रायपुर

कार्तिक पूर्णिमा में एहतियात के साथ होगें हटकेश्वर महादेव के दर्शन
29-Nov-2020 3:27 PM 37
कार्तिक पूर्णिमा में एहतियात के साथ  होगें हटकेश्वर महादेव के दर्शन

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
रायपुर, 29 नवंबर।
धार्मिक महात्मय से रचे बसे कार्तिक पूर्णिमा के दिन सोमवार  को महादेव घाट में हालाकि इस बार शासन द्वारा लगाई गई पाबंदी के कारण पारंपरिक पुन्नी मेला नहीं लगेगा लेकिन  कार्तिक पूर्णिमा के अवसर पर खारुन नदी में श्रद्धालुओं  द्वारा पुण्य स्नान और दीपदान किया जाएगा। मंदिर प्रबंधन समिति द्वारा शासकीय निर्देशों का पालन करते हुए हटकेश्वर महादेव के दर्शन का बंदोबस्त किया गया है।  

पं. सुरेश गिरि गोस्वामी ने बताया कि शासन द्वारा जारी निर्देशों का पालन करते हुए श्रद्धालुओं को नदी तट की ओर से हटकेश्वर महादेव मंदिर में प्रवेश दिया जाएगा। इस दौरान दो गज की दूरी का ध्यान रखा जाएगा। गर्भगृह में प्रवेश पूर्व बॉडी सेनेटाइजर की व्यवस्था की गई है। एक बार में 8 से 10 लोगों को ही प्रवेश दिया जाएगा। 

महादेव घाट में हालाकि इस बार मीना बाजार नहीं लगेगा लेकिन पुन्नी मेला के महत्व को देखते हुए गिनी चुने कारोबारी पहुंच रहे हैं। पं.चंद्रभूषण शुक्ला के अनुसार श्री कृष्ण को वनस्पतियों में तुलसी, पुण्यक्षेत्रों में द्वारिका, तिथियों में एकादशी,प्रियजनों में राधा और माह में कार्तिक विशेष प्रिय है।

पद्मपुराण के अनुसार कार्तिक के समान पुण्य प्रदायक श्रेष्ठ कोई ओर महीना नहीं है। इस महीने में जो श्रद्धालु भगवान विष्णु के सम्मुख रात्रि जागरण करते हैं, प्रात: वारुण स्नान (किसी तड़ाग, जलाशय, नदी में स्नान), तुलसी की सेवा, उद्यापन और दीपदान करते हैं, उन्हें भगवान का सान्निध्य तथा अति पुण्य प्राप्त होता है। वैसे तो पूरे कार्तिक मास भर किसी नदी, तलाब में प्रात: स्नान कर दीपदान करना चाहिए, लेकिन इस आधुनिक युग में प्रतिदिन प्रात: स्नान न कर पाएं तो कार्तिक पूर्णिमा में प्रात: स्नान जरूर करना चाहिए।
 

अन्य पोस्ट

Comments