धमतरी

मत्स्य पालन को दरकार है वृहद, समुचित, स्पष्ट नीति की- रंजना
30-Oct-2020 5:47 PM 22
 मत्स्य पालन को दरकार है वृहद, समुचित, स्पष्ट नीति की- रंजना

देमार फिश हैचरी में विकास की संभावना टटोलने पहुंचे विधायक व संचालक

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
धमतरी,30 अक्टूबर।
एशिया के सबसे बड़े फिश हैचरी देमार में विभिन्न समितियों को मत्स्य पालन के प्रति जागरूकता लाने तथा मत्स्य बीज को पोषित करने के संबंध में जानकारी लेने विधायक रंजना साहू तथा मत्स्य महासंघ के प्रदेश संचालक कृष्णा हिरवानी पहुंचे। उन्होंने मत्स्य बीज उत्पादन की विधियों तथा वहां से मत्स्य पालन हेतु ले जाने वाले विभिन्न ग्राम के 425 समितियों के संबंध में विस्तार से जानकारी प्राप्त की।

 हैचरी के प्रबंधक डी.पी. तिवारी ने बताया कि 102 एकड़ क्षेत्र में फैला हुआ 32 तालाबों के माध्यम से प्रति वर्ष 35 करोड़ का मत्स्य बीज का लक्ष्य लेकर कार्य करने वाली कृषि क्षेत्र की एक सबसे बड़ी संस्था है, जो वर्तमान वर्ष में 39 करोड़ बीज उत्पादन कर एशिया में सबसे बड़ी मत्स्य बीज उत्पादन के क्षेत्र के स्थान को सुरक्षित रखे हुए हैं। वहीं श्री तिवारी ने बताया कि एक करोड़ का राजस्व देकर सहकारी संघ से संचालित होने वाली संस्था, सरकार से अनेक सुविधाओं की अपेक्षा रखती है। जिसमें समुचित स्टॉफ, सब्सिडी, बीज उत्पादन के आधुनिक यंत्र सहित इस क्षेत्र की अनेक सुविधाओं के लिए यह संस्था अनेक बार पत्र व्यवहार कर चुका है। 

 मत्स्य संघ के डायरेक्टर कृष्णा हिरवानी ने बताया कि स्पष्ट, समुचित एवं व्यापक मछुआ नीति की दरकार मत्स्य महासंघ को है, जिसके अभाव में 2 वर्षों से यह संस्था धीमी गति से मृतप्राय की तरह अपना कार्य संचालित कर रही है। ऐसे में प्रदेश सरकार मत्स्य पालन से जुड़े हुए मछुआरों को मत्स्य पालन हेतु प्रोत्साहित करने के लिए उदारता पूर्वक नीति बनाकर प्रदेश की अर्थव्यवस्था में मत्स्य पालन की भागीदारी सुनिश्चित करने की महती आवश्यकता है। 

 विधायक रंजना साहू ने कहा कि क्षेत्र की यह नामचीन हैचरी हम सबको गौरवान्वित करती है। इसके संरक्षण और संवर्धन के लिए वृहद योजना बनाकर शासन प्रशासन स्तर पर कार्य करना हमारी नैतिक जिम्मेदारी है। प्रदेश को पहचान देने वाले विभिन्न आयामों में एक आयाम संजय गांधी फिश हैचरी का नाम प्रमुख रूप से शामिल हंै। जिसके विकास के नए सोपान के लिए कृषि, मत्स्य पालन, पशुपालन, मंत्री रविंद्र चौबे से मिलकर आर्थिक पैकेज की मांग करेंगे। साथ ही विधायक श्रीमती साहू ने मत्स्य पालन में मछुआ समाज की संपूर्ण भागीदारी सुनिश्चित करने के पहल की भी बात कही है। 

उक्त अवसर पर विधायक श्रीमती साहू के साथ नगर निगम के पूर्व सभापति राजेंद्र शर्मा, पूर्व जनपद सदस्य डीपेंद्र साहू, देमार सरपंच शीतल मिनपाल, उपसरपंच संजय साहू, बसंत मीनपाल, शामिल थे।
 

अन्य पोस्ट

Comments