धमतरी

पढऩा-लिखना अभियान के तहत 15 साल से अधिक आयु के लोगों को किया जाएगा साक्षर
28-Oct-2020 4:56 PM 18
पढऩा-लिखना अभियान के तहत 15 साल से अधिक आयु के लोगों को किया जाएगा साक्षर

अगले एक माह के भीतर सर्वे कर डेटाबेस तैयार करने कलेक्टर ने दिए निर्देश

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
धमतरी, 28 अक्टूबर।
प्रौढ़ शिक्षा सत्र 2020-21 के तहत जिले में ‘पढऩा-लिखना’ अभियान चलाया जाएगा। केन्द्र प्रवर्तित इस योजना के तहत 15 साल से अधिक उम्र के असाक्षरों को इससे जोडक़र उन्हें साक्षर किया जाएगा। अभियान का मुख्य उद्देश्य बुनियादी साक्षरता है, जिसके तहत उन्हें कार्यसाधक साक्षरता दी जाएगी, ताकि वे अपने सामान्य कार्य कर सकें। इसके मद्देनजर कल कलेक्टर जय प्रकाश मौर्य की अध्यक्षता में ‘पढऩा-लिखना अभियान’ के तहत जिला साक्षरता मिशन प्राधिकरण की पहली बैठक कलेक्टोरेट सभाकक्ष में रखी गई। 
बैठक में कलेक्टर ने सबसे पहले अगले एक माह के भीतर 15 साल से अधिक उम्र के असाक्षरों का वार्डवार घर-घर जाकर सर्वे करने के निर्देश दिए हैं। इसके लिए बहुत ही सादा प्रपत्र बनाकर सर्वे किया जाएगा। यही नहीं पढऩा-लिखना अभियान को सफल बनाने के लिए स्वयंसेवकों का भी चयन करने के निर्देश कलेक्टर ने बैठक में दिए हैं।  

प्रत्येक वार्ड में 8 से 10 असाक्षरों का दल बनाकर उन्हें स्वयंसेवकों द्वारा पढ़ाया जाएगा, जिससे असाक्षरों को अक्षर पढऩा, लिखना और उसे समझने का ज्ञान हो सके। इसके लिए दो आयु वर्ग में असाक्षरों को चिन्हांकित कर पढ़ाने पर कलेक्टर ने जोर दिया है, जिसमें पहला आयु वर्ग 15 से 40 साल तथा दूसरा आयु वर्ग 41 साल और उससे ऊपर का होगा। उन्हें पढ़ाने के लिए वार्डों में उचित स्थल का चयन भी करने के निर्देश कलेक्टर ने दिए हैं। 

बताया गया है कि उन्हें ना केवल पढ़ाया जाएगा, बल्कि समय-समय पर परीक्षा लेकर उनकी भाषा कौशल, समझने की क्षमता इत्यादि की भी जांच की जाएगी। इस अभियान को सफल बनाने के लिए कलेक्टर ने सभी अनुविभागीय अधिकारी राजस्व को निर्देशित किया है कि वे ब्लॉक स्तर पर बैठक लेकर असाक्षरों का बेसिक डेटाबेस तैयार करने के अलावा स्वयंसेवकों का चयन कर लें, जिससे कि चयनित स्वयंसेवकों को उचित प्रशिक्षण दिया जा सके। 

बैठक में जिला शिक्षा अधिकारी डॉ.रजनी नेल्सन ने पॉवर प्वाइंट प्रजेंटेशन के जरिए अभियान की बारीकियों को दर्शाया। उन्होंने बताया कि जिले में प्रथम चरण में आठ हजार असाक्षरों को चिन्हांकित कर अभियान से जोडऩे का लक्ष्य है, जिसमें छ: हजार महिला तथा दो हजार पुरूष होंगे। बैठक में मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत  नम्रता गांधी, वनमण्डलाधिकारी अमिताभ बाजपेयी, अपर कलेक्टर दिलीप अग्रवाल सहित जिला स्तरीय अधिकारी उपस्थित रहे।
 

अन्य पोस्ट

Comments