छत्तीसगढ़ » कोरिया

02-Feb-2021 7:55 PM 44

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

कोरिया/चिरमिरी, 2 फरवरी । शहर के युवा जगत को नशे से बचाने की एक अनोखी परम्परा की शुरवात को देखकर चहुंओर सराहना हो रही है।  शहर के हर वार्ड में ओपन जिम स्थापित होने के अंतिम कगार पर दिख रहा है । जिसकी जानकारी मिलते ही एमआईसी पार्षद सोगरा बेगम ने मनेंद्रगढ़ विधान सभा के विधायक डॉ.विनय जायसवाल एवं नगर निगम चिरमिरी की महापौर कंचन जायसवाल को धन्यवाद देते हुए पूरे वार्ड की ओर से उनका आभार व्यक्त किया है । जिनके आदेश पर उनके वार्ड को इतनी बड़ी सौगात दी।

शहर की एमआईसी पार्षद सोगरा बेगम ने बताया कि बीते दो विधान सभा चुनाव के उपरांत पहली बार क्षेत्र को एक ऐसा निर्वाचित जनप्रतिनिधि के साथ एक चिकित्सक के रूप में कार्य करने वाले विधायक के चयन से विधान सभा को एक नई ऊर्जा मिली है । जो लगातार उनके दौरे एवं आयोजन स्थल पर देखने को मिलती रहती है । इसी तारतम्य में वह खुद भी अपने आपको स्वस्थ्य रखने के लिए प्रात: दो से तीन घण्टे जिम करते नजर आते है । जिसको शहर में उतरने के लिए उनके द्वारा और शहर के युवाओं को नशे की गर्त से बाहर धकेलने के लिए अब नगर के पुरे वार्डो को अपने तर्ज पर रख (ओपन जिम ) की बड़ी सौगात देते दिख रहे है ।  इन सौगातों का आधा (श्रेय) शहर की महिला महापौर कंचन जायसवाल को भी जाता है जो लगातार विधायक के साथ कदम से कदम मिला कर चल रही है । जिसका हम सभी वार्ड वासी आभार व्यक्त करते हुए उनका धन्यवाद ज्ञापित करते है ं।

इस सौगात से शहर के निर्वाचित जनप्रतिनिधि खुश है तो वही युवाओं के साथ शहर की महिला शक्ति भी इन कार्यो की सराहना करने से पीछे नहीं हट रही जो शहर को एक अलग पहचान देने के रूप में देखी जा रही है।


02-Feb-2021 7:49 PM 41

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

मनेन्द्रगढ़, 2 फरवरी। केंद्रीय चिकित्सालय मनेंद्रगढ़ के पूर्व चौकीदार रामकिशुन ने चिकित्सालय में पदस्थ कार्मिक प्रबंधक द्वारा 25 हजार रूपए रिश्वत मांगे जाने की लिखित शिकायत मनेंद्रगढ़ पुलिस थाने में दर्ज कराई है।

शिकायतकर्ता ने कहा कि केंद्रीय चिकित्सालय मनेंद्रगढ़ में वह चौकीदार के पद पर कार्यरत रहा। अक्टूबर 2020 में नौकरी से वह सेवानिवृत्त हुआ है। उसने कहा कि केंद्रीय चिकित्सालय मनेंद्रगढ़ के कार्मिक प्रबंधक सुमित सैनी द्वारा भविष्य निधि, पेंशन तथा ग्रेज्युटी भुगतान के लिए उससे 25 हजार रूपए की मांग की जा रही है। शिकायतकर्ता ने कहा कि अपने स्वत्वों के भुगतान के लिए वह पिछले 3 माह से परेशान है। उसने आरोपी के विरूद्ध कार्रवाई किए जाने की मांग की है। सेवानिवृत्त चौकीदार रामकिशुन ने इसकी शिकायत मुख्य चिकित्साधिकारी केंद्रीय चिकित्सालय मनेंद्रगढ़ से भी करते हुए कार्रवाई की मांग की है।


02-Feb-2021 7:39 PM 44

मनेन्द्रगढ़, 2 फरवरी। ग्राम पंचायत सेमरा निवासी इंदल प्रसाद कुर्रे ने रोजगार सहायक के द्वारा अनियमितता बरते जाने की शिकायत कलेक्टर से की है।

शिकायतकर्ता ने कहा कि जनपद पंचायत मनेंद्रगढ़ के ग्राम पंचायत सेमरा के रोजगार सहायक भानू प्रताप सिंह के द्वारा मनरेगा के कार्यों में फर्जी हाजरी भरकर शासन के पैसों का दुरूपयोग किया जा रहा है। रोजगार सहायक के द्वारा विगत वर्षों से ग्राम पंचायत सेमरा में चल रहे सभी रोजगार गारंटी कार्य में मनमानी तरीके से कुछ व्यक्ति जो ग्राम पंचायत से करीब 55 किलोमीटर दूर निवास करते हैं तो वहीं कुछ जो वर्षों से ग्राम पंचायत सेमरा में नहीं हैं मस्टर रोल में उनकी हाजरी भरकर शासन के पैसे का दुरूपयोग किया गया है। शिकायतकर्ता ने कलेक्टर से रोजगार गारंटी में चल रहे कार्यों की जांच करा उचित कार्रवाई किए जाने की मांग की है।


02-Feb-2021 7:38 PM 30

मनेन्द्रगढ़, 2 फरवरी। रेलवे प्रशासन द्वारा दक्षिण-पूर्व मध्य रेलवे बिलासपुर मंडल के अंतर्गत उदलकछार-दर्रीटोला स्टेशनों के मध्य 947/13-14 पर स्थित मानव सहित समपार संख्या एबी-31 नागपुर फाटक को सुरक्षागत कारणों से 3 फरवरी बुधवार से सडक़ यातायात के लिए स्थायी रूप से बंद करने का निर्णय लिया गया है। सडक़ यातायात हेतु वैकल्पिक मार्ग की व्यवस्था पास में ही 948/02-03 पर बनाए गए लिमिटेड हाइट सबवे से सडक़ यातायात चालू रहेगा।


02-Feb-2021 5:22 PM 36

डॉक्टरों की कमी से मरीज हो रहे परेशान

चन्द्रकांत पारगीर

बैकुंठपुर, 2 फरवरी (‘छत्तीसगढ़’)। कोरिया जिला चिकित्सालय में कई वर्ष बाद भी चिकित्सकों की भारी कमी बनी हुई है। इस दौरान जिला चिकित्सालय बैकुण्ठपुर में बेड की संख्या बढ़ाई गई लेकिन उसके अनुपात में चिकित्सकों की संख्या नहीं बढाई गई, जिसके चलते मरीजों को भारी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है।

इस संबंध में जिला अस्पताल के सीएस डॉ इस के गुप्ता का कहना है कि डॉक्टरों की कमी तो बहुत है, कम डॉक्टरों के बावजूद मरीजों की परेशानी कम हो, इसका ख्याल रखा जा रहा है।
आदिवासी बाहुल्य कोरिया जिले के दूरस्थ क्षेत्रों से लोग बेहतर उपचार के लिए जिला चिकित्सालय पहुूचते है जहां पहुंचने के बाद मरीजों व उनके परिजनों को कई तरह की दिक्कतों का सामना आज भी करना पड़ रहा है। एक समय जिला खनिज न्यास मद से कई चिकित्सकों की नियुक्ति की गई थी लेकिन नियुक्त चिकित्सकों में से पूर्व में कई चिकित्सकों को सेवा हटा ली गई जिसके बाद से परेशानी और बढ़ गई है। 

उल्लेखनीय है कि पहले जिला चिकित्सालय में 100 बिस्तर था जिसे बाद में अपग्रेड करके  150 बिस्तरीय कर दिया गया लेकिन चिकित्सक व चिकित्सा स्टॉफ उस अनुपात में नहीं बढ़ाए गए जिस कारण परेशानी बढ़ गई है। सीमित स्टॉफ के भरोसे किसी तरह से जिला चिकित्सालय का प्रबंध किया जा रहा है जिसमें कई तरह की परेशानियॉें का सामना आए दिन करना पड़ रहा है। इसके विपरीत पड़ोसी जिला सूरजपुर कोरिया जिले के मुकाबले कई वर्ष बाद अस्तित्व में आया और वहां के जिला चिकित्सालय में कोरिया जिला चिकित्सालय के मुकाबले दुगुने से ज्यादा  53 की संख्या में चिकित्सक पदस्थ हैं जबकि वहां यहां के मुकाबले बेड  की संख्या भी कम है। 

विभागीय सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार जिला चिकित्साल में अभी कम से कम 35 चिकित्सकों की जरूरत है। जानकारी के अनुसार इसके लिए लगातार पत्राचार भी विभागीय तौर पर किया जाता रहा है बावजूद इससे चिकित्सकों की कमी दूर नहीं की जा सकी है।  
जिले के सबसे बड़े सरकारी अस्पताल जिला चिकित्सालय है जहां जिले भर के लोग बेहतर उपचार के लिए रोज पहुंचते हैं। 150 बिस्तर के जिला चिकित्सालय में वर्तमान में वैसे तो 23 चिकित्सक ही पदस्थ हैं जिनमें से 4 चिकित्सक यहां से जा चुके हैं। डॉ आरती ने काम छोड़ दिया है जबकि डॉ सुरेंद्र पैकरा पटना बीएमओ की जिम्मेदारी संभाल रहे हैं वहीं डॉ. फिरोज पीजी करने बाहर गए हैं। वहीं एक चिकित्सक डॉ. सराठिया लंबे समय से बीमार चल रहे हैं। इस तरह से जिला चिकित्सालय में 19 चिकित्सक बचे हैं। सात चिकित्सक क्लास वन चिकित्सक की केटेगरी में है जो सामान्य रूप से जनरल ड्यूटी नहीं करते। इस तरह से कुल 12-13 चिकित्सक ही सामान्य रूप से ड्यूटी करने वाले शेष बचे हंै ऐसे में150 बिस्तरीय जिला चिकित्सालय में भती मरीजों की देख रेख का जिम्मा सीमित चिकित्सकों के हाथो में है। जिनमें 9 पुरूष तथा 5 महिला चिकित्सक सामान्य ड्यूटी कर रहे हैं। ऐसे में समझा जा सकता है कि किस तरह की परेशानियों के बीच जिला चिकित्सालय का संचालन किया जा रहा है।

अब तक एनस्थिसिया चिकित्सक नहीं हो चुके पदस्थ
जिला चिकित्सालय कोरिया में वैसे तो कई चिकित्सकों की कमी बनी है लेकिन सबसे महत्वपूर्ण एनस्थिसिया चिकित्सक की कमी लंबे समय से महसूस की जा रही है। यही वजह है कि विशेषज्ञ चिकित्सक यहां होने के बावजूद नियमित रूप से आपरेशन  नही हो पा रही है। 
ज्ञात हो कि स्थानीय लोगों द्वारा बार बार यह मांग उठाते रहे कि जिला चिकित्सालय में एनस्थिसिया चिकित्सक की भर्ती की जाए। यहां सर्जन चिकित्सक भी मौजूद हैं लेकिन महत्वपूर्ण एनस्थिसिया चिकित्सक के नहीं होने के कारण नियमित रूप से ऑपरेशन भी नहीं हो रहे हैं। जानकारी के अनुसार मनेंद्रगढ के एक एनस्थिसिया चिकित्सक की सेवाएं ली जाती है जिनके द्वारा शुल्क लिया जाता है। 

मरीज के परिजन को भी शुल्क देना पड़ता है। यदि यहां उक्त चिकित्सक पदस्थ रहता तो प्रतिदिन सर्जरी के साथ आपातकाल में ऑपरेशन की सुविधा उपलब्ध रहता जबकि ऑपरेशन के लिए ऑपरेशन थियेटर के साथ सभी तरह की सुविधाएं मौजूद है।

जिला चिकित्सालय में एक ही सर्जिकल चिकित्सक
जिला चिकित्सालय बैकुण्ठपुर में वैसे को कई तरह के विशेषज्ञ चिकित्सकों की अभी भी कमी है जिनमें से प्रमुख रूप से सर्जरी चिकित्सक की भी अभी नितांत जरूरी है। जानकारी के अनुसार जिला चिकित्सालय में अभी खनिज न्यास से एक ही सर्जन चिकित्सक कार्यरत है। जिसके तहत भी परेशानी बनी हुई है। वहीं अवकाश पर या न्यायालय पेशी पर चले जाने के बाद और भी परेशानी बढ़ जाती है। ऐसे में जिला चिकित्सालय में सर्जरी चिकित्सक की पदस्थापना एक और करना भी जरूरी है।

रेडियोलॉजिस्ट नहीं और सिटी स्कैन मशीन शुरू करने की तैयारी
कोरिया जिला चिकित्सालय में रेडियोलॉजिस्ट नहीं है सिर्फ तकनीशियनों के भरोसे ही एक्सरे संचालित हो रही है वहीं दूसरी ओर यह जानकारी मिल रही है कि जिला चिकित्सालय में जल्द ही सिटी स्कैन मशीन  भी शुरूआत करने की तैयारी चल रही है। उल्लेखनीय है कि  जल्द ही सिटी स्कैन मशीन की शुरूआत होने की संभावना जताई जा रही है। 

गौरतलब है इसके पूर्व जिला चिकित्साल में गत दिवस डायलिसिस की सुविधा शुरू हो गई है। बताया जाता है कि प्रतिदिन यहां चार-पांच की संख्या में रोगी डायलिसिस कराने पहुंच रहे है। ऐसे में सिटी स्कैन मशीन शुरू कर दी जाती है तो इस सुविधा का लाभ जिले के लोगों का मिल सकता है। वर्तमान में जिले मे  निजी अस्पताल में ही सिटी स्कैन की सुविधा है जहां आर्थिक भार ज्यादा उठाना पड़ता है।


02-Feb-2021 4:50 PM 42

मनेन्द्रगढ़, 2 फरवरी। अरविंदो सोसायटी के माध्यम से शासकीय कन्या उच्चतर माध्यमिक विद्यालय ऑडिटोरियम में जिला शिक्षा अधिकारी के द्वारा विकासखंड मनेंद्रगढ़ के प्राथमिक शाला शंकरगढ़ में.पदस्थ शिक्षिका मीना जायसवाल का सम्मान किया गया।

उल्लेखनीय है कि शिक्षिका जायसवाल के द्वारा विगत 3 माह से इनोवेटिव पाठशाला वैकल्पिक शैक्षणिक कलेंडर के माध्यम से छात्रों को ऑनलाइन व ऑफलाइन पढ़ाया जा रहा है। शिक्षा में गुणवत्ता लाने के लिए शिक्षिका के द्वारा किये जा रहे अनवरत प्रयासों को मंच के माध्यम से सम्मानित कर सराहा गया। कार्यक्रम में जिला शिक्षा अधिकारी संजय गुप्ता, डीएमसी अजय मिश्रा, बीईओ बैकुंठपुर देवेश जायसवाल, एपीसी राजकुमार चाफेकर एवं अरविंद सोसाइटी रायपुर के डिस्ट्रिक्ट कोऑर्डिनेटर पवन कुमार दुबे थे। 

इस दौरान डीईओ ने अन्य शिक्षकों को  भी सम्मानित किया।
 


02-Feb-2021 4:49 PM 38

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
मनेन्द्रगढ़, 2 फरवरी।
मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी कोरिया के मार्गदर्शन में शासकीय सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र मनेंद्रगढ़ में ब्लाक मेडिकल ऑफिसर डॉ. सुरेश तिवारी के नेतृत्व में मोतियाबिंद ऑपरेशन प्रारंभ कर दिया गया है।

ज्ञात हो कि कोविड-19 के कारण पिछले 10 माह से नेत्र ऑपरेशन बंद थे,  जिसे पुन: प्रारंभ कर 14 मरीजों का ऑपरेशन डॉ. आरएस सेंगर नेत्र चिकित्सक द्वारा किया गया। मोतियाबिंद ऑपरेशन प्रारंभ होने से लोगों को लाभ मिलेगा व नि:शुल्क ऑपरेशन का लाभ ले सकेंगे। सीमित संख्या में ही ऑपरेशन किया जाएगा। इस सत्र में दूरस्थ ग्रामीण अंचल के दोनों आंखों से मोतियाबिंद पीडि़त मरीजों का प्राथमिकता से ऑपरेशन कराया गया है। इसमें ग्रामीण क्षेत्र की 18 वर्षीया मंती का भी मोतियाबिंद ऑपरेशन किया गया। 

ऑपरेशन में आरडी दीवान, स्टाफ नर्स अनीता लाल, किरण वर्मा, रविंद्र मिश्रा, दशरथ राम, रतिमा, प्रियंका साहू, आरपी गौतम, मोमना, पुष्पेंद्र पटेल, सुधीर, प्यारे लाल, गिरधारी एवं लता साहू ने 4 दिनों तक अपना सक्रिय योगदान प्रदान किया।
 


01-Feb-2021 5:36 PM 38

छत्तीसगढ़ संवाददाता

मनेन्द्रगढ़, 1 फरवरी। नगर पालिका के सांस्कृतिक भवन में वन-सीजी ऑनलाइन प्रतियोगिता के पुरस्कार वितरण समारोह का आयोजन किया गया जिसमें बेहतर प्रदर्शन करने वाले प्रतिभागियों को पुरस्कृत किया गया।

उल्लेखनीय है कि छत्तीसगढ़ शासन द्वारा राज्य में वन-सीजी ऑनलाइन प्रतियोगिता का आयोजन किया गया था जिसमें निकाय क्षेत्रांतर्गत ऑनलाइन प्रतियोगिता में विभिन्न श्रेणियों में प्रतिभागियों ने भाग लिया। प्रतियोगिता में उत्कृष्ट प्रदर्शन करने वाले विजेता प्रतिभागियों को सम्मानित किया गया। विजेता प्रतिभागियों में ड्राईंग प्रतियोगिता में जसमीत कौर प्रथम, चंदा भगत द्वितीय, सुमित टोप्पो तृतीय, संगवारी नाचा में रितेश महतो प्रथम, रिया खरे द्वितीय, आरती श्रीवास्तव तृतीय, 1 सीजी क्वीज में सावित्री प्रथम, आयशा मंसूरी द्वितीय, प्रशांत शर्मा तृतीय रहे। स्वच्छ संस्थान प्रतियोगिता (विद्यालय) के लिए विजय इंग्लिश मीडियम स्कूल प्रथम व ब्लॉसम एकेडमी द्वितीय, स्वच्छ संस्थान प्रतियोगिता (होटल) में हजारी होटल प्रथम, तिवारी रेस्टोरंट द्वितीय, स्वच्छ संस्थान प्रतियोगिता (सामाजिक क्षेत्र) में मारवाड़ी समाज प्रथम, छग चेंबर ऑफ कॉमर्स द्वितीय,

स्वच्छ संस्थान प्रतियोगिता (मंदिर) में श्री राम मंदिर प्रथम, जैन मंदिर द्वितीय, स्वच्छ संस्थान प्रतियोगिता (शासकीय कार्यालय) में अनुविभागीय अधिकारी (राजस्व) कार्यालय प्रथम, तहसील कार्यालय द्वितीय, स्वच्छ संस्थान प्रतियोगिता (चिकित्सालय) में शासकीय सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र प्रथम व  श्री राम आई हॉस्पिटल को द्वितीय स्थान प्राप्त हुआ। इसी प्रकार स्वच्छता चैंपियन में शिवलाल, विजय कुमार, सुभाग सिंह, प्रियम, देवंती बड़ा व सुशीला बाग ने बाजी मारी।

 

सभी विजेता प्रतिभागियों को प्रमाण-पत्र व पुरस्कार प्रदान कर सम्मानित किया गया। नपाध्यक्ष प्रभा पटेल सहित उपस्थित जनप्रतिनिधियों एवं नागरिकों ने विजेता प्रतिभागियों को बधाई दी।  इस अवसर पर नपा उपाध्यक्ष कृष्णमुरारी तिवारी, सीएमओ एचडी रात्रे, सांसद प्रतिनिधि राजकुमार जैन, पार्षद श्यामसुंदर पोद्दार, अजुमद्दीन अंसारी, जमील शाह, रूबी पासी, सईद खान, सुनैना विश्वकर्मा, एल्डरमेन ज्योति मजूमदार एवं गिरधर जायसवाल, जसपाल कालरा, रघुनाथ पोद्दार,

संजय सेंगर सहित बड़ी संख्या में गणमान्य नागरिक उपस्थित रहे।


31-Jan-2021 7:51 PM 42

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

मनेन्द्रगढ़, 31 जनवरी। नगर पंचायत झगराखंड में रहने वाले एक शख्स ने नगर पंचायत अध्यक्ष पर आरोप लगाया है कि निकाय चुनाव में उसने अध्यक्ष के खिलाफ चुनाव लड़ा था जिसकी वजह से उसे अनेकों प्रकार से परेशान किया जा रहा है। वर्षों से काबिज उसकी जमीन पर जेसीबी चला दी गई।  न्यायालय से स्थगन आदेश के बावजूद उसे नगर पंचायत से अतिक्रमण हटाने नोटिस जारी कर दिया गया। पेयजल जैसी बुनियादी सुविधा तक उससे छीन ली गई। यही नहीं अध्यक्ष के समर्थकों द्वारा उसके परिजनों के साथ गाली-गलौज और मारपीट की गई। पुलिस में रिपोर्ट भी की गई, लेकिन आरोपियों के खिलाफ कोई कार्रवाई होना तो दूर उल्टे आरोपियों की रिपोर्ट पर उनके खिलाफ ही मुकदमा दर्ज कर लिया गया।

नगर पंचायत झगराखंड वार्ड क्र. 1 में रहने वाले संतोष वर्मा पिता नंदन वर्मा ने बताया कि उसने वर्तमान नगर पंचायत अध्यक्ष रजनीश पांडेय के खिलाफ वार्ड क्र. 1 से भाजपा की टिकट पर पार्षद का चुनाव लड़ा था जिसकी वजह से अध्यक्ष के द्वारा अब उसे परेशान किया जा रहा है। उसने बताया कि घटना दिवस 11 जनवरी को वह घर पर नहीं था। घर पर उसकी मां कुसुम बाई, बहन गीता वर्मा व पत्नी थी। सुबह 10 बजे वार्ड क्र. 1 गेल्हाझिरिया झगराखंड निवासी दीनानाथ सेन व विनेश सेन अवैध रूप से जेसीबी मशीन लेकर पहुंचे और घर के सामने उसके कब्जे की खाली जमीन जिसमें बाड़ी थी और हरे-भरे पेड़ लगे हुए थे यह कहते हुए नष्ट कर दिए गए कि उक्त जमीन पर नगर पंचायत द्वारा भवन बनाया जाएगा।

जेसीबी से जमीन समतलीकरण कर दिए जाने की शिकायत झगराखंड पुलिस थाने में करने पर उन्हें न्यायालय की शरण में जाने के लिए कह दिया गया। संतोष ने आरोप लगाया कि उसी दिन रात 9 बजे उसकी पत्नी लीला घर के बाहर खड़ी थी आरोपी विनेश सेन वहां आया और उसके साथ गाली-गलौज और मारपीट की। घटना की रिपोर्ट पर पुलिस द्वारा आरोपी के खिलाफ अपराध दर्ज किया गया, लेकिन कोई कार्रवाई नहीं की गई, उल्टे आरोपी की रिपोर्ट पर पीडि़त परिवार के खिलाफ भी मुकदमा दर्ज कर लिया गया।

संतोष ने आरोप लगाया कि 28 जनवरी की शाम 6 बजे आरोपी विनेश सेन झगराखंड पुलिस थाने में पदस्थ एक पुलिसकर्मी जायसवाल को अपने साथ लेकर उसके घर पहुंचा और भूमि से कब्जा हटाने के लिए उसे डराया-धमकाया गया।

स्थगन आदेश के बावजूद नोटिस भेजा

पीडि़त संतोष वर्मा ने बताया कि आरोपियों के बढ़ते हौसले और पुलिस के ढुलमुल रवैए को देखते हुए उसके परिवार ने तहसील न्यायालय का दरवाजा खटखटाया गया जहां 15 जनवरी को न्यायालय तहसीलदार के द्वारा स्थगन आदेश जारी करते हुए दीनानाथ सेन व विनेश सेन को निर्माण कार्य रोकने एवं अपना पक्ष प्रस्तुत करने हेतु 28 जनवरी को न्यायालय में उपस्थित होने के लिए कहा गया, लेकिन न्यायालय के स्थगन आदेश के बावजूद 19 जनवरी 2021 को मुख्य नगर पालिका अधिकारी झगराखंड की ओर से अतिक्रमण हटाने के संबंध में नोटिस जारी कर दिया गया।

यही नहीं पेयजल के लिए उसके घर में लगे नल कनेक्शन को भी काट दिया गया है। संतोष वर्मा ने आरोप लगाया कि उसे अनेकों प्रकार से परेशान करने के पीछे नगर पंचायत अध्यक्ष का हाथ है। उसने कहा कि आरोपी अध्यक्ष के समर्थक हैं और उनकी सह पर उसे और उसके परिवार को परेशान किया जा रहा है।

हमने जेसीबी चलाने के लिए नहीं कहा - सीएमओ

नगर पंचायत झगराखंड की मुख्य नगर पालिका अधिकारी अंजना वाइकिल्फ ने कहा कि सार्वजनिक आवागमन का रास्ता अवरूद्ध होने की जानकारी पर हमने अतिक्रमण हटाने के लिए नोटिस जारी किया था, क्योंकि बंद किए गए रास्ते के बगल की भूमि में सार्वजनिक शौचालय निर्माण कार्य प्रस्तावित है, लेकिन हमें इसकी जानकारी नहीं थी कि पूर्व में न्यायालय से कोई स्थगन आदेश जारी हुआ है। साथ ही सीएमओ ने कहा कि न तो हमने जेसीबी चलाने के लिए कहा था और न ही उक्त स्थल पर निर्माण कार्य हेतु कोई वर्कआर्डर ही जारी किया है।

अध्यक्ष ने आरोप को निराधार बताया

नगर पंचायत अध्यक्ष रजनीश पांडेय ने उनके खिलाफ चुनाव लडऩे पर परेशान किए जाने के आरोप को निराधार बताया। वहीं नल कनेक्शन काटे जाने के संबंध में उन्होंने कनेक्शन को अवैध बताया साथ ही कहा कि जिस जमीन पर जेसीबी चलाकर समतलीकरण किया गया है वह शासकीय है वहां सार्वजनिक शौचालय का निर्माण कराया जाएगा।


31-Jan-2021 7:48 PM 36

छत्तीसगढ़ संवाददाता

मनेन्द्रगढ़, 31 जनवरी। सविप्रा उपाध्यक्ष भरतपुर सोनहत विधायक गुलाब कमरो ने जल संवर्धन बढ़ाने व किसानों के हितों को ध्यान में रखते हुए खेतों को सिंचित करने मनेंद्रगढ़ विकासखंड के ग्राम पंचायत सेमरा में 45 लाख 73 हजार की लागत एवं ग्राम पंचायत लाई में 16 लाख 97 लाख की लागत के बहुप्रतीक्षित स्टापडेम निर्माण कार्य का भूमि पूजन किया।

इस अवसर पर विधायक ग्रामीणों को संबोधित करते हुए कहा कि यह क्षेत्र विगत 15 सालों से विकास के लिए तरसता रहा है जबकि यह क्षेत्र पूर्व विधायक व संसदीय सचिव का क्षेत्र रहा है। उन्होंने कहा कि जबसे प्रदेश में कांग्रेस की सरकार और वे विधायक बने हैं तब से क्षेत्र लगातार विकास की ओर अग्रसर है। मुक्तियारपारा में जहां स्टेडियम का निर्माण कराया गया वहीं सीसी रोड भी बनवाई गई। उन्होंने कहा कि विकास कार्यों के लिए पैसों की कमी नहीं होने दी जाएगी। विधायक ने कहा कि सोनहत विकासखंड के कटगोड़ी में शीघ्र  नया सब स्टेशन शुरू होगा और गौरघाट का भी कायाकल्प होगा। साथ ही अगले सत्र में कटगोड़ी में नवीन धान खरीदी केंद्र खोले जाने की भी घोषणा की। कटगोड़ी में पानी की समस्या का शीघ्र निराकरण करने की बात कहते हुए जल जीवन मिशन के तहत घर-घर नल कनेक्शन दिए जाने की जानकारी दी।

 विधायक ने कहा कि पर्यटन स्थल सिद्धबाबा, कर्मघोंघा, जटाशंकर, कैलाश गुफा एवं अमृतधारा में विकास कार्य कराए गए है। इसी तर्ज पर गौरघाट में भी सौंदर्यीकरण का कार्य कराया जाएगा। उन्होंने ग्रामीणों की मांग पर ग्राम मधौरा एवं तंजरा में शेड निर्माण की घोषणा की। इसके अलावा पलारीडांड़ में सडक़ निर्माण कार्य शीघ्र कराये जाने की भी घोषणा की। वहीं विधायक कमरो ग्राम पंचायत नागपुर में बतौर अथिति नवा बिहान आजीविका महिला संकुल संगठन के कार्यक्रम में शामिल हुए।

नागपुर में 5 जरूरतमंद हितग्रहियों को उनके द्वारा आर्थिक सहायता राशि के चेक वितरित किए गए।

इस अवसर पर जिला पंचायत सभापति उषा सिंह, जनपद उपाध्यक्ष राजेश साहू, जिला महामंत्री रामनरेश पटेल, वरिष्ठ कांग्रेसी भगवान सिंह, जनपद सदस्य रोशन सिंह, सेमरा सरपंच शारदा बैगा, लाई सरपंच सोनसाय पंडो, सिरौली सरपंच अमोल सिंह मरावी सहित ग्रामीण जनप्रतिनिधि उपस्थित रहे।


31-Jan-2021 4:04 PM 1504

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

बैकुंठपुर, 31 जनवरी। कोरिया जिले में रामपुर जमीन घोटाले में रिटायर्ड अपर कलेक्टर एडमंड लकड़ा के बाद तत्कालीन पटवारी और वर्तमान में आरआई फरीद खान को गिरफ्तार किया है। पुलिस आरआई पर काफी दिनों से कड़ी नजर रख रही थी, जिसके बाद रविवार की अलसुबह उन्हें पटना से गिरफ्तार किया और न्यायालय में पेश किया, जहां उसे उन्हें रिमांड पर जेल भेज दिया गया है।

इस संबंध में उप पुलिस अधीक्षक धीरेन्द्र पटेल का कहना है कि रामपुर की जमीन मामले में आरआई को गिरफ्तार किया गया है, अभी जांच जारी है। क्या इस मामले में और आरोपी पकड़े जाएंगे, के सवाल पर उनका कहना है कि अभी और आरोपियों को पकड़ा जाना है।
जानकारी के अनुसार रामपुर स्थित आदिवासी की भूमि को गैर आदिवासी को बेचे जाने को लेकर थाने में संतकुमार चेरवा ने एफआईआर दर्ज कराई थी, जिसकी जांच के बाद रिटायर्ड अपर कलेक्टर एडमंड लकड़ा को पुलिस ने गिरफ्तार कर रिमांड पर जेल भेज चुकी है, वहीं 4 माह में दो-दो बार उक्त भूमि की रजिस्ट्री की गई, जिसके दो बार चहोद्दी तत्कालीन पटवारी द्वारा बनाई गई, साथ ही जानते हुए कि आदिवासी की भूमि गैर आदिवासी को नहीं बेची जा सकती है, दस्तावेज बनाए गए और बिल्डर को लाभ दिलाया गया। उक्त आरोप के तहत आरआई फरीद खान को पुलिस ने आज तडक़े ही छापामार कर गिरफ्तार कर लिया।

दो बार हुई रजिस्ट्री
पुलिस आरआई को गिरफ्तार करने के पीछे कहानी यह बता रही है कि तत्कालीन पटवारी फरीद खान को इसकी पूरी जानकारी थी कि आदिवासी की भूमि गैर आदिवासी को बेची जा रही है, इसके पूरे दस्तावेज तत्कालीन पटवारी ने ही तैयार किए, जिसके बाद मामले की शिकायत हुई, और रजिस्ट्री को गलत माना गया, फिर बिना किसी सरकारी आदेश के तत्कालीन पटवारी ने रिकार्ड दुरूस्त किया गया, उसके बाद फिर उसी भूमि की दुबारा रजिस्ट्री बिल्डर के यहां कार्यरत कर्मचारी अरविंद के नाम से रजिस्ट्री की गई, दो-दो बार जमीन की चहोद्दी और तब भी सारे दस्तावेज तत्कालीन पटवारी ने बनाए। इसकी जानकारी अरविंद के परिवार को भी नहीं थी। कुछ वर्ष बाद अरविंद की मौत हो गई और नया मुख्तियारनामा संतकुमार चेरवा के नाम से बनाया गया। 

दरअसल, पुलिस सूत्रों की माने तो मामला तब श्ुारू हुआ, जब बिल्डर के यहां कार्यरत आदिवासी युवक संतकुमार चेरवा ने पुलिस में शिकायत की, उन्होंने रजिस्ट्री में गवाह के तौर पर हस्ताक्षर करना बताया और जब कागजात निकाले तो उन्हें पता चला कि उन्होंने ही जमीन बेची है, और उसके एवज में मिली रकम बिल्डर को मिली है। जिसके बाद पुलिस ने जांच शुरू की। जिसके बाद यह बात सामने आई कि संतकुमार के नाम से मुख्तियारनामा तैयार कर रजिस्ट्री की गई है, जबकि संतकुमार को कहना है कि उसको इसके बारे में कोई जानकारी ही नहीं थी कि उसके नाम से मुख्तियारनामा बनाया गया है। जिसके बाद पुलिस ने दस्तावेज खंगालना शुरू किया।

7 एकड़ भूमि 8 लाख में
जानकारी के अनुसार रामपुर निवासी शांतिबाई के पास 11 एकड़ भूमि थी, जो हाईकोर्ट से जीत कर उसके हासिल की थी, उसके छोटे बेटे की तबियत खराब होने के कारण 3 एकड़ भूमि 10 लाख रू एकड़ के हिसाब से बेच चुकी थी, वहीं शांति बाई का कहना है कि उसने बिल्डर को 1 एकड़ भूमि 25 लाख में बेची, परन्तु रजिस्ट्री पूरी 7 एकड़ की करवाई गई और उसे मात्र 8 लाख रू ही प्राप्त हुआ।

कई अधिकारी पर है पुलिस की नजर
रिटायर्ड अपर कलेक्टर एडमंड लकड़ा की गिरफ्तारी के बाद तत्कालीन एसडीएम और वर्तमान में रायपुर ननि कमिश्नर आशुतोष पांडेय स्वयं जिला मुख्यालय पहुंच, खुद उनके हस्ताक्षर को गलत बता पुलिस को बयान दे चुके हंै। इसके बाद अब पुलिस ने तत्कालीन पटवारी को गिरफ्तार कर लिया है, इसके अलावा अब तत्कालीन राजस्व अधिकारियों की भूमिका की भी पुलिस जांच कर रही है।


30-Jan-2021 7:06 PM 55

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
मनेन्द्रगढ़, 30 जनवरी।
सरगुजा विकास प्राधिकरण के उपाध्यक्ष  भरतपुर सोनहत विधायक गुलाब कमरो अपने विधानसभा क्षेत्र के सोनहत विकासखंड के तीन दिवसीय प्रवास पर सोनहत पहुंचे जहां ग्रामीणों ने आतिशबाजी व शैला नृत्य के साथ उनका स्वागत किया।

अपने तीन दिवसीय प्रवास के पहले दिन गुरुवार को फुटबॉल के फाइनल समारोह में मुख्य अतिथि के रुप में उपस्थित विधायक ने सोनहत स्टेडियम के सौंदर्यीकरण के लिए 3 लाख व विश्रामगृह हेतु 80 लाख रुपए की घोषणा की तथा संपूर्ण सोनहत विकासखंड के विकास के लिए पैसे की कमी नहीं आने देने की बात कही। अपने प्रवास के दूसरे दिन  शुक्रवार को वनांचल ग्राम देवसिल, कटवार, रामगढ़, नतवाहि, कुदरी और बडग़ांव खुर्द पहुँच कर विधायक ने चौपाल लगाकर ग्रामीणों की समस्याएं सुनी और कुछ समस्याओं का मौके पर ही त्वरित निदान किया। ग्रामीणों की मांग पर विधायक कमरो ने देवसिल व कटवार ग्राम में दुर्गा पंडाल शेड की घोषणा की। इसके बाद वे दूरस्थ ग्राम बडग़ांव कला पहुचे यहां भी ग्रामीणों से मुलाकात कर उनकी समस्याएं सुनी व उनका निराकरण किया। वनांचलों में वृद्धा पेंशन, विधवा व विकलांग पेंशन संबंधित समस्याओं को सुन कर विधायक ने गंभीरता दिखाते हुए तत्काल उनके निराकरण के निर्देश दिए।

विधायक गुलाब कमरो का काफिला वनांचल ग्राम देवसिल पहुंचा तो वहां पर हाई स्कूल प्रांगण में चल रहे मुहल्ला क्लास को देख कर विधायक अत्यंत प्रसन्न हुए। उन्होंने स्कूल पहुंचकर छात्र-छात्राओं से मुलाकात की और पढ़ाई के साथ-साथ अन्य सुविधाओं के बारे में भी चर्चा की। छात्राओं से सवाल भी किए और संतोषजनक जवाब पाकर उन्होंने प्रसन्नता जताई।

कोटाडोल से रामगढ़ तक शीघ्र बनेगी सडक़
विधायक के वनांचल ग्रामंों में दौरे के दौरान सभी ग्रामों से प्रमुख मांग सडक़ निर्माण की रही, जिस पर उन्होंने शीघ्र कोटडोल से रामगढ़ तक सडक़ निर्माण कार्य का भरोसा दिलाया जिससे कुदरी, कटवार, देवसिल, सीतापुर, रौक, रुसनी, बडेरा, मसर्रा, सोनवाही और अन्य ग्राम सीधे सडक़ से जुड़ जाएंगे।  विधायक ने कहा कि उपरोक्त सडक़ निर्माण के लिए वे सतत् प्रयासरत हैं।

विधायक गुलाब कमरो के द्वारा बडग़ांव खुर्द में  ग्रामीणों की मांग पर शेड निर्माण हेतु 2 लाख, सीसी सडक़ निर्माण हेतु 5 लाख और घाट कटिंग के लिए भी 5 लाख रुपए  की घोषणा की गई जिस पर ग्रामीणों ने विधायक के प्रति धन्यवाद ज्ञापित किया।

अपने प्रवास के तीसरे दिन शनिवार को सविप्रा उपाध्यक्ष विधायक गुलाब कमरो ने सोनहत विकासखंड अंतर्गत विभिन्न ग्राम पंचायतों में 92 लाख 41 हजार के विकास कार्यों का भूमि पूजन कर बड़ी सौगात दी है। विधायक ने सोनहत विकासखंड के ग्राम पंचायत कटगोड़ी में सांस्कृतिक शेड निर्माण कार्य हेतु 2 लाख, हाट बाजार में शेड निर्माण कार्य हेतु 15 लाख 41 हजार, उसनापारा मार्ग पर दो नग आरसीसी पुलिया निर्माण कार्य हेतु 10 लाख, मेन रोड से शिव घर तक सीसी सडक़ निर्माण कार्य हेतु 5 लाख कुल 32 लाख 41 हजार के विकास कार्यों का भूमि पूजन किया। इसी प्रकार नवीन ग्राम पंचायत मधौरा में 20 लाख के नवीन ग्राम पंचायत भवन सह उचित मूल्य दुकान निर्माण कार्य,  नवीन ग्राम पंचायत तंजरा में 20 लाख की लागत से नवीन भवन व पीडीएस भवन निर्माण एवं नवीन ग्राम पंचायत मधला में 20 लाख की लागत से बनने वाले नवीन भवन व पीडीएस भवन निर्माण कार्य का भूमि पूजन किया। इस अवसर पर जिला पंचायत सदस्य ज्योत्सना राजवाड़े, जनपद अध्यक्ष लल्ली सिंह, उपाध्यक्ष गुलाब चौधरी, जनपद सदस्य शिव कुमारी, सोनिया राजवाड़े, सरपंच सुमित्रा बाई, रामकुमार सिंह, प्रमिला सोनपाकर सिंह, जगबीर सिंह सहित कांग्रेस कार्यकर्तागण व ग्रामीण जनप्रतिनिधि उपस्थित रहे।
 


30-Jan-2021 7:03 PM 61

बैकुंठपुर 30 जनवरी। पुलिस अधीक्षक कोरिया चंद्रमोहन सिंह ने जिले में तैनात पुलिस अधिकारियों का स्थानांतरण प्रशासनिक दृष्टिकोण से किया है। जिन्हें अस्थाई रूप से आगामी आदेश तक नवीन पदस्थापना आदेश जारी किया गया।

इस संबंध में जारी आदेश के अनुसार इससे जिले में पदस्थ एक निरीक्षक, सात उप निरीक्षक तथा तीन सहायक उप निरीक्षक प्रभावित हुए हैं। 
जारी आदेश के अनुसार निरीक्षक झडीराम बंजारे थाना प्रभारी सोनहत से थाना प्रभारी केल्हारी, उप निरीक्षक विजय सिंह थाना प्रभारी झगराखांड को थाना प्रभारी खडग़वां, उप निरीक्षक सुनील सिंह को थाना चिरमिरी से थाना प्रभारी झगराखांड,उप निरीक्षक संदीप सिंह थाना पटना से थाना चिरमिरी,उप निरीक्षक सौरभ द्विवेदी को थाना चरचा से थाना प्रभारी पटना,उप निरीक्षक पदुमन तिवारी को थाना बैकुंठपुर से थाना प्रभारी चरचा कॉलरी,उप निरीक्षक जनकलाल कुर्रे को थाना केल्हारी से थाना बैकुण्ठपुर, उप निरीक्षक शिव कुमार यादव प्रभारी सहायता केंद्र बचरापोडी केा थाना प्रभारी सोनहत, सहायक उप निरीक्षक अमरनाथ जायसवाल थाना सोनहत से प्रभारी पुलिस सहायता केंद्र बचरापोडी, सहायक उप निरीक्षक नयन साय बेक थाना आजाक से रक्षित केद्र बैकुंठपुर व सहायक उप निरीक्षक बलराम चौधरी को थाना चिरमिरी से थाना झगराखांड पदस्थ करने का आदेश जारी किया गया।
 


30-Jan-2021 7:01 PM 115

सरकारी भूमि पर कब्जा मिलने पर होगी कार्रवाई-सीएमओ

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
बैकुंठपुर , 30 जनवरी।
कोरिया जिला मुख्यालय स्थित एमएलए नगर की नपाई का काम नगर पालिका और राजस्व अमले ने शुरू कर दिया। बैकुंठपुर की सबसे बडी कालोनी एमएलए नगर को लेकर बीते कई दिनों से तरह तरह की चर्चाओं का दौर जारी है, एमएलए नगर की नपाई कर नपा यह तय करने में जुटी है कि निर्मित कालोनी में नगर पालिका अधिनियम और कंट्री एंड टाउन प्लानिंग के नियमों को उल्लंघन हुआ है या नहीं। बिल्डर के जेल में निरूद्ध होने के कारण उनका पक्ष नहीं लिया जा सका है।

वहीं बैकुंठपुर नगर पालिका की सीएमओ ज्योत्सना टोप्पो का कहना है कि पहले हम यह तय कर रहे है कि कितने भूखंड में कालोनी बनी है, अनुमति कितने मकानों और क्षेत्र की ली गई थी और निर्माण कितने में हुआ है, जिसके आधार पर पेनाल्टी तय की जाएगी, यदि सरकारी भूमि पर अतिक्रमण होगा तो नियमानुसार कार्रवाई होगी।

बिल्डर संजय अग्रवाल की मुश्किलें कम होने का नाम नहीं ले रही है, एक ओर पुलिस ने लगातार मामलों की जांच कर रही है, कुछ मामले दर्ज किए गए है, कुछ में बिल्डर को जमानत भी मिल गई है। हलांकि अभी भी वो जेल में निरूद्ध है। इधर, प्रशासन ने एमएलए नगर की नपाई के लिए नपा और राजस्व अमला की एक टीम तैयार की, शनिवार को पूरी टीम एमएलए नगर पहुंची, नगर पालिका सीएमओ पूरे समय मौके पर उपस्थित रही। टीम में कई पटवारी और आरआई की मौजूदगी में जामपारा और बैकुंठपुर में स्थित भूमि पर बने एमएलए नगर के चारो की नपाई की गई, टीम यह नाप कर देख रही है कि पूर्व में मिली अनुमति में लगे नक्शे के अनुसार से कालोनी का निर्माण किया गया है या नहीं। नक्शें के साथ निर्मित कालोनी से मिलान किया जा रहा है। इसके अलावा कालोनी में ड्रेनेज, गार्डन, सडक के साथ नपा को दी जानी वाली भूमि का भी पता लगाया जा रहा हैै।

पशोपेश में हैं रहवासी
दरअसल, शहर की सबसे बडी कालोनी एमएलए में बैकुंठपुर शहरवासियों के साथ सरकारी कर्मचारियों ने मकान खरीद रखे है, ऐसे में जारी कार्यवाही से वो प्रभावित होगें या नहीं होगें वे सभी पशोपेश में है, सभी के मन में कई सवाल है जैसे कार्यवाही होगी तो क्या होगी, क्या उनका मकान गिरेगा, कही उनकी भूमि के दस्तावेजों में कोई गलती तो नहीं है। इस तरह के कई सवाल उनके मन में है। बीेते 5 माह से एमएलए नगर को लेकर पूरे शहर में कई तरह चर्चा का दौर जारी है। वहीं सीएमओ ज्योत्सना टोप्पो का कहना है कि किसी को भी किसी प्रकार के पशोपेश में रहने की जरूरत नहीं है, नपाई होने के बाद ही क्या कार्रवाई हो सकती है बताया जाएगा।
 


30-Jan-2021 6:58 PM 60

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
बैकुंठपुर 30 जनवरी।
स्कूल शिक्षा विभाग के द्वारा कक्षा पहली से आठवीं तक परीक्षा नही लेने के निर्देश जारी किये है लेकिन कोरोना काल की तरह इस बार जनरल प्रमोशन भी नही दिया जायेगा। 

जारी निर्देशों के अनुसार इस बार पहली से आठवी तक के विद्यार्थियों को असाइनमेंट के आधार पर प्रगति पत्र जारी करना है। शिक्षा का अधिकार अधिनियम  के तहत उक्त कक्षाओं के किसी भी छात्र छात्राओं को कक्षा में रोका नही जायेगा अर्थात अगली कक्षाओ में प्रमोट किया जायेगा। कोरोना संक्रमण के चलतें स्कूल बंद है ऐसे में शिक्षा विभाग द्वारा पढाई तुंहर दुआर कार्यक्रम के तहत पढाई जारी रखने के लिए ऑन लाइन व ऑफ लाइन मोड पर कक्षाओं का संचालन किया जा रहा है। इसी के आधार पर प्रत्येक बच्चों का असेसमेंट भी किया जा रहा है। 

शिक्षा विभाग द्वारा इतना तो मेरे बच्चे कर ही सकते हैं कार्यक्रम चलाया जा रहा है जिससे कि बच्चों में निर्धारित दक्षता लाने का पूरा प्रयास किया जा रहा है। ऑन लाईन व ऑफ लाइन कक्षाओं के माध्यम से बच्चों को पढ़ाया जा रहा है जिसके आधार पर ही बच्चों का प्रगति पत्रक जारी किया जायेगा।पिछले कई माह से बच्चों के दक्षताओं को बढाने का प्रयास किया जा रहा है। जिसके लिए प्रत्येक माह असाइनमेंट  कर पोर्टल में अपलोड किया जा रहा है। यह कार्य प्रत्येक माह में हर एक बच्चो का किया जा रहा है। उल्लेखनीय  कि करीब 10 माह से प्राथमिक पूर्व माध्यमिक विद्यालय बंद पडे है। गत  मार्च माह से स्कूल बंद है। ऐसी स्थिति में नये शिक्षा सत्र में भी स्कूल नही खुल पाये।  जिसके बाद ऑन लाईन व आफलाईन मोड में पढाई चल रही है। जानकारी के अनुसार बीते चार माह से उक्त मोड में पढाई कराने के बाद बच्चों का असाइनमेंट में प्रत्येक माह किया जा रहा है। जिसक आधार पर बच्चों को नम्बर प्रदान किये जा रहे है तथा पोर्टल में अपलोड किया जा रहा है। पहली से आठवीं तक किसी भी बच्चों को फेल नही किया जाना है।

9वीं-11वीं की परीक्षाएं स्थानीय स्तर पर
शिक्षा विभाग द्वारा जारी निर्देश के अनुसार इस बार कक्षा  9 वी एवं  11 की के विद्यार्थियो को जनरल प्रमोशन नही मिलेगा बल्कि परीक्षा आयोजित की जायेगी। लेकिन इस बार उक्त कक्षाओं की परीक्षा स्थानीय स्तर पर आयोजित की जायेगी। जिसके लिए विद्यालयों को ही प्रश्न पत्र तैयार करने के निर्देश दिये गये है जबकि इसके पूर्व माशिमं द्वारा प्रश्न पत्र तैयार किये जाते थे तथा समय सारणी भी माशिमं ही जारी करता था। इस बार कोरोना संकट को देखते हुए विद्यालय के प्राचार्या केा ही स्थानीय स्तर पर प्रश्न पत्र तैयार कर परीक्षा आयोजित करने के निर्देश दिये गये है जिसके लिए जिला शिक्षा कार्यालय द्वारा परीक्षा की समय सारणी ही तैयार कर दी जायेगी जिसके आधार पर एकरूपता के साथ जिले में उक्त कक्षाओं की परीक्षा आयोजित होगी। इस तरह के निर्देश जारी होने के बाद विद्यालयेां के प्राचार्यो द्वारा अपनी तैयारियॉ शुरू कर दी।


30-Jan-2021 6:04 PM 51

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
मनेन्द्रगढ़, 30 जनवरी।
पुलिस ने 3 दिन पहले बैंक में एक महिला के पर्स से 70 हजार रूपए पार करने के मामले में एक नाबालिग समेत 2 आरोपियों को हिरासत में लिया है, आरोपियों के पास से पुलिस ने 68 हजार रूपए बरामद किए हैं।

मनेंद्रगढ़ पुराने पोस्ट ऑफिस बिल्डिंग के समीप रहने वाली वर्षा अग्रवाल 27 जनवरी बुधवार की दोपहर बाद करीब सवा 2 बजे बैंक ऑफ इंडिया में 70 हजार रूपए जमा करने गई हुई थी। महिला ने रकम अपने पर्स में रखी हुई थी, लेकिन जब राशि जमा करने के लिए उसने पर्स से रकम निकालनी चाही तो रकम गायब थी। महिला ने पुलिस में घटना की रिपोर्ट दर्ज कराई। पुलिस द्वारा बैंक एवं आसपास के सीसीटीवी फुटेज को खंगाला गया। फुटेज के आधार पर कुछ संदेहियों को चिन्हांकित कर उनसे पूछताछ की गई। 

थानांतर्गत ग्राम पंचायत लालपुर बसोरपारा निवासी आरोपी 21 वर्षीय अजय बसोर उर्फ छोटू एवं उसके साथ एक नाबालिग को घटना में शामिल होना पाया गया। आरोपियों से चोरी गई रकम 68 हजार रूपए बरामद किए गए शेष रकम को आरोपियों ने खाने-पीने में खर्च करना बताया। पुलिस द्वारा आरोपियों को न्यायालय न्यायिक रिमांड पर भेजा गया। 
 


29-Jan-2021 8:13 PM 58

छत्तीसगढ़ संवाददाता

बैकुंठपुर, 29 जनवरी। बनते बिगडते मौसम के बीच 29 जनवरी का हुई अचानक बे मौसम बारिश के कारण जिले के धान खरीदी केेंद्र परिसर में असुरक्षित रूप से रखे गये धान की बोरियॉ भीग गयी। जबकि एक सप्ताह पूर्व से मौसम विभाग ने बारिश होने की संभावना जता दी थी। इसके बाद भी धान खरीदी केंद्रों में भारी मात्रा में रखे गये धान को सुरक्षित ढंकने की दिशा में कोई कवायद नही की गयी। दूसरी ओर घान खरीदी के अंतिम दिन से पूर्व आज  जिले की दो खरीदी केन्द्रों मेंं सौ से डेढ़ सौ के आसपास किसानों के टोकन काट दिए गए हैं।

कोरिया जिले के धान खरीदी केंद्रों में जिसके हिसाब से धान की खरीदी कर ली गयी है। अभी तक 33 धान उपार्जन केन्द्रों में 11 लाख 59 हजार 92 क्विंटल धान की खरीदी हो चुकी है। परन्तु मात्र 48 प्रतिशत धान का उठाव ही हो पाया है। खरीदी के हिसाब से उठाव नही होने के कारण भारी मात्रा में खुले आसमान के नीचे ही असुरक्षित तरीके से धान बोरियों की ढेर लगी है जो शुक्रवार को हुई अचानक बारिश से भीग गये है। हालांकि इस दौरान जिले के किसी भी क्षेत्र में तेज बारिश नहीं हुई लेकिन हल्की बारिश में धान बोरियो के उपरी हिस्से में रखा धान की बोरी भीग गयी है जिसे मिलिंग के दौरान चावल की गुणवत्ता पर असर पड सकता है। यदि तेज बारिश होती तो जिले के धान खरीदी केंदों में रखा काफी मात्रा में धान की बोरियॉ भीग कर खराब हो जाती।

धान खरीदी का अंतिम दिन वैसे तो 31 जनवरी तक निर्धारित है लेकिन अंतिम दो दिनों तक अवकाश रहने के कारण धान खरीदी की अंतिम खरीदी 29 जनवरी मानी जा रही हैं ऐसे में ज्यादा से ज्यादा किसानों के धान क्रय करने बेहिसाब टोकन जारी कर दिए गए है। जानकारी के अनुसार 30 जनवरी को शनिवार अवकाश तथा इसके दूसरे दिन 31 जनवरी को रविवार अवकाश है जिसे चलते उक्त दोनों दिवस अवकाश के कारण खरीदी नही होगी। बल्कि इसके पूर्व 29 जनवरी को ही धान खरीदी का अंतिम दिवस होगा। इसी का ध्यान रखते हुए धान खरीदी का अंतिम दिवस 29 जनवरी के लिए जिले के खडगवा धान खरीदी केंद्र में अंतिम दिन की तारीख के लिए 145 किसानेां का टोकन काटा गया है। ऐसे में यह कैसे संभव है कि एक ही दिन में  145 किसानो का धान खरीदी संभव हो पायेगा। ऐसा ही हाल पटना धान खरीदी में है, यहां 116 किसानों को टोकन काटा गया है। जिले भर में आज 29 जनवरी को 1034 किसानों का टोकन काटा गया है। जिससे 37 हजार 729 क्विंटल धान की खरीदी की जानी है। सवाल यह खडा हो रहा है कि आखिर इसके पहले खरीदी को लेकर तत्परता क्यो नही दिखाई गयी। एक दिन में 1034 किसानों के द्वारा हजारों क्विटल धान क्या बेच पायेेगे यह भी एक बडा सवाल है। इस तरह अंतिम दिवस धान खरीदी केंद्रों में भारी संख्या में किसान धान विक्रय करने से वंचित रहने की पूरी संभावना जताई जा रही है।

क्षमता से ज्यादा धान

धान खरीदी केंद्रों में जितनी क्षमता धान रखने के लिए बनाई गयी थी उससे दुगुने से ज्यादा धान की बोरियॉ रखी गयी है ऐसे में भारी मात्रा में रखे गये धान की बोरियों को ढंकने की पूरी व्यवस्था भी नही की गयी है। यदि समय पर धान का उठाव सभी समितियों से किया जाता तो इस तरह की स्थिति नही निर्मित होती। यदि इस दौरान तेज बारिश हो जाती है तो तमाम व्यवस्था धरी की धरी रह जायेगा और असुरक्षित रूप से समिति प्रांगण में रखे गये धान का भींगकर खराब होना निश्चित है।

ऐसे में समिति प्रांगण से धान को उठाव कार्य में तेजी लाने की जरूरत है।

बडे किसान की सबसे ज्यादा परेशानी

इस बार सरकार ने गिरदावरी के नाम पर किसानो का रकबा घटा दिया है जबकि किसानों की भूमि उतनी ही है जिसमें वे धान की उपज ले रहे है। रकबा कटौती किये जाने का सबसे ज्यादा खामियाजा बडे किसानों को भुगताना पडा। इस बार धान की बंपर पैदावार हुई है। इस बीच रकबा घटा दिये जाने से बडे किसान अपना पूरा धान विक्रय नही कर पाये है। इस बार अधिकारियों के द्वारा कडाई भी बरती जा रही थी। सोनहत विकासखंड  के एक किसान की माने तो उनका कहना है कि एसडीएम साबह हमारे गांव में कई बार दौरा कर धान की जानकारी लेने किसानों के घर तक पहुंचते रहे। किसान के अनुसार उनके गांव में कई किसान ऐसे है जिनके पास ज्यादा खेती की भूमि है जिसके से उनका धान का उपज भी ज्यादा मात्रा में हुआ लेकिन अधिकारी कहते कि इतना धान कहां से आया। वही किसान ने बताया कि अधिकारी के द्वारा कई किसानो ंसे समर्पण करने का भी दबाव बनाते रहे। जिससे कि बडे किसान असमंजस में पड गये कि आखिर उनका धान कहां बिकेगा। खेती करने के लिए कर्ज भी लिये है जिसका चूकता धान विक्रय नही होने पर कहां से करेंगें।


29-Jan-2021 8:11 PM 46

बैकुंठपुर ,29 जनवरी। जनवरी के आखिरी दिनों में फिर से मौसम ने अचानक करवट लिया जिसके कारण मौसम में परिवर्तन हो गया। मौसम विभाग ने पहले ही मौसम का अनुमान जारी कर दिया गया था। गत 29 जनवरी को मौसम विभाग के पूर्वानुमान के अनुसार बारिश की संभावना जताई गयी थी और ऐसा ही हुआ।

कोरिया जिला मुख्यालय बैकुण्ठपुर सहित जिले के कई क्षेत्रों में  गत  29 जनवरी की रा़ित्र में हवाओ के साथ बारिश का क्रम शुरू हो गया था। कुछ देर की हल्की बारिश के बाद बारिश तो रूक गयी लेकिन आसमान में बादलों का जमावडा लग गया जो सुबह होने के बाद तक  बना रहा। पूर्वान्ह तक सूर्य के दर्शन नही हो पाये। आसमान में बादल घने रूप में छाये रहे। इसके साथ ही  29 जनवरी केा दिन मेंं भी कई क्षेत्रों में हल्की बारिश हुई। इसके साथ ही विदा होती ठण्ड फिर से लौट गयी है। जानकारी के अनुसार कुछ दिनों पूर्व से लगातार दिन में धूप खिल रही थी लेकिन  जनवरी माह के आखिरी सप्ताह में आसमान में हल्के बादल छाना शुरू हो गया था। जिसके बाद मौसम विभाग के अनुमान के अनुसार बारिश की संभावना के अनुरूप जिले के कई क्षेत्रों में बारिश हुई। अभी हुई बे मौसम बारिश अब किसी काम का नही है। हालांकि जिले के किसी भी क्षेत्र मे जमकर बारिश नही हुई केवल हल्की बारिश हुई जो कम होती ठण्ड को बढाने के लिए काफी है। मौसम में बदलाव का असर लोगों के स्वास्थ्य पर पडता है। बनते बिगडते मौसम के चलते लोगों का स्वास्थ प्रभावित होता है जिस कारण वायरल फीवर व जुकाम के मरीजों की संख्या में ईजाफा होने की संभावना भी बढ गयी  है।

जानकारी के अनुसार बेमौसम बारिश के चलते तापमान में नमी आ गयी है और दिन व रात का तापमान में भी कमी आयी है। इस दौरान ठण्डी हवाएॅ भी चल रही है जो ठण्ड को बढाने का कार्य कर रही है। माना जा रहा है कि आगामी दिनों तापमान में और भी कमी आयेगा जिससे कि अभी लोगों को ठण्ड से राहत नही मिलने वाली है।आगामी सप्ताह भर तापमान मे कमी ही दर्ज की जायेगी इस दौरान कडाके की ठण्ड पडने का अनुमान लगाया गया है। जबकि लगभग एक पखवाडे में बसंत पंचमी का पर्व है। ऐसे समय में फिर से ठण्ड में बढोतरी हो रही है। जबकि माना जाता है कि गत  14 जनवरी मकर सक्रांति के बाद से सूर्य के उत्तरायण होने के बाद दिनों दिन ठण्ड में कमी आती जाती है लेकिन मौसम के बिगडते मिजाज के कारण एक पखवाडा बाद फिर से विदा होती ठण्ड लौट  आयी है। गत  29 जनवरी को हल्की बारिश के बाद आसमान में छाये बादलों के कारण दिन भर मौसम सुहाना बना रहा और लोगों को ठण्ड से बचने के लिए दिन भर गर्म कपडों से शरीर को ढंककर चलना पड रहा था।बे मौसम बारिश के कारण जिले के मैदानी व पहाडी क्षेत्रों में फिर से कडाके की ठण्ड पडने वाला है।

 बारिश के बाद तापमान में लगातार अभी कमी होने की संभावना मौमस विभाग ने जताया है। ऐसे में अभी कुछ दिनों तक ठण्ड से राहत मिलने वाली नही है। मौसम साफ होने के बाद दिन का तापमान बढेगा लेकिन अभी कुछ दिनों तक मौमम में बादलों का डेरा जमा रहेगा।

 

 

 

 


29-Jan-2021 8:06 PM 46

छत्तीसगढ़ संवाददाता

बैकुंठपुर 29 जनवरी। बैकुंठपुर सोनहत मार्ग पर बैकुंठपुर रोड व कटोरा रेल खण्ड के बीच खरवत रेलवे फाटक आज 30 जनवरी से हमेशा के लिए बंद कर दिया जायेगा। इसकी तैयारियॉ पूर्व से चल रही थी।

जानकारी के अनुसार दक्षिण पूर्व मध्य रेल्वे बिलासपुर मण्डल अंतर्गत बैकुण्ठपुर रोड व कटोरा स्टेशन के मध्य किमी  970-15-16 पर स्थित मानव सहित समपार संख्या एबी 43 खरवत रेल्वे फाटक को रेल्वे प्रशासन द्वारा सुरक्षात्मक कारणों से आज 30 जनवरी से स्थाई रूप से बंद कर दिया जायेगा। इसके लिए पूर्व से तैयारियॉ शुरू कर दी गयी थी। उक्त फाटक को बंद करने के पूर्व रेलवे प्रबंधन द्वारा वैकल्पिक मार्ग का निर्माण करा दिया गया है।

 सडक यातायात के लिए वैकल्पिक मार्ग की व्यवस्था पास में ही किमी  971-3-4 पर लिमिटेड हाईट सबवे से सडक यातायात बनाई गयी है जिसके माध्य से सडक यातायात सुचारू रूप से चालू हो जायेगा। इसी मार्ग से होकर लोगों व वाहनों की आवाजाही होगी। इसके लिए उक्त रेल खण्ड पर अंडर ब्रिज का निर्माण कराया जायेगा। उल्लेखनीय है कि रेल्वे द्वारा पूर्व से ही मानव सहित रेल्वे फाटक को बंद करने की कवायद शुरू कर दी गयी थी जो कि पूरा हो गया है। इसके साथ ही अब लोगों का आवागमन  सुरक्षित तरीके से हो सकेगा साथ ही रेल्वे का मैन पावर भी बचेगा जिसका उपयोग अन्य कार्यो के लिए किया जा सकेगा। मानव सहित रेल्वे फाटक पर जब रेल के आवागमन के दौरान फाटक बंद कर दिया जाता था इसके बावजूद कई लोग जान जोखिम में डालकर रेल्वे लाईन को पार करते थे जिससे कि हमेशा ही दुर्घटना की संभावना बनी रहती थी। अब मानव रहित रेल्वे फाटक की सुविधा हो जाने के बाद बैकुण्ठपुर सोनहत मार्ग पर उक्त स्थल पर लोग सुरक्षित रेल्वे लाईन को पार कर आना जाना कर सकेेगे। जिससे कि उक्त स्थल सुरक्षित हो जाने के साथ ही रेल्वे को वहॉ पर कर्मचारियों की ड्यूटी लगाने की भी अब जरूरत नही होगी।


28-Jan-2021 8:12 PM 52

  यूनिसेफ स्टेट हेड जकरिया ने किया निरीक्षण   

छत्तीसगढ़ संवाददाता

मनेन्द्रगढ़, 28 जनवरी। कोरिया जिले जैसे दूरस्थ जिले में बच्चों और किशोरियों के प्रति बढ़ रहे अपराध में अंकुश लगाने व मासूम पीडि़तों की शिकायत दर्ज कराने के लिए झगराखण्ड थाने में एक आदर्श व्यवस्था कायम की गई, जिसके लिए जिले के पुलिस अधीक्षक और थाना प्रभारी बधाई के पात्र हैं। उक्त बातें जिले में एक दिवसीय प्रवास पर पहुंचे यूनिसेफ प्रतिनिधि और छत्तीसगढ़ प्रमुख जॉब जकरिया ने कही।

एमसीसीआर के तत्वावधान में आयोजित कार्यक्रम में जकरिया ने बताया कि संपूर्ण देश में बच्चों के अधिकारों और उनके प्रति एमसीसीआर से जुड़े पत्रकार  कार्य कर रहे हैं। साथ ही जिले की पुलिस टीम भी बच्चों और किशोरियों के साथ मित्रवत व्यवहार कर रही है जो कि बधाई की पात्र है।

पुलिस अधीक्षक चंद्रमोहन सिंह ने कहा कि इस प्रकार की नई सोच और व्यवस्था हमारी पुलिस बल की न केवल छवि सुधारेगी, अपितु कार्य क्षमता में उत्साहवर्धन होगा। बच्चों और किशोरियों के उत्पीडऩ  की रोकथाम के लिए तो काफी कानून बनाये गए हैं, लेकिन उसको अंजाम तक पहुंचाना ही उसका सार्थक उद्देश्य होना चाहिए।  कुछ दिनों पूर्व इस क्षेत्र में महिलाओं, किशोरियों और बच्चों के विरुद्ध अपराध में वृद्धि देखी गई थी जिसे देखते हुए झगराखण्ड थाने को एक आदर्श और चाईल्ड फ्रेंडली बनाया गया।

एमसीसीआर के प्रदेश समन्वयक श्याम बेंडिस ने कहा कि आज का दिन बहुत ही सराहनीय है। बच्चों के विरुद्ध होने वाले अपराधों के नियंत्रण में चाईल्ड फ्रेंडली झगराखण्ड थाना एक मील का पत्थर साबित होगा जहां बच्चों और किशोरियों के साथ हो रहे दुव्र्यवहार पर त्वरित रूप से न केवल अपराध पंजीबद्ध होगा अपितु निवारण भी हो सकेगा।  कार्यक्रम के दौरान एसडीओपी करण उके, थाना प्रभारी झगराखण्ड विजय सिंह सहित समस्त थाना स्टाफ उपस्थित रहा।