बलरामपुर

लॉकडाउन अवधि का वेतन भुगतान नहीं, उग्र आंदोलन की चेतावनी
01-Dec-2020 9:26 PM 73
  लॉकडाउन अवधि का वेतन भुगतान नहीं, उग्र आंदोलन की चेतावनी

   लघु वेतन शासकीय चतुर्थ वर्ग कर्मचारी संघ की समीक्षा बैठक  

रामानुजगंज,1 दिसंबर। छत्तीसगढ़ लघु वेतन शासकीय चतुर्थ वर्ग कर्मचारी संघ की समीक्षा बैठक कुसमी में आयोजित हुई। बैठक में विभिन्न समस्याओं पर चर्चा किया गया।

इस दौरान आदिम जाति कल्याण विभाग के सैकड़ों चतुर्थ श्रेणी कर्मचारियों के द्वारा यह अवगत कराया गया कि वे विगत 10-12 वर्षों से आदिम जाति कल्याण विभाग में कलेक्टर दर/मजदूरी दर पर निरंतर कार्य करते आ रहे हैं। लेकिन जब से करोना के चलते राज्य में लॉक डाउन लगा है, तब से उन्हें आजाक विभाग द्वारा कार्य से हटा दिया गया है।कार्य से पृथक कर दिए जाने के कारण उन्हें वेतन मजदूरी भी नहीं दिया जा रहा है। जिसकी वजह से संबंधित कर्मचारी परिवार सहित भूखों मरने की स्थिति में आ गए हैं।

उल्लेखनीय है कि लॉकडाउन अवधि में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जी के द्वारा बार-बार अपील किया गया है, कि किसी भी कर्मचारी या मजदूर को कार्य से ना निकाला जाए। उनका कोई वेतन भत्ते वगैरह ना रोका जाये। लेकिन आदिम जाति कल्याण विभाग बलरामपुर द्वारा समस्त अपील को सिरे से खारिज करते हुए चतुर्थ वर्ग कर्मचारियों को कार्य से हटाकर उनके परिवार के समक्ष रोजी-रोटी की समस्या उत्पन्न कर दिया गया है।

छत्तीसगढ़ लघु वेतन शासकीय चतुर्थ वर्ग कर्मचारी संघ बलरामपुर के जिलाध्यक्ष शंभू प्रसाद गुप्ता ने बताया कि सहायक आयुक्त, आदिम जाति कल्याण विभाग से मिलकर समस्या का समाधान हेतु निवेदन किया जायेगा। यदि संबंधित कर्मचारियों को शीघ्र कार्य पर वापस नहीं लिया गया और लॉक डाउन अवधि का वेतन भुगतान नहीं किया गया, तो न्याय हेतु संघ बाध्य होकर उग्र आंदोलन करेगा।

अन्य पोस्ट

Comments