सरगुजा

कर्मचारी विरोधी नीतियों के विरोध में मशाल जलाते हुए निकाली विशाल रैली, ज्ञापन
01-Dec-2020 8:10 PM 23
 कर्मचारी विरोधी नीतियों के विरोध में मशाल जलाते हुए निकाली विशाल रैली, ज्ञापन

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

अम्बिकापुर,1 दिसंबर। प्रदेश के कर्मचारियों की लंबित मांगों के संबंध में प्रांतीय निकाय के आह्वान पर आज छत्तीसगढ़ कर्मचारी अधिकारी फेडरेशन जिला सरगुजा मे घटक दलों के समस्त सदस्यों के द्वारा सरकार के कर्मचारी विरोधी नीतियों के विरोध में मशाल जलाते हुए विशाल रैली के साथ कलेक्टर सरगुजा को अपने निम्न मांगों के संबंध में ज्ञापन सौंपा गया।

जिला सरगुजा में कर्मचारी अधिकारी फेडरेशन के संयोजक कमलेश सोनी,कर्मचारी अधिकारी फेडरेशनन सरगुजा प्रभारी ओंकार सिंह,सह प्रभारी एवं संभागीय प्रवक्ता एम.एल. स्वर्णकार व विभिन्न संगठनों के जिला अध्यक्षों एवं पदाधिकारियों की सहभागिता रही।

14 सूत्रीय मांगों के समर्थन में प्रथम चरण में मुख्यमंत्री को कलेक्टर सरगुजा के माध्यम से ज्ञापन सौंपा गया है। साथ ही द्वितीय चरण दिनांक 11 दिसम्बर को धरना रैली के लिए समस्त सदस्यों को तैयार रहने हेतु अवगत कराया गया।

इस दौरान राजपत्रित अधिकारी संघ के अध्यक्ष डॉ. सीके मिश्रा, छ. ग. प्रदेश तृतीय वर्ग शासकीय कर्मचारी संघ जिला सरगुजा के जिला अध्यक्ष आनंद सिंह यादव, उपाध्यक्ष अजय शुक्ला, संजय यादव, आशुतोष दुबे,राकेश पुरी, संतोष दुबे, ऋषि पांडेय, शिक्षक संघ के संजय सिंह, छत्तीसगढ़ लिपिक कर्मचारी संघ के नसीम खान,दुर्गेश सिन्हा, छत्तीसगढ़ प्रदेश शिक्षक संघ के संजय सिंह, छत्तीसगढ़ लिपिक कर्मचारी संघ के शैलेंद्र कुमार मिश्र,राजेंद्र शर्मा, सहायक पशु चिकित्सा अधिकारी संघ के कार्यकारी अध्यक्ष अनिल तिवारी, डिप्लोमा इंजीनियर संघ के आलोक कुमार सिंह,रामेश्वर प्रसाद छत्तीसगढ़ लघु वेतन कर्मचारी संघ अशोक यादव, नसीम सिद्दीकी,भरत पांडे एवं छत्तीसगढ़ कर्मचारी कांग्रेस के अध्यक्ष घनश्याम शर्मा के अलावा विभिन्न घटक दलों के जिला अध्यक्ष एवं पदाधिकारी विशेष रूप से उपस्थित रहे। कार्यक्रम में विभिन्न दलों के महिला संवर्ग के कर्मचारी नेता भी उपस्थित रहे। कर्मचारी संगठन के पदाधिकारियों ने एक स्वर में 11 दिसम्बर को द्वितीय चरण के वादा निभाओ रैली को सफल बनाने में शत-प्रतिशत योगदान का आश्वासन दिया ।

अन्य पोस्ट

Comments