कोण्डागांव

थाना प्रभारी पर एफआईआर के लिए शिकायत दर्ज,
29-Oct-2020 9:28 PM 35
 थाना प्रभारी पर एफआईआर के लिए शिकायत दर्ज,

  3 पुलिस अफसर पहले ही हो चुके हैं निलंबित, मामला रिटायर्ड शिक्षक से जबरन पैसे लेने का  

विश्रामपुरी, 29 अक्टूबर। रिटायर्ड शिक्षक से जनरेटर चोरी का आरोप लगाकर पैसे लेने के मामले में थाना प्रभारी एवं अन्य दो पुलिसकर्मी बुरे फंसते नजर आ रहे हैं। वहीं दूसरी ओर ग्रामीण भी पीछे हटते नहीं दिख रहे हैं। मामले को लेकर पुन: एक बार बुधवार दिन भर सर्व आदिवासी समाज एवं अन्य समाज की बैठक चली, जहां यह प्रश्न उठा कि थाना प्रभारी पर एफआईआर के लिए लिखित शिकायत दर्ज नहीं कराया गया है। इसी बात को लेकर मंथन हुआ। तत्पश्चात सर्व समाज के लोग एकत्र होकर विश्रामपुरी थाने पहुंचे, जहां पीडि़त लच्छूराम नाग के द्वारा शिकायत दर्ज कराई गई तथा मामले की एफआईआर के लिए थाना प्रभारी विश्रामपुरी को शिकायत सौंपा गया। जिस पर थाना प्रभारी ने शीघ्र मामले की जांच करके एफआईआर दर्ज करने का आश्वासन दिया है। एसटी-एससी एक्ट के तहत शिकायत दर्ज कराई गई है।

वहीं कुछ लोगों ने इस मामले को लेकर थाने से ही एसडीओपी केशकाल से चर्चा की तथा जानना चाहा कि मामले में कब तक एफआईआर हो पाएगी। इस पर एसडीओपी ने उचित कार्रवाई करके शीघ्र एफआईआर करने का आश्वासन दिया है। ग्रामीणों को यह भी आश्वासन मिला है कि जांच में कुछ समय लगता है। प्रक्रिया पूरी होने के बाद एफआईआर होगी।
ज्ञात हो कि विश्रामपुरी के पूर्व थाना प्रभारी भापेंद्र साहू, एसआई शशिभूषण पटेल, एएसआई कमल शोरी को पुलिस अधीक्षक कोंडागांव के द्वारा पूर्व में ही निलंबित कर दिया गया है, किंतु ग्रामीण इससे संतुष्ट नहीं है तथा वे उक्त लोगों के ऊपर एफआई आर एवं बर्खास्तगी की मांग को लेकर अड़े हुए हैं।

विश्रामपुरी थाना क्षेत्र के ग्राम मछली के सेवानिवृत्त शिक्षक लच्छू राम नाग ने धनोरा के एक गांव से एक जनरेटर को अपने घर ला कर रखा था। फरसगांव के रविघोष ने इसकी शिकायत थाने में कर दी थी कि उनका जनरेटर चोरी हुआ है। तत्पश्चात  एक एसआई एवं एएसआई 2 अक्टूबर को लच्छू राम नाग के घर पहुंचकर उनको थाने ले आए।
आदिवासी समाज की ने शिकायत की थी कि लच्छू राम नाग से जातिगत गाली-गलौज किया गया तथा उनसे एक लाख रुपये लिया गया है। समाज प्रमुखों ने एक  बैठक करके यह मांग रखी कि सेवानिवृत्त शिक्षक लच्छूराम नाग से जो रकम लिया गया है उसे समाज प्रमुखों के समक्ष लौटाई जाए तथा दोषी पुलिस कर्मियों के खिलाफ मामला दर्ज की जाए। तत्पश्चात उनको निलंबित कर दिया गया है।
विश्रामपुरी थाना प्रभारी रविशंकर ध्रुव ने बताया कि रिटायर्ड शिक्षक लच्छूराम नाग की ओर से आवेदन मिला है जिस पर कार्रवाई के लिए अजाक्स विभाग को भेज दिया गया है।

अन्य पोस्ट

Comments