खेल

Date : 15-Feb-2020

नई दिल्ली, 15 फरवरी । केरल के एक 10 वर्षीय फुटबॉलर का एक विडियो सोशल मीडिया पर छाया हुआ है। इस विडियो में बच्चा जीरो एंगल से ऐसा किक लगाता है कि गेंद हवा में लहराते हुए गोल पोस्ट में जा समाती है। इस बच्चे का नाम दानी पीके है और वह 5वीं कक्षा का छात्र हैं। दानी ने यह गोल मीनान्गडी में खेले गए ऑल केरल किड्स फुटबॉल टूर्नमेंट के फाइनल मैच में दागा। 
दानी जब किक करते हैं तो गेंद रेनबो की तरह एंगल बनाते हुए जाल में उलझ जाती है। विपक्षी टीम के खिलाड़ी और गोलकीपर महज मूक दर्शक बने रह जाते हैं। इस विडियो को पूर्व महान स्ट्राइकर आईएम विजयन ने ट्वीट किया है। उन्होंने विडियो के साथ कैप्शन में लिखा- सुपर्ब..।
मैच में दानी ने हैटट्रिक किया था, लेकिन उनके इस करिश्माई गोल चर्चा में है, जिसे सबसे पहले उनकी मां नोविया अशरफ ने 9 फरवरी को फेसबुक पर शेयर किया था। दानी ने इस टूर्नमेंट में कुल 13 गोल दागे। उन्हें इस प्रभावी प्रदर्शन के लिए प्लेयर ऑफ द टूर्नमेंट चुना गया। 
विडियो पर ढेरों ने लोग कॉमेंट करके युवा फुटबॉलर की सराहना कर रहे हैं। कुछ ने जहां दुनिया के अग्रणी फुटबॉल क्लब बार्सिलोना, मैनेचेस्टर युनाइटेड और प्रीमियर लीग को टैग करके इस बच्चे को अपने साथ जोडऩे की वकालत की है तो कुछ ने देश के खेल मंत्री किरण रिजिजू को टैग करके उनका ध्यान आकर्षित करने की कोशश की है। कुछ ने इस बच्चे को भविष्य का लियोनेल मेसी और क्रिस्टियानो रोनाल्डो बताया है। (नवभारत टाईम्स)

 


Date : 15-Feb-2020

नई दिल्ली, 15 फरवरी। इंग्लिश प्रीमियर लीग चैंपियन मैनचेस्टर सिटी को वित्तीय नियमों के गंभीर उल्लंघन के कारण यूईएफए  ने 2020/21 और 2021/22 के लिए चैंपियंस लीग से प्रतिबंधित कर दिया है। वित्तीय फेयर प्ले (एफएफपी) नियमों के गंभीर उल्लंघनों से यूएफा ने इस क्लब पर 30 मिलियन यूरो (2.36 अरब रुपये) का जुर्माना भी लगाया है। 

यूएफए की क्लब फाइनेंशियल कंट्रोल बॉडी (सीएफसीबी) ने एफएफपी अनुपालन प्रक्रिया के लिए साक्ष्य देते समय सिटी क्लब को स्पॉन्सरशिप राजस्व गलत पेश करने का दोषी पाया। नवंबर 2018 में जर्मन पत्रिका डेर स्पीगेल ने ईमेल और दस्तावेजों की एक सीरीज दिखाई जिसके बाद जांच शुरू की गई थी।
यूईएफए ने एक बयान जारी कर कहा, 22 जनवरी 2020 को सुनवाई के बाद जोस दा कुन्हा रोड्रिग्स की अध्यक्षता वाले यूईएफए सीएफसीबी के सहायक चैंबर ने मैनचेस्टर सिटी फुटबॉल क्लब पर अंतिम निर्णय लिया है। चैंबर ने क्लब की ओर से दिए गए सभी सबूतों पर विचार करने के बाद पाया कि मैनचेस्टर सिटी ने अपने खातों में स्पॉन्सरशिप राजस्व को सही नहीं बताया। उसने क्लब लाइसेंसिंग और वित्तीय फेयर प्ले विनियमों का उल्लंघन किया। 
बयान के मुताबिक, नियमों के उल्लंघन के दौरान क्लब ने मामले की जांच में सहयोग भी नहीं किया। चैंबर ने मैनचेस्टर सिटी फुटबॉल क्लब को निर्देश दिया कि अगले दो सत्रों (यानी 2020/21 और 2021/22 सीजन) में यूएफा क्लब प्रतियोगिताओं में भाग लेने की अनुमति नहीं दी जाएगी। इसके अलावा उसे 30 मिलियन यूरो का जुर्माना भी अदा करना होगा।(नवभारत टाईम्स)


Date : 14-Feb-2020

के. श्रीनिवास राव

मुंबई, 14 फरवरी । न्यूजीलैंड दौरे पर गई भारतीय टीम ने भले ही 0-3 से वनडे सीरीज गंवा दी हो। लेकिन भारतीय टीम इसे लेकर अधिक चिंतित नहीं है और उसका फोकस अब आगामी टेस्ट सीरीज पर है। इस दो टेस्ट मैच की सीरीज शुरू होने से पहले कोच रवि शास्त्री ने कहा, 50 ओवर क्रिकेट का फिलहाल अभी कोई औचित्य नहीं है। इस समय टी20 सीरीज मायने रखती है, जो हमने 5-0 से जीती है और आगामी टेस्ट सीरीज के मायने हैं, जिसके मैच वेलिंग्टन और क्राइस्टचर्च में खेले जाएंगे।

वेलिंग्टन से हमारे सहयोगी टाइम्स ऑफ इंडिया से बात करते हुए शास्त्री ने कहा, हमें लॉर्ड्स (वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप का फाइनल) में खेलने के लिए अभी 100 पॉइंट की और दरकार है। अगर हम 6 विदेशी टेस्ट में से 2 में जीत दर्ज करते हैं तो हम अच्छी स्थिति में रहेंगे। इस साल हम विदेशों में 6 टेस्ट खेलेंगे (2 न्यू जीलैंड में और 4 ऑस्ट्रेलिया में)। तो, हमारा यही लक्ष्य है कि हम नंबर 1 टेस्ट टीम की तरह यहां खेलें, क्योंकि हमारी टीम किसी और चीज से ज्यादा इस में भरोसा करती है और टेस्ट में हम इसी आधार पर खेल रहे हैं।

युवा खिलाडिय़ों के टीम में आने से मुख्य कोच बेहद उत्साहित हैं। पृथ्वी साव टेस्ट टीम में वापसी कर रहे हैं और शुभमन गिल को लेकर अटकलें हैं कि शायद उन्हें यहां डेब्यू का मौका मिल जाए। शास्त्री ने इन दोनों खिलाडिय़ों पर पूछे गए सवाल का जवाब देते हुए कहा, दोनों खिलाड़ी सर्वोच्च प्रतिभा के धनी हैं। यह खास नहीं है कि वेलिंग्टन में इन दोनों में कौन प्लेइंग इलेवन में होगा, खास यह है कि वे दोनों यहां हैं और भारतीय राष्ट्रीय टीम का हिस्सा हैं।

शुभमन की तारीफ में शास्त्री ने कहा, उनमें असाधारण प्रतिभा है। वह जब बैटिंग करते हैं तो उनका पॉजिटिव माइंडसेट साफ झलकता है। 20-21 साल के लडक़े में यह देखकर अलग ही उत्साह महसूस होता है। उम्मीद की जा रही है कि इस टेस्ट सीरीज में चोटिल रोहित शर्मा के न होने से मयंक अग्रवाल के साथ पृथ्वी साव या शुभमन गिल को ओपनिंग का मौका मिल सकता है।

माइकल क्लाक$ का शादी के

7 साल बाद हुआ तलाक

इस पर शास्त्री से जब बात की गई तो उन्होंने कहा, वे सभी एक ही स्कूल के छात्र है, जो नई गेंद का सामना करना पसंद करते हैं, वे चुनौतियों का लुत्फ लेते हैं। दुर्भाग्य से रोहित चोटिल हैं तो इसके चलते शुभमन और पृथ्वी में से किसी एक के ओपनिंग को लेकर क्यास लगाए जा रहे हैं। टीम में ऐसी प्रतिस्पर्धा का होना जरूरी है और इसी आधार 15 खिलाडिय़ों की टीम तैयार होती है, जो हमेशा मजबूत और स्थिर दिखती है।

चोट ने इस टीम पर बड़ा असर डाला है। शिखर धवन, हार्दिक पंड्या, भुवनेश्वर कुमार और इशांत शर्मा टीम में इसी वजह से नहीं हैं। लगातार क्रिकेट के दबाव ने भी इसमें भूमिका निभाई है। शास्त्री ने इस पर कहा, हमारी कोर टीम के चार से पांच खिलाड़ी चोट के कारण बाहर हैं। भुवी यहां की परिस्थितियों में बेहद उपयोगी हो सकते हैं। इसलिए मैंने कहा कि उपलब्ध विकल्प हमेशा टीम के फायदे में होते हैं।

तेज गेंदबाज इशांत शर्मा अभी तक पूरी फिटनेस हासिल नहीं कर सके हैं और पहले टेस्ट के लिए उपलब्ध नहीं हो पाएंगे। भुवनेश्वर भी बाहर हैं, ऐसे में जिम्मेदारी जसप्रीत बुमराह और मोहम्मद शमी के कंधों पर पड़ेगी। कोच ने कहा, यह अहम है कि वे अभी अपने वर्कलोड को कैसे मैनेज कर रहे हैं। टी20 खेलने जरूरी थे क्योंकि यह फॉर्मेट इस साल और अगले साल भी (टी 20 वल्र्ड कप के कारण) महत्वपूर्ण है। टेस्ट क्रिकेट हमेशा सर्वोपरि होता है। हम केवल आशा कर सकते हैं कि बाकी खिलाड़ी जल्द से जल्द पूरी तरह से फिट हो जाएं।

न्यूजीलैंड के खिलाफ टी20 अंतरराष्टीय सीरीज 5-0 से जीतने वाली टीम काफी उत्साहित थी लेकिन शास्त्री के अनुसार, अभी काफी काम किया जाना है। उन्होंने कहा, 5-0 से जीत 3-2, 4-1 हो सकती थी। जैसा कि हम स्वीकार करते हैं, अंतिम परिणाम ही मायने रखता है। सीरीज हमारी थी, इसमें कोई संदेह पहले से नहीं था लेकिन 5-0 से क्लीन स्वीप एक मिठाई की तरह थी।

शास्त्री ने कहा, अब, जरूरी यह है कि हम किस तरह से मैच जितवा सकते हैं। नई चीजों को आजमाने, मिश्रण करने, कुछ नए चेहरों को उतारने के लिए द्विपक्षीय सीरीज सही होती हैं। वही हम कर रहे हैं। टीम में अभी चार से पांच खिलाड़ी 22 साल से कम उम्र के हैं। यह उन पर निर्भर है कि वे इन अवसरों का लाभ कैसे उठाते हैं।

लोकेश राहुल ने विकेटकीपिंग की अतिरिक्त जिम्मेदारी संभाली, वह शानदार बल्लेबाजी भी कर रहे हैं। उन्होंने कहा, यह लगभग वैसा ही है जैसे वह अतिरिक्त जिम्मेदारी के कारण खुद को मैच में ज्यादा शामिल कर पाते हैं।(नवभारत टाईम्स)


Date : 14-Feb-2020

हैमिल्टन, 14 फरवरी। न्यूजीलैंड के खिलाफ पांच मैचों की टी20 इंटरनेशनल और तीन मैचों की वनडे इंटरनेशनल सीरीज के बाद भारत को दो मैचों की टेस्ट सीरीज 21 फरवरी से खेलनी है। टेस्ट सीरीज से पहले भारत और न्यूजीलैंड ङ्गढ्ढ के बीच तीन दिवसीय प्रैक्टिस मैच खेला जा रहा है। प्रैक्टिस मैच में टीम इंडिया के विकेटकीपर बल्लेबाज ऋषभ पंत को भी बल्लेबाजी का मौका मिला, लेकिन एक बार फिर से उन्होंने निराश किया है। पंत 10 गेंद पर 7 रन बनाकर आउट हुए। ट्विटर पर फैन्स ने उनको ट्रोल किया है।

ऋषभ पंत को पिछले कुछ समय से लिमिटेड ओवर में भी प्लेइंग इलेवन में खेलने का मौका नहीं मिल रहा है। ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ पिछले महीने तीन मैचों की वनडे इंटरनेशनल सीरीज के पहले मैच में वो चोटिल हो गए थे, जिसके बाद विकेटकीपर की भूमिका केएल राहुल ने निभाई थी। इसके बाद से राहुल ही लिमिटेड ओवर में टीम इंडिया के लिए विकेटकीपर बल्लेबाज की भूमिका निभा रहे हैं। न्यूजीलैंड के खिलाफ टी20 इंटरनेशनल और वनडे इंटरनेशनल सीरीज में भी पंत को प्लेइंग इलेवन में खेलने का मौका नहीं मिला था।

टेस्ट में भी ऋद्धिमान साहा को उन पर तरजीह दी जा रही है। पंत पिछले काफी समय से बल्ले से फॉर्म में नहीं हैं और विकेट के पीछे भी कुछ खास प्रभावित नहीं कर सके हैं। ऐसे में वो लंबे समय से आलोचकों के निशाने पर हैं। प्रैक्टिस मैच में पंत के सस्ते में निपटने के बाद से फैन्स ने कुछ ऐसे ट्वीट्स किए हैं। (लाइव हिन्दुस्तान)


Date : 14-Feb-2020

नई दिल्ली, 14 फरवरी । 14 फरवरी का दिन क्रिकेट के इतिहास में इंग्लैंड के प्यार नहीं, पराक्रम को याद दिलाता है। 124 साल पहले आज ही के दिन 1896 में इंग्लैंड ने दक्षिण अफ्रीका को उसके घर में बेरहमी से रौंद डाला था और उसके वेलेंटाईन डे को सदमे में तब्दील कर दिया था। 13 फरवरी को शुरू हुए पोर्ट एलिजाबेथ टेस्ट को अंग्रेजों ने अगले ही दिन 14 फरवरी को 288 रनों से जीत लिया। सच तो यह है कि इस खास दिन के मौके पर इंग्लैंड ने साउथ अफ्रीका को महज 30 रनों पर ढेर कर तहलका मचा दिया था।

दरअसल, इंग्लैंड ने साउथ अफ्रीका दौरे में तीन टेस्ट मैचों की सीरीज का पहला टेस्ट दो दिनों में ही जीत लिया था। मैच के पहले ही दिन इंग्लैंड की पहली पारी 185 रनों पर सिमट गई। इसी दिन साउथ अफ्रीका की भी पारी 93 रनों पर ढेर हो गई।

मैच के दूसरे दिन इंग्लैंड ने अपनी दूसरी पारी में 226 रन बनाए और इसके बाद 319 रनों के लक्ष्य के आगे साउथ अफ्रीका की दूसरी पारी उसी दिन सिर्फ 30 रनों पर लुढक़ गई और इंग्लैंड ने यह टेस्ट 288 रनों से जीत लिया।

 

30 रन आज भी साउथ अफ्रीका का न्यूनतम टेस्ट स्कोर है। इंग्लैंड के तेज गेंदबाज जॉर्ज लोहमैन की कहर बरपाती गेंदें इसके लिए जिम्मेवार रहीं। उन्होंने 7 रन देकर हैट्रिक सहित 8 विकेट चटकाए। और पूरे मैच में 45 रन देकर 15 विकेट झटके।

इतना ही नहीं, 28 साल बाद 1924 में एक बार फिर इंग्लैंड ने साउथ अफ्रीका को 30 रनों पर ऑल आउट किया था। यानी साउथ अफ्रीकी टीम टेस्ट क्रिकेट में दो बार 30 रनों पर आउट हुई, वो भी एक ही प्रतिद्वंद्वी इंग्लैंड के खिलाफ। टेस्ट क्रिकेट का यह न्यूनतम स्कोर साल 1955 तक रहा। इस साल न्यूजीलैंड को इंग्लैंड ने 26 रनों पर समेट दिया था, जो आज भी सबसे कम स्कोर का रिकॉर्ड है।

टेस्ट क्रिकेट में न्यूनतम स्कोर

1। 26 रन, न्यूजीलैंड विरुद्ध इंग्लैंड -1955 (ऑकलैंड)

2। 30 रन, साउथ अफ्रीका विरुद्ध इंग्लैंड- 1896 (पोर्ट एलिजाबेथ)

-30 रन, साउथ अफ्रीका विरुद्ध इंग्लैंड- 1924 (बर्मिंघम)

3। 35 रन, साउथ अफ्रीका विरुद्ध इंग्लैंड- 1899 (केपटाउन)(आज तक)

 


Date : 14-Feb-2020

हेमिल्टन, 14 फरवरी। न्यूजीलैंड के खिलाफ वनडे सीरीज 0-3 से गंवाने के बाद टीम इंडिया अब टेस्ट सीरीज में खुद को आजमाएगी। 21 फरवरी से शुरू हो रही दो टेस्ट मैचों की सीरीज से पहले उसे झटका लगा है। दरअसल, भारतीय टीम हेमिल्टन में न्यूजीलैंड इलेवन के खिलाफ तीन दिवसीय अभ्यास मैच के पहले दिन अपनी पहली पारी में 263 रनों पर सिमट गई।

टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने उतरी टीम इंडिया ने अपना पहला विकेट शून्य पर गंवाया, जब सलामी बल्लेबाज पृथ्वी शॉ खाता खोले बगैर लौट गए। इसके बाद मयंक अग्रवाल (1) भी चलते बने। शानदार फॉर्म में चल रहे शुभमन गिल (0) भी कुछ नहीं कर सके और भारत ने महज 5 रनों पर अपने 3 विकेट खो दिये।

अजिंक्य रहाणे (18) भी अपने बल्ले का मुंह नहीं खेल पाए। यानी भारत ने 38 रनों पर अपने चार शीर्ष बल्लेबाजों को खो दिया। इसके बाद पांचवें विकेट के लिए टेस्ट विशेषज्ञ चेतेश्वर पुजारा और उपयोगी ऑलराउंडर हनुमा विहारी ने 195 रनों की साझेदारी की।

32 साल के पुजारा (92) शतक से चूक गए, जबकि हुनाम विहारी 101 रन बनाकर रिटायर्ड आउट हुए। हालांकि इस मैच को प्रथम श्रेणी का दर्जा हासिल नहीं है। ऋषभ पंत (7) और ऋद्धिमान साहा (0) भी अभ्यास मैच में कुछ नहीं कर पाए। न्यूजीलैंड इलेवन की ओर से तेज गेंदबाज स्कॉट कुग्गेलैन ने 3 और लेग स्पिनर ईश सोढ़ी ने 3-3 विकेट झटके। (आज तक)


Date : 14-Feb-2020

छत्तीसगढ़ संवाददाता

भिलाई नगर, 14 फरवरी। आल इंडिया गार्डन ऑफ फैशन मिस्टर यूनिवर्स का आयोजन पचमढ़ी में अनव शिवाय फिल्म प्रोडक्शन के बैनर तले किया गया। जिसमें भिलाई के शेख शम्स शारीक ने प्रथम स्थान प्राप्त किया।

शारीक एमजीएम स्कूल के कक्षा 9वीं के छात्र हैं। यह आयोजन तीन दिनों तक चला जिसमें पूरे देश से 40 प्रतिभागियों ने भाग लिया। कार्यक्रम के पहले दिन परिचय, दूसरे दिन ट्रेडिशनल राउंड, तीसरे दिन टैलेंट राउंड अंतिम दिन रैम्प में प्रतिभागियों ने अपनी प्रतिभा दिखाई। जिसमें मिस्टर यूनिवर्स का खिताब शेख शम्स शारीक व सेकंड राउंड में अमृता देवनानी कांकेर को मिला।

प्रतियोगिता के लिए ऑनलाइन एप्लाई किया जिसका पहला आडिशन रायपुर में हुआ जिसमें छत्तीसगढ़ से 5 प्रतिभागियों का चयन हुआ था। प्रतियोगिता का फाइनल राउंड पंचमढ़ी में हुआ जिसमें प्रतिभागियों ने अपनी प्रतिभा का प्रदर्शन किया। कार्यक्रम में डायरेक्टर नेहा सिंग, फाउंडर अंकित पाण्डेय, गुरू एम शर्मा, जज प्रदीप व शिमरन बहेल उपस्थित थीं।

मिस्टर यूनिवर्स के पिछले वर्ष के विजेता शिमरन बहेल ने शारीक को ताज पहनाया। शेख शारीक भिलाई सहित कई प्रतियोगिताओं में अपनी प्रतिभा दिखा चुके हैं। कोलकाता में आयोजित डांस फेस्टिव में भी उन्होंने प्रथम स्थान प्राप्त किया था। भिलाई लौटने पर शारीक का रेलवे स्टेशन व सेक्टर-5 स्वागत हुआ। पार्षद  नीरज पाल, पंकज पाल सहित बड़ी संख्या में स्ट्रीट के लोग इस अवसर पर उपस्थित थे।