राष्ट्रीय

BSF के स्मारक समारोह में बतौर मुख्य अतिथि शामिल होंगे केंद्रीय गृह राज्यमंत्री अजय मिश्रा
20-Oct-2021 9:16 PM (63)

नई दिल्ली, 20 अक्टूबर: नई दिल्ली: केंद्रीय गृह राज्यमंत्री अजय मिश्रा (MOS Ajay Mishra) 23 अक्टूबर को सीमा सुरक्षा बल (BSF) के वीर जवानों के सम्मान में आयोजित स्मारक समारोह में मुख्य अतिथि के तौर पर हिस्सा लेंगे. बुधवार को इसकी जानाकरी एक अधिकारी ने दी. उन्होंने बताया कि पूरे दिन चलने वाला सम्मान समारोह दिल्ली के चाणक्यपुरी स्थित राष्ट्रीय पुलिस स्मारक (NPM) पर आयोजित होगा. इससे पहले मिश्रा ने पुलिस थिंक टैंक बीपीआरडी के कार्यक्रम में भी बतौर मुख्य अतिथि हिस्सा लिया था.

बीएसएफ के अधिकारी ने बताया कि सुबह के सत्र में अधिकारी और बीएसएफ जवान शहीदों के परिवारों के साथ एनपीएम स्थित ‘वीरता दीवार' पर श्रद्धांजलि अर्पित करेंगे और इसके बाद शहीद जवानों के परिजनों को सम्मानित करने का कार्यक्रम शुरू होगा. शाम के सत्र में आयोजन स्थल पर भव्य ‘शहीद सम्मान' परेड होगी. मुख्य अतिथि गृह राज्यमंत्री अजय कुमार मिश्रा स्मारक पर श्रद्धा सुमन अर्पित करेंगे. इस कार्यक्रम में मिश्रा सभी महिला सदस्यों की मोटरसाइकिल रैली ‘मशाल' को भी झंडी दिखा सकते हैं, जो राष्ट्रीय राजधानी के कुछ अहम स्थानों से होकर गुजरेगी.


गौरतलब है कि देश की आंतरिक सुरक्षा के लिए विभिन्न प्रकार के कर्तव्यों का निर्वहन करने वाली बीएसएफ में 2.65 लाख कर्मी पाकिस्तान और बांग्लादेश से लगती 6300 किलोमीटर सीमा की सुरक्षा की जिम्मेदारी निभा रहे हैं. बीएसएफ की स्थापना से अबतक इसके 1,972 जवानों ने अपने प्राणों की कुर्बानी दी है.उल्लेखनीय है कि उत्तर प्रदेश के लखीमपुर खीरी जिले में तीन अक्टूबर को हुई हिंसा में चार किसानों सहित आठ लोगों की मौत हुई थी. बाद में इस मामले की जांच के लिए गठित उत्तर प्रदेश की विशेष जांच टीम (एसआईटी) ने मिश्रा के बेटे आशीष को गिरफ्तार किया था. मिश्रा के बेटे पर आरोप है कि जिन वाहनों ने किसानों को कुचला था, उनमें से एक में वह सवार थे. हालांकि, उन्होंने इन आरोपों से इनकार किया है.(abplive)

दिल्ली पुलिस ने राजस्थान के सीएम के ओएसडी को जारी किया नोटिस
20-Oct-2021 9:07 PM (68)

जयपुर, 20 अक्टूबर | राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के विशेष कार्य अधिकारी (ओएसडी) को दिल्ली पुलिस की अपराध शाखा ने एक नोटिस जारी कर फोन टैपिंग मामले में दिल्ली में पेश होने को कहा है। गहलोत के ओएसडी लोकेश शर्मा को 22 अक्टूबर को दिल्ली क्राइम ब्रांच ने तलब किया है। शर्मा को पहले भी दिल्ली आने का नोटिस भेजा गया था, लेकिन वह नहीं गए थे। उन्हें अब सुबह 11 बजे ई-मेल के जरिए नोटिस भेजकर पूछताछ के लिए बुलाया गया है। हालांकि, शर्मा इस मामले को लेकर कानूनी राय ले रहे हैं। इससे पहले शर्मा को 24 जुलाई को पूछताछ के लिए बुलाया गया था, लेकिन वह उस वक्त पेश नहीं हुए थे।

शर्मा ने फोन टैपिंग मामले में अपने खिलाफ दर्ज प्राथमिकी को हाईकोर्ट में चुनौती दी है। इस मामले में ओएसडी को राहत देते हुए हाईकोर्ट ने उनकी गिरफ्तारी पर रोक लगा दी थी।

शर्मा के सामने गहलोत सरकार के मुख्य सचेतक महेश जोशी को भी जून में पूछताछ के लिए बुलाया गया था, लेकिन वह भी नहीं गए थे।

जोधपुर के सांसद और केंद्रीय जल शक्ति मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत ने इस साल 25 मार्च को फोन टैपिंग का मामला दर्ज कराया था। केस दर्ज कराते हुए शेखावत ने कहा था कि फोन टैपिंग के जरिए उनकी छवि खराब करने की कोशिश की गई है।

शर्मा ने इस एफआईआर को दिल्ली हाई कोर्ट में चुनौती दी है। हाईकोर्ट में अब तक इस मामले की 3 बार सुनवाई हो चुकी है। अभी हाल ही में लोकेश शर्मा को गिरफ्तारी पर हाईकोर्ट से 13 जनवरी तक राहत मिली है।(आईएएनएस)

आईसीएसई बोर्ड के पहले चरण की परीक्षाएं स्थगित
20-Oct-2021 9:06 PM (48)

नई दिल्ली, 20 अक्टूबर | इस साल भी बोर्ड परीक्षाओं को लेकर छात्रों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। जहां सीबीएसई ने अपनी बोर्ड परीक्षाओं का शेड्यूल जारी कर दिया है, वहीं आईसीएसई और आईएससी ने कक्षा 10वीं और 12वीं के पहले चरण की बोर्ड परीक्षाओं को स्थगित करने का निर्णय लिया है। आईसीएसई का कहना है कि अपरिहार्य कारणों एवं कुछ मौजूदा परिस्थितियों के कारण यह निर्णय लेना पड़ा है। बोर्ड परीक्षाएं स्थगित करने का निर्णय छात्रों के हितों को ध्यान में रखते हुए भी लिया है। आईसीएसई 10वीं और आईएससी 12वीं बोर्ड की टर्म वन की परीक्षा को स्थगित किया है।

सितंबर माह में सीआईएससीई ने 10वीं और आईएससी 12वीं बोर्ड के पहले चरण की परीक्षाओं का कार्यक्रम जारी किया था। इसके तहत 10वीं और 12वीं बोर्ड के पहले चरण की परीक्षा 15 नवंबर, 2021 से शुरू होनी थी।

सितंबर में जारी किए गए कार्यक्रम के मुताबिक आईएससी कक्षा 12वीं की परीक्षा 16 दिसंबर, 2021 को समाप्त होनी थी। आईसीएसई 10वीं की परीक्षा 6 दिसंबर को समाप्त होनी थी। अब इन परीक्षाओं के लिए नया शेड्यूल जारी किया जाएगा। फिलहाल परीक्षाओं की नई तारीख व शेड्यूल घोषित नहीं किया गया है। बोर्ड का कहना है कि इस विषय में आधिकारिक जानकारी जल्द ही वेबसाइट पर अपलोड की जाएगी।

इस वर्ष काउंसिल फॉर द इंडियन स्कूल सर्टिफिकेट एग्जामिनेशन आईसीएसई का पास प्रतिशत 99.98 फीसदी था। आईसीएसई में लड़कियों और लड़कों दोनों ने 99.98 फीसदी के साथ पास प्रतिशत हासिल किया है।

आईएससी के लिए, लड़कों का पास प्रतिशत 99.86 और लड़कियों का पास प्रतिशत 99.66 फीसदी रहा था। विदेशों में भी 100 फीसदी छात्र उतीर्ण हुए।

सीआईएससीई ने देशभर के 2,19,499 छात्रों का परिणाम जारी किया था। इन 219,499 छात्रों में 1,18,846 लड़के थे जो कुल या 54.14 फीसदी होते हैं। वहीं इनमें 45.86 फीसदी यानी 1,00,653 लड़कियां थी।(आईएएनएस)

आगरा में 'सफाई कर्मचारी' की हिरासत में मौत से राजनीतिक बवाल
20-Oct-2021 9:05 PM (64)

आगरा, 20 अक्टूबर | उत्तर प्रदेश के आगरा जिले के जगदीशपुरा थाने के 'माल खाना' (स्ट्रांगरूम) से 25 लाख रुपये लूटने के आरोपी वाल्मीकि समुदाय के एक सफाई कर्मचारी की हिरासत में मौत होने के बाद वाल्मीकि जयंती पर बुधवार को बड़ा राजनीतिक विवाद खड़ा हो गया है। वाल्मीकि समुदाय ने मृतक के परिवार को दो करोड़ रुपये का आर्थिक मुआवजा दिए जाने तक सभी समारोहों का बहिष्कार करने का फैसला किया है।

इस बीच, पार्टी महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा, पार्टी के उत्तर प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू सहित अन्य कांग्रेस नेता वाल्मीकि समुदाय के साथ एकजुटता व्यक्त करने के लिए मृतक के परिवार से मिलने गए।

आरोपी अरुण को मंगलवार को गिरफ्तार किया गया था। लूटी गई नकदी बरामद करने के लिए पुलिस उसे उसके घर ले जा रही थी, तभी उसकी हालत बिगड़ गई जिसके बाद अस्पताल ले जाते समय उसकी मौत हो गई। पीड़ित के परिवार के सदस्यों ने प्राथमिकी में कहा कि पूछताछ के दौरान लगी चोटों के कारण उसने दम तोड़ दिया।

आगरा के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक मुनिराज ने कहा कि आरोपी ने कबूल किया है कि चोरी के पैसे उसके घर पर रखे हुए हैं।

पुलिस ने कहा कि जांच जारी है और अगर कोई दोषी पाया गया तो कार्रवाई की जाएगी।

शव को एस. एन. मेडिकल कॉलेज के पोस्टमार्टम वार्ड में रखा गया है, जबकि जगदीशपुरा थाना क्षेत्र में अतिरिक्त पुलिस बल तैनात किया गया है।

समाजवादी पार्टी और कांग्रेस ने मामले की गहन जांच और मृतक के परिवार को मुआवजे की मांग की है।

नवीनतम रिपोटरें में कहा गया है कि प्रियंका गांधी वाड्रा को आगरा-लखनऊ एक्सप्रेसवे पर रोक दिया गया है, जहां वह अन्य कांग्रेस नेताओं के साथ धरने पर बैठी थीं।(आईएएनएस)

 

केंद्र का लक्ष्य 2021 के अंत तक पूरी वयस्क आबादी का टीकाकरण करना है: मंत्री
20-Oct-2021 9:02 PM (40)

नई दिल्ली, 20 अक्टूबर | केंद्रीय स्वास्थ्य और परिवार कल्याण राज्य मंत्री भारती प्रवीण पवार ने बुधवार को कहा कि केंद्र सरकार ने 2021 के अंत तक देश की पूरी वयस्क आबादी का टीकाकरण करने का लक्ष्य रखा है। देश में अब तक कोविड-19 टीकों की 99 करोड़ से अधिक खुराकें दी जा चुकी हैं। उन्होंने कहा, "भारत में सस्ती, सुलभ, सुरक्षित और आधुनिक स्वास्थ्य सेवा के प्रधानमंत्री के सपने को साकार करने की बड़ी जिम्मेदारी हम पर है। भारत सरकार ने संचारी और गैर-संचारी रोगों की रोकथाम, नियंत्रण और उन्मूलन और मातृ एवं शिशु स्वास्थ्य में सुधार के लिए विभिन्न राष्ट्रव्यापी कार्यक्रम शुरू किए हैं।"

मंत्री ने कहा कि सार्वभौमिक स्वास्थ्य कवरेज प्राप्त करने के लक्ष्य की दिशा में काम करते हुए, सरकार ने दुनिया का सबसे बड़ा सार्वजनिक वित्त पोषित स्वास्थ्य कार्यक्रम 'आयुष्मान भारत' मिशन शुरू किया है।

पवार ने कहा, "डिजिटल स्वास्थ्य मिशन को शामिल करने के लिए योजना का विस्तार किया गया है, जिसका उद्देश्य स्वास्थ्य सुविधाओं का बुनियादी ढांचा मजबूत करने के लिए सरकारी निजी भागीदारी के तहत वित्त उपलब्ध कराना है।"

पिछले एक दशक में भारत के स्वास्थ्य देखभाल परिणाम संकेतकों के बारे में बात करते हुए, (जिसमें लगातार सुधार का अनुमान है) मंत्री ने कहा, "संचारी और गैर संचारी रोगों के नियंत्रण, बचाव और उन्मूलन के लिए सरकार अथक प्रयास कर रही है, जिसके कारण कई योजनायें और कार्यक्रम राष्ट्रीय स्तर पर शुरू किये जा सके हैं। सरकार के प्रयासों से महिलाओं, बच्चों, शिशुओं और नवजातों के स्वास्थ्य में सुधार हुआ है।"

भारती पवार बुधवार को निर्माण भवन से फिक्की हेल्थकेयर एक्सीलेंस अवार्ड समारोह में बोल रही थीं। स्वास्थ्य सेवा क्षेत्र में विभिन्न परिवर्तन और विकास लाने के लिए फिक्की द्वारा किए गए प्रयासों को रेखांकित करते हुए, उन्होंने कहा, "प्रधानमंत्री के सस्ती, सुलभ और आधुनिक स्वास्थ्य सेवा के सपने को प्राप्त करने की हमारी बड़ी जिम्मेदारी है।"

पवार ने कहा, "सरकार ने पिछले कुछ वर्षों में विकास के लिए उपयुक्त वातावरण बनाने के साथ-साथ देश भर में अस्पतालों, सार्वजनिक वित्त पोषित प्रयोगशालाओं के सार्वजनिक-निजी बुनियादी ढांचे को बढ़ाने के लिए कई वित्तीय सहायता योजनाएं शुरू की हैं। राष्ट्रीय चिकित्सा आयोग और पैरामेडिक्स चिकित्सा शिक्षा के क्षेत्र में परिषद की प्रमुख उपलब्धियां रही हैं।"(आईएएनएस)

आर्यन खान को जमानत देने से इनकार करते हुए कोर्ट ने कहा- कोई आपराधिक इतिहास नहीं है लेकिन...
20-Oct-2021 8:26 PM (113)

अभिनेता शाहरुख खान के बेटे आर्यन खान को अभी जेल में ही रहना होगा. उन्हें मुंबई की एक अदालत ने जमानत देने से इनकार कर दिया. इसके बाद आर्यन खान के वकील ने जमानत के लिए हाई कोर्ट का रुख किया. याचिका पर गुरुवार को सुनवाई हो सकती है.

विशेष न्यायाधीश वी वी पाटिल ने आज आर्यन खान और अन्य को जमानत देने से इनकार करते हुए कहा, ''कोई आपराधिक इतिहास नहीं है लेकिन आर्यन खान के व्हाट्सएप चैट से यह पता चलता है कि वह अवैध ड्रग्स की गतिविधियों में लिप्त थे.''

बता दें कि एनसीबी ने आर्यन खान, अरबाज मर्चेंट और फैशन मॉडल मुनमुन धमेचा को ड्रग्स रखने, इससे संबंधित साजिश, इसके सेवन, खरीद और तस्करी करने के आरोप में तीन अक्टूबर को गिरफ्तार किया था.

तीनों इस समय न्यायिक हिरासत में हैं. आर्यन और मर्चेंट मुंबई में ऑर्थर रोड जेल में बंद हैं और धमेचा यहां बायकुला महिला कारागार में बंद है. मामले में आरोपी आर्यन खान और अन्य के खिलाफ एनडीपीएस कानून की धाराओं-8(सी), 20(बी), 27, 28, 29 और 35 के तहत मामला दर्ज किया गया है.

आर्यन ने अपनी जमानत याचिका में कहा था कि एनसीबी की यह दलील निराधार है कि वह साजिश और मादक पदार्थों की तस्करी में शामिल पाए गए हैं. उन्होंने कहा कि उनके पास से ड्रग्स की कोई बरामदगी नहीं हुई.

एनसीबी ने हालांकि जमानत याचिका का विरोध किया और कहा कि आर्यन कई साल से मादक पदार्थों का सेवन कर रहे हैं और वह नशीली वस्तुओं की खरीद के लिए ऐसे कई व्यक्तियों के संपर्क में थे जो अंतरराष्ट्रीय मादक पदार्थ नेटवर्क का हिस्सा प्रतीत होते हैं.

एजेंसी ने आर्यन खान की व्हाट्सऐप चैट का हवाला दिया है और दावा किया कि इससे बड़ी मात्रा में मादक पदार्थों की खरीद का संकेत मिलता है. इस मामले में अब तक 20 लोगों को गिरफ्तार किया जा चुका है.(abplive)

पेट्रोल-डीजल की बढ़ती कीमतों के बीच पीएम मोदी ने तेल कंपनियों के CEOs के साथ की बैठक
20-Oct-2021 8:25 PM (106)

पेट्रोल और डीजल की बढ़ती कीमतों के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी बुधवार को वीडियो कांफ्रेंस के जरिए वैश्विक तेल और गैस क्षेत्र के मुख्य कार्यकारी अधिकारियों (CEO) और विशेषज्ञों के साथ बातचीत की. इसमें रिलायंस इंड्रस्ट्रीज के चेयरमैन और मैनेजिंग डायरेक्टर मुकेश अंबानी, रोसनेफ्ट (रूस) के अध्यक्ष और सीईओ डॉ. इगोर सेचिन और सऊदी अरामको के अध्यक्ष और सीईओ अमीन नासर सहित अन्य ने भाग लिया.

इससे पहले PMO ने एक बयान में कहा था कि यह छठी ऐसी वार्षिक बातचीत है, जो 2016 में शुरू हुई थी. इसमें तेल और गैस क्षेत्र के वैश्विक नेता शामिल होते हैं, जो इस क्षेत्र के प्रमुख मुद्दों और भारत के साथ सहयोग और निवेश के संभावित क्षेत्रों का पता लगाने के लिए विचार-विमर्श करते हैं.

पेट्रोल-डीजल की कीमतों में फिर इजाफा

दो दिनों की स्थिरता के बाद बुधवार को फिर से पेट्रोल और डीजल की कीमतों में 35 पैसे प्रति लीटर की वृद्धि की गयी जिसके साथ ही देश भर में ईँधन की कीमतें एक नयी ऊंचाई पर पहुंच गयीं. सरकारी खुदरा ईंधन विक्रेताओं की मूल्य अधिसूचना के अनुसार, दिल्ली में पेट्रोल की कीमत 106.19 रुपये प्रति लीटर और मुंबई में 112.11 रुपये प्रति लीटर के रिकॉर्ड स्तर पर पहुंच गयी.

वहीं मुंबई में, डीजल अब 102.89 रुपये प्रति लीटर मिल रहा है, जबकि दिल्ली में इसकी कीमत 94.92 रुपये प्रति लीटर है. इससे पहले पिछले दो दिन कीमतों में कोई बदलाव नहीं किया गया था. जबकि उससे पहले, लगातार चार दिन कीमतों में 35 पैसे प्रति लीटर की हर दिन बढ़ोतरी की गयी थी.

इस वृद्धि के साथ, पेट्रोल अब सभी राज्यों की राजधानियों में 100 रुपये प्रति लीटर या उससे अधिक हो गया है, जबकि डीजल एक दर्जन से अधिक राज्यों में सैकड़े के स्तर को छू गया है. पणजी और रांची में भी डीजल ने 100 रुपये प्रति लीटर का आंकड़ा पार कर लिया.

सबसे महंगा ईंधन राजस्थान के सीमावर्ती शहर गंगानगर में है जहां पेट्रोल 118.23 रुपये प्रति लीटर और डीजल 109.04 रुपये प्रति लीटर मिल रहा है. सितंबर के अंतिम सप्ताह में कीमतों में बदलाव में तीन सप्ताह के लंबे अंतराल को समाप्त करने के बाद से, पेट्रोल की कीमतों में यह 17वीं वृद्धि है और डीजल की कीमतों में 20वीं बार वृद्धि हुई है.

जहां देश के ज्यादातर हिस्सों में पेट्रोल की कीमत पहले से ही 100 रुपये प्रति लीटर से ऊपर है, डीजल की दरें मध्य प्रदेश, राजस्थान, ओडिशा, आंध्र प्रदेश, तेलंगाना, गुजरात, महाराष्ट्र, छत्तीसगढ़, बिहार, केरल, कर्नाटक, झारखंड, गोवा और लद्दाख सहित एक दर्जन से अधिक राज्यों/केंद्रशासित क्षेत्रों में उस स्तर को पार कर गयी हैं. स्थानीय करों के आधार पर कीमतें राज्यों में अलग-अलग होती हैं.

अंतरराष्ट्रीय बेंचमार्क ब्रेंट क्रूड सात साल में पहली बार बुधवार को 84.43 डॉलर प्रति बैरल पर कारोबार कर रहा है. एक महीने पहले ब्रेंट की कीमत 73.92 डॉलर प्रति बैरल थी. तेल का शुद्ध आयातक होने के नाते, भारत पेट्रोल और डीजल की कीमतें अंतरराष्ट्रीय कीमतों के बराबर दरों पर रखता है. अंतरराष्ट्रीय तेल की कीमतों में वृद्धि की वजह से पेट्रोल के लिए 28 सितंबर और डीजल के लिए 24 सितंबर को दर संशोधन में तीन सप्ताह का अंतराल खत्म हो गया था. तब से डीजल की कीमत में कुल 6.50 रुपये और पेट्रोल की कीमत में पांच रुपये प्रति लीटर का इजाफा हुआ है.(abplive)

गुलाम नबी आजाद बोले, आतंकियों को जिंदा पकड़ने पर ही होगा नागरिकों की हत्याओं की साजिश का खुलासा
20-Oct-2021 8:24 PM (130)

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और जम्मू कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री घाटी की अपनी चार दिनों की यात्रा पूरी करने के बाद मीडिया कर्मियों से बात करते हुये आज़ाद ने कहा कि हत्याओ का मकसद यहाँ से लोगो का पलायन करवाना और प्रदेश के विकास को रोकना है. गुलाम नबी आजाद ने कहा है कि घाटी में अल्पसंख्यको और बाहरी लोगों की हत्याओं में कश्मीर के लोगो का कोई रोल नहीं है और देश के बाकी लोगो से ज्यादा कश्मीरी इन हत्याओं की निंदा कर रहे हैं. 
 
कश्मीर घाटी में आम नागरिको की हत्या में शामिल आतंकियों के एनकाउंटर पर गुलाम नबी आजाद ने कहा कि इस मसले की तह तक पहुँचने के लिए एक दो लोगो का जिंदा पकड़ा जाना ज़रूरी है क्योंकि कि इसी से पूरी साजिश की तह तक पहुचंने में मदद मिलेगी।
 
कांग्रेस नेताओं के इन आरोपों कि चुनाव आते ही कश्मीर में आतंकी हमले बढ़ जातें हैं इस पर आजाद ने कहा कि, मैं राजनीतिकरण करना नहीं चाहता लेकिन तीन दशकों में जम्मू कश्मीर में आतंकवाद में उतार चढ़ाव आया है। इसका मतलब ये नहीं कि कोई नेता या सिस्टम आतंकवाद के पक्ष में था।
 
गुलाम नबी आज़ाद ने कहा कि जम्मू कश्मीर के लोग जल्द से जल्द राज्य का दर्जा वापस देने और जल्द चुनाव चाहतें हैं। राज्य का दर्जा सबसे पहले बहाल किया जाना चाहिये। उन्होंने कहा कि प्रदेश का विकास की जिम्मेदारी बाहर से आये हुये ब्यूरोक्रेट्स को नहीं सौंपा जा सकता जिन्हें यहां के स्थानीय हालात की जानकारी नहीं है।
 
आजाद ने कहा कि चुनावों के बाद राज्य का दर्जा वापस देने का इंतजार नहीं किया जाना चाहिये। उन्होंने कहा कि पूर्ण राज्य का दर्जा देने के साथ ही चुनी हुई सरकार को जिम्मेदारी सौंपा जाना चाहिये, इससे प्रभावी तरीके से आतंकवाद से निपटने में भी मदद मिलेगी।    
 
लोगो के पलायन पर आजाद ने कहा कि लोग डरे हुये हैं। उन्होंने कहा कि हमें अपना घर ठीक करने की ज़रुरत है और स्थानीय लोगों को ज्यादा प्रभावी तरीके से सामने आकर बाहरी लोगो को सुरक्षा का एहसास करना होगा।(abplive)

रूस में कोरोना से रिकॉर्ड मौतें, राष्ट्रपति पुतिन ने 1 हफ्ते के लिए पेड छुट्टी को दी मंजूरी
20-Oct-2021 8:23 PM (206)

रूस में कोविड-19 के मामले एक बार फिर तेजी से बढ़ रहे हैं. पिछले 24 घंटे में कोरोना वायरस से 1,028 मरीजों की मौत हो गई, जो कि रोजाना होने वाली मौतों की सर्वाधिक संख्या है. कोरोना के बढ़ते केस और मरीजों की रिकॉर्ड मौतों को देखते हुए रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने एक सप्ताह की छुट्टी का आदेश दे दिया है. इस दौरान कर्मचारियों को भुगतान किया जाएगा. कोरोना से सर्वाधिक मौतों की संख्या को देखते हुए सरकार के मंत्रिमंडल ने सुझाव दिया था कि महामारी को फैलने से रोकने के लिए एक सप्ताह तक अवकाश घोषित किया जा सकता है.

रूस में अब तक कोविड-19 से कुल 2,26,353 मरीजों की मौत हो चुकी है, जो कि अब तक यूरोप में सबसे ज्यादा है. उप प्रधानमंत्री तात्याना गोलिकोवा ने 30 अक्टूबर से शुरू कर एक सप्ताह का अवकाश घोषित करने का सुझाव दिया था, क्योंकि 30 अक्टूबर के बाद सात दिन में से चार दिन सरकारी अवकाश है. इस प्रस्ताव को रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने भी मंजूरी दे दी है.

कोरोना के बढ़ते मामले पर चर्चा करने के लिए आयोजित बैठक में उप प्रधानमंत्री तातात्याना गोलिकोवा ने 30 अक्टूबर से 07 नवंबर तक कार्यस्थलों को बंद रखने का प्रस्ताव किया था. गोलिकोवा ने कहा कि लोगों को सार्वजनिक कार्यक्रम में शामिल होने या कुछ जगहों पर जाने के लिए पूर्ण टीकाकरण या कोरोना से उबरने के साक्ष्य दिखाने होंगे.

वहीं, रूस में रोजाना कोरोना के मामले बढ़ने की वजह टीकाकरण की धीमी रफ्तार, एहतियात बरतने के प्रति लोगों का ढुलमुल रवैया और पाबंदी लगाने के प्रति सरकार का रवैया है. बता दें कि रूस में  साढ़े चार करोड़ यानी सिर्फ 32 प्रतिशत लोगों को पूरी तरह से वैक्सीनेट किया गया है. (abplive)

प्रियंका गांधी को आगरा जाने की मिली इजाजत, पुलिस ने लिया था हिरासत में
20-Oct-2021 7:43 PM (72)

नई दिल्ली, 20 अक्टूबर: कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा को आगरा जाने की अनुमति मिल गई है. UP पुलिस ने प्रियंका गांधी को हिरासत में लिया था. दरअसल, पुलिस हिरासत में एक सफाईकर्मी की मौत के मामले में प्रियंका, मारे गए शख्स के परिजनों से मुलाकात करने आगरा जा रही थीं. यूपी पुलिस ने उन्हें हिरासत लेते वक्त कहा था कि कांग्रेस नेता के पास जरूरी इजाजत नहीं है. आगरा की इस घटना को लेकर प्रियंका ने एक ट्वीट करते हुए यूपी की योगी आदित्‍यनाथ सरकार पर निशाना साधा था. उन्‍होंने अपने ट्वीट में लिखा था , 'किसी को पुलिस कस्टडी में पीट-पीटकर मार देना कहां का न्याय है? आगरा पुलिस कस्टडी में अरुण वाल्मीकि की मौत की घटना निंदनीय है. भगवान वाल्मीकि जयंती के दिन उप्र सरकार ने उनके संदेशों के खिलाफ काम किया है.उच्चस्तरीय जांच व पुलिस वालों पर कार्रवाई हो व पीड़ित परिवार को मुआवजा मिले.' 

एक अन्‍य ट्वीट में प्रियंका ने लिखा था, 'अरुण वाल्मीकि की मृत्यु पुलिस हिरासत में हुई. उनका परिवार न्याय मांग रहा है. मैं परिवार से मिलने जाना चाहती हूं. यूपी सरकार को डर किस बात का है? क्यों मुझे रोका जा रहा है.'

इससे पहले, यूपी पुलिस ने आज सुबह कहा था कि पूछताछ के दौरान अरुण वाल्‍मीकि का स्‍वास्‍थ्‍य बिगड़ गया और उनकी मौत हो गई .SSP आगरा मुनीराज ने कहा कि जब अरुण के घर पर जब मंगलवार रात छापेमारी की गई तभी वह बीमार था. उसे अस्‍पताल ले जाया गया लेकिन डॉक्‍टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया. अरुण पर शनिवार रात को पुलिस स्‍टेशन के एविडेंस लॉकर के तौर पर काम आने वाली इमारत से रुपयों की चोरी का आरोप है, वह वहां क्‍लीनर के तौर पर काम रहा था.

गौरतलब है कि हाल ही में प्रियंका लखीमपुर खीरी हिंसा में मारे गए पीड़ितों के परिवार से मिलने जा रही थीं तो भी उन्हें रोककर हिरासत में ले लिया गया था. उस समय प्रियंका ने कहा था कि उन्हें बिना किसी आधार के हिरासत में रखा गया है. प्रियंका ने कहा था कि जस समय मुझे अरेस्ट किया गया मैं सीतापुर जिले में यात्रा कर रही थी जो कि लखीमपुर खीरी जिले की सीमा से करीब 20 किलोमीटर दूर है. मेरी जानकारी में सीतापुर में धारा 144 लागू नहीं थी. खैर, हिरासत में रखे जाने के बाद राहुल और प्रियंका गांधी को लखीमपुर खीरी जाकर पीड़ित परिवार से मिलने की इजाजत दे दी गई थी.(ndtv.in)

क्रूज़ ड्रग्स केस : आर्यन खान की जमानत के लिए वकील पहुंचे हाईकोर्ट, निचली अदालत से याचिका हो चुकी है नामंजूर
20-Oct-2021 7:40 PM (107)

मुंबई , 20 अक्टूबर: मुंबई क्रूज शिप ड्रग मामले में बॉलीवुड एक्‍टर शाहरुख खान  के बेटे आर्यन खान को फिलहाल जेल में ही रहना होगा. कोर्ट ने उनकी जमानत नामंजूर कर दी है. जिसके बाद आर्यन खान की ओर से पैरवी कर रही वकीलों की टीम ने हाईकोर्ट का रुख किया है. आर्यन खान के वकीलों ने बॉम्बे हाई कोर्ट में जमानत के लिए याचिका दायर की है.

बता दें कि आज विशेष न्यायाधीश वीवी पाटिल ने आर्यन और दो अन्‍य आरोपियों अरबाज मर्चेंट तथा फैशन मॉडल मुनमुन धमेचा की जमानत याचिकाओं को खारिज कर दिया. नारकोटिक्‍स कंट्रोल ब्‍यूरो (NCB) ने आर्यन खान, मर्चेंट और धमेचा को मादक पदार्थ रखने, इससे संबंधित साजिश, इसके सेवन, खरीद और तस्करी करने के आरोप में तीन अक्टूबर को गिरफ्तार किया था. तीनों इस समय न्यायिक हिरासत में हैं. आर्यन और मर्चेंट मुंबई में ऑर्थर रोड जेल में बंद हैं तथा धमेचा यहां बायकुला महिला कारागार में बंद है. मामले में आरोपी आर्यन खान और अन्य के खिलाफ एनडीपीएस कानून की धाराओं-8(सी), 20(बी), 27, 28, 29 और 35 के तहत मामला दर्ज किया गया है. 

जमानत नामंजूर होने के बाद आर्यन को अभी आर्थर रोड जेल में ही रहना होगा. गौरतलब है कि आर्यन, अरबाज मर्चेंट और मुनमुन धमेचा की जमानत याचिका पर सेशन कोर्ट में पिछले हफ्ते सुनवाई हुई थी जिसके बाद अदालत ने फैसला 20 अक्‍टूबर तक सुरक्षित रख लिया था. बता दें कि आर्यन खान को 3 अक्टूबर को इस  ड्रग्स केस में गिरफ्तार किया गया था और वे पिछले 17 दिनों से हिरासत में हैं. 

नारकोटिक्‍स कंट्रोल ब्‍यूरो (NCB) का आरोप है कि गोवा जा रहे क्रूज शिप में जो ड्रग्स पार्टी आयोजित की गई थी, उसमें आर्यन भी थे. दूसरी ओर, बचाव पक्ष ने दलील दी थी कि आर्यन के पास से कोई भी ड्रग्स बरामद नहीं हुआ है. न ही उसने इसका सेवन किया है. ऐसे में उन्‍हें जमानत पर रिहा किया जाना चाहिए. NCB लगातार इस केस में बड़े अंतरराष्ट्रीय ड्रग गिरोह होने का दावा कर रही है.NCB का आरोप है कि आर्यन विदेशों ड्रग पैडलर के संपर्क में थे. यह ड्रग्स की गैरकानूनी खरीद के ग्लोबल नेटवर्क का हिस्सा है.

जांच एजेंसी ने कहा कि व्हाट्सएप चैट से पता चलता है कि आरोपी बड़ी मात्रा में ड्रग्स खरीद के लिए विदेशियों के संपर्क में था. जबकि आर्यन के वकीलों ने इसे गलत बताते हुए कहा कि वह क्रूज़ पर भी नहीं था, जिस पर एनसीबी अधिकारियों ने छापा मारा था.आर्यन के पास ड्रग्स खरीदने के लिए रकम नहीं थी. अभिनेता पुत्र के पास कोई ड्रग्स बरामद नहीं हुई है. जब एनसीबी ने छापा मारा था,  तब आर्यन ने क्रूज में एंट्री तक नहीं की थी. न ही ड्रग्स का इस्तेमाल किया था. उनसे पुलिस को कुछ भी नहीं मिला.जमानत न मिलने के बाद आर्यन खान को ऑर्थर रोड जेल में में शिफ्ट कर दिया गया था. अभिनेता के बेटे को विचाराधीन कैदी के तौर पर N956 नंबर मिला है. (भाषा से भी इनपुट)

जब प्रियंका गांधी के साथ सेल्‍फी के लि‍ए महिला पुलिसकर्मियों में मची होड़...
20-Oct-2021 7:23 PM (110)

नई दिल्ली, 20 अक्टूबर: आगरा में पुलिस हिरासत में वाल्मिकी समाज के युवक की मौत का मामला तूल पकड़ता जा रहा है. इस बीच पीड़ित परिवार से मिलने आगरा जा रही कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी के काफिले को यूपी पुलिस ने लखनऊ-आगरा हाइवे पर रोक लिया. इस दौरान प्रियंका गांधी के साथ सेल्फी लेने के लिए महिला पुलिसकर्मियों में होड़ सी मच गई. वहीं, प्रियंका भी फोटो खिंचवाते समय मुस्कुराती नजर आईं. इसके बाद उन्हें हिरासत में ले लिया गया.

कांग्रेस महासचिव श्रीमती @priyankagandhi जी के साथ महिला पुलिसकर्मियों की तस्वीर बयान कर रही है कि नारीशक्ति को भरोसा है, विश्वास है।

हम नारीशक्ति को सशक्त बनाएंगे, हम नारीशक्ति को अधिकार दिलाएंगे।

हिरासत में लिए जाने पर यूपी पुलिस ने कहा कि आगरा जिलाधिकारी ने निवेदन किया है कि किसी भी नेता को मामले से दूर रखा जाए. जिसके चलते कांग्रेस महासचिव और उनके काफिले को रोका गया है. वहीं इसको लेकर प्रियंका ने ट्वीट किया है, ‘अरुण वाल्मीकि की मृत्यु पुलिस हिरासत में हुई है। उनका परिवार न्याय मांग रहा है। मैं परिवार से मिलने जाना चाहती हूं। उत्तर प्रदेश सरकार को डर किस बात का है? क्यों मुझे रोका जा रहा है। आज भगवान वाल्मीकि जयंती है, पीएम ने महात्मा बुद्ध पर बड़ी बातें की, लेकिन उनके संदेशों पर हमला कर रहे हैं.'

बता दें कि 17 अक्तूबर को आगरा के थाना जगदीशपुरा के मालखाने से 25 लाख रुपये गायब होने के मामले में सफाईकर्मी को पुलिस ने पकड़ा था. जिसकी बाद में मौत हो गई. परिजनों ने पुलिस हिरासत में मौत का आरोप लगाया है. इस मामले में एसएसपी ने 5 पुलिसकर्मियों को सस्पेंड करते हुए रिपोर्ट दर्ज करने के निर्देश दिए हैं.

गौरतलब है कि इस महीने में यह दूसरी बार है जब पुलिस ने कांग्रेस नेताओं को हिरासत में लिया है. इससे पहले लखीमपुर खीरी में पीड़ित किसान परिवारों से मिलने जाते वक्त भी पुलिस ने कांग्रेस महासचिव समेत तमाम नेताओं को हिरासत में लिया था.(ndtv.in)

'12वीं के लिए मूल्‍यांकन नीति की समीक्षा न करें क्‍योंकि...' : स्‍टूडेंट्स की याचिका पर CBSE का सुप्रीम कोर्ट से आग्रह
20-Oct-2021 7:19 PM (107)

नई दिल्‍ली, 20 अक्टूबर :सेंट्रल बोर्ड ऑफ सेकेंडरी एजुकेशन (CBSE) के 12th के मूल्यांकन मानदंड के खिलाफ छात्रों की याचिका पर CBSE ने सुप्रीम कोर्ट (Supreme court) में  कहा है कि कक्षा 12 के लिए अदालत, मूल्यांकन नीति की समीक्षा न करे. अब मूल्यांकन नीति बदलने से सभी छात्रों के परिणामों में संशोधन करना होगा और विश्वविद्यालयों ने कक्षा 12 के परिणामों के आधार पर प्रवेश प्रक्रिया लगभग पूरी कर ली है.सीबीएसई की ओर से कहा गया है कि याचिकाकर्ताओं ने मूल्यांकन नीति को गलत तरीके से पढ़ा है. दरअसल, सीबीएसई ने सुप्रीम कोर्ट में इसे लेकर हलफनामा दाखिल किया है. SC इस पर एक हफ्ते बाद सुनवाई करेगा. याचिकाकर्ता सीबीएसई के हलफनामे पर अपना जवाब दाखिल करेंगे.

इससे पहले,  सुप्रीम कोर्ट ने शुक्रवार को सीबीएसई से दो अलग-अलग याचिकाओं पर अपना जवाब दाखिल करने को कहा था.इसमें आरोप लगाया गया है कि बोर्ड, 12वीं की परीक्षाओं के परिणाम से संबंधित विवाद निवारण तंत्र की प्रक्रिया को ठीक से लागू करने में विफल रहा है . कोविड-19 महामारी के कारण 12वीं की परीक्षा रद्द की गई थी और विद्यार्थियों के रिजल्ट के लिए 30: 30: 40 का फॉर्मूला अपनाया गया था.

 जस्टिस एएम खानविलकर और जस्टिस सीटी रविकुमार की पीठ के समक्ष केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) की ओर से पेश वकील ने कहा कि उन्हें केवल दो दिन पहले याचिकाओं की प्रति दी गई है और समय की कमी के कारण वह जवाब दाखिल नहीं कर सके. इसके बाद शीर्ष अदालत ने बोर्ड को 18 अक्तूबर तक जवाब दाखिल करने निर्देश देते हुए सुनवाई को 20 अक्तूबर तक के लिए टाल दिया था.वकील रवि प्रकाश के माध्यम से दायर याचिकाओं में दावा किया गया है कि बोर्ड विवाद समाधान की प्रक्रिया को लागू करने में विफल रहा है.17 जून को शीर्ष अदालत ने बोर्ड के नतीजे के उक्त फॉर्मूले को स्वीकार कर लिया था.इसमें बारहवीं कक्षा के विद्यार्थियों का मूल्यांकन दसवीं कक्षा (30% वेटेज), ग्यारहवीं कक्षा (30% वेटेज) और बारहवीं कक्षा प्री बोर्ड परीक्षा (40% वेटेज) में प्रदर्शन के आधार पर तय करने की बात कही गई थी. एक याचिका में दावा किया गया है कि उसे इस फॉर्मूले के हिसाब से कम अंक प्राप्त हुए हैं. (ndtv.in)

पंजाब कांग्रेस प्रभारी पद से मुक्ति चाहते हैं हरीश रावत, सोशल मीडिया पर छलका दर्द
20-Oct-2021 7:17 PM (93)

नई दिल्ली, 20 अक्टूबर: उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता हरीश रावत ने पंजाब कांग्रेस प्रभारी पद से मुक्त करने की अपील की है. उन्होंने सोशल मीडिया पर एक पोस्ट शेयर की है. जिसमें उन्होंने लिखा है कि मैं पार्टी हाईकमान से अपील करूंगा कि मुझे पंजाब प्रभारी पद से मुक्त किया जाए, ताकि उत्तराखंड के लिए मैं पूरी तरह समर्पित रह सकूं. रावत ने अपनी पोस्ट में लिखा है कि 'मैं आज एक बड़ी उहापोह से उबर पाया हूं. एक तरफ जन्मभूमि के लिए मेरा कर्तव्य है और दूसरी तरफ कर्म भूमि पंजाब के लिए मेरी सेवाएं हैं. स्थितियां जटिल होती जा रही हैं. क्योंकि  ज्यों-ज्यों चुनाव आएंगे, दोनों जगह व्यक्ति को समय देना पड़ेगा. उत्तराखंड में बेमौसम बारिश ने जो कहर ढाया है, उसके बाद मैं कुछ स्थानों पर ही जा पाया, लेकिन आंसू पोछने मैं सब जगह जाना चाहता था. मगर कर्तव्य पुकार, मुझसे कुछ और अपेक्षाएं लेकर खड़ी हुईं.

उन्होंने आगे लिखा कि जन्मभूमि के साथ मैं न्याय करूं, तभी कर्मभूमि के साथ भी न्याय कर पाऊंगा. पंजाब कांग्रेस और पंजाब के लोगों का मैं आभारी हूं, जो उन्होंने मुझे निरंतर अपना आशीर्वाद और नैतिक समर्थन दिया. संतों, गुरुओं की भूमि, श्री नानक देव जी व गुरु गोबिंद सिंह जी की भूमि से मेरा गहरा भावनात्मक लगाव है. मैंने निश्चय किया है कि हाईकमान से प्रार्थना करूं कि अगले कुछ महीने मैं उत्तराखंड को पूर्ण रूप से समर्पित रह सकूं, इसलिए पंजाब में जो भी मेरा वर्तमान दायित्व है, उस दायित्व से मुझे मुक्त कर दिया जाए. आज्ञा पार्टी नेतृत्व की, विनती हरीश रावत की.'

गौरतलब है कि पंजाब कांग्रेस में मची उथल-पुथल थमने का नाम नहीं ले रही है. पिछले हफ्ते ही नवजोत सिंह सिद्धू ने सोनिया गांधी को लिखा पत्र सार्वजनिक कर दिया. पत्र को अपने ट्विटर हैंडल पर शेयर कर उन्होंने यह इशारा किया है कि जिन मुद्दों को वह लंबे समय से उठाते आ रहे हैं, उन्हें निपाटने के लिए चरणजीत सरकार द्वारा उठाए गए कदम से वह संतुष्ट नहीं हैं. वहीं इस मामले पर मुख्यमंत्री चन्नी ने कहा कि सभी मामलों का निपटारा किया जाएगा. (ndtv.in)

आर्यन खान की जमानत नामंजूर होने पर किशोर तिवारी ने NCB को फिर लिया आड़े हाथ, सुप्रीम कोर्ट से की ये अपील
20-Oct-2021 7:14 PM (318)

नई दिल्ली, 20 अक्टूबर: मुंबई क्रूज ड्रग्स पार्टी मामले में आर्यन को राहत मिलती नहीं दिखाई दे रही है. इस बीच आर्यन खान (Aryan Khan) के पक्ष में आवाज उठाने वाले शिवसेना (Shivsena) नेता किशोर तिवारी ने एक बार फिर एनसीबी की जांच पर सवाल उठाया है. किशोर तिवार ने आज ट्वीट कर कहा कि आर्यन खान की जमानत अस्वीकृति एनसीबी द्वारा एनडीपीएस अधिनियम का क्लासिक दुरुपयोग है. सुप्रीम कोर्ट के लिए संवैधानिक प्रावधानों के तहत मौलिक अधिकारों को बहाल करने का समय आ गया है. क्योंकि एनसीबी के विवादास्पद कृत्यों को सुधारना जूरूरी है. आर्यन खान को शाहरुख खान का बेटा होने के नाते शिकार बनाया जा रहा है.

बता दें कि इस मामले में किशोर तिवारी ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका भी दायर की है. आर्यन खान के मौलिक अधिकारों की रक्षा की मांग करते हुए तिवारी ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर की है. उन्होंने सुप्रीम कोर्ट से मुंबई में एनसीबी की भूमिका की जांच की मांग की है. इसमें कहा गया है कि एनसीबी दुर्भावनापूर्ण और बदले की भावना से काम कर रही है. इसके अधिकारी पिछले दो वर्षों से चुनिंदा फिल्म सेलिब्रिटी और कुछ मॉडलों को निशाना बना रहे हैं. एनसीबी के अफसरों की भूमिका का पता लगाने के लिए विशेष न्यायिक जांच कराई जानी चाहिए.  याचिका में कहा गया है कि सच्चाई का पता लगाने के लिए NCB की जांच शीर्ष अदालत के न्यायाधीश द्वारा की जानी चाहिए.

बताते चलें कि आज बुधवार को बॉलीवुड एक्‍टर शाहरुख खान के बेटे आर्यन खान की जमानत याचिका पर सुनवाई है. लेकिन कोर्ट से आर्यन खान को राहत नहीं मिली है. कोर्ट ने आर्यन की जमानत याचिका नामंजूर कर दी है. अरबाज मर्चेंट और मुनमुन धमेचा की जमानत याचिका भी कोर्ट ने खारिज कर दी है.

आर्यन और मर्चेंट मुंबई के ऑर्थर रोड जेल में बंद हैं. धमेचा को बायकुला महिला कारागार में रखा गया है. एनसीबी ने आर्यन खान और अन्य अन्य आरोपियों पर एनडीपीएस कानून की धाराओं-8(सी), 20(बी), 27, 28, 29 और 35 में केस दर्ज किया है.(ndtv.in)

'पंजाब में AAP को रोकने की पूरी कोशिश कर रहे PM मोदी लेकिन...' : अमरिंदर के नई पार्टी संबंधी ऐलान पर राघव चड्ढा
20-Oct-2021 7:11 PM (121)

नई दिल्‍ली, 20 अक्टूबर  : पंजाब में विधानसभा चुनाव की तारीख जैसे-जैसे नजदीक आ रही है, सियासी हलचल तेज हो गई है. पंजाब के पूर्व मुख्‍यमंत्री कैप्‍टन अमरिंदर सिंह ने नई पार्टी बनाने की घोषणा करते हुए चुनावों में उतरने का ऐलान कर दिया है.' कैप्‍टन' ने मंगलवार को यह भी कहा था कि अगर किसान आंदोलन का समाधान उनके हित में हो जाता है तो पंजाब में भाजपा के साथ समझौते को लेकर भी वे विचार करेंगे. कैप्‍टन की नई पार्टी के गठन की घोषणा को लेकर आम आदमी पार्टी (AAP) के नेता राघव चड्ढा (Raghav chadha)ने 'अजीबोगरीब' बयान दिया है. चड्ढा ने कहा, 'पीएम नरेंद्र मोदी हरसंभव  कोशिश कर रहे है कि आम आदमी पार्टी (आप) को पंजाब में रोका जाए. अभी तक उन्‍होंने अपनी तीन पार्टियों बीजेपी, अकाली  दल और कांग्रेस को मैदान पर उतारा था. 2022 के विधानसभा चुनाव में इन तीनों पार्टियों को 'आप' को रोकने का काम दिया था.'

आम आदमी पार्टी नेता राघव चड्ढा  ने एक वीडियो जारी कर कहा, 'इन तीनों पार्टियों का रिमोट मोदीजी के पास है. जब ये तीनों पार्टियां थक गईं और अपने घुटने टेक दिए और इन्‍हें(पीएम को) लग गया कि ये 'आप' को रोक नहीं पाएंगी तो उन्‍होंने अपने चहेते अमरिंदर सिंह को संदेश दिया कि नई पार्टी बनाओ. चारों  पार्टियों का एक ही लक्ष्‍य है कि किसी भी तरह 'आप' को रोका जाए. इन चारों  का रिमोट मोदीजी के पास है. पंजाब में आम आदमी पार्टी को रोकने के लिए इन चारों पार्टियों को पीएम मोदी ने मैदान में उतारा है.'

उन्‍होंने कहा, ' यह चारों पार्टियां भी मिलकर पंजाब के लोगों की इच्‍छा और खुशहाल पंजाब बनाने का इन लोगों ने जो संकल्प लिया है, उसे खत्‍म नहीं कर पाएंगी. आम आदमी पार्टी को रोकने के लिए 2017 के विधानसभा चुनाव में बीजेपी-अकाली दल ने अपने वोट कांग्रेस के पास ट्रांसफर  करा दिए थे. यह बात अकाली दल के वरिष्‍ठ नेता नरेश गुजराल ने खुद कही थी. इस बार भी ऐसी ही कोशिश हो रही है. तीनों पार्टियां जब AAP को नहीं रोक पा रही तो चौथी पार्टी को लाने की कोशिश हो रही है.' गौरतलब है कि पंजाब के विधानसभा चुनाव में इस बार मुख्‍य मुकाबला सत्‍तारूढ़ कांग्रेस और आम आदमी पार्टी के बीच ही माना जा रहा है. अकाली दल और बीजेपी का वर्षों पुराना गठबंधन टूट चुका है और दोनों पार्टियांअलग-अलग मुकाबले में उतरेंगी.(ndtv.in)

कैप्टन अमरिंदर सिंह की नई पार्टी के साथ BJP गठबंधन को तैयार : पंजाब प्रभारी
20-Oct-2021 7:09 PM (73)

नई दिल्ली, 20 अक्टूबर: पंजाब में आगामी विधानसभा चुनाव के लिए भाजपा (BJP) और राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह (Amarinder Singh) एक साथ आ सकते हैं. कैप्टन अमरिंदर सिंह की नई पार्टी बनाने की घोषणा के बाद अब भाजपा ने भी उन्हें भविष्य में समर्थन देने की घोषणा की है. इस बारे में बीजेपी के पंजाब प्रभारी और राष्ट्रीय महासचिव दुष्यंत गौतम ने कहा कि कैप्टन अमरिंदर सिंह की नई पार्टी के साथ गठबंधन के लिए बीजेपी तैयार है. उन्होंने कहा कि गठबंधन के लिए हमारे दरवाजे खुले हैं, हालांकि इस बारे में संसदीय बोर्ड ही फैसला कर सकता है.

उन्होंने कहा कि पंजाब के लोगों के हितों के मुद्दों पर जब उन्होंने कोताही बरती तो हमने विरोध किया. लेकिन राष्ट्र की सुरक्षा की बात आई सीमा की सुरक्षा की बात आई तो हम उन्हें शाबाशी भी देते रहे हैं. वे सैनिक रहे हैं, हम मानते हैं कि अमरंदिर सिंह अच्छे देशभक्त हैं.

किसान आज भी हमारे साथ हैं. किसानों के हित के लिए हम पहले से ही संघर्ष कर रहे हैं. वो भी किसानों के हित की बात कर रहे हैं. आगे मिल कर बैठेंगे बात करेंगे. उन्होंने किसान आंदोलन के बारे में कहा करि यह आंदोलन राजनीति से प्रेरित आंदोलन है. (ndtv.in)

 

विराट कोहली ने अनुष्का और बेटी वामिका के साथ शेयर की खूबसूरत तस्वीर, फैंस ने पूछा- चेहरा कब दिखाएंगे ?
20-Oct-2021 7:07 PM (89)

भारत के कप्तान विराट कोहली ने बुधवार को ट्विटर पर अपनी पत्नी अनुष्का शर्मा और बेटी वामिका के साथ अपनी एक प्यारी सी तस्वीर शेयर की है. फोटो में कोहली और अनुष्का मुस्कुरा रहे हैं और दोनों दुबई में वामिका के साथ ब्रेकफास्ट कर रहे हैं. कोहली ने पोस्ट को दिल वाले इमोजी के साथ कैप्शन दिया. भारत के कप्तान मौजूदा टी20 विश्व कप  के लिए यूएई में हैं. इससे पहले अनुष्का ने भी यूएई में क्वारंटाइन के समय की अपनी कुछ तस्वीरें पोस्ट की थीं.विराट ने जो तस्वीर शेयर की हैं, हालांकि उनमें वामिका का चेहरा नजर नहीं आ रहा है. वामिका कुर्सी पर बैठकर अपने मम्मी-पापा के साथ ब्रेकफास्ट एन्जॉय कर रही हैं. वामिका तस्वीर में दो चोटी में नज़र आ रही हैं.

इससे पहले अनुष्का ने जो तस्वीरें शेयर की थीं, उसमें भी वामिका का चेहरा नहीं दिख रहा था. फोटो में विराट बेटी के साथ खेलते हुए नजर आ रहे थे. फोटो को शेयर करते हुए अनुष्का ने कैप्शन में लिखा था- मेरा पूरा दिल एक फ्रेम में.

सोशल मीडिया पर लोग विराट और अनुष्का के साथ ही उनकी बेटी की तस्वीरें भी देखना काफी पसंद कर रहे हैं. खासतौर पर विराट और अनुष्का के फैंस उनसे बेटी का चेहरा दिखाने की डिमांज कर रहे हैं. फोटो पर लोग ढेरों कमेंट्स कर रहे हैं और उनसे ये पूछ रहे हैं कि आखिर कब वो वामिका का चेहरा सबको दिखाएंगे.

बता दें कि भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान विराट कोहली और बॉलीवुड अभिनेत्री अनुष्का शर्मा इसी साल जनवरी में बेटी वामिका के माता-पिता बने हैं. (ndtv.in)

भारत में महंगाईः चीनी और तेल के बाद प्याज के दाम आसमान पर
20-Oct-2021 4:35 PM (81)

पहले चीनी और तेल महंगा हुआ, अब प्याज आसमान पर है. भारत में महंगाई से लोगों के जेब पर बन आई है और राहत के आसार नजर नहीं आ रहे हैं.

(dw.com)  

मुंबई के एक बाहरी इलाके में अपने घर के पास वाले छोटे से बाजार से सब्जी खरीद रहीं शुभांगी पाटिल चीजों के दाम सुनकर हैरान हैं. तेल और चीनी से लेकर अब प्याज तक रोजमर्रा की जरूरत की तमाम चीजों की कीमतें आसमान पर हैं.

भारत में प्याज राजनीतिक रूप से संवेदनशील चीज रहा है. इसकी कीमतें पहले भी कई सरकारें गिरा चुकी हैं. पाटिल कहती हैं, "हर जरूरी चीज महंगी हो गई है. पहले तेल और चीनी महंगे हुए. अब प्याज और टमाटर की कीमत दो हफ्ते में दोगुनी हो गई है. कमाई बढ़ नहीं रही है तो महीने का बजट कोई कैसे संभालेगा?”
प्याज का बोझ

ईंधन और खाने के तेल की कीमतों के रिकॉर्ड ऊंचाई पर पहुंचने के बाद पाटिल जैसे आम भारतीयों के लिए प्याज का बोझ जेब की जान ले रहा है. हाल ही में भारत के अलग-अलग हिस्सों में हुई भारी बारिश ने न सिर्फ गर्मी की फसल को नुकसान पहुंचाया है बल्कि सर्दी की फसल की बुआई में भी देर करवा दी है.

मुंबई से करीब 325 किलोमीटर दूर धुले जिले के किसान समधन बागुल कहते हैं, "सितंबर में बहुत बारिश हुई तो बीमारी का हमला हुआ और फसल कम हो गई.” एक एकड़ से पांच टन तक फसल लेने वाले बागुल इस साल एक टन फसल की ही उम्मीद कर रहे हैं.

महाराष्ट्र के अलावा मध्य प्रदेश, गुजरात और कर्नाटक सबसे बड़े प्याज उत्पादक राज्य हैं. यहां सितंबर में सामान्य से 268 प्रतिशत ज्यादा बरसात हुई है. फसल को नुकसान पहुंचा तो सप्लाई प्रभावित हुई. इसलिए प्याज के सबसे बड़े होलसेल बाजार महाराष्ट्र के लजलगांव में प्याज की कीमत दोगुनी से भी ज्यादा बढ़कर एक महीने में 33,400 रुपये प्रति टन पर पहुंच गई. नतीजा यह हुआ कि मुंबई के बाजारों में प्यार 50 रुपये किलो से भी ज्यादा में मिल रहा है.
निर्यात का संकट

विशेषज्ञों का अनुमान है कि त्योहार के मौजूदा दिनों में तो प्याज की कीमतें कम नहीं होने वाली. मुंबई के एक व्यापारी के मुताबिक कम से कम जनवरी तक, जब तक कि नई फसल नहीं आ जाती, प्याज की कीमत उतनी ही बनी रहेगी.

भारत प्याज का सबसे बड़ा निर्यातक है लेकिन महंगाई बढ़ने बावजूद सरकार ने निर्यात पर किसी तरह की पाबंदी नहीं लगाई है. व्यापारियों का कहना है कि भारत में बढ़ती कीमतों का असर बांग्लादेश, नेपाल, मलयेशिया और श्रीलंका आदि में भी पड़ेगा.

भारत में बढ़ती कीमतों का नुकसान निर्यातकों को भी हो रहा है. मुंबई स्थित अनियन एक्सपोर्टर्स एसोसिएशन के अध्यक्ष अजित शाह कहते हैं कि आयातक अब तुर्की और मिस्र जैसे दूसरे सप्लायरों के पास जा रहे हैं.

2019 और 2020 में भी प्याज के दाम बहुत बढ़ गए थे. तब सरकार ने कुछ महीनो के लिए निर्यात पर रोक लगा दी थी. इससे श्रीलंका और बांग्लादेश जैसे उसके पड़ोसियों को किल्लत भी झेलनी पड़ी थी. इस साल भी ऐसा ही कदम उठाया जा सकता है. मुंबई स्थित एक प्याज निर्यातक के मुताबिक, "अगर सरकार को लगा कि दाम बहुत तेजी से और बहुत ज्यादा बढ़ रहे हैं तो निर्यात पर रोक लगाई जा सकती है.”

सरकार खाद्य पदार्थो की कीमतों को नीचे लाने की कोशिश कर रही है. खाद्य तेलों पर टैक्स घटाने जैसे कदम उठाए गए हैं.

वीके/एए (रॉयटर्स)
 

UP पुलिस ने प्रियंका गांधी वाड्रा को आगरा जाने से रोका, करनी थी पुलिस कस्टडी में मरे शख्स के परिवार से मुलाकात
20-Oct-2021 4:15 PM (81)

नई दिल्ली : कांग्रेस की नेता प्रियंका गांधी को यूपी सरकार ने आगरा जाने से रोक दिया. वह पुलिस हिरासत में हुई मरे शख्स के परिवार से मुलाकात करने जा रही थीं. इसे लेकर प्रियंका ने ट्वीट भी किया था. उन्होंने लिखा था कि किसी को पुलिस कस्टडी में पीट-पीटकर मार देना कहां का न्याय है? आगरा पुलिस कस्टडी में अरुण वाल्मीकि की मौत की घटना निंदनीय है. भगवान वाल्मीकि जयंती के दिन उप्र सरकार ने उनके संदेशों के खिलाफ काम किया है. इसकी उच्चस्तरीय जांच व पुलिस वालों पर कार्रवाई हो व पीड़ित परिवार को मुआवजा मिले.

प्रशासन द्वारा रोके जाने पर प्रियंका गांधी ने योगी आदित्‍यनाथ सरकार पर निशाना साधते हुए कहा, ''अरुण वाल्मीकि की मृत्यु पुलिस हिरासत में हुई. उनका परिवार न्याय मांग रहा है. मैं परिवार से मिलने जाना चाहती हूं. उत्तर प्रदेश सरकार को डर किस बात का है? क्यों मुझे रोका जा रहा है. आज भगवान वाल्मीकि जयंती है, पीएम ने महात्मा बुद्ध पर बड़ी बातें की, लेकिन उनके संदेशों पर हमला कर रहे हैं.''

पुलिस आयुक्त डी. के. ठाकुर ने को बताया, ‘‘आगरा के जिलाधिकारी ने लखनऊ पुलिस से लिखित अनुरोध किया था कि राजधानी से आगरा आने वाले राजनीतिक दलों के नेताओं को कानून-व्यवस्था के मद्देनजर वहां न आने दिया जाए.'' उन्होंने कहा, इसी कारण कांग्रेस महासचिव और उनके साथ जा रहे अन्य लोगों को लखनऊ आगरा एक्सप्रेस-वे पर लखनऊ सीमा के अंदर ही रोक दिया गया. कांग्रेस सूत्रों के मुताबिक कांग्रेस महासचिव आगरा अरुण नामक व्यक्ति से मिलने जा रही थीं, जिसकी कथित रूप से पुलिस हिरासत में मौत हो गई है.

गौरतलब है कि आगरा के जगदीशपुरा थाने से के मालखाने से 25 लाख रुपये की चोरी के आरोप में वहां सफाई कर्मचारी के रूप में काम करने वाले अरुण को हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही थी. आगरा के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक (एसएसपी) मुनिराज जी ने बताया कि मंगलवार की रात अरुण की निशानदेही पर चोरी के पैसे बरामद करने के लिए उसके घर की तलाशी ली जा रही थी, उसी दौरान आरोपी की तबियत बिगड़ने लगी. उसे तुरंत अस्पताल ले जाया गया जहां डॉक्टरों ने उसे मृत लाया हुआ घोषित कर दिया.

इस घटना के संबंध में आगरा जोन के अपर पुलिस महानिदेशक (एडीजी) ने थाना प्रभारी समेत छह पुलिसकर्मियों को निलंबित कर दिया है. पुलिस ने बताया कि तलाशी के दौरान अरुण के घर से 15 लाख रुपये बरामद हुए हैं.

हाल ही में प्रियंका लखीमपुर खीरी हिंसा में मारे गए पीड़ितों के परिवार से मिलने जा रही थीं तो भी उन्हें रोककर हिरासत में ले लिया गया था. उस समय प्रियंका ने कहा था कि उन्हें बिना किसी आधार के हिरासत में रखा गया है. प्रियंका ने कहा था कि जस समय मुझे अरेस्ट किया गया मैं सीतापुर जिले में यात्रा कर रही थी जो कि लखीमपुर खीरी जिले की सीमा से करीब 20 किलोमीटर दूर है. मेरी जानकारी में सीतापुर में धारा 144 लागू नहीं थी. खैर, हिरासत में रखे जाने के बाद राहुल और प्रियंका गांधी को लखीमपुर खीरी जाकर पीड़ित परिवार से मिलने की इजाजत दे दी गई थी. (भाषा)

 

क्रूज़ ड्रग्स केस : अब भी जेल में ही रहेंगे आर्यन खान, कोर्ट ने ज़मानत नामंज़ूर की
20-Oct-2021 4:14 PM (77)

मुंबई :  मुंबई क्रूज शिप ड्रग मामले में बॉलीवुड एक्‍टर शाहरुख खान के बेटे आर्यन खान को फिलहाल जेल में ही रहना होगा. कोर्ट ने उनकी जमानत नामंजूर कर दी है.विशेष न्यायाधीश वीवी पाटिल ने आर्यन और दो अन्‍य आरोपियों अरबाज मर्चेंट तथा फैशन मॉडल मुनमुन धमेचा की जमानत याचिकाओं को खारिज कर दिया.नारकोटिक्‍स कंट्रोल ब्‍यूरो (NCB) ने आर्यन खान, मर्चेंट और धमेचा को मादक पदार्थ रखने, इससे संबंधित साजिश, इसके सेवन, खरीद और तस्करी करने के आरोप में तीन अक्टूबर को गिरफ्तार किया था. तीनों इस समय न्यायिक हिरासत में हैं. आर्यन और मर्चेंट मुंबई में ऑर्थर रोड जेल में बंद हैं तथा धमेचा यहां बायकुला महिला कारागार में बंद है. मामले में आरोपी आर्यन खान और अन्य के खिलाफ एनडीपीएस कानून की धाराओं-8(सी), 20(बी), 27, 28, 29 और 35 के तहत मामला दर्ज किया गया है. आरोपियों को अब जमानत के लिए हाईकोर्ट का रुख करना होगा. जमानत नामंजूर होने के बाद आर्यन को अभी आर्थर रोड जेल में ही रहना होगा. गौरतलब है कि आर्यन, अरबाज मर्चेंट और मुनमुन धमेचा की जमानत याचिका पर सेशन कोर्ट में पिछले हफ्ते सुनवाई हुई थी जिसके बाद अदालत ने फैसला 20 अक्‍टूबर तक सुरक्षित रख लिया था. बता दें कि आर्यन खान को 3 अक्टूबर को इस  ड्रग्स केस में गिरफ्तार किया गया था और वे पिछले 17 दिनों से हिरासत में हैं.

नारकोटिक्‍स कंट्रोल ब्‍यूरो (NCB) का आरोप है कि गोवा जा रहे क्रूज शिप में जो ड्रग्स पार्टी आयोजित की गई थी, उसमें आर्यन भी थे. दूसरी ओर, बचाव पक्ष ने दलील दी थी कि आर्यन के पास से कोई भी ड्रग्स बरामद नहीं हुआ है. न ही उसने इसका सेवन किया है. ऐसे में उन्‍हें जमानत पर रिहा किया जाना चाहिए. NCB लगातार इस केस में बड़े अंतरराष्ट्रीय ड्रग गिरोह होने का दावा कर रही है.NCB का आरोप है कि आर्यन विदेशों ड्रग पैडलर के संपर्क में थे. यह ड्रग्स की गैरकानूनी खरीद के ग्लोबल नेटवर्क का हिस्सा है.

जांच एजेंसी ने कहा कि व्हाट्सएप चैट से पता चलता है कि आरोपी बड़ी मात्रा में ड्रग्स खरीद के लिए विदेशियों के संपर्क में था. जबकि आर्यन के वकीलों ने इसे गलत बताते हुए कहा कि वह क्रूज़ पर भी नहीं था, जिस पर एनसीबी अधिकारियों ने छापा मारा था.आर्यन के पास ड्रग्स खरीदने के लिए रकम नहीं थी. अभिनेता पुत्र के पास कोई ड्रग्स बरामद नहीं हुई है. जब एनसीबी ने छापा मारा था,  तब आर्यन ने क्रूज में एंट्री तक नहीं की थी. न ही ड्रग्स का इस्तेमाल किया था. उनसे पुलिस को कुछ भी नहीं मिला.जमानत न मिलने के बाद आर्यन खान को ऑर्थर रोड जेल में में शिफ्ट कर दिया गया था. अभिनेता के बेटे को विचाराधीन कैदी के तौर पर N956 नंबर मिला है. (भाषा)
 

NEET UG 2021 मामले में स्‍टेटस रिपोर्ट तलब करने संबंधी याचिका SC ने की खारिज
20-Oct-2021 4:13 PM (31)

नई दिल्‍ली : NEET UG 2021  परीक्षा में हुई धांधली पर स्टेटस रिपोर्ट तलब करने की याचिका सुप्रीम कोर्ट ने खारिज  कर दी है. जस्टिस एल नागेश्वर राव की बेंच ने 12 सितंबर को हुई NEET UG की परीक्षा में धांधली के आरोप पर स्टेटस रिपोर्ट मांगने वाली याचिका को खारिज कर दिया है. याचिका खारिज करते हुए जस्टिस नागेश्वर राव ने कहा कि इस मामले में हस्तक्षेप किए जाने से परीक्षा को लेकर भ्रम और संदेह की स्थिति पैदा होगी. साथ ही यह छात्रों के हित में भी नही होगा.

मामले में याचिकाकर्ता की ओर से पेश हुए वरिष्ठ वकील सलमान खुर्शीद ने कहा कि हम परीक्षा रद्द करने की मांग नहीं कर रहे हैं. हमारी मांग है कि चारों FIR में जांच रिपोर्ट दी जाए, लेकिन इसके लिए कोर्ट ने मना कर दिया.  जस्टिस राव ने कहा कि इस मामले में कोई टिप्पणी नहीं करना चाहते.अगर वो कोई ऑब्जर्वेशन देते है तो उसके कई अर्थ निकाले जा सकते हैं, इसकी  वजह से भ्रम की स्थिति भी बन सकती है.

दरअसल,  NEET UG प्रवेश परीक्षा में धांधली को लेकर चार राज्यों में दर्ज प्राथमिकी में अब तक की जांच पर एक स्थिति रिपोर्ट तलब किए जाने की गुहार लगाई गई थी. इस पर सुनवाई के बाद कोर्ट ने याचिका को वापस लेने की अनुमति दे दी. (ndtv.in)
 

पंजाब कांग्रेस MLA ने सवाल पूछने वाले शख्स को धड़ाधड़ जड़े थप्पड़, पार्टी का सिरदर्द बढ़ा
20-Oct-2021 2:42 PM (41)

चंडीगढ़ : पंजाब में विधानसभा चुनाव नजदीक हैं. ऐसे में कांग्रेस विधायक जोगिंदर पाल द्वारा निर्वाचन क्षेत्र में किए गए काम को लेकर सवाल करने वाले एक व्यक्ति के साथ मारमीट के वीडियो ने सत्ताधारी पार्टी के सिरदर्द को और बढ़ा दिया है. वीडियो में जोगिंदर पाल सफेद कुर्ते में पठानकोट जिले के भोआ में एक तंबू के अंदर लोगों की छोटी सी भीड़ को संबोधित कर रहे हैं. ऐसा लग रहा है कि वह गांव में देखे गए काम पर बात कर रहे हैं.  जब वह बोल रह होते हैं तभी एक गहरे भूरे रंग की शर्ट पहने एक युवक उनके पास आता है और उसे कुछ बड़बड़ाते सुना जा सकता है. पाल शुरू में उसे देखते हुए भी अनदेखा कर देते हैं और अपने भाषण को जारी रखते हैं. आदमी के बगल में खड़ा एक पुलिस अधिकारी उसे हाथ पकड़कर चुपचाप  दूर ले जाने की कोशिश करता है, लेकिन यह शख्स पाल से सवाल पूछना जारी रखता है, और वह चिल्लाकर विधायक को प्रतिक्रिया देने के लिए मजबूर करता है और कहता है, "तुमने वास्तव में क्या किया है?"

इसके बाद शांति से पाल उस व्यक्ति को सामने आने के लिए कहते हैं. माइक उसके हाथ में देकर उसकी पिटाई कर देते हैं.  इसमें भी जिस पुलिसवाले ने टकराव से बचाने के लिए उस शख्स को हाथ पकड़कर दूर ले जाने की कोशिश की थी, वह भी इसमें शामिल होकर शख्स को घूंसे मारता है, आसपास खड़े लोग भी युवक की पिटाई करते दिख रहे हैं. इस भीड़ ने युवक की पिटाई की, जब वह भागने लगा तो उसे पकड़ लिया.

राज्य के गृह मंत्री सुखजिंदर सिंह रंधावा ने कहा कि "विधायक को इस तरह का व्यवहार नहीं करना चाहिए था. हम जनता के प्रतिनिधि हैं और यहां उनकी सेवा करने के लिए हैं."  पंजाब में कुछ ही महीनों में एक नई सरकार के लिए वोटिंग होनी है. पंजाब कांग्रेस अपनी कलह से निकलकर चुनावों पर फोकस कर रही है. वहीं अमरिंदर सिंह नई पार्टी का ऐलान कर चुके हैं. ऐसे में ये घटना खुद पंजाब कांग्रेस के नेताओं को अखर रही है. (ndtv.in)

'अमरिंदर अवसरवादी, कांग्रेस की पीठ पर छुरा घोंपा' : पंजाब के डिप्‍टी CM सुखजिंदर रंधावा ने 'कैप्‍टन' पर बोला 'हमला'
20-Oct-2021 2:42 PM (38)

चंडीगढ़ : पंजाब के उप मुख्‍यमंत्री सुखजिंदर सिंह रंधावा ने राज्‍य के पूर्व मुख्‍यमंत्री कैप्‍टन अमरिंदर सिंह पर तीखा हमला बोला है. पंजाब में अगले वर्ष विधानसभा चुनाव होने वाले हैं और इसके पहले अमरिंदर सिंह ने नई पार्टी बनाने की घोषणा करके हर किसी को चौंका दिया है. रंधावा ने बुधवार को एक प्रेस कॉन्‍फ्रेंस में 'कैप्‍टन' को आड़े हाथ लिया, उन्‍होंने कहा कि यदि कांग्रेस ने 9 साल तक समर्थन नहीं किया होता तो वे (अमरिंदर) मुख्‍यमंत्री नहीं होते. रंधावा ने यहां तक कहा कि कैप्‍टन अमरिंदर सिंह अवसरवादी हैं और उन्‍होंने कांग्रेस की पीठ पर छुरा घोंपा है.'

पंजाब के डिप्‍टी सीएम ने कहा, 'अमरिंदर आज, पाकिस्‍तानी खुफिया एजेंसी आईएसआई के बारे में बात कर रहे लेकिन पाकिस्‍तानी नागरिक अरूसा आलम उनके निवास पर रहती हैं. ईडी केस का सामना करने और पाकिस्‍तानी नागरिक को शरण देने के बाद से अमरिंदर सिंह ने बीजेपी के साथ हाथ मिला लिया है. '

गौरतलब है कि पूर्व सीएम अमरिंदर सिंह ने मंगलवार को ऐलान किया था कि वह नई पार्टी बनाएंगे. उन्‍होंने यह भी कहा था कि अगर किसान आंदोलन का समाधान उनके हित में हो जाता है तो पंजाब में भाजपा के साथ समझौते को लेकर भी वे विचार करेंगे. साथ ही अकाली समूहों से अलग हुए दलों सहित समान विचारधारा वाली पार्टियों के साथ गठबंधन करने का भी विचार करेंगे.  सुखजिंद सिंह से पहले,  पंजाब सरकार के मंत्री परगट सिंह भी कैप्‍टन पर  निशाना साध चुके हैं. परगट सिंह ने कहा था कि पिछले महीने बेवजह कांग्रेस से बाहर होने के बाद कैप्‍टन, भाजपा और उसकी जैसी अन्य "समान विचारधारा वाली पार्टियों" के साथ साझेदारी करने के लिए तैयार हैं. परगट सिंह ने कहा, "मैंने हमेशा कहा था कि कैप्टन भाजपा और अकाली दल के साथ हैं. वह अपना एजेंडा भाजपा से लेते थे." (ndtv.in)
 

उत्तराखंड के रानीखेत-अल्मोड़ा का मैदानी इलाकों से संपर्क कटा, रानीखेत में सिर्फ इमरजेंसी के लिए बचा ईंधन
20-Oct-2021 2:40 PM (42)

देहरादून/नैनीताल : उत्तराखंड में दो दिनों की भारी बारिश और भूस्खलन की घटनाओं ने कहर बरपाया है. इस प्राकृतिक आपदा में 47 लोगों की मौत हुई है. इस आपदा का असर कुमाऊं क्षेत्र पर पड़ा है. उत्तराखंड के नैनीताल, हल्द्वानी, ऊधम सिंह नगर और चंपावत जिले में बारिश और भूस्खलन तबाही लेकर आया है. इनमें से 28 लोग नैनीताल और 6-6 लोगों की मौत अल्मोड़ा एवं चंपावत जिलों में हुई. 1-1 शख्स की मौत पिथौरागढ़ और ऊधम सिंह नगर जिले में हुई है.
मामले से जुड़ी अहम जानकारियां :

उत्तराखंड में भारी बारिश से हुई तबाही में कुल 47 लोग अब तक जान गंवा चुके हैं. राज्य के कुमाऊं क्षेत्र में भारी बरसात और भूस्खलन ने कहर ढाया है. उत्तराखंड के नैनीताल, हल्द्वानी, ऊधम सिंह नगर और चंपावत जिले में भारी बारिश और भूस्खलन  तबाही लेकर आया है. इनमें से 28 लोग नैनीताल और 6-6 लोगों की मौत अल्मोड़ा एवं चंपावत में हुई. एक-एक शख्स की मौत पिथौरागढ़ और ऊधम सिंह नगर जिले में हुई है. उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी से पीएम मोदी ने बात की है. वायुसेना को भी बचाव कार्य में लगाया गया है.

रानीखेत, अल्मोड़ा लगातार दूसरे दिन मैदानी इलाकों से पूरी तरह कटा रहा. खैरना और कैंची में भूस्खलन के कारण आया मलबा अभी तक साफ नहीं हो पाया है. रानीखेत में नहीं बचा ईंधन - आपात सेवाओं के लिए रख लिया गया है ईंधन. 24 घंटे बाद लॉ वोल्टेज बिजली बहाल की गई है. बीएसएनएल फाइबर ऑप्टिक लिंक कई स्थानों पर कट गए हैं.

भारी बारिश के कारण नैनीताल का संपर्क उत्तराखंड के दूसरे इलाकों से टूट गया था, लेकिन इसे अब बहाल कर दिया गया है. नैनी झील उफना गई है. भारी बारिश के बीच झील का पानी आसपास के इलाकों तक पहुंच गया है.

जनपद नैनीताल में वर्तमान समय पूर्णरूप से बाधित मार्ग. नैनीताल से हल्द्वानी मार्ग मड-हाउस ज्योलीकोट के पास मुख्य मार्ग बहे जाने से यातायात पूर्ण रूप से बाधित है.  रामनगर से गार्जिया-अल्मोड़ा मार्ग धनगढ़ी रामनगर नाले में पानी के उफान के कारण बंद है.  भवाली से अल्मोड़ा मार्ग खैरना के पास मलवा आने से बंद है. हल्द्वानी से चोरगलिया, सितारगंज मार्ग गौला पुल की एप्रेचिंग साइड का बडा हिस्सा गोला में बहने से अवरूद्ध है.  काठगोदाम से चोरगलिया, सितारगंज मार्ग शेरनाला में पानी के तेज बहाव के कारण अवरूद्ध है. भीमताल से पदमपुरी मार्ग विनायक के पास मलवा आने से अवरुद्ध है. नैनीताल रूसी बाईपास के पास मलवा आने से रूसी बाईपास सुखाताल की और मार्ग बंद है. खैरना से बेतालघाट मार्ग अवरुद्ध है.

खराब मौसम और लगातार बारिश के बावजूद नैनीताल में बंद सड़कों को खोल दिया गया है, मलबे हटा दिए गए हैं और पर्यटक स्थल का संपर्क बहाल कर दिया गया है. फंसे हुए पर्यटक कालाधुंगी और हलद्वानी के रास्ते अपने घरों की ओर रवाना हो रहे हैं.

उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने बारिश से बेहाल इलाकों का हवाई सर्वेक्षण किया. उन्होंने प्रभावित लोगों से बातचीत की और जानमाल के नुकसान का आकलन किया. बारिश में मारे गए लोगों के लिए बीजेपी सरकार ने 4-4 लाख रुपये मुआवजे का ऐलान किया है. जिनका घर ध्वस्त हुआ है, उन्हें 1.10 लाख रुपये मिलेंगे. मवेशियों को मारे जाने पर भी क्षतिपूर्ति दी जाएगी.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी फोन पर सीएम धामी से आपदा से उपजे हालातों को लेकर चर्चा की है. केंद्र सरकार ने हरसंभव मदद का भरोसा भी दिया है. एनडीआरएफ और एसडीआरएफ की टीमें प्रभावित इलाकों में राहत एवं बचाव कार्य में पहले ही जुटी हैं.

उत्तराखंड पुलिस महानिदेशक अशोक कुमार के मुताबिक, नैनीताल के काठगोदाम, लालकुआं और ऊधम सिंह नगर के रुद्रपुर में सड़क, पुल और रेल पटरियों को भारी नुकसान पहुंचा है. खराब हुईं रेल पटरियों को ठीक करने में कम से कम 4-5 दिन लगेंगे औऱ तब तक यहां ट्रेनों का परिचालन नहीं हो सकेगा.

एयरफोर्स को भी आपदा से प्रभावित इलाकों में बचाव कार्य में जुटाया गया है. एयरफोर्स के 3 हेलीकॉप्टर राहत और बचाव कार्य में मदद कर रहे हैं. दो हेलीकॉप्टर नैनीताल में में लगाए गए हैं. तीसरा हेलीकॉप्टर गढ़वाल क्षेत्र में बचाव कार्य में जुटा है.

चारधाम यात्रा आज दोबारा शुरू हो जाएगी. डीजीपी ने कहा कि बद्रीनाथ के आखिरी छोर चारधाम यात्रा के रास्ते को पूरी तरह बहाल कर दिया गया है. जोशीमठ से बद्रीनाथ के रास्ते को खोल दिया गया है.

उत्तराखंड के अल्मोड़ा जिले में भी भारी बारिश के बीच भूस्खलन में 7 लोगों की मौत हुई है. अल्मोड़ा के रापड़ गांव में एक मकान भूस्खलन की चपेट में आ गया. इसमें चार लोगों की मौत हो गई. जबकि एक महिला को बचा लिया गया.

हल्द्वानी और नैनीताल जिलों के हालातों को लेकर सीएम ने देर रात उच्चस्तरीय समीक्षा बैठक भी की थी. धामी ने कहा है कि जानमाल के नुकसान के आकलन के साथ सड़कें, पुल और आवागमन के अन्य रास्तों को बहाल करने का काम तेज कर दिया गया है.  (ndtv.in)