कारोबार

10-Sep-2020 5:04 PM 37

नई दिल्ली, 10 सितम्बर (आईएएनएस)| सैमसंग ने गुरुवार को अपने मशहूर गैलेक्सी एम सीरीज का विस्तार करते हुए एम51 स्मार्टफोन भारत में लॉन्च किया। यह फोन स्नैपड्रैगन 730जी प्रोसेसर पर चलता है और इसमें 7000एमएएच की बैटरी लगी है। गैलेक्सी एम51 की कीमत 6जीबी-128जीबी वेरिएंट के लिए 24,999 रुपये है जबकि इसके 8जीबी-128जीबी वेरिएंट की कीमत 26,999 रुपये है।

यह स्मार्टफोन 18 सितम्बर से बिक्री के लिए एमेजॉन डॉट इन, सैमसंग डॉट कॉम और चुनिंदा रिटेल स्टोर्स पर उपलब्ध होगा।

इस स्मार्टफोन का स्क्रीन 6.7 इंच एसएमोलेड प्लस इंफीनिटी ओ से सुसज्जित है। इसमें स्नैपड्रैगन 730जी मोबाइल प्लेटफार्म उपयोग में लाया गया है।

इस फोन में क्वॉड कोर कैमरा सेटअप है जिसमें मेन सोनी आईएमएक्स 682 सेंसर 64एमपी का है जबकि इसके अलावा 12 एमपी का अल्ट्रा वाइड लेंस, 5एमपी का डेडिकेटेड मैक्रो लेंस और 5एमपी का डेप्थ लेंस है। इसमें 32एमपी का एक फ्रंट कैमरा है।


10-Sep-2020 4:41 PM 21

नई दिल्ली, 10 सितंबर। सुप्रीम कोर्ट ने गुरुवार को लोन रीपेमेंट मोरेटोरियम को 28 सितंबर तक बढ़ा दिया और इस अवधि (31 अगस्त तक) के दौरान किश्तों का भुगतान न करने के कारण किसी भी लोन को एनपीए घोषित नहीं करने का निर्देश दिया है। लोन मोरेटोरियम मामले की सुनवाई करते हुए सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि मामले को बार-बार टाला जा रहा है। अब इस मामले को सिर्फ एक बार टाला जा रहा है वो भी फाइनल सुनवाई के लिए। इस दौरान सब अपना जवाब दाखिल करें और मामले में ठोस योजना के साथ अदालत आएं।

सुनवाई के दौरान केंद्र सरकार ने कोर्ट से कहा, उच्चतम स्तर पर विचार हो रहा है। राहत के लिए बैंकों और अन्य हितधारकों के परामर्श कर दो या तीन दौर की बैठक हो चुकी हैं और  चिंताओं की जांच की जा रही है। केंद्र ने दो हफ्ते का समय मांगा था इस पर कोर्ट ने पूछा था कि दो हफ्ते में क्या होने वाला है?  आपको विभिन्न क्षेत्रों के लिए कुछ ठोस करना होगा। वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिए मामले की सुनवाई कर रहे जस्टिस अशोक भूषण, आर सुभाष रेड्डी और एमआर शाह की तीन जजों की बेंच ने सुनवाई की।

सुप्रीम कोर्ट की अगली सुनवाई तक बैंक और ग्राहकों को मानने होंगे ये निर्देश
>> शीर्ष अदालत के बैंक लोन अकाउंट को अगले दो महीने तक एनपीए घोषित नहीं किए जाने के आदेश से कर्जधारकों को बड़ी राहत मिली है। दरअसल, अगर किसी व्यक्ति के लोन को एनपीए घोषित कर दिया जाता है तो उसकी सिबिल रेटिंग खराब हो जाती है। इससे उसे भविष्?य में किसी बैंक से लोन लेने में मुश्किलों का सामना करना पड़ सकता है।

>> वहीं, अगर लोन मिल जाता है तो उसे अच्छी सिबिल रेटिंग वाले व्यक्ति के मुकाबले ज्यादा ब्याज दर चुकाना पड़ सकता है, क्?योंकि अब बैंक इसी आधार पर ब्याज दरें भी तय कर रहे हैं। अब सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद क्रेडिट कार्ड, होम लोन, व्हीकल लोन, होम लोन की किस्त मोरेटोरियम खत्म होने के दो महीने बाद तक नहीं चुकाने पर भी बैंक उसे एनपीए घोषित नहीं करेंगे। हालांकि, डिफॉल्ट पर जुर्माना या ब्याज वसूल सकते हैं।

इससे पहले सुप्रीम कोर्ट ने ये कहा था 
सरकार और आरबीआई की तरफ से दलील रखते हुए सॉलिसिटर जनरल तुषार मेहता ने सुप्रीम कोर्ट में कहा कि ब्याज पर छूट नहीं दे सकते है लेकिन भुगतान का दबाव कम कर देंगे। मेहता ने कहा कि बैंकिंग क्षेत्र अर्थव्यवस्था की रीढ़ है और अर्थव्यवस्था को कमजोर करने वाला कोई फैसला नहीं लिया जा सकता।

सॉलिसिटर जनरल ने कहा कि वे मानते हैं कि जितने लोगों ने भी समस्या रखी है वे सही हैं। हर सेक्टर की स्थिति पर विचार जरूरी है लेकिन बैंकिंग सेक्टर का भी खयाल रखना होगा। तुषार मेहता ने कहा कि मोरेटोरियम का मकसद यह नहीं था कि ब्याज माफ कर दिया जाएगा।

तुषार मेहता ने कहा कि कोरोना के हालात का हर सेक्टर पर प्रभाव पड़ा है लेकिन कुछ सेक्टर ऐसे भी हैं जिन्होंने अच्छा प्रदर्शन किया है। फार्मास्यूटिकल और आईटी सेक्टर ऐसे सेक्टर हैं जिन्होंने अच्छा प्रदर्शन किया है। उन्होंने कहा कि जब मोरेटोरियम लाया गया था तो मकसद था कि व्यापारी उपलब्ध पूंजी का जरूरी इस्तेमाल कर सके और उन पर बैंक की किश्त का बोझ नहीं पड़े। (hindi.news18.com)


10-Sep-2020 2:07 PM 20

अगली सुनवाई 28 सितंबर को

नई दिल्ली, 10 सितंबर। लोन मोरेटोरियम मामले की सुनवाई करते हुए सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि मामले को बार-बार टाला जा रहा है। अब इस मामले को सिर्फ एक बार टाला जा रहा है वो भी फाइनल सुनवाई के लिए। अगली सुनवाई 28 सितंबर को होगी। इस दौरान सब अपना जवाब दाखिल करें और मामले में ठोस योजना के साथ अदालत आएं। साथ ही कोर्ट ने कहा कि तब तक 31 अगस्त तक एनपीए ना हुए लोन डिफॉल्टरों को एनपीए  घोषित न करने अंतरिम आदेश जारी रहेगा। सुप्रीम कोर्ट ने जवाब दाखिल करने के लिए दो हफ्ते दिए। सुनवाई के दौरान केंद्र सरकार ने कोर्ट से कहा, उच्चतम स्तर पर विचार हो रहा है। राहत के लिए बैंकों और अन्य हितधारकों के परामर्श में दो या तीन दौर की बैठक हो चुकी है और चिंताओं की जांच की जा रही है। केंद्र ने दो हफ्ते का समय मांगा था इस पर कोर्ट ने पूछा था कि दो हफ्ते में क्या होने वाला है? आपको विभिन्न क्षेत्रों के लिए कुछ ठोस करना होगा। वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिए मामले की सुनवाई कर रहे जस्टिस अशोक भूषण, आर सुभाष रेड्डी और एम आर शाह की तीन जजों की बेंच सुनवाई की। 

पिछली सुनवाई में याचिकाकर्ता की ओर से कहा गया था कि इस फैसले से लोन लेने वालों पर दोहरी मार पड़ रही है क्योंकि उनसे चक्रवृद्धि ब्याज यानी कंपाउंडिंग इंट्रस्ट लिया जा रहा है.  याचिकाकर्ता ने कहा था कि यह योजना दोगुनी मार है क्योंकि वे हमें चक्रवृद्धि ब्याज चार्ज किया जा रहा है। ब्याज पर ब्याज वसूलने के लिए बैंक इसे डिफॉल्ट मान रहे हैं। यह हमारी ओर से डिफॉल्ट नहीं है. सभी सेक्टर बैठ गए हैं लेकिन आरबीआई चाहता है कि बैंक कोविड-19 के दौरान मुनाफा कमाए और यह अनसुना है।

साथ ही याचिकाकर्ता की ओर से कहा गया, आरबीआई देश से लूटे गए करोड़ों रुपयों से नहीं जागा। आरबीआई वैधानिक नियामक है, बैंकों का एजेंट नहीं। ब्याज पर ब्याज बिलकुल गलत है और इसे चार्ज नहीं किया जा सकता। आईबीसी को उद्योग को राहत देने के लिए निलंबित किया गया लेकिन उधारकर्ताओं के बारे में क्या?

वहीं रियल एस्टेट डेवलपर्स के लिए क्रेडी  ने कहा कि ‘ब्याज वसूलने से एनपीए में वृद्धि हो सकती है। यदि ब्याज माफ नहीं किया जा सकता है, तो कम से कम इसे उस स्तर तक कम करें जिस पर बैंक जमाकर्ताओं का भुगतान करते हैं. कम से कम 6 महीने तक की मोहलत दी जाए।’

दरअसल, केंद्र की ओर से पेश सॉलिसिटर जनरल तुषार मेहता ने कोर्ट में हलफनामा दायर कर बताया था कि लोन मोरेटोरियम दो साल के लिए बढ़ सकता है। लेकिन यह कुछ ही सेक्टरों को दिया जाएगा। मेहता ने कोर्ट में उन सेक्टरों की सूची सौंपी है, जिन्हें आगे राहत दी जा सकती है। पिछली सुनवाई में लॉकडाउन पीरियड में लोन मोरेटोरियम मामले में सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र सरकार को फटकार लगाते हुए। दिन मेंहलफनामा देकर ब्याज माफी की गुंजाइश पर स्थिति साफ करने को कहा था।

कोर्ट ने कहा था कि लोगों की परेशानियों की चिंता छोडक़र आप सिर्फ बिजनेस के बारे में नहीं सोच सकते। सरकार आरबीआई के फैसले की आड़ ले रही है, जबकि उसके पास खुद फैसला लेने का अधिकार है। डिजास्टर मैनेजमेंट एक्ट के तहत सरकार बैंकों को ब्याज पर ब्याज वसूलने से रोक सकती है। अदालत ने कमेंट किया था कि बैंक हजारों करोड़ रुपए एनपीए में डाल देते हैं, लेकिन कुछ महीने के लिए टाली गई ईएमआई पर ब्याज वसूलना चाहते हैं।

कोरोना और लॉकडाउन की वजह से आरबीआई ने मार्च में लोगों को मोरेटोरियम यानी लोन की ईएमआई 3 महीने के लिए टालने की सुविधा दी थी। बाद में इसे 3 महीने और बढ़ाकर 31 अगस्त तक के लिए कर दिया गया। आरबीआई ने कहा था कि लोन की किश्त 6 महीने नहीं चुकाएंगे, तो इसे डिफॉल्ट नहीं माना जाएगा। लेकिन, मोरेटोरियम के बाद बकाया पेमेंट पर पूरा ब्याज देना पड़ेगा।

ब्याज की शर्त को कुछ ग्राहकों ने सुप्रीम कोर्ट में चुनौती दी है। उनकी दलील है कि मोरेटोरियम में इंटरेस्ट पर छूट मिलनी चाहिए, क्योंकि ब्याज पर ब्याज वसूलना गलत है। एक याचिकाकर्ता की तरफ से पेश हुए वरिष्ठ वकील कपिल सिब्बल ने सुनवाई में यह मांग भी रखी कि जब तक ब्याज माफी की अर्जी पर फैसला नहीं होता, तब तक मोरेटोरियम पीरियड बढ़ा देना चाहिए। (khabar.ndtv.com)


10-Sep-2020 10:12 AM 28

न्यूयॉर्क, 10 सितंबर (आईएएनएस)| नेटफ्लिक्स ने भारतीय-अमेरिकी मीडिया लीडर बेला बजरिया को ग्लोबल टेलीविजन के अंतर्राष्ट्रीय टीवी ऑपरेशंस का वाइस प्रेसिडेंट नियुक्त किया है। उनकी नियुक्ति की घोषणा करते हुए नेटफ्लिक्स के को-सीईओ टेड सेरानडोस ने मंगलवार को कहा, "2016 में नेटफ्लिक्स में शामिल होने के बाद से बेला ने लगातार अपनी बहुमुखी प्रतिभा और रचनात्मकता का प्रदर्शन किया है। अब समय उनके अगले स्तर पर जाने का है।"

इससे पहले बजरिया लोकल लैंग्वेज ओरिजनल्स की इन-चार्ज वाइस प्रेसीडेंट थीं। इस दौरान कई लोकप्रिय नेटफ्लिक्स रियलिटी शो जैसे 'इंडियन मैचमेकिंग', ड्रामा सीरीज 'सेक्रेड गेम्स' और कॉमेडी सीरियल 'नेवर हैव एवर' के पीछे उनकी भूमिका रही।

अब प्रमोशन के बाद वह अंग्रेजी समेत सभी नेटफ्लिक्स टीवी प्रोग्रामिंग को संभालेंगी। द लॉस एंजिल्स टाइम्स के अनुसार, बजरिया पूर्व मिस इंडिया यूनिवर्स हैं।

बजरिया लंदन में पैदा हुईं हैं। वे भारतीय अभिभावकों की संतान हैं, जो जाम्बिया से ब्रिटेन होते हुए अमेरिका पहुंचे थे।

बजरिया ने लॉस एंजेलिस टाइम्स को बताया कि वह सबसे पहले मिस लॉस एंजेलिस इंडिया यूएसए में आईं क्योंकि "मुझे लगा कि अपनी कंडीशंस पर भारत की संस्कृति की खोज करना मजेदार होगा।"

1991 में मिस इंडिया यूनिवर्स का खिताब जीतने से पहले वे मिस इंडिया यूएसए बनी थीं।


09-Sep-2020 4:09 PM 53

रायपुर, 9 सितंबर।  छत्तीसगढ़ के एक प्रतिष्ठित शैक्षणिक संस्थान प्रोफेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ इंजीनियरिंग एंड टेकनोलॉजी की चीफ प्रॉक्टर एंड अस्स्टिेंट रजिस्ट्रार कोपल दुबे ने बताया कि शिक्षक दिवस पर विद्यार्थियों के लिए 'द नीड फॉर ई-लर्निंग अंब्रेलाÓ का आयोजन किया गया। कोरोना  में ऑनलाइन अध्ययन के साथ और भी नवाचार के बारे में उन्हें सीख मिली। कार्यक्रम का कोपल दुबे ने किया।

सुश्री दुबे ने बताया कि इस वेबिनार में राज्य के 1500 से अधिक विद्यार्थी शामिल हुए जिन्होंने ये सीखा की कैसे वे ग्रामीण परिवेश में रहते हुए भी नवाचार और उद्यमिता में नए मुकाम हासिल कर सकते हैं। मुख्य अतिथि इंदू साहू, डायरेक्टर/सेक्रेटरी, चेतना चाइल्ड एंड वीमेन वेलफेयर सोसाइटी ने बताया कि ई-लर्निंग से विद्यार्थी सुविधानुसार कहीं भी, किसी भी विषय में पढ़ाई कर सकते हैं। शिक्षा में कोई रुकावट नहीं आ रही  है, वे अपने गावों में रहकर भी बेहतर शिक्षा प्राप्त कर सकते हैं।

श्रीमती साहू ने यह भी बताया कि इसमें सबसे महत्वपूर्ण कई माध्यम ऐसे भी हैं जिनमें इंटरनेट का न होना बाधक नहीं है। ई-लर्निंग से बिना रुकावट के शिक्षा प्राप्त की जा सकती है और ये बहुत ही बड़ा प्लेटफार्म हैं जहां एक विषय को सीखने के हज़ारों विकल्प मौजूद हैं। 

यूनिसेफ के एजुकेशन स्पेशलिस्ट शेशागिरी के. एम. राव ने कोरोना में जीवनशैली में बदलाव एवं  दृष्टिकोण में परिवर्तन के बारे ने बताया। नकारात्मक  एवं सकारात्मक प्रभावों पर प्रकाश डाला। जनपद पंचायत सीईओ स्वेच्छा सिंह ने ई-लर्निंग के महत्व बताते हुए कहा कि समाज के लिए यह सहायक है। ऑनलाइन पढ़ाई से संसार की दूरी सिमट गयी है। पहले जो विद्यार्थी बड़ी संस्थाओं या बड़े स्कूलों में शिक्षा ग्रहण कर रहे थे, वे ही बेहतर शिक्षा के पात्र  थे। ई-लर्निंग से सभी को समान अवसर है। एम/एस बीआर सिंह भदौरिया के मैनेजिंग पार्टनर गौरव सिंह भदौरिया ने बताया कि कैसे पहले गेट एवम् अन्य कॉम्पटेटिव एग्जाम के लिए दिल्ली जाना पड़ता था पर अब हम ये सब अपने शहर में रहकर भी पढ़ सकते हैं। 

पाईटेक सीईओ मौलश्री दुबे ने बताया की इंजीनियरिंग की पढ़ाई को हम विभाजित कर सकते हैं कि क्या पढऩा है और किस की आवश्यकता है जिससे हम रोजगार उत्पन्न कर सकते हैं।  ये समय विद्यार्थियों को नीर शीर विवेक दिखाने का है तथा ई-लर्निंग से हम उन्हें एक सही मार्ग दिखा सकते हैं। 


09-Sep-2020 4:06 PM 21

रायपुर, 9 सितंबर। कन्फेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स (कैट) के प्रतिनिधिमंडल ने बताया कि देश में सभी सावधानियों के बावजूद कोरोना बढ़ रहा है।  केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री को बताया गया  है कि कई रिपोर्टों के अनुसार करेंसी नोट्स कोरोना सहित अन्य अनेक  संक्रामक रोगों के वाहक हैं और यह बेहद चिंता का विषय है। क्या नोटों के जरिये कोरोना फैल सकता है? नोट एक अनजान श्रंखला के माध्यम से बड़ी संख्या में विभिन्न लोगों तक पहुंचते हैं, ऐसे में क्या इनके जरिये भी कोरोना फैल सकता है? इस पर सरकार को एक प्रामाणिक स्पष्टीकरण जारी करना चाहिए।

कैट राष्ट्रीय उपाध्यक्ष अमर पारवानी ने बताया कि यह इसलिए भी आवश्यक है की देश में नकद का प्रचलन खास तौर पर छोटे शहरों और ग्रामीण क्षेत्रो में  बहुत ज्यादा है। संक्रामक रोगों को फैलाने में सक्षम करेंसी नोटों का मुद्दा कुछ वर्षों से देश भर के व्यापारियों के लिए बेहद चिंता का कारण बना हुआ है। 

श्री पारवानी ने बताया कि डॉ. हर्षवर्धन का ध्यान सार्वजनिक रूप से उपलब्ध तीन रिपोर्टों की ओर दिलाया है जो करेंसी नोटों को वायरस के वाहक के रूप में साबित करती हैं। किंग जॉर्ज मेडिकल यूनिवर्सिटी, लखनऊ द्वारा 2015 के एक अध्ययन से पता चला है कि 96 बैंक नोटों और 48 सिक्कों का लगभग पूरा नमूना वायरस, फंगस और बैक्टीरिया से दूषित था जबकि 2016 में तमिलनाडु में किए गए एक अध्ययन में 120 से अधिक नोट डॉक्टरों, गृहिणियों, बाजारों, कसाई, क्षेत्रों से एकत्र किये गए जिसमें से 86.4 प्रतिशत नोट संक्रमण से ग्रस्त थे। वहीं वर्ष  2016 में कर्नाटक में हुए एक अध्ययन की रिपोर्ट में 100 रुपये, 50 रुपये, 20 और 10 रुपये के नोटों में से 58 नोट दूषित थे।


09-Sep-2020 1:43 PM 25

नई दिल्ली, 9 सितंबर। रिलायंस रिटेल में सिल्वर लेक 1.75 फीसदी इक्विटी के लिए 7 हजार 500 करोड़ रू का निवेश करेगा। इस सौदे में रिलायंस रिटेल की प्री-मनी इक्विटी मूल्य 4.21 लाख करोड़ रू आंका गया है।   

जियो प्लेटफॉम्र्स में निवेश के बाद सिल्वर लेक अब रिलायंस रिटेल में भी निवेश कर रहा है। सिल्वर लेक को दुनिया में टेक्नॉलोजी सेक्टर के सबसे बड़े निवेशकों में माना जाता है। सिल्वर लेक का रिलायंस रिटेल में निवेश करना इस बात का साफ संकेत है कि रिलायंस रिटेल भारतीय रिटेल सेक्टर में बड़े खिलाड़ी के रूप में उभरा है। हाल ही में रिलायंस रिटेल ने फ्यूचर ग्रुप का अधिग्रहण किया था।

सिल्वर लेक इससे पहले, 1.35 बिलियन डॉलर यानी करीब 10,200 करोड़ रू से अधिक का निवेश जियो प्लेटफॉम्र्स में कर चुका है। रिलायंस रिटेल और जियो प्लेटफॉम्र्स का कुल वैल्यूएशन 9 लाख करोड़ रू पार कर गया है। 

देश के अनेकों शहरों में फैले रिलायंस रिटेल के 12 हजार से अधिक स्टोर्स में करीब 64 करोड़ का फुटफॉल प्रतिवर्ष हैं। रिलायंस के मालिक मुकेश अंबानी ने इस नेटवर्क से 3 करोड़ किराना स्टोर्स और 12 करोड़ किसानों को जोडऩे का लक्ष्य रखा है। कंपनी ने हाल ही में जियोमार्ट को भी लांॅच किया है जो ग्रोसरी 

सेक्टर का ऑनलाइन स्टोर है। जियोमार्ट पर हर दिन करीब 4 लाख ऑर्डर बुक हो रहे हैं।

सिल्वर लेक डील पर खुशी जाहिर करते हुए रिलायंस इंडस्ट्रीज के चेयरमैन एवं प्रबंध निदेशक मुकेश अंबानी ने कहा, ‘हमें खुशी है कि लाखों छोटे व्यापारियों के साथ साझेदारी करने के हमारे परिवर्तनकारी विचार से सिल्वर लेक अपने निवेश के माध्यम से जुड़ा है। भारतीय रिटेल सेक्टर में भारतीय उपभोक्ताओं को मूल्य आधारित सर्विस मिले यही हमारा प्रयास है। हमारा मानना है कि प्रौद्योगिकी रिटेल क्षेत्र में जरूरी बदलाव लाने में महत्वपूर्ण साबित होगी और रिटेल इको सिस्टम से जुड़े सभी घटक एक बेहतर विकास प्लेटफार्मों का निर्माण कर सकेंगे। भारतीय रिटेल सेक्टर में हमारे विजन को आगे बढ़ाने में सिल्वर लेक महत्वपूर्ण भागीदार होगा।’

निवेश पर टिप्पणी करते हुए, सिल्वर लेक के सह-सीईओ और प्रबंध साझेदार, श्री एगॉन डरबन ने कहा, ‘मुकेश अंबानी और रिलायंस की टीम ने अपने प्रयासों से रिटेल और टेकनॉलोजी सेक्टर में लीडरशिप हासिल की है। इतने कम समय में जियोमार्ट की सफलता, विशेषकर तब जबकि भारत बाकी दुनिया के साथ कोविड-19 महामारी से जूझ रहा है, वास्तव में अभूतपूर्व है।’


08-Sep-2020 3:26 PM 23

रायपुर, 8 सितंबर। फेडरेशन ऑफ ऑटोमोबाईल डीलर्स एसोसिएशन (फाडा) भारत में खुदरा ऑटोमोबाईल व्यापार को बचाने और बढ़ावा देने के लिए है । फाडा देश में फैले 15,000 ऑटोमोबाईल डीलरों का प्रतिनिधित्व करती है और भारत में 90 प्रतिशत से अधिक खुदरा वाहन व्यापार का प्रतिनिधित्व करता है । फाडा ऑटोमोबाईल क्षेत्र में 2/3-व्हीलर्स, चार पहिया वाहन, यात्री कारों, कमर्सियल वाहन और टैऊक्टर डीलरों का षीर्श निकाय है ।

फेडरेशन ऑफ ऑटोमोबाईल डीलर्स एसोसियेषन (फाडा) कें 56वॉं ए.जी.एम. का आयोजन डीजिटल ऑनलाईन प्लेटफार्म में 5 सितंबर को किया गया जिसमें उदय कोटक अध्यक्ष सी.आई.आई. और कोटक महिन्द्रा बैंक, मुख्य अतिथि के रूप में उपस्थित थे। डॉ. पवन कोइंनका एम.डी. एवं सी.ई.ओ. (महिन्द्रा एंड महिन्द्रा) निर्देशक इम्तियाज अली विशेष अतिथि थे। सभी  अतिथियों ने फाडा को सराहा एवं उचित मार्गदर्शन और सहयोग देने का वादा किया।

फाडा की  नई कार्यकारिणी गठित हुई जिसमें सर्वसम्मिति से मनीष राज सिंघानिया को राष्ट्रीय उपाध्यक्ष के रूप में चुना गया एवं विकेंस गुलाटी को अध्यक्ष के रूप में चुना गया इनका कार्यकाल 2 वर्ष का होगा। मनीष राज सिंघानया वर्र्ष 2018-2020  फाडा के सचिव के रूप में तथा 2017-2018 के दौरान कोषाध्यक्ष रह चुके हैं एवं पिछले 10 वर्षों से फाडा के काउंसिल सदस्य है एवं एसोसिएशन के सभी कार्यों में और उसके विजन को बढ़ाने में लगातार प्रयासरथ रहते है और उसमें अग्रणी रूप से योगदान देते है ।

मनीष राज सिंघानिया रायपुर में आधारित रालास मोटर्स के मैनेजिंग पार्टनर है, जो महिन्द्रा एंड महिन्द्रा के द्वारा निर्मित सभी वाहनों की बिक्री, सेवा में लगे रायपुर एवं धमतरी में डीलरशिप है और मनीष राज सिंघानिया ने एम.बी.ए. डिग्री प्राप्त है व रियल एस्टेट कारोबार और सामाजिक वानिकी में व्यस्त है। वर्ष 2012 के बाद से राज्य अध्यक्ष - छत्तीसगढ़ और फाडा के काउंसिल सदस्य रहे है और सक्रिय रूप से विभिन्न समितियों से जुड़े है, जैसे:- अध्यक्ष-रायपुर ऑटोमोबाईल डीलर्स एसोसिएशन (राडा), राज्य सचिव (छ.ग.) ईस्टर्न इंडिया चैंबर ऑफ कॉमर्स एंड इण्डस्ट्रीज, अध्यक्ष-सीजी क्षत्रिय सहकारी ग्रामीण निर्माण समिति और सदस्य-राज्य सडक़ सुरक्षा परिषद, महिन्द्रा फाईनेंस डीलर काउंसिल और महिन्द्रा एंड महिन्द्रा डीलर काउंसिल में समय-समय पर अपना योगदान दिये हैं ।

श्री सिंघानिया पिछले आठ सालों से राडा के अध्यक्ष है और छत्तीसगढ़ के पहले ऑटोमोबाईल व्यवसायी है जो कि फाडा में सर्वोच्च पद पर आसीन हुए है। गत कई वर्षों से भव्य ऑटो एक्सपों का आयोजन अपने मार्गदर्र्शन पर सफलता पूर्वक करते आये हैं, और सडक़ सुरक्षा सप्ताह के दौरान यातायात विभाग को विस्तारित सहयोग प्रदान किया एवं सी.एस.आर. गतिविधियों के तहत रायपुर कैंसर वार्ड को सहायता एवं कोरोना काल में राज्य सरकार को 10 लाख प्रदान किये हैं इसी तरह सिंघानिया के मार्गदर्शन पर राडा एवं फाडा नीत नई ऊचाईयों को प्राप्त कर रहा है।


08-Sep-2020 1:30 PM 17

‘छत्तीसगढ़’ न्यूज डेस्क
अमरीका के कैलिफोर्निया की एक कंपनी एनडीबी ने खुद चार्ज होने वाली एक ऐसी बैटरी बनाई है जो एक बार चार्ज होकर 28 हजार साल तक चल सकती है। इसके लिए इस बैटरी में कार्बन-14 (सी14) को परमाणु कचरे में से निकालकर एक कृत्रिम हीरे में कैद किया जाता है। कंपनी का कहना है कि इस बैटरी को इलेक्ट्रिक गाडिय़ों, मोबाइल फोन-लैपटाप, घड़ी कैमरा, टैबलेट, ड्रोन, मेडिकल मशीनों सबमें इस्तेमाल किया जा सकता है। इससे किसी तरह की रेडियोधर्मिता भी नहीं फैलेगी। 


07-Sep-2020 6:51 PM 23

भोपाल, 7 सितंबर। मध्य प्रदेश में आर्थिक गतिविधियां बढ़ाने के प्रयास जारी हैं। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने प्रदेश के नगरीय क्षेत्रों में प्रापर्टी की खरीद-बिक्री पर स्टाम्प ड्यूटी में कमी करने का निर्णय लिया है। आधिकारिक जानकारी के अनुसार मुख्यमंत्री चौहान ने सोमवार को मंत्रालय में अधिकारियों की बैठक में कहा कि रियल स्टेट सेक्टर पर भी कोरोना का प्रभाव पड़ा है, जिससे प्रॉपर्टी खरीदने, बेचने के इच्छुक लोग भी विपरीत स्थितियों का सामना कर रहे हैं। राज्य सरकार ने प्रॉपर्टी की खरीद-बिक्री पर स्टाम्प ड्यूटी पर तीन प्रतिशत के स्थान पर एक प्रतिशत सेस देने का निर्णय लिया है।

मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि, "हर शख्स का एक सपना होता है कि उसका अपना एक घर हो, जहां वो अपने परिवार के साथ सुखी से रह सके। कोरोना काल में आर्थिक गतिविधियां लगभग समाप्त हो गई थीं। रियल स्टेट व्यवसाय पर भी विपरीत प्रभाव पड़ा था। लोगों की वित्तीय क्षमताएं सीमित हो जाने के कारण संपत्तियों का क्रय-विक्रय भी प्रभावित हुआ है। अब यह जरूरी हो गया है कि आर्थिक गतिविधियां बढ़ें और रियल स्टेट क्षेत्र में भी कैसे बूम आए, इसकी चिंता करनी होगी। इसके लिए हरसंभव प्रयास किए जाएंगे। इसी को ध्यान में रखते हुए नगरीय क्षेत्रों में प्रॉपर्टी की खरीद-ब्रिकी पर स्टाम्प ड्यूटी में दो प्रतिशत की छूट सेस में मिलेगी। छूट 31 दिसम्बर 2020 तक लागू रहेगी।"

मुख्यमंत्री चौहान ने विश्वास व्यक्त किया कि इस निर्णय से लोग अपना मकान आसानी से खरीद सकेंगे, कारोबार में तेजी आएगी और रियल स्टेट में कामकाज को गति मिलेगी। इसी सिलसिले में अन्य जरूरी कदम भी उठाए जाएंगे।(IANS)


07-Sep-2020 6:51 PM 30

रायपुर, 7 सितंबर। अविनाश गु्रप के प्रबंध संचालक आनंद सिंघानिया नें बताया कि छत्तीसगढ़ की विश्वसनीय रियल स्टेट कम्पनी अविनाश ग्रुप के बहुचर्चित प्रोजेक्ट अविनाश एलाईट होम्स विधानसभा रोड, में रेसिडेंसियल  प्लॉट्स, सिंग्लेक्स और डुपलेक्स का शानदार विकल्प है। जिसमे अविनाश गु्रप के द्वारा सिंगलेक्स की बुकिंग पर प्रतिमाह 7000 का सुनिश्चित रेटंल ऑफर दिया जा रहा है। अविनाश एलीट होम्स अच्छी बसाहट के बीच खूबसूरत बनावट के साथ लगभग 5 एकड़ पर फैली है जिसमे 2 सिंग्लेक्स 26.50 लाख, 3डुपलेक्स 31 लाख व रेसिडेेसियल प्लॉट है। यह प्रोजेक्ट बजट होम्स में क्वलिटी ऐमेनिटीज एवं फैस्लीटी का बेजोड़ उदाहरण है जो कि आराम एवं सुकून का संपूर्ण आयाम शहर की हर कनेक्टविटी के पास होने का अहसास दिलाती है।

श्री सिंघानिया नें बताया कि अविनाश एलीट होम्स प्रोजेक्ट अफोर्डेबल बजट में उत्कृष्ठ क्वालिटी के साथ बेहतर जीवन शैली के निमार्ण मे अविनाश गु्रप का एक और कदम है जोकि रायपुर के लोगो के लिये एक सौगात है। अच्छी बसाहट के बीच परफेक्ट प्लांनिग के साथ महालेखाकर भवन से कुछ मिनटों की दूरी पर इस लिमीटेड एडीसन प्रोजेक्ट को ग्राहकों का रिस्पान्स मिल रहा है और अच्छी बुकिंग हो रही हैं। अविनाश एलीट होम्स रायपुर की प्राईम लोकेशन विधानसभा रोड, महालेखाकर भवन के पीछे सकरी में स्थित है, जो कि रायपुर के अच्छे रिहायशी क्ष़ेत्र के रुप मे जाना जाता है। यहॉ से अम्बुजा मॉल, डीपीएस ब्राइटन एवं ज्ञान गंगा स्कूल, प्रोमिनेन्ट कॉलेज्स, हॉस्पिटल जैसी सभी प्रमुख सुविधायें पास ही उपलब्ध है तथा इसकी कनेक्टवीटी रायपुर -शहर में -शंकर नगर, पंडरी, जयस्तंभ चौक, रेल्वे स्टे-शन, नया रायपुर, बिलासपुर सभी से बहुत सुविधाजनक है।


07-Sep-2020 6:45 PM 20

सियोल, 7 सितम्बर। एलजी रोटेटिंग फार्म फैक्टर के साथ नया स्मार्टफोन लॉन्च करने को तैयार है। इस फोन को उसने विंग नाम दिया है। इसकी कीमत 840 डॉलर के करीब रहने की उम्मीद है। एलजी ने कहा है कि उसका यह नया स्मार्टफोन 14 सितम्बर को लॉन्च किया जाएगा।

एलजी के मुताबिक उसका यह नया डुअल स्क्रीन स्मार्टफोन अपने प्रोजेक्ट नाम पर ही जाना जाएगा।

इससे पहले कम्पनी ने कई नामों पर विचार किया, जिसमें स्विंग भी था, लेकिन अंतत: कम्पनी ने विंग नाम के साथ जाने का फैसला किया।

कम्पनी ने इस फोन के लॉन्च के लिए वीडियो इन्वीटेशन भेज दिया है लेकिन अब तक इसकी विशेषताओं का खुलासा नहीं किया है।

सूत्रों का कहना है कि इस फोन का मेन स्क्रीन 6.8 इंच का होगा जबकि इसका सेकेंड्री स्क्रीन चार इंच का हो सकता है।

साथ ही कम्पनी ने इस फोन में ट्रिपल कैमरा सेटअप लगाने का फैसला किया है, जिसमें मेन सेंसर 64 मेगा पिक्सल का होगा।(IANS)


07-Sep-2020 3:23 PM 23

सियोल, 7 सितम्बर (आईएएनएस)| सैमसंग अपने फ्लैगशिप स्मार्टफोन गैलेक्सी एस20 के बजट मॉडल को इस साल की चौथी तिमाही में लॉन्च कर सकता है। कम्पनी ने कहा है कि कोरोना महामारी के दौरान वह अपने मोबाइल फोन्स की बिक्री में तेजी लाना चाहता है और अपने फ्लैगशिप फोन का बजट मॉडल उसकी इसी रणनीति का हिस्सा है।

इस नए मॉडल को गैलेक्सी एस20 एफई नाम दिया गया है। सैमसंग ने गैलेक्सी एस20 को इस साल फरवरी में लॉन्च किया था।

सूत्रों का कहना है कि गैलेक्सी एस20 एफई की कीमत तकरीबन 670 डॉलर हो सकती है। गैलेक्सी एस20 को 1000 डॉलर से कुछ अधिक कीमत के साथ लॉन्च किया गया था।

गैलेक्सी एस20 एफई के माध्यम से सैमसंग वैश्विक बाजार में एप्पल के साथ अपनी प्रतिस्पर्धा को नया रंग देगा क्योंकि एप्पल इसी साल नया आईफोन 12 सीरीज लॉन्च करने वाला है।
 


07-Sep-2020 2:24 PM 22

कांकेर, 7 सितंबर। जेपी इंटरनेशनल स्कूल के प्राचार्य रितेश चौबे ने बताया कि गुरु-शिष्य की परंपरा भारतीय संस्कृति में सबसे अहम है। 5 सितंबर, सर्वपल्ली डॉ. राधाकृष्णन के जन्म दिवस को शिक्षक दिवस के रूप में कोरोना को ध्यान में रखते हुए ऑनलाइन 4-5 सितंबर विभिन्न एवं विविध कार्यक्रम आयोजित कर  हर्षोल्लास के साथ मनाया गया।

श्री चौबे ने बताया कि विद्यार्थियों को जिसमें नर्सरी, यूकेजी, एलकेजी एवं कक्षा पहली के लिए 'हमारा शिक्षक/शिक्षिका-हमारा हीरोÓ, कक्षा दूसरी से 5वीं तक के विद्यार्थियों के लिए 'मैं एक शिक्षक हूंÓ तथा 6वीं-12वीं के लिए 'मन की बात-शिक्षकों के साथÓ  थीम पर आधारित मनोरंजक कार्यक्रम जिसमें-केक-कटिंग, डांस, रोलप्ले ऑफ टीचर, पोस्टर मेकिंग, ग्रीटिंग कार्ड मेकिंग, थैंक यू कार्ड फॉर टीचर, पोयम फॉर टीचर, कोलॉज मेकिंग, शेयर क्लास रूम मेमोरीज, थैंक यू टीचर आदि का आयोजन उत्साह के साथ किया गया। 

श्री चौबे ने बताया कि 6वीं की आदित्य रथीश ने अतिथियों एवं शिक्षकों के सम्मान में गणेश वंदना की मनमोहक प्रस्तुति दी। सामूहिक प्रार्थना एवं सु-मधुर गीतों की शानदार प्रस्तुति ने समां बांधा। संचालक शंकर गिदवानी ने बताया कि आज का दिन बेहद ही खास है क्योंकि आज जिनका सम्मान का दिन है और जिनका सम्मान हो रहा है, वे सब मेरे स्कूल परिवार का कीमति अंग है। इस अवसर पर संस्था के निदेशक प्रताप राय गिदवानी द्वारा संस्था को एक नई बुलंदियों तक पहुंचाने के लिए समस्त शिक्षकों को शुभकामना देते हुए उज्जवल भविष्य की कामना कर आशीर्वचन प्रदान किया गया।

श्री चौबे ने यह भी बताया कि निदेशक प्रताप राय गिदवानी, संस्था संचालक शंकर गिदवानी के साथ-साथ शैक्षिक सलाहकार गोविंद मुदलियार, संस्था प्राचार्य  रितेश चौबे, उप-प्राचार्य विजयन, जगदीश जसनानी, संस्था के समस्त शिक्षक-गण सहित बड़ी संख्या में विद्यार्थी-पालक एवं ऑनलाइन उपस्थित रहे।


07-Sep-2020 10:03 AM 26

नयी दिल्ली, छह सितंबर (भाषा) देश के सबसे बड़े वाणिज्यिक बैंक भारतीय स्टेट बैंक (एसबीआई) ने लागत कम करने के लिये एक स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति योजना (वीआरएस) तैयार की है। बैंक के लगभग 30,190 कर्मचारी इस योजना के पात्र हैं। अभी (मार्च 2020 तक) एसबीआई में कर्मचारियों की कुल संख्या 2.49 लाख है, जो साल भर पहले 2.57 लाख थी। सूत्रों के अनुसार, बैंक ने वीआरएस योजना का मसौदा तैयार कर लिया है और निदेशक मंडल की मंजूरी की प्रतीक्षा की जा रही है। प्रस्तावित योजना ‘दूसरी पारी टैप वीआरएस- 2020’ का लक्ष्य बैंक की लागत में कमी लाना और मानव संसाधन का अधिकतम इस्तेमाल करना है। यह योजना हर वैसे स्थायी कर्मचारियों के लिये है, जिन्होंने बैंक के साथ काम करते हुए 25 साल बिता दिये हैं या जिनकी उम्र 55 साल है। योजना एक दिसंबर को खुलेगी और फरवरी तक उपलब्ध रहेगी। उसके बाद वीआरएस आवेदन स्वीकार नहीं किये जायेंगे। प्रस्तावित पात्रता शर्तों के अनुसार, बैंक में कार्यरत 11,565 अधिकारी और 18,625 कर्मचारी योजना के पात्र होंगे। बैंक ने कहा कि अनुमानित पात्र लोगों में से यदि 30 प्रतिशत ने योजना का चयन किया तो जुलाई 2020 के वेतन के हिसाब से बैंक को 1,662.86 करोड़ रुपये की शुद्ध बचत होगी। योजना चुनने वाले कर्मियों को बचे कार्यकाल का 50 प्रतिशत अथवा पिछले 18 महीने में उन्हें कुल वेतन में से जो कम होगा, उसका एकमुश्त भुगतान किया जायेगा। इसके अलावा उन्हें ग्रेच्युटी, पेंशन, भविष्य निधि और चिकित्सा लाभ जैसी सुविधाएं भी मिलेंगी। हालांकि, बैंक यूनियन प्रस्तावित वीआरएस योजना के पक्ष में नहीं हैं। नेशनल ऑर्गनाइजेशन ऑफ बैंक वर्कर्स के उपाध्यक्ष अश्वनी राणा ने कहा, ‘‘एक ऐसे समय में, जब देश कोविड-19 महामारी की चपेट में है, यह कदम प्रबंधन के मजदूर विरोधी रवैये को दर्शाता है।’’

 


06-Sep-2020 6:33 PM 23

नई दिल्ली, 6 सितंबर। भारती एयरटेल ने रविवार को 499 रुपये से शुरू होने वाले एक नए एयरटेल एक्सस्ट्रीम बंडल प्लान को लॉन्च किया। एक्सस्ट्रीम बंडल प्लान एयरटेल एक्सस्ट्रीम फाइबर के साथ आएगा, जिसमें 1 जीबीपीएस की स्पीड, असीमित डेटा, 'एयरटेल एक्सस्ट्रीम एंड्रॉएड 4के टीवी बॉक्स' है, साथ ही इसमें सभी ओटीटी कंटेंट की सुविधाएं भी उपलब्ध हैं। एयरटेल एक्सस्ट्रीम बंडल, एयरटेल एक्सस्ट्रीम बॉक्स के माध्यम से सभी वीडियो प्रीमियर ऐप जैसे डिज्नी प्लस, हॉटस्टार, एमेजॉन प्राइम वीडियो और जी5 के लिए नि:शुल्क सुविधा प्रदान करता है।

एयरटेल एक्सस्ट्रीम बंडल ग्राहकों के लिए 7 सितंबर से उपलब्ध होगा।

भारती एयरटेल, होम्स निदेशक, सुनील तलदार ने अपने बयान में कहा, "एयरटेल एक्सस्ट्रीम भारत का प्रमुख मनोरंजन मंच है जो एक ही सॉल्यूशन में असीमित हाई-स्पीड ब्रॉडबैंड कनेक्टिविटी के साथ मनोरंजन का सबसे अच्छा साधन उपलब्ध कराता है।"

तालदार ने कहा, "इस रोमांचक इनोवेशन की पैठ बनाने के लिए हम आज अपनी योजनाओं को ग्राहकों के लिए और अधिक सुलभ बना रहे हैं।"

कंपनी के अनुसार, सभी एयरटेल एक्सस्ट्रीम फाइबर प्लान अब असीमित डेटा के साथ आते हैं और इसमें एयरटेल एक्सस्ट्रीम बॉक्स शामिल हैं, जिसकी कीमत 3,999 रुपये है।

ग्राहकों को सभी लाइव टीवी चैनलों के साथ-साथ वीडियो स्ट्रीमिंग ऐप्स की सुविधा घर पर कई मनोरंजन उपकरणों की जरूरत को खत्म करने में मदद करेगा।

इस एंड्रॉइड 9.0 संचालित स्मार्ट बॉक्स गूगल असिस्टेंट वॉयस सर्च की सुविधा के साथ एक इंटेलीजेंट रिमोट भी आता है, साथ ही प्लेस्टोर पर हजारों एप्लिकेशन तक पहुंच और ऑनलाइन गेमिंग भी देता है।

एयरटेल एक्सस्ट्रीम एंड्रॉइड 4के टीवी बॉक्स, एयरटेल एक्सस्ट्रीम ऐप से 550 टीवी चैनल और ओटीटी कंटेंट देता है, जिसमें 10,000 से अधिक फिल्में शामिल हैं और सात ओटीटी ऐप और पांच स्टूडियोज की सुविधा भी है।(IANS)


06-Sep-2020 5:40 PM 30

रायपुर, 6 सितंबर। एंडोक्रिनोलॉजी मानव शरीर में अंत:स्रावी तंत्र का अध्ययन है। यह तंत्र ग्रंथियों की एक प्रणाली है जो हार्मोन का स्राव करती है। हार्मोन रसायन होते हैं जो शरीर में विभिन्न अंग प्रणालियों के कार्यों को प्रभावित करते हैं। उदाहरणों में थायराइड हार्मोन, वृद्धि हार्मोन और इंसुलिन शामिल हैं।

एनएच एमएमआई नारायण सुपरस्पेशलिटी अस्पताल, रायपुर डॉ. शिवेंद्र वर्मा, एमडी (सामान्य चिकित्सा), डीएम (एंडोक्रिनोलॉजी) के साथ एंडोक्रिनोलॉजी सेवाओं को बढ़ाने की उम्मीद करता है। डॉ वर्मा इंडियन क्रिश्चियन मेडिकल कॉलेज, वेल्लोर में एंडोक्रिनोलॉजी में वरिष्ठ सलाहकार के रूप में सराहनीय अनुभव सहित 13 वर्षों के अनुभव के साथ एनएच एमएमआई नारायण सुपरस्पेशिलिटी अस्पताल, रायपुर में शामिल हुए हैं।

डॉ.शिवेन्द्र वर्मा, मधुमेह, थायराइड विकारों के कुशल प्रबंधन में विशेषज्ञ हैं, विशेष रूप से बाल विकास संबंधी अंत:स्रावी समस्याएं, यौवन, हड्डियों के चयापचय संबंधी विकार और अन्य अंत:स्रावी समस्याओं का अच्छा अनुभव रखतें है।  उन्होंने युवा शुरुवाती मधुमेह विशेष रूप से अग्नाशयी मधुमेह और पिट्यूटरी ट्यूमर पर शोध किया हैं। मेडिसिन और इमरजेंसी सर्विसेज को संभालने में भी उनकी उतनी ही अच्छी विशेषज्ञता है।


06-Sep-2020 5:36 PM 22

रायपुर, 6 सितंबर। एडवरटाइजिंग एजेंसीज एसोसिएशन ऑफ छत्तीसगढ़ ने त्रिवर्षीय कार्यकारणी सदस्यों से चर्चा कर नए युथ विंग की कमेटी बनाने का निर्णय लिया गया है जिसमें अनंत जैन (अतुल पब्लिसिटी), ऋषभ जैन (शांति विजय एडवरटाइजिंग), सिद्धार्थ जैन (राजेश पब्लिसिटी) व मनिस रजा (उत्कल एडरवरटाइजर) है और होडिंर्ग कमेटी में प्रवीण देशलहरा (साई पब्लिसिटी), मनमोहन पारेश (शांतिविजय एडवरटाइजर), शिवजी भाई (एरोज एडवरटाइजर), अजय जैन (अजय पब्लिसिटी) व प्रभोद जैन (शांतिनाथ पब्लिसिटी) नियुक्त किए गए, उक्ताशय जानकारी एसोसिएशन के प्रेसिडेंट ओंकार सिंह ने विज्ञप्ति में दी।


05-Sep-2020 4:48 PM 102

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

 कुम्हारी, 5 सितंबर। फ्यूचर द यूथ फाउंडेशन ने युवाओं के लिए ऑनलाइन ब्यूटी कॉन्टेस्ट मि. एवं मिस फ्यूचर द यूथ फाउंडेशन मेशअप आईकॉन 2020 का आयोजन किया था, जिसका भव्य समापन ऑनलाइन माध्यम से विजेताओं की घोषणा के साथ हुआ।

फाउंडेशन के  अध्यक्ष  रघुवीर यादव ने बताया कि वर्तमान कोरोना महामारी की परिस्थितियों को ध्यान में रखते हुए इस प्रतियोगिता के फिनाले का आयोजन जूम ऐप के द्वारा ऑनलाइन किया गया था। यह छत्तीसगढ़ में अपनी तरह की पहली ऑनलाइन प्रतियोगिता थी, जो  इतने बड़े स्तर पर की गई थी। ग्रैंड फिनाले में महिला वर्ग में सबको पीछे छोड़ते हुए मिस फ्यूचर द यूथ फाउंडेशन मेशअप आईकॉन 2020 का खिताब स्वाति चंद्राकर तथा पुरुष वर्ग में मि. फ्यूचर द यूथ फाउंडेशन मेशअप आईकॉन 2020 का खिताब आशीष साहू ने जीता। इसके अलावा फस्र्ट रनर अप महिला वर्ग आकृति चंद्राकर, दूसरे के लिए तनिष्का ठाकुर व पुरुष वर्ग में चंद्र शिवम सिंह रहे। बेस्ट कॉन्फिडेंट - मुस्कान घिंनतानी , सबसे बढिय़ा मुस्कान - प्रियंका साहू, दिन का सबसे बढिय़ा उत्तर - तृप्ति खिचारिया, बेस्ट वॉक - शिवाली भोसले, बेस्ट हेयर स्टाइल-वैष्णवी गंगने, शो में बेस्ट आंसर - रितु ठाकुर को भी सम्मानित किया गया।

फिनाले में पहुंचे सभी प्रतियोगियों ने अपने घर से ही दक्षिण भारतीय, मराठी, बंगाली, पंजाबी, छत्तीसगढ़ी, गुजराती पारंपरिक वस्त्रों, साज सज्जा और आभूषणों के साथ अपना प्रदर्शन दिया। ग्रैंड फिनाले में जज के तौर पर  शीतल उपाध्याय  (मिसेज इंडिया वर्ल्ड वाइड टॉपर), दीपा मेश्राम  (अदा मिसेज इंडिया क्लासिक-2020), नम्रता प्रियदर्शनी  (मिस इंडिया 2019) उपस्थित रहीं। मुख्य अतिथि  के रूप में संस्था के संरक्षक व वरिष्ठ उपाध्यक्ष (प्रकाश इंडस्ट्रीज रायपुर)  रवीन्द्र सिंह  , मिथलेश  यादव (संयोजक), मिस वीना सेंद्रे  (मिस इंटरनेशनल क्वीन-2019), फैशन डिजाइनर  सौरभ यादव, भाव्या चंद्राकर  (राष्ट्रीय व अंतरराष्ट्रीय क्लासिक कलाकार) ऑनलाइन के माध्यम से मौजूद रहे। कु. आरू साहू  ( बाल लोक गायिका व ब्रांड एंबेसडर फ्यूचर द युथ फाउंडेशन ) एवं अनिल सिन्हा (फूफू के गोठ फेम) ने  वीडियो कॉन्फें्रसिंग के जरिए विजेताओं की घोषणा  की।

फ्यूचर द यूथ फाउंडेशन के संरक्षक रविन्द्र सिंह ने सभी विजेताओं को बधाई दी तथा उज्जवल भविष्य की कामना करते हुए कहा कि युवा ही देश का भविष्य हैं, इसलिए जरूरी है कि युवा शक्ति को आगे बढ़ाया जाए।  प्रत्येक क्षेत्र में उन्हें आत्मनिर्भर बनाया जाए।

संयोजक मिथिलेश यादव ने विजेताओं को बधाई दी एवं सभी के उज्जवल भविष्य की कामना की। संस्था के अध्यक्ष रघुवीर यादव ने भी सभी विजेताओं को बधाई देते हुए कहा कि संस्था के कार्यक्रम का मुख्य उद्देश्य युवाओं में छिपी हुई प्रतिभा को उभारना और उन्हें सही मंच देना है। यही कारण है कि हमारी संस्था द्वारा समय-समय पर इस तरह के  प्रतियोगिताओं का आयोजन करती आ रही है और आगे भी करती रहेगी। हमारी कोशिश है कि देश के युवा विश्व स्तर पर अपना प्रदर्शन करें। हमारी संस्था के हर सदस्य ने इस कार्यक्रम को सफल बनाने के लिए जी-तोड़ मेहनत की है। हम संस्था से जुड़े सभी सदस्यों का धन्यवाद करते हंै। मुख्य आयोजकों में संस्था के अध्यक्ष रघुवीर यादव सहित, उपाध्यक्ष स्नेहा बांधे, प्रोग्राम कोऑर्डिनेटर भास्कर साहू, दिव्या घोंघरे  के साथ पूरी टीम की महत्वपूर्ण भूमिका रही है।

ज्ञात हो कि फ्यूचर द यूथ फाउंडेशन पिछले  कई वर्षों से युवाओं के लिए  कार्यक्रम करती आ रही है। छत्तीसगढ़ी संस्कृति की धरोहर को संजोए रखने के लिए स्थानीय कलाकारों को अवसर  देती आई  है  तथा समय-समय पर उनका सम्मान भी  करती आई हंै।


05-Sep-2020 3:03 PM 22

रायपुर, 5 सितंबर।  कन्फेडरेशन ऑफ आल इंडिय़ा ट्रेडर्स (कैट) के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष अमर पारवानी, प्रदेश कार्यकारी अध्यक्ष मगेलाल मालू, प्रदेश कार्यकारी अध्यक्ष विक्रम सिंहदेव, प्रदेश महामंत्री जितेन्द्र दोशी, प्रदेश कार्यकारी महामंत्री परमानंद जैन, प्रदेश कोषाध्यक्ष अजय अग्रवाल एवं प्रदेश प्रवक्ता राजकुमार राठी ने बताया कि देश में कोरोना ने 5 महीनों में भारतीय खुदरा व्यापार को लगभग 19 लाख करोड़ रुपये के व्यापार घाटे का सामना करना पड़ा है। 

श्री पारवानी ने बताया कि इसके परिणामस्वरूप घरेलू व्यापार में इस हद तक उथल-पुथल हुई है कि लॉकडाउन खुलने के 3 महीने के बाद भी देश भर में व्यापारी बड़े वित्तीय संकट, और दुकानों पर ग्राहकों के बहुत कम आने से बेहद परेशान हैं जबकि दूसरी तरफ व्यापारियों को अनेक प्रकार की वित्तीय जिम्मेदारियों को भी पूरा करना है वहीं ई-कॉमर्स कंपनियां गैर अनुमति वाली वो सब तरीके अपना रही हैं जिससे देश के व्यापारियों को व्यापार से बाहर किया जा सके।

श्री पारवानी ने बताया कि रिटेल बाजार में पैसे का संकट पूरी तरह बरकरार है। नवम्बर-दिसंबर के दिए हुए माल का भुगतान जो फरवरी-मार्च तक आ जाना चाहिए था वो भुगतान अभी तक बाजार में नहीं हो पाया है जिसके कारण व्यापार का अस्तित्व ही खतरे में पड़ गया है। कैट ने यह आंकड़े जारी करते हुए बताया कि देश भर में रिटेल बाजार विभिन्न राज्यों के 20 प्रमुख शहरों से आँका जाता है क्योंकि यह शहर राज्यों में सामान वितरण का बड़ा केंद्र हैं।  इन शहरों से बातचीत कर यह आंकड़े लिए गए हैं जिनसे यह साफ दिखाई पड़ता है कोरोना ने किस कदर देश के व्यापार को प्रभावित किया है जो फिलहाल संभालने की स्थिति में नहीं है।

श्री पारवानी ने कहा कि एक अनुमान के अनुसार देश के घरेलू व्यापार को अप्रैल में लगभग 5 लाख करोड़ का जबकि मई में लगभग साढ़े चार लाख करोड़ रुपये और जून महीने में  लॉकडाउन हटने के बाद लगभग 4 लाख करोड़ था तथा जुलाई में लगभग 3 लाख करोड़ तथा अगस्त में 2 .5 लाख करोड़ के व्यापार का घाटा हुआ है। 


श्री पारवानी ने केंद्र एवं सभी राज्य सरकारों से आग्रह किया है की वो व्यापारियों की वर्तमान स्थिति को देखें और देश के रिटेल व्यापार को दोबारा स्थापित करने के लिए आवश्यक कदम उठायें। यदि देश में 20 प्रतिशत दुकानें बंद हो गई तो इसका सबसे बड़ा खामियाजा देश की अर्थव्यवस्था को भुगतना पड़ेगा वहीं राज्य सरकारों के आर्थिक बजट भी पूरी तरह हिल जाएंगे। 

श्री पारवानी ने यह भी बताया कि कैट ने केंद्रीय वित्त मंत्री से आग्रह किया कि फिलहाल व्यापारियों पर ब्याज देने का दबाव बैंकों द्वारा न डाला जाए इसके लिए बैंकों को निर्देशित करना आवश्यक है। सरकारें अन्य क्षेत्रों के कर्जे माफ करती हैं, हम तो केवल ब्याज अभी न लिया जाए और किसी भी किस्म की पेनल्टी व्यापारियों पर न लगाई जाए, केवल इतनी मांग कर रहे हैं।