गरियाबंद

गरियाबंद, फुलकर्रा, गोपालपुर व सेम्हरतरा बनेंगे मॉडल ग्राम पंचायत- मुख्य कार्यपालन अधिकारी
गरियाबंद, फुलकर्रा, गोपालपुर व सेम्हरतरा बनेंगे मॉडल ग्राम पंचायत- मुख्य कार्यपालन अधिकारी
Date : 06-Oct-2019

फुलकर्रा, गोपालपुर व सेम्हरतरा बनेंगे मॉडल ग्राम पंचायत- मुख्य कार्यपालन अधिकारी
छत्तीसगढ़ संवाददाता 
गरियाबंद, 6  अक्टूबर।
जनपद पंचायत गरियाबंद के ग्राम पंचायत फुलकर्रा, मैनपुर के गोपालपुर एवं फिंगेश्वर के सेम्हरतरा ग्राम पंचायत का चयन महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी योजनांतर्गत गुड गवर्नेंस इनिशियेटिव व मॉडल ग्राम पंचायत के लिए हुआ है।  योजना अंतर्गत प्रत्येक कार्य के लिए वर्क फाइल, केस रिकार्ड (निर्माण नस्ती) का रख रखाव एवं दस्तावेजों के संधारण में एकरूपता के लिए इन पंचायतों का चयन किया गया है। 

ग्राम पंचायत फुलकर्रा, गोपालपुर एवं सेम्हरतरा जिले के रोल मॉडल पंचायत होंगे। जिले से संबंधित अमले इन पंचायतों का भ्रमण कर गुड गवर्नेंस की महत्ता को समझेंगे एवं अपने गांव में इसे लागू करेंगे। रोल मॉडल ग्राम पंचायत के सचिव दूसरे ग्राम पंचायत में जाकर अपने अनुभव सांझा करेंगे। राज्य सरकार द्वारा मनरेंगा योजना में पारदर्शिता लाने के उद्देश्य से सभी दस्तावेजो को चरणबद्ध तरीके से संधारित किया जायेगा। जो आम जनता के लिए सहज उपलब्ध होगा।  जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी आर.के. खुटे ने बताया कि भारत सरकार द्वारा इस कार्य को प्राथमिकता में रखा गया है, जिससें कि पूरे देश में मनरेगा योजना के तहत दस्तावेजों में समानता हो और पारदर्शिता बढ़े। मनरेगा योजना से वर्ष 2018 -19 से अब तक पूर्ण हो चुके समस्त निर्माण कार्यो का वर्क फाइल, पंजी व नागरिक सूचना पटल को बनाया जाएगा। इस संबंध में ग्राम रोजगार सहायकों व सचिवों का प्रशिक्षण जिला स्तर पर 4 एवं 5 अक्टूबर को प्रशिक्षण दिया गया। 

श्री खुटे ने बताया कि इसकी राज्य स्तर पर नियमित रूप से समीक्षा की जायेगी, चूंकि छत्तीसगढ़ के सभी जिलों में यह कार्य हो रहा है। मुख्य रूप से ग्राम पंचायत कार्यालय में उक्त सभी दस्तावेज सुव्यवस्थित रखा जाये और मनरेगा कार्यो का सूचना पटल पूर्ण रूप से भरा हो जिससे आम जनता को जानकारी सहज ही उपलब्ध हो सके। जनपद पंचायत स्तर पर मुख्य कार्यपालन अधिकारी और कार्यक्रम अधिकारी नियमित पर्यवेक्षण करेंगे। 

 

Related Post

Comments