कोण्डागांव

किसानों के समर्थन में भाजपा का धरना-प्रदर्शन, निकाली रैली, गिरफ्तारियां
22-Jan-2021 9:06 PM 147
किसानों के समर्थन में भाजपा का धरना-प्रदर्शन, निकाली रैली, गिरफ्तारियां

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

कोण्डागांव, 22 जनवरी। आज भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश आह्वान पर कोण्डागांव के एनसीसी मैदान में भाजपा ने एक दिवसीय धरना प्रदर्शन किया। धरना-प्रदर्शन के बाद विशाल रैली निकली, जहां ट्रैक्टर में सवार भाजपाई नेताओं ने कोण्डागांव के कलेक्टोरेट कार्यालय तक पहुंचकर कार्यालय का घेराव किया। इस दौरान भारी संख्या में भाजपा के कार्यकर्ताओं समेत किसान रैली में शामिल रहे।

भारतीय जनता पार्टी के माध्यम से कोण्डागांव के एनसीसी मैदान में 22 जनवरी को एक दिवसीय धरना दिया गया। धरना में मुख्य रूप से सभी किसानों को बारदाना उपलब्ध कराए जाने, बारदाने की पूरी कीमत दिए जाने, बारदाने का भुगतान 30 रुपए की दर से एक मुस्त किसानों को देने, कोण्डागांव जिला के केशकाल क्षेत्र के मृतक किसानों के परिवार समेत छत्तीसगढ़ के सभी मृतक किसान परिवार को 25 लाख रुपए का मुआवजा देने, धान के रुपए एक मुस्त दिया जाने, धान खरीदी का समय 1 माह बढ़ाए जाने और गिरदावरी में काटा गया रकबा को वापस जोड़े जाने की मांगों को मुख्य रूप से शामिल किया गया। एनसीसी मैदान में आयोजित भाजपा की रैली धरना को मुख्य रूप से भाजपा प्रदेश उपाध्यक्ष व पूर्व मंत्री लता उसेण्डी व कोण्डागांव भाजपा प्रभारी और प्रफुल्ल विश्वकर्मा ने संबोधित किया। इसके अलावा भाजपा के कई अन्य पदाधिकारियों ने भी धरना कार्यक्रम को संबोधित किया।

ट्रैक्टर में बैठकर पहुंचे कलेक्टोरेट तक

कोण्डागांव के मैदान में एक दिवसीय धरना के बाद भाजपा ने विशाल रैली निकाली, रैली की अगुवाई ट्रैक्टर में बैठे भाजपा प्रदेश उपाध्यक्ष लता उसेण्डी और कोण्डागांव जिला प्रभारी प्रफुल्ल विश्वकर्मा ने किया। ट्रैक्टर में बैठे पदाधिकारियों के अलावा हजारों की संख्या में भाजपा के पदाधिकारी और कार्यकर्ता रैली के शक्ल में कोण्डागांव के कलेक्ट्रेट कार्यालय तक पहुंचे।

भाजपा के कलेक्टोरेट घेराव की पूर्व सूचना को देखते हुए कोण्डागांव के जिला पुलिस के माध्यम से कार्यालय को छावनी के रूप में तब्दील कर दिया गया था। भारी संख्या में कलेक्टोरेट पहुंचे भाजपाइयों ने कलेक्टर को ज्ञापन देने की मांग लेकर कार्यालय का घेराव किया। लेकिन भाजपाई प्रदर्शनकारियों तक कोण्डागांव के कलेक्टर नहीं पहुंचे।

भाजपा की रैली में हजारों की संख्या में भाजपाई और स्थानीय किसान शामिल थे तो वहीं पुलिस के जवान और अधिकारी भी कलेक्टोरेट के सुरक्षा में तैनात रहे। भाजपाइयों ने पुरजोर कोशिश करते हुए कलेक्ट्रेट कार्यालय के अंदर प्रवेश करना चाहा। लेकिन पुलिस जवानों के आगे उनकी कोशिशें नाकाम हो गई। इस बीच पुलिस सुरक्षा जवान और भाजपाइयों के बीच हल्की झूमा झटकी भी हुई। बताया जा रहा है कि, कुछ भाजपाई कार्यकर्ता और पुलिस के अधिकारियों को चोटें भी आई है। हल्की झूमा झटकी के बाद भाजपाइयों ने गिरफ्तारियां दी। जिन्हें पुलिस ने कोण्डागांव के कलेक्ट्रेट कार्यालय के पास स्थित महात्मा गांधी वार्ड स्कूल के मैदान में अस्थाई जेल में रखा और कुछ समय बाद मुचलका जमानत पर रिहा कर दिया।

भाजपा के विरोध को कांग्रेसियों ने बताया घडिय़ाली आंसू

भाजपा के एक दिवसीय धरना, रैली, कलेक्ट्रेट कार्यालय का घेराव और गिरफ्तारी कार्यक्रम को कोण्डागांव की कांग्रेस ने घडिय़ाली आंसू बहाना बताया है। भाजपा के विरोध प्रदर्शन के पहले कोण्डागांव के कांग्रेस कार्यालय से कांग्रेस जिला प्रभारी यशवंत राव, कांग्रेस जिला अध्यक्ष झुमुक लाल दीवान व अन्य पदाधिकारियों की मौजूदगी में प्रेस वार्ता का आयोजन किया गया। जिसमें भाजपा पर कई तरह के आरोप लगाए गए। साथ ही बताया गया कि, भाजपा के विरोध के बावजूद छत्तीसगढ़ की कांग्रेस सरकार ने पिछले 20 सालों का रिकॉर्ड तोड़ते हुए 84 क्विंटल से अधिक की धान रिकॉर्ड समय में खरीद लिया है। यदि भाजपा धान खरीदी में अड़चन उत्पन्न नहीं करती तो अविभाजित छत्तीसगढ़ मध्य प्रदेश के पिछले 30 वर्षों का धान खरीदी का रिकॉर्ड टूट चुका होता।

अन्य पोस्ट

Comments