रायपुर

स्वच्छता प्रोत्साहन योजना ‘कायाकल्प’ के लिए एम्स का निरीक्षण
01-Dec-2020 5:55 PM 19
स्वच्छता प्रोत्साहन योजना ‘कायाकल्प’ के लिए एम्स का निरीक्षण

रायपुर, 1 दिसंबर। केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय द्वारा देशभर के सार्वजनिक स्वास्थ्य संस्थानों को प्रदान किए जाने वाले ‘कायाकल्प’ पुरस्कार के लिए एम्स, ऋषिकेश की टीम ने मंगलवार को एम्स, रायपुर का निरीक्षण किया। इस अवसर पर टीम ने विभिन्न विभागों का दौरा कर वहां स्वच्छता और संक्रमण को रोकने के लिए अपनाए जा रहे उपायों को परखा। टीम ने रोगियों को प्रदान की जा रही श्रेष्ठ चिकित्सा सेवाओं के लिए एम्स के चिकित्सकों और अधिकारियों की प्रशंसा भी की।
‘कायाकल्प’ प्रोत्साहन योजना के अंतर्गत सबसे अधिक स्वच्छ और संक्रमण मुक्त पाए जाने वाले चिकित्सा संस्थानों को प्रथम (तीन करोड़ रुपये), द्वितीय (एक करोड़ रुपये) और तृतीय (तीन, पचास लाख रुपये) के पुरस्कार प्रदान किए जाते हैं। इस योजना के अंतर्गत केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की दो टीमें संबंधित संस्थान का दौरा कर उसका मूल्यांकन करती हैं।

इसी कड़ी में एम्स, ऋषिकेश के विशेषज्ञों की पहली टीम एम्स, रायपुर का निरीक्षण करने के लिए पहुंची। टीम का स्वागत करते हुए निदेशक प्रो. (डॉ.) नितिन एम. नागरकर ने उन्हें एम्स में रोगियों के लिए अपनाए गए नवीनतम कदमों की जानकारी दी। उन्होंने विशेषकर कोविड-19 में चिकित्सकों और अधिकारियों द्वारा टीम वर्क के माध्यम से प्रदान की गई सेवाओं के बारे में बताया।

टीम में शामिल डॉ. अंबर प्रसाद और डॉ. पूजा भदौरिया ने एम्स में चिकित्सा अधीक्षक कार्यालय, ओपीडी रजिस्ट्रेशन काउंटर, सैंपल कलेक्शन सेंटर, पीडियाट्रिक्स और एनआईसीयू एवं सर्जरी विभाग के वार्ड का दौरा किया। इस अवसर पर टीम ने कम खर्चे में श्रेष्ठतम चिकित्सा सुविधाएं प्रदान करने के लिए एम्स के प्रयासों की सराहना की। इस अवसर पर उप-निदेशक (प्रशासन) अंशुमान गुप्ता, डीन प्रो. एस.पी. धनेरिया, वरिष्ठ प्रशासनिक अधिकारी परिजात दीवान, कायाकल्प के नोडल ऑफिसर डॉ. मृत्युजंय राठौर, डॉ. पदमा दास, डॉ. उज्जवला गायकवाड़, उप-चिकित्सा अधीक्षक डॉ. नितिन बोरकर, डॉ. रमेश चंद्राकर, डॉ. एली मोहपात्रा और सीनियर नर्सिंग ऑफिसर अजय सिंह उपस्थित थे।
 

अन्य पोस्ट

Comments