कोरबा

अस्वस्थ मादा हाथी चल नहीं पा रही, दंतैल ने दी दस्तक
10-Jul-2021 9:02 PM (157)
अस्वस्थ मादा हाथी चल नहीं पा रही, दंतैल ने दी दस्तक

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
कोरबा, 10 जुलाई।
कोरबा वन मंडल के कुदमुरा परिक्षेत्र में दंतैल हाथी की दस्तक से ग्रामीण दहशत में हैं। वहीं दूसरी ओर पहले से ही अस्वस्थ एक मादा हाथी धनपुरी गांव के पास अपना डेरा जमाए हुए है। वन विभाग का अमला अस्वस्थ मादा हाथी की  देखभाल में जुटा हुआ है।

शुक्रवार को वन मंडल कोरबा के कुदमुरा परिक्षेत्र में बुजुर्ग मादा हाथी धनपुरी के आगे नहीं बढ़ पाई। वन विभाग अब उसे कटहल व केला खिला रहा है। 

उधर धरमजयगढ़ वन परिक्षेत्र से दंतैल हाथी के आने से ग्रामीणों में दहशत व्याप्त है। मादा हाथी के आसपास पहुंचने की संभावना को देखते हुए वन अमला अलर्ट हो गया है। अगर पास में पहुंच गया तो उसके उपचार व भोजन की व्यवस्था करने में परेशानी हो सकती है। 

कुदमुरा परिक्षेत्र में मादा हाथी कुछ दिनों से घूम रही थी। उसकी उम्र 50 से 55 वर्ष के बीच बताई जा रही है। वह पहले से बीमार है। इसकी वजह से एक जगह पर काफी देर तक रुकी रहती है। वन विभाग ने जंगल सफारी रायपुर से डॉ. राकेश वर्मा को बुलाकर उपचार भी कराया। इसके बाद कुछ दूर चली फिर श्यांग से 2 किलोमीटर आगे धनपुरी मार्ग पर रुक गई है। उसके एक पैर में घाव हो गया था। जिसकी वजह से वह अधिक चल फिर नहीं पा रही है। 

कुदमुरा परिक्षेत्र के रेंजर संजय लकड़ा ने बताया कि दवाई देने के बाद हाथी की तबीयत में सुधार हुआ है । वह कुछ दूर चली फिर रुक गई है। अभी उसे भोजन दिया जा रहा है। एक और हाथी के आने के बाद वन अमले के साथ ही ग्रामीणों को भी सतर्क कर दिया गया है।

हाथी की निगरानी में वन अमला जुटा
कोरबा वन मंडल डीएफओ प्रियंका पांडेय ने बताया कि अस्वस्थ हाथी की निगरानी की जा रही है। इसके लिए वन अमले की ड्यूटी लगाई गई है। एक और दंतैल हाथी के आने से परेषानी बढ़ गई है। अभी धान की बोनी का समय है। इसकी वजह से जंगल के बीच खेत में किसान सुबह से पहुंच जाते हैं। उन्हें हाथी के आने की जानकारी देकर जंगल की ओर नहीं जाने कहा जा रहा है।

 

अन्य पोस्ट

Comments