ञात हो कि पिछले माह चिल्फी थाना में मवेशी तस्करी करते वाहन पर कार्रवाई की गई थी।
मंगलवार तड़के 3 से 4 बजे के बीच बोड़ला थाना क्षेत्र में मुखबिर से मवेशी तस्करी की सूचना मिली। जिस पर बाईपास में दल बल के साथ नाकाबंदी की गई। तभी एक कंटेनर में वाहन यूपी 78 बीटी में 41 मवेशियों को ठंूस-ठंूस कर भरकर ले जाया जा रहा था। जिसे एसडीओपी निमितेश सिंह, थाना प्रभारी एसआर सोनी, सउनि नरेंद्र सिंह ठाकुर समेत पुलिस टीम ने वाहन रोककर तलाशी ली। जिसमें रायपुर की ओर से जबलपुर की ओर जा रही कंटेनर में उत्तरप्रदेश ले जाने के लिए भैंसे भरी हुई थीं। 
पुलिस ने बताया कि वाहन में 41 नग भैंसा भैंसी सहित सवार तीन लोगों पर कार्रवाई की गई, जिसमें शेख रफीक, मोहम्मद सहजाद, मोहम्मद शारूद राजपूत को पकड़ा गया है। जब्त मवेशियों को पशु विभाग के द्वारा जांच परीक्षण कर सुरक्षा हेतु छपरी के राम माधव गौशाला में रखा दिया गया है।

कबीरधाम में 4 माह में 87 लाख के लघु वनोपजों का संग्रहण
03-May-2021 6:38 PM (94)

कोरोना संक्रमण में वनोपज संग्रहण परिवारों के लिए बनी संजीवनी

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

कवर्धा, 3 मई। वन मंत्री मोहम्मद अकबर के मार्गदर्शन में राज्य में न्यूनतम समर्थन मूल्य के अंतर्गत लघु वनोपजों का संग्रहण निरंतर जारी है। कबीरधाम जिले में वर्ष 2021 में महज चार माह में ही 86 लाख 98 हजार रूपए के अब तक 2249 क्विंटल लघुवनोपज को संग्रहण कर लिया गया है। कोरोना ड संक्रमण के इस विपरित परिस्थतियों में जिले के लघुवनोपज संग्रहक परिवारों के लिए जिले के जंगल में पाई जाने वाली विभिन्न प्रकार के वनोपज उनके जीवन के लिए संजीवनी साबित हो रही है।

वनमंडलाधिकारी दिलराज प्रभाकर ने बताया कि कबीरधाम जिला सघन वन एवं जैवविधिता से परिपूर्ण तथा समृद्ध है। यहां लघुवनोपज प्रचुर मात्रा में उपलब्ध है। अंचल में लघु वनोपज महुआ बहुतायत प्राप्त होता हैं। जहां विभिन्न श्रृंखला में महुआ से बने स्वादिष्ट उत्पाद महुआ स्क्वैश (शरबत), महुआ आरटीएस (जूस), महुआ चटनी, महुआ चिक्की, महुआ लड्डू एवं सूखा महुआ उपलब्ध हंै। प्रोटीन, फाइबर, कार्बोहाइड्रेट, आयरन एवं कैल्शियम से भरपूर महुआ स्वास्थ्य के लिए लाभदायक है। प्रोसेसिंग यूनिट में वनोजपज को वैल्यूएडिशन किया जा रहा है। प्रोटीन, कार्बोहाइड्रेट, आयरन, विटामिन ए एवं सी से भरपूर है और डायबिटीज के मरीजों और रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के लिए फायदेमंद है।

श्री प्रभाकर ने बताया कि कबीरधाम में जिला लघु वनोपज सहकारी यूनियन मर्यादित कवर्धा के अंतर्गत मुख्य रूप से चरोटा, चिरायता, साल बीज, माहुल पत्ता, हर्रा, बहेड़ा, शहद, महुआ, चिरौंजी, लाख, वन तुलसा, वन जीरा, आदि का न्यूनतम समर्थन मूल्य पर खरीदी की जाती है।  पांच वन धन केंद्र, 22 हाट बाजार, 139 ग्राम स्तरीय संग्रहण केंद्र इस कार्य में संलग्न हैं जो कि 268 महिला स्व सहायता समूह के माध्यम से चलाए जा रहे हैं। इस योजना में वर्ष 2020 में अन्य लघु वनोपजों का 7869 क्विंटल संग्रहण हुआ। जिसकी राशि 1.80 करोड़ रूपए थी जो सीधे 4064 संग्राहकों को प्राप्त हुई। वहीं वर्ष 2021 में अब तक 2249 क्विंटल अन्य लघु वनोपजों संग्रहण किया गया है, जिसके राशि 86 लाख 98 हजार रुपए का लाभ 1618 संग्राहकों को मिल चुका है।

बोड़ला में स्थित शहद प्रसंस्करण केंद्र छत्तीसगढ़ राज्य में सर्वाधिक शहद उत्पादन करता है, तो जिला लघु वनोपज सहकारी यूनियन मर्यादित कवर्धा द्वारा संचालित संजीवनी दुकान पर उपलब्ध लघु वनोपजों से बने विभिन्न प्रकार के प्रोडक्ट्स का विक्रय भी राज्य में वर्ष 2020-2021 में अव्वल रहा है।

कवर्धा वन मंडल तथा जिला लघु वनोपज सहकारी यूनियन मर्यादित कवर्धा के अंतर्गत तेंदूपत्ता तथा अन्य लघु वनोपजों के संग्रहण कार्य से वनांचल के ग्रामीणों को कोरोना महामारी की विकट परिस्थिति में रोजगार उपलब्ध कराने के लिए प्रबंध संचालक संजय शुक्ला, अपर प्रबंध बजाज संचालक एस.एस. अपर प्रबंध संचालक आनंद बाबू, महाप्रबंधक अमरनाथ प्रसाद, महाप्रबंधक एवं मुख्य वन संरक्षक दुर्ग वन वृत्त दुर्ग शालिनी रैना, तथा रमेश जांगड़े प्रबंध संचालक एवं राज्य लघु वनोपज सहकारी संघ मर्यादित रायपुर की टीम का सहयोग और सतत मार्गदर्शन मिलता रहा है। कवर्धा वन मंडल अंतर्गत ग्रामीण अंचल में विभिन्न लघु वनोपजों के संग्रह एवं उनके न्यूनतम समर्थन मूल्य पर वन विभाग के द्वारा क्रय के जरिए बहुत से जरूरतमंद लोगों को रोजी मिल रही है जो कि रामबाण के रूप में उनके जीवन निर्वाह में महती भूमिका निभा रहा है।

पुलिस ने अज्ञात शव का किया अंतिम संस्कार, बांध में पानी में डूबा मिला था शव
02-May-2021 10:28 PM (78)

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
कवर्धा, 2 मई।
थाना रेंगाखार पुलिस के द्वारा अज्ञात शव का विधि विधान से कफन दफन किया गया। ज्ञात हो कि 30 अपै्रल को रेंगाखार क्षेत्र के बहेराखार बांध में पानी में डूबा शव पुलिस ने बरामद किया था।

पुलिस के अनुसार कबीरधाम जिले के थाना रेंगाखार क्षेत्र अंतर्गत बहेराखार बांध में किसी अज्ञात व्यक्ति का शव पानी में डूबे होने की जानकारी थाना रेंगाखार पुलिस को 30 अपै्रल को हुई थी। जिसकी सूचना मिलते ही थाना प्रभारी निरीक्षक रेंगाखार राकेश लकड़ा के द्वारा कबीरधाम पुलिस के वरिष्ठ अफसरों को उक्त घटना की जानकारी दी।

वरिष्ठ पुलिस अफसरों के मार्गदर्शन में उप पुलिस अधीक्षक नक्सल अजीत ओगरे के कुशल नेतृत्व में थाना प्रभारी रेंगाखार निरीक्षक राकेश लकड़ा, थाना प्रभारी सिंघनपुरी निरीक्षक आनंद शुक्ला उक्त पुलिस टीम के द्वारा थाना रेंगाखार के नक्सल प्रभावित क्षेत्र बहेराखार बांध से अज्ञात शव (40) के विषय में आसपास के क्षेत्र के वनांचल ग्रामीणों से पूछताछ की गई परंतु कोई भी जानकारी प्राप्त ना होने पर मौके में ही गवाहों के समक्ष आवश्यक कार्यवाही कर थाना रेंगाखार में मर्ग पंजीबद्ध कर शव को लोहारा पीएम हेतु भेजा गया। बॉडी पानी में होने की वजह से अंग भंग होने की स्थिति में लोहारा से रायपुर मेडिकल कॉलेज के लिए पीएम हेतु रिफर कर दिया गया जिसका एक मई को रायपुर मेडिकल कॉलेज से पीएम के बाद रेंगाखार पुलिस को सुपुर्द कर दिया गया। जिसे उप पुलिस अधीक्षक नक्सल अजीत ओगरे के मार्गदर्शन में मानवता का परिचय देते हुए विधि विधान से मृतक का कफन दफन करने निर्देशित किया गया। जिस पर थाना रेंगाखार प्रभारी निरीक्षक राकेश लकड़ा के नेतृत्व में पुलिस टीम ने रायपुर के ही सामाजिक संस्था के माध्यम से मिलकर अंतिम संस्कार किया गया तथा मृत आत्मा की शांति की कामना की गई।
 

घर में लगी आग, सामान खाक, जनप्रतिनिधियों ने दी आर्थिक मदद
02-May-2021 10:24 PM (95)

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
बोड़ला, 2 मई।
कबीरधाम जिले के बोड़ला विकासखंड के वनांचल क्षेत्र के लब्दा में एक घर में आग लग गई। जिससे उनके घर में रखा सारा सामान जलकर राख हो गया। क्षेत्र के जनपद सदस्य राजेश मेरावी व सरपंच मदन सिंह द्वारापीडि़त परिवार को राशन व सब्जी के अलावा आर्थिक सहायता दी गई।

 इस संबंध में क्षेत्र के जनपद सदस्य राजेश मरावी एवं सरपंच मदन सिंह धुर्वे ने बताया कि  शुक्रवार शाम करीब 7 बजे ग्राम लब्दा के बीच बस्ती में स्थित धनसिंग बैगा पिता पंढरा उम्र 65 वर्ष के घर में आग लग गई, जिससे उनके घर में रखा हुआ सारा सामान जलकर खाक हो गया।  

ग्रामीण  व पड़ोसी चंदन धुर्वे, लखन ध्रुवे, संजू टेकाम आदि  ने बताया कि घर में धनसिंह व उनका 40 वर्षीय बेटा तीरथि रहता है। आग लगने के कारणों का पता नहीं चल पाया। धन सिंह ने बताया कि शाम को आग लगने के बारे में जानकारी बस्ती के लोगों ने दी। बस्ती के लोगों ने तुरंत पहुंच कर आग बुझाने का प्रयास जारी कर दिया। उन्होंने घर में रखे बरतन बाल्टी आदि से पास में ही स्थित कुएं से पानी ला-लाकर घर में डाला, जिससे आग पर काबू पाया जा सका, नहीं तो  पूरी बस्ती आग की चपेट में आ सकता था। 

गौरतलब है कि होली के दूसरे दिन  तरेगांव जंगल के  लाल माटी में  एक घर में आग लगी, जिसे बुझाने में पूरे लोग लग गये और देखते  देखते 8 से 10 घर पूरी तरह से जल गये थे। वैसे ही यहां भी होने का खतरा था, लेकिन गांव वालों की सूझबूझ से आग पर काबू पा लिया गया।

ग्राम लब्दा में आग लग जाने से सारा सामान, राशन, कपड़े जल जाने से पीडि़त परिवार के सामने भरण-पोषण की समस्या आ खड़ी हो गयी। इस कठिन समय में क्षेत्र के युवा जनपद सदस्य राजेश मेरावी व सरपंच मदन सिंह द्वारा मदद की गयी। उनके द्वारा पीडि़त परिवार को राशन व सब्जी के अलावा आर्थिक सहायता प्रदान किया गया, जिससे कुछ दिन के लिये परिवार को राहत मिलेगी। उन्होंने क्षेत्र के सामाजिक संगठनों व युवाओं से विपदा की घड़ी में मदद करने की अपील की है।
 

नाबालिग से रेप, बंदी
02-May-2021 6:59 PM (87)

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
कवर्धा, 2 मई।
नाबालिग से बलात्कार के आरोपी को रिपोर्ट दर्ज होने के 24 घंटे के अंदर गिरफ्तार कर लिया है। 
पुलिस के अनुसार 30 अपै्रल को पीडि़त नाबालिग ने अपने मां के साथ चिल्फी थाना आकर युवक के खिलाफ बलात्कार करने की रिपोर्ट दर्ज कराई। जिस पर अपराध पंजीबद्ध कर आरोपी की गिरफ्तारी हेतु त्वरित टीम गठित कर विभिन्न स्थानों पर टीम रवाना की गई। लगातार पतासाजी व विभिन्न स्थानों पर दबिश के परिणाम से अपराध के फरार आरोपी राजेंद्र खुसरे (23) बहना खोदरा थाना चिल्फी को हिरासत में लेकर पूछताछ फलस्वरूप आरोपी द्वारा धारा सदर का अपराध घटित करना स्वीकार करने व पाए जाने से एक मई को गिरफ्तार कर ज्यूडिशियल रिमांड पर भेजा गया है।  
 

संक्रमितों की संख्या बढ़ते देख सहमति से गांवों में लगाए बैरिकेट्स
02-May-2021 6:56 PM (86)

बाहरी व्यक्तियों के आने-जाने पर प्रतिबंध

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
बोड़ला, 2 मई।
विकासखण्ड मुख्यालय  से 2 किलोमीटर दूर भोंदा नवापारा में कोरोना संक्रमण बढ़ते ही जा रहा है इसे लेकर गांव वालों ने गांव में किसी भी बाहरी व्यक्ति के आने-जाने को लेकर गांव पहुंचने के मार्ग पर सभी तरफ से बैरिकेट्स लगाकर बाहरी व्यक्तियों के आने-जाने पर प्रतिबंध लगा दिया है।

गौरतलब है कि ग्राम नवापारा में बीते कुछ दिनों से 15 से 20 कोरोना के मरीज पाए गए हैं, वहीं इससे लगे ग्राम भोंदा  में भी कुछ पॉजिटिव मरीज मिलने से गांव वालों में भय एवं दहशत का माहौल बना हुआ है । दोनों गांव के ग्रामीणों ने एक राय से ग्राम भोंदा के प्रवेश द्वार दैहान के पास बस्ती के भीतर गली में इसके अलावा नवापारा जाने के रास्ते में लकडिय़ों के बैरिकेट्स लगा रखे हैं।

ग्रामीणों की मानें तो इससे वे गांव में कोरोना से खुद भी बच रहे हैं और सारे गांव वालों को ही बचा रहे है, इस काम के लिए दोनों गांव के ग्रामीणों ने सहमति बनाकर निर्णय लिया है। कोरोना की कहर से बचने के लिए दोनों गांव के ग्रामीणों ने शनिवार को  बैठक कर ग्राम देवी की पूजा -अर्चना की गई है।

स्वास्थ्य विभाग द्वारा एहतियात के तौर पर सभी कोरोना मरीजों की पहचान कर उनको होम आइसोलेट कर दवाइयां दे दी है और मोबाइल के माध्यम से लोगों को समझाया जा रहा है।

सड़ रही हैं सब्जियां
ग्राम भोंदा एवं नवापारा मूलत: पटेलों की बस्ती है, यहां के 90फीसदी लोग  बाडिय़ों व खेतों में पुश्तैनी रूप से सब्जियों का धंधा करते हैं और अभी भी उनके खेत व बाडिय़ों में जमकर सब्जियां लगी हुई कोरोना काल के समय इन्हीं गांव से बोड़ला ,चिल्फी सहित आसपास के दर्जनों से अधिक गांव में सब्जी की आपूर्ति की जाती रही है। कोरोना के चलते गांव में बैरिकेट्स लग जाने से गांव वाले भी  खेतों में नहीं पहुंच रहे हैं जिससे  गांव के 90 फीसदी खेतों बाडिय़ों  में लगी  सब्जियां  खेतों में ही सड़ रही हैं। खेतों में सब्जियों की तुड़ाई बन्द होने  के चलते  बोड़ला, चिल्फी और आसपास के गांव में  सब्जियों के दामों में दुगनी  वृद्धि हो गई है । पहले जो टमाटर 5 रुपये किलो में मिलता था वह अब 10 रु. किलो में मिल रही है, इसी प्रकार से प्रत्येक सब्जियों के भाव  में दोगुनी वृद्धि से लोग परेशान हो रहे हैं। 

संक्रमण के विषय में  इन दोनों गांव के ग्रामीणों का मानना है कि  इन्हीं सब्जी बेचने वालों के चलते गांव में संक्रमण बढ़ा है, गांव के युवा बड़ी संख्या में पूरे क्षेत्र में फेरी लगाकर सब्जी बेचने का काम करते थे जिससे ही गांव में कोरोना का संक्रमण बढ़ा है और इससे बचने ग्रामीणों ने बेरिकेट्स लगाया है।
 

छग सीमा पर एंटीजन जांच के लिए एक हजार ले रहे थे, ट्वीट से खुलासा, नायब तहसीलदार ने कहा-एसडीएम ने कहा था
01-May-2021 10:43 PM (125)

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
बोड़ला, 1 मई।
मध्यप्रदेश-छत्तीसगढ़ सीमा पर चिल्फी में कोरोना को लेकर स्वास्थ्य एवं राजस्व विभाग की संयुक्त जांच टीम तैनात की गई है। जांच टीम के द्वारा कोरोना जांच को लेकर प्रशासन द्वारा निर्धारित शुल्क  200 रुपये से कई गुना अधिक राशि 1 हजार रुपये वसूलने का मामला सामने आया है।

कोरोनाकाल में लॉकडाउन के चलते कबीरधाम कलेक्टर रमेश कुमार शर्मा कबीरधाम के आदेश के मुताबिक दीगर राज्यों से आनेवाले लोगों को बिना टेस्ट के राज्य में प्रवेश नहीं दिया जाना है, इसके लिए बॉर्डर में मेडिकल की टीम की तैनाती की गई है। 

स्वास्थ्य विभाग की टीम जिनके पास कोरोना की निगेटिव रिपोर्ट नहीं होने पर एंटीजन टेस्ट कराया जाता है, जिसके लिए शासन द्वारा 200 रुपये का शुल्क निर्धारित किया गया है। लेकिन यहां एंटीजन टेस्ट का 1000 रुपये लिए जा रहे थे।

ट्वीट कर की गई शिकायत
लॉकडाउन में जांच टीम द्वारा अधिक रुपये लिए जाने का आसपास के ग्रामीणों व लोगों ने अपने स्तर पर विरोध किया, लेकिन उसका कोई असर नहीं हुआ। इसी समस्या पर मध्यप्रदेश के किसी व्यक्ति द्वारा ट्वीट कर समस्या की जानकारी दी गई। ट्वीट के आधार पर जिले के मीडिया वालों की टीम पड़ताल करने धवईपानी पहुंच कर जानकारी ली तो ये खुलासा हुआ।

इस मामले में मीडिया की टीम ने वहां ड्यूटी में लगी स्वास्थ्य विभाग की टीम से पूछा गया तो विभाग के डॉ. खूंटे ने बताया कि 1000 रुपये जांच के लेने के लिखित में कोई आदेश नहीं है। जांच के लिए जिला प्रशासन ने 200 रुपये की पर्ची काटने का आदेश दिया है। तहसीलदार ने मौखिक आदेश दिया है जिस पर एक हजार रुपये लिया जा रहा था।

इस विषय में जब मीडिया के लोगों ने जिले के सीएमएचओ डॉ. एस के मंडल से बात की गई तो उन्होंने बताया कि नायब तहसीलदार के दबाव में जांच के लिए एक हजार लिया गया, इसमें स्वास्थ्य विभाग का कोई भी कर्मचारी जिम्मेदार नहीं है।

मामले में बोड़ला के नायब तहसीलदार सतीश ने कहा कि छत्तीसगढ़ में वैसे भी जांच किट की कमी है. इसी को लेकर आदेश निकला था कि जांच के लिए शुल्क लेना है लेकिन राशि तय नहीं की गई थी। एसडीएम ने कहा था कि 1 हजार रु. कर दो तो दूसरे राज्य वाले जांच नहीं कराएंगे। अपने राज्य वाले कराएंगे, वैसे सिर्फ 6 लोगों से 1000 लिए गए हैं। लोगों को परेशानी न हो, इसका ध्यान रखा जा रहा है।

एसडीएम प्रकाश टण्डन से इस विषय में बात की गई तो उन्होंने कहा कि शुरुआत में टेस्टिंग को लेकर रेट क्लीयर नहीं था। पहले दिन ही समस्या थीं, अब टेस्टिंग के लिए 200 रुपये लिए जा रहे हैं। अब समस्या नहीं है।

तख्ती पर संदेश लिखकर लॉकडाउन का पालन करने की अपील
30-Apr-2021 5:51 PM (79)

पुलिस ने लोगों को जागरूक करने अपनाया अनोखा तरीका

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
कवर्धा, 30 अप्रैल।
कबीरधाम पुलिस की महिला सेल के द्वारा कोविड-19 से बचाव के लिए आम जनों को जागरूक करने का अनोखा तरीका अपनाया। महिला सेल के द्वारा तख्ती में लिखे संदेश के माध्यम से चौक-चौराहों में खड़े होकर लॉकडाउन का पालन करने की अपील की गई।

कबीरधाम पुलिस की महिला सेल टीम के द्वारा पुलिस अधीक्षक कबीरधाम शलभ कुमार सिन्हा के निर्देशन एवं अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक ऋचा मिश्रा तथा उप पुलिस अधीक्षक मुख्यालय पी.आर.कुजुर उप पुलिस अधीक्षक आजाक बी.आर.मंडावी के मार्गदर्शन में महिला सेल प्रभारी निरीक्षक रमा कोष्टि एवं महिला सेल टीम के द्वारा लॉकडाउन का पालन शत-प्रतिशत हो इसका विशेष ध्यान रखते हुए तथा कोरोनावायरस कोविड-19 के बढ़ते प्रकोप का विशेष ध्यान रखते हुए नगर वासियों को जागरूक करने का अनोखा अभियान चलाया गया, जिसमें आज लॉकडाउन का पालन ना करने वाले लोगों को तख्ती में अलग-अलग संदेश लिखकर चौक चौराहों पर टीम के साथ पूर्ण सोशल डिस्टेंसिंग एवं मास्क लगाकर, दो गज की दूरी मस्त है जरूरी, अपने और अपने परिवार के लिए घर में रहें सुरक्षित रहें, खांसते और छिंकते वक्त मुंह में रुमाल का इस्तेमाल करने, यात्रा और बड़े आयोजन अभी ना करने, लॉकडाउन का पालन करने, शासन प्रशासन के द्वारा जारी निर्देशों का पालन करने, संदेश दिया गया तथा लॉकडाउन का उल्लंघन करने वाले बेवजह घूमने वाले, सोशल डिस्टेंसिंग का पालन ना करने वाले, तथा भीड़ इक_ा कर फल व सब्जी का विक्रय करने वाले लोगों को भी अलग-अलग संदेश लिखा हुआ तख्ती देकर कर स्वयं जागरूक हों तथा औरों को भी जागरूक करने तथा दोबारा ऐसी गलती ना करने सख्त हिदायत दी गई। 

अभियान में महिला सेल प्रभारी निरीक्षक रमा कोष्टि के कुशल नेतृत्व में महिला सेल टीम, तथा थाना कोतवाली पेट्रोलिंग टीम, यातायात पुलिस टीम, 112 पुलिस टीम, नर्सिंग स्टाफ एवं स्वास्थ्य विभाग के स्टाफ का अभियान में सराहनीय योगदान रहा।

कबीरधाम के 251 फड़ों में शुरू होगा तेन्दूपत्ता संग्रहण, 40 हजार 800 मानक बोरा का लक्ष्य
30-Apr-2021 5:34 PM (88)

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

कवर्धा, 30 अप्रैल। कबीरधाम जिले की जलवायु को देखते हुए मई माह के पहले सप्ताह में कवर्धा में तेंदूपत्ता संग्रहण 251 फड़ों में शुरू हो जाएगा। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की मंशा के अनुरूप, वन एवं जलवायु परिवर्तन मंत्री मोहम्मद अकबर के मार्गदर्शन में तेन्दूपत्ता संग्रहण कार्य के सुचारू संचालन के लिए सभी आवश्यक तैयारियां पूर्ण कर ली गई हैं।

कलेक्टर रमेश कुमार शर्मा तथा वनमंडलाधिकारी व प्रबंध संचालक जिला लघु वनोपज सहकारी यूनियन मर्यादित कवर्धा दिलराज प्रभाकर के द्वारा जिले के सभी फड़ों में फड़ मुंशी और फड़ अभिरक्षकों की ड्यूटी लगाई जा चुकी है। तेंदूपत्ता संग्रहण के इस कार्य को कराने के लिए उप वन मंडल अधिकारी जोनल अधिकारी, परिक्षेत्र अधिकारी बतौर नोडल अधिकारी तथा इन 19 प्राथमिक लघु वनोपज समितियों के लिए 19 पोषक अधिकारी और 19 प्रबंधकों की ड्यूटी लगाई गयी है। कबीरधाम जिले के जिला लघु वनोपज सहकारी यूनियन मर्यादित कवर्धा में तेंदूपत्ता संग्रहण वर्ष 2021 में संग्रहण लक्ष्य 40800 मानक बोरा, 16.32 करोड़ रूपए तथा संग्राहक परिवार संख्या लगभग 34000 निर्धारित किया गया है। वर्ष 2021 तेंदूपत्ता सीजन में कुल 19 समितियों में से 12 समितियों का अग्रिम में निर्वर्तन हो चुका है। बाकी 7 समितियों में विभागीय संग्रह किया जाएगा।

छत्तीसगढ़ में वर्ष 2021 में तेन्दूपत्ता संग्रहण दर 4 हजार रूपए प्रति मानक बोरा निर्धारित की गई है। राज्य में तेन्दूपत्ता संग्रहण कार्य से लगभग 13 लाख आदिवासी-वनवासी संग्राहक परिवारों को सीधा-सीधा लाभ मिलेगा और इसके संग्रहणकाल माह मई तथा जून में दो माह के भीतर संग्राहकों को 668 करोड़ रूपए की राशि के संग्रहण पारिश्रमिक का वितरण किया जाएगा।     मुख्यमंत्री श्री बघेल ने हाल ही में जिलेवार कोरोना संक्रमण की स्थिति के संबंध में ली गई समीक्षा के दौरान निर्देशित किया था कि राज्य में लघु वनोपजों के संग्रहण कार्य को भी निरंतर जारी रखा जाए, ताकि जरूरतमंदों को रोजगार के लिए भटकना न पड़े और उनकी अतिरिक्त आमदनी भी सुनिश्चित हो। इनमें लघु वनोपजों के संग्रहण के दौरान कोविड-19 के गाइडलाईन तथा आवश्यक सावधानियां का पालन सुनिश्चित करने के लिए कहा गया है। इस संबंध में वन मंत्री मोहम्मद अकबर ने भी प्रमुख सचिव वन मनोज पिंगुआ, प्रधान मुख्य वन संरक्षक एवं वन बल प्रमुख ाकेश चतुर्वेदी तथा प्रबंध संचालक छत्तीसगढ़ राज्य लघु वनोपज सहकारी संघ मर्यादित संजय शुक्ला को सभी वन मंडलों में आवश्यक कार्रवाई सुनिश्चित करने के निर्देश दिए हैं। कबीरधाम वनमंडलाधिकारी तथा प्रबंध संचालक जिला लघु वनोपज सहकारी यूनियन मर्यादित कवर्धा दिलराज प्रभाकर ने बताया कि कबीरधाम जिले में विगत वर्षो में तेंदूपत्ता संग्रहण वर्ष 2018 में 42242 मानक बोरा, राशि 10.56 करोड़ रूपए संग्राहक परिवार संख्या 28474; वर्ष 2019 में 35411 मानक बोरा, राशि 14.16 करोड़ रूपए, संग्राहक परिवार संख्या 33031; वर्ष 2020 में 20304 मानक बोरा, राशि 8.12 करोड़ रूपए, संग्राहक परिवार संख्या 29310 रही।

कोरोना से बचने, जारी प्रोटोकॉल के निर्देशों का पालन होगा

वनमंडलाधिकारी तथा प्रबंध संचालक जिला लघु वनोपज सहकारी यूनियन मर्यादित कवर्धा दिलराज प्रभाकर ने बताया कि विगत वर्ष कोरोना की महामारी को देखते हुए राज्य लघु वनोपज सहकारी संघ मर्यादित रायपुर द्वारा सभी संग्राहक परिवारों को 1.51 लाख मास्क उपलब्ध कराए गए थे। सभी फड़ों पर सैनिटाइजर, बाल्टी-मग पानी, सोशल डिस्टेंसिंग तथा संग्राहक परिवार सदस्य मास्क लगाकर ही फड़ पर अपना तेंदूपत्ता विक्रय करने आएगा, ऐसा सुनिश्चित  किया गया था। इस वर्ष भी तेंदूपत्ता संग्रहण कार्य प्रारंभ होने के पूर्व वन मंडलाधिकारी एवं प्रबंध संचालक, जिला लघु वनोपज सहकारी यूनियन मर्यादित कवर्धा के द्वारा जिला चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग के स्वास्थ्य अधिकारी के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से उप प्रबंध संचालक, समस्त उप वन मंडल अधिकारी, परिक्षेत्र अधिकारी, परिक्षेत्र सहायक, पोषक अधिकारी, प्रबंधक, तेंदूपत्ता संग्राहक परिवार, तेंदूपत्ता ठेकेदारों तथा उनके मजदूरों को कोरोनावायरस महामारी से बचाव एवं सावधानियां संबंधित शासन और प्रशासन के जारी दिशा-निर्देशों से अवगत कराया गया है। सभी तेंदूपत्ता फड़ों पर कोरोनावायरस के मद्देनजर सोशल डिस्टेंसिंग, मास्क, सैनिटाइजर, हाथ धोने के लिए पानी साबुन बाल्टी, इत्यादि की व्यवस्था करने का निर्देश दिया गया है।

बोड़ला पुलिस ने बांटे जरूरतमंद परिवारों को सूखा राशन
29-Apr-2021 10:37 PM (81)

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
बोड़ला, 29 अपै्रल।
कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए जिले में लगे लॉकडाउन के चलते आर्थिक रूप से परेशान लोगों की परेशानियों को देखते हुए बोड़ला पुलिस ने नगर पंचायत के वार्ड 10 बैगाटोला के 15 जरूरतमंद सपेरा परिवार के सैकड़ों लोगों को एक सप्ताह तक के लिए सूखा राशन का वितरण किया है। सूखा राशन में चावल, दाल, चना, खाने का तेल, बिस्किट, सोया बड़ी और प्याज जैसे जरूरी सामान एक पैकेट में रखकर लोगो वितरण किया गया है। साथ ही अन्य वार्डों में  ऐसे ही जरूरतमंद परिवारों की पहचान कर 10 से 15 परिवारों को  भी राशन सामग्री प्रदान की गई है। 

गौरतलब है कि नगर पंचायत क्षेत्र में अन्य परिवारों व सपेरा परिवार के लोगों का गुजर बसर रोज मजदूरी व लकड़ी बेचकर चलता है और परिवार बड़ा होने के कारण शासन द्वारा दिया जानेवाला राशन समय पूर्व समाप्त हो जाता है, साथ ही नगर पंचायत क्षेत्र होने के चलते यह परिवार शासन के रोजगार गारंटी व अन्य योजनाओं के काम से वंचित हो जाते हैं। परिवार के सदस्य अन्य दिनों में मेहनत मजदूरी कर या सांप दिखाकर शेष बचे दिनों की व्यवस्था बना ली जाती थी, लेकिन लॉकडाउन के चलते  इस बार बचे हुए दिनों को काटना इन लोगों को भारी पड़ रहा था। कुछ लोगों कार्ड ना होने के चलते लॉकडाउन में  परिवार चलाना मुश्किल हो रहा था। ऐसी विपरीत परिस्थितियों में पुलिस के हाथों सूखा राशन पाकर बहुत खुश नजर आ रहे हैं।

पुलिस के नेक कार्य की सराहना
नगर  सहित पूरे क्षेत्र में पुलिस द्वारा जरूरतमंद  परिवारों के प्रति बुरे समय मे की गई सहायता की सराहना की जा रही है। लोगों व कई संघटनों द्वारा बड़ी सम्मान के नजर से देख रहे है और इस विकट परिस्थिति में उनके इस कार्य की सराहना भी कर रहे है। थाना प्रभारी एसआर सोनी ने बताया कि इस लॉकडाउन के चलते रोजमर्रा की जिंदगी में जीवन यापन करने वालो लोगों की परिस्थिति को देखते हुए बोड़ला पुलिस की टीम और पूरे स्टॉफ ने मिलकर लोगों की परेशानी दूर करने का कदम उठाया है। इसमें नगर के राइस मिलरों का  भी सहयोग  रहा है।

उन्होंने बताया कि बोड़ला पुलिस की यह सहायता आने वाले दिनों तक चलता रहेगा जब भी किसी परिवार को परेशानी होगी उस परिवार को सूखा राशन दिया जाएगा। इसके  अलावा आर्थिक रूप में मदद के हो या फिर और किसी अन्य प्रकार की मदद हो बोड़ला पुलिस लोगों की सेवा के लिए सदैव तत्तपर रही है और आगे भी रहेगी। सूखा राशन वितरण कार्यक्रम में बोड़ला थाना प्रभारीएस आर सोनी, मेजर रमेश कश्यप, आरक्षक पुरषोत्तम वर्मा, संजीव वैष्णव, देवाधुर्वे, अमर पटेल, अंजोर दास उपस्थित थे।
 

छत्तीसगढ़ बॉर्डर चेकपोस्ट पर तैनात जवानों का उत्साहवर्धन करने थाना चिल्फी पहुंचे एसपी
29-Apr-2021 10:34 PM (152)

कवर्धा, 29 अप्रैल। कल कबीरधाम पुलिस अधीक्षक शलभ कुमार सिन्हा के द्वारा थाना चिल्फी पहुंचकर मध्य प्रदेश छत्तीसगढ़ बॉर्डर में तैनात थाना चिल्फी बेरीकेट में लगे अधिकारी जवानों का उत्साह वर्धन किया गया तथा कोविड-19 कोरोना महामारी के इस दौर में जवानों के कार्य को अत्यंत सराहनीय बताते हुए, कोविड-19 से बचाव के लिए आवश्यक निर्देश दिया गया।  बाहर से आने वाले लोगों से  सोशल डिस्टेंसिंग में रहकर बात करें, एवं आवश्यक दस्तावेज चेक करने, वाहन चेक करने के दौरान हाथों में हैंड ग्लब्स का उपयोग करने तथा समय-समय पर हैंड सेनिटाइजर का इस्तेमाल करने, मास्क व फेस शिल्ड चेहरे पर लगाने कहा गया। इस अवसर पर पुलिस अधीक्षक श्री सिन्हा, थाना प्रभारी चिल्फी निरीक्षक रमाकांत तिवारी एवं ड्यूटी पर तैनात पुलिस विभाग एवं प्रशासन के अधिकारी कर्मचारी उपस्थित रहे।
 

ब्लॉक कांग्रेस ने पंडरिया पुलिस को दिये मास्क व सेनिटाइजर
29-Apr-2021 10:27 PM (85)

कवर्धा, 29 अप्रैल। पूरे कवर्धा जिले में लॉकडाउन लगा हुआ है और पंडरिया पुलिस इस लॉकडाउन में दिन रात लगातार अपनी सेवा दे रही है। पंडरिया पुलिस के 8 कर्मचारी एक साथ कोरोना पॉजिटिव होने की जानकारी मिलने पर उनकी सुरक्षा के लिए ब्लॉक कांग्रेस कमेटी एक छोटा सा प्रयास किया है। ब्लॉक कांग्रेस कमेटी पंडरिया ने 5 लीटर सेनेटाइजर, 25 नग एन95 मास्क, 200 नग सर्जिकल मास्क और 40 नग हैंड सेनेटाइजर पंडरिया थाना प्रभारी के.के.वाशनिक को दिया। इस दौराम युवक कांग्रेस के जिला महासचिव मनीष शर्मा भी उपस्थित थे ।
 

5 लाख के गांजा संग यूपी का एक बंदी
28-Apr-2021 5:40 PM (89)

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
बोड़ला, 28 अपै्रल।
5 लाख के गांजा सहित यूपी के एक आरोपी को पुलिस ने गिरफ्तार किया। 
पुलिस के अनुसार चिल्फी पुलिस को मुखबीर से सूचना मिली कि एक मोटरसायकल में एक व्यक्ति बड़ा बैग लेकर जा रहा है, जिसकी गतिविधि संदिग्ध है। जो फेरीवाले के जैसा दिख रहा। जिस पर चिल्फी पुलिस द्वारा तत्काल सूचना को वरिष्ठ अधिकारियों को अवगत करवाते हुए सूचना की तस्दीक हेतु टीम रवाना कर चलित नाकेबंदी के माध्यम से चेकिंग किया जाने लगा। 

मुखबिर के बताए हुलिया अनुसार मोटरसायकल जिसका नम्बर पी80 डीबी 6303 जिसमे अलग से लोहे की  कैरियर बना था रुकवाकर पूछताछ की गई ।  मोटरसायकल को चला रहे व्यक्ति जो अपना नाम आमीन खान (24)औरंगाबाद जिला मथुरा उत्तरप्रदेश बताया। उक्त संदिग्ध व्यक्ति व मोटरसायकल की तलाशी कोविड गाईड लाइन का पालन करते हुए गई । जिसमें एक बड़े से गहरे हरे रंग के बैग में 52 किलो 200 ग्राम गांजा मिला।  गांजा को जब्त कर आरोपी को गिरफ्तार कर न्यायालय में पेश किया गया है। 

आरोपी से पूछताछ करने पर गांजा का अवैध तस्करी करते हुए धन लाभ अर्जित करने मोटरसायकल को अलग से कैरियर बनाकर फेरीवाला बनकर रायपुर से उत्तरप्रदेश ले जाना बताया। पुलिस ने 5 लाख 20 हजार का गांजा, एक मोटरसायकल 30 हजार का कुल 5 लाख 50 हजार का मशरूका जब्त किया गया। 

इस संपूर्ण कार्रवाई में पुलिस अधीक्षक सलभ सिन्हा के मार्गदर्शन में अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक ऋचा मिश्रा व अनुविभागीय अधिकारी बोड़ला अजित ओगरे के निर्देशन में थाना प्रभारी चिल्फी रमाकांत तिवारी व चिल्फी थाना स्टाफ व डायल 112 के समस्त स्टाफ का योगदान रहा।
 

वनांचल के अधिकतर बैगा बाहुल्य गांवों में टीकाकरण का विरोध
27-Apr-2021 8:21 PM (154)

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
बोड़ला, 27 अप्रैल।
कबीरधाम जिले के बोड़ला विकासखंड के वनांचल के कई पंचायतों में खासकर बैगा आदिवासी बाहुल्य गांव में टीकाकरण का विरोध ग्रामीणों द्वारा किया जा रहा है। 

सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार ग्रामीणों द्वारा लामबंद होकर टीकाकरण अभियान का विरोध कर रहे हैं, जिससे कोरोना के खिलाफ आम जनता व प्रशासन की लड़ाई कमजोर पड़ रही है। कोरोना संक्रमण  से निबटने के लिए  क्षेत्र में शासन प्रशासन द्वारा अथक  प्रयास किया जा रहा है और इस तरह लोगों का विरोध समझ से परे है। 

संक्रमण के दूसरे दौर में जिस तरह से राज्य सहित जिले में भी कोरोना का कोहराम बदस्तूर जारी है, लोगों को बड़ी संख्या में जान देकर इसकी कीमत चुकानी पड़ रही है। आम जनता के साथ-साथ साथ जिला प्रशासन भी कोरोना के मामले कम करने के लिए हर मोर्चे पर बेहतर कार्य कर रही हैं। कड़े से कड़े कदम उठाने से परहेज नहीं किया जा रहा है, लेकिन  इन बैगा बाहुल्य गांवों में जन सहभागिता व जनता में जागरुकता की कमी कोरोना से लड़ाई में शासन-प्रशासन के हौसले को पस्त करने का काम कर रही है।

बैगा बाहुल्य गांवों में हो रहा विरोध
बोड़ला विकासखण्ड में टीकाकरण को लेकर सभी बैगा बाहुल्य गांव में विरोध हो रहा है। सबसे पहले तरेगांव क्षेत्र के कुकरापानी पंचायत के लोगों द्वारा टीका करण के विरोध में गांव की सीमा में समूह बनाकर टीम को रोकने के लिए बैठे थे। इसके बाद वनांचल के ही बैरख, बोककरखार, शम्भूपिपर, भीरा पंचायत क्षेत्र के दर्जनों गांवों, जिनमें आमापानी,माचापानी, कुण्डपानी, महलीघाट, रानीदहरा आदि अनेक गांवों में टीका लगाने पहुंची टीम को वापस कर दिया।

बैगा जनजाति बाहुल्य ग्राम में टीकाकरण के लिये पहुंची स्वास्थ्य विभाग की टीम को लगभग सभी जगहों पर टीका लगने के बाद भी कोरोना संक्रमण होने की बात कहते हुए टीकाकरण के बाद तबियत खराब हो जाने व कई स्थानों पर मौत हो जाने की दलील दी गई। हालांकि स्वास्थ्य विभाग की टीम ने लोगों को काफी समझाईश दी गई, लेकिन गांव वाले मानने को तैयार नहीं हुए। टीम को बिना टीका लगाए खाली हाथ लौटना पड़ा।

अफवाहों व सोशल मीडिया कारण
 आजकल सोशल मीडिया व मोबाइल फोन की पहुँच सभी लोगों के हाथ में है। जिले के  सुदूर वनांचल क्षेत्रों में भी लोग व्हाट्सएप व सोशल मीडिया के तकनीक का धड़ल्ले से उपयोग कर रहे हैं। सूत्रों की मानें तो बोड़ला विकासखण्ड के वनांचल के ग्रामीण इलाकों में  टीकाकरण को लेकर कपितय असामाजिक तत्वों द्वारा सोशल मीडिया व चर्चा के दौरान टीका लगाये जाने के बाद होने वाली सामान्य समस्याओं को बढ़ा-चढ़ा कर बता देने से अफवाहों का बाजार गर्म है। इन असामाजिक  शरारती तत्वों द्वारा सोशल मीडिया व चर्चा के माध्यम से टीकाकरण के विषय में भ्रामक बातें फैलाये जाने का असर यह हुआ कि पूरे ब्लॉक में टीकाकरण का कार्य बुरी तरह से प्रभावित हो रहा है। क्षेत्र के समझदार लोगों ने कहा कि ऐसे लोगों की पहचान कर उन पर कड़ी कार्रवाई किया जाना चाहिए।

 वैक्सीनेशन को लेकर मैदानी क्षेत्रों में ठीक स्थिति 
वैक्सीनेशन को लेकर वनांचल क्षेत्रों से ही कुछ नकारात्मक खबर आ रही हैं, लेकिन मैदान क्षेत्र के पंचायतों में लोग टीकाकरण को लेकर  जागरूकता का परिचय दे रहे हैं। वैक्सीनेशन के प्रारंभिक दौर में इस अभियान को काफी अच्छा प्रतिसाद मिला था। 

इस विषय में बोड़ला ब्लॉक के खण्ड चिकित्सा अधिकारी डॉ. योगेश साहू  व बीपीएम सौरभ तिवारी ने बताया कि टीकाकरण के शुरुआती दौर में ब्लॉक के मैदानी क्षेत्रों के गांव व कस्बों में वैक्सीनेशन सेंटरों से अपेक्षित परिणाम मिल रहे थे। 45 पार लोगों के वैक्सीनेशन की घोषणा के बाद तो ब्लॉक मुख्यालय सहित सभी टीकाकरण सेंटरों में लोग स्वयं  टीका लगवाने पहुंच रहे थे। टीकाकरण केंद्रों में टीकाकरण का कार्य  बदस्तूर जारी है और विभाग द्वारा तय टारगेट को पूरा करने समस्त केंद्रों के अलावा फील्ड की टीम द्वारा लगातार टीकाकरण के लिए लोगों को प्रोत्साहित किया जा रहा है।

स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं को रही परेशानी
कोरोना महामारी से निबटने के लिए अधिक से अधिक लोगों को वैक्सीनेशन से जोडऩे के लिये स्वास्थ्य विभाग की मैदानी क्षेत्रों में गांव-गांव जाकर टीकाकरण के लिये जाने वाली टीम के डॉक्टरों व महिला व पुरुष स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं को काफी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। नाम न छापने की शर्त पर कई स्वास्थ्य कार्यकताओं ने बताया कि गांव में लोगों द्वारा समूह बनाकर घेरा जा रहा है। टीम में महिला व पुरूष कार्यकर्ताओं को सुरक्षा का खतरा है,  लोग उनसे टीकाकरण के बाद बुखार आदि के इलाज के पैसों की मांग कर, टीकाकरण के बाद भी संक्रमण और मौतें की बात कहकर भी टीकाकरण का विरोध किया जा रहा है।

एसडीएम प्रकाश टंडन ने ‘छत्तीसगढ़’ को बताया कि हमारे द्वारा लगातार टीकाकरण के लिए प्रयास किया जा रहा है। कुछ एक स्थानों में ऐसी स्थिति बनने पर लोगों को समझाया जा रहा है और लोगों की शंकाये दूर कर टीकाकरण के लिए तैयार किया जा रहा है। प्रशासन अधिक  से अधिक लोगों को टीकाकरण से जोडऩे के लिए प्रयासरत हैं और इसके लिए तहसील प्रशासन के सभी जिम्मेदार विभाग के कर्मचारी प्रतिबद्ध होकर कोरोना से लड़ाई जीतने के लिए दमदारी से फील्ड में डटे हुए हैं। प्रशासन द्वारा सभी जगह लोगों को टीकाकरण के लिये प्रेरित किया जा रहा है।

नाबालिगकी शादी रूकवाई
27-Apr-2021 7:17 PM (97)

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
कवर्धा, 27 अप्रैल।
लॉकडाउन के दौरान भी जिला प्रशासन की सक्रियता से नाबालिक की शादी रूकवाई।
जिला कबीरधाम अंतर्गत  मानिकचैरी में एक नाबालिग बालिका की बाल विवाह कराए जाने की जानकारी महिला एवं बाल विकास विभाग को मिली। सूचना पर त्वरित जिला कार्यक्रम अधिकारी महिला एवं बाल विकास विभाग के निर्देशन में महिला एवं बाल विकास विभाग जिला बाल संरक्षण इकाई, पुलिस विभाग, महिला सेल, ग्राम पंचायत स्तरीय बाल संरक्षण समिति के अध्यक्ष सदस्य सरपंच, सचिव, पंच आंगनबाड़ी कार्यकर्ता, मितानीन, कोटवार की टीम के साथ संयुक्त रूप से बालिका के घर जाकर बालिका की शैक्षणिक अंकसूची एवं जन्म प्रमाण पत्र का सूक्ष्म परीक्षण किए, जिसके अनुसार बालिका की आयु 17 वर्ष 4 माह है, जो विवाह योग्य उम्र से कम है। 

नाबालिग के परिजनों ने बताया कि उक्त विवाह आयोजन हेतु लोक सेवा केन्द्र बिरकोना से आवेदन कर गलत जानकारी देते हुए विवाह आयोजन हेतु अनुमति प्राप्त किया गया था, जिसकी जानकारी होते ही तत्काल कार्रवाई करते हुये तहसीलदार कवर्धा द्वारा तत्काल आवेदन को निरस्त कर दिया गया।

महिला सेल थाना प्रभारी रमा कोष्टी ने मौके पर उपस्थित लोगों को बाल विवाह से होने वाले शारिरीक, मानसिक, स्वास्थ्य पर दुष्प्रभाव की विस्तृत जानकारी दी, साथ ही वर्तमान स्थिति कोविड-19 महामारी संक्रमण से बचाव हेतु सभी सुरक्षा उपायों मास्क, सैनेटाईजर एवं सामाजिक दूरी का कड़ाई से पालन करने समझाइस गई। महिला एवं बाल विकास विभाग से जिला बाल संरक्षण अधिकारी सत्यनारायण राठौर ने नाबालिक बालिका व उनके परिवार एवं मौके पर उपस्थित लोगों को बाल विवाह प्रतिषेध अधिनियम 2006 की विस्तृत जानकारी दी।

दोनों पक्षों को काफी समझाइस देने के बाद नाबालिक बालिका व परिवार जनों ने शादी रोकने सहमति दी और मौके पर ही बालक पक्ष को शादी स्थगित करने व बारात नहीं आने तथा बालिका का उम्र विवाह योग्य होने के पश्चात विवाह करने मोबाईल से जानकरी दिए जिस पर बाल विवाह रोकथाम दल ने विवाह स्थल पर पंचनामा एवं घोषणा पत्र तैयार कर बाल विवाह रूकवाया।
 

कबीरधाम में हवाई, रेल और सडक़ मार्ग से आने वाले सभी यात्रियों की 72 घंटे के भीतर की कोरोना निगेटिव रिपोर्ट प्रस्तुत करना अनिवार्य
26-Apr-2021 8:00 PM (62)

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
कवर्धा, 26 अप्रैल।
कलेक्टर एवं जिला दंडाधिकारी रमेश कुमार शर्मा ने छत्तीसगढ़ शासन सामान्य प्रशासन विभाग, मंत्रालय, महानदी भवन, नवा रायपुर, अटल नगर के पत्र के अनुसार 23 अप्रैल के परिपालन में नोवेल कोरोना वायरस के नये वेरियन्ट के संक्रमण पर नियंत्रण के लिए अन्य राज्यों से कबीरधाम जिले में आने वाले यात्रियों के लिए कोविड टेस्ट जांच के संबंध में आदेश जारी किए है। यह आदेश 27 अप्रैल से 5 मई तक प्रभावशील होगा। कोरोना संक्रमण के रोकथाम एवं नियंत्रण के लिए कबीरधाम जिला अंतर्गत संपूर्ण क्षेत्र को 21 अप्रैल शाम 4 बजे से 29 अप्रैल प्रात: 6 बजे तक कंटेन्मेंट जोन घोषित किया गया है।

जारी आदेशानुसार जिले में हवाई मार्ग, रेल अथवा सडक़ मार्ग से आने वाले सभी यात्रियों की 72 घंटे के भीतर की कोविड निगेटिव रिपोर्ट प्रस्तुत किया जाना अनिवार्य होगा। रिपोर्ट निगेटिव होने पर जिले में प्रवेश की अनुमति दी जाएगी। ऐसे यात्री जिनका निगेटिव कोविड रिपोर्ट है और कोविड-19 के लक्षण नहीं है, उन्हे स्वास्थ्य विभाग के एसओपी अनुसार होम क्वारेंटीन रहना होगा, ऐसे यात्री जिनके पास निगेटिव कोविड रिपोर्ट है और उन्हें कोविड-19 के लक्षण है, ऐसे सभी व्यक्तियों को पुन: कोविड-19 जांच कराना होगा। जांच में पॉजिटिव पाए जाने पर स्वास्थ्य विभाग के एसओपी अनुसार ईलाज कराना होगा। कोविड लक्षण वाले परंतु जांच में निगेटिव यात्रियों को चिकित्सीय सलाह अनुसार उपचार दिया जाए तथा सलाह अनुसार आयसोलेट, क्वारंटीन किया जाएगा। ऐसे सभी व्यक्ति जिनके पास कोविड निगेटिव रिपोर्ट नहीं है, उनके एयरपोर्ट, रेलवे स्टेशन एवं सीमावर्ती राज्य से आने वाले सडक़ मार्ग पर ही सीमा पर स्थित बैरियर, चौकी में टेस्टिंग किओस्क द्वारा स्वास्थ्य परीक्षण सहित आवश्यक कोविड जांच कराना होगा। जांच का व्यय यात्री द्वारा स्वयं वहन किया जाएगा।

जारी आदेश के अनुसार कोविड-19 जांच उपरांत पॉजीटिव पाए गये व्यक्तियों को आवश्यकतानुसार होम आइसोलेशन, कोविड केयर सेंटर, डेडिकेटेड कोविड हॉस्पिटल में उपचार कराना होगा। कोविड लक्षण वाले परंतु जांच में निगेटिव यात्रियों को चिकित्सीय सलाह अनुसार उपचार तथा आयसोलेट, क्वारेंटीन होना होगा। अन्य राज्य के निवासियों को जिन्हें क्वारेंटीन किया जाएगा, जिस पर होने वाले व्यय यात्रियों को स्वयं वहन किया जाना होगा। उपर्युक्त कोविड जांच की व्यवस्था हेतु रैपिड एण्टीजन जांच के लिए निजी क्षेत्र के पैथोलैब को भारत सरकार एवं आई.सी.एम.आर. जारी दिशा निर्देश अनुरूप तथा छत्तीसगढ़ शासन द्वारा निर्धारित दरों पर जांच की अनुमति दी जाती है। निजी क्षेत्र के पैथोलैब स्वास्थ्य, पुलिस विभाग से सामांजस्य स्थापित कर टेस्टिंग किओस्क स्थापित कर सकेंगे।

मास्क लगाना, दो गज की दूरी, हैंड हाईजीन इत्यादि का पालन करना अनिवार्य
ऐसे सभी व्यक्ति जिनके पास कोविड निगेटिव रिपोर्ट नहीं है एवं टेस्टिंग किओस्क स्कैनिंग उपरान्त उनमें कोविड-19 का कोई लक्षण नहीं पाए गए उन्हें स्वास्थ्य विभाग के एसओपी अनुसार संस्थागत क्वारेटीन रहना होगा। इस हेतु गामीण क्षेत्रों में पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग एवं शहरी क्षेत्रों में नगरीय प्रशासन विभाग द्वारा यात्रियों को क्वारेंटीन किए जाने हेतु पूर्व में जारी दिशा-निर्देश के अनुसार व्यवस्था की जाएगी। छत्तीसगढ़ के निवासियों के लिए क्वारेंटीन व्यवस्था पूर्व निर्देशानुसार रहेगी। एयरपोर्ट, रेल्वे स्टेशन एवं सीमावर्ती राज्य से आने वाले सडक़ मार्ग के जांच केन्द्रों में कोविड अनुरूप व्यवहार जैसे-मास्क लगाना, दो गज की दूरी, हैंड हाईजीन इत्यादि का पालन किया जाना अनिवार्य होगा। जो यात्री सडक़ मार्ग से अन्य प्रदेशों के लिए जा रहे है, उनके वाहनों पर इस आशय का स्टीकर लगाना अनिवार्य होगा, ताकि वह यात्री राज्य के भीतर न रुक सकें।

उल्लंघन करने वालों पर होगी कड़ी कार्रवाई
कलेक्टर श्री रमेश कुमार शर्मा ने बताया कि इस आदेश का उल्लंघन करने वाले व्यक्ति, प्रतिष्ठानों पर भारतीय दण्ड संहिता 1860 की धारा 188 एवं 270, एपिडेमिक एक्ट 1897, आपदा प्रबंधन अधिनियम, 2005 की धारा 51-60 तथा अन्य सुसंगत विधि अनुसार कड़ी कार्यवाही की जायेगी।
 

एसपी ने साइकिल चलाकर लॉकडाउन का पालन करने लोगों को किया जागरूक
26-Apr-2021 7:56 PM (117)

छत्तीसगढ़’ संवाददाता
कवर्धा, 26 अप्रैल।
एसपी ने साइकिल चलाकर लॉकडाउन का पालन करने लोगों को जागरूक किया।
थाना पंडरिया में ड्यूटी पर तैनात जवानों के उत्साहवर्धन एवं पंडरिया नगर वासियों को कोविड-19 कोरोनावायरस महामारी से बचाव के लिए पुलिस अधीक्षक कबीरधाम शलभ कुमार सिन्हा के द्वारा पंडरिया अनुविभागीय अधिकारी एन.के. बेंताल, थाना प्रभारी पंडरिया निरीक्षक के.के. वासनिक एवं थाना पंडरिया पुलिस टीम के द्वारा नगर में साइकिल चलाकर आम जनों को कोरोना महामारी से बचाव के लिए लॉकडाउन का पालन करने अपील की।

उन्होंने बिना अति आवश्यक कारण के घर से ना निकलन,े कोरोनावायरस महामारी से बचने के लिए मास्क का उपयोग करने सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करने, बार-बार साबुन से हाथ धोने या सेनीटाइजर का इस्तेमाल करने, तथा जिस प्रकार अब तक शासन प्रशासन का साथ महामारी को हराने में आप लोगों ने अपना योगदान दिया है, उसी प्रकार आगे भी अपना योगदान देने कहा गया। 

यदि किसी प्रकार की समस्या आती है, तो थाना पंडरिया पुलिस से संपर्क कर अवगत कराने कहा गया।
 

कबीरधाम के पंचायत महराटोला को दीनदयाल उपाध्याय पंचायत सशक्तिकरण पुरस्कार
26-Apr-2021 7:20 PM (158)

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
कवर्धा, 26 अप्रैल।
राष्ट्रीय पंचायत पुरस्कार 2021 के तहत राज्य से कबीरधाम जिले के विकासखण्ड सहसपुर लोहारा के ग्राम पंचायत महराटोला का चयन दीनदयाल उपाध्याय पंचायत सशक्तिकरण पुरस्कार (ई-गर्वनेंन्स) के लिए केन्द्र सरकार द्वारा किया गया है। 

ई-गर्वनेन्स के तहत रोजगार गारंटी योजना के में भुगतान करना, 14वें वित्त आयोग के कार्यों का ऑनलाईन भुगतान, जन्म एवं मृत्यु पंजीयन, ई-पंचायत के तहत ग्राम पंचायत विकास योजना तैयार किए जाने के लिए ग्राम सभा का ऑनलाइन जियोटेगिंग, मिशन अंत्योदय ऑनलाइन सर्वे एवं जनहित कार्य करने के आधार पर केन्द्र सरकार द्वारा यह पुरस्कार ग्राम पंचायत को दिया जाएगा। जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री विजय दयाराम के. ने बताया कि राष्ट्रीय पंचायत पुरस्कार के अंतर्गत केन्द्र सरकार द्वारा विभिन्न प्रकार के मानक तय किये गए है जिसकी पूर्ती करने पर यह पुरस्कार प्राप्त हुआ है। केन्द्र सरकार ने पत्र जारी कर पुरस्कार के लिए चयनित ग्राम पंचायत की सूची जारी किया है। उन्होंने बताया कि यह पुरस्कार प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी एवं नरेन्द्र सिंह तोमर कृषि एवं किसान कल्याण, ग्रामीण विकास, पंचायती राज एवं खाद प्रसंस्करण मंत्री द्वारा विडियों कान्फ्रेसिंग के माध्यम से 24 अप्रैल को पंचायती राज दिवस 2021 के अवसर पर पुरस्कृत किया जाएगा। ग्राम पंचायत द्वारा पुरस्कार के लिए नामांकन दाखिल किया गया था जिसमें ग्राम पंचायत द्वारा अपने क्षेत्र में ई-गर्वनेंन्स के लिए किए गए कार्यो का विवरण अभिलेखों सहित दिया गया था। जिसके आधार पर राज्य सरकार ने ग्राम पंचायत का चयन कर राज्य स्तर के अधिकारी से इसका भौतिक परीक्षण कराया जिसके आधार पर अब केन्द्र सरकार ने यह पुरस्कार वितरण कि घोषणा की है। 
पुरस्कार के रूप में ग्राम पंचायत को केन्द्र सरकार द्वारा राशि एवं प्रशस्ती पत्र देकर सम्मानित किया जाएगा।

 

भाजपा का धरना-प्रदर्शन
26-Apr-2021 7:20 PM (71)

कवर्धा। राज्य सरकार के विरुद्ध घर के बाहर सरकार की विफलता को उजागर करते हुये भाजपा कार्यकर्ताओं ने धरना, प्रदर्शन किया। वार्ड क्र. 15 से चंद्रकुमार सोनी, सुनिता सोनी ,अस्पताल में अव्यवस्था को लेकर प्रदेश भाजपा के आव्हान पर विरोध प्रगट करते हुयें कोविड 19 का ध्यान रखते हुये.शासन का ध्यान आकृष्ट कराया गया।
 

लॉकडाउन के उल्लंघन पर कार्रवाई
25-Apr-2021 6:49 PM (69)

बोड़ला, 25 अपै्रल। पुलिस  द्वारा  पेट्रोलिंग गश्ती के दौरान बेवजह घूमते फिरते पाए जाने पर दो के खिलाफ अपराध पंजीबद्ध किया गया। जमानत मुचलका पर दोनों को रिहा किया गया। 
बोड़ला थाना प्रभारी एसआर सोनी ने बताया कि जिला प्रशासन के आदेश के अनुसार लोगों द्वारा कंटेनमेंट जोन घोषित किए जाने के बाद भी लॉकडाउन के नियमों का उल्लंघन करते पाया जा रहा है। लोगों द्वारा हॉस्पिटल मेडिकल परिजन के दाह संस्कार व अन्य कार्यों का नाम लेकर बेवजह आना जाना कर रहे हैं।  कोरोना संक्रमण की रोकथाम व नियंत्रण हेतु अनावश्यक घूमने वालों के लिए जिला प्रशासन से कड़ी कार्यवाही करने का आदेश जारी किया गया है।  इन सब के बावजूद बेवजह घूमने वालों पर पुलिस द्वारा कड़ी प्रतिबंधात्मक कार्यवाही किए जाने की बात थाना प्रभारी ने बताई।
 

पुलिस ने निकाला फ्लैग मार्च
23-Apr-2021 6:11 PM (97)

कोरोना से बचने लोगों को किया जागरूक

कवर्धा, 23 अप्रैल। कबीरधाम पुलिस अधीक्षक शलभ कुमार सिन्हा के द्वारा कबीरधाम जिले के समस्त थाना एवं चौकी /प्रभारियों को अपने अपने क्षेत्रों में फ्लैग मार्च कर आम जनों को कोरोनावायरस कोविड-19 महामारी के बढ़ते प्रकोप को कम कर महामारी की चैन तोडऩे के लिए आवश्यक जानकारी देकर जागरूक करने निर्देशित किया गया है। जिस पर पुलिस टीम द्वारा महामारी से बचाव के आवश्यक निर्देशों का पालन करते हुए जिले के सभी वार्ड, मोहल्ले, गाँव में आम जनों के बीच जाकर जानकारी दिया गया कि शासन प्रशासन द्वारा द्वारा 21 की शाम 4 बजे के बाद से 29 अप्रैल के प्रात: 6 बजे तक पूरे कबीरधाम जिला को कंटेनमेंट जोन घोषित किया गया है तथा अनावश्यक घर से बाहर निकलने की सख्त मनाही है। साथ ही आवश्यक गाइडलाइन जारी किया गया है, जिस की पूर्ण जानकारी दी गई

कबीरधाम पुलिस के द्वारा कबीरधाम जिले के शहरी एवं ग्रामीण तथा वनांचल क्षेत्र में पुलिस के अधिकारी एवं जवानों के द्वारा फ्लैग मार्च निकालकर आम जनों को कोरोना महामारी से बचाव के  लिए लॉक डाउन का पालन करने लाउडस्पीकर के माध्यम से समझाइश दिया गया। अनावश्यक घरों से बाहर ना निकलने, भीड़भाड़ वाले इलाकों में सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करने, मास्क लगाने, साबुन से बार-बार हाथ धोने, कहा गया।

मरीजों के बेहतर इलाज के लिए हर आवश्यक व्यवस्था हो- अकबर
23-Apr-2021 6:10 PM (66)

वन मंत्री की पहल पर कवर्धा में 50 लाख की मंजूरी सहित भेजे जा रहे 100 अतिरिक्त ऑक्सीजन गैस सिलेण्डर

कवर्धा, 23 अप्रैल। वन मंत्री तथा कवर्धा विधायक मोहम्मद अकबर ने कल राजधानी के शंकर नगर स्थित अपने निवास कार्यालय में वर्चुअल बैठक के माध्यम से कबीरधाम जिले में कोरोना संक्रमण की स्थिति की समीक्षा की। उन्होंने बैठक में चर्चा करते हुए जिला कलेक्टर कबीरधाम को जिले में कोविड-19 से संक्रमित मरीजों के बेहतर इलाज के लिए हर आवश्यक व्यवस्था सुनिश्चित करने के निर्देश दिए। इसके तहत उन्होंने अस्पतालों में आवश्यक संसाधनों को बढ़ाने सहित उनके शीघ्र आपूर्ति सुनिश्चित करने के लिए भी निर्देशित किया।

उल्लेखनीय है कि वन मंत्री श्री अकबर स्वयं होम आइसोलेशन में रहते हुए दूरभाष से कोरोना संक्रमण की स्थिति के बारे में प्रतिदिन लगातार समीक्षा करते रहे हैं। वन मंत्री श्री अकबर ने इस दौरान कवर्धा जिले में कोरोना संक्रमित मरीजों के इलाज कर रहे निजी अस्पतालों के संचालकों तथा डॉक्टरों से भी चर्चा की।

गौरतलब है कि वन मंत्री श्री अकबर की पहल पर कबीरधाम जिले में कोविड-19 के संक्रमण की रोकथाम और पीडि़तों की सहायता के लिए हाल ही में 50 लाख रूपए की मंजूरी दी गई है। इस राशि का जिले में स्थित कोविड अस्पतालों में वेंटिलेटर, आईसीयू और ऑक्सीजन बेड की व्यवस्था पर खर्च किया जाएगा। इसी तरह कोरोना संक्रमित सभी जरूरतमंद मरीजों को ऑक्सीजन की सुगम आपूर्ति हो, इसके लिए 85 नग ऑक्सीजन सिलेण्डर भी उपलब्ध करा दिया गया है। इसके अलावा 100 ऑक्सीजन सिलेण्डर अतिरिक्त रूप से भेजा जा रहा है। बैठक में कलेक्टर कबीरधाम रमेशचन्द्र शर्मा ने जिले में कोरोना के संक्रमण की स्थिति और रोकथाम के उपायों के संबंध में विस्तार से जानकारी दी। इस अवसर पर संबंधित विभागीय अधिकारी तथा निजी अस्पताल के संचालक तथा चिकित्सा अधिकारी, श्री मोहित महेश्वरी, आदि उपस्थित थे।
 

चिल्फी घाटी में 20 से अधिक पॉजिटिव
10-Apr-2021 5:13 PM (298)

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
बोड़ला, 10 अपै्रल।
विकासखण्ड मुख्यालय के ग्राम पंचायतों में कोरोना का कहर बढ़ते जा रहा है। ताजा मामले में ग्राम पंचायत चिल्फी घाटी  क्षेत्र में कल ही 20 से अधिक मामले पॉजिटिव पाए गए थे। इसके बाद से घाटी क्षेत्र में कोरोना का डर पैर पसारने लगा, प्रशासन द्वारा मामले की गंभीरता को समझते हुए हरकत में आते हुए आज सवेरे से गांव के सारे दुकानों को बंद करवाया गया। 

चिल्फी के वनांचल क्षेत्र जिसे राज्य सहित आसपास के लोग ऑक्सीजन जोन के नाम से भी जानते हैं। उन क्षेत्रों के गांव में कोरोना का पैर पसारना लोगों को चिंता में डाल रहा है। ग्राम चिल्फी घाटी में 20 से अधिक लोग कोरोना संक्रमित पाए गए हैं ऐसे में स्वास्थ विभाग की टीम द्वारा गांव-गांव जाकर सैंपल दिया जा रहा है।

 ग्रामीण चिकित्सा अधिकारी राकेश राठौर ने बताया कि ग्राम सरोदा दादर से 2 ग्राम बेंदा से 1 ग्राम धवई पानी  राजा ढार से आठमरीज पाए गए हैं। चिल्फी में 2 दिन में 11 लोगों का आरटी-पीसीआर सैंपल लेकर जांच के लिए मेडिकल कॉलेज राजनंदगांव भेजा गया वर्तमान में एंटीजन टेस्ट में रिपोर्ट तुरंत बता दी जाती है। 

बोड़ला में 64 की जांच, 4 पॉजिटिव
कोरोना के लगातार बढ़ते मामलों को लेकर विकासखंड मुख्यालय में व्यापारियों का टेस्ट अनिवार्य कर दिया गया है। इस विषय में जानकारी देते हुए बीएमओ डॉ. योगेश साहू व बीपीएम सौरव तिवारी ने बताया कि पिछले दो दिनों से  नगर में हो रहे व्यापारियों के टेस्ट में 70 परसेंट लोग जागरूकता का परिचय देते हुए टेस्टिंग के लिए पहुंच रहे हैं। वहीं 45 प्लस वाले जागरूक लोग भी वैक्सिन करण के लिए पहुंच रहे हैं। कल 139 व्यापारियों का टेस्ट किया गया था, जिनमें से 5 लोगों का कोरोना पॉजिटिव आया था। वही आज 64 लोगों का किया गया है, जिसमें 4 लोग संक्रमित पाए गए। इस तरह नगर पंचायत तहसील क्षेत्र में प्रशासन द्वारा सावधानी बरतते हुए व्यापारियों के टेस्ट के लिए 2 दिन  का समय रखा गया था। जिसमें 200 टेस्ट पर 9 संक्रमित पाए गए इस तरह ज्यादा से ज्यादा टेस्ट के माध्यम से तहसील मुख्यालय में कोरोना संक्रमण के रफ्तार की जांच  की जा रही है।
 

कारोबारियों की कोरोना जांच, तीन पॉजिटिव
09-Apr-2021 6:34 PM (65)

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

बोड़ला, 9 अप्रैल। बढ़ते कोरोना संक्रमण को लेकर नगर पंचायत क्षेत्र के व्यपारियों का कोरोना टेस्ट कराया गया। नगर पंचायत के सी एमओ ने आज मुनादी कराकर सभी दुकानदारों से कोरोना जांच कराने को कहा। आज कुल 139 व्यपारियों का कोरोना टेस्ट किया गया जिसमें 3 व्यापारियों का टेस्ट रिपोर्ट पॉजिटिव पाया गया।आने वाले दिनों में शेष बचे व्यपारियों का टेस्ट किया जाना है।

भाजपा स्थापना दिवस मनाया गया
08-Apr-2021 10:00 PM (57)

बोड़ला, 8 अप्रैल। नगर के हिन्दू संगम स्थल में मण्डल अध्यक्ष बरसाती वर्मा, वरिष्ठ भाजपाई विदेशी राम धुर्वे, महामंत्री झम्मन चंद्रवंशी, राजेश साहू, किसान मोर्चा के महामंत्री ओम प्रकाश वर्मा मंडल उपाध्यक्ष विजय पाटिल  सुनील मानिकपुरी  लव निर्मलकर  भाजपा पिछड़ा वर्ग मंडल अध्यक्ष जानी गुप्ता नगर अध्यक्ष  चंदन मानिकपुर जी टेक राम जी मंत्री जी जस्सू पटेल संतोष जी बाला पटेल जी की उपस्थिति में भारतीय जनता पार्टी 41वां स्थापना दिवस मनाया गया।इस अवसर पर कार्यकर्ताओं ने घरों में झंडा दायित्व वाला नेम प्लेट लगाये गये।