सरगुजा

महिला समूहों को रोजगार दिलाने के नाम पर ठगी, मास्टरमाइंड समेत 2 बंदी, 1 फरार
29-Nov-2020 7:56 PM 36
  महिला समूहों को रोजगार दिलाने के नाम पर ठगी, मास्टरमाइंड समेत 2 बंदी, 1 फरार

  समूह के नाम पर कई बैंक, फाइनेंस कंपनी से लिया था ऋण   

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

अंबिकापुर, 29 नवंबर। महिला समूहों को रोजगार दिलाने के नाम पर महिला समूहों से करोड़ों की ठगी करने के मामले में पुलिस ने उदयपुर क्षेत्र के रहने वाले मास्टरमाइंड को पुणे महाराष्ट्र से गिरफ्तार कर लिया है। इसके साथ मामले का दूसरा आरोपी सूरजपुर जिले के भैयाथान से पकड़ा गया है। एक अन्य आरोपी अभी भी फरार है।

रविवार को मामले का खुलासा करते हुए एडिशनल एसपी ओम चंदेल ने बताया कि 4 मार्च 2020 को उदयपुर क्षेत्र के ग्राम करोटी निवासी अन्या पैकरा पति सुमेर पैकरा निवासी ने रिपोर्ट दर्ज कराई थी कि उदयपुर क्षेत्र के ग्राम सलका निवासी ज्योतिष निषाद द्वारा रोजगार प्लास्टिक का कचरा इक_ा कर खाद बनाने, दोना-पत्तल और अचार-पापड़ का काम दूंगा, कह कर महिला समूहों के नाम से अनेक फाइनेंस से पैसा निकाल कर उसके एवं गांव के अन्य महिलाओं से पैसा ठगी कर फरार हो गया। पुलिस ने मामले में उस वक्त धारा 420 के तहत अपराध का किया था।

जांच के दौरान पता चला कि आरोपी द्वारा भारत फाइनेंस लखनपुर महिला समूह करौंदी से 12,07,550 रुपए एच.डी.एफ.सी.बैंक अंबिकापुर महिला समूह करौंदी से 3,50,000 रुपए एक्सिस बैंक सूरजपूर महिला समूह करौंदी में 10,90,000 रुपए अन्नपूर्णा बैंक उदयपुर महिला समूह करौंदी 6,24,000 रुपए, भारत फाइनेंश लखनपुर नुनेरा महिला समूह से 5,85,900 रुपए, ग्राम शक्ति महिला समूह नुनेरा से 68,530 रुपए, एयडीएफसी बैंक अंबिकापुर महिला समूह नुनेरा 1,54,968 रुपए, ग्रामीण कुटा उदयपुर महिला समूह नुनेरा 3,33,105 रुपए , भारत फाईनेंस लखनपुर महिला समूह चकेरी 76,050 रुपए ़ रूपये लेकर फरार हो गया था। इसी प्रकार थाना दरिमा और अंबिकापुर के मणिपुर चौकी में भी महिला समूहों से 1,72,33,374 रुपये की ठगी की थी।

ठगी के इस बड़े मामले को लेकर पुलिस अधीक्षक सरगुजा टी.आर कोशिमा द्वारा तत्काल निर्देशित करते हुए अति पुलिस अधीक्षक सरगुजा ओम चंदेल एवं एसडीओपी ग्रामीण चंचल तिवारी के मार्गदर्शन में सायबर सेल व थाना उदयपुर एवं थाना दरिमा, कोतवाली का संयुक्त टीम गठित कर पुणे महाराष्ट्र रवाना किया गया। आरोपी के सभी संभावित स्थलों में दबिश दी गई।

तकनीकी जानकारी के आधार पर आरोपित ज्योतिष निषाद को गिरफ्तार किया गया। उसके बताए अनुसार ठगी में शामिल अनिल कुमार सोनी (31) दरीपारा थाना भैयाथान से गिरफ्तार किया गया है। प्रकरण में एक अन्य आरापी की पतासाजी की जा रही है। आरोपित ज्योतिष निषाद के पास से एक रिनोल्ड कंपनी की क्विड कार पुलिस ने अपने कब्जे में की है, जो उसने ठगी के पैसे से खरीदी थी। पुलिस के अनुसार पकड़ा गया दूसरा आरोपी अनिल सोनी लगभग 35 लाख रुपए शेयर मार्केट में लगाया है।

कार्रवाई में निरीक्षक अलरिक लकड़ा, सलीम तिग्गा, सहायक उप निरीक्षक राजेंद्र प्रताप सिंह, अजीत मिश्रा, आरक्षक संजीव चौबे, अंशुल शर्मा, राजेश किंडो, साइबर सेल से आरक्षक भोजराज पासवान, वीरेंद्र पैकरा, सुयश पैकरा शामिल थे।

अन्य पोस्ट

Comments