छत्तीसगढ़ » बीजापुर

डीए की मांग को ले फेडरेशन ने सौंपा ज्ञापन
20-Jul-2021 9:11 PM (78)

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

बीजापुर, 20 जुलाई। अपनी लंबित मांग महंगाई भत्ता व डीए को लेकर जिला कर्मचारी अधिकारी फेडरेशन ने यहां मुख्यमंत्री के नाम एसडीएम को ज्ञापन सौंपा।

कर्मचारी अधिकारी फेडरेशन के प्रांतीय आव्हान पर मंगलवार को फेडरेशन के जिलाध्यक्ष मोहम्मद जाकिर खान व जिला संयोजक केडी राय के नेतृत्व में कर्मी जिला कार्यालय पहुंच अपनी लंबित मांग महंगाई भत्ता देने व डीए की मांग को लेकर मुख्यमंत्री के नाम एसडीएम देवेश ध्रुव को ज्ञापन सौंपा गया। फेडरेशन के पदाधिकारियों ने बताया कि इससे पूर्व दिसम्बर 2020 में 14 सूत्रीय मांग को लेकर कलम रख मशाल उठा आंदोलन तीन चरण किया जा चुका हैं। केंद्र सरकार जनवरी 2020 का चार, जुलाई 2020 का तीन एवं जनवरी 2021 के चार प्रतिशत सहित कुल ग्यारह प्रतिशत महंगाई भत्ता भुगतान करने का निर्णय लिया गया हैं। इसमें केंद्र के कर्मचारियों को कुल 28 फीसदी महंगाई भत्ता मिलेगा। जबकि राज्य के कर्मचारियों को बारह फीसदी महंगाई भत्ता मिल रहा हैं, जो न्यायोचित नहीं हैं। बता दें कि प्रदेश में कोरोना संक्रमण को रोकने शासकीय सेवकों ने दिन रात परिश्रम किया। वर्तमान में महंगाई काफी बढ़ गई हैं। जिसे देखते हुए फेडरेशन ने प्रदेश के शासकीय सेवकों व पेंशनरों को देय तारीख से सोलह फीसदी महंगाई भत्ता स्वीकृत करने की मांग सीएम से की गई है।

इस अवसर फेडरेशन आरडी झाड़ी, ईश्वर झाड़ी, तालण्डी नारायण, पुनेम सत्यम, डी सुबबैया सहित सभी तृतीय वर्ग कर्मचारी संघ, वाहन चालक संघ, वन कर्मचारी संघ, चतुर्थ श्रेणी संघ, छग शालेय शिक्षक संघ, पंचायत सचिव संघ, पटवारी संघ, कृषि संघ, अनियमित कर्मचारी संघ, स्वास्थ्य कर्मचारी संघ, लोक निर्माण विभाग संघ, वेटनरी संघ, पेंशनर कल्याण संघ, लिपिक संघ  तथा सहायक शिक्षक संघ ने फेडरेशन को अपना समर्थन दिया है।

मांगों को ले सडक़ों पर उतरे हजारों आदिवासी
17-Jul-2021 8:59 PM (58)

   भोपालपटनम व आवापल्ली में रैली निकाली, सौंपा ज्ञापन    

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

भोपालपटनम/बीजापुर, 17 जुलाई। शनिवार को भोपालपटनम व आवापल्ली मुख्यालय में हजारों आदिवासियों ने आठ सूत्रीय मांगों को लेकर रैली निकाली। रैली के बाद राज्यपाल के नाम ज्ञापन सौंपा गया।

रेत खदानों का ठेका निरस्त कर इन्हें पंचायतों को देने, महंगाई कम करने, सिलगेर गोलीकांड में दोषियों को सजा देने, हर गांव में उप स्वास्थ्य केंद्रों की स्थापना करने, ऑनलाइन पढ़ाई बंद कर स्कूलों को खोलने, लोकल संसाधनों को विदेश भेजना बंद करने की मांग की गई हैं। भोपालपटनम ब्लाक मुख्यालय में निकली रैली फारेस्ट नाका से होते हुए तहसील कार्यालय पहुंची। यहां ग्रामीणों ने एसडीएम हेमेंद्र भुआर्य को राज्यपाल के नाम ज्ञापन सौंपा।

इस रैली में करीब 35 पंचायतों के बड़ी संख्या में आदिवासी शामिल थे। वहीं ऐसी ही रैली उसूर ब्लॉक के मुख्यालय आवापल्ली में निकाली गई। यहां रैली में 19 पंचायतों से आये हजारों ग्रामीण शामिल हुए। रैली सामुदायिक भवन से तहसील कार्यालय तक निकाली गई और यहां भी राज्यपाल के नाम आठ सूत्रीय मांगों का ज्ञापन तहसीलदार शिवनाथ बघेल को सौपा गया। इस दौरान ग्रामीणों ने पहुंचविहीन क्षेत्रों में बारिश से पूर्व राशन भंडारण करने की मांग भी रखी हैं।

रैली में भोपालपटनम से सरपंच संघ अध्यक्ष अशोक मढ़े, टिंगे चिन्नाबाई, मिच्चा समैया, सुनील उद्दे, रमेश पामभोई, नवनियुक्त कृषक कल्याण परिषद के सदस्य व जिला पंचायत सदस्य बसंत राव ताटी, चापा सरिता, सुरेंद्र चापा, निर्मला मरपल्ली, मिच्चा मुतैया, अश्विनी यालम, सुनील गुरला, नागैया, मीना वासम, अनिता यालम, कमला पारेट, संतोष मेकल व सरस्वती कोरम मौजूद रहे।

वहीं आवापल्ली की रैली में जनपद अध्यक्ष अनिता तेलम, उपाध्यक्ष बीरा बोयना, रत्ना सोढ़ी, मुन्ना कुरसम, सुकलु पुनेम, नागेश अंगनपल्ली, नोप्पो मोजे, मिनाक्षी नल्ली, प्रवीण यालम, नारायण मुडिय़म व कोरैया कारम सहित सरपंच जनपद सदस्य व ग्रामीण मौजूद रहे।

ताटी बने कृषक कल्याण परिषद के सदस्य
16-Jul-2021 8:58 PM (206)

बीजापुर, 16 जुलाई। भोपालपटनम क्षेत्र के जिला पंचायत सदस्य व वरिष्ठ कांग्रेस नेता बसन्त राव ताटी को राज्य सरकार ने कृषक कल्याण परिषद का सदस्य नियुक्त किया हैं। उनकी इस नियुक्ति से भोपालपटनम सहित जिले भर में खुशी का माहौल है।

कृषक कल्याण परिषद के नवनियुक्त सदस्य बसन्त राव ताटी ने इस ‘छत्तीसगढ़’ से फोन पर चर्चा करते हुए बताया कि उन्हें जो जिम्मेदारी सौंपी गई हैं, इसे वे एक दुर्लभ अवसर मानते हैं। उन्होंने बताया कि उनकी कोशिश रहेगी कि वे इस नये दायित्व के तहत कृषकों की प्रमुख समस्याओं को चिन्हित कर उनके स्थाई समाधान की दिशा में कुछ ठोस उपाय करने में राज्य सरकार का सहयोग करेंगे। साथ ही क्षेत्र के कृषकों की समस्याओं के समाधान के लिए वे हमेशा प्रयास करते रहेंगे।

 श्री ताटी ने इस महत्वपूर्ण जिम्मेदारी दिए जाने पर पार्टी आला कमान, सीएम, पीसीसी चीफ, कृषि मंत्री, आबकारी मंत्री, बस्तर सांसद व बीजापुर विधायक का आभार व्यक्त किया है। साथ ही उन्होंने क्षेत्र की जनता के प्रति भी कृतज्ञता व्यक्त की है।

जिला अस्पताल में अन्नपूर्णा परोस रही मरीजों को स्वादिष्ट भोजन
16-Jul-2021 8:55 PM (88)

   प्रोटीन के साथ सफाई का रख रहे ख्याल     

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

बीजापुर, 16 जुलाई। इन दिनों यहां जिला अस्पताल में मरीजों को दिये जाने वाला भोजन काफी स्वादिष्ट व पौष्टिक हैं। जिले के सरकारी जिला अस्पताल में भर्ती मरीजों को अब शुद्ध और पौष्टिक भोजन मिल रहा है। दरअसल हम ऐसा इसलिए कह रहे हैं, क्योंकि जो खाना मरीजों को मिल रहा है उस खाने को दैनिक ‘छत्तीसगढ़’ की टीम ने भी टेस्ट किया है। 

तीन माह पहले मेस के लिए स्वास्थ्य विभाग द्वारा निविदा आमंत्रित की गई थी। इस निविदा में अन्नपूर्णा नाम की स्वसहायता समूह को टेंडर मिला। मेस प्रबंधक आनंद सांईपाल बताते हंै कि उन्होंने तीन साल हैदराबाद में रहकर होटल मैनेजमेंट में कुकिंग की डिग्री ली है। मरीजों को अच्छा व पौष्टिक खाना मिल सके, इसलिए इस काम में आनंद की माँ प्रतिमा पाल भी उनका साथ दे रही है। इसके अलावा उनके साथ  चार स्थानीय युवतियां भी उनकी मदद को है। दंतेवाड़ा जिले के बचेली के रहने वाले आनंद बताते हैं, उन्हें जिस दिन यह टेंडर मिला था। उसी दिन से उन्होंने ठान ली थी कि मरीजों की सेवा करने का ये अच्छा अवसर है। वे उन्हें शुद्ध व पौष्टिक भोजन देंगे, ताकि उन्हें घर के खाने की कमी महसूस न हो सके। और जल्द ही वे स्वस्थ हो।

कैंटीन संचालक बताते है, उन्हें रोजाना 120 लोगों के लिए खाना तैयार करना होता हैं। और इसकी प्रक्रिया सुबह 6 बजे कैंटीन पहुंचते ही शुरू हो जाती है।  सुबह 8 बजे के नाश्ते में मरीजों को इडली, पोहा, उपमा, दलिया, ड्राई रोस्ट मूंगफली, अंडे जैसे नाश्ते दिए जाते है। ताकि मरीजों को प्रोटीन मिल सके और वो जल्द ही स्वस्थ हो सके, फिर दोपहर के 12 बजे लंच और शाम  6 से 7 बजे के बीच मरीजो को रात्रि का भोजन दिया जाता है। मरीजों के साथ उनके घर के एक सदस्य को भी खाना दिया जाता हैं। मरीजों को दिए जाने वाली खाने की थाली एयर लॉक कर दिया जाता है। इसके लिए वे क्लीन पैक रेप का इस्तेमाल करते है। जिससे कि खाने में किसी तरह के बैक्टीरिया न जा सके।

घर के मसलों से सब्जी होती है तैयार

 अन्नपूर्णा स्वसहायता समूह की संचालिका प्रतिमा पाल ने बताया कि काम के साथ साथ हमें मरीजों की सेवा करने का मौका मिला है। वे बताती हंै  कि मरीजों के लिए वह जो सब्जी तैयार करती है। उसका मसाला वे घर पर ही तैयार करती हैं। जो बाहर से मसाले हम लेते हैं, उनमें कभी हानिकारक मसाले होते है जो आम लोगों को भी पचाने में दिक्कत होता है और मरीजों को दिक्कत न हो, इसलिए मैं अपने हाथों से पिसा मसाला ही डालती हूँ। साथ ही दाल में हींग का इस्तेमाल किया जाता है। ताकि खाना पचने में आसान हो जाये।

मरीजो के खाने में रखते है प्रोटीन और फैट का ख्याल

 हैदराबाद से 3 साल तक कुकिंग की डिग्री हासिल करने वाले आनंद बताते हंै कि वे हर रोज अस्पताल में भर्ती मरीजों के खाने के लिए  बाजार से ताजी सब्जियां खरीद कर लाते हैं। साथ ही उच्च क्वालिटी के चावल का प्रयोग करते है। सबसे ज्यादा ख्याल वह मरीजों को दिए जाने वाले खाने में  प्रोटीन, फैट और तापमान सही मात्रा में हो।

गर्भवती महिलाओं का रखते है विशेष ध्यान

 जिला अस्पताल में  अन्नपूर्णा नाम से कैंटीन चलाने वाले माता और पुत्र ने बताया कि गर्भवती महिलाओं को वे 4 बार खाना देते हैं,  जिसमें प्रोटीन से भरे स्प्राउट्स, सलाद और मौसमी फल शामिल हंै। क्योंकि गर्भवती माताओं के शरीर मे ताकत की अत्यधिक आवश्यकता होती है, इसलिए 1 महीने की गर्भवती से लेकर डिलीवरी के 5 दिन तक वे गर्भवती महिलाओं के खाने में विशेष ध्यान रखते हंै।

 सिविल सर्जन डॉ. अभय तोमर ने बताया कि यहां पहले की तुलना में खाने की क्वालिटी में काफी सुधार देखने को मिल रहा है। अन्नपूर्णा मरीजों के खाने में विशेष ध्यान दे रही हंै।

सीएमएचओ को पता नहीं और मिल गई नौकरी..?
15-Jul-2021 9:23 PM (257)

   फर्जी साइन से नियुक्ति का मामला   

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

बीजापुर, 15 जुलाई। यहां ग्रामीण स्वास्थ्य समन्वयक के पद पर एक युवती का चयन सीएमएचओ के फर्जी साइन से हो गया और बाकायदा 29 जुलाई का ज्वाइनिंग लेटर भी दे दिया गया। यह मामला सामने आने बाद स्वास्थ्य महकमे में हडक़ंप मच गया है।

जानकारी के मुताबिक इन दिनों कांता कुडियम के नाम से एक लेटर वायरल हो रहा है, जिसमें उसे ग्रामीण स्वास्थ्य समन्वयक के पद पर नियुक्त किया जाना बताया जा रहा है। इस लेटर में बाकायदा मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी का हस्ताक्षर भी किया गया हैं। इस फर्जीवाड़े की खबर लगते ही मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी ने नियुक्ति और हस्ताक्षर को फर्जी बताया है।

 सीएमएचओ आरके सिंह ने बताया कि उनके साइन को किसी ने बड़े ही शातिराना तरीके से स्कैन कर नियुक्ति लेटर में लगा दिया है।  उन्होंने बताया कि  इस फर्जीवाड़े को लेकर वे सतर्कता के साथ जांच करा रहे हैं।

फर्जी नियुक्ति का मामला सामने के बाद सीएमएचओ ने लोगों से अपील की है कि यदि कोई भी व्यक्ति स्वास्थ्य विभाग की तरफ से नौकरी का झांसा देता है तो वे तत्काल इसकी सूचना नजदीकी थाने में दें।

ज्ञात हो कि इससे पूर्व भी एसडीएम के फर्जी साइन से स्वास्थ्य विभाग में फर्जी ज्वाइनिंग लेटर वायरल हुआ था। एसडीएम हेमंत भुआर्य ने बताया कि उनके पास पिछले माह एक पीडि़त व्यक्ति आया था, तब उन्हें इस फर्जी प्रकरण की जानकारी लगी थी। उन्होंने इस फर्जी मामले को लेकर कोतवाली थाना प्रभारी को पत्र लिखा था।

सलवा जुडूम कार्यकर्ता की दिनदहाड़े नक्सल हत्या
15-Jul-2021 9:21 PM (119)

बीजापुर, 15 जुलाई। मोदकपाल थाना क्षेत्र के नुकनपाल में आज दिनदहाड़े नक्सलियों ने एक ग्रामीण की हत्या कर दी। हत्या कर शव सडक़ पर फेंक दिया। बताया जा रहा है कि मृतक सलवा जुडूम कार्यकर्ता था।

गुरुवार को उसूर निवासी मुर्रा कुडियम (40) नुकनपाल में एक कार्यक्रम में शामिल होने आया था। इस दौरान सादे वेशभूषा में कुछ नक्सली वहां आ धमके और उसकी डंडों व धारदार हथियार से वार कर हत्या कर दी। एसडीओपी अभिषेक सिंह ने घटना की पुष्टि की है।

सेवानिवृत्ति पर प्रधानाध्यापक को दी विदाई
15-Jul-2021 6:37 PM (81)

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
भोपालपटनम, 15 जुलाई।
भोपालपटनम विकासखण्ड के पूर्व माध्यमिक शाला गुनलापेंटा में प्रधानाध्यापक पद पर पदस्थ आनकारी सुधाकर का 30 जून को सेवानिवृत्त होने पर संकुल केंद्र गुनलापेंटा के शिक्षक शिक्षिकाओं के द्वारा 13  जुलाई को माध्यमिक शाला गुनलापेंटा में भव्य विदाई समारोह का आयोजन किया गया। 

इस अवसर पर संकुल केंद्र समान्यक ने उनकी जीवनी पर प्रकाश डाला। श्री सुधाकर ने कहा कि शिक्षक ही एक अच्छे समाज का निर्माण कर सकता है। सभी शिक्षक अपनी कर्तव्यनिष्ठा के साथ काम कर छात्रों को उज्ज्वल भविष्य की ओर ले जा सकता है। 

 इस अवसर पर इन्हें सह सम्मान पूर्वक श्री फल शाल व स्मृति चिन्ह भेंट कर विदाई दी गई। इस कार्यक्रम में सेवानिवृत्ति शिक्षक शिक्षिकाएं व जनप्रतिनिधि और संकुल केंद्र के समस्त शिक्षक व शिक्षिकाएं उपस्थित थे।
 

अफसरों पर भ्रष्टाचार के आरोप के साथ सडक़ पर उतरे छात्र
14-Jul-2021 8:55 PM (88)

  रैली निकालकर तहसीलदार को सौंपा मांगों का ज्ञापन    

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

बीजापुर, 14 जुलाई। कोरोना के चलते करीब दो साल से बंद पड़े शैक्षणिक संस्थाओं को पुन: खोले जाने की मांग छात्र लगातार कर रैलियां कर रहे हैं, लेकिन इस बार छात्रों ने अफसर-कर्मियों पर भ्रष्टाचार के आरोप लगाते हुए कार्रवाई करने की मांग की है।

भोपालपटनम और कुटरू के बाद बुधवार को भैरमगढ़ ब्लॉक मुख्यालय में स्कूली छात्रों ने बंद स्कूलों को फिर से खोले जाने व अधिकारियों पर भ्रष्टाचार के आरोप लगाते हुए कार्रवाई किये जाने सहित दस सूत्रीय मांगों को लेकर रैली निकाली।

रैली में ग्राम पंचायत हल्लुर, हकवा, पातरपारा व पोंदुम से यहां पहुंचे छात्रों ने नारेबाजी करते हुए नगर के मुख्यमार्ग में रैली निकाली और तहसीलदार जुगल किशोर पटेल को कलेक्टर के नाम दस सूत्रीय मांगों का ज्ञापन सौंपा। इस बार छात्रों की मांगों में अधिकारियों व कर्मचारियों पर भ्रष्टाचार के आरोप लगाते हुए कार्रवाई की मांगें भी मुख्य रूप से शामिल हैं। इधर तहसीलदार को ज्ञापन सौपने के बाद छात्र अपने घरों को वापस लौट गये।

ये हैं मांगें-स्कूल कॉलेज के छात्र-छात्राओं को वार्षिक छात्रवृत्ति 6000 रुपये दिया जाये, बंद स्कूल कॉलेजों को खोला जाये, ऑनलाइन पढ़ाई बंद की जाये, स्कूल कॉलेजों का निजीकरण बंद किया जाये, बस्तर में रिक्त पदों पर स्थानीय छात्र-छात्राओं व बेरोजगारों भर्ती किया जाये, आउटसोर्सिंग बंद किया जाये, बारहवीं से ऊपर शिक्षित बेरोजगारों को निर्माण कार्य एजेंसी का पंजीयन कर रोजगार उपलब्ध कराया जाये, कोरोनाकाल की विषम परिस्थिति में भी शिक्षा प्रणाली को चालू रखा जाये, ताकि बच्चों के भविष्य का नुकसान न हो, कर्मचारियों व अधिकारियों पर भ्रष्टाचार के आरोप लगाते हुए शीघ्र कार्रवाई करने तथा उचित शिक्षा व्यवस्था के लिए शासन द्वारा विशेष ध्यान दिए जाने की मांगें शामिल हैं।

लापरवाही, दो एपीओ को नोटिस और दो सचिव की रोकी वेतन वृद्धि
14-Jul-2021 8:54 PM (118)

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

बीजापुर, 14 जुलाई। कलेक्टर रितेश कुमार अग्रवाल ने आकस्मिक दौरे के दौरान गौठानों में अधूरे कामों व गौठानों के सही संचालन नहीं किये जाने से के चलते दो एपीओ को शोकॉज नोटिस व दो सचिवों के वेतन वृद्धि रोकने की कार्यवाही की हैं।

बीजापुर ब्लाक के  ईटपाल व पापनपाल गौठान का बुधवर को कलेक्टर रितेश अग्रवाल ने आकस्मिक निरीक्षण किया। यहां उन्होंने गौठान में शेड निर्माण, वर्मी कम्पोस्ट खाद उत्पादन सहित संचालित आजीविका मूलक गतिविधियों का जायजा लिया। उन्होने शेड निर्माण कार्य और चैन लिंक फेंसिंग कार्य को एक सप्ताह के भीतर पूरा करने कहा। उन्होंने भैरमगढ़ ब्लाक के गुदमा में जल-जीवन मिशन के तहत पाईप लाईन विस्तार एवं घरेलू नल कनेक्शन कार्य का निरीक्षण करते हुए उक्त कार्य को शीघ्र पूर्ण करने के निर्देश दिए।

कलेक्टरने गौठानों में अधूरे निर्माण कार्य तथा आजीविका मूलक गतिविधियों को बेहतर ढंग से संचालित नहीं करने के कारण मनरेगा के सहायक परियोजना अधिकारी मनीष सोनवानी तथा एनआरएलएम के सहायक परियोजना अधिकारी रामेश्वर महापात्र को शो-कॉज नोटिस जारी करने के निर्देश दिए। वहीं पापनपाल गौठान का समुचित संचालन नहीं करने तथा निर्माण कार्यों को पूर्ण नहीं करने के कारण पंचायत सचिव पापनपाल  ललित मोरला का दो वेतन वृद्धि रोकने के निर्देश दिए। उन्होने गुदमा गौठान संचालन में लापरवाही बरतने एवं निर्माण कार्यों को समयावधि में पूरा नहीं करने के कारण पंचायत सचिव गुदमा बाबूराव का एक वेतन वृद्धि रोकने के निर्देश दिए।

     कलेक्टर श्री अग्रवाल ने ईटपाल एवं पापनपाल गौठान में महिला स्व-सहायता समूहों से चर्चा करते हुए उन्हे स्वावलंबन की ओर अग्रसर होने के लिए आजीविका मूलक गतिविधियों को नियमित तौर पर बेहतर ढंग से संचालित करने की समझाईश दी। इस दौरान सीईओ जिला पंचायत रवि साहू, ईई पीएचई जगदीश कुमार सहित संबंधित जनपद पंचायत सीईओ तथा क्षेत्र के पंचायत पदाधिकारी मौजूद रहे।

बीजापुर पहुंची संभाग की पहली ब्लड कंपोनेंट सेपरेटर मशीन
13-Jul-2021 8:50 PM (106)

एक यूनिट ब्लड से बचेगी 3 जिंदगियां

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

बीजापुर, 13 जुलाई। यहां जिला अस्पताल में जल्द ही ब्लड सेपरेटर मशीन के जरिये ब्लड कम्पोनेंटस मिलने की सुविधा शुरू हो जाएगी। सोमवार को यहां संभाग की पहली ब्लड सेपरेटर मशीन पहुंची हैं। 

 दो माह पहले ब्लड सेपरेटर मशीन के लिए ऑर्डर किया गया था। सोमवार को जिला अस्पताल बीजापुर को संभाग की पहली ब्लड सेपरेटर मशीन की सौगात मिल गई। अब मशीन के स्ट्राल होते ही मरीजों को सुविधाएं मिलनी शुरू हो जाएगी।

 सिविल सर्जन डॉ. अभय तोमर ने बताया कि यह मशीन सोमवार पहले ही उनके अस्पताल में पहुंची है। अगले सप्ताह तक मशीन को चालू कर लिया जाएगा। मशीन किस तरह से काम करेगा, इसका प्रशिक्षण देने के लिए रायपुर से इंजीनियर आएंगे और अस्पताल के कर्मचारियों को इसकी ट्रेनिंग देंगे।

सिविल सर्जन ने बताया कि पिछड़ा इलाका व लोगों में रक्तदान को लेकर कई प्रकार की भ्रांतिया होने के कारण लोग रक्तदान नहीं करते हैं। जिस वजह से खून की काफी कमी होती थी। जिला अस्पताल में ब्लड बैंक है और चारों ब्लॉक में ब्लड स्टोरेज यूनिट की व्यवस्था भी की जा रही है। इस मशीन के आने से मरीजो को रक्त से सम्बंधित समस्याओं से मुक्ति मिलेगी और मरीजो को काफी सुविधाएं उपलब्ध हो पाएगी। उन्होंने बताया कि पिछले वर्ष ब्लड बैंक से 1024 लोगो को रक्त दिया गया था। वही अभी के तीन महीने में 217 मरीजो को रक्त दिया जा चुका है।

किस तरह काम करती है ब्लड कंपोनेंट सेपरेटर मशीन, कैसे मिलेगा मरीजों को लाभ

सिविल सर्जन ने बताया कि ब्लड कंपोनेंट  सेपरेटर मशीन मानव शरीर के खून में शामिल चार तत्वों को अलग कर देती है। डेंगू के मरीजों को प्लेटलेट्स, बर्न के मरीजो को प्लाज्मा व एफ़एफपी व एड्स के मरीजों को डब्ल्यूबीसी की जरूरत पड़ती है।यह मशीन लाल रक्त कणिकाओं,श्वेत रक्त कणिकाओं, प्लेटलेट्स, प्लाज्मा, फ्रेश फ्रोजन प्लाज्मा को अलग कर देता है।ऐसे में मरीज को पूरी बोतल खून चढ़ाने के बजाय आवश्यक तत्व ही चढ़ाए जाते है। एक बोतल खून से 3 मरीजों की जिंदगी बचाई जा सकती है।

जनप्रतिनिधियों ने रोपे पौधे
13-Jul-2021 6:52 PM (73)

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
भोपालपटनम, 13 जुलाई। 
   जनप्रतिनिधि ने पौधरोपण किया। 
वन एवं जलवायु परिवर्तन विभाग के द्वारा सीडबाल एवं सब्जी बीज रोपण व फलदार पौधों का वितरण 11 जुलाई को भोपालपटनम के एसडीओ एलएस गायकवाड़ के निर्देशन व भोपालपटनम वनपरिक्षेत्र अधिकारी पुष्पेंद्र सिंह के मार्गदर्शन में यह महाभियान कार्यक्रम का आयोजन नेशनल हाइवे 163 रोड किनारे रामपुरम के पास किया गया, जिसमें मुख्य रूप से तिमेड क्षेत्र के जिला पंचायत सदस्य बसंत राव टाटी जिला सांसद प्रतिनिधि कामेस्वर राव गौतम ब्लॉक कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष रमेश पामभोई व सर्व अधिवासी जिला अध्यक्ष अशोक तालण्डी ने वृक्षा रोपण किया। 

सीडबाल में आम जाम नीम करंज साजा टोरा इमली अर्जुन  फलदार में आम मूंगा आंवला जामुन सीताफल वृक्षों को रोपण किया गया और ग्रामीणों को इन अथितियों के द्वारा फलदार वृक्ष सब्जी बीज जिसमें तुरई बैंगन टमाटर कद्दू बरबट्टी गोभी आदि बीजों को वितरण किया गया। 

इस अवसर पर कांग्रेस पार्टी के आई टी सेल ब्लॉक अध्यक्ष अरुण वासम डिप्टी रेंजर मोहन सिंह डिप्टी रेंजर अजय कोरम डिप्टी रेंजर दिनेश वासम वनपाल मनोहर  योगेंद्र यादव महिला वनरक्षक कुमारी मंडे मनीषा एवं जनप्रतिनिधि वन विभाग के कर्मचारी चौकीदार व ग्रामीण उपस्थित थे।
 

पुलिस मुखबिरी का आरोप
12-Jul-2021 8:33 PM (126)

   पत्नी को पेड़ से बांधा और पति को अगवा कर हत्या    

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

बीजापुर,  12 जुलाई। नक्सलियों ने कुटरू इलाके में एक युवक की पुलिस मुखबिरी के आरोप में हत्या कर दी है। नक्सलियों ने पहले युवक को अगवा किया, फिर उसकी निर्ममता पूर्वक हत्या कर दी।  इधर दिन दहाड़े हुए से वारदात के बाद इलाके में दहशत व्याप्त हैं।

मिली जानकारी के मुताबिक कुटरू थाना क्षेत्र के अंबेली गांव में सोमवार की दोपहर नक्सलियों ने बामन पोयाम की पुलिस मुखबिरी के आरोप में धारदार हथियार से गला रेत कर निर्ममता पूर्वक हत्या कर दी। नक्सलियों ने हत्या के बाद युवक के शव को कुटरू से करीब पांच किलोमीटर दूर सडक़ पर फेंक दिया और शव के ऊपर एक गोंडी में लिखा पर्चा छोड़ा है।

नेशनल पार्क एरिया कमेटी के नाम से फेंके गये हस्तलिखित पर्चे में मृतक पर एसडीओपी कुटरू से मिलकर मुखबिरी करना का आरोप लगाया गया है।

 कुटरू एसडीओपी शेर बहादुर सिंह ने बताया कि सोमवार की दोपहर करीब 12 बजे  4 युवक व 2 युवती बामन पोयाम के घर आ धमके और उसके दोनों हाथों को बांधकर उसे अपने साथ ले जाने लगे। पति को बचाने उनकी पत्नी आई तो उसे एक पेड़ में बांधकर बामन पोयाम को ले गए और फिर कुछ देर के बाद उसकी हत्या कर शव सडक़ पर फेंक दिया गया। मृतक बामन की पत्नी ने कुटरू में रिपोर्ट दर्ज करा दी है।

घर में कनेक्शन नहीं और किसान को थमा दिया साढ़े 5 हजार का बिल
10-Jul-2021 9:03 PM (93)

   ईई बोले पुराने कनेक्शन का है नोटिस

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

बीजापुर, 10 जुलाई। जिले में बिजली विभाग ने बेदरे के एक किसान को बिना कनेक्शन के ही लंबा चौड़ा बिल थमा दिया हैं। जिसके चलते परेशान किसान बिजली बिल के चक्कर लगा रहा है।  

 यह घटना कुटरू क्षेत्र के बेदरे गांव के इमली पारा में रहने वाले झूरु पल्लों के साथ घटित हुई है। झूरु पल्लों ने बताया कि वह छोटा किसान है और किसानी करके अपने परिवार का पेट पालता है। उसने बताया कि उसे विद्युत विभाग का पत्र 9 जुलाई को मिला, जिसमें उसे बिजली विभाग ने बिजली कनेक्शन के बिल का भुगतान 5470 करने के लिए नोटिस भेजा है।

किसान ने बताया कि आज तक उसके घर में कोई भी विद्युत विभाग का कनेक्शन नहीं लगा है, न ही उसने कोई कनेक्शन लिया है। ऐसे में उसे विद्युत विभाग के द्वारा रुपये अदा करने के लिए कहा जा रहा है। उससे वे अचंभित हैं। जिस दिन से बिजली विभाग द्वारा  नोटिस भेजा गया है, तब वे बिजली विभाग के चक्कर काट रहे हैं।

 पल्लों का कहना है कि उसका गांव जिला मुख्यालय से करीब 60 किमी की दूरी पर स्थित है। विभाग के द्वारा भेजा गया भुगतान पत्र मिला तो वे जिला मुख्यालय पहुंचे हैं। किसान का कहना है अभी खेती किसानी का समय है और वे एक गरीब किसान हैं। उसने कहा कि जब उसके पास कनेक्शन ही नहीं है तो किस बात का भुगतान करूं।

इस मामले में विद्युत विभाग के कार्यपालन अभियंता पीआर साहू का कहना है कि भुगतान के लिए जो नोटिस भेजा गया है। दरअसल वह पुराने बिल का नोटिस है। पहले इनके घरों में बिजली के कनेक्शन थे, लेकिन इन्होंने बिल का भुगतान नहीं किया, इसलिए लोक अदालत के माध्यम से ऐसे उपभोक्ताओं को सुलह समझौतों के लिए उपस्थित रहने का नोटिस दिया गया है।

श्री साहू ने बताया कि जिले में ऐसे 48 प्रकरण हैं, जिनकी बकाया राशि 5 लाख 48 हजार रुपये है। जिसमें से 7 लोगों ने शनिवार को लोक अदालत में उपस्थित होकर 51 हजार रुपये की राशि का भुगतान किया है।

 झूरु पल्लों भी उन्हीं उपभोक्ताओं में से एक है। जिन्होंने पुराने बिल का भुगतान नहीं किया। इसलिए इन्हें नोटिस भेजा गया है। अगर इन्हें नए कनेक्शन चाहिए तो पहले पुराने बिजली के कनेक्शन का भुगतान करना होगा।

आंखों के लिए डॉक्टर, फिर भी नहीं हो रहा ऑपरेशन
09-Jul-2021 5:47 PM (76)

छत्तीसगढ़ संवाददाता
बीजापुर,  9 जुलाई।
यहां जिला अस्पताल में आंखों के लिए डॉक्टर होने के बावजूद जिले में मोतियाबिंद के मरीजों का ऑपरेशन नहीं हो पा रहा हैं। जिसके चलते बीजापुर अपने निर्धारित लक्ष्य से काफी पीछे चल रहा हैं।

मोतियाबिंद के मरीज अपनी आंखों में लाखों सपने संजोए हुए है, लेकिन यहां आंखों के ऑपरेशन के लिए डॉक्टर होने के बावजूद मरीजों का ऑपरेशन रुका हुआ है। छत्तीसगढ़ सरकार के द्वारा मोतियाबिंद दृष्टिहीनता रहित राज्य बनाने का संकल्प लिया गया है, लेकिन जिले में अब तक मोतियाबिंद का ऑपरेशन न के बराबर हुआ है। विदित हो कि जिले में गत वर्ष 2020-2021 में मोतियाबिंद के ऑपरेशन का लक्ष्य 1000 था, जिसमें महज 230 मोतियाबिंद के मरीजों का ही ऑपरेशन हो पाया था। वहीं इस वर्ष भी जिले में 1000 मोतियाबिंद मरीजों के आंखों का ऑपरेशन करने का लक्ष्य निर्धारित है। इसके बावजूद अब तक मोतियाबिंद के एक मरीज का ही ऑपरेशन हो पाया है। 

इस संबंध में मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. आरके सिंह से जानकारी ली गई तो उन्होंने बताया कि गर्मी के माह से ही मोतियाबिंद के मरीजों का ऑपरेशन शुरू होना था,  लेकिन अब तक सिर्फ 1 ही मरीज के आंखों का ऑपरेशन हो पाया है। सीएमएचओ ने बताया कि जिले में मोतियाबिंद के मरीजों का सर्वे का काम लगातार जारी है। 

उन्होंने आगे बताया कि सर्वे में भोपालपट्टनम ब्लॉक से 122,भैरमगढ़ ब्लाक से 30 एवं उसूर ब्लाक से 17 मोतियाबिंद मरीजों पाए गए हैं। वही अब तक 93 मरीजो का पंजीयन भी किया जा चुका है। उन्होंने बताया कि  नेत्र विभाग की इस लापरवाही के लिए नोडल अधिकारी को कारण बताओ नोटिस जारी किया गया है। उन्होंने कहा कि जल्द ही मोतियाबिंद के मरीजों के आंखों का ऑपरेशन शुरू कर लक्ष्य पूरा कर लिया जाएगा। 

वहीं इस संबंध में नेत्र सर्जन डॉ. श्रीकांत गेडाम से बात करने पर उन्होंने बताया कि नवंबर व दिसंबर में ओटी में पानी रिस रहा था, 5 महीने से सर्जरी मशीन खराब थी। हमने तत्कालीन सीएमएचओ को जानकारी दी थी। उसके बाद कोरोना की वजह से हॉस्पिटल में मरीज आने से डर रहे थे। उन्होंने कहा कि सुविधाएं नहीं होने की वजह से आंखों के ऑपरेशन में बहुत कमी आयी है। वर्तमान में चार मरीजों के आंखों का ऑपरेशन किया गया है।
 

बूथ स्तर तक सरकार की खामियां गिनाएगी भाजपा
08-Jul-2021 9:01 PM (295)

   कार्यसमिति की बैठक में कार्यकर्ताओं से रूबरू हुए भाजपा नेता    

बीजापुर, 8 जुलाई। यहां भाजपा कार्यकर्ता आने वाले दिनों में बूथ स्तर तक जाकर राज्य सरकार की खामियां गिनाएंगे। साथ ही स्थानीय मुद्दों व सरकार की विफलता को लेकर सडक़ की लड़ाई लड़ेंगे।

 भाजपा कार्यसमिति की बैठक में शामिल होने यहां पहुंचे भाजपा प्रदेश संगठन महामंत्री पवन साय, बस्तर संभाग प्रभारी शिवरतन शर्मा, बीजापुर जिला संगठन प्रभारी श्रीनिवास राव मद्दी, पूर्व सांसद दिनेश कश्यप, सहप्रभारी धनीराम बारसे, प्रदेश महामंत्री किरण देव व जगदलपुर नगर निगम के नेता प्रतिपक्ष संजय पांडेय भाजपा कार्यालय में कार्यकर्ताओं से रूबरू हुए। भाजपा नेताओं ने यहां कार्यकर्ताओं को संबोधित करते संगठन की मजबूती पर जोर देते हुए आने वाले दिनों में सरकार की खामियों को बूथ स्तर तक ले जाकर आमजनता के सामने लाने की बात कही। साथ ही स्थानीय मुद्दों को जनता के सामने लाकर मजबूत विपक्ष की भूमिका निभाने की बात कही।

भाजपा नेताओं ने मंडलों व बूथ स्तर पर अब तक किये गए कामों को खूब सराहा। वहीं भाजपा जिलाध्यक्ष श्रीनिवास मुदलियार ने कार्यकताओं को संबोधित करते कहा कि जिले में विषम परिस्थितियों के बावजूद जिस सजगता से कार्यकर्ता काम कर रहे हैं, वह सराहनीय है। उन्होंने कहा कि प्रदेश नेतृत्व से समय समय पर जो निर्देश मिलते है। उसका पालन करते हुए काम किया जा रहा है।

श्री मुदलियार ने आगे कहा कि कोविड में राज्य सरकार स्वास्थ्य व्यवस्था में विफल रही। जिसे लेकर विरोध प्रदर्शन किया गया था। उन्होंने कहा कि जिले में भाजपा संगठन द्वारा लगातार टीकाकरण को लेकर लोगों को प्रोत्साहित किया जा रहा है। करीब दो घण्टे चली कार्यसमिति की बैठक में जिले के चारों ब्लाकों से भाजपा पदाधिकारी व कार्यकर्ता आये हुए थे।

बिजली तार की चपेट में आने से युवक की मौत
07-Jul-2021 5:19 PM (92)

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

बीजापुर, 7 जुलाई। यहां करीब 25 किलो मीटर दूर गंगालूर के गागड़ापारा में बीते दिनों बिजली तार की चपेट में आने से गांव के एक युवक की मौत हो गई।

बताया गया है कि गंगालूर के गागड़ापारा के पास मुख्य मार्ग पर मेन लाइन का तार पोल से टूटकर मुख्य मार्ग पर गिर गया था। रविवार को इसकी चपेट में एक स्थानीय युवक सोनाधर साहनी आ गया और उसकी मौत हो गई।

ग्रामीणों ने बताया कि 20 साल का सोनाधर गांव का एक होनहार युवक था। ग्रामीणों ने बताया कि बिजली विभाग में कई बार फोन लगाया गया। लेकिन बिजली विभाग के किसी भी कर्मचारी ने फोन तक नहीं उठाया। विभागीय लापरवाही को लेकर गंगालूर के ग्रामीणों में काफी रोष है। हादसे के बाद युवक को प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र गंगालूर में प्राथमिक इलाज हेतु लाया गया लेकिन स्थिति गंभीर होने के कारण उसे बीजापुर जिला चिकित्सालय भेज दिया गया, जहां इलाज के दौरान युवक की मौत हो गई।

इस मामले में विद्युत विभाग के कार्यपालन अभियंता पी आर साहू का कहना है। कि ग्रामीण जो आरोप लगा रहे है, वह बेबुनियाद है। बिजली का तार जरूर टूटा हुआ था, पर  उसमें करंट नहीं था। युवक की मौत करंट लगने से हुई है या बाइक तार में फंसने की वजह से, यह युवक के पीएम रिपोर्ट आने के बाद ही स्पष्ट हो पाएगा।

 उन्होंने बताया कि जो तार टूटा हुआ था। उसकी जानकारी उन्हें ग्रामीणों के द्वारा मिली थी और टूटे हुए बिजली के तार को उनके विभाग द्वारा हटा लिया गया है।

गांवों में मोहल्ला क्लास शुरू
05-Jul-2021 8:25 PM (134)

   टीकाकरण के प्रति पोस्टर के माध्यम से किया जा रहा है जागरूक    

भोपालपटनम, 5 जुलाई। छत्तीसगढ़ शासन की योजना पढ़ई तुंहर दुआर के तहत जिला शिक्षा अधिकारी बीजापुर प्रमोद ठाकुर के निर्देशानुसार, विकासखंड शिक्षा अधिकारी भोपालपटनम कंडिक नारायण के मार्गदर्शन में संकुल केन्द्र चन्दूर के अंतर्गत आने वाले समस्त ग्रामों में मोहल्ला क्लास का संचालन शत प्रतिशत प्रारंभ किया गया है।

संकुल शैक्षिक समन्वयक श्रीनिवास एटला के द्वारा संकुल के सभी शिक्षकों का दिवस वार समय सारिणी बनाकर शिक्षकों से प्रतिदिन विभिन्न शैक्षणिक गतिवीधियाँ इन मोहल्ला क्लासों में करायी जा रही हैं। संकुल केन्द्र चन्दूर के सभी ग्रामों में शिक्षक घर-घर जाकर बच्चों को नित नए नवाचारों के माध्यम से अध्यापन कार्य करा रहे हैं। इस कार्य में ग्राम पंचायत चन्दूर के सरपंच अशोक के द्वारा भी भरपूर सहयोग किया जा रहा है। उन्होंने गरीब बच्चों को कापी पेन भी प्रदाय करने की भी बात की है।

संकुल प्राचार्य भरत सिंह देहारी एवं संकुल समन्वयक द्वारा शिक्षकों की बैठक लेकर मोहल्ला क्लास नियमित संचालित करने एवं बच्चों को गुणवत्ता युक्त शिक्षा प्रदान करने अवश्यक निर्देश दिए गए हैं। इनके द्वारा मोहल्ला क्लासों का नियमित अवलोकन किया जा रहा है। मोहल्ला क्लास के साथ-साथ लोगों में टीकाकरण के प्रति पोस्टर के माध्यम से जागरूक किया जा रहा है। संकुल के शत प्रतिशत शिक्षकों ने टीका लगवा लिया है।

इस कार्य के लिए कमलेश धु्रव (सहायक खंड शिक्षा अधिकारी) एवं मिर्जा खान (खंड स्रोत समन्वयक) भोपालपटनम के द्वारा भी नियमित निरीक्षण करते हुए शिक्षकों को मोहल्ला क्लास में आने वाली कठिनाईयों को दूर कर रहे हैं। जिससे संकुल में मोहल्ला क्लास का सफल संचालन किया जा रहा है।

16 साल से बंद स्कूल खोलने की मांग को ले छात्रों ने निकाली रैली, सौंपा ज्ञापन
29-Jun-2021 6:15 PM (69)

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

भोपालपटनम/बीजापुर,  29 जून। सोलह वर्षों से सेंड्रा इलाके के बंद स्कूलों को फिर से खोले जाने की मांग को लेकर कल छात्र-छात्राओं ने रैली निकाली और राज्यपाल के नाम 9 सूत्रीय मांगों का ज्ञापन डिप्टी कलेक्टर को सौंपा।

उल्लेखनीय है कि वर्ष 2005 में सलवा जुड़ूम शुरू होने के बाद भोपालपटनम क्षेत्र के सेण्ड्रा इलाके के स्कूल बंद हो गए थे। यहां के स्कूलों को बसाहटों वाली जगहों पर शिफ्ट कर दिया गया था। बच्चों को पढऩे दूर गांव जाना पड़ रहा है। इसे लेकर सेण्ड्रा, बड़ेकाकलेड़, एड़ापल्ली व केरपे के सैकड़ों स्कूली छात्र-छात्राएं सोमवार को 50 से 60 किमी दूर पैदल चलकर तहसील मुख्यालय भोपालपटनम पहुंचे और यहां रैली निकालकर बंद स्कूलों को फिर से खोलने की मांग की। साथ ही गांव से आये लोगों ने डिप्टी कलेक्टर ओंकार सिंह से मिलकर उन्हें क्षेत्र की समस्याओं से अवगत कराया। 

राज्यपाल के नाम सौंपे गए 9 सूत्रीय मांगों में बंद स्कूलों को खोलने, 30 बच्चों के पीछे एक शिक्षक की नियुक्ति करने, नई शिक्षा नीति के नाम पर वैज्ञानिक ज्ञान एवं गुणवत्ता शिक्षा से वंचित न करने, सभी स्कूलों में विषयवार शिक्षकों की पदस्थापना एवं भोजन की व्यवस्था, पिछड़े वर्ग के बच्चों को शिक्षा एवं शिक्षा के निजीकरण को बंद करने की मांग की है। जनपद की ओर से दूर से आए छात्रों के लिए नाश्ते की व्यवस्था की गई थी। वहीं रैली के बाद वापस जा रहे लोगों को सूखा राशन दिया गया।

सारकेगुड़ा गोलीकांड की नौवीं बरसी, श्रद्धांजलि देने जुटे हजारों ग्रामीण
29-Jun-2021 2:39 PM (117)

   शहीदों की याद में बनाया शहीद स्मारक   

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
बीजापुर, 29 जून।
नौ साल पहले सारकेगुड़ा में सुरक्षाबलों की गोली से मारे गए 17 ग्रामीणों की नौवीं बरसी मानते हुए सोमवार को सारकेगुड़ा व आसपास के हजारों ग्रामीण एकत्रित होकर अपनों को श्रद्धांजलि अर्पित की। 

सारकेगुड़ा में मूल निवासी मंच बीजापुर के झंडे तले हुए कार्यक्रम में दर्जन भर गांव के हजारों आदिवासी शामिल हुए। यहां नौवीं बरसी के मौके पर अपनों की याद में ग्रामीणों ने पत्थरों का एक शहीद स्मारक बनाया और उस पर शहीदों को श्रद्धांजलि अर्पित की गई। 

ज्ञात हो कि 28 जून 2012 की दरमियानी रात बासागुड़ा थाना क्षेत्र के सारकेगुड़ा, राजपेटा व कोत्तागुड़ा के ग्रामीण बीज पंडुम मनाने खेत में जुटे थे। ग्रामीणों का आरोप था कि सारकेगुड़ा, कोत्तागुड़ा व राजपेटा के ग्रामीण आदिवासी रीति रिवाज के मुताबिक बीज पंडुम मना रहे थे, तभी सुरक्षाबलों ने  ग्रामीणों को नक्सली समझकर उनपर गोलियां चला दी थी। जिसमें सारके रमन्ना, हपका मोंटू, कोरसा बिकमा, कुंजाम मल्ला, माड़वी आयतु, काका रमेश, काका पार्वती, इरपा चिनक्का, हपका छोटू, मडक़म सोमैया, काका सेमनटी, काका रमेश, काका पार्वती, इरपा मुन्ना, काका संमैया, काका सरस्वती व काका राहुल की मौत हो गई थी। 

इधर सोमवार को सारकेगुड़ा की नौवीं बरसी मानने दर्जन भर गांवों के हजारों ग्रामीण जुटे थे। इसमें समाजसेवी संस्था मानवाधिकार कार्यकर्ता व वकीलों ने भी शिरकत की और जांच रिपोर्ट को सार्वजनिक किए जाने की मांग। बरसी के मौके पर ग्रामीणों ने सारकेगुड़ा में अपनों की याद में पत्थरों का एक विशालकाय शहीद स्मारक बनाया है। 

सारकेगुड़ा बरसी के मौके पर ग्रामीणों के बीच पहुंचे सीपीएम नेता संजय पराते ने कहा कि दो साल पहले सारकेगुड़ा की जांच रिपोर्ट आई गई है और सरकारों के झूठ का पर्दाफाश हो गया हैं। इसमें कहा गया है कि मारे गए निर्दोष आदिवासी थे। इनमें कोई नक्सली नहीं था। अगर सरकार संविधान पर कानून पर विश्वास करती है, तो ऐसे अधिकारी जो आदिवासियों को नक्सली बताकर नरसंहार कर रहे हैं, उन पर कार्रवाई करें। 

श्री पराते ने कहा कि आदिवासी अत्याचार पर मानवाधिकार की रिपोर्ट हो या आदिवासी आयोग की रिपोर्ट हो या फिर सीपीआई की रिपोर्ट हो ये तमाम रिपोर्टों ने दोषियों अधिकारियों को चिन्हित किया हैं। लेकिन पहले की भाजपा सरकार हो या फिर वर्तमान की कांग्रेस सरकार जिम्मेदारों पर कार्रवाई करने को तैयार नहीं हैं। 

वहीं छत्तीसगढ़ बचाओ आंदोलन के सदस्य आलोक शुक्ला ने कहा कि सारकेगुड़ा कांड के नौ साल बाद भी लोगों को न्याय नहीं मिला है,  जो दुखद है। दो साल पहले रिपोर्ट भी आ चुकी है। लेकिन सरकार कार्रवाई करने का साहस नहीं दिखा रही। उन्होंने कहा कि लोकतांत्रिक अधिकार या लोकतांत्रिक आंदोलन का जवाब सरकार को लोकतांत्रिक तरीके से देना होगा। तभी एक विश्वास कायम होगा। उन्होंने कहा कि ऐसे आंदोलन को नजरअंदाज नहीं किया जा सकता। आदिवासियों को न्याय दिलाने के वायदे पर छत्तीसगढ़ में कांग्रेस की सरकार आई है।

वहीं मानवाधिकार कार्यकर्ता व वकील बेला भाटिया ने कहा कि वर्ष 2019 में सारकेगुड़ा का जजमेंट आ चुका हैं। बावजूद ग्रामीणों को न्याय नहीं मिला हैं। उनका कहना है कि कांग्रेस सरकार सारकेगुड़ा मामले में न्याय देती है तो ग्रामीण उन पर भरोसा करेंगे। साथ ही कांग्रेस नेता अरविंद नेताम ने भी आदिवासी हत्याओं की जमकर मुखालफत की। कार्यक्रम के दौरान बड़ी संख्या सुरक्षाबल के जवान तैनात रहे।

कंटेनमेंट जोन का दिखा असर, पाजिटिविटी रेट में आई कमी
24-Jun-2021 8:40 PM (200)

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

बीजापुर, 24 जून । पिछले दिनों उसूर ब्लॉक के विभिन्न गांवों में कोरोना संक्रमण के मामले तेजी से बढ़ रहे थे। जिसके मद्देनजर कलेक्टर एवं जिला दंडाधिकारी ने सम्पूर्ण उसूर क्षेत्र को कंटेनमेंट जोन घोषित किया गया है, जिसके अन्तर्गत प्रतिबंधात्मक आदेश लागू है। इस दौरान अनावश्यक भीड़भाड़ ,सभा ,समारोह एवं अनावश्यक आवागवन प्रतिबंधित है। कंटेंनमेंट जोन 1 जुलाई तक प्रभावी है। लोगों द्वारा कंटेनमेंट जोन का सजगतापूर्वक पालन किया जा रहा है। इसके परिणामस्वरूप सक्रिय मरीजों, धनात्मक प्रकरण एवं सकारात्मकता दर  में कमी आयी है। ज्ञातव्य है कि कोरोना काल के दौरान अनावश्यक आवागमन भीड़भाड़, सभा, समारोह इत्यादि होने के कारण उसूर क्षेत्र के विभिन्न गांवों में धनात्मक मरीजों की संख्या में वृद्धि हुई थी। वर्तमान में स्थिति नियंत्रण में है। इसी तरह कोविड नियमों का पालन करने एवं प्रशासन  का सहयोग आवश्यक है। वर्तमान स्थिति में ऊसूर क्षेत्र में मात्र 93 केस सक्रिय है एवं पाजिटिविटी रेट में भी कमी आयी है। जबकि पूर्व मे कुछ ही दिनों में सक्रिय मरीजों की संख्या अचानक बढक़र 500 तक पहुंच गई थी। आनेवाले दिनों में संक्रमण की स्थिति के अनुसार कंटेंनमेंट जोन पर निर्णय लिया जाएगा। कोरोना संक्रमण के प्रसार को रोकने कोविड नियमों का पालन करना आवश्यक है।

पेड़ काटने के नियम का सरलीकरण कार्यशाला में दी जानकारी
24-Jun-2021 8:34 PM (157)

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

बीजापुर, 24 जून। यहां वन विभाग द्वारा आयोजित कार्यशाला में अफसरों व जनप्रतिनिधियों ने पेड़ काटने के नियम के हुए सरलीकरण की जानकारी देते हुए वृक्षारोपण करने पर जोर दिया। 

 बुधवार को तेंदुहाल में वन विभाग द्वारा मुख्यमंत्री वृक्षारोपण प्रोत्साहन योजना  के तहत वनमण्डल स्तरीय कार्यशाला का आयोजन किया गया था। इसमें ग्राम पंचायतों के सरपंच, वन प्रबंधन समिति के सदस्य, किसान, स्थानीय जनप्रतिनिधि, वन अमला एवं ग्रामीण शामिल हुए। डीएफओ अशोक पटेल ने जानकारी देते हुए बताया कि वन धन समिति यदि गांव की राजस्व या चराई जमीन पर पेड़ लगाती है तो उन्हें एक बार प्रत्येक एकड़ दस हजार रुपये दी जाएगी।

वहीं अगर कृषक अपने खेतों में पेड़ लगाता है तो उसे दूसरे साल से तीन साल तक दस दस हजार रुपये विभाग की तरफ से दी जाएगी। श्री पटेल ने बताया कि पेड़ काटने के नियम का सरलीकरण किया गया हैं।

 अब पूर्व की तरह दिक्कत पेश नहीं आएगी। वहीं आरओ दीनानाथ गोसाई ने बताया कि मुख्यमंत्री वृक्षारोपण प्रोत्साहन योजना की शुरुआत 5 जून से हो गई हैं। बीजापुर के एक कृषक ने अपने पांच एकड़ खेत मे से एक एकड़ पर आम का वृक्ष रोपा हैं।

उन्होंने बताया कि उक्त किसान को आगामी साल से राशि दी जाएगी। इस अवसर पर जिला पंचायत अध्यक्ष शंकर कुडियम, उपाध्यक्ष कमलेश कारम, जिला पंचायत सदस्य नीना रावतिया उद्दे, एसडीओ पीएनआर नायडू, प्रकाश नेताम, एस चिलमैया सहित सभी वन परिक्षेत्र अधिकारी व वनकर्मी मौजूद रहे।

कमांड स्वीच वाला पाइप बम बरामद, किया निष्क्रिय
20-Jun-2021 8:35 PM (156)

   जवानों को नुकसान पहुंचाने नक्सलियों ने पुलिया में कर रखा था प्लांट    

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
बीजापुर, 20 जून।
जवानों को निशाना बनाने के मकसद से मिरतूर के पास एक पुलिया में नक्सलियों ने  पाइप बम प्लांट कर रखा था। जिसे समय रहते जवानों ने बरामद कर उसे वहीं निष्क्रिय कर दिया।  
पुलिस के मुताबिक रविवार को मिरतूर थाना से जिलाबल व बेचापाल कैम्प से छसबल 19ए की संयुक्त पार्टी नक्सल विरोधी अभियान पर मिरतूर बेचापाल की ओर निकली थी। अभियान को दौरान दोपहर 2.30 बजे डी-माईनिंग की कार्रवाई में मिरतूर कोकोडी पारा के पास बने पुलिया में नक्सलियों द्वारा जवानों को नुकसान पहुंचाने के मकसद से प्लांट किये गए 10 किलो वजनी पाइप बम बरामद किया गया। जिसे बीडीएस की टीम ने वहीं सुरक्षित तरीके से निष्क्रिय कर दिया। बताया गया है कि नक्सलियों द्वारा लगाए पाइप बम को कमांड स्वीच सिस्टम से लगाया गया था।

 

जवानों ने नक्सली स्मारक ढहाया
20-Jun-2021 12:11 AM (211)

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
बीजापुर, 19 जून।
जिले में चलाये जा रहे नक्सल विरोधी अभियान के दौरान डीआरजी के जवानों ने एक नक्सली स्मारक को ध्वस्त कर दिया।
पुलिस से मिली जानकारी के मुताबिक शुक्रवार को डीआरजी की टीम नक्सल विरोधी अभियान के लिए जांगला थाना क्षेत्र के छोटेतुंगाली व पोटेनार की ओर निकली थी। इस दौरान छोटेतुंगाली के जंगलों में नक्सली 

द्वारा बनाये गये एक स्मारक को जवानों ने ध्वस्त कर दिया।

चुनाव प्रभारी पहुंचे भोपालपट्टनम, कार्यकर्ताओं में भरा जोश
19-Jun-2021 11:37 PM (167)

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
भोपालपटनम, 19 जून।
भोपालपट्टनम में आगामी नगर पंचायत चुनाव का बिगुल बजने से पहले ही भारतीय जनता पार्टी द्वारा चुनाव को लेकर तैयारी जोर-शोर से की जा रही है।  प्रदेश संगठन के द्वारा नियुक्त चुनाव प्रभारियों का प्रथम आगमन 18 जून को हुआ। ज्ञात हो कि पिछले बार मात्र 11 वोटों से पराजय का सामना करना पड़ा था। 

 चुनाव प्रभारी लच्छूराम कश्यप पूर्व विधायक चित्रकूट एवं पूर्व बस्तर जिला पंचायत अध्यक्ष एवं सह प्रभारी दीपक बाजपेयी पूर्व बस्तर जिला युवा मोर्चा अध्यक्ष, विशिष्ट अतिथि राजाराम तोड़ेम पूर्व विधायक बीजापुर व संग्राम सिंह राणा जगदलपुर शहर अध्यक्ष व पूर्व पार्षद जगदलपुर  से  प्रभारियों का दल पी डब्ल्यूडी रेस्ट हाउस पहुंचे।
 सर्वप्रथम भोपालपटनम पहुँचे अतिथियों का मण्डल अध्यक्ष द्वारा स्वागत किया गया। तत्पश्चात चुनाव प्रभारियों ने संबोधित करते हुए अपनी पार्टी को विजयश्री दिलाने के लिए पार्टी के कार्यकर्ताओं में एक नई जोश भरे। 

उन्होंने कहा कि रणनीति बनाकर जनता के पास जाएं और भाजपा के पिछले 15 वर्षों के कार्यकाल व उपलब्धि को जनता के सामने रखें और वर्तमान कांग्रेस सरकार की ढाई साल की वादाखिलाफी नाकामियों को जनता को बताएं, अभी से ही जनता के बीच जाकर पार्टी के सिद्धांतों का प्रचार-प्रसार करें। 

कार्यक्रम में भोपालपटनम के  मण्डल अध्यक्ष वेंकटेशवर यालम जिला महिला मोर्चा अध्यक्ष जया चिडेम जिला पिछड़ा वर्ग अध्यक्ष पी संतोष कुमार जिला आरटीआई प्रकोष्ठ के अध्यक्ष मुर्गेश शेट्टी जिला युवा मोर्चा उपाध्यक्ष बिलाल खान व किसान मोर्चा महिला मोर्चा युवा मोर्चा एस टी मोर्चा एस सी मोर्चा पार्टी के सभी पदाधिकारी व कार्यकर्ता शामिल थे। यह कार्यक्रम में कोविड-19  के सभी नियमों का पालन करते हुए मास्क व सेनिटाइजर का उपयोग व सामाजिक दूरी का भी पालन किया गया है।

 

बढ़ती महंगाई के विरोध में कांग्रेस का चक्काजाम
18-Jun-2021 8:35 PM (206)

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

बीजापुर, 18 जून। देश में लगातार बढ़ती महंगाई और बेरोजग़ारी के विरोध में शुक्रवार को जि़ला कांग्रेस कमेटी के बैनर तले जि़ला मुख्यालय सहित उसूर, भोपालपटनम व भैरमगढ़ ब्लॉक मुख्यालय में कांग्रेस ने सांकेतिक चक्काजाम कर मोदी सरकार और भाजपा पर देश की जनता से किए वादों से मुकरने, देश को ठगने और देश की जनता से झूठ बोलने व अपने उद्योगपति मित्रों को लाभ पहुंचाने का आरोप लगाया। 

चक्काजाम के दौरान विधायक विक्रम मंडावी ने कहा कि भाजपा और मोदी सरकार ने देश की जनता से किए गए वादों में से एक भी वादा आज तक पूरा नहीं किया। मोदी सरकार अब तक देश में दो योजनाएं लेकर आई थी, जिसमें पहली योजना नोटबंदी और दूसरी योजना जीएसटी थी। ये दोनों ही योजनाएं पूरी तरह फैल हो गई है। जिसके कारण देश में बेरोजग़ारी और महंगाई लगातार बढ़ रही है।

 विधायक मंडावी ने आगे कहा कि क्या भाजपा के पंद्रह साल बनाम कांग्रेस के ढाई साल पर भाजपा बहस करेगी? देश में पेट्रोल, डीज़ल के अलावा खाद्य तेल और घरेलू गैस के दाम लगातार बढ़ रहे हैं, जिससे आम लोगों का बजट बिगड़ता जा रहा है। 
देश में बेतहाशा महंगाई और बेरोजग़ारी पर भाजपा नेता क्या मोदी सरकार की नाकामी पर मोदी मंत्रिमंडल को मेडल देंगे ? भाजपा नेता अपनी हार को अब तक पचा नहीं पा रहे हंै और जनादेश का अपमान कर मीडिया में बने रहने के लिए लगातार अनर्गल बयानबाज़ी करने में लगे हुए हैं। 

प्रदर्शन के दौरान जि़ला पंचायत अध्यक्ष शंकर कडिय़ाम, जि़ला कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष लालू राठौर, पीसीसी सचिव अजय सिंह, नगरपालिका परिषद बीजापुर के अध्यक्ष बेनहुर रावतिया, जि़ला पंचायत उपाध्यक्ष कमलेश कारम, जि़ला पंचायत सदस्य नीना रावतिया उद्दे, युवा कांग्रेस के जिलाध्यक्ष एजाज खान मौजूद रहे।