गरियाबंद

गरियाबंद, महात्मा गांधी की 150वीं जयंती सप्ताह अंतर्गत वन अधिकार कानून पर जनसंवाद
गरियाबंद, महात्मा गांधी की 150वीं जयंती सप्ताह अंतर्गत वन अधिकार कानून पर जनसंवाद
Date : 07-Oct-2019

महात्मा गांधी की 150वीं जयंती सप्ताह अंतर्गत वन अधिकार कानून पर जनसंवाद

गरियाबंद, 7 अक्टूबर। महात्मा गांधी की 150वीं जयंती सप्ताह अंतर्गत भारतीय वन कानून में संशोधन प्रस्ताव 2019 एवं वन अधिकार कानून 2006  के क्रियान्वयन पर 5 अक्टूबर को होटल सिटी रीजेंसी गरियाबंद में जिला स्तरीय जनसंवाद हुआ जिसमें मुख्य अतिथि  लोकेश्वरी नेताम जिला पंचायत सदस्य गरियाबंद विशिष्ट अतिथि आशीष शर्मा रिखीराम यादव एवं ब्लॉक कांग्रेस कमेटी गरियाबंद अध्यक्ष वीरू यादव मीडिया प्रभारी कृष्ण कुमार शर्मा प्रेरक संस्था प्रमुख रामगुलाम सिन्हा व अध्यक्ष बाल कल्याण समिति गरियाबंद राजेंद्र सिंह छतरी ने कार्यक्रम का शुभारंभ महात्मा गांधी के छायाचित्र में पूजा अर्चना किया। इस कार्यक्रम का आयोजन प्रेरक संस्था एवं सहयोग कीस्टोन छत्तीसगढ़ अधिकार मंच ने किया ।

मुख्य अतिथि लोकेश्वरी नेताम ने कहा कि हमारे गरियाबंद जिला के गरियाबंद मैनपुर सुरक्षा कानून वन अधिकार कानून आदि आदिवासी मूल निवासी व अन्य परंपरागत वनवासियों के लिए में लेकिन यह संशोधन प्रस्ताव आदिवासियों के हित में नहीं हैं हम संगठित होकर इसका पुरजोर विरोध करने का आह्वान प्रेरक संस्था प्रमुख रामगुलाम सिन्हा ने कहा कि यह कानून में संशोधन प्रस्ताव केंद्र में पास होता है तो यह आदिवासियों एवं वनवासियों के हित में नहीं होगा क्योंकि यहां संशोधन बिल पास होने से वन अधिकार कानून में प्राप्त अधिकार को भी समाप्त करने का अधिकार वन विभाग को होगा।

वीरू यादव अध्यक्ष ब्लॉक कांग्रेस कमेटी ने कहा कि किसान ही धरती का सच्चा पुत्र है। अनाज केवल किसान पैदा करता है। देश का लगभग 8 0 फीसदी कृषि है। छत्तीसगढ़ सरकार ने कर्ज माफी एवं किसानों के धान खरीदी में बढ़ोतरी किया आदिवासियों को बस्तर में उनकी भूमि वापस किया तेंदूपत्ता खरीद में बढ़ोतरी किया छत्तीसगढ़ सरकार आदिवासी सोच किसानों का है। सलीम भाई एवं बेनीपुरी गोस्वामी ने सामुदायिक वन अधिकार पट्टा के संबंध में चर्चा की। कार्यक्रम में मैनपुर देवभोग छुरा गरियाबंद फिंगेश्वर से सैकड़ों किसानों ने भाग लिया।

Related Post

Comments