कारोबार

15-Sep-2020 7:11 PM 18

गुरुग्राम, 15 सितम्बर (आईएएनएस)| सैमसंग इंडिया ने मंगलवार को कहा कि उसके गैलेक्सी जेड फोल्ड2 5जी फोल्डेबल स्मार्टफोन के लिए बीे 24 घंटों में रिकार्ड प्री-बुकिंग मिली है। कम्पनी के मुताबिक गैलेक्सी जेड फोल्ड2 5जी की प्री-बुकिंग गैलेक्सी फोल्ड की तुलना में चार गुना अधिक है। गैलेक्सी फोल्ड सैमसंग का पहला फोल्डेबल स्मार्टफोन है, जिसे 2019 में लॉन्च किया गया था।

रिकार्ड प्री-बुकिंग इस बात का सबूत है कि ग्राहकों को सैमसंग गैलेक्सी जेड फोल्ड2 5जी में काफी रुचि है, जिसे मोबाइल एक्सपीरिएंस को पूरी तरह बदलने के लिए डिजाइन किया गया है।

सैमसंग इंडिया ने इस डिवाइस को प्री-बुक कराने पर खास ऑफर्स देने की घोषणा की है।

सैमसंग ने 1 सितम्बर को अपने तीसरे फोल्डेबल डिवाइस-गैलेक्सी जेड फोल्ड2 का वैश्विक लॉन्च किया था। इस शानदार फोन में 6.2 इंच का कवर स्क्रीन है। साथ ही इसका मेन स्क्रीन खुलने पर 7.6 इंच का है।

सैमसंग के मुताबिक गैलेक्सी फोल्ड में 4.6 इंच का कवर स्क्रीन और 7.3 इंच का मुख्य स्क्रीन है और इस आधार पर गैलेक्सी जेड फोल्ड2 काफी उन्नत है। यह फोन 12जीबी रैम व 512जीबी मेमोरी और 12जीबी रैम व 256जीबी मेमोरी के साथ उपलब्ध है।

गैलेक्सी जेड फोल्ड2 में 4500एमएएच की बैटरी है, जो गैलेक्सी फोल्ड (4380एमएएच) तुलना में शक्तिशाली है। गैलेक्सी जेड फोल्ड2 सैमसंग का तीसरा फोल्डेबल स्मार्टफोन है। इससे पहले कम्पनी गैलेक्सी फोल्ड और गैलेक्सी जेड फ्लिप लॉन्च कर चुकी है।

गैलेक्सी जेड फोल्ड2 मिस्टिक ब्लैक और मिस्टिक ब्रांज रंगों में उपलब्ध है। यह फोन दुनिया भर के 40 बाजारों में उपलब्ध होगा, जिसमें अमेरिका और दक्षिण कोरिया प्रमुख हैं।

पोन को अमेरिका और दक्षिण कोरिया में 18 सितम्बर से हासिल किया जा सकता है, जबकि इसकी प्री बुकिंग एक सितम्बर से शुरू हो गई है।

नए डिवाइस में 10 मेगापिक्सल सेल्फी कैमरा है और रियर कैमरे में तीन सेंसर लगे हैं। रियर कैमरों में 12एमपी अल्ट्रा वाइड, 12एमपी वाइड एंगल और 12एमपी टेलीफोटो कैमरा है, जिसके साथ 10एक्स जूम उपलब्ध है।


15-Sep-2020 7:05 PM 31

नई दिल्ली, 15 सितम्बर (आईएएनएस)| इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) का 13वां संस्करण शुरू होने वाला है और इसके साथ ही क्रिकेट का बुखार देश के सिर चढ़ने लगा है। क्रिकेट प्रेमी घर बैठे आईपीएल देखने का मजा ले सकें, इसके लिए जियो ने आगामी आईपीएल के लिए कई नए टैरिफ प्लान्स की घोषणा की है। 'जियो क्रिकेट प्लान्स' के तहत लॉन्च किए गए। इन प्लान्स में डेटा और वॉयस कॉलिंग के साथ एक साल के डिज्नी-हॉटस्टार वीआईपी का सब्सक्रिप्शन मिलेगा। इस सब्सक्रिप्शन की कीमत 399 रुपये है।

जियो क्रिकेट प्लान्स में क्रिकेट प्रेमी डिजनी-हॉटस्टार ऐप के माध्यम से फ्री लाइव ड्रीम11 आईपीएल मैच देख सकते हैं। यह प्लान्स एक महीने से लेकर एक साल तक की वैधता वाले प्रीपेड प्लान्स हैं। प्लान्स की वैद्यता चाहे कितनी भी हो पर डिजनी-हॉटस्टार का सब्सक्रिप्शन पूरे साल भर के लिए मिलेगा।

जियो क्रिकेट प्लान 401 रू. से शुरू हो कर यह प्लान्स 2599 रू. तक का है। 28 दिन की वैद्यता वाले 401 रू. के प्लान में प्रतिदिन 3 जीबी डेटा मिलेगा। वहीं 598 रू. वाले प्लान में 2 जीबी डेटा प्रतिदिन मिलेगा पर उसकी वैद्यता 56 दिनों की होगी।

इसके अलावा 84 दिनों की वैद्यता वाले प्लान की कीमत 777 रू. रखी गई है। इस प्लान में 1.5जीबी डेटा प्रतिदिन खर्च किया जा सकेगा। साथ ही एक वार्षिक प्लान भी है, जिसकी कीमत 2599 रू. है और इस प्लान में ग्राहक को हर दिन 2 जीबी डेटा मिलेगा।

बॉल दर बॉल पूरे मैच को कई बार देखने के शौकीनों के लिए जियो क्रिकेट प्लान्स में डेटा एड-ऑन की सुविधा भी उपलब्ध है। 499 रू. में 1.5 जीबी डेटा प्रतिदिन का टॉप-अप मिल जाएगा, जिसकी वेद्यता 56 दिनों की रहेगी।

एड-ऑन प्लान मौजूदा प्लान्स के साथ भी लिया जा सकता है। इसमें डेटा के साथ एक साल तक के लिए डिजनी प्लस हॉटस्टार ऐप की सब्सक्रिप्शन भी साथ मिलेगी।

आईपीएल का 13वां सीजन इस बार संयुक्त अरब अमीरात में 19 सितंबर से खेला जाएगा। सीजन का पहला मैच मौजूदा चैंपियन मुंबई इंडियंस और चेन्नई सुपर किंग्स के बीच खेला जाएगा।


15-Sep-2020 5:44 PM 41

रायपुर, 15 सितंबर। कलिंगा विश्वविद्यालय, नया रायपुर में कला एवं मानविकी संकाय के अंतर्गत हिन्दी विभाग के द्वारा 14 सितम्बर को हिन्दी भाषा और संस्कृति विषय पर संवाद गोष्ठी का आयोजन किया गया। इस कार्यक्रम में मुख्य अतिथि छत्तीसगढ़ के सुप्रसिद्ध बाल साहित्यकार रमेश द्विवेदी और विशिष्ट वक्ता देश के सुप्रसिद्ध हिन्दी साहित्यकार प्रभुनारायण वर्मा उपस्थित थे।

कार्यक्रम का शुभारंभ मां सरस्वती की वंदना से प्रारंभ हुआ। संवाद गोष्ठी कार्यक्रम में मुख्य वक्ता श्री द्विवेदी ने भाषा और संस्कृति विषय पर विस्तार से प्रकाश डालते हुए कहा कि हिन्दी भाषा की विविध बोलियों के शब्दों से  भाषा पर व्यापक प्रभाव पड़ा है। भाषा के माध्यम से सांस्कृतिक और राष्ट्रीय एकीकरण है, जो आज प्रयोग में स्पष्ट दिखलाई पड़ता है।

श्री द्विवेदी ने विद्यार्थियों को संबोधित करते हुए बताया कि आज हिन्दी वैश्विक भाषा बन चुकी है। संचार क्रांति ने पहली बार भाषा विशेष के वर्चस्व की विदाई की घोषणा कर दी है। आज साइबर युग में बीस साल पहले की हिन्दी भाषा की स्थिति और आज की स्थिति में जमीन-आसमान का अंतर दिखलाई पड़ता है।

सुप्रसिद्ध साहित्यिकार प्रभुनारायण वर्मा ने हिन्दी भाषा के स्वरूप और वर्तमान स्थिति पर विस्तार से भाषा विकास पर प्रकाश डाला।  उन्होंने कहा कि भाषा अभिव्यक्ति और संचार में बाधक नहीं बन सकती और कोई व्यक्ति यदि मातृभाषा में सोचता, समझता और सीखता है तो उसका दूसरी भाषा में अंतरण आत्मा से कर सकता है और चिरकाल तक वह उसके मनोमष्तिष्क पर छायी रहती है।

उक्त कार्यक्रम में विश्वविद्यालय के छात्र कल्याण अधिष्ठाता डॉ. आशा अंबईकर, कला एवं मानविकी संकाय के अधिष्ठाता डॉ.एमएस मिश्रा, हिन्दी विभागाध्यक्ष डॉ. अजय शुक्ल, अरुण जायसवाल, डॉ.शिल्पी भट्टाचार्य, डॉ. अनिता सामल, डॉ.नम्रता श्रीवास्तव, एके कौल, स्वरुपा पंडित, सुश्री खुशबू सिंह, सुश्री मेरिटा, चंदन सिंह राजपूत, मुकेश रावत, श्रीमती स्मिता प्रेमानंद, शैलेश देशमुख, ए.विजय आनंद आदि प्राध्यापक एवं भाषा के जानकार विद्यार्थी उपस्थित थे। कार्यक्रम का संचालन अरुण जायसवाल और आभार प्रदर्शन डॉ.एमएस मिश्रा ने किया।


15-Sep-2020 5:43 PM 21

रायपुर, 15 सितंबर। जेसीआई रायपुर केपिटल द्वारा जेसी सप्ताह 2020 शौर्य (जेसी की दिवाली 9 से 15 सितंबर) उत्सव का आयोजन किया जा रहा है।

उक्त ट्रेनिंग जेसी रविन्द्र मिसल (जेसीआई ट्रेनर) द्वारा 14 सितंबर सायं 4 से 5.30 बजे तक जूम ऐप में ली गई। जिसे फेसबुक के माध्यम से लाइव प्रसारित किया गया। जिसमें ट्रेनर कोविड 19 के दौर में व्यापार की नब्ज को देखते हुए जेसी रविन्द्र मिसल ने व्यापार से जुड़े पहलुओं पर प्रकाश डाला।

ट्रेनिंग में संस्था के संस्थापक जेसीआई सिनेटर राजेश अग्रवाल, चित्रांक चोपड़ा, मुकेश केडिया, प्रणय बुरड़, अध्यक्ष जेसी निशित गोहिल, सचिव श्रीकांत पारख, कार्यक्रम डायरेक्टर जेसी अरिजीत गोस्वामी, को-डायरेक्टर आशीष बेरलिया, विक्रम गिरडक़र व लगभग 70 सदस्यों इस ट्रेनिंग के गवाह बनें। उक्त जानकारी जेसीआई रायपुर केपिटल के अध्यक्ष जेसी निशित गोहिल ने दी।


15-Sep-2020 4:33 PM 19

सियोल/नई दिल्ली, 15 सितम्बर (आईएएनएस)| एलजी इलेक्ट्रानिक्स ने अपने नए डुअल स्क्रीन स्मार्टफोन 'विंग' की झलक पेश कर दी है। यह फोन रोटेटिंग फॉर्म फैक्टर से लैस है और इससे मल्टीटास्किंग में मदद मिलेगी। इस फोन का मेन स्क्रीन 6.8 इंच है। इसमें ओलेड फुलविजन डिस्प्ले है और इसका आस्पेक्ट रेशियो 20.5:9 है। इसका सेकेंड्री डिस्प्ले 3.9 इंच का है और इसका आस्पेक्ट रेशियो 1.15:1 है।

विंग में क्वॉलकॉम स्नैपड्रैगन 765 5जी चिपसेट लगा है। यह चिपसेट स्नैपड्रैगन 765 से 10 फीसदी तेज है।

विंग में 8जीबी रैम और 128 जीबी इंटरनल स्टोरेज है, जिसे माइक्रो एसडी कार्ड के जरिए 2टीबी तक एक्सपैंड किया जा सकता है। इसमें 4000एमएएच की बैटरी है।

यह डिवाइस अगले महीने बिक्री के लिए उपलब्ध होगा और इसकी सबसे पहले शुरुआत दक्षिण कोरिया से होगी। इसके बाद यह उत्तर अमेरिका और यूरोप में उअपलब्ध होगा।

एलजी ने हालांकि अभी इस फोन की कीमत का खुलासा नही किया है। हालांकि इंडस्ट्री के जानकार मानते हैं कि दक्षिण कोरिया में इसकी कीमत 845 डॉलर के करीब हो सकती है।


15-Sep-2020 3:40 PM 17

नई दिल्ली, 15 सितम्बर (आईएएनएस)| चीनी स्मार्टफोन निर्माता शाओमी ने मंगलवार को अपना नया बजट स्मार्टफोन रेडमी 9आई लॉन्च किया। इसके 4जीबी-64जीबी वेरिएंट की कीमत 8299 रुपये रखी गई है। साथ ही कम्पनी ने एक और वेरिएंट लॉन्च किया। है। 4जीबी-128जीबी इंटरनल स्टोरेज वेरिएंट की कीमत 9299 रुपये रखी गई।

इस डिवाइस का स्क्रीन 6.53 इंच एचडी प्लस आईपीएस एलसीडी है। इसका आस्पेक्ट रेशियो 20:9 है।

डिवाइस में आक्टा-कोर मेडियाटेक हेलियो जी25 प्रोसेसर लगा है। इसका इंटरनल स्टोरेज 512 जीबी तक बढ़ाया जा सकता है।

रेडमी 9आई में 5000 एमएएच की बैटरी लगी है। इसमें रियर में 13एमपी का कैमरा है, जिसमें एआई पोट्रेट मोड, एआई सीन डिटेक्शन, डॉक्यूमेंट स्कैनर और क्लाडियोस्कोप है।

सेल्फी कैमरा 5एमपी का है और इसमें भी एआई पोट्रेट मोड है।


15-Sep-2020 9:54 AM 13

टिक टॉक ने अमेरिका में अपने कारोबार को बेचने को लेकर ओरेकल की बोली को मंजूर कर लिया है. अमेरिकी मीडिया में आई कई रिपोर्ट्स के मुताबिक टिक टॉक ने सॉफ्टवेयर कंपनी माइक्रोसॉफ्ट की बोली को ठुकरा दिया है.

टिक टॉक की मालिक कंपनी बाइट डांस ने अमेरिका में अपने वीडियो शेयरिंग ऐप के कारोबार को मल्टीनेशनल टेक्नोलॉजी कंपनी ओरेकल को बेचने का फैसला किया है. कंपनी ने माइक्रोसॉफ्ट के प्रस्ताव के ठुकरा दिया था जिसके बाद ओरेकल अकेली कंपनी इस दौड़ में बची थी. इस डील से जुड़े एक सूत्र ने बताया कि टिक टॉक की मालिक कंपनी ने माइक्रोसॉफ्ट की बोली को खारिज करते हुए प्रतिद्वंद्वी कंपनी ओरेकल को चुना, जिससे उसका अमेरिका में परिचालन जारी रह सके.

रविवार को ही माइक्रोसॉफ्ट ने कहा था टिक टॉक के अमेरिका ऑपरेशंस को खरीदने की बोली को नामंजूर कर दिया गया था. अमेरिकी राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रंप ने टिक टॉक की मालिक कंपनी को देश में जासूसी की चिंताओं के मद्देनजर प्रतिबंध लगाने की धमकी दी थी. ट्रंप ने वादा किया था कि अगर अमेरिका में बाइट डांस अपना कारोबार नहीं बेचती है तो टिक टॉक पर 20 सितंबर तक प्रतिबंध लग जाएगा. ट्रंप ने बाइट डांस को 15 सितंबर तक की मोहलत टिक टॉक को किसी अमेरिकी कंपनी को बेचने के लिए दी थी. टिक टॉक अमेरिका में जासूसी के आरोपों से इनकार करता आया है साथ ही उसका कहना है कि वह देश की सुरक्षा के लिए खतरा नहीं है.

टिक टॉक और व्हाइट हाउस ने इस पर अभी तक कोई प्रतिक्रिया नहीं जाहिर की है. ओरेकल ने भी टिप्पणी से इनकार किया है. कुछ मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक प्रस्तावित बिक्री पूर्ण बिक्री नहीं होगी, लेकिन अमेरिका में इसके ऑपरेशन का पुनर्गठन होगा, जिसमें ओरेकल बाइट डांस के लिए तकनीकी भागीदार के रूप में काम करेगा और अमेरिका में यूजर्स डाटा को देखेगा. अब तक यह साफ नहीं हो पाया है कि ट्रंप इस सौदे को मंजूरी देंगे या नहीं.

राष्ट्रपति ट्रंप ने 6 अगस्त को एक कार्यकारी आदेश जारी किया था, जिसमें टिक टॉक को अमेरिकी कारोबार को किसी अन्य अमेरिकी कंपनी को बेचने के लिए मोहलत दी गई थी. ट्रंप ने अपने आदेश में था कि अगर ऐसा नहीं होता है तो उसे अपने कारोबार को अमेरिका में बंद करना पड़ेगा.

एए/सीके (एपी, एफपी, रॉयटर्स)


14-Sep-2020 6:21 PM 19

नई दिल्ली, 14 सितम्बर (आईएएनएस)| केंद्र सरकार ने कोरोना काल में किसानों के हितों में नीतिगत फैसले लेते हुए अध्यादेश के जरिए कृषि क्षेत्र में बड़े सुधार की शुरुआत की, लेकिन इससे मंडी कारोबारियों की चिंता बढ़ गई है। इसलिए अध्यादेश को स्थाई तौर पर कानूनी स्वरूप प्रदान करने के लिए जब संसद में विधेयक लाए गए हैं तो एक तरफ सदन में विपक्षी दलों के सदस्य इसका विरोध कर रहे हैं, वहीं दूसरी तरफ विभिन्न प्रांतों की मंडियों के कारोबारी विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं। केंद्रीय कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने सोमवार को लोकसभा में कहा कि 'कृषि उपज व्यापार और वाणिज्य (संवर्धन और सुविधा) विधेयक 2020' और 'मूल्य आश्वासन पर किसान समझौता (अधिकार प्रदान करना और सुरक्षा) और कृषि सेवा विधेयक 2020' पेश किए, जिसका कांग्रेस सांसदों ने विरोध किया।

वहीं, पंजाब, हरियाणा, महाराष्ट्र, पश्चिम बंगाल, राजस्थान व अन्य प्रांतों में मंडी के कारोबारियों ने विगत दिनों मंडियां बंद कर कृषि उपज व्यापार और वाणिज्य (संवर्धन और सुविधा) अध्यादेश 2020 का विरोध किया।

कारोबारियों को आशंका है कि राज्य के एपीएमसी (कृषि उपज विपण समिति) एक्ट के तहत संचालित मंडियों से बाहर जब किसान अपने उत्पाद बेचेंगे तो एपीएमसी का अस्तित्व समाप्त हो जाएगा।

राजस्थान खाद्य पदार्थ व्यापार संघ के अध्यक्ष बाबूलाल गुप्ता ने आईएएनएस को फोन पर बताया कि, " इस कानून से एपीएमसी का अस्तित्व समाप्त हो जाएगा, जिससे सिर्फ राजस्थान में 13,000 मंडी कारोबारियों और मंडी कारोबार से रोजी-रोटी कमाने वाले करीब 3.5 लाख लोगों का रोजगार छिन जाएगा।"

राजस्थान की 247 मंडियों के कारोबारियों के संगठन के अध्यक्ष गुप्ता ने कहा, "सरकार कह रही है कि इस कानून से किसान बंधन मुक्त हो जाएंगे, जबकि हकीकत यह है कि मंडी के बाहर किसान पहले भी अपने उत्पाद बेचते थे और इसके लिए उन पर कोई प्रतिबंध कभी नहीं रहा।"

उन्होंने कहा कि एपीएमसी मंडी पर किसानों का भरोसा होता है क्योंकि वहां लाइसेंसधारी कारोबारी होते हैं और किसानों को उनके उपज की बिक्री के साथ-साथ उनका भुगतान मिलने की गारंटी रहती है।

राजस्थान की बूंदी मंडी के कारोबारी उत्तम जेठवानी ने कहा कि, " राजस्थान की मंडियों में 1.6 फीसदी मंडी शुल्क है, इसके अलावा एक फीसदी कृषि कल्याण उपकर लगता है, फिर 2.25 फीसदी आढ़तियों का कमीशन होता है, लेकिन मंडी के बाहर कोई शुल्क नहीं है। ऐसे में किसानों की उपज का अगर मंडी के बाहर कोई खरीदार होगा तो फिर एपीएमसी मंडियों में किसान क्यों अपनी उपज लेकर आएगा।"

उन्होंने कहा कि ऐसे में मंडी के कारोबारियों को काफी नुकसान हो रहा है। यह भी मांग की कि मंडियों को शुल्क मुक्त कर दिया जाए।

मध्यप्रदेश के भोपाल के कारोबारी अमित खंडेलवाल ने भी कहा कि नये कानून से मंडियों के कारोबारियों को काफी नुकसान उठाना पड़ रहा है।

लोकसभा में कृषि मंत्री जब कृषि क्षेत्र में सुधार के कार्यक्रमों को अमलीजामा पहनाने वाले ये दोनों विधेयक पेश कर रहे थे, तो कांग्रेस नेता अधीर रंजन चौधरी, शशि थरूर समेत कई अन्य विपक्षी दलों के सांसदों ने इसका विरोध किया। सांसद गौरव गोगई ने विधेयक को किसान विरोधी बताते हुए कहा कि सरकार किसानों का अधिकार छीनकर कॉरपोरेट को सौंप रही है।

कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने कहा कि इससे एपीएमसी एक्ट पर कोई फर्क नहीं पड़ेगा। उन्होंने कहा कि राज्य अगर चाहेगा तो मंडियां चलेंगी। केंद्रीय मंत्री ने कहा कि मंडी की परिधि के बाहर जो ट्रेड होगा, उस पर नया कानून लागू होगा।

उन्होंने कहा कि इससे किसानों को उनकी फसल बेचने की आजादी मिलेगी और व्यापारियों को लाइसेंस राज से मुक्ति मिलेगी, इस प्रकार भ्रष्टाचार पर नियंत्रण होगा।

कृषि के क्षेत्र में सुधार और किसानों के हितों की रक्षा के मकसद से कोरोना काल में केंद्र सरकार ने कृषि उपज व्यापार और वाणिज्य (संवर्धन और सुविधा) अध्यादेश 2020 मूल्य आश्वासन पर किसान समझौता (अधिकार प्रदान करना और सुरक्षा) और कृषि सेवा अध्यादेश 2020 लाए, जिनकी अधिसूचना पांच जून को जारी हुई थी।


14-Sep-2020 5:48 PM 18

-अरिजीत बनर्जी 

नई दिल्ली, 14 सितंबर (आईएएनएस)। जापान ने भारत और अन्य क्षेत्रों में अपना आधार स्थानांतरित करने के लिए जापानी कंपनियों के लिए 22.1 डॉलर की चीन निकास सब्सिडी की घोषणा की है।

यानी जापानी सरकार ने चीन से बाहर निकलने के लिए जापानी कंपनियों को 22.1 करोड़ डॉलर की सब्सिडी या इन्सेंटिव देने का फैसला किया है, जिसका भारत को सीधा फायदा पहुंचने की संभावना है।

अप्रैल में कोरोनावायरस महामारी के बीच, निवर्तमान जापानी प्रधानमंत्री शिंजो आबे ने एक ऐसी अर्थव्यवस्था का निर्माण करने का प्रस्ताव रखा था, जो चीन पर कम निर्भर हो, ताकि राष्ट्र आपूर्ति श्रृंखला (सप्लाई चेन) व्यवधानों से बच सके।

जुलाई के मध्य में जापान के अर्थव्यवस्था, व्यापार और उद्योग मंत्रालय ने अधिक लचीली आपूर्ति श्रृंखला बनाने के लिए जापान की विनिर्माण कंपनियों के पहले समूह को चीन से दक्षिण पूर्व एशिया या जापान में अपना कारोबार स्थापित करने के लिए सब्सिडी देने की योजना का अनावरण किया था।

भारत-जापान शिखर सम्मेलन से आगे, जापान सरकार ने घोषणा की थी कि वह भारत और बांग्लादेश को चीन से बाहर जाने वाले जापानी निमार्ताओं के लिए सब्सिडी प्राप्त करने के लिए आसियान देशों की सूची में शामिल करेगी।

यह कदम भारत, जापान और ऑस्ट्रेलिया के व्यापार एवं उद्योगों से जुड़े मंत्रियों के बीच हाल ही में एक वर्चुअल बैठक के बाद सामने आया है। इस बैठक में चीन पर निर्भरता को कम करने के लिए भारत-प्रशांत क्षेत्र में विश्वसनीय आपूर्ति श्रृंखला को लचीला बनाने में सहयोग करने पर सहमति बनी थी। दरअसल चीन इन तीनों देशों के साथ एक प्रमुख व्यापारिक भागीदार है। चीन के पास बड़ी विनिर्माण इकाइयां होने के साथ ही वह निर्यात के मामले में भी कहीं बेहतर स्थिति में है। उसके इसी वर्चस्व को खत्म करने के लिए तीनों देश आगे आए हैं। एससीआरआई (सप्लाई चेन्स रेजिलिएशन इनिशिएटिव) का उद्देश्य चीन से दूर एक वैकल्पिक आपूर्ति श्रृंखला का निर्माण करना है।

वाणिज्य मंत्री पीयूष गोयल का कहना है कि हम विश्वसनीय, दीर्घकालिक आपूर्ति और उचित क्षमता का एक नेटवर्क बनाकर क्षेत्र में मूल्य श्रृंखलाओं को जोड़ने के लिए मुख्य मार्ग प्रदान कर सकते हैं।

उन्होंने कहा कि मई 2020 में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जोर देकर कहा था कि यह समय की आवश्यकता है कि भारत को आपूर्ति श्रृंखलाओं में एक बड़ी भूमिका निभानी चाहिए।

जापानी सरकार के अनुपूरक (सपलिमेंट्री) बजट ने उन व्यवसायों के लिए 22.1 करोड़ डॉलर की घोषणा की, जो चीन से दक्षिण पूर्व एशियाई देशों में अपने उत्पादन को स्थानांतरित करना चाहते हैं।

देश के निर्माता अब पायलट कार्यक्रमों और व्यवहार्यता अध्ययन के लिए सब्सिडी प्राप्त कर सकते हैं। जापानी सरकार का कार्यक्रम किसी भी आपात स्थिति में चिकित्सा आपूर्ति और बिजली के घटकों जैसे उत्पादों की एक स्थिर आपूर्ति श्रृंखला सुनिश्चित करना है।

वर्तमान में, जापानी कंपनियों की आपूर्ति श्रृंखला चीन पर बहुत निर्भर करती है। कोविड-19 महामारी के दौरान यह मुद्दा सामने आया, जब चीन से आपूर्ति में कटौती की गई।

अनुप्रयोगों के दूसरे दौर में, परियोजनाएं आसियान-जापान आपूर्ति श्रृंखला में योगदान देंगी, यह मानते हुए कि भारत और बांग्लादेश में पुनर्वास होगा। सुविधाओं के प्रायोगिक परिचय के साथ विकेंद्रीकृत विनिर्माण योजनाओं पर व्यवहार्यता अध्ययन भी किया गया है।

सब्सिडी का पहला दौर, जिसे जुलाई में घोषित किया गया था, उसमें जापान ने अपने उत्पादन स्थलों को दक्षिण-पूर्व एशिया में स्थानांतरित करने वाली 30 कंपनियों को लगभग 10 अरब येन प्रदान किया। अन्य 57 फर्मो को जापान में विनिर्माण सुविधाओं को स्थानांतरित करने के लिए भी समर्थन मिल रहा है।

इस फैसले का चीन पर काफी बड़ा प्रभाव पड़ने वाला है। चीन से बड़ी औद्योगिक इकाइयां बाहर निकलने से उसकी उत्पादन क्षमता पर असर पड़ेगा ही साथ ही कम्युनिस्ट देश में बेरोजगारी भी बढ़ेगी और बड़े पैमाने पर नौकरियों का संकट खड़ा हो सकता है।

अमेरिका-चीन व्यापार तनाव पहले से ही चीन में लगभग 20 लाख औद्योगिक नौकरियों पर विपरीत प्रभाव पड़ा है। वहीं भारत के साथ वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) पर जारी गतिरोध के बीच भारत में भी चीन विरोधी भावनाएं चरम पर हैं। चूंकि चीन के भारत से भी बड़े व्यापारिक हित जुड़े हुए हैं, उसे यहां से भी कई व्यापारिक मामलों में गंभीर परिणाम भुगतने पड़ रहे हैं, जो कि आने वाले समय में और भी बढ़ सकते हैं।

दीर्घकालिक से मध्यम अवधि के दौरान चीन के उत्पादकता पर एक बड़ा नकारात्मक प्रभाव देखा जा सकता है।


14-Sep-2020 3:48 PM 13

सैन फ्रांसिस्को, 14 सितम्बर (आईएएनएस)| टेक जाएंट माइक्रोसॉफ्ट ने कहा है कि अमेरिका में टिकटॉक आपरेशंस को हासिल करने की उसकी निविदा को नकार दिया गया है। इसके बाद एक अन्य टेक जाएंट ओरेकल को इसके संचालन का अधिकार मिल सकता है। इस सम्बंध में आधिकारिक घोषणा का इंतजार है।

माइक्रोसॉफ्ट ने रविवार को जारी बयान में कहा, "बाइटडान्स ने हमें बताया कि अमेरिका में टिकटॉक के आपरेशंस से जुड़ी हमारी निविदा को अस्वीकार कर दिय गया है। हमें यकीन है कि हमारे प्रस्ताव टिकटॉक यूजर्स के लिए अच्छे थे और हमने राष्ट्रीय सुरक्षा से जुड़े मुद्दों को गम्भीरता से लिया था।"

भारत में जून में टिकटॉक को बैन कर दिया गया था। इसके अलावा 58 अन्य चीनी ऐप्स को बैन किया गया था। इसके बाद डोनाल्ड ट्रम्प सरकार ने बाइटडान्स पर दबाव बनाया था कि वह सितम्बर के मध्य तक अमेरिका में टिकटॉक का आपरेशन किसी अमेरिकी कम्पनी को बेच दे या फिर प्रतिबंध के लिए तैयार रहे।


14-Sep-2020 1:21 PM 31

नई दिल्ली, 14 सितम्बर (आईएएनएस)| सैमसंग ने भारत में नया 'गैलेक्सी एफ' सीरीज स्मार्टफोन लॉन्च करने का फैसल किया है। इस सीरीज के फोन्स की कीमत 20 हजार के करीब होगी और यह खासतौर पर नई पीढ़ी के लिए तैयार होंगे। इस उद्योग से जुड़े विश्वस्त सूत्रों ने आईएएनएस को सोमवार को बताया कि सैमसंग गैलेक्सी एफ सीरीज को सबसे पहले भारत में लॉन्च करेगा और इसके बाद ही दूसरे देशों की बारी आएगी। यह सीरीज उसके लोकप्रिय गैलेक्सी एम सीरीज की लेगेसी को आगे बढ़ाने के लिए तैयार की गई है।

सूत्र ने कहा, "गैलेक्सी एम सीरीज की तरह गैलेक्सी एफ सीरीज भी ऑनलाइन फोकस्ड होगी और यह सभी चैनल्स पर उपलब्ध होगा।"

इससे पहले की रिपोर्ट में कहा गया था कि सैमसंग गैलेक्सी एफ सीरीज के अंतर्गत अफोर्डेबल फोल्डेबल स्मार्टफोन्स लाने के बारे में विचार कर रहा है।

सूत्रों का कहना है कि गैलेक्सी एफ सीरीज के तहत बनने वाले फोन्स की कीमत 20 हजार से नीचे होगी और इसे पूरी तरह भारतीय बाजार में सैमसंग की उपस्थिति को मजबूत करने के लिए लाया जा रहा है। सैमसंग को गैलेक्सी एम सीरीज की सफलता से अच्छी खासी बाजार हिस्सेदारी मिली है।

इससे पहले सैमसंग ने बीते गुरुवार को अपने मशहूर गैलेक्सी एम सीरीज का विस्तार करते हुए एम51 स्मार्टफोन भारत में लॉन्च किया था। यह फोन स्नैपड्रैगन 730जी प्रोसेसर पर चलता है और इसमें 7000एमएएच की बैटरी लगी है।

गैलेक्सी एम51 की कीमत 6जीबी-128जीबी वेरिएंट के लिए 24,999 रुपये है जबकि इसके 8जीबी-128जीबी वेरिएंट की कीमत 26,999 रुपये है।

यह स्मार्टफोन 18 सितम्बर से बिक्री के लिए एमेजॉन डॉट इन, सैमसंग डॉट कॉम और चुनिंदा रिटेल स्टोर्स पर उपलब्ध होगा।

इस स्मार्टफोन का स्क्रीन 6.7 इंच एसएमोलेड प्लस इंफीनिटी ओ से सुसज्जित है। इसमें स्नैपड्रैगन 730जी मोबाइल प्लेटफार्म उपयोग में लाया गया है।

इस फोन में क्वॉड कोर कैमरा सेटअप है जिसमें मेन सोनी आईएमएक्स 682 सेंसर 64एमपी का है जबकि इसके अलावा 12 एमपी का अल्ट्रा वाइड लेंस, 5एमपी का डेडिकेटेड मैक्रो लेंस और 5एमपी का डेप्थ लेंस है। इसमें 32एमपी का एक फ्रंट कैमरा है।


13-Sep-2020 4:59 PM 52

नई दिल्ली, 13 सितम्बर (आईएएनएस)| भारत का घरेलू व्यापार कोविड-19 के कारण सदी के अपने सबसे बुरे दौर से गुजर रहा है। देश की अर्थव्यवस्था पर टिप्पणी करते हुए कॉन्फेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स (कैट) ने कहा कि केंद्र और राज्य दोनों सरकारों से कोविड-19 से राहत पाने के लिए कोई समर्थन पैकेज न मिलने के कारण देश भर में लगभग 25 फीसदी छोटे कारोबारियों की लगभग 1.75 करोड़ दुकानें बंद होने के कगार पर हैं, जो देश की अर्थव्यवस्था के लिए सबसे विनाशकारी होगा। कैट के राष्ट्रीय महामंत्री प्रवीन खंडेलवाल ने कहा कि कोरोना ने भारतीय घरेलू व्यापार का खून चूस लिया है, जो वर्तमान में अपने अस्तित्व के लिए कड़ा संघर्ष कर रहा है और हर प्रकार के कई हमले झेल रहा है। कोविड-19 से पहले के समय से देश का घरेलू व्यापार बाजार बड़े वित्तीय संकट से गुजर रहा और कोविड-19 के बाद के समय में व्यापार को असामान्य और उच्च स्तर के वित्तीय दबाव में ला दिया है।

केंद्र सरकार द्वारा घोषित 20 लाख करोड़ रुपये के पैकेज में छोटे व्यवसायों के लिए एक रुपये का भी प्रावधान नहीं था और न ही देश की किसी राज्य सरकार ने छोटे व्यवसायों के लिए कोई वित्तीय सहायता दी ही नहीं। भारत में 1.75 करोड़ दुकानें यदि बंद होती हैं तो इसके लिए केंद्र और राज्य सरकारों की व्यापारियों जी पूरी तरह से उपेक्षा और उदासीनता जिम्मेदार होगी और निश्चित रूप से भारत में बेरोजगारी की संख्या में इजाफा होगा, जिससे जहां अर्थव्यवस्था को बड़ा झटका लगेगा वहीं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के 'लोकल पर वोकल' और आत्मनिर्भर भारत को बड़ा नुकसान होगा।

उन्होंने आगे कहा कि व्यापारियों पर केंद्र और राज्य सरकार के करों के भुगतान, औपचारिक और अनौपचारिक स्रोतों, ईएमआई, जल और बिजली के बिल, संपत्ति कर, ब्याज के भुगतान, मजदूरी के भुगतान से लिए गए ऋण की मासिक किस्तों के भुगतान को पूरा करने का बहुत बड़ा वित्तीय बोझ है।

कैट ने प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी से व्यापारियों के इस ज्वलंत मुद्दे का तत्काल संज्ञान लेने और व्यापारियों के लिए एक पैकेज नीति की घोषणा करने और उन्हें अपने व्यवसाय के पुनरुद्धार में मदद करने की नीति घोषित करने का आग्रह किया है।


13-Sep-2020 3:38 PM 21

सेंट थामस कॉलेज में ऑनलाइन परिचर्चा

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

भिलाई नगर, 13 सितंबर। सेंट थॉमस कॉलेज रूआबांधा के पत्रकारिता एवं जन संचार विभाग में कोरोना काल में युवाओं की मानसिकता विषय पर ऑनलाइन परिचर्चा का आयोजन किया गया। महाविद्यालय के प्राचार्य डॉ. एम जी रॉयमन के मार्गदर्शन एवं विभाग प्रमुख डॉ. अपर्णा घोष के नेतृत्व में विभागीय प्राध्यापकगण डॉ. अदिति नामदेव एवं मोहम्मद जाकिर हुसैन सहित सभी स्टूडेंट ने अपनी भागीदारी दी ।

इस दौरान स्टूडेंट ने देश में तेजी से बढ़ रहे कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या एवं आम जनता की लापरवाही को लेकर अपने अपने विचार रखें। लॉकडाउन के  दौरान आम जनता के सामने आने वाली परेशानियों को लेकर विस्तृत रूप से चर्चा करते हुए अन्य राज्यों में भी फंसे हुए प्रवासी मज़दूरों एवं अध्ययन कर रहे छात्र-छात्राओं को उनके घर आने में हो रही समस्या पर भी बात की गई।

छात्रों ने बताया कि प्रवासी मजदूरों की व्यथा को जानना समझना उनके लिए एक दुखद अनुभव रहा। जिसमें कई मजदूर सहायता ना मिलने पर स्वयं ही निकल पड़े, जिससे बहुत सी समस्याओं का सामना करना पड़ा। स्टूडेंट ने कहा कि देश में संक्रमितों की संख्या जब कम थी, तब सभी नियमों का पालन बेहद कड़ाई से हो रहा था, लेकिन अनलॉक प्रक्रिया शुरू होते ही ज्यादातर लोग कोरोना को  गंभीरता से नहीं ले रहे हैं और नियमों का पालन नहीं कर रहे हैं।

अनलॉक के दौरान बढ़ती जा रही लापरवाही पर भी युवाओं ने खुलकर अपनी बात कही। इसके साथ ही कोरोना से बचाव के साधनों एवं नियमों को पालन करने पर विशेष जोर दिया। कार्यक्रम का समापन करते हुए उत्तरा ने अपने विचार रखते हुए सुझाव दिया कि कोरोना जैसे महामारी को हल्के में ना ले और अपनी सुरक्षा का ध्यान स्वयं रखे नियमों का पालन करें घर पर स्वस्थ रहें।


12-Sep-2020 4:31 PM 23

नई दिल्ली, 12 सितम्बर (आईएएनएस)| माइक्रोसॉफ्ट ने अपने वीडियो मीट प्लेटाफॉर्म ऐप 'टीम्स' का उपयोग करने वाले उपभोक्ताओं के लिए 'लिस्ट' नामक अपना नया ऐप उपलब्ध कराया है। लिस्ट ऐप का ऐलान सबसे पहले 'बिल्ड 2020' वर्चुअल कॉन्फ्रेंस में किया गया था और अब इसे आमतौर पर माइक्रोसॉफ्ट टीम्स में उपलब्ध कराया जा रहा है।

कंपनी का दावा है कि लिस्ट की मदद से सूचनाओं पर नजर रखा जा सकेगा और साथ ही काम को व्यवस्थित करने की दिशा में भी यह मददगार साबित होगा।

कंपनी ने इस हफ्ते अपने एक बयान में कहा, "लिस्ट का इस्तेमाल काफी सहज है जिसकी मदद से आप इस विषय पर गौर फरमा सकते हैं कि आपकी टीम के लिए कौन सी बात सबसे ज्यादा मायने रखती है। लोन, संपत्ति, दैनिक गतिविधि, कॉन्टेक्ट जैसी चीजों पर नजर रख सभी में एक संतुलन बनाकर रखा जा सकता है।"

इसमें पहले से तैयार किए गए टेम्प्लेट्स शामिल हैं जिससे कि टीम्स में रहकर ही झटपट लिस्ट बनाया जा सकता है। लिस्ट ऐप का इस्तेमाल करते हुए टीम्स मोबाइल पर इस सुविधा का लाभ उठाया जा सकता है।

माइक्रोसॉफ्ट ने कहा, "टीम्स में लिस्ट ऐप का मकसद चीजों को सूचीबद्ध करने के लिए सभी को साथ में लाना है ताकि काम में आसानी हो सकें।"


11-Sep-2020 7:07 PM 19

बीजिंग, 11 सितम्बर (आईएएनएस)| चीनी सूचना व दूरसंचार अनुसंधान प्रतिष्ठान द्वारा 10 सितंबर को जारी आंकड़ों के अनुसार, जनवरी से अगस्त तक चीन के घरेलू बाजार में कुल 9 करोड़ 36 लाख 79 हजार 5जी मोबाइल फोन की बिक्री हुई। बाजार में मोबाइल फोन के 141 नये मॉडल लॉन्च किये गये हैं। उक्त दो संख्या सभी मोबाइल फोन की अनुपात में 46.3 प्रतिशत और 46.8 प्रतिशत तक पहुंच गयी। अगस्त में चीन के घरेलू बाजार में 1 करोड़ 61 लाख 70 हजार 5जी मोबाइल फोन की बिक्री हुई, जो इस अवधि में सभी मोबाइल फोन की बिक्री की कुल संख्या के 60 प्रतिशत तक पहुंच गयी।

गौरतलब है कि नेटवर्क, एप्लिकेशन, खर्च और अन्य कारक 5जी मोबाइल फोन की बिक्री पर प्रभाव डालेंगे। चीनी उद्योग व सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय के अधिकारी ने सितंबर के आरंभ में परिचय देते हुए कहा कि चीन में 5जी नेटवर्क का निर्माण तेजी से हो रहा है। समूचे देश में 5जी के बेस स्टेशनों की संख्या 4.8 लाख तक पहुंच गयी। उधर, 5जी टर्मिनल कनेक्शन की संख्या लगातार बढ़ रही है, जो 10 करोड़ से अधिक हो गयी।


11-Sep-2020 6:34 PM 23

रायपुर, 11 सितंबर। रियल एस्टेट कंपनी आरसीपी इंफ्राटेक ने रियल बायर्स के लिए अफोर्डेबल प्राइस रेज में प्लाट्स उपलब्ध करा रही है। सड्डू स्थित टाउनशिप वीआईपी सिटी में 999 रूपये प्रति वर्गफीट की दर से प्राइम लोकेशन में प्लाट्स हैं। इस प्राइस रेंज में प्लाट्स को बायर्स का अच्छी रिस्पांस मिल रहा है। आरसीपी इन्फ्राटेक के डायरेक्टर राकेश पांडेय ने बताया कि कंपनी समय-समय पर अपने ग्राहकों के लाभ के लिए नई-नई स्कीम मुहिया कराती आई है। इसी कड़ी में आम लोगों के बजट को ध्यान में रखते हुए बीआईपी सिटी में प्राइम लोकेशन में 2400 एवं 4000 वर्गफीट के 10 प्लाट अफोर्डेबल प्राइस रेंज में वैल्यू फार मनी को ध्यान में रखकर उपलब्ध करवा रहे हैं। उन्होंने बताया कि शहर के प्राइम लोकेशन सड्डू में 250 एकड़ में बनी वीआईपी सिटी में बायर्स के लिए बजट प्लाट उपलब्ध है जिसके लिए अंबिकापुर, बिलासपुर, कोरबा जैसे अलग-अलग शहरों से विजिस्टर पहुंचकर बुकिंग करा रहे हैं। प्रोजेक्ट में तीन एंट्री गेट, ंमंदिर, गार्डन, प्ले एरिया, क्लब हाउस, स्विमिंग पूल, अंडरग्राउंड ड्रेनेज सिस्टम, इलेक्ट्रिसिटी सप्लाई, ग्राउंड व बेसमेंट पार्किंग जैसी कई सुविधाएं लोगों को यहां पर मिलेगी।


11-Sep-2020 5:02 PM 20

नई दिल्ली, 11 सितम्बर (आईएएनएस)| सैमसंग ने शुक्रवार को कहा कि वह भारत में अपने अत्याधुनिक फोल्डेबल स्मार्टफोन गैलेक्सी फोल्ड2 5जी के लिए प्री-बुकिंग 14 सितम्बर को दोपहर 12 बजे से शुरू कर रहा है। इस फोन की कीमत 149,999 रुपये है। जो लोग इस फोन के मालिक बनना चाहते हैं वे इसे सैमसंग डॉट कॉम और सभी अग्रणी रिटेल स्टोर्स पर जाकर प्री-बुक करा सकते हैं। प्री-बुकिंग के लिए अभी मिस्टिक ब्लैक और मिस्टिक ब्रांज रंग उपलब्ध हैं।

जो लोग इस फोन को प्री-बुक करेंगे, उन्हें 12 महीने के लिए नो कॉस्ट ईएमआई की सुविधा मिलेगी। यह सुविधा सैमसंग एक्सपीरिएंस स्टोर और सैमसंग डॉट कॉम पर मिलेगी। साथ ही इसके अलावा यूट्यूब प्रीमियम चार महीने के लिए फ्री मिलेगा और माइक्रोसॉफ्ट ऑफिस 365 इनके लिए 22 फीसदी डिस्काउंट पर उपलब्ध होगा।

सैमसंग ने बीते मंगलवार को अपना तीसरा फोल्डेबल डिवाइस-गैलेक्सी जेड फोल्ड2 लॉन्च किया था। इस शानदार फोन में 6.2 इंच का कवर स्क्रीन है। साथ ही इसका मेन स्क्रीन खुलने पर 7.6 इंच का है।

सैमसंग के मुताबिक गैलेक्सी फोल्ड में 4.6 इंच का कवर स्क्रीन और 7.3 इंच का मुख्य स्क्रीन है और इस आधार पर गैलेक्सी जेड फोल्ड2 काफी उन्नत है। यह फोन 12जीबी रैम व 512जीबी मेमोरी और 12जीबी रैम व 256जीबी मेमोरी के साथ उपलब्ध है।

गैलेक्सी जेड फोल्ड2 में 4500एमएएच की बैटरी है, जो गैलेक्सी फोल्ड (4380एमएएच) तुलना में शक्तिशाली है। गैलेक्सी जेड फोल्ड2 सैमसंग का तीसरा फोल्डेबल स्मार्टफोन है। इससे पहले कम्पनी गैलेक्सी फोल्ड और गैलेक्सी जेड फ्लिप लॉन्च कर चुकी है।

गैलेक्सी जेड फोल्ड2 मिस्टिक ब्लैक और मिस्टिक ब्रांज रंगों में उपलब्ध है। यह फोन दुनिया भर के 40 बाजारों में उपलब्ध होगा, जिसमें अमेरिका और दक्षिण कोरिया प्रमुख है।

फोन को अमेरिका और दक्षिण कोरिया में 18 सितम्बर से हासिल किया जा सकता है, जबकि इसकी प्री बुकिंग एक सितम्बर से शुरू हो गई है।

नए डिवाइस में 10 मेगापिक्सल सेल्फी कैमरा है और रियर कैमरे में तीन सेंसर लगे हैं। रियर कैमरों में 12एमपी अल्ट्रा वाइड, 12एमपी वाइड एंगल और 12एमपी टेलीफोटो कैमरा है, जिसके साथ 10एक्स जूम उपलब्ध है।


11-Sep-2020 2:34 PM 21

नई दिल्ली, 11 सितम्बर (आईएएनएस)| चीनी टेक जाएंट हुवेई ने शुक्रवार को चीन में आयोजित एक इवेंट के दौरान छह नए उत्पादों के लॉन्च की घोषणा की। इनमें नोटबुक, स्मार्टवॉच और ऑडियो एक्सेसरीज शामिल हैं। नए उत्पादों में हुवेई मेटबुक एक्स, मेटबुक 14, दो नए लाइटवेट नोटबुक और प्रीबड्स प्रो, फ्रीलेस प्रो और ऑडियो प्रॉडक्ट्स के नए प्रो वेरिएंट्स शामिल हैं। ये ऑडियो प्रॉडक्ट्स एक्टिव नॉइज केंसीलेशन (एएनसी) फीचर से लैस हैं।

कम्पनी ने इन सबके अलावा वॉच जीटी प्रो और लवॉच फिट भी लॉन्च किया। ये हुवेई के वीयरेबल प्रॉडक्ट्स परिवार के नए सदस्य हैं। इन वीयरेबल्स में नया फिटनेस डाटा ट्रैकिंग फीचर्स हैं और वर्कआउट मोड्स भी हैं।

वॉचफिट हुवेई का पहला राउंडेड रेक्टेंगुलर वॉच फेस डिजाइन वाला स्मार्टवॉच है। इसमें 1.64 इंच का एमोलेड एचडी डिस्प्ले है और यह टिपिकल सिनेरियो में 10 दिनों तक बिना चार्ज किए काम कर सकता है।

इसी तरह नया वॉच जीटी 2 प्रो दो सप्ताह की बैटरी लाइफ का दावा करता है। इसमें 100 से अधिक वर्कआउट मोड्स हैं और प्रो ग्रेड फिटनेस डाटा ट्रैकिंग फीचर्स हैं।


10-Sep-2020 6:34 PM 29

भारत समेत दुनियाभर में व्हाट्सएप्प काफी पॉपुलर ऐप है. इस ऐप के अरबों एक्टिव यूजर्स हैं. जहां एक तरफ ऐप परिवार और दोस्तों को आपस में संपर्क में रखता है वहीं व्हाट्सएप छोटे व्यवसायों के विकास के लिए व्हाट्सएप बिजनेस के जरिए कई अवसर प्रदान कर रहा है. व्हाट्सएप बिजनेस का मकसद बिजनेस और ग्राहकों को जोड़ना है. ऐप को खास तौर पर छोटे व्यवसायों को ग्राहकों के साथ संवाद बनाने और उनके ऑर्डर्स को मैनेज करने के लिए डिजाइन किया गया है.

क्या है व्हाट्सएप्प बिज़नेस ?

मोटे तौर पर व्हाट्सएप बिजनेस को छोटे बिजनेस मालिकों के लिए बनाया गया है. व्हाट्सएप के माध्यम से आप वेबसाइट और ईमेल एड्रेस जैसी महत्वपूर्ण जानकारी शेयर करने के लिए एक बिजनेस प्रोफाइल बना सकते हैं. इसका यूज अपने प्रोडक्ट्स को दिखाने के लिए कैटलॉग बनाने के लिए कर सकते हैं. अपने प्रोडक्ट की वैराइटी शेयर कर सकते हैं, ऑर्डर ले सकते हैं. साथ ही ग्राहकों के सवालों के जवाब दे सकते हैं.

व्हाट्सएप्प और व्हाट्सएप्प बिज़नेस  में क्या है फर्क ?

व्हाट्सएप्प और व्हाट्सएप्प बिज़नेस  भले ही एक जैसे दिखते हों, लेकिन दोनों अलग-अलग ऐप हैं. व्हाट्सएप एक मैसेजिंग ऐप है जो आपको अपने परिवार और दोस्तों के संपर्क में रखने के लिए है. वहीं व्हाट्सएप बिजनेस आपके व्यवसाय को बढ़ावा देने के लिए एक प्लेटफॉर्म है. ये ऐप आपको अपने ग्राहकों के साथ संवाद करने और अपने ब्रांड को विकसित करने के लिए बनाया गया है. दो ऐप के बीच सुविधाओं का भी अंतर है. दोनों ऐप में कुछ विशेषताएं कॉमन हैं लेकिन व्हाट्सएप बिजनेस में बिजनेस प्रोफाइल और बिजनेस मैसेजिंग टूल जैसी विशेष सुविधाएं दी गई हैं.

व्हाट्सएप्प बिज़नेस  के फायदे

व्हाट्सएप्प बिज़नेस  छोटे व्यापारियों के कारोबार को बढ़ावा देने में मदद करता है. इससे काम करना और व्यापारियों का आपस में संपर्क काफी आसान हो जाता है. साथ ही इसके जरिए बिजनेस में सेंपल वगेरह एक्सचेंज करने में भी मदद मिलती है. इसके जरिए ऑर्डर के लेन देन में काफी आसानी होती है. ये सीधे व्यापार और ग्राहकों को आपस में जोड़ता है.(ABPLIVE)


10-Sep-2020 5:05 PM 24

नई दिल्ली, 10 सितम्बर (आईएएनएस)| चीनी स्मार्टफोन निर्माता ओप्पो ने गुरुवार को अपने सबसे ताजातरीन स्मार्टफोन एफ17 की भारत में कीमत और उपलब्धता घोषित कर दी। एफ17 दो वेरिएंट : 6जीबी-128जीबी और 8जीबी-128जीबी में उपलब्ध होगा और इसकी कीमत क्रमश: 17,990 और 19,990 रुपये होगी।

इस डिवाइस की बिक्री 21 सितम्बर से शुरू होगी। यह सभी ऑफलाइन और लीडिंग ई-कॉमर्स प्लेटफार्म्स पर बिक्री के लिए उपलब्ध होगा।

इस फोन में 7.45एमएम का स्लीक बॉडी है और इसका वजन सिर्फ 163 ग्राम है। इसमें लेजर कार्विग टेक्नोलॉजी से तैयार 1.67एमएम अल्ट्रा थिन बेजेल्स हैं।

डिवाइस क्वॉलकॉम स्नैपड्रैगन 662 प्रोसेसर से संचालित होगा और इसमें 8जीबी तथा 128जीबी इंटरनल स्टोरेज की क्षमता है।

इसमें 16एमपी का मेन कैमरा है तथा 119 डिग्री वाइड एंगल 8एपी कैमरा, 2 एमपी मोनोक्रोम कैमरा और एक 2एमपी का रेट्रो कैमरा है। साथ ही इस फोन में 16एमपी का फ्रंट कैमरा है।

30वॉट वूक 4.0 तकनीक से लैस होने के कारण यह फोन सिर्फ पांच मिनट की चार्जिग में चार घंटे तक बातचीत करने लायक हो जाता है।